राजनीति


bhopal,Madhya Pradesh, Central government , determined for the progress

भोपाल/नई दिल्ली। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने केन्द्र सरकार द्वारा रबी फसलों की एमएसपी में बढ़ोतरी का स्वागत किया है। उन्होंने कहा है कि देश के किसानों की उन्नति और उनकी आय को दुगना करने के लिए केन्द्र सरकार दृढ़ संकल्पित है। केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने गुरुवार को जारी अपने बयान में कहा है कि किसान भाइयों और बहनों के हित में सरकार ने एक और बड़ा निर्णय लेते हुए सभी रबी फसलों की एमएसपी में बढ़ोतरी को मंजूरी दी है। इससे अन्नदाताओं के लिए अधिकतम लाभकारी मूल्य सुनिश्चित होंगे।सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट द्वारा रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्यों में 40 रुपये से 400 रुपये तक की वृद्धि की है। इसके लिए उन्होंने समस्त अन्नदाताओं की ओर से नरेन्द्र मोदी सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया है। सिंधिया ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि किसानों की उन्नति और उनकी आय को दुगना करने के लिए केन्द्र सरकार दृढ़ संकल्पित है। केन्द्र सरकार द्वारा लगातार किसान हितेषी निर्णय लिए जा रहे हैं, जिससे किसान की आय दोगुनी हो। उन्होंने कहा कि एमएसपी में वृद्धि से किसानों को कई प्रकार की फसलों की बुआई के लिए भी प्रोत्साहन मिलेगा।

Dakhal News

Dakhal News 9 September 2021


bhopal,All universities and colleges ,start from 15th September

भोपाल। मध्य प्रदेश के समस्त विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय की शैक्षणिक गतिविधियाँ 15 सितम्बर 2021 से विद्यार्थियों की भौतिक रूप से उपस्थिति के साथ प्रारंभ होंगी। यह जानकारी गुरुवार को प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने दी है।उन्होंने बताया कि सभी महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में शैक्षणिक तथा अशैक्षणिक स्टॉफ की शत-प्रतिशत उपस्थिति होगी। विद्यार्थियों की 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ कक्षाओं का संचालन होगा। डॉ. यादव ने बताया कि महाविद्यालय के शैक्षणिक एवं अशैक्षणिक स्टॉफ तथा विद्यार्थियों को कोविड-19 प्रथम डोज टीकाकरण का प्रमाण-पत्र जमा कराना अनिवार्य होगा।उच्च शिक्षा मंत्री ने विद्यार्थी संख्या अधिक होने की स्थिति में प्रत्येक स्तर पर कोविड-19 के सुरक्षा मानकों के आधार पर पृथक-पृथक समूह बनाकर प्रायोगिक एवं शैक्षणिक कार्यों को संपादित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि इस संबंध में अधोसंरचना की उपलब्धता एवं स्थानीय परिस्थिति के परिपेक्ष्य में संबंधित संस्था प्रमुख निर्णय लेने के लिए बाध्य होंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थाओं द्वारा ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन भी जारी रहेगा। डॉ. यादव ने शिक्षण संस्थाओं द्वारा ऑफलाइन एवं ऑनलाइन कक्षाओं के लिए अलग-अलग समय-सारणी बनाये जाने के निर्देश दिए हैं।ग्रंथालय भी होंगे प्रारंभ   उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने बताया कि सभी शैक्षणिक संस्थाओं में विद्यार्थियों के अध्ययन के लिए ग्रंथालय भी प्रारंभ होंगे। केवल पंजीकृत विद्यार्थियों को ही प्रवेश दिया जायेगा। ग्रंथालय में प्रवेश के पूर्व कर्मचारियों-विद्यार्थियों का कोविड प्रोटोकॉल के तहत शारीरिक तापमान, आवश्यक रूप से मास्क का इस्तेमाल, हाथों को सेनेटाइज़ करने तथा पुस्तकालय में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है। पुस्तकालय अध्ययन कक्ष में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ उपस्थिति होगी।छात्रावास और मैस भी होंगे शुरू   डॉ. यादव ने बताया कि विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में छात्रावास और मैस भी प्रारंभ होंगे। छात्रावास चरणबद्ध रूप से प्रारंभ किये जायेंगे। प्रथम चरण में स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर तृतीय सेमेस्टर के छात्रों के लिये छात्रावास खोले जायेंगे। छात्रावास परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग, सेनिटाइजेशन एवं सभी विद्यार्थी की थर्मल स्क्रीनिंग सुनिश्चित की जायेगी। डायनिंग हॉल, रसोई, स्नानागार और शौचालय की स्वच्छता की सतत निगरानी होगी। छात्रावास में विश्वविद्यालय/महाविद्यालय के स्टॉफ के अतिरिक्त अनावश्यक लोगों का प्रवेश वर्जित होगा। उन्होंने कहा कि किसी भी विद्यार्थी अथवा स्टॉफ में कोविड-19 के लक्षण प्रकट होने पर उसे तुरन्त आइसोलेशन के साथ चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो यह सुनिश्चित होगा। छात्रावासों में राज्य हेल्पलाइन नंबर और स्थानीय अस्पताल आदि के नंबर सूचना पटल पर प्रदर्शित किए जायेंगे। विद्यार्थियों के घोषणा-पत्र एवं माता-पिता/अभिभावकों की लिखित सहमति के आधार पर ही विद्यार्थी को छात्रावास की सुविधा उपलब्ध होगी।उच्च शिक्षा मंत्री ने बताया कि छात्रावास के भोजन कक्ष में विद्यार्थियों को छोटे-छोटे बैच मे भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। मैस की समय-सारणी बनाकर समयावधि भी बढ़ाई जाने के निर्देश दिए गए है। भोजन बनाने एवं खाना परोसने वाले स्टॉफ द्वारा फेस कवर, मास्क का उपयोग एवं हाथों को सेनेटाइज़ करना अनिवार्य होगा।सुरक्षा संबंधी जागरूकता   उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा अपने स्टॉफ एवं विद्यार्थियों को स्वास्थ्य एवं कोविड-19 संबंधी समस्याओं के विषय में जागरूक किया जाना चाहिए। कोविड-19 के संक्रमण के बचाव के लिए उनका नियमित स्वास्थ्य परीक्षण एवं लक्षण पाए जाने पर चिकित्सा सुविधा की व्यवस्था सुनिश्चित करना आवश्यक होगा। उन्होंने कहा कि संक्रमित व्यक्ति के लिए आइसोलेशन एवं क्वारंटीन सुविधा की व्यवस्था छात्रावास में पृथक रूप से किया जाए अथवा शासकीय अस्पताल में इसकी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। डॉ. यादव ने कहा कि किसी भी स्थिति में कटेन्मेंट जो़न से संबंधित विद्यार्थी और स्टॉफ का संस्था में प्रवेश वर्जित रहेगा। विद्यार्थी एवं स्टॉफ आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करें। विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों के विद्यार्थियों एवं समस्त स्टॉफ के लिए वैक्सीनेशन करवाना अनिवार्य होगा। संस्था प्रमुख द्वारा वैक्सीनेशन के संबंध में शैक्षणिक, अशैक्षणिक स्टॉफ एवं विद्यार्थियों की कक्षावार जानकारी संग्रहीत कर अग्रणी महाविद्यालय को उपलब्ध कराई जायेगी। विश्वविद्यालय स्तर पर कुल सचिव तथा महाविद्यालय स्तर पर संबंधित क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक द्वारा निरंतर मॉनीटरिंग की जायेगी और इसका प्रतिवेदन प्रत्येक सोमवार प्रेषित किया जायेगा।

Dakhal News

Dakhal News 9 September 2021


bhopal, Examination ,examination results , Minister Sarang

भोपाल। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग से निर्देशित किया कि विभिन्न संकायों की लंबित परीक्षा को शीघ्र कराए जाने के लिए समय-सारणी निर्धारित कर तत्काल कार्यवाही प्रारंभ करे। उन्होंने कहा कि लंबित परीक्षा परिणाम को जारी करें। चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग ने यह निर्देश गुरुवार को मेडिकल यूनिवर्सिटी, जबलपुर की समीक्षा करते हुए दिये। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान और आयुक्त चिकित्सा शिक्षा निशांत वरवड़े उपस्थित थे। कुलपति, रजिस्ट्रार एवं मेडिकल यूनिवर्सिटी के अन्य अधिकारियों वर्चुअली उपस्थित रहे।मंत्री सारंग ने आगामी शैक्षणिक सत्रों में सभी परीक्षा एवं परीक्षा परिणाम जारी करने के कार्यवाही अकादमिक कैलेंडर जारी करते हुए निर्धारित समय-सीमा में सम्पूर्ण कार्यवाही पूरी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राओं सम्बंधित विभिन्न समस्याओं के निराकरण के लिए यूनिवर्सिटी स्तर पर अधिकारी को अधिक्रत कर नियमानुसार कार्यवाही की जाए। सारंग ने निर्देश दिए कि यूनिवर्सिटी में आई॰टी॰ सेल बनायी जाए। उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी की केपेसीटी बिल्डिंग तैयार की जाए। साथ ही रिक्त पदों पर नियुक्ति की कार्यवाही जल्द हो, जिससे यूनिवर्सिटी अंतर्गत विभिन्न कार्यों का संपादन प्रभावशीलता के साथ समय-सीमा किया जा सके।

Dakhal News

Dakhal News 9 September 2021


anuppur, Ann Utsav , like a festival ,poor,Food Minister

अनूपपुर। प्रदेश में आज आयोजित अन्न उत्सव गरीबों का उत्सव है। गरीबों को नि:शुल्क राशन वितरण किया जा रहा है। गरीबों के लिए यह कार्यक्रम त्यौहार के समान है। प्रदेश में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अन्तर्गत लगभग 4 करोड़ 90 लाख लोगों को नि:शुल्क खाद्यान्न का वितरण किया जा रहा है। प्रदेश के लगभग 80 प्रतिशत लेागों को योजना के अन्तर्गत नि:शुल्क राशन का वितरण किया जा रहा है। प्रदेश के नागरिकों ने कोरोना समान असाध्य बीमारी को अपनी जागरूकता से हराया है। कोरोना अभी नही गया है। सभी नागरिक मास्क का उपयोग करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन तथा वैक्सीन के दोंनो डोज लगवाएं। यह बात मंगलवार को प्रदेश के खाद नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह अनूपपुर जिले के पसान में आयोजित प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अन्तर्गत नि:शुल्क राशन वितरण कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कही। इस अवसर पर कलेक्टर सोनिया मीना, पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी मिलिन्द नागदेवे, नगरपालिका पसान की अध्यक्ष सुमन गुप्ता, उपाध्यक्ष शालिनी जायसवाल सहित अन्य उपस्थित रहे। खाद्य मंत्री ने कहा कि पसान नगरपालिका क्षेत्र के लगभग 2104 पात्र हितग्राहियों को राशन थैले में वितरित किया गया है। यह अनूपपुर जिले की संबसे बड़ी नगरपालिका है यह हर दृष्टिकोण से उन्नति करे तथा विकास की दिशा में आगे बढ़ें इसके प्रयास किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि नपा पसान क्षेत्र के 443 पात्र हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत आवास बनाने के लिए राशि उनके खाते में अंतरित कर दी गई है। उन्होंने हितग्राहियों से अपील करते हुए कहा है कि प्राथमिकता के साथ आवासों का निर्माण कराएं। प्रदेश सरकार का यह सपना है वर्ष 2024 तक सबके पक्के घर हो। उन्होंने कहा कि पसान क्षेत्र के लगभग 700 हितग्राहियों को पेंशन योजना का लाभ दिया जा रहा है। नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण के लिए सरकार द्वारा पात्रताएं निर्धारित की गई है। पात्रता में आने वाले हितग्राहियों को ही नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण योजना का लाभ प्राप्त होगां। कलेक्टर ने कहा कि, अन्न उत्सव का आयोजन कर गरीब तबके के लोंगों का खाद्यान्न का वितरण सरकार की खाद्य सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्घता है। अनूपपुर जिले में लगभग 1 लाख 41 हजार परिवारों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अन्तर्गत खाद्यान्न का वितरण किया जा रहा है। हितग्राहियों को समय पर तथा पात्र को ही खाद्यान्न मिले इसकी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही है। जिले में खाद्यान्न वितरण कार्यक्रम को और अधिक कारगर और बेहतर बनाने के प्रयास किये जा रहे है। लोगों के सहयोग, सक्रियता और जागरूकता के बगैर, हम सुरक्षित नहीं रह सकते हैं। लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के प्रति गंभीर रहें, केारोना प्रोटोकाल का पालन करे अपने परिवार और स्वास्थ्य का ध्यान रखें और कोरोना के दोनो टीके अवश्य लगाएं। अनूपपुर जिले के सभी 306 उचित मूल्य दुकानों में भी अन्न उत्सव का कार्यक्रम आयोजित किया गया।  

Dakhal News

Dakhal News 7 September 2021


bhopal, Agriculture contract, officer-employee union, met Minister Patel

भोपाल । किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल से भोपाल स्थित उनके निवास कार्यालय पर मंगलवार सुबह कृषि संविदा अधिकारी/कर्मचारी संघ ने मुलाकात की। संघ ने मंत्री पटेल को अपनी समस्याओं और मांगों से अवगत कराते हुए उन्हें पूर्ण करने का अनुरोध किया। इस दौरान कृषि मंत्री पटेल ने उन्हें आश्वस्त किया कि मध्यप्रदेश में एक संवेदनशील और कर्मचारी हितैषी सरकार है। इसलिये आपकी मांगों को लेकर जो भी उचित कार्रवाई होगी की जाएगी। उन्होंने कहा कि नियुक्ति के समय जारी सेवा शर्तों का क्रियान्वयन जल्द कराएंगे।

Dakhal News

Dakhal News 7 September 2021


bhopal, Efforts necessary , increase awareness , SC and ST society, Governor Patel

भोपाल। राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि अनुसूचित जाति, जनजाति समाज में जागरूकता बढ़ाने के प्रयास जरूरी हैं। सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के संबंध में ग्राम सभाओं में जानकारी दी जाए। उन्होंने कहा कि हितग्राही मूलक योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए सकारात्मक सोच और संवेदनशील व्यवहार जरूरी है। लक्ष्य हो कि एक भी पात्र व्यक्ति योजना के लाभ से वंचित नहीं रहे। उक्त बातें राज्यपाल पटेल ने मंगलवार को राजभवन में अनुसूचित जाति एवं जनजातियों के संबंध में आयोजित बैठक में कही। राज्यपाल पटेल ने कहा कि अनुसूचित जाति, जनजाति विकास प्रयासों में समाज की मूलभूत आवश्यकताओं पर भी विशेष ध्यान दिया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि समाज के युवाओं के कौशल उन्नयन के प्रयासों में स्थानीय उद्योगों और व्यवसाय में रोजगार की संभावनाओं के अनुसार प्रशिक्षण की व्यवस्था की जानी चाहिए। स्थानीय लोगों को रोजगार में प्राथमिकता मिले, इसके प्रयास जरूरी हैं। उन्होंने वन अधिकार अधिनियम के तहत लंबित प्रकरणों के शीघ्र निराकरण में ग्राम सभा की सहभागिता के साथ प्रयास किए जाने पर बल दिया। ग्राम सभा में गाँव के बुजुर्गों को भी शामिल किया जाना चाहिए। उन्होंने वन विभाग द्वारा पौधरोपण कार्य के संबंध में जानकारी प्राप्त करते हुए कहा कि मिट्टी की जाँच करा कर, उसके अनुकूल पौधों का रोपण किया जाए। पौधरोपण की उत्तरजीविता को बढ़ाने के लिए बड़े पौधों को लगाने के प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने उड़ीसा के बांसों का उल्लेख करते हुए प्रदेश में उनके उत्पादन की संभावनाओं को तलाशने के लिए भी कहा है। प्रमुख सचिव वन अशोक बर्णवाल ने विभाग की गतिविधियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि भारतीय वन सर्वेक्षण देहरादून के आकलन में वर्ष 2005 से 2019 के दौरान प्रदेश का कुल वन क्षेत्र 1,469 वर्ग किलोमीटर बढ़ा है। प्रमुख सचिव आदिम जाति कल्याण तथा अनुसूचित जाति कल्याण डॉ. पल्लवी जैन गोविल ने बताया कि पर्यटन विभाग के साथ समन्वय कर स्थानीय युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान कर पर्यटन उद्योग से संबंधित विभिन्न कार्यों में रोजगार उपलब्ध कराने की पहल शुरू की गई है। इस दौरान वन मंत्री कुंवर विजय शाह, जनजातीय कार्य, अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री मीना सिंह मांडवे, राज्यपाल के अपर सचिव मनोज खत्री, आयुक्त अनुसूचित जनजाति कार्य संजीव सिंह और संचालक ट्रायबल एरिया डेवलपमेंट एंड प्लानिंग शैलबाला मार्टिन मौजूद थी।

Dakhal News

Dakhal News 7 September 2021


bhopal, Chief Minister ,expressed condolences , meeting bereaved family

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को सपत्नीक विदिशा प्रवास के दौरान शोकाकुल परिवार से भेंट कर शोक संवेदनाएं व्यक्त कीं। मुख्यमंत्री चौहान शुक्रवार को विदिशा पहुंचे। यहां उन्होंने पूर्व विधायक स्व. मोहर सिंह ठाकुर, पूर्व विधायक स्व. कल्याण सिंह ठाकुर सहित एडवोकेट स्व. दातार सिंह लोधी, स्व. सुरेश चन्द्र जैन और स्व. श्री अशोक बैतूले के निवास पर पहुंचकर शोकाकुल परिवार से भेंट की और शोक संवेदनाएँ व्यक्त की।  

Dakhal News

Dakhal News 3 September 2021


bhopal,BJP is trying ,mislead backward classes, JP Dhanopia

भोपाल। मध्यप्रदेश राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष एडवोकेट जे.पी. धनोपिया ने भोपाल में शुक्रवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा है कि राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष बनाने को लेकर मीडिया में चल रही खबरें पूरी तरह से बेबुनियाद और तथ्यहीन है कि गौरी शंकर बिसेन को मध्यप्रदेश राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है। वास्तविकता यह है की श्री बिसेन पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष नियुक्त किये गए हैं। जिसकी मुख्यमंत्री द्वारा 15 अगस्त 2021 के अपने संबोधन में इसके गठन की घोषणा की गई थी। यह एक सामान्य आयोग जैसे जाँच आयोग होते हैं ऐसे ही बिना संवैधानिक नियमों के अनुरूप उनकी नियुक्ति है। कांग्रेस नेता धनोपिया ने कहा कि तथ्य है की मध्यप्रदेश राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग एक संवैधानिक संस्था है, जिसका मैं अध्यक्ष हूँ। उच्च न्यायालय में प्रकरण चलने के दौरान शासन कोई नियुक्ति नहीं कर सकता। यह प्रयास पिछड़ा वर्ग के लोगों में भ्रम पैदा करना और असली मुद्दों से ध्यान भटकाने का हथकंडा है। जे.पी. धनोपिया ने बताया की राज्य के मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष की नियुक्ति कर ही नहीं सकते हैं, अन्यथा माननीय उच्च न्यायालय के निर्देश की अवहेलना हो जाती।

Dakhal News

Dakhal News 3 September 2021


bhopal,CM Shivraj, remembers great singer ,Mukesh death anniversary

भोपाल। अपनी गायकी से लोगों के दिलों को छू लेने वाले महान गायक मुकेश की आज पुण्यतिथि है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अवसर पर उनका स्मरण करते हुए उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किये हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि -"मनमोहक व्यक्तित्व के धनी, महान गायक मुकेश जी की आज पुण्यतिथि है और उनकी स्मृतियां ताजा हो गईं। वह मेरे सबसे पसंदीदा गायक रहे हैं। उनकी अप्रतिम आवाज गीतों को एक नई मधुरता और अनूठापन प्रदान कर जीवंत करती है।"उन्होंने अगले ट्वीट में कहा है कि -"मैं सच कहूं तो मुकेश जी के गीत मन को आनंदित करने के साथ आत्मा तक को तृप्त करते हैं। मुझे उनका गाया यह गीत 'बस यही अपराध मैं हर बार करता हूं, आदमी हूं आदमी से प्यार करता हूं...' बहुत पसंद है। इस गीत में जीवन दर्शन है।"मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि -"मैंने इस गीत को मध्यप्रदेश के स्थापना दिवस पर उनके सुपुत्र नितिन मुकेश जी के साथ भी गाया था और इसे मैं विभिन्न अवसरों पर गाता भी रहता हूं। सब एक-दूसरे से प्रेम करें, तो दुनिया से सभी झगड़े समाप्त हो जायें। महान गायक मुकेश जी की पुण्यतिथि पर अपनी श्रद्धा के सुमन अर्पित करता हूं।"

Dakhal News

Dakhal News 27 August 2021


bhopal, We have to create , organization fights ,challenges,Shivprakash ji

भोपाल। जिला अध्यक्ष, जिलों के प्रभारी मंत्री और जिला प्रभारी इन तीन कार्यकर्ताओं की त्रिवेणी मिलकर जिले में पार्टी के जनाधार और समाज का प्रत्येक वर्ग हमारी विचारधारा से जुड़े, इस बात की चिंता करें। हमें हर जिले में चुनौती से लड़ने वाला संगठन खड़ा करना है और एक भी सीट और एक भी बूथ हमसे न छूटे, इसका विशेषकर ध्यान रखना है। यह बात पार्टी के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश जी ने शुक्रवार को पार्टी की कामकाजी बैठक के समापन सत्र को संबोधित करते हुए कही। बैठक में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत एवं प्रदेश सह संगठन महामंत्री हितानंद जी उपस्थित थे। शिवप्रकाश जी ने कहा कि हमारा विचार संघर्षों के साथ लगातार आगे बढा है और इसी आधार पर हम संकटों से संघर्ष करने वाले संगठन को खड़ा करें, जिससे हमारा संगठन सर्वव्यापी, सर्वस्पर्शी, सक्षम, स्वावलंबी और समन्वयकारी बनेगा। उन्होंने कहा कि संगठन की मजबूती के कारण ही हम सफल हुए हैं। आगे भी हम सफल होंगे तो मिलकर चलने के आधार पर ही। इसलिए जनप्रतिनिधि और संगठन का समन्वय, विचार परिवार का समन्वय, राष्ट्रवादी ताकतों और समाज में अच्छा करने वालों का समन्वय और समाज के प्रत्येक वर्ग के साथ हमारा समन्वय होना चाहिए। उन्होंने कहा कि नेतृत्व के साथ उपर से नीचे तक परस्पर एक दूसरे का विश्वास करते हुए समन्वय की धारा पर अगर हम चलते हैं तो दुनिया की कोई भी ताकत हमें रोक नहीं सकती। उन्होंने कहा कि अटलजी की कविता ‘‘कदम मिलाकर चलना होगा’’ हमारा सूत्र है और इसी के आधार पर सामूहिक रूप से मिलकर 2023 और 2024 में जीतेंगे और दुनिया के सामने ऐसा शक्तिशाली भारत बनायेंगे कि किसी भी राष्ट्र विरोधी ताकत की आंख उठाने की हिम्मत नहीं होगी।उन्होंने कुशाभाउ ठाकरे जी का स्मरण करते हुए कहा कि जब दूसरे प्रदेशों में संगठन के बूथ, मंडल और शक्ति केन्द्रों की चर्चा ही नहीं होती थी तब मध्यप्रदेश में ठाकरे जी ने कार्यकर्ताओं को सक्रिय किया और मजबूत संगठन खड़ा किया। उन्होंने एक-एक व्यक्ति को प्रशिक्षित और संगठित करने का काम किया। उनकी जन्मशताब्दी के अवसर पर स्वावलंबी मंडल का जो लक्ष्य निर्धारित किया है, उसे मिलकर पूरा करें।

Dakhal News

Dakhal News 27 August 2021


bhopal, It is wonderful,direct vision ,bravery of the bravehearts

भोपाल। नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) के कमांडो द्वारा आंतकी गतिविधियों को नियंत्रित करने के लिये किया जाने वाला शौर्य प्रदर्शन का चश्मदीद होना अद्भुत है। एनएसजी कमांडो सही मायनों में हमारे शूरवीर हैं। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने यह बात शुक्रवार को भारत भवन में आंतकरोधी वार्षिक अभ्यास में एनएसजी कमांडो द्वारा लोगों की जान-माल की सुरक्षा के लिये तत्परता से उत्कृष्ट कार्य की मॉकड्रिल के अवलोकन के बाद कही। एनएसजी के आईजी ऑपरेशन मेजर जनरल वीएस रानाडे ने मॉकड्रिल संबंधी गतिविधियों की जानकारी दी। पुलिस महानिदेशक विवेक जोहरी, एडीजी अशोक अवस्थी एवं डी.सी. सागर, आईजी एसडीईआरएफ दीपिका सूरी और अन्य आला अधिकारी मौजूद थे। अभ्यास के समन्वय संबंधी कार्य कैप्टन अमित तिवारी द्वारा किया गया।दरअसल, शुक्रवार को भोपाल के भारत भवन में एनएसजी कमांडो द्वारा आंतकी गतिविधियों में होने वाली क्षति को रोकने के लिये किये जाने वाले कार्यों का प्रदर्शन किया गया। इसके अन्तर्गत हमीदिया अस्पताल पर हेलीकॉप्टर द्वारा एनएसजी कमांडो को उतारने और प्रभावित लोगों के रेस्क्यू के लिये की गई कार्यवाही को प्रोजेक्टर के माध्यम से प्रदर्शित किया गया। इसके साथ ही आतंकवादियों को रोकने और स्थितियों को नियंत्रित करने संबंधी प्रदर्शन भी भारत भवन में एनएसजी के कमांडो द्वारा किया गया। मेजर जनरल रानाडे ने बताया कि राज्यों के पुलिस बल द्वारा स्थितियों को नियंत्रित करने में असमर्थता की स्थिति में एनएसजी कमांडो को ऑपरेशन के लिये उतारा जाता है। एनएसजी कमांडो राज्य स्तरीय पुलिस बल के साथ समन्वय कर ऑपरेशन को अंजाम देते है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश की सहायता के लिये एनएसजी की यूनिट मुम्बई में मौजूद रहती है। भोपाल में हो रहे वार्षिक अभ्यास में मुम्बई के साथ ही कोलकाता की एनएसजी यूनिट भी सम्मिलित हुई। गांडीव-3 श्रंखला के अन्तर्गत होने वाले अभ्यास में इंदौर में 3 टारगेट और भोपाल में 5 टारगेट आरबीआई, विधानसभा भवन, वल्लभ भवन, हमीदिया अस्पताल और भारत भवन रखे गये थे।एनएसजी से मिलेगा प्रशिक्षणगृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने मॉकड्रिल का अवलोकन करने के पश्चात एनएसजी के आईजी ऑपरेशन मेजर जनरल रानाडे से राज्य के बल को प्रशिक्षित करने के संबंध में चर्चा की। रानाडे ने आश्वस्त किया कि एनएसजी के द्वारा राज्य सरकार के पुलिस बल को आंतकी गतिविधियों का तत्परता पूर्वक सामना करने के लिये आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा।मंत्री डॉ. मिश्रा ने शस्त्रों का किया अवलोकनएनएसजी के द्वारा उपयोग में लाये जाने वाले शस्त्रों का गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने अवलोकन किया। मेजर जनरल रानाडे और कर्नल नितीश द्वारा शस्त्रों के उपयोग के बारे में आवश्यक जानकारी से डॉ. मिश्रा को अवगत कराया गया।  

Dakhal News

Dakhal News 27 August 2021


bhopal, Rameshwar Sharma, retaliated , Munawwar Rana

भोपाल। अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने अब तालिबान को लेकर विवादित बयान दिया है। मुनव्वर राणा का कहना है कि जितनी क्रूरता अफगानिस्तान में है, उससे ज्यादा क्रूरता तो हमारे यहां पर ही है। पहले रामराज था, लेकिन अब कामराज है, अगर राम से काम है तो ठीक वरना कुछ नहीं। उनके इस बयान पर भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने पलटवार किया है। रामेश्वर शर्मा ने ट्वीट कर मुनव्वर राणा के विवादित बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि ये श्रीराम का देश है, महात्मा गांधी जी की अहिंसा को मानने वाला देश है, इसलिए मुन्नबर राणा तुम जिंदा हो। श्रीराम पर प्रश्न चिन्ह लगाओगे सारी शेरों शायरी बंद हो जाएगी। उन्होंने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश के सीएम श्री योगी आदित्यनाथ जी से आग्रह करता हूँ की मुन्नबर राणा ने कहाँ कहाँ एके47 छुपा रखी है। इसकी जाँच करायी जाए साथ ही इन्हें अविलंब अफगानिस्तान भेजने की तैयारी की जानी चाहिए। बता दे कि मुनव्वर राणा ने अपने बयान में कहा था कि जितनी एके-47 उनके पास नहीं होंगी, उतनी तो हिन्दुस्तान में माफियाओं के पास हैं। तालिबानी तो हथियार छीनकर और मांगकर लाते हैं, लेकिन हमारे यहां माफिया तो खरीदते हैं। मुनव्वर राणा ने कहा कि हिन्दुस्तान को तालिबान से डरने की ज़रुरत नहीं है, क्योंकि अफगानिस्तान से जो हजारों बरस का साथ है।  

Dakhal News

Dakhal News 19 August 2021


bhopal, Rameshwar Sharma, retaliated , Munawwar Rana

भोपाल। अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने अब तालिबान को लेकर विवादित बयान दिया है। मुनव्वर राणा का कहना है कि जितनी क्रूरता अफगानिस्तान में है, उससे ज्यादा क्रूरता तो हमारे यहां पर ही है। पहले रामराज था, लेकिन अब कामराज है, अगर राम से काम है तो ठीक वरना कुछ नहीं। उनके इस बयान पर भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने पलटवार किया है। रामेश्वर शर्मा ने ट्वीट कर मुनव्वर राणा के विवादित बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि ये श्रीराम का देश है, महात्मा गांधी जी की अहिंसा को मानने वाला देश है, इसलिए मुन्नबर राणा तुम जिंदा हो। श्रीराम पर प्रश्न चिन्ह लगाओगे सारी शेरों शायरी बंद हो जाएगी। उन्होंने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश के सीएम श्री योगी आदित्यनाथ जी से आग्रह करता हूँ की मुन्नबर राणा ने कहाँ कहाँ एके47 छुपा रखी है। इसकी जाँच करायी जाए साथ ही इन्हें अविलंब अफगानिस्तान भेजने की तैयारी की जानी चाहिए। बता दे कि मुनव्वर राणा ने अपने बयान में कहा था कि जितनी एके-47 उनके पास नहीं होंगी, उतनी तो हिन्दुस्तान में माफियाओं के पास हैं। तालिबानी तो हथियार छीनकर और मांगकर लाते हैं, लेकिन हमारे यहां माफिया तो खरीदते हैं। मुनव्वर राणा ने कहा कि हिन्दुस्तान को तालिबान से डरने की ज़रुरत नहीं है, क्योंकि अफगानिस्तान से जो हजारों बरस का साथ है।  

Dakhal News

Dakhal News 19 August 2021


bhopal, Pledge given ,Sadbhavna Diwas, Mantralaya

भोपाल । मंत्रालय वल्लभ भवन में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने गुरुवार को सद्भावना दिवस की प्रतिज्ञा दिलायी। सभी ने प्रतिज्ञा ली कि जाति, संप्रदाय, क्षेत्र, धर्म अथवा भाषा का भेदभाव किए बिना सभी भारतवासियों की भावनात्मक एकता और सद्भावना के लिए कार्य करेंगे। साथ ही यह प्रतिज्ञा भी ली कि हिंसा का सहारा लिए बिना सभी प्रकार के मतभेद बातचीत और संवैधानिक माध्यम से सुलझायेंगे। इस दौरान मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव विनोद कुमार, मलय श्रीवास्तव, एस. एन. मिश्रा, प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई, संजीव कुमार झा सहित मंत्रालय के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।  

Dakhal News

Dakhal News 19 August 2021


bhopal, Pledge given ,Sadbhavna Diwas, Mantralaya

भोपाल । मंत्रालय वल्लभ भवन में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने गुरुवार को सद्भावना दिवस की प्रतिज्ञा दिलायी। सभी ने प्रतिज्ञा ली कि जाति, संप्रदाय, क्षेत्र, धर्म अथवा भाषा का भेदभाव किए बिना सभी भारतवासियों की भावनात्मक एकता और सद्भावना के लिए कार्य करेंगे। साथ ही यह प्रतिज्ञा भी ली कि हिंसा का सहारा लिए बिना सभी प्रकार के मतभेद बातचीत और संवैधानिक माध्यम से सुलझायेंगे। इस दौरान मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव विनोद कुमार, मलय श्रीवास्तव, एस. एन. मिश्रा, प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई, संजीव कुमार झा सहित मंत्रालय के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।  

Dakhal News

Dakhal News 19 August 2021


bhopal, MLA Rameshwar Sharma,Congress and Taliban, two sides of a coin

भोपाल। अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर हुजूर विधानसभा सीट से विधायक रामेश्वर शर्मा ने एक और विवादित बयान दिया है। मंगलवार को सोशल मीडिया पर दिये अपने बयान में उन्होंने कांग्रेस और तालिबान को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया है। विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि कांग्रेस और तालिबान को एक सिक्के के दो पहलू कहने का आश्य केवल इतना है कि इस समय पूरे विश्व में घट रही आंतकवादी घटनाओं की कांग्रेस निंदा नहीं कर रही है। वह अपने मित्र देश पाकिस्तान और चीन से भी अफगानिस्तान में हो रही आतंकी घटनाओं को लेकर कुछ नहीं कह पा रही। विधायक शर्मा ने कहा कि अफगानिस्तान की सत्ता पर आतंकवादियों ने कब्जा कर लिया है। वहां पर निर्दोषों की हत्या हो रही है। आम नागरिकों का वहां जीना मुश्किल और असुरक्षित हो गया है। आतंकियों ने लूटपाट मचा रखी है। इस पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस चुप है। साथ ही मुस्लिम देश जिनके साथ कांग्रेस दोस्ती और दोस्ताना व्यवहार की बात करती है, उनके द्वारा भी कोई निंदा नहीं की जा रही है। क्या ये घटनाएं आने वाले दिनों में विश्व के मानचित्र पर कोई प्रभाव नहीं छोड़ेंगी? क्या यह सामान्य घटनाएं हैं? शर्मा ने कहा कांग्रेस के नेता हमारे देश को ज्ञान दे रहे हैं। जबकि उनको पाकिस्तान जैसे अपने मित्र देश जो तालिबान का समर्थन कर रहा है, उसकी निंदा करनी चाहिए। कांग्रेस को अपने मित्र देश पाकिस्तान से कहना चाहिए कि वह तालिबान की निंदा करे, उनसे संबंध तोड़े।  

Dakhal News

Dakhal News 17 August 2021


bhopal, MLA Rameshwar Sharma,Congress and Taliban, two sides of a coin

भोपाल। अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर हुजूर विधानसभा सीट से विधायक रामेश्वर शर्मा ने एक और विवादित बयान दिया है। मंगलवार को सोशल मीडिया पर दिये अपने बयान में उन्होंने कांग्रेस और तालिबान को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया है। विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि कांग्रेस और तालिबान को एक सिक्के के दो पहलू कहने का आश्य केवल इतना है कि इस समय पूरे विश्व में घट रही आंतकवादी घटनाओं की कांग्रेस निंदा नहीं कर रही है। वह अपने मित्र देश पाकिस्तान और चीन से भी अफगानिस्तान में हो रही आतंकी घटनाओं को लेकर कुछ नहीं कह पा रही। विधायक शर्मा ने कहा कि अफगानिस्तान की सत्ता पर आतंकवादियों ने कब्जा कर लिया है। वहां पर निर्दोषों की हत्या हो रही है। आम नागरिकों का वहां जीना मुश्किल और असुरक्षित हो गया है। आतंकियों ने लूटपाट मचा रखी है। इस पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस चुप है। साथ ही मुस्लिम देश जिनके साथ कांग्रेस दोस्ती और दोस्ताना व्यवहार की बात करती है, उनके द्वारा भी कोई निंदा नहीं की जा रही है। क्या ये घटनाएं आने वाले दिनों में विश्व के मानचित्र पर कोई प्रभाव नहीं छोड़ेंगी? क्या यह सामान्य घटनाएं हैं? शर्मा ने कहा कांग्रेस के नेता हमारे देश को ज्ञान दे रहे हैं। जबकि उनको पाकिस्तान जैसे अपने मित्र देश जो तालिबान का समर्थन कर रहा है, उसकी निंदा करनी चाहिए। कांग्रेस को अपने मित्र देश पाकिस्तान से कहना चाहिए कि वह तालिबान की निंदा करे, उनसे संबंध तोड़े।  

Dakhal News

Dakhal News 17 August 2021


bhopal, MLA Rameshwar Sharma,Congress and Taliban, two sides of a coin

भोपाल। अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर हुजूर विधानसभा सीट से विधायक रामेश्वर शर्मा ने एक और विवादित बयान दिया है। मंगलवार को सोशल मीडिया पर दिये अपने बयान में उन्होंने कांग्रेस और तालिबान को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया है। विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि कांग्रेस और तालिबान को एक सिक्के के दो पहलू कहने का आश्य केवल इतना है कि इस समय पूरे विश्व में घट रही आंतकवादी घटनाओं की कांग्रेस निंदा नहीं कर रही है। वह अपने मित्र देश पाकिस्तान और चीन से भी अफगानिस्तान में हो रही आतंकी घटनाओं को लेकर कुछ नहीं कह पा रही। विधायक शर्मा ने कहा कि अफगानिस्तान की सत्ता पर आतंकवादियों ने कब्जा कर लिया है। वहां पर निर्दोषों की हत्या हो रही है। आम नागरिकों का वहां जीना मुश्किल और असुरक्षित हो गया है। आतंकियों ने लूटपाट मचा रखी है। इस पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस चुप है। साथ ही मुस्लिम देश जिनके साथ कांग्रेस दोस्ती और दोस्ताना व्यवहार की बात करती है, उनके द्वारा भी कोई निंदा नहीं की जा रही है। क्या ये घटनाएं आने वाले दिनों में विश्व के मानचित्र पर कोई प्रभाव नहीं छोड़ेंगी? क्या यह सामान्य घटनाएं हैं? शर्मा ने कहा कांग्रेस के नेता हमारे देश को ज्ञान दे रहे हैं। जबकि उनको पाकिस्तान जैसे अपने मित्र देश जो तालिबान का समर्थन कर रहा है, उसकी निंदा करनी चाहिए। कांग्रेस को अपने मित्र देश पाकिस्तान से कहना चाहिए कि वह तालिबान की निंदा करे, उनसे संबंध तोड़े।  

Dakhal News

Dakhal News 17 August 2021


bhopal, Yuva Morcha, message of environmental protection ,Sankalp Yatras, Vaibhav Panwar

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा एवं युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या के निर्देशानुसार युवा मोर्चा आजादी के अमृत महोत्सव को मनाने के लिए युवा संकल्प यात्राओं एवं राष्ट्रगान के सामूहिक आयोजन करेगा। इन कार्यक्रमों के माध्यम से युवा मोर्चा जन जागरूकता, स्वच्छता एवं पर्यावरण के संरक्षण का संदेश देगा। यह बात भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष वैभव पंवार ने शुक्रवार को पत्रकार वार्ता के दौरान कही। प्रमुख चौराहों, सार्वजनिक स्थलों पर होगा राष्ट्रगान युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष वैभव पंवार ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस पर युवा मोर्चा द्वारा प्रदेश में 920 स्थानों पर सामूहिक राष्ट्रगान का आयोजन किया जाएगा। 15 अगस्त को सुबह 7.50 बजे युवा मोर्चा कार्यकर्ता राष्ट्रगान प्रस्तुत करेंगे। प्रमुख चौराहों एवं सार्वजनिक स्थानों पर होने वाले इन कार्यक्रमों से आमजन और युवाओं को जोड़ने के लिए इनका लाइव प्रसारण भी किया जाएगा। पंवार ने प्रदेश के युवाओं से आह्वान किया कि वे अधिक से अधिक संख्या में इन कार्यक्रमों भाग लें साथ ही राष्ट्रगान गाकर उसे rashtragaan-in पर अपलोड करें।प्रदेश में निकलेंगी 292 युवा संकल्प यात्राएं पंवार ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत युवा मोर्चा द्वारा प्रदेश में 15, 16 एवं 17 अगस्त को 292 युवा संकल्प यात्राओं का आयोजन किया जाएगा। ये यात्राएं युवा मैराथन या साइकिल यात्राओं के रूप में होंगी। उन्होंने बताया कि 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आयोजित की जा रही ये यात्राएं 7.5 कि.मी. की होंगी। इस तरह प्रदेश में कुल 2190 कि.मी. लंबी युवा संकल्प यात्राओं का आयोजन किया जाएगा। पंवार ने कहा कि ये यात्राएं जहां आयोजित की जाएंगी, वहां युवा मोर्चा कार्यकर्ता स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करेंगे। साथ ही पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से कम से कम 75 पौधे भी रोपे जाएंगे। श्री पंवार ने संकल्प यात्राओं के लिए विशेष तौर पर तैयार कराई गई टी-शर्ट भी मीडिया के सामने प्रस्तुत की।

Dakhal News

Dakhal News 13 August 2021


bhopal, Crime was reduced ,Kamal Nath government, PC Sharma

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने पुलिस अधिकारी आलोक श्रीवास्तव को केंद्र सरकार द्वारा मैडल फॉर एक्सीलेंस इन्वेस्टीगेशन पर सम्मान दिये जाने पर बधाई देते हुए कहा कि पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार के दौरान महिला अपराधों पर की गई कसावट के दौरान ही 2019 में आलोक श्रीवास्तव ने महीने भर के अंदर ही अपराधियों को पकडक़र इतना पुख्ता इन्वेस्टीगेशन किया था कि अपराधियों को डबल फांसी की सजा हुई। उनके इस सफल इन्वेस्टीगेशन के फलस्वरूप कमलनाथ सरकार ने उनकी 4 पुलिसकर्मियों की टीम को 22-22 हजार रुपये के दो चेक देकर सम्मानित किया था। केंद्र सरकार ने आलोक श्रीवास्तव को सम्मानित कर कमलनाथ सरकार के सख्त प्रयासों पर मुहर लगा दी है। पीसी शर्मा ने कहा कि यह दुर्भाग्य है कि गलत तरीकों से कमलनाथ की सरकार गिराने के बाद सत्ता में आई भाजपा ने फिर से मप्र को बलात्कार में देश में प्रथम स्थान पर लाकर खड़ा कर दिया है।   मप्र सरकार ने 28 प्रतिशत महंगाई भत्ते से किया इंकार पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने यह भी बताया कि सरकार ने उनके तारांकित प्रश्न क्रमांक 677 में बताया है कि मप्र सरकार के कर्मचारियों को केंद्र के समान महंगाई भत्ता देने का कोई प्रावधान नहीं है। जबकि हमारी सरकार इस मामले में संवेदनशील थी।  

Dakhal News

Dakhal News 13 August 2021


bhopal, Congress raised questions,Jan Ashirwad Yatra , BJP

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने कहा है कि भाजपा 16 अगस्त से मप्र में हाल ही में बने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, वीरेन्द्र खटीक व अन्य केंद्रीय मंत्रियों के साथ अलग-अलग संभागों में भव्य रथ पर सवार होकर ‘जन आशीर्वाद’ यात्रा निकालने जा रही है। उन्होंने जनआशीर्वाद यात्रा पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब कोरोना की दूसरी लहर से प्रदेश में एक लाख से अधिक मौतें हो चुकी है और तीसरी लहर की दस्तक की संभावना व्यक्त की जा रही है, तब ऐसे में करोड़ों रुपये खर्च कर सुसज्जित तरीके से भव्य रथ पर भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा समझ से परे है? उन्होंने कहा कि हाल ही में प्रदेश में बाढ़ से 30 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, 4 हजार से अधिक पशुओं की मौत हो चुकी है, कई पुल-पुलिया बह गये हैं, एक लाख हेक्टेयर से अधिक फसलें बर्बाद हो चुकी हैं, 30 हजार से अधिक मकान क्षतिग्रस्त हो चुके हैं, ऐसे में भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा निश्चित तौर पर सरकार की असंवेदनशीलता को प्रदर्शित कर रही है? कांग्रेस नेता ने कहा कि वैसे तो भाजपा को ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रायश्चित यात्रा पूरे प्रदेश में निकालना चाहिए, क्योंकि उन्होंने प्रदेश में जनता की चुनी हुई सरकार को गिराकर जनता के विश्वास के साथ धोखा किया है। उन्होंने कहा कि सिंधिया जी की यह यात्रा ग्वालियर, चंबल संभाग के बाढ़ ग्रस्त इलाकों से निकलना चाहिए, जिसकी शुरूआत श्योपुर से होना चाहिए। सलूजा ने कहा कि भाजपा अपनी असफलताएं छिपाने के लिए तरह तरह के आयोजन, उत्सव, जश्न, अभियानों का सहारा लेती है। अभी भी इस जन आशीर्वाद यात्रा के माध्यम से भाजपा बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, कोरोना, किसानों की परेशानी, कर्मचारियों की अनदेखी, ओबीसी और आदिवासी वर्ग के हितों जैसे अनेक मुद्दों से प्रदेश की जनता का ध्यान भटकाने का काम कर रही है। प्रदेश की जनता इस सच्चाई को भलिभांति जानती है।

Dakhal News

Dakhal News 13 August 2021


bhopal, Work continues , restore power supply , flood-affected districts

भोपाल। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने बताया है कि बाढ़ से प्रभावित जिलों में विद्युत आपूर्ति बहाल करने का कार्य अभियान के रूप में किया जा रहा है। श्योपुर जिला मुख्यालय में 100 प्रतिशत विद्युत आपूर्ति शुरू कर दी गयी है। इसके साथ ही बाढ़ प्रभावित तहसील मुख्यालय विजयपुर, कराहल, वीरपुर और बडोदा में भी विद्युत आपूर्ति बहाल कर दी गयी है। मंत्री तोमर ने रविवार को जारी बयान में बताया कि बाढ़ प्रभावित 563 ग्रामों से 400 ग्रामों में भी बिजली चालू कर दी गई है। विद्युत आपूर्ति बहाल करने की कार्यवाही लगातार जारी है। जल्द ही सभी स्थानों में भी विद्युत आपूर्ति शुरू हो जायेगी।शिवपुरी में 15 फीडरों पर विद्युत व्यवस्था बहाल   उन्होंने बताया कि शिवपुरी जिले में जिला मुख्यालय तथा तहसील मुख्यालय के सभी 11 के.व्ही. फीडरों से विद्युत आपूर्ति बहाल कर दी गई है। जिले के 162 घरेलू फीडरों में से 156 फीडरों पर विद्युत व्यवस्था बहाल कर दी गई है। जिले के 222 पंप फीडर में से 142 फीडरों पर विद्युत आपूर्ति बहाल कर दी गई है। कुछ फीडर आंशिक रूप से चालू किये गये हैं। बंद फीडरों पर लगातार सुधार कार्य कर विद्युत व्यवस्था सुचारू रूपे से बहाल करने का कार्य प्रगति पर है। इसी प्रकार जिले में 33/11 के.व्ही. के 98 उपकेन्द्र में से 95 उपकेन्द्र चालू किये जा चुके हैं।  

Dakhal News

Dakhal News 8 August 2021


bhopal, Drinking water supply, restored in all wards,Sheopur, Minister Bhupendra Singh

भोपाल। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने बताया है कि श्योपुर शहर में सभी वार्डों में पेय जल आपूर्ति बहाल कर दी गयी है। बाढ़ आपदा के बाद 106 ट्यूबबेल में से 103 चालू कर दिये गये हैं। उन्होंने रविवार को जारी अपने बयान में बताया कि आश्यकतानुसार जल आपूर्ति के लिये 15 टेंकर भी लगाये गये हैं। श्योपुर जिले के बाढ़ प्रभावित नगर बड़ोदा में भी पेयजल आपूर्ति शुरू हो गयी है। बाढ़ प्रभावित नगरीय निकायों में क्षतिग्रस्त आवासों का सर्वेक्षण जारी है।उन्होंने बताया कि श्योपुर शहर में सफाई का कार्य दिन-रात 3 शिफ्ट में चल रहा है। आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं आवास निकुंज श्रीवास्तव स्वयं इसकी मौके पर मॉनीटरिंग कर रहे हैं। बाढ़ प्रभावितों के लिये भोपाल से 2500 कंबल और इंदौर से 500 साड़ियों के साथ अन्य राहत सामग्री पहुँचायी जा रही है।श्योपुर में 8 अगस्त को 13 जेसीबी, 6 डम्पर, 7 सीवर सक्शन मशीन, 3 जेटिंग मशीन, 30 ट्रेक्टर ट्राली और 15 ट्रेक्टर स्क्रेपर लगाये गये हैं। लगभग 200 सफाई श्रमिक लगातार कार्य कर रहे हैं। बाढ़ प्रभावित लोगों को 7 राहत कैम्पों में ठहराया गया है। यहाँ पर गद्दे, भोजन, पेयजल आदि की समुचित व्यवस्था की गयी है।  

Dakhal News

Dakhal News 8 August 2021


bhopal,Minister Silavat, reached,flood affected villages

भोपाल। खेतों से होकर गुजर रहे दुर्गम रास्तों को तय कर ग्वालियर जिले के प्रभारी एवं प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट रविवार को सिंध नदी के किनारे बसे झंडा का डेरा सहित अन्य बाढ़ प्रभावित गाँवों में पहुँचे। उन्होंने पूरी हमदर्दी के साथ बाढ़ प्रभावित परिवारों की दुःख-तकलीफ सुनीं, साथ ही सभी बाढ़ प्रभावित परिवारों को पक्का भरोसा भी दिलाया कि चिंता न करें मकान, मवेशी, फसल एवं अनाज सहित बाढ़ से अन्य जो भी नुकसान हुए हैं, उनकी भरपाई करने की सरकार पुरजोर कोशिश करेगी। प्रभारी मंत्री सिलावट को पता चला था कि डबरा विकास खण्ड की ग्राम पंचायत से जुड़े झंडा का डेरा, इमली का डेरा, बैजनाथ का डेरा इत्यादि मजरों ने सबसे ज्यादा बाढ़ का कहर झेला है। स्थानीय नोन नदी पर बने रपटे पर पानी ओवर फ्लो होने से प्रभारी मंत्री की गाड़ी नहीं निकल पाई, तब वे नहर के किनारे-किनारे बने कीचड़ भरे कठिन रास्ते से सफर तय कर बाढ़ प्रभावित गाँवों के लोगों के बीच पहुँचे। पूर्व मंत्री इमरती देवी भी उनके साथ थीं।मंत्री सिलावट ने झंडा का डेरा में बाढ़ के कहर से धराशायी हुए कच्चे-पक्के मकान, खराब हो चुके अनाज और लोगों की सम्पत्ति को हुए नुकसान को घर-घर जाकर देखा और लोगों को ढांढस बंधाया।सिलावट ने डबरा तहसीलदार और जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को निर्देश दिए कि दो दिन के भीतर हर बाढ़ प्रभावित परिवार तक आधा क्विंटल राशन पहुँचाना सुनिश्चित करें। साथ ही सर्वे का काम युद्ध स्तर पर पूरा कर जिनके मकान पूरी तरह नष्ट हो गए हैं उन्हें राजस्व पुस्तक परिपत्र और मनरेगा के तहत एक लाख बीस हज़ार रुपये की आर्थिक सहायता दें। इसी तरह जिनके मवेशी बह गए हैं, अनाज नष्ट हुआ है और फसल खराब हुई है इत्यादि नुकसान का भी जल्द से जल्द सर्वे पूर्ण कर अभियान बतौर राहत बांटें। सिलावट ने गाँव की बिजली सप्लाई को जल्द से जल्द बहाल करने पर भी विशेष जोर दिया। गाँव में विद्युत वितरण कंपनी के कर्मचारियों द्वारा लाइन दुरस्त करने का काम शुरु कर दिया है।इस दौरान प्रभारी मंत्री सिलावट ने बाढ़ प्रभावित लोगों को त्वरित राहत का भरोसा दिलाते हुए कहा आप सबको जल्द से जल्द आर्थिक राहत देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विशेष रूप से चिंतित हैं और प्रतिदिन इसकी समीक्षा कर रहे हैं। साथ ही केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी आप सबके लिए राहत सामग्री भेजी है।बाढ़ प्रभावित लोगों ने प्रभारी मंत्री को जानकारी दी कि बिजकपुर ग्राम पंचायत से जुड़े झंडा के डेरा के 49 मकानों सहित चारों मजरों में कुल 221 मकानों को नुकसान पहुँचा है। प्रभारी मंत्री सिलावट ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि जिनके मकान नष्ट हुए हैं सरकार उन सभी के नए घर बनवाएगी। इसके लिए हर प्रभावित परिवार को एक लाख बीस हज़ार रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी।विशेष स्वास्थ्य शिविर लगाने के दिये निर्देशमंत्री तुलसीराम सिलावट ने बिजकपुर ग्राम पंचायत से जुड़े बाढ़ प्रभावित मजरों में विशेष स्वास्थ्य शिविर लगाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शिविरों में चिकित्सक व पैरा मेडीकल स्टाफ पर्याप्त दवाओं के साथ पहुँचे।

Dakhal News

Dakhal News 8 August 2021


bhopal,Minister Silavat, reached,flood affected villages

भोपाल। खेतों से होकर गुजर रहे दुर्गम रास्तों को तय कर ग्वालियर जिले के प्रभारी एवं प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट रविवार को सिंध नदी के किनारे बसे झंडा का डेरा सहित अन्य बाढ़ प्रभावित गाँवों में पहुँचे। उन्होंने पूरी हमदर्दी के साथ बाढ़ प्रभावित परिवारों की दुःख-तकलीफ सुनीं, साथ ही सभी बाढ़ प्रभावित परिवारों को पक्का भरोसा भी दिलाया कि चिंता न करें मकान, मवेशी, फसल एवं अनाज सहित बाढ़ से अन्य जो भी नुकसान हुए हैं, उनकी भरपाई करने की सरकार पुरजोर कोशिश करेगी। प्रभारी मंत्री सिलावट को पता चला था कि डबरा विकास खण्ड की ग्राम पंचायत से जुड़े झंडा का डेरा, इमली का डेरा, बैजनाथ का डेरा इत्यादि मजरों ने सबसे ज्यादा बाढ़ का कहर झेला है। स्थानीय नोन नदी पर बने रपटे पर पानी ओवर फ्लो होने से प्रभारी मंत्री की गाड़ी नहीं निकल पाई, तब वे नहर के किनारे-किनारे बने कीचड़ भरे कठिन रास्ते से सफर तय कर बाढ़ प्रभावित गाँवों के लोगों के बीच पहुँचे। पूर्व मंत्री इमरती देवी भी उनके साथ थीं।मंत्री सिलावट ने झंडा का डेरा में बाढ़ के कहर से धराशायी हुए कच्चे-पक्के मकान, खराब हो चुके अनाज और लोगों की सम्पत्ति को हुए नुकसान को घर-घर जाकर देखा और लोगों को ढांढस बंधाया।सिलावट ने डबरा तहसीलदार और जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को निर्देश दिए कि दो दिन के भीतर हर बाढ़ प्रभावित परिवार तक आधा क्विंटल राशन पहुँचाना सुनिश्चित करें। साथ ही सर्वे का काम युद्ध स्तर पर पूरा कर जिनके मकान पूरी तरह नष्ट हो गए हैं उन्हें राजस्व पुस्तक परिपत्र और मनरेगा के तहत एक लाख बीस हज़ार रुपये की आर्थिक सहायता दें। इसी तरह जिनके मवेशी बह गए हैं, अनाज नष्ट हुआ है और फसल खराब हुई है इत्यादि नुकसान का भी जल्द से जल्द सर्वे पूर्ण कर अभियान बतौर राहत बांटें। सिलावट ने गाँव की बिजली सप्लाई को जल्द से जल्द बहाल करने पर भी विशेष जोर दिया। गाँव में विद्युत वितरण कंपनी के कर्मचारियों द्वारा लाइन दुरस्त करने का काम शुरु कर दिया है।इस दौरान प्रभारी मंत्री सिलावट ने बाढ़ प्रभावित लोगों को त्वरित राहत का भरोसा दिलाते हुए कहा आप सबको जल्द से जल्द आर्थिक राहत देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विशेष रूप से चिंतित हैं और प्रतिदिन इसकी समीक्षा कर रहे हैं। साथ ही केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी आप सबके लिए राहत सामग्री भेजी है।बाढ़ प्रभावित लोगों ने प्रभारी मंत्री को जानकारी दी कि बिजकपुर ग्राम पंचायत से जुड़े झंडा के डेरा के 49 मकानों सहित चारों मजरों में कुल 221 मकानों को नुकसान पहुँचा है। प्रभारी मंत्री सिलावट ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि जिनके मकान नष्ट हुए हैं सरकार उन सभी के नए घर बनवाएगी। इसके लिए हर प्रभावित परिवार को एक लाख बीस हज़ार रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी।विशेष स्वास्थ्य शिविर लगाने के दिये निर्देशमंत्री तुलसीराम सिलावट ने बिजकपुर ग्राम पंचायत से जुड़े बाढ़ प्रभावित मजरों में विशेष स्वास्थ्य शिविर लगाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शिविरों में चिकित्सक व पैरा मेडीकल स्टाफ पर्याप्त दवाओं के साथ पहुँचे।

Dakhal News

Dakhal News 8 August 2021


guna, Tomar

गुना। मुआवजे की मांग को लेकर निकाली जा रही पदयात्रा में जयवर्धन सिंह ने जिले के प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा कि प्रद्युम्न सिंह को तो ज्योतिरादित्य सिंधिया के पीए पाराशर चला रहे हैं। वे केवल नाम के ही प्रभारी मंत्री हैं। उनका सारा काम तो वही देख रहे हैं। वे जिस बिजली के खंभों पर चढ़ते हैं, बस उन पर चढे और तमाशा देखें। दरअसल, दो दिन पहले गुना के दौरे पर आए प्रभारी मंत्री ने जयवर्धन की पदयात्रा पर कहा था कि उन्हें पश्चाताप यात्रा निकालनी चाहिए। कमलनाथ सरकार में किसानों से किये वादे पूरे नहीं हुए थे। बढ़ती महंगाई के विरोध और किसानों को मुआवजा देने की मांग को लेकर प्रदेश के पूर्व मंत्री एवं राघौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह ने दो दिवसीय पदयात्रा शुरू की है। इस दो दिवसीय पदयत्रा में गुरुवार को आरोन से गुना की ओर पैदल मार्च शुरू हुआ। इससे पहले आरोन के सनकादिक आश्रम पर दर्शन करने के बाद पदयात्रा शुरू हुई। मुआवजे की मांग 2021 में आरोन क्षेत्र में हुई ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों को अब तक मुआवजा न मिलने के मुद्दे पर यह पदयात्रा आयोजित की जा रही है। गुरुवार सुबह करीब 11 बजे आरोन के सनकादिक आश्रम से यह पदयात्रा आरंभ हुई। इसके बाद यह स्टेट हाईवे से होते हुए शाम को सेमरी मंदिर तक पहुंचेगी। यह रात्रि विश्राम के बाद दूसरे दिन कल 6 अगस्त को दोबारा गुना की ओर प्रस्थान करेगी। स्टेट हाईवे से कांग्रेस का दल कलेक्टोरेट पहुंचेगा। वहां कलेक्टर को ज्ञापन दिया जाएगा। इनके अलावा जयवर्धन सिंह ने कहा कि कमलनाथ सरकार में जिन लोगों के बिजली बिल 100 रुपये आते थे, अब उनके बिल एक हजार से ज्यादा आ रहे हैं। उन्होंने सभी उपभोक्ताओं से अपील की है कि जिन लोगों के बिल अनाप-शनाप आ रहे हैं, वे सब अपने बिल लेकर कल गुना कलेक्टर कार्यालय पहुंचें। वहां प्रशासन के सामने उन सभी बिलों को दिखाया जाएगा और जो अतिरिक्त बिल आ रहे हैं उन्हें माफ करवाने की बात की जाएगी। यह हैं मुद्दे -मार्च 2021 में आरोन क्षेत्र के एक दर्जन गांव में ओलावृष्टि से शत प्रतिशत नुकसान हुआ था। उनका मुआवजा मंजूर हो गया है लेकिन अब तक खाते में नहीं आया। -बिजली बिलों में बेतहाशा वृद्धि। जिन लोगों को कमलनाथ सरकार के समय 100 प्रतिमाह पर बिजली मिल रही थी वहां अब हजारों के बिल आ रहे हैं। -5 एचपी के पंप इस्तेमाल कर रहे किसानों को 8 व 10 एचपी के बिल थमाए जा रहे हैं। -इस साल मक्का की फसल सबसे ज्यादा बोई जा रही है। सरकार उसकी खरीदी समर्थन मूल्य पर करे। -पेट्रोल-डीजल के भाव में बेलगाम वृद्धि से लोगों को राहत दी जाए।  

Dakhal News

Dakhal News 5 August 2021


guna, Tomar

गुना। मुआवजे की मांग को लेकर निकाली जा रही पदयात्रा में जयवर्धन सिंह ने जिले के प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा कि प्रद्युम्न सिंह को तो ज्योतिरादित्य सिंधिया के पीए पाराशर चला रहे हैं। वे केवल नाम के ही प्रभारी मंत्री हैं। उनका सारा काम तो वही देख रहे हैं। वे जिस बिजली के खंभों पर चढ़ते हैं, बस उन पर चढे और तमाशा देखें। दरअसल, दो दिन पहले गुना के दौरे पर आए प्रभारी मंत्री ने जयवर्धन की पदयात्रा पर कहा था कि उन्हें पश्चाताप यात्रा निकालनी चाहिए। कमलनाथ सरकार में किसानों से किये वादे पूरे नहीं हुए थे। बढ़ती महंगाई के विरोध और किसानों को मुआवजा देने की मांग को लेकर प्रदेश के पूर्व मंत्री एवं राघौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह ने दो दिवसीय पदयात्रा शुरू की है। इस दो दिवसीय पदयत्रा में गुरुवार को आरोन से गुना की ओर पैदल मार्च शुरू हुआ। इससे पहले आरोन के सनकादिक आश्रम पर दर्शन करने के बाद पदयात्रा शुरू हुई। मुआवजे की मांग 2021 में आरोन क्षेत्र में हुई ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों को अब तक मुआवजा न मिलने के मुद्दे पर यह पदयात्रा आयोजित की जा रही है। गुरुवार सुबह करीब 11 बजे आरोन के सनकादिक आश्रम से यह पदयात्रा आरंभ हुई। इसके बाद यह स्टेट हाईवे से होते हुए शाम को सेमरी मंदिर तक पहुंचेगी। यह रात्रि विश्राम के बाद दूसरे दिन कल 6 अगस्त को दोबारा गुना की ओर प्रस्थान करेगी। स्टेट हाईवे से कांग्रेस का दल कलेक्टोरेट पहुंचेगा। वहां कलेक्टर को ज्ञापन दिया जाएगा। इनके अलावा जयवर्धन सिंह ने कहा कि कमलनाथ सरकार में जिन लोगों के बिजली बिल 100 रुपये आते थे, अब उनके बिल एक हजार से ज्यादा आ रहे हैं। उन्होंने सभी उपभोक्ताओं से अपील की है कि जिन लोगों के बिल अनाप-शनाप आ रहे हैं, वे सब अपने बिल लेकर कल गुना कलेक्टर कार्यालय पहुंचें। वहां प्रशासन के सामने उन सभी बिलों को दिखाया जाएगा और जो अतिरिक्त बिल आ रहे हैं उन्हें माफ करवाने की बात की जाएगी। यह हैं मुद्दे -मार्च 2021 में आरोन क्षेत्र के एक दर्जन गांव में ओलावृष्टि से शत प्रतिशत नुकसान हुआ था। उनका मुआवजा मंजूर हो गया है लेकिन अब तक खाते में नहीं आया। -बिजली बिलों में बेतहाशा वृद्धि। जिन लोगों को कमलनाथ सरकार के समय 100 प्रतिमाह पर बिजली मिल रही थी वहां अब हजारों के बिल आ रहे हैं। -5 एचपी के पंप इस्तेमाल कर रहे किसानों को 8 व 10 एचपी के बिल थमाए जा रहे हैं। -इस साल मक्का की फसल सबसे ज्यादा बोई जा रही है। सरकार उसकी खरीदी समर्थन मूल्य पर करे। -पेट्रोल-डीजल के भाव में बेलगाम वृद्धि से लोगों को राहत दी जाए।  

Dakhal News

Dakhal News 5 August 2021


bhopal, Congress counterattacked , Rameshwar Sharma

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने विधानसभा के पूर्व प्रोटेम स्पीकर व भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा के उस बयान, जिसमें वह देश और प्रदेश में बाढ़ व सूखे के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं,पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भाजपा नेताओं की मानसिक स्थिति व बुद्धि पर अब तरस आ रहा है? ये लोग पूरी तरह से मानसिक दिवालिया हो चुके हैं, इन्हें अच्छे चिकित्सकों की जरूरत है? भाजपा नेतृत्व को खुद ही अच्छे चिकित्सकों का एक दल बनाकर, एक शिविर लगाकर, अपने इन नेताओं के मानसिक दिवालियापन का इलाज करवाना चाहिए क्योंकि भाजपा नेताओं के इन उल-ज़लुल बयानों के कारण देशभर में भाजपा की स्थिति हास्यादपद हो रही है? नरेन्द्र सलूजा ने कहा वैसे भी रामेश्वर शर्मा ने यह कहकर अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का अनुसरण ही किया है क्योंकि खुद कमलनाथ सरकार के समय शिवराज सिंह जी प्रदेश में बारिश नहीं होने का कारण कमलनाथ सरकार को बता चुके हैं? वही भाजपा के एक अन्य मंत्री बढ़ती महंगाई के लिए नेहरू जी के 15 अगस्त 1947 के लाल किले से दिए भाषण को जिम्मेदार बता चुके हैं? शिवराज सरकार के मंत्रियों के भी उल-ज़लुल बयान व हरकतें रोज प्रदेश की जनता देख ही रही है? कोई सेल्फी की दर तय कर देता है, कोई नाली-गटर में उतर जाता है, कोई खंबे पर चढ़ जाता है, कोई आरक्षण को चुनौती दे देता है, कोई आरक्षण का त्याग कर देता है? कांग्रेस नेता ने कहा कि रामेश्वर शर्मा कह रहे हैं कि कांग्रेस ने अटल जी का नदी जोड़ो का सपना पूरा नहीं किया तो उन्हें यह जान लेना चाहिए कि देश में पिछले 7 वर्ष से उन्हीं की पार्टी की सरकार है, मध्यप्रदेश में भी पिछले 16 वर्षों से उन्हें की पार्टी की सरकार है तो अपनी ही पार्टी के नेता अटल बिहारी वाजपेई जी का सपना पूरा करने के लिए उन्हें किसने रोका है? क्यों उनकी पार्टी अटल जी का सपना पूरा कर नहीं पा रही है और क्यों अटल जी के सपनों को पूरा करने के लिए कांग्रेस की ओर देख रही है? रामेश्वर शर्मा ने तो ऐसा बयान देकर खुद अपनी ही पार्टी का मजाक उड़ाया है?

Dakhal News

Dakhal News 5 August 2021


bhopal,CM Shivraj planted ,sycamore plant , Smart Park

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधरोपण करने के संकल्प के क्रम में गुरुवार को राजधानी भोपाल स्थित स्मार्ट पार्क में गूलर का पौधा लगाया। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेशवासियों से भी पौधरोपण करने एवं उनकी देखभाल करने की अपील की। मुख्यमंत्री चौहान ने इस वर्ष नर्मदा जयंती पर प्रतिदिन पौधरोपण करने का संकल्प लिया था। अपने संकल्प के तहत वे प्रतिदिन पौधे लगाते हैं। इसी क्रम में उन्होंने आज स्मार्ट पार्क में गूलर का पौधा लगाया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि गूलर शीतल, त्वचा का रंग साफ करने वाला बताया गया है। कफपित्त, जलन एवं रक्तदोष रोग को भी ठीक करने में गुणकारी माना गया है।  

Dakhal News

Dakhal News 5 August 2021


bhopal, Strengthen public transport,cities,Bhupendra Singh

भोपाल। प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि शहरों में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को सुदृढ़ करें। इससे शहरों में प्रदूषण कम होने के साथ ही दुर्घटनाएँ भी कम होंगी। उन्होंने कहा कि शहरी बस परिवहन के लिए टेण्डर की शर्तों का पालन कड़ाई से किया जाए। शर्तों के मुताबिक शहरों में और विभिन्न शहरों के बीच चलायी जाने वाली बसों की संख्या पूरी होनी चाहिए। शर्तों का उल्लंघन करने पर टेंडर निरस्त करने की कार्यवाही की जाये। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने सोमवार को शहर वार स्वीकृत और संचालित बसों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता शहर के अन्दर नागरिकों को बेहतर परिवहन सुविधा उपलब्ध कराना है। इसमें कोई कोताही नहीं होनी चाहिए। नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री ओपीएस भदौरिया ने कहा कि ग्वालियर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को व्यवस्थित किया जाये।बैठक में बताया गया कि अमृत योजना में शुरू की गयी सूत्र सेवा में प्राथमिक रूप से इंट्रा सिटी के लिए 70 और इंटर सिटी के लिए 30 का अनुपात निर्धारित किया गया था। अमृत योजना में प्रदेश को 258 करोड़ रूपये शहरी परिवहन के लिए मिले थे। बैठक में आवास एवं नगरीय प्रशासन एवं विकास निकुंज श्रीवास्तव, उप सचिव तरूण राठी एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।विभाग द्वारा कराये जाने वाले कार्यों की प्रशिक्षित दरें लागू   नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा कराये जाने वाले विभिन्न कार्यों के लिये पुनरीक्षित एकीकृत मानक दर (आई.एस.एस.आर) 2 अगस्त 2021 से लागू हो गयी है। पुनरीक्षित दरों की पुस्तिका का विमोचन नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह और राज्यमंत्री ओ.पी.एस. भदौरिया ने किया। इसके पूर्व इसका पुनरीक्षण मई 2012 में किया गया था। एकीकृत मानक दर अनुसूची एक जून 2011 को पहली बार लागू की गयी थी। एकीकृत मानक पर अनुसूची चार भागों पेयजल, सीवरेज एवं ट्यूबवेल वन, भवन निर्माण सड़क पुल एवं पुलिया और विद्युत कार्य में लागू की गयी हैं।नगरीय विकास एवं आवास मंत्री ने कहा कि श्रम दर एवं सामग्री की दरों में वृद्धि और जीएसटी लागू होने के कारण आई.एस.एस.आर में पुनरीक्षण जरूरी हो गया था। उन्होंने कहा कि दरें पुनरीक्षित होने से कार्यों की गुणवत्ता मेंटेन होगी। दरें व्यावहारिक होने से कार्य कराने में सहूलियत होगी। उन्होंने दरें पुनरीक्षित करने वाली पूरी टीम को बधाई दी।

Dakhal News

Dakhal News 2 August 2021


bhopal, MP Pending pension ,compassionate appointment cases

भोपाल। प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि विभाग में लंबित पेंशन एवं अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणों का निराकरण प्राथमिकता से करें। कोई भी प्रकरण लंबित नहीं रहे। महाविद्यालयों को विश्वविद्यालयों से सम्बद्ध करने का पुनरीक्षण करें। विश्वविद्यालयों की वित्तीय स्थिति की जानकारी प्राप्त कर उन्हें आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध करायें। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने उक्त निर्देश सोमवार को मंत्रालय में आयोजित विभागीय समीक्षा बैठक में दिये। उन्होंने कहा कि वर्षाकालीन विधानसभा सत्र के महत्वपूर्ण विषयों की तैयारी समय पर करें। आगामी 15 अगस्त के पूर्व समस्त शिक्षण संस्थाओं द्वारा एक-एक गाँव को गोद लेने का कार्य पूर्ण करें। वित्त और सामान्य प्रशासन विभाग के लंबित प्रकरण समय पर निराकृत करें। भवनों के रख-रखाव के लिये महाविद्यालयों को आवश्यकतानुसार राशि दी जाये। उन्होंने कहा कि 200 महाविद्यालयों की अधोसंरचना मजबूत करने की कार्यवाही समय पर पूरी करें। विभाग के एकीकृत पोर्टल का कार्य शीघ्रता से पूर्ण करें।डॉ. यादव ने कहा कि 50 महाविद्यालयों का बहु-विषयक संस्थानों और 150 महाविद्यालयों को क्वॉलिटी लर्निंग सेंटर के रूप में उन्नयन करने का कार्य शीघ्रता से पूर्ण करें। विभाग द्वारा 160 महाविद्यालयों में 282 सर्टिफिकेट एवं 177 डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के संचालन की जारी की गई अनुमति के अनुसार पाठ्यक्रम संचालित करें। इसी तरह 100 कॉलेजों में आईटी की अधोसंरचना को कम्प्यूटर लैब के साथ सुदृढ़ करने का कार्य विश्वविद्यालयों में इन्क्यूवेशन सेंटर स्थापित करने का कार्य समय पर पूरा करें।उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा संस्थानों में उत्कृष्टता केन्द्रों की स्थापना की जाये। विभागीय छात्रवृत्ति देने का कार्य शेष नहीं रहे। मध्यप्रदेश लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम के तहत विभाग की सेवाएँ लाई जायें। बैठक में प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा अनुपम राजन, अपर आयुक्त चन्द्रशेखर वालिम्बे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 2 August 2021


bhopal, CM Shivraj planted ,plant of Bell leaves, Smart Park

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने संकल्प के अनुसार प्रतिदिन पौधारोपण करते हैं। इसी क्रम में उन्होंने आज श्रावण मास के द्वितीय सोमवार के अवसर पर भोपाल स्थित स्मार्ट पार्क में बेल पत्र का पौधा रोपा। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेशवासियों से पौधरोपण की अपील भी की। मुख्यमंत्री चौहान ने ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी साझा करते हुए कहा है कि -"आज पवित्र श्रावण माह के द्वितीय सोमवार को भोपाल स्थित स्मार्ट पार्क में बेलपत्र का पौधा रोपने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। भगवान शिव समस्त जीवों का कल्याण करें, सभी का उद्धार करें, यही प्रार्थना है।"उन्होंने कहा कि बेल पत्र धार्मिक महत्व का पौधा है, साथ ही डायबिटीज, हाइपरटेंशन, कोलेस्ट्रॉल और दिल से संबंधित बीमारियों को ठीक करने में बेल पत्र का सेवन बहुत फायदेमंद साबित होता है। इसके फल और पत्तियां दोनों ही उपयोगी माने गए हैं।

Dakhal News

Dakhal News 2 August 2021


bhopal, spirit of work ,makes its results effective, Governor Patel

भोपाल। राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि कार्य का भाव उसके परिणामों को प्रभावी बनाता है। कार्य यह सोचकर किए जाने चाहिए कि यदि ऐसा मेरे साथ होता तो मुझे कैसा लगता। यह भाव कार्य में संवेदनशीलता लाता है। राज्यपाल पटेल गुरुवार को प्रदेश के 10 विश्वविद्यालयों के साथ चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि परीक्षा, परिणाम, डिग्री देने के कार्यों में देरी के मामलों में विद्यार्थी की भावनाओं और पेंशन प्रकरण में विलंब पर सेवानिवृत्ति के समय हमें कैसा लगेगा, यदि इसे ध्यान में रखकर कार्य किया जाएगा तो कार्य में कभी भी विलंब नहीं होगा। उन्होंने सभी कुलपतियों को हिदायत दी है कि छात्र हित के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही और देरी को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। विलंब के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। चर्चा में देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, जीवाजी विश्वविद्यालय, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय, विक्रम विश्वविद्यालय, अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय, चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय, महाराजा छत्रसाल, विश्वविद्यालय, महर्षि पाणिनी संस्कृत विश्वविद्यालय और छिन्दवाड़ा विश्वविद्यालय के कुलपति उपस्थित थे।राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा कि व्यक्ति के कार्य के प्रति भावना बहुत महत्वपूर्ण होती है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण हमारे बच्चों के भविष्य का विषय है। इस सोच के साथ यदि पर्यावरण संरक्षण पर विचार किया जाएगा तो विषय की गंभीरता स्वत: समझ आएगी। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण का कार्य भी जन- सहभागिता के साथ किया जाए तो परिणाम बहुत प्रभावी होते हैं। उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि स्कूलों में यदि एक बच्चें को एक पौधे की देख भाल की जिम्मेदारी दी जाती है तो उसमें पौधे के प्रति अपनेपन का भाव आता है। इससे पौधे की देखभाल अच्छी तरह से हो जाती है। उन्होंने कहा कि पौध-रोपण में बड़े पौधों का चयन किया जाना चाहिए। इससे उनकी देखभाल सरल हो जाती है।दीक्षांत समारोह की तिथि पूर्व निर्धारित की जाए   राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश के विश्वविद्यालयों में दीक्षांत समारोह पूर्व निर्धारित तिथि पर अनिवार्यत: आयोजित करने की व्यवस्था हो। उन्होंने तिथि निर्धारण के लिए कुलपतियों को निर्देशित किया कि हर विश्वविद्यालय एक महान विभूति के साथ जुड़ा हुआ है। दीक्षांत समारोह का आयोजन उनके जीवन के महत्वपूर्ण प्रसंग के अवसर पर आयोजित करने की व्यवस्था की जाए। उन्होंने विश्वविद्यालयों को स्वच्छता के प्रति सजग और सक्रिय रहने के निर्देश दिए।उन्होंने कहा है कि विश्वविद्यालय में अध्यनरत विद्यार्थियों को ग्रामीण अंचल में जन-जागृति के कार्यों में भी जोड़ा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी अध्यादेशों और अधिनियमों का प्रभावी पालन हो, यह सुनिश्चित करना कुलपतियों का दायित्व है। वित्तीय नियंत्रण को प्रभावी बनाने और ऑडिट और एकॉउन्टिंग के कार्यों में आवश्यकता अनुसार विशेषज्ञ परामर्श की व्यवस्थाएँ भी की जा सकती हैं।राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा कि विश्वविद्यालय की शैक्षणिक गुणवत्ता पर ध्यान केन्द्रित किया जाना चाहिए। प्राध्यापकों के रिक्त पदों की पूर्ति के लिए शीघ्र प्रयास किए जाए। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा छात्रों को रोजगार उपलब्ध कराने के प्रयासों पर विशेष बल दिया जाना चाहिए। रोजगार मेलों का आयोजन सुनियोजित रणनीति के अनुसार किया जाना चाहिए। मेले में कितने नियोजक आये। नियोजक द्वारा कितनों का चयन रोजगार के लिए किया गया। मेले में शामिल छात्रों की संख्या और नियोजित होने वाले छात्रों का प्रतिशत आदि का विवरण संधारित किया जाना चाहिए। विश्वविद्यालय के निकटवर्ती क्षेत्रों के नियोजको को रोजगार मेलों में शामिल होने के लिए विशेष प्रयास किए जाने चाहिए ताकि छात्रों को घर के निकट ही रोजगार उपलब्ध हो। इसका विवरण भी संधारित किया जाना चाहिए।             बैठक में विश्वविद्यालयों के कुलपतियों द्वारा विश्वविद्यालय की प्रशासनिक संरचना, शैक्षणिक गतिविधियों शोध, अनुसंधान और नवाचार के कार्यों, विकास के प्रयासों, राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वयन, एकेडमिक कैलेंडर, प्रवेश, परीक्षाओं, परिणामों और डिग्री प्रदान करने संबंधी कार्यों, रिक्त और बैकलॉग पदों की पूर्ति के संबंध में प्रस्तुतिकरण दिया गया।  

Dakhal News

Dakhal News 29 July 2021


bhopal, Strengthen the preparedness, disaster management, Home Minister

भोपाल। आपदा प्रबंधन की तैयारियों को और अधिक पुख्ता करें। विभिन्न आपदाओं के बेहतर प्रबंधन के लिये एसओपी तैयार करें। यह निर्देश प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मंत्रालय में आपदा प्रबंधन की तैयारियों की समीक्षा करते हुए दिये। बैठक में पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव जल-संसाधन एसएन मिश्रा, महानिदेशक होमगार्ड अशोक दोहरे, एडीजी अशोक अवस्थी, आईजी एसडीईआरएफ दीपिका सूरी, सचिव डी. श्रीनिवास वर्मा और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने विभिन्न आपदाओं के प्रबंधन के लिये जिला एवं राज्य स्तर पर एसओपी तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि एसओपी तैयार हो जाने से विभिन्न आपदाओं का बेहतर प्रबंधन किया जा सकेगा। बैठक में डॉ. मिश्रा ने आपदा प्रबंधन के लिये होमगार्ड के 2425 पदों को स्टेट डिजास्टर इमरजेंसी रिस्पांस फोर्स (एसडीईआरएफ) में सौंपने के लिये प्रस्ताव कैबिनेट को भेजने के निर्देश दिये। उन्होंने होमगार्ड में अनुसचिवीय बल के युक्ति-युक्तकरण के आदेश जारी करने के भी निर्देश दिये। डॉ. मिश्रा ने महानिदेशक होमगार्ड को निर्देशित किया है कि जिन जिलों में होमगार्ड के डिस्ट्रिक कमाण्डेंट के पद रिक्त हैं, वहाँ पर कम्पनी कमाण्डर को डिस्ट्रिक कमाण्डेंट के पद का प्रभार सौंपे जाने के लिये भी आवश्यक कार्यवाही करें।गृह मंत्री ने आपदा की स्थिति में बेहतर निगरानी और त्वरित सहायता पहुँचाने के लिये होमगार्ड और एसडीईआरएफ के स्टेट कमाण्ड सेंटर को सतत मॉनीटरिंग करने को कहा। उन्होंने बैठक में निर्देशित किया कि मानसून को देखते हुए आपदा प्रबंधन की तैयारियों में लापरवाही नहीं बरती जाये। उन्होंने आपदाओं से निपटने के लिये आवश्यक संसाधनों का पूर्व से ही पुख्ता बंदोबस्त करने को कहा।विभाग का मानवीय पक्ष भी सामने आना जरूरी   गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि पुलिस विभाग के अधिकारी-कर्मचारी विभिन्न आपदाओं और विपत्तियों के समय में अपनी जान को जोखिम में डालकर जनहित में कार्य करते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट में हमारे जवान कड़ी धूप और बारिश में भी मैदानी कार्य करते रहे। इस दौरान कई अधिकारी-कर्मचारी शहीद हो गये। उन्होंने कहा कि अतिवृष्टि हो या बाढ़, हमारे जवान स्वयं को संकट में डालकर जनता की रक्षा करते हैं। डॉ. मिश्रा ने वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देशित किया कि विपरीत परिस्थितियों में भी संवेदनशीलतापूर्वक कार्य करने वाले विभाग के मानवीय चेहरे को भी सामने लाया जाये।  

Dakhal News

Dakhal News 29 July 2021


bhopal, Historic decision, reservation for OBC, EWS in medical courses, Shivraj

भोपाल। केन्द्र सरकार द्वारा चिकित्सा-दंत चिकित्सा के स्नातक एवं स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के ऑल इंडिया कोटे में अन्य पिछड़ा वर्ग को 27 प्रतिशत तथा आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को 10 प्रतिशत आरक्षण वर्तमान शिक्षा सत्र से दिए जाने का निर्णय लिया गया है। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केन्द्र सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने गुरुवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को चिकित्सा-दंत चिकित्सा के स्नातक एवं स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में आरक्षण दिए जाने का निर्णय ऐतिहासिक है। यह हमारे हजारों युवक-युवतियों को प्रतिवर्ष बेहतर अवसर प्रदान करेगा तथा देश में सामाजिक न्याय के क्षेत्र में मानदंड स्थापित करेगा।

Dakhal News

Dakhal News 29 July 2021


bhopal,Consumers looted , arbitrary electricity bills,Bhupendra Gupta

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने हवाला देते हुए कहा कि विगत दिनों सागर शहर के प्रवास के दौरान फर्जी बिलों के संदर्भ में जबरदस्त शिकायतें पूरे जिले में फैली हुई है। ईमानदार उपभोक्ताओं को लूटा जा रहा है। भाजपा के स्थानीय विधायक शैलेन्द्र जैन ने ही विगत 25 जून को विद्युत कार्यालय पहुंचकर सैकड़ों उपभोक्ताओं की समस्याएं सुनी और पाया था कि जिन उपभोक्ताओं को 328027 यूनिट के बिल जो कि लगभग 3173680 रुपये के थे, जारी किये गये वे वास्तवित नहीं थे। उन्होंने बुधवार को जारी बयान में कहा कि यही नहीं भाजपा विधायक के हस्तक्षेप के बाद वही बिल 222666 यूनिट में परिवर्तित हो गये और कुल बिल घटकर 1397190 रुपये के हो गये। इसका अर्थ है कि उपभोक्ताओं से 1776490 रुपये की अतिरिक्त और अवैधानिक वसूली की जा रही थी। गुप्ता ने मुख्यमंत्री से कहा कि जानकारी स्वयं आपके विधायक शैलेन्द्र जैन द्वारा एक विज्ञप्ति जारी कर दी गई है। इसका अर्थ है कि विद्युत कंपनियां मनमाने तरीके से उपभोक्ताओं से 60 प्रतिशत से अधिक की अवैध वसूली कर रहीं हैं। भूपेन्द्र गुप्ता ने मुख्यमंत्री से कहा कि एक समय आपने प्रदेश की जनता को बड़े हुए बिजली बिल नहीं भरने का आव्हान किया था और कहा था कि उपभोक्ता का कनेक्शन काटा गया तो आप स्वयं उसे जोड़ देंगे। किंतु आपके मुख्यमंत्रित्वकाल में ही बिजली बिलों की मनमानी लूट जारी है। जिसे स्वयं भाजपा विधायक ने निरीक्षण में इसे प्रमाणित किया है। गुप्ता ने कहा कि बिजली बिलों में हो रही मनमानी लूट की उच्च स्तरीय जांच कराकर बिजली की मनमानी बिलिंग पर श्वेत-पत्र जारी कर ईमानदार उपभोक्ताओं की रक्षा करें।

Dakhal News

Dakhal News 28 July 2021


bhopal, Only BJP, 27 percent reservation , OBC class, Bhupendra Singh

भोपाल। मध्य प्रदेश के नगरीय विकास और आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा है कि राज्य की सरकार ओबीसी वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण दिलाने के लिए संकल्पबद्ध है और इसके लिए अदालत सहित किसी भी मंच पर सभी जरूरी प्रयास किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार के इस संकल्प और उसे पूरा करने की प्रभावी कोशिशों के चलते इस आरक्षण के लिए किसी आंदोलन का कोई औचित्य ही नहीं रह जाता है। मंत्री भूपेन्द्र सिंह बुधवार को भोपाल में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य में चौथी बार भाजपा की सरकार बनने के बाद से ही माननीय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ओबीसी वर्ग को 27 फीसदी आरक्षण देने के लिए पुरजोर प्रयास किये हैं। जबकि पूर्व की कांग्रेस सरकार इस मामले में केवल टालमटोली करती रही, जिसके चलते उस समय हाई कोर्ट में इस वर्ग की आवश्यकताओं को प्रभावी तरीके से नहीं रखा गया। मंत्री सिंह ने कहा कि भाजपा शुरू से ही ओबीसी वर्ग को उसका हक दिलाने के लिए प्रयासरत है। इसके चलते ही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने देश के इतिहास में पहली बार पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिलाया। अब मध्य प्रदेश की सरकार विधानसभा की एक स्टैंडिंग कमेटी बना रही है। यह समिति ओबीसी आरक्षण के संबंध में पूरा अध्ययन कर रिपोर्ट तैयार करेगी। इस रिपोर्ट के आधार पर राज्य सरकार एक बार फिर उच्च न्यायालय में 27 फीसदी ओबीसी आरक्षण के लिए पूरी ताकत के साथ अपना पक्ष रखेगी। इसके लिए सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकीलों की सेवा भी ले जाएगी। नगरीय विकास और आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने अपने पूरे कार्यकाल में इस आरक्षण के लिए कोई प्रयास ही नहीं किये। उन्होंने कांग्रेस को पिछड़ा वर्ग का भी विरोधी बताया। सिंह ने कहा कि सन 1955 में तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने जातिगत आधार पर जनगणना का काम रोक दिया था। ऐसा नहीं होता तो उसी समय से इस वर्ग को आरक्षण का लाभ दिया जा सकता था। नगरीय विकास और आवास मंत्री का कहना था कि नेहरू से लेकर कमलनाथ तक की सरकारों ने ओबीसी आरक्षण को लेकर मामले को बिगाडऩे का काम ही किया है। दूसरी तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस दिशा में पूरी गंभीरता के साथ प्रयास कर रहे हैं। राज्य सरकार इस तथ्य को भी कोर्ट में प्रस्तुत करेगी कि मध्यप्रदेश में ओबीसी वर्ग की बड़ी आबादी है तथा ऐसी विशेष परिस्थिति में सुप्रीम कोर्ट भी आरक्षण की हद बढ़ाने की बात कह चुकी है। गौरतलब है कि इस आरक्षण को लेकर राज्य उच्च न्यायालय में आगामी सुनवाई 10 अगस्त को होगी। मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि इस सुनवाई में अपना पक्ष प्रभावी तरीके से रखने के लिए प्रदेश सरकार सभी तैयारियों को अंतिम रूप दे चुकी है।  

Dakhal News

Dakhal News 28 July 2021


bhopal,Forest Minister Dr. Shah, wishes International Tiger Day

भोपाल। वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह ने बुधवार को अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस के मौके पर सभी वन कर्मियों, बाघों और प्रदेश के जंगलों से प्रेम और रूचि रखने वालों को शुभकामनाएं दी हैं। वन मंत्री डॉ. शाह ने अपने संदेश में सभी नगारिकों से वन्य-प्राणियों के संरक्षण और संवर्धन में वन विभाग द्वारा किए जा रहे प्रयासों में सक्रिय भूमिका के निर्वहन का आव्हान किया है। उन्होंने उम्मीद व्यक्त की कि आगामी महीनों में होने वाले बाघों की गणना में वन विभाग के अमले और वन्य-प्राणी के संरक्षण में मददगार वन्य-प्राणी प्रेमियों के सहयोग से मध्यप्रदेश टाइगर स्टेट श्रेणी में आएगा।

Dakhal News

Dakhal News 28 July 2021


Indore, Pipalyahana Flyover Bridge , now be called Atal Setu

इंदौर। इंदौर जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र के अनुमोदन के उपरांत अब रिंग रोड पीपल्याहाना चौराहा में बने फ़्लाई ओवर ब्रिज का नाम अटल सेतु हो गया है। शासकीय भवनों, सार्वजनिक स्थलों, परियोजनाओं के नामकरण हेतु गठित जिला स्तरीय समिति की बैठक में लिए गए निर्णय के बाद इस संबंध में सोमवार को कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा आदेश जारी कर दिए गए हैं। वहीं, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट के प्रस्ताव पर बंगाली चौराहा पर निर्मित होने वाले फ्लाईओवर ब्रिज का नाम स्व. माधवराव सिंधिया सेतु किया गया है। विधायक महेन्द्र हार्डिया के प्रस्ताव पर खजराना क्षेत्र स्थित एक मोहल्ले का नाम संत रविदास नगर किया गया है। पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के प्रस्ताव पर साउथ तुकोगंज क्षेत्र में श्रीनाथ मंदिर से जैन मंदिर तक के मार्ग को अब स्व. बनवारीलालजी जाजू मार्ग के नाम से जाना जाएगा। कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा सभी संबंधित विभागों को शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप नामकरण की कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।

Dakhal News

Dakhal News 26 July 2021


bhopal, BJP State President Sharma ,met the Governor

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने सोमवार को राजभवन पहुंचकर राज्यपाल मंगूभाई छगनभाई पटेल से सौजन्य भेंट कर शुभकामनाएं दी। इस दौरान शर्मा ने उन्हें शॉल भेंटकर सम्मान किया। इस अवसर पर प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 26 July 2021


bhopal, CM Shivraj ,saluted the bravery, Indian Army, Kargil Vijay Diwas

भोपाल। देश आज सोमवार को करगिल विजय दिवस की 22वीं सालगिरह मना रहा है। भारत के रणबांकुरों ने पाकिस्तान को जो करारी मात दी थी, उस इतिहास को आज याद करने का दिन है। इस मौके पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भारतीय सेना के शौर्य को सलाम किया है। सीएम शिवराज ने ट्वीट कर लिखा ‘मैं अमर शहीदों का चारण,उनके गुण गाया करता हूँ। जो कर्ज राष्ट्र ने खाया है, मैं उसे चुकाया करता हूँ-श्रीकृष्ण सरल। कारगिल विजय दिवस देश के जांबाज सपूतों को बारंबार सलाम! कारगिल विजय दिवस, गौरव का यह दिन देश के रणबांकुरों के अद्वितीय शौर्य, साहस और पराक्रम का प्रतिफल हैृ। देश के गौरव और सम्मान की रक्षा के लिए प्राणोत्सर्ग करने वाले वीर सपूतों के चरणों में यह ऋणी राष्ट्र कोटि-कोटि प्रणाम करता है! एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने कहा ‘भारत की पवित्र भूमि पर प्रेम, अहिंसा और सौहार्द के सर्वदा पुष्प पल्लवित होते हैं, परंतु हम अपने गौरव और सम्मान की रक्षा करना भी जानते हैं। कारगिल की विजय ने पुन: यह स्पष्ट रूप से दुनिया को संदेश दे दिया है कि हम किसी को छेड़ेंगे नहीं, कोई हमें छेड़ेगा, तो उसे छोड़ेंगे नहीं।  

Dakhal News

Dakhal News 26 July 2021


bhopal,Home Minister ,Dr. Mishra congratulated, promoted head constables

भोपाल। मध्यप्रदेश में कार्यरत आरक्षकों को कार्यवाहक प्रधान आरक्षक के पद पर पदोन्नत करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। गुरुवार को गृह मंत्री कार्यालय में प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पदोन्नत हुए प्रधान आरक्षकों से मुलाकात कर उन्हें शुभकामनाएं दी। गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने ट्वीट करते हुए कहा कि -" गृह विभाग ने पुलिसकर्मियों की हौसला अफजाई के लिए प्रधान आरक्षक से उप पुलिस अधीक्षक के खाली पदों का प्रभार देने की पहल शुरू की है। आज सुबह गृह मंत्री कार्यालय में कार्यरत आरक्षक लल्लन सिंह, राजेश चतुर्वेदी, देवेंद्र तिवारी, हिम्मत सिंह को आरक्षक से कार्यवाहक प्रधान आरक्षक के पद पर पदोन्नत किए जाने पर उन्हें शुभकामनाएं दी। "

Dakhal News

Dakhal News 22 July 2021


bhopal,Home Minister ,Dr. Mishra congratulated, promoted head constables

भोपाल। मध्यप्रदेश में कार्यरत आरक्षकों को कार्यवाहक प्रधान आरक्षक के पद पर पदोन्नत करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। गुरुवार को गृह मंत्री कार्यालय में प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पदोन्नत हुए प्रधान आरक्षकों से मुलाकात कर उन्हें शुभकामनाएं दी। गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने ट्वीट करते हुए कहा कि -" गृह विभाग ने पुलिसकर्मियों की हौसला अफजाई के लिए प्रधान आरक्षक से उप पुलिस अधीक्षक के खाली पदों का प्रभार देने की पहल शुरू की है। आज सुबह गृह मंत्री कार्यालय में कार्यरत आरक्षक लल्लन सिंह, राजेश चतुर्वेदी, देवेंद्र तिवारी, हिम्मत सिंह को आरक्षक से कार्यवाहक प्रधान आरक्षक के पद पर पदोन्नत किए जाने पर उन्हें शुभकामनाएं दी। "

Dakhal News

Dakhal News 22 July 2021


bhopal, CM Shivraj planted ,Gulmohar plant, Smart Garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधरोपण करने के संकल्प के क्रम में बुधवार को राजधानी भोपाल के स्मार्ट उद्यान में गुलमोहर का पौधा लगाया। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेश वासियों से भी विशेष अवसरों पर पौधारोपण करने एवं उनकी देखभाल करने की अपील की। मुख्यमंत्री चौहान ने ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी साझा करते हुए कहा है कि - आज मैंने भोपाल के स्मार्ट पार्क में गुलमोहर का पौधा लगाया। पौधे जीवन की सुख, समृद्धि और आनंद का आधार हैं। ये धरती को जीने योग्य ही नहीं, अपितु अत्यधिक सुंदर भी बनाते है। हरी-भरी धरती हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए वरदान बनेंगी। आइए, पौधरोपण करें, धरा को सुंदर बनाएं।

Dakhal News

Dakhal News 21 July 2021


bhopal, Chief Minister released , annual magazine ,Model School

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मॉडल स्कूल भोपाल की वार्षिक पत्रिका “प्रस्तुति 2020-21” का सोमवार को अपने निवास पर विमोचन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री चौहान ने राज्य स्तरीय मेरिट लिस्ट में स्थान प्राप्त मॉडल स्कूल के विद्यार्थी कार्तिक शर्मा, हर्षिता मकवाना, रजनीश सिंगरौले, वीरू राजा राजपूत और कुमारी इल्मा खान को चेक भेंट कर सम्मानित भी किया। मुख्यमंत्री चौहान ने इन विद्यार्थियों को शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि मंजिल अभी बाकी है। उत्साह में रहे और लगातार मेहनत कर उपलब्धियाँ अर्जित करें।प्राचार्य रेखा शर्मा ने बताया कि कोरोना की थीम पर प्रकाशित पत्रिका को आपदा, अवसर और चुनौतियाँ शीर्षक के अंतर्गत तीन भागों में बांटा गया है। हाई स्कूल प्राचार्य डॉ. पूनम अवस्थी पत्रिका की संपादक हैं। भार्गवी शुक्ला, दीक्षा यादव, दीपशिक्षा यादव और प्रशांत साहू पत्रिका के विद्यार्थी संपादक हैं।मॉडल स्कूल टीटी नगर, माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा संचालित है। इसकी स्थापना 1964 में हुई थी। विद्यालय से पढ़कर निकले छात्र छात्राएँ समाज में अपना बहुमूल्य योगदान दे रहे हैं।  

Dakhal News

Dakhal News 19 July 2021


bhopal, Chief Minister released , annual magazine ,Model School

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मॉडल स्कूल भोपाल की वार्षिक पत्रिका “प्रस्तुति 2020-21” का सोमवार को अपने निवास पर विमोचन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री चौहान ने राज्य स्तरीय मेरिट लिस्ट में स्थान प्राप्त मॉडल स्कूल के विद्यार्थी कार्तिक शर्मा, हर्षिता मकवाना, रजनीश सिंगरौले, वीरू राजा राजपूत और कुमारी इल्मा खान को चेक भेंट कर सम्मानित भी किया। मुख्यमंत्री चौहान ने इन विद्यार्थियों को शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि मंजिल अभी बाकी है। उत्साह में रहे और लगातार मेहनत कर उपलब्धियाँ अर्जित करें।प्राचार्य रेखा शर्मा ने बताया कि कोरोना की थीम पर प्रकाशित पत्रिका को आपदा, अवसर और चुनौतियाँ शीर्षक के अंतर्गत तीन भागों में बांटा गया है। हाई स्कूल प्राचार्य डॉ. पूनम अवस्थी पत्रिका की संपादक हैं। भार्गवी शुक्ला, दीक्षा यादव, दीपशिक्षा यादव और प्रशांत साहू पत्रिका के विद्यार्थी संपादक हैं।मॉडल स्कूल टीटी नगर, माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा संचालित है। इसकी स्थापना 1964 में हुई थी। विद्यालय से पढ़कर निकले छात्र छात्राएँ समाज में अपना बहुमूल्य योगदान दे रहे हैं।  

Dakhal News

Dakhal News 19 July 2021


khandwa, MLA Devendra Verma

खंडवा। मध्य प्रदेश की खंडवा विधानसभा सीट से विधायक देवेन्द्र वर्मा का वाहन सोमवार को दुर्घनाग्रस्त हो गया। गनीमत रही कि हादसे में विधायक वर्मा सकुशल बच गए। उनके वाहन चालक को मामूली चोट आई है। बताया जा रहा है कि सामने गाय आ जाने से संतुलन बिगड़ा और वाहन खाई में जा गिरा। जानकारी अनुसार सोमवार को विधानसभा के शासकीय समिति में शामिल होने के लिए खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा भोपाल जा रहे थे। इस दौरान देवास जिले के कन्नौद के पास उनके वाहन के आगे अचानक गाय आ गई। गाय को बचाने के चक्कर में चालक का संतुलन बिगड़ा और वाहन खाई में जा गिरा। वाहन में विधायक देवेंद्र वर्मा सहित उनके पीए गिरिराज सिंगर व सुरक्षा गार्ड सवार थे। दुर्घटना में ड्राइवर को मामूली चोट आई है। वहीं विधायक सहित अन्य सुरक्षित हैं। इस दुर्घटना के बाद भोपाल जाने की बजाय विधायक अन्य वाहन से खंडवा के लिए रवाना हो गए हैं। भाजपा जिला अध्यक्ष सेवादास पटेल ने बताया कि विधानसभा की शासकीय समिति की बैठक में शामिल होने के लिए खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा सहित मांधाता विधायक नारायण पटेल, पंधाना विधायक राम दांगोरे अलग अलग वाहनों से रवाना हुए थे। दुर्घटना में विधायक देवेंद्र वर्मा का वाहन खाई में गिरने से क्षतिग्रस्त हुआ है। वे सकुशल हैं और खंडवा के लिए रवाना हो गए हैं।

Dakhal News

Dakhal News 19 July 2021


bhopal, 112 per liter petrol,Balaghat, BJP government ,Congress

भोपाल। कांग्रेस पार्टी ने महंगाई को लेकर भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। मध्यप्रदेश के बालाघाट में आज पेट्रोल 112 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया है। प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि भाजपा सरकार ने महंगाई को भी महामारी बना दिया है। जो रोज-रोज गरीब की थाली को छोटी करती जा रही है। भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री जी ने न्यूयार्क से अच्छी सडक़ें मध्यप्रदेश में बनाने की दम भरी थी, सडक़ें तो नहीं बन पाईं मगर पेट्रोल के दाम जरूर न्यूया्रक से दोगुने हो गये हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि डालर को रुपये में परिवर्तित करने पर गेसोलीन की कीमत 62-63 रुपये है और बालाघाट में 112.रुपये। गुप्ता ने इसे भी विश्व रिकार्ड लायक बताया है। मंहगी सब्जी,मंहगी दाल, मंहगा तेल, मंहगा दूध, मंहगी बिजली, मंहगा भाड़ा और अब सुपर मंहगा पेट्रोल। उन्होंने सरकार से मांग की कि वह मोदी सरकार पर एक्साइज ड्यूटी घटाने के लिये दबाव डाले और पेट्रोल पर मुनाफाखोरी बंद कराये। गुप्ता ने इसे असहनीय बताया और कहा कि मामा जनता को अब न्यूयार्क भेजकर ही मानेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 19 July 2021


bhopal, hallmark of loot, epidemic Korean kit ,purchase scandal

भोपाल। कोरोना काल में मध्य प्रदेश को किस तरह लूट प्रदेश में बदल दिया गया और हर अवसर को आपदा में भ्रष्टाचार के लिए भुनाया गया इसका प्रमाण कोरियन टेस्ट किट कांड है। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने कोरोना टेस्ट के लिए मंगाई गई लगभग सात करोड़ की कोरियन टेस्ट किटों के घोटाले की जांच की मांग की है। भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि जो किट आईसीएमआर की अप्रूवल सूची में नहीं है उसकी खरीदी किस आधार पर की गई ? किन लोगों ने उसकी अनुशंसा की? इसकी जांच होनी चाहिए। सिंप्टोमेटिक होने के बावजूद इस किट के जांच परिणाम गलत पाए गए और लाखों मरीज इस टेस्ट किट से जांच करवाने के बाद समाज में अनजाने कोरोना कैरियर बनकर घूमते रहे। लाखों लोगों को उन्होंने संक्रमित किया होगा और स्वयं भी संभव है मौत के शिकार हुए हों। भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि सरकार को यह जानकारी सार्वजनिक करनी चाहिए कि जितने लोगों की कोरोना से मौत हुई है उनमें से कितनों के प्राथमिक टेस्ट कोरियन किट से किए गए ताकि इस भ्रष्टाचार की बलि चढ़े लोगों का तथ्यपरक अध्ययन हो सके ।गुप्ता ने कहा कि जिस किट के परिणामों पर चिकित्सकों ने आपत्ति उठाई उसके परिणामों का विश्लेषण किया उसी किट को प्रशासनिक अधिकारी किस आधार पर दबाव डलवा कर खपत करवा रहे हैं।यह जांच का विषय है। ऐसे अधिकारी दंड के योग्य हैं। उनकी जगह जेल में है। मुख्यमंत्री से कांग्रेस मांग करती है कि अगर वह चोरों को 10 फुट गाडऩे का मंसूबा अभी भी रखते हैं तो कोरियन किट खरीदी कांड की जांच कराएं।

Dakhal News

Dakhal News 16 July 2021


bhopal, hallmark of loot, epidemic Korean kit ,purchase scandal

भोपाल। कोरोना काल में मध्य प्रदेश को किस तरह लूट प्रदेश में बदल दिया गया और हर अवसर को आपदा में भ्रष्टाचार के लिए भुनाया गया इसका प्रमाण कोरियन टेस्ट किट कांड है। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने कोरोना टेस्ट के लिए मंगाई गई लगभग सात करोड़ की कोरियन टेस्ट किटों के घोटाले की जांच की मांग की है। भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि जो किट आईसीएमआर की अप्रूवल सूची में नहीं है उसकी खरीदी किस आधार पर की गई ? किन लोगों ने उसकी अनुशंसा की? इसकी जांच होनी चाहिए। सिंप्टोमेटिक होने के बावजूद इस किट के जांच परिणाम गलत पाए गए और लाखों मरीज इस टेस्ट किट से जांच करवाने के बाद समाज में अनजाने कोरोना कैरियर बनकर घूमते रहे। लाखों लोगों को उन्होंने संक्रमित किया होगा और स्वयं भी संभव है मौत के शिकार हुए हों। भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि सरकार को यह जानकारी सार्वजनिक करनी चाहिए कि जितने लोगों की कोरोना से मौत हुई है उनमें से कितनों के प्राथमिक टेस्ट कोरियन किट से किए गए ताकि इस भ्रष्टाचार की बलि चढ़े लोगों का तथ्यपरक अध्ययन हो सके ।गुप्ता ने कहा कि जिस किट के परिणामों पर चिकित्सकों ने आपत्ति उठाई उसके परिणामों का विश्लेषण किया उसी किट को प्रशासनिक अधिकारी किस आधार पर दबाव डलवा कर खपत करवा रहे हैं।यह जांच का विषय है। ऐसे अधिकारी दंड के योग्य हैं। उनकी जगह जेल में है। मुख्यमंत्री से कांग्रेस मांग करती है कि अगर वह चोरों को 10 फुट गाडऩे का मंसूबा अभी भी रखते हैं तो कोरियन किट खरीदी कांड की जांच कराएं।

Dakhal News

Dakhal News 16 July 2021


bhopal, CM Shivraj planted, saptaparni plant , Smart Park

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधरोपण करने के संकल्प के क्रम में शुक्रवार को राजधानी भोपाल के स्मार्ट पार्क में सप्तपर्णी का पौधा लगाया। इस अवसर पर उन्होंने नागरिकों से पौधरोपण करने की अपील भी की। मुख्यमंत्री चौहान ने इसी साल नर्मदा जयंती के अवसर पर प्रतिदिन पौधरोपण करने का संकल्प लिया था, तभी से वे प्रतिदिन पौधे लगाते हैं। उन्होंने शुक्रवार सुबह स्मार्ट पार्क पहुंचकर सप्तपर्णी का पौधा लगाया। उन्होंने कहा कि सप्तपर्णी, एक सदाबहार औषधीय वृक्ष है, जिसका आयुर्वेद में बहुत महत्व है।

Dakhal News

Dakhal News 16 July 2021


bhopal, Mahila Congress ,protested across , against rising inflation

भोपाल। रसोई गैस सिलेण्डरों, पेट्रोल-डीजल, खाने के तेल व अन्य खाद्य पदार्थ सामग्री की कीमतों में लगातार हो रही मूल्य वृद्धि एवं महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार के खिलाफ महिला कांग्रेस ने गुरुवार को प्रदेश के सभी जिलों एवं ब्लाक मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन कर केंद्र एवं राज्य की भाजपा सरकारों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। महिला कांग्रेस पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन जिलाधीश एवं एसडीएम को सौंपे। महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष यास्मीन शेरानी ने कहा कि भाजपा सरकार महिला विरोधी है, रसोई संभालने वाली गृहणियां आज खून के आंसू रो रही हैं। गैस सिलेण्डर के दाम 840 रुपये हैं तो वहीं पेट्रोल-डीजल का आंकड़ा सौ रुपये के पार पहुंच गया है। खाने का तेल 150 रुपये पार, खाद्य सामग्री इतनी महंगी हो रही है कि खरीदने से पहले दस बार सोचना पड़ता है क्या खरीदें। महिला एवं पुरूष एक गाड़ी के दो पहिये हैं, जिससे परिवार की गाड़ी चलती है लेकिन जब पेट्रोल-डीजल महंगा होगा तो परिवार का पुरूष वर्ग बाहर कमाने कैसे जाएगा। महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष कविता पांडे ने कहा कि कोरोना महामारी ने लोगों का जीवन दूभर कर दिया है, लोगों के रोजगार छूट गये, मजदूर वर्ग, हाथ ठेले वाले, आटो वाले सभी के जीवन पर इसका दुष्प्रभाव पड़ा है। लेकिन केंद्र और राज्य सरकार इस ओर से लोगों का ध्यान भटकाकर महंगाई बढ़ाने में लगी हुई है। जिससे भाजपा सरकार में संरक्षण प्राप्त बड़े उद्योगपतियों को सीधा मुनाफा मिल रहा है और उसका कमीशन भाजपा सरकार खा रही है। उसे मजदूर एवं गरीब वर्ग से कोई लेना-देना नहीं है। भोपाल में रोशनपुरा चौराहे पर हुआ प्रदर्शन जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष संतोष कंसाना के नेतृत्व में राजधानी भोपाल के रोशनपुरा चौराहे पर धरना-प्रदर्शन किया गया। इस दौरान महिला कांग्रेस पदाधिकारियों का कहना था कि लगातार बढ़ती महंगाई से महिलाएं, खासकर गृहणियां, जिन पर रसोई की जिम्मेदारी होती है, में भारी निराशा और आक्रोश व्याप्त है। महिला कांगे्रस ने धरना प्रदर्शन कर मोदी सरकार से महंगाई कम करने की मांग की है। प्रदर्शन में पूर्व मंत्री पी.सी. शर्मा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश मिश्रा, पूर्व महापौर विभा पटेल, वहीद लश्करी, भारती बाथम, गीता मिश्रा, नेत्रियां चंद्रा सरवटे, कल्पना मिश्रा, रसीदा मस्तफा, लता देवरे, पायल कामरानी, पल्लवी सक्सेना, नीतू सिंह, डॉली मालवीय, सुजाता दामले, सुनीता धावरे सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थीं।

Dakhal News

Dakhal News 15 July 2021


bhopal, Mahila Congress ,protested across , against rising inflation

भोपाल। रसोई गैस सिलेण्डरों, पेट्रोल-डीजल, खाने के तेल व अन्य खाद्य पदार्थ सामग्री की कीमतों में लगातार हो रही मूल्य वृद्धि एवं महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार के खिलाफ महिला कांग्रेस ने गुरुवार को प्रदेश के सभी जिलों एवं ब्लाक मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन कर केंद्र एवं राज्य की भाजपा सरकारों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। महिला कांग्रेस पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन जिलाधीश एवं एसडीएम को सौंपे। महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष यास्मीन शेरानी ने कहा कि भाजपा सरकार महिला विरोधी है, रसोई संभालने वाली गृहणियां आज खून के आंसू रो रही हैं। गैस सिलेण्डर के दाम 840 रुपये हैं तो वहीं पेट्रोल-डीजल का आंकड़ा सौ रुपये के पार पहुंच गया है। खाने का तेल 150 रुपये पार, खाद्य सामग्री इतनी महंगी हो रही है कि खरीदने से पहले दस बार सोचना पड़ता है क्या खरीदें। महिला एवं पुरूष एक गाड़ी के दो पहिये हैं, जिससे परिवार की गाड़ी चलती है लेकिन जब पेट्रोल-डीजल महंगा होगा तो परिवार का पुरूष वर्ग बाहर कमाने कैसे जाएगा। महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष कविता पांडे ने कहा कि कोरोना महामारी ने लोगों का जीवन दूभर कर दिया है, लोगों के रोजगार छूट गये, मजदूर वर्ग, हाथ ठेले वाले, आटो वाले सभी के जीवन पर इसका दुष्प्रभाव पड़ा है। लेकिन केंद्र और राज्य सरकार इस ओर से लोगों का ध्यान भटकाकर महंगाई बढ़ाने में लगी हुई है। जिससे भाजपा सरकार में संरक्षण प्राप्त बड़े उद्योगपतियों को सीधा मुनाफा मिल रहा है और उसका कमीशन भाजपा सरकार खा रही है। उसे मजदूर एवं गरीब वर्ग से कोई लेना-देना नहीं है। भोपाल में रोशनपुरा चौराहे पर हुआ प्रदर्शन जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष संतोष कंसाना के नेतृत्व में राजधानी भोपाल के रोशनपुरा चौराहे पर धरना-प्रदर्शन किया गया। इस दौरान महिला कांग्रेस पदाधिकारियों का कहना था कि लगातार बढ़ती महंगाई से महिलाएं, खासकर गृहणियां, जिन पर रसोई की जिम्मेदारी होती है, में भारी निराशा और आक्रोश व्याप्त है। महिला कांगे्रस ने धरना प्रदर्शन कर मोदी सरकार से महंगाई कम करने की मांग की है। प्रदर्शन में पूर्व मंत्री पी.सी. शर्मा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश मिश्रा, पूर्व महापौर विभा पटेल, वहीद लश्करी, भारती बाथम, गीता मिश्रा, नेत्रियां चंद्रा सरवटे, कल्पना मिश्रा, रसीदा मस्तफा, लता देवरे, पायल कामरानी, पल्लवी सक्सेना, नीतू सिंह, डॉली मालवीय, सुजाता दामले, सुनीता धावरे सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थीं।

Dakhal News

Dakhal News 15 July 2021


bhopal,Lottery process started , free admission ,poor children, private schools

भोपाल। मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इंदर सिंह परमार ने गुरुवार सुबह शिक्षा का अधिकार कानून (आरटीई) के तहत निजी विद्यालयों की प्रथम प्रवेशित कक्षा में वंचित समूह और कमजोर वर्ग के बच्चों के निःशुल्क प्रवेश के लिए लॉटरी प्रक्रिया का शुभारंभ किया। दरअसल, शिक्षा का अधिकार कानून के तहत निजी स्कूलों की प्रथम प्रवेशित कक्षा में, वंचित समूह और कमज़ोर वर्ग के बच्चों के लिए 25 प्रतिशत सीटों पर निःशुल्क प्रवेश का प्रावधान है। इसके तहत सत्र 2021-22 के लिए प्रदेश के निजी विद्यालयों की प्रथम प्रवेशित कक्षा में वंचित समूह और कमजोर वर्ग के बच्चों के निःशुल्क प्रवेश के लिए ऑनलाइन लॉटरी निकाली जा रही है। लॉटरी प्रक्रिया की शुरुआत प्रदेश के स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री इंदर सिंह परमान ने गुरुवार को भोपाल स्थित एनआईसी के सर्वर का बटन दबाकर की।फिलहाल, लॉटरी प्रक्रिया जारी है। इसके माध्यम से प्रदेश के 1 लाख 72 हजार 440 बच्चों को निजी स्कूलों में निशुल्क प्रवेश दिया जाएगा। इस लाटरी प्रक्रिया का राज्य शिक्षा केन्द्र के यू-ट्यूब चैनल https://www.youtube.com/c/rajyashikshakendrased पर प्रसारण किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 15 July 2021


bhopal,Chief Minister ,met Union Minister Scindia, thanked

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को नई दिल्ली में केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से राजीव गांधी भवन स्थित उनके कार्यालय में मुलाकात कर केन्द्रीय मंत्री बनने पर शुभकामनाएँ और बधाई दी। मुख्यमंत्री चौहान ने केन्द्रीय मंत्री सिंधिया को प्रदेश में 8 नई विमान सेवाएँ ग्वालियर-मुम्बई-ग्वालियर, ग्वालियर-पुणे-ग्वालियर, जबलपुर-सूरत-जबलपुर, अहमदाबाद-ग्वालियर-अहमदाबाद शुरू करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 16 जुलाई से इन उड़ानों के शुरू हो जाने से प्रदेश के विकास को नई गति को मिलेगी। लोगों को रोजगार मिलेगा, साथ ही पर्यटन और व्यापार को बढ़ावा मिलेगा।मुख्यमंत्री ने भोपाल एयरपोर्ट को इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाने का प्रस्ताव केन्द्रीय मंत्री को दिया और भोपाल एयरपोर्ट को हब के रूप में विकसित किये जाने की माँग की। इसके अलावा ग्वालियर में नये एयरपोर्ट बनाने की स्वीकृति दिये जाने की भी माँग की। मुख्यमंत्री चौहान ने इंदौर, भोपाल और जबलपुर एयरपोर्ट का विस्तारीकरण, इंदौर में इंटरनेशनल फ्लाइट्स के फेरे बढ़ाने और सिंगापुर एवं खाड़ी देशों के लिए इंदौर से अंतर्राष्ट्रीय विमान सेवा शुरू करने का आग्रह किया।मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार की उड़ान योजना के अंतर्गत रीवा, खजुराहो, दतिया, ग्वालियर, भोपाल, जबलपुर में नई उड़ानों को बढ़ावा देने और एयर कनेक्टिविटी की माँग भी की। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री चौहान द्वारा दिये गये प्रस्तावों पर केन्द्र द्वारा हरसंभव सहायता देने का आश्वासन दिया।

Dakhal News

Dakhal News 12 July 2021


bhopal, Now building permission ,available in MP ,within 30 days

भोपाल। प्रस्तावित मध्यप्रदेश नगर पालिका (कालोनी विकास) नियम-2021 का प्रकाशन कर 15 दिन में आमजन से आपत्ति-सुझाव प्राप्त किये जाएं। इसके साथ ही बिल्डिंग परमीशन 30 दिन के अन्दर देना सुनिश्चित करें। यह निर्देश प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने सोमवार को हुई बैठक में विभागीय नियमों पर चर्चा के दौरान दिये। उन्होंने कहा कि कहीं पर भी निर्धारित समयावधि से अधिक समय के आवेदन लंबित नहीं रहना चाहिए। बैठक में नगरीय प्रशासन एवं विकास आयुक्त निकुंज श्रीवास्तव ने बताया कि इसके लिए सर्वर भी अपडेट किया जा रहा है।एसओआर रिवाइज करेंमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि नगरीय निकायों में चलने वाले कार्यों का एस.ओ.आर. रिवाइज करें। उन्होंने कहा कि इससे गुणवत्तापूर्ण कार्य कराने में सहूलियत होगी। उन्होंने कहा कि शहरी आजीविका मिशन के तहत आवंटित राशि का सदुपयोग सुनिश्चित करें। ट्रेनिंग के लिए पैरामीटर निर्धारित कर योजना की सतत मानीटरिंग करें। स्व-सहायता समूहों को ट्रेनिंग देकर बैंक लिंकेज करवायें। यह योजना अब सभी 407 नगरीय निकायों में लागू कर दी गयी है।मंत्री सिंह ने कहा कि पेयजल और सीवरेज का काम समय पर नहीं करने वाले कांट्रेक्टर्स के विरूद्ध कार्यवाही करें। नये संशोधन के अनुसार कंपाउडिंग से संबंधित प्रकरणों के निपटारे के लिए शिविर लगाये जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि संबंधित भवन स्वामियों को नोटिस जारी करें। कंपाउंडिंग शुल्क में छूट की सीमा भी निर्धारित की जाये।उन्होंने सड़कों का संधारण और नालों की सफाई के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कोविड अनुकूल व्यवहार के लिये लोगों को समझाइस दी जाये। जिन दुकानों में ज्यादा भीड़ होती है, वहाँ कूपन सिस्टम लागू करवायें। व्यापारियों से भी बात करें। लोगों को मास्क जरूर लगवायें। इस दौरान प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास मनीष सिंह एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।  

Dakhal News

Dakhal News 12 July 2021


bhopal, Now building permission ,available in MP ,within 30 days

भोपाल। प्रस्तावित मध्यप्रदेश नगर पालिका (कालोनी विकास) नियम-2021 का प्रकाशन कर 15 दिन में आमजन से आपत्ति-सुझाव प्राप्त किये जाएं। इसके साथ ही बिल्डिंग परमीशन 30 दिन के अन्दर देना सुनिश्चित करें। यह निर्देश प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने सोमवार को हुई बैठक में विभागीय नियमों पर चर्चा के दौरान दिये। उन्होंने कहा कि कहीं पर भी निर्धारित समयावधि से अधिक समय के आवेदन लंबित नहीं रहना चाहिए। बैठक में नगरीय प्रशासन एवं विकास आयुक्त निकुंज श्रीवास्तव ने बताया कि इसके लिए सर्वर भी अपडेट किया जा रहा है।एसओआर रिवाइज करेंमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि नगरीय निकायों में चलने वाले कार्यों का एस.ओ.आर. रिवाइज करें। उन्होंने कहा कि इससे गुणवत्तापूर्ण कार्य कराने में सहूलियत होगी। उन्होंने कहा कि शहरी आजीविका मिशन के तहत आवंटित राशि का सदुपयोग सुनिश्चित करें। ट्रेनिंग के लिए पैरामीटर निर्धारित कर योजना की सतत मानीटरिंग करें। स्व-सहायता समूहों को ट्रेनिंग देकर बैंक लिंकेज करवायें। यह योजना अब सभी 407 नगरीय निकायों में लागू कर दी गयी है।मंत्री सिंह ने कहा कि पेयजल और सीवरेज का काम समय पर नहीं करने वाले कांट्रेक्टर्स के विरूद्ध कार्यवाही करें। नये संशोधन के अनुसार कंपाउडिंग से संबंधित प्रकरणों के निपटारे के लिए शिविर लगाये जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि संबंधित भवन स्वामियों को नोटिस जारी करें। कंपाउंडिंग शुल्क में छूट की सीमा भी निर्धारित की जाये।उन्होंने सड़कों का संधारण और नालों की सफाई के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कोविड अनुकूल व्यवहार के लिये लोगों को समझाइस दी जाये। जिन दुकानों में ज्यादा भीड़ होती है, वहाँ कूपन सिस्टम लागू करवायें। व्यापारियों से भी बात करें। लोगों को मास्क जरूर लगवायें। इस दौरान प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास मनीष सिंह एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।  

Dakhal News

Dakhal News 12 July 2021


bhopal, Congress raised questions,matter of theft,orphan children

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने रायपुर के अनाथ आश्रम से मप्र के बच्चों के बरामद होने और उनकी चोरी के मामले में सरकार पर सवाल उठाए है। उन्होंने कहा है कि मध्यप्रदेश में कोरोना महामारी से अनाथ हुए बच्चों का अभी रिकॉर्ड भी तैयार नहीं हो पाया है और उनकी मानव तस्करी शुरू हो गई है? मध्यप्रदेश के लिए इससे ज्यादा कलंकपूर्ण कोई घटना नहीं हो सकती। भूपेंद्र गुप्ता ने रविवार को अपने बयान में कहा कि रायपुर के एक कथित अवैध बालगृह 'लाइफ शो फाऊंडेशन ' से छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा छुड़ाये गए 20 बच्चे, मध्य प्रदेश के बैतूल और मंडला जिले के हैं। इन 20 बच्चों में ज्यादातर कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चे हैं जिन्हें इस बाल गृह में पकड़ा गया है। भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि चकित करने वाली बात है कि हमारे मुख्यमंत्री ने तो अनाथ बच्चों को गोद लेने की घोषणा की थी, फिर ये बच्चे उनकी गोद से चोरी कैसे हो गए ?क्या इसी तरह सरकार बच्चों को गोद लेती हैं ? कांग्रेस नेता ने इस बात की तत्काल जांच करने की मांग की है कि कहीं आदिवासी क्षेत्रों के बच्चों को मानव तस्करी का शिकार तो नहीं बनाया जा रहा है। यह सारे बच्चे वैतूल और मंडला आदिवासी जिलों के ही हैं और इन कथित गिरोहों को अगर इतनी आसानी से बच्चे मिल रहे हैं, तो इन जिलों के कलेक्टर क्या कर रहे हैं? इन्हें तत्काल दंडित क्यों नहीं किया जा रहा है? भूपेंद्र गुप्ता ने मध्य प्रदेश सरकार के लोकप्रियतावाद के इवेंट्स की निंदा करते हुए कहा कि सरकार केवल अखबारों में छवि बनाने के लिए काम कर रही है। जमीन पर हालात इतने बदतर हैं कि सरकार की गोद से बच्चे चोरी हो रहे हैंऔर उसे पता भी नहीं। उन्होंने कहा महज 20 दिन पहले उठाये गये इन बच्चों को सुरक्षा में मध्यप्रदेश लाया जाये और जिन जिलों के बच्चे चोरी हुये हैं उनके कलेक्टर ,एसपी हटाये जायें, ताकि आदिवासी समाज में सुरक्षा का वातावरण बने।

Dakhal News

Dakhal News 11 July 2021


bhopal, Congress raised questions,matter of theft,orphan children

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने रायपुर के अनाथ आश्रम से मप्र के बच्चों के बरामद होने और उनकी चोरी के मामले में सरकार पर सवाल उठाए है। उन्होंने कहा है कि मध्यप्रदेश में कोरोना महामारी से अनाथ हुए बच्चों का अभी रिकॉर्ड भी तैयार नहीं हो पाया है और उनकी मानव तस्करी शुरू हो गई है? मध्यप्रदेश के लिए इससे ज्यादा कलंकपूर्ण कोई घटना नहीं हो सकती। भूपेंद्र गुप्ता ने रविवार को अपने बयान में कहा कि रायपुर के एक कथित अवैध बालगृह 'लाइफ शो फाऊंडेशन ' से छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा छुड़ाये गए 20 बच्चे, मध्य प्रदेश के बैतूल और मंडला जिले के हैं। इन 20 बच्चों में ज्यादातर कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चे हैं जिन्हें इस बाल गृह में पकड़ा गया है। भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि चकित करने वाली बात है कि हमारे मुख्यमंत्री ने तो अनाथ बच्चों को गोद लेने की घोषणा की थी, फिर ये बच्चे उनकी गोद से चोरी कैसे हो गए ?क्या इसी तरह सरकार बच्चों को गोद लेती हैं ? कांग्रेस नेता ने इस बात की तत्काल जांच करने की मांग की है कि कहीं आदिवासी क्षेत्रों के बच्चों को मानव तस्करी का शिकार तो नहीं बनाया जा रहा है। यह सारे बच्चे वैतूल और मंडला आदिवासी जिलों के ही हैं और इन कथित गिरोहों को अगर इतनी आसानी से बच्चे मिल रहे हैं, तो इन जिलों के कलेक्टर क्या कर रहे हैं? इन्हें तत्काल दंडित क्यों नहीं किया जा रहा है? भूपेंद्र गुप्ता ने मध्य प्रदेश सरकार के लोकप्रियतावाद के इवेंट्स की निंदा करते हुए कहा कि सरकार केवल अखबारों में छवि बनाने के लिए काम कर रही है। जमीन पर हालात इतने बदतर हैं कि सरकार की गोद से बच्चे चोरी हो रहे हैंऔर उसे पता भी नहीं। उन्होंने कहा महज 20 दिन पहले उठाये गये इन बच्चों को सुरक्षा में मध्यप्रदेश लाया जाये और जिन जिलों के बच्चे चोरी हुये हैं उनके कलेक्टर ,एसपी हटाये जायें, ताकि आदिवासी समाज में सुरक्षा का वातावरण बने।

Dakhal News

Dakhal News 11 July 2021


bhopal, Minister Vijay Shah, got angry , gate of Raj Bhavan

भोपाल। मध्यप्रदेश के नए राज्यपाल मंगूभाई पटेल के शपथ ग्रहण समारोह के पूर्व वन मंत्री विजय शाह नाराज हो गए। मंत्री की गाड़ी को राजभवन के गेट पर पुलिस ने रोक लिया और उनके पर्सनल सिक्योरिटी ऑफिसर को उतरने के लिए कहा। इस पर मंत्री विजय शाह गुस्से में कार से बाहर निकल आए। वह सुरक्षाकर्मी को अंदर ले जाने के लिए अड़ गए। मंत्री की नाराजगी को देखकर पुलिस अधिकारियों और उनके स्टाफ ने उन्हें समझाया और मनाकर कार में बिठाया। इसके बाद मंत्री राजभवन गए। प्रदेश के नवनियुक्त राज्यपाल मंगूभाई पटेल का शपथग्रहण समारोह गुरुवार सुबह राजभवन में आयोजित किया गया था। इस दौरान राजभवन में मंत्रियों के सुरक्षाकर्मियों को अंदर जाने की इजाजत नहीं थी। मंत्री विजय शाह अपनी पुरानी सरकारी एंबेसडर कार से शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने पहुंचे थे, लेकिन राजभवन के गेट पर तैनात पुलिस अधिकारियों ने मंत्री की कार रोक ली और मंत्री के सुरक्षाकर्मी को बाहर ही उतारने के लिए कहा। इस पर मंत्री ने गॉर्ड के साथ अंदर जाने की बात कही। पुलिसकर्मियों ने आदेश नहीं होने की बात कही। इस पर मंत्री अपनी कार से गेट पर ही बाहर उतर गए। फिर पुलिसकर्मियों और उनके स्टाफ ने उनको मनाकर अंदर बैठाया और पीएसओ को बाहर छोड़कर अंदर जाने दिया। इस मामले में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि नाराजगी जैसा कुछ नहीं है। मंत्री जी को पीएसओ को बाहर छोड़ने के लिए कहा था। वह साथ ले जाने के लिए कह रहे थे।

Dakhal News

Dakhal News 8 July 2021


bhopal, Chief Minister, planted Ficus plant, Smart Garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधरोपण करने के संकल्प के क्रम में गुरुवार को राजधानी भोपाल के स्मार्ट उद्यान में फाइकस का पौधा लगाया। इस अवसर पर खेल, युवा कल्याण तथा तकनीकी शिक्षा मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने भी नीम का पौधा रोपा। दरअसल, मुख्यमंत्री चौहान अपने संकल्प के अनुसार प्रतिदिन पौधा रोपण कर रहे है। मुख्यमंत्री द्वारा आज लगाया गया फाइकस का पौधा उन्हें कल 7 जुलाई को जबलपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में भेंट किया गया था। फाइकस का घर की बगिया और उद्यानों की साज-सज्जा में विशेष महत्व है। नीम को सर्वोच्च औषधि के रूप में जाना जाता है। पर्यावरण संरक्षण में भी नीम का बहुत महत्व है।

Dakhal News

Dakhal News 8 July 2021


bhopal,If it belongs head, then Ayushman card ,Kamal Patel

बैतूल/चिचोली। केंद्र और प्रदेश की सरकार प्रत्येक पात्र हितग्राही को लाभान्वित करने के लिए कृत संकल्पित है। दोनों सरकारों द्वारा जनता के लिए अनेक महत्वांक्षी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। रही बात आयुष्मान कार्ड की तो यदि मुखिया के नाम से आयुष्मान कार्ड बना है तो बच्चों के नाम से भी आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा। इतना ही नहीं यदि परिवार में 10 लोग हैं तो दसों सदस्यों का आयुष्मान कार्ड बनेगा। यह बात एक प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने आयुष्मान कार्ड बनाने में आ रही विसंगति के संबंध में पूछे गए एक प्रश्र के जवाब में कही। इतना ही नहीं श्री पटेल ने तत्काल जिला कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस को फोन लगाकर समस्या के निराकरण के लिए निर्देश दिए। साथ ही यह भी कहा कि यदि परिवार के मुखिया का आयुष्मान कार्ड बना हुआ है तो अन्य के नाम भी जोड़े जाने की ना सिर्फ व्यवस्था करें बल्कि तत्काल शेष परिवार के सदस्यों के आयुष्मान कार्ड भी बनाकर दिए जाए। इसके बाद जिला कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस ने भी कृषि मंत्री कमल पटेल के निर्देशानुसार आयुष्मान कार्ड के संबंध में आ रही समस्या को फौरन हल करने के लिये निर्देशित किया है।कृषि मंत्री कमल पटेल से कोविड की तीसरी लहर के संबंध में पूछे गए एक प्रश्र के जवाब में उन्होंने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार ने कोविड की तीसरी लहर आने के पूर्व ही पुख्ता इंतजाम किए हैं। सभी शासकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने से लेकर बेडों की संख्या बढ़ाने और बच्चों से संबंधित आईसीयू की व्यवस्था की जा रही है ताकि बच्चों के उपचार के लिए परिजनों को परेशान ना होना पड़े।

Dakhal News

Dakhal News 8 July 2021


bhopal,If it belongs head, then Ayushman card ,Kamal Patel

बैतूल/चिचोली। केंद्र और प्रदेश की सरकार प्रत्येक पात्र हितग्राही को लाभान्वित करने के लिए कृत संकल्पित है। दोनों सरकारों द्वारा जनता के लिए अनेक महत्वांक्षी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। रही बात आयुष्मान कार्ड की तो यदि मुखिया के नाम से आयुष्मान कार्ड बना है तो बच्चों के नाम से भी आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा। इतना ही नहीं यदि परिवार में 10 लोग हैं तो दसों सदस्यों का आयुष्मान कार्ड बनेगा। यह बात एक प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने आयुष्मान कार्ड बनाने में आ रही विसंगति के संबंध में पूछे गए एक प्रश्र के जवाब में कही। इतना ही नहीं श्री पटेल ने तत्काल जिला कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस को फोन लगाकर समस्या के निराकरण के लिए निर्देश दिए। साथ ही यह भी कहा कि यदि परिवार के मुखिया का आयुष्मान कार्ड बना हुआ है तो अन्य के नाम भी जोड़े जाने की ना सिर्फ व्यवस्था करें बल्कि तत्काल शेष परिवार के सदस्यों के आयुष्मान कार्ड भी बनाकर दिए जाए। इसके बाद जिला कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस ने भी कृषि मंत्री कमल पटेल के निर्देशानुसार आयुष्मान कार्ड के संबंध में आ रही समस्या को फौरन हल करने के लिये निर्देशित किया है।कृषि मंत्री कमल पटेल से कोविड की तीसरी लहर के संबंध में पूछे गए एक प्रश्र के जवाब में उन्होंने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार ने कोविड की तीसरी लहर आने के पूर्व ही पुख्ता इंतजाम किए हैं। सभी शासकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने से लेकर बेडों की संख्या बढ़ाने और बच्चों से संबंधित आईसीयू की व्यवस्था की जा रही है ताकि बच्चों के उपचार के लिए परिजनों को परेशान ना होना पड़े।

Dakhal News

Dakhal News 8 July 2021


mandsour, Heartfelt relation, people of Mandsaur, Scindia

मन्दसौर। राज्यसभा सांसद और भाजपा के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया मन्दसौर नीमच संसदीय क्षेत्र के दौरे पर हैं, सिंधिया का मन्दसौर दौरा कई राजनीतिक मायने में देखा जा रहा है, हालांकि सिंधिया खुद इस बात का खंडन कर चुके हैं और उन्होंने कहा है कि मेरा यहां के लोगो से सदियों का रिश्ता है और हमारा मन्दसौर की जनता से दिल का रिश्ता है इसीलिए यहां पर अपने लोगों से मिलने आया हूं। जानकारी के अनुसार सोमवार को मन्दसौर दौरे के दौरान सिंधिया ने नीमच, मल्हारगढ़, पिपलियामंडी, अपने ख़ास कार्यकर्ताओ से मुलाकात की, वहीं इस दौरान कोरोना में मृत स्वजनों के निवास पर शोक व्यक्त भी किया। मन्दसौर पहुचे जहाँ पर बंशीलाल जी गुर्जर के घर गये उसके बाद रात का भोजन सांसद सुधीर गुप्ता के घर हुआ जहाँ पर क्षेत्र के अनेक भाजपा नेताओं का जमघट रहा, सिंधिया ने इस दौरान कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा। सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ राजनीतिज्ञ है, कांग्रेस ने कोरोना काल में भी राजनीति की है इसलिए आज कांग्रेस का ये हाल है। वही दौरे के दूसरे दिन भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन कर पूजा अर्चना करने के बाद कहा कि मैंने प्रदेश की खुशहाली के लिए भगवान से प्रार्थना की है, मंदिर का कलश मेरी दादी ने 50 साल पहले स्वयं यहां कर स्थापित किया था, प्रदेश की खुशहाली हो किसानों की तरक्की हो यही मैंने प्रार्थना की है। पत्रकारों द्वारा ज्योतिरादित्य सिंधिया से जब महंगाई के बारे में प्रश्न किया गया तो उन्होंने कहा कि मंदिर और खेल के मैदान में राजनीति नहीं होना चाहिए यहां पर केवल मंदिर की ही बात और धर्म की ही बात होगी। उज्जैन के महाकाल मंदिर में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा 75 करोड़ की राशि दिए जाने पर उनका आभार प्रकट किया और कहा कि उज्जैन के बाद अब अन्य मंदिरों को भी देखा जाएगा।वही ज्योतिरादित्य सिंधिया भले ही केवल एक राज्यसभा सांसद है, लेकिन उनकी हैसियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मध्य प्रदेश शासन के वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री हरदीप सिंह डंग मंदसौर जिले के प्रभारी मंत्री राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव, तुलसीराम सिलावट सांसद सुधीर गुप्ता,मन्दसौर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया के.के.सिंह कालूखेड़ा, विधायक देवीलाल धाकड़ के अलावा कई सारे विधायक पूर्व विधायक भाजपा के कई वरिष्ठ नेता और कांग्रेसी छोड़कर भाजपा में आए कई नेता उनके काफिले में शामिल थे वही मंदसौर जिले के कलेक्टर मनोज पुष्प और पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी व पूरा प्रशाशनिक अमला भी प्रोटोकॉल के तहत उनकी अगवानी करने में लगा हुआ था।कांग्रेसियों पर दर्ज हुआ मुकदमा   ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा में शामिल होने के बाद पहली बार मंदसौर-नीमच संसदीय क्षेत्र के दौरे पर पहुंचे, जहां उन्हें कांग्रेसियों के विरोध का सामना करना पड रहा है। नीमच के बाद अब मंदसौर में कांग्रेसियों ने सिंधिया के विरोध की तैयारी पहले से ही की थी, लेकिन पुलिस प्रशासन को इस बात की भनक लग गयी और नगर के गांधी चौराहा पर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ता काले गुब्बारें व काले झंडे हाथों में लेकर सिंधिया के काफिले का इंतजार कर रहे थे, लेकिन सिंधिया का काफिला निकलने से पूर्व ही पुलिस ने कांग्रेसी कार्यकर्ताओ को गिरफ्तार कर लिया। उसके बाद सभी को पुलिस वेन में बिठाकर शहर से दूर सीतामऊ थाने लाया गया। वही मन्दसौर नगर में ज्योतिरादित्य सिंधिया के काफिला निकलने के दौरान कांग्रेस नेता मनजीत मनी व उनके दो अन्य साथियो द्वारा ज्योतिरादित्य सिंधिया की गाड़ी पर काले झंडे फेंके गए जिसके बाद पुलिस ने कांग्रेस नेता मंजित सिंह मनी व उनके दो अन्य साथियों को गिरफ्तार किया वही कई कांग्रेस कार्यकर्ताओ को प्रतिबंधात्मक धारा 151 के तहत जैल भी भेजा गया।

Dakhal News

Dakhal News 5 July 2021


mandsour, Heartfelt relation, people of Mandsaur, Scindia

मन्दसौर। राज्यसभा सांसद और भाजपा के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया मन्दसौर नीमच संसदीय क्षेत्र के दौरे पर हैं, सिंधिया का मन्दसौर दौरा कई राजनीतिक मायने में देखा जा रहा है, हालांकि सिंधिया खुद इस बात का खंडन कर चुके हैं और उन्होंने कहा है कि मेरा यहां के लोगो से सदियों का रिश्ता है और हमारा मन्दसौर की जनता से दिल का रिश्ता है इसीलिए यहां पर अपने लोगों से मिलने आया हूं। जानकारी के अनुसार सोमवार को मन्दसौर दौरे के दौरान सिंधिया ने नीमच, मल्हारगढ़, पिपलियामंडी, अपने ख़ास कार्यकर्ताओ से मुलाकात की, वहीं इस दौरान कोरोना में मृत स्वजनों के निवास पर शोक व्यक्त भी किया। मन्दसौर पहुचे जहाँ पर बंशीलाल जी गुर्जर के घर गये उसके बाद रात का भोजन सांसद सुधीर गुप्ता के घर हुआ जहाँ पर क्षेत्र के अनेक भाजपा नेताओं का जमघट रहा, सिंधिया ने इस दौरान कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा। सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ राजनीतिज्ञ है, कांग्रेस ने कोरोना काल में भी राजनीति की है इसलिए आज कांग्रेस का ये हाल है। वही दौरे के दूसरे दिन भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन कर पूजा अर्चना करने के बाद कहा कि मैंने प्रदेश की खुशहाली के लिए भगवान से प्रार्थना की है, मंदिर का कलश मेरी दादी ने 50 साल पहले स्वयं यहां कर स्थापित किया था, प्रदेश की खुशहाली हो किसानों की तरक्की हो यही मैंने प्रार्थना की है। पत्रकारों द्वारा ज्योतिरादित्य सिंधिया से जब महंगाई के बारे में प्रश्न किया गया तो उन्होंने कहा कि मंदिर और खेल के मैदान में राजनीति नहीं होना चाहिए यहां पर केवल मंदिर की ही बात और धर्म की ही बात होगी। उज्जैन के महाकाल मंदिर में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा 75 करोड़ की राशि दिए जाने पर उनका आभार प्रकट किया और कहा कि उज्जैन के बाद अब अन्य मंदिरों को भी देखा जाएगा।वही ज्योतिरादित्य सिंधिया भले ही केवल एक राज्यसभा सांसद है, लेकिन उनकी हैसियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मध्य प्रदेश शासन के वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री हरदीप सिंह डंग मंदसौर जिले के प्रभारी मंत्री राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव, तुलसीराम सिलावट सांसद सुधीर गुप्ता,मन्दसौर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया के.के.सिंह कालूखेड़ा, विधायक देवीलाल धाकड़ के अलावा कई सारे विधायक पूर्व विधायक भाजपा के कई वरिष्ठ नेता और कांग्रेसी छोड़कर भाजपा में आए कई नेता उनके काफिले में शामिल थे वही मंदसौर जिले के कलेक्टर मनोज पुष्प और पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी व पूरा प्रशाशनिक अमला भी प्रोटोकॉल के तहत उनकी अगवानी करने में लगा हुआ था।कांग्रेसियों पर दर्ज हुआ मुकदमा   ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा में शामिल होने के बाद पहली बार मंदसौर-नीमच संसदीय क्षेत्र के दौरे पर पहुंचे, जहां उन्हें कांग्रेसियों के विरोध का सामना करना पड रहा है। नीमच के बाद अब मंदसौर में कांग्रेसियों ने सिंधिया के विरोध की तैयारी पहले से ही की थी, लेकिन पुलिस प्रशासन को इस बात की भनक लग गयी और नगर के गांधी चौराहा पर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ता काले गुब्बारें व काले झंडे हाथों में लेकर सिंधिया के काफिले का इंतजार कर रहे थे, लेकिन सिंधिया का काफिला निकलने से पूर्व ही पुलिस ने कांग्रेसी कार्यकर्ताओ को गिरफ्तार कर लिया। उसके बाद सभी को पुलिस वेन में बिठाकर शहर से दूर सीतामऊ थाने लाया गया। वही मन्दसौर नगर में ज्योतिरादित्य सिंधिया के काफिला निकलने के दौरान कांग्रेस नेता मनजीत मनी व उनके दो अन्य साथियो द्वारा ज्योतिरादित्य सिंधिया की गाड़ी पर काले झंडे फेंके गए जिसके बाद पुलिस ने कांग्रेस नेता मंजित सिंह मनी व उनके दो अन्य साथियों को गिरफ्तार किया वही कई कांग्रेस कार्यकर्ताओ को प्रतिबंधात्मक धारा 151 के तहत जैल भी भेजा गया।

Dakhal News

Dakhal News 5 July 2021


bhopal,Youth Congress ,Social Media Department, youth brainstorming meeting

भोपाल। मप्र युवा कांग्रेस सोशल मीडिया विभाग की एक दिवसीय युवा मंथन बैठक शनिवार को आयोजित की गई। इस बैठक में नव नियुक्त पदाधिकारियों को सोशल मीडिया पर काम करने के गुर सिखाए गए। इस बैठक में भाजापा के पेड सोशल मीडिया वर्कर से लडऩे के लिए ट्रेनिंग दी गई। बैठक की अध्यक्षता युवा कांग्रेस सोशल मीडिया विभाग के मध्य प्रदेश प्रभारी अभय तिवारी द्वारा की गई। उनके द्वारा वर्तमान में किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की गई। जिस तरीके से प्रदेश की आईटी टीम भाजपा के युवा मोर्चा की पेड आईटी टीम को सोशल मीडिया पर पछाड़ रही है वो तारीफ का विषय है। बैठक को संबोधित करते हुए युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया ने बताया मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस निरंतर जनता से जुड़े हुए मुद्दों को मुखरता से उठा रही है। जिसको आम जनता तक पहुंचाने का कार्य आईटी टीम कर रही है। बैठक में उपस्थित रहे पूर्व के कैबिनेट मंत्री सज्जन वर्मा ने हौसला बढ़ाते हुए नवनियुक्त पदाधिकारियों को सोशल मीडिया पर बेहतर कार्य करने के रास्ते बताएं। उन्होंने कहा भाजपा की जन विरोधी नीतियों को सोशल मीडिया के माध्यम से जनता तक पहुंचाने का आपके द्वारा जो कार्य किया जा रहा है और तेजी से किया जाए। जिससे आगामी चुनाव में कांग्रेस की विजय पताका पूरे प्रदेश में लहराई जासके। मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए बताया कि पूरे भारत में मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस सबसे बेहतर कार्य कर रही है। यह बात तब तक पहुंचाने में मध्य प्रदेश की सोशल मीडिया टीम पूरी तरीके से जिम्मेदार है, जिसके लिए हम सभी युवा कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता अपनी मजबूत आईटी टीम के आभारी है। भोपाल युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष नरेंद्र यादव ने कहा की वर्तमान परिस्थितियों में भाजपा की झूठ बोलने वाली आईटी टीम के मुकाबले हमारी आईटी टीम के सदस्य सच्चे सिपाही की तरह उनके झूठ का भंडाफोड़ कर रहे हैं। आज की इस बैठक में संपूर्ण मध्य प्रदेश पधारे आईटी टीम के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 3 July 2021


bhopal,Youth Congress ,Social Media Department, youth brainstorming meeting

भोपाल। मप्र युवा कांग्रेस सोशल मीडिया विभाग की एक दिवसीय युवा मंथन बैठक शनिवार को आयोजित की गई। इस बैठक में नव नियुक्त पदाधिकारियों को सोशल मीडिया पर काम करने के गुर सिखाए गए। इस बैठक में भाजापा के पेड सोशल मीडिया वर्कर से लडऩे के लिए ट्रेनिंग दी गई। बैठक की अध्यक्षता युवा कांग्रेस सोशल मीडिया विभाग के मध्य प्रदेश प्रभारी अभय तिवारी द्वारा की गई। उनके द्वारा वर्तमान में किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की गई। जिस तरीके से प्रदेश की आईटी टीम भाजपा के युवा मोर्चा की पेड आईटी टीम को सोशल मीडिया पर पछाड़ रही है वो तारीफ का विषय है। बैठक को संबोधित करते हुए युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया ने बताया मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस निरंतर जनता से जुड़े हुए मुद्दों को मुखरता से उठा रही है। जिसको आम जनता तक पहुंचाने का कार्य आईटी टीम कर रही है। बैठक में उपस्थित रहे पूर्व के कैबिनेट मंत्री सज्जन वर्मा ने हौसला बढ़ाते हुए नवनियुक्त पदाधिकारियों को सोशल मीडिया पर बेहतर कार्य करने के रास्ते बताएं। उन्होंने कहा भाजपा की जन विरोधी नीतियों को सोशल मीडिया के माध्यम से जनता तक पहुंचाने का आपके द्वारा जो कार्य किया जा रहा है और तेजी से किया जाए। जिससे आगामी चुनाव में कांग्रेस की विजय पताका पूरे प्रदेश में लहराई जासके। मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए बताया कि पूरे भारत में मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस सबसे बेहतर कार्य कर रही है। यह बात तब तक पहुंचाने में मध्य प्रदेश की सोशल मीडिया टीम पूरी तरीके से जिम्मेदार है, जिसके लिए हम सभी युवा कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता अपनी मजबूत आईटी टीम के आभारी है। भोपाल युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष नरेंद्र यादव ने कहा की वर्तमान परिस्थितियों में भाजपा की झूठ बोलने वाली आईटी टीम के मुकाबले हमारी आईटी टीम के सदस्य सच्चे सिपाही की तरह उनके झूठ का भंडाफोड़ कर रहे हैं। आज की इस बैठक में संपूर्ण मध्य प्रदेश पधारे आईटी टीम के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 3 July 2021


bhopal,Chief Minister planted , plant of Ficus

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधरोपण के संकल्प के क्रम में शनिवार को अंतरराष्ट्रीय सहकारिता दिवस पर राजधानी भोपाल के स्मार्ट पार्क में फाइकस का पौधा लगाया। इस अवसर पर सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय सहकारिता दिवस पर लगाया गया यह पौधा 'सहकारिता वृक्ष'के रूप में विकसित होगा। सहकारिता आंदोलन संपूर्ण प्रदेश में फले-फूले राज्य शासन इस दिशा में निरंतर सक्रिय है। फाइकस का घर की बगिया और उद्यानों की साज-सज्जा में विशेष महत्व है। इस पौधे में हवा को साफ करने की क्षमता होती है, यह घर को ठंडा बनाए रखता है। फाइकस ऑक्सीजन की प्रचुर मात्रा छोड़ता है। सदाबहार पौधा होने से इसकी उम्र भी लंबी होती है। विधानसभा अध्यक्ष ने सहकारिता दिवस पर किया वृक्षारोपण वहीं, अंतराष्ट्रीय सहकारिता दिवस पर विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने शनिवार को सहकारिता मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया और विधानसभा आवास समिति के सभापति यशपाल सिंह सिसोदिया के साथ भोपाल के रचना टावर परिसर में वृक्षारोपण किया। वृक्षारोपण कार्यक्रम को अतिथियों ने संबोधित भी किया। रचना टावर परिसर में इस मानसून काल में 2 हजार वृक्ष लगा कर परिसर को हरा-भरा करने का संकल्प लिया गया है। इस अवसर पर स्थानीय नागरिक उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 3 July 2021


neemuch,Sakhlecha honored , Corona warriors , Ratangarh

नीमच। कोरना की संभावित तीसरी लहर से बचाव और सुरक्षा के लिए जरूरी है, कि हम अपने गांव वार्ड शहर एवं पंचायत क्षेत्र के शत प्रतिशत लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर उनका टीकाकरण करवाएं। यदि किसी गांव में या किसी घर में कोई संदिग्ध मरीज पाया जाता है, तो उसकी सूचना डॉक्टर को देकर उसे कोविड- केयर सेंटर में भर्ती करा कर उसका उपचार करवाएं। जिससे गांव या घर में किसी और को संक्रमण ना हो और उसी घर गांव में कोरोना की चेन ब्रेक हो जाए।यह बात प्रदेश के सूक्ष्म लघु मध्यम उद्यम विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने शनिवार को रतनगढ़ के सामुदायिक भवन में कोरोना योद्धाओं के सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए कही। इस मौके पर कलेक्टर मयंक अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक सूरज कुमार वर्मा, एसडीएम राजेंद्रसिंह अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी मौजूद रहे। मंत्री सखलेचा ने कोरोनाकाल में सराहनीय सेवाएं देने वाले आशा कार्यकर्ताओं, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और नगरपालिका कर्मियों को प्रशस्ति पत्र और साड़ी व गिफ्ट प्रदान कर सम्मानित किया। मंत्री सखलेचा ने कहा, कि प्रदेश सरकार द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। जावद विधानसभा क्षेत्र में पहले जहां 3 या चार चिकित्सक ही पदस्थ थे वर्तमान में जावद क्षेत्र में 15 एमबीबीएस चिकित्सक तैनात है इसके अलावा आयुष के चिकित्सक भी कार्यरत हैं। जावद, रतनगढ़, डिकेन, सिंगोली और सरवानिया महाराज में 50-50 बेड के अतिरिक्त वार्ड तैयार किए जा रहे हैं। लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण ईसीजी व अन्य जांचें निशुल्क की जा रही है। अभी तक 18 हजार लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा चुका है। उन्होंने आग्रह किया कि सभी लोग अपनी और अपने परिवार के सदस्यों की निशुल्क स्वास्थ्य जांच अवश्य करवाएं। यदि किसी की जांच रिपोर्ट प्रतिकूल आती है, तो वह दिल्ली में तैनात दो चिकित्सकों से ऑनलाइन इलाज की सुविधा निशुल्क प्राप्त कर सकता है। क्षेत्र के मरीजों की सुविधा के लिए अहमदाबाद और इंदौर में एक-एक अधिकारी तैनात किया गया है, जो क्षेत्र से वहां जाने वाले लोगों की उपचार कार्य में सहयोग और सहायता करेगा।सिंगोली में कोरोना योद्धाओ का सम्मान   सूक्ष्म लघु मध्यम उद्यम एवं विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने शनिवार को मंडी प्रांगण सिंगोली में आयोजित एक कार्यक्रम में कोरोनाकाल में समर्पित भाव से सेवा करने वाले आंगनवाड़ी कार्यकर्ता आशा कार्यकर्ता नगरीय निकायों के कर्मचारियों आदि कोरोना योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र एवं उपहार प्रदान कर सम्मानित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा, कि प्रदेश सरकार स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा, कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बचाव एवं सुरक्षा के लिए जरूरी है, कि हम ऐसे प्रयास करें, कि कोरोना की तीसरी लहर हमारे क्षेत्र जिले मैं प्रवेश ही ना कर पाए और यदि किसी घर गांव में कोई संदिग्ध मरीज पाया जाता है, तो उसकी सूचना चिकित्सक को देखकर उसे कॉविड केयर सेंटर में भर्ती करवा कर, उसका उपचार करवाएं। जिससे कि कोरोना संक्रमण की चैन ब्रेक हो सके। मंत्री सखलेचा ने कहा, कि मैदानी अमले ने सराहनीय सेवाएं दी है। उनकी सेवाओं का सम्मान होना ही चाहिए। उन्होंने कहा,कि प्रथम चरण में हम आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का सम्मान कर रहे हैं। अगले चरण में अन्य विभागों के कोरोना योद्धाओ का भी सम्मान करेंगे।  

Dakhal News

Dakhal News 3 July 2021


bhopal, CM Shivraj , honor doctors , Doctors Day

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मुख्य आतिथ्य में एक जुलाई को राजधानी भोपाल के मिंटो हॉल में सुबह 11 बजे डॉक्टर्स-डे सम्मान एवं संवाद कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। नेशनल डॉक्टर्स-डे के उपलक्ष्य में आयोजित इस कार्यक्रम में अभूतपूर्व योगदान के लिये प्रदेश के सभी समर्पित चिकित्सकों का सम्मान किया जायेगा। मुख्यमंत्री चौहान प्रतीक स्वरूप पाँच चिकित्सकों का सम्मान करेंगे।   जनसम्पर्क अधिकारी दुर्गेश रायकवार ने बुधवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग और लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। चिकित्सा शिक्षा और लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में कोरोना के समय ड्यूटी करते हुए जान गवांने वाले चिकित्सकों के सम्मान में तैयार की गयी वॉल पर श्रद्धांजलि होगी।    उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में डॉ. हरिहर त्रिवेदी और डॉ. अपूर्व पौराणिक का उद्बोधन भी होगा। चिकित्सा शिक्षा आयुक्त निशांत वरवड़े कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे। सचिव सह-आयुक्त स्वास्थ्य श्री आकाश त्रिपाठी शुरूआत में कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डालेंगे। अंत में संचालक चिकित्सा शिक्षा द्वारा आभार व्यक्त किया जायेगा। एनआईसी लिंक के माध्यम से अन्य प्रबुद्ध चिकित्सकों का उद्बोधन भी होगा। कार्यक्रम का दूरदर्शन के माध्यम से सीधा प्रसारण किया जायेगा। वेबकॉस्ट लिंक http://webcast.gov.in/mp/cmevents/के माध्यम से लाइव जुड़ा जा सकता है।

Dakhal News

Dakhal News 30 June 2021


Indore ,get new tourist destination

इंदौर। रालामंडल और उमड़ीखेड़ा के रूप में इन्दौर को पूर्ण विकसित नए टूरिस्ट डेस्टिनेशन मिलेंगे। जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट की पहल पर दोनों स्थानों को और विकसित करने के लिए योजना को ठोस रूप दिया जाएगा। बुधवार को मंत्री सिलावट के आमंत्रण पर वन मंत्री विजय शाह इंदौर पहुँचे और रालामंडल में प्रशासन और वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में प्रमुख सचिव वन अशोक वर्णवाल, संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह, मुख्य वन संरक्षक हरिशंकर मोहन्ता सहित वन विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी तथा इंदौर विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष मधु वर्मा उपस्थित थे।   बैठक में मंत्री सिलावट ने कहा कि रालामंडल इंदौर के लिए एक बड़ी धरोहर है। इसका संपूर्ण विकास किया जाना चाहिए। भोपाल में जिस तरह से वन विहार है, उसी तर्ज़ पर इसे विकसित किया जाना चाहिए। बैठक में रालामंडल में उपलब्ध संसाधनों और संभावनाओं पर गहन विचार विमर्श किया गया। उन्होंने जोर दिया कि रालामंडल की परिधि में वन्य प्राणियों की संख्या बढ़ायी जाए।    वन मंत्री विजय शाह ने कहा कि इसके लिए पानी के संसाधनों का निर्मित किया जाना बेहद ज़रूरी है। बैठक में मधु वर्मा ने कहा कि यहाँ लिम्बोदी तालाब अथवा नर्मदा-गंभीर लिंक से पानी की उपलब्धता बनायी जा सकती है। संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने कहा कि वन विभाग मनरेगा के तहत तालाब बनाने पर भी विचार करें। प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल ने कहा कि रालामंडल एक वन्य अभ्यारण्य है। यहाँ पर अन्य स्थानों से हिरण लाये जा सकते हैं। इसके लिए इसकी होल्डिंग केपसिटी का आंकलन किया जाना ज़रूरी है। वन मंत्री शाह ने निर्देश दिए कि अन्य स्थानों से जहाँ वन्य प्राणी भटक कर आ जाते हैं उन्हें पकड़कर रालामंडल में छोड़ा जाए और एक प्रकार से यह ऐसे जानवरों की शरण स्थली के रूप में विकसित हो। बैठक में रालामंडल में वॉकिंग ट्रेल के संबंध में भी विस्तार से चर्चा हुई।   रालामंडल में चीता और तेंदुआ जैसे जानवरों को रखे जाने की संभावना पर भी विचार किया गया। वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि वर्तमान में यहाँ रालामंडल में वाकिंग-ट्रेल इंदौर वासियों के बीच लोकप्रिय है। और यहाँ बड़ी संख्या में नागरिक सप्ताहांत में ट्रेकिंग के लिए आते हैं। साथ ही पहाड़ी के शीर्ष पर स्थित शिकार गृह तक जाकर शहर का नज़ारा देखते हैं। यहाँ चीता रखे जाने कि स्थिति में वॉकिंग ट्रेल बंद करना होगा, क्योंकि यह पर्यटकों की सुरक्षा के लिए ज़रूरी होगा। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि वॉकिंग ट्रेल बंद करने या चीता और तेंदुआ जैसे जानवरों को यहाँ रखे जाने के संबंध में इंदौर के नागरिकों और संस्थाओं का अभिमत भी प्राप्त किया जाए।   कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि रालामंडल पहुँचने के मार्ग का सुदृढ़ीकरण बेहद ज़रूरी है। बैठक में तय हुआ कि बायपास से लेकर अब रालामंडल के द्वार तक रोड का चौड़ीकरण किया जाए और अतिक्रमण हटाया जाए। बायपास के निकट रालामंडल का एक आकर्षक स्वागत द्वार भी बनाया जाए।   वन मंत्री ने चलाई जिप्सी वन मंत्री शाह ने बैठक के पहले मंत्री तुलसीराम सिलावट के साथ वन विभाग की जिप्सी में बैठकर रालामंडल के चारों तरफ़ की बाउंड्री का निरीक्षण किया। वन मंत्री ने इस दौरान ख़ुद जिप्सी चलायी। मंत्री सिलावट ने इस अवसर पर वन मंत्री को बताया कि 1985 के दौरान जब वे वन और पर्यटन विभाग से संबंधित संसदीय सचिव थे, तब उन्होंने प्रयास करके रालामंडल का नोटिफिकेशन कराया था और एक मूलभूत फ़ेंसिंग यहाँ कराई गई थी। मंत्रीद्वय ने बाईपास के निकट कुछ कालोनियों द्वारा अतिक्रमण के चिन्हांकन और इसे हटाए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए।   बैठक में देवगुराड़िया एवं रालामंडल के बीच रोपवे के संचालन पर भी चर्चा की गई और इस संबंध में आवश्यक प्रस्ताव और योजना बनाने के निर्देश दिए। बैठक में नाइट सफारी शीघ्र प्रारंभ किए जाने पर भी सहमति बनी। यहाँ बटरफ़्लाई पार्क भी विकसित किए जाने पर निर्णय लिया गया। रालामंडल के निकट स्थित वन विभाग के डिपो में यह बटरफ़्लाई पार्क बनाया जाएगा। जहाँ पर विभिन्न प्रजाति की तितलियों को संरक्षित किया जाएगा। मंत्रीद्वय ने बैठक में निर्देश दिया है कि रालामंडल एवं इसके नीचे की ज़मीनों को संरक्षित करते हुए इसके समग्र विकास का मास्टर प्लान बनाया जाए। अभ्यारण की बाउंड्री को भी सुदृढ़ीकरण करने के निर्देश दिए गए।

Dakhal News

Dakhal News 30 June 2021


bhopal, Government is crippling , investigating agencies,mistakes corrupt, Bhupendra Gupta

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने भीकनगांव जनपद पंचायत के सीओ की आत्महत्या को ईमानदार अधिकारियों की दुर्गत बताया है। उन्होंने कहा है कि मध्यप्रदेश में भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने और भ्रष्ट अधिकारियों को बचाने का ऐसा कुचक्र चल रहा है कि ईमानदार अधिकारियों को आत्मघात का रास्ता पकडऩा पड़ रहा है? मृत सीओ के बच्चों के आरोपों का संज्ञान लेकर जांच से ही भ्रष्ट भाजपा नेता बेनकाब होंगे।   भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि उक्त अधिकारी का सुसाइड नोट सार्वजनिक किया जाना चाहिए और उसमें जिन नेताओं के नाम बताए गए हैं उनके ऊपर मुकदमे दर्ज होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह कितनी शर्मनाक बात है कि भ्रष्टाचार रोकने वाली एक संस्था लोकायुक्त को नियमों में हेरफेर कर भ्रष्टाचारियों को बचाने के लिए सरकार को नोटिस देना पड़ रहा है। सरकार से जबाब तलब किया जा रहा है और सरकार खामोश बैठी है।   कांग्रेस नेता ने मांग की है कि लोकायुक्त द्वारा उठाई गई आपत्तियों पर सरकार सार्वजनिक वक्तव्य दे और स्पष्ट करे कि नियमों में हेरफेर करने के पीछे सरकार की क्या मंशा है। जो लोग लोकपाल के लिए 2013 में सडक़ों पर डांस कर रहे थे वही लोग अब लोकायुक्त जैसी संस्थाओं को पंगु बना रहे हैं। लोकपाल की नियुक्ति तो वह कर ही नहीं सके भ्रष्टाचारियों द्वारा रोको अभियान चलाया गया और अब वह सत्ता में आकर लूट अभियान चला रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 June 2021


bhopal,Madhya Pradesh government , leave no stone unturned , save lives

भोपाल। प्रधानमंत्री मोदी जी एवं पार्टी नेतृत्व की प्रेरणा से कोरोना संकटकाल में पीड़ितों की सेवा और सहायता के काम में लगी मध्यप्रदेश की सरकार लोगों की जिंदगी बचाने के अभियान में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। इसके लिए एक तरफ जहां वैक्सीनेशन का अभियान चलाया जा रहा है, वहीं पीड़ितों के उपचार की हरसंभव व्यवस्था भी जुटाई जा रही है। प्रदेश में ब्लैक फंगस के इंजेक्शन का उत्पादन इसी श्रृंखला में एक कड़ी है। यह बात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा जबलपुर की एक कंपनी द्वारा उत्पादित ब्लैक फंगस के उपचार में काम आने वाले इंजेक्शन एम्फोरेवा-बी की वर्चुअल लांचिंग पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कही।   उन्होंने प्रदेश में इस इंजेक्शन के उत्पादन एवं लांचिंग के लिए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान एवं रेवा क्योर लाइफ साइंसेज कंपनी के प्रबंधन को धन्यवाद देते हुए कहा कि एम्फोरेवा-बी नामक जिस इंजेक्शन की लांचिंग की गई है, वह देश-प्रदेश के ब्लैक फंगस पीड़ितों को स्वस्थ करने में सहायक होगा।    उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में इस इंजेक्शन का उत्पादन होने से लोगों को यह इंजेक्शन सरकारी तथा निजी अस्पतालों में उपचार करा रहे ब्लैक फंगस पीड़ितों को आसानी से उपलब्ध होगा, वहीं प्राइवेट विक्रेताओं से यह इंजेक्शन खरीदने पर भी पीड़ितों को अधिक कीमत नहीं चुकानी होगी। शर्मा ने कहा कि प्रदेश के जबलपुर में इस इंजेक्शन के उत्पादन से यह साबित हो गया है कि मध्यप्रदेश में भी विश्वस्तरीय उत्पाद तैयार करने की क्षमता है।

Dakhal News

Dakhal News 28 June 2021


Bhopal, MP Vivek Tankha ,left the post ,National President ,Congress Legal Cell

भोपाल। राज्यसभा सदस्य एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता विवेक तन्खा ने कांग्रेस के लीगल सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ दिया है। इस बात की जानकारी उन्होंने सोमवार को ट्वीट करके दी है। उन्होंने पार्टी नेतृत्व को लिखे गए पत्र की फोटो भी ट्विटर पर शेयर की है।   राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा ने कांग्रेस के लीगल सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ दिया है। उन्होंने सोमवार को ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। गौरतलब है कि तन्खा कांग्रेस के नाराज नेताओं के समूह जी-23 में शामिल थे। विवेक तन्खा ने अपने ट्वीट में लिखा है, मैंने एआइसीसी के लीगल डिपार्टमेंट के अध्यक्ष के पद पर 5 साल तक काम किया, यह काफी लंबा समय रहा। मैं इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष और सभी साथियों के विश्वास, सहयोग और तालमेल के लिए धन्यवाद करता हूं। मेरा विचार है कि अब नए लोगों को यह जिम्मेदारी मिलना चाहिए। 25 जून को पत्र भेजकर मैंने यह पद छोड़ दिया है। मैं नहीं मानता कि कोई भी लंबे समय तक पद पर रहकर उसके साथ न्याय कर सकता है। नए लोगों को अवसर मिलना चाहिए। मैंने अपने जीवन में इसी सिद्धांत को अपनाया है। सिर्फ एक पद पर बैठने के अलावा दुनिया में और भी बहुत कुछ है।

Dakhal News

Dakhal News 28 June 2021


ujjain,Mahakaleshwar temple, opened for devotees, Minister Yadav visited

उज्जैन। मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के पट सोमवार को सुबह छह बजे श्रद्धालुओं के लिए खोल दिये गए। सुबह से ही श्रद्धालु मंदिर पहुंचकर भगवान महाकाल के दर्शन कर रहे हैं। प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डा. मोहन यादव ने भी आज सुबह मंदिर पहुंचकर भगवान महाकाल के दर्शन किये।   मध्यप्रदेश में कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए ऐहतियात के तौर पर 12 अप्रैल 2021 से महाकालेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद कर दिया गया था। अब यहां कोरोना संक्रमण नियंत्रण में है और सोमवार को सुबह 6 बजे से फिर से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है। मंदिर के गर्भगृह और नंदी हॉल में प्रवेश की अनुमति नहीं है। मंदिर में उन्हीं श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया जा रहा है, जो कोविड-19 से बचाव के लिए वैक्सीन लगवा चुके हैं या जिनकी 48 घंटे पहले कोरोना की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आई है। प्रवेश करते समय श्रद्धालुओं को इसका सर्टिफिकेट दिखाना आवश्यक है। भगवान महाकाल के दर्शन के लिए श्रद्धालु सात दिन पहले आनलाइन बुकिंग करा सकते हैं।   प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डा. मोहन यादव ने भी सोमवार को महाकालेश्वर मंदिर पहुंचकर अपनी धर्मपत्नी के साथ भगवान महाकाल के दर्शन और पूजन कर देश को कोरोना से मुक्त कराने के लिए प्रार्थना की। इसकी जानकारी उन्होंने उन्होंने ट्वीट के माध्यम से साझा की है।   मंदिर प्रबंधन समिति के अनुसार, भगवान महाकाल के दर्शन के लिए निर्धारित 14 घंटे के समय में दो-दो घंटे के सात स्लाट बनाए गए हैं। प्रत्येक स्लाट में 500 श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। अग्रिम बुकिंग के आधार पर 3500 दर्शनार्थी प्रतिदिन दर्शन कर सकेंगे। इसके अलावा 250 रुपये के शीघ्र दर्शन टिकट पर भी श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। गर्भगृह और नंदी हाल में प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है। सभी श्रद्धालु गणेश मंडपम् से भगवान महाकाल के दर्शन कर सकेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 28 June 2021


Bhopal, Medical Education Minister ,send samples ,all 52 districts,genome sequencing

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर सरकार की चिंता बढ़ रही है। प्रदेश सरकार ने डेल्टा प्लस की समय पर पहचान कर संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सभी जिलों से सैंपल भेजकर जीनोम सिक्वेंसिंग कराने का निर्णय लिया है। यह जानकारी रविवार को चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने दी।   मध्यप्रदेश में अब तक डेल्टा प्लस वैरिएंट के 8 मामले सामने आ चुके हैं। इसमें तीन मरीज भोपाल, दो उज्जैन, दो रायसेन और एक अशोकनगर का है। उज्जैन और अशोकनगर में दो मरीजों की मौत हो चुकी है। अभी तक प्रदेश में सिर्फ 25 जिलों से ही सैंपल भेजकर जीनोम सिक्वेंसिंग की जा रही थी। अब सरकार ने तय किया है कि जिले में कोरोना के गंभीर मरीज, दोबारा संक्रमित होने वाले, वैक्सीन लगाने के बाद कोरोना की चपेट में आने वाले, लंबे समय तक अस्पताल में भर्ती और दूसरी गंभीर बीमारियों से पीड़ितों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उनके सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजेगी। स्वास्थ्य विभाग ने तय किया है कि प्रदेश के सभी 52 जिलों से 15 दिनों में 300  सैंपल लैब को भेजे जाएंगे। इसमें से 50 सैंपल का रेंडम चयन कर जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए एनएसडीसी दिल्ली को भेजा जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 27 June 2021


bhopal, Policemen convicted , mini honeytrap case ,Agriculture Minister Kamal Patel

भोपाल।  मध्यप्रदेश सरकार के कृषि मंत्री ने रविवार को जिला मुख्यालय के सर्किट हाउस पर प्रेस वार्ता की। इस दौरान मंत्री पटेल ने मिनी हनीट्रैप मामले में कहा कि होशंगाबाद जिला मुख्यालय पर रक्षक ही भक्षक बने गए हैं। ये बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।   उन्होंने कहा कि मैं इस मामले में आईजी और कलेक्टर के साथ बैठक लूंगा और उनको निर्देशित करूंगा। इस मामले में संलिप्त जिन पुलिसकर्मियों को सिर्फ निलंबित किया है, उन्हें बर्खास्त किया जाए। ऐसे पुलिसकर्मी महकमे पर कलंक है। ऐसे लोगों को नौकरी में रहने का अधिकार नहीं है। मंत्री से जब बड़े अधिकारियों की भूमिका के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, सभी की अधिकारियों की जांच करवाई जाएगी, जो भी दोषी होगा उन पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। गौरतलब है कि होशंगाबाद में पुलिसकर्मी की हनीट्रैप गैंग का मामला सामने आया था। यहां कानून के रखवाले ही आरोपी के साथ मिलकर जनता को ठगने और ब्लैकमेल करने का काम कर रहे हैं। एक महिला के साथ मिलकर तीन पुलिसकर्मी वीडियो और फोटो के आधार पर ब्लैकमेल का काम कर रहे थे। पीडि़त की शिकायत पर अब तीनों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। मामले में विभागीय जांच भी शुरू हो गया है।  

Dakhal News

Dakhal News 27 June 2021


bhopal,Ajay Singh

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मंत्री अजयसिंह ने आरोप लगाया है कि केंद्र द्वारा घोषित तीन काले कानूनों के दुष्परिणाम सामने दिखने लगे हैं। जैसी कि आशंका थी, कांट्रेक्ट फार्मिंग के चलते मध्यप्रदेश, राजस्थान, उत्तरप्रदेश आदि राज्यों में किसानों से करोड़ों रूपये ठग लिए गए। शिकायत करने गए किसानों से पुलिस ने साफ कह दिया कि एफआईआर नहीं हो सकती क्योंकि यह पार्टनरों का आपसी विवाद है। इस तरह कांट्रेक्ट फार्मिंग का झांसा देने वाली कम्पनियों को क्लीन चिट मिल गई। तीन नए कृषि कानूनों में कांट्रेक्ट फार्मिंग भी एक है। इन कानूनों को समाप्त करने के लिए देश भर से आये किसान दिल्ली में एक साल से आन्दोलन कर रहे हैं।   अजय सिंह ने कहा कि कम्पनियों ने किसानों को सब्जबाग दिखाकर कहा कि आपकी कृषि भूमि पर मछली पालने के लिए तालाब बना कर देंगे। ये तालाब आधा और एक एकड़ जमीन पर बनाये जायेंगे। फिशरीज फार्मिंग में आधा एकड़ जमीन पर साढ़े पांच लाख निवेश पर 19 महीने तक 60 हजार रूपये देने का वायदा था। इसी तरह एक एकड़ के लिए 11 लाख निवेश पर 18 महीने तक हर माह सवा लाख रूपये देने का वायदा था। किसानों का विश्वास जीतने के लिए उन्हें पोस्ट डेटेड चैक और फर्जी एफडीआर बनाकर दिए गए। सैंकड़ों किसानों ने झांसे में आकर उनसे कांट्रेक्ट कर लिए और देखते ही देखते कम्पनियों ने उनसे करोड़ों रूपये ठग लिए। कांट्रेक्ट के मुताबिक न तो तालाब बनाये गए, न तो मछली बीज दिया गया और न ही तकनीकी सलाह7 सभी चैक बाउंस हो गए।   पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अकेले मध्यप्रदेश के कुछ जिलों से प्रथम दृष्टया जो तस्वीर आई है, उसमें दोगुनी कमाई का लालच देकर 12 सौ से ज्यादा किसानों को चूना लगाया गया है7 ये किसान भोपाल, विदिशा, सीहोर, होशंगाबाद और रायसेन जिलों के हैं। प्रदेश के अन्य जिलों की तस्वीर आना अभी बाकी है। किसानों ने जमीन रहन रखकर, गहने बेचकर और अपनी जमा पूंजी से निवेश किया है। इनसे हरियाणा की फिश फार्चून प्रोडयूज कंपनी और भोपाल स्थित एडीसी इण्डिया फिशरी कम्पनी ने "रूबी, गोल्ड, सिल्वर" जैसे पैकेज देकर पैसे जमा कराये। यह कहा गया कि ये राशि दोगुनी करके कम्पनी वापस लौटाएगी। राजस्थान के कोटा और उत्तरप्रदेश के झाँसी में भी किसानों ने धोखाधड़ी की शिकायतें की हैं।   अजयसिंह ने केंद्र सरकार विशेषकर प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी से सभी प्रदेशों में इस तरह के मामलों पर कार्यवाही करने के लिए एक विशेष जांच दल गठित करने की मांग की है। उन्होंने किसानों से ठगी के मामलों को देखते हुए कहा कि अभी भी समय है कि तीनों कृषि कानूनों को तत्काल निरस्त किया जाए ताकि भविष्य की अनहोनी से बचा जा सके। साथ ही देश के किसान निश्चिन्त होकर अपने हिसाब से अपनी खेती किसानी के काम कर सकें।

Dakhal News

Dakhal News 27 June 2021


bhopal,Agriculture Minister Patel ,launched Moong Procurement Center

भोपाल। किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने कहा कि किसानों की प्रसन्नता से मन प्रफुल्लित होता है, साथ ही सुकून भी मिलता है। मंत्री पटेल शुक्रवार को शाहगंज के ग्राम मकोड़िया में मूंग उपार्जन केन्द्र का शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बुधनी के जर्रापुर घाट में नर्मदा मैया की पूजा-अर्चना भी की।   मंत्री पटेल ने ग्राम मकोड़िया के वेयर-हाउस में मूंग उपार्जन केन्द्र का शुभारंभ करते हुए बताया कि 900 किसानों ने अपना पंजीयन इस केन्द्र पर कराया है। क्षेत्र के लगभग 20 गाँव में 1300 हेक्टेयर में मूंग की फसल बोई गई है। पटेल ने उपार्जन केन्द्र पर मौजूद किसानों का सम्मान किया। किसानों ने सरकार द्वारा उनके हित में लिये जा रहे निर्णयों की सराहना की।   सांसद रमाकांत भार्गव से की सौजन्य मुलाकात कृषि मंत्री पटेल ने क्षेत्रीय भ्रमण के दौरान विदिशा सांसद रमाकांत भार्गव से शाहगंज स्थित निवास पर सौजन्य मुलाकात की।

Dakhal News

Dakhal News 25 June 2021


bhopal,Work done,fast pace , achieve the goal , Jal Jeevan Mission

भोपाल। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा है कि ग्रामीण आबादी को स्वच्छ एवं गुणवत्तापूर्ण पेयजल की व्यवस्था उनके घरों में नल कनेक्शन के माध्यम से शीघ्र करवायी जा सके। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सभी अधिकारी पूरी लगन और तीव्रगति से अपने कार्मों को अंजाम दें तो हम लक्ष्य को पाने में अवश्य सफल होंगे। उक्‍त बातें राज्यमंत्री यादव ने शुक्रवार को जल भवन के सभागार में भोपाल-नर्मदापुरा मण्डल क्षेत्र में जल जीवन मिशन के कार्यों की समीक्षा करते हुए कही।    उन्होंने बैठक में उपस्थित दोनों मण्डल के अधीक्षक यंत्री, कार्यपालन यंत्री, उपयंत्री तथा सहायक यंत्री से वन-टू-वन चर्चा करते हुए कहा कि अब पीएचई एक बड़े बजट और बड़ी जिम्मेदारियों वाला विभाग है। प्रदेश की ग्रामीण आबादी की जो अपेक्षायें हैं उन पर खरा उतरने के लिए हमें अधिक परिश्रम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सरकारी गाइडलाइन और जिम्मेदारी के साथ किए गये कार्य में शिकायत के अवसर नहीं रहते हैं। मिशन के कार्य में सभी अधिकारियों की भूमिका निर्धारित है केवल सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करना है।   राज्यमंत्री यादव ने कहा कि जल जीवन मिशन में किया जाने बाला कार्य लम्बे समय तक आमजन के उपयोग में आयेगा। सभी अधिकारी मिशन की गाइडलाइन का पालन करते हुए कार्य की गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखें। राज्यमंत्री यादव ने कहा कि प्रदेश में मिशन के तहत हो रहे कार्यों का निरीक्षण मेरे एवं वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा निरन्तर किया जाता रहेगा। राज्यमंत्री यादव ने कहा कि कोविड 19 ने कार्य को बहुत प्रभावित किया है लेकिन अब दुगनी गति से कार्य करने से समय की भरपाई की जा सकेगी।   भोपाल-नर्मदापुरम मण्डल के अधीक्षण यंत्री सुबोध जैन ने आठों जिलों में जल जीवन मिशन के अन्तर्गत किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। भोपाल तथा नर्मदापुरम मण्डल के 766 ग्रामों में शतप्रतिशत नल कनेक्शन से पानी उपलब्ध करवाया जा चुका है। शेष ग्रामों की नल से जल की योजनाओं के कार्य प्रगति पर हैं।   समीक्षा बैठक में जल निगम के प्रबंध संचालक तेजस्वी नायक ने निगम द्वारा जल जीवन मिशन के अन्तर्गत पूर्ण किए गये तथा प्रगतिरत कार्यों की विस्तृत जानकारी दी। नायक ने बताया कि जल निगम केरवा तथा हलाली परियोजनाओं की भी तैयारी कर रहा है जिनमें करीब 90 ग्रामों को शामिल किया जायेगा।   बैठक में प्रमुख अभियंता के.के.सोनगरिया प्रमुख अभियंता (सलाहकार) सी.एस.संकुले जल निगम के प्रोजेक्ट डायरेक्टर मालवीय सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 25 June 2021


bhopal,CM Shivraj ,pays tribute , Sikh Guru Hargobind Singh, Prakash Parv

भोपाल। गुरु हरगोबिंद जी की जयंती नानकशाही पंचांग के मुताबिक आज (शुक्रवार को) मनाई जा रही है। सिख समुदाय इस दिन को प्रकाश पर्व के रूप में मनाता है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने चौहान ने इस अवसर पर गुरु हरगोबिंद सिंह जी को नमन किया है।    मुख्यमंत्री चौहान ने ट्वीट करते हुए कहा है कि सिखों को योद्धा-चरित्र प्रदान करने और अकाल तख्त की स्थापना करने वाले महान छठे सिख गुरु, गुरु हरगोबिंद सिंह के प्रकाश पर्व पर उन्हें नमन करता हूं। ऐसे महान गुरु को कोटि कोटि प्रणाम।   उन्होंने आगे लिखा है-"  पंज पिआलेपंजपीर छटम्पीर बैठा गुर भारी,  अर्जुन काया पलट के मूरत हरगोबिन्दसवारी, चली पीढीसोढियांरूप दिखावनवारो-वारी, दल भंजन गुर सूरमा वडयोद्धा बहु-परउपकारी॥"   "महान परोपकारी योद्धा, सिखों के 6वें गुरु, श्रद्धेय गुरू हरगोबिन्द साहिब जी के प्रकाश पर्व की शुभकामनाएं!"    मुख्यमंत्री ने अगले ट्वीट में लिखा है कि- "मुगल बादशाह जहांगीर की कैद से 52 राजाओं को मुक्त करवाकर 'बन्दी छोड़ दाता' कहलाने वाले गुरू हरगोबिन्द साहिब जी के चरणों में प्रणाम! आपने मानवता की सेवा एंव कल्याण के लिए जो अलौकिक ज्योत प्रज्ज्वलित की है, वह सदैव मानवता की सेवा के मंगलपथ को आलोकित करती रहेगी।"

Dakhal News

Dakhal News 25 June 2021


bhopal,Congress

भोपाल। कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने आरोप लगाते हुए कहा है कि मध्यप्रदेश की सरकार निरंतर फर्जी काम का असली विश्व रिकार्ड बनाने में जुटी है। अखबारी विश्व रिकार्ड बनाने में लगी सरकार को माफिया पैदा करने में भी रिकार्ड दर्ज कराना चाहिये।   भूपेन्द्र गुप्ता गुरुवार को जारी बयान कहा कि दुनिया में सबसे पहले नकली प्लाज्मा बनाने, नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने, बेचने और चुराने, जहरीली शराब बनाने, बेचने, नदियों को जलीय जीवन रहित करने, नकली दवायें खपाने, ब्लैक फंगस के भी अमानक इंजेक्शन सप्लाई करने का रिकार्ड बनाया है। इससे भी आगे बढक़र अब तो एक मंत्री के नकली ओएसडी पैदा करने का भी रिकार्ड बना रहे हैं। पुलिस के मुताबिक  इस नकली ओएसडी ने एक करोड़ से ज्यादा का काम दिखा दिया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि रिकार्ड बनाने की प्यास के चक्कर में जबलपुर शिक्षण संस्थान ने न केवल मृत शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया बल्कि मृत शिक्षकों की उपस्थिति लगाकर नया विश्व रिकार्ड बना दिया है।   उन्होंने शिवराज सरकार से कहा है कि भगवान के लिये विश्व रिकार्ड बनाना बंद कर दीजिये,क्योंकि एक दिन में एक करोड़ पौधे आपकी सरकार ही लगा सकती है जिन्हें कांग्रेस की सरकार को ढूंडना पड़ता हैं। सुधारों को लागू करने में लगे मध्यप्रदेश में 'ईज आफ लिविंग' के चलते सीआर एस के अनुसार एक लाख 90 हजार लोग काल के गाल में समा गये हैं। क्या इसे भी रिकार्ड माना जा सकता है,सरकार बताये?

Dakhal News

Dakhal News 24 June 2021


bhopal,Madhya Pradesh government , stop playing , future of students, Vikrant Bhuria

भोपाल। युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने कहा है कि कोरोना महामारी के दौरान अगर सबसे ज्यादा किसी चीज की जरूरत है, तो वह अलग-अलग मुद्दों के लिए विस्तृत प्लान बनाने की आवश्यकता, लेकिन मध्यप्रदेश सरकार ने प्रदेश की जनता के हित में कोई प्लान नहीं बनाया है। जो हाल सरकार ने लॉकडाउन लगाने, खोलने और अन्य विषयों में किया है, वही स्थिति शिक्षा क्षेत्र की भी कर दी है। हाल यह है कि जहां सीबीएससी बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को दिए हलफनामे में यह कहा है कि 31 जुलाई तक सीबीएसई 12वीं के नतीजे जारी कर दिए जाएंगे। प्रदेश का माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अब तक यह तय ही नहीं कर पाया है कि वह किस फार्मूले के आधार पर परीक्षा परिणाम घोषित करेगा।   विक्रांत भूरिया ने गुरुवार को कहा कि जब सीबीएसई ने फॉर्मूला घोषित किया तो प्रदेश सरकार ने तुरंत उसे प्रदेश के बोर्ड में लागू करने की बात कही। लेकिन सरकार यह भूल गई कि उसके यहां पिछले साल ग्यारहवीं के नतीजे घोषित नहीं किए गए थे और बच्चों को प्रोन्नत कर दिया गया था। वही 12 वीं के परीक्षा परिणाम को लेकर इस तरह की गफलत बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करने वाली है।    जानकारी के मुताबिक 12वीं के परीक्षा परिणाम को लेकर 12 बार बैठक में हो चुकी हैं लेकिन अब तक सरकार का कोई ठोस फार्मूला बनकर सामने नहीं आया है। जबकि गौर करे तो सीबीएसई बोर्ड ने 31 जुलाई को रिजल्ट जारी करने की तारीख घोषित की है, बल्कि जो छात्र इस परिणाम से संतुष्ट ना हो उनके लिए वैकल्पिक परीक्षा देने की तिथियां तक घोषित कर दी हैं।   उन्होंने कहा कि 12वीं के परीक्षा परिणाम इसलिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाते हैं, क्योंकि इसके बाद छात्रों को यह फैसला करना होता है कि विज्ञान पढ़ेंगे या कला संकाय में जाएंगे, इंजीनियरिंग, मेडिकल या अन्य किस तरह की उच्च शिक्षा प्राप्त करेंगे। उनके ग्रेड और परसेंटेज विभिन्न यूनिवर्सिटी में दाखिले में महत्वपूर्ण होते हैं। इसके अलावा अगर परीक्षा परिणाम बहुत ज्यादा देर से आता है तो बहुत से छात्र प्रतिष्ठित उच्च शिक्षा संस्थानों में भर्ती के लिए अपनी दावेदारी पेश करने से चूक सकते हैं।   कांग्रेस नेता भूरिया ने कहा कि मप्र माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को इस बारे में शीघ्र फैसला करना चाहिए ताकि बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ न हो, वैसे भी इस मामले में पहले ही बहुत देरी हो चुकी है।

Dakhal News

Dakhal News 24 June 2021


bhopal,Shameful organizing, meeting , State Working Committee,Saluja

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि एक तरफ प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर से हजारों लोगों की मौत हुई है। कोरोना की तीसरी लहर और डेल्टा प्लस वेरिएंट का खतरा सिर पर मंडरा रहा है। ऐसे में भाजपा द्वारा आज सेमी वर्चुअल तरीके से आयोजित कार्यसमिति की बैठक को भव्य तरीके से उत्सव-महोत्सव के रूप में मनाना भाजपा की सोच और संवेदनशीलता पर सवाल खड़े कर रहा है?   सलूजा ने गुरुवार को अपने बयान में कहा कि भाजपा चाहती तो यह बैठक साधारण तरीके से भी कर सकती थी लेकिन उत्सव -महोत्सव -आयोजन -अभियान में माहिर भाजपा इस कार्यसमिति की बैठक को भी एक इवेंट के रूप में भव्य तरीक़े से आयोजित कर रही है। इसको लेकर भाजपा कार्यालय को भव्य तरीके से सजाया गया है, होर्डिंग-पोस्टर-झंडे-बैनर से पाट दिया गया गया हैं, इस बैठक के नाम पर उत्सव-महोत्सव मनाया जा रहा है?    उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पहले भी कोरोना की दूसरे लहर के समय भाजपा प्रदेश की जनता को भगवान भरोसे छोड़ चुनाव में लगी रही उसकी इसी लापरवाही का खामियाजा प्रदेश की जनता ने भुगता? प्रदेश में इलाज-अस्पताल-ऑक्सीजन-इंजेक्शन-वेंटीलेटर के अभाव में हजारों लोगों की मौत हुई और अभी भी भाजपा उत्सव-महोत्सव से बाज नहीं आ रही है, अभी भी वो चुनाव की तैयारियों में जुट गयी है,उसने वापस चुनाव की तैयारियां प्रारंभ कर दी है? प्रदेश की जनता से भाजपा को कोई लेना देना नहीं है?       कांग्रेस नेता ने कहा कि यदि भाजपा को प्रदेश की जनता की चिंता होती तो भाजपा संगठन को आज कार्यसमिति की बैठक में सबसे पहले अपनी ही शिवराज सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाना था कि उसकी लापरवाही, नाकारा पन व निकम्मेपन के कारण प्रदेश में कोरना की दूसरी लहर में इलाज-बेड-अस्पताल-ऑक्सीजन-इंजेक्शन-वेंटिलेटर के अभाव में हजारों लोगों की मौत हुई, सरकार ने तमाम चेतावनियो के बावजूद कोरोना की दूसरी लहर से निपटने की कोई तैयारियाँ नहीं की लेकिन भाजपा तो इस नाकारापन, लापरवाही का भी उत्सव मना रही है? "शिवराज है तो विश्वास है "नारे लिखे हार्डिंग भाजपा कार्यालय पर लगाए गए हैं, इससे समझा जा सकता है कि भाजपा को प्रदेश की जनता की कोई चिंता नहीं? उसे प्रदेश में शिवराज सरकार की लापरवाही से हुई हजारों लोगों की मौत की कोई परवाह नहीं, उसे तो सिर्फ अपने उत्सव-महोत्सव-जश्न की चिंता है, उसे तो सिर्फ चुनावों की चिंता है और वह अभी भी उसकी तैयारियों में लग गयी है?

Dakhal News

Dakhal News 24 June 2021


bhopal,Chief Minister Shivraj ,planted Ashoka sapling, Smart Park

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधारोपण करने के संकल्प के क्रम बुधवार सुबह राजधानी भोपाल के स्मार्ट पार्क में अशोक का पौधा लगाया। इस दौरान उन्होंने नागरिकों से पौधरोपण करने की अपील भी की।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट पर इसकी जानकारी साझा करते हुए कहा कि -"आज भोपाल के स्मार्ट पार्क में अशोक का पौधा लगाया। यह दर्दनिवारक, उदर संबंधी विकारों को दूर करने के साथ ज्वर और जोड़ों के दर्द आदि से भी मुक्त करने में कागर माना जाता है। आप सभी से आग्रह है कि जीवन रूपी पौधों को रोपकर मानव जीवन एवं धरा को समृद्ध बनाइये।"

Dakhal News

Dakhal News 23 June 2021


ujjain,Higher Education Minister, Dr.Yadav ,visited the observatory

उज्जैन। प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने सोमवार को टीकाकरण महाअभियान में शामिल होने के बाद महिदपुर तहसील के ग्राम डोंगला स्थित वेधशाला का अवलोकन किया। डोंगला स्थित पद्मश्री विष्णु श्रीधर वाकणकर वेधशाला पर परछाई ने भी साथ छोड़ दिया, ऐसा नजारा उपस्थित लोगों ने देखा। डोंगला में यह नजारा शंकु यंत्र पर देखा गया। इस दौरान घनघोर बादल छाये हुए थे। शंकु यंत्र पर 12 बजकर 28 मिनट पर सूर्य बादलों के बीच से निकलता हुआ दिखाई दिया। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने वेधशाला के घनश्याम रत्नानी से शंकु यंत्र के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की।   उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव एवं उपस्थित व्यक्तियों को रत्नानी ने जानकारी देते हुए बताया कि विष्णु श्रीधर वाकणकर ने 1985-86 के दौरान कालगणना की दृष्टि से उक्त स्थान खोजा था और यह प्रतिपादित किया था कि यही वह स्थान है जो ग्रीनविच से भी ज्यादा कालगणना के लिये महत्व रखता है। यहां जो कालगणना की जाती है, वह पूरे विश्व को मान्य होती है, क्योंकि यह सूर्य के चक्र का उत्तरवाला अन्तिम बिन्दू है। यहां पर सूर्य जिस प्रकार से 23:30 अक्षांश पर झुका हुआ दिखाई देता है, किन्तु 23:26 उत्तर से दक्षिण की ओर जाता है। यह सर्वाधिक उत्तर की ओर मोड़ने वाला ही स्थान मिला है।   उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव के प्रयासों से प्रतिवर्ष विक्रम संवत के आधार पर पंचांग का निर्माण किया जा रहा है। डोंगला वेधशाला में शंकु यंत्र, भास्कर यंत्र, नाड़ी यंत्र, सम्राट यंत्र स्थापित हैं, जिससे कालगणना की जाती है। इस अवसर पर डॉ. अजय शर्मा, न्यास के सचिव आचार्य डॉ. रमण सोलंकी, हेमन्त शर्मा, ग्राम के पूर्व सरपंच पदमसिंह पटेल आदि उपस्थित थे।  

Dakhal News

Dakhal News 21 June 2021


bhopal,Congress

भोपाल।  अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पेट्रोल की कीमतें भोपाल में 105 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गई हैं और प्रदेश की जनता योग से वियोग में पहुंच गई है। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने पेट्रोल की बढ़ती हुई कीमतों पर आश्चर्य जताया है, जबकि पड़ोसी देशों में पेट्रोल की कीमतें घटाई जा रही हैं।   कांग्रेस नेता भूपेन्द्र गुप्ता का कहना है कि वहां भी कोरोना है, वहां पर भी सरकारों को महामारी पर पैसा खर्च करना पड़ रहा है लेकिन जनता पर अनावश्यक बोझ नहीं डाले जा रहे हैं। गुप्ता ने कहा कि योग दिवस के पावन दिन पर भी पेट्रोल डीजल की बढ़ी हुई कीमतों ने प्रदेश की जनता को उध्र्व सर्वांग आसन की मुद्रा में खड़ा कर दिया है। मोदी सरकार ने योग दिवस की ऐसी शुभकामनायें दी हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से पेट्रोल डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने की मांग की ताकि भारत का मानव समाज पूर्ण सर्वांगासन से पद्मासन की मुद्रा में लौट सके।

Dakhal News

Dakhal News 21 June 2021


bhopal,CM Shivraj, pays homage, RSS founder Dr. Hedgewar, death anniversary

भोपाल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक और प्रथम सरसंघचालक डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार की आज (सोमवार को) पुण्यतिथि है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अवसर पर डॉ. हेडगेवार को नमन करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से डॉ. हेडगेवार जी का एक सुविचार पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि केवल भूमि के टुकड़े को राष्ट्र नहीं कहते हैं। एक विचार, आचार, सभ्यता व परम्परा में जो लोग पुरातन काल से रहते चले आये हैं, उन्हीं लोगों की संस्कृति से राष्ट्र बनता है। मुख्यमंत्री चौहान ने आगे लिखा है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक व राष्ट्र के सच्चे सेवक डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार जी की पुण्यतिथि पर नमन।    उन्होंने अगले ट्वीट में कहा है कि राष्ट्र की सेवा और समाज की उन्नति को ही जीवन का ध्येय मानने वाले भारत के रत्न, डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार जी के सपनों के आधुनिक और समर्थ भारत के निर्माण के लिए हम सब प्रतिबद्ध हैं। देश के नवनिर्माण में किये गये आपके योगदान के लिए यह राष्ट्र सदैव ऋणी रहेगा। 

Dakhal News

Dakhal News 21 June 2021


bhopal,Milkha Singh

भोपाल। देश के महान एथलीट फ्लाइंग सिख के नाम से विख्यात फर्राटा धावक मिल्खा सिंह का शुक्रवार देर रात निधन हो गया। उनके निधन पर मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने दुख जताते हुए उनके निधन को देश के लिए एक बड़ी क्षति बताया है।पूर्व सीएम कमलनाथ ने शनिवार को ट्वीट किया है कि - भारत के महान धावक, फ़्लाइंग सिख नाम से प्रसिद्ध मिल्खा सिंह के दुखद निधन का समाचार प्राप्त हुआ। आज हमने एक महान खिलाड़ी खो दिया, उनका निधन देश के लिये एक बड़ी क्षति है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।

Dakhal News

Dakhal News 19 June 2021


bhopal,Milkha Singh

भोपाल। देश के महान एथलीट फ्लाइंग सिख के नाम से विख्यात फर्राटा धावक मिल्खा सिंह का शुक्रवार देर रात निधन हो गया। उनके निधन पर मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने दुख जताते हुए उनके निधन को देश के लिए एक बड़ी क्षति बताया है।पूर्व सीएम कमलनाथ ने शनिवार को ट्वीट किया है कि - भारत के महान धावक, फ़्लाइंग सिख नाम से प्रसिद्ध मिल्खा सिंह के दुखद निधन का समाचार प्राप्त हुआ। आज हमने एक महान खिलाड़ी खो दिया, उनका निधन देश के लिये एक बड़ी क्षति है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।

Dakhal News

Dakhal News 19 June 2021


bhopal,Milkha Singh

भोपाल। देश के महान एथलीट फ्लाइंग सिख के नाम से विख्यात फर्राटा धावक मिल्खा सिंह का शुक्रवार देर रात निधन हो गया। उनके निधन पर मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने दुख जताते हुए उनके निधन को देश के लिए एक बड़ी क्षति बताया है।पूर्व सीएम कमलनाथ ने शनिवार को ट्वीट किया है कि - भारत के महान धावक, फ़्लाइंग सिख नाम से प्रसिद्ध मिल्खा सिंह के दुखद निधन का समाचार प्राप्त हुआ। आज हमने एक महान खिलाड़ी खो दिया, उनका निधन देश के लिये एक बड़ी क्षति है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।

Dakhal News

Dakhal News 19 June 2021


bhopal, State government

भोपाल। मध्यप्रदेश राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष और कांग्रेस नेत्री शोभा ओझा ने प्रदेश की जेलों में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 400 दुष्कर्मियों को कोविड के नाम पर पैरोल देने के राज्य सरकार के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण, शर्मनाक और आश्चर्यजनक बताया है। उन्होंने कहा है कि जब राज्य में कोविड के मामले लगभग नगण्य हो गये हैं तब ऐसे फैसले का क्या औचित्य है? यह भी गौरतलब है कि रिहा किए जाने वाले इन कैदियों की सूची में 100 बंदी तो ऐसे हैं जो नाबालिग बच्चियों से ज्यादती के मामले में सजा काट रहे हैं।   राज्य सरकार और प्रदेश पुलिस के तुगलकी फैसले का विरोध करते हुए शोभा ओझा ने इसे अविलंब वापस लेने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यह अविवेकपूर्ण निर्णय न सिर्फ पीडि़त बच्चियों, महिलाओं और उनके परिवारों के जख्मों पर नमक छिडक़ते हुए उनके जीवन पर खतरे का सबब बन सकता है बल्कि यह सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों का स्पष्ट उल्लंघन भी है। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने 5 जून को जेल मुख्यालय द्वारा सभी जेल अधीक्षकों को लिखे गए इस संबंधी पत्र के संदर्भ में उक्त तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आगे कहा कि प्रदेश में महिला अत्याचारों, दुष्कर्मों और सामूहिक दुष्कर्मों को रोकने में पहले से ही नाकारा सिद्ध हो रही प्रदेश पुलिस ने ऐसा दुर्भाग्यपूर्ण फैसला क्या सोच कर लिया, समझ से परे है!   श्रीमती ओझा ने अपने बयान में यह भी कहा कि जेल मुख्यालय का यह फैसला सुप्रीम कोर्ट द्वारा 2015 में दिए गए उस निर्णय के भी खिलाफ है जिसमें कोर्ट ने स्पष्ट शब्दों में कहा था कि ऐसे बंदी जिन्होंने दुष्कर्म का अपराध किया है और जिन्हें राष्ट्रीय जांच एजेंसी के मामले में सजा हुई है उन्हें रिहा नहीं किया जा सकता। इसके अलावा जो भी बंदी हैं, उन्हें राज्यपाल धारा-161 के तहत सजा से राहत दे सकते हैं। अपने बयान के अंत में श्रीमती ओझा ने कहा कि "बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ" और "नारी सुरक्षा" के खोखले वादे करने वाली शिवराज सरकार का यह फैसला पीडि़त परिवारों के लिए वज्रपात के समान है। ऐसे में पीडि़त परिवारों और आहत महिलाओं के जीवन को खतरा तो है ही, पैरोल अवधि के पश्चात कैदियों की जेल वापसी की संभावनाएं भी बेहद कम हैं। अत: राज्य सरकार और प्रदेश पुलिस को चाहिए कि पहले से ही जर्जर हो चुकी कानून व्यवस्था की स्थिति को और अधिक नुकसान पहुंचाने की बजाय ऐसे विवेकपूर्ण और शर्मनाक फैसले को अविलंब वापस लें।

Dakhal News

Dakhal News 19 June 2021


bhopal,Chief Minister ,Shivraj garlanded, birth anniversary ,Sarsanghchalak KS Sudarshan

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रीय स्वयं-सेवक संघ के पाँचवें सर संघ संचालक के.एस. सुदर्शन की जयंती पर उन्हें नमन किया। उन्होंने शुक्रवार को सुबह अपने निवास पर उनके चित्र पर माल्यार्पण किया। मुख्यमंत्री चौहान ने उनका स्मरण करते हुए ट्वीट किया है कि माँ भारती की सेवा और उन्नति को ही अपना कर्म और धर्म मानकर आजीवन सेवा करने वाले सपूत को कभी नहीं भुलाया जा सकता है। स्व. के.एस. सुदर्शन का जन्म 18 जून 1931 को रायपुर जिले में हुआ था। उन्होंने दूरसंचार विषय में इंजीनियरिंग की। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्व. सुदर्शन जी अनेकों विषयों एवं भाषाओं के जानकार और अद्भुत वक्ता थे। उन्होंने पंजाब समस्या और असम के आंदोलन के संबंध में ठोस सुझाव दिये। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में उनके द्वारा किये गये नवाचारों ने शाखाओं के संचालन को नया आयाम दिया। प्रज्ञा वाहक नामक वैचारिक संगठन की स्थापना में उनका महत्वपूर्ण योगदान है। ग्राम विकास, कृषि, गौपालन और ऊर्जा आदि क्षेत्र में देशज और परंपरागत अनुभवों और जानकारियों के संबंध में उन्हें विशेष रूचि थी। किसी भी समस्या की गहराई तक जाकर उसके बारे में मूलगामी चिंतन कर उसका सही समाधान ढूंढ निकालना उनकी विशेषता थी।

Dakhal News

Dakhal News 18 June 2021


bhopal, Minister Parmar, launched Online Compassionate ,Appointment Management System

भोपाल। स्कूल शिक्षा विभाग के अनुकंपा नियुक्ति संबंधी प्रकरणों में आश्रितों को त्वरित, पारदर्शी और समय सीमा में निराकरण के लिए ऑनलाइन अनुकंपा नियुक्ति प्रबंधन प्रणाली एक महत्वपूर्ण साधन बनेगी। यह बात स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इन्दर सिंह परमार ने शुक्रवार को मंत्रालय में स्कूल शिक्षा विभाग की ऑनलाइन अनुकंपा नियुक्ति प्रबंधन प्रणाली के वर्चुअल शुभारंभ के दौरान कही।    मंत्री परमार ने कहा कि अनुकंपा नियुक्ति के सभी प्रकरणों की सूची, निरस्त या लंबित होने का कारण, वर्तमान स्थिति और नियुक्ति आदेश, एजुकेशन पोर्टल पर आवेदक के लिए सहज रूप से उपलब्ध रहेंगे। प्रणाली के सफल क्रियान्वयन से प्रकरणों का तय समय सीमा में त्वरित निराकरण कर दिवंगत कर्मचारी के आश्रितों को लाभ सुनिश्चित हो सकेगा।   परमार ने कहा कि हम नहीं चाहते कि हमारे शिक्षा विभाग के परिवार में किसी के भी साथ ऐसी अप्रिय घटना घटे, कि वो हमारे बीच न रहे। लेकिन यदि ऐसी कोई परिस्थिति बनती है तो आश्रितों को अनावश्यक परेशानी से मुक्ति और अनुकंपा नियुक्ति समय पर दिलाने के लिए इस प्रणाली को शुरू किया गया है। परमार ने ऑनलाइन अनुकंपा नियुक्ति प्रबंधन प्रणाली बनाने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों की प्रशंसा की और सभी शिक्षकों से अपील की कि यदि आपके परिचित के परिवार में ऐसी अप्रिय घटना घटित होती है तो आश्रितों को इस प्रणाली के तहत लाभ पहुंचाने का प्रयास करें।   प्रमुख सचिव श्रीमती रश्मि अरुण शमी ने कहा कि इस ऑनलाइन प्रणाली के माध्यम से मुख्यमंत्री कोविड-19 अनुकंपा नियुक्ति योजना और मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना के तहत भी आवेदन कर सकेंगे। दिवंगत शासकीय सेवक के यूनिक आईडी पासवर्ड से पोर्टल पर आवेदन किया जाएगा। यदि कोई आवेदक ऑनलाइन आवेदन करने में सक्षम नहीं है तो संबंधित जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से पोर्टल पर आवेदन दर्ज किया जा सकेगा।   आयुक्त लोक शिक्षण जयश्री कियावत ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग में 3 लाख से अधिक अधिकारी और कर्मचारी कार्यरत हैं। शासकीय सेवक की असामयिक मृत्यु होने पर आश्रितों को शासन के नियम अनुसार अनुकंपा नियुक्ति दिये जाने का प्रावधान है। शासकीय सेवक की असामायिक मृत्यु होने पर उनके आश्रितों द्वारा अनुकंपा नियुक्ति का आवेदन पत्र प्रस्तुत किया जाता है, जिसका निराकरण विभिन्न स्तरों पर संबंधित कार्यालयों द्वारा शासन नियमानुसार तथा आवेदक की पात्रता के अनुसार किया जाता है। अब इस संबंध में समस्त प्रक्रिया स्कूल शिक्षा विभाग के एजुकेशन पोर्टल में ऑनलाइन अनुकंपा नियुक्ति प्रबंधन प्रणाली पर की जाएगी।    इस अवसर पर राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अपर परियोजना संचालक कैलाश वानखेडे़, संचालक के.के. द्विवेदी, अपर संचालक कामना आचार्य और धीरेन्द्र चतुर्वेदी, उपसंचालक राजेंद्र डेकाटे सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 18 June 2021


mandsour, MP Sudhir Gupta, launched Aanchal Mobile App

मन्दसौर। क्षेत्रीय सांसद सुधीर गुप्ता ने गुरुवार को मंदसौर के एनआईसी केंद्र से जिले में आंचल मोबाइल एप का शुभारंभ किया। आँचल एक अभियान, आँचल मोबाईल एप का मुख्य उद्देश्य ऐसे व्यक्तियों को सहयोग करना है जो कुपोषित बच्चों को कुपोषण से मुक्त कर बेहतर जीवन प्रदान करना चाहते हैं।जिला प्रशासन मंदसौर ऐसे सभी व्यक्तियों को जो कुपोषित बच्चों को सरंक्षण देने के इच्छुक हो। वे इस अभियान में ज़्यादा से ज़्यादा संख्या में शामिल कर भावनात्मक रूप से इसे एक जन आंदोलन का स्वरूप दे सकते है। यह एप संरक्षणकर्ता एवं कुपोषित बच्चे को मिलाने के लिए एक सेतु के रूप में कार्य करता है।कलेक्टर मनोज पुष्प एवं जिला पंचायत सीईओ ऋषव गुप्ता के विशेष प्रयास से जिले में आंचल अभियान को लेकर आंचल मोबाइल ऐप का निर्माण किया है। आंचल मोबाइल ऐप शुभारंभ के अवसर पर मंदसौर विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया, कलेक्टर मनोज पुष्प, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी, डीआईओ दशपुत्रे उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 17 June 2021


bhopal,Chief Minister Chouhan, planted Akash-neem plant

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को राजधानी भोपाल के स्मार्ट सिटी पार्क में आकाश-नीम का पौधा रोपा। मुख्यमंत्री चौहान अपने संकल्प के परिपालन में प्रतिदिन एक पौधा लगाते हैं। पौध रोपण के समय पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता भी उपस्थित रहे।   उल्‍लेखनीय है कि आकाश नीम का आयुर्वेदिक और चिकित्सकीय महत्व है। यह कई प्रकार के बैक्टीरिया से बचाव में सक्षम है। इसके पेड़ से गिरने वाले पत्ते अपने औषधीय गुणों के चलते मच्छर के लारवा को पनपने नहीं देते हैं। यह एंटीफंगल भी है। आकाशनीम भारत के अलावा वर्मा और मलाया में भी पाया जाता है। इसके फूल वर्ष में दो बार खिलते हैं, यह चमेली की तरह सुगंधित होते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 17 June 2021


bhopal, Chief Minister, Shivraj Singh Chouhan ,planted Gulmohar plant ,Smart Garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधारोपण करने के संकल्प के क्रम में मंगलवार को राजधानी भोपाल के स्मार्ट उद्यान में गुलमोहर का पौधा लगाया। इस दौरान उन्होंने नागरिकों से भी पौधा लगाने की अपील की।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी साझा करते हुए लिखा है कि -आज भोपाल के स्मार्ट पार्क में गुलमोहर का पौधा लगाया। गुलमोहर विश्व के सुंदरतम वृक्षों में से एक है। यह सामान्य कमजोरी, अतिसार, खून की कमी, पीलिया एवं मधुमेह से मुक्ति में लाभप्रद होता है। पेड़-पौधे ही धरती का सौंदर्य व मानव जीवन का आधार हैं। इन्हें रोपिये। बता दें कि मुख्यमंत्री चौहान अपने संकल्प के पालन में प्रतिदिन एक पौधा लगाते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2021


bhopal, Congress alleges, fake samples , reduce positivity - Government

भोपाल।  मप्र कांग्रेस ने सरकार से कोरोना की पॉजिटिविटि घटाने के आरोपों पर जवाब मांगा है। कांग्रेस का आरोप है कि पॉजिटिविटी घटाने के लिए नकली मरीज और नकली सैंपल कांड का खुलासा देश के बड़े अखबार ने किया है जिस पर कांग्रेस लगातार पहले से सवाल उठाती रही है। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने सरकार से इस खबर का स्पष्टीकरण मांगते हुए कहा है कि नकली जांचों के आधार पर लोगों को नेगेटिव मानना तीसरी लहर की पैदाइश का बड़ा सरकारी कारण बन सकता है जिसकी जिम्मेदार सरकार होगी। इस तरह से नेगेटिव लोग जब कोरोना कैरियर बन कर समाज में और भीड़ में घूमेंगे तो किसी नए कोवड वैरीअंट का म्यूटेशन भी हो सकता है जिस पर यूनीवर्शल वैक्सीनेशन की इतनी बड़ी तैयारी का नुकसान हो सकता है।   भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि सरकार बताए कि जिस तरह ज्यादातर फीवर क्लीनिक खाली हैं, 70 से अधिक जांच शिविर बंद हैं तब ये हजारों जांचें कहां हो रहीं हैं। सरकार यह भी बताये कि नकली सैंपलों की जांच का उद्देश्य क्या है ? अगर इन नकली जाचों के नाम पर टेस्ट किट चुराने का काम चल रहा है या रीसाइक्लिंग का काम चल रहा है तो इस भ्रष्टाचार की जांच होनी चाहिए ।   कांग्रेस नेता ने कहा कि इस तरह का कांड समूची मानवता के लिए खतरा है क्या यही पिकनिक केवीनेट का प्रतिफल है? हजारों संक्रमित जब अनजाने में भीड़ में घूमेंगे तो लाखों लोगों को संक्रमित करेंगे इस आपराधिक लापरवाही के लिए जिम्मेदार कौन होगा सरकार बताये?

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2021


bhopal, Chief Minister, Shivraj paid homage ,Guru Arjan Dev Ji Sahib

भोपाल। सिखों के पांचवें गुरु, श्रद्धेय गुरु अर्जन देव जी साहिब का आज (सोमवार को) शहीदी दिवस है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अवसर पर श्रद्धेय गुरु अर्जन देव जी साहिब के चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित किये हैं।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए दोहा लिखा है कि-"सरताज-ए-शहादत पंचम पातशाह अर्जन देव फकीरा, ज़बर-ज़ुलम के दौर में सुच्चा उच्चा था तेरा जमीरा !!" उन्होंने आगे लिखा है कि-धर्म और मानवता के कल्याण के लिए बलिदान होने वाले, सिखों के 5वें गुरु, श्रद्धेय गुरु #अर्जन_देव जी साहिब के शहीदी दिवस पर उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूं!मुख्यमंत्री ने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि गुरु अर्जन देव जी ने हर कष्ट हंसते-हंसते सहते हुए यही अरदास किया कि -''तेरा कीआ मीठा लागे॥ हरि नामु पदारथ नानक मांगे॥'' धर्म और मानवता की सेवा ही उनके चरणों में सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

Dakhal News

Dakhal News 14 June 2021


bhopal, Congress made, serious allegations, against the government

भोपाल। पेट्रोल- डीजल के लगातार बढ़ रहे दामों को लेकर कांग्रेस लगातार सरकार पर हमलावर बनी हुई है और निशाना साध रही है। प्रदेश कांग्रेस ने एक बार फिर सरकार से पेट्रोल डीजल से एक्साईज ड्यूटी घटाने और जनता को महंगाई से राहत देने की मांग की है। कांग्रेस का आरोप है कि जब दांत हैं तब चने नहीं, जब चने हैं तब दांत नहीं। भारत सरकार इस दोहरी नीति पर चलकर जनता को राहत पहुंचाने का अभिनय कर रही है।   प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने रविवार को जारी बयान में जीएसटी की नई नीति को अपरिपक्व बताते हुए सरकार से जानना चाहा कि पिछले 3 महीने से जब देश का आम आदमी मर रहा था लोगों के पास पैसे नहीं थे तब आक्सीजन, दवाई, इंजेक्शन, एम्बूलेंस पर जीएसटी लदा हुआ था। आज जब इनकी आवश्यकता कम हो गई है तो जीएसटी हटा लिया गया है। अब देश की जनता को अपने प्राणों की सुरक्षा के लिए वैक्सीन की जरूरत है तो वैक्सीन पर से जीएसटी नहीं हटाया गया है आखिर यह कौन सी नीति है? कांग्रेस नेता ने कहा कि जब जनता को राहत की जरूरत है तब उस पर वजन डाला जा रहा है और जब स्वाभाविक रूप से बाजार में खपत कम हो गई है तो उस पर से जीएसटी हटा लिया। यह दोहरी नीति देश के लिए और देश की जनता के कल्याण के लिए अनुकूल नहीं है ।   भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि 104 रुपये लीटर का पेट्रोल लोगों की जान ले रहा है। महंगाई आसमान पर है लेकिन सरकार मुनाफे में कमी करने को तैयार नहीं है। उन्होंने मांग की कि मोदी जी पेट्रोल डीजल पर एक्साईज ड्यूटी कम करें। परिवहन की कीमतों के कारण एम एस एम ई बाजार में टिक नहीं पा रहा है। अब देश का पूरा व्यापार फ्लिपकार्ट, अमेजान, विलमार और जियो माल के पास चला जायेगा और स्थानीय बाजारों की आर्थिक गतिविधियों में हिस्सेदारी नगण्य हो जायेगी।

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2021


shivraj singh chouhan

क्या  शिवराज सिंह की कुर्सी खतरे में हैंआलाकमान क्या शिवराज की छुट्टी करेगाशिवराज को लेकर क्या सच -क्या अफवाहकौन -कौन हटाना चाहता है शिवराज कोकांग्रेस को कैसे मिल रही है प्राणवायुशिवराज के बाद कौन बनेगा मुख्यमंत्री कहा जा रहा है कि शिवराज सिंह की कुर्सी खतरे में हैं  ... बीजेपी आला कमान कभी भी उनकी छुट्टी कर सकता है  ... इस तरह की ख़बरों से देखते देखते सोशल मीडिया भर गया  ... इन्हें ख़बरों की बजाये अफवाहें कहें तो ज्यादा ठीक रहेगा  ...क्योंकि खबर की शक्ल और पूरी बॉडी होती है और कहते हैं अफवाहों के पैर नहीं होते और वे फिर भी चलती रहती हैं  ...  कुछ तथाकथित बड़े पत्रकार भी इस मसले पर अपना ज्ञान बघारते नजर आये  ... सबके अपने तर्क और अपनी कसौटियां थीं  ... लुब्बो लुबाब ये की मध्यप्रदेश को अब नए चेहरे की जरुरत हैं  ... वो नया चेहरा कौन   ...  इस पर सब मौन थे  ...सब अपने अपने शुभ लाभ के हिसाब से शिवराज सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाना चाहते हैं  ... वॉट्सऐप के कारीगरों ने तो क्या क्या नहीं लिखा  ... हर व्यक्ति अपने अपने पसंद क व्यक्ति को मुख्यमंत्री बनाने पर तुल गया  ... एक ट्रांसपोर्ट विभाग से जुड़े चिरकुट कलम घिस्सू ने लिखा कि अब महाराज यानि ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्यमंत्री बनेंगे या फिर गोविन्द सिंह राजपूत  ... इसे पढ़कर मुझे  थोड़ी हंसी आई सिंधिया तक तो ठीक  ...  ये गोविन्द सिंह राजपूत कौन   ... ये आदमी मंत्री बन गया ये ही बहुत  ... सिवाए सिंधिया में व्यक्तिगत आस्था रखने के अलावा इनमे ऐसी कौन सी खूबी है जो ये मुख्यमंत्री पद के दावेदार हों  ...लेकिन भांडतंत्र  अफवाहें फैलाने से कहाँ बाज आने वाला है  ...  सवाल ये है कि  तत्काल शिवराज की कुर्सी जाने के मामले की शुरुवात हुई कैसे   ... पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद रिलेक्स मूड में बजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भोपाल दौरे पर आये और सियासत के प्याले में तूफ़ान पैदा कर गए  ...कैलाश विजयवर्गीय बीजेपी के बड़े नेता हैं  ... उनके भोपाल में बहुत रिश्ते हैं  ... कोरोना काल में अपने कुछ दिवंगत हुए मित्रों के परिजनों  से वे मिलने आये थे  ... कैलाश विजयवर्गीय ने इस मसले पर क्या कहा पहले यह जान लेते हैं  ...कैलाश विजयवर्गीय शुद्ध राजनैतिक व्यक्ति हैं तो जाहिर है राजनैतिक मुलाकातें भी ऐसे में होना संभव है और वे हुई भीं और यहीं से  मीडिया के शिवराज सिंह विरोधी तबके ने इसे खबर बनाने की कोशिश की कि इन मुलाकातों से शिवराज सिंह को सत्ता से हटाया जाएगा  ... कैलाश विजयवर्गीय तो दिल्ली रवाना हो गए लेकिन प्याले में  तूफ़ान जारी रहा  ... एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा  से  बीजीपी प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा और वरिष्ठ नेता प्रभात झा की मुलाक़ात और वीडी शर्मा से शिवराज की मुलाकात और न जाने कितनी मुलाकातों ने शिवराज विरोधी मीडिया को पंख लगा दिए  ... एक वेबसाइड चला  रहे कोंग्रेसी पत्रकार ने चार इमली में अपने घर से इन ख़बरों को दिल्ली  प्लांट करने की कोशिश की कि शिवराज गए  ... इसमें इनके साथी चंगु मंगू टाइप दो नेशनल टीवी के कारकुन  भाड़े के टट्टू जैसे नजर आये  ... इनकी इस मुहीम की ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने यह कहकर हवा निकाल दी कि शिवराज सीएम बने रहेंगे  ...राजनीति में मेल मुलाकातें नहीं बात नहीं हैं  ... लेकिन सोशल मीडिया में इन्हें जिस तरह  सच से परे प्रस्तुत किया जाता है  ... ये ठीक नहीं   ... और जब इसमें मीडिया के लोग जुड़ जाते हैं तो तब स्थति और विकट हो जाती है  ... जिनके जिम्मे सच सामने लाना है वे ही कई बार सच से मुँह फेर कर अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए अफवाहों को खबर बना के बढ़ावा देने लगते हैं  ... बीती शाम  भी एक पत्रकार ने मुझे फोन पर कहा शिवराज को दिल्ली तलब कर लिया गया है  ...बस इस्तीफ़ा होने वाला है  ...मैने पूछा कांग्रेस दफ्तर से आ रहे हो या बीजेपी   ...   क्योंकि ये चर्चा वहां या सोशल मीडिया पर ही है  ...ख़ैर शिवराज  सिंह हटें या मुख्यमंत्री  पद पर बने रहें  ... मुझे ये बताओ कि शिवराज ने ऐसा क्या अपराध कर दिया कि तत्काल हाईकमान उनको हटाए  ... ऐसा एक कारण मुझे बताओं तो उन बड़े पत्रकार को सांप सूंघ गया  ... लेकिन तभी एक और पत्रकारनुमा जीव वॉट्सऐप पर यह कहते हुए प्रकट हुए कि एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज  सिंह के करीबी अफसर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ सौ से ज्यादा RTI लगवाई हैं इसलिए शिवराज सिंह को हटाया जा रहा है  ... और एमपी के भावी मुख्यमंत्री ने उन्हें नाम न  उजागर करने  पर ये जानकारी दी है  ...  मतलब आप खुद समझ सकते हैं कि पत्रकारिता के नाम पर चल क्या रहा है  ...  इसबीच भाजपा नेताओं की आपसी मुलाकातें अब भी जारी हैं  ... भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रभात झा से भी मैने सवाल पूछ ही लिया कि अचानक एक दूसरे के घर जाने की जरुरत क्या आ गई  ?  झा साहब ने जवाब भी जोरदार दिया अपने नेताओं के यहाँ नहीं तो क्या सोनिया गाँधी या कमलनाथ के घर जाएँ  ...शिवराज हटने वाले हैं  ... ये चार शब्द ही कांग्रेस के लिए प्राणवायु बने हुए हैं  ...चरमराती हुई कांग्रेस  को   उसके प्रवक्ताओं ने ठोका पीटी कर दुरुस्त करने का काम शुरू कर दिया है  ... कांग्रेस में ऊपर लेबल  ...  मतलब टीम कमलनाथ बीजेपी नेताओं की हर मुलाक़ात का विश्लेषण कर रही है  ... ठीक वैसे ही जैसे  आम पर बौर आते ही  कोयल करती है  ... अब बात भाजपा की  ... शिवराज हटने वाले हैं   ... इन चार शब्दों ने भाजपा मे भी कई लोगों के मन में लड्डू फुटवा दिए हैं  ... चार दिन तक तो अंदर खाने वहां भी सब चुपचाप इसका आनंद लेते रहे  ...  इस सब के बीच  एक व्यक्ति इन अफवाहों से खासे  परेशान थे और वे थे बजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा  ... हालाँकि एमपी में ऐसा भी एक बड़ा वर्ग है जो वीडी शर्मा को भावी मुख्यमंत्री के रूप में देखता है  ... लेकिन शर्मा ने सभी अफवाहों को सिरे से नकार दिया  ...हालाँकि भाजपा में भी एक सच्चाई यह है कि वहां भी  जितने बाराती थे सब दूल्हा बनने को तैयार  ... सिंधिया खेमे के लोगों ने तो एक दूसरे को बधाई तक दे दी  ... बस महाराज मुख्यमंत्री  ... इंदौर में चर्चा थी कि अब भिया कैलाश जी की शपथ होना है  ... गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के घर बैठने वाला मीडिया उनकी शपथ की तैयारी कर रहा था  ... तो मंत्री भूपेंद्र सिंह के समर्थक उनको मुख्यमंत्री मान चुके थे  ... कुछ लोगों ने ऐसे में दावा किया कि मध्यप्रदेश के इस झगडे में केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल एक कॉमन मैन हैं और वही मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री बनाने वाले हैं  ...  ...हमारे सूत्रों ने इस मासले की खूब पड़ताल की और पाया कि शिवराज सिंह चौहान को फिलहाल मुख्यमंत्री पद से नहीं हटाया जा रहा है  ... मध्य्प्रदेह में शिवराज कायम रहेगा  ...  ऐसे में एक कहावत फिर जोर मार रही है  ...  मीडिया हाउस से ख़बरें बहार आती हैं और चण्डूखानों से अफवाहें  ... तय आपको करना है  ... आपको अफवाहों के साथ रहना है या सच के  ...     

Dakhal News

Dakhal News 7 June 2021


bhopal, CM Shivraj, pays tribute , birth anniversary ,Babulal Gaur ,Kailash Narayan Sarang

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति के दो दिग्गज दिवंगत राजनेताओं स्व. कैलाश  नारायण सारंग और पूर्व सीएम स्व. बाबूलाल गौर की आज जयंती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दोनों राजनेताओं को उनकी जयंती पर स्मरण कर विनम्र श्रद्धांजलि दी है और उनके चरणों में नमन किया है।   सीएम शिवराज ने ट्वीट कर पूर्व सांसद कैलाश जोशी को उनकी जयंती पर नमन कर कहा ‘भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता, पूर्व सांसद, आदरणीय स्व. कैलाश नारायण सारंग जी की जयंती पर चरणों में कोटिश: नमन! आपका आदर्श जीवन और विशिष्ट कार्यशैली सर्वदा हमारे लिए प्रेरणा का स्रोत रहेगी।   मुख्यमंत्री शिवराज ने पूर्व सीएम बाबूलाल गौर को उनकी जयंती पर स्मरण करते हुए ट्वीट कर कहा ‘मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, हमारे अग्रज, आदरणीय स्व. बाबूलाल गौर जी की जयंती पर नमन! प्रदेश के विकास और श्रमिकों के हितों की रक्षा तथा जनकल्याण के लिए किये गये अभूतपूर्व प्रयासों के लिए आपको सदैव याद किया जायेगा। मध्यप्रदेश के सच्चे सेवक के चरणों में प्रणाम!

Dakhal News

Dakhal News 2 June 2021


bhopal, Medical Education ,Minister Sarang ,came out ,bicycle, gave message, awareness

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग शुक्रवार कोरोना संक्रमण रोकने के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से साइकिल पर नगर भ्रमण पर निकले। मंत्री सारंग के साथ कलेक्टर अविनाश लवानिया, नगर निगम आयुक्त के.वी.एस. चौधरी, पुलिस अधीक्षक साई कृष्णा सहित अन्य अधिकारियों ने साइकिल चलाकर जगह-जगह लोगों को कोरोना के प्रति सचेत रहने की समझाइश दी।   होम आइसोलेशन वालों से चर्चा इस दौरान मंत्री सांरग ने होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों से चर्चा कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी हासिल की। मरीजों ने बताया कि वह स्वस्थ हैं, उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं है। उन्होंने एक स्थान पर मेडिकल किट देरी से प्राप्त होने की शिकायत मिलने पर संबंधित अधिकारी पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये।    सारंग ने मरीजों से कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये घर से बाहर न निकलें। घर में भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अलग रहें। मास्क की अनिवार्यता जरूरी है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकीय टीम आपके सतत् संपर्क में है, साथ ही एसडीएम, सीएसपी और नगर निगम के एडिश्नल कमिश्नर की टीम सतत् मॉनिटरिंग कर रही है।   दुकानदारों को दी समझाईश मंत्री सारंग ने विभिन्न मार्केट में पहुँचकर दुकानदारों और खरीददारों को समझाइश दी। उन्होंने कहा कि भोपाल को कोरोना से मुक्त करने के लिये सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क जरूरी है। बिना मास्क के ग्राहकों को दुकानदार सामान उपलब्ध न करायें ताकि लोगों में मास्क पहनने की आदत बन सके। उन्होंने दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिये गोले बनाने की भी हिदायत दी।   मास्क पहनने की अपील इस दौरान विश्‍वास सारंग ने नगर भ्रमण के दौरान जगह-जगह रूककर बिना मास्क के दिखे नागरिकों से मास्क पहनने की अपील की। साथ ही उन्हें मास्क दिये। उन्होंने कहा कि बिना मास्क के आप भी संक्रमित होंगे और दूसरों को भी संक्रमित करेंगे। इसके लिये मास्क बहुत जरूरी है। स्वयं को और परिवार को बचाने के लिये मास्क पहनें। उन्होंने पेट्रोल पंप कर्मी को भी मास्क पहनने की समझाइश दी।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Congress calls ,Minister Vishwas Sarang, statement objectionable

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग द्वारा आज दिए बयान को बेहद आपत्तिजनक व निंदनीय बताते हुए कहा कि इसके लिए भाजपा नेतृत्व को माफी मांगना चाहिए और उन्हें तत्काल मंत्रिमंडल से बाहर करना चाहिए क्योंकि उन्होंने इस बयान से ना सिर्फ नारी जगत का अपमान किया है बल्कि मैहर की सुप्रसिद्ध मां शारदा माता के मंदिर के दर्शन का भी मजाक़ उड़ाया है।   सलूजा ने बताया कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी आज सतना जिले के मैहर में स्थित प्रसिद्ध मां शारदा माता के मंदिर में प्रदेश के नागरिकों की खुशहाली और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करने के लिए गए थे। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बेहद आपत्तिजनक शब्दों का उपयोग करते हुए कहा कि "कमलनाथ जी अभी तक 10 जनपद की देवी जी की दहलीज पर जाते थे " उनका यह बयान बेहद निंदनीय है क्योंकि इस बयान से ना उन्होंने सम्पूर्ण नारी जाति का अपमान किया है बल्कि उन भारतीय परंपराओं का भी अपमान किया है, जिसमें नारी को देवी का दर्जा देकर पूजा जाता है, नारी का सम्मान किया जाता है? ऐसा बयान देकर उन्होंने मां शारदा माता मंदिर के दर्शन का भी मजाक उड़ाया है?   कांग्रेस नेता ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा के नेता खुद को धर्म का ठेकेदार समझते हैं, धर्म का रक्षक समझते हैं लेकिन उनकी वास्तविक सोच का पता इस बयान से चलता है कि किस प्रकार वे धार्मिक परंपराओं व मान्यताओं का मजाक उड़ाते हैं और नारी के सम्मान को लेकर उनकी क्या सोच है? किस प्रकार देवी रूपी नारी का वे मजाक उड़ाते हैं? उन्होंने मांग करते हुए कहा कि उनका यह बयान संपूर्ण नारी जगत का भी अपमान है, इसके लिए उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Immunization of workers ,constant contact, priority,Minister Sarang

भोपाल। राज्य शासन ने कोविड संक्रमण की चेन तोड़ने के लिये परिणाम-मूलक कार्यवाही के उद्देश्य से 18 वर्ष एवं उससे अधिक उम्र के सभी नागरिकों को शत-प्रतिशत टीकाकरण के कार्य को समय-सीमा में सम्पादित करने के उद्देश्य से सुझाव प्रस्तुत करने के लिये मंत्री-समूह का गठन किया है। मंत्रालय में इस समूह की गुरुवार को प्रथम वर्चुअल बैठक हुई।   बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री प्रेम सिं पटेल, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर और पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल शामिल हुए।   मंत्री सारंग ने बताया कि मंत्री-समूह के सदस्यों से प्राप्त सुझावों पर अमल करने की रणनीति बनाई जायेगी। टीकाकरण के लिये लोगों को पूर्व सूचना मिल सके, ऐसे प्रयास किये जायेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में नुक्कड़ नाटक, वीडियो रथ, लघु फिल्म और सफलता की कहानी के माध्यम से लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने बताया कि लोगों के सम्पर्क में आने वाले वर्कर्स का प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण होगा। इसमें पेट्रोल पम्प वर्कर्स, फैक्ट्री वर्कर्स, स्ट्रीट वेण्डर्स, उचित मूल्य दुकान वाले और अन्य दुकानदारों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आदिवासी क्षेत्रों में टीकाकरण के लिये फड़ मुंशी की विशेष भूमिका हो सकती है।   सारंग ने बताया कि शहरी क्षेत्र में 18 प्लस के लोगों का अभी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के माध्यम से ही टीकाकरण होगा, जबकि 45 प्लस को सेंटर पर बिना रजिस्ट्रेशन के वैक्सीनेशन कराया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में ऑफलाइन ही टीकाकरण करवाना सुनिश्चित किया गया है। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा जायेगा कि ग्राम पंचायत स्तर पर उसी क्षेत्र के हितग्राही को लाभ मिले।   बैठक में यह सुझाव भी प्राप्त हुए, जिसमें दो-तीन गाँव के बीच में एक स्थान चयनित कर जन-प्रतिनिधि की मौजूदगी में वैक्सीनेशन हो। टीकाकरण के एक दिन पहले माइक आदि से क्षेत्र के लोगों को अवगत करवाया जाये।   बताया गया कि प्रदेश में वैक्सीनेशन का वेस्टेज बहुत कम है, लेकिन इसे अभी शून्य की स्थिति में लाने की जरूरत है। ग्रामीण क्षेत्र में वैक्सीनेशन के दुष्प्रचार पर अंकुश लगाने की आवश्यकता भी जताई गई। प्रदेश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में लगातार प्राप्त हो रही है। वैक्सीनेशन के समन्वय के लिये ग्रामीण विकास, वन, स्कूल शिक्षा और गृह विभाग महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं। इसके लिये उन्हें जोड़ा जायेगा।   बैठक में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के अपर मुख्य सचिव एवं समूह के समन्वयक मोहम्मद सुलेमान और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक छवि भारद्वाज मौजूद थीं।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


anuppur, Corona infected, people should be found ,Bisahulal Singh

अनूपपुर। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने गुरूवार को जिले में कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए ग्राम मेडिय़ारास, धनगवां पूर्वी एवं निगवानी पंचायतों में जाकर पंचायत स्तरीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक ली। उन्होंने ग्रामवासियों से आग्रह किया है कि घर-घर जाकर यह देखें कि कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति तो नहीं है। अगर कहीं कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाया जाए, तो उसको कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराने में मदद करें, ताकि वह वहां रहकर स्वस्थ हो सके। बैठक में जिला सहकारी बैंक के पूर्व संचालक बृजेश गौतम, पूर्व विंध्य विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अनिल गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मिलिन्द नागदेवे तथा मेडि़यारास में सरपंच राधाकोल एवं उपसरपंच अरविन्द मिश्रा, जन अभियान परिषद से जुड़े कोरोना वालंटियर्स तथा निगवानी में पूर्व विधायक दिलीप जायसवाल उपस्थित रहे।   खाद्य मंत्री ने कहा कि आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य गांव में लोगों के बीच पहुंच कर उन्हें टीकाकरण के फायदों के प्रति जागरूक करते हुए उन्हें टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें। साथ ही कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने तथा गांव में अनावश्यक इधर-उधर ना घूमने के लिए लोगों को प्रेरित करें। मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने गरीब परिवारों को पांच माह का राशन देने का निर्णय लिया है। इसके लिए 24 श्रेणियों के परिवारों को राशन दिलवाने में मदद करें। आपने कहा कि कोरोना संक्रमण से किसी परिवार के मुखिया या कमाऊ सदस्य की मृत्यु हो जाने पर आश्रित परिवारों को पांच हजार रूपये मासिक पेंशन एवं एक लाख रूपये की राशि दी जाएगी। इसका लाभ पीड़ित परिवार को दिलाने के लिए कमेटी के सदस्य और कोरोना वालंटियर्स ऐसे परिवारों को चिन्हित कर उन्हें लाभ दिलाना सुनिश्चित करें।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, Medical kit ,reached 3 lakh 2 thousand 641 ,corona patients

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार होम आइसोलेट कोरोना मरीजों को मेडिकल किटों का वितरण लगातार जारी है। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने मंगलवार को मीडिया को जानकारी देते हुए बताया है कि अभी तक 52 जिलों में 3 लाख 2 हजार 641 मेडिकल किट वितरित की जा चुकी हैं।   मंत्री सिंह ने बताया है कि 18 अप्रैल से 24 मई के मध्य नगरीय क्षेत्रों में फ़ीवर क्लीनिक एवं होम डिलीवरी के माध्यम से 3 लाख 2 हजार 641 मेडिकल किट कोविड मरीज़ों को उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने जानकारी दी है कि 18 अप्रैल को 12 हजार 583, 19 अप्रैल को 16 हजार 914, 20 अप्रैल को 11 हजार 465, 21 अप्रैल को 10 हजार 327, 22 अप्रैल को 11 हजार 76, 23 अप्रैल को 11 हजार 17, 24 अप्रैल को 10 हजार 658, 25 अप्रैल को 9 हजार 497, 26 अप्रैल को 9 हजार 360, 27 अप्रैल को 9 हजार 705, 28 अप्रैल को 11 हजार 141, 29 अप्रैल को 9 हजार 347, 30 अप्रैल को 8 हजार 958, एक मई को 10 हजार 253, 2 मई को 9 हजार 112, 3 मई को 8 हजार 439, 4 मई को 9 हजार 301, 5 मई को 8 हजार 455, 6 मई को 8 हजार 866, 7 मई को 7 हजार 983, 8 मई को 7 हजार 746, 9 मई को 7 हजार 450, 10 मई को 7 हजार 248, 11 मई को 7 हजार 387, 12 मई को 7 हजार 931 ,13 मई को 7 हजार 388 ,14 मई को 6 हजार 618, 15 मई को 6 हजार 687 कोविड, 16 मई को 5 हजार 814, 17 मई को 5 हजार 401, 18 मई को 4 हजार 822,19 मई को 4 हजार 830 ,20 मई को 5 हजार 28, 21 मई को 3 हजार 944, 22 मई को 3 हजार 640, 23 मई को 3 हजार 361 और 24 मई को 2 हजार 889 मरीजों को मेडिकल किट वितरित की गई हैं।

Dakhal News

Dakhal News 25 May 2021


shivpuri,MP KP Yadav ,reached Pichor and Khaniyandhana

शिवपुरी। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में संक्रमित हुए मरीजों का हाल-चाल जानने व स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लेने के लिए गुना शिवपुरी लोकसभा क्षेत्र के सांसद डॉ.केपी यादव निरंतर लोकसभा क्षेत्र का भ्रमण कर रहे हैं। इसी तारतम्य में डॉ. केपी यादव ने पिछोर विधानसभा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पिछोर व खनियाधाना का भ्रमण कर मरीजों का हालचाल जाना एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देशित करते हुए मरीजों को कोई असुविधा न हो इसके लिए बेहतर प्रयास करने को कहा।   सांसद डॉ.यादव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिछोर पहुंचे व उपस्थित मरीजों का हालचाल जाना तथा चिकित्सकों के साथ बैठक कर स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा की। सांसद द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खनियाधाना का भी निरीक्षण कर मरीजों के हालचाल जाना एवं चिकित्सकों से बैठक कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।    इस दौरान सांसद केपी यादव ने सेवा ही संगठन अभियान-02 के तहत कार्यकर्ताओं से मुलाकात की व कार्यकर्ताओं द्वारा चलाए जा रहे अभियान की सराहना की। इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष, पार्टी कार्यकर्ता सभी ने उनके द्वारा किए जा रहे सेवा कार्यों को विस्तार से सांसद डॉ.केपी यादव के समक्ष प्रस्तुत किया।   सांसद डॉ.केपी यादव ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि वैक्सीन हम सभी को लगवाना है, यह पूर्ण रूप से सुरक्षित है तथा कोरोना से लड़ने के लिए कारगर है। सांसद डॉ.केपी यादव ने चिकित्सकों से ऑक्सीजन आपूर्ति तथा अन्य जानकारियां प्राप्त की व किसी प्रकार की कोई कमी ना आने देने का आश्वासन भी दिया।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, BJP government , standing , every class fighting, Corona,Govind Singh Rajput

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के बाद जिनकी मृत्यु हुई है उनको 100000 रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई। जिसका स्वागत एवं मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि मध्यप्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान प्रदेश की जनता को लेकर बहुत ही संवेदनशील है। उन्होंने कोरोनाकाल में हर वर्ग की चिंता करते हुए यथा संभव हर वर्ग की मदद की है। कोरोना काल में 1 दर्जन से अधिक योजनाओं के माध्यम से सभी वर्गों की सहायता प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा की गई है। श्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा उन बच्चों के लिए 5000 रुपये प्रति माह की सहायता दी गई है, जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है। इतना ही नहीं इन बच्चों की शिक्षा का ध्यान भी सरकार रखेगी, इन बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा तथा राशन की व्यवस्था भाजपा सरकार द्वारा की जाएगी।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश में समस्त शासकीय कर्मचारियों की तथा उनके परिवार की चिंता करते हुए यह योजना बनाई गई थी। अगर किसी शासकीय कर्मचारी की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो जाती है तो ऐसी स्थिति में उस कर्मचारी के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति तथा 5 लाख की अनुग्रह राशि दी जाएगी। गरीब नि:शक्त व्यक्तियों के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख तक का मुफ्त इलाज निजी चिकित्सालय में करवाने की योजना बनाई गई, जिसमें अब आयुष्मान कार्ड धारक कोरोना का इलाज निजी अस्पताल में करवा सकते हैं।पत्रकार हो या अधिवक्ता सब की है चिंता मंत्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान हर वर्ग की चिंता करते हैं। शासकीय कर्मचारियों के अलावा प्रदेश के अधिवक्ताओं तथा पत्रकारों के लिए भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना काल में योजना बनाई गई है, जिसमें की प्रदेश के अधिवक्ताओं को 25000 तक का इलाज मुफ्त किया जाएगा, अगर वह कोरोना से संक्रमित होते हैं। साथ ही पत्रकारों के लिए कोरोना संक्रमण होने पर उनका नि:शुल्क इलाज किया जाएगा। इतना ही नहीं अगर कोई शासकीय कर्मचारी कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए संलग्न है और यदि सेवा में रहते संक्रमण के पश्चात उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसे कोरोना योद्धा माना जाएगा।क्षेत्र में 24 घंटे दौड़ रही एंबुलेंस  राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने कहा कि जनता की सेवा के लिए सुरखी विधानसभा क्षेत्र में 24 घंटे एंबुलेंस दौड़ रही है ताकि किसी को भी अस्पताल पहुंचने में देरी ना हो। घर-घर स्वास्थ्य कर्मचारी पहुंचकर जांच कर रहे हैं। पूरे क्षेत्र में आशा कार्यकर्ताओं द्वारा नि:शुल्क दवाई वितरण किया जा रहा है । कोरोना से लडऩे के लिए क्षेत्रवासियों के साथ हमेशा मैं और मेरा परिवार खड़ा है।खुद की कॉलेज को बना दिया कोविड सेंटर : जैसीनगर में कोविड सेंटर खोलने के लिए कहीं जगह नहीं मिल रही थी, जिस पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने खुद की निजी कॉलेज को ही कोविड सेंटर में तब्दील कर दिया, ताकि क्षेत्र की जनता को इलाज मिल सके। इसके साथ ही मंत्री राजपूत द्वारा राहतगढ़ में 50 बिस्तर का कोविड सेंटर बनाया गया। बिलहरा में भी एक कोविड सेंटर तैयार किया गया है जिसमें नि:शुल्क उपचार के साथ मरीज को भोजन की व्यवस्था है।ऑफिस में खोल दिया कॉल सेंटर क्षेत्रवासियों की कोरोना से लडऩे में मदद करने के लिए राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने अपने ऑफिस में ही कॉल सेंटर खोल दिया है। जिसमें क्षेत्रवासी अपने स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को लेकर बात कर सकते हैं तथा उनकी समस्याओं को हल करने के लिए कर्मचारी सलाह देते हैं। इसके अलावा उनके नाम पता लेकर स्वास्थ्य सेवाएं उन तक पहुंचाई जाती हैं।मरीज से करते हैं रोज बात क्षेत्रवासियों से कोरोना संक्रमण के चलते वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एवं फोन पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत लगातार संपर्क में रहते हैं। जो व्यक्ति कोरोना संक्रमित हैं उनसे वीडियो कॉलिंग द्वारा बात करके उनकी समस्याएं सुनी जाती है तथा उनका मनोबल बढ़ाया जाता है। इतना ही नहीं किल कोरोना अभियान के अंतर्गत गांव-गांव पहुंचकर कोरोना के प्रति लोगों को राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत द्वारा जागरूक किया जा रहा है। जरूरतमंदों को 5 माह का नि:शुल्क राशन वितरित कर उन्हें कोरोना गाइडलाइन का पालन करने का आग्रह किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


shivraj singh chouhan

क्या  शिवराज सिंह की कुर्सी खतरे में हैंआलाकमान क्या शिवराज की छुट्टी करेगाशिवराज को लेकर क्या सच -क्या अफवाहकौन -कौन हटाना चाहता है शिवराज कोकांग्रेस को कैसे मिल रही है प्राणवायुशिवराज के बाद कौन बनेगा मुख्यमंत्री कहा जा रहा है कि शिवराज सिंह की कुर्सी खतरे में हैं  ... बीजेपी आला कमान कभी भी उनकी छुट्टी कर सकता है  ... इस तरह की ख़बरों से देखते देखते सोशल मीडिया भर गया  ... इन्हें ख़बरों की बजाये अफवाहें कहें तो ज्यादा ठीक रहेगा  ...क्योंकि खबर की शक्ल और पूरी बॉडी होती है और कहते हैं अफवाहों के पैर नहीं होते और वे फिर भी चलती रहती हैं  ...  कुछ तथाकथित बड़े पत्रकार भी इस मसले पर अपना ज्ञान बघारते नजर आये  ... सबके अपने तर्क और अपनी कसौटियां थीं  ... लुब्बो लुबाब ये की मध्यप्रदेश को अब नए चेहरे की जरुरत हैं  ... वो नया चेहरा कौन   ...  इस पर सब मौन थे  ...सब अपने अपने शुभ लाभ के हिसाब से शिवराज सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाना चाहते हैं  ... वॉट्सऐप के कारीगरों ने तो क्या क्या नहीं लिखा  ... हर व्यक्ति अपने अपने पसंद क व्यक्ति को मुख्यमंत्री बनाने पर तुल गया  ... एक ट्रांसपोर्ट विभाग से जुड़े चिरकुट कलम घिस्सू ने लिखा कि अब महाराज यानि ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्यमंत्री बनेंगे या फिर गोविन्द सिंह राजपूत  ... इसे पढ़कर मुझे  थोड़ी हंसी आई सिंधिया तक तो ठीक  ...  ये गोविन्द सिंह राजपूत कौन   ... ये आदमी मंत्री बन गया ये ही बहुत  ... सिवाए सिंधिया में व्यक्तिगत आस्था रखने के अलावा इनमे ऐसी कौन सी खूबी है जो ये मुख्यमंत्री पद के दावेदार हों  ...लेकिन भांडतंत्र  अफवाहें फैलाने से कहाँ बाज आने वाला है  ...  सवाल ये है कि  तत्काल शिवराज की कुर्सी जाने के मामले की शुरुवात हुई कैसे   ... पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद रिलेक्स मूड में बजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भोपाल दौरे पर आये और सियासत के प्याले में तूफ़ान पैदा कर गए  ...कैलाश विजयवर्गीय बीजेपी के बड़े नेता हैं  ... उनके भोपाल में बहुत रिश्ते हैं  ... कोरोना काल में अपने कुछ दिवंगत हुए मित्रों के परिजनों  से वे मिलने आये थे  ... कैलाश विजयवर्गीय ने इस मसले पर क्या कहा पहले यह जान लेते हैं  ...कैलाश विजयवर्गीय शुद्ध राजनैतिक व्यक्ति हैं तो जाहिर है राजनैतिक मुलाकातें भी ऐसे में होना संभव है और वे हुई भीं और यहीं से  मीडिया के शिवराज सिंह विरोधी तबके ने इसे खबर बनाने की कोशिश की कि इन मुलाकातों से शिवराज सिंह को सत्ता से हटाया जाएगा  ... कैलाश विजयवर्गीय तो दिल्ली रवाना हो गए लेकिन प्याले में  तूफ़ान जारी रहा  ... एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा  से  बीजीपी प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा और वरिष्ठ नेता प्रभात झा की मुलाक़ात और वीडी शर्मा से शिवराज की मुलाकात और न जाने कितनी मुलाकातों ने शिवराज विरोधी मीडिया को पंख लगा दिए  ... एक वेबसाइड चला  रहे कोंग्रेसी पत्रकार ने चार इमली में अपने घर से इन ख़बरों को दिल्ली  प्लांट करने की कोशिश की कि शिवराज गए  ... इसमें इनके साथी चंगु मंगू टाइप दो नेशनल टीवी के कारकुन  भाड़े के टट्टू जैसे नजर आये  ... इनकी इस मुहीम की ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने यह कहकर हवा निकाल दी कि शिवराज सीएम बने रहेंगे  ...राजनीति में मेल मुलाकातें नहीं बात नहीं हैं  ... लेकिन सोशल मीडिया में इन्हें जिस तरह  सच से परे प्रस्तुत किया जाता है  ... ये ठीक नहीं   ... और जब इसमें मीडिया के लोग जुड़ जाते हैं तो तब स्थति और विकट हो जाती है  ... जिनके जिम्मे सच सामने लाना है वे ही कई बार सच से मुँह फेर कर अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए अफवाहों को खबर बना के बढ़ावा देने लगते हैं  ... बीती शाम  भी एक पत्रकार ने मुझे फोन पर कहा शिवराज को दिल्ली तलब कर लिया गया है  ...बस इस्तीफ़ा होने वाला है  ...मैने पूछा कांग्रेस दफ्तर से आ रहे हो या बीजेपी   ...   क्योंकि ये चर्चा वहां या सोशल मीडिया पर ही है  ...ख़ैर शिवराज  सिंह हटें या मुख्यमंत्री  पद पर बने रहें  ... मुझे ये बताओ कि शिवराज ने ऐसा क्या अपराध कर दिया कि तत्काल हाईकमान उनको हटाए  ... ऐसा एक कारण मुझे बताओं तो उन बड़े पत्रकार को सांप सूंघ गया  ... लेकिन तभी एक और पत्रकारनुमा जीव वॉट्सऐप पर यह कहते हुए प्रकट हुए कि एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज  सिंह के करीबी अफसर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ सौ से ज्यादा RTI लगवाई हैं इसलिए शिवराज सिंह को हटाया जा रहा है  ... और एमपी के भावी मुख्यमंत्री ने उन्हें नाम न  उजागर करने  पर ये जानकारी दी है  ...  मतलब आप खुद समझ सकते हैं कि पत्रकारिता के नाम पर चल क्या रहा है  ...  इसबीच भाजपा नेताओं की आपसी मुलाकातें अब भी जारी हैं  ... भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रभात झा से भी मैने सवाल पूछ ही लिया कि अचानक एक दूसरे के घर जाने की जरुरत क्या आ गई  ?  झा साहब ने जवाब भी जोरदार दिया अपने नेताओं के यहाँ नहीं तो क्या सोनिया गाँधी या कमलनाथ के घर जाएँ  ...शिवराज हटने वाले हैं  ... ये चार शब्द ही कांग्रेस के लिए प्राणवायु बने हुए हैं  ...चरमराती हुई कांग्रेस  को   उसके प्रवक्ताओं ने ठोका पीटी कर दुरुस्त करने का काम शुरू कर दिया है  ... कांग्रेस में ऊपर लेबल  ...  मतलब टीम कमलनाथ बीजेपी नेताओं की हर मुलाक़ात का विश्लेषण कर रही है  ... ठीक वैसे ही जैसे  आम पर बौर आते ही  कोयल करती है  ... अब बात भाजपा की  ... शिवराज हटने वाले हैं   ... इन चार शब्दों ने भाजपा मे भी कई लोगों के मन में लड्डू फुटवा दिए हैं  ... चार दिन तक तो अंदर खाने वहां भी सब चुपचाप इसका आनंद लेते रहे  ...  इस सब के बीच  एक व्यक्ति इन अफवाहों से खासे  परेशान थे और वे थे बजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा  ... हालाँकि एमपी में ऐसा भी एक बड़ा वर्ग है जो वीडी शर्मा को भावी मुख्यमंत्री के रूप में देखता है  ... लेकिन शर्मा ने सभी अफवाहों को सिरे से नकार दिया  ...हालाँकि भाजपा में भी एक सच्चाई यह है कि वहां भी  जितने बाराती थे सब दूल्हा बनने को तैयार  ... सिंधिया खेमे के लोगों ने तो एक दूसरे को बधाई तक दे दी  ... बस महाराज मुख्यमंत्री  ... इंदौर में चर्चा थी कि अब भिया कैलाश जी की शपथ होना है  ... गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के घर बैठने वाला मीडिया उनकी शपथ की तैयारी कर रहा था  ... तो मंत्री भूपेंद्र सिंह के समर्थक उनको मुख्यमंत्री मान चुके थे  ... कुछ लोगों ने ऐसे में दावा किया कि मध्यप्रदेश के इस झगडे में केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल एक कॉमन मैन हैं और वही मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री बनाने वाले हैं  ...  ...हमारे सूत्रों ने इस मासले की खूब पड़ताल की और पाया कि शिवराज सिंह चौहान को फिलहाल मुख्यमंत्री पद से नहीं हटाया जा रहा है  ... मध्य्प्रदेह में शिवराज कायम रहेगा  ...  ऐसे में एक कहावत फिर जोर मार रही है  ...  मीडिया हाउस से ख़बरें बहार आती हैं और चण्डूखानों से अफवाहें  ... तय आपको करना है  ... आपको अफवाहों के साथ रहना है या सच के  ...     

Dakhal News

Dakhal News 7 June 2021


bhopal, CM Shivraj, pays tribute , birth anniversary ,Babulal Gaur ,Kailash Narayan Sarang

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति के दो दिग्गज दिवंगत राजनेताओं स्व. कैलाश  नारायण सारंग और पूर्व सीएम स्व. बाबूलाल गौर की आज जयंती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दोनों राजनेताओं को उनकी जयंती पर स्मरण कर विनम्र श्रद्धांजलि दी है और उनके चरणों में नमन किया है।   सीएम शिवराज ने ट्वीट कर पूर्व सांसद कैलाश जोशी को उनकी जयंती पर नमन कर कहा ‘भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता, पूर्व सांसद, आदरणीय स्व. कैलाश नारायण सारंग जी की जयंती पर चरणों में कोटिश: नमन! आपका आदर्श जीवन और विशिष्ट कार्यशैली सर्वदा हमारे लिए प्रेरणा का स्रोत रहेगी।   मुख्यमंत्री शिवराज ने पूर्व सीएम बाबूलाल गौर को उनकी जयंती पर स्मरण करते हुए ट्वीट कर कहा ‘मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, हमारे अग्रज, आदरणीय स्व. बाबूलाल गौर जी की जयंती पर नमन! प्रदेश के विकास और श्रमिकों के हितों की रक्षा तथा जनकल्याण के लिए किये गये अभूतपूर्व प्रयासों के लिए आपको सदैव याद किया जायेगा। मध्यप्रदेश के सच्चे सेवक के चरणों में प्रणाम!

Dakhal News

Dakhal News 2 June 2021


bhopal, Medical Education ,Minister Sarang ,came out ,bicycle, gave message, awareness

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग शुक्रवार कोरोना संक्रमण रोकने के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से साइकिल पर नगर भ्रमण पर निकले। मंत्री सारंग के साथ कलेक्टर अविनाश लवानिया, नगर निगम आयुक्त के.वी.एस. चौधरी, पुलिस अधीक्षक साई कृष्णा सहित अन्य अधिकारियों ने साइकिल चलाकर जगह-जगह लोगों को कोरोना के प्रति सचेत रहने की समझाइश दी।   होम आइसोलेशन वालों से चर्चा इस दौरान मंत्री सांरग ने होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों से चर्चा कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी हासिल की। मरीजों ने बताया कि वह स्वस्थ हैं, उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं है। उन्होंने एक स्थान पर मेडिकल किट देरी से प्राप्त होने की शिकायत मिलने पर संबंधित अधिकारी पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये।    सारंग ने मरीजों से कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये घर से बाहर न निकलें। घर में भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अलग रहें। मास्क की अनिवार्यता जरूरी है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकीय टीम आपके सतत् संपर्क में है, साथ ही एसडीएम, सीएसपी और नगर निगम के एडिश्नल कमिश्नर की टीम सतत् मॉनिटरिंग कर रही है।   दुकानदारों को दी समझाईश मंत्री सारंग ने विभिन्न मार्केट में पहुँचकर दुकानदारों और खरीददारों को समझाइश दी। उन्होंने कहा कि भोपाल को कोरोना से मुक्त करने के लिये सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क जरूरी है। बिना मास्क के ग्राहकों को दुकानदार सामान उपलब्ध न करायें ताकि लोगों में मास्क पहनने की आदत बन सके। उन्होंने दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिये गोले बनाने की भी हिदायत दी।   मास्क पहनने की अपील इस दौरान विश्‍वास सारंग ने नगर भ्रमण के दौरान जगह-जगह रूककर बिना मास्क के दिखे नागरिकों से मास्क पहनने की अपील की। साथ ही उन्हें मास्क दिये। उन्होंने कहा कि बिना मास्क के आप भी संक्रमित होंगे और दूसरों को भी संक्रमित करेंगे। इसके लिये मास्क बहुत जरूरी है। स्वयं को और परिवार को बचाने के लिये मास्क पहनें। उन्होंने पेट्रोल पंप कर्मी को भी मास्क पहनने की समझाइश दी।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Congress calls ,Minister Vishwas Sarang, statement objectionable

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग द्वारा आज दिए बयान को बेहद आपत्तिजनक व निंदनीय बताते हुए कहा कि इसके लिए भाजपा नेतृत्व को माफी मांगना चाहिए और उन्हें तत्काल मंत्रिमंडल से बाहर करना चाहिए क्योंकि उन्होंने इस बयान से ना सिर्फ नारी जगत का अपमान किया है बल्कि मैहर की सुप्रसिद्ध मां शारदा माता के मंदिर के दर्शन का भी मजाक़ उड़ाया है।   सलूजा ने बताया कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी आज सतना जिले के मैहर में स्थित प्रसिद्ध मां शारदा माता के मंदिर में प्रदेश के नागरिकों की खुशहाली और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करने के लिए गए थे। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बेहद आपत्तिजनक शब्दों का उपयोग करते हुए कहा कि "कमलनाथ जी अभी तक 10 जनपद की देवी जी की दहलीज पर जाते थे " उनका यह बयान बेहद निंदनीय है क्योंकि इस बयान से ना उन्होंने सम्पूर्ण नारी जाति का अपमान किया है बल्कि उन भारतीय परंपराओं का भी अपमान किया है, जिसमें नारी को देवी का दर्जा देकर पूजा जाता है, नारी का सम्मान किया जाता है? ऐसा बयान देकर उन्होंने मां शारदा माता मंदिर के दर्शन का भी मजाक उड़ाया है?   कांग्रेस नेता ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा के नेता खुद को धर्म का ठेकेदार समझते हैं, धर्म का रक्षक समझते हैं लेकिन उनकी वास्तविक सोच का पता इस बयान से चलता है कि किस प्रकार वे धार्मिक परंपराओं व मान्यताओं का मजाक उड़ाते हैं और नारी के सम्मान को लेकर उनकी क्या सोच है? किस प्रकार देवी रूपी नारी का वे मजाक उड़ाते हैं? उन्होंने मांग करते हुए कहा कि उनका यह बयान संपूर्ण नारी जगत का भी अपमान है, इसके लिए उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Immunization of workers ,constant contact, priority,Minister Sarang

भोपाल। राज्य शासन ने कोविड संक्रमण की चेन तोड़ने के लिये परिणाम-मूलक कार्यवाही के उद्देश्य से 18 वर्ष एवं उससे अधिक उम्र के सभी नागरिकों को शत-प्रतिशत टीकाकरण के कार्य को समय-सीमा में सम्पादित करने के उद्देश्य से सुझाव प्रस्तुत करने के लिये मंत्री-समूह का गठन किया है। मंत्रालय में इस समूह की गुरुवार को प्रथम वर्चुअल बैठक हुई।   बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री प्रेम सिं पटेल, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर और पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल शामिल हुए।   मंत्री सारंग ने बताया कि मंत्री-समूह के सदस्यों से प्राप्त सुझावों पर अमल करने की रणनीति बनाई जायेगी। टीकाकरण के लिये लोगों को पूर्व सूचना मिल सके, ऐसे प्रयास किये जायेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में नुक्कड़ नाटक, वीडियो रथ, लघु फिल्म और सफलता की कहानी के माध्यम से लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने बताया कि लोगों के सम्पर्क में आने वाले वर्कर्स का प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण होगा। इसमें पेट्रोल पम्प वर्कर्स, फैक्ट्री वर्कर्स, स्ट्रीट वेण्डर्स, उचित मूल्य दुकान वाले और अन्य दुकानदारों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आदिवासी क्षेत्रों में टीकाकरण के लिये फड़ मुंशी की विशेष भूमिका हो सकती है।   सारंग ने बताया कि शहरी क्षेत्र में 18 प्लस के लोगों का अभी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के माध्यम से ही टीकाकरण होगा, जबकि 45 प्लस को सेंटर पर बिना रजिस्ट्रेशन के वैक्सीनेशन कराया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में ऑफलाइन ही टीकाकरण करवाना सुनिश्चित किया गया है। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा जायेगा कि ग्राम पंचायत स्तर पर उसी क्षेत्र के हितग्राही को लाभ मिले।   बैठक में यह सुझाव भी प्राप्त हुए, जिसमें दो-तीन गाँव के बीच में एक स्थान चयनित कर जन-प्रतिनिधि की मौजूदगी में वैक्सीनेशन हो। टीकाकरण के एक दिन पहले माइक आदि से क्षेत्र के लोगों को अवगत करवाया जाये।   बताया गया कि प्रदेश में वैक्सीनेशन का वेस्टेज बहुत कम है, लेकिन इसे अभी शून्य की स्थिति में लाने की जरूरत है। ग्रामीण क्षेत्र में वैक्सीनेशन के दुष्प्रचार पर अंकुश लगाने की आवश्यकता भी जताई गई। प्रदेश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में लगातार प्राप्त हो रही है। वैक्सीनेशन के समन्वय के लिये ग्रामीण विकास, वन, स्कूल शिक्षा और गृह विभाग महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं। इसके लिये उन्हें जोड़ा जायेगा।   बैठक में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के अपर मुख्य सचिव एवं समूह के समन्वयक मोहम्मद सुलेमान और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक छवि भारद्वाज मौजूद थीं।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


anuppur, Corona infected, people should be found ,Bisahulal Singh

अनूपपुर। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने गुरूवार को जिले में कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए ग्राम मेडिय़ारास, धनगवां पूर्वी एवं निगवानी पंचायतों में जाकर पंचायत स्तरीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक ली। उन्होंने ग्रामवासियों से आग्रह किया है कि घर-घर जाकर यह देखें कि कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति तो नहीं है। अगर कहीं कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाया जाए, तो उसको कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराने में मदद करें, ताकि वह वहां रहकर स्वस्थ हो सके। बैठक में जिला सहकारी बैंक के पूर्व संचालक बृजेश गौतम, पूर्व विंध्य विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अनिल गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मिलिन्द नागदेवे तथा मेडि़यारास में सरपंच राधाकोल एवं उपसरपंच अरविन्द मिश्रा, जन अभियान परिषद से जुड़े कोरोना वालंटियर्स तथा निगवानी में पूर्व विधायक दिलीप जायसवाल उपस्थित रहे।   खाद्य मंत्री ने कहा कि आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य गांव में लोगों के बीच पहुंच कर उन्हें टीकाकरण के फायदों के प्रति जागरूक करते हुए उन्हें टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें। साथ ही कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने तथा गांव में अनावश्यक इधर-उधर ना घूमने के लिए लोगों को प्रेरित करें। मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने गरीब परिवारों को पांच माह का राशन देने का निर्णय लिया है। इसके लिए 24 श्रेणियों के परिवारों को राशन दिलवाने में मदद करें। आपने कहा कि कोरोना संक्रमण से किसी परिवार के मुखिया या कमाऊ सदस्य की मृत्यु हो जाने पर आश्रित परिवारों को पांच हजार रूपये मासिक पेंशन एवं एक लाख रूपये की राशि दी जाएगी। इसका लाभ पीड़ित परिवार को दिलाने के लिए कमेटी के सदस्य और कोरोना वालंटियर्स ऐसे परिवारों को चिन्हित कर उन्हें लाभ दिलाना सुनिश्चित करें।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, Medical kit ,reached 3 lakh 2 thousand 641 ,corona patients

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार होम आइसोलेट कोरोना मरीजों को मेडिकल किटों का वितरण लगातार जारी है। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने मंगलवार को मीडिया को जानकारी देते हुए बताया है कि अभी तक 52 जिलों में 3 लाख 2 हजार 641 मेडिकल किट वितरित की जा चुकी हैं।   मंत्री सिंह ने बताया है कि 18 अप्रैल से 24 मई के मध्य नगरीय क्षेत्रों में फ़ीवर क्लीनिक एवं होम डिलीवरी के माध्यम से 3 लाख 2 हजार 641 मेडिकल किट कोविड मरीज़ों को उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने जानकारी दी है कि 18 अप्रैल को 12 हजार 583, 19 अप्रैल को 16 हजार 914, 20 अप्रैल को 11 हजार 465, 21 अप्रैल को 10 हजार 327, 22 अप्रैल को 11 हजार 76, 23 अप्रैल को 11 हजार 17, 24 अप्रैल को 10 हजार 658, 25 अप्रैल को 9 हजार 497, 26 अप्रैल को 9 हजार 360, 27 अप्रैल को 9 हजार 705, 28 अप्रैल को 11 हजार 141, 29 अप्रैल को 9 हजार 347, 30 अप्रैल को 8 हजार 958, एक मई को 10 हजार 253, 2 मई को 9 हजार 112, 3 मई को 8 हजार 439, 4 मई को 9 हजार 301, 5 मई को 8 हजार 455, 6 मई को 8 हजार 866, 7 मई को 7 हजार 983, 8 मई को 7 हजार 746, 9 मई को 7 हजार 450, 10 मई को 7 हजार 248, 11 मई को 7 हजार 387, 12 मई को 7 हजार 931 ,13 मई को 7 हजार 388 ,14 मई को 6 हजार 618, 15 मई को 6 हजार 687 कोविड, 16 मई को 5 हजार 814, 17 मई को 5 हजार 401, 18 मई को 4 हजार 822,19 मई को 4 हजार 830 ,20 मई को 5 हजार 28, 21 मई को 3 हजार 944, 22 मई को 3 हजार 640, 23 मई को 3 हजार 361 और 24 मई को 2 हजार 889 मरीजों को मेडिकल किट वितरित की गई हैं।

Dakhal News

Dakhal News 25 May 2021


shivpuri,MP KP Yadav ,reached Pichor and Khaniyandhana

शिवपुरी। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में संक्रमित हुए मरीजों का हाल-चाल जानने व स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लेने के लिए गुना शिवपुरी लोकसभा क्षेत्र के सांसद डॉ.केपी यादव निरंतर लोकसभा क्षेत्र का भ्रमण कर रहे हैं। इसी तारतम्य में डॉ. केपी यादव ने पिछोर विधानसभा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पिछोर व खनियाधाना का भ्रमण कर मरीजों का हालचाल जाना एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देशित करते हुए मरीजों को कोई असुविधा न हो इसके लिए बेहतर प्रयास करने को कहा।   सांसद डॉ.यादव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिछोर पहुंचे व उपस्थित मरीजों का हालचाल जाना तथा चिकित्सकों के साथ बैठक कर स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा की। सांसद द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खनियाधाना का भी निरीक्षण कर मरीजों के हालचाल जाना एवं चिकित्सकों से बैठक कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।    इस दौरान सांसद केपी यादव ने सेवा ही संगठन अभियान-02 के तहत कार्यकर्ताओं से मुलाकात की व कार्यकर्ताओं द्वारा चलाए जा रहे अभियान की सराहना की। इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष, पार्टी कार्यकर्ता सभी ने उनके द्वारा किए जा रहे सेवा कार्यों को विस्तार से सांसद डॉ.केपी यादव के समक्ष प्रस्तुत किया।   सांसद डॉ.केपी यादव ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि वैक्सीन हम सभी को लगवाना है, यह पूर्ण रूप से सुरक्षित है तथा कोरोना से लड़ने के लिए कारगर है। सांसद डॉ.केपी यादव ने चिकित्सकों से ऑक्सीजन आपूर्ति तथा अन्य जानकारियां प्राप्त की व किसी प्रकार की कोई कमी ना आने देने का आश्वासन भी दिया।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, BJP government , standing , every class fighting, Corona,Govind Singh Rajput

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के बाद जिनकी मृत्यु हुई है उनको 100000 रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई। जिसका स्वागत एवं मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि मध्यप्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान प्रदेश की जनता को लेकर बहुत ही संवेदनशील है। उन्होंने कोरोनाकाल में हर वर्ग की चिंता करते हुए यथा संभव हर वर्ग की मदद की है। कोरोना काल में 1 दर्जन से अधिक योजनाओं के माध्यम से सभी वर्गों की सहायता प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा की गई है। श्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा उन बच्चों के लिए 5000 रुपये प्रति माह की सहायता दी गई है, जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है। इतना ही नहीं इन बच्चों की शिक्षा का ध्यान भी सरकार रखेगी, इन बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा तथा राशन की व्यवस्था भाजपा सरकार द्वारा की जाएगी।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश में समस्त शासकीय कर्मचारियों की तथा उनके परिवार की चिंता करते हुए यह योजना बनाई गई थी। अगर किसी शासकीय कर्मचारी की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो जाती है तो ऐसी स्थिति में उस कर्मचारी के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति तथा 5 लाख की अनुग्रह राशि दी जाएगी। गरीब नि:शक्त व्यक्तियों के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख तक का मुफ्त इलाज निजी चिकित्सालय में करवाने की योजना बनाई गई, जिसमें अब आयुष्मान कार्ड धारक कोरोना का इलाज निजी अस्पताल में करवा सकते हैं।पत्रकार हो या अधिवक्ता सब की है चिंता मंत्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान हर वर्ग की चिंता करते हैं। शासकीय कर्मचारियों के अलावा प्रदेश के अधिवक्ताओं तथा पत्रकारों के लिए भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना काल में योजना बनाई गई है, जिसमें की प्रदेश के अधिवक्ताओं को 25000 तक का इलाज मुफ्त किया जाएगा, अगर वह कोरोना से संक्रमित होते हैं। साथ ही पत्रकारों के लिए कोरोना संक्रमण होने पर उनका नि:शुल्क इलाज किया जाएगा। इतना ही नहीं अगर कोई शासकीय कर्मचारी कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए संलग्न है और यदि सेवा में रहते संक्रमण के पश्चात उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसे कोरोना योद्धा माना जाएगा।क्षेत्र में 24 घंटे दौड़ रही एंबुलेंस  राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने कहा कि जनता की सेवा के लिए सुरखी विधानसभा क्षेत्र में 24 घंटे एंबुलेंस दौड़ रही है ताकि किसी को भी अस्पताल पहुंचने में देरी ना हो। घर-घर स्वास्थ्य कर्मचारी पहुंचकर जांच कर रहे हैं। पूरे क्षेत्र में आशा कार्यकर्ताओं द्वारा नि:शुल्क दवाई वितरण किया जा रहा है । कोरोना से लडऩे के लिए क्षेत्रवासियों के साथ हमेशा मैं और मेरा परिवार खड़ा है।खुद की कॉलेज को बना दिया कोविड सेंटर : जैसीनगर में कोविड सेंटर खोलने के लिए कहीं जगह नहीं मिल रही थी, जिस पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने खुद की निजी कॉलेज को ही कोविड सेंटर में तब्दील कर दिया, ताकि क्षेत्र की जनता को इलाज मिल सके। इसके साथ ही मंत्री राजपूत द्वारा राहतगढ़ में 50 बिस्तर का कोविड सेंटर बनाया गया। बिलहरा में भी एक कोविड सेंटर तैयार किया गया है जिसमें नि:शुल्क उपचार के साथ मरीज को भोजन की व्यवस्था है।ऑफिस में खोल दिया कॉल सेंटर क्षेत्रवासियों की कोरोना से लडऩे में मदद करने के लिए राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने अपने ऑफिस में ही कॉल सेंटर खोल दिया है। जिसमें क्षेत्रवासी अपने स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को लेकर बात कर सकते हैं तथा उनकी समस्याओं को हल करने के लिए कर्मचारी सलाह देते हैं। इसके अलावा उनके नाम पता लेकर स्वास्थ्य सेवाएं उन तक पहुंचाई जाती हैं।मरीज से करते हैं रोज बात क्षेत्रवासियों से कोरोना संक्रमण के चलते वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एवं फोन पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत लगातार संपर्क में रहते हैं। जो व्यक्ति कोरोना संक्रमित हैं उनसे वीडियो कॉलिंग द्वारा बात करके उनकी समस्याएं सुनी जाती है तथा उनका मनोबल बढ़ाया जाता है। इतना ही नहीं किल कोरोना अभियान के अंतर्गत गांव-गांव पहुंचकर कोरोना के प्रति लोगों को राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत द्वारा जागरूक किया जा रहा है। जरूरतमंदों को 5 माह का नि:शुल्क राशन वितरित कर उन्हें कोरोना गाइडलाइन का पालन करने का आग्रह किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Agriculture Minister Patel, took stock , arrangements in Seoni Malwa

भोपाल। किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा हैं कि कोविड मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराया जाना सुनिश्चित किया जा रहा है। इसमें किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहने दी जायेगी। उन्होंने मंगलवार को होशंगाबाद जिले के  सिवनी-मालवा में डीसीएचसी में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार के प्रबंधों का जायजा लिया।   श्री पटेल ने कहा कि मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने के लिए  प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पुख्ता  बंदोबस्त  किये हैं। ऑक्सीजन, बेड्स, आवश्यक दवाओं सहित अन्य संसाधनों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। इसके सकारात्मक परिणाम भी प्राप्त हो रहे हैं। प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट घट कर 10 प्रतिशत के नीचे आ गया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन  तोड़ने के लिए प्रदेश में व्यापक स्तर पर किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है।    मंत्री श्री पटेल ने मंगलवार को  सिवनी-मालवा में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में बनाये गये 100 बेड्स के डेडीकेटेड कोविड हेल्थ केयर सेंटर का  निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने सीएचसी में निर्माणाधीन सेंट्रल ऑक्सीजन प्लांट का भी निरीक्षण किया और इसे  शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये। श्री पटेल ने डीसीएचसी में भर्ती मरीजों का हालचाल जाना और स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में जानकारी लेकर शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।    आयुष्मान कार्ड का वितरण और स्वास्थ्य विभाग की टीम का किया अभिनंदन श्री पटेल ने मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के तहत कोविड मरीजों को हॉस्पिटल द्वारा बनाये गये आयुष्मान कार्ड का भी वितरण किया। इसके बाद मंत्री श्री पटेल ने तहसील डोलरिया में कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि कोरोना के इस संकट में मानवता की सेवा के लिए समस्त चिकित्सक एवं पैरामेडिकल स्टॉफ की टीम पूरे समर्पण एवं निष्ठा से दिन-रात कार्य कर रही है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम का अभिनंदन किया।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal,Maintain

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के समय यह पीड़ित मानवता की सेवा का महान अवसर है। आपको 'सिस्टर' के धर्म का पूरा निर्वाह करना है। मुख्यमंत्री मंगलवार को अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों में नव-नियुक्त नर्सों को संबोधित कर रहे थे। प्रदेश में 1015 नर्सों की नियुक्ति की गई है। नर्सेज जिलों में एन.आई.सी केन्द्रों से शामिल हुईं।   मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना के समय मरीज के साथ अस्पताल में अटेंडेंट नहीं रहता। ऐसे में नर्स की ड्यूटी ओर बढ़ जाती है। उसे निरंतर मरीज के हेल्थ पैरामीटर्स चैक करने के अलावा उसकी निरंतर देखभाल करना तथा मनोबल बढ़ाना भी आवश्यक है। अपने नवीन कार्य का प्रारंभ करें और अपनी सेवा से मरीजों में नव-जीवन का संचार करें। आप सभी को मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ।   'सिस्टर' स्नेह, प्रेम और आत्मीयता की प्रतिमूर्ति मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्स को हम 'सिस्टर' अर्थात बहन कहते हैं। बहन स्नेह, प्रेम और आत्मीयता की प्रतिमूर्ति होती है। उनका परिवार के प्रति अद्भुत स्नेह होता है। इसी प्रेम, स्नेह एवं आत्मीयता से मरीजों की सेवा करें। उन्होंने सिस्टर सरोज यादव द्वारा कोरोना उपचार के दौरान की गई सेवा की सराहना भी की।   यह समय युद्ध काल जैसा है मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना काल युद्ध काल जैसा है। हम पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से कोरोना के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहे हैं। हमें दूसरी लहर के बाद अब तीसरी लहर के लिए भी तैयार रहना है। ऐसे में 'सिस्टर' पूरे धैर्य एवं संयम के साथ अपने पवित्र कर्त्तव्य का निर्वाह करें।   सकारात्मक दृष्टिकोण रखकर कार्य करें मुख्यमंत्री ने एक कहानी के माध्यम से बताया कि कार्य के प्रति तीन प्रकार का दृष्टिकोण हो सकता है। पहला कार्य को मजबूरी अथवा बोझ मानना, दूसरा उसे केवल आजीविका मानना तथा तीसरा कार्य को सेवा का अवसर मानकर उसके लिए ईश्वर को धन्यवाद देना। हम कार्य को सेवा मानें और सकारात्मक दृष्टिकोण रखकर कार्य करें।   वैक्सीन का एक भी डोज़ बेकार न जाए मुख्यमंत्री ने कहा कि आप में से कई 'सिस्टर्स' की ड्यूटी वैक्सीनेशन के लिए लगाई जायेगी। वैक्सीन हमारे लिए अमृत समान है। सभी 'सिस्टर्स' इस बात का ध्यान रखें कि वैक्सीन का एक भी डोज़ बेकार न जाये।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal,Maintain

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के समय यह पीड़ित मानवता की सेवा का महान अवसर है। आपको 'सिस्टर' के धर्म का पूरा निर्वाह करना है। मुख्यमंत्री मंगलवार को अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों में नव-नियुक्त नर्सों को संबोधित कर रहे थे। प्रदेश में 1015 नर्सों की नियुक्ति की गई है। नर्सेज जिलों में एन.आई.सी केन्द्रों से शामिल हुईं।   मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना के समय मरीज के साथ अस्पताल में अटेंडेंट नहीं रहता। ऐसे में नर्स की ड्यूटी ओर बढ़ जाती है। उसे निरंतर मरीज के हेल्थ पैरामीटर्स चैक करने के अलावा उसकी निरंतर देखभाल करना तथा मनोबल बढ़ाना भी आवश्यक है। अपने नवीन कार्य का प्रारंभ करें और अपनी सेवा से मरीजों में नव-जीवन का संचार करें। आप सभी को मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ।   'सिस्टर' स्नेह, प्रेम और आत्मीयता की प्रतिमूर्ति मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्स को हम 'सिस्टर' अर्थात बहन कहते हैं। बहन स्नेह, प्रेम और आत्मीयता की प्रतिमूर्ति होती है। उनका परिवार के प्रति अद्भुत स्नेह होता है। इसी प्रेम, स्नेह एवं आत्मीयता से मरीजों की सेवा करें। उन्होंने सिस्टर सरोज यादव द्वारा कोरोना उपचार के दौरान की गई सेवा की सराहना भी की।   यह समय युद्ध काल जैसा है मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना काल युद्ध काल जैसा है। हम पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से कोरोना के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहे हैं। हमें दूसरी लहर के बाद अब तीसरी लहर के लिए भी तैयार रहना है। ऐसे में 'सिस्टर' पूरे धैर्य एवं संयम के साथ अपने पवित्र कर्त्तव्य का निर्वाह करें।   सकारात्मक दृष्टिकोण रखकर कार्य करें मुख्यमंत्री ने एक कहानी के माध्यम से बताया कि कार्य के प्रति तीन प्रकार का दृष्टिकोण हो सकता है। पहला कार्य को मजबूरी अथवा बोझ मानना, दूसरा उसे केवल आजीविका मानना तथा तीसरा कार्य को सेवा का अवसर मानकर उसके लिए ईश्वर को धन्यवाद देना। हम कार्य को सेवा मानें और सकारात्मक दृष्टिकोण रखकर कार्य करें।   वैक्सीन का एक भी डोज़ बेकार न जाए मुख्यमंत्री ने कहा कि आप में से कई 'सिस्टर्स' की ड्यूटी वैक्सीनेशन के लिए लगाई जायेगी। वैक्सीन हमारे लिए अमृत समान है। सभी 'सिस्टर्स' इस बात का ध्यान रखें कि वैक्सीन का एक भी डोज़ बेकार न जाये।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal,Governor Anandiben Patel, planted 80 sandalwood plants, Raj Bhavan complex

भोपाल। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंगलवार को पचमढ़ी राजभवन परिसर में चंदन के 80 पौधों का रोपण किया है।    उल्लेखनीय है कि भारतीय चंदन का संसार में सर्वोच्च स्थान है। इस पेड़ की ऊँचाई 18 से लेकर 20 मीटर तक होती है। दस वर्ष के पेड़ हो जाने पर उनसे खुशबू आने लगती है। इसकी पत्तियों, जड़, बीज आदि का भी पूरा इस्तेमाल किया जाता है। चंदन की प्रमुखतः दो प्रजाति मिलती हैं जो लाल और सफेद चंदन है। लाल चंदन में खुशबू कम है, जबकि सफेद चंदन में भरपूर मात्रा में खुशबू होती है।    चंदन के पेड़ का आर्थिक महत्व बहुत है। इसकी लकड़ी का उपयोग मूर्तिकला, तथा साजसज्जा के सामान बनाने में और अन्य उत्पादनों, अगरबत्ती, हवन सामग्री, तथा सौगंधिक तेल के निर्माण में होता है।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal, Minister of State visits ,Mungavali Hospital ,gets patients

भोपाल। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री एवं कोविड-19 के आशोकनगर जिला प्रभारी मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव सिविल अस्पलात मुंगावली पहुँचकर रोगियों तथा चिकित्सकों से मिले। उन्होंने रोगियों एवं उनके परिजनों से उपलब्ध हो रहे उपचार की जानकारी ली। राज्य मंत्री ने चिकित्सकों से कहा कि आमजन के इलाज में कोई कमी न आने पाये। अस्पताल की प्रत्येक जरूरत को समय पर पूरा किया जायेगा।   राज्य मंत्री ने लगवाया को-वैक्सीन का दूसरा डोजमुंगावली नगर में जन-जागरूकता के उद्देश्य से भ्रमण के दौरान राज्यमंत्री यादव नगर भवन में संचालित वैक्सीनेशन सेंटर पहुँचे। श्री यादव ने निर्धारित समय अवधि पूर्ण होने पर को-वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


bhopal, BJP

भोपाल। हमारे संवेदनशील मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश की भाजपा सरकार पूरे कोरोना संकट के दौरान पीड़ित, दुखी, परेशान और लाचार लोगों की चिंता करती रही है। सरकार समाज को साथ लेकर जिस तरह से काम कर रही है, उसके अच्छे परिणाम भी दिखाई देने लगे हैं, लेकिन आज मुख्यमंत्रीजी ने जो घोषणा की, वैसी घोषणा कोई बड़े दिल वाला और जनता के दुख को महसूस करने वाला जननेता ही कर सकता है। उक्‍त बातें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्‍यक्ष विष्‍णुदत्‍त शर्मा ने गुरुवार को वर्चुअल प्रेसवार्ता में कही।    प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना संकट में बेसहारा हुए परिवारों को सहारा देने के संबंध में मुख्यमंत्रीजी ने जो घोषणा की है, उससे पीड़ित परिवारों की मुश्किलों को कम करने और नया जीवन शुरू करने में मदद मिलेगी। मैं इस घोषणा के लिए और कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई से पूरे समाज को जोड़ने के लिए मुख्यमंत्रीजी का अभिनंदन करता हूं, आभार जताता हूं। श्री शर्मा ने कोरोना काल में दिवंगत पत्रकारों और नागरिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि कोरोना की त्रासदी ने कई बच्चों के सिर से माता-पिता का साया छीन लिया है, तो कई बुजुर्गों से उनके बुढ़ापे की लाठी छीन ली है। बहुत से परिवारों में अब कमाने वाला कोई नहीं बचा। कई घर ऐसे भी हैं, जिनमें अब सिर्फ बुजुर्ग माता-पिता और बच्चे ही रह गए हैं। हमारे संवेदनशील मुख्यमंत्रीजी के नेतृत्व में राज्य मंत्रिमंडल ने ऐसे परिवारों को पांच हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन, मुफ्त राशन तथा निःशुल्क शिक्षा आदि की जो घोषणा की है, वह निश्चित रूप से इन परिवारों के जीवन में आशा का संचार करेगी, उन्हें नया जीवन शुरू करने का उत्साह देगी।    शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की सरकार ने प्रदेश को बेसहारा परिवारों के लिए इस तरह की व्यवस्था करने वाला देश का पहला राज्य बना दिया है। उन्‍होंने कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ इस लड़ाई में मध्यप्रदेश की सरकार दिन रात काम कर रही है और सरकार के साथ पार्टी संगठन भी पूरे समन्वय के साथ काम कर रहा है। हमारे कार्यकर्ता कहीं कोविड केयर सेंटर बना रहे हैं, तो कहीं लोगों को भोजन और दवाएं उपलब्ध करा रहे हैं।    प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र पर चलती है और कोरोना के खिलाफ यह लड़ाई भी इससे अछूती नहीं है। हमारी सरकार ने महामारी के खिलाफ लड़ाई में समाज को भी साथ लिया है। सरकार ने हर स्तर पर जो क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप बनाए हैं, उनका सदस्य कोई भी व्यक्ति, किसी भी राजनीतिक दल का कार्यकर्ता हो सकता है। सरकार की इस सोच के चलते अब कार्यकर्ताओं के साथ आमजन भी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में आगे आ रहे हैं और गांवों में स्वेच्छा कर्फ्यू लगाने से लेकर वेक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित करने तक के काम कर रहे हैं।    उन्‍होंने कहा कि समाज के इसी सहयोग का परिणाम है कि मध्यप्रदेश सबसे संक्रमित राज्यों की सूची में चौथे स्थान से अब 14 वें स्थान पर आ गया है और राज्य में पॉजीटिविटी रेट भी घटकर 12.72 प्रतिशत पर आ गया है। श्री शर्मा ने कहा कि इन समन्वित प्रयासों के लिए मैं प्रदेश सरकार और प्रदेश के नागरिकों को धन्यवाद देता हूं, आभार प्रकट करता हूं। 

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2021


bhopal, When prices,petrol remained stable , elections, Bhupendra Gupta

भोपाल। मप्र कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि एक तरफ जनता कोरोना के हमले से बेजार जान बचाती फिर रही है। दूसरी तरफ नकली रेमडेसीविर बनाने वाले, ऑक्सीजन सिलेंडर की मुनाफाखोरी करने वाले डाकुओं से परेशान है। अस्पताल में बेड नहीं है, दवाई नहीं है, बिल चुकाने के लिए पैसे नहीं है। इन परेशानियों से बेजान जनता को अब पेट्रोल की बढ़ती कीमतों की आग में झोंक दिया सरकार ने। पेट्रोल सेंचुरी मार रहा है और भाजपा चियर लीडर्स की तरह डांस कर रही है।   भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि मध्यप्रदेश में  लगभग 2 लाख सक्रिय मरीज अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं लगभग एक लाख मरीज घर से इलाज करा रहे हैं इनके परिजनों को अस्पताल जाना होता है दवा लेने जाना होता है। पेट्रोल की बढ़ी हुई कीमतों ने उनकी गाड़ी के पहिये बांध दिये हैं। लगातार बढ़ रही पेट्रोल की कीमतों की निंदा करते हुये कांग्रेस नेता ने कहा कि जब चुनावों में जनता को ठगने के लिये पेट्रोल डीजल की कीमतें स्थिर रख सकते हैं तो कोरोना त्रासदी में क्यों नहीं? इस समय पूरी दुनिया में कहीं भी पेट्रोल डीजल की कीमत नहीं बढ़ रही तो भारत में क्यों बढ़ रही है?    भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि भाजपा के वक्तव्यवीर नेता किसानों के खाद बीज की कीमतों पर बयान क्यों नहीं देते। बतायें कि डीएपी की बोरी 1200 रुपये से सीधे 1900 रुपये कैसे हो गई है? क्या उसका समर्थन मूल्य भी 900 रुपये बढ़ाया है?

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal,Distribution, free pulses, oil along, wheat, rice , Food Minister Singh

भोपाल। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने कहा कि हितग्राहियों को नि:शुल्क वितरित किए जाने वाले खाद्यान में दाल एवं खाद्य तेल के वितरण के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से वे चर्चा करेंगे। मंत्री सिंह ने बुधवार को अंतरविभागीय गरीब कल्याण समूह की वर्चुअल बैठक में समिति के सदस्यों द्वारा हितग्राहियों को दिये जाने वाले खाद्यान्न के साथ दाल और तेल उपलब्ध करवाने के प्रस्ताव पर यह बात कही। बैठक में समिति के सदस्यों में नगरीय विकास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हरदीप सिंह डंग, पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल एवं श्रम मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया भी वर्चुअली उपस्थित रहे।   मंत्री डंग ने कहा कि हितग्राहियों को गेहूँ एवं चावल के साथ एक किलो दाल भी वितरित की जाना चाहिए। उनकी बात का समर्थन करते हुए श्रम मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया ने कहा कि खाद्य तेल का आयात बाधित होने के कारण तेल की कीमतें लगभग दुगनी हो गई हैं। प्रदेश का गरीब तेल खरीदने की स्थिति में नहीं है। ऐसी स्थिति में गेहूँ, चावल, दाल के साथ खाद्य तेल भी हितग्राहियों को नि:शुल्क वितरित किया जाना चाहिए।   वास्तविक हितग्राही हों सुगमता से लाभान्वित प्रमुख सचिव खाद्य फैज़ अहमद क़िदवई ने बताया कि अंतर्विभागीय गरीब कल्याण समूह योजना में भारत सरकार द्वारा ऐसे व्यक्ति, जिन्हें सरकारी सहायता की आवश्यकता है, की पहचान के लिए गरीबी रेखा का निर्धारण किया गया है। निर्धनता का निर्धारण विभिन्‍न मापदण्डों के आधार पर किया गया है। निर्धनों के कल्याण के लिए संबंधित विभागों के आपसी समन्वय एवं सहभागिता के लिए अंतरविभागीय गरीब कल्याण समूह का गठन किया गया है।   अन्न योजना के हितग्राही परिवार प्रमुख सचिव किदवई ने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के अंतर्गत दो प्रकार के हितग्राहियों को खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। इनमें पहला बीपीएल श्रेणी के एवं दूसरे हितग्राही प्राथमिकता श्रेणी के परिवार शामिल हैं। इनमें अंत्योदय परिवार के सदस्यों को एक माह में गेहूँ, चावल और मोटा अनाज एक रूपये प्रति कि.ग्रा. की दर से 35 कि.ग्रा. प्रति परिवार, एक रूपये प्रति कि.ग्रा. की दर से 20 किलो शक्कर प्रति परिवार, एक रूपये प्रति किलो नमक प्रति परिवार एवं 3 लीटर कैरोसीन 35 से 40 रूपये लीटर प्रति परिवार की दर से उपलब्ध कराया जा रहा है।   प्राथमिकता श्रेणी के परिवार किदवई ने बताया कि दूसरे हितग्राही प्राथमिकता श्रेणी के परिवारों को गेहूँ, चावल और मोटा अनाज प्रति परिवार 35 कि.ग्रा. एक रूपये प्रति किलो की दर से, एक कि.ग्रा. नमक एक रूपये प्रति किलो की दर से प्रति परिवार एवं कैरोसीन 35 से 40 रूपये प्रति लीटर की दर से एक लीटर प्रति परिवार उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उपरोक्त के अतिरिक्त कोरोना की दूसरी लहर में प्रत्येक हितग्राही को भारत सरकार की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में 5 किलो प्रति सदस्य, प्रति माह नि:शुल्क खाद्यान्न भी प्रदान किया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण में हितग्राहियो को अप्रैल से जून तीन माह तक नियमित आवंटन का खाद्यान्न स:शुल्क के स्थान पर नि:शुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal, Former minister, PC Sharma ,gave incentive, cremators in crematorium

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कोविड महामारी के दौरान भदभदा, सुभाष नगर, झदा कब्रिस्तान में कोरोना मृतकों के शवों का अंतिम संस्कार करने व दफनाने वाले कर्मचारियों और कोरोना मृतकों के शव अस्पताल से विश्राम घाटों और झदा कब्रिस्तान तक लाने वाले नगर निगम के ड्रायवरों को कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए भदभदा विश्राम घाट के सभागार में प्रोत्साहन राशि के ड्राफ्ट बांटकर सम्मानित किया।   गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर में करीब 64 कर्मचारी दिन रात अपनी सेवाएं देकर कोरोना मृतकों के परिजनों के साथ कंधा मिलाकर खडे है और लगातार पीडि़त परिवारों की सेवा कर रहे हैं। इन कर्मचारियों की किसी भी संगठन ने भी सुध नही ली, ऐसे में पूर्व मंत्री एवं विधायक पीसी शर्मा कोरोना वॉरियर्स की हौसला अफजाई करने के लिए आगे आये और मदद करने का बीडा उठाया। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने इस मौके पर कहां कि सरकार को कोरोना ड्यूटी में लगे सभी विभागों के कर्मचारियों को कोरोना वॉरियर्स घोषित करना चाहिए। क्योंकि सभी विभागों के कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे हैं। वे अपने परिवारों की चिंता किये बगैर अपने कार्यों को बखूबी से अंजाम दे रहे है। इसलिए ऐसे सभी विभागों के कर्मचारियों को कोरोना वारियर्स का दर्जा मिलना चाहिए।   शाल, श्रीफल और प्रोत्साहन राशि से किया सम्मानितपूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने भदभदा विश्राम घाट समिति के अध्यक्ष अरुण चौधरी, उपाध्यक्ष रमेश साहबानी, कोषाध्यक्ष अजय दुबे, सचिव ममतेश शर्मा, सुरेश भागचंदानी सदस्य,  झदा कब्रिस्तान के अध्यक्ष रेहान गोल्डन, सुभाष नगर के विक्षाम घाट अधय्क्ष प्रमोद मोदी (चुघ), का शाल, श्रीफल से सम्मानित किया और सभी कर्मचारियों और शव वाहनों के ड्राइवरों के प्रोत्साहन राशि के चेक उन्हें सौंपे।

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2021


bhopal, Former minister, PC Sharma ,gave incentive, cremators in crematorium

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कोविड महामारी के दौरान भदभदा, सुभाष नगर, झदा कब्रिस्तान में कोरोना मृतकों के शवों का अंतिम संस्कार करने व दफनाने वाले कर्मचारियों और कोरोना मृतकों के शव अस्पताल से विश्राम घाटों और झदा कब्रिस्तान तक लाने वाले नगर निगम के ड्रायवरों को कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए भदभदा विश्राम घाट के सभागार में प्रोत्साहन राशि के ड्राफ्ट बांटकर सम्मानित किया।   गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर में करीब 64 कर्मचारी दिन रात अपनी सेवाएं देकर कोरोना मृतकों के परिजनों के साथ कंधा मिलाकर खडे है और लगातार पीडि़त परिवारों की सेवा कर रहे हैं। इन कर्मचारियों की किसी भी संगठन ने भी सुध नही ली, ऐसे में पूर्व मंत्री एवं विधायक पीसी शर्मा कोरोना वॉरियर्स की हौसला अफजाई करने के लिए आगे आये और मदद करने का बीडा उठाया। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने इस मौके पर कहां कि सरकार को कोरोना ड्यूटी में लगे सभी विभागों के कर्मचारियों को कोरोना वॉरियर्स घोषित करना चाहिए। क्योंकि सभी विभागों के कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे हैं। वे अपने परिवारों की चिंता किये बगैर अपने कार्यों को बखूबी से अंजाम दे रहे है। इसलिए ऐसे सभी विभागों के कर्मचारियों को कोरोना वारियर्स का दर्जा मिलना चाहिए।   शाल, श्रीफल और प्रोत्साहन राशि से किया सम्मानितपूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने भदभदा विश्राम घाट समिति के अध्यक्ष अरुण चौधरी, उपाध्यक्ष रमेश साहबानी, कोषाध्यक्ष अजय दुबे, सचिव ममतेश शर्मा, सुरेश भागचंदानी सदस्य,  झदा कब्रिस्तान के अध्यक्ष रेहान गोल्डन, सुभाष नगर के विक्षाम घाट अधय्क्ष प्रमोद मोदी (चुघ), का शाल, श्रीफल से सम्मानित किया और सभी कर्मचारियों और शव वाहनों के ड्राइवरों के प्रोत्साहन राशि के चेक उन्हें सौंपे।

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2021


Bhopal,Ajay Vishnoi ,shrugged off leadership ,defeat in Damoh, Congress tightened

भोपाल। दमोह उपचुनाव में मिली हार को लेकर एक तरफ जहां पार्टी नेतृत्व ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है, वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाए हैं। इधर, इसी को लेकर विपक्षी दल कांग्रेस ने भी भाजपा नेतृत्व पर तंज कसा है।   दमोह उपचुनाव में पूरी ताकत झोंकने के बाद भी मिली हार को लेकर भाजपा में विरोध खुलकर सामने आने लगा है। सात बार के विधायक जयंत मलैया को पार्टी ने नोटिस दिया है, वहीं उनके बेटे सिद्धार्थ मलैया को निलंबित कर दिया गया है। ऐसे में अब वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री अजय विश्नोई को एक बार फिर पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर निशाना साधने का मौका मिला गया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए कहा कि क्या हार की जवाबदारी टिकट बांटने वाले और चुनाव प्रभारी लेंगे।   सही मौका देखते हुए कांग्रेस ने भी इसे लेकर सीधे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पार्टी अध्यक्ष पर निशाना साध दिया है। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी के.के. मिश्रा ने एक पोस्ट करते हुए लिखा है कि डीएम-एसपी के तबादले किए गए हैं, क्या अब तक भाजपा इन्हीं के बल पर जीतती आई है? अगर यही हार के लिए जिम्मेदार हैं, तो 15 सालों के सीएम और टिकट बांटने वाले प्रदेश अध्यक्ष निर्दोष कैसे हो सकते हैं?

Dakhal News

Dakhal News 8 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability