राजनीति


bhopal, Chief Minister, Shivraj Singh Chouhan ,planted Gulmohar plant ,Smart Garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधारोपण करने के संकल्प के क्रम में मंगलवार को राजधानी भोपाल के स्मार्ट उद्यान में गुलमोहर का पौधा लगाया। इस दौरान उन्होंने नागरिकों से भी पौधा लगाने की अपील की।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी साझा करते हुए लिखा है कि -आज भोपाल के स्मार्ट पार्क में गुलमोहर का पौधा लगाया। गुलमोहर विश्व के सुंदरतम वृक्षों में से एक है। यह सामान्य कमजोरी, अतिसार, खून की कमी, पीलिया एवं मधुमेह से मुक्ति में लाभप्रद होता है। पेड़-पौधे ही धरती का सौंदर्य व मानव जीवन का आधार हैं। इन्हें रोपिये। बता दें कि मुख्यमंत्री चौहान अपने संकल्प के पालन में प्रतिदिन एक पौधा लगाते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2021


bhopal, Congress alleges, fake samples , reduce positivity - Government

भोपाल।  मप्र कांग्रेस ने सरकार से कोरोना की पॉजिटिविटि घटाने के आरोपों पर जवाब मांगा है। कांग्रेस का आरोप है कि पॉजिटिविटी घटाने के लिए नकली मरीज और नकली सैंपल कांड का खुलासा देश के बड़े अखबार ने किया है जिस पर कांग्रेस लगातार पहले से सवाल उठाती रही है। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने सरकार से इस खबर का स्पष्टीकरण मांगते हुए कहा है कि नकली जांचों के आधार पर लोगों को नेगेटिव मानना तीसरी लहर की पैदाइश का बड़ा सरकारी कारण बन सकता है जिसकी जिम्मेदार सरकार होगी। इस तरह से नेगेटिव लोग जब कोरोना कैरियर बन कर समाज में और भीड़ में घूमेंगे तो किसी नए कोवड वैरीअंट का म्यूटेशन भी हो सकता है जिस पर यूनीवर्शल वैक्सीनेशन की इतनी बड़ी तैयारी का नुकसान हो सकता है।   भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि सरकार बताए कि जिस तरह ज्यादातर फीवर क्लीनिक खाली हैं, 70 से अधिक जांच शिविर बंद हैं तब ये हजारों जांचें कहां हो रहीं हैं। सरकार यह भी बताये कि नकली सैंपलों की जांच का उद्देश्य क्या है ? अगर इन नकली जाचों के नाम पर टेस्ट किट चुराने का काम चल रहा है या रीसाइक्लिंग का काम चल रहा है तो इस भ्रष्टाचार की जांच होनी चाहिए ।   कांग्रेस नेता ने कहा कि इस तरह का कांड समूची मानवता के लिए खतरा है क्या यही पिकनिक केवीनेट का प्रतिफल है? हजारों संक्रमित जब अनजाने में भीड़ में घूमेंगे तो लाखों लोगों को संक्रमित करेंगे इस आपराधिक लापरवाही के लिए जिम्मेदार कौन होगा सरकार बताये?

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2021


bhopal, Chief Minister, Shivraj paid homage ,Guru Arjan Dev Ji Sahib

भोपाल। सिखों के पांचवें गुरु, श्रद्धेय गुरु अर्जन देव जी साहिब का आज (सोमवार को) शहीदी दिवस है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अवसर पर श्रद्धेय गुरु अर्जन देव जी साहिब के चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित किये हैं।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए दोहा लिखा है कि-"सरताज-ए-शहादत पंचम पातशाह अर्जन देव फकीरा, ज़बर-ज़ुलम के दौर में सुच्चा उच्चा था तेरा जमीरा !!" उन्होंने आगे लिखा है कि-धर्म और मानवता के कल्याण के लिए बलिदान होने वाले, सिखों के 5वें गुरु, श्रद्धेय गुरु #अर्जन_देव जी साहिब के शहीदी दिवस पर उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूं!मुख्यमंत्री ने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि गुरु अर्जन देव जी ने हर कष्ट हंसते-हंसते सहते हुए यही अरदास किया कि -''तेरा कीआ मीठा लागे॥ हरि नामु पदारथ नानक मांगे॥'' धर्म और मानवता की सेवा ही उनके चरणों में सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

Dakhal News

Dakhal News 14 June 2021


bhopal, Congress made, serious allegations, against the government

भोपाल। पेट्रोल- डीजल के लगातार बढ़ रहे दामों को लेकर कांग्रेस लगातार सरकार पर हमलावर बनी हुई है और निशाना साध रही है। प्रदेश कांग्रेस ने एक बार फिर सरकार से पेट्रोल डीजल से एक्साईज ड्यूटी घटाने और जनता को महंगाई से राहत देने की मांग की है। कांग्रेस का आरोप है कि जब दांत हैं तब चने नहीं, जब चने हैं तब दांत नहीं। भारत सरकार इस दोहरी नीति पर चलकर जनता को राहत पहुंचाने का अभिनय कर रही है।   प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने रविवार को जारी बयान में जीएसटी की नई नीति को अपरिपक्व बताते हुए सरकार से जानना चाहा कि पिछले 3 महीने से जब देश का आम आदमी मर रहा था लोगों के पास पैसे नहीं थे तब आक्सीजन, दवाई, इंजेक्शन, एम्बूलेंस पर जीएसटी लदा हुआ था। आज जब इनकी आवश्यकता कम हो गई है तो जीएसटी हटा लिया गया है। अब देश की जनता को अपने प्राणों की सुरक्षा के लिए वैक्सीन की जरूरत है तो वैक्सीन पर से जीएसटी नहीं हटाया गया है आखिर यह कौन सी नीति है? कांग्रेस नेता ने कहा कि जब जनता को राहत की जरूरत है तब उस पर वजन डाला जा रहा है और जब स्वाभाविक रूप से बाजार में खपत कम हो गई है तो उस पर से जीएसटी हटा लिया। यह दोहरी नीति देश के लिए और देश की जनता के कल्याण के लिए अनुकूल नहीं है ।   भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि 104 रुपये लीटर का पेट्रोल लोगों की जान ले रहा है। महंगाई आसमान पर है लेकिन सरकार मुनाफे में कमी करने को तैयार नहीं है। उन्होंने मांग की कि मोदी जी पेट्रोल डीजल पर एक्साईज ड्यूटी कम करें। परिवहन की कीमतों के कारण एम एस एम ई बाजार में टिक नहीं पा रहा है। अब देश का पूरा व्यापार फ्लिपकार्ट, अमेजान, विलमार और जियो माल के पास चला जायेगा और स्थानीय बाजारों की आर्थिक गतिविधियों में हिस्सेदारी नगण्य हो जायेगी।

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2021


shivraj singh chouhan

क्या  शिवराज सिंह की कुर्सी खतरे में हैंआलाकमान क्या शिवराज की छुट्टी करेगाशिवराज को लेकर क्या सच -क्या अफवाहकौन -कौन हटाना चाहता है शिवराज कोकांग्रेस को कैसे मिल रही है प्राणवायुशिवराज के बाद कौन बनेगा मुख्यमंत्री कहा जा रहा है कि शिवराज सिंह की कुर्सी खतरे में हैं  ... बीजेपी आला कमान कभी भी उनकी छुट्टी कर सकता है  ... इस तरह की ख़बरों से देखते देखते सोशल मीडिया भर गया  ... इन्हें ख़बरों की बजाये अफवाहें कहें तो ज्यादा ठीक रहेगा  ...क्योंकि खबर की शक्ल और पूरी बॉडी होती है और कहते हैं अफवाहों के पैर नहीं होते और वे फिर भी चलती रहती हैं  ...  कुछ तथाकथित बड़े पत्रकार भी इस मसले पर अपना ज्ञान बघारते नजर आये  ... सबके अपने तर्क और अपनी कसौटियां थीं  ... लुब्बो लुबाब ये की मध्यप्रदेश को अब नए चेहरे की जरुरत हैं  ... वो नया चेहरा कौन   ...  इस पर सब मौन थे  ...सब अपने अपने शुभ लाभ के हिसाब से शिवराज सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाना चाहते हैं  ... वॉट्सऐप के कारीगरों ने तो क्या क्या नहीं लिखा  ... हर व्यक्ति अपने अपने पसंद क व्यक्ति को मुख्यमंत्री बनाने पर तुल गया  ... एक ट्रांसपोर्ट विभाग से जुड़े चिरकुट कलम घिस्सू ने लिखा कि अब महाराज यानि ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्यमंत्री बनेंगे या फिर गोविन्द सिंह राजपूत  ... इसे पढ़कर मुझे  थोड़ी हंसी आई सिंधिया तक तो ठीक  ...  ये गोविन्द सिंह राजपूत कौन   ... ये आदमी मंत्री बन गया ये ही बहुत  ... सिवाए सिंधिया में व्यक्तिगत आस्था रखने के अलावा इनमे ऐसी कौन सी खूबी है जो ये मुख्यमंत्री पद के दावेदार हों  ...लेकिन भांडतंत्र  अफवाहें फैलाने से कहाँ बाज आने वाला है  ...  सवाल ये है कि  तत्काल शिवराज की कुर्सी जाने के मामले की शुरुवात हुई कैसे   ... पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद रिलेक्स मूड में बजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भोपाल दौरे पर आये और सियासत के प्याले में तूफ़ान पैदा कर गए  ...कैलाश विजयवर्गीय बीजेपी के बड़े नेता हैं  ... उनके भोपाल में बहुत रिश्ते हैं  ... कोरोना काल में अपने कुछ दिवंगत हुए मित्रों के परिजनों  से वे मिलने आये थे  ... कैलाश विजयवर्गीय ने इस मसले पर क्या कहा पहले यह जान लेते हैं  ...कैलाश विजयवर्गीय शुद्ध राजनैतिक व्यक्ति हैं तो जाहिर है राजनैतिक मुलाकातें भी ऐसे में होना संभव है और वे हुई भीं और यहीं से  मीडिया के शिवराज सिंह विरोधी तबके ने इसे खबर बनाने की कोशिश की कि इन मुलाकातों से शिवराज सिंह को सत्ता से हटाया जाएगा  ... कैलाश विजयवर्गीय तो दिल्ली रवाना हो गए लेकिन प्याले में  तूफ़ान जारी रहा  ... एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा  से  बीजीपी प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा और वरिष्ठ नेता प्रभात झा की मुलाक़ात और वीडी शर्मा से शिवराज की मुलाकात और न जाने कितनी मुलाकातों ने शिवराज विरोधी मीडिया को पंख लगा दिए  ... एक वेबसाइड चला  रहे कोंग्रेसी पत्रकार ने चार इमली में अपने घर से इन ख़बरों को दिल्ली  प्लांट करने की कोशिश की कि शिवराज गए  ... इसमें इनके साथी चंगु मंगू टाइप दो नेशनल टीवी के कारकुन  भाड़े के टट्टू जैसे नजर आये  ... इनकी इस मुहीम की ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने यह कहकर हवा निकाल दी कि शिवराज सीएम बने रहेंगे  ...राजनीति में मेल मुलाकातें नहीं बात नहीं हैं  ... लेकिन सोशल मीडिया में इन्हें जिस तरह  सच से परे प्रस्तुत किया जाता है  ... ये ठीक नहीं   ... और जब इसमें मीडिया के लोग जुड़ जाते हैं तो तब स्थति और विकट हो जाती है  ... जिनके जिम्मे सच सामने लाना है वे ही कई बार सच से मुँह फेर कर अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए अफवाहों को खबर बना के बढ़ावा देने लगते हैं  ... बीती शाम  भी एक पत्रकार ने मुझे फोन पर कहा शिवराज को दिल्ली तलब कर लिया गया है  ...बस इस्तीफ़ा होने वाला है  ...मैने पूछा कांग्रेस दफ्तर से आ रहे हो या बीजेपी   ...   क्योंकि ये चर्चा वहां या सोशल मीडिया पर ही है  ...ख़ैर शिवराज  सिंह हटें या मुख्यमंत्री  पद पर बने रहें  ... मुझे ये बताओ कि शिवराज ने ऐसा क्या अपराध कर दिया कि तत्काल हाईकमान उनको हटाए  ... ऐसा एक कारण मुझे बताओं तो उन बड़े पत्रकार को सांप सूंघ गया  ... लेकिन तभी एक और पत्रकारनुमा जीव वॉट्सऐप पर यह कहते हुए प्रकट हुए कि एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज  सिंह के करीबी अफसर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ सौ से ज्यादा RTI लगवाई हैं इसलिए शिवराज सिंह को हटाया जा रहा है  ... और एमपी के भावी मुख्यमंत्री ने उन्हें नाम न  उजागर करने  पर ये जानकारी दी है  ...  मतलब आप खुद समझ सकते हैं कि पत्रकारिता के नाम पर चल क्या रहा है  ...  इसबीच भाजपा नेताओं की आपसी मुलाकातें अब भी जारी हैं  ... भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रभात झा से भी मैने सवाल पूछ ही लिया कि अचानक एक दूसरे के घर जाने की जरुरत क्या आ गई  ?  झा साहब ने जवाब भी जोरदार दिया अपने नेताओं के यहाँ नहीं तो क्या सोनिया गाँधी या कमलनाथ के घर जाएँ  ...शिवराज हटने वाले हैं  ... ये चार शब्द ही कांग्रेस के लिए प्राणवायु बने हुए हैं  ...चरमराती हुई कांग्रेस  को   उसके प्रवक्ताओं ने ठोका पीटी कर दुरुस्त करने का काम शुरू कर दिया है  ... कांग्रेस में ऊपर लेबल  ...  मतलब टीम कमलनाथ बीजेपी नेताओं की हर मुलाक़ात का विश्लेषण कर रही है  ... ठीक वैसे ही जैसे  आम पर बौर आते ही  कोयल करती है  ... अब बात भाजपा की  ... शिवराज हटने वाले हैं   ... इन चार शब्दों ने भाजपा मे भी कई लोगों के मन में लड्डू फुटवा दिए हैं  ... चार दिन तक तो अंदर खाने वहां भी सब चुपचाप इसका आनंद लेते रहे  ...  इस सब के बीच  एक व्यक्ति इन अफवाहों से खासे  परेशान थे और वे थे बजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा  ... हालाँकि एमपी में ऐसा भी एक बड़ा वर्ग है जो वीडी शर्मा को भावी मुख्यमंत्री के रूप में देखता है  ... लेकिन शर्मा ने सभी अफवाहों को सिरे से नकार दिया  ...हालाँकि भाजपा में भी एक सच्चाई यह है कि वहां भी  जितने बाराती थे सब दूल्हा बनने को तैयार  ... सिंधिया खेमे के लोगों ने तो एक दूसरे को बधाई तक दे दी  ... बस महाराज मुख्यमंत्री  ... इंदौर में चर्चा थी कि अब भिया कैलाश जी की शपथ होना है  ... गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के घर बैठने वाला मीडिया उनकी शपथ की तैयारी कर रहा था  ... तो मंत्री भूपेंद्र सिंह के समर्थक उनको मुख्यमंत्री मान चुके थे  ... कुछ लोगों ने ऐसे में दावा किया कि मध्यप्रदेश के इस झगडे में केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल एक कॉमन मैन हैं और वही मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री बनाने वाले हैं  ...  ...हमारे सूत्रों ने इस मासले की खूब पड़ताल की और पाया कि शिवराज सिंह चौहान को फिलहाल मुख्यमंत्री पद से नहीं हटाया जा रहा है  ... मध्य्प्रदेह में शिवराज कायम रहेगा  ...  ऐसे में एक कहावत फिर जोर मार रही है  ...  मीडिया हाउस से ख़बरें बहार आती हैं और चण्डूखानों से अफवाहें  ... तय आपको करना है  ... आपको अफवाहों के साथ रहना है या सच के  ...     

Dakhal News

Dakhal News 7 June 2021


bhopal, CM Shivraj, pays tribute , birth anniversary ,Babulal Gaur ,Kailash Narayan Sarang

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति के दो दिग्गज दिवंगत राजनेताओं स्व. कैलाश  नारायण सारंग और पूर्व सीएम स्व. बाबूलाल गौर की आज जयंती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दोनों राजनेताओं को उनकी जयंती पर स्मरण कर विनम्र श्रद्धांजलि दी है और उनके चरणों में नमन किया है।   सीएम शिवराज ने ट्वीट कर पूर्व सांसद कैलाश जोशी को उनकी जयंती पर नमन कर कहा ‘भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता, पूर्व सांसद, आदरणीय स्व. कैलाश नारायण सारंग जी की जयंती पर चरणों में कोटिश: नमन! आपका आदर्श जीवन और विशिष्ट कार्यशैली सर्वदा हमारे लिए प्रेरणा का स्रोत रहेगी।   मुख्यमंत्री शिवराज ने पूर्व सीएम बाबूलाल गौर को उनकी जयंती पर स्मरण करते हुए ट्वीट कर कहा ‘मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, हमारे अग्रज, आदरणीय स्व. बाबूलाल गौर जी की जयंती पर नमन! प्रदेश के विकास और श्रमिकों के हितों की रक्षा तथा जनकल्याण के लिए किये गये अभूतपूर्व प्रयासों के लिए आपको सदैव याद किया जायेगा। मध्यप्रदेश के सच्चे सेवक के चरणों में प्रणाम!

Dakhal News

Dakhal News 2 June 2021


bhopal, Medical Education ,Minister Sarang ,came out ,bicycle, gave message, awareness

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग शुक्रवार कोरोना संक्रमण रोकने के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से साइकिल पर नगर भ्रमण पर निकले। मंत्री सारंग के साथ कलेक्टर अविनाश लवानिया, नगर निगम आयुक्त के.वी.एस. चौधरी, पुलिस अधीक्षक साई कृष्णा सहित अन्य अधिकारियों ने साइकिल चलाकर जगह-जगह लोगों को कोरोना के प्रति सचेत रहने की समझाइश दी।   होम आइसोलेशन वालों से चर्चा इस दौरान मंत्री सांरग ने होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों से चर्चा कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी हासिल की। मरीजों ने बताया कि वह स्वस्थ हैं, उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं है। उन्होंने एक स्थान पर मेडिकल किट देरी से प्राप्त होने की शिकायत मिलने पर संबंधित अधिकारी पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये।    सारंग ने मरीजों से कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये घर से बाहर न निकलें। घर में भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अलग रहें। मास्क की अनिवार्यता जरूरी है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकीय टीम आपके सतत् संपर्क में है, साथ ही एसडीएम, सीएसपी और नगर निगम के एडिश्नल कमिश्नर की टीम सतत् मॉनिटरिंग कर रही है।   दुकानदारों को दी समझाईश मंत्री सारंग ने विभिन्न मार्केट में पहुँचकर दुकानदारों और खरीददारों को समझाइश दी। उन्होंने कहा कि भोपाल को कोरोना से मुक्त करने के लिये सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क जरूरी है। बिना मास्क के ग्राहकों को दुकानदार सामान उपलब्ध न करायें ताकि लोगों में मास्क पहनने की आदत बन सके। उन्होंने दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिये गोले बनाने की भी हिदायत दी।   मास्क पहनने की अपील इस दौरान विश्‍वास सारंग ने नगर भ्रमण के दौरान जगह-जगह रूककर बिना मास्क के दिखे नागरिकों से मास्क पहनने की अपील की। साथ ही उन्हें मास्क दिये। उन्होंने कहा कि बिना मास्क के आप भी संक्रमित होंगे और दूसरों को भी संक्रमित करेंगे। इसके लिये मास्क बहुत जरूरी है। स्वयं को और परिवार को बचाने के लिये मास्क पहनें। उन्होंने पेट्रोल पंप कर्मी को भी मास्क पहनने की समझाइश दी।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Congress calls ,Minister Vishwas Sarang, statement objectionable

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग द्वारा आज दिए बयान को बेहद आपत्तिजनक व निंदनीय बताते हुए कहा कि इसके लिए भाजपा नेतृत्व को माफी मांगना चाहिए और उन्हें तत्काल मंत्रिमंडल से बाहर करना चाहिए क्योंकि उन्होंने इस बयान से ना सिर्फ नारी जगत का अपमान किया है बल्कि मैहर की सुप्रसिद्ध मां शारदा माता के मंदिर के दर्शन का भी मजाक़ उड़ाया है।   सलूजा ने बताया कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी आज सतना जिले के मैहर में स्थित प्रसिद्ध मां शारदा माता के मंदिर में प्रदेश के नागरिकों की खुशहाली और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करने के लिए गए थे। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बेहद आपत्तिजनक शब्दों का उपयोग करते हुए कहा कि "कमलनाथ जी अभी तक 10 जनपद की देवी जी की दहलीज पर जाते थे " उनका यह बयान बेहद निंदनीय है क्योंकि इस बयान से ना उन्होंने सम्पूर्ण नारी जाति का अपमान किया है बल्कि उन भारतीय परंपराओं का भी अपमान किया है, जिसमें नारी को देवी का दर्जा देकर पूजा जाता है, नारी का सम्मान किया जाता है? ऐसा बयान देकर उन्होंने मां शारदा माता मंदिर के दर्शन का भी मजाक उड़ाया है?   कांग्रेस नेता ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा के नेता खुद को धर्म का ठेकेदार समझते हैं, धर्म का रक्षक समझते हैं लेकिन उनकी वास्तविक सोच का पता इस बयान से चलता है कि किस प्रकार वे धार्मिक परंपराओं व मान्यताओं का मजाक उड़ाते हैं और नारी के सम्मान को लेकर उनकी क्या सोच है? किस प्रकार देवी रूपी नारी का वे मजाक उड़ाते हैं? उन्होंने मांग करते हुए कहा कि उनका यह बयान संपूर्ण नारी जगत का भी अपमान है, इसके लिए उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Immunization of workers ,constant contact, priority,Minister Sarang

भोपाल। राज्य शासन ने कोविड संक्रमण की चेन तोड़ने के लिये परिणाम-मूलक कार्यवाही के उद्देश्य से 18 वर्ष एवं उससे अधिक उम्र के सभी नागरिकों को शत-प्रतिशत टीकाकरण के कार्य को समय-सीमा में सम्पादित करने के उद्देश्य से सुझाव प्रस्तुत करने के लिये मंत्री-समूह का गठन किया है। मंत्रालय में इस समूह की गुरुवार को प्रथम वर्चुअल बैठक हुई।   बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री प्रेम सिं पटेल, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर और पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल शामिल हुए।   मंत्री सारंग ने बताया कि मंत्री-समूह के सदस्यों से प्राप्त सुझावों पर अमल करने की रणनीति बनाई जायेगी। टीकाकरण के लिये लोगों को पूर्व सूचना मिल सके, ऐसे प्रयास किये जायेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में नुक्कड़ नाटक, वीडियो रथ, लघु फिल्म और सफलता की कहानी के माध्यम से लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने बताया कि लोगों के सम्पर्क में आने वाले वर्कर्स का प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण होगा। इसमें पेट्रोल पम्प वर्कर्स, फैक्ट्री वर्कर्स, स्ट्रीट वेण्डर्स, उचित मूल्य दुकान वाले और अन्य दुकानदारों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आदिवासी क्षेत्रों में टीकाकरण के लिये फड़ मुंशी की विशेष भूमिका हो सकती है।   सारंग ने बताया कि शहरी क्षेत्र में 18 प्लस के लोगों का अभी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के माध्यम से ही टीकाकरण होगा, जबकि 45 प्लस को सेंटर पर बिना रजिस्ट्रेशन के वैक्सीनेशन कराया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में ऑफलाइन ही टीकाकरण करवाना सुनिश्चित किया गया है। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा जायेगा कि ग्राम पंचायत स्तर पर उसी क्षेत्र के हितग्राही को लाभ मिले।   बैठक में यह सुझाव भी प्राप्त हुए, जिसमें दो-तीन गाँव के बीच में एक स्थान चयनित कर जन-प्रतिनिधि की मौजूदगी में वैक्सीनेशन हो। टीकाकरण के एक दिन पहले माइक आदि से क्षेत्र के लोगों को अवगत करवाया जाये।   बताया गया कि प्रदेश में वैक्सीनेशन का वेस्टेज बहुत कम है, लेकिन इसे अभी शून्य की स्थिति में लाने की जरूरत है। ग्रामीण क्षेत्र में वैक्सीनेशन के दुष्प्रचार पर अंकुश लगाने की आवश्यकता भी जताई गई। प्रदेश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में लगातार प्राप्त हो रही है। वैक्सीनेशन के समन्वय के लिये ग्रामीण विकास, वन, स्कूल शिक्षा और गृह विभाग महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं। इसके लिये उन्हें जोड़ा जायेगा।   बैठक में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के अपर मुख्य सचिव एवं समूह के समन्वयक मोहम्मद सुलेमान और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक छवि भारद्वाज मौजूद थीं।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


anuppur, Corona infected, people should be found ,Bisahulal Singh

अनूपपुर। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने गुरूवार को जिले में कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए ग्राम मेडिय़ारास, धनगवां पूर्वी एवं निगवानी पंचायतों में जाकर पंचायत स्तरीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक ली। उन्होंने ग्रामवासियों से आग्रह किया है कि घर-घर जाकर यह देखें कि कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति तो नहीं है। अगर कहीं कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाया जाए, तो उसको कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराने में मदद करें, ताकि वह वहां रहकर स्वस्थ हो सके। बैठक में जिला सहकारी बैंक के पूर्व संचालक बृजेश गौतम, पूर्व विंध्य विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अनिल गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मिलिन्द नागदेवे तथा मेडि़यारास में सरपंच राधाकोल एवं उपसरपंच अरविन्द मिश्रा, जन अभियान परिषद से जुड़े कोरोना वालंटियर्स तथा निगवानी में पूर्व विधायक दिलीप जायसवाल उपस्थित रहे।   खाद्य मंत्री ने कहा कि आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य गांव में लोगों के बीच पहुंच कर उन्हें टीकाकरण के फायदों के प्रति जागरूक करते हुए उन्हें टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें। साथ ही कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने तथा गांव में अनावश्यक इधर-उधर ना घूमने के लिए लोगों को प्रेरित करें। मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने गरीब परिवारों को पांच माह का राशन देने का निर्णय लिया है। इसके लिए 24 श्रेणियों के परिवारों को राशन दिलवाने में मदद करें। आपने कहा कि कोरोना संक्रमण से किसी परिवार के मुखिया या कमाऊ सदस्य की मृत्यु हो जाने पर आश्रित परिवारों को पांच हजार रूपये मासिक पेंशन एवं एक लाख रूपये की राशि दी जाएगी। इसका लाभ पीड़ित परिवार को दिलाने के लिए कमेटी के सदस्य और कोरोना वालंटियर्स ऐसे परिवारों को चिन्हित कर उन्हें लाभ दिलाना सुनिश्चित करें।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, Medical kit ,reached 3 lakh 2 thousand 641 ,corona patients

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार होम आइसोलेट कोरोना मरीजों को मेडिकल किटों का वितरण लगातार जारी है। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने मंगलवार को मीडिया को जानकारी देते हुए बताया है कि अभी तक 52 जिलों में 3 लाख 2 हजार 641 मेडिकल किट वितरित की जा चुकी हैं।   मंत्री सिंह ने बताया है कि 18 अप्रैल से 24 मई के मध्य नगरीय क्षेत्रों में फ़ीवर क्लीनिक एवं होम डिलीवरी के माध्यम से 3 लाख 2 हजार 641 मेडिकल किट कोविड मरीज़ों को उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने जानकारी दी है कि 18 अप्रैल को 12 हजार 583, 19 अप्रैल को 16 हजार 914, 20 अप्रैल को 11 हजार 465, 21 अप्रैल को 10 हजार 327, 22 अप्रैल को 11 हजार 76, 23 अप्रैल को 11 हजार 17, 24 अप्रैल को 10 हजार 658, 25 अप्रैल को 9 हजार 497, 26 अप्रैल को 9 हजार 360, 27 अप्रैल को 9 हजार 705, 28 अप्रैल को 11 हजार 141, 29 अप्रैल को 9 हजार 347, 30 अप्रैल को 8 हजार 958, एक मई को 10 हजार 253, 2 मई को 9 हजार 112, 3 मई को 8 हजार 439, 4 मई को 9 हजार 301, 5 मई को 8 हजार 455, 6 मई को 8 हजार 866, 7 मई को 7 हजार 983, 8 मई को 7 हजार 746, 9 मई को 7 हजार 450, 10 मई को 7 हजार 248, 11 मई को 7 हजार 387, 12 मई को 7 हजार 931 ,13 मई को 7 हजार 388 ,14 मई को 6 हजार 618, 15 मई को 6 हजार 687 कोविड, 16 मई को 5 हजार 814, 17 मई को 5 हजार 401, 18 मई को 4 हजार 822,19 मई को 4 हजार 830 ,20 मई को 5 हजार 28, 21 मई को 3 हजार 944, 22 मई को 3 हजार 640, 23 मई को 3 हजार 361 और 24 मई को 2 हजार 889 मरीजों को मेडिकल किट वितरित की गई हैं।

Dakhal News

Dakhal News 25 May 2021


shivpuri,MP KP Yadav ,reached Pichor and Khaniyandhana

शिवपुरी। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में संक्रमित हुए मरीजों का हाल-चाल जानने व स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लेने के लिए गुना शिवपुरी लोकसभा क्षेत्र के सांसद डॉ.केपी यादव निरंतर लोकसभा क्षेत्र का भ्रमण कर रहे हैं। इसी तारतम्य में डॉ. केपी यादव ने पिछोर विधानसभा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पिछोर व खनियाधाना का भ्रमण कर मरीजों का हालचाल जाना एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देशित करते हुए मरीजों को कोई असुविधा न हो इसके लिए बेहतर प्रयास करने को कहा।   सांसद डॉ.यादव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिछोर पहुंचे व उपस्थित मरीजों का हालचाल जाना तथा चिकित्सकों के साथ बैठक कर स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा की। सांसद द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खनियाधाना का भी निरीक्षण कर मरीजों के हालचाल जाना एवं चिकित्सकों से बैठक कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।    इस दौरान सांसद केपी यादव ने सेवा ही संगठन अभियान-02 के तहत कार्यकर्ताओं से मुलाकात की व कार्यकर्ताओं द्वारा चलाए जा रहे अभियान की सराहना की। इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष, पार्टी कार्यकर्ता सभी ने उनके द्वारा किए जा रहे सेवा कार्यों को विस्तार से सांसद डॉ.केपी यादव के समक्ष प्रस्तुत किया।   सांसद डॉ.केपी यादव ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि वैक्सीन हम सभी को लगवाना है, यह पूर्ण रूप से सुरक्षित है तथा कोरोना से लड़ने के लिए कारगर है। सांसद डॉ.केपी यादव ने चिकित्सकों से ऑक्सीजन आपूर्ति तथा अन्य जानकारियां प्राप्त की व किसी प्रकार की कोई कमी ना आने देने का आश्वासन भी दिया।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, BJP government , standing , every class fighting, Corona,Govind Singh Rajput

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के बाद जिनकी मृत्यु हुई है उनको 100000 रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई। जिसका स्वागत एवं मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि मध्यप्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान प्रदेश की जनता को लेकर बहुत ही संवेदनशील है। उन्होंने कोरोनाकाल में हर वर्ग की चिंता करते हुए यथा संभव हर वर्ग की मदद की है। कोरोना काल में 1 दर्जन से अधिक योजनाओं के माध्यम से सभी वर्गों की सहायता प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा की गई है। श्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा उन बच्चों के लिए 5000 रुपये प्रति माह की सहायता दी गई है, जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है। इतना ही नहीं इन बच्चों की शिक्षा का ध्यान भी सरकार रखेगी, इन बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा तथा राशन की व्यवस्था भाजपा सरकार द्वारा की जाएगी।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश में समस्त शासकीय कर्मचारियों की तथा उनके परिवार की चिंता करते हुए यह योजना बनाई गई थी। अगर किसी शासकीय कर्मचारी की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो जाती है तो ऐसी स्थिति में उस कर्मचारी के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति तथा 5 लाख की अनुग्रह राशि दी जाएगी। गरीब नि:शक्त व्यक्तियों के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख तक का मुफ्त इलाज निजी चिकित्सालय में करवाने की योजना बनाई गई, जिसमें अब आयुष्मान कार्ड धारक कोरोना का इलाज निजी अस्पताल में करवा सकते हैं।पत्रकार हो या अधिवक्ता सब की है चिंता मंत्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान हर वर्ग की चिंता करते हैं। शासकीय कर्मचारियों के अलावा प्रदेश के अधिवक्ताओं तथा पत्रकारों के लिए भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना काल में योजना बनाई गई है, जिसमें की प्रदेश के अधिवक्ताओं को 25000 तक का इलाज मुफ्त किया जाएगा, अगर वह कोरोना से संक्रमित होते हैं। साथ ही पत्रकारों के लिए कोरोना संक्रमण होने पर उनका नि:शुल्क इलाज किया जाएगा। इतना ही नहीं अगर कोई शासकीय कर्मचारी कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए संलग्न है और यदि सेवा में रहते संक्रमण के पश्चात उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसे कोरोना योद्धा माना जाएगा।क्षेत्र में 24 घंटे दौड़ रही एंबुलेंस  राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने कहा कि जनता की सेवा के लिए सुरखी विधानसभा क्षेत्र में 24 घंटे एंबुलेंस दौड़ रही है ताकि किसी को भी अस्पताल पहुंचने में देरी ना हो। घर-घर स्वास्थ्य कर्मचारी पहुंचकर जांच कर रहे हैं। पूरे क्षेत्र में आशा कार्यकर्ताओं द्वारा नि:शुल्क दवाई वितरण किया जा रहा है । कोरोना से लडऩे के लिए क्षेत्रवासियों के साथ हमेशा मैं और मेरा परिवार खड़ा है।खुद की कॉलेज को बना दिया कोविड सेंटर : जैसीनगर में कोविड सेंटर खोलने के लिए कहीं जगह नहीं मिल रही थी, जिस पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने खुद की निजी कॉलेज को ही कोविड सेंटर में तब्दील कर दिया, ताकि क्षेत्र की जनता को इलाज मिल सके। इसके साथ ही मंत्री राजपूत द्वारा राहतगढ़ में 50 बिस्तर का कोविड सेंटर बनाया गया। बिलहरा में भी एक कोविड सेंटर तैयार किया गया है जिसमें नि:शुल्क उपचार के साथ मरीज को भोजन की व्यवस्था है।ऑफिस में खोल दिया कॉल सेंटर क्षेत्रवासियों की कोरोना से लडऩे में मदद करने के लिए राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने अपने ऑफिस में ही कॉल सेंटर खोल दिया है। जिसमें क्षेत्रवासी अपने स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को लेकर बात कर सकते हैं तथा उनकी समस्याओं को हल करने के लिए कर्मचारी सलाह देते हैं। इसके अलावा उनके नाम पता लेकर स्वास्थ्य सेवाएं उन तक पहुंचाई जाती हैं।मरीज से करते हैं रोज बात क्षेत्रवासियों से कोरोना संक्रमण के चलते वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एवं फोन पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत लगातार संपर्क में रहते हैं। जो व्यक्ति कोरोना संक्रमित हैं उनसे वीडियो कॉलिंग द्वारा बात करके उनकी समस्याएं सुनी जाती है तथा उनका मनोबल बढ़ाया जाता है। इतना ही नहीं किल कोरोना अभियान के अंतर्गत गांव-गांव पहुंचकर कोरोना के प्रति लोगों को राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत द्वारा जागरूक किया जा रहा है। जरूरतमंदों को 5 माह का नि:शुल्क राशन वितरित कर उन्हें कोरोना गाइडलाइन का पालन करने का आग्रह किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


shivraj singh chouhan

क्या  शिवराज सिंह की कुर्सी खतरे में हैंआलाकमान क्या शिवराज की छुट्टी करेगाशिवराज को लेकर क्या सच -क्या अफवाहकौन -कौन हटाना चाहता है शिवराज कोकांग्रेस को कैसे मिल रही है प्राणवायुशिवराज के बाद कौन बनेगा मुख्यमंत्री कहा जा रहा है कि शिवराज सिंह की कुर्सी खतरे में हैं  ... बीजेपी आला कमान कभी भी उनकी छुट्टी कर सकता है  ... इस तरह की ख़बरों से देखते देखते सोशल मीडिया भर गया  ... इन्हें ख़बरों की बजाये अफवाहें कहें तो ज्यादा ठीक रहेगा  ...क्योंकि खबर की शक्ल और पूरी बॉडी होती है और कहते हैं अफवाहों के पैर नहीं होते और वे फिर भी चलती रहती हैं  ...  कुछ तथाकथित बड़े पत्रकार भी इस मसले पर अपना ज्ञान बघारते नजर आये  ... सबके अपने तर्क और अपनी कसौटियां थीं  ... लुब्बो लुबाब ये की मध्यप्रदेश को अब नए चेहरे की जरुरत हैं  ... वो नया चेहरा कौन   ...  इस पर सब मौन थे  ...सब अपने अपने शुभ लाभ के हिसाब से शिवराज सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाना चाहते हैं  ... वॉट्सऐप के कारीगरों ने तो क्या क्या नहीं लिखा  ... हर व्यक्ति अपने अपने पसंद क व्यक्ति को मुख्यमंत्री बनाने पर तुल गया  ... एक ट्रांसपोर्ट विभाग से जुड़े चिरकुट कलम घिस्सू ने लिखा कि अब महाराज यानि ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्यमंत्री बनेंगे या फिर गोविन्द सिंह राजपूत  ... इसे पढ़कर मुझे  थोड़ी हंसी आई सिंधिया तक तो ठीक  ...  ये गोविन्द सिंह राजपूत कौन   ... ये आदमी मंत्री बन गया ये ही बहुत  ... सिवाए सिंधिया में व्यक्तिगत आस्था रखने के अलावा इनमे ऐसी कौन सी खूबी है जो ये मुख्यमंत्री पद के दावेदार हों  ...लेकिन भांडतंत्र  अफवाहें फैलाने से कहाँ बाज आने वाला है  ...  सवाल ये है कि  तत्काल शिवराज की कुर्सी जाने के मामले की शुरुवात हुई कैसे   ... पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद रिलेक्स मूड में बजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भोपाल दौरे पर आये और सियासत के प्याले में तूफ़ान पैदा कर गए  ...कैलाश विजयवर्गीय बीजेपी के बड़े नेता हैं  ... उनके भोपाल में बहुत रिश्ते हैं  ... कोरोना काल में अपने कुछ दिवंगत हुए मित्रों के परिजनों  से वे मिलने आये थे  ... कैलाश विजयवर्गीय ने इस मसले पर क्या कहा पहले यह जान लेते हैं  ...कैलाश विजयवर्गीय शुद्ध राजनैतिक व्यक्ति हैं तो जाहिर है राजनैतिक मुलाकातें भी ऐसे में होना संभव है और वे हुई भीं और यहीं से  मीडिया के शिवराज सिंह विरोधी तबके ने इसे खबर बनाने की कोशिश की कि इन मुलाकातों से शिवराज सिंह को सत्ता से हटाया जाएगा  ... कैलाश विजयवर्गीय तो दिल्ली रवाना हो गए लेकिन प्याले में  तूफ़ान जारी रहा  ... एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा  से  बीजीपी प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा और वरिष्ठ नेता प्रभात झा की मुलाक़ात और वीडी शर्मा से शिवराज की मुलाकात और न जाने कितनी मुलाकातों ने शिवराज विरोधी मीडिया को पंख लगा दिए  ... एक वेबसाइड चला  रहे कोंग्रेसी पत्रकार ने चार इमली में अपने घर से इन ख़बरों को दिल्ली  प्लांट करने की कोशिश की कि शिवराज गए  ... इसमें इनके साथी चंगु मंगू टाइप दो नेशनल टीवी के कारकुन  भाड़े के टट्टू जैसे नजर आये  ... इनकी इस मुहीम की ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने यह कहकर हवा निकाल दी कि शिवराज सीएम बने रहेंगे  ...राजनीति में मेल मुलाकातें नहीं बात नहीं हैं  ... लेकिन सोशल मीडिया में इन्हें जिस तरह  सच से परे प्रस्तुत किया जाता है  ... ये ठीक नहीं   ... और जब इसमें मीडिया के लोग जुड़ जाते हैं तो तब स्थति और विकट हो जाती है  ... जिनके जिम्मे सच सामने लाना है वे ही कई बार सच से मुँह फेर कर अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए अफवाहों को खबर बना के बढ़ावा देने लगते हैं  ... बीती शाम  भी एक पत्रकार ने मुझे फोन पर कहा शिवराज को दिल्ली तलब कर लिया गया है  ...बस इस्तीफ़ा होने वाला है  ...मैने पूछा कांग्रेस दफ्तर से आ रहे हो या बीजेपी   ...   क्योंकि ये चर्चा वहां या सोशल मीडिया पर ही है  ...ख़ैर शिवराज  सिंह हटें या मुख्यमंत्री  पद पर बने रहें  ... मुझे ये बताओ कि शिवराज ने ऐसा क्या अपराध कर दिया कि तत्काल हाईकमान उनको हटाए  ... ऐसा एक कारण मुझे बताओं तो उन बड़े पत्रकार को सांप सूंघ गया  ... लेकिन तभी एक और पत्रकारनुमा जीव वॉट्सऐप पर यह कहते हुए प्रकट हुए कि एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज  सिंह के करीबी अफसर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ सौ से ज्यादा RTI लगवाई हैं इसलिए शिवराज सिंह को हटाया जा रहा है  ... और एमपी के भावी मुख्यमंत्री ने उन्हें नाम न  उजागर करने  पर ये जानकारी दी है  ...  मतलब आप खुद समझ सकते हैं कि पत्रकारिता के नाम पर चल क्या रहा है  ...  इसबीच भाजपा नेताओं की आपसी मुलाकातें अब भी जारी हैं  ... भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रभात झा से भी मैने सवाल पूछ ही लिया कि अचानक एक दूसरे के घर जाने की जरुरत क्या आ गई  ?  झा साहब ने जवाब भी जोरदार दिया अपने नेताओं के यहाँ नहीं तो क्या सोनिया गाँधी या कमलनाथ के घर जाएँ  ...शिवराज हटने वाले हैं  ... ये चार शब्द ही कांग्रेस के लिए प्राणवायु बने हुए हैं  ...चरमराती हुई कांग्रेस  को   उसके प्रवक्ताओं ने ठोका पीटी कर दुरुस्त करने का काम शुरू कर दिया है  ... कांग्रेस में ऊपर लेबल  ...  मतलब टीम कमलनाथ बीजेपी नेताओं की हर मुलाक़ात का विश्लेषण कर रही है  ... ठीक वैसे ही जैसे  आम पर बौर आते ही  कोयल करती है  ... अब बात भाजपा की  ... शिवराज हटने वाले हैं   ... इन चार शब्दों ने भाजपा मे भी कई लोगों के मन में लड्डू फुटवा दिए हैं  ... चार दिन तक तो अंदर खाने वहां भी सब चुपचाप इसका आनंद लेते रहे  ...  इस सब के बीच  एक व्यक्ति इन अफवाहों से खासे  परेशान थे और वे थे बजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा  ... हालाँकि एमपी में ऐसा भी एक बड़ा वर्ग है जो वीडी शर्मा को भावी मुख्यमंत्री के रूप में देखता है  ... लेकिन शर्मा ने सभी अफवाहों को सिरे से नकार दिया  ...हालाँकि भाजपा में भी एक सच्चाई यह है कि वहां भी  जितने बाराती थे सब दूल्हा बनने को तैयार  ... सिंधिया खेमे के लोगों ने तो एक दूसरे को बधाई तक दे दी  ... बस महाराज मुख्यमंत्री  ... इंदौर में चर्चा थी कि अब भिया कैलाश जी की शपथ होना है  ... गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के घर बैठने वाला मीडिया उनकी शपथ की तैयारी कर रहा था  ... तो मंत्री भूपेंद्र सिंह के समर्थक उनको मुख्यमंत्री मान चुके थे  ... कुछ लोगों ने ऐसे में दावा किया कि मध्यप्रदेश के इस झगडे में केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल एक कॉमन मैन हैं और वही मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री बनाने वाले हैं  ...  ...हमारे सूत्रों ने इस मासले की खूब पड़ताल की और पाया कि शिवराज सिंह चौहान को फिलहाल मुख्यमंत्री पद से नहीं हटाया जा रहा है  ... मध्य्प्रदेह में शिवराज कायम रहेगा  ...  ऐसे में एक कहावत फिर जोर मार रही है  ...  मीडिया हाउस से ख़बरें बहार आती हैं और चण्डूखानों से अफवाहें  ... तय आपको करना है  ... आपको अफवाहों के साथ रहना है या सच के  ...     

Dakhal News

Dakhal News 7 June 2021


bhopal, CM Shivraj, pays tribute , birth anniversary ,Babulal Gaur ,Kailash Narayan Sarang

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति के दो दिग्गज दिवंगत राजनेताओं स्व. कैलाश  नारायण सारंग और पूर्व सीएम स्व. बाबूलाल गौर की आज जयंती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दोनों राजनेताओं को उनकी जयंती पर स्मरण कर विनम्र श्रद्धांजलि दी है और उनके चरणों में नमन किया है।   सीएम शिवराज ने ट्वीट कर पूर्व सांसद कैलाश जोशी को उनकी जयंती पर नमन कर कहा ‘भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता, पूर्व सांसद, आदरणीय स्व. कैलाश नारायण सारंग जी की जयंती पर चरणों में कोटिश: नमन! आपका आदर्श जीवन और विशिष्ट कार्यशैली सर्वदा हमारे लिए प्रेरणा का स्रोत रहेगी।   मुख्यमंत्री शिवराज ने पूर्व सीएम बाबूलाल गौर को उनकी जयंती पर स्मरण करते हुए ट्वीट कर कहा ‘मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, हमारे अग्रज, आदरणीय स्व. बाबूलाल गौर जी की जयंती पर नमन! प्रदेश के विकास और श्रमिकों के हितों की रक्षा तथा जनकल्याण के लिए किये गये अभूतपूर्व प्रयासों के लिए आपको सदैव याद किया जायेगा। मध्यप्रदेश के सच्चे सेवक के चरणों में प्रणाम!

Dakhal News

Dakhal News 2 June 2021


bhopal, Medical Education ,Minister Sarang ,came out ,bicycle, gave message, awareness

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग शुक्रवार कोरोना संक्रमण रोकने के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से साइकिल पर नगर भ्रमण पर निकले। मंत्री सारंग के साथ कलेक्टर अविनाश लवानिया, नगर निगम आयुक्त के.वी.एस. चौधरी, पुलिस अधीक्षक साई कृष्णा सहित अन्य अधिकारियों ने साइकिल चलाकर जगह-जगह लोगों को कोरोना के प्रति सचेत रहने की समझाइश दी।   होम आइसोलेशन वालों से चर्चा इस दौरान मंत्री सांरग ने होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों से चर्चा कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी हासिल की। मरीजों ने बताया कि वह स्वस्थ हैं, उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं है। उन्होंने एक स्थान पर मेडिकल किट देरी से प्राप्त होने की शिकायत मिलने पर संबंधित अधिकारी पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये।    सारंग ने मरीजों से कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये घर से बाहर न निकलें। घर में भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अलग रहें। मास्क की अनिवार्यता जरूरी है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकीय टीम आपके सतत् संपर्क में है, साथ ही एसडीएम, सीएसपी और नगर निगम के एडिश्नल कमिश्नर की टीम सतत् मॉनिटरिंग कर रही है।   दुकानदारों को दी समझाईश मंत्री सारंग ने विभिन्न मार्केट में पहुँचकर दुकानदारों और खरीददारों को समझाइश दी। उन्होंने कहा कि भोपाल को कोरोना से मुक्त करने के लिये सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क जरूरी है। बिना मास्क के ग्राहकों को दुकानदार सामान उपलब्ध न करायें ताकि लोगों में मास्क पहनने की आदत बन सके। उन्होंने दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिये गोले बनाने की भी हिदायत दी।   मास्क पहनने की अपील इस दौरान विश्‍वास सारंग ने नगर भ्रमण के दौरान जगह-जगह रूककर बिना मास्क के दिखे नागरिकों से मास्क पहनने की अपील की। साथ ही उन्हें मास्क दिये। उन्होंने कहा कि बिना मास्क के आप भी संक्रमित होंगे और दूसरों को भी संक्रमित करेंगे। इसके लिये मास्क बहुत जरूरी है। स्वयं को और परिवार को बचाने के लिये मास्क पहनें। उन्होंने पेट्रोल पंप कर्मी को भी मास्क पहनने की समझाइश दी।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Congress calls ,Minister Vishwas Sarang, statement objectionable

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग द्वारा आज दिए बयान को बेहद आपत्तिजनक व निंदनीय बताते हुए कहा कि इसके लिए भाजपा नेतृत्व को माफी मांगना चाहिए और उन्हें तत्काल मंत्रिमंडल से बाहर करना चाहिए क्योंकि उन्होंने इस बयान से ना सिर्फ नारी जगत का अपमान किया है बल्कि मैहर की सुप्रसिद्ध मां शारदा माता के मंदिर के दर्शन का भी मजाक़ उड़ाया है।   सलूजा ने बताया कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी आज सतना जिले के मैहर में स्थित प्रसिद्ध मां शारदा माता के मंदिर में प्रदेश के नागरिकों की खुशहाली और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करने के लिए गए थे। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बेहद आपत्तिजनक शब्दों का उपयोग करते हुए कहा कि "कमलनाथ जी अभी तक 10 जनपद की देवी जी की दहलीज पर जाते थे " उनका यह बयान बेहद निंदनीय है क्योंकि इस बयान से ना उन्होंने सम्पूर्ण नारी जाति का अपमान किया है बल्कि उन भारतीय परंपराओं का भी अपमान किया है, जिसमें नारी को देवी का दर्जा देकर पूजा जाता है, नारी का सम्मान किया जाता है? ऐसा बयान देकर उन्होंने मां शारदा माता मंदिर के दर्शन का भी मजाक उड़ाया है?   कांग्रेस नेता ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा के नेता खुद को धर्म का ठेकेदार समझते हैं, धर्म का रक्षक समझते हैं लेकिन उनकी वास्तविक सोच का पता इस बयान से चलता है कि किस प्रकार वे धार्मिक परंपराओं व मान्यताओं का मजाक उड़ाते हैं और नारी के सम्मान को लेकर उनकी क्या सोच है? किस प्रकार देवी रूपी नारी का वे मजाक उड़ाते हैं? उन्होंने मांग करते हुए कहा कि उनका यह बयान संपूर्ण नारी जगत का भी अपमान है, इसके लिए उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Immunization of workers ,constant contact, priority,Minister Sarang

भोपाल। राज्य शासन ने कोविड संक्रमण की चेन तोड़ने के लिये परिणाम-मूलक कार्यवाही के उद्देश्य से 18 वर्ष एवं उससे अधिक उम्र के सभी नागरिकों को शत-प्रतिशत टीकाकरण के कार्य को समय-सीमा में सम्पादित करने के उद्देश्य से सुझाव प्रस्तुत करने के लिये मंत्री-समूह का गठन किया है। मंत्रालय में इस समूह की गुरुवार को प्रथम वर्चुअल बैठक हुई।   बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री प्रेम सिं पटेल, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर और पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल शामिल हुए।   मंत्री सारंग ने बताया कि मंत्री-समूह के सदस्यों से प्राप्त सुझावों पर अमल करने की रणनीति बनाई जायेगी। टीकाकरण के लिये लोगों को पूर्व सूचना मिल सके, ऐसे प्रयास किये जायेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में नुक्कड़ नाटक, वीडियो रथ, लघु फिल्म और सफलता की कहानी के माध्यम से लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने बताया कि लोगों के सम्पर्क में आने वाले वर्कर्स का प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण होगा। इसमें पेट्रोल पम्प वर्कर्स, फैक्ट्री वर्कर्स, स्ट्रीट वेण्डर्स, उचित मूल्य दुकान वाले और अन्य दुकानदारों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आदिवासी क्षेत्रों में टीकाकरण के लिये फड़ मुंशी की विशेष भूमिका हो सकती है।   सारंग ने बताया कि शहरी क्षेत्र में 18 प्लस के लोगों का अभी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के माध्यम से ही टीकाकरण होगा, जबकि 45 प्लस को सेंटर पर बिना रजिस्ट्रेशन के वैक्सीनेशन कराया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में ऑफलाइन ही टीकाकरण करवाना सुनिश्चित किया गया है। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा जायेगा कि ग्राम पंचायत स्तर पर उसी क्षेत्र के हितग्राही को लाभ मिले।   बैठक में यह सुझाव भी प्राप्त हुए, जिसमें दो-तीन गाँव के बीच में एक स्थान चयनित कर जन-प्रतिनिधि की मौजूदगी में वैक्सीनेशन हो। टीकाकरण के एक दिन पहले माइक आदि से क्षेत्र के लोगों को अवगत करवाया जाये।   बताया गया कि प्रदेश में वैक्सीनेशन का वेस्टेज बहुत कम है, लेकिन इसे अभी शून्य की स्थिति में लाने की जरूरत है। ग्रामीण क्षेत्र में वैक्सीनेशन के दुष्प्रचार पर अंकुश लगाने की आवश्यकता भी जताई गई। प्रदेश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में लगातार प्राप्त हो रही है। वैक्सीनेशन के समन्वय के लिये ग्रामीण विकास, वन, स्कूल शिक्षा और गृह विभाग महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं। इसके लिये उन्हें जोड़ा जायेगा।   बैठक में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के अपर मुख्य सचिव एवं समूह के समन्वयक मोहम्मद सुलेमान और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक छवि भारद्वाज मौजूद थीं।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


anuppur, Corona infected, people should be found ,Bisahulal Singh

अनूपपुर। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने गुरूवार को जिले में कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए ग्राम मेडिय़ारास, धनगवां पूर्वी एवं निगवानी पंचायतों में जाकर पंचायत स्तरीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक ली। उन्होंने ग्रामवासियों से आग्रह किया है कि घर-घर जाकर यह देखें कि कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति तो नहीं है। अगर कहीं कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाया जाए, तो उसको कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराने में मदद करें, ताकि वह वहां रहकर स्वस्थ हो सके। बैठक में जिला सहकारी बैंक के पूर्व संचालक बृजेश गौतम, पूर्व विंध्य विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अनिल गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मिलिन्द नागदेवे तथा मेडि़यारास में सरपंच राधाकोल एवं उपसरपंच अरविन्द मिश्रा, जन अभियान परिषद से जुड़े कोरोना वालंटियर्स तथा निगवानी में पूर्व विधायक दिलीप जायसवाल उपस्थित रहे।   खाद्य मंत्री ने कहा कि आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य गांव में लोगों के बीच पहुंच कर उन्हें टीकाकरण के फायदों के प्रति जागरूक करते हुए उन्हें टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें। साथ ही कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने तथा गांव में अनावश्यक इधर-उधर ना घूमने के लिए लोगों को प्रेरित करें। मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने गरीब परिवारों को पांच माह का राशन देने का निर्णय लिया है। इसके लिए 24 श्रेणियों के परिवारों को राशन दिलवाने में मदद करें। आपने कहा कि कोरोना संक्रमण से किसी परिवार के मुखिया या कमाऊ सदस्य की मृत्यु हो जाने पर आश्रित परिवारों को पांच हजार रूपये मासिक पेंशन एवं एक लाख रूपये की राशि दी जाएगी। इसका लाभ पीड़ित परिवार को दिलाने के लिए कमेटी के सदस्य और कोरोना वालंटियर्स ऐसे परिवारों को चिन्हित कर उन्हें लाभ दिलाना सुनिश्चित करें।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, Medical kit ,reached 3 lakh 2 thousand 641 ,corona patients

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार होम आइसोलेट कोरोना मरीजों को मेडिकल किटों का वितरण लगातार जारी है। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने मंगलवार को मीडिया को जानकारी देते हुए बताया है कि अभी तक 52 जिलों में 3 लाख 2 हजार 641 मेडिकल किट वितरित की जा चुकी हैं।   मंत्री सिंह ने बताया है कि 18 अप्रैल से 24 मई के मध्य नगरीय क्षेत्रों में फ़ीवर क्लीनिक एवं होम डिलीवरी के माध्यम से 3 लाख 2 हजार 641 मेडिकल किट कोविड मरीज़ों को उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने जानकारी दी है कि 18 अप्रैल को 12 हजार 583, 19 अप्रैल को 16 हजार 914, 20 अप्रैल को 11 हजार 465, 21 अप्रैल को 10 हजार 327, 22 अप्रैल को 11 हजार 76, 23 अप्रैल को 11 हजार 17, 24 अप्रैल को 10 हजार 658, 25 अप्रैल को 9 हजार 497, 26 अप्रैल को 9 हजार 360, 27 अप्रैल को 9 हजार 705, 28 अप्रैल को 11 हजार 141, 29 अप्रैल को 9 हजार 347, 30 अप्रैल को 8 हजार 958, एक मई को 10 हजार 253, 2 मई को 9 हजार 112, 3 मई को 8 हजार 439, 4 मई को 9 हजार 301, 5 मई को 8 हजार 455, 6 मई को 8 हजार 866, 7 मई को 7 हजार 983, 8 मई को 7 हजार 746, 9 मई को 7 हजार 450, 10 मई को 7 हजार 248, 11 मई को 7 हजार 387, 12 मई को 7 हजार 931 ,13 मई को 7 हजार 388 ,14 मई को 6 हजार 618, 15 मई को 6 हजार 687 कोविड, 16 मई को 5 हजार 814, 17 मई को 5 हजार 401, 18 मई को 4 हजार 822,19 मई को 4 हजार 830 ,20 मई को 5 हजार 28, 21 मई को 3 हजार 944, 22 मई को 3 हजार 640, 23 मई को 3 हजार 361 और 24 मई को 2 हजार 889 मरीजों को मेडिकल किट वितरित की गई हैं।

Dakhal News

Dakhal News 25 May 2021


shivpuri,MP KP Yadav ,reached Pichor and Khaniyandhana

शिवपुरी। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में संक्रमित हुए मरीजों का हाल-चाल जानने व स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लेने के लिए गुना शिवपुरी लोकसभा क्षेत्र के सांसद डॉ.केपी यादव निरंतर लोकसभा क्षेत्र का भ्रमण कर रहे हैं। इसी तारतम्य में डॉ. केपी यादव ने पिछोर विधानसभा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पिछोर व खनियाधाना का भ्रमण कर मरीजों का हालचाल जाना एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देशित करते हुए मरीजों को कोई असुविधा न हो इसके लिए बेहतर प्रयास करने को कहा।   सांसद डॉ.यादव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिछोर पहुंचे व उपस्थित मरीजों का हालचाल जाना तथा चिकित्सकों के साथ बैठक कर स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा की। सांसद द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खनियाधाना का भी निरीक्षण कर मरीजों के हालचाल जाना एवं चिकित्सकों से बैठक कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।    इस दौरान सांसद केपी यादव ने सेवा ही संगठन अभियान-02 के तहत कार्यकर्ताओं से मुलाकात की व कार्यकर्ताओं द्वारा चलाए जा रहे अभियान की सराहना की। इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष, पार्टी कार्यकर्ता सभी ने उनके द्वारा किए जा रहे सेवा कार्यों को विस्तार से सांसद डॉ.केपी यादव के समक्ष प्रस्तुत किया।   सांसद डॉ.केपी यादव ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि वैक्सीन हम सभी को लगवाना है, यह पूर्ण रूप से सुरक्षित है तथा कोरोना से लड़ने के लिए कारगर है। सांसद डॉ.केपी यादव ने चिकित्सकों से ऑक्सीजन आपूर्ति तथा अन्य जानकारियां प्राप्त की व किसी प्रकार की कोई कमी ना आने देने का आश्वासन भी दिया।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, BJP government , standing , every class fighting, Corona,Govind Singh Rajput

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के बाद जिनकी मृत्यु हुई है उनको 100000 रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई। जिसका स्वागत एवं मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि मध्यप्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान प्रदेश की जनता को लेकर बहुत ही संवेदनशील है। उन्होंने कोरोनाकाल में हर वर्ग की चिंता करते हुए यथा संभव हर वर्ग की मदद की है। कोरोना काल में 1 दर्जन से अधिक योजनाओं के माध्यम से सभी वर्गों की सहायता प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा की गई है। श्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा उन बच्चों के लिए 5000 रुपये प्रति माह की सहायता दी गई है, जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है। इतना ही नहीं इन बच्चों की शिक्षा का ध्यान भी सरकार रखेगी, इन बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा तथा राशन की व्यवस्था भाजपा सरकार द्वारा की जाएगी।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश में समस्त शासकीय कर्मचारियों की तथा उनके परिवार की चिंता करते हुए यह योजना बनाई गई थी। अगर किसी शासकीय कर्मचारी की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो जाती है तो ऐसी स्थिति में उस कर्मचारी के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति तथा 5 लाख की अनुग्रह राशि दी जाएगी। गरीब नि:शक्त व्यक्तियों के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख तक का मुफ्त इलाज निजी चिकित्सालय में करवाने की योजना बनाई गई, जिसमें अब आयुष्मान कार्ड धारक कोरोना का इलाज निजी अस्पताल में करवा सकते हैं।पत्रकार हो या अधिवक्ता सब की है चिंता मंत्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान हर वर्ग की चिंता करते हैं। शासकीय कर्मचारियों के अलावा प्रदेश के अधिवक्ताओं तथा पत्रकारों के लिए भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना काल में योजना बनाई गई है, जिसमें की प्रदेश के अधिवक्ताओं को 25000 तक का इलाज मुफ्त किया जाएगा, अगर वह कोरोना से संक्रमित होते हैं। साथ ही पत्रकारों के लिए कोरोना संक्रमण होने पर उनका नि:शुल्क इलाज किया जाएगा। इतना ही नहीं अगर कोई शासकीय कर्मचारी कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए संलग्न है और यदि सेवा में रहते संक्रमण के पश्चात उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसे कोरोना योद्धा माना जाएगा।क्षेत्र में 24 घंटे दौड़ रही एंबुलेंस  राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने कहा कि जनता की सेवा के लिए सुरखी विधानसभा क्षेत्र में 24 घंटे एंबुलेंस दौड़ रही है ताकि किसी को भी अस्पताल पहुंचने में देरी ना हो। घर-घर स्वास्थ्य कर्मचारी पहुंचकर जांच कर रहे हैं। पूरे क्षेत्र में आशा कार्यकर्ताओं द्वारा नि:शुल्क दवाई वितरण किया जा रहा है । कोरोना से लडऩे के लिए क्षेत्रवासियों के साथ हमेशा मैं और मेरा परिवार खड़ा है।खुद की कॉलेज को बना दिया कोविड सेंटर : जैसीनगर में कोविड सेंटर खोलने के लिए कहीं जगह नहीं मिल रही थी, जिस पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने खुद की निजी कॉलेज को ही कोविड सेंटर में तब्दील कर दिया, ताकि क्षेत्र की जनता को इलाज मिल सके। इसके साथ ही मंत्री राजपूत द्वारा राहतगढ़ में 50 बिस्तर का कोविड सेंटर बनाया गया। बिलहरा में भी एक कोविड सेंटर तैयार किया गया है जिसमें नि:शुल्क उपचार के साथ मरीज को भोजन की व्यवस्था है।ऑफिस में खोल दिया कॉल सेंटर क्षेत्रवासियों की कोरोना से लडऩे में मदद करने के लिए राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने अपने ऑफिस में ही कॉल सेंटर खोल दिया है। जिसमें क्षेत्रवासी अपने स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को लेकर बात कर सकते हैं तथा उनकी समस्याओं को हल करने के लिए कर्मचारी सलाह देते हैं। इसके अलावा उनके नाम पता लेकर स्वास्थ्य सेवाएं उन तक पहुंचाई जाती हैं।मरीज से करते हैं रोज बात क्षेत्रवासियों से कोरोना संक्रमण के चलते वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एवं फोन पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत लगातार संपर्क में रहते हैं। जो व्यक्ति कोरोना संक्रमित हैं उनसे वीडियो कॉलिंग द्वारा बात करके उनकी समस्याएं सुनी जाती है तथा उनका मनोबल बढ़ाया जाता है। इतना ही नहीं किल कोरोना अभियान के अंतर्गत गांव-गांव पहुंचकर कोरोना के प्रति लोगों को राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत द्वारा जागरूक किया जा रहा है। जरूरतमंदों को 5 माह का नि:शुल्क राशन वितरित कर उन्हें कोरोना गाइडलाइन का पालन करने का आग्रह किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


Indore, Video war started, deaths from Corona, Jitu Patwari, responded to Mendola

इंदौर। कोरोना पीड़ितों के उपचार में हुई बदइंतजामी और मौतों को लेकर विपक्षी कांग्रेस सरकार को लगातार कठघरे में खड़ी करती रही है। वहीं, कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा दिये गए बयान के बाद अब दोनों पार्टियों में वीडियो युद्ध शुरू हो गया है और नेता अपना-अपना वीडियो जारी कर अपने पक्ष का समर्थन कर रहे हैं। इंदौर के कद्दावर नेता रमेश मेंदोला द्वारा जारी किए गए वीडियो के बाद अब पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी एक वीडियो जारी कर जवाब दिया है।   मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार पर कोरोना से मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप लगाने के बाद राजनीति गरमा गई है। गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर धारा 188 और राष्ट्रद्रोह या इससे संबंधित धाराओं में कार्रवाई करने की मांग की थी। अब इस विवाद में इंदौर के दो दिग्गज नेता पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा विधायक रमेश मेंदोला कूद पड़े हैं। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने वीडियो जारी कर कहा है कि कमलनाथ ने सरकार को आगाह किया कि व्यवस्था को दुरुस्त करो। करीब एक लाख लोग मप्र में कोविड से काल के गाल में समा गए हैं। मुख्यमंत्री और सरकार ने इस पर संज्ञान लेने की जगह एफआईआर की बात कही है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अलग-अलग तरीके से कमलनाथ को क्रिटिसाइज किया। मुख्यमंत्री जी आपके काम करने करने का तरीका यही है तो कमलनाथ जी पर ही नहीं लाखों लोगों पर आपको मुकदमा लगाने पड़ेंगे। इसमें कांग्रेसी ही नहीं, लाखों जर्नलिस्ट और जनता होगी।   इससे पहले शुक्रवार रात को विधायक रमेश मेंदोला ने भी एक ट्वीट करके कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था-  "ये आग लगाने का समय है, देश में आग लगानी है" जिसने भी कांग्रेस नेता कमलनाथ जी की आवाज एक बार भी सुनी है वो उनकी ये आवाज एक क्षण में पहचान लेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Agriculture Minister Patel, took stock , arrangements in Seoni Malwa

भोपाल। किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा हैं कि कोविड मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराया जाना सुनिश्चित किया जा रहा है। इसमें किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहने दी जायेगी। उन्होंने मंगलवार को होशंगाबाद जिले के  सिवनी-मालवा में डीसीएचसी में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार के प्रबंधों का जायजा लिया।   श्री पटेल ने कहा कि मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने के लिए  प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पुख्ता  बंदोबस्त  किये हैं। ऑक्सीजन, बेड्स, आवश्यक दवाओं सहित अन्य संसाधनों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। इसके सकारात्मक परिणाम भी प्राप्त हो रहे हैं। प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट घट कर 10 प्रतिशत के नीचे आ गया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन  तोड़ने के लिए प्रदेश में व्यापक स्तर पर किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है।    मंत्री श्री पटेल ने मंगलवार को  सिवनी-मालवा में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में बनाये गये 100 बेड्स के डेडीकेटेड कोविड हेल्थ केयर सेंटर का  निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने सीएचसी में निर्माणाधीन सेंट्रल ऑक्सीजन प्लांट का भी निरीक्षण किया और इसे  शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये। श्री पटेल ने डीसीएचसी में भर्ती मरीजों का हालचाल जाना और स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में जानकारी लेकर शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।    आयुष्मान कार्ड का वितरण और स्वास्थ्य विभाग की टीम का किया अभिनंदन श्री पटेल ने मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के तहत कोविड मरीजों को हॉस्पिटल द्वारा बनाये गये आयुष्मान कार्ड का भी वितरण किया। इसके बाद मंत्री श्री पटेल ने तहसील डोलरिया में कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि कोरोना के इस संकट में मानवता की सेवा के लिए समस्त चिकित्सक एवं पैरामेडिकल स्टॉफ की टीम पूरे समर्पण एवं निष्ठा से दिन-रात कार्य कर रही है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम का अभिनंदन किया।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal,Maintain

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के समय यह पीड़ित मानवता की सेवा का महान अवसर है। आपको 'सिस्टर' के धर्म का पूरा निर्वाह करना है। मुख्यमंत्री मंगलवार को अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों में नव-नियुक्त नर्सों को संबोधित कर रहे थे। प्रदेश में 1015 नर्सों की नियुक्ति की गई है। नर्सेज जिलों में एन.आई.सी केन्द्रों से शामिल हुईं।   मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना के समय मरीज के साथ अस्पताल में अटेंडेंट नहीं रहता। ऐसे में नर्स की ड्यूटी ओर बढ़ जाती है। उसे निरंतर मरीज के हेल्थ पैरामीटर्स चैक करने के अलावा उसकी निरंतर देखभाल करना तथा मनोबल बढ़ाना भी आवश्यक है। अपने नवीन कार्य का प्रारंभ करें और अपनी सेवा से मरीजों में नव-जीवन का संचार करें। आप सभी को मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ।   'सिस्टर' स्नेह, प्रेम और आत्मीयता की प्रतिमूर्ति मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्स को हम 'सिस्टर' अर्थात बहन कहते हैं। बहन स्नेह, प्रेम और आत्मीयता की प्रतिमूर्ति होती है। उनका परिवार के प्रति अद्भुत स्नेह होता है। इसी प्रेम, स्नेह एवं आत्मीयता से मरीजों की सेवा करें। उन्होंने सिस्टर सरोज यादव द्वारा कोरोना उपचार के दौरान की गई सेवा की सराहना भी की।   यह समय युद्ध काल जैसा है मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना काल युद्ध काल जैसा है। हम पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से कोरोना के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहे हैं। हमें दूसरी लहर के बाद अब तीसरी लहर के लिए भी तैयार रहना है। ऐसे में 'सिस्टर' पूरे धैर्य एवं संयम के साथ अपने पवित्र कर्त्तव्य का निर्वाह करें।   सकारात्मक दृष्टिकोण रखकर कार्य करें मुख्यमंत्री ने एक कहानी के माध्यम से बताया कि कार्य के प्रति तीन प्रकार का दृष्टिकोण हो सकता है। पहला कार्य को मजबूरी अथवा बोझ मानना, दूसरा उसे केवल आजीविका मानना तथा तीसरा कार्य को सेवा का अवसर मानकर उसके लिए ईश्वर को धन्यवाद देना। हम कार्य को सेवा मानें और सकारात्मक दृष्टिकोण रखकर कार्य करें।   वैक्सीन का एक भी डोज़ बेकार न जाए मुख्यमंत्री ने कहा कि आप में से कई 'सिस्टर्स' की ड्यूटी वैक्सीनेशन के लिए लगाई जायेगी। वैक्सीन हमारे लिए अमृत समान है। सभी 'सिस्टर्स' इस बात का ध्यान रखें कि वैक्सीन का एक भी डोज़ बेकार न जाये।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal,Maintain

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के समय यह पीड़ित मानवता की सेवा का महान अवसर है। आपको 'सिस्टर' के धर्म का पूरा निर्वाह करना है। मुख्यमंत्री मंगलवार को अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों में नव-नियुक्त नर्सों को संबोधित कर रहे थे। प्रदेश में 1015 नर्सों की नियुक्ति की गई है। नर्सेज जिलों में एन.आई.सी केन्द्रों से शामिल हुईं।   मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना के समय मरीज के साथ अस्पताल में अटेंडेंट नहीं रहता। ऐसे में नर्स की ड्यूटी ओर बढ़ जाती है। उसे निरंतर मरीज के हेल्थ पैरामीटर्स चैक करने के अलावा उसकी निरंतर देखभाल करना तथा मनोबल बढ़ाना भी आवश्यक है। अपने नवीन कार्य का प्रारंभ करें और अपनी सेवा से मरीजों में नव-जीवन का संचार करें। आप सभी को मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ।   'सिस्टर' स्नेह, प्रेम और आत्मीयता की प्रतिमूर्ति मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्स को हम 'सिस्टर' अर्थात बहन कहते हैं। बहन स्नेह, प्रेम और आत्मीयता की प्रतिमूर्ति होती है। उनका परिवार के प्रति अद्भुत स्नेह होता है। इसी प्रेम, स्नेह एवं आत्मीयता से मरीजों की सेवा करें। उन्होंने सिस्टर सरोज यादव द्वारा कोरोना उपचार के दौरान की गई सेवा की सराहना भी की।   यह समय युद्ध काल जैसा है मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना काल युद्ध काल जैसा है। हम पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से कोरोना के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहे हैं। हमें दूसरी लहर के बाद अब तीसरी लहर के लिए भी तैयार रहना है। ऐसे में 'सिस्टर' पूरे धैर्य एवं संयम के साथ अपने पवित्र कर्त्तव्य का निर्वाह करें।   सकारात्मक दृष्टिकोण रखकर कार्य करें मुख्यमंत्री ने एक कहानी के माध्यम से बताया कि कार्य के प्रति तीन प्रकार का दृष्टिकोण हो सकता है। पहला कार्य को मजबूरी अथवा बोझ मानना, दूसरा उसे केवल आजीविका मानना तथा तीसरा कार्य को सेवा का अवसर मानकर उसके लिए ईश्वर को धन्यवाद देना। हम कार्य को सेवा मानें और सकारात्मक दृष्टिकोण रखकर कार्य करें।   वैक्सीन का एक भी डोज़ बेकार न जाए मुख्यमंत्री ने कहा कि आप में से कई 'सिस्टर्स' की ड्यूटी वैक्सीनेशन के लिए लगाई जायेगी। वैक्सीन हमारे लिए अमृत समान है। सभी 'सिस्टर्स' इस बात का ध्यान रखें कि वैक्सीन का एक भी डोज़ बेकार न जाये।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal,Governor Anandiben Patel, planted 80 sandalwood plants, Raj Bhavan complex

भोपाल। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंगलवार को पचमढ़ी राजभवन परिसर में चंदन के 80 पौधों का रोपण किया है।    उल्लेखनीय है कि भारतीय चंदन का संसार में सर्वोच्च स्थान है। इस पेड़ की ऊँचाई 18 से लेकर 20 मीटर तक होती है। दस वर्ष के पेड़ हो जाने पर उनसे खुशबू आने लगती है। इसकी पत्तियों, जड़, बीज आदि का भी पूरा इस्तेमाल किया जाता है। चंदन की प्रमुखतः दो प्रजाति मिलती हैं जो लाल और सफेद चंदन है। लाल चंदन में खुशबू कम है, जबकि सफेद चंदन में भरपूर मात्रा में खुशबू होती है।    चंदन के पेड़ का आर्थिक महत्व बहुत है। इसकी लकड़ी का उपयोग मूर्तिकला, तथा साजसज्जा के सामान बनाने में और अन्य उत्पादनों, अगरबत्ती, हवन सामग्री, तथा सौगंधिक तेल के निर्माण में होता है।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal, Minister of State visits ,Mungavali Hospital ,gets patients

भोपाल। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री एवं कोविड-19 के आशोकनगर जिला प्रभारी मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव सिविल अस्पलात मुंगावली पहुँचकर रोगियों तथा चिकित्सकों से मिले। उन्होंने रोगियों एवं उनके परिजनों से उपलब्ध हो रहे उपचार की जानकारी ली। राज्य मंत्री ने चिकित्सकों से कहा कि आमजन के इलाज में कोई कमी न आने पाये। अस्पताल की प्रत्येक जरूरत को समय पर पूरा किया जायेगा।   राज्य मंत्री ने लगवाया को-वैक्सीन का दूसरा डोजमुंगावली नगर में जन-जागरूकता के उद्देश्य से भ्रमण के दौरान राज्यमंत्री यादव नगर भवन में संचालित वैक्सीनेशन सेंटर पहुँचे। श्री यादव ने निर्धारित समय अवधि पूर्ण होने पर को-वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


bhopal, BJP

भोपाल। हमारे संवेदनशील मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश की भाजपा सरकार पूरे कोरोना संकट के दौरान पीड़ित, दुखी, परेशान और लाचार लोगों की चिंता करती रही है। सरकार समाज को साथ लेकर जिस तरह से काम कर रही है, उसके अच्छे परिणाम भी दिखाई देने लगे हैं, लेकिन आज मुख्यमंत्रीजी ने जो घोषणा की, वैसी घोषणा कोई बड़े दिल वाला और जनता के दुख को महसूस करने वाला जननेता ही कर सकता है। उक्‍त बातें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्‍यक्ष विष्‍णुदत्‍त शर्मा ने गुरुवार को वर्चुअल प्रेसवार्ता में कही।    प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना संकट में बेसहारा हुए परिवारों को सहारा देने के संबंध में मुख्यमंत्रीजी ने जो घोषणा की है, उससे पीड़ित परिवारों की मुश्किलों को कम करने और नया जीवन शुरू करने में मदद मिलेगी। मैं इस घोषणा के लिए और कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई से पूरे समाज को जोड़ने के लिए मुख्यमंत्रीजी का अभिनंदन करता हूं, आभार जताता हूं। श्री शर्मा ने कोरोना काल में दिवंगत पत्रकारों और नागरिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि कोरोना की त्रासदी ने कई बच्चों के सिर से माता-पिता का साया छीन लिया है, तो कई बुजुर्गों से उनके बुढ़ापे की लाठी छीन ली है। बहुत से परिवारों में अब कमाने वाला कोई नहीं बचा। कई घर ऐसे भी हैं, जिनमें अब सिर्फ बुजुर्ग माता-पिता और बच्चे ही रह गए हैं। हमारे संवेदनशील मुख्यमंत्रीजी के नेतृत्व में राज्य मंत्रिमंडल ने ऐसे परिवारों को पांच हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन, मुफ्त राशन तथा निःशुल्क शिक्षा आदि की जो घोषणा की है, वह निश्चित रूप से इन परिवारों के जीवन में आशा का संचार करेगी, उन्हें नया जीवन शुरू करने का उत्साह देगी।    शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की सरकार ने प्रदेश को बेसहारा परिवारों के लिए इस तरह की व्यवस्था करने वाला देश का पहला राज्य बना दिया है। उन्‍होंने कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ इस लड़ाई में मध्यप्रदेश की सरकार दिन रात काम कर रही है और सरकार के साथ पार्टी संगठन भी पूरे समन्वय के साथ काम कर रहा है। हमारे कार्यकर्ता कहीं कोविड केयर सेंटर बना रहे हैं, तो कहीं लोगों को भोजन और दवाएं उपलब्ध करा रहे हैं।    प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र पर चलती है और कोरोना के खिलाफ यह लड़ाई भी इससे अछूती नहीं है। हमारी सरकार ने महामारी के खिलाफ लड़ाई में समाज को भी साथ लिया है। सरकार ने हर स्तर पर जो क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप बनाए हैं, उनका सदस्य कोई भी व्यक्ति, किसी भी राजनीतिक दल का कार्यकर्ता हो सकता है। सरकार की इस सोच के चलते अब कार्यकर्ताओं के साथ आमजन भी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में आगे आ रहे हैं और गांवों में स्वेच्छा कर्फ्यू लगाने से लेकर वेक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित करने तक के काम कर रहे हैं।    उन्‍होंने कहा कि समाज के इसी सहयोग का परिणाम है कि मध्यप्रदेश सबसे संक्रमित राज्यों की सूची में चौथे स्थान से अब 14 वें स्थान पर आ गया है और राज्य में पॉजीटिविटी रेट भी घटकर 12.72 प्रतिशत पर आ गया है। श्री शर्मा ने कहा कि इन समन्वित प्रयासों के लिए मैं प्रदेश सरकार और प्रदेश के नागरिकों को धन्यवाद देता हूं, आभार प्रकट करता हूं। 

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2021


bhopal, When prices,petrol remained stable , elections, Bhupendra Gupta

भोपाल। मप्र कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि एक तरफ जनता कोरोना के हमले से बेजार जान बचाती फिर रही है। दूसरी तरफ नकली रेमडेसीविर बनाने वाले, ऑक्सीजन सिलेंडर की मुनाफाखोरी करने वाले डाकुओं से परेशान है। अस्पताल में बेड नहीं है, दवाई नहीं है, बिल चुकाने के लिए पैसे नहीं है। इन परेशानियों से बेजान जनता को अब पेट्रोल की बढ़ती कीमतों की आग में झोंक दिया सरकार ने। पेट्रोल सेंचुरी मार रहा है और भाजपा चियर लीडर्स की तरह डांस कर रही है।   भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि मध्यप्रदेश में  लगभग 2 लाख सक्रिय मरीज अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं लगभग एक लाख मरीज घर से इलाज करा रहे हैं इनके परिजनों को अस्पताल जाना होता है दवा लेने जाना होता है। पेट्रोल की बढ़ी हुई कीमतों ने उनकी गाड़ी के पहिये बांध दिये हैं। लगातार बढ़ रही पेट्रोल की कीमतों की निंदा करते हुये कांग्रेस नेता ने कहा कि जब चुनावों में जनता को ठगने के लिये पेट्रोल डीजल की कीमतें स्थिर रख सकते हैं तो कोरोना त्रासदी में क्यों नहीं? इस समय पूरी दुनिया में कहीं भी पेट्रोल डीजल की कीमत नहीं बढ़ रही तो भारत में क्यों बढ़ रही है?    भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि भाजपा के वक्तव्यवीर नेता किसानों के खाद बीज की कीमतों पर बयान क्यों नहीं देते। बतायें कि डीएपी की बोरी 1200 रुपये से सीधे 1900 रुपये कैसे हो गई है? क्या उसका समर्थन मूल्य भी 900 रुपये बढ़ाया है?

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal,Distribution, free pulses, oil along, wheat, rice , Food Minister Singh

भोपाल। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने कहा कि हितग्राहियों को नि:शुल्क वितरित किए जाने वाले खाद्यान में दाल एवं खाद्य तेल के वितरण के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से वे चर्चा करेंगे। मंत्री सिंह ने बुधवार को अंतरविभागीय गरीब कल्याण समूह की वर्चुअल बैठक में समिति के सदस्यों द्वारा हितग्राहियों को दिये जाने वाले खाद्यान्न के साथ दाल और तेल उपलब्ध करवाने के प्रस्ताव पर यह बात कही। बैठक में समिति के सदस्यों में नगरीय विकास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हरदीप सिंह डंग, पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल एवं श्रम मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया भी वर्चुअली उपस्थित रहे।   मंत्री डंग ने कहा कि हितग्राहियों को गेहूँ एवं चावल के साथ एक किलो दाल भी वितरित की जाना चाहिए। उनकी बात का समर्थन करते हुए श्रम मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया ने कहा कि खाद्य तेल का आयात बाधित होने के कारण तेल की कीमतें लगभग दुगनी हो गई हैं। प्रदेश का गरीब तेल खरीदने की स्थिति में नहीं है। ऐसी स्थिति में गेहूँ, चावल, दाल के साथ खाद्य तेल भी हितग्राहियों को नि:शुल्क वितरित किया जाना चाहिए।   वास्तविक हितग्राही हों सुगमता से लाभान्वित प्रमुख सचिव खाद्य फैज़ अहमद क़िदवई ने बताया कि अंतर्विभागीय गरीब कल्याण समूह योजना में भारत सरकार द्वारा ऐसे व्यक्ति, जिन्हें सरकारी सहायता की आवश्यकता है, की पहचान के लिए गरीबी रेखा का निर्धारण किया गया है। निर्धनता का निर्धारण विभिन्‍न मापदण्डों के आधार पर किया गया है। निर्धनों के कल्याण के लिए संबंधित विभागों के आपसी समन्वय एवं सहभागिता के लिए अंतरविभागीय गरीब कल्याण समूह का गठन किया गया है।   अन्न योजना के हितग्राही परिवार प्रमुख सचिव किदवई ने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के अंतर्गत दो प्रकार के हितग्राहियों को खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। इनमें पहला बीपीएल श्रेणी के एवं दूसरे हितग्राही प्राथमिकता श्रेणी के परिवार शामिल हैं। इनमें अंत्योदय परिवार के सदस्यों को एक माह में गेहूँ, चावल और मोटा अनाज एक रूपये प्रति कि.ग्रा. की दर से 35 कि.ग्रा. प्रति परिवार, एक रूपये प्रति कि.ग्रा. की दर से 20 किलो शक्कर प्रति परिवार, एक रूपये प्रति किलो नमक प्रति परिवार एवं 3 लीटर कैरोसीन 35 से 40 रूपये लीटर प्रति परिवार की दर से उपलब्ध कराया जा रहा है।   प्राथमिकता श्रेणी के परिवार किदवई ने बताया कि दूसरे हितग्राही प्राथमिकता श्रेणी के परिवारों को गेहूँ, चावल और मोटा अनाज प्रति परिवार 35 कि.ग्रा. एक रूपये प्रति किलो की दर से, एक कि.ग्रा. नमक एक रूपये प्रति किलो की दर से प्रति परिवार एवं कैरोसीन 35 से 40 रूपये प्रति लीटर की दर से एक लीटर प्रति परिवार उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उपरोक्त के अतिरिक्त कोरोना की दूसरी लहर में प्रत्येक हितग्राही को भारत सरकार की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में 5 किलो प्रति सदस्य, प्रति माह नि:शुल्क खाद्यान्न भी प्रदान किया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण में हितग्राहियो को अप्रैल से जून तीन माह तक नियमित आवंटन का खाद्यान्न स:शुल्क के स्थान पर नि:शुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal, Former minister, PC Sharma ,gave incentive, cremators in crematorium

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कोविड महामारी के दौरान भदभदा, सुभाष नगर, झदा कब्रिस्तान में कोरोना मृतकों के शवों का अंतिम संस्कार करने व दफनाने वाले कर्मचारियों और कोरोना मृतकों के शव अस्पताल से विश्राम घाटों और झदा कब्रिस्तान तक लाने वाले नगर निगम के ड्रायवरों को कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए भदभदा विश्राम घाट के सभागार में प्रोत्साहन राशि के ड्राफ्ट बांटकर सम्मानित किया।   गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर में करीब 64 कर्मचारी दिन रात अपनी सेवाएं देकर कोरोना मृतकों के परिजनों के साथ कंधा मिलाकर खडे है और लगातार पीडि़त परिवारों की सेवा कर रहे हैं। इन कर्मचारियों की किसी भी संगठन ने भी सुध नही ली, ऐसे में पूर्व मंत्री एवं विधायक पीसी शर्मा कोरोना वॉरियर्स की हौसला अफजाई करने के लिए आगे आये और मदद करने का बीडा उठाया। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने इस मौके पर कहां कि सरकार को कोरोना ड्यूटी में लगे सभी विभागों के कर्मचारियों को कोरोना वॉरियर्स घोषित करना चाहिए। क्योंकि सभी विभागों के कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे हैं। वे अपने परिवारों की चिंता किये बगैर अपने कार्यों को बखूबी से अंजाम दे रहे है। इसलिए ऐसे सभी विभागों के कर्मचारियों को कोरोना वारियर्स का दर्जा मिलना चाहिए।   शाल, श्रीफल और प्रोत्साहन राशि से किया सम्मानितपूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने भदभदा विश्राम घाट समिति के अध्यक्ष अरुण चौधरी, उपाध्यक्ष रमेश साहबानी, कोषाध्यक्ष अजय दुबे, सचिव ममतेश शर्मा, सुरेश भागचंदानी सदस्य,  झदा कब्रिस्तान के अध्यक्ष रेहान गोल्डन, सुभाष नगर के विक्षाम घाट अधय्क्ष प्रमोद मोदी (चुघ), का शाल, श्रीफल से सम्मानित किया और सभी कर्मचारियों और शव वाहनों के ड्राइवरों के प्रोत्साहन राशि के चेक उन्हें सौंपे।

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2021


bhopal, Former minister, PC Sharma ,gave incentive, cremators in crematorium

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कोविड महामारी के दौरान भदभदा, सुभाष नगर, झदा कब्रिस्तान में कोरोना मृतकों के शवों का अंतिम संस्कार करने व दफनाने वाले कर्मचारियों और कोरोना मृतकों के शव अस्पताल से विश्राम घाटों और झदा कब्रिस्तान तक लाने वाले नगर निगम के ड्रायवरों को कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए भदभदा विश्राम घाट के सभागार में प्रोत्साहन राशि के ड्राफ्ट बांटकर सम्मानित किया।   गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर में करीब 64 कर्मचारी दिन रात अपनी सेवाएं देकर कोरोना मृतकों के परिजनों के साथ कंधा मिलाकर खडे है और लगातार पीडि़त परिवारों की सेवा कर रहे हैं। इन कर्मचारियों की किसी भी संगठन ने भी सुध नही ली, ऐसे में पूर्व मंत्री एवं विधायक पीसी शर्मा कोरोना वॉरियर्स की हौसला अफजाई करने के लिए आगे आये और मदद करने का बीडा उठाया। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने इस मौके पर कहां कि सरकार को कोरोना ड्यूटी में लगे सभी विभागों के कर्मचारियों को कोरोना वॉरियर्स घोषित करना चाहिए। क्योंकि सभी विभागों के कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे हैं। वे अपने परिवारों की चिंता किये बगैर अपने कार्यों को बखूबी से अंजाम दे रहे है। इसलिए ऐसे सभी विभागों के कर्मचारियों को कोरोना वारियर्स का दर्जा मिलना चाहिए।   शाल, श्रीफल और प्रोत्साहन राशि से किया सम्मानितपूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने भदभदा विश्राम घाट समिति के अध्यक्ष अरुण चौधरी, उपाध्यक्ष रमेश साहबानी, कोषाध्यक्ष अजय दुबे, सचिव ममतेश शर्मा, सुरेश भागचंदानी सदस्य,  झदा कब्रिस्तान के अध्यक्ष रेहान गोल्डन, सुभाष नगर के विक्षाम घाट अधय्क्ष प्रमोद मोदी (चुघ), का शाल, श्रीफल से सम्मानित किया और सभी कर्मचारियों और शव वाहनों के ड्राइवरों के प्रोत्साहन राशि के चेक उन्हें सौंपे।

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2021


Bhopal,Ajay Vishnoi ,shrugged off leadership ,defeat in Damoh, Congress tightened

भोपाल। दमोह उपचुनाव में मिली हार को लेकर एक तरफ जहां पार्टी नेतृत्व ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है, वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाए हैं। इधर, इसी को लेकर विपक्षी दल कांग्रेस ने भी भाजपा नेतृत्व पर तंज कसा है।   दमोह उपचुनाव में पूरी ताकत झोंकने के बाद भी मिली हार को लेकर भाजपा में विरोध खुलकर सामने आने लगा है। सात बार के विधायक जयंत मलैया को पार्टी ने नोटिस दिया है, वहीं उनके बेटे सिद्धार्थ मलैया को निलंबित कर दिया गया है। ऐसे में अब वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री अजय विश्नोई को एक बार फिर पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर निशाना साधने का मौका मिला गया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए कहा कि क्या हार की जवाबदारी टिकट बांटने वाले और चुनाव प्रभारी लेंगे।   सही मौका देखते हुए कांग्रेस ने भी इसे लेकर सीधे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पार्टी अध्यक्ष पर निशाना साध दिया है। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी के.के. मिश्रा ने एक पोस्ट करते हुए लिखा है कि डीएम-एसपी के तबादले किए गए हैं, क्या अब तक भाजपा इन्हीं के बल पर जीतती आई है? अगर यही हार के लिए जिम्मेदार हैं, तो 15 सालों के सीएम और टिकट बांटने वाले प्रदेश अध्यक्ष निर्दोष कैसे हो सकते हैं?

Dakhal News

Dakhal News 8 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Minister Dung ,reviews oxygen, injection vaccination availability

भोपाल। पर्यावरण, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री एवं खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने बुधवार को खरगोन में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की प्रशासनिक अधिकारियों एवं जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ समीक्षा बैठक की।मंत्री श्री डंग ने बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा कार आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मंत्री श्री डंग ने ऑक्सीजन एवं इंजेक्शन उपलब्धता सहित वैक्सीनेशन को लेकर की जा रही तैयारी और उपलब्धता पर भी बैठक में विस्तृत चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक रवि जोशी, सचिन यादव, झूमा सोलंकी, केदार और सचिन बिरला भी उपस्थित थे।मंडल अध्यक्ष श्री आलीवाल को श्रद्धांजलिपर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने आज खरगोन में भारतीय जनता पार्टी के मंडल के अध्यक्ष राकेश आलीवाल के निवास पर पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री डंग ने शोक संतप्त परिजनों को भी ढांढस बंधाया। इसके बाद मंत्री डंग ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा की जा रही कोविड-19 के दौरान महत्वपूर्ण भोजन सेवा का भी अवलोकन किया और इस कार्य की सराहना की। इस अवसर पर सांसद गजेंद्र पटेल सहित स्थानीय भाजपा पदाधिकारी एवं जन-प्रतिनिधि भी साथ थे।    

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, Free healthy food ,service scheme started ,Minister Sarang launched

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने मंगलवार को भोपाल के कोरोना मरीजों के लिए नि:शुल्क स्वस्थ आहार सेवा योजना शुरू की। इस योजना के शुरू हो जाने से अब कोरोना मरीज के परिजनों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। मरीज जिस अस्पताल में भर्ती है, वहीं समय पर उसे पौष्टिक आहार नि:शुल्क मिल जायेगा। मंत्री सारंग ने बताया कि पायलेट प्रोजेक्ट के तौर पर यह योजना भोपाल के 110 अस्पताल में शुरू की गई है। इसकी सफलता पर प्रदेश के अन्य शहरों में भी इस योजना को शुरू किया जायेगा। योजना के शुभारंभ के अवसर पर भोपाल कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया भी उपस्थित थे।   मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि जिला आपदा प्रबंध समिति और कोरोना कफ्र्यू की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात सामने आयी थी कि कोरोना कफ्र्यू के कारण अस्पतालों में मरीजों को भोजन पहुँचाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। साथ ही कोरोना मरीज के लिए भोजन लेकर उसके परिजन अस्पताल आते हैं, तो उनके संक्रमित होने की संभावना लगातार बनी रहती है। इसलिए अस्पतालों में मरीजों को नि:शुल्क भोजन की व्यवस्था सरकार ने स्वयंसेवी संगठनों और जन-सहयोग से शुरू की है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग ने कहा कि अब कोरोना मरीज के परिजनों को परेशान नहीं होना पड़ेगा और उनके संक्रमित होने का डर भी नहीं रहेगा। साथ ही मरीज को भी अस्पताल में समय पर पौष्टिक आहार मिल जायेगा। वैसे भी इस दौरान मरीज के जल्दी स्वस्थ होने के लिए पौष्टिक आहार की जरूरत होती है।   मंत्री सारंग ने बताया कि नि:शुल्क स्वस्थ आहार सेवा योजना के लिए एक हेल्प लाइन नंबर भी जल्दी शुरू किया जा रहा। इस नंबर पर मरीज के परिजन जिस अस्पताल में मरीज भर्ती है, वहाँ भोजन पहुँचाने के लिए बता सकेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 4 May 2021


bhopal, Free healthy food ,service scheme started ,Minister Sarang launched

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने मंगलवार को भोपाल के कोरोना मरीजों के लिए नि:शुल्क स्वस्थ आहार सेवा योजना शुरू की। इस योजना के शुरू हो जाने से अब कोरोना मरीज के परिजनों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। मरीज जिस अस्पताल में भर्ती है, वहीं समय पर उसे पौष्टिक आहार नि:शुल्क मिल जायेगा। मंत्री सारंग ने बताया कि पायलेट प्रोजेक्ट के तौर पर यह योजना भोपाल के 110 अस्पताल में शुरू की गई है। इसकी सफलता पर प्रदेश के अन्य शहरों में भी इस योजना को शुरू किया जायेगा। योजना के शुभारंभ के अवसर पर भोपाल कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया भी उपस्थित थे।   मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि जिला आपदा प्रबंध समिति और कोरोना कफ्र्यू की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात सामने आयी थी कि कोरोना कफ्र्यू के कारण अस्पतालों में मरीजों को भोजन पहुँचाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। साथ ही कोरोना मरीज के लिए भोजन लेकर उसके परिजन अस्पताल आते हैं, तो उनके संक्रमित होने की संभावना लगातार बनी रहती है। इसलिए अस्पतालों में मरीजों को नि:शुल्क भोजन की व्यवस्था सरकार ने स्वयंसेवी संगठनों और जन-सहयोग से शुरू की है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग ने कहा कि अब कोरोना मरीज के परिजनों को परेशान नहीं होना पड़ेगा और उनके संक्रमित होने का डर भी नहीं रहेगा। साथ ही मरीज को भी अस्पताल में समय पर पौष्टिक आहार मिल जायेगा। वैसे भी इस दौरान मरीज के जल्दी स्वस्थ होने के लिए पौष्टिक आहार की जरूरत होती है।   मंत्री सारंग ने बताया कि नि:शुल्क स्वस्थ आहार सेवा योजना के लिए एक हेल्प लाइन नंबर भी जल्दी शुरू किया जा रहा। इस नंबर पर मरीज के परिजन जिस अस्पताल में मरीज भर्ती है, वहाँ भोजन पहुँचाने के लिए बता सकेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 4 May 2021


bhopal,Medical kits reached ,one lakh 61 thousand 413 corona patients

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार होम आइसोलेट कोरोना मरीजों को मेडिकल किटों का वितरण लगातार जारी है। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने सोमवार को बताया कि अभी तक 52 जिलों में एक लाख 61 हजार 413 मेडिकल किट वितरित की जा चुकी हैं।   मंत्री श्री सिंह  ने बताया  है कि  18 अप्रैल से दो मई के मध्य नगरीय क्षेत्रों में फ़ीवर क्लीनिक व होम डिलीवरी के माध्यम से एक लाख 61  हजार 413 मेडिकल किट कोविड मरीज़ों को उपलब्ध कराई गई हैं।    उन्होंने  जानकारी दी है कि  18 अप्रैल को 12 हजार 583, 19 अप्रैल को 16 हजार 914, 20 अप्रैल को 11 हजार 465, 21 अप्रैल को 10 हजार 327, 22 अप्रैल को 11 हजार 76,  23 अप्रैल को 11 हजार 17,  24 अप्रैल को 10 हजार 658, 25 अप्रैल को 9 हजार 497, 26 अप्रैल को 9 हजार 360, 27 अप्रैल को 9 हजार 705 , 28 अप्रैल को 11 हजार 141, 29 अप्रैल को 9 हजार 347, 30 अप्रैल को 8 हजार 958, एक मई को 10 हजार 253 और 2 मई को 9 हजार 112 कोविड मरीजों को मेडिकल किट वितरित की गई हैं।     

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


bhopal, Ministers continue, communicate infected, Revenue ,Transport Minister

भोपाल। राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने सागर में होम आइसोलेटेड मरीजों से उनके स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्राप्त की। उन्‍होंने मोबाइल पर सुरखी में होम आईसोलेटेड मरीज शारदा साहू, आकाश साहू, धर्मेन्द्र चौरसिया और भूपेन्द्र चौरसिया से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा चर्चा की। उनसे मेडिकल किट और अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी भी प्राप्त की।    इस संबंध में जनसंपर्क सूचना अधिकारी मुकेश दुबे ने बताया कि श्री राजपूत कोरोना मरीजों की देखभाल एवं स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के लिये प्रतिदिन होम आइसोलेटेड मरीजों से चर्चा कर रहे थे। इसके पूर्व मंत्री श्री राजपूत ने गाँव में आम जनता के बीच सड़कों पर जाकर कोरोना चेन को तोड़ने के संबंध में लोगों को माइक एवं बैनर्स के माध्यम से समझाइश दी।    उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का संदेश है कि कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़कर ही कोरोना पर विजय प्राप्त की जा सकती है। इस समय हम सभी का प्रयास यही रहना चाहिए कि हम अपने संयुक्‍त प्रयासों से कोरोना की इस चेन को तोड़ने में सफल हो सकें।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


bhopal, Ministers continue, communicate infected, Revenue ,Transport Minister

भोपाल। राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने सागर में होम आइसोलेटेड मरीजों से उनके स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्राप्त की। उन्‍होंने मोबाइल पर सुरखी में होम आईसोलेटेड मरीज शारदा साहू, आकाश साहू, धर्मेन्द्र चौरसिया और भूपेन्द्र चौरसिया से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा चर्चा की। उनसे मेडिकल किट और अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी भी प्राप्त की।    इस संबंध में जनसंपर्क सूचना अधिकारी मुकेश दुबे ने बताया कि श्री राजपूत कोरोना मरीजों की देखभाल एवं स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के लिये प्रतिदिन होम आइसोलेटेड मरीजों से चर्चा कर रहे थे। इसके पूर्व मंत्री श्री राजपूत ने गाँव में आम जनता के बीच सड़कों पर जाकर कोरोना चेन को तोड़ने के संबंध में लोगों को माइक एवं बैनर्स के माध्यम से समझाइश दी।    उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का संदेश है कि कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़कर ही कोरोना पर विजय प्राप्त की जा सकती है। इस समय हम सभी का प्रयास यही रहना चाहिए कि हम अपने संयुक्‍त प्रयासों से कोरोना की इस चेन को तोड़ने में सफल हो सकें।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


bhopal,Minister of State ,Brijendra Yadav ,help self-help outsourced employees

भोपाल। कोरोना संक्रमण के दौरान स्वास्थ्य सुविधायें प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता हैं। आम नागरिक को उनके निकटतम अस्पताल में इलाज की सभी सुविधायें मिलें इसके समुचित इंतजाम किए गये हैं। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री एवं कोविड-19 प्रभारी मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने आज शुक्रवार को सिविल अस्पताल मुंगावली के निरीक्षण के दौरान यह बातें कहीं। उन्होंने अस्पताल में चिकित्सक से चिकित्सा सुविधाओं के संबंध में चर्चा की तथा रोगियों से उनके उपचार की जानकारी ली।   राज्यमंत्री बृजेन्द्र यादव ने अस्पताल निरीक्षण के दौरान चिकित्सक के प्रस्ताव अनुसार 10 ऑक्सीजन मशीन तथा एक एम्बुलेंस विधायक निधि से तत्काल खरीदने की सहमति दी। उन्होंने कहा कि सिविल अस्पताल मुंगावली को सर्व सुविधायुक्त बनाये जाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी। अस्पताल में आउटसोर्स से काम कर रहे 10 कर्मचारियों ने राज्यमंत्री को बताया कि उन्हें विगत करीब 10 माह से वेतन नहीं मिला है।    राज्यमंत्री ने कहा कि इन सभी कर्मचारियों को कोरोना काल में 5-5 हजार रूपये प्रतिमाह का भुगतान उनके द्वारा व्यक्तिगत रूप से किया जायेगा। उन्होंने चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि वे आउटसोर्सिंग संस्था से बात कर कर्मचारियों के रूके हुए वेतन का भुगतान जल्दी करवायें।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal,Minister of State ,Brijendra Yadav ,help self-help outsourced employees

भोपाल। कोरोना संक्रमण के दौरान स्वास्थ्य सुविधायें प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता हैं। आम नागरिक को उनके निकटतम अस्पताल में इलाज की सभी सुविधायें मिलें इसके समुचित इंतजाम किए गये हैं। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री एवं कोविड-19 प्रभारी मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने आज शुक्रवार को सिविल अस्पताल मुंगावली के निरीक्षण के दौरान यह बातें कहीं। उन्होंने अस्पताल में चिकित्सक से चिकित्सा सुविधाओं के संबंध में चर्चा की तथा रोगियों से उनके उपचार की जानकारी ली।   राज्यमंत्री बृजेन्द्र यादव ने अस्पताल निरीक्षण के दौरान चिकित्सक के प्रस्ताव अनुसार 10 ऑक्सीजन मशीन तथा एक एम्बुलेंस विधायक निधि से तत्काल खरीदने की सहमति दी। उन्होंने कहा कि सिविल अस्पताल मुंगावली को सर्व सुविधायुक्त बनाये जाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी। अस्पताल में आउटसोर्स से काम कर रहे 10 कर्मचारियों ने राज्यमंत्री को बताया कि उन्हें विगत करीब 10 माह से वेतन नहीं मिला है।    राज्यमंत्री ने कहा कि इन सभी कर्मचारियों को कोरोना काल में 5-5 हजार रूपये प्रतिमाह का भुगतान उनके द्वारा व्यक्तिगत रूप से किया जायेगा। उन्होंने चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि वे आउटसोर्सिंग संस्था से बात कर कर्मचारियों के रूके हुए वेतन का भुगतान जल्दी करवायें।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal,Minister of State ,Brijendra Yadav ,help self-help outsourced employees

भोपाल। कोरोना संक्रमण के दौरान स्वास्थ्य सुविधायें प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता हैं। आम नागरिक को उनके निकटतम अस्पताल में इलाज की सभी सुविधायें मिलें इसके समुचित इंतजाम किए गये हैं। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री एवं कोविड-19 प्रभारी मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने आज शुक्रवार को सिविल अस्पताल मुंगावली के निरीक्षण के दौरान यह बातें कहीं। उन्होंने अस्पताल में चिकित्सक से चिकित्सा सुविधाओं के संबंध में चर्चा की तथा रोगियों से उनके उपचार की जानकारी ली।   राज्यमंत्री बृजेन्द्र यादव ने अस्पताल निरीक्षण के दौरान चिकित्सक के प्रस्ताव अनुसार 10 ऑक्सीजन मशीन तथा एक एम्बुलेंस विधायक निधि से तत्काल खरीदने की सहमति दी। उन्होंने कहा कि सिविल अस्पताल मुंगावली को सर्व सुविधायुक्त बनाये जाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी। अस्पताल में आउटसोर्स से काम कर रहे 10 कर्मचारियों ने राज्यमंत्री को बताया कि उन्हें विगत करीब 10 माह से वेतन नहीं मिला है।    राज्यमंत्री ने कहा कि इन सभी कर्मचारियों को कोरोना काल में 5-5 हजार रूपये प्रतिमाह का भुगतान उनके द्वारा व्यक्तिगत रूप से किया जायेगा। उन्होंने चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि वे आउटसोर्सिंग संस्था से बात कर कर्मचारियों के रूके हुए वेतन का भुगतान जल्दी करवायें।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, Jail and Home Minister ,Dr. Mishra ,visited Bhopal Central Jail

भोपाल। जेल एवं गृह मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को भोपाल सेंट्रल जेल का भ्रमण कर बंदियों का हालचाल जाना। उन्होंने व्यवस्थाओं का जायजा लेने के बाद कहा कि कोरोना संकट की घड़ी में उनकी चिंता करना हमारा दायित्व है, इसीलिए आज जेल का भ्रमण कर बंदियों से उनकी कुशलक्षेम पूछी है। जेल प्रशासन को सभी आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश भी दिए गए हैं।   डॉ. मिश्रा ने कहा कि कोरोना काल में बंदियों के स्वास्थ्य की चिंता के दृष्टिगत ही सरकार ने 60 दिवस के आपात पैरोल का निर्णय लिया है। सरकार द्वारा दिए गए आपात पैरोल का लाभ प्रथम चरण में 4 हजार 500 बंदियों को मिलेगा। इसके पश्चात जैसे-जैसे आवेदन प्राप्त होंगे महानिदेशक जेल विचार कर आवश्यक निर्णय लेंगे। उन्होंने कहा कि बंदियों के परिजनों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। जेल प्रशासन  बंदियों को सभी आवश्यक सुविधाएँ मुहैया करा रहा है और किसी भी बंदी को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं आने दी जाएगी।   सभी जेलों में चलेगा 'योग रखें निरोग' कार्यक्रमडॉ. मिश्रा ने कहा कि कोरोना के संकट में कैदियों के मनोबल को ऊँचा बनाए रखने के लिए सभी जेलों में 'योग रखे निरोग'' कार्यक्रम चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जेलों में ध्यान संबंधी कार्यक्रम भी आयोजित किए जा रहे हैं। भोपाल सेंट्रल जेल के भ्रमण के दौरान गृह मंत्री डॉ. मिश्रा के साथ महानिदेशक जेल एवं सुधारात्मक सेवाएँ अरविंद कुमार, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक अवस्थी, जेल अधीक्षक दिनेश नरगावे एवं अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


bhopal, administration, blacken property ,black marketers, Home Minister Mishra

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संकट के बीच दवाओं की कालाबाजारी का खेल भी जोरों से चालू है। अब तक ऐसे कई मामलें सामने आ चुके हैं। इस बीच अब दवाओं की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सरकार ने सख्त रवैया अपनाते हुए ऐसे लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की चेतावनी दी है।   मप्र के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि सरकार कालाबाजारी करने वालों की संपति राजसात करेगी। कालाबाजारी करने पर संपति जब्त करेंगे। वहीं कोरोना कर्फ्यू को लेकर मंत्री मिश्रा का कहना है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर काबू पाने ले लिए जनता कर्फ्यू 7 मई तक बढ़ाया गया हैं। इसे भोपाल में 10 मई तक करने का विचार कर रहे हैं। जनता कर्फ्यू के सार्थक परिणाम आना प्रारंभ हो गए हैं। हम-सब मिलकर बहुत जल्द कोरोना पर नियंत्रण कर लेंगे।   कोरोना रिकवरी रेट को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि रिकवरी रेट बेहतर होता जा रहा है। कोरोना का स्थाई इलाज वैक्सीन है। कांग्रेस के वैक्सीन को लेकर दिए बयान पर उन्होंने कहा कि पहले दिन से भ्रम फैला रखा है, सिर्फ काम उंगली उठाना है। अशोकनगर में ऑक्सीजन की कमी से 3 लोगों की मौत पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि व्यवस्था में कमी हो सकती है लेकिन उपलब्धता में नहीं।

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


bhopal, Center , provide cryogenic tanker ,oxygen concentrator , Madhya Pradesh

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मौजूदा हालात यह संकेत दे रहे हैं कि प्रदेश को इस संकट से उबरने में अभी कुछ दिन और लगेंगे। ऐसे में केंद्र सरकार ने एक बार फिर से मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आशा की किरण दिखाई है।गृहमंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री शिवराज को आश्‍वस्‍त किया कि वे किसी प्रकार की कोई ऑक्‍सीजन या अन्‍य दवाओं की सप्‍लाई में कमी नहीं आने देंगे। प्रदेश को हर संभव सहायता केंद्र सरकार की ओर से उपलब्‍ध कराई जाएगी।  मुख्‍यमंत्री चौहान ने ट्विटर के जरिए बताया कि उनकी गृहमंत्री अमित शाह से फोन पर चर्चा हुई। उन्होंने केंद्र सरकार की ओर से प्रदेश को क्रायोजेनिक टैंकर और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराने की बात कही। चौहान ने कोविड-19 की चुनौती में सतत सहयोग के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और केंद्र सरकार का हृदय से धन्यवाद दिया है।  प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट लगातार घट रही है। मंगलवार को यह दर 22.76 प्रतिशत थी। जो आज घटकर 21.71 प्रतिशत हो गई है। इसके साथ ही रिकवरी दर में लगातार वृद्धि हुई है। प्रदेश के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि सरकार के अथक प्रयासों से संक्रमण की दर में कमी आनी शुरू हो गई है। प्रदेश के आठ जिलों में संक्रमण दर में कमी दर्ज की गई है। वहीं 36 जिले ऐसे हैं जिनमें संक्रमण की दर स्थिर होने की स्थिति में आ गई है।  डॉ. मिश्रा ने बताया कि ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों के सकारात्मक परिणाम आने लगे हैं। सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति वायुमार्ग, रेलमार्ग और सड़क मार्ग से भारत सरकार की मदद से कर रही है। ऑक्सीजन उत्पादन के लिए स्वीकृत आठ प्लान्टों में से सात प्लान्ट तैयार हो गए हैं, जिसमें से छह में उत्पादन भी प्रारंभ हो गया है। रिकवरी की दर भी लगभग 85 प्रतिशत तक पहुंच गई है।  उल्लेखनीय है कि केंद्र से 22 अप्रैल से 643 मीट्रिक टन प्रतिदिन ऑक्सीजन की आपूर्ति की स्वीकृति मिली है। रेल मंत्रालय के सहयोग से त्वरित रूप से ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित हो रही है।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


bhopal, Kovid-positive patients, rate declines, Madhya Pradesh, recovery rate increased

भोपाल। कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने से ही कोरोना पर विजय पाई जा सकती है। प्रदेश एक्टिव केसेस में देश में सात वें नंबर से बेहतर स्थिति में होकर 11वें नंबर पर आ गया है। परंतु कोरोना का स्वरूप कब क्या रूप ले ले इसलिए हमें संभलकर चलना होगा। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना नियंत्रण के संबंध में बुधवार को कोविड प्रभारी मंत्रियों, कमिश्नर, कलेक्टर्स, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक एवं जिले में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों से वर्चुअली चर्चा के दौरान कही हैं।    चौहान ने बताया कि प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की दर लगातार घट रही है। मंगलवार को यह दर 22.76 प्रतिशत थी। जो आज घटकर कर 21.71 प्रतिशत हो गई है। इसके साथ ही रिकवरी दर में लगातार वृद्धि हुई है। प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर लगातार बढ़ रही है। गत 23 अप्रैल को रिकवरी दर 80.41 प्रतिशत थी जो बढ़कर 81.75 प्रतिशत हो गयी है। इसके साथ रिकवर होने वाले मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है, जो कल तक कुल 11 हजार 577 थी। आज 14 हजार 156 हो गई है।    मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के एक्टिव प्रकरण में आज पहली बार कमी देखने को मिली है। कल तक 94 हजार 276 एक्टिव प्रकरण थे, जो आज घटकर 92 हजार 773 हो गए हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश के छिंदवाड़ा, शाजापुर, पन्ना, आगर-मालवा, उमरिया, कटनी, अनूपपुर, गुना, देवास एवं बड़वानी ऐसे 10 जिले हैं जहाँ प्रतिदिन नए पॉजिटिव केसों में कमी आई है।   चौहान का कहना है कि प्रदेश के कुछ जिलों में नए पॉजिटिव केस निरंतर बढ़ रहे हैं। प्रदेश के इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और उज्जैन में इन केसों में निरंतर वृद्धि हो रही है। राज्य सरकार का प्रयास है कि सभी जिलों में ऑक्सीजन और इंजेक्शन का आवश्यकतानुसार वितरण किया जा सके।   कोरोना कर्फ्यू का कराएं कड़ाई से पालन- मुख्यमंत्री शिवराज ने प्रभारी अधिकारियों से कहा कि संक्रमण की चेन तोड़ने में सबसे ज्यादा कारगर उपाय कोरोना कर्फ्यू है। जनता को प्रेरित कर इसका कड़ाई से पालन सुनिश्चित करें। जनता कर्फ्यू कोई लॉकडाउन नहीं है, जनता द्वारा स्वयं संक्रमण से सुरक्षा के लिए लिया गया निर्णय है। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है प्रदेश के लगभग 90 प्रतिशत ग्राम पंचायतें, अपने गाँवों में कोरोना कर्फ्यू लगाने का स्वयं संकल्प ले चुकी हैं।   सरकार ने अपनाई काेविड से निपटने की ये रणनीति  सभी मरीजों की सैम्पलिंग, टेस्टिंग और 24 घंटे में रिपोर्ट। होम आइसोलेशन की नियमित मॉनिटरिंग। कोविड केयर सेंटर की स्थापना और संचालन। अस्पतालों में बेड्स, ऑक्सीजन, इंजेक्शन और दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता। अधिक से अधिक लोगों का कोविड टीकाकरण। कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन। रोग-प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि के उपाय। जन-जागरुकता, किल कोरोना अभियान।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


bhopal, Suddenly, Minister Sarang ,reached Hamidia, communicated with, Kovid patients

भोपाल।  चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग  बुधवार अचानक से हमीदिया अस्पताल पहुंचे और वहां कोविड केयर सेंटर, फीवर क्लीनिक आदि की व्यवस्थाएँ देखीं और उपचाररत मरीजों से संवाद किया। उन्होंने कोविड केयर सेंटर में पदस्थ स्टॉफ से चर्चा की और उनकी हौंसला अफजाई भी की।    इस दौरान श्री सारंग ने फीवर क्लीनिक की व्यवस्थाओं को भी देखा और वहाँ जाँच कराने आये मरीजों से उनका हाल जाना। साथ ही उनसे व्यवस्थाओं के बारे में भी जानकारी ली। उन्‍होंने कोविड केयर सेंटर में भर्ती बागमुगालिया के रहवासी प्रदीप से वीडियो कॉल के माध्यम से चर्चा की। चर्चा के दौरान प्रदीप ने वहाँ की तमाम व्यवस्थाओं पर संतुष्टि जाहिर की।    प्रदीप ने बताया कि दवाई, भोजन आदि समय पर उपलब्ध कराया जा रहा है। इसी के साथ डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिकल स्टॉफ मुस्तैदी से काम कर रहे हैं। साथ ही परिजनों से भी रोज वीडियो कॉल के माध्यम से बात करवाई जा रही है।   श्री सारंग ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना नियंत्रण के लिये सुचारु व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की गई हैं। विगत दौरे में दिये गये निर्देशों का पालन भी सुनिश्चित किया गया है। इसमें एक कड़ी वीडियो कॉल के माध्यम से पेशेंट की परिजनों से चर्चा करवाना भी था, जो कारगर साबित हो रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट कम हुआ है और रिकवरी रेट बढ़ा है।   श्री सारंग ने बताया कि हमीदिया अस्पताल में नया एचडीयू वार्ड बनाने का स्थल परीक्षण भी किया गया है। आईसीयू, वेंटीलेटर की व्यवस्थाएँ लगातार सुनिश्चित की जा रही हैं। संभाग स्तर पर एक ऑक्सीजन यूनिट और जिले में ऑक्सीजन सेपरेशन यूनिट लगाने के प्रयास जारी हैं। साथ ही हर कोविड केयर सेंटर को नर्सिंग होम से लिंक किया गया है।   श्री सारंग ने निरीक्षण के बाद गाँधी मेडिकल कॉलेज के प्रशासकीय भवन में अधिकारियों के साथ बैठक कर हमीदिया अस्पताल की गतिविधियों पर चर्चा की। उन्होंने निर्देश दिये कि पीआईयू के ई एण्ड एम की सेवाएँ 24 घंटे उपलब्ध हों। उन्होंने निर्देश दिये कि एक कमेटी बनाकर पेशेंट ऑडिट भी करवाया जाये। इस ऑडिट में मरीज कब आया, किस स्थिति में आया और कब तक उसने रिकवर किया, इसकी जानकारी समाहित की जाये।   श्री सारंग ने कहा कि मेडिकल कॉलेज का दायित्व है कि वह पूरी रिसर्च करे। पेपर वर्क और साइंटिफिक डेटा एकत्रित करे। साथ ही उन्होंने ऑक्सीजन कंजेप्शन की जानकारी भी एकत्रित करने के निर्देश दिये। श्री सारंग ने सभी ब्लॉक के इंचार्ज डॉक्टर्स से अलग-अलग उनके ब्लॉक में सुविधाओं की जानकारी हासिल की। इस मौके पर संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत सहित डीन और अधीक्षक भी मौजूद रहे ।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


bhopal, Congress raises questions,administrative system,case of disappearance

भोपाल। प्रदेश में 83 टन ऑक्सीजन गायब होने के मामले में कांग्रेस ने प्रशासनिक व्यवस्था पर सवाल उठाया है। प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि हमीदिया अस्पताल के रेमडेसिवर इंजेक्शन चोरी कांड के बाद मुख्यमंत्री की 27 अप्रैल की रिव्यू बैठक में 83 टन ऑक्सीजन गायब होने का प्रकरण सामने आना मध्य प्रदेश की प्रशासनिक व्यवस्था के माथे पर कलंक है। इससे यह सिद्ध भी हुआ है कि त्रासदी को प्रबंधित करने की दक्षता वाले अधिकारी मध्यप्रदेश में मिशन पर नहीं है। यह लड़ाई मीडियाकर्स के भरोसे नहीं जीती जा सकती।   भूपेंद्र गुप्ता ने इसे बड़ा मामला बताते हुए कहा कि जब 527 टन ऑक्सीजन जिलों को सप्लाई की गई तो 434 टन ही रिकॉर्ड में इंद्राज क्यों हैं? मध्यप्रदेश में इस त्रासदी के समय में भी यह कौन सा नया हेरफेर माफिया काम कर रहा है जो जीवन रक्षक दवाइयों से लेकर प्राणवायु तक गोलमाल करने में लगा है। गुप्ता ने मध्य प्रदेश के पूर्व प्रवासी गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की सक्रियता की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह सक्रिय होकर देशभर में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खोजने की बजाए 83 टन गायब हुई ऑक्सीजन की खोज करायें। यही उनका विभागीय दायित्व है। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर ढूंढने का काम वे स्वास्थ्य विभाग पर या अरविंद भदौरिया पर छोड़ दें।   कांग्रेस नेता ने सरकार से मांग की है कि संभागीय मुख्यालयों में लगाए जाने वाले घोषित बड़े ऑक्सीजन प्लांटों की क्षमता सरकार सार्वजनिक करे ताकि विभिन्न संभाग समय सीमा में उसके आधार पर अपनी मांग और खपत का प्रारूप बना सकें। यह घोषणा पूर्व की 19 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने जैसी घोषणाओं की तरह कागजी घोषणा ना रह जाये इसलिये इन प्लांटों की निविदाएं और उनके स्थापित किए जाने का समय बद्ध कार्यक्रम भी घोषित किया जाए ।इससे जनता में घोषणाओं के प्रति विश्वसनीयता का वातावरण बनेगा।   भूपेन्द्र गुप्ता ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा विधायक कृष्णा गौर द्वारा बीएचईएल क्षेत्र में दवा, आक्सीजन आदि उपलब्ध न होने के कारण भेल कारखाना कुछ समय बंद करने की मांग की है। इसका अर्थ है कि मध्यप्रदेश के मात्र चार बड़े शहरों को संभालने में भी सुलेमानी फार्मूले परी तरह फेल हो गये हैं।  

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


bhopal, Government ,making people aware, using virtual mediums , Madhya Pradesh

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में शिवराज सरकार कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए हर तरह के प्रयास कर रही है। यही कारण है कि पिछले दो सप्‍ताह में संक्रमितों की संख्‍या में कमी आने लगी है और राज्‍य कोरोना संक्रमितों के मामले में देश में चौथे से 11वें स्‍थान पर आ गया है। इसी क्रम में अब एक नया प्रयास शुरू हुआ है, वह है वर्चुअल माध्यम का अधिक से अधिक उपयोग करना और विभिन्न कॉलोनियों एवं मोहल्‍लों की बैठक कर लोगों को कोरोना से बचाव के प्रति जागरूक करते हुए सरकार के प्रयासों की जानकारी देना।    इस कार्य में मंगलवार को राज्य के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने जूम एप के माध्यम से नरेला क्षेत्र की विभिन्न कॉलोनियों और मोहल्ला समितियों के अध्यक्षों को संबोधित कर कोरोना की चेन तोड़ने के लिए कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन करने और घरों में रहने का आग्रह किया। सारंग ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू का पालन दृढ़ता के साथ करना है। इसके लिए कॉलोनियाँ और मोहल्ला समितियाँ अपने-अपने क्षेत्र में जन-जागरण करें। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर का वायरस बहुत खतरनाक है, यह किसी को भी नहीं छोड़ रहा है। इस बीमारी से पीड़ित अनेक युवा हमें छोड़कर चले गये। इस खतरनाक वायरस का एक ही उपाय है कि आप अपने घरों में रहें, मास्क लगायें और बार-बार साबुन से हाथ धोयें।    सारंग ने कहा कि कॉलोनियों और मोहल्ला समितियों के एक-दो लोग रोजमर्रा की वस्तुओं की पूर्ति करें, जिससे सभी लोगों को दुकानों पर नहीं जाना पड़े। सारंग ने सभी लोगों को संकल्प दिलाया कि कोरोना चेन को तोड़ने के लिए सभी अपने-अपने घरों में रहेंगे।    उल्‍लेखनीय है कि सोमवार को पुलिस कंट्रोल रूम में मंत्री सारंग ने कलेक्टर अविनाश लवानिया एवं डीआईजी इरशाद बली की उपस्थिति में भोपाल जिले के सभी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक हुई थी। बैठक में तय हुआ था कि कोरोना की चेन तोड़ने कॉलोनियों और मोहल्ला समितियों से आग्रह किया जाये कि वे कोरोना कर्फ्यू और कोविड गाइड-लाइन का कड़ाई से पालन करें। अपनी कॉलोनियों एवं मोहल्लाओं में स्वतः जनता कर्फ्यू लगायें। इसी कड़ी में मंगलवार को मंत्री सारंग ने गोविन्दपुरा वृत में स्थित कॉलोनियों और मोहल्ला समितियों के अध्यक्षों से चर्चा की। बैठक में जूम एप के माध्यम से ऑनलाइन एक हजार कॉलोनियों और मोहल्ला समितियों के अध्यक्षों ने भाग लिया है।

Dakhal News

Dakhal News 27 April 2021


khargon, Former BJP MP, Rameshwar Patidar dies, funeral Ghargram Khalghat

खरगोन। पूर्व भाजपा सांसद और वरिष्ठ नेता रामेश्वर पाटीदार का मंगलवार सुबह हार्ट अटैक से निधन हो गया है। रामेश्वर पाटीदार लंबे समय से अस्वस्थ चल रहे थे। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी और क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। उनके गृहग्राम खलघाट में आज उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।वरिष्ठ नेता रामेश्वर पाटीदार खरगोन-बड़वानी से पांच बार सांसद रह चुके थे। रामेश्वर पादीदार खरगोन संसदीय क्षेत्र से 1977 में पहली बार सांसद चुने गए थे। इसके बाद वे 1989, 1991,1996 और 1998 में भी सांसद चुने गए। आपातकाल के दौरान वे जेल भी गए थे। बापू जी के नाम से मशहूर रामेश्वर पाटीदार को भाजपा की प्रथम पीढ़ी का नेता माना जाता है। उनके निधन पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरूण यादव समेत अन्य नेताओं ने शोक जताया है।   वीडी शर्मा ने अपने शोक संदेश में कहा लोकतंत्र सेनानी, भाजपा वरिष्ठ नेता एवं खरगोन- बड़वानी से पूर्व सांसद श्री रामेश्वर पाटीदार जी के निधन का दु:खद समाचार मिला। ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें एवं शोकमय परिवार को यह दु:ख सहन करने की शक्ति दें।

Dakhal News

Dakhal News 27 April 2021


bhopal, Congress told ,Bhopal MP lost, will give prize, ten thousand ,people by searching

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस के महासचिव एवं वरिष्ठ प्रवक्ता रवि सक्सेना ने कोरोना महामारी के गहन संकट के समय नदारद भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर के इस संक्रमण काल में लगातार गायब रहने तथा भोपाल की जनता के इस विपत्ति काल में नदारद रहने पर उन्हें ढूंढकर लाने वाले को दस हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि ये भोपालवासियों के लिए अत्यंत दु:ख और दुर्भाग्य की बात है कि जब दवाइयों, इंजेक्शन, वेन्टीलेटर्स, बेड्स और समुचित इलाज के अभाव में हजारों कोरोना पीड़ा दर दर की ठोकरें खा रहे हैं, अपनी जान गंवा रहे हैं ऐसे संकट के समय में सांसद महोदया किस कंदरा में अंतर ध्यान हैं जांच का विषय है ।रवि सक्सेना ने याद दिलाते हुए कहा कि पिछले वर्ष भी कोरोना महामारी के समय भी सांसद महोदया इसी तरह अंतर्ध्यान हो गयीं थी तब भी मैंने ढूँढक़र लाने वाले को 5000 रुपये देने की घोषणा की थी तब उनके तथाकथित सांसद प्रतिनिधि ने एक फोटो डालकर उनके बीमार होने की सूचना दी थी किंतु इस बार तो लगातार मीडिया और जनता द्वारा सांसद जी के लापता होने का प्रश्न उठाने के बावजूद कोई भी उनके अंतर्ध्यान होने के विषयक कुछ भी बताने को तैयार नहीं है। शायद उनके प्रतिनिधि ईनाम की प्रतीक्षा कर रहे हो इसलिए मैं घोषणा करता हूँ कि भोपाल की गुमशुदा सांसद प्रज्ञा ठाकुर को ढूँढकर लाने वाले को दस हज़ार रुपयों का ईनाम प्रदान किया जाएगा। ताकि कम से कम भोपाल की जनता जिसने उन्हें लाखों मतों से विजयी बनाया उनके दर्शन कर सकें।

Dakhal News

Dakhal News 27 April 2021


bhopal, Isolation arrangements ,2,870 villages, Harda, Hoshangabad , Betul

भोपाल।  किसान-कल्याण तथा कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि हरदा, होशंगाबाद और बैतूल जिले के गाँवों में आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। तीनों जिलों के 2,870 गाँवों में 1,185 आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। उन्होंने बताया है कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिये गाँवों में आवश्यक प्रबंध किये गये हैं।   श्री पटेल ने बताया है कि गाँवों के साथ ही शहरी क्षेत्रों में भी कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं, जिससे शहरों में कोरोना के फैलाव को नियंत्रित करने में आवश्यक मदद मिल सके। उन्होंने बताया है कि हरदा जिले के शहरी क्षेत्र में 346, होशंगाबाद में 273 और बैतूल में 650 कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं।    श्री पटेल का कहना यह भी था कि कोरोना से बचाव के लिये शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में सभी आवश्यक प्रबंध पुख्ता किये जा रहे हैं। प्रशासनिक अमले को त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। जिले के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति को निर्बाध बनाये रखने के लिये उच्च स्तर पर निरंतर सम्पर्क किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


bhopal, Isolation arrangements ,2,870 villages, Harda, Hoshangabad , Betul

भोपाल।  किसान-कल्याण तथा कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि हरदा, होशंगाबाद और बैतूल जिले के गाँवों में आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। तीनों जिलों के 2,870 गाँवों में 1,185 आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। उन्होंने बताया है कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिये गाँवों में आवश्यक प्रबंध किये गये हैं।   श्री पटेल ने बताया है कि गाँवों के साथ ही शहरी क्षेत्रों में भी कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं, जिससे शहरों में कोरोना के फैलाव को नियंत्रित करने में आवश्यक मदद मिल सके। उन्होंने बताया है कि हरदा जिले के शहरी क्षेत्र में 346, होशंगाबाद में 273 और बैतूल में 650 कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं।    श्री पटेल का कहना यह भी था कि कोरोना से बचाव के लिये शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में सभी आवश्यक प्रबंध पुख्ता किये जा रहे हैं। प्रशासनिक अमले को त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। जिले के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति को निर्बाध बनाये रखने के लिये उच्च स्तर पर निरंतर सम्पर्क किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


bhopal, Isolation arrangements ,2,870 villages, Harda, Hoshangabad , Betul

भोपाल।  किसान-कल्याण तथा कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि हरदा, होशंगाबाद और बैतूल जिले के गाँवों में आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। तीनों जिलों के 2,870 गाँवों में 1,185 आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। उन्होंने बताया है कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिये गाँवों में आवश्यक प्रबंध किये गये हैं।   श्री पटेल ने बताया है कि गाँवों के साथ ही शहरी क्षेत्रों में भी कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं, जिससे शहरों में कोरोना के फैलाव को नियंत्रित करने में आवश्यक मदद मिल सके। उन्होंने बताया है कि हरदा जिले के शहरी क्षेत्र में 346, होशंगाबाद में 273 और बैतूल में 650 कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं।    श्री पटेल का कहना यह भी था कि कोरोना से बचाव के लिये शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में सभी आवश्यक प्रबंध पुख्ता किये जा रहे हैं। प्रशासनिक अमले को त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। जिले के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति को निर्बाध बनाये रखने के लिये उच्च स्तर पर निरंतर सम्पर्क किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


bhopal, Isolation arrangements ,2,870 villages, Harda, Hoshangabad , Betul

भोपाल।  किसान-कल्याण तथा कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि हरदा, होशंगाबाद और बैतूल जिले के गाँवों में आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। तीनों जिलों के 2,870 गाँवों में 1,185 आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। उन्होंने बताया है कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिये गाँवों में आवश्यक प्रबंध किये गये हैं।   श्री पटेल ने बताया है कि गाँवों के साथ ही शहरी क्षेत्रों में भी कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं, जिससे शहरों में कोरोना के फैलाव को नियंत्रित करने में आवश्यक मदद मिल सके। उन्होंने बताया है कि हरदा जिले के शहरी क्षेत्र में 346, होशंगाबाद में 273 और बैतूल में 650 कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं।    श्री पटेल का कहना यह भी था कि कोरोना से बचाव के लिये शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में सभी आवश्यक प्रबंध पुख्ता किये जा रहे हैं। प्रशासनिक अमले को त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। जिले के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति को निर्बाध बनाये रखने के लिये उच्च स्तर पर निरंतर सम्पर्क किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


bhopal, Isolation arrangements ,2,870 villages, Harda, Hoshangabad , Betul

भोपाल।  किसान-कल्याण तथा कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि हरदा, होशंगाबाद और बैतूल जिले के गाँवों में आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। तीनों जिलों के 2,870 गाँवों में 1,185 आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। उन्होंने बताया है कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिये गाँवों में आवश्यक प्रबंध किये गये हैं।   श्री पटेल ने बताया है कि गाँवों के साथ ही शहरी क्षेत्रों में भी कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं, जिससे शहरों में कोरोना के फैलाव को नियंत्रित करने में आवश्यक मदद मिल सके। उन्होंने बताया है कि हरदा जिले के शहरी क्षेत्र में 346, होशंगाबाद में 273 और बैतूल में 650 कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं।    श्री पटेल का कहना यह भी था कि कोरोना से बचाव के लिये शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में सभी आवश्यक प्रबंध पुख्ता किये जा रहे हैं। प्रशासनिक अमले को त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। जिले के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति को निर्बाध बनाये रखने के लिये उच्च स्तर पर निरंतर सम्पर्क किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


bhopal, Isolation arrangements ,2,870 villages, Harda, Hoshangabad , Betul

भोपाल।  किसान-कल्याण तथा कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया है कि हरदा, होशंगाबाद और बैतूल जिले के गाँवों में आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। तीनों जिलों के 2,870 गाँवों में 1,185 आइसोलेशन सेंटर बनाये गये हैं। उन्होंने बताया है कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिये गाँवों में आवश्यक प्रबंध किये गये हैं।   श्री पटेल ने बताया है कि गाँवों के साथ ही शहरी क्षेत्रों में भी कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं, जिससे शहरों में कोरोना के फैलाव को नियंत्रित करने में आवश्यक मदद मिल सके। उन्होंने बताया है कि हरदा जिले के शहरी क्षेत्र में 346, होशंगाबाद में 273 और बैतूल में 650 कंटेनमेंट जोन बनाये गये हैं।    श्री पटेल का कहना यह भी था कि कोरोना से बचाव के लिये शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में सभी आवश्यक प्रबंध पुख्ता किये जा रहे हैं। प्रशासनिक अमले को त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। जिले के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति को निर्बाध बनाये रखने के लिये उच्च स्तर पर निरंतर सम्पर्क किया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


bhopal, Minister Dung, arrives in Kovid ward ,wearing a PPE kit

भोपाल। कोरोना वायरस के इस महासंकट के समय में मध्‍य प्रदेश की शिवराज सरकार अपनी ओर से कोई सेवा में कसर नहीं छोड़ रही है। वहीं उनके शिवराज मंत्रीमण्‍डल के सदस्‍य भी सीधे कोविड संक्रमितों से संवाद कर उनका उत्‍साह बढ़ाने में लगे हैं। इसी काम में अब पर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग का नाम उभरकर सबसे ऊपर आ रहा  है जो लगातार मुख्यमंत्री शिवराज द्वारा कोविड-19 की व्यवस्थाओं का प्रभार सौंपे जाने के बाद से जिला खरगोन और झाबुआ के साथ अपने गृह जिले मंदसौर में कोरोना उपचार व्यवस्था की मॉनिटरिंग करते हुए मरीजों का उत्‍साह बढ़ा रहे हैं।    इस संकट काल में मंत्री डंग सिर्फ बैठको तक सीमित न रहकर ब्लॉक स्तर तक जा रहे हैं। छोटे-छोटे कोविड सेंटर का अवलोकन कर रहे हैं। ब्लॉक स्तर तक अधिकारियों से चर्चा कर रहे हैं और सिर्फ इतना ही नहीं, बिना किसी हिचकिचाहट के वे पीपीई किट पहनकर कोविड वार्ड में जाकर मरीजों से चर्चा कर जरूरी व्यवस्थाओं को पूरा करने का प्रयास  कर रहे हैं।   इस संबंध में सूचना अधिकारी सुनीता दुबे द्वारा बताया जा रहा है कि  वे 20 अप्रैल  से पूरी तरह कोरोना नियंत्रण के लिए सक्रिय हैं। उन्होंने झाबुआ में पेटलावद सहित अन्य ब्लॉक स्तर तक पहुँचकर वहाँ के हालातों पर चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिए, इसके बाद वे खरगोन में ब्लॉक स्तर पर भीकनगांव, बड़वाह, महेश्वर, सनावद, मंडलेश्वर, कसरावद और ग्रामीण क्षेत्रों में जिला मुख्यालय सहित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में व्यवस्थाओं को देखने पहुंच गए । जहां मैदानी स्तर पर पहुँचकर  स्थानीय अधिकारियों और जिम्मेदारों से चर्चा की। साथ ही और जमीनी स्तर तक सुधारों के लिए प्रयास और शासन स्तर की कार्य योजना तैयार करने में महत्वपूर्ण निर्देश दिए।    इसी प्रकार से उन्होंने बड़वाह में हॉस्पीटल पहुँचकर मरीजों के उपचार की जानकारी ली। उन्होंने होम आइसोलेशन के मरीजों से वीडियो कॉलिंग पर चर्चा कर मरीजों का हौंसला बढ़ाया है । श्री डंग सोमवार को मन्दसौर जिला चिकित्सालय पहुँचे और एक दिन पहले शुरू हुए ऑक्सीजन प्लांट का अवलोकन किया। इसके बाद उन्होंने पीपीई किट पहनकर कोविड वार्ड में जाकर मरीजों से चर्चा की और सबको जल्द स्वास्थ्य लाभ की शुभकामनाएँ दी। वहीं, इस दौरान उपचार  व्यवस्थाओं को देखा। उन्होंने कलेक्टर मनोज पुष्प के साथ चर्चा कर व्यवस्थाओं को पहले से और बेहतर करने पर भी बात की है।

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


bhopal,Minister Dr. Mishra ,visits patients ,Kovid ward , Kovid care center

भोपाल। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को दतिया जिला चिकित्सालय पहुँचकर कोविड वार्ड और रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट में बनाये गए कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों से कुशल क्षेम जानी। डॉ. मिश्रा कोविड गाइडलाइंस एवं प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पीपीई किट पहनकर मरीजों से मिले।   डॉ. मिश्रा ने मरीजों से चर्चा करते हुए उनकी हौसला अफजाई की। उन्होंने कहा कि आप सभी हिम्मत रखें शीघ्र ही ठीक होकर घर लौट जायेंगे। चिकित्सक एवं नर्सेस पूरी मेहनत एवं लगन से सेवायें दे रहे हैं।    डॉ. मिश्रा ने श्री रावतपुपरा सरकार इंस्टीट्यूट में बनाये गए कोविड केयर सेंटर (सीसीसी) का अवलोकन कर भर्ती मरीजों से चर्चा कर उनका भी हाल चाल जाना। डॉ. मिश्रा ने सभी चिकित्सकों को निर्देशित किया कि मरीजों का बेहतर तरीके से देखभाल कर उन्हें समुचित उपचार उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करें ताकि सभी शीघ्र ही स्वस्थ होकर अपने घर लौटें। उन्होंने चिकित्सकों और सभी पैरामेडिकल स्टाफ की भी पूर्ण मुस्तैदी से कर्तव्य निर्वहन के लिए प्रशंसा करते हुए हौसला बढ़ाया।

Dakhal News

Dakhal News 24 April 2021


bhopal,Minister Dr. Mishra ,visits patients ,Kovid ward , Kovid care center

भोपाल। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को दतिया जिला चिकित्सालय पहुँचकर कोविड वार्ड और रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट में बनाये गए कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों से कुशल क्षेम जानी। डॉ. मिश्रा कोविड गाइडलाइंस एवं प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पीपीई किट पहनकर मरीजों से मिले।   डॉ. मिश्रा ने मरीजों से चर्चा करते हुए उनकी हौसला अफजाई की। उन्होंने कहा कि आप सभी हिम्मत रखें शीघ्र ही ठीक होकर घर लौट जायेंगे। चिकित्सक एवं नर्सेस पूरी मेहनत एवं लगन से सेवायें दे रहे हैं।    डॉ. मिश्रा ने श्री रावतपुपरा सरकार इंस्टीट्यूट में बनाये गए कोविड केयर सेंटर (सीसीसी) का अवलोकन कर भर्ती मरीजों से चर्चा कर उनका भी हाल चाल जाना। डॉ. मिश्रा ने सभी चिकित्सकों को निर्देशित किया कि मरीजों का बेहतर तरीके से देखभाल कर उन्हें समुचित उपचार उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करें ताकि सभी शीघ्र ही स्वस्थ होकर अपने घर लौटें। उन्होंने चिकित्सकों और सभी पैरामेडिकल स्टाफ की भी पूर्ण मुस्तैदी से कर्तव्य निर्वहन के लिए प्रशंसा करते हुए हौसला बढ़ाया।

Dakhal News

Dakhal News 24 April 2021


bhopal,Minister Dr. Mishra ,visits patients ,Kovid ward , Kovid care center

भोपाल। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को दतिया जिला चिकित्सालय पहुँचकर कोविड वार्ड और रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट में बनाये गए कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों से कुशल क्षेम जानी। डॉ. मिश्रा कोविड गाइडलाइंस एवं प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पीपीई किट पहनकर मरीजों से मिले।   डॉ. मिश्रा ने मरीजों से चर्चा करते हुए उनकी हौसला अफजाई की। उन्होंने कहा कि आप सभी हिम्मत रखें शीघ्र ही ठीक होकर घर लौट जायेंगे। चिकित्सक एवं नर्सेस पूरी मेहनत एवं लगन से सेवायें दे रहे हैं।    डॉ. मिश्रा ने श्री रावतपुपरा सरकार इंस्टीट्यूट में बनाये गए कोविड केयर सेंटर (सीसीसी) का अवलोकन कर भर्ती मरीजों से चर्चा कर उनका भी हाल चाल जाना। डॉ. मिश्रा ने सभी चिकित्सकों को निर्देशित किया कि मरीजों का बेहतर तरीके से देखभाल कर उन्हें समुचित उपचार उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करें ताकि सभी शीघ्र ही स्वस्थ होकर अपने घर लौटें। उन्होंने चिकित्सकों और सभी पैरामेडिकल स्टाफ की भी पूर्ण मुस्तैदी से कर्तव्य निर्वहन के लिए प्रशंसा करते हुए हौसला बढ़ाया।

Dakhal News

Dakhal News 24 April 2021


shivpuri,  initiative, Rajya Sabha MP Jyotiraditya,100-bed Kovid Isolation Ward started

शिवपुरी। शिवपुरी जिले में बढ़ते कोरोना केसों के बीच राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शहर में 100 बिस्तरों का कोविड आईसोलेशन वार्ड खुलवाने की व्यवस्था की है। इस आइसोलेशन वार्ड का शुभारंभ शनिवार को प्रदेश के पीडब्ल्यूडी राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा ने किया। इस मौके पर सिंधिया समर्थक भाजपा नेता मौजूद रहे। इस वार्ड के खुल जाने से यहां पर कोविड-19 के पैसेंट भर्ती किए जा सकते हैं। यहां पर पैरामेडिकल स्टाफ के अलावा डॉक्टर भी नियमित चेकअप करेंगे। साथ ही यहां पर रहने वाले मरीजों को खाने-पीने की व्यवस्था भी निशुल्क रहेगी। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की पहल पर यह आईसोलेशन वार्ड तैयार किया है। इस वार्ड को माधवराव सिंधिया स्वास्थ्य सेवा मिशन के सहयोग से तैयार किया है। यह 100 बिस्तरीय कोविड आईसोलेशन सेंटर स्थानीय होटल पीएस के पीछे बनाया गया है।  इस बार के शुभारंभ मौके पर पीडब्ल्यूडी राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा ने कहा कि सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की पहल पर यह बात शुरू किया गया है जिसमें कोरोना पेशेंट मरीजों को निशुल्क भर्ती किया जाएगा और खाने पीने की व्यवस्था रहेगी। इस मौके पर महेंद्र यादव पूर्व विधायक,  श्रीमन्त माधव राव सिंधिया स्वस्थ सेवा मिशन के शिवपुरी संयोजक हरवीर रघुवंशी, विजय शर्मा पूर्व सांसद प्रतिनिधि, पवन जैन नगरिक बैंक के अध्यक्ष , प्रहलाद यादव सिंधिया जनसंपर्क कार्यलय अधिकारी, योगेंद यादव , आकाश शर्मा, राजेन्द्र पिपलोदा अन्य सिंधिया समर्थक व गण्यमान्य नागरिक मौजूद रहे।

Dakhal News

Dakhal News 24 April 2021


bhopal,Transport Minister ,inaugurates Kovid Center , Rahatgarh

भोपाल। मप्र के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने शुक्रवार को सागर की राहतगढ़ तहसील में 50 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का उदघाटन किया। इस अवसर पर मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश-देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे एवं मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्थाएँ की जा रही है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि कोविड संक्रमण से बचने के लिये निर्धारित गाइड-लाइन का पालन करें।अस्पताल प्रबंधन को सौंपी एम्बुलेंसमंत्री राजपूत ने इस अवसर पर मरीजों को तुरंत राहत पहुँचाने की दृष्टि से अस्पताल प्रबंधन को एम्बुलेंस भी प्रदान की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप जिले में कोविड केयर सेंटर्स की स्थापना की जा रही है। साथ ही होम आइसोलेटेड मरीजों की देखभाल के लिये डॉक्टर्स एवं कोविड वॉलेंटियर्स मरीजों से निरंतर संवाद बनाये हुए हैं तथा उन्हें आवश्यकतानुसार दवाइयाँ एवं अन्य आवश्यक वस्तुएँ मुहैया कराई जा रही हैं।कार्यालयों में कोरोना कंट्रोल रूम स्थापितराजस्व मंत्री ने कहा कि सागर स्थित उनके कार्यालय में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहाँ टोल-फ्री नम्बर पर आप अपनी समस्या का निदान करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे दवा किट का दायित्व सौंपा है। मंत्री राजपूत ने डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ से व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की।परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि कोरोना से घबराने की आवश्यकता नहीं है, परंतु सतर्कता बनाये रखना बहुत जरूरी है। मुख्यमंत्री की प्रदेश सरकार कोरोना के खात्मे के लिये आवश्यक उपाय कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिये घर-घर पहुँचकर व्यापक जन-अभियान चलाने जा रहे हैं। इसके अंतर्गत प्रदेश सरकार प्रदेश के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में 'किल कोरोना-2'' अभियान 24 अप्रैल से 9 मई तक संचालित करने जा रही है। इसके अंतर्गत चयनित हॉट स्पॉट, जहाँ पॉजिटिविटी दर में वृद्धि हो रही हो, उस क्षेत्र में घर-घर जाकर बुखार के लक्षण वाले कोरोना के संभावित रोगियों की खोज की जायेगी।मंत्री राजपूत ने कहा कि आज पूरा प्रदेश, देश एवं सम्पूर्ण विश्व कोरोना महामारी की सेकेंड लहर से प्रभावित है। संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिये संसाधनों की उपलब्धता में कोई कमी नहीं आने देगी।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal,Transport Minister ,inaugurates Kovid Center , Rahatgarh

भोपाल। मप्र के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने शुक्रवार को सागर की राहतगढ़ तहसील में 50 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का उदघाटन किया। इस अवसर पर मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश-देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे एवं मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्थाएँ की जा रही है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि कोविड संक्रमण से बचने के लिये निर्धारित गाइड-लाइन का पालन करें।अस्पताल प्रबंधन को सौंपी एम्बुलेंसमंत्री राजपूत ने इस अवसर पर मरीजों को तुरंत राहत पहुँचाने की दृष्टि से अस्पताल प्रबंधन को एम्बुलेंस भी प्रदान की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप जिले में कोविड केयर सेंटर्स की स्थापना की जा रही है। साथ ही होम आइसोलेटेड मरीजों की देखभाल के लिये डॉक्टर्स एवं कोविड वॉलेंटियर्स मरीजों से निरंतर संवाद बनाये हुए हैं तथा उन्हें आवश्यकतानुसार दवाइयाँ एवं अन्य आवश्यक वस्तुएँ मुहैया कराई जा रही हैं।कार्यालयों में कोरोना कंट्रोल रूम स्थापितराजस्व मंत्री ने कहा कि सागर स्थित उनके कार्यालय में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहाँ टोल-फ्री नम्बर पर आप अपनी समस्या का निदान करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे दवा किट का दायित्व सौंपा है। मंत्री राजपूत ने डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ से व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की।परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि कोरोना से घबराने की आवश्यकता नहीं है, परंतु सतर्कता बनाये रखना बहुत जरूरी है। मुख्यमंत्री की प्रदेश सरकार कोरोना के खात्मे के लिये आवश्यक उपाय कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिये घर-घर पहुँचकर व्यापक जन-अभियान चलाने जा रहे हैं। इसके अंतर्गत प्रदेश सरकार प्रदेश के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में 'किल कोरोना-2'' अभियान 24 अप्रैल से 9 मई तक संचालित करने जा रही है। इसके अंतर्गत चयनित हॉट स्पॉट, जहाँ पॉजिटिविटी दर में वृद्धि हो रही हो, उस क्षेत्र में घर-घर जाकर बुखार के लक्षण वाले कोरोना के संभावित रोगियों की खोज की जायेगी।मंत्री राजपूत ने कहा कि आज पूरा प्रदेश, देश एवं सम्पूर्ण विश्व कोरोना महामारी की सेकेंड लहर से प्रभावित है। संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिये संसाधनों की उपलब्धता में कोई कमी नहीं आने देगी।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal,Transport Minister ,inaugurates Kovid Center , Rahatgarh

भोपाल। मप्र के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने शुक्रवार को सागर की राहतगढ़ तहसील में 50 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का उदघाटन किया। इस अवसर पर मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश-देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे एवं मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्थाएँ की जा रही है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि कोविड संक्रमण से बचने के लिये निर्धारित गाइड-लाइन का पालन करें।अस्पताल प्रबंधन को सौंपी एम्बुलेंसमंत्री राजपूत ने इस अवसर पर मरीजों को तुरंत राहत पहुँचाने की दृष्टि से अस्पताल प्रबंधन को एम्बुलेंस भी प्रदान की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप जिले में कोविड केयर सेंटर्स की स्थापना की जा रही है। साथ ही होम आइसोलेटेड मरीजों की देखभाल के लिये डॉक्टर्स एवं कोविड वॉलेंटियर्स मरीजों से निरंतर संवाद बनाये हुए हैं तथा उन्हें आवश्यकतानुसार दवाइयाँ एवं अन्य आवश्यक वस्तुएँ मुहैया कराई जा रही हैं।कार्यालयों में कोरोना कंट्रोल रूम स्थापितराजस्व मंत्री ने कहा कि सागर स्थित उनके कार्यालय में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहाँ टोल-फ्री नम्बर पर आप अपनी समस्या का निदान करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे दवा किट का दायित्व सौंपा है। मंत्री राजपूत ने डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ से व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की।परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि कोरोना से घबराने की आवश्यकता नहीं है, परंतु सतर्कता बनाये रखना बहुत जरूरी है। मुख्यमंत्री की प्रदेश सरकार कोरोना के खात्मे के लिये आवश्यक उपाय कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिये घर-घर पहुँचकर व्यापक जन-अभियान चलाने जा रहे हैं। इसके अंतर्गत प्रदेश सरकार प्रदेश के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में 'किल कोरोना-2'' अभियान 24 अप्रैल से 9 मई तक संचालित करने जा रही है। इसके अंतर्गत चयनित हॉट स्पॉट, जहाँ पॉजिटिविटी दर में वृद्धि हो रही हो, उस क्षेत्र में घर-घर जाकर बुखार के लक्षण वाले कोरोना के संभावित रोगियों की खोज की जायेगी।मंत्री राजपूत ने कहा कि आज पूरा प्रदेश, देश एवं सम्पूर्ण विश्व कोरोना महामारी की सेकेंड लहर से प्रभावित है। संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिये संसाधनों की उपलब्धता में कोई कमी नहीं आने देगी।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal,Transport Minister ,inaugurates Kovid Center , Rahatgarh

भोपाल। मप्र के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने शुक्रवार को सागर की राहतगढ़ तहसील में 50 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का उदघाटन किया। इस अवसर पर मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश-देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे एवं मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्थाएँ की जा रही है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि कोविड संक्रमण से बचने के लिये निर्धारित गाइड-लाइन का पालन करें।अस्पताल प्रबंधन को सौंपी एम्बुलेंसमंत्री राजपूत ने इस अवसर पर मरीजों को तुरंत राहत पहुँचाने की दृष्टि से अस्पताल प्रबंधन को एम्बुलेंस भी प्रदान की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप जिले में कोविड केयर सेंटर्स की स्थापना की जा रही है। साथ ही होम आइसोलेटेड मरीजों की देखभाल के लिये डॉक्टर्स एवं कोविड वॉलेंटियर्स मरीजों से निरंतर संवाद बनाये हुए हैं तथा उन्हें आवश्यकतानुसार दवाइयाँ एवं अन्य आवश्यक वस्तुएँ मुहैया कराई जा रही हैं।कार्यालयों में कोरोना कंट्रोल रूम स्थापितराजस्व मंत्री ने कहा कि सागर स्थित उनके कार्यालय में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहाँ टोल-फ्री नम्बर पर आप अपनी समस्या का निदान करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे दवा किट का दायित्व सौंपा है। मंत्री राजपूत ने डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ से व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की।परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि कोरोना से घबराने की आवश्यकता नहीं है, परंतु सतर्कता बनाये रखना बहुत जरूरी है। मुख्यमंत्री की प्रदेश सरकार कोरोना के खात्मे के लिये आवश्यक उपाय कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिये घर-घर पहुँचकर व्यापक जन-अभियान चलाने जा रहे हैं। इसके अंतर्गत प्रदेश सरकार प्रदेश के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में 'किल कोरोना-2'' अभियान 24 अप्रैल से 9 मई तक संचालित करने जा रही है। इसके अंतर्गत चयनित हॉट स्पॉट, जहाँ पॉजिटिविटी दर में वृद्धि हो रही हो, उस क्षेत्र में घर-घर जाकर बुखार के लक्षण वाले कोरोना के संभावित रोगियों की खोज की जायेगी।मंत्री राजपूत ने कहा कि आज पूरा प्रदेश, देश एवं सम्पूर्ण विश्व कोरोना महामारी की सेकेंड लहर से प्रभावित है। संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिये संसाधनों की उपलब्धता में कोई कमी नहीं आने देगी।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal,Transport Minister ,inaugurates Kovid Center , Rahatgarh

भोपाल। मप्र के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने शुक्रवार को सागर की राहतगढ़ तहसील में 50 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का उदघाटन किया। इस अवसर पर मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश-देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे एवं मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्थाएँ की जा रही है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि कोविड संक्रमण से बचने के लिये निर्धारित गाइड-लाइन का पालन करें।अस्पताल प्रबंधन को सौंपी एम्बुलेंसमंत्री राजपूत ने इस अवसर पर मरीजों को तुरंत राहत पहुँचाने की दृष्टि से अस्पताल प्रबंधन को एम्बुलेंस भी प्रदान की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप जिले में कोविड केयर सेंटर्स की स्थापना की जा रही है। साथ ही होम आइसोलेटेड मरीजों की देखभाल के लिये डॉक्टर्स एवं कोविड वॉलेंटियर्स मरीजों से निरंतर संवाद बनाये हुए हैं तथा उन्हें आवश्यकतानुसार दवाइयाँ एवं अन्य आवश्यक वस्तुएँ मुहैया कराई जा रही हैं।कार्यालयों में कोरोना कंट्रोल रूम स्थापितराजस्व मंत्री ने कहा कि सागर स्थित उनके कार्यालय में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहाँ टोल-फ्री नम्बर पर आप अपनी समस्या का निदान करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे दवा किट का दायित्व सौंपा है। मंत्री राजपूत ने डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ से व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की।परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि कोरोना से घबराने की आवश्यकता नहीं है, परंतु सतर्कता बनाये रखना बहुत जरूरी है। मुख्यमंत्री की प्रदेश सरकार कोरोना के खात्मे के लिये आवश्यक उपाय कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिये घर-घर पहुँचकर व्यापक जन-अभियान चलाने जा रहे हैं। इसके अंतर्गत प्रदेश सरकार प्रदेश के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में 'किल कोरोना-2'' अभियान 24 अप्रैल से 9 मई तक संचालित करने जा रही है। इसके अंतर्गत चयनित हॉट स्पॉट, जहाँ पॉजिटिविटी दर में वृद्धि हो रही हो, उस क्षेत्र में घर-घर जाकर बुखार के लक्षण वाले कोरोना के संभावित रोगियों की खोज की जायेगी।मंत्री राजपूत ने कहा कि आज पूरा प्रदेश, देश एवं सम्पूर्ण विश्व कोरोना महामारी की सेकेंड लहर से प्रभावित है। संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिये संसाधनों की उपलब्धता में कोई कमी नहीं आने देगी।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal,Transport Minister ,inaugurates Kovid Center , Rahatgarh

भोपाल। मप्र के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने शुक्रवार को सागर की राहतगढ़ तहसील में 50 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का उदघाटन किया। इस अवसर पर मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश-देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे एवं मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्थाएँ की जा रही है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि कोविड संक्रमण से बचने के लिये निर्धारित गाइड-लाइन का पालन करें।अस्पताल प्रबंधन को सौंपी एम्बुलेंसमंत्री राजपूत ने इस अवसर पर मरीजों को तुरंत राहत पहुँचाने की दृष्टि से अस्पताल प्रबंधन को एम्बुलेंस भी प्रदान की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप जिले में कोविड केयर सेंटर्स की स्थापना की जा रही है। साथ ही होम आइसोलेटेड मरीजों की देखभाल के लिये डॉक्टर्स एवं कोविड वॉलेंटियर्स मरीजों से निरंतर संवाद बनाये हुए हैं तथा उन्हें आवश्यकतानुसार दवाइयाँ एवं अन्य आवश्यक वस्तुएँ मुहैया कराई जा रही हैं।कार्यालयों में कोरोना कंट्रोल रूम स्थापितराजस्व मंत्री ने कहा कि सागर स्थित उनके कार्यालय में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहाँ टोल-फ्री नम्बर पर आप अपनी समस्या का निदान करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे दवा किट का दायित्व सौंपा है। मंत्री राजपूत ने डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ से व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की।परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि कोरोना से घबराने की आवश्यकता नहीं है, परंतु सतर्कता बनाये रखना बहुत जरूरी है। मुख्यमंत्री की प्रदेश सरकार कोरोना के खात्मे के लिये आवश्यक उपाय कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिये घर-घर पहुँचकर व्यापक जन-अभियान चलाने जा रहे हैं। इसके अंतर्गत प्रदेश सरकार प्रदेश के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में 'किल कोरोना-2'' अभियान 24 अप्रैल से 9 मई तक संचालित करने जा रही है। इसके अंतर्गत चयनित हॉट स्पॉट, जहाँ पॉजिटिविटी दर में वृद्धि हो रही हो, उस क्षेत्र में घर-घर जाकर बुखार के लक्षण वाले कोरोना के संभावित रोगियों की खोज की जायेगी।मंत्री राजपूत ने कहा कि आज पूरा प्रदेश, देश एवं सम्पूर्ण विश्व कोरोना महामारी की सेकेंड लहर से प्रभावित है। संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिये संसाधनों की उपलब्धता में कोई कमी नहीं आने देगी।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal,Transport Minister ,inaugurates Kovid Center , Rahatgarh

भोपाल। मप्र के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने शुक्रवार को सागर की राहतगढ़ तहसील में 50 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का उदघाटन किया। इस अवसर पर मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश-देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे एवं मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्थाएँ की जा रही है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि कोविड संक्रमण से बचने के लिये निर्धारित गाइड-लाइन का पालन करें।अस्पताल प्रबंधन को सौंपी एम्बुलेंसमंत्री राजपूत ने इस अवसर पर मरीजों को तुरंत राहत पहुँचाने की दृष्टि से अस्पताल प्रबंधन को एम्बुलेंस भी प्रदान की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप जिले में कोविड केयर सेंटर्स की स्थापना की जा रही है। साथ ही होम आइसोलेटेड मरीजों की देखभाल के लिये डॉक्टर्स एवं कोविड वॉलेंटियर्स मरीजों से निरंतर संवाद बनाये हुए हैं तथा उन्हें आवश्यकतानुसार दवाइयाँ एवं अन्य आवश्यक वस्तुएँ मुहैया कराई जा रही हैं।कार्यालयों में कोरोना कंट्रोल रूम स्थापितराजस्व मंत्री ने कहा कि सागर स्थित उनके कार्यालय में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहाँ टोल-फ्री नम्बर पर आप अपनी समस्या का निदान करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे दवा किट का दायित्व सौंपा है। मंत्री राजपूत ने डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ से व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की।परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि कोरोना से घबराने की आवश्यकता नहीं है, परंतु सतर्कता बनाये रखना बहुत जरूरी है। मुख्यमंत्री की प्रदेश सरकार कोरोना के खात्मे के लिये आवश्यक उपाय कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिये घर-घर पहुँचकर व्यापक जन-अभियान चलाने जा रहे हैं। इसके अंतर्गत प्रदेश सरकार प्रदेश के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में 'किल कोरोना-2'' अभियान 24 अप्रैल से 9 मई तक संचालित करने जा रही है। इसके अंतर्गत चयनित हॉट स्पॉट, जहाँ पॉजिटिविटी दर में वृद्धि हो रही हो, उस क्षेत्र में घर-घर जाकर बुखार के लक्षण वाले कोरोना के संभावित रोगियों की खोज की जायेगी।मंत्री राजपूत ने कहा कि आज पूरा प्रदेश, देश एवं सम्पूर्ण विश्व कोरोना महामारी की सेकेंड लहर से प्रभावित है। संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिये संसाधनों की उपलब्धता में कोई कमी नहीं आने देगी।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal,Transport Minister ,inaugurates Kovid Center , Rahatgarh

भोपाल। मप्र के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने शुक्रवार को सागर की राहतगढ़ तहसील में 50 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का उदघाटन किया। इस अवसर पर मंत्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश-देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे एवं मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्थाएँ की जा रही है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि कोविड संक्रमण से बचने के लिये निर्धारित गाइड-लाइन का पालन करें।अस्पताल प्रबंधन को सौंपी एम्बुलेंसमंत्री राजपूत ने इस अवसर पर मरीजों को तुरंत राहत पहुँचाने की दृष्टि से अस्पताल प्रबंधन को एम्बुलेंस भी प्रदान की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप जिले में कोविड केयर सेंटर्स की स्थापना की जा रही है। साथ ही होम आइसोलेटेड मरीजों की देखभाल के लिये डॉक्टर्स एवं कोविड वॉलेंटियर्स मरीजों से निरंतर संवाद बनाये हुए हैं तथा उन्हें आवश्यकतानुसार दवाइयाँ एवं अन्य आवश्यक वस्तुएँ मुहैया कराई जा रही हैं।कार्यालयों में कोरोना कंट्रोल रूम स्थापितराजस्व मंत्री ने कहा कि सागर स्थित उनके कार्यालय में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहाँ टोल-फ्री नम्बर पर आप अपनी समस्या का निदान करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे दवा किट का दायित्व सौंपा है। मंत्री राजपूत ने डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ से व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की।परिवहन मंत्री राजपूत ने कहा कि कोरोना से घबराने की आवश्यकता नहीं है, परंतु सतर्कता बनाये रखना बहुत जरूरी है। मुख्यमंत्री की प्रदेश सरकार कोरोना के खात्मे के लिये आवश्यक उपाय कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिये घर-घर पहुँचकर व्यापक जन-अभियान चलाने जा रहे हैं। इसके अंतर्गत प्रदेश सरकार प्रदेश के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में 'किल कोरोना-2'' अभियान 24 अप्रैल से 9 मई तक संचालित करने जा रही है। इसके अंतर्गत चयनित हॉट स्पॉट, जहाँ पॉजिटिविटी दर में वृद्धि हो रही हो, उस क्षेत्र में घर-घर जाकर बुखार के लक्षण वाले कोरोना के संभावित रोगियों की खोज की जायेगी।मंत्री राजपूत ने कहा कि आज पूरा प्रदेश, देश एवं सम्पूर्ण विश्व कोरोना महामारी की सेकेंड लहर से प्रभावित है। संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिये संसाधनों की उपलब्धता में कोई कमी नहीं आने देगी।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal,Finance Minister, made CM Shivraj aware ,health facilities

भोपाल। वित्त, वाणिज्यिक-कर मंत्री तथा रतलाम एवं मंदसौर जिले के कोविड-19 प्रभारी मंत्री जगदीश देवड़ा ने गुरूवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को दूरभाष पर जिलों में कोविड मरीजों की स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने मुख्यमंत्री से कोविड मरीजों के लिए रेमडेसिविर एवं ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति का आग्रह किया।   मंत्री देवड़ा ने मुख्यमंत्री से जिले में कोविड सेंटरों तथा होम आइसोलेटेड मरीजों की स्थिति पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेटेड मरीजों से डॉक्टर्स एवं कोरोना वॉरियर्स द्वारा सतत संवाद रखा जा रहा है। आवश्यकतानुसार उन्हें दवाएँ एवं अन्य आवश्यक सहायता उपलब्ध कराई जा रही है। वित्त मंत्री ने जिले की अन्य स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की ओर भी ध्यान आकर्षित करवाया, साथ ही स्थानीय स्तर पर किए जा रहे प्रयासों, जन-प्रतिनिधियों द्वारा दिए जा रहे सहयोग, सामाजिक संस्थाओं एवं दानदाताओं द्वारा किये जा रहे सहयोग एवं व्यवस्थाओं के संबंध में मुख्यमंत्री को अवगत करवाया।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वित्त मंत्री देवड़ा को आश्वस्त किया कि वे पूरे प्रदेश में स्थिति पर नजऱ रखे हुए हैं एवं आवश्यकतानुसार दवाओं, बेड्स एवं ऑक्सीजन आदि की आपूर्ति जारी रखने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं। मंदसौर एवं रतलाम जिले में किसी भी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी।  

Dakhal News

Dakhal News 22 April 2021


bhopal,Minister Bhupendra Singh ,inspected site, temporary hospital

भोपाल। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने ग्राम चक्क आगासौद (बीना रिफायनरी) में बनने वाले एक हजार बिस्तर के अस्थाई अस्पताल का स्थल निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 5 मई से अस्थायी कोविड-19 हास्पिटल शुरू कर दिया जाएं।   मंत्री सिंह ने बीना रिफायनरी के इंड्रस्ट्रियल ऑक्सीजन निर्माण के प्लांट का भी जायजा लिया। उन्होंने बताया कि बीओआरएल की इंड्रस्ट्रियल ऑक्सीजन को मेडिकल ऑक्सीजन में परिवर्तित कर संक्रमित मरीजों के उपचार के लिये उपयोग में लाया जाएगा। भूपेन्द्र सिंह ने बैठक में अस्थाई कोविड अस्पताल के निर्माण कार्य एवं व्यवस्थाओं पर भी चर्चा की। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, पीडब्ल्यूडी, एमपीईबी, पीआईयू के अधिकारियों को निर्देश दिये कि सक्रियता से इस दिशा में कार्य करें, जिससे समय-सीमा में ऑक्सीजन सप्लाई सहित समस्त व्यवस्थाओं को धरातल पर लाया जा सके।   नगरीय विकास एवं आवास मंत्री ने बताया कि अस्थाई अस्पताल में इंदौर के अरविंदो मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की मदद से उपचार किया जाएगा। आवश्यकता पडऩे पर अन्य जगह के डॉक्टरों को भी यहाँ तैनात किया जाएगा। उन्होंने कहा कि, अस्पताल के लिए एम्बुलेंस, पैरामेडिकल स्टॉफ, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की भी आवश्यकता अनुसार उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है। अस्पताल में आक्सीजन प्लांट से पाइप लाइन के माध्यम से मरीजों को आक्सीजन उपलब्ध कराई जायेगी।   मंत्री सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सख्त निर्देश हैं कि अस्थाई अस्पताल को शीघ्र प्रारंभ किया जाए। उन्होंने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को लगभग डेढ़ किलोमीटर की एप्रोच रोड बनाने, एमपीईबी के अधिकारियों को विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने सब स्टेशन का प्रपोजल बनाकर कार्य शुरू करने एवं पेयजल सप्लाई सुचारू रूप से करने के लिये संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। अक्षय फाउंडेशन देगा भोजनमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि अस्पताल में पोषणयुक्त भोजन अक्षय फाउंडेशन द्वारा दिया जाएगा। उन्होंने अस्थाई अस्पताल में कम्युनिकेशन सिस्टम को सुचारु रूप से चलानेके निर्देश बीएसएनएल प्रबंधक को दिये। इस दौरान सांसद राजबहादुर सिंह, बीना विधायक महेश राय, कुरवाई विधायक हरी सप्रे, अन्य जन-प्रतिनिधि, सागर कलेक्टर दीपक सिंह, पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह एवं बीओआरएल के अधिकारी मौजूद थे।

Dakhal News

Dakhal News 22 April 2021


bhopal, CM Shivraj ,expressed grief, over the death, renowned historian,Dr. Suresh Mishra

भोपाल। भारत के गौरवशाली अतीत पर अनेक पुस्‍तकें लिखेनवाले प्रसिद्ध इतिहासकार डॉ. सुरेश मिश्र के निधन पर मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत अनेक लोगों ने दुख व्‍यक्‍त किया है। सीएम शिवराज ने गुरुवार ट्वीटकर अपनी भावसंवेदनाएं व्‍यक्‍त करते हुए कहा ''मध्यप्रदेश के प्रसिद्ध इतिहासकार डॉ. सुरेश मिश्र जी के निधन से बहुत दुःख पहुंचा है। राज्य के इतिहास व संस्कृति को समृद्ध करने और 'मध्यप्रदेश के रणबांकुरे' व 'मध्यप्रदेश के सूरमा' जैसी अमूल्य पुस्तकों के सृजन के लिए सदैव याद किया जायेगा। यह प्रदेश की अपूरणीय क्षति है। ॐ शांति!''    उल्‍लेखनीय है कि मध्यप्रदेश के प्रसिद्ध इतिहासकार डॉ. सुरेश मिश्र (84) का कोरोना से निधन हो गया है। उन्‍होंने गुरुवार सुबह सात  बजे चिरायु अस्पताल, भोपाल में अंतिम सांस ली। डॉ. मिश्र ने मध्यप्रदेश के इतिहास का गहन अध्ययन किया था और लगभग 40 पुस्तकों का सृजन किया। मंडला में जन्मे सुरेश मिश्र भोपाल में ही रहते थे और राज्य के इतिहास व संस्कृति को समृद्ध करने के लिए निरंतर सक्रिय थे।     उन्होंने उच्च शिक्षा विभाग में 40 वर्ष सेवा की। उनकी पुस्तकें 'मध्यप्रदेश के रणबांकुरे' व 'मध्यप्रदेश के सुरमा' अत्यंत महत्वपूर्ण व लोकप्रिय हैं। साथ ही उन्होंने ने अनेक अंग्रेजी ग्रंथों का अनुवाद भी किया था। उनका देवलोकगमन मध्यप्रदेश के अकादमिक जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। 

Dakhal News

Dakhal News 22 April 2021


bhopal, Former minister ,PC Sharma ,ends his 21-hour fast, warns government

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने मंगलवार दोपहर को अपना 21 घंटे से जारी "विनम्र आग्रह उपवास" को जूस पीकर समाप्त कर दिया है। इस मौके पर मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि मप्र हाईकोर्ट में कोरोना के उपचार को लेकर उनकी ओर से दायर की गई याचिका में हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिये हैं।   पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा है कि कोरोना की स्थिति भयावह, हम मूकदर्शक बनकर नही रह सकते। साथ ही हाईकोर्ट ने केन्द्र सरकार को दखल देने का आदेश दिया है और ये सुनिश्चित करने को कहा है कि अस्पतालों में आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी न होने पाए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि उनकी मांग "न 45 न 60 सबको वैक्सीन लगे आज"  पर केन्द्र सरकार 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने जा रही है वे लगातार इस मांग को उठाते रहे है सरकार ने इस पर देर से ही सही लेकिन उनकी मांग पर यह फैसला लिया।   शर्मा ने कहा कि राज्य की शिवराज सरकार सैन्य अधिकारियों से कोरोना पर चर्चा छोडकर, कोरोना से संबंधित सभी व्यवस्थाएं सेना को सौंपे।   पूर्व मंत्री ने चेतावनी दी है उनकी याचिका पर हाईकोर्ट ने सरकार को जिन बिंदुओं पर आदेशित किया है वे व्यवस्थाएं 6 मई के पहले नहीं की जाती हैं तो वे 10 मई को राज्य सरकार की सुनवाई के दौरान कंटेम्ट आफ कोर्ट दर्ज करायेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


bhopal, Former minister ,PC Sharma ,ends his 21-hour fast, warns government

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने मंगलवार दोपहर को अपना 21 घंटे से जारी "विनम्र आग्रह उपवास" को जूस पीकर समाप्त कर दिया है। इस मौके पर मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि मप्र हाईकोर्ट में कोरोना के उपचार को लेकर उनकी ओर से दायर की गई याचिका में हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिये हैं।   पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा है कि कोरोना की स्थिति भयावह, हम मूकदर्शक बनकर नही रह सकते। साथ ही हाईकोर्ट ने केन्द्र सरकार को दखल देने का आदेश दिया है और ये सुनिश्चित करने को कहा है कि अस्पतालों में आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी न होने पाए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि उनकी मांग "न 45 न 60 सबको वैक्सीन लगे आज"  पर केन्द्र सरकार 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने जा रही है वे लगातार इस मांग को उठाते रहे है सरकार ने इस पर देर से ही सही लेकिन उनकी मांग पर यह फैसला लिया।   शर्मा ने कहा कि राज्य की शिवराज सरकार सैन्य अधिकारियों से कोरोना पर चर्चा छोडकर, कोरोना से संबंधित सभी व्यवस्थाएं सेना को सौंपे।   पूर्व मंत्री ने चेतावनी दी है उनकी याचिका पर हाईकोर्ट ने सरकार को जिन बिंदुओं पर आदेशित किया है वे व्यवस्थाएं 6 मई के पहले नहीं की जाती हैं तो वे 10 मई को राज्य सरकार की सुनवाई के दौरान कंटेम्ट आफ कोर्ट दर्ज करायेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


bhopal, Former minister ,PC Sharma ,ends his 21-hour fast, warns government

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने मंगलवार दोपहर को अपना 21 घंटे से जारी "विनम्र आग्रह उपवास" को जूस पीकर समाप्त कर दिया है। इस मौके पर मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि मप्र हाईकोर्ट में कोरोना के उपचार को लेकर उनकी ओर से दायर की गई याचिका में हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिये हैं।   पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा है कि कोरोना की स्थिति भयावह, हम मूकदर्शक बनकर नही रह सकते। साथ ही हाईकोर्ट ने केन्द्र सरकार को दखल देने का आदेश दिया है और ये सुनिश्चित करने को कहा है कि अस्पतालों में आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी न होने पाए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि उनकी मांग "न 45 न 60 सबको वैक्सीन लगे आज"  पर केन्द्र सरकार 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने जा रही है वे लगातार इस मांग को उठाते रहे है सरकार ने इस पर देर से ही सही लेकिन उनकी मांग पर यह फैसला लिया।   शर्मा ने कहा कि राज्य की शिवराज सरकार सैन्य अधिकारियों से कोरोना पर चर्चा छोडकर, कोरोना से संबंधित सभी व्यवस्थाएं सेना को सौंपे।   पूर्व मंत्री ने चेतावनी दी है उनकी याचिका पर हाईकोर्ट ने सरकार को जिन बिंदुओं पर आदेशित किया है वे व्यवस्थाएं 6 मई के पहले नहीं की जाती हैं तो वे 10 मई को राज्य सरकार की सुनवाई के दौरान कंटेम्ट आफ कोर्ट दर्ज करायेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


bhopal, Former minister ,PC Sharma ,ends his 21-hour fast, warns government

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने मंगलवार दोपहर को अपना 21 घंटे से जारी "विनम्र आग्रह उपवास" को जूस पीकर समाप्त कर दिया है। इस मौके पर मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि मप्र हाईकोर्ट में कोरोना के उपचार को लेकर उनकी ओर से दायर की गई याचिका में हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिये हैं।   पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा है कि कोरोना की स्थिति भयावह, हम मूकदर्शक बनकर नही रह सकते। साथ ही हाईकोर्ट ने केन्द्र सरकार को दखल देने का आदेश दिया है और ये सुनिश्चित करने को कहा है कि अस्पतालों में आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी न होने पाए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि उनकी मांग "न 45 न 60 सबको वैक्सीन लगे आज"  पर केन्द्र सरकार 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने जा रही है वे लगातार इस मांग को उठाते रहे है सरकार ने इस पर देर से ही सही लेकिन उनकी मांग पर यह फैसला लिया।   शर्मा ने कहा कि राज्य की शिवराज सरकार सैन्य अधिकारियों से कोरोना पर चर्चा छोडकर, कोरोना से संबंधित सभी व्यवस्थाएं सेना को सौंपे।   पूर्व मंत्री ने चेतावनी दी है उनकी याचिका पर हाईकोर्ट ने सरकार को जिन बिंदुओं पर आदेशित किया है वे व्यवस्थाएं 6 मई के पहले नहीं की जाती हैं तो वे 10 मई को राज्य सरकार की सुनवाई के दौरान कंटेम्ट आफ कोर्ट दर्ज करायेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


bhopal, Former minister ,PC Sharma ,ends his 21-hour fast, warns government

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने मंगलवार दोपहर को अपना 21 घंटे से जारी "विनम्र आग्रह उपवास" को जूस पीकर समाप्त कर दिया है। इस मौके पर मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि मप्र हाईकोर्ट में कोरोना के उपचार को लेकर उनकी ओर से दायर की गई याचिका में हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिये हैं।   पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा है कि कोरोना की स्थिति भयावह, हम मूकदर्शक बनकर नही रह सकते। साथ ही हाईकोर्ट ने केन्द्र सरकार को दखल देने का आदेश दिया है और ये सुनिश्चित करने को कहा है कि अस्पतालों में आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी न होने पाए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि उनकी मांग "न 45 न 60 सबको वैक्सीन लगे आज"  पर केन्द्र सरकार 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने जा रही है वे लगातार इस मांग को उठाते रहे है सरकार ने इस पर देर से ही सही लेकिन उनकी मांग पर यह फैसला लिया।   शर्मा ने कहा कि राज्य की शिवराज सरकार सैन्य अधिकारियों से कोरोना पर चर्चा छोडकर, कोरोना से संबंधित सभी व्यवस्थाएं सेना को सौंपे।   पूर्व मंत्री ने चेतावनी दी है उनकी याचिका पर हाईकोर्ट ने सरकार को जिन बिंदुओं पर आदेशित किया है वे व्यवस्थाएं 6 मई के पहले नहीं की जाती हैं तो वे 10 मई को राज्य सरकार की सुनवाई के दौरान कंटेम्ट आफ कोर्ट दर्ज करायेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


bhopal, Former minister ,PC Sharma ,ends his 21-hour fast, warns government

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने मंगलवार दोपहर को अपना 21 घंटे से जारी "विनम्र आग्रह उपवास" को जूस पीकर समाप्त कर दिया है। इस मौके पर मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि मप्र हाईकोर्ट में कोरोना के उपचार को लेकर उनकी ओर से दायर की गई याचिका में हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिये हैं।   पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा है कि कोरोना की स्थिति भयावह, हम मूकदर्शक बनकर नही रह सकते। साथ ही हाईकोर्ट ने केन्द्र सरकार को दखल देने का आदेश दिया है और ये सुनिश्चित करने को कहा है कि अस्पतालों में आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी न होने पाए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि उनकी मांग "न 45 न 60 सबको वैक्सीन लगे आज"  पर केन्द्र सरकार 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने जा रही है वे लगातार इस मांग को उठाते रहे है सरकार ने इस पर देर से ही सही लेकिन उनकी मांग पर यह फैसला लिया।   शर्मा ने कहा कि राज्य की शिवराज सरकार सैन्य अधिकारियों से कोरोना पर चर्चा छोडकर, कोरोना से संबंधित सभी व्यवस्थाएं सेना को सौंपे।   पूर्व मंत्री ने चेतावनी दी है उनकी याचिका पर हाईकोर्ट ने सरकार को जिन बिंदुओं पर आदेशित किया है वे व्यवस्थाएं 6 मई के पहले नहीं की जाती हैं तो वे 10 मई को राज्य सरकार की सुनवाई के दौरान कंटेम्ट आफ कोर्ट दर्ज करायेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


bhopal, Former minister ,PC Sharma ,ends his 21-hour fast, warns government

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने मंगलवार दोपहर को अपना 21 घंटे से जारी "विनम्र आग्रह उपवास" को जूस पीकर समाप्त कर दिया है। इस मौके पर मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि मप्र हाईकोर्ट में कोरोना के उपचार को लेकर उनकी ओर से दायर की गई याचिका में हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिये हैं।   पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा है कि कोरोना की स्थिति भयावह, हम मूकदर्शक बनकर नही रह सकते। साथ ही हाईकोर्ट ने केन्द्र सरकार को दखल देने का आदेश दिया है और ये सुनिश्चित करने को कहा है कि अस्पतालों में आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी न होने पाए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि उनकी मांग "न 45 न 60 सबको वैक्सीन लगे आज"  पर केन्द्र सरकार 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने जा रही है वे लगातार इस मांग को उठाते रहे है सरकार ने इस पर देर से ही सही लेकिन उनकी मांग पर यह फैसला लिया।   शर्मा ने कहा कि राज्य की शिवराज सरकार सैन्य अधिकारियों से कोरोना पर चर्चा छोडकर, कोरोना से संबंधित सभी व्यवस्थाएं सेना को सौंपे।   पूर्व मंत्री ने चेतावनी दी है उनकी याचिका पर हाईकोर्ट ने सरकार को जिन बिंदुओं पर आदेशित किया है वे व्यवस्थाएं 6 मई के पहले नहीं की जाती हैं तो वे 10 मई को राज्य सरकार की सुनवाई के दौरान कंटेम्ट आफ कोर्ट दर्ज करायेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


bhopal, Former minister ,PC Sharma ,ends his 21-hour fast, warns government

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने मंगलवार दोपहर को अपना 21 घंटे से जारी "विनम्र आग्रह उपवास" को जूस पीकर समाप्त कर दिया है। इस मौके पर मीडिया से चर्चा करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि मप्र हाईकोर्ट में कोरोना के उपचार को लेकर उनकी ओर से दायर की गई याचिका में हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिये हैं।   पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा है कि कोरोना की स्थिति भयावह, हम मूकदर्शक बनकर नही रह सकते। साथ ही हाईकोर्ट ने केन्द्र सरकार को दखल देने का आदेश दिया है और ये सुनिश्चित करने को कहा है कि अस्पतालों में आक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी न होने पाए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक शर्मा ने कहा कि उनकी मांग "न 45 न 60 सबको वैक्सीन लगे आज"  पर केन्द्र सरकार 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने जा रही है वे लगातार इस मांग को उठाते रहे है सरकार ने इस पर देर से ही सही लेकिन उनकी मांग पर यह फैसला लिया।   शर्मा ने कहा कि राज्य की शिवराज सरकार सैन्य अधिकारियों से कोरोना पर चर्चा छोडकर, कोरोना से संबंधित सभी व्यवस्थाएं सेना को सौंपे।   पूर्व मंत्री ने चेतावनी दी है उनकी याचिका पर हाईकोर्ट ने सरकार को जिन बिंदुओं पर आदेशित किया है वे व्यवस्थाएं 6 मई के पहले नहीं की जाती हैं तो वे 10 मई को राज्य सरकार की सुनवाई के दौरान कंटेम्ट आफ कोर्ट दर्ज करायेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


Jabalpur, BJP leader, anger erupted,over death,his own

जबलपुर। अभी तक विपक्षी पार्टी कांग्रेस ही कोरोना के मुद्दे पर सरकार को कठघरे में खड़ा कर रही थी, लेकिन अब मरीजों के इलाज में आ रही समस्याओं को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का गुस्सा भी फूटने लगा है। अपनी दादी और परिवार के दो अन्य लोगों की मौत पर भाजपा के मंडल अध्यक्ष ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करके अपनी ही सरकार पर सवाल उठा दिया। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के समझाने पर मंडल अध्यक्ष ने अपनी पोस्ट को डिलीट किया।   भाजपा के नुनसर मंडल अध्यक्ष का सोशल मीडिया पर दर्द छलक पड़ा। उन्होंने अपनी दादी और निकट के दो लोगों की मौत पर लिखा कि जब मंडल अध्यक्ष जैसे पद पर होने के बावजूद मैं इंजेक्शन और ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं कर सका और अपनों को नहीं बचा सका तो आम इंसान की क्या हालत होगी। इसी के बाद उन्होंने शिवराज सरकार को निकम्मी सरकार बताया।   जानकारी के अनुसार पाटन के नुनसर मंडल अध्यक्ष अजय पटेल की दादी और निकट के दो लोगों की कोरोना से मौत हो गई। अजय के मुताबिक तीनों मौत की वजह इंजेक्शन और ऑक्सीजन की व्यवस्था न होना था। उनका कहना है कि मैं अपनी पार्टी के सारे नेताओं को कॉल करता रहा, लेकिन कोई मदद नहीं मिल पाई। अपनों को खोने का दर्द अजय पटेल बर्दाश्त नहीं कर पाए। अपना आक्रोश उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। इस पर देखते ही देखते 100 से अधिक लोगों के कमेंट आ गए। सभी ने बदहाल इलाज की व्यस्था पर सरकार को कटघरे में खड़ा किया।   भाजपा के मंडल अध्यक्ष की इस पोस्ट को कांग्रेस ने हाथोंहाथ लिया। नगर कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश यादव ने आरोप लगाया कि हम तो पहले से ही इस सरकार को निकम्मी बता रहे थे, अब तो बीजेपी के कार्यकर्ता और पदाधिकारी भी बोलने लगे हैं। यही सच भी है। यादव ने कहा कि निश्चित रूप से यह सरकार की नाकामी है। अपनी ही पार्टी के एक कार्यकर्ता को रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं करवा पाना ये बताता है कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवा की क्या हालत है। मामले ने जब तूल पकड़ा तो पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने अजय पटेल से बात की। उनके गुस्से का समर्थन किया, लेकिन साथ ही पार्टी के साथ उनके जुड़ाव और समर्पण की याद दिला कर उनसे वह पोस्ट डिलिट कराई।

Dakhal News

Dakhal News 18 April 2021


bhopal, Medical Education Minister Sarang ,inspected AIIMS, Kovid Center

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने रविवार को एम्स के कोविड केयर सेंटर पहुँचकर कोरोना के मरीजों को मिल रही सुविधाओं का मुआयना किया। उन्होंने रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की उपलब्धता की जानकारी ली।    इस मौके पर सारंग ने जरूतमंदों को एम्स में भर्ती भी कराया। सारंग को राज्य सरकार ने भोपाल और सीहोर के कोविड केयर सेंटर की जिम्मेदारी दी है। उनके द्वारा लगातार दोनों जिलों की मॉनिटरिंग की जा रही है।

Dakhal News

Dakhal News 18 April 2021


bhopal,Congress seeks resignation ,Medical Education Minister

भोपाल, 13 अप्रैल (हि.स.)। शहडोल मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर कांग्रेस सरकार के खिलाफ आक्रामक हो गई है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि सरकार के अंदर एक भी आदमी नहीं है जो सैकड़ों इंजेक्शनों की चोरी, नकली रेमडेसीविर बनाने वाले गिरोह और ऑक्सीजन की कमी से होने वाली अकाल मौतों को अपनी नैतिक जिम्मेदारी समझे? क्या जीवन भर कुर्सी से ही चिपके रहेंगे या जनता की अदालत में कुछ नैतिक मूल्यों के साथ लौटेंगे ? कांग्रेस नेता गुप्ता ने रविवार को एक बयान जारी कर भाजपा नेताओं को कहा कि एक बार फिर से सोचें, आपके ही नेता कहते थे कि लोकतंत्र लोक लाज से चलता है। कहां गई आपकी लोक लाज? मुख्यमंत्री जी सत्ता के इतने लोभी मत बनिए। तत्काल मंत्रियों से इस्तीफे लीजिए। आक्सीजन की सप्लाई सत्रह घंटे देर से पहुंची है।क्या कर रहे थे अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थय उनसे जबाब तलब करिये। आप तो उल्टा टांग.देने का दावा करते थे क्या अभी भी कुछ बाकी रह गया है।समय आ गया है इन संगठित आपराधिक लापरवाहियों के जिम्मेदारों को बाहर का रास्ता दिखाइए। कांग्रेस नेता ने कहा कि जिस कांग्रेस को कोसते हैं वे दानवीर बनकर सेवा को निकले हैं, संजय शुक्ला, जीतू पटवारी, नकुल नाथ, विवेक तनखा, तरुण भनोट, पीसी शर्मा सेवा के फ्रंट पर हैं। आपके लोगों को भी निकालिये, मिलजुलकर प्रदेश बच जायेगा। उन्होंने कहा कि एक भी जान कीमती है पता नहीं उसमें से कौन इंजीनियर, कौन डॉक्टर, कौन वैज्ञानिक भारत की किस्मत बदल देता जिसे मध्य प्रदेश की अराजक स्वास्थ्य व्यवस्था ने लील लिया है। चंद कुर्सियां बचाने के लिये पूरे मध्यप्रदेश को कुर्बान मत करिए। मानवता और मानव जीवन बचाने का दायित्व राजसत्ता का है।

Dakhal News

Dakhal News 18 April 2021


bhopal,Congress seeks resignation ,Medical Education Minister

भोपाल, 13 अप्रैल (हि.स.)। शहडोल मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर कांग्रेस सरकार के खिलाफ आक्रामक हो गई है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि सरकार के अंदर एक भी आदमी नहीं है जो सैकड़ों इंजेक्शनों की चोरी, नकली रेमडेसीविर बनाने वाले गिरोह और ऑक्सीजन की कमी से होने वाली अकाल मौतों को अपनी नैतिक जिम्मेदारी समझे? क्या जीवन भर कुर्सी से ही चिपके रहेंगे या जनता की अदालत में कुछ नैतिक मूल्यों के साथ लौटेंगे ? कांग्रेस नेता गुप्ता ने रविवार को एक बयान जारी कर भाजपा नेताओं को कहा कि एक बार फिर से सोचें, आपके ही नेता कहते थे कि लोकतंत्र लोक लाज से चलता है। कहां गई आपकी लोक लाज? मुख्यमंत्री जी सत्ता के इतने लोभी मत बनिए। तत्काल मंत्रियों से इस्तीफे लीजिए। आक्सीजन की सप्लाई सत्रह घंटे देर से पहुंची है।क्या कर रहे थे अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थय उनसे जबाब तलब करिये। आप तो उल्टा टांग.देने का दावा करते थे क्या अभी भी कुछ बाकी रह गया है।समय आ गया है इन संगठित आपराधिक लापरवाहियों के जिम्मेदारों को बाहर का रास्ता दिखाइए। कांग्रेस नेता ने कहा कि जिस कांग्रेस को कोसते हैं वे दानवीर बनकर सेवा को निकले हैं, संजय शुक्ला, जीतू पटवारी, नकुल नाथ, विवेक तनखा, तरुण भनोट, पीसी शर्मा सेवा के फ्रंट पर हैं। आपके लोगों को भी निकालिये, मिलजुलकर प्रदेश बच जायेगा। उन्होंने कहा कि एक भी जान कीमती है पता नहीं उसमें से कौन इंजीनियर, कौन डॉक्टर, कौन वैज्ञानिक भारत की किस्मत बदल देता जिसे मध्य प्रदेश की अराजक स्वास्थ्य व्यवस्था ने लील लिया है। चंद कुर्सियां बचाने के लिये पूरे मध्यप्रदेश को कुर्बान मत करिए। मानवता और मानव जीवन बचाने का दायित्व राजसत्ता का है।

Dakhal News

Dakhal News 18 April 2021


Chhindwara, Congress MLA , former minister, sitting on dharna

छिंदवाड़ा। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस कोरोना महामारी से निपटने के सरकारी इंतजामों पर लगातार असंतोष जता रहा है। इसी कड़ी में शनिवार को छिंदवाड़ा में पांच कांग्रेस विधायक और एक पूर्व मंत्री धरने पर बैठे हैं।   लगातार विकराल रूप लेते जा रही कोरोना महामारी और लगातार हो रही मौतों के विरोध में जिला प्रशासन द्वारा जारी लापरवाही और अव्यवस्थाओं के विरोध में छिंदवाड़ा के 5 विधायक और एक पूर्व मंत्री शनिवार को धरने पर बैठे। गांधी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठे विधायको ने वहाँ मनाने आने वाले अधिकारियों से साफ कह दिया कि जब तक व्यवस्था में सुधार नही हो जाता धरना जारी रहेगा। काँग्रेस विधायकों की कोरोना से होने वाली मौतें रोकने और अव्यवस्थाओं को सुधारने की माँग है। धरने पर पूर्व मंत्री दीपक सक्सेना,विधायक गण सोहन वाल्मीकि,सुनील उइके,कमलेश शाह,विजय चौरे और सुनील उइके बैठे है।    ये है काँग्रेस विधायको की माँग   1 . जिला अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्थाओं के संबंध में प्रभारी मंत्री को जिले के सभी विधायकों ने ज्ञापन देकर व्यवस्थाएं बनाने की मांग की थी, मगर व्यवस्था में कोई भी सुधार नहीं हो पाया । आज कोरोना संक्रमित मरीज अस्पताल में इलाज के लिए बाट जोह रहे हैं मगर उन्हें कोई देखने वाला नहीं है। जो मरीज अस्पताल में भर्ती भी हो गए हैं उनकी कोई खैर खबर नहीं है, बस मरीज की मृत्यु होने पर सूचनाएं आ रही हैं।   2. जिले में ऑक्सीजन का टोटा बना हुआ है, प्रशासन कह रहा है कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है लेकिन लगभग सभी अस्पतालों में मरीजों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं हो रही है। जुन्नारदेव में 3 दिन पहले से तैयार सेंट्रल ऑक्सीजन सिस्टम की लाइनें तो विधायक जुन्नारदेव द्वारा लगवा दी गई लेकिन ऑक्सीजन की सप्लाई अभी तक नहीं हो पाई।   3. रेमेडीशिविर इंजेक्शन की व्यवस्था प्रशासन द्वारा की जानी थी, किंतु मरीजों को इंजेक्शन भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं हो रहे हैं। प्रदेश की सरकार भी छिंदवाड़ा जिले के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है । अन्य जिलों में तो इंजेक्शन हैलीकॉप्टर और एरोप्लेन द्वारा उपलब्ध करवा दिए गए किंतु छिन्दवाड़ा में इंजेक्शन नहीं भेजा जाना यह दिखाता है कि प्रदेश सरकार छिन्दवाड़ा के साथ अन्याय कर रही है।   4. जिले में किसी भी अस्पताल में मरीजों के भर्ती होने के लिए कोई जगह शेष नहीं बची है। एक-एक व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए सारे प्रयास करने के बावजूद भी बिस्तर नहीं मिल रहे हैं, आईसीयू और वेंटिलेटर की तो बात ही अलग है साधारण बिस्तर तक मिल पाना अस्पताल में मुश्किल है।   5. कोरोना इलाज की व्यवस्था केवल जिला मुख्यालय स्तर पर की जा रही है। शेष विकास खंडों में दूरस्थ आदिवासी अंचलों में इलाज की कोई भी व्यवस्था नहीं है। यदि कोई व्यक्ति बीमार हो रहा है तो उसे 60- 70 किलोमीटर की दूरी तय कर जिला मुख्यालय तक आना पड़ रहा है। ऐसे में रास्ते में किसी अनहोनी की संभावना भी लगातार बनी रहती है, तथा क्षेत्र की जनता के पास इतना धन भी नहीं होता कि वह मरीज को इमरजेंसी की स्थिति में जिला मुख्यालय तक ले जा सके।   6. अन्य जिलों में जिला प्रशासन द्वारा आवश्यकता के आधार पर अस्थाई कोविड सेंटर तैयार किए जा रहे हैं किंतु छिंदवाड़ा जिले में अत्यधिक मरीज होने के बावजूद भी जिला प्रशासन द्वारा कोई भी तैयारी नहीं की जा रही है।   7 मरीजों की कोरोना टेस्टिंग प्रॉपर नहीं हो रही है, इस कारण अधिकांश मरीज जिन्हें कोरोना के लक्षण भी हैं वह बिना किसी बंधन के घूम रहे हैं और संक्रमण फैला रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में निमोनिया और टाइफाइड के नाम पर इनका गलत इलाज हो रहा है जिस कारण बहुत से लोगों की मृत्यु भी हो रही है।   8. प्रशासन द्वारा संदिग्ध कोरोना मरीजों की पहचान के लिए किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है, लेकिन धरातल पर ऐसा कोई अभियान चलता नहीं दिख रहा।   9. संदिग्ध मरीजों की कोरौना जांच होने पर जांच रिपोर्ट आने में 4 से 5 दिन का समय लग रहा है, और इतने समय में या तो मरीज अत्यंत गंभीर स्थिति में पहुंच जा रहा है और रिपोर्ट नहीं आने पर वह अस्पताल में भर्ती भी नहीं हो पाता और इस कारण वह संक्रमण भी अपने आसपास के लोगों में फैला रहा है।   10. कोरोना को लेकर लोगों में जागरूकता भी स्थानीय प्रशासन द्वारा नहीं फैलाई जा रही है। पीड़ित को कोई मार्गदर्शन नहीं मिल रहा है।   11. प्रशासन द्वारा मौत के आंकड़े छुपाए जा रहे हैं।   12. विकासखंड स्तर पर शमशान घाट पर शवों को जलाने के लिए जगह कम पड़ रही है।

Dakhal News

Dakhal News 17 April 2021


Chhindwara, Congress MLA , former minister, sitting on dharna

छिंदवाड़ा। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस कोरोना महामारी से निपटने के सरकारी इंतजामों पर लगातार असंतोष जता रहा है। इसी कड़ी में शनिवार को छिंदवाड़ा में पांच कांग्रेस विधायक और एक पूर्व मंत्री धरने पर बैठे हैं।   लगातार विकराल रूप लेते जा रही कोरोना महामारी और लगातार हो रही मौतों के विरोध में जिला प्रशासन द्वारा जारी लापरवाही और अव्यवस्थाओं के विरोध में छिंदवाड़ा के 5 विधायक और एक पूर्व मंत्री शनिवार को धरने पर बैठे। गांधी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठे विधायको ने वहाँ मनाने आने वाले अधिकारियों से साफ कह दिया कि जब तक व्यवस्था में सुधार नही हो जाता धरना जारी रहेगा। काँग्रेस विधायकों की कोरोना से होने वाली मौतें रोकने और अव्यवस्थाओं को सुधारने की माँग है। धरने पर पूर्व मंत्री दीपक सक्सेना,विधायक गण सोहन वाल्मीकि,सुनील उइके,कमलेश शाह,विजय चौरे और सुनील उइके बैठे है।    ये है काँग्रेस विधायको की माँग   1 . जिला अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्थाओं के संबंध में प्रभारी मंत्री को जिले के सभी विधायकों ने ज्ञापन देकर व्यवस्थाएं बनाने की मांग की थी, मगर व्यवस्था में कोई भी सुधार नहीं हो पाया । आज कोरोना संक्रमित मरीज अस्पताल में इलाज के लिए बाट जोह रहे हैं मगर उन्हें कोई देखने वाला नहीं है। जो मरीज अस्पताल में भर्ती भी हो गए हैं उनकी कोई खैर खबर नहीं है, बस मरीज की मृत्यु होने पर सूचनाएं आ रही हैं।   2. जिले में ऑक्सीजन का टोटा बना हुआ है, प्रशासन कह रहा है कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है लेकिन लगभग सभी अस्पतालों में मरीजों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं हो रही है। जुन्नारदेव में 3 दिन पहले से तैयार सेंट्रल ऑक्सीजन सिस्टम की लाइनें तो विधायक जुन्नारदेव द्वारा लगवा दी गई लेकिन ऑक्सीजन की सप्लाई अभी तक नहीं हो पाई।   3. रेमेडीशिविर इंजेक्शन की व्यवस्था प्रशासन द्वारा की जानी थी, किंतु मरीजों को इंजेक्शन भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं हो रहे हैं। प्रदेश की सरकार भी छिंदवाड़ा जिले के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है । अन्य जिलों में तो इंजेक्शन हैलीकॉप्टर और एरोप्लेन द्वारा उपलब्ध करवा दिए गए किंतु छिन्दवाड़ा में इंजेक्शन नहीं भेजा जाना यह दिखाता है कि प्रदेश सरकार छिन्दवाड़ा के साथ अन्याय कर रही है।   4. जिले में किसी भी अस्पताल में मरीजों के भर्ती होने के लिए कोई जगह शेष नहीं बची है। एक-एक व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए सारे प्रयास करने के बावजूद भी बिस्तर नहीं मिल रहे हैं, आईसीयू और वेंटिलेटर की तो बात ही अलग है साधारण बिस्तर तक मिल पाना अस्पताल में मुश्किल है।   5. कोरोना इलाज की व्यवस्था केवल जिला मुख्यालय स्तर पर की जा रही है। शेष विकास खंडों में दूरस्थ आदिवासी अंचलों में इलाज की कोई भी व्यवस्था नहीं है। यदि कोई व्यक्ति बीमार हो रहा है तो उसे 60- 70 किलोमीटर की दूरी तय कर जिला मुख्यालय तक आना पड़ रहा है। ऐसे में रास्ते में किसी अनहोनी की संभावना भी लगातार बनी रहती है, तथा क्षेत्र की जनता के पास इतना धन भी नहीं होता कि वह मरीज को इमरजेंसी की स्थिति में जिला मुख्यालय तक ले जा सके।   6. अन्य जिलों में जिला प्रशासन द्वारा आवश्यकता के आधार पर अस्थाई कोविड सेंटर तैयार किए जा रहे हैं किंतु छिंदवाड़ा जिले में अत्यधिक मरीज होने के बावजूद भी जिला प्रशासन द्वारा कोई भी तैयारी नहीं की जा रही है।   7 मरीजों की कोरोना टेस्टिंग प्रॉपर नहीं हो रही है, इस कारण अधिकांश मरीज जिन्हें कोरोना के लक्षण भी हैं वह बिना किसी बंधन के घूम रहे हैं और संक्रमण फैला रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में निमोनिया और टाइफाइड के नाम पर इनका गलत इलाज हो रहा है जिस कारण बहुत से लोगों की मृत्यु भी हो रही है।   8. प्रशासन द्वारा संदिग्ध कोरोना मरीजों की पहचान के लिए किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है, लेकिन धरातल पर ऐसा कोई अभियान चलता नहीं दिख रहा।   9. संदिग्ध मरीजों की कोरौना जांच होने पर जांच रिपोर्ट आने में 4 से 5 दिन का समय लग रहा है, और इतने समय में या तो मरीज अत्यंत गंभीर स्थिति में पहुंच जा रहा है और रिपोर्ट नहीं आने पर वह अस्पताल में भर्ती भी नहीं हो पाता और इस कारण वह संक्रमण भी अपने आसपास के लोगों में फैला रहा है।   10. कोरोना को लेकर लोगों में जागरूकता भी स्थानीय प्रशासन द्वारा नहीं फैलाई जा रही है। पीड़ित को कोई मार्गदर्शन नहीं मिल रहा है।   11. प्रशासन द्वारा मौत के आंकड़े छुपाए जा रहे हैं।   12. विकासखंड स्तर पर शमशान घाट पर शवों को जलाने के लिए जगह कम पड़ रही है।

Dakhal News

Dakhal News 17 April 2021


bhopal, Medical Education Minister ,Vishwas Sarang, reviewed efforts ,control of corona

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने निर्देश दिए हैं कि कोई भी मरीज परेशान न हो, इसका ध्यान रखा जाये। नोड़ल अधिकारियों से लगातार संवाद स्थापित रखा जाये। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि एसडीएम अपने सर्किल के हॉस्पिटल से संवाद बनाये रखें। मंत्री सारंग शनिवार को स्मार्ट सिटी कार्यालय स्थित सभागार में कोरोना मरीजों के लिए किये जा रहे प्रयासों की समीक्षा कर रहे थे।   मंत्री सारंग ने कहा है कि बेड की संख्या में लगातार वृद्धि की जा रही है, जिससे मरीजों को समुचित उपचार मिल सके। उन्होंने कहा कि जूम मीटिंग के जरिए मरीजों के परिजनों के साथ वार्तालाप हो सके, ऐसा प्रबंध किया जाये। उन्होंने ऑक्सीजन सप्लाई, श्मशान में लकडिय़ों की व्यवस्था, रेमडेसिवियर इंजेक्शन सहित अन्य दवाओं की व्यवस्थाओं की भी समीक्षा की। होम आइसोलेशन वाले मरीजों का भी आकलन किया गया। बताया गया कि कंट्रोल रूम के माध्यम से आयुष विभाग के डॉक्टर्स की टीम होम आइसोलेशन के मरीजों से लगातार चर्चा कर रही है। श्री सारंग ने निर्देश दिए कि एसएमएस सिस्टम के जरिए पॉजिटिव, नेगेटिव की रिपोर्ट मरीज को जल्दी मिले।   बैठक में प्रमुख सचिव खाद्य फैज अहमद किदवई, संभागायुक्त कविंद्र कियावत, कलेक्टर अविनाश लवानिया, डीआईजी इरशाद वली, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास संचालक बसंत कुर्रे, नगर निगम आयुक्त के.व्ही.एस. चौधरी उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 17 April 2021


bhopal, Medical Education Minister ,Vishwas Sarang, reviewed efforts ,control of corona

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने निर्देश दिए हैं कि कोई भी मरीज परेशान न हो, इसका ध्यान रखा जाये। नोड़ल अधिकारियों से लगातार संवाद स्थापित रखा जाये। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि एसडीएम अपने सर्किल के हॉस्पिटल से संवाद बनाये रखें। मंत्री सारंग शनिवार को स्मार्ट सिटी कार्यालय स्थित सभागार में कोरोना मरीजों के लिए किये जा रहे प्रयासों की समीक्षा कर रहे थे।   मंत्री सारंग ने कहा है कि बेड की संख्या में लगातार वृद्धि की जा रही है, जिससे मरीजों को समुचित उपचार मिल सके। उन्होंने कहा कि जूम मीटिंग के जरिए मरीजों के परिजनों के साथ वार्तालाप हो सके, ऐसा प्रबंध किया जाये। उन्होंने ऑक्सीजन सप्लाई, श्मशान में लकडिय़ों की व्यवस्था, रेमडेसिवियर इंजेक्शन सहित अन्य दवाओं की व्यवस्थाओं की भी समीक्षा की। होम आइसोलेशन वाले मरीजों का भी आकलन किया गया। बताया गया कि कंट्रोल रूम के माध्यम से आयुष विभाग के डॉक्टर्स की टीम होम आइसोलेशन के मरीजों से लगातार चर्चा कर रही है। श्री सारंग ने निर्देश दिए कि एसएमएस सिस्टम के जरिए पॉजिटिव, नेगेटिव की रिपोर्ट मरीज को जल्दी मिले।   बैठक में प्रमुख सचिव खाद्य फैज अहमद किदवई, संभागायुक्त कविंद्र कियावत, कलेक्टर अविनाश लवानिया, डीआईजी इरशाद वली, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास संचालक बसंत कुर्रे, नगर निगम आयुक्त के.व्ही.एस. चौधरी उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 17 April 2021


bhopal, People of Damoh ,give replyg Congress candidateg,Vishnudutt Sharma

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी लगातार यह बात कहती रही है कि दमोह में कांग्रेस के प्रत्याशी अजय टंडन की पृष्ठभूमि गुंडागर्दी की रही है, जिसे आज उन्होंने सबके सामने उजागर कर दिया है। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर झूठे आरोप लगाते हुए जिस तरह की गुंडागर्दी की है और कोविड संकट में खुद कोरोना पॉजीटिव होते हुए इतने लोगों की भीड़ के साथ जनता को कोरोना बांटने का जो काम किया है, वो एक अपराध है। एक महिला पुलिसकर्मी के साथ अभद्रतापूर्ण व्यवहार दमोह की जनता और समाज कभी स्वीकार नहीं करेगी और इसका करारा जवाब मतदान के जरिए देगी। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने दमोह में कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन द्वारा की गई गुंडागर्दी पर नाराजगी जताते हुए कही। शर्मा ने चुनाव आयोग और प्रशासन से अपील की है कि ऐसे लोगों को किसी कीमत पर नहीं छोड़ना चाहिए। इनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जानी चाहिए।हार से हताश हैं कांग्रेस प्रत्याशीशर्मा ने कहा कि आज दमोह के कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन ने हार की हताशा के कारण सड़कों पर जिस प्रकार का ताण्डव और गुंडागर्दी का प्रदर्शन किया है,  वह अत्यंत दुर्भाग्यजनक है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी ने एक वर्ग विशेष के लोगों को साथ में लेकर शहर के वातावरण को बिगाड़ने का प्रयास किया है। इसलिए कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन के खिलाफ चुनाव आयोग कड़ी कार्यवाही करे। शर्मा ने कहा कि खुद कोरोना पॉजीटीव होने के बावजूद कांग्रेस प्रत्याशी चुनाव के एक दिन पहले इतनी भीड़ को साथ लेकर निकले। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को बदनाम करने के लिए किसी गाड़ी और किसी भवन पर आरोप लगाने का प्रयास किया। लेकिन चुनाव आयोग और पुलिस द्वारा की गई जांच में कुछ भी नहीं पाया गया। शर्मा ने कहा कि यह केवल चुनाव के एक दिन पहले माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया गया है।मतदान के दौरान सतर्क रहे प्रशासन, धैर्य रखें कार्यकर्ताशर्मा ने कहा कि मतदान से एक दिन पहले कांग्रेस प्रत्याशी ने एक वर्ग विशेष के लोगों के साथ मिलकर जिस तरह की गुंडागर्दी की है, प्रशासन को उस पर रोक लगाना चाहिए। इसे देखते हुए कल मतदान के दौरान सावधानी बरतने की आवश्यकता है। संवेदनशील बूथों पर प्रशासन को और अधिक तगड़ी व्यवस्था करनी चाहिए। शर्मा ने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि धैर्य और सावधानी रखें तथा कांग्रेस प्रत्याशी की गुंडागर्दी का जवाब भाजपा के पक्ष में अधिक से अधिक मतदान कराकर दें।

Dakhal News

Dakhal News 16 April 2021


bhopal, Medical Education Minister ,Vishwas Sarang ,Observes Oxygen Concentrator Unit

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने तुलसी नगर स्थित मालवीय भवन में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर यूनिट का अवलोकन कर उसकी प्रक्रिया को समझा। मंत्री सारंग ने बताया कि राज्य शासन ने 150 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर यूनिट खरीदी हैं। एक कंसंट्रेटर मशीन से 2 पेशेंट को ऑक्सीजन मिल सकेगी। इस मशीन से 5 लीटर प्रति मिनिट ऑक्सीजन मिलेगी। यह मशीन भोपाल में वितरित की जा रही है।   मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि कोरोना संक्रमण लगातार फैल रहा है। संकट बहुत बड़ा है और हम लगातार बिस्तरों में इजाफा कर रहे हैं, जिससे कोरोना मरीजों का इलाज हो सकेगा। साथ ही ऑक्सीजन की चुनौती से निपटने के लिये प्रदेश में लगातार ऑक्सीजन की निर्बाध सप्लाई जारी है। आपूर्ति और खपत का अनुपात समानान्तर बना हुआ है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर ऑक्सीजन का अलग से कंट्रोल-रूम स्थापित किया गया है। इसके जरिये ऑक्सीजन की आपूर्ति और खपत पर निगरानी रखी जा रही है। साथ ही ऑक्सीजन के अल्टरनेट सोर्स को ध्यान में रखकर 2 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीद रहे हैं। ऑक्सीजन सपोर्ट बिस्तर के लिये यह बहुत उपयोगी है।

Dakhal News

Dakhal News 16 April 2021


bhopal, Medical Education Minister ,Vishwas Sarang ,Observes Oxygen Concentrator Unit

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने तुलसी नगर स्थित मालवीय भवन में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर यूनिट का अवलोकन कर उसकी प्रक्रिया को समझा। मंत्री सारंग ने बताया कि राज्य शासन ने 150 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर यूनिट खरीदी हैं। एक कंसंट्रेटर मशीन से 2 पेशेंट को ऑक्सीजन मिल सकेगी। इस मशीन से 5 लीटर प्रति मिनिट ऑक्सीजन मिलेगी। यह मशीन भोपाल में वितरित की जा रही है।   मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि कोरोना संक्रमण लगातार फैल रहा है। संकट बहुत बड़ा है और हम लगातार बिस्तरों में इजाफा कर रहे हैं, जिससे कोरोना मरीजों का इलाज हो सकेगा। साथ ही ऑक्सीजन की चुनौती से निपटने के लिये प्रदेश में लगातार ऑक्सीजन की निर्बाध सप्लाई जारी है। आपूर्ति और खपत का अनुपात समानान्तर बना हुआ है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर ऑक्सीजन का अलग से कंट्रोल-रूम स्थापित किया गया है। इसके जरिये ऑक्सीजन की आपूर्ति और खपत पर निगरानी रखी जा रही है। साथ ही ऑक्सीजन के अल्टरनेट सोर्स को ध्यान में रखकर 2 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीद रहे हैं। ऑक्सीजन सपोर्ट बिस्तर के लिये यह बहुत उपयोगी है।

Dakhal News

Dakhal News 16 April 2021


anuppur, Government working, social sector following, Baba Saheb

अनूपपुर। संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर के विचारों पर भारतीय जनता पार्टी ने गरीबों के उत्थान के लिए काम करती है। पार्टी के कार्यकर्ता बाबा साहब के विचारों को जन-जन तक पहुंचाते हैं। बाबा साहब द्वारा की गई व्यवस्थाओं के कारण आज देश के प्रत्येक वर्ग को समान अधिकार प्राप्त हुए हैं। आजादी के बाद कांग्रेस की सरकार इतने वर्षों तक रही लेकिन उन्होंने कभी भी बाबा साहब के विचारों पर ध्यान नहीं दिया। लेकिन जब से देश में और प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी तब से बाबा साहब के विचारों को जमीन पर उतारने और गरीबों के उत्थान के काम हुए। बाबा साहब के पंच तीर्थों पर भी सरकार द्वारा काम किए गए है। बाबा साहब द्वारा देश और समाज के लिए किए गए कार्यों को कभी भुलाया नहीं जा सकता उन्होंने इस समाज और देश को बहुत कुछ दिया है। भारतीय जनता पार्टी द्वारा 14 अप्रैल को डॉ भीमराव जयंती पर आयेजित कार्यक्रम में प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने कहीं।   इसके पूर्व उन्होंने बाबा साहब के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर नमन किया। इस दौरान भाजपा जिला अध्यक्ष बृजेश गौतम, मंडल अध्यक्ष शिवरतन वर्मा, पूर्व जिला अध्यक्ष रामदास पुरी,भाजपा जिला मीडिया प्रभारी राजेश सिंह सहित भाजपा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित रहें।   जिला अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार के नेतृत्व में गरीब कल्याण की योजनाएं संचालित की जा रही हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्जवला योजना और आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से समाज के हर वर्ग का ध्यान रखा जा रहा है। बाबा साहब के बनाए गए संविधान का पालन करते हुए भारतीय जनता पार्टी उनके पद चिन्हों पर आगे बढक़र समाज के अंदर काम कर रही है। बाबा साहब के संकल्पों को साकार करने के लिए भाजपा सरकार अंतिम छोर के व्यक्ति की चिंता कर रही है और उनके कल्याण के लिए तमाम तरह की योजनाएं चला रही है समाज में ऊंच-नीच की जो खाई कांग्रेस ने बनाई उसको भरने का कार्य भाजपा और उसकी सरकार कर रही है जिसके परिणाम भी समाज के अंदर अब दिखाई देने लगे हैं इसीलिए जात पात को लोग भूलकर भाजपा के साथ जुड़ रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 14 April 2021


bhopal, BJP leader took a dig , silence of Congress,comparing it to vultures

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बीच चरमराई स्वास्थ्य सेवाओं और मौतों को लेकर कांग्रेस सरकार पर आक्रामक हो गई है। प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी और रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर मचे घमासान के बाद कांग्रेस विधायक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से गुहार लगाते हुए गांधी प्रतिमा के पास धरने पर बैठ गए हैं। कांग्रेस के मौन धरने पर भाजपा नेता हितेष वाजपेयी ने तंज कसा है। साथ ही उन्होंने कांग्रेस नेताओं की तुलना गिद्धों से करते हुए बड़ी बात कही है।   भाजपा नेता हितेष वाजपेयी ने ट्वीट कर कांग्रेस विधायकों के धरने पर निशाना साधते हुए कहा कि कोरोना महामारी से लगी आग में अफवाहों का घी डालते कांग्रेस के निकम्मे विधायक जिन्हें लोगों की मदद करना चाहिये? कांग्रेस के नेता ऑक्सीजन ख़त्म होने की और डॉ. की लापरवाहियों की अफवाह उड़ा रहे हैं? पहचानीये इन चेहरों को!   इसके अलावा उन्होंने कांग्रेस नेताओं द्वारा श्यमसान घाट की फोटो और वीडियों साझा करने पर उनकी तुलना गिद्धों से करने और आपदा में अवसर तलाशने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता जानबूझकर जलती लाशों और शमशान के वीडियो बनाकर आम लोगों में "राजनैतिक-अराजकता) के लिए दहशत फैला रहें हैं ? आपदा में अवसर तलाशते गिद्ध।   बता दें कि मध्यप्रदेश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी, रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी, स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाल स्थिति व सरकार द्वारा इस संबंध में निरंतर बोले जा रहे वक्‍तव्‍यों को लेकर कांग्रेस के विधायक व पूर्व मंत्री जीतू पटवारी, पीसी शर्मा, आरिफ मसूद और कुणाल चौधरी देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से " हमारी सांसे बचा लो " की गुहार लगाते हुए भोपाल में मिंटो हॉल स्थित गांधी प्रतिमा पर मौन धरने पर बैठ गए हैं।

Dakhal News

Dakhal News 14 April 2021


bhopal, Congress will celebrate ,Dr. Ambedkar Jayanti , observance of Kovid rules

भोपाल। भारत की संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. भीमराव आंबेडकर की जयंती 14 अप्रैल को है। बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर को संविधान की रचना के साथ-साथ  सामाजिक समानता और समरसता के लिए उनके द्वारा किये गए कार्यों और प्रयासों के लिए भी जाना जाता है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि वर्तमान समय में बाबा साहेब अम्बेडकर के संविधान के साथ-साथ समानता और समरसता पर भी गंभीर संकट आ खड़ा हुआ है। एक दल विशेष के लोग संविधान की धज्जियाँ उड़ाते हुए जहाँ लोकतंत्र को कमजोर कर रहे हैं, वहीं लोगों को जाति, धर्म और समुदाय में बांटकर अम्बेडकर जी के समानता और समरसता के मार्ग को भी समाप्त कर रहे हैं।   प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देशानुसार बाबा साहेब अम्बेडकर के आदर्शों और सिद्धांतों को आगे बढाने का संकल्प लेते हुए उनके 130 वें जन्मदिन पर कांग्रेस ने सभी जिला मुख्यालयों में कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने सभी जिला इकाइयों से आग्रह किया है कि बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की जयंती को कोविड-19 के दिशानिर्देशों एवं संक्रमण के रोकथाम के लिये स्थानीय प्रशासन द्वारा लिये निर्णयों का पालन सुनिश्चित करते हुये कार्यक्रम आयोजित करें।

Dakhal News

Dakhal News 13 April 2021


Corona leave no stone unturned in the treatment of infected persons: Minister Deora

रतलाम। वित्त मंत्री एवं कोविड-19 की व्यवस्थाओं के लिये रतलाम-मंदसौर जिले के प्रभारी मंत्री जगदीश देवड़ा ने मंगलवार को रतलाम मेडिकल कॉलेज में कोविड सेंटर का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां उपचाररत कोरोना मरीजों से संवाद कर चिकित्सकीय व्यवस्थाओं की स्थिति भी जानी। मंत्री देवड़ा ने कहा कि विपरीत परिस्थितियों के बावजूद भी राज्य सरकार द्वारा उपचार की सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही हैं।   मंत्री देवड़ा ने डीन, मेडिकल कॉलेज शशि गांधी से व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के उपचार में कोई कोर-कसर न छोड़ी जाये। उन्होंने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य अमले को निर्देश दिये कि मरीजों के उपचार में ऑक्सीजन और दवाओं की कमी नहीं आने दी जाये। मरीजों के उपचार के साथ कोरोना गाइड-लाइन का पालन भी सुनिश्चित हो।   कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला क्रायसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में जिले की व्यवस्थाओं और कोरोना नियंत्रण की समीक्षा भी वित्त मंत्री देवड़ा ने की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिलों में उपचार व्यवस्थाओं के लिये अतिरिक्त राशि भी मुहैया करवाई है। जिला प्रशासन पूरी सतर्कता से गाइड-लाइन का पालन करवाते हुए उपचार की व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करें।   वित्त मंत्री ने जिले की स्वयंसेवी संस्थाओं और सामाजिक संगठनों से आव्हान किया कि कोरोना नियंत्रण में वे शासन के सहयोगी बनकर जन-जागरूकता का कार्य करें। जिला क्रायसिस मैनेजमेंट ग्रुप जिले की जनता के हित में निर्णय ले और प्रशासन उसे अमल में लाये। देवड़ा ने कहा कि कोविड केयर सेंटर को और अधिक प्रभावी बनाया जाये। बैठक में रतलाम सांसद गुमान सिंह डामोर, विधायक राजेन्द्र पाण्डेय, चेतन कश्यप, दिलीप मकवाना, हर्ष गहलोत, जिला कलेक्टर सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और क्रायसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 13 April 2021


seoni, Kevalari MLA ,puts suggestion, before AYUSH Minister,Chief Minister

सिवनी। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए हमें जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में इस महामारी के प्राथमिक उपचार की दवाइयों के किट घर-घर पहुंचाने की व्यवस्था करनी होगी। जिला चिकित्सालय द्वारा बुखार, खांसी इत्यादि के लिए जो दवाइयों के किट जिनमें अजिथ्रोमाईसिन, पेरासिटामाल, विटामिन, जिंक इत्यादि शामिल है, इस तरह के किट ग्रामीण क्षेत्रों में हमारी आंगनवाड़ी,ई एन एम एवं अन्य शासकीय ईकाइयों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में वितरित किया जा सकता है।    इससे ना सिर्फ कोरोना के प्राथमिक लक्षणों के दौरान ही इस पर नियंत्रण संभव होगा बल्कि अनेक लोगों के जीवन की रक्षा भी हो सकेगी। उक्त आशय का सुझाव केवलारी विधायक राकेश पाल सिंह ने मंगलवार को प्रदेश के आयुष मंत्री राम किशोर नानू कावरे के समक्ष कोरोना के संबंधित विभागीय बैठक के दौरान रखा।   पाल ने कहा कि ग्राम वासी कोरोना टेस्ट के लिए जिला चिकित्सालय आ नहीं पा रहे हैं समय पर उपचार न मिलने से प्राथमिक लक्षण ही कोरोना पाजिटिव में बदल रहे हैं जिससे उन्हें विकट परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है जो उनके जीवन को जोखिम में डाल रहा है।    विधायक पाल ने कहा कि, हमें हर हाल में कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए लोगों तक कम से कम प्राथमिक उपयोगी दवाइयों के किट पहुंचाना ही होगा । जिला चिकित्सालय में कोरोना के प्राथमिक उपचार हेतु दवाइयों के जो किट खांसी बुखार के लक्षणों पर उपचार के लिए बांटे जा रहे हैं उनमें यदि चिकित्सक और भी कोई दवाइयां शामिल करके किट बनवा बनवा दें तो हमारी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एएनएम सहित अन्य शासकीय स्वयं सेवक इसे ग्रामीण क्षेत्रों में वितरित कर सकते हैं।   विधायक पाल के उक्त सुझाव को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के आयुष मंत्री कावरे द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह  के समक्ष रखा गया। मुख्यमंत्री ने राकेश पाल के इस सुझाव की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह उपयोगी एवं सकारात्मक सुझाव है और सिवनी जिले ही नहीं हम इसे पूरे प्रदेश में ही लागू लागू करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 13 April 2021


Indore,Former Minister Cooperation, Rameshwar Patel dies

इंदौर। कांग्रेस को बीते दो दिनों में दूसरा आघात लगा है। पूर्व मंत्री और वरिष्ठ नेता महेश जोशी के बाद शनिवार देर रात सहकारिता के पितामह कहे जाने वाले पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल का भी निधन हो गया। वे पिछले कुछ महीनों से बीमार चल रहे थे।   कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, पूर्व मंत्री और क्षत्रिय कलौता समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामेश्वर पटेल का शनिवार देर रात निधन हो गया। नौ सितंबर 1943 को जन्मे रामेश्वर पटेल अर्जुनसिंह की सरकार में प्रदेश के कृषि राज्यमंत्री रहे। वे प्रदेश की सहकारिता की राजनीति में पितामह कहे जाते थे। वरिष्ठ नेता रामेश्वर पटेल का सहकारी कृषि संस्थानों में खासा जनाधार और प्रभाव था। इसके चलते उनकी छवि किसान नेता की भी रही। वे तीन बार मध्य प्रदेश राज्यसहकारी बैंक के अध्यक्ष रहे। पटेल ने कांग्रेस संगठन में भी लंबी पारी खेली। कांग्रेस सेवादल से लेकर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष रहे। बीते समय तक वे प्रदेश कांग्रेस में उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी भी संभालते रहे। बीते दिनों उनके स्वास्थ्य का हाल जानने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ इंदौर के अस्पताल पहुंचे थे। इसी दौरान लिफ्ट गिरने का हादसे हो गया था।

Dakhal News

Dakhal News 11 April 2021


bhopal,CM Shivraj salutes , birth anniversary ,great social reformer Mahatma Jyotiba Phule

भोपाल। सामाजिक क्रांति के अग्रदूत ज्योतिबा फूले की आज रविवार को जयंती है। ज्योतिराव गोविंदराव फुले भारत के महान विचारक, समाजसेवी, लेखक और दार्शनिक थे। उनके विचार आज भी समाज के लिए प्रेरणास्त्रोत है। ज्योतिराव गोविंदराव फुले का जन्म आज ही के दिन साल 1827 में हुआ था। उनको महिलाओं के उत्थान के लिए किए गए कार्य के लिए सबसे ज्यादा याद किया जाता है। महात्मा ज्योतिबा फुले की जयंती पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने उन्हें नमन किया है।   सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर ज्योतिबा फुले के समाज उत्थान के लिए किए गए योगदान को स्मरण करते हुए कहा ‘शिक्षा स्त्री और पुरुष दोनों के लिए समान रूप से आवश्यक है- ज्योतिबा फुले। शिक्षा के माध्यम से नारी व असमर्थों के जीवन को सशक्त बनाने का प्रयास करने वाले,सामाजिक क्रांति के अग्रदूत, महात्मा ज्योतिबा फुले जी की जयंती पर नमन! आपके अमूल्य विचार सदैव मानवता का कल्याण करते रहेंगे।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने संदेश में कहा ‘समाज में व्याप्त विभिन्न कुरीतियों को दूर करने के लिए संघर्ष करने वाले महान समाज सुधारक महात्मा ज्योतिबा फुले जी की जयंती पर उन्हें कोटि - कोटि नमन। समाज में व्याप्त अस्पृश्यता और अशिक्षा जैसी कुरीतियों के खिलाफ़ उनका योगदान सदा याद किया जाएगा।भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने ज्योतिबा फुले को जयंती पर नमन करते हुए कहा ‘विद्या बिना गई मति, मति बिन गई गति, गति बिन गई नीति, नीति बिन गया वित्त। वित्त बिन चरमराए शूद्र, एक अविद्या ने किए कितने अनर्थ।। क्रान्तिसूर्य महात्मा ज्योतिबा फुले जी की जयंती पर सादर नमन।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने ट्वीट में लिखा ‘महान समाजसेवी, विचारक और सत्यशोधक समाज के संस्थापक महात्मा ज्योतिबा फुले जी की जयंती पर उन्हें सादर नमन। उन्होंने महिलाओं की शिक्षा और सशक्तिकरण में अतुलनीय योगदान दिया है। उनके विचार और संघर्ष हमेशा नई पीढ़ी को प्रेरित करते रहेंगे।  

Dakhal News

Dakhal News 11 April 2021


bhopal,Assembly committees

भोपाल। मप्र विधानसभा के अध्यक्ष गिरीश गौतम ने कहा है कि निष्पक्ष, निर्मल और परिणाम मूलक विधायी कार्य-संचालन आदर्श लोकतांत्रिक प्रणाली की पहली आवश्यकता है। इससे लोकतंत्र को सही और स्वस्थ रूप मिलता है। वस्तुत: परिणाम मूलक विधायन से लोकतंत्र की सफलता सुनिश्चित होती है, जिसमें विधानसभा समितियां  महती भूमिका का निर्वहन करती हैं।   विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम शुक्रवार को विधानसभा भवन में वर्ष 2021-2022 की अवधि के लिए गठित वित्तीय एवं सदन समितियों की संयुक्त बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विधानसभा समितियां दलीय बंधनों से दूर रहकर विधायन और उसके क्रियान्वयन की प्रक्रिया को मजबूती प्रदान करती हैं। कृषि तथा उससे संबद्ध क्षेत्रों के विकास की दिशा में शासन द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों एवं योजनाओं के पर्यवेक्षण तथा परीक्षण करने के लिए कृषि विकास समिति सहित आचरण समिति एवं स्थानीय निकाय एवं पंचायतीराज लेखा समिति का मध्यप्रदेश विधान सभा में द्वितीयबार गठन किया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि समितियों की व्यापक कार्य प्रणाली से विधायिका एवं कार्यपालिका के मध्य परस्पर विश्वास बढ़ेगा और जन कल्याण कार्यों को मूर्त रूप मिलेगा।   विधानसा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने समिति से आग्रह किया है कि यह समिति कुशल संचालक के साथ सरकार को कुछ ऐसा सुझाव प्रस्तुत करें जिससे आम जनता को सरकार लाभ देने में समिति के निर्णय को लागू करें। सरकार को अपनी नीति पर पूर्ण विचार करना पड़े। सरकार और विधानसभा दोनों ही आम जनता को लाभ मिले, उसके लिये कार्य कर रही है। इसमें इन समितियों का क्या योगदान हो सकता है, इस पर हम सब मिलकर विचार करें। मेरा अध्यक्ष के नाते दायित्व है कि समितियों के संरक्षण एवं सहयोग में परस्पर सहयोग बना रहे, आप मुझे आवश्यकता पडऩे पर आमंत्रित कर सकते हैं, मैं आपके साथ हमेशा खड़ा मिलूंगा।   नवगठित समितियों के सभापतियों एवं सदस्यों को हार्दिक शुभकामनाएं व्यक्त करते हुये गौतम ने विश्वास जताया कि आप सभी योग्य सदस्य इन महत्वपूर्ण समितियों में अपनी भूमिका और दायित्वों का कुशलता पूर्वक निर्वहन करने में सफल होंगे। इस अवसर पर डॉ. गोविन्द सिंह कांग्रेस विधायक दल के मुख्य सचेतक विशेष रूप से उपस्थित थे। लोक लेखा समिति के सभापति बृजेन्द्र सिंह राठौर, अनुसूचित जाति, जनजाति तथा पिछड़े वर्गों के कल्याण संबंधी समिति के सभापति हरिशंकर खटीक ने भी संयुक्त समिति की बैठक को संबोधित किया। बैठक में विभिन्न समितियों के सभापति एवं सदस्य, विधान सभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह सहित अनेक अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal,Former Minister ,PC Sharma ,demands Election Commission

भोपाल। पूर्व मंत्री एवं भोपाल दक्षिण पश्चिम विधायक पीसी शर्मा ने चुनाव आयोग से कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए दमोह में  बाहरी नेताओं और कार्यकर्ताओं का प्रवेश रोकने की मांग की है। इसके लिए विधायक शर्मा ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को ईमेल से पत्र भेजा है।   मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को भेजे पत्र में विधायक शर्मा ने लिखा है कि प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या में दिन प्रतिदिन इजाफा हो रहा है। दमोह जिले में भी संक्रमण के कारण सरकारी आंकड़ों के हिसाब से अभी तक 150 लोगों की मौत हो चुकी है। जिले के लगभग 150 से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं। कई हजारों के कोरोना टेस्ट हुए लेकिन उनकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है। प्रदेश के मंत्री एवं दमोह में भाजपा के स्टार प्रचारण गोविंद सिंह राजपूत भी संक्रमित हो चुके हैं। भाजपा प्रत्याशी द्वारा नामांकन दर्ज करने के दौरान भी कई व्यक्ति संक्रमित हुए थे। दमोह में उप चुनाव होने के कारण इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, छिंदवाड़ा आदि क्षेत्रो के लोगों का यहां आना जाना अधिक हो रहा है, जहां कोरोना संक्रमण चरम पर है।पत्र में कहा गया है कि जिस तरह चुनाव में आचार संहिता में 48 घंटे पूर्व क्षेत्र से बाहर के लोगों को चुनाव क्षेत्र से बाहर जाने का प्रावधान है, उसी तरह संक्रमण की भयावह स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए दमोह जिले के अंदर बाहरी व्यक्तियों को प्रवेश न करने देना संक्रमण रोकने के लिए कारगर कदम होगा। जिले के बाहर के लोगों का उप चुनाव क्षेत्र दमोह में 10 दिन पूर्व ही प्रवेश वर्जित करना संक्रमण की दर रोकने में सहायक सिद्ध होगा। इसलिए अभी से उप-चुनाव क्षेत्र में प्रवेश वर्जित किया जाना चुनाव आयोग का उचित कदम होगा। अत: मप्र सरकार व चुनाव आयोग निर्णय लेकर दमोह में बाहरी लोगों का प्रवेश वर्जित करें क्योकि कार्यक्रमों में वहां भारी भीड़ हो रही है। पत्र में आग्रह किया गया है कि दमोह की जनता को कोरोना महामारी से बचायें क्योंकि चुनाव नहीं दमोह की जनता की जान बहुमुल्य है।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal,Congress MP Vivek Tankha, tightened,Nero is playing marbles

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना से हाल बेहाल है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के सभी शहरों (नगरीय क्षेत्रों) में शनिवार-रविवार दो दिन के लॉक डाउन का फैसला लिया गया है। 17 अप्रैल को दमोह में होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान को देखते हुए यहां लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। दमोह को लॉक डाउन से मुक्त रखने के साथ ही आदेश में ये लिखा गया है की यहां का फैसला जिला निर्वाचन अधिकारी करेंगे। सरकार के इस आदेश पर विपक्ष ने सवाल खड़े किये हैं।   कांग्रेस राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने दमोह को लॉकडाउन मुक्त रखे जाने के सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘क्या यह सत्य है की दमोह छोड़ पूरे प्रदेश में शुक्रवार से 60 घंटे का लॉकडाउन की घोषणा की गई है। @drharshvardhan जी आपकी कथनी और करनी में यह अंतर क्यों : अगर चुनाव से प्तकोरोना बड़ रहा है तो यह वक्त उपचुनाव क्यों । एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने चुनाव आयोग और प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश की जनता इस क़हर के प्रकोप में झुलस रही है और प्रशासन की प्राथमिकता उपचुनाव है। चुनाव आयोग और मप्र सरकार जनता की दोस्त है या दुश्मन। प्रदेश जल रहा है और नीरो कंचे खेल रहा है। उपचुनाव स्थगित करिए, इस वक्त सिर्फ़ और सिर्फ़ अस्पताल, मरीज, दवा, वैक्सीन और जनता के कष्ट  निवारण होना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal,Congress MP Vivek Tankha, tightened,Nero is playing marbles

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना से हाल बेहाल है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के सभी शहरों (नगरीय क्षेत्रों) में शनिवार-रविवार दो दिन के लॉक डाउन का फैसला लिया गया है। 17 अप्रैल को दमोह में होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान को देखते हुए यहां लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। दमोह को लॉक डाउन से मुक्त रखने के साथ ही आदेश में ये लिखा गया है की यहां का फैसला जिला निर्वाचन अधिकारी करेंगे। सरकार के इस आदेश पर विपक्ष ने सवाल खड़े किये हैं।   कांग्रेस राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने दमोह को लॉकडाउन मुक्त रखे जाने के सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘क्या यह सत्य है की दमोह छोड़ पूरे प्रदेश में शुक्रवार से 60 घंटे का लॉकडाउन की घोषणा की गई है। @drharshvardhan जी आपकी कथनी और करनी में यह अंतर क्यों : अगर चुनाव से प्तकोरोना बड़ रहा है तो यह वक्त उपचुनाव क्यों । एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने चुनाव आयोग और प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश की जनता इस क़हर के प्रकोप में झुलस रही है और प्रशासन की प्राथमिकता उपचुनाव है। चुनाव आयोग और मप्र सरकार जनता की दोस्त है या दुश्मन। प्रदेश जल रहा है और नीरो कंचे खेल रहा है। उपचुनाव स्थगित करिए, इस वक्त सिर्फ़ और सिर्फ़ अस्पताल, मरीज, दवा, वैक्सीन और जनता के कष्ट  निवारण होना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal,Congress MP Vivek Tankha, tightened,Nero is playing marbles

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना से हाल बेहाल है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के सभी शहरों (नगरीय क्षेत्रों) में शनिवार-रविवार दो दिन के लॉक डाउन का फैसला लिया गया है। 17 अप्रैल को दमोह में होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान को देखते हुए यहां लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। दमोह को लॉक डाउन से मुक्त रखने के साथ ही आदेश में ये लिखा गया है की यहां का फैसला जिला निर्वाचन अधिकारी करेंगे। सरकार के इस आदेश पर विपक्ष ने सवाल खड़े किये हैं।   कांग्रेस राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने दमोह को लॉकडाउन मुक्त रखे जाने के सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘क्या यह सत्य है की दमोह छोड़ पूरे प्रदेश में शुक्रवार से 60 घंटे का लॉकडाउन की घोषणा की गई है। @drharshvardhan जी आपकी कथनी और करनी में यह अंतर क्यों : अगर चुनाव से प्तकोरोना बड़ रहा है तो यह वक्त उपचुनाव क्यों । एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने चुनाव आयोग और प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश की जनता इस क़हर के प्रकोप में झुलस रही है और प्रशासन की प्राथमिकता उपचुनाव है। चुनाव आयोग और मप्र सरकार जनता की दोस्त है या दुश्मन। प्रदेश जल रहा है और नीरो कंचे खेल रहा है। उपचुनाव स्थगित करिए, इस वक्त सिर्फ़ और सिर्फ़ अस्पताल, मरीज, दवा, वैक्सीन और जनता के कष्ट  निवारण होना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal,Congress MP Vivek Tankha, tightened,Nero is playing marbles

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना से हाल बेहाल है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के सभी शहरों (नगरीय क्षेत्रों) में शनिवार-रविवार दो दिन के लॉक डाउन का फैसला लिया गया है। 17 अप्रैल को दमोह में होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान को देखते हुए यहां लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। दमोह को लॉक डाउन से मुक्त रखने के साथ ही आदेश में ये लिखा गया है की यहां का फैसला जिला निर्वाचन अधिकारी करेंगे। सरकार के इस आदेश पर विपक्ष ने सवाल खड़े किये हैं।   कांग्रेस राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने दमोह को लॉकडाउन मुक्त रखे जाने के सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘क्या यह सत्य है की दमोह छोड़ पूरे प्रदेश में शुक्रवार से 60 घंटे का लॉकडाउन की घोषणा की गई है। @drharshvardhan जी आपकी कथनी और करनी में यह अंतर क्यों : अगर चुनाव से प्तकोरोना बड़ रहा है तो यह वक्त उपचुनाव क्यों । एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने चुनाव आयोग और प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश की जनता इस क़हर के प्रकोप में झुलस रही है और प्रशासन की प्राथमिकता उपचुनाव है। चुनाव आयोग और मप्र सरकार जनता की दोस्त है या दुश्मन। प्रदेश जल रहा है और नीरो कंचे खेल रहा है। उपचुनाव स्थगित करिए, इस वक्त सिर्फ़ और सिर्फ़ अस्पताल, मरीज, दवा, वैक्सीन और जनता के कष्ट  निवारण होना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal,Congress MP Vivek Tankha, tightened,Nero is playing marbles

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना से हाल बेहाल है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के सभी शहरों (नगरीय क्षेत्रों) में शनिवार-रविवार दो दिन के लॉक डाउन का फैसला लिया गया है। 17 अप्रैल को दमोह में होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान को देखते हुए यहां लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। दमोह को लॉक डाउन से मुक्त रखने के साथ ही आदेश में ये लिखा गया है की यहां का फैसला जिला निर्वाचन अधिकारी करेंगे। सरकार के इस आदेश पर विपक्ष ने सवाल खड़े किये हैं।   कांग्रेस राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने दमोह को लॉकडाउन मुक्त रखे जाने के सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘क्या यह सत्य है की दमोह छोड़ पूरे प्रदेश में शुक्रवार से 60 घंटे का लॉकडाउन की घोषणा की गई है। @drharshvardhan जी आपकी कथनी और करनी में यह अंतर क्यों : अगर चुनाव से प्तकोरोना बड़ रहा है तो यह वक्त उपचुनाव क्यों । एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने चुनाव आयोग और प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश की जनता इस क़हर के प्रकोप में झुलस रही है और प्रशासन की प्राथमिकता उपचुनाव है। चुनाव आयोग और मप्र सरकार जनता की दोस्त है या दुश्मन। प्रदेश जल रहा है और नीरो कंचे खेल रहा है। उपचुनाव स्थगित करिए, इस वक्त सिर्फ़ और सिर्फ़ अस्पताल, मरीज, दवा, वैक्सीन और जनता के कष्ट  निवारण होना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal,CM Shivraj ,planted mango plant , Minto Hall campus

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन एक पौधा लगाने के संकल्प के क्रम में बुधवार को मिंटो हॉल परिसर में आम का पौधा लगाया। इस अवसर पर उन्होंने नागरिकों से पौधारोपण करने की अपील भी की।   दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार दोपहर 12 बजे से 24 घंटे के लिए मिंटो हाल परिसर में स्वास्थ्य आग्रह पर बैठे हुए हैं। बुधवार को सुबह उन्होंने यहां आम का पौधा लगाया। पौधरोपण अभियान के तहत पौधारोपण करते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने आम नागरिकों से भी विशेष अवसरों पर पौधा लगाने की अपील की।   आम के वृक्ष का महत्व आयुर्वेद में आम के वृक्ष का अत्यधिक महत्व है। यह वात, पित्त सहित विभिन्न रोगों को दूर करने में उपयोगी है। साथ ही भोज्य सामग्री में इसके फल से लेकर चूर्ण तक का विशेष स्थान है।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


bhopal,Please make ,good study , draft of National Education Policy, Minister Parmar

भोपाल। स्कूल शिक्षा एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इन्दर सिंह परमार ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का लक्ष्य भारत को वैश्विक ज्ञान की महाशक्ति बनाना हैं। वर्तमान शिक्षा व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन लाने और विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के उद्देश्य को लेकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति कई वर्षों के अध्ययन, चिंतन और विभिन्न शिक्षाविदों के साथ मंथन उपरांत तैयार की गई है। इसके उद्देश्यों के अनुरूप क्रियान्वयन हम सभी की जिम्मेदारी है। आप सभी के प्राप्त सुझावों के आधार पर क्रियान्वयन की योजना और प्रक्रिया निर्धारित की जायेगी। इसके लिए आप सभी राष्ट्रीय शिक्षा नीति के ड्राफ्ट को अच्छे से अध्ययन करे, ड्राफ्ट के बारे अपने विद्यालय, मोहल्ले, समाज के नागरिकों, शिक्षाविदों आदि से चर्चा करे और अपने महत्वपूर्ण सुझाव टास्क फोर्स की बैठकों में प्रस्तुत करें।    मंत्री परमार की अध्यक्षता में बुधवार को राज्य-स्तरीय टास्क फोर्स की प्रारंभिक बैठक मंत्रालय में वर्चुअली कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित की गई। बैठक में बताया गया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के विभिन्न पहलुओं को प्रभावी तौर पर लागू करने एवं स्कूल शिक्षा की गुणवत्ता के विकास के लिए सुझाव और मार्गदर्शन के लिए राज्य शासन द्वारा टास्क फोर्स का गठन किया गया है। टास्क फोर्स में प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग को सदस्य सचिव, आयुक्त लोक शिक्षण और आयुक्त राज्य शिक्षा केंद्र संचालक को सदस्य, सचिव मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल, संचालक मध्य प्रदेश राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड और निदेशक महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान को पदेन सदस्य के रूप में शामिल किया गया है। इसके साथ ही प्रदेश के विभिन्न जिलों से शासकीय और अशासकीय क्षेत्र के 24 प्रतिनिधियों को भी सदस्य के रूप में शामिल किया गया है।   बैठक में जिलों के सभी सदस्य कलेक्ट्रेट के एनआईसी कक्ष से बैठक में वर्चुअली उपस्थित रहें। सदस्यों ने प्रारंभिक शिक्षा, व्यवसायिक शिक्षा, शिक्षक शिक्षा व्यवस्था, शिक्षा कॉम्प्लेक्स, बुनियादी और आधारभूत शिक्षा, डिजिटल ऑनलाइन शिक्षा और प्रौढ़ शिक्षा आदि विषयों पर महत्वपूर्ण सुझाव दिए। राज्यमंत्री परमार ने सभी उपयुक्त सुझावों को उपसमितियों के माध्यम से पर गंभीरता से विचार करने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी, लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत, हिंदी ग्रंथ अकादमी के निदेशक अशोक कड़ेल, संचालक केके द्विवेदी, निदेशक राज्य ओपन बोर्ड प्रभातराज तिवारी सहित संबंधित अधिकारी और सदस्य उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


bhopal, Congress asked , Chief Minister ,question, against whom, Satyagraha against

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह अपनी पार्टी की विचारधारा के विरुद्ध गांधी जी से प्रेरित होकर अहिंसक स्वास्थ्य आग्रह पर भोपाल में मास्क लगाने के लिए उपवास पर बैठे थे, तभी इंदौर में मास्क सरक जाने पर उनकी पुलिस एक नौजवान को हिंसक तरीके से पीट रही थी ? उसका बच्चा गुहार लगाता रहा कि अंकल कि पापा को मत मारो। लेकिन पुलिस पर तो हिंसा चढी हुई थी। यह कहना है  प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता का। कांग्रेस नेता भूपेन्द्र गुप्ता ने बुधवार को मीडिया को जारी एक बयान में मुख्यमंत्री से पूछा है कि वे परीक्षण करवाएं कि गांधी जी से प्रेरित मुख्यमंत्री की नाक के नीचे उनका प्रशासन इतना क्रूर और बर्बर क्यों हो गया है? जो मास्क लगाने जैसी छोटी सी गलती की इतनी भयानक सजा देता है। लगता है प्रशासन सरकार की अराजकता के कारण अवसाद में चला गया है? मैं पूछना चाहता हूं कि आपकी सरकार का रवैया  पुलिस को तनाव तो नहीं बांट रहा  है? क्या आप के मंत्री उनसे ऐसे काम तो नहीं करवा रहे हैं जहां समाज के प्रति हिंसक होकर वे अपनी खीज मिटा रहे हैं? कांग्रेस नेता ने जानना चाहा है कि सत्याग्रह तो किसी के विरुद्ध किया जाता है तो उनका स्वास्थ्य आग्रह किसके खिलाफ है, अपनी ही सरकार के या जनता के? गुप्ता ने मांग की कि मुख्यमंत्री जी एक दिन का उपवास और सत्य के प्रति आग्रह प्रशासन को जनता से व्यवहार सिखाने के लिए भी करें। भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि प्रतीत होता है कि अंतर प्रतिस्पर्धा से घायल भाजपा सरकार की अंतरकलह अब प्रशासनिक खींचतान में परिलक्षित होने लगी है। निर्दोष नागरिक इस हिंसक व्यवहार का शिकार हो रहे हैं।  ऐसे कर्मचारी कानूनन सजा के पात्र तो हैं ही किंतु सरकार का भी दायित्व है कि इस अमानुषिक व्यवहार के कारणों का अध्धयन कर उपचार करवाये।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


bhopal, Congress asked , Chief Minister ,question, against whom, Satyagraha against

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह अपनी पार्टी की विचारधारा के विरुद्ध गांधी जी से प्रेरित होकर अहिंसक स्वास्थ्य आग्रह पर भोपाल में मास्क लगाने के लिए उपवास पर बैठे थे, तभी इंदौर में मास्क सरक जाने पर उनकी पुलिस एक नौजवान को हिंसक तरीके से पीट रही थी ? उसका बच्चा गुहार लगाता रहा कि अंकल कि पापा को मत मारो। लेकिन पुलिस पर तो हिंसा चढी हुई थी। यह कहना है  प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता का। कांग्रेस नेता भूपेन्द्र गुप्ता ने बुधवार को मीडिया को जारी एक बयान में मुख्यमंत्री से पूछा है कि वे परीक्षण करवाएं कि गांधी जी से प्रेरित मुख्यमंत्री की नाक के नीचे उनका प्रशासन इतना क्रूर और बर्बर क्यों हो गया है? जो मास्क लगाने जैसी छोटी सी गलती की इतनी भयानक सजा देता है। लगता है प्रशासन सरकार की अराजकता के कारण अवसाद में चला गया है? मैं पूछना चाहता हूं कि आपकी सरकार का रवैया  पुलिस को तनाव तो नहीं बांट रहा  है? क्या आप के मंत्री उनसे ऐसे काम तो नहीं करवा रहे हैं जहां समाज के प्रति हिंसक होकर वे अपनी खीज मिटा रहे हैं? कांग्रेस नेता ने जानना चाहा है कि सत्याग्रह तो किसी के विरुद्ध किया जाता है तो उनका स्वास्थ्य आग्रह किसके खिलाफ है, अपनी ही सरकार के या जनता के? गुप्ता ने मांग की कि मुख्यमंत्री जी एक दिन का उपवास और सत्य के प्रति आग्रह प्रशासन को जनता से व्यवहार सिखाने के लिए भी करें। भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि प्रतीत होता है कि अंतर प्रतिस्पर्धा से घायल भाजपा सरकार की अंतरकलह अब प्रशासनिक खींचतान में परिलक्षित होने लगी है। निर्दोष नागरिक इस हिंसक व्यवहार का शिकार हो रहे हैं।  ऐसे कर्मचारी कानूनन सजा के पात्र तो हैं ही किंतु सरकार का भी दायित्व है कि इस अमानुषिक व्यवहार के कारणों का अध्धयन कर उपचार करवाये।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


bhopal, State Government ,should bear , cost of treatment ,corona, Sajjan Singh Verma

भोपाल। प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर प्रदेश के मध्यमवर्गीय तथा गरीब परिवारों के कोरोना संक्रमण के निशुल्क इलाज के लिए अपील की है। वर्मा ने प्रदेश के गरीब वर्ग के लिए भी सरकार से विशेष आर्थिक पैकेज तुरंत देने की गुहार लगाई है।   पूर्व मंत्री वर्मा ने अपने पत्र में शिवराज सिंह चौहान को राजधर्म का पालन करते हुए प्रदेश के नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा करने के लिए कहा है। उन्होंने लिखा कि कोरोना संकट प्रदेश में लगातार गहराता जा रहा है और प्रदेश में लॉकडाउन तथा अन्य सख्ती के चलते मध्यमवर्गीय वर्ग अत्यंत पीड़ा में है। कई मध्यमवर्गीय परिवार अपना पेट नहीं पाल पा रहे हैं। वहीं, कई ऐसे परिवार कोरोना संक्रमण की स्थिति में अपने परिवार की संपत्ति तथा अपना घर बेचकर महंगा इलाज करा रहे हैं। ऐसे सभी लोगों को प्रदेश सरकार की ओर से निशुल्क चिकित्सा सुविधा मुहैया कराना सरकार का कर्म ही नहीं धर्म भी है। 

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


bhopal,flame of Naxalism ,burning before , gets extinguished,Vishnudutt Sharma

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार नक्सली हिंसा को जड़मूल से उखाड़ फेंकने के लिए जो कदम उठा रही है, प्रभावित राज्यों के सहयोग से जिस तरह के समन्वित प्रयास कर रही है, उसके आधार पर यह कहा जा सकता है कि देश में नक्सलवाद और नक्सली हिंसा अब चंद दिनों की मेहमान है। नक्सलवाद की लौ अब भभकने लगी है और जल्द ही हमेशा के लिए बुझ जाएगी। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने छत्तीसगढ़ में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह द्वारा दिये गए बयान को अर्थपूर्ण बताते हुए मंगलवार कही।   प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि छत्तीसगढ़ में गृह मंत्री अमित शाह द्वारा यह कहा जाना कि ‘नक्सलियों से अब शह-मात का नहीं, सिर्फ मात का खेल होगा’, कोई भावुक बयान नहीं है। बल्कि यह बयान उस ठोस कार्ययोजना के आधार पर दिया गया है, जो केंद्र की मोदी सरकार ने वर्ष 2014 में सत्ता में आने के बाद नक्सलवाद की समाप्ति के लिए तैयार की है।    शर्मा ने कहा कि वर्ष 2015 से 2020 के बीच नक्सली हिंसा की घटनाओं में 47 प्रतिशत,  इन घटनाओं में हताहत होने वाले सुरक्षाकर्मियों की संख्या में 65 प्रतिशत तथा जान गवांने वाले आम नागरिकों की संख्या में 60 प्रतिशत की कमी आई है। दूसरी तरफ सुरक्षा बलों के हाथों मारे जाने वाले नक्सलियों की संख्या में 26 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है।  शर्मा ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में सिर्फ नक्सली घटनाओं की तीव्रता में कमी नहीं आई है, बल्कि नक्सलियों का दायरा भी लगातार सिकुड्ता जा रहा हे। वर्ष 2010 में देश के 95 जिले और 464 पुलिस स्टेशनों तक नक्सलवाद फैला हुआ था, जबकि वर्ष 2020 में यह घटकर 53 जिलों और 226 पुलिस स्टेशनों तक आ गया है।   वहीं, श्री शर्मा ने कहा कि नक्सलवाद के खिलाफ मोदी सरकार दोतरफा प्रयास कर रही है। एक तरफ संबंधित राज्यों के सहयोग से नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में विकास के काम शुरू किए गए हैं, तो दूसरी तरफ सुदूर वन क्षेत्रों तक सुरक्षा कैंप स्थापित कर नक्सलियों की गतिविधियों पर रोक लगाई जा रही है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री जी के बयान से स्पष्ट है कि आने वाले दिनों में नक्सलवाद और नक्सली हिंसा के खिलाफ यह लड़ाई और तेज होगी तथा नक्सलवाद का कलंक जल्दी ही बीते जमाने की चीज बनकर रह जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


bhopal,Chief Minister ,should stop gimmick,name of Corona

भोपाल। राज्य में कोरोना की भयावह स्थिति को लेकर और राज्य सरकार का इस ओर ध्यानाकर्षण करने के लिए मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष, मीडिया प्रभारी और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मंगलवार को पत्रकारवार्ता के दौरान शिवराज सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में फैल रहे कोरोना संक्रमण को लेकर प्रदेश की शिवराज सरकार गंभीर नहीं है। यही कारण है कि कोरोना से लडऩे की अपेक्षा मुख्यमंत्री और उनका पूरा मंत्रीमंडल सिर्फ मीडिया में फोटो छपवाने के लिए तरह-तरह की नौटंकी कर रहा है। जिससे मीडिया को नया-नया मसाला मिलते रहे, उनका पेट भरा रहे।   जीतू पटवारी ने कहा कि पिछले एक साल से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हर तीसरे दिन कोरोना की समीक्षा बैठक कर रहे हैं, लेकिन प्रदेश में कोरोना की स्थिति हर दिन चिंताजनक होती जा रही है। राज्य सरकार के कुछ मंत्री चुनाव में व्यस्त है, कुछ मंत्री मठ मंदिरों में माथा टेक रहे हैं और कुछ पर्यटन पर है जबकि मुख्यमंत्री विज्ञापन के माध्यम से मीडिया का पेट भर रहे हैं। पूर्व मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री एक साल से कोरोना को लेकर तरह- तरह के अभियान चला रहे है लेकिन स्थिति फिर भी नहीं सुधर रही। कोरोना को लेकर पूरा प्रदेश भयावह स्थिति में है, प्राइवेट अस्पतालों में लूट मची है। जो परिवार कोरोना से पीडि़त है वह बता सकता है कि कितनी भयावह स्थिति है। कोरोना के नाम पर निजी अस्पतालों ने जो लूट का कारोबार कर रहे है अब तो निजी अस्पताल लूट के अड्डे बन गए है। यह अस्पताल कोरोना पीडि़तों से मनमानी फीस वसूल रहे हैं। परेशान लोग कर्ज लेकर या संपत्ति बेचकर अस्पतालों की फीस चुका रहे हैं। स्थानीय प्रशासन का कोई नियंत्रण इन निजी अस्पतालों पर दिखाई नहीं दे रहा है। प्रदेश के अस्पतालों मे कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए बिस्तरों की समुचित व्यवस्था नहीं है। कोरोना मरीजों को 48 से 72 घंटों तक प्रतीक्षा करनी पड़ रही है।  प्रशासन कुछ भी कहे मीडिया में कुछ भी छप रहा हो लेकिन जमीनी हकीकत इससे उलट है।   उन्होंने कहा कि सरकार और जिला प्रशासन हर रोज एक नया सक्र्यूलर जारी कर रहा है अब न तो हेल्थ केयर वर्कर  एवं फ्रंटलाइन वर्कर का पंजीयन होगा और न उन्हें कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। इनको मिलने वाला मानदेय भी सरकार ने बंद कर दिया है। शिवराज सरकार ने प्रदेश के लोगों को 38 करोड़ का काढ़ा पिला दिया जिसका अता पता नहीं है। सरकार सर्क्यूलर जारी करती है कि 45 साल के कम उम्र वाले लोगों को कोरोना टीका नहीं लगेगा। अगर लगाया गया तो अस्पताल और डॉक्टर पर कार्यवाही होगी यह कहां का न्याय है। जीतू पटवारी ने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार को सभी व्यक्तियों का वैक्सीनेशन करवाना चाहिए क्योंकि कोरोना संक्रमण किसी की उम्र देखकर नहीं होता। पूर्व मंत्री ने कहा कि रेमेडिसिवर नाम का एक एंटी वायरल इंजेक्शन प्राईवेट अस्पताल में दुगनी-तिगुनी कीमत पर मिल रहा है प्राइवेट अस्पतालों ने इस इंजेक्शन की मार्केट में शार्टिज कर दी है।   जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या भाजपा के स्थापना दिवस के दिन छपास की प्यास तो नहीं बढ़ गई जो आप गांधी जी की मूर्ति के नीचे बैठकर नाटक नौटंकी शुरू कर दी है। जनता को मौत के मुँह में धकेलकर गांधी जी की शरण में बैठकर कोरोना के खिलाफ सत्याग्रह की नौटंकी कर रहे हैं। क्या इसमें आपकी छपास की प्यास नहीं दिखती। उन्होंने कहा कि पिछले एक साल से शिवराज जी सत्ता में है लेकिन फिर भी राज्य में कोरोना की यह भयावह स्थिति उनकी गंभीरता को दर्शाती है। शिवराज जी कोरोना के नाम पर नाइट कर्फ्यू  लगाते हैं लेकिन यह नियम शराब दुकानों पर लागू नहीं होता। यही कारण है कि लोग सिर्फ कोरोना से ही नहीं मर रहे बल्कि जहरीली शराब पीकर भी मर रहे हैं। आप माफिया के खिलाफ अभियान चलाने की बात करते हैं। आपने कोरोना को आपदा में अवसर माना है इसलिए प्रदेश में कोरोना के नाम पर लूट मची है और यह भयावह स्थिति प्रदेश में बनी है। इस दौरान जीतू पटवारी ने शराब की दुकानों को लेकर कविता भी सुनाई। उन्होंने राज्य की शिवराज सरकार से मांग करते हुए कहा कि सरकार प्रदेश में कोरोना का इलाज करने वाले सभी प्राइवेट अस्पतालों और मेडिकल कालेजों को अधिग्रहण कर जनता को समुचित इलाज मुहैया करवाए ताकि लोगों की जान बच सके।

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


bhopal, Make studies ,more interesting and informative ,using technology , Minister Parmar

भोपाल। स्कूल शिक्षा एवं सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के उद्देश्यों को क्रियान्वयन करने से दिशा में सभी शिक्षक तकनीक और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करें। पढ़ाई को तकनीक एवं प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से अधिक रोचक और ज्ञानवर्धक बनाए। आपके योगदान और परिश्रम से ही भारत विश्वगुरु के रूप में स्थापित हो पायेगा। उक्‍त बातें मंत्री परमार ने सोमवार को एडोब डिजिटल दिशा प्रोग्राम के शिक्षक प्रशिक्षण समापन पर शिक्षकों को वर्चुअली सम्बोधित करते हुए कही।    राज्यमंत्री परमार ने शिक्षक प्रशिक्षण प्रोग्राम में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 4 शिक्षकों को एडोब सर्टिफिकेशन के साथ ही 1-1 हजार और एक शिक्षक को 1500 रुपए से पुरस्कृत भी किया।    उल्लेखनीय है कि अंतर्राष्ट्रीय संस्था एडोब इंटरनेशनल द्वारा विगत 6 माह से एडोब डिजिटल दिशा प्रोग्राम के तहत प्रदेश के 53 ईएफए स्कूलों के लगभग 1700 से अधिक शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। प्रशिक्षण प्रोग्राम के अंतर्गत शिक्षक एडोब स्पार्क में डिजिटल प्रोजेक्ट बनाना, एडोब टूल्स और स्किल्स का उपयोग करना आदि सिखाया जाता है। इन टूल्स और सॉफ्टवेयर का शिक्षण में उपयोग कर छात्रों में रचनात्मकता उत्पन्न करके कक्षा शिक्षण को अधिक रोचक बनाया जा सकता है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत छात्रों को सीखने के परिणामों को बढ़ाने और उनके कौशल को विकसित करने के लिए एडोब का मध्यप्रदेश के सभी 53 ईएफए स्कूलों को निरंतर सहयोग मिला रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bhopal, Former Minister ,PC Sharma, accused of corruption, concealing data about Corona

भोपाल। वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री पी.सी.शर्मा ने प्रदेश सरकार पर कोरोना को लेकर बदइंतजामी और आंकड़े छुपाने का आरोप लगाया है। उन्होंने मांग की है कि कोरोना संकट से मुकाबले के लिए बिना किसी आयु बंधन के सभी को वेक्सीन लगाई जानी चाहिए।   पी.सी.शर्मा ने पत्रकारवार्ता में कहा कि भोपाल और इन्दौर में संक्रमित मरीजों के आंकड़े डाराने वाले हैं। प्रदेश में बीते 10 दिन में 50, 000 से ज्यादा पॉजीटिव मिले हैं और वर्तमान में प्रदेश में 20, 000 से ज्यादा एक्टिव केस हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में  । कोरोना सेम्पलिंग,  टेस्टिंग सिस्टम फेल हो गये हैं। सरकारी अस्पतालों जेपी,  हमीदिया में सैकड़ो लोग परेशान हो रहे हैं। शर्मा ने कहा कि कोरोना से हो रही मौतों के सरकारी आकड़ो में एवं मुक्तिधाम के आकड़ों में भारी अंतर है । दिनांक 04.04.2021 को भोपाल में लगभग 18 मौतें हुई परन्तु सरकारी आकड़ा 1 मौत बता रहा है,  जिससे लगता है कि कोरोना बेकाबू हो गया है । मौतें अधिक हो रही है । सरकारी आकड़ों में ये मौतें गायब हैं । अंतिम संस्कार के लिये मुक्तिधामों में लकड़ी उपलब्ध नहीं है एवं इलेक्ट्रिक दाह संस्कार मशीनें  ही खराब पड़ी हैं। पूर्व मंत्री शर्मा ने कोरोना संकट को देखते हुए सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल-कॉलेजों की फीस माफ करने की मांग की है।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bhopal, Congress taunts ,CM Shivraj, first teach his ministers , wear masks Chief Minister

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर तंज कसा है। कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा है कि मध्यप्रदेश के अस्पतालों में कोरोना वार्ड में आग लग रही है, मरीजों को बचाना मुश्किल हो रहा है। अस्पतालों में वैक्सीन उपलब्ध नहीं है, बिस्तर नहीं बचे हैं। निजी अस्पताल जमकर लूट रहे हैं। मुफ्त इलाज सबको नहीं मिल पा रहा है और सरकार अब घर घर जाकर मास्क लगाओ अभियान चला रही है।   भूपेंद्र गुप्ता ने सोमवार को एक बयान जारी कर सरकार से पूछा है कि अखबारों में हेड लाइन बनाने से क्या कोरोना नष्ट हो जाएगा? क्या मुख्यमंत्री जी के इस नए आडंबर से उनके मंत्रिमंडल के मंत्री मास्क पहनना शुरू कर देंगे? क्या उनके अफसर उनके निर्देशों का अक्षरश: पालन करवाने लगेंगे? गुप्ता ने कहा कि यह दुखद है कि मुख्यमंत्री जी व्यवस्था सुधारने की बजाय कोरोना को इवेंट बनाने में लगे हैं। सरकार इस बात का जबाब दे कि अस्पतालों में फायर सेफ्टी नियमों का पालन क्यों नहीं करवाया जा रहा है? बायो-मेडीकल वेस्ट को इंसिनिरेट करने के नियमों की धज्जियां क्यों उड़ रहीं हैं?   कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि दमोह में मुख्यमंत्री की सभा के बाद कोरोना संक्रमण में वृद्धि हुई है, मंच पर बिना मास्क लगाये घूम रहे मंत्री सहित कई भाजपा नेता संक्रमित पाये गये हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पहले मंत्रियों के लिये निर्देशिका जारी करें ताकि उनके सभी मंत्री सार्वजनिक व्यवहार में मास्क लगाना शुरू करें। क्योंकि उन्हें देखकर ही जनता मुख्यमंत्री के हर प्रयास को नाटक के रूप में देखती है।   भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि मंत्री गोविंद राजपूत के कोरोना पाजिटिव पाये जाने के कारण सभा मंच पर उपस्थित सभी मंत्रियों, भाजपा अध्यक्ष और दमोह विधान सभा के उम्मीदवार को क्वेरेन्टीन करवायें, पता नहीं उनमें कौन कोरोना कैरियर बना घूम रहा होगा। गुप्ता ने कहा कि अगर सरकार ही कोरोना गाइडलाइंस का मजाक बनायेगी तो जनता भी ऐसे अभियानों को नौटंकी ही मानेगी।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bhopal, Congress taunts ,CM Shivraj, first teach his ministers , wear masks Chief Minister

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर तंज कसा है। कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा है कि मध्यप्रदेश के अस्पतालों में कोरोना वार्ड में आग लग रही है, मरीजों को बचाना मुश्किल हो रहा है। अस्पतालों में वैक्सीन उपलब्ध नहीं है, बिस्तर नहीं बचे हैं। निजी अस्पताल जमकर लूट रहे हैं। मुफ्त इलाज सबको नहीं मिल पा रहा है और सरकार अब घर घर जाकर मास्क लगाओ अभियान चला रही है।   भूपेंद्र गुप्ता ने सोमवार को एक बयान जारी कर सरकार से पूछा है कि अखबारों में हेड लाइन बनाने से क्या कोरोना नष्ट हो जाएगा? क्या मुख्यमंत्री जी के इस नए आडंबर से उनके मंत्रिमंडल के मंत्री मास्क पहनना शुरू कर देंगे? क्या उनके अफसर उनके निर्देशों का अक्षरश: पालन करवाने लगेंगे? गुप्ता ने कहा कि यह दुखद है कि मुख्यमंत्री जी व्यवस्था सुधारने की बजाय कोरोना को इवेंट बनाने में लगे हैं। सरकार इस बात का जबाब दे कि अस्पतालों में फायर सेफ्टी नियमों का पालन क्यों नहीं करवाया जा रहा है? बायो-मेडीकल वेस्ट को इंसिनिरेट करने के नियमों की धज्जियां क्यों उड़ रहीं हैं?   कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि दमोह में मुख्यमंत्री की सभा के बाद कोरोना संक्रमण में वृद्धि हुई है, मंच पर बिना मास्क लगाये घूम रहे मंत्री सहित कई भाजपा नेता संक्रमित पाये गये हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पहले मंत्रियों के लिये निर्देशिका जारी करें ताकि उनके सभी मंत्री सार्वजनिक व्यवहार में मास्क लगाना शुरू करें। क्योंकि उन्हें देखकर ही जनता मुख्यमंत्री के हर प्रयास को नाटक के रूप में देखती है।   भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि मंत्री गोविंद राजपूत के कोरोना पाजिटिव पाये जाने के कारण सभा मंच पर उपस्थित सभी मंत्रियों, भाजपा अध्यक्ष और दमोह विधान सभा के उम्मीदवार को क्वेरेन्टीन करवायें, पता नहीं उनमें कौन कोरोना कैरियर बना घूम रहा होगा। गुप्ता ने कहा कि अगर सरकार ही कोरोना गाइडलाइंस का मजाक बनायेगी तो जनता भी ऐसे अभियानों को नौटंकी ही मानेगी।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


panna, Atalji saw the dream, connecting Ken-Betwa, Modi ji Shivraj ji fulfilled, Vd Sharma

पन्ना। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटलबिहारी वाजपेयी जी ने नदी जोड़ो अभियान की शुरुआत की थी। केन-बेतवा लिंक परियोजना का सपना स्व. अटलजी ने ही देखा था। किन्हीं कारणों से उनकी यह योजना यथार्थ में नहीं बदल सकी,  लेकिन उस सपने को साकार करने का काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया है। परियोजना का जो एमओयू साइन हुआ हैm उसके अनुसार पन्ना जिले की 70 हजार हेक्टेयर भूमि इस परियोजना से सिंचित होगी जिसका लाभ किसानों को मिलेगा। हमारा दायित्व है कि हम केन-बेतवा लिंक परियोजना से होने वाले लाभों को जन-जन तक पहुंचाएं। यह बात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने शनिवार को पन्ना में आयोजित पत्रकारवार्ता में कही। 62 लाख लोगों को मिलेगा पीने का पानीउन्होंने केन-बेतवा लिंक परियोजना की जानकारी देते हुए कहा कि इस परियोजना से 62 लाख लोगों को पीने के पानी की सुविधा मिलेगी। बुंदेलखण्ड के 41 लाख लोग इस परियोजना से लाभान्वित होंगे। इस परियोजना से बुंदेलखण्ड की 6:5 लाख हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी। परियोजना के प्रथम चरण में पन्ना जिले के दोधन बांध पॉवर प्रोजेक्ट, दो टनल एवं नहर का निर्माण होगा। मुख्यमंत्री जी के प्रयास से परियोजना के जल के प्रयोग के लिए मध्यप्रदेश पूर्णतः स्वतंत्र होगा,  उस पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। शर्मा ने कहा कि वाइल्ड लाइफ बोर्ड ने भी यह स्पष्ट कर दिया है कि इस परियोजना से पन्ना टाइगर रिजर्व के वन क्षेत्र पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ेगा, बल्कि इससे इस क्षेत्र के वन्य जीवों के लिए भी पीने के पानी की व्यवस्था हो जाएगी।दमोह में ऐतिहासिक जीत दर्ज करेगी पार्टीशर्मा ने कहा कि दमोह उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी के सभी कार्यकर्ता अपने काम में लगे हुए हैं। जिन्हें जिम्मेदारी सौंपी गई है, वे उसे निभा रहे हैं। पार्टी कार्यकर्ताओं ने इस उप चुनाव में सभी बूथों को जीतने का संकल्प लिया है और भाजपा इस उपचुनाव को अपने संगठन तंत्र की मजबूती, केंद्र व राज्य की गरीब कल्याण की योजनाओं और विकास के मुद्दे पर ऐतिहासिक मतों के साथ जीतेगी।

Dakhal News

Dakhal News 3 April 2021


bhopal, CM Shivraj ,expressed grief over ,demise of senior BJP leader ,Hari Babu

भोपाल, 03 अप्रैल (हि.स.)। जनसंघ के जमाने से भाजपा संगठन में सक्रिय रहे वरिष्ठ नेता और लोकतंत्र सेनानी हरिनारायण सक्सेना ‘हरि बाबू’ का गत दिवस मुम्बई के लीलावती अस्पताल में 88 वर्ष की आयु में निधन हो गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये हैं।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि रायसेन के वरिष्ठ समाजसेवी, जनसेवक और राष्ट्रवादी विचारक हरिनारायण सक्सेना 'हरि बाबू' के निधन का दु:खद समाचार मिला है। हरिनारायण सक्सेना जी ने समाजसेवा, संगठन और राष्ट्रभक्ति से जुड़े अभियानों में सक्रिय रूप से हिस्सा लिया। उनका जीवन देश सेवा के लिए समर्पित था। हरि बाबू आपातकाल में कारावास में भी रहे और उन्होंने अनेक वरिष्ठ नेताओं के साथ कार्य किया। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ उनके परिजनों के साथ हैं। ईश्वर उनकी आत्मा की शांति दें और उनके परिजनों को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करें, यही प्रार्थना है।   गौरतलब है कि हरिनारायण सक्सेना भाजपा के जिलाध्यक्ष, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य व जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष भी रहे। आपतकाल के समय वे 19 महीने जेल में भी रहे। सक्रिय राजनीति में आने से पहले हरिनारायण सक्सेना शासकीय सेवा में भी रहे। बहुत ही सौम्य, शालीन व्यक्तिव के धनी सक्सेना रायसेन जिले वरिष्ठ अधिवक्ता भी थे। जनसंघ से लेकर भाजपा के सफर से वह सहभागी थे। स्व. अटलबिहारी वाजपेयी जब विदिशा संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लड़े थे, तब भी सक्सेना उनके साथ ही प्रचार की कमान संभाले हुए थे। यही स्थिति स्व. सुषमा स्वराज जी इस क्षेत्र से लोकसभा चुनाव के समय रही।   कुछ समय से उनकी तबियत खराब थी, जिसके चलते परिजन उन्हें इलाज के लिए मुम्बई ले गये थे, जहां शुक्रवार को इलाज के दौरान लीलावती अस्पताल में उनका निधन हो गया।

Dakhal News

Dakhal News 3 April 2021


bhopal, Chief constable ,Varasivani police station, dies from Corona, CM Shivraj expressed grief

भोपाल। बालाघाट जिले के वारासिवनी थाने में पदस्थ प्रधान आरक्षक श्यामकिशोर सोनेकर का कोरोना के चलते गत दिवस निधन हो गया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है।   मुख्यमंत्री शिवराज ने शनिवार को ट्वीट किया है कि ‘बालाघाट के थाना वारासिवनी में पदस्थ प्रधान आरक्षक श्यामकिशोर सोनेकर जी का कोविड-19 संक्रमण से निधन के समाचार से दु:ख पहुंचा है। ईश्वर से दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान और परिजनों को यह वज्रपात सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं।’   वहीं, प्रदेश के डीजीपी विवेक जौहरी ने भी ट्वीट के माध्यम से दुख जताया है। उन्होंने लिखा है कि प्रधान आरक्षक श्यामकिशोर सोनेकर, थाना वारासिवनी जिला बालाघाट का कोरोना संक्रमण के कारण कल दु:खद निधन हो गया है। मध्य प्रदेश पुलिस इस दु:खद अवसर पर उनके परिवार के साथ है। मध्य प्रदेश  पुलिस परिवार की ओर से मैं श्यामकिशोर सोनकर को नमन एवं श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं।

Dakhal News

Dakhal News 3 April 2021


bhopal, Chief constable ,Varasivani police station, dies from Corona, CM Shivraj expressed grief