राजनीति


bhopal, Agriculture cabinet, announcement , paper like announcements

भोपाल। मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए कृषि कैबिनेट की घोषणा किए जाने के बाद कांग्रेस की ओर से बयानबाजी तेज हो गई है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि सबसे पहले जब कृषि कैबिनेट बनाई गई थी तब उसकी एकमात्र बैठक में स्वयं कृषि मंत्री उपस्थित नहीं हुए थे। केवल हेड लाइन बनाने और किसानों को ठगने के लिए इस तरह की घोषणाओं का औचित्य भाजपा की सरकार ही बता सकती है।   उन्होंने भाजपा सरकार से सवाल पूछते हुए कहा कि सरकार को इस बात का जवाब देना चाहिए कि कृषि कैबिनेट के होते हुए 9 साल में 11000 किसानों ने आत्महत्या क्यों की? क्यों मध्य प्रदेश की सरकार नकली बीज और खाद सप्लाई करने वाले माफिया को रोक नहीं सकी ?क्यों किसानों को उसने पिछले 15 सालों में लुटने दिया? यह बड़े प्रश्न है जिनका जवाब देने से बचने के लिए   यह सरकार कृषि कैबिनेट बनाने जैसा स्वांग कर रही है ।   भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि नरोत्तम जी शायद नहीं जानते कि सरकार के बासमती जीआई टेग का विरोध एपिडा चेन्नई में स्थित कर रहा है जो केन्द्र सरकार का संगठन है, उस पर सवाल उठाने से क्यों डर रहे हैं शिवराज जी? बासमती का जी आई का मुकदमा हाई कोर्ट चेन्नई में हारने के बाद पंजाब पर आरोप लगाकर न्यायालयीन मामले को राजनैतिक बनाने की कुटिलता क्यों कर रहे है ? बासमती चावल पर हिमालय के प्लेन्स के हरियाणा, पंजाब, हिमांचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश एवं जम्मू एवं कश्मीर को जी आई टेग मिला हुआ है साथ ही पाकिस्तान के कुछ क्षेत्रों को भी मिला हुआ है। जिस तरह से यह लड़ाई मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार लड़ रही है उससे अंतरराष्ट्रीय राइस एक्सपोर्टर सिंडिकेट को मदद पहुंच रही है।   गुप्ता ने कहा कि मध्य प्रदेश के लगभग एक लाख किसानों को मध्य प्रदेश के बासमती के नाम पर जी आई टेग लेने से लाभ पहुंच सकता है जिससे प्रदेश के किसानों को 400 करोड़ रुपये की आमदनी प्रतिवर्ष अपेक्षित  होगी। लेकिन सरकार के अंदर बैठे कुछ अधिकारी इस लड़ाई को गुमराह कर रहे हैं। अपना पक्ष अच्छे से न्यायालयों में नही रख रहे है। जिसका फायदा पाकिस्तान को पहुंच रहा है। जो राज्य मध्यप्रदेश के दावे का विरोध कर रहे हैं उसमें पंंजाब छोडक़र सभी भाजपा शासित प्रदेश हैं। गुप्ता ने कहा कि नरोत्तम जी सरकार से कहें कि बार बार हारने वाले वकील हटा लें और सर्वोच्च न्यायालय में अपना पक्ष पुरजोर तरीके से रखें। प्रदेश को बासमती सहित अन्य वस्तुओं का भी जीआई करवाये जिससे कि प्रदेश को राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बन सके। उत्पादन करने वालों को सही कीमत मिल सके, आमदनी दुगनी हो सके और प्रदेश भौतिक संपदा संरक्षित हो सके।

Dakhal News

Dakhal News 6 August 2020


bhopal, Amarinder Singh,insult farmers, hard work , political glasses, Vishnudutt Sharma

भोपाल। किसान चाहे पंजाब के हों या मध्यप्रदेश के, उन्होंने कृषि उत्पादन बढ़ाने के लिए जी तोड़ परिश्रम किया है। पंजाब ने अगर सारे देश को खेती से समृद्धि हासिल करने का रास्ता दिखाया है तो वह उसके किसानों के परिश्रम के बलबूते पर ही संभव हुआ है और अगर आज मध्यप्रदेश समर्थन मूल्य पर सबसे ज्यादा गेहूं खरीदी वाला राज्य बना है तो वह भी किसानों की मेहनत का नतीजा है। ऐसे में सिर्फ राजनीतिक नजरिए से देखकर मध्यप्रदेश और पंजाब के किसानों में भेद करना उनके परिश्रम का अपमान है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदरसिंह को इससे बचना चाहिए। यह बात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने गुरुवार को मध्यप्रदेश को बासमती की जीआई टैगिंग  के संबंध में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदरसिंह द्वारा प्रधानमंत्री को पत्र लिखे जाने को अनुचित बताते हुए कही।   उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में बासमती चावल की खेती का पुराना इतिहास रहा है। देश की आजादी के काफी पहले से प्रदेश के कई जिलों में बासमती चावल की खेती होती रही है। अब तो मध्यप्रदेश के कई जिले चावल उत्पादक हो गए हैं, लेकिन 1940 के दशक के सिंधिया स्टेट के दस्तावेजों से भी प्रदेश के 13 जिलों में धान की खेती की पुष्टि होती है। वहीं, भारत सरकार द्वारा भी प्रदेश में खेती के लिए ब्रीडर बीज उपलब्ध कराए जाने के प्रमाण हैं। ऐसी स्थिति में मध्यप्रदेश के बासमती चावल को जीआई टैगिंग मिलने पर किसी को कोई आपत्ति नहीं होना चाहिए।   उन्होंने कहा कि जहां तक अंतरराष्ट्रीय बाजार की बात है, तो उसमें भी प्रदेश को जीआई टैगिंग मिलने से बासमती की कीमत को स्थिरता ही मिलेगी। सिर्फ इस वजह से मध्यप्रदेश को जीआई टैगिंग मिलने का विरोध करना कि मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार है और पंजाब कांग्रेस शासित राज्य है, प्रदेश के लाखों किसानों के साथ अन्याय है। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदरसिंह को एक किसान के नजरिए से इस मुद्दे से देखना चाहिए, सिर्फ राजनीतिक नजरिए से नहीं।   छोटे नजरिये नहीं, बड़े दिल से सोचें कै.अमरिंदर सिंह   शर्मा ने कहा कि आज मध्यप्रदेश ने गेहूं खरीदी में जो रिकॉर्ड बनाया है, उसके पीछे किसानों की मेहनत तो है ही, प्रदेश की भाजपा सरकार की सोच और 15 सालों का श्रम भी है। इन 15 सालों में भाजपा सरकार ने सिंचाई सुविधाएं बढ़ाई, बिजली की उपलब्धता बढ़ाई, शून्य प्रतिशत पर कर्ज उपलब्ध कराया और हर आपदा में किसानों का साथ दिया। देश में लंबे समय तक पंजाब खेती के मामले में रोल मॉडल रहा है। उस समय किसी राज्य को इससे परेशानी नहीं हुई, लेकिन आज मध्यप्रदेश के नंबर-1 बनने पर पंजाब के मुख्यमंत्री का रवैया बताता है कि कहीं न कहीं वो संकुचित नजरिया रखते हैं। शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश के किसानों के प्रति दुर्भावना दिखाने की बजाय कैप्टन अमरिंदरसिंह को यह सोचना चाहिए कि कहीं, पंजाब के पिछड़ने की वजह कांग्रेस सरकार की नीतियां तो नहीं हैं? उन्होंने कहा कि देश के किसानों की आय बढ़े, खेती लाभ का धंधा बने, इन सब के लिए आज एक बड़े दिल की जरूरत है, संकुचित दृष्टिकोण की नहीं।

Dakhal News

Dakhal News 6 August 2020


bhopal, Assembly Speaker, inspects ,MLA residences, directs ,early occupation

भोपाल। मप्र विधानसभा के अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने गुरुवार को विधानसभा के वर्तमान एवं पूर्व सदस्यों के लिए भोपाल के रचना नगर में आवास संघ द्वारा बनाये जा रहे आवासों का स्थल निरीक्षण किया तथा विधानसभा, आवास संघ,नगर निगम एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष शर्मा ने अधिकारियों को निर्माणाधीन आवासों का कार्य पूर्ण कर 31 अगस्त तक पात्र हितग्राहियों को आधिपत्य सौंपे जाने के निर्देश दिए। शर्मा ने बताया कि जिन 117 हितग्राहियों द्वारा राशि जमा कर दी गई है, उन्हें 21 अगस्त को लॉटरी के माध्यम से आवासों का आवंटन किया जाएगा। इसके लिए पांच विधायकों की समिति भी गठित कर दी गई है। उन्होंने कहा कि नियत समय पर आवासों का आधिपत्य न मिलने पर संबंधित निर्माण एजेंसी पर जुर्माना भी अधिरोपित किया जाएगा।उल्लेखनीय है कि भोपाल के रचना नगर में आवास संघ द्वारा वर्तमान एवं पूर्व विधायकों हेतु आवासों का निर्माण किया जा रहा है।इस कार्य योजना का भूमि पूजन जुलाई 2016 में किया गया था। निरीक्षण के दौरान विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह, नगर निगम आयुक्त केवीएस चौधरी, आवास संघ के प्रबंध संचालक अरविंद सिंह सेंगर सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Dakhal News

Dakhal News 6 August 2020


bhopal, Congress was delighted, Kamal Nath s, historic , happy moment

भोपाल। अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन के आज शुभ दिन पर कांग्रेस भी राममय नजर आई। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय को लाईट की रोशनी से सजाया गया। भगवान राम का दरबार सजाया गया और दीप जलाए गए। इस खास अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का भोपाल स्थित निवास भी हर्ष स्वरुप भव्य रोशनी से जगमगाया।   मप्र में राम मंदिर भूमिपूजन के ऐेतिहासिक दिन को भाजपा के साथ कांग्रेस ने भी धूमधाम से मनाया। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय को बुधवार को भव्य तरीके से सजाया गया। पूरे कार्यालय को रंगबिरंगी रोशनी से सजाया गया। साथ ही बैंड की धुन पर मधुर संगीतमय भजनों की प्रस्तुति होती रही और रंगारंग आतिशबाजी की गयी। पूरा कांग्रेस कार्यालय जय-जय श्रीराम के नारों से गूंजता रहा। पूरे कार्यालय के भवन पर पूर्व सीएम कमलनाथ की मौजूदगी में दीप जलाकर दीपोत्सव मनाकर खुशी व हर्ष जाहिर की गयी। यह पहला मौका था जब कांग्रेस कार्यालय में रमा दरबार सजा दिखा। इस अवसर पर मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ ने कहा कि आज का दिन देश के लिए ऐतिहासिक है। बहुत समय से हर भारतवासी की आशा थी, आकांक्षा थी कि राम मंदिर का निर्माण हो। आज से राम मंदिर का निर्माण शुरू होने जा रहा है, आज हम सभी के लिये ख़ुशी का क्षण है।   इस अवसर पर राजीव गांधी को याद करते हुए कमलनाथ ने कहा कि ‘राजीव गांधी जी ने 1985 में ताला खोला था और यह भावना उस समय से ही जुड़ी थी। उन्होंने 1989  में कहा था कि रामराज्य लाऊंगा, राम मंदिर बनना चाहिए। यह कोई आज की बात नहीं है और आज इसका कोई श्रेय लेने की कोशिश करें तो यह गलत है। उन्होंने कहा कि मुझे तो खुशी होती आज जो निर्माण शुरू हुआ है, उसमें अपने देश का हर मुख्यमंत्री होता, अपने देश की हर जाति के प्रतिनिधि होते, हर धर्म के प्रतिनिधि होते। क्योंकि यह देश किसी एक का नहीं है, उत्तर का नहीं है, दक्षिण का नहीं है, पूर्व का नहीं है, पश्चिम का नहीं है।   कमलनाथ ने कहा कि आज आयोजन को सीमित किया गया, मुझे पता है कोरोना महामारी फैली हुई है लेकिन व्यवस्था कर 100-150 लोगों को बुलाया जा सकता था। हमारे देश की पहचान विभिन्नता से है, अनेकता में एकता से है। हमारे देश में कितने धर्म है, कितनी भाषाएं है, कितनी जातियां है, कितने देवी- देवता है, यह विश्व के किसी देश में है? यदि ऐसा किया जाता तो यह देश का नहीं, विश्व का कार्यक्रम होता। पूरा विश्व देखता कि पूरा भारत एक मत से इसके पीछे खड़ा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 August 2020


bhopal, Protem speaker,got emotional , car worker

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर हुज़ूर विधानसभा से विधायक एवं 1992 में हज़ारों कार सेवकों का नेतृत्व कर श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या जाकर कार सेवा करने वाले रामेश्वर शर्मा ने बुधवार को संत हिरदाराम नगर के संत हिरदाराम शॉपिंग काम्प्लेक्स में व्यापारिक एवं नागरिक बंधुओ द्वारा श्रीराम मंदिर निर्माण के उल्लास में आयोजित दीपोत्सव कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। इस दौरान दीपमाला से लिखे गए "जय श्रीराम" को शर्मा द्वारा प्रज्वलित किया गया।   इस अवसर पर प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कहा कि अयोध्या में प्रभु श्रीराम के मंदिर निर्माण की आधारशिला रखते ही 500 पहले बाबर की बर्बरता के एक अध्याय का आज अंत हुआ, अंत उन तथाकथित बुद्धिजीवियों का भी हुआ जो धर्म निरपेक्षता के नाम पर बाबर का समर्थन करते थे। अयोध्या में प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर बने यह हर हिन्दू का सपना था। लाखों कार सेवकों ने श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए संघर्ष किया, कुर्बानी दी उसी का प्रतिफल है कि अयोध्या में प्रभु श्रीराम का मंदिर बनना शुरू हो चुका है। रामेश्वर शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद देते हुए कहा की मोदी जी के सामथ्र्यवान नेतृत्व शक्ति के बल से यह संभव हो सका कि आज अयोध्या में प्रभु श्रीराम मंदिर का कार्यारम्भ हुआ। शर्मा ने कहा कि दुनिया भर के करोड़ो भक्तों की आस्था के केंद्र श्रीराम का मंदिर निर्माण यह भारत की आध्यात्मिक-सांस्कृतिक और हिन्दू एकता की जीत है।   कार सेवक अचल मीना से मिल भावुक हुए रामेश्वर शर्मा बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब अयोध्या में प्रभु श्रीराम मंदिर निर्माण की आधारशिला रख रहे थे। तब भोपाल के कार सेवक प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा के युवा सदन कार्यालय पर एकत्रित होकर इस ऐतिहासिक दिन पर एक दूसरे को बधाई देने पहुँचे। युवा सदन पर पहुँचे कार सेवकों का प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने भगवा अंग वस्त्र पहनाकर अभिवादन किया। इस दौरान एक समय ऐसा भी आया जब कार सेवक अचल मीना से भेंट कर रामेश्वर शर्मा की आंखे नम हो गयी। ज्ञात हो कि कोलार रोड ग्राम थुआखेड़ी निवासी अचल सिंह मीणा 1992 में रामेश्वर शर्मा के साथ कार सेवा करने अयोध्या गए थे। तब उनपर शिला गिर गयी थी, तब से अचल अपने पैरों पर खड़े नही हो पाते। फिर भी आज जब अयोध्या में श्रीराम का मंदिर बन रहा है, ऐसे में अचल मीना की आंखे नम थी। उन्हें देखकर रामेश्वर शर्मा भी भावुक हो गए और आने आँसू नही रोक पाए। श्रीराम मंदिर की आधारशिला रखे जाने के बाद प्रभु श्रीराम की आरती की गयी इस अवसर पर भाजपा नेता पंकज जोशी विशेष रूप से उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 5 August 2020


bhopal, Former CM, Kamal Nath ,wishes for successful, candidates , UPSC exam

भोपाल। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा सिविल सेवा परीक्षा-2019 का फाइनल परीक्षा परिणाम मंगलवार को घोषित किया था। इसमें मध्यप्रदेश के भी विद्यार्थियों ने सफलता हासिल कर टॉप रैंक में अपना स्थाना बनाया। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने यूपीएससी की परीक्षा में सफल परीक्षार्थियों को शुभकामनाएं दी हैं।   पूर्व सीएम कमलनाथ ने बुधवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि- ‘यूपीएससी सिविल सेवा 2019 की परीक्षा में सफल प्रदेश व देश के सभी विद्यार्थियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। आप सभी देश सेवा और जनकल्याण के अपने महान लक्ष्यों को प्राप्त करें।’   बता दें कि यूपीएससी की परीक्षा में भोपाल के अभिषेक सराफ देशभर में आठवीं रैंक हासिल कर मप्र के टॉपर बने। वहीं, भोपाल के ही अनमोल जैन ने 14 रैंक हासिल कर प्रदेश में दूसरा, मुरैना जिले के कैलारस की निधि बंसल ने 23वीं रैंक के साथ प्रदेश में तीसरा, इंदौर के प्रदीप सिंह ने 26वीं रैंक के साथ प्रदेश में चौथा स्थान प्राप्त किया। यूपीएससी में इस बार मध्यप्रदेश से 19 उम्मीदवारों का चयन हुआ है। इनमें से चार लड़कियां भी शामिल हैं। 

Dakhal News

Dakhal News 5 August 2020


bhopal, People recognize ,real face, BJP, Home Minister statement ,Jitu Patwari

भोपाल। मध्य प्रदेश काँग्रेस कमेटी के मीडिया अध्यक्ष और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा को धन्यवाद प्रेषित किया है। जीतू पटवारी ने गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा को धन्यवाद देते हुए कहा कि उन्होंने कोरोना को लेकर सच बयान दिया है। पिछले तीन महीने से जो बात कहा रहे थे कि भाजपा की शिवराज सरकार ने कोरोना को ऑटोमोड पर छोड़ दिया है, उसी बात का समर्थन आज डॉ नरोत्तम मिश्रा ने किया है। उन्होंने प्रदेश की जनता को कह दिया है कि ‘तेरा तुझको अर्पण क्या लागे मेरा।’ जिसका अर्थ यही जान पड़ता है कि अब कोरोना महामारी से लडऩे के लिए  शिवराज सरकार ने जनता को अकेला छोड़ दिया है और अपने हाथ खड़े कर दिए हैं।   पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मंगलवार को जारी अपने में कहा कि यही वह शिवराज सरकार है और शिवराज जी, जो पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की चेतावनी को मजाक बताते हुए कहते थे कि यह कोरोना-वरोना कुछ नहीं है, कोरोना नहीं डरोना है। अब जब प्रदेश में एक हजार से अधिक लोग कोरोना संक्रमण की वजह से असामयिक मौत के गाल में समा गए तब यही सरकार आज प्रदेश की जनता को असहाय छोड़ दूर भाग रही है।   जीतू पटवारी ने कहा कि भाजपा का असली चेहरा यही है जिसे जनता को पहचानने की जरूरत है। प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता को समझना होगा कि कोरोना जैसी महामारी को लेकर जब प्रदेश की तत्कालीन काँग्रेस पार्टी की कमलनाथ सरकार विधानसभा के सत्र को आगे बढ़ाना चाहती थी तो यही भाजपा राजनैतिक स्वार्थ के लिए घिनौने षडयंत्र और हथकंडे अपनाकर सत्ता हथियाने के लिए कोरोना संक्रमण को लेकर उसका मजाक उड़ा रही थी। लेकिन अब स्थिति प्रदेश की जनता सामने है और सत्ता लोलुप भाजपा के ये नेता प्रदेश की जनता को भगवान भरोसे छोडक़र अपने कर्तव्य से मुँह मोड़ रहे है।   जीतू पटवारी ने कहा कि भाजपा नेता कोरोना संक्रमणकाल की विकराल परिस्थितियों से सबक लें और जनता के साथ विश्वासघात और खिलवाड़ न करें। उन्होंने भाजपा के केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह जी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान जी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और प्रदेश महामंत्री सुहास भगत सहित कोरोना संक्रमण से पीडि़त सभी नेताओं के स्वास्थ्य लाभ की कामना की है।

Dakhal News

Dakhal News 4 August 2020


bhopal, BJP should not , contractor , Lord Ram, Bhupendra Gupta

भोपाल। मध्य प्रदेश में राम मंदिर निर्माण को लेकर राजनीति बयानबाजी तेज हो गई है। कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने भाजपा पर निशाना साधते हुए आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा धार्मिक एवं आध्यात्मिक आयोजन किए जाने से पूरी भाजपा बौखला क्यों रही है?   कांग्रेस नेता भूपेन्द्र गुप्ता ने मंगलवार को अपने बयान में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के उस बयान को आड़े हाथों लिया जिसमें उन्होंने कहा था की कांग्रेस को भगवान राम का नाम लेने का अधिकार नहीं है। गुप्ता ने मिश्रा से पूछा कि यह अधिकार क्या उन्हें भगवान ने दिया है? उन्होंने मिश्रा को स्मरण कराया कि जब भाजापा का जन्म भी नहीं हुआ था और न ही संघ का तब से महात्मा गांधी राजा राम की प्रार्थनाएं गाते रहे, इसलिए वे भक्ति और भक्तों के ठेकेदार ना बनें। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि प्रभु का भक्त होने के लिए भाजपा का सदस्य होना जरूरी नहीं है ना तो शास्त्रों ने और ना ही स्वयं भगवान ने ऐसी कोई पात्रता निर्धारित की है। जिसके नाम पर भाजपा नेता हंस-हंसकर बयान बाजी कर रहे हैं।   गुप्ता ने कहा कि धर्म को समझने वाले लोग इस तरह के अशालीन बयान नहीं देते, ना ही अन्य भक्तों को हिकारत से देख कर उनका अपमान करते हैं। उन्होंने गृहमंत्री से सवाल करते हुए पूछा कि 1985 के पूर्व वे अपना या अपने नेता का भगवान राम के संदर्भ में कोई बयान बताएं।   पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के निवास पर हुए हनुमान चालीसा पाठ के आयोजन पर उन्होंने कहा कि वह कार्यक्रम आस्था और आध्यात्म का समागम है। कमलनाथ जी काम करने में विश्वास करते हैं। वे झूठी मंचीय घोषणा नहीं करते इसीलिए उन्होंने न केवल राम वन गमन पथ के निर्माण की योजना, महाकाल परिसर के विकास की योजना, ओंकारेश्वर एवं रामराजा मंदिर ओरछा के विकास की योजना बनाई उनके लिए पैसे की व्यवस्था भी की। उन्होंने गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से अपेक्षा की है कि वह दर्पण देखना शुरू करें एवं मुख्यमंत्री से पूछें कि 10 साल तक उन्होंने राम वन गमन पथ के लिए क्या किया? उनकी सरकार ने तो बजट में मात्र 1000 रुपये की व्यवस्था की थी, क्या राम वनगमन पथ इतने में बन सकता था? गुप्ता ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ तो राम मंदिर के लिये चांदी की इंटें भेज रहे हैं, आपकी पार्टी भी विधायक तोड़ो फंड से सौ एक इंटे भेज कर पुण्य का पलड़ा बैलेंस कर ले।

Dakhal News

Dakhal News 4 August 2020


bhopal, BJP should not , contractor , Lord Ram, Bhupendra Gupta

भोपाल। मध्य प्रदेश में राम मंदिर निर्माण को लेकर राजनीति बयानबाजी तेज हो गई है। कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने भाजपा पर निशाना साधते हुए आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा धार्मिक एवं आध्यात्मिक आयोजन किए जाने से पूरी भाजपा बौखला क्यों रही है?   कांग्रेस नेता भूपेन्द्र गुप्ता ने मंगलवार को अपने बयान में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के उस बयान को आड़े हाथों लिया जिसमें उन्होंने कहा था की कांग्रेस को भगवान राम का नाम लेने का अधिकार नहीं है। गुप्ता ने मिश्रा से पूछा कि यह अधिकार क्या उन्हें भगवान ने दिया है? उन्होंने मिश्रा को स्मरण कराया कि जब भाजापा का जन्म भी नहीं हुआ था और न ही संघ का तब से महात्मा गांधी राजा राम की प्रार्थनाएं गाते रहे, इसलिए वे भक्ति और भक्तों के ठेकेदार ना बनें। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि प्रभु का भक्त होने के लिए भाजपा का सदस्य होना जरूरी नहीं है ना तो शास्त्रों ने और ना ही स्वयं भगवान ने ऐसी कोई पात्रता निर्धारित की है। जिसके नाम पर भाजपा नेता हंस-हंसकर बयान बाजी कर रहे हैं।   गुप्ता ने कहा कि धर्म को समझने वाले लोग इस तरह के अशालीन बयान नहीं देते, ना ही अन्य भक्तों को हिकारत से देख कर उनका अपमान करते हैं। उन्होंने गृहमंत्री से सवाल करते हुए पूछा कि 1985 के पूर्व वे अपना या अपने नेता का भगवान राम के संदर्भ में कोई बयान बताएं।   पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के निवास पर हुए हनुमान चालीसा पाठ के आयोजन पर उन्होंने कहा कि वह कार्यक्रम आस्था और आध्यात्म का समागम है। कमलनाथ जी काम करने में विश्वास करते हैं। वे झूठी मंचीय घोषणा नहीं करते इसीलिए उन्होंने न केवल राम वन गमन पथ के निर्माण की योजना, महाकाल परिसर के विकास की योजना, ओंकारेश्वर एवं रामराजा मंदिर ओरछा के विकास की योजना बनाई उनके लिए पैसे की व्यवस्था भी की। उन्होंने गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से अपेक्षा की है कि वह दर्पण देखना शुरू करें एवं मुख्यमंत्री से पूछें कि 10 साल तक उन्होंने राम वन गमन पथ के लिए क्या किया? उनकी सरकार ने तो बजट में मात्र 1000 रुपये की व्यवस्था की थी, क्या राम वनगमन पथ इतने में बन सकता था? गुप्ता ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ तो राम मंदिर के लिये चांदी की इंटें भेज रहे हैं, आपकी पार्टी भी विधायक तोड़ो फंड से सौ एक इंटे भेज कर पुण्य का पलड़ा बैलेंस कर ले।

Dakhal News

Dakhal News 4 August 2020


bhopal, Shivraj thanked,all his well-wishers, recover soon

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना संक्रमित होने के बाद भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती हैं, जहां उनका उपचार जारी है। इसी बीच उन्हें जानकारी मिली है कि उनके स्वास्थ्य को लेकर कुछ लोगों ने अन्न का त्याग किया है और कुछ लोग उनके लिए यज्ञ व हवन कर रहे हैं। सीएम शिवराज ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपने शुभचिंतकों को धन्यवाद दिया है, साथ ही कहा है कि डॉक्टर्स की पूरी टीम मेरे स्वास्थ्य का ध्यान रख रही है और मैं जल्द ही ठीक होकर वापस लौटूंगा।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए कहा है कि -‘मुझे पता चला है कि कुछ लोगों ने मेरे स्वस्थ होने तक अन्न का त्याग किया है। मैं उनकी भावनाओं का आदर करता हूँ, उन्हें सादर धन्यवाद देता हूं। मेरी उन सभी से प्रार्थना है कि वे ऐसा न करें, डॉक्टर्स की पूरी टीम मेरे स्वास्थ्य का ध्यान रख रही है। मैं जल्द ही ठीक होकर वापस लौटूंगा।’   मुख्यमंत्री ने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि -‘मुझे यह सूचना भी मिली है कि मेरे स्वास्थ्य के लिए लोग यज्ञ एवं पूजा-अर्चना कर रहे हैं। मैं सभी शुभचिंतकों को हृदय से धन्यवाद देता हूं। आप सभी के प्रेम, स्नेह और आशीर्वाद से मैं पूर्ण रूप से स्वस्थ होने जा रहा हूँ। इस प्यार का कोई मोल नहीं लेकिन मैं सदैव आपके कल्याण के लिए कार्य करूंगा।’   गौरतलब है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गत 25 जुलाई को कोरोना संक्रमित हुए थे। तभी वे चिरायु अस्पताल में भर्ती हैं। बीते रविवार को उनकी तीसरी जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी। हालांकि, उनकी अन्य सभी रिपोर्ट सामान्य हैं और उनका स्वास्थ्य भी ठीक है, लेकिन लगातार तीन रिपोर्ट पॉजिटिव आई हैं, जिसके चलते अभी वे अस्पताल में ही हैं।

Dakhal News

Dakhal News 4 August 2020


bhopal, CM Shivraj, celebrated  festival, Raksha Bandhan, hospital

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना संक्रमित होने के बाद भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती हैं। सोमवार को उन्होंने अस्पताल में ही रक्षाबंधन का पर्व मनाया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में ही राखी बंधवाई। उन्हें अस्पताल में पदस्थ कोरोना योद्धा बहन सरोज और कैबिनेट मंत्री अरविंद भदौरिया की पत्नी ने राखी बांधी। इस दौरान उन्होंने अपनी बहन से फोन पर बात भी की और उन्हें रक्षाबंधन की शुभकामनाएं दीं। मुख्यमंत्री ने यह बातें सोशल मीडिया के माध्यम से साझा की हैं।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ट्वीट के माध्यम से कहा है कि अज जिन बहनों से नहीं मिल सका, उन सब को भी रक्षाबंधन की शुभकामनाएं! अगला रक्षाबंधन हम धूमधाम से मनायेंगे।’   उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि -‘बहन अर्चना ने आज अस्पताल में मुझे राखी बांधने का अनुरोध किया, वह मप्र सरकार में सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया की धर्म पत्नी हैं, जो स्वयं भी कोरोना पॉजीटिव हैं और अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती हैं। मैं मेरी बहन के शीघ्र स्वस्थ होने और मंगलमय जीवन के लिए प्रार्थना करता हूं।’   वहीं, दूसरे ट्वीट में मुख्यमंत्री ने लिखा है कि -‘रक्षाबंधन के पावन अवसर पर अस्पताल में मेरे वॉर्ड में पदस्थ कोरोना योद्धा, बहन सरोज ने बड़े स्नेह से मुझे राखी बांधी। ईश्वर से उनके सुखद और मंगलमय जीवन की कामना करता हूं। मेरा यह जीवन बहनों के कल्याण और मध्यप्रदेश के उत्थान के लिए समर्पित है।’   उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा कि -‘आज बहन शशि ने फोन पर ही राखी के पावन त्यौहार की शुभकामनाएं दी। बहन और भाई का पवित्र बंधन और स्नेह ऐसा होता है कि जब आज हम नहीं मिल सके, तो दोनों फोन पर ही भावुक हो गये। बहन शशि और प्रदेश की सभी बहनों को रक्षा बंधन की बहुत-बहुत बधाई!’   उन्होंने एक दोहा ट्वीट करते हुए कहा है कि -‘मन से मन का मेल ही, राखी का त्यौहार। मिले स्नेह को स्नेह का, नित स्नेहिल उपहार।’ मुख्यमंत्री ने अगले ट्वीट में लिखा है कि -‘देश के प्रहरियों और कोरोना योद्धाओं को रक्षा बंधन की कोटि-कोटि बधाई! कोरोना काल में आप जो अभूतपूर्व सेवा कर रहे हैं, उसके लिए देश सदैव ऋणी रहेगा। आप भी अपनी राखी भेजिए।’

Dakhal News

Dakhal News 3 August 2020


bhopal, Chief Minister, light lamp garlands, tomorrow night

भोपाल। भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या में पांच अगस्त को भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में राम मंदिर की आधारशिला रखी जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आह्वान पर राममंदिर भूमिपूजन की पूर्व संध्या पर यानी चार अगस्त की रात्रि मध्यप्रदेश में घर-घर में दीप मालाएं जलाई जाएंगी और सुंदरकांड के पाठ किये जाएंगे। प्रदेश के सभी लोग इसकी तैयारियों में जुट गए हैं।    दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार देर रात ट्वीट के माध्यम से प्रदेशवासियों से आह्वान किया है कि वे चार अगस्त की रात्रि में अपने घरों में दीप मालाएं जलाएं और भगवान राम का भजन-कीर्तन करते हुए सुंदरकांड का पाठ करें। राम मंदिर निर्माण को लेकर प्रदेश में उत्साह का माहौल है और लोग इसकी तैयारियों में जुट गए हैं।   मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा है कि हम सौभाग्यशाली हैं कि हमारे सामने भगवान राम की जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण प्रारम्भ हो रहा है। हम पर प्रभु राम की असीम कृपा है। राम हमारे रोम-रोम में रमें हैं, राम हमारी हर साँस में बसे हैं। मंदिर के निर्माण के साथ ही देश में पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में रामराज्य आएगा। हम पर प्रभु श्रीराम की असीम कृपा है। राम हमारे अस्तित्व हैं, राम हमारे आराध्य हैं, राम हमारे भगवान हैं और राम भारत की पहचान हैं। मैं और देश-प्रदेश की जनता पाँच अगस्त की उस शुभ घड़ी का इंतजार कर रहे हैं जिसके लिए असंख्य लोगों ने अपना सर्वस्व न्योछावर किया। सारा देश गदगद और प्रसन्न है। मेरी सभी से अपील है, चार अगस्त की रात को अपने-अपने घर दीपमालाएं और विद्युत बल्ब की लडिय़ाँ जलाएं। हम प्रत्यक्ष रूप से अयोध्या नहीं जा सकते लेकिन घर पर रहकर ही भगवान राम की पूजा करें, सुंदरकांड का पाठ करें।’    मुख्यमंत्री ने ट्वीट के माध्यम से बताया कि चित्रकूट में भी पुजारियों द्वारा मंदिरों में विशेष पूजा की जायेगी। सभी चित्रकूटवासी अपने-अपने घरों में रहकर भगवान श्रीराम का स्मरण करेंगे। उन्होंने रामायण का एक दोहा भी ट्वीट किया है -चित्रकूट के घाट पर, भई संतन की भीर, तुलसीदास चंदन घिसें, तिलक देत रघुवीर।’ सीएम ने आगे लिखा है कि - ‘चित्रकूट जनता की आस्था का केंद्र है। प्रभु श्रीराम ने अपने वनवास का समय यहाँ व्यतीत किया। श्रीराम और भरत का मिलाप भी यहीं हुआ। कामदगिरी पर्वत, सीतापुर, हनुमानधारा, कामतानाथ मंदिर यहाँ के प्रमुख स्थल हैं। राम राजा की जय!’   मुख्यमंत्री ने अगले ट्वीट में लिखा है कि - ‘ओरछा में श्री रामराजा विराजते हैं,ये ही राजा हैं प्रदेश के। चार और पांच अगस्त को रामराजा मंदिर को विशेष रूप से सजाया जायेगा और पुजारीगण द्वारा विशेष पूजा-अर्चना की जायेगी। कोरोना संक्रमण न फैले, इसके लिए सभी ओरछावासी घर पर ही रहकर रामराजा की आराधना कर दीपोत्सव मनाएं।’

Dakhal News

Dakhal News 3 August 2020


bhopal, Former minister Singhar, targets party leaders ,pretext of Eid

भोपाल। मध्यप्रदेश की पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार ने ईद के बहाने अपनी पार्टी के नेताओं पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि कुछ लोग अपने स्वार्थों के लिए पार्टी देश की सबसे पुरानी पार्टी को कुर्बान करने पर तुले हैं।कांग्रेस विधायक सिंघार ने ईद के मौके पर ट्वीट के माध्यम से सभी की मुबारकबाद देते हुए लिखा है कि -‘ भारत के स्वतंत्रता संग्राम से लेकर आज तक कांग्रेस में अनेक नेताओं, कार्यकर्ताओं एवं नेहरू गांधी परिवार का कुर्बानी का इतिहास रहा है, लेकिन कुछ लोग अपने स्वार्थ के लिए युवा नेतृत्व एवं देश की सबसे पुरानी पार्टी को कुर्बान करने पर लगे हैं। ईद मुबारक।’

Dakhal News

Dakhal News 1 August 2020


bhopal, Fear of Corona, Minister Gopal Bhargava, not be present, direct meeting

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, तीन मंत्री, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत समेत भाजपा के 10 से अधिक विधायक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री सिवराज सिंह चौहान ने सभी मंत्रियों-विधायकों को आगामी 14 अगस्त तक सार्वजनिक कार्यक्रमों में शामिल नहीं होने की हिदायत दी है। इसी के चलते अब मंत्री गोपाल भार्गव ने सीदी मुलाकात में उपस्थित नहीं होने की बात कही है।उन्होंने शनिवार सुबह ट्वीट किया है कि -‘आम जनता के हित में लिए गए इस निर्णय के परिपालन में आगामी 14 अगस्त तक मैं आप सभी से सीधी मुलाकात के लिए उपस्थित नहीं रह सकूंगा। लेकिन आपकी किसी भी प्रकार की तात्कालिक एवं अत्यधिक महत्व की सहायता के लिए मैं अपने मोबाइल नंबर 94251-71242 पर उपलब्ध रहूंगा। मेरा आप सभी से अनुरोध है कि बहुत आवश्यक होने पर ही मुझे कॉल करें, जिससे अधिकतम लोगों से संपर्क एवं उनकी मदद हो सके।’

Dakhal News

Dakhal News 1 August 2020


indore, 50 percent wards , Municipal Corporation, reserved for women

इंदौर। मध्यप्रदेश नगर पालिका अधिनियम के अंतर्गत इंदौर नगर निगम के वार्डों के आरक्षण की कार्यवाही शुक्रवार को देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के खंडवा रोड़ स्थित सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। इस दौरान 50 फीसदी वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित किये गये।कार्यवाही के दौरान कलेक्टर मनीष सिंह, अपर कलेक्टर डॉ. अभय बेड़ेकर, नगर निगम के अपर आयुक्त श्रृंगार श्रीवास्तव, उप जिला निर्वाचन अधिकारी सोहन कनाश, मुख्य प्रशिक्षक आरके पाण्डे तथा परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकास अभिकरण प्रवीण उपाध्याय सहित अन्य अधिकारी और जन प्रतिनिधि मौजूद थे।कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि इंदौर नगर निगम में फिलाह 85 वार्ड हैं, जिनके लिए शुक्रवार को आरक्षण की कार्रवाई की गई। नगर निगम क्षेत्र में 85 वार्डों में से 50 प्रतिशत वार्ड महिलाओं के लिये आरक्षित किये गये है। इसी तरह  नियमानुसार अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जन जाति के लिये वार्ड आरक्षित किये गये।

Dakhal News

Dakhal News 31 July 2020


bhopal, Former CM, Kamal Nath ,welcomed construction,Ram temple, Ayodhya

भोपाल। भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या में आगामी पांच मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में भव्य राम मंदिर निर्माण की आधारशिला रखी जाएगी। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का स्वागत किया है।पूर्व सीएम कमलनाथ ने शुक्रवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि -‘मै अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का स्वागत करता हूँ। देशवासियों को इसकी बहुत दिनों से अपेक्षा और आकांक्षा थी। राम मंदिर का निर्माण हर भारतवासी की सहमति से हो रहा है, यह सिर्फ भारत में ही संभव है। जय श्री राम।’

Dakhal News

Dakhal News 31 July 2020


bhopal, Build , infusion center ,other smart cities, Minister Singh

भोपाल। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि भोपाल स्मार्ट सिटी में जैसा इंक्यूवेशन सेंटर बना है, उसी तरह अन्य स्मार्ट सिटी में भी बनायें। यह बात मंत्री सिंह ने गुरूवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भोपाल, इंदौर और ग्वालियर स्मार्ट सिटी के कार्यों की समीक्षा करते हुए कही।   सिंह ने कहा कि स्मार्ट सिटी क्षेत्र में ग्रीनरी पर विशेष ध्यान दें। निर्धारित गाइड-लाइन के अनुसार 17 प्रतिशत से कम ग्रीन बेल्ट नहीं होना चाहिए। सिंह ने कहा कि कामर्शियल कॉम्पलेक्स अथवा दुकानें स्मार्ट सिटी कंपनी द्वारा नहीं बनायी जायें। स्मार्ट सिटी मूलभूत सुविधाओं के विकास के कार्य करें।   बनायें स्वयं के वित्तीय संसाधन नगरीय विकास एवं आवास मंत्री सिंह ने कहा कि स्मार्ट सिटी स्वयं के वित्तीय संसाधन बनायें। उन्होंने कहा कि स्वयं के वित्तीय संसाधनों से ही स्मार्ट सिटी का विकास करें। बैठक में नगर निगम भोपाल कमिश्नर ने बताया कि भोपाल स्मार्ट सिटी क्षेत्र में लगभग 100 एकड़ जमीन बेचकर 1500 करोड़ रूपये की आय अर्जित की जायेगी। इस राशि से विभिन्न क्षेत्रों में 23 प्रोजेक्ट पूरे किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में 2000 शासकीय आवासों के निर्माण का कार्य चल रहा है। इनमें से 700 आवास लगभग पूर्णता की ओर हैं। मंत्री सिंह ने कहा कि आर्क ब्रिज और स्मार्ट सिटी रोड का कार्य जल्द पूरा किया जाए।   कमिश्नर करेंगे ग्वालियर स्मार्ट सिटी के कार्यों का निरीक्षण नगरीय विकास एवं आवास मंत्री ने कहा कि कमिश्नर नगरीय प्रशासन एवं विकास ग्वालियर जाकर स्मार्ट सिटी के कार्यों का निरीक्षण करें। उन्होंने कहा कि ग्वालियर स्मार्ट सिटी के कार्यों में तेजी लायें। सिंह ने कहा कि सभी प्रोजेक्ट समय-सीमा में पूरा करें।   इंदौर स्मार्ट सिटी के कार्यों की सराहना सिंह ने इंदौर स्मार्ट सिटी में कराये गये कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि इंदौर जैसा कार्य अन्य स्मार्ट सिटियों में भी होना चाहिए। बैठक में स्मार्ट सिटी भोपाल, इंदौर और ग्वालियर के सीईओ ने किये जा रहे कार्यों और आगामी प्रोजेक्ट की जानकारी दी। उन्होंने राजस्व जनरेट करने के उपायों के बारे में भी बताया।   बैठक में प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन और विकास नीतेश व्यास, आयुक्त नगरीय प्रशासन और विकास निकुंज कुमार श्रीवास्तव, सीईओ स्मार्ट सिटी भोपाल आदित्य सिंह एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 30 July 2020


bhopal, Former leaders , BJP leaders, violated guidelines , corona

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं। यहां सरकार के साथ भाजपा संगठन भी कोरोना संक्रमण की चपेट में है। सीएम शिवराज के साथ उनके तीन मंत्री और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत सभी कोरोना पॉजिटिव है और इनका उपचार जारी है। भाजपा नेताओं में कोरोना संक्रमण फैलने पर पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने बयान दिया है।   उन्होंने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि भाजपा ने कोरोना गाइडलाइंस का उलंघन किया, इसलिए भाजपा के सभी बड़ी नेता संक्रमित हुए और प्रदेश भर में संक्रमण फैला। उपचुनाव को लेकर तैयारियों पर पीसी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस वर्चुअल रूप से नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ लगातार बैठककर रहे हैं। बिकाऊ नहीं टिकाऊ चाहिए लिखे मास्क के जरिये कांग्रेस का मास्क कैंपेन शुरू हुआ है।   शिवराज सरकार द्वारा भोपाल मास्टर प्लान को रद्द करने पर पीसी शर्मा ने कहा कि जनता की सलाह से एक्सस्पर्ट के द्वारा प्लान बनाया गया था। मास्टर प्लान बहुत अच्छा था, प्लान रद्द करने की जितनी निंदा की जाए कम है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा इतने सालों से मास्टर प्लान नहीं बना पाई। भाजपा अपने फायदे के लिए बड़े स्तर पर हेराफेरी करना चाहती है। वहीं लक्षमण सिंह के ट्वीट पर कहा उन्होंने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा सेवा की रही है, कांग्रेस नेता सेवा की भावना से ही काम करते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 July 2020


bhopal, two ministers, Organization General Secretary, Corona infected

भोपाल। मप्र में सरकार और भाजपा संगठन कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद अब भाजपा संगठन महामंत्री सुहास भगत, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट और उनकी पत्नी और राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसके अलावा भाजपा के संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी, पूर्व विधायक रघुराज सिंह कंसाना और विधायक गिरीश गौतम की पत्नी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।   भाजपा संगठन महामंत्री सुहास भगत की दूसरी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उनकी पहली रिपोर्ट निगेटिव आई थी। स्वर्गीय लालजी टंडन के निधन में लखनऊ जाने वाले नेताओं में कोरोना संक्रमित होने वाले सुहास भगत तीसरे व्यक्ति है। सबसे पहले मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया कोरोना पॉजिटिव मिले थे। उसके बाद सीएम शिवराज में भी कोरोना की पुष्टि हुई थी। अब केवल भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ही निगेटिव हैं। उनकी दूसरी जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है।   मंत्रीमंडल के दो मंत्री भी कोरोना पॉजिटिवइसके अलावा शिवराज मंत्रिमंडल में सहाकरिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया के बाद अब जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट के साथ उनकी पत्नी और राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। मंत्री रामखेलावन सतना अमरपाटन से विधायक हैं और फिलहाल वे भोपाल में नवीन पारिवारिक परिसर स्थित एमएलए रेस्ट हाउस में रहते हैं। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है, वहीं उनके परिवार और स्टॉफ के भी सैंपल लिए गए हैं। वहीं सिलावट सांवेर विधानसभा उपचुनाव के लिए कई दिनों से गांव-गांव जाकर जनसंपर्क कर रहे हैं। चार-पांच दिन में ही वे करीब साढ़े तीन हजार लोगों से मिल चुके हैं। शिवराज के साथ उनकी टीम के दो मंत्रियों के पॉजिटिव आने के बाद अब बाकी मंत्रियों में भी संक्रमण होने संभावनाएं होने की अटकलें हैं। बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने भी सेंपल दिया है।

Dakhal News

Dakhal News 29 July 2020


bhopal, Bhopal market opens, fake message, former mayor

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 10 दिन का लॉकडाउन किया गया है। बुधवार को लॉकडाउन का पांचवां दिन है और आगामी तीन अगस्त तक यहां के बाजार पूरी तरह बंद रहेंगे। इस 10 दिन के लॉकडाउन के बीच सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें कहा जा रहा है कि भोपाल में 30 जुलाई से 4 अगस्त तक बाजार खुल जाएंगे। पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने अपने नाम से चल रहे इस मैसेज को फर्जी बताया है।उन्होंने बुधवार को सुबह सोशल मीडिया के माध्यम से इस फर्जी मैसेज को पोस्ट किया है, साथ ही कहा कि मैंने इस तरह का कोई बयान जारी नहीं किया है। उन्होंने इस मामले में पुलिस से भी शिकायत कर दी है। जल्द ही ऐसे भ्रामक संदेश जारी करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। आलोश शर्मा के नाम से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह फर्जी मैसेज...भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने कहा कि आज हुई आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि 30 जुलाई से 4 अगस्त तक भोपाल शहर के सभी बाजारों को पूरी तरह से खोला जाएगा। आपदा प्रबंधन समूह ने अपील की है कि इस दौरान जो भी व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर शुगर आदि गंभीर बीमारियों के मरीज हैं, वह संभव हो तो बाहर ना निकलें। शर्मा ने कहा कि शहर के विभिन्न बाजारों के संगठनों ने स्वयं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने और खरीददारों को मास्क लगवाने की जवाबदारी ली है। व्यापारियों से कहा गया है कि जो लोग बिना मास्क के सामान खरीदने आएं उन्हें बिल्कुल सामान नहीं दिया जाए। शर्मा ने कहा कि अब भोपाल की जनता को अपनी जवाबदारी निभाना है कि वह इस काल में कितनी सतर्कता रख सकते है।पूर्व महापौर ने दी सफाईपूर्व महापौर आलोक शर्मा ने बुधवार को इस मैसेज को लेकर अपनी ओर से सफाई पेश की है। उन्होंने कहा है कि उनके हवाले से सोशल मीडिया में प्रसारित 30 जुलाई से बाजार खुलने की खबर पूर्णत: भ्रामक और असत्य है। किसी शरारती तत्व द्वारा इस खबर को चलाया गया है। जिसकी संबधित थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है।

Dakhal News

Dakhal News 29 July 2020


bhopal, Bhopal market opens, fake message, former mayor

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 10 दिन का लॉकडाउन किया गया है। बुधवार को लॉकडाउन का पांचवां दिन है और आगामी तीन अगस्त तक यहां के बाजार पूरी तरह बंद रहेंगे। इस 10 दिन के लॉकडाउन के बीच सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें कहा जा रहा है कि भोपाल में 30 जुलाई से 4 अगस्त तक बाजार खुल जाएंगे। पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने अपने नाम से चल रहे इस मैसेज को फर्जी बताया है।उन्होंने बुधवार को सुबह सोशल मीडिया के माध्यम से इस फर्जी मैसेज को पोस्ट किया है, साथ ही कहा कि मैंने इस तरह का कोई बयान जारी नहीं किया है। उन्होंने इस मामले में पुलिस से भी शिकायत कर दी है। जल्द ही ऐसे भ्रामक संदेश जारी करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। आलोश शर्मा के नाम से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह फर्जी मैसेज...भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने कहा कि आज हुई आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि 30 जुलाई से 4 अगस्त तक भोपाल शहर के सभी बाजारों को पूरी तरह से खोला जाएगा। आपदा प्रबंधन समूह ने अपील की है कि इस दौरान जो भी व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर शुगर आदि गंभीर बीमारियों के मरीज हैं, वह संभव हो तो बाहर ना निकलें। शर्मा ने कहा कि शहर के विभिन्न बाजारों के संगठनों ने स्वयं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने और खरीददारों को मास्क लगवाने की जवाबदारी ली है। व्यापारियों से कहा गया है कि जो लोग बिना मास्क के सामान खरीदने आएं उन्हें बिल्कुल सामान नहीं दिया जाए। शर्मा ने कहा कि अब भोपाल की जनता को अपनी जवाबदारी निभाना है कि वह इस काल में कितनी सतर्कता रख सकते है।पूर्व महापौर ने दी सफाईपूर्व महापौर आलोक शर्मा ने बुधवार को इस मैसेज को लेकर अपनी ओर से सफाई पेश की है। उन्होंने कहा है कि उनके हवाले से सोशल मीडिया में प्रसारित 30 जुलाई से बाजार खुलने की खबर पूर्णत: भ्रामक और असत्य है। किसी शरारती तत्व द्वारा इस खबर को चलाया गया है। जिसकी संबधित थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है।

Dakhal News

Dakhal News 29 July 2020


bhopal, Home Minister ,Dr. Mishra , build multi-storey ,residential complex, police personnel

भोपाल। प्रदेश के गृह, जेल, विधि विधायी और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि पुलिस कर्मचारियों की आवासीय समस्या का जल्द ही हल निकाला जाएगा। उन्होंने मंगलवार को हुई एक बैठक में मध्यप्रदेश पुलिस हाउसिंग बोर्ड के महानिदेशक अजय शर्मा को पुलिस कर्मचारियों के लिये बहुमंजिला आवासीय परिसरों के निर्माण की कार्ययोजना को शीघ्र मूर्त रूप देने के निर्देश दिए।गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि छोटे और मध्यम जिलों में अराजपत्रित अधिकारी और कर्मचारियों को आवास संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उनकी आवास संबंधी समस्याओं का निराकरण बहुमंजिला आवासीय परिसरों के निर्माण से हो जाएगा। प्रदेश सरकार प्राथमिकता के आधार पर छोटे जिलों में इन सर्वसुविधा युक्त आवासीय परिसरों का निर्माण करेगी। इसमें लिफ्ट का प्रावधान भी होगा। सामूदायिक भवन का निर्माण भी होगा, जिसमें सांस्कृतिक गतिविधियां भी हो सकेगी। बैठक में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (योजना) अनिल कुमार भी मौजूद थे।

Dakhal News

Dakhal News 28 July 2020


bhopal, Second report, agriculture minister , BJP state president, negative

भोपाल। मध्यप्रदेश में इन दिनों पूरी सरकार घरेलू एकांतवास में चल रही है। मंत्री और विधायक भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से खुद को नहीं बचा पाए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कोरोना संक्रमित होने के बाद उनके संपर्क में आए सभी नेता और मंत्री कोरोना जांच करवा रहे हैं। प्रदेश के वन मंत्री विजय शाह, कृषि मंत्री कमल पटेल और प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा की दूसरी रिपोर्ट भी कोरोना निगेटिव आई है। इससे पहले इन सभी की पहली रिपोर्ट भी निगेटिव आई थी।   हालांकि, कृषि मंत्री कमल पटेल के ओएसडी और स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के पीए की कोरोना रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इन सभी लोगों की कोविड-19 जांच सीएम शिवराज सिंह की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कराई गई थी। इसके अलावा पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया के स्टाफ में पदस्थ 4 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसलिए एहतियात के तौर पर संपर्क में आए अन्य कर्मचारियों को क्वॉरंटीन कर दिया गया है। कर्मचारियों के कोरोना पाजिटिव आने के बाद मंत्रियों और नेताओं ने भी खुद को क्वारंटाइन कर लिया है और अपनी जांच करवा रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 28 July 2020


bhopal, Now Jeetu Patwari, supporters took over, lion came, trending ,social media

भोपाल। मध्यप्रदेश में ‘टाइगर’ पर सियासत के बाद अब शेर आया..शेर आया के नारों के साथ जीतू पटवारी के समर्थकों ने सोशल मीडिया को पोस्टरों से पाट दिया है। जयवर्धन की होर्डिंग और नकुल नाथ के ट्रेंड के बाद अब जीतू पटवारी के समर्थक मैदान में आ गए और युवा कांग्रेसियों ने कुछ नारों के साथ जीतू पटवारी को ट्विटर पर नम्बर दो पर ट्रेंड करा दिया। दरअसल इन दिनों प्रदेश कांग्रेस का नेतृत्व युवा हाथों में सौंपने की चर्चा तेजी से चल रही है। ऐसे में पहले दो पूर्व मुख्यमंत्रियों के पुत्रों के नाम आगे आ चुके हैं। पहले दिग्विजय सिंह के विधायक बेटे और पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह और उसके बाद पूर्व सीएम कमलनाथ के सांसद बेटे नकुलनाथ को प्रदेश की कमान संभालने की समर्थक मांग कर चुके हैं। लेकिन अब परिवारवाद कोरोना से बड़ी बीमारी, अबकी बार जीतू पटवारी जैसे नारों के साथ पटवारी समर्थकों ने राहुल गांधी से गुहार लगायी कि उन्हें पूर्णकालिक अध्यक्ष घोषित किया जाए और वही प्रदेश का नेतृत्व करें। जयवर्धन को ‘भावी मुख्यमंत्री’ बताए जाने के बाद से गरमायी सियासत, नकुल नाथ के ‘मैं करूँगा नेतृत्व’ के बाद अब और गरमा गयी है। ग़ौरतलब है कि नकुल नाथ ने अपने बयान में जीतू पटवारी का भी नाम लिया था जिससे उनके प्रशंसकों में रोष है। ऐसे में सोशल मीडिया पर पटवारी समर्थकों के कुछ नारे ट्रेंड कर रहे हैं, जिन पर विशेष ध्यान जाएगा वो हैं: - ना राजा, ना व्यापारी..अबकी बार जीतू पटवारी। - युवा कांग्रेस का आह्वान, जीतू पटवारी संभालों कमान। बीते कुछ दिनों से चल रहे घटनाक्रम से एक बात तो साफ हो गयी है कि मध्यप्रदेश कांग्रेस में अब 2023 की लड़ाई चल रही है। जिसके बाद इस घटनाक्रम ने भाजपा को एक बार फिर से चुटकी लेने का मौक़ा दे दिया है।

Dakhal News

Dakhal News 27 July 2020


bhopal, CM Shivraj ,former CM Kamal Nath ,congratulated students

भोपाल। मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (एमपी बोड) द्वारा सोमवार को दोपहर तीन बजे हायर सेकेण्डरी स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा, हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक पाठ्यक्रम एवं हायर सेकेण्डरी अंध-मूक-बधिर श्रेणी परीक्षा वर्ष 2020 के परीक्षा परिणाम घोषित किये गए। इस बार 12वीं का परीक्षा परिणाम 68.81 फीसदी रहा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने एमपी बोर्ड की 12वीं परीक्षा में उत्तीर्ण हुए विद्यार्थियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद ट्वीट के माध्यम से कहा है कि -‘एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले सभी भांजे-भांजियों को हार्दिक बधाई। मेरे बच्चों, तुम्हारी मेहनत का यह सुखद परिणाम है। उज्ज्वल भविष्य के लिए सतत श्रम करते रहो। शिक्षा से ही तुम्हारे सपने साकार होंगे। तुम सफल हो, आगे बढ़ो, मेरी शुभकामनाएं तुम्हारे साथ हैं।’वहीं, पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि -‘एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा के आज घोषित हुए परिणाम में सभी सफल विद्यार्थियों को बहुत- बहुत बधाई। सभी के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं। जो विद्यार्थी सफल नहीं हो पाये हैं, वो निराश न हो और हार न माने। जिंदगी में कई अवसर आयेंगे। प्रयास करते रहिये, निश्चित सफल होंगे।’

Dakhal News

Dakhal News 27 July 2020


bhopal, Compassionate appointment, Corona warrior daughter, Minister Imrati Devi

भोपाल। मध्यप्रदेश में गत दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दो कोरोना योद्धा पुलिसकर्मियों के परिजनो को पुलिस विभाग में अनुकम्पा नियुक्त के प्रमाण पत्र सौंपे थे। इसी क्रम में एक और कोरोना योद्धा के परिजन को अनुकम्पा नियुक्ति दी गई है। प्रदेश की महिला-बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने शनिवार को ग्वालियर में ऑगनवाड़ी कार्यकर्ता स्वर्गीय हेमलता वर्मा की पुत्री प्रीति वर्मा को ऑगनवाड़ी कार्यकर्ता के पद पर अनुकंपा नियुक्ति पत्र प्रदान किया। यह सम्भवत: देश का पहला मामला है, जहां राष्ट्रीय-राज्य स्तरीय आपदा में ऑगनवाड़ी कार्यकर्ता की कार्य के दौरान मृत्यु होने पर उसके परिवार की महिला सदस्य को अनुकम्पा नियुक्ति दी गई है।इस अवसर पर मंत्री इमरती देवी ने कहा कि शासन ने इस दुख की घड़ी में हर संभव सहायता पहुंचाने का प्रयास किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गत दिनों ग्वालियर प्रवास के दौरान 50 लाख रुपये की सहायता राशि स्वर्गीय हेमलता वर्मा की पुत्री प्रीति वर्मा को सौंपी थी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में सर्वव्यापी महामारी कोविड- 19 में ऑगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका भी कोरोना योद्धा के रूप में कार्य कर रही हैं। अत: यह निर्णय लिया गया है कि इस दौरान कर्तव्य पालन करते हुए दिवंगत होने पर तथा भविष्य में भी राष्ट्रीय-राज्य स्तरीय आपदा घोषित होने पर अगर इनकी ड्यूटी लगाई जाती है और इस दौरान उनकी मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार की ऐसी महिला सदस्य जो निर्धारित अर्हताएं पूर्ण करती है, उसे महिला-बाल विकास परियोजना अधिकारी द्वारा सीधे नियुक्त किया जायेगा।मंत्री इमरती देवी ने प्रीति को निष्ठा और ईमानदारी के साथ अपनी सेवाएँ देने की बात कही। उल्लेखनीय है कि ऑगनवाड़ी कार्यकर्ता हेमलता वर्मा की कोरोना सर्वे की ड्यूटी के दौरान संक्रमित हो जाने पर 28 जून को सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल ग्वालियर में मृत्यु हो गई थी।

Dakhal News

Dakhal News 25 July 2020


bhopal, Arun Yadav ,conferred, title of Nagraj, Scindia , congratulations , Nagpanchami

भोपाल। नागपंचमी पर्व के मौके पर राजनेता प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं देते हुए उन्नति प्रगति की कामना कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण यादव का ट्वीट चर्चा में है। दरअसल नागपंचमी के मौके पर अरुण यादव ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की तस्वीर शेयर कर नागपंचमी की शुभकामाएं दी है। इतना ही नहीं अरुण यादव के ट्वीट कर रिट्वीट कर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी अपनी भड़ास निकाली है।   अरुण यादव ने कमलनाथ सरकार गिराकर भाजपा में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को नागराज की उपाधि दी है। शनिवार सुबह सिंधिया की तस्वीर ट्वीट कर अरुण यादव ने लोगों को नागपंचमी की शुभकामनाएं दी। वहीं, इस तस्वीर पर लोगों ने तरह-तरह की प्रतिक्रिया दी। इतना ही नहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अरुण यादव के ट्वीट को रिट्वीट कर समर्थन दिया है। राहुल ने कहा ‘सांप को जितना दूध पिलाओं, किसी एक दिन फर मारेगा ही। हालांकि इस ट्वीट पर अब तक सिंधिया की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है लेकिन सिंधिया समर्थक और कांग्रेस समर्थक सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को लेकर आपस में भिड़ गए और आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 25 July 2020


bhopal, atmosphere ,apprehension among ,BJP leaders , Chief Minister, turns positive

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के कोरोना पॉजीटिव पाए जाने के बाद प्रदेश भाजपा के नेताओं में आशंका का माहौल है। वहीं, कानाफूसी का दौर भी जारी है। इसकी वजह यह है कि परसों रात्रि में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान प्रदेश भाजपा कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में उपस्थित थे, जिसमें पार्टी के नेता और कई मीडियाकर्मी उपस्थित थे।   मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने ट्वीट करके अपने संक्रमित पाए जाने की जानकारी दी है, वहीं संपर्क में आए लोगों से टेस्ट कराने और क्वारेंटाइन रहने की अपील भी की है। ऐसे में मुख्यमंत्री के संक्रमित पाए जाने के बाद गुरुवार रात्रि को प्रदेश भाजपा कार्यालय में मौजूद लोग भी आशंकित हो गए हैं।   मुख्यमंत्री ने गुरुवार रात्रि को मांधाता के पूर्व विधायक नारायण पटेल को भाजपा की सदस्यता दिलाई थी। इस कार्यक्रम में उनके साथ प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर, अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष गजेंद्रसिंह पटेल, सह कार्यालय मंत्री राजेंद्रसिंह समेत अनेक कार्यकर्ता और मीडियाकर्मी उपस्थित थे। हालांकि शुक्रवार शाम को आई रिपोर्ट में प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा एवं संगठन महामंत्री सुहास भगत को नेगेटिव पाया गया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान हाल ही में राज्यपाल स्व. लालजी टंडन के अंतिम संस्कार में भाग लेने लखनऊ गए थे। उनके साथ मंत्री अरविंद भदौरिया, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा एवं संगठन महामंत्री सुहास भगत भी थे। इनमें से मंत्री अरविंद भदौरिया को पहले ही पॉजीटिव पाया जा चुका है। जिसके बाद अब मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान पॉजीटिव पाए गए हैं।

Dakhal News

Dakhal News 25 July 2020


bhopal, former minister ,government besieged , electricity bill

भोपाल। कोरोना काल में भी बिजली कंपनियों द्वारा अधिक बिजली बिल की वसूली पर कांग्रेस ने सरकार का घेराव किया है। शुक्रवार को पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक पीसी शर्मा ने पत्रकार वार्ता कर सरकार के कोरोना काल के बिजली बिल माफ करने की मांग की है। इस दौरान उन्होंने सरकार पर जमकर निशाना भी साधा।   बढ़े हुए बिजली के दामों को लेकर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने शुक्रवार को अपने निवास पर एक पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पूर्व सीएम कमलनाथ ने शपथ लेते ही दो फाइलों पर हस्ताक्षर किए थे। जिसमें पहला कर्जमाफी औऱ दूसरा 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली का वादा था। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि पूर्व में सम्बल योजना का विरोध करने वाले मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया को आज संबल योजना बढिय़ा लग रही है। भाजपा घोषणा तो कर देती है लेकिन उन पर अमल नहीं करती। पीसी शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि स्लम एरिया में रहने वाले लोगों के यहां बिजली बिल एक लाख, 75 हजार और 50 हजार तक आ रहे हैं। स्लम एरिया में रहने वाला इतनी बिजली कभी नहीं जला जा सकता है। तमाम तरह के टैक्स बिजली बिल में लगाये जा रहे हैं।   पूर्व मंत्री ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि बिल भी आधे किये जाने की घोषणा की गई थी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। इसलिए कांग्रेस की सरकार से मांग है कि गरीबों के लाखों - हजारों के बिल माफ हो और सभी से 200 रुपये बिजली का बिल लिया जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना काल मे छोटे उद्योग बंद रहे फिर भी व्यापारियों से लाखों रुपये के बिजली बिल वसूले जा रहे हैं, जोकि गलत है। सरकार पर हमला बोलते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि गाँवो में बिजली बिल की वसूली के लिए मोटरसाइकिल - टैक्टर पर नोटिस चस्पा किये जा रहे हैं। भाजपा सबका साथ सबका विकास की बात करती थी, लेकिन भाजपा ने सबका सत्यानाश कर दिया है।

Dakhal News

Dakhal News 24 July 2020


bhopal, former minister ,government besieged , electricity bill

भोपाल। कोरोना काल में भी बिजली कंपनियों द्वारा अधिक बिजली बिल की वसूली पर कांग्रेस ने सरकार का घेराव किया है। शुक्रवार को पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक पीसी शर्मा ने पत्रकार वार्ता कर सरकार के कोरोना काल के बिजली बिल माफ करने की मांग की है। इस दौरान उन्होंने सरकार पर जमकर निशाना भी साधा।   बढ़े हुए बिजली के दामों को लेकर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने शुक्रवार को अपने निवास पर एक पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पूर्व सीएम कमलनाथ ने शपथ लेते ही दो फाइलों पर हस्ताक्षर किए थे। जिसमें पहला कर्जमाफी औऱ दूसरा 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली का वादा था। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि पूर्व में सम्बल योजना का विरोध करने वाले मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया को आज संबल योजना बढिय़ा लग रही है। भाजपा घोषणा तो कर देती है लेकिन उन पर अमल नहीं करती। पीसी शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि स्लम एरिया में रहने वाले लोगों के यहां बिजली बिल एक लाख, 75 हजार और 50 हजार तक आ रहे हैं। स्लम एरिया में रहने वाला इतनी बिजली कभी नहीं जला जा सकता है। तमाम तरह के टैक्स बिजली बिल में लगाये जा रहे हैं।   पूर्व मंत्री ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि बिल भी आधे किये जाने की घोषणा की गई थी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। इसलिए कांग्रेस की सरकार से मांग है कि गरीबों के लाखों - हजारों के बिल माफ हो और सभी से 200 रुपये बिजली का बिल लिया जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना काल मे छोटे उद्योग बंद रहे फिर भी व्यापारियों से लाखों रुपये के बिजली बिल वसूले जा रहे हैं, जोकि गलत है। सरकार पर हमला बोलते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि गाँवो में बिजली बिल की वसूली के लिए मोटरसाइकिल - टैक्टर पर नोटिस चस्पा किये जा रहे हैं। भाजपा सबका साथ सबका विकास की बात करती थी, लेकिन भाजपा ने सबका सत्यानाश कर दिया है।

Dakhal News

Dakhal News 24 July 2020


bhind, Computer Baba, journey, democracy starts, expose face

भिंड। मध्यप्रदेश की पूर्ववर्ती कमलनाथ शासित कांग्रेस सरकार के दौरान महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाने वाले नदी न्यास बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष कम्प्यूटर बाबा ने लोकतंत्र बचाओं यात्रा शुरू कर दी है। इस दौरान कम्प्यूटर बाबा प्रदेश की उन सभी 26 विधानसभा सीटों पर जाऐंगे जहां उपचुनाव होना है और कांग्रेस छोडक़र भाजपा में शामिल होने वाले विधायकों का चेहरा बेनकाब करेंगे।   कम्प्यूटर बाबा शुक्रवार को लोकतंत्र बचाओं यात्रा में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने भाजपा सरकार पर कांग्रेस विधायकों के खरीद फरोख्त का आरोप लगाया है और लोकतंत्र का हत्यारा करार दिया है। उन्होंने कहा कि अब लड़ाई धर्म की रक्षा की है, एक तरफ धर्म है दूसरी तरफ अधर्म है। साथ ही उन्होंने बताया कि वे 3 अगस्त से 25 विधानसभा में चौपाल लगायेंगे और कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने वाले 25 विधायकों का चेहरा बेनकाब करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 24 July 2020


annupur, IITT strategy ,effective MP, corona control

अनूपपुर। पुष्पराजगढ़ में बढ़ते कोरोना संक्रमितों को दृष्टिगत रखते हुए स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों एवं स्वास्थ्य अमले को युद्धस्तर पर प्रयास कर संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए आईआईटीटी नीति पर कार्य करना होगा। संक्रमितों की शीघ्र पहचान, आइसोलेशन, जांच एवं सही समय में उपचार क्षेत्र की कोरोना से सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जरूरी है। शुक्रवार को सांसद हिमाद्रि सिंह ने सचिव खनिज विभाग एवं प्रभारी कोरोना नियंत्रण शहडोल संभाग सुखवीर सिंह से क्षेत्र में कोरोना संक्रमण की स्थिति,नियंत्रण की कार्ययोजना एवं तैयारियों के सम्बंध में चर्चा की।उन्होंने कहा कि क्षेत्र में संक्रमण की स्थिति वर्तमान में नियंत्रण में हैं, परंतु क्षमताओं में सतत रूप से वृद्धि आवश्यक है। अनूपपुर जिले में अब तक जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य, पुलिस एवं प्रशासन के सामंजस्य के साथ निरंतर कार्यवाही की जा रही है,जिससे कोरोना संकट को नियंत्रित रखने में जिला अब तक सफल रहा है। इस दौरान सांसद ने सचिव खनिज से अवैध उत्खनन एवं परिवहन पर कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित करने कीं बात कही। विशेषकर पुष्पराजगढ़ अंचल की प्राकृतिक सुंदरता की सुरक्षा बनाए रखने के लिए कड़ी कार्यवाही आवश्यक है। राजेंद्रग्राम वन परिक्षेत्र में बैगा आदिवासियों से सम्बंधित प्रकरण पर राजस्व एवं वनविभाग द्वारा संयुक्त रूप से जांच करने के लिए कहा। जिस पर कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने कहा इस हेतु आवश्यक निर्देश दिए जा चुके हैं एवं नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। इस दौरान शहडोल संभागायुक्त संभाग नरेश पाल, सीईओ जिला पंचायत मिलिंद नागदेवे,एसडीएम पुष्पराजगढ़ विजय डहेरिया उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 24 July 2020


bhopal, Congress

भोपाल। मप्र की सत्ता में रहते हुए ट्रांसफर उद्योग चलाने का आरोप झेलने वाली कांग्रेस अब भाजपा पर ही उल्टा आरोप लगा रही है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में निरंतर बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों के पीछे सरकार का निरंतर चला " ट्रांसफर उद्योग " असली कारण है। नरेन्द्र सलूजा ने गुरुवार को जारी अपने एक बयान में कहा कि एक तरफ प्रदेश में कोरोना संक्रमण दस्तक दे रहा था, वही नई नवेली भाजपा सरकार ने आते ही इस महामारी में भी प्रदेश में प्रतिदिन ट्रांसफऱ उद्योग चलाया। इसका नुक़सान यह रहा कि महीनों से जिन जिलों मे जो अधिकारी पदस्थ थे, ठीक ढंग से काम कर रहे थे। उन्हें हटाकर एकदम से नये अधिकारी पदस्थ कर दिये गये। जिन्हें उन जिलों का जऱा भी अनुभव नहीं था। इससे इन जिलों में तेज़ी से कोरोना फैल गया, उस पर ये नये-नवेले अधिकारी नियंत्रण नहीं कर पाये। प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के पीछे यही असली कारण है। उन्होंने कहा कि 21 मार्च को प्रदेश में मात्र 4 कोरोना संक्रमण के केस सामने आये थे और आज प्रदेश में कोरोना संक्रमण का आँकड़ा बढक़र 25 हजार के करीब पहुँच चुका है और अभी तक इससे 770 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। सलूजा ने राजधानी में बढ़ रहे मामलों पर कहा कि प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण का आँकड़ा 5 हज़ार तक पहुँच चुका है और कऱीब 150 लोगों की अभी तक मृत्यु हो चुकी है। वही इंदौर में यह आँकड़ा 6500 पर पहुँच चुका है और अभी तक 300 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। प्रदेश के लगभग सभी जिले कोरोना की चपेट में आ चुके है और बड़ी संख्या में ग्रामीण इलाका भी इसकी चपेट में आता जा रहा है, प्रदेश में वापस लॉकडाउन की स्थिति बन गयी है। सीएम शिवराज पर निशाना साधते हुए सलूजा ने कहा कि शिवराज सरकार ने प्रशासनिक सर्जरी के नाम पर राजनैतिक दुर्भावनावश, योग्य अधिकारियों को जिलों से अकारण हटाकर प्रदेश को कोरोना की आग में झोंक दिया। पुराने पदस्थ अधिकारियों को हटाकर एकदम नए अधिकारियों को बैठा दिया गया, इन अधिकारियों को इन जिलों की समझ नहीं थी। लेकिन भाजपा सरकार के ट्रांसफर उद्योग ने इस महामारी में भी प्रदेश के कई जिलों में आईएएस और आईपीएस अधिकारियों को इधर से उधर कर दिया, जिसके कारण इन जिलों में कोरोना तेजी से फैल गया। उन्होंने कहा कि इसके लिये प्रमाण के तौर पर उन जिलों की स्थिति आज देखी जा सकती है, जिन जिलों में जिम्मेदारों को बदला गया और आज उन जिलों में कोरोना नियंत्रण से बाहर है और कोरोना के भयावह होते आँकड़ो को लेकर ये जिले आज प्रदेश के हॉट-स्पॉट बने हुए है। सलूजा ने आरोप लगाते हुए कहा कि जिन जिलों में कोरोना की स्थिति भयावह हो गई है, इसकी दोषी शिवराज सरकार है। जिसने आज प्रदेश को इस स्थिति में ला खड़ा कर दिया है। इसके लिये प्रदेश की जनता इन्हें कभी माफ़ नहीं करेगी। प्रदेश में वापस लॉक डाउन की दोषी शिवराज सरकार और उसका ट्रांसफऱ उद्योग है।

Dakhal News

Dakhal News 23 July 2020


bhopal, Home Minister , allegations, Congress MLA, politics is not good , every subject

भोपाल। राजधानी में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए सरकार ने समूचे भोपाल में 24 जुलाई से 10 दिनों के टोटल लॉकडाउन का ऐलान किया है। सरकार द्वारा त्यौहार पर 10 दिन का लॉकडाउन लगाए जाने पर कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने आपत्ति जताई है और सरकार को आंदोलन की चेतावनी दी है। वहीं कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के ईद मनाने की बात पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि हर विषय पर राजनीति करना ठीक नहीं है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि लोगों की हमारी जान पहली प्राथमिकता है, सरकार जो भी कर रही है जनता के लिए कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार निर्णय त्योहार और धर्म के आधार पर नहीं लेती, घर के अंदर त्यौहार मनाएं। लॉक डाउन के लिए विस्तृत गाइड लाइन कल ग्रह विभाग जारी करेगा। गृहमंत्री मिश्रा ने लोगों से सावधानी रखने की अपील करते हुए कहा कि हमारी पहली प्राथमिता लोगों का स्वास्थ्य है।   मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने साफ किया कि केवल भोपाल नहीं प्रदेश में कई जगह लॉकडाउन है। जाति और त्योहार देखकर बीमारी नहीं आती है, लॉकडाउन का ये फैसला सामान्य फैसला है। इसे त्योहार से जोडक़र ना देखा जाए। कांग्रेस के मतपत्र से चुनाव की मांग को उन्होंने हार के पहले की हताशा बताया है। मंत्री मिश्रा ने साफ किया कि मतपत्र से कोरोना फैलने का खतरा ज्यादा है। उन्होंने कहा कि एमपी में कोरोना का इलाज पूरा फ्री हैं, घबराएं नहीं, कोरोना की चेन तोडऩा बेहद ज़रूरी है, तभी हालात बहतर हो सकेंगे, समन्वय के लिए वे खुद धर्म गुरुओं से चर्चा करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 23 July 2020


bhopal, Congress MLA ,expresses displeasure ,over government ,putting lockdown

भोपाल। भोपाल में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने राजधानी में 24 जुलाई से आगामी 10 दिनों तक टोटल लॉकडाउन की घोषणा की है। लॉकडाउन अवधि के दौरान ही 1 अगस्त को बकरीद और 3 अगस्त को राखी का त्यौहार है। ऐसे में लॉकडाउन के चलते लोगों को दोनों ही त्यौहार अपने घरों में मनाना पड़ेगा। हालांकि त्यौहार के दौरान राजधानी में 10 दिन के लॉक डाउन पर कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने नाराजगी जताई है और सरकार के खिलाफ सडक़ पर उतर कर आंदोलन की चेतावनी दी है।   राजधानी में त्यौहार के समय 10 दिन का लॉकडसउन लगाए जाने पर कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि कोरोना का डर दिखाकर बेवजह त्योहारों पर लॉकडाउन लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार बकरीद और रक्षाबंधन जैसे प्रमुख त्योहारों के मौके पर लॉकडाउन लगा रही है,जो सही नहीं है। आरिफ मसूद ने सरकार को चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि सरकार लॉकडाउन का फैसला वापस ले, अन्यथा वे सडक़ पर उतरकर विरोध जताएंगे। गौरतलब है कि इससे पहले भी कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से मिलकर बकरीद पर रियायत की अपील की थी। जिस पर गृहमंत्री ने उन्हें सहयोग का आश्वासन दिया था।

Dakhal News

Dakhal News 23 July 2020


bhopal,Total lockdown, 10 days , July 24

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राजधानी भोपाल में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। शासन-प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद यहां संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। जिसके चलते राजधानी के चिन्हित क्षेत्रों को बुधवार से टोटल लॉकडाउन शुरू हो गया, जो आगामी 26 जुलाई तक रहेगा। वहीं अब बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। भोपाल में शुक्रवार से 10 दिन का लॉकडाउन लगाया जा रहा है। कोरोना की समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस बात के निर्देश दिए है। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने राजधानी में लॉक डाउन को लेकर जानकारी देते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि 24 जुलाई की रात 8 बजे से राजधानी में 10 दिन तक लॉक डाउन रहेगा। इस दौरान मेडिकल सेवा, दूध की दुकान, सरकारी राशन की दुकान, सब्जी के ठेले और इंडस्ट्री खुली रहेंगी। उन्होंने कहा कि जो भोपाल के बाहर हैं वो लॉकडाउन के पहले वापस आ सकते हैं। 24 जुलाई शुक्रवार रात आठ बजे से 10 दिन के लिए पूरा भोपाल लॉक डाउन रहेगा। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सभी सरकारी राशन की दुकानों के संचालकों से कहा है कि वह 23 और 24 जुलाई को 2 दिन में राशन बांट दें। भोपाल आना और जाना दोनों प्रतिबंधित रहेगा, आवागमन के लिए पूर्व की तरह ही पास जारी किए जाएंगे। गृहमंत्री ने लोगों से अपील की है कि अगले दो दिनों में जो भी जरुरत का सामान हो वह खरीद कर रख लें। सरकार की अगली कैबिनेट की बैठक भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से होगी। सीएम ने ट्वीट कर की अपीलवहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लॉकडाउन की जानकारी साझा करते हुए लोगों से सावधानी बरतने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा भोपाल में कोविड 19 संक्रमण की स्थिति और नागरिकों के हित को देखते हुए हमने 24 जुलाई रात 8 बजे से 10 दिन तक लॉकडाउन करने का निर्णय लिया है। इस दौरान फल-सब्ज़ी, दवाई, दूध सहित आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति निर्बाध जारी रहेगी। मेरा अनुरोध है कि सभी नियमों का पालन करें, सावधानी बरतें।

Dakhal News

Dakhal News 22 July 2020


bhopal,  BJP divided, into groups,  union chief , reconcile ,former minister Rathore

भोपाल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत इन दिनों भोपाल में हैं। वे यहां 3 दिन संघ के कोर ग्रुप यानी प्रमुख विचारकों की बैठक लेंगे। मंगलवार को संघ प्रमुख मोहन भागवत से स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार, उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव और अरविंद भदौरिया मुलाकात करने पहुंचे थे। वहीं बताया जा रहा है कि संघ प्रमुख आज बुधवार को दो-तीन मंत्रियों से मुलाकात कर सकते हैं। संघ प्रमुख के भोपाल दौरे और मंत्रियों के साथ मुलाकात पर पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक बृजेंद्र सिंह राठौर का बड़ा बयान सामने आया है।   मोहन भागवत के पांच दिवसीय दौरे को लेकर पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर ने बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि भाजपा इस समय गुटों में बंटी है और भाजपा के नेताओं में आपसी टकराव बढ़ता ही जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के कई बड़े नेताओं को मंत्री नहीं बनाया गया, इसलिए कई बड़े नेता नाराज हैं। क्योंकि संघ एक कैडर वाला संगठन है और वह ऐसी चीजों पर ज्यादा ध्यान देता है। इसकी खबर मोहन भागवत को भी है, इसी को लेकर वह आपसी सामंजस्य बैठाने के लिए भोपाल आए हुए हैं। इसके अलावा नगरीय निकाय के अध्यक्षों का नगरीय प्रशासन मंत्री के बंगले पर घेराव करने पर बृजेंद्र सिंह ने कहा कि भाजपा ने जब जो वादे किए वह कभी पूरे नहीं किए, इसलिए इस तरह की बगावत शुरू हो गई है। 

Dakhal News

Dakhal News 22 July 2020


bhopal, Rajya Sabha MP ,Scindia and Solanki, swear, CM, Home Minister

भोपाल। मध्यप्रदेश से नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद और भाजपा के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को सुबह दिल्ली में संसद भवन पहुंचकर पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। राज्यसभा के सभापति और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने अपने चेम्बर में आयोजित समारोह में दो गज दूरी के नियमों का पालन करते हुए राज्यसभा के नये सदस्यों को शपथ दिलाई। मप्र से भाजपा के दूसरे नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद सुमेर सिंह सोलंकी ने भी पद एवं गोपनीयता की शपथ ग्रहण की। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने दोनों राज्यसभा सांसदों को शुभकामनाएं दी हैं।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोशल मीडिया के माध्यम से दोनों नेताओं को बधाई दी है। उन्होंने बुधवार सुबह ट्वीट किया है कि -‘भाजपा नेता सिंधिया एवं सोलंकी को राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ ग्रहण करने पर हार्दिक बधाई।’ वहीं, प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने ने ट्वीट के माध्यम से शुमकामनाएं प्रेषित करते हुए कहा है कि -‘मध्यप्रदेश के हमारी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो युवा सांसदों सिंधिया और सोलंकी के राज्यसभा की सदस्यता ग्रहण करने पर हमारी शुभकामनाएं।’

Dakhal News

Dakhal News 22 July 2020


bhopal, Former Chief Ministers ,Kamal Nath ,Digvijay Singh ,condole , Governor Lalji Tandon

भोपाल। मप्र के राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर देशभर में राजनेता उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। मप्र के पूर्व सीएम कमलनाथ, राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह और छिंदवाड़ा सांसद नकुलनाथ ने भी राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर गहरा दुख जताते हुए दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना की है।   कमलनाथ ने ट्वीट कर राज्यपाल लालजी टंडन के निधन को दुखद बताते हुए श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘मध्यप्रदेश के राज्यपाल श्री लालजी टंडन जी के निधन का दु:खद समाचार प्राप्त हुआ। ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें एवं शोक संतप्त परिवार को यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करें।   राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने भी राज्यपाल लालजी टंडन के निधन को दुखद बताते हुए परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा ‘हामहिम राज्यपाल श्री लाल जी टंडन के दुखद निधन के समाचार सुन कर बेहद दुख हुआ। भाजपा/संघ की सेवा भावी चरित्र की पीड़ी अब समाप्त होती जा रही है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें। टंडन जी के परिवार जनों को मेरी संवेदनाएँ।   छिंदवाड़ा सांसद नकुलनाथ ने अपने संदेश में कहा ‘मध्यप्रदेश के राज्यपाल श्री लालजी टंडन जी के दु:खद निधन का समाचार प्राप्त हुआ। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे।

Dakhal News

Dakhal News 21 July 2020


chopal, CM Shivraj ,expressed grief, over the death ,Governor Lalji Tandon

भोपाल। मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का मंगलवार तडक़े सुबह 5:30 बजे निधन हो गया। लखनऊ स्थित मेदांता अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। वे 85 वर्षीय थे और पिछले कई दिनों से उनका स्वास्थ्य काफी खराब चल रहा था। लालजी टंडन के निधन की जानकारी उनके बेटे आशुतोष टंडन ने ट्वीट कर दी। वे आपातकाल में 18 माह मीसा में बन्द रहे, लोकतंत्र सेनानी थे। मध्यप्रदेश सरकार ने राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है ।   मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर गहरा दुख जताया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज 11 बजे पूरे मंत्रिमंडल के साथ कैबिनेट बैठक में मध्य प्रदेश के राज्यपाल स्वर्गीय लालजी टंडन जी को श्रद्धा सुमन अर्पित करेंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री आज लखनऊ में स्व लाल जी टंडन को श्रद्धांजलि अर्पित करने जाएंगे। सीएम शिवराज ने लालजी टंडन को श्रद्धांजलि देते हुए अपने संदेश में कहा ‘मध्यप्रदेश के राज्यपाल श्रद्धेय श्री लालजी टंडन के चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। टंडन जी का मार्गदर्शन हम सभी @BJPyIndia कार्यकर्ताओं को लंबे समय तक मिला। उन्होंने जनता और राष्ट्र की सेवा का एक अद्भुत उदाहरण पेश करते हुए अपनी नीतियों से @BJPyUP को भी सशक्त किया। मध्यप्रदेश के राज्यपाल रहते हुए टंडनजी ने हमें सदैव सन्मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया।राष्ट्र के प्रति उनके प्रेम और प्रगति हेतु योगदान को चिरकाल तक याद रखा जाएगा। आत्मा अजर-अमर है। वे आज हमारे बीच नहीं हैं परंतु अपने सुविचारों द्वारा वे हमारी स्मृतियों में सदैव जीवित रहेंगे।   एक अन्य ट्वीट कर सीएम शिवराज ने कहा ‘मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि वे दिवंगत आत्मा को शांति दें और शोकाकुल परिजनों को इस वज्रपात को सहने की शक्ति प्रदान करें। श्रद्धेय टंडन जी कुशल संगठक, राष्ट्रवादी विचारक और सफल प्रशासक थे। स्व. अटल जी के निकट सहयोगी रहते हुए उन्होंने लखनऊ और उत्तरप्रदेश के विकास में अतुलनीय योगदान दिया। उनके द्वारा किये गए विकासकार्यों को वर्षों तक याद किया जाएगा। श्रद्धेय टंडन जी का जाना मेरी व्यक्तिगत क्षति है। उनसे मुझे सदैव पितृतुल्य स्नेह मिला। जब भी कभी मुश्किल आती थी, मैं उनका मार्गदर्शन लेता था। उनकी कमी को अब पूरा नहीं किया जा सकता।

Dakhal News

Dakhal News 21 July 2020


bhopal, Cabinet adjourned ,after paying tribute ,Governor Lalji Tandon

भोपाल। मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टण्डन का मंगलवार को सुबह लखनऊ के मेदांता अस्पताल में उपचार के दौरान निधन हो गया। उनके अवसान पर प्रदेश में पांच दिन 21 से 25 जुलाई तक राजकीय शोक घोषित किया गया है। मंगलवार को समस्त शासकीय कार्यालय बंद रहेंगे।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रिपरिषद बैठक में यह जानकारी देते हुए बताया कि राज्यपाल लालजी टण्डन के अवसान पर शोक स्वरूप मंत्रिपरिषद बैठक में अन्य विषयों पर चर्चा न कर स्थगित की गई है। मंत्रिपरिषद की बैठक 22 जुलाई को होगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में  राष्ट्र ध्वज झुके रहेंगे। राजकीय शोक की अवधि में प्रदेश में मनोरंजन के कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं होंगे। इस संबंध में सभी जिलों को निर्देश भेजे जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि वे मध्यप्रदेश की जनता की ओर से दिवंगत लालजी टण्डन को श्रद्धांजलि देने के लिए लखनऊ जा रहे हैं। इस अवसर पर समस्त मंत्रिपरिषद ने खड़े होकर दो मिनिट का मौन धारण कर उनको श्रद्धांजलि दी।

Dakhal News

Dakhal News 21 July 2020


bhopal,Govind Singh, has targeted, fierce battle , statement , Cooperative Minister

भोपाल। मध्य प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया द्वारा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह पर दिए विवादित बयान के बाद मचा सियासी घमासान थमता नजर नहीं आ रहा है। पीसी शर्मा के बाद अब पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ गोविंद सिंह ने मंत्री अरविंद भदौरिया द्वारा दिग्विजय सिंह, कमलनाथ, जीतू पटवारी को लेकर दिए बयान पर तीखा प्रहार करते हुए निशाना साधा है।   गोविंद सिंह ने रविवार को मंत्री भदौरिया के बयान पर पलटवार करते हुए संघ पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि अरविंद भदौरिया को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने इस तरह की अमर्यादित टिप्पणी करने की ट्रेनिंग दी है। कुछ दिन पहले मैंने अरविंद भदौरिया से कहा था कि अब तुम मप्र की साढ़े सात करोड़ जनता के प्रतिनिधि हो, सोच समझकर बात करना चाहिए। तब उन्होंने कहा था कि मैं आपकी बात का ध्यान रखूंगा, लेकिन वे फिर भी ऐसी बात कर रहे है।   गौरतलब है कि शनिवार को मंत्री बनने के बाद पहली बार भिंड पहुंचे मंत्री भदौरिया ने कार्यकर्ताओं को मंच से संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह के खिलाफ विवादित टिप्पणी कर दी थी। सिंधिया के टाइगर वाले बयान पर दिग्विजय की माधवराव के साथ मिलकर शेर का शिकार करने वाले बयान पर पलटवार करते हुए अरविंद भदौरिया ने कहा था कि "मैं बेंगलुरु में था, तब दिग्विजय सिंह मेरे भाई पर केस दर्ज करके पुलिस से उठवा रहे थे, तेरे बाप में हिम्मत है। मैं चंबल की माटी में पैदा हुआ हूं, किसी से डरता नहीं हूं। मंत्री ने आगे कहा कि दिग्विजय सिंह कहते हैं कि 2-2 टाइगर मारेंगे, तेरे बाप ने भी कभी टाइगर नहीं मारे होंगे।"

Dakhal News

Dakhal News 19 July 2020


bhopal,  claim ,former BJP minister, our contact ,many Congress MLA

भोपाल। मध्य प्रदेश की सियासत में इन दिनों नेताओं का दल बदल जोरों से चल रहा है। सिंधिया के साथ 22 समर्थकों के जाने से कमलनाथ सरकार गिर गई। वहीं अब उपचुनाव से पहले भी एक एक कर कांग्रेस के विधायक इस्तीफा देकर भाजपा का दामन थाम रहे हैं। ऐसे में विधायकों की नाराजगी दूर करने के लिए कमलनाथ ने रविवार शाम को अपने निवास पर विधायक दल की बैठक भी बुलाई है। इस बीच भाजपा के वरिष्ठ विधायक और पूर्व मंत्री के बयान ने कांग्रेस में खलबली मचा दी है।   सिलवानी से भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री रामपाल सिंह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने दावा किया है कि कांग्रेस के कई विधायक हमारे संपर्क में है। रविवार को भाजपा कार्यकर्ता समन्वय सम्मेलन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अपने बयान में रामपाल सिंह ने कहा कि कमलनाथ सरकार के 15 महीने के कार्यकाल का दुष्परिणाम, जिसके कारण पहले ही थोक में 22 विधायक कांग्रेस से भाजपा में आए। अब बचे हुए एक-एक करके आ रहे हैं। वहीं कांग्रेस छोडक़र भाजपा में शामिल हो रहे विधायकों को पार्टी कैसे संतुष्ट करेगी, इस बात का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस से भाजपा में आ रहे विधायकों को सेट करने में दिक्कत तो आ रही है, लेकिन उनको संतुष्ट करना हमारी जिम्मेदारी।   गौरतलब है कि इससे पहले सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया भी कांग्रेस विधायकों के भाजपा में शामिल होने पर बड़ा बयान दे चुके है। उन्होंने कहा था अभी तो 26 आए हैं, आगे और आने वाले हैं, संभावनाओं से इंकार नही किया जा सकता है। वहीं कांग्रेस से भाजपा में शामिल हो रहे विधायकों पर सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने कहा कि विकास के एजेंडे को लेकर जो विधायक आ रहे हैं उनका स्वागत है।

Dakhal News

Dakhal News 19 July 2020


ujjain,experiences and experiments ,applicable, entire state, Chief Minister, Shivraj Chauhan

उज्जैन। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए उज्जैन बहुत बेहतर तरीके से लड़ा है इसमे जिला प्रशासन सहित उज्जैन के लोगों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। यही वजह है कि कोरोना संक्रमण के शुरुआती दौर में सबसे चिंताजनक स्थिति में रहे उज्जैन में अब कोरोना कंट्रोल में है। इसलिए उज्जैन के अच्छे अनुभव और प्रयोग पूरे प्रदेश में लागू किये जायेंगे। शुक्रवार को यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना की स्थिति देश के अन्य राज्यों से काफी बेहतर है हालांकि ग्वालियर चंबल संभाग में कोरोना की स्थिति अभी हाल में बिगड़ी है लेकिन स्थिति कंट्रोल में है। उन्होंने कहा शुरुआती दौर में उज्जैन इंदौर भोपाल सबसे ज्यादा चिंताजनक स्थिति में थे। ऐसे में लग रहा था कि इंदौर हाथ से ही निकल जाएगा लेकिन उज्जैन सहित इंदौर में और भोपाल में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए बेहतर इंतजाम किए गए। नतीजा सबके सामने है और इन तीनों शहरों में कोरोना कंट्रोल में है। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को उज्जैन में ही बैठकर पूरे प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने गुना में दलित परिवार की पुलिस द्वारा की गई पिटाई के मामले को लेकर कांग्रेस द्वारा की जा रही राजनीति पर अफसोस जताया और कांग्रेस सहित पूर्व मंत्री कमलनाथ पर उनके सवा साल के शासनकाल में दलितों पर हुए अत्याचार को लेकर सवालों की बौछार की। 

Dakhal News

Dakhal News 17 July 2020


bhopal, Will make ,Madhya Pradesh, top, field of medical education, Minister Sarang

भोपाल । चिकित्सा शिक्षा एवं भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री विश्‍वास सारंग ने शुक्रवार को मंत्रालय में विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर कार्यभार ग्रहण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कोविड से निजात पाने के लिये संयम और अनुशासन जरूरी है। सारंग ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में कोविड पर काबू पाने और खत्म करने की हरसंभव तैयारी की जा रही है। केन्द्र और राज्य सरकार की एडवाइजरी का पालन कर कोविड पर विजय प्राप्त की जा सकेगी।   मंत्री सारंग ने कहा कि चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में मध्यप्रदेश को अव्वल बनाने का काम किया जायेगा। उत्कृष्ट चिकित्सक और बेहतरीन मेडिकल व्यवस्था कर नये आयाम स्थापित करने की कोशिश की जायेगी। विभागीय अस्पतालों को भी सुव्यवस्थित किया जायेगा। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान, आयुक्त निशांत बरवड़े, संचालक डॉ. उल्का श्रीवास्तव, वरिष्ठ पत्रकार, मीडिया बंधु, परिजन और शुभचिंतक उपस्थित रहे। 

Dakhal News

Dakhal News 17 July 2020


bhopal, State Women Commission, chairperson Shobha Ojha, incident of Barwani, gang-rape

भोपाल। मध्यप्रदेश राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने शुक्रवार को जारी अपने वक्तव्य में प्रदेश की कानून व्यवस्था और महिला सुरक्षा की दयनीय स्थिति पर गंभीर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि एक ओर तो प्रदेश की पुलिस दलितों और महिलाओं के साथ पशुओं जैसा व्यवहार कर रही है, वहीं दूसरी ओर कानून व्यवस्था पर उसका बिल्कुल भी नियंत्रण नहीं है। अपराधी सरेआम लूट और बलात्कार जैसी जघन्य, पाशविक और शर्मनाक घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं, जिससे प्रदेश की महिलाएं सहमी हुई हैं।   अपने बयान में प्रदेश की कानून व्यवस्था की स्थिति, पुलिस की नाकामी और उसके खराब व्यवहार को कठघरे में खड़ा करते हुए ओझा ने अपने वक्तव्य में आगे कहा कि प्रदेश में महिला अत्याचार, बलात्कार और सामूहिक दुष्कर्म की सिलसिलेवार घटनाओं ने प्रदेश के नागरिकों, खासकर बच्चियों और महिलाओं को दहला कर रख दिया है।   शोभा ओझा ने कहा की गुना में दलित महिला के साथ पुलिस बर्बरता की घटना के बाद बड़वानी में एक महिला के साथ घटित सामूहिक दुष्कर्म, मारपीट और लूट की घटना ने प्रदेश को शर्मसार कर दिया है। उल्लेखनीय है कि अपराधियों के हौंसले इतने बुलंद थे कि महिला के पति को बंधक बनाकर, दिनदहाड़े ही, उसके सामने पूरी घटना को अंजाम दिया गया। किसी भी राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति का इससे बदतरीन उदाहरण कोई दूसरा नहीं हो सकता।   अपने बयान के अंत में शोभा ओझा ने कहा कि बड़वानी में हुई सामूहिक दुष्कर्म की इस शर्मनाक घटना के सभी आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले, अपराधियों के हौंसले पस्त हों और प्रदेश की खस्ताहाल कानून व्यवस्था शीघ्र पटरी पर आए, इसके लिए महिला सुरक्षा के नाम पर बड़ी-बड़ी बातें करने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को चाहिए कि वे केवल जुबानी जमाखर्च की बजाय कोई वास्तविक, ठोस और कड़ा कदम उठाएं, जिनसे नागरिकों, खासकर महिलाओं को, न केवल अविलंब राहत मिले बल्कि उनमें प्रदेश की कानून व्यवस्था के प्रति एक विश्वास का भाव भी पैदा हो सके।

Dakhal News

Dakhal News 17 July 2020


bhopal, Minister,  financial assistance ,five thousand rupees ,per month,acid attack victims

भोपाल। प्रदेश में एसिड पीड़ितों को दी जाने वाली पेंशन के साथ-साथ अब उन्हें 5 हजार रुपये प्रतिमाह आर्थिक सहायता भी दी जायेगी। पशुपालन, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने बुधवार को मंत्रालय में कार्यभार ग्रहण करने के तुरंत बाद नि:शक्तजन विभाग द्वारा प्रस्तुत उक्त प्रस्ताव संबंधी पहली फाईल पर सहमति दी। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा दी जाने वाली पेंशन का भुगतान समय पर किया जाए।   आयुक्त नि:शक्तजन संदीप रजक ने अवगत कराया कि दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम-2016 में दिव्यांगता की सूची में 7 से बढ़ाकर 21 प्रकार की कर दी गई है। इसमें एसिड अटेक पीड़ितों को भी दिव्यांगता की श्रेणी में रखा गया है। अधिनियम में प्रावधानानुसार बैंच मार्क दिव्यांगता 40 प्रतिशत रखा गया है। उल्लेखनीय है कि स्पर्श पोर्टल के अनुसार प्रदेश में एसिड अटेक पीड़ितों की संख्या 17 है।    इस मौके पर प्रमुख सचिव सामाजिक न्याय प्रतीक हजेला, आयुक्त सामाजिक न्याय श्रीमती रेणु तिवारी और अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

Dakhal News

Dakhal News 15 July 2020


bhopal, Jitu Patwari, question to Scindia,  corruption happened,department

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति में इन दिनों राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के बयान को लेकर जमकर राजनीति हो रही है। कांग्रेस के नेता सिंधिया का घेराव करने और पलटवार करने में जरा भी देरी नहीं लगा रहे हैं। पीसी शर्मा और लक्ष्मण सिंह के बाद अब पूर्व मंत्री और कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी ने भी सिंधिया पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि पिछली कांग्रेस सरकार में आपके चहेतों के विभाग में क्या भ्रष्टाचार हुआ है, वह भी सबको बताएं।   कार्यकारी अध्यक्ष और कांग्रेस प्रदेश मीडिया प्रभारी जीतू पटवारी ने बुधवार को एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने सिंधिया का नाम लिए बिना उन पर जमकर हमलाा बोला। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी बढ़ रही है और एक महाशय कोरोना को लेकर 90 दिन से घर पर थे। उन्हें इस बात का जबाब देना चाहिए कि किसानों के फसल के पैसे कब दिए जायेगें। सिंधिया के भ्रष्टाचार वाले बयान पर उन्हें आड़े हाथों लेते हुए जीतू पटवारी ने कहा कि वो बोल रहे है कि पिछली सरकार में भ्रष्टाचार था तो ये बताए कि महिला बाल विकास, परिवहन, शिक्षा विभाग जो उनके समर्थकों के पास था उसमें क्या भ्रष्टाचार हुआ है। पटवारी ने कहा कि शिवराज कैबिनेट में मंत्रियों को जो मलाईदार विभाग बांटे गए है उन पर कांग्रेस कार्यकर्ता नजर रखेगा। साथ ही उन्होंने चुनाव आयोग प्रदेश से जल्द से जल्द उपचुनाव करवाए जाने की मांग करते हुए कहा कि जिस दिन उपचुनाव चुनाव के परिणाम आएंगे उस दिन इस सरकार की विदाई हो जाएगी। जीतू पटवारी ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब से प्रदेश में भाजपा सरकार वापस आई है, तब से किसानों की आत्महत्या का दौर वापस चालू हो गया है।   कोरोना को लेकर सरकार को घेरापत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने प्रदेश में बिगड़ते कोरोना के मामलों पर राज्य सरकार को घेरा। उन्होंने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मप्र में कोविड की बीमारी नम्बर 1 पर है। वो लोग कहा है, जो बोलते थे कि प्रधानमंत्री की सूझबूझ से कोरोना पर नियंत्रण है। जीतू पटवारी ने कहा कि मप्र में कई जिलों में वापस लॉक डाउन लगाने की नोबत आ रही है। कोविड के बीच में भाजपा नेता चुनावी रैली कर रही हैं।

Dakhal News

Dakhal News 15 July 2020


ashoknagar, Digvijay, was not expected, join Scindia, hand with , defeated enemy

अशोकनगर। पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्य सभा सांसद दिग्विजय सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के पराजय क्षेत्र अशोकनगर में मंगलवार की अर्ध रात्रि तक भ्रमण किया, इस दौरान अर्ध रात्रि तक कांग्रेसी उनके स्वागत के इंतजार में खड़े रहे। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को यहां वैसे तो शाम 5 बजे आना था, पर उनका रात्रि 10 बजे शहर में आगमन हुआ, आगमन पश्चात रात्रि के 12 बजे तक वे लोगों से मिलते रहे, जहां उनके स्वागत में उन्हें शहर के हृदय स्थल गांधी पार्क एवं कई जगह तौला गया। जहां ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने के बाद यहां अनाथ पड़ी कांग्रेस को अब दिग्विजय सिंह ने अपना बर्दहस्त प्रदान किया।    नौजवानों को कांग्रेस से सब कुछ दिया पर नहीं है सब्र:   इस अवसर पर दिग्विजय सिंह ने मध्यप्रदेश के बाद राजस्थान की कांग्रेस सरकार के घटनाक्रम पर अपनी प्रतिक्रिया में ज्योतिरादित्य और सचिन पायलेट के बारे में कहा कि इन नौजवानों को कांग्रेस ने सब कुछ दिया पर इन्हें सब्र नहीं है राजनीति में सब्र किया जाता है। उन्होंने कहा स्व.माधवराव सिंधिया और राजेश पायलेट का कांग्रेस के लिए अद्भुत योगदान रहा है, वहीं ज्योदिरादित्य को कांग्रेस ने अपने मंत्री मण्डल में स्थान दिया उन्हें मप्र में डिप्टी सीएम का आफर भी दिया गया। पर ज्योतिरादित्य सिंधिया को जिसने हराया उन्होंने हारे हुए दुश्मन से हाथ मिलाने की उम्मीद नहीं की थी।   दिग्विजय सिंह ने सचिन पायलेट के बारे में भी कहा कि सचिन को 26-27 साल की उम्र में सांसद एवं मंत्री बनवा दिया था, पर अभी उनकी उम्र ही क्या है धैर्य रखना चाहिए उनके द्वारा कांग्रेस की नीतियों के विरुद्ध काम किया किया जबकि राजनीति में सब्र रखना चाहिए।    झूठ बोलते हैं भाजपा में गए पूर्व विधायक:   कांग्रेस से त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होने वाले पूर्व विधायकों के आरोपों पर कि उनके कांग्रेस सरकार में काम नहीं होते थे इस कारण वह भाजपा में शामिल हुए के जवाब में दिग्विजय सिंह ने कहा कि झूठ बोलते हैं पूर्व विधायक उनके पास सभी कामों की सूची है। वहीं दिग्विजय सिंह ने अशोकनगर के पूर्व विधायक पर तंज कसते हुए कहा कि वह क्यों भूल जाता है कि तलवार उसके जाति प्रमाण पत्र पर लटकी हुई थी।    35-35 करोड़ में बिके विधायक: जयवर्धन   पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के साथ मुंगावली आए उनके पुत्र पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार गिराकर भाजपा में शामिल होने वाले पूर्व विधायक 35-35 करोड़ रुपये में बिके हैं, अब जनता इन पूर्व विधायक और मंत्रियों को सबक सिखायेगी, जयवर्धन ने कहा कि मध्यप्रदेश में पुन: कांग्रेस की सरकार बनेगी।

Dakhal News

Dakhal News 15 July 2020


bhopal, Congress demands, government allow ,Ganesh Pandal

भोपाल। मध्य प्रदेश में तमाम कोशिशों के बाद भी कोरोना संक्रमण के मामले थम नहीं रहे हैं। लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने नई गाईड लाइन जारी की है। जिसके तहत कई बड़े फैसले लिए है। कोरोना को ध्यान में रखते हुए इस बार गणेश पंडालों को अनुमति नही दी जाएगी। साथ ही बकराईद पर भी सामूहिक कार्यक्रम पर रोक रहेगी। धार्मिक स्थलों मे एक बार मे पांच से ज्यादा लोगों को अनुमति नही होगी। सरकार के इस फैसले पर कांग्रेस ने आपत्ति जताई है। कांग्रेस ने सरकार के इस फैसले पर सवाल खड़ा करते हुए गणेश पंडाल लगाने और मुहर्रम के जुलूस निकालने की अनुमति देने की मांग की है। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि जब मॉल खुले हैं, शराब दुकानें खुली हैं तो गणेश पंडाल भी लगाने की अनुमति सरकार का देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि लोगों की धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखते हुए मुहर्रम के लिए जुलूस निकालने की भी अनुमति सरकार दें।

Dakhal News

Dakhal News 14 July 2020


bhopal, Home minister, no rumors ,about lockdown rumors

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार द्वारा दोबारा संपूर्ण लॉकडाउन लगाए जाने की अफवाह को गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सिरे से नकार दिया है। उन्होंने साफ तौर पर कहा है कि फि़लहाल लॉकडाउन को लेकर कोई प्लानिंग नहीं है, मप्र में स्थाई लॉकडाउन को लेकर कोई प्रस्ताव नहीं है।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए लॉकडाउन की अफवाहों पर कहा कि लॉकडाउन को लेकर कोई भी शासन स्तर पर लंबित नहीं है। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर क्राईसिस मैनेजमेंट कमेटी की अनुशंसा पर आगे कोई फैसला लिया जाता है लेकिन फि़लहाल लॉकडाउन को लेकर कोई प्लानिंग नहीं है। मप्र में स्थाई लॉकडाउन को लेकर कोई प्रस्ताव नहीं है। उपचुनाव में भाजपा की रणनीति पर सवाल पूछे जाने पर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि चुनाव को लेकर रणनीति का सवाल इसलिए भी नहीं है क्योंकि पीएम का आभामंडल, सीएम शिवराज के काम और कांग्रेस की 15 महीने की सरकार के दौरान जनता और युवाओं के साथ धोखा किया गया। इन सबका समिश्रण ही वातावरण का निर्माण कर रहा है। वहीं कांग्रेस के ट्वीट पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र ने कहा कि कांग्रेस हम पर ध्यान कम दें, अपना ध्यान रखें। क्या पता अगली बरसात में यह दीवार भी ढह जाए।   20 जुलाई से शुरू हो रहे विधानसभा के मानसून सत्र की जानकारी देते हुए संसदीय कार्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सत्र के पहले दिन स्वर्गीय मनोहर ऊँटवाल को श्रद्धांजलि देगें। इसके बाद दूसरे दिन बजट लाएगें।

Dakhal News

Dakhal News 14 July 2020


indore, Vijayvargiya , protest lockdown ,again

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा पूरे जिले में फिर से लॉकडाउन लागू करने पर विचार किया जा रहा है। इस संबंध में सोमवार को दोपहर में होने वाली आपदा प्रबंधन की बैठक में निर्णय लिया जाएगा, लेकिन इससे पहले ही भाजपा का राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इंदौर में लॉकडाउन लगाने का विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि जब तय है कि कोरोना को हमारे साथ ही रहना है, तब इंदौर शहर में दोबारा लाकडाउन लगाना शहर की सेहत के पक्ष में नहीं है।दरअसल, इंदौर में कमिश्नर डॉ. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह और सांसद शंकर लालवानी ने रविवार को विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर कोरोना की स्थिति की समीक्षा की थी। इस दौरान शहर में फिर से लॉकडाउन लागू करने की बात की गई थी। साथ ही कहा था कि सोमवार को होने वाली आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में इसका निर्णय लिया जाएगा। वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने सोमवार को मीडिया से बातचीत में इंदौर में लॉकडाउन लगाने का विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि शहर में पुन: लॉकडाउन लगाने से रोज कमाने-खाने वालों का परिवार संकट में आ जाएगा। उन्होंने कहा कि इंदौर को बड़ी मुश्किल से हम सबने संयम रखकर बचाया है। मौजूद समय में नियमों का उल्लंघन करने वाले मुट्ठी भर लोग हैं। ऐसे कुछ लोगों की गलती की सजा पूरा शहर को नहीं दी जा सकती। उन्होंने सुझाव दिया है कि जो लोग नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं, प्रशासन को उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करना चाहिए। जो दुकानदार प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हैं, उनकी दुकानें बंद कराई जाएं और उन पर भारी जुर्माना भी किया जाए।विजयवर्गीय ने कहा कि इंदौर के ताजा सर्वे में सामने आया है कि सब्जी के कारण कोरोना फैल रहा है, थोड़े दिन सब्जी न खाएं या फिर अच्छे से धोकर प्रयोग करें। उन्होंने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि जरासी लापरवाही से कई लोगों की जान गयी हैं। मास्क लगाकर रखें। दो गज दूरी का पालन करें और बहुत जरूरी हो, तभी बाहर निकलें। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया है कि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिये सबको प्रतिदिन व्यायाम करना चाहिये और काढ़ा पीना चाहिये।

Dakhal News

Dakhal News 13 July 2020


bhopal, Congress leader ,took a pinch , department allocation, unemployed ministers

भोपाल। शिवराज कैबिनेट विस्तार के 11 दिनों बाद मंत्रियों को उनके विभागों का बंटवारा हो गया है। विभागों के बंटवारे को लेकर एक ओर जहां भाजपा के ही कुछ नेताओं ने विरोध के स्वर तेज कर दिए हैं। तो वहीं कांग्रेस की तरफ से भी बयानबाजी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता के के मिश्रा ने विभाग आवंटन पर सरकार की चुटकी ली है और कहा है कि बेरोजगार मंत्रियों को राज्य में रोजगार मिल गया है।   कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने सोमवार सुबह ट्वीट कर सीएम शिवराज पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि बेरोजगार मंत्रियों को राज्य में रोजगार मिल गया है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के सामने सीएम शिवराज सिंह ने राजनैतिक आत्मसमर्पण कर दिया है। उन्होंने कहा कि विभागों के बंटवारे के बाद राज्य में गंभीर राजनैतिक संकट जरूर खड़े होंगे। उन्होंने गोविंद सिंह राजपूत को दोबारा राजस्व विभाग देने पर भी शिवराज सरकार पर हमला बोला है। सीएम पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि भूमाफियाओं के खिलाफ शिवराज ने आत्मसमर्पण कर दिया। 

Dakhal News

Dakhal News 13 July 2020


bhopal,BJP MLA, targeted party, take this hand, give that hand, game is going on

जबलपुर। मध्य प्रदेश की राजनीति में पिछले कुछ महिनों से नित नए सियासी रंग देखने को मिल रहे हैं। सिंधिया की बगावत के बाद कांग्रेस की सरकार का गिरना, सिंधिया का समर्थन मिलने के बाद भाजपा की सरकार बनना। इसके बाद शुरू हुआ सिंधिया समर्थकों को मंत्री पद देने और विभागों को लेकर घमासान। इस बीच कांग्रेस को झटका देकर छतरपुर के बड़ामलहरा से कांग्रेस विधायक प्रद्युमन सिंह लोधी भाजपा में शमिल हो गए। सुबह लोधी ने भाजपा की सदस्यता ली और शाम को उन्हेंं नागरिक आपूर्ति निगम का अध्यक्ष नियुक्ति और कैबिनेट मंत्री का दर्जा दे दिया गया। वहीं भाजपा को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल को भी भाजपा ने खनिज निगम का अध्यक्ष बना दिया।   लंबे समय से चल रही खींचतान के बाद मंत्रियों को बंटवारे और निगम मंडल में हुई दो नियुक्तियों के बाद भाजपा ग्रामीण विधानसभा पाटन से विधायक अजय विश्नोई ने एक बार फिर भाजपा नेतृत्व पर निशाना साधा है। दरअसल भाजपा विधायक अजय विश्रोई ने ट्वीट कर ईशारों ही ईशारों में लोधी और जायसवाल की नियुक्ति पर सवाल खड़े किए है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि ‘इस हाथ दे-उस हाथ ले, का शानदार उदाहरण प्रस्तुत हुआ है, म.प्र. की वर्तमान राजनीति में। आज जब सरकार ना तो बनाना थी और न गिराना। फिर यह क्यों किया गया? आप भाजपा को कहां ले जाना चाहते हैं? जनता को बताए ना बताए भाजपा को यह बताना होगा। या फिर हमें संस्कारों का उल्टा पाठ पढ़ाना होगा। भाजपा विधायक के ट्वीट ने सियासी गलियारों में हडक़ंप मचा दिया है। इस ट्वीट कर विधायक के मंत्री ना बनाए जाने की नाराजगी से जोडक़र देखा जा रहा है। अजय विश्रोई पूर्व में दो बार भाजपा सरकार में मंत्री रह चुके हैं। हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब विश्रोई ने ट्वीट कर मंत्रिमंडल पार्टी पर निशाना साधा हो। इससे पहले भी अजय विश्रोई ने विभागों के बंटवारे को लेकर पार्टी पर तंज कसते हुए ट्वीट कर कहा था ‘पहले मंत्रियों की संख्या और अब विभागों का बंटवारा। मुझे डर है कही भाजपा का आम कार्यकर्ता हमारे नेता की इतनी बेइज्जती से नाराज न हो जाय नुकसान हो जाएगा। इसके अलावा उन्होंने जबलपुर से किसी विधायक को मंत्री ना बनाए जाने पर भी विश्रोई की पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी जिसमें उन्होंंने आने वाले समय में कुछ बड़ा करने के संकेत दिए गए थे।

Dakhal News

Dakhal News 13 July 2020


murena, Chief Minister ,Shivraj Singh , cooperate fully, disaster

मुरैना। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सभी के सहयोग से मुरैना कोरोना पर जीत हासिल करेगा। लेकिन कोरोना को हराने के लिये हमें सावधान रहकर दूसरों को भी जागरूक करना होगा। उन्होंने यह बात शनिवार को जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह की बैठक में जिले में कोरोना की स्थिति की समीक्षा करते हुए कही। उन्होंने निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमित मरीज के इलाज में कोई कमी न रहे। सैम्पलिंग में वृद्धि की जाये और समय से पहले कोरोना संक्रमित की पहचान हो सके, जिससे संक्रमण से किसी मरीज की मृत्यु नहीं हो। कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीतने के लिये जिन संसाधनों की भी जरूरत होगी, प्रदेश सरकार उनकी कमी नहीं आने देगी।   इस अवसर पर केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश के मंत्री ऐदल सिंह कंषाना, राज्यमंत्री गिर्राज डण्डोतिया, महापौर  अशोक अर्गल, जिला पंचायत अध्यक्ष गीता हर्षाना, पूर्व मंत्री रूस्तम सिंह, मुख्यमंत्री के ओएसडी बीएम शर्मा, आयुक्त जनसम्पर्क सुदाम पी खाड़े, चंबल कमिश्नर रवीन्द्र कुमार मिश्रा, आईजी मनोज शर्मा, डीआईजी राजेश हिंगडकर सहित पूर्व विधायक कमलेश जाटव, रघुराज सिंह कंषाना, सूबेदार सिंह रजौधा, सत्यपाल सिंह सिकरवार, शिवमंगल सिंह तोमर उपस्थित थे।     मुख्यमंत्री ने कहा कोरोना के खिलाफ लड़ाई जनता के सहयोग से ही जीती जा सकती है। जिला प्रशासन एवं पुलिस सभी को भरोसे में लेकर इस अभियान को आगे बढ़ाए। खुशी की बात है कि मुरैना चंबल के निवासियों की प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) बहुत मजबूत है। यही वजह है कि यहाँ कोरोना मरीजों की मृत्यु दर अत्यंत कम है। मुरैना में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण रहा है। मगर पिछले एक हफ्ते में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी है। प्रदेश सरकार इस स्थिति को लेकर पूरी तरह सजग है। इसी सिलसिले में आज मुरैना में समीक्षा बैठक रखी गई।   उन्होंने बैठक में निर्देश दिए कि परिस्थितियों को ध्यान में रखकर रणनीति में भी बदलाव करें, जिससे कोरोना का फैलाव न होने पाए। उन्होंने कहा कि जिले में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए चिन्हित अस्पतालों व आइसोलेशन सेंटर में बिस्तर की व्यवस्था बढ़ाना सुनिश्चित करें। साथ ही अस्पतालों में ऑक्सीजन बिस्तरों को बढ़ाने की अगर आवश्यकता हो तो यह भी किया जाए। बैठक में मौजूद सदस्यों से मुख्यमंत्री ने आग्रह किया कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर लॉकडाउन के संबंध में निर्णय लें। उन्होंने कहा बाजार पर्याप्त समय तक खोले जा सकते हैं पर इस बात का ध्यान रखा जाए कि ग्राहक एवं दुकानदार मास्क लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्यत: पालन हो।    केन्द्रीय पंचायत राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि लॉकडाउन बढ़ाना कोई समाधान नहीं है। लॉकडाउन की एक सीमा होती है, इसके बाद निराकरण ही करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि सभी सामाजिक संस्थाओं, जनप्रतिनिधियों का दायित्व है कि हम सब मिलकर लोंगो को पूरी तरह से जागरूक करें, तभी हम कोरोना की चैन को तोड़ पायेंगे। उन्होंने कहा कि वायरस के मामले में कोई भविष्यवाणी नहीं की है कि यह कम होगा या ज्यादा हम सभी को इस संकट का सामाना करते हुये इसे रोकना होगा। इसके पीछे दुर्भावना नहीं होना चाहिये।   सीएम ने चिकित्सकों से ली अस्पताल की जानकारी: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती है तो चिकित्सक घबरायें नहीं। प्रदेश सरकार पूर्ण रूप से आपकी आवश्यकताओं की पूर्ति करेगी। डॉक्टर से लेकर ऑक्सीजन पलंग एवं बैडों की संख्या बढ़ाई जाये तो पूरा सहयोग मिलेगा। उन्होंने कहा कि ऐसे प्रयास करें कि मरीजों को ग्वालियर रैफर न करना पड़े क्योंकि ग्वालियर में भी 4 हजार पलंगों की ही व्यवस्था हैं उन्होंने कहा कि जिला चिकित्सालय में फिलहाल 47 डॉक्टर्स है। जिसमें कोरोना से संबंधित मरीजों को देखने के लिये 11 डॉक्टर्स अपनी सेवायें दे रहे है, जिसमें डॉ. योगेश तिवारी तथा डॉ. राघवेन्द्र यादव बंधाई के पात्र है। उन्होंने कहा कि पहले दो स्थानों पर सैम्पलिंग का कार्य किया जा रहा था, अब सैम्पल में बढ़ोत्तरी की जावे। चर्चा के दौरान सीएमएचओ डॉक्टर बांदिल ने बताया कि चिकित्सालय में मात्र 6 मरीज ऑक्सीजन ले रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 11 July 2020


gwalior, Minister Pradyuman Singh, counterattacked Congress, divided departments

ग्वालियर। मध्य प्रदेश में कैबिनेट विस्तार के बाद विभागों के बंटवारे को लेकर असमंजस अब भी जारी है। अपने समर्थकों के  साथ मिलकर प्रदेश में भाजपा सरकार बनवाने वाले सिंधिया अपने समर्थक मंत्रियों के लिए अहम विभाग की मांग लेकर डटे हुए हैं। विभाग के आवंटन को लेकर कांग्रेस भी खूब निशाना साध रही है और बयानबाजी कर रही है। इस बीच कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए मध्यप्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर का बड़ा बयान आया है।   प्रद्युमन सिंह ने शनिवार को अपने एक बयान में विभाग बंटवारे को लेकर कांग्रेस की तरफ से की जा रही बयानबाजी पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस के पास कुछ नही है, इसलिए आरोप लगा रही है, उसकी नकारात्मक सोच हो गयी है, पहले कहती मंत्री नहीं बनाएंगे, अब कहते हैं विभाग नहीं दे रहे हैं, कांग्रेस खुद चिंतन करें उसने कितने दिनों में विभागों का बंटवारा किया था। इसके साथ प्रद्युमन सिंह ने कहा कि मंत्रिमंडल में विभागों के वितरण का काम मुख्यमंत्री का है, मुख्यमंत्री को तय करना है विभाग। मुझे उम्मीद है कि वे जल्दी तय होंगे विभाग।   प्रदेश की राजनीति में टाइगर को लेकर छिड़ी जंग पर प्रतिक्रिया देते हुए मंत्री प्रद्युमन सिंह ने कहा कि टाइगर वो व्यक्ति है, जो जनता के हितों के लिए काम करें। कांगेस के कार्यकाल में जनता के हितों पर डाका डाला जा रहा था। तब सिंधिया ही सामने निकलकर आए थे, लेकिन कांग्रेस के सब चूहे तब बिल में घुसे थे।

Dakhal News

Dakhal News 11 July 2020


bhopal,  Digvijay tightened department even fter 10 day, cabinet expansion.

भोपाल। मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल विस्तार को दस दिन पूरे हो चुके हैं, लेकिन अब तक मंत्रियों को विभागों का बंटवारा नहीं हो पाया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तीन दिन पहले स्वयं कहा था कि एक-दो दिन के वर्कआउट के बाद मंत्रियों को विभाग आवंटित कर दिये जाएंगे, लेकिन अब तक विभाग बंटवारे को लेकर असमंजस बरकरार है। वहीं, मंत्रियों को विभाग बंटवारा नहीं होने को लेकर विपक्ष लगातार हमलावर है और मुख्यमंत्री पर निशाना साध रहा है। अब पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तंज कसा है।मध्यप्रदेश में पिछले सप्ताह गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ था। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 20 मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई थी। इनमें 20 कैबिनेट मंत्री और आठ राज्यमंत्री शामिल हैं। मंत्रिमंडल विस्तार को शनिवार को पूरे 10 हो चुके हैं, लेकिन अब तक मंत्रियों को विभागों के बंटवारे को लेकर संशय बराबर है। बताया जा रहा है कि बड़े विभागों को लेकर सिंधिया-शिवराज के बीच सहमति नहीं बन पा रही है। हालांकि, कयास लगाए जा रहे हैं कि आने वाले एक दो दिनों में सभी मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा कर दिया जायेगा। इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पिछले रविवार को मंत्रियों को विभाग आवंटन को लेकर दिल्ली भी गए थे और केन्द्रीय नेतृत्व से मुकालात के बाद वे मंगलवार को भोपाल लौटे थे। तब उन्होंने एक-दो दिन के वर्कआउट के बाद विभाग आवंटन की बात कही थी, लेकिन उन्हें दिल्ली से लौटने के चार दिन बाद भी विभाग आवंटन पर असमंजस की स्थिति है। ऐसे में विपक्ष लगातार शिवराज सरकार पर हमला कर रहा है। कांग्रेस के कई नेता विभाग आवंटन में भी सौदेबाजी के आरोप लगा चुके हैं। अब दिग्विजय सिंह ने भी शिवराज और सिंधिया पर तंज कसा है।वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया है कि मध्यप्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार के 8 दिन पूरे हुए। विभाग आवंटन के लिए सीएम का वर्कआउट खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा। क्या टाइगर नख-दंत विहीन, दीन-हीन हो चुका है? देखते हैं कौन अपनी टेरेटरी छोडक़र भागता है।’ उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा है कि ‘मध्यप्रदेश मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर पूरी भाजपा दिल्ली से लेकर भोपाल में ‘वर्कआउट’ चल रहा है। यह मंत्रिमंडल के बंटवारे का झगड़ा नहीं है, यह ‘लूट’ के बंटवारे का झगड़ा है। परिवहन, एक्साइज, राजस्व, शहरी विकास आदि सिंधिया जी नहीं छोडऩा चाहेंगे। क्यों? समझ जाओगे!’

Dakhal News

Dakhal News 11 July 2020


bhopal, Jitu Patwari, big statement ,tells Shivraj , target,weak , CM Scindia

भोपाल। पूर्व मंत्री और राऊ से कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है। उन्होंने शिवराज को कमजोर मुख्यमंत्री बताते हुए मंत्रिमंडल विस्तार और विभागों के आबंटन को लेकर सवाल खड़े किए है। साथ ही उन्होंने सिंधिया की तुलना विभीषण से की है।   जीतू पटवारी ने शुक्रवार को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कमज़ोर सीएम है। उन्होंने कहा है कि 100 दिन तक वे मंत्रिमंडल का गठन नहीं कर पाए और अब 10 दिन तक विभागों का बंटवारा नही कर सके हैं। जीतू पटवारी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि दो बिल्लियों की आपस की लड़ाई के चलते मप्र गर्त में जा रहा है। मप्र का एक कमजोर मुख्यमंत्री कैसा हो, चार बार का सीएम जो खुद को स्वयं भू टाइगर कहता है। लेकिन मलाईदार विभाग के चलते अब तक विभाग का बंटवारा नहीं हो पाया है।   पटवारी ने सीएम शिवराज को चुनौती देते हुए कहा कि मैं मुख्यमंत्री शिवराज को चुनौती देता हूं कि जब जहां मुख्यमंत्री समय दे मैं वहां आऊँगा और उनसे किसान कर्जमाफी पर बात करने के लिए तैयार हूं। मैं मानता हूं यह उस किसान के साथ अन्याय है, जब हम किसान कर्जमाफी की बात करता हूं तो उनका मन्त्री इस योजना को पाप बताता है।   सिंधिया को बताया विभीषण जीतू पटवारी ने सिंधिया की तुलना विभीषण से करते हुए कहा कि मिस्टर विभीषण ने कहा था कि मैं जनता के लिए सडक़ों पर आऊँगा। अब क्यों मिस्टर विभीषण उनको भूल गए, हमने तो अतिथि विद्वानों के लिए काम किया था। उनका आमंत्रण पत्र देना बाकी रह गया था, लेकिन चार महीने में ये सरकार आमंत्रण पत्र नहीं दे पाई। ये सरकार अधिकारियों के कहने पर चल रही है।   विकास दुबे एनकाउंटर पर उठाए सवाल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विकास दुबे एनकाउंटर पर सवाल खड़े करते हुए जीतू पटवारी ने कहा कि मप्र अपराधियों की शरण स्थली बन चुका है। एक निजी एंजेंसी के गॉर्ड ने विकास को पकड़ा था। अगर वह जिंदा होता तो कई लोगों की कुर्सी चली जाती इसलिए ये एनकाउंटर किया गया।

Dakhal News

Dakhal News 10 July 2020


indore, minister Usha Thakur ,spared culprit , Vikas Dubey encounter

इंदौर। विकास दुबे एनकाउंटर को लेकर सियासी गलियारों में राजनीति तेज हो गई है। एक तरफ जहां कांग्रेस कई सवाल खड़े कर रही हैं। वहीं भाजपा इसे अपराधी के खिलाफ उचित कार्रवाई बता रही है। शिवराज सरकार में मंत्री बनी मंत्री ऊषा ठाकुर ने भी विकास दुबे एनकाउंटर पर कांग्रेस द्वारा आरोप लगाए जाने पर साक्ष्य प्रस्तुत करने को कहा है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि ऐसे मामलों में अपराधियों का दंड देने पर सभी को एक साथ होना चाहिए।   मंत्री उषा ठाकुर ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए विकास दुबे एनकाउंटर पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ये इस बात का साक्षी है कि अपराधी बख्शे नहीं जाएंगे। विकास दुबे एनकाउंटर को उन्होने सुशासन का परिचायक बताया है और कहा कि यह संवैधानिक अनिवार्यता है। वहीं उन्होने पूर्व मंत्री जीतू पटवारी द्वारा सवाल उठाए जाने पर उन्होंने कहा कि अपराधियों को दंड देने के मामले में सभी को एक साथ होना चाहिए। अगर कांग्रेस के संज्ञान में कुछ तथ्य है तो अवश्य बताएं।   इसके अलावा मंत्री ऊषा ठाकुर ने विधानसभा उपचुनाव में सांवेर सीट से प्रचंड बहुमत से जीत दर्ज करने का दावा भी किया है। वहीं मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे में हो रही देरी को सामान्य प्रक्रिया बतलाते हुए उन्होंने कहा कि विभागों के बंटवारे को लेकर चल रही खींचतान को निरर्थक बाते बताया हैं।

Dakhal News

Dakhal News 10 July 2020


bhopal, Aam Aadmi Party ,wrote letter , CM ,demanding ,general promotion ,medical students

भोपाल। आम आदमी पार्टी ने राज्य सरकार से मेडिकल छात्रों को जनरल प्रमोशन देने की मांग की है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि कोरोना महामारी के कारण प्रदेशभर में उच्च शिक्षा व तकनीकी शिक्षा के छात्रों को जनरल प्रमोशन दिया जा रहा है, लेकिन मेडिकल छात्रों को इससे दूर रखा गया है, जबकि कोरोना महामारी के दौरान मेडिकल छात्र अपनी जान कि परवाह किये बगैर अस्पतालों में अपनी सुविधाएं दे रहे हैं। उन्होंने कहा है कि विगत कई दिनों से मेडिकल छात्र अपनी समस्याओं को लेकर आम आदमी पार्टी के संपर्क में हैं। उनकी सारी समस्याओं को समझने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने मांग की है कि उच्च शिक्षा व तकनीकी शिक्षा के साथ मेडिकल छात्रों को जनरल प्रमोशन देना अनिवार्य है, क्योंकि उनकी पढ़ाई थ्योरी से ज्यादा प्रैक्टिकल होती है और सभी मेडिकल छात्र बखूबी अस्पतालों में प्रैक्टिकल का अनुभव ले रहे हैं। ऐसे में उन्हें जनरल प्रमोशन से दूर रखकर सरकार उनके साथ अन्याय कर रही है। उन्होंने मांग की है कि बिना विलम्ब प्रदेश सरकार मेडिकल छात्रों को जनरल प्रमोशन देकर छात्रों के बीच का भेदभाव खत्म करे।

Dakhal News

Dakhal News 10 July 2020


bhopal,Jeetu Patwari ,became, refuge,criminals , Shiv Raj

भोपाल। उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाश विकास दुबे की उज्जैन महाकाल मंदिर से गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस कई सवाल खड़े कर रही है। मप्र के पूर्व मंत्री और राऊ से कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने विकास दुबे की गिरफ्तारी पर सवाल उठाते हुए शिवराज सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा है कि शिवराज सरकार में मप्र अपराधियों की शरणस्थली बन गया है।   जीतू पटवारी ने विकास दुबे की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते कई गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने कहा है कि गजब का संयोग है कानपुर का अपराधी और हमारे गृहमंत्री भी कानपुर के प्रभारी थे। एक कुख्यात अपराधी को मप्र में पुलिस नही पकड़ती, पकडता है महाकाल मंदिर का गार्ड। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि मप्र में अपराधियों को समर्पण करने का सबसे सुरक्षित स्थान दिखता है। चाहे इंदौर की लूट हो, मप्र में बड़ते जगह जगह सामूहिक हत्याकांड, गोलीकांड, बलात्कार जैसे कुख्यात ममाले रोज सामने आते है। कानून व्यवस्था पूरा प्रदेश देख रहा है और सीएम वाहवाही लेने में लगे है कि विकास दुबे उज्जैन में पकड़ा गया। मैंने देखा उनका ट्वीट, शर्म आती है, अपराधियों ने मप्र को सबसे सुरक्षित समझ रहखा है।   पटवारी ने कहा कि मप्र अपराधियों की शरणस्थली बन गई है। अपराधी समर्पण करने आ रहे है, सुरक्षित महसूस करते है। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि जिस विकास दुबे को पूरे यूपी की पुलिस तलाश रही है उसे सुरक्षा गार्ड ने कैसेे गिरफ्तार किया। आखिर विकास सीमा पार कैसे कर पाया और उज्जैन में दो दिन से कैसे रहा। उन्होंने कहा कि सरकार अपना फेलियर नहीं बताएगी केवल वाहवाही लूटेंगे। शर्म आनी चाहिए सीएम शिवराज को, उन्होंने पूरे मप्र को अपराध की राजधानी बना दिया।

Dakhal News

Dakhal News 9 July 2020


bhopal,  whole matter , Home Minister ,Intelligence, arrest of Vikas Dubey

भोपाल। उत्तर प्रदेश का कुख्यात बदमाश विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है। विकास दुबे कानपुर का मोस्ट वांटेड अपराधी है और कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद से फरार था। गुरुवार सुबह महाकाल मंदिर से उसे गिरफ्तार करने में मप्र पुलिस ने सफलता हासिल की है। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस खबर की पुष्टि की है। गृहमंत्री ने बताया महाकाल मंदिर परिसर से इस खूंखार अपराधी को गिरफ्तार किया गया है। यूपी से भागने के बाद से ही प्रदेश की पुलिस को अलर्ट पर रखा गया था।   विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ज्यादा कुछ कहने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि अभी विकास दुबे मध्यप्रदेश पुलिस की कस्टडी में है। अभी गिरफ्तारी कैसे हुई इसके बारे कुछ भी कहना ठीक नहीं है। मंदिर के अंदर या बाहर से गिरफ्तारी हुई इसके बारे कहना ठीक नहीं। पूरा मामला इंटेलीजेंस से जुड़ा हुआ है, इसलिए ज्यादा कुछ भी कहना सही नहीं है। उन्होंने कहा कि आरोपित क्रुरता सारी हदें शुरू से यह पार कर रहा था। इसलिए हमने भी वारदात होने के बाद से ही पूरी मप्र पुलिस को अलर्ट पर रखा था। विकास दुबे की गिरफ्तारी मध्यप्रदेश पुलिस की बड़ी कामयाबी है।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मोस्ट वांटेड विकास दुबे के साथ उसके 2 साथी बिट्टू और सुरेश को भी उज्जैन में गिरफ्तार किया है। विकास दुबे के साथ आए दोनों साथियों की जानकारी पुलिस जुटा रही है। उन्होंने कहा कि हमने उत्तर प्रदेश पुलिस को सूचना दे दी है।  हमने पुलिस को अलर्ट कर रखा था, मध्यप्रदेश पुलिस के जांबाज चौकस थे, जैसे ही उन्हें संदेह हुआ, उसे दबोच लिया गया। मंत्री मिश्रा ने बताया कि उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से सीएम शिवराज विस्तार से चर्चा करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 9 July 2020


bhopal, Former CM, Kamal Nath, demands, high-level investigation ,Vikas Dubey

भोपाल। उत्तरप्रदेश के कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतारने वाले पांच लाख के इनामी कुख्यात अपराधी विकास दुबे को उज्जैन पुलिस ने गुरुवार सुबह उज्जैन में महाकाल मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसके दो साथियों को भी गिरफ्तार किया है। इस गिरफ्तारी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सवाल उठाये हैं और साथ ही उन्होंने इसमें किसी बड़ी साजिश की आशंका जाहिर करते हुए इस घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।पूर्व सीएम कमलनाथ ने गुरुवार को ट्वीट के माध्यम से पुलिस द्वारा की गई गिरफ्तारी सवाल उठाते हुए इसे विकास दुबे द्वारा सरेंडर करना बताया है। उन्होंने ट्वीट पर लिखा है कि -‘यूपी के कानपुर के कुख्यात गैंगस्टर, आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपित विकास दुबे के उज्जैन में महाकाल मंदिर में खुद सरेंडर करने की घटना की उच्च स्तरीय जाांच होना चाहिये। इसमें किसी बड़ी सियासी साजिश की बू आ रही है।’कमलनाथ ने अगले ट्वीट में लिखा है कि - ‘हमने हमारी सरकार में माफियाओं के खिलाफ सतत बड़ा अभियान चलाया, जिसके कारण माफिया प्रदेश छोडक़र चले गये और अब भाजपा सरकार आते ही माफिया वापस प्रदेश लौटने लगे हैं। प्रदेश माफियाओं की सुरक्षित शरणस्थली बनता जा रहा है।’उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा है कि - ‘इतने बड़े इनामी अपराधी के जिसको पुलिस रात- दिन खोज रही है, उसका कानपुर से सुरक्षित मध्यप्रदेश के उज्जैन तक आना और महाकाल मंदिर में प्रवेश करना और खुद चिल्ला- चिल्लाकर स्वयं को गिरफ्तार करवाना कई संदेह को जन्म दे रहा है, किसी संरक्षण की ओर इशारा कर रहा है, इसकी जांच होना चाहिये।’

Dakhal News

Dakhal News 9 July 2020


bhopal, Change ,meeting arrangement ,two yards, MP Vidhan Sabha

भोपाल। मध्य प्रदेश का मानसून सत्र 20 जुलाई से शुरू हो जा रहा है। पांच दिवसीय सत्र में सरकार बजट पेश करेगी। मानसून सत्र को लेकर विधानसभा में तैयारियां शुरू हो गई है। इस बार सत्र के दौरान कोरोना संक्रमण को देखते हुए सदन में बैठक व्यवस्था कुछ अलग होगी। कोरोना संक्रमण की वजह से विधानसभा में सीट की व्यवस्था को बदला जाएगा।   मानसून सत्र के दौरान विधानसभा सदन में भी सदस्य दो गज की दूरी के नियमों का पालन करते नजर आऐंगे। सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायक अपने अगल-बगल की एक सीट छोड़ कर बैठेंगे। सभी सदस्य सदन में समाहित हो सके इसके लिए अलग से भी बैठक व्यवस्था की जा रही है। प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने विधानसभा अध्यक्ष का पदभार ग्रहण करते ही कोरोना वायरस से बचाव के लिए ये कदम उठाया है। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए नई व्यवस्था की जा रही है। इस सिटिंग व्यवस्था के चलते सदन में अविभाजित मध्यप्रदेश की विधानसभा की झलक देखने को मिल सकती है।

Dakhal News

Dakhal News 8 July 2020


bhopal, first time, PC Sharma, body language, looks so weak

भोपाल। शिवराज मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही देरी पर कांग्रेस के हमले लगातार जारी है। विभाग आवंटन को लेकर कांग्रेस सरकार के अंदर घमासान का दावा कर रही है। इस बीच पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि विभाग बंटवारे को लेकर सरकार में कितनी मशक्कत चल रही है, वह सीएम को देखकर ही पता चल रहा है।   पीसी शर्मा ने बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि देश में पहली बार विधायक नही होने पर भी 14 लोगों को मंत्री बनाया गया है और 5-6 दिन से विभाग बंटवारे पर मशक्कत चल रही है। उन्होंने कहा कि पहली बार मुख्यमंत्री की बॉडी लैंग्वेज इतनी कमजोर व मजबूर स्थिति में दिख रही है। भाजपा के फैसलों पर बार- बार केंद्रीय नेतृत्व को हस्तक्षेप करना पड़ रहा है। विभागों को लेकर क्लीयरेंस नही मिल रहा है, शिवराज सिंह चौहान केंद्र के निर्देश का इंतजार कर रहे हैं।   वहीं, शत्रुघ्र सिन्हा के ट्वीट कर समर्थन करते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि भाजपा 3 गुटों में बंटी है, महाराज शिवराज और नाराज। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सौदेबाज़ी वाली सरकार है। कांग्रेस सरकार को जनता ने चुना था लेकिन भाजपा ने खरीद फरोख्त कर सरकार बना कर जनता को धोखा दिया है। पीसी शर्मा ने एक बार फिर दावा करते हुए कहा कि उपचुनाव में जनता हमें ही वोट करेगी। विधान सभा की सभी 24 में से 24 सीट हम जीतेंगे। उन्होंने कहा कि उपचुनाव में 15 महीने बनाम 15 साल का मुकाबला है। 

Dakhal News

Dakhal News 8 July 2020


ujjain, Minister Arvind Bhadauriya, Digvijay ,Kamal Nath ,Mahakal

उज्जैन। सावन मास में आम श्रद्धालुओं के साथ राजनेताओं के भी बाबा महाकाल के दरबार में पहुंचने का दौर जारी है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमा भारती और पूर्व सीएम कमलनाथ के बाद शिवराज मंत्रिमंडल में मंत्री बने अरविंद सिंह भदौरिया भी मंगलवार रात उज्जैन बाबा महाकाल का आशीर्वाद लेने पहुंचे। कैबिनेट मंत्री बनने के बाद पहली बार विधायक अरविंद सिंह भदौरिया बाबा महाकाल के दर्शन करने पहुंचे थे।   दर्शन करने के बाद मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए मंत्री भदौरिया ने कहा कि मंत्री बनने के बाद मप्र में कही भी जाने से पहले आज बाबा का आशीर्वाद लेने आया हूं। अब उपचुनाव की तैयारियों के लिए क्षेत्र में निकलूंगा। उन्होंने कहा कि मैंने बाबा महाकाल से आशीर्वाद मांगा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई में इसी प्रकार से प्रदेश का विकास होता रहे। साथ ही उन्होंने महाकाल से मप्र और देश को कोरोना से जल्द मुक्त करने की प्रार्थना की। इस दौरान उन्होंने पूर्व सीएम कमलनाथ और दिग्वियज सिंह पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा- इन सभी का एक ही उद्देश्य लूट करना था। 15 साल के भूखे ऑल मिनिस्टर इस काम में टूट पड़े थे। इससे भ्रष्ट सरकार अब तक नहीं आई।   मंत्री भदौरिया ने आरोप लगाते हुए कहा कि कमलनाथ सरकार ने सत्ता में आते ही जनता के विकास के सपनों और संबल योजना को रोका, जिन्हेंं अब शिवराज सरकार में गति मिलेगी। उन्होंने कांग्रेस पर झूठे वादे कर सत्ता हासिल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कमलनाथ की झूठी घोषणा लोगों के समझ में आ गई है। किसानों का 2 लाख का कर्ज माफ नहीं किया, बेरोजगारों को 4 हजार रुपए का भत्ता नहीं दिया।   राहुल को चुनाव के समय आती है भगवा की यादइस दौरान मंत्री भदौरिया ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल गांधी को जब चुनाव आते है तब भगवा कपड़े की याद आती है और उसे पहनकर मंदिर पहुंच जाते है। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि दिल्ली में एक डायरेक्टर बैठा हुआ है, ये बस तो एक्टर हैं। भगवान के यहां एक्टिंग नहीं चलती है, यहां आत्मा को भगवान से जुडऩा चाहिए। शिवराज और सिंधिया को में से टाइगर कौन पूछे जाने पर मंत्री भदौरिया ने कहा कि शिवराज ने दिखा दिया कि टाइगर अभी जिंदा है। एक और टाइगर ज्योतिरादित्य सिंधिया आए हैं। उन्होंने सडक़ पर सबको मारकर दिखा भी दिया। मप्र में बूथ के जो कार्यकर्ता हैं वे भी किसी टाइगर से कम नहीं हैं।

Dakhal News

Dakhal News 8 July 2020


bhopal, CPI ,wrote letter, CM , ban on plunder, pulses growing farmers

भोपाल। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने दलहन उत्पादक किसानों के साथ मंडियों में हो रही लूट पर रोक लगाने की मांग की है। पार्टी के राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि वे इस मामले में हस्तक्षेप कर यह व्यवस्था करें कि यदि किसानों को लाभकारी दाम नहीं तो कम से कम सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य तो मिल ही सके।   माकपा राज्य सचिव ने पत्र के माध्यम से मुख्यमंत्री को बताया है कि राज्य की मंडियों में 4825 रुपये प्रति क्विंटल वाला चना 4200 रुपये बिक रहा है। इसी तरह 7196 रुपये प्रति क्विंटल वाली मूंग 6400 रुपये, 6000 रुपये एमएसपी वाली तुअर 5550 रुपये और इसी भाव वाली उड़द 5700 रुपये, जबकि 4800 रुपये प्रति क्विंटल वाली मसूर 4000 रुपये प्रति क्विंटल की दर से बिक रही है। माकपा ने मुख्यमंत्री से कहा है कि मंडी माफियाओं, बिचोलियों और प्रशासन के गठजोड़ के बिना यह लूट संभव ही नहीं है। सिर्फ सरकार की राजनीतिक इच्छाशक्ति से ही इस गठजोड़ को तोडक़र किसानों की लूट को रोका जा सकता है।   माकपा राज्य सचिव ने कहा है कि यह महज संयोग भी हो सकता है कि उनके सत्ता संभालने के साथ ही लॉकडाउन से पैदा हुए हालात से पहले सरसों उत्पादक किसानों की लूट हुई, फिर गेहूं उत्पादक किसान को लूटा गया, मक्का उत्पादक किसानों को तो एमएसपी से आधे से भी कम दाम पर मक्का बेचना पड़ा। सब्जी और फल उत्पादक किसान तो इस दौरान बर्बादी की कगार पर पहुंच गए हैं। इसी श्रंखला में अब दलहन उत्पादक किसानों की लूट शुरू हो गई है। जसविंदर सिंह ने मुख्यमंत्री की मांग की है कि वे तुरंत प्रभावी हस्तक्षेप कर किसानों की लूट रोकने की ठोस व्यवस्था करें।

Dakhal News

Dakhal News 7 July 2020


bhopal,minister ,former minister,pro tem speaker inspected, meeting arrangement, house

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र आगामी 20 जुलाई से शुरू होने वाला है। इस पांच दिवसीय सत्र में पांच बैठकें होंगी। विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा, गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा और पूर्व मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने विधानसभा मंगलवार को विधानसभा भवन पहुंचकर सदन की बैठक व्यवस्था का जायजा लिया। इस अवसर पर विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह और अन्य कर्मचारी-अधिकारी मौजूद रहे।   इस दौरान प्रोटेम स्पीकर, मंत्री मिश्रा और पूर्व मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह के साथ बैठकर करके कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर विचार-मंथन किया। बताया गया है कि कोरोना के चलते विधानसभा में मानसून सत्र के दौरान सीमित संख्या में लोगों को सदन में जाने की अनुमति और दो गज की दूरी के नियम का पालन करने को लेकर बातचीत हुई। 

Dakhal News

Dakhal News 7 July 2020


bhopal, CM Shivraj ,former Chief Minister , Kailash Joshi, statue unveiled

देवास। पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कैलाश जोशी की प्रतिमा का अनावरण मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा आगामी 14 जुलाई को हाटपीपल्या में किया जाएगा। प्रतिमा अनावरण स्थल पर पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कैलाश जोशी की स्मृति में एक स्मारक बनाया जा रहा है, जिसमें उनकी आदमकद प्रतिमा लगाई जाएगी, ऑडिटोरियम हॉल, लाइब्रेरी और पार्क भी बनाया जाएगा। देवास कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला ने मंगलवार को हाटपीपल्या पहुंचकर प्रतिमा अनावरण स्थल पर चल रही तैयारियों का जायजा लिया। इस अवसर पर डीआईजी मनीष कपूरिया, पुलिस अधीक्षक डॉ. शिवदयाल सिंह, जिला पंचायत सीईओ शीतला पटले, एसडीएम अरविंद चौहान सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।   निरीक्षण के दौरान कलेक्टर शुक्ला ने निर्देश दिए कि पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कैलाश जोशी की प्रतिमा अनावरण स्थल की सभी तैयारियां शीघ्र पूरी कर ली जाएं। अधिक बारिश को दृष्टिगत रखते हुए तैयारी करने के निर्देश दिये। बारिश का पानी बह कर पांडाल में नहीं आये उसकी भी व्यवस्था करने निर्देश दिए। अतिथियों एवं आम लागों को सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए बैठक व्यवस्था तैयार की जा रही है। अनावरण स्थल पर वाटर प्रूफ डोम लगाया जा रहा है। प्रतिमा अनावरण स्थल पर दो एलईडी स्क्रीन पर लाइव प्रसारण भी होगा।   निरीक्षण के दौरान कलेक्टर शुक्ला ने हैलीपेड स्थल का निरीक्षण किया तथा निर्देश दिए कि हैलीपेड स्थल को शीघ्र व्यवस्थित रूप से तैयार किया जाएं। उन्होंने हैलीपेड से कार्यक्रम स्थल तक के मार्ग को दुरूस्त करने के निर्देश भी संबंधित विभाग को दिए। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि 12 जुलाई तक कार्य पूरा कर लिया जाए।

Dakhal News

Dakhal News 7 July 2020


harda, Agriculture Minister Patel, honored ,students, state merit list

हरदा। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा घोषित कक्षा दसवीं के परीक्षा परिणाम में हरदा जिले के 4 बच्चों ने राज्य प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त किया है। सोमवार को इन विद्यार्थियों का सम्मान समारोह कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित प्रदेश के किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने चारों विद्यार्थियों को शुभकामनाएं तथा आशीर्वाद देते हुए कहा कि हम सबको आप पर गर्व है।   उन्होंने कहा कि हरदा जिले के विद्यार्थी प्रतिवर्ष बोर्ड परीक्षाओं में अच्छा प्रदर्शन करते हैं। इस वर्ष चार विद्यार्थी राज्यस्तरीय प्रावीण्य सूची में आए है। यह पूरे जिले के लिए गौरव की बात है। उन्होंने चारों विद्यार्थियों-मुस्कान बघेल, शिवांश गुर्जर, प्रगति गुर्जर एवं आदित्य सिंह राजपूत को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया तथा उनके अभिभावकों एवं शिक्षकों को भी बधाई दी। उन्होंने चारों विद्यार्थियों को 21-21 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा की।     इस अवसर पर मंत्री पटेल ने कहा कि हरदा जिले का गठन हुए 21 वर्ष हो चुके हैं। मेरा सपना है कि हमारा जिला हर क्षेत्र में नम्बर वन बने। इसके लिए हम लगातार प्रयास कर रहे हैं। जिले में कृषि महाविद्यालय  अवश्य प्रारम्भ करेंगे। जिले को शत-प्रतिशत सिंचित भी करेंगे। इस अवसर पर टिमरनी विधायक संजय शाह, कलेक्टर अनुराग वर्मा, पुलिस अधीक्षक मनीष कुमार अग्रवाल, जिला पंचायत सीईओ दिलीप कुमार यादव, भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष  अमरसिंह मीणा सहित प्रशासनिक अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 6 July 2020


bhopal,Jitu hit back, Shivraj, people ,teach lessons, man-eating tigers

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजनीति में पूर्व केन्द्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का ‘टाइगर अभी जिंदा है’ वाले बयान को लेकर मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बयान के चलते वे मीडिया की सुर्खियों में छाए हुए हैं। वहीं, ट्वीटर-फेसबुक पर लोग उन्हें जमकर ट्रोल भी कर रहे हैं और विपक्षी पार्टी के नेता उन पर पलटवार कर रहे हैं। इसी क्रम में अब कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने टाइगर वाले बयान पर सीएम शिवराज पर निशाना साधा है। यहां तक कि उन्होंने उन्हें आदमखोर टाइगर की संज्ञा तक दे दी है और कहा है कि जनता उन्हें सबक सिखाएगी।   बता दें कि बीते दिनों भोपाल में सिंधिया ने भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए ‘अभी टाइगर जिंदा है’ वाला बयान दिया था। इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी ऐसा ही बयान दे चुके हैं। टाइगर वाले इन बयानों को लेकर बीते तीन दिनों से मध्यप्रदेश की राजनीति गरमाई हुई है। सोमवार को कांग्रेस विधायक और मप्र के मीडिया विभाग के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने शिवराज पर निशाना साधते हुए ट्वीट के माध्यम से प्रदेश सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मंत्रियों के विभाग बंटवारे को लेकर सीएम दर-दर भटक रहे हैं।    उन्होंने कहा है कि लोकतंत्र का चीरहरण कर पीछे के रास्ते से मुख्यमंत्री बने, 100 दिन बाद पूरा मंत्रिमंडल बनाया, लेकिन आज तक विभाग का बंटवारा नहीं कर पाए और अपने आप को टाइगर कहते है..। हरकत तो सियार जैसी करते हैं! लोकतंत्र के इन "आदमखोर" टाइगरों को जनता सबक सिखायेगी। जीतू पटवारी ने कुछ ट्रेनों को निजी हाथों में सौंपे जाने को लेकर केन्द्र सरकार पर भी निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट पर लिखा है कि - ‘मोदी जी, बुलेट ट्रेन के सपने दिखाकर हमारी ट्रेनें भी बेच दी? जनता टैक्स सरकारी दे! बाकी सब प्राइवेट! मोदी जी जय हो!

Dakhal News

Dakhal News 6 July 2020


bhopal,Modi government, fulfilling, Dr. Mukherjee,dream.

भोपाल। भारतीय जनसंघ के संस्थापक, राष्ट्रवादी चिंतक डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जयंती पर सोमवार को भोपाल स्थित भाजपा प्रदेश कार्यालय में डॉ. मुखर्जी की प्रतिमा पर प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत सहित पदाधिकारियों ने पुष्पांजलि अर्पित कर उनका पुण्य स्मरण किया। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि प्रखर राष्ट्रवादी विचारक और भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने एक देश में दो विधान, दो प्रधान और दो निशान नहीं चलेंगे का नारा दिया और कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाने के लिए अपने प्राणों की आहूति दे दी। लोग कहते थे कि धारा 370 को हटाना सिर्फ एक नारा है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने आज डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के सपने और संकल्प को साकार करके दिखाया। ऐसे महान राष्ट्रभक्त व अमर शहीद डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की जयंती पर हम उनके चरणों में कोटि-कोटि वंदन करते हैं।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि डॉ. मुखर्जी का सम्पूर्ण जीवन त्याग व राष्ट्र समर्पण से परिपूर्ण रहा है जो हम सभी के लिए प्रेरणास्त्रोत है। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार डॉ. मुखर्जी के सपनों को साकार कर भारत को विश्व गुरू बनाने का सफल प्रयास कर रही है। डॉ. मुखर्जी के जयंती के अवसर पर भाजपा का हर एक कार्यकर्ता संकल्पित है और हम अपने देष की एकता और अखंडता के लिए सर्वस्व न्यौछावर करेंगे।   इस अवसर पर प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर, प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी, जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी, पूर्व विधायक सुरेन्द्रनाथ सिंह, ध्रुवनारायण सिंह, पूर्व महापौर आलोक शर्मा, डॉ. हितेष वाजपेयी, शैलेन्द्र शर्मा, शैतानसिंह पाल, सुधीर जाचक, सुनील यादव, लिली अग्रवाल, अशोक सैनी, प्रकाश मीरचंदानी, आलोक शर्मा, बसंत गुप्ता, सतीश विश्वकर्मा, केवल मिश्रा, मुकुल लोखण्डे, उत्कर्ष नायक, सुषमा बबीसा, राजकुमार विश्वकर्मा, प्रमोद शर्मा, भगवत रघुवंशी, किशन रघुवंशी, सुमित औरछा, नित्यानंद शर्मा सहित पार्टी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 6 July 2020


bhopal,Senior BJP leader, tweet ,headlines raised questions , virtual rally

पन्ना। मंत्रिमंडल विस्तार में पार्टी की उपेक्षा के बाद नाराज पूर्व मंत्रियों और नेताओं मेें बयानबाजी तेज हो गई है। विधानसभा चुनाव के समय भाजपा ने पन्ना से पूर्व मंत्री कुसुम मेहदेले का टिकट काट दिया था। जिसके बाद वरिष्ठ नेत्री पार्टी से नाराज चल रही थी। वहीं अब एक बार फिर सोशल मीडिया के माध्यम से उनकी नाराजगी सामने आई है।   दरअसल कुसुम महदेले ने रविवार को ट्वीट कर अपने पार्टी के एक कार्यक्रम वर्चुअल रैली पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। उन्होंने अपने ट्वीट कर कहा है कि वर्चुअल और एक्चुअल में बहुत अंतर है। पूर्व मंत्री के ट्वीट के अब कई मायने भी लगाए जा रहे हैं। वर्चुअल और एक्चुअल में जमीन आसमान जैसा अन्तर है। जो कुछ भी वर्चुअल हो रहा है वह सब हवा हवाई ही है। कुसुम महदेले का ट्वीट मंत्रिमंडल विस्तार के बाद आया है। हालांकि इस बार बृजेंद्र प्रताप सिंह को पन्ना विधान सभा से टिकट दिया गया और उन्हें कैबिनेट मंत्री भी बनाया गया है। कुसुम महदेले की अपनी टिकट कटने और फिर इस क्षेत्र से मंत्रिमंडल में स्थान दिए जाने के बाद ट्वीट सामने आया है।

Dakhal News

Dakhal News 5 July 2020


bhopal, Big statement , former minister ,made serious allegations , land grab , Scindia

भोपाल। कैबिनेट विस्तार के बाद अब विभागों के बंटवारे को लेकर सीएम शिवराज को माथापच्ची करनी पड़ रही है। विभागों के बंटवारे में हो रही खींचतान पर चर्चा के लिए सीएम शिवराज रविवार को दिल्ली रवाना हो गए है। वहीं अब कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता गोविंद सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने कहा कि सिंधिया हमेशा अपना दबाव बनाए रखना चाहते हैं। पूर्व मंत्री ने सरकार से सिंधिया समर्थकों को राजस्व विभाग नहीं देने की अपील की है।   पूर्व मंत्री गोविंन्द सिंह ने रविवार को मीडिया से बातचीत करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि सिंधिया समर्थकों को राजस्व के विभाग न दिया जाए, क्योंकि सिंधिया परिवार सरकारी जमीनें हड़पने का काम करता है। गोविंद सिंह ने दावा करते हुए कहा कि ग्वालियर में भी शासकीय जमीन पर भी गजट नोटिफिकेशन के बावजूद सिंधिया ने परिवार और ट्रस्ट के नाम गलत तरीके से किये। राजस्व विभाग में सिंधिया के लोग रहेंगे तो प्रदेश की महत्वपूर्ण जमीन हड़प ली जाएंगी। सिंधिया पर गंभीर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि ग्वालियर में आज भी कई जमीनों पर सिंधिया का कब्जा है और न्यायलय में विवाद चल रहा है।   सीएम शिवराज पर तंज कसते हुए गोविंद सिंह ने कहा कि शिवराज में हिम्मत है तो शिवपुरी, ग्वालियर, गुना में जो विवादित ज़मीन है इसकी जांच कराये। सिंधिया परिवार दोनों दलों में मिला रहता है और जमीन हड़पते हैं। वहीं सीएम शिवराज के दिल्ली दौरे पर उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि जहां उनके पैर पढ़ेंगे बंटाधार होगा, सिंधिया हमेशा सरकार को अपने दबाव में रखना चाहते हैं।   मुकुल वासनिक के साथ होगी चुनाव पर चर्चाउपचुनाव का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि मुकुल वासनिक के साथ चुनाव को लेकर चर्चा की जाएगी। भाजपा अभी केवल विभागों के बंटवारे में लगी हुई है। भाजपा की दुर्दशा हो रखी है, भाजपा सांपों का गठोरा है। मंदसौर गोलीकांड के केस वापस लिए थे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं और किसानों पर केस लगे थे, जो कुछ केस रह गए थे उन पर कार्रवाई चल रही थी। उन्हें शिवराज सरकार ने निरस्त कर दिया है।  

Dakhal News

Dakhal News 5 July 2020


bhopal,Congress termed, Rameshwar Sharma, appointment, Protem Speaker invalid

भोपाल। मप्र विधानसभा का मानसून सत्र 20 जुलाई से शुरू होने जा रहा है। सत्र शुरू होने से पहले विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पर की नियुक्ति होनी है। प्रोटेम स्पीकम जगदीश देवड़ा के मंत्रिमंडल में शामिल होने के बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा को विधानसभा का प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया है। वहीं अब कांग्रेस ने प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति पर सवाल उठाए हैं और नियुक्ति को अवैधानिक बताया है।   वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष जेपी धनौपिया ने रामेश्वर शर्मा के प्रोटेम स्पीकर पद पर नियुक्ति पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने रविवार को अपने बयान में कहा है कि प्रदेश में भाजपा द्वारा सभी लोकतांत्रिक परम्पराओं को दर किनार किया जा रहा है, क्योंकि प्रोटेम स्पीकर उस विधायक को बनाया जाता है जो वरिष्ठ हो और पिछले पाँच साल के कार्यकाल में स्पीकर की पेनल में उसने काम किया हो।    उन्होंने कहा कि रामेश्वर शर्मा इस मापदंड में कहीं नहीं हैं, ऐसे में उनकी नियुक्ति अवैध है जिसे तत्काल निरस्त किया जाना चाहिये। उन्होंने जगदीश देवड़ को मंत्री पद पर नियुक्त किए जाने को भी गलत बताते हुए कहा कि इसी तरह जगदीश देवडा की मंत्री पद पर नियुक्ति भी सरासर ग़लत है क्योंकि प्रोटेम स्पीकर की किसी अन्य पद पर नियुक्ति हो ही नहीं सकती जबकि देवड़ा ने 2 जुलाई को सुबह 11 बजे मंत्रिपद की शपथ ले ली और शाम को 4 बजे प्रोटेम स्पीकर के पद से त्यागपत्र दिया है। जेपी धनौपिया ने कहा कि इस घटना क्रम की सर्व दलीय कमेटी गठित कर जाँच कराना चाहिये और तत्काल मंत्रिपद से हटाना चाहिये। जिससे प्रदेश में लोकतंत्र की रक्षा हो सके।

Dakhal News

Dakhal News 5 July 2020


balaghat,Former MP, Kankar Munjare ,arrested, wife makes, serious allegations, against police

बालाघाट। मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले से सपा के पूर्व सांसद कंकर मुंजारे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वहीं पत्नी अनुभा मु्ंजारे ने पुलिस टीम पर अभद्रता से गिरफ्तार करने का आरोप लगाया है। शनिवार सुबह सुबह 7 बजे अचानक पुलिस कंकर मुंजारे के घर पहुंची और उन्हें हिरासत में ले लिया। मुंजारे पर खैरलांजी के गुनई रेतघाट में मारपीट करने का आरोप है। इसी मामले में पुलिस ने कंकर मुंजारे को गिरफ्तार किया है।   जानकारी अनुसार मुनई रेत घाट पर रेत ठेकेदार के कर्मचारियों के साथ मारपीट किए जाने के मामले में खैरलांजी पुलिस ने पूर्व सांसद मुंजारे के विरुद्ध प्रकरण दर्ज किया था। खैरलांजी के वार्ड क्रमांक 18 निवासी अजय पुत्र शंकर लिल्हारे ने पूर्व सांसद द्वारा साथियों के साथ गुनई रेत खदान में कर्मचारियों के साथ मारपीट के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। प्रकरण के अनुसार रेत ठेकेदार राजेश पाठक के निर्देश पर अजय गुनई रेत घाट तक जाने अपनी मशीन से मार्ग बना रहा था। तभी मुंजारे अपने साथियों के साथ वहां पहुंचे और गाली गलौच करते हुए काम रोक दिया और मारपीट भी की। पुलिस ने शिकायतकर्ता अजल लिल्हारे की रिपोर्ट पर पूर्व सांसद एवं साथियों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है।  

Dakhal News

Dakhal News 4 July 2020


bhopal, Former minister, statement ,farmer committing suicide , celebrating cabinet expansion

इंदौर। मप्र में शिवराज सरकार के 100 दिन पूरे होने के बाद आखिरकार मंत्रिमंडल का गुरुवार को विस्तार हो गया। इसमें 20 कैबिनेट और 8 राज्यमंत्री मंत्री बनाए गए। कैबिनेट में भाजपा के 12, सिंधिया गुट के 5 और कांग्रेस छोडक़र आए 3 नेताओं को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई। मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर विपक्ष के हमले तेज हो गए है। कांग्रेस नेता लगातार मंत्रिमंडल को लेकर बयानबाजी कर रहे हैं। इस बीच पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने भी शिवराज सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा- आप मंत्रिमंडल विस्तार का जश्न मना रहे हो। इधर, किसान खुदकुशी कर रहा है। कर्जमाफी योजना को बंद करना पाप है।   पूर्व मंत्री वर्मा ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा कि मध्य प्रदेश के असफल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आप भोपाल में बैठकर मंत्रिमंडल विस्तार का जश्न मना रहे हो... उधर, आज सोनकच्छ विधानसभा के अभयपुर गांव के किसान नरेंद्र सिंह सेंधव ने खेत में पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। कांग्रेस की कमलनाथ सरकार की कर्जमाफी योजना को बंद करके जो पाप आपने अपने सिर पर लिया है, इसके लिए मप्र का किसान आपको कभी माफ नहीं करेगा। गौरतलब है कि पूर्व सीएम कमलनाथ, कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी समेत तमाम कांग्रेस नेता शिवराज मंत्रिमंडल पर  सवाल उठा चुके हैं। 

Dakhal News

Dakhal News 2 July 2020


bhopal,Minister, Pradyumna Singh Tomar ,not wear shoes , slippers ,even now

भोपाल, 02 जुलाई (हि.स.)। कभी खुद फावड़ा लेकर नालों की सफाई करने वाले तो कभी सडक़ और शौचालयों की सफाई करने वाले वरिष्ठ नेता प्रद्युमन सिंह तोमर ने शिवराज कैबिनेट में जगह हासिल कर ली है। गुरुवार को हुए कैबिनेट विस्तार में प्रद्युमन सिंह तोमर ने भी मंत्री पद की शपथ ली। इस दौरान खास बात यह रही कि प्रद्युमन सिंह ने मंत्री पद मिलने के बाद भी जूते-चप्पल नहीं पहने और नंगे पैर शपथ ली।    ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक प्रद्युम्न सिंह तोमर शिवराज मंत्रिमंडल में शामिल हो गए हैं। गुरुवार को शिवराज के मंत्रिमंडल विस्तार में सिंधिया समर्थक जो 9 नेता मंत्री पद की शपथ ली, उनमें प्रद्युम्न सिंह तोमर का नाम भी शामिल हैं। शपथ ग्रहण में प्रद्युमन सिंह बिना जूते चप्पल पहने पहुंचे, उन्होंने शपथ भी नंगे पैर ही ली। मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने बताया कि 'मैं ने अपने क्षेत्र में पेयजल और स्वच्छता संबंधी काम पूरा करने तक नंगे पैर रहने का संकल्प लिया है। इसलिए जब तक वह काम पूरे नहीं हो जाते मैं जूते-चप्पल नहीं पहनूंगा। आगे उन्होंने कहा कि 100 दिन में हमारी सरकार ने काफी काम किए हैं। मेरे क्षेत्र में भी 2530 परसेंट काम बाकी है। पूरा होने पर जूते-चप्पल धारण करूंगा। गौरतलब है कि तोमर लगभग पिछले तीन महीने से जूते-चप्पल त्यागकर नंगे पांव रह रहे हैं। वह नंगे पांव ही क्षेत्रवासियों के बीच जाते हैं और उनकी समस्याएं सुनते हैं।  

Dakhal News

Dakhal News 2 July 2020


bhopal, personally saddened ,many senior ,BJP MLAs,Shivraj cabinet, Kamal Nath

भोपाल। मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल का आज विस्तार हो गया है। सीएम शिवराज और सिंधिया समर्थकों को मिलाकर कुल 28 मंत्रियों ने पद की शपथ ली। जिसमें 20 कैबिनेट स्तर के और 8 राज्य स्तर के मंत्री हैंं। मंत्रिमंडल विस्तार पर मप्र के पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सरकार को शुभकामनाएं दी है। साथ ही मंत्रिमंडल में वरिष्ठ भाजपा विधायकों को दरकिनार किए जाने पर खेद भी जताया है।   कमलनाथ ने ट्वीट कर प्रदेश सरकार के आज के मंत्रिमंडल के गठन पर मै सभी नवीन मंत्रियो को बधाई व शुभकामनाएँ देता हूँ और उम्मीद करता हूँ कि प्रदेश के विकास में सभी मिल जुलकर कार्य करेंगे और प्रदेश के विकास में सहभागी बनेंगे। एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने कहा ‘आज के मंत्रिमंडल के गठन में कई योग्य , अनुभवी , निष्ठावान भाजपा के वरिष्ठ विधायकों का नाम नहीं पाकर मुझे व्यक्तिगत तौर पर बेहद दु:ख भी है।   गौरतलब है कि सिंधिया समर्थकों को मंत्रिमंडल में शामिल करने की वजह से इस बार भाजपा के कई वरिष्ठ विधायकों और पूर्व मंत्रियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। जिनमें सुरेन्द्र पटवा, राजेन्द्र शुक्ला, रामपाल, गौरीशंकर बिसेन और संजय पाठक के नाम शामिल हैंं।

Dakhal News

Dakhal News 2 July 2020


bhopal,BJP MLA, defeated Corona, second report ,came negative

भोपाल। मध्य प्रदेश के मंदसौस जिले की जावद विधानसभा सीट से भाजपा विधायक ओमप्रकाश सकलेचा ने कोरोना को मात दे दी है। मंगलवार देर शाम को विधायक और उनकी पत्नी की दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आई है। जिसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।   गौरतलब है कि भाजपा विधायक ओमप्रकाश सखलेचा कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। विधायक सखलेचा के साथ ही उनकी पत्नी भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी। जिन्हें भोपाल के कोविड-19 चिंहित चिरायु अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। बहरहाल इलाज के बाद दोनों स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। इससे पहले कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी और रीवा जिले के सिरमौर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक दिव्यराज सिंह कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। राज्यसभा चुनाव में वोटिंग करने वाले भाजपा विधायक के कोरोना पॉजिटिव होने के तुरंत बाद पार्टी के 5 विधायकों ने भोपाल के जेपी अस्पताल में कोविड-19 की जांच कराई थी जिसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी।  

Dakhal News

Dakhal News 1 July 2020


neemuch, Fort Corona ,campaign started , presence ,MLA ,Collector

नीमच। जिले में किल कोरोना अभियान का शुभारंभ जिले के जनप्रतिनिधि, जिला कलेक्टर एवं अधिकारियो की उपस्थिति में बुधवार को विजय टाकिज चौराहे से किया गया। नीमच में 15 जुलाई 2020 तक किल कोरोना अभियान कोरोना के संक्रमण की चेन को तोडऩे के उद्देश्य से शुरू किया है। कलेक्टर जितेन्द्र सिंह राजे की उपस्थिति में स्वास्थ विभाग, महिला बाल विकास विभाग, पुलिस प्रशासन एवं जनप्रतिनिधि ने इस शुभारम्भ समारोह में सम्मिलित होकर इस अभियान में सभी से सहयोग करने और इस अभियान का हिस्सा बनने की अपील की।   कलेक्टर जितेन्द्रसिंह राजे ने सभी से सामाजिक दूरी का पालन करने, मास्क का उपयोग अनिवार्य करने, और अभियान में सर्वे दलों का सहयोग की सभी से अपील की। सीएमएचओ डॉ महेश मालवीय द्वारा किल कोरोना अभियान के बारे में विस्तृत जानकारी दी। विधायक दिलीप सिंह परिहार ने सभी सर्वे दलों का उत्साह वर्धन किया और नीमच को कोरोना मुक्त करने में सहयोग की सभी से अपील की।   मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ महेश मालवीय ने बताया कि जिले में कुल 151 सर्वे दलों में 115 ग्रामीण और 36 शहरी क्षेत्र में कार्य करेंगे और 27 मोबाइल हेल्थ टीम भी इनका सहयोग करेगी। जिले में 1 से 15 जुलाई तक घर घर सर्वे करेंगे। इस अभियान में स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा, आंगनवाडी कार्यकत्र्ता भ्रमण के दोरान कोरोना संभावित जेसे लक्षण दिखने पर,सारी,आई एल आई प्रकरण, बुखार,सर्दी खांसी, डेंगू मलेरिया जाँच,उनकी रिकार्ड संधारण करने,और सार्थकएप्प पर एंट्री करेंगे। आवश्यकता लगने पर स्पेशल फीवर क्लिनिक पर सेम्पल लेने की प्रक्रिया,मोबाइल यूनिट द्वरा सम्बद्ध सेक्टर में कोरोना सेम्पलिंग की जायेगी।    कल कोरोना अभियान शुभारम्भ के अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक मनोजकुमार राय, जिला पंचायत सीईओ भव्या मित्तल, जिला पंचायत अध्यक्ष अवन्तिका मेहरसिंह जाट ने सर्वे दलों का उत्साहवर्धन किया और कोई घर सर्वे से वंचित न रहे, इस संबंध में निर्देश दिए।

Dakhal News

Dakhal News 1 July 2020


sehdol, BJP MLA ,Sharad Cole ,tie the knot,family program

शहडोल। जिले के ब्यौहारी विधानसभा सीट से भाजपा के युवा विधायक शरद कोल आज परिणय सूत्र में बंधने जा रहे है। कोरोना वायरस के चलते आज मंगलवार को वे एक साधारण से पारिवारिक कार्यक्रम में अपनी जीवनसंगिनी के साथ सात फेरे लेंगे। दो जुलाई को प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान भी नव दंपति को आशीर्वाद देने जाएंगे।   इससे पहले बीती 28 तारीख को विधायक शरद कोल का तिलक समारोह संपन्न हुआ था। इसके बाद आज ब्यौहारी स्थित उनके निवास से ब्यौहारी विकास खंड के ही ग्राम रसपुर में उनकी बारात जाएगी। लॉकडाउन और कोरोना वायरस के कारण केंद्र सरकार द्वारा पूरे देश में बड़े कार्यक्रमों, जुलूस तथा अन्य समारोहों को प्रतिबंध किया गया है। ऐसे में विधायक शरद कोल का विवाह बड़े ही साधारण कार्यक्रम में संपन्न होगा। मुहूर्त होने और पारिवारिक कारणों के चलते विधायक शरद कोल ने अपना विवाह स्थगित नहीं किया। उनके परिवार ने नियमों के तहत पूरी शांति और शासन की गाइडलाइन के अनुसार न्यूनतम संख्या में बारातियों को के साथ वैवाहिक कार्यक्रम संपन्न करने करना तय किया। जिसके बाद आज शाम को दोनों ही परिवारों के खास रिश्तेदारों के साथ बरात रसपुर जाएगी। बताया यह भी जा रहा है कि 2 जुलाई को सीएम शिवराज सिंह चौहान भी नव युगल को आशीर्वाद देने ब्यौहारी आ सकते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 June 2020


bhopal, PC Sharma, battle, become CM ,BJP, bypassing senior leaders, PC Sharma

भोपाल। मध्य प्रदेश की सियासत में इन दिनों कैबिनेट विस्तार को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। वहीं आपसी सहमति नहीं बन पाने के कारण लगातार मंत्रिमंडल विस्तार टलता जा रहा है। मंत्रिमंडल विस्तार में हो रही देरी के लिए कांग्रेस सरकार पर सवाल खड़े कर रही है। पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कैबिनेट विस्तार को लेकर हो रही देरी पर बड़ा बयान दिया है।   पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने मंत्रिमंडल विस्तार पर बयान देते हुए भाजपा पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि भाजपा में आपस में मुख्यमंत्री बनने की लड़ाई चल रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा में वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार किया जा रहा है और खरीद फरोख्त में शामिल नेताओं को महत्व दिया जा रहा है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा में सत्ता की लोलुपता इतनी है कि अपने प्रदेश के राज्यपाल का भी इंतजार नहीं कर रहे कि वह ठीक हो कर आ जाए। किराए का राज्यपाल लेकर आ रहे हैं। पीसी शर्मा ने दावा करते हुए कहा है कि भाजपा में उथल पुथल चल रही है और इसके प्रभाव 20 जुलाई को सत्र के दौरान देखने को मिलेगा, जब कई परिस्थिति बदलेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा का एक ही मकसद है, पॉवर में आना और जनता पर महंगाई की भार डालना। उनचुनाव में भी जीत का दावा करते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की सत्ता वापसी होगी ये तय है बस समय लगेगा। क्योंकि ये चुनी हुई सरकार नहीं खरीदी हुई है।    

Dakhal News

Dakhal News 30 June 2020


bhopal,Kamal Nath, dead body, shed river,lack of money

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार प्रदेश में गरीब के घर जन्म से लेकर मृत्यु होने पर तक गरीबों को मदद का दावा करती है, लेकिन हालात इससे विपरित ही नजर आते हैं। मजबूर गरीब जरूरत के समय भी खाली हाथ होता है और फिर सामने आते है मानवता को शर्मसार करने वाले दृश्य। ताजा मामला मप्र के सीधी जिले का है, जहां एक गरीब आदिवासी परिवार को अपने घर की एक सदस्य की मौत हो जाने पर अंतिम संस्कार करने के लिए पैसे नहीं होने पर शव को हाथ ठेला गाड़ी से 12 किमी दूर ले जाकर सोन नदी में बहाना पड़ा। इस पूरे मामले पर मप्र के पूर्व सीएम कमलनाथ ने सरकार पर जमकर हमला बोला है।   कमलनाथ ने मंगलवार सुबह ट्वीट कर इस पूरे घटनाक्रम पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि शिवराज जी, जब आप विपक्ष में थे तो गऱीबों के अंतिम संस्कार को लेकर खूब दावे करते थे और कांग्रेस को खूब झूठा कोसते थे। आज आप सत्ता में है। आपकी सरकार की सच्चाई जान ले। सीधी जिले में एक आदिवासी परिवार की युवती की मृत्यु होने पर परिवार को माँगने पर ना शव वाहन मिला और ना अंतिम संस्कार के लिये आर्थिक मदद। पैसे नहीं होने पर, मजबूरी में परिवार ने शव को ठेले पर ले जाकर नदी में बहा दिया।   कमलनाथ ने सरकार पर तंज कसते हुए दोषियों पर कड़ी कार्रवाई और पीडि़त परिवार की मदद की मांग कर कहा कि कहाँ गयी आपकी अंतिम संस्कार की योजना? मानवता को शर्मशार करने वाली इस ह्रदय विदारक घटना पर तत्काल दोषियों पर कड़ी कार्यवाही हो, परिवार की हर संभव मदद हो।   यह है पूरा मामला  दरअसल सीधी जिले के कोटहा मोहल्ला निवासी रामाअवतार कोल की बहन 19 वर्षीय राधा कोल की उपचार के दौरान जिला अस्पताल में मौत हो गई। किंतु शव को घर तक ले जाने के लिए जिला चिकित्सालय या नगर पालिका प्रशासन द्वारा शव वाहन नही उपलब्ध कराया गया। इतना ही नहीं शव को कंधा देने के लिए चार लोग भी एकत्रित नहीं हो पाए, इसलिए मृतक के भाई के द्वारा तीन पहिया ठेले का जुगाड़ कर शव को घर ले जाने के वजाय करीब 12 किलोमीटर की दूरी तय कर सोन नदी ले गया। शव को नदी में बहा दिया गया।

Dakhal News

Dakhal News 30 June 2020


bhopal,Pragya Thakur ,hit back , controversial statement

भोपाल। अपने विवादित बयानों से मीडिया की सुर्खियां में छाए रहने वाली भोपाल से भाजपा की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बीते रोज कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर विवादित बयान दे दिया था। अब इस बयान को लेकर कांग्रेस ने पलटवार किया है। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कहा है कि प्रज्ञा ठाकुर साध्वी नहीं, बल्कि वह केवल साध्वी होने का ढोंग करती हैं।   दरअसल, साध्वा प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने रविवार को दक्षिण-पश्चिम व उत्तर विधानसभा के 8 मंडलों के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने कहा था कि कांग्रेस में न तो सभ्यता है और न ही संस्कार, राष्ट्रभक्ति कहां से आएगी। उनकी तो दो देशों की सदस्यता है। उन्होंने राहुल गांधी की राष्ट्रभक्ति पर सवाल उठाते हुए कहा कि विदेशी महिला के गर्भ से पैदा हुआ व्यक्ति राष्ट्रभक्त हो ही नहीं सकता।   पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने सोमवार को भोपाल में मीडिया से बातचीत में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर पलटवार करते हुए कहा कि साध्वी ने राहुल के बारे में जिन शब्दों का प्रयोग किया गया है, वह निंदनीय है। उन्हें शायद पता नहीं है कि राहुल की पांच पीढिय़ों ने देश हित के लिए बलिदान दिया है।    उन्होंने प्रज्ञा सिंह के साध्वी होने पर ही सवाल उठाते हुए कहा कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर साध्वी नहीं है, वह साध्वी बनने का ढोंग करती हैं। उनके संसदीय क्षेत्र भोपाल में जब कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा था, तब वह बीमारी का नाम लेकर जनता के बीच से गायब हो गई थी। शहीद हेमंत करकरे को लेकर साध्वी ने जिन अपशब्दों का उपयोग किया था, उसे आज भी हर कोई जानता है। वह गांधी की फॉलोअर नहीं, बल्कि नाथूराम गोडसे की फॉलोअर हैं।

Dakhal News

Dakhal News 29 June 2020


bhopal, Congress celebrate, Black Day , completion, 100 days ,BJP government

भोपाल। मध्यप्रदेश में जनता द्वारा चुनी हुई कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को गिराकर, लोकतंत्र की हत्या, खरीद-फरोख्त और अपहरण कर बनायी गई अलोकतांत्रिक भाजपा सरकार के 100 दिन पूरे होने पर 30 जून कांग्रेस, समूचे प्रदेश की जिला, शहर एवं ब्लाक कांगे्रस कमेटियां भाजपा सरकार खिलाफ विरोध प्रदर्शित कर ‘काला दिवस’ मनाएगी। इस संबंध में प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष प्रकाश जैन ने सभी जिला, शहर एवं ब्लाक कांग्रेस कमेटियों के अध्यक्षों को एक पत्र जारी किया है।   प्रदेश कांग्रेस द्वारा सोमवार को जारी एक विज्ञप्ति में बताया गया है कि समूचे प्रदेश में जिला, शहर एवं ब्लाक कांग्रेस कमेटियां निर्धारित स्थान पर एकत्रित होकर ‘‘लोकतंत्र की हत्या कर बनायी भाजपा सरकार के 100 दिन पूरे’’, ‘काला दिवस’ लिखा हुआ बैनर, काले झंडे लिये और हाथों में काली पट्टी बांधकर भाजपा सरकार का विरोध कर प्रदर्शन करेगी। कांग्रेस द्वारा भाजपा के खिलाफ आयोजित धरना-प्रदर्शन में भाजपा की जनविरोधी नीतियों, तानाशाही और प्रदेश की भोली-भाली जनता को गुमराह कर भाजपा द्वारा किये जा रहे अत्याचारों, पेट्रोल-डीजल की कीमतों में निरंतर हो रही बेहताशा मूल्य वृद्धि, किसानों की गेहूं व चना की समर्थन मूल्य पर खरीदी में भ्रष्टाचार एवं अव्यवस्था, फसल का भुगतान न मिलने, मनरेगा योजना में मजदूरों को रोजगार न मिलने, महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार, बलात्कार, हत्या, लूट जैसी विभिन्न घटनाओं, स्थानीय भाजपा के नेताओं की गुंडागर्दी एवं उनकी कारगुजारियों को कांग्रेसजनों द्वारा उजागर किया जाएगा।   प्रदेश कांग्रेस के संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने बताया है कि जिला, शहर एवं ब्लाक कांग्रेस के अध्यक्षों से आग्रह किया गया है कि उक्त धरना-विरोध प्रदर्शन में स्थानीय कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं, विधायकों, पूर्व मंत्रियों, पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं, कांग्रेस पक्ष के जनप्रतिनिधियों, मोर्चा संगठनों के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं सहित आम नागरिकों को भी इस विरोध प्रदर्शन में अनिर्वाय रूप से शामिल किया जाए। शेखर ने कहा कि कोरोना महामारी संक्रमणकाल के चलते कांग्रेसजन समूचे प्रदेश में स्थानीय प्रशासन के निर्देशों का पूरी तरह पालन करते हुए, मास्क लगाकर और सोशल डिंस्टेंसिंग का ध्यान रखकर भाजपा सरकार के खिलाफ उक्त धरना-विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित करें।

Dakhal News

Dakhal News 29 June 2020


bhopal, Former minister ,Jeetu Patwari, arrived , petrol pump, riding bicycle

भोपाल। पेट्रोलिय पदार्थों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस के सरकार पर हमले थमे नहीं है। पेट्रोल- डीजल के दामों में कमी की मांग को लेकर कांग्रेस लगातार धरने प्रदर्शन और विरोध जता रही है। वहीं सोमवार को पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक एक नए अंदाज में दिखे। जीतू पटवारी पेट्रोल- डीजल के दामों पर जनता की राय जानने साइकिल चलाकर अचानक से पेट्रोल पंप पहुंच गए। यहां उन्होंने जनता से बात कर सरकार के खिलाफ पेट्रोल- डीजल की कीमतों को लेकर कांग्रेस की मुहिम का समर्थन करने को कहा।   जीतू पटवारी सोमवार सुबह साइकिल चलाते हुए भोपाल के एक पेट्रोल पंप पहुंचे। यहां उन्होंने पेट्रोल- डीजल की बढ़ी कीमतों पर बातचीत कर उनकी राय ली। इसके बाद उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैंने पेट्रोल पंप पर मौजूद लोगों से पेट्रोल- डीजल के बढ़ते दामों को लेकर उनकी राय जानी। उन्होंने लोगों से जाना कि पेट्रोल डीजल के दाम कम होना चाहिए कि नहीं होना चाहिए। इस दौरान पेट्रोल डीजल भरवा रहे लोगों ने भी उनकी इस मुहिम का समर्थन किया। जीतू पटवारी ने कहा कि पीएम मोदी और शिवराज तो जनता से वादा 35 डीजल पेट्रोल करने का करके आए थे। लेकिन अब 100 रूपए करने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि महामारी के इस दौर में पहले से ही मध्यम वर्ग की कमर टूट गई है और अब सरकार महंगाई का चाबुक चला रही है। पटवारी ने मांग करते हुए कहा कि पेट्रोल डीजल के दाम कम हो जाना चाहिए और लोगों को राहत मिलना चाहिए। वही वहां मौजूद लोगों ने भी उनकी मुहिम का समर्थन किया।

Dakhal News

Dakhal News 29 June 2020


seoni, BJP burnt, effigy, former Chief Minister, Kamal Nath

सिवनी। मध्यप्रदेश के सिवनी जिले में जिला भाजपा ने रविवार को प्रदेश भाजपा के निर्देश अनुसार जिले के समस्त मंडलों में पूर्व वाणिज्य मंत्री एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कांग्रेसी नेता कमलनाथ का पुतला दहन किया। वहीं जिला मुख्यालय सिवनी मेे भाजपा जिलाध्यक्ष आलोक दुबे के मार्गदर्शन में नगरपालिका चौराहे में रविवार दोपहर लगभग 1 बजे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के पुतला दहन का कार्यक्रम आयोजित किया गया।   पुतला दहन कार्यक्रम में भाजपा जिला अध्यक्ष आलोक दुबे ने कहा कि वाणिज्य मंत्री रहते हुए सन 2008 में कमलनाथ ने चीन को अनैतिक रूप से चंदा लेकर व्यवसायिक लाभ पहुंचाया है और भारतीय अर्थव्यवस्था को कमजोर करने का प्रयास किया जिससे पूरे देश में आक्रोश है रविवार को  इसी के विरोध स्वरूप भारतीय जनता पार्टी अपने समस्त मंडलों में कमलनाथ का पुतला दहन कर रही है और उनकी उस व्यवसाय की नीति की आलोचना कर जनता को यह बताने का प्रयास कर रही है कि कांग्रेस अपने निजी स्वार्थों के लिए हमेशा देश को खोखला करने के लिए कार्य करते रही है। कमलनाथ ने चीनी कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए चीन से आयात होने वाले सामानों में आयात शुल्क घटाकर 22 लाख करोड रुपए की चपत देश के खजाने पर लगाने का पाप किया है। कार्यक्रम में उपस्थित पूर्व विधायक नरेश दिवाकर ने भी कांग्रेस की चीन को लाभ पहुंचाने वाली नीति का विरोध किया। आयोजित इस पुतला दहन कार्यक्रम में भाजपा नगर अध्यक्ष नरेंद्र ठाकुर पूर्व जिला भाजपा अध्यक्ष प्रेम तिवारी संतोष अग्रवाल पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष राजेश त्रिवेदी लालू राय गजानंद पंचेश्वर ओमप्रकाश तिवारी संजीव मिश्रा अजय डागोरिया अभिषेक दुबे पिंकी त्रिवेदी अजय बाबा पांडे नरेश माना ठाकुर राजू यादव गोपाल पवमे मुनिया टॉक दीपू मिश्रा गोलू अग्रवाल भुवनेश कुल्हाड़े आदि कार्यकर्ता कार्यक्रम में उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 28 June 2020


anuppur, Looking, public sentiment, formed government ,Faggan Singh Kulaste

अनूपपुर। दो दिवसीय दौरे के आखरी दिन रविवार को जमुना कॉलरी में आयोजित कार्यकर्ता व जनप्रतिनिधि सम्मेलन को केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने संबोधित किया। इसमें अनूपपुर विधानसभा के सभी मंडलो से निर्वाचित जनप्रतिनिधि,कार्यकर्ता व पदाधिकारी शमिल रहे। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि 15 महीने के अंदर कांग्रेस की कमलनाथ सरकार की हकीकत खुलकर सामने आ गई। विकाश की जगह शिवराज सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को बंद का काम किया। जिससे जनता में कोहराम मंच गया। 15 महीने के कांग्रेस के कुशासन के कारण न केवल जनता, बल्कि कांग्रेस के विधायक भी परेशान हो गये और उन्होने भाजपा का साथ देने का निर्णय लिया। अब उपचुनाव की स्थिति निर्मित हुई और इसमें जीत दिलाना हम सब की जिम्मेदारी है, जिससे प्रदेश में एक स्थित सरकार जनता के हित में काम करने के लिए कायम रहे। जनता की भावनाओं को देखते हुए हमने सरकार बनाया,आमजनता कमलनाथ के कार्यकाल में परेशान हो गई थी। कुलस्ते ने कमलनाथ पर आरोप लगाते हुए कहा छिंदवाड़ा को प्रदेश की राजधानी बनाना चाह रहे थे, जिसके कारण प्रदेश के अन्य क्षेत्र विकास के मामले में पीछे छूट रहे थे। जिस तरह का लूट कांग्रेस शासन काल में हुआ वह आज भी लोग भूले नहीं है, उन्होने दिग्विजय सिंह के शासन काल की याद दिलाई। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ करते हुए कहा कि इनके नेतृत्व में देश व प्रदेश का विकास तेज गति से कर रहा है। इस विकाश यात्रा को जारी रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। पार्टी बड़े उद्देश्य को लेकर काम करती है-रामलाल भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष रामलाल रौतेल ने कहा भाजपा हमेशा बड़े उद्देश्य को लेकर काम करती है, देश हित में जितने बड़े फैसले हुए वह केवल देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा सरकार के ही सभ्भव हो सके है।22 विधायको ने मध्यप्रदेश को गर्त में जाने से रोक लिया।15 महीनो में आमजनता से लेकर पार्टी के कार्यकर्ता भी कमलनाथ की सरकार के कार्यो का एहसास किया है कि किस तरह से प्रदेश को बर्बाद करने का प्रयास किया गया। हम त्याग की भावना रखते है और सभी से अपील करते है कि उपचुनाव में अनूपपुर विधानसभा से भाजपा के प्रत्याशी को भारी बहुमत के साथ जीत दिलाये। जिससे प्रदेश में सरकार जनहितैशी कार्य करती रही। भाजपा जिलाध्यक्ष बृजेश गौतम ने कहा कि कभी भी उपचुनाव की घोषणा हो सकती है और पार्टी चुनाव के मैदान में है सभी कार्यकर्ता व पदाधिकारी बूथस्तर पर कार्य करने में लगे हुए है। संगठन से मिल रहे मार्गदर्शन के अनुरूप विभिन्न गतिविधियों का संचालन लगातार किया जा रहा है, अनूपपुर विधानसभा से भाजपा भारी बहुमत के साथ जीत हासिल करेगी, इसमें कोई संदेह नहीं है। सम्मेलन में पूर्व अजजा आयोग के अध्यक्ष नरेन्द्र मरावी, प्रदेश कार्य समिति सदस्य अनिल गुप्ता, पूर्व विधायक दिलीप जायसवाल, सुदामा सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष आधाराम वैश्य, युवा मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष जितेन्द्र सोनी, रामदास पुरी,रामअवध सिंह, सिद्घार्थ शिव सिंह, सुमन गुप्ता, अशोक लाल, उमेश मिश्रा, पसान मंडल अध्यक्ष सिद्घार्थ त्रिवेदी, जिला मीडिया प्रभारी राजेश सिंह, आईटी सेल प्रभारी चंडीकांत झा के अलावा विधानसभा क्षेत्र के समस्त कार्यकर्ता और पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 28 June 2020


bhopal,Viral video, molestation, incident ,Shobha Ojha ,symbolizing high ,spirits  criminals

भोपाल। मध्यप्रदेश महिला आयोग की अध्यक्षा शोभा ओझा ने गुना जिले की एक लडक़ी के साथ कुछ लडक़ों द्वारा खुलेआम छेड़छाड़ करने का वीडियो सामने आने के बाद, राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा है कि मामले के दोषियों को चिन्हित कर उन्हें शीघ्र दंडित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह दु:खद है कि एनसीआरबी द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार महिला अपराधों में लगातार अव्वल आ रहे प्रदेश में अपराधियों के हौंसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि अपराधी खुलेआम महिलाओं के साथ दुष्कर्म, मारपीट और छेड़छाड़ जैसी घटनाओं को लगातार अंजाम दे रहे हैं।   शोभा ओझा ने शनिवार को जारी अपने एक बयान में गुना की घटना को लेकर कहा कि गुना में हुई उक्त शर्मनाक घटना के सामने आने के बाद राज्य सरकार को आत्मावलोकन करना चाहिए कि क्या प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा और उनका सम्मान ऐसी स्थिति में कायम रह सकता है जब अपराधी न केवल बेखौफ होकर महिलाओं की आबरू पर हमला बोल रहे हैं बल्कि उसके वीडियो वायरल करने से भी गुरेज नहीं कर रहे हैं? क्या 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' का लक्ष्य ऐसे पूरा हो सकेगा?   शोभा ओझा ने कहा कि यह आश्चर्यजनक है कि जब लॉकडाउन चल रहा था, तब भी प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक दृष्टिहीन महिला के साथ हुई बलात्कार की घटना के साथ ही प्रदेश के अन्य शहरों में भी दुष्कर्म की घटनाएं लगातार होती रहीं। इन घटनाओं से न केवल प्रदेश की कानून व्यवस्था की स्थिति पर गंभीर प्रश्नचिन्ह खड़े हुए बल्कि यह भी पता चला कि प्रदेश में अपराधियों के हौंसले कितने बुलंद हैं।   महिला आयोग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आग्रह किया है कि वे गुना की घटना के दोषियों को शीघ्र दंडित करवाने के साथ ही प्रदेश की कानून व्यवस्था की स्थिति को सुधारने के लिए भी शीघ्र ही सार्थक और ठोस प्रयास करें। जिससे महिला अपराधों और अपराधियों के बुलंद हौसलों पर अविलंब लगाम लगाई जा सके।

Dakhal News

Dakhal News 27 June 2020


indore, Shekhawat, put a stop , speculation,  watered with blood

इंदौर। धार जिले की बदनावर विधानसभा सीट से पूर्व विधायक और भाजपा के दिग्गज नेता भंवरसिंह शेखावत ने पार्टी छोडऩे की अटकलों पर विराम लगा दिया है। उन्होंने शनिवार को मीडिया से बातचीत में स्पष्ट कर दिया है कि वे भाजपा को कभी नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा है कि बीते 50 साल से मैंने पार्टी को अपने खून से सींचा है तो अब उसे क्यों छोडूंगा?   दरअसल, मध्यप्रदेश में इन दिनों विधानसभा की 24 रिक्त सीटों के लिए होने वाले उपचुनावों की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं। राज्य की दोनों प्रमुख पार्टियां भाजपा और कांग्रेस में जहां आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है तो वहीं नेता एक पार्टी का दामन छोड़ दूसरी में शामिल हो रहे हैं। इसी बीच मीडिया में अटकलें शुरू हो गई थीं कि भंवरसिंह शेखावत भी भाजपा को अलविदा कहकर कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। बदनावर सीट पर भी उपचुनाव होना है और यहां राजनीतिक सरगर्मियां जोरों पर हैं। ऐसे में शेखावत ने भाजपा छोडक़र कांग्रेस में जाने की अफवाहों का खंडन किया है।   उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि कांग्रेस ने मुझसे संपर्क कर बदनावर में पार्टी की ओर से उपचुनाव लडऩे का प्रस्ताव दिया था और अभी भी कांग्रेस मेरे सम्पर्क हैं, लेकिन मैंने भाजपा छोडऩे से साफ इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा कि मैंने भाजपा को अपने खून से सींचा है और 50 साल से पार्टी में हूं। हालांकि, उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि भाजपा के दो बड़े शीर्ष नेताओं ने उन पर ऐसा दबाव बनाया, जिससे मैं पार्टी छोड़ दूं। पिछले 2018 के चुनाव में मुझे साजिश के तहत पहले इंदौर की दो नम्बर सीट से हटाकर पांच नम्बर भेजने को कहा और फिर ऐन वक्त पर इंदौर से दूर बदनावर भेज दिया। इसलिए में चुनाव में पीछे हट गया। उन्होंने कहा कि मुझसे भाजपा छुड़वाने की तैयारी कर दी गई थी, लेकिन मैं भाजपा नहीं छोडूंगा।

Dakhal News

Dakhal News 27 June 2020


mandla,  NSUI ,district general secretary ,shot dead

मंडला। मंडला जिले में बीती रात अपने भाई के जन्मदिन की पार्टी से लौट रहे भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) के मंडला जिला महासचिव 28 वर्षीय सोनू परोचिया की गोली बोलेरो सवार बदमाश ने गोली मारकर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू की। पुलिस ने अज्ञात आरोपित के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है और आरोपित की तलाश शुरू कर दी है।   मंडला कोतवाली थाना पुलिस के अनुसार, एनएसयूआई नेता सोनू परोचिया शुक्रवार की रात अपने चचेरे भाई के जन्मदिन की पार्टी में शामिल होने के लिए महाराजपुर के पास एक ढाबे पर गए थे। वहां से वह अपने दो दोस्तों दिगंबर बैरागी और दीपक के साथ बाइक से देर रात वापस अपने घर लौट रहे थे, तभी रास्ते में एक बोलेरो गाड़ी ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। इसके बाद बोलेरो से एक व्यक्ति उतरा और उसने सोनू के सीने में सीने में देशी पिस्टल से गोली मारी और वहां से गाड़ी लेकर फरार हो गया। दोनों दोस्त सोनू को गंभीर हालत में लेकर जिला अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।  अस्पताल की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और अज्ञात बदमाश के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच शुरू की।

Dakhal News

Dakhal News 27 June 2020


bhopal,Former BJP minister, big statement,Congress offered ,join party

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति में इन दिनों राजनीतिक दल ‘फूट डालों, राज करो’ की नीति पर काम कर रहे हैं। राज्यसभा उपचुनाव के बाद राजनीतिक दल अब विधानसभा उपचुनाव से पहले पार्टी के दिग्गज नेताओं को अपनी ओर आकर्षित करने का प्रयास कर रहे है। इसी तारतम्य में वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व मंत्री दीपक जोशी ने एक बड़ा खुलासा किया है। उनका कहना है कि कांग्रेस ने उन्हें पार्टी में शामिल होने का ऑफर दिया है।   मंत्रिमंडल विस्तार और विधानसभा उपचुनाव से पहले भाजपा के पूर्व मंत्री दीपक जोशी ने बड़ा बयान दिया है। दीपक जोशी के मुताबिक कांग्रेस नेताओं ने उनसे संपर्क किया था और उन्हें कांग्रेस में शामिल होने का न्यौता दिया था, लेकिन उन्होंने ऑफर ठुकरा दिया। दीपक जोशी ने कहा कि वे भाजपा के कार्यकर्ता है और हमेशा भाजपा में ही रहेंगे। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के कई नेताओं से उनके दोस्ताना संबंध है, लेकिन वे भाजपा कभी नहीं छोड़ेंगे।    गौरतलब है कि पिछले दिनों दीपक जोशी ने पार्टी में अपनी उपेक्षा से नाराज होकर कहा था कि उनके पास अन्य सियासी विकल्प भी खुले हैं। इसके अलावा पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह द्वारा दीपक जोशी की तारीफ करने और जवाब में दीपक जोशी का दिग्विजय की तारीफ पर आभार प्रकट करने से इन चर्चाओं को ओर हवा मिल गई थे। उनके बगावती तेवरों के बाद संगठन के दिग्गज नेता सक्रिय हो गए थे। भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत ने जोशी को बुलाकर लंबी चर्चा की। साथ ही आश्वस्त किया कि पार्टी में उनका सम्मान बरकरार रहेगा, उपेक्षा नहीं होगी। इसके बाद जोशी ने स्पष्ट किया कि उन्हें कोई नाराजगी नहीं है।  

Dakhal News

Dakhal News 25 June 2020


bhopal, Comparison , former minister, counter-attack , BJP MLA, statement

भोपाल। मध्य प्रदेश में उपचुनाव से पहले राजनेताओं के बीच आरोप- प्रत्यारोप और बयानबाजी का दौर जारी है। बुधवार को राजधानी भोपाल में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह द्वारा पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत में बढ़ोत्तरी के विरोध में साइकिल रैली निकाली गई थी। जिस पर हमला बोलते हुए रामेश्वर शर्मा ने दिग्विजय सिंह की तुलना सांप से करते हुए कहा था कि वो राजनीति करने ही बिल से बाहर आते है। अब रामेश्वर शर्मा के इस बयान पर पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने पलटवार किया है।   पीसी शर्मा ने रामेश्वर शर्मा द्वारा दिग्विजय सिंह को सांप कहे जाने पर बड़ा हमला बोलते हुए अब उनकी तुलना सपोले से की है। उन्होंने कहा कि वो तो खुद सपोले है और मन्त्री बनने की चाह में अनाप शनाप बयानबाजी कर रहे है, लेकिन वो कितना भी मक्खन लगा ले मन्त्री नहीं बनने वाले है। पूर्व मंत्री ने हिदायत देते हुए कहा कि अभी रामेश्वर इतने बड़े नहीं हुए है कि वो दिग्विजय सिंह पर टिप्पणी करें। दिग्विजय सिंह जैसा हर बात पर टिप्पणी करने वाला नेता दूसरा नहीं है।   बताते चले कि भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की तुलना सांप से करते हुए कहा था कि वो 10 जनपथ की बीन पर नाचने वाले सांप है और सोनिया गांधी और राहुल गांधी के इशारों पर बिल से बाहर निकलकर राजनीति करते है और फिर बिल में जाकर बैठ जाते हैं ।

Dakhal News

Dakhal News 25 June 2020


bhopal,Congress tightened, 64 days later ,Health Minister ,ndore

इंदौर /भोपाल। गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को इंदौर के अरविंदो अस्पताल में भर्ती कोविड के मरीज़ों से मुलाक़ात की और उनके हालचाल जाने। रेड जोन में शामिल अरविंदो अस्पताल के कोविड वार्ड में पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री के साथ उनका अमला और अरविंदो अस्पताल प्रबंधन से जुड़ी डॉक्टर्स की टीम भी साथ थी। स्वास्थ्य मंत्री के रेड जोन में शामिल इंदौर में कई दिन बीत जाने के बाद पहुंचने पर कांग्रेस ने तंज कसा है।   मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि प्रदेश की आर्थिक राजधानी व मुख्यमंत्री के सपनों का शहर इंदौर, जो कि कोरोना को लेकर निरंतर देश के शीर्ष शहरों में बना हुआ है।  केंद्र सरकार ने भी इंदौर की चिंता कर अपना एक दल इंदौर की सुध लेने भेजा, लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 77 दिन बाद इंदौर की सुध लेने आये। वह भी सांवेर उपचुनाव को लेकर और अब प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री को 64 दिन बाद इंदौर की सुध लेने की फुर्सत मिली है।   64 दिन बाद इंदौर आगमन पर आपका स्वागत हैसलूजा ने कहा कि वर्तमान में इंदौर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 4500 के कऱीब पहुँच चुका है और अभी तक 200 से अधिक लोगों की मृत्यु हो चुकी है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री इस कोरोना महामारी में 24 उपचुनाव को लेकर रणनीति व तैयारियों को खूब बैठक करते है और इसको लेकर बागियों को समझाने ग्वालियर तक जाते हैं लेकिन इंदौर आने की इतने दिनों तक उन्हें फुर्सत नहीं मिलती है।   उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि आज भी उनका यह दौरा औपचारिकता मात्र है। सिर्फ 2 घंटे के लिए वे इंदौर आ रहे हैं। अच्छा होता इस दौरे के दौरान इंदौर के कोरोना प्रभावित इलाकों में जाकर वहां का हाल जानते, प्रभावित लोगों से मिलते, इंदौर की जनता से संवाद करते, उनकी परेशानियों को जानते, जिन कोरोना वारियर्स की मौत हुई है उनके घर संवेदना के लिए जाते। लेकिन शायद मंत्री जी को उसकी फुर्सत नहीं है क्योंकि चुनावी तैयारियों में उनकी व्यस्तता है।

Dakhal News

Dakhal News 25 June 2020


bhopal,Chief Minister, did live communication,migrant workers

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोविड संकट काल में लौटे हर प्रवासी श्रमिक को मध्यप्रदेश की धरती पर ही उनकी योग्यता अनुसार रोजगार मिलेगा। मुख्यमंत्री सहित पूरी टीम आपके साथ है। रोजगार सेतु के माध्यम से जहां प्रवासी श्रमिकों को उनकी दक्षता अनुसार रोजगार प्राप्त हो रहा है, वहीं नियोक्ताओं को उनकी आवश्यकता के अनुसार कामगार मिल रहे हैं। नियोक्ता अधिक से अधिक प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दें, सरकार उनके कार्य में सहयोग करेगी।    दरअसल, मुख्यमंत्री चौहान ने बुधवार को प्रदेश के 7 लाख से अधिक प्रवासी श्रमिकों एवं 19 हजार से अधिक नियोक्ताओं से फेसबुक लाइव के माध्यम से बात की। उन्होंने वीडियो कॉन्फेंसिंग के माध्यम से कुछ जिलों में प्रवासी श्रमिकों एवं नियोक्ताओं से भी बातचीत की।  मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में प्रत्येक प्रवासी श्रमिक को रोजगार दिया जा रहा है। अभी तक 3 लाख 37 हजार 857 प्रवासी श्रमिकों के जॉब कार्ड बनाए गए हैं तथा एक लाख 62 हजार 840 को रोजगार दिया गया है। ए.सी.एस. मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदेश में मनरेगा के अंतर्गत अभी तक 45 लाख 96 हजार मजदूरों को कार्य उपलब्ध कराया गया है।   चौहान ने कहा कि प्रदेश में 6004 प्रवासी श्रमिकों को रोजगार सेतु के माध्यम से रोजगार दिया गया है, यह प्रक्रिया निरंतर जारी है। मुख्य सचिव बैंस ने कहा कि 'रोजगार सेतु' कौशल अनुसार रोजगार दिलाने का 'ऑटोमेटिक मोड' बन गया है। बताया गया कि रोजगार सेतु में 19 हजार 641 नियोक्ताओं ने पंजीयन कराया है। मुख्यमंत्री से चर्चा के दौरान उन्होंने बताया कि रोजगार सेतु के माध्यम से उन्हें जरूरत के अनुसार कामगार आसानी से मिल रहे हैं। कोरोना संकट के कारण उपजी 'लेबर प्रोब्लम' दूर हो गई है।   मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी प्रवासी श्रमिकों को संबल योजना में जोड़ा गया है। अब उन्हें बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, दुर्घटना सहायता, मृत्यु पर सहायता, अंत्येष्टि सहायता, बिटिया की शादी, प्रसूति सहायता, बिजली बिलों मे छूट सहित सभी सुविधाएं मिलेंगी। चौहान ने बताया ‍कि प्रवासी श्रमिकों के बच्चों के शालाओं में नामांकन के लिए प्रक्रिया अपनाते हुए प्रवासी श्रमिकों के साथ वापस लौटे 5 से 18 वर्ष के 2 लाख 6 हजार 425 बच्चों का चिन्हांकन किया जाकर 75 हजार 385 बच्चों को शालाओं में प्रवेश देने की प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है। शेष बच्चों को स्कूल चले अभियान में स्कूल चालू होने पर नि:शुल्क प्रवेश सुनिश्चित कराया जायेगा।   उन्‍होंने यह भी बताया कि भारत सरकार द्वारा प्रवासी श्रमिकों के लिए 116 जिलों में महत्वपूर्ण 'गरीब कल्याण रोजगार अभियान' चालू किया गया है, जिसमें मध्यप्रदेश के 24 जिले शामिल किए गए हैं। गरीब कल्याण रोजगार अभियान में मनरेगा में 100 के स्थान पर 125 दिवस कार्य उपलब्ध कराने के साथ ही प्रवासी श्रमिकों की बेहतरी के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, सिंचाई व्यवस्था आदि विकास कार्यों के लिए अतिरिक्त राशि प्रदाय की जायेगी।   इस दौरान मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न जिलों के प्रवासी श्रमिकों से बातचीत की, जिन्हें रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से काम मिला है। सभी ने उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार काम मिलने के लिए मामा को धन्यवाद दिया और कहा कि वे अब मध्यप्रदेश छोड़कर नहीं जाएंगे। वहीं, मुख्यमंत्री ने वी.सी. में रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से प्रवासी श्रमिकों को रोजगार प्रदान करने वाले नियोक्ताओं और नियोजन के लिये आवश्यक रिक्तियां प्रकाशित करने वाले नियोजकों से भी चर्चा की। इस अवसर पर मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, ए.सी.एस मनोज श्रीवास्तव, ए.सी.एस. डॉ. राजेश राजौरा, प्रमुख सचिव संजय शुक्ला आदि उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 24 June 2020


bhopal, Swami Vairagya Nand Giri Maharaj ,claimed ,exposed big scam ,against CM Shivraj

भोपाल। कांग्रेस समर्थक संत स्वामी वैराग्य नंद गिरी महाराज ने बड़ा बयान दिया है। बुधवार को मीडिया के सामने उन्होंने प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान के एक बड़े घोटाले का खुलासा करने का एलान किया है। स्वामी वैराग्य नंद गिरी महाराज के इस दावे के बाद अब भाजपा और कांग्रेस दोनों की नजर उन पर टिकी हुई है।   दरअसल स्वामी वैराग्य नंद बुधवार को पूर्व भाजपा नेत्री को कांग्रेस की सदस्यता दिलाने पूर्व सीएम कमलनाथ ने निवास पहुंचे थे। यहां मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि आज मप्र को कमलनाथ की जरुरत है। जरुरत इसलिए है क्योंकि आप देख रहे है कि पग- पग पर घोटाला हो रहा है। इस दौरान उन्होंने एलान करते हुए कहा कि मैं 28 जून को एक प्रेस वार्ता का आयोजन करने जा रहा हूं। जिसमें सीएम शिवराज के एक बड़े घोटाले का खुलासा करूंगा।   इसके अलावा स्वामी वैराग्य नंद गिरी महाराज ने दावा करते हुए कहा कि उपचुनाव से पहले भाजपा के कई कद्दावर नेता कांग्रेस में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि संजू जाटव भारत की नारी है, जिसने अपना सर्वस्व भाजपा के लिए लगाया है। बड़े नेताओं के साथ काम किया है। उनकी कोई सुनवाई नही है, उनके लिए कोई विचारधारा नहीं है। ऐसे लोग भाजपा से त्रस्त और परेशान हो गये है और भाजपा के कई कद्दावर नेता कांग्रेस में आ रहे है और आगे भी आने वाले है।

Dakhal News

Dakhal News 24 June 2020


bhopal,Ajay Singh ,demands removal, Pandey,  re-made ED,Public Campaign Council

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मप्र विधानसभा में पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि राज्य सरकार ने एक अयोग्य व्यक्ति धीरेंद्र पाण्डेय को विवादास्पद जन अभियान परिषद में फिर से कार्यपालक निदेशक (ईडी) बना दिया है। नियमों में इस पद पर केवल अखिल भारतीय सेवा के अधिकारी की नियुक्ति की जा सकती है। उन्होंने यह नियुक्ति तत्काल निरस्त करने की मांग की है।   कांग्रेस नेता ने कहा है कि धीरेंद्र पाण्डेय पूर्व में जन अभियान परिषद के कार्यपालक निदेशक रहते हुये गंभीर वित्तीय अनियमितता के आरोपित हैं। उन्होंने जन अभियान परिषद के मध्यप्रदेश भर में फैले अमले का विगत विधानसभा चुनाव के समय सत्ताधारी दल भाजपा के पक्ष में भारी दुरुपयोग किया था। उस समय मध्यप्रदेश कांग्रेस ने चुनाव आयोग और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को बार बार सप्रमाण शिकायतें की थी! बाद में आयोग ने जन अभियान परिषद के पदाधिकारियों को चुनाव ड्यूटी से दूर रखने के निर्देश सरकार को दिये थे। अब सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आगामी विधानसभा उपचुनाव को देखते हुए फिर से धीरेंद्र पाण्डेय को नियम विरुद्ध परिषद का कार्यपालक निदेशक बना दिया है। इस नियुक्ति से उपचुनावों में धांधली की आशंका है।   पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने आते ही जनवरी 2019 में पाण्डेय को परिषद से हटाकर विज्ञान और प्राद्योगिकी परिषद में सीनियर साइंटिस्ट के उनके मूल पद पर भेज दिया था। बाद में महालेखाकार ने जांच कर गम्भीर वित्तीय अनियमितताएं निकालीं। इनमें पौधारोपण, नदी महोत्सव, जल संसद, नर्मदा सेवा यात्रा, साधु संतों की एकात्म यात्रा आदि में की गई अनियमितताएं शामिल हैं।    अजयसिंह ने कहा है कि अब फिर भाजपा सरकार द्वारा वही प्रक्रिया दोहरायी जा रही है। विधानसभा उपचुनावों में भाजपा के पक्ष में धांधलियों की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। ग्वालियर संभाग में पदस्थ जन अभियान परिषद के पदाधिकारियों ने बूथ लेवल पर गुपचुप तरीके से मतदाता सूची के पन्ना प्रभारियों को पुन: सक्रिय करना शुरू कर दिया है। निष्पक्ष चुनाव के लिए जरूरी है कि चुनाव आयोग जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को अभी से उनकी गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दें। उन्होंने उपचुनाव वाले विधानसभा क्षेत्रों के कांग्रेस पदाधिकारियों से भी आग्रह किया है कि वे अभी से अपने अपने पोलिंग बूथों पर जन अभियान परिषद की गतिविधियों के प्रति सतर्क रहें।

Dakhal News

Dakhal News 24 June 2020


seoni,patience and courage ,Dr. Mukherjee, Union Minister ,West Bengall

सिवनी। कश्मीर में परमिट व्यवस्था का विरोध करते हुए अपना जीवन बलिदान करने वाले डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी यदि आजादी के समय ना होते तो पश्चिम बंगाल भी पाकिस्तान का हिस्सा बन जाता, लेकिन डॉ. मुखर्जी के धैर्य, साहस और तत्परता के चलते आज पश्चिम बंगाल भारत का अंग है। यह बात केंद्रीय इस्पात मंत्री एवं सिवनी मंडला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते द्वारा मंगलवार को  डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस के अवसर पर केवलारी एवं लखनादौन क्षेत्र के मतदान केंद्र तक के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही गई।   कुलस्ते ने कहा कि डॉ. मुखर्जी ने कांग्रेस और पं. नेहरू की तुष्टीकरण की नीति के चलते नेहरू मंत्रिमंडल  छोड़ दिया और भारतीय जनसंघ का गठन किया। डॉ. मुखर्जी ने यह निश्चय कर लिया था कि धारा-370 हटाएंगे और एक देश में दो निशान, दो विधान और दो प्रधान नहीं चलेंगे। उन्होंने कहा था कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और मैं वहां बिना परमिट के जाउंगा। उन्होंने कश्मीर की पवित्र धरा पर बिना परमिट के प्रवेश किया और वहीं जेल में संदिग्ध परिस्थितियों में उनका स्वर्गवास हो गया। यह डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी का बलिदान था और आज उनका बलिदान दिवस है। लोग यह मानने लगे थे कि धारा 370 को हटाना सिर्फ एक नारा है, धारा 370 कश्मीर से नहीं हटेगी। लेकिन धन्य हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह जिन्होंने आज डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के सपने और संकल्प को साकार करके दिखाया।   उन्होनें कहा कि,हम डॉ. मुखर्जी श्रद्धा से प्रणाम करते हुए यह संकल्प लेते हैं कि उन्होंने जो सपना देखा था उसे हमें प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी  के नेतृत्व में पूरा करेंगे और हमारे अंदर जो सर्वश्रेष्ठ है उसे झौंककर काम करेंगे। जिस गौरवशाली, वैभवशाली, समृद्धशाली और शक्तिशाली भारत का सपना डॉ. मुखर्जी ने देखा था, वह आज साकार हो रहा है।   भाजपा जिला अध्यक्ष आलोक दुबे द्वारा जिले की सभी चारों विधानसभा क्षेत्र के  बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए कहा गया कि पार्टी के पितृ पुरुष डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जीवन हमें सदैव मार्गदर्शन एवं प्रेरणा देते रहेगा। डॉक्टर मुखर्जी ने देश की एकता और अखंडता के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। उन्हीं के प्रयासों से आज पश्चिम बंगाल और कश्मीर भारत के अभिन्न अंग हैं। देश डॉक्टर मुखर्जी के बलिदान को सदैव स्मरण करते रहेगा।   भाजपा के पितृ पुरुष डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस के अवसर पर सिवनी जिले के सभी 24 मंडलों में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा कार्यक्रम आयोजित किया जाकर डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए उनके बताए मार्गो पर आगे चलने का संकल्प लिया गया।

Dakhal News

Dakhal News 23 June 2020


ujjain,Home Minister Mishra, instructed, visit Lord Mahakaleshwar

उज्जैन। प्रदेश के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को उज्जैन प्रवास के दौरान सर्किट हाऊस में जिले में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से उज्जैन में कोरोना संक्रमण के अन्तर्गत रिकवरी रेट के बारे में पूछा। साथ ही कोरोना प्रकरण के डबलिंग रेट के बारे में जानकारी ली। इस पर कलेक्टर आशीष सिंह द्वारा बताया गया कि उज्जैन में कोरोना संक्रमण के अन्तर्गत मरीजों के रिकवरी रेट में बढ़ोतरी हुई है। वर्तमान में कोरोना प्रकरणों का रिकवरी रेट 83.37 प्रतिशत है तथा मृत्यु दर में भी काफी कमी आई है। वर्तमान में मृत्यु दर 8.14 प्रतिशत पर आ चुका है।    मंत्री मिश्रा ने उज्जैन में कोविड केयर सेन्टर्स के बारे में जानकारी ली, जिस पर कलेक्टर द्वारा बताया गया कि उज्जैन में वर्तमान में आरडी गार्डी अस्पताल, पुलिस ट्रेनिंग स्कूल, शासकीय माधव नगर चिकित्सालय और अमलतास अस्पताल में कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जा रहा है। उन्होंने अस्पतालों में बेड, वेंटिलेटर और आईसीयू की व्यवस्था के सम्बन्ध में अधिकारियों को तलब किया, जिस पर उन्हें जानकारी दी गई कि अस्पतालों में पर्याप्त सुविधाएं मौजूद हैं। मंत्री मिश्रा ने उज्जैन में कोरोना संक्रमण को लेकर किये गये उपायों की प्रशंसा की और उन्होंने कहा कि सभी के सहयोग से कोरोना संक्रमण नियंत्रित हो सका है।    बैठक के पूर्व उज्जैन के व्यापारी वर्ग द्वारा मंत्री मिश्रा को दोनों तरफ की दुकानें खोली जाने के सम्बन्ध में ज्ञापन सौंपा गया। इस पर तत्काल निर्णय लेते हुए उन्होंने कलेक्टर को निर्देश दिये कि बुधवार से उज्जैन के बाजारों में दोनों तरफ की दुकानें खोली जायें तथा दुकानों के संचालन के समय में भी बढ़ौत्री की जाये। ज्ञात हो कि बुधवार से उज्जैन में दुकानों के संचालन का समय प्रात: 9 बजे से शाम 7 बजे तक किया जायेगा। मंत्री मिश्रा ने निर्देश दिये कि महाकाल मन्दिर प्रात: 9 बजे से सायं 7 बजे तक खुला रहे तथा उन्होंने निर्देश दिये कि इस वर्ष कावड़ यात्रा के शहर प्रवेश पर रोक रहेगी। बैठक में सांसद अनिल फिरोजिया, विधायक पारस जैन, महापौर मीना जोनवाल, नगर निगम सभापति सोनू गेहलोत, पूर्व सांसद चिन्तामणि मालवीय, विवेक जोशी, बहादुरसिंह बोरमुंडला, जगदीश अग्रवाल, संभागायुक्त आनन्द कुमार शर्मा, आईजी राकेश गुप्ता, डीआईजी मनीष कपूरिया, पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह, सीएमएचओ डॉ. महावीर खंडेलवाल एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे।मंत्री मिश्रा ने भगवान महाकालेश्वर के दर्शन कियेस्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उज्जैन प्रवास के दौरान मंगलवार को भगवान महाकालेश्वर के दर्शन एवं पूजन किया। पूजन पं.सत्यनारायण जोशी द्वारा सम्पन्न कराया गया। इस दौरान पूर्व सांसद चिन्तामणि मालवीय, बहादुरसिंह बोरमुंडला एवं अन्य गणमान्य नागरिक तथा महाकालेश्वर मन्दिर के पुजारी प्रदीप गुरू एवं पं.नवनीत गुरू मौजूद थे। भगवान महाकालेश्वर के दर्शन के पश्चात मंत्री मिश्रा ने कहा कि उन्होंने भगवान महाकाल से प्रार्थना की है कि शीघ्र-अतिशीघ्र प्रदेश और देश को कोरोना से मुक्त करें। उन्होंने कहा कि भगवान महाकालेश्वर के आशीर्वाद से उज्जैन में कोरोना संक्रमण के प्रकरणों में रिकवरी रेट में काफी बढ़ोतरी हुई है।

Dakhal News

Dakhal News 23 June 2020


bhopal, Congress leader, Arun Yadav, hit back, CM Shivraj

भोपाल। भारत-चीन विवाद को लेकर केन्द्र सरकार पर लगातार निशाना साधने के मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी को ट्वीट के माध्यम आड़े हाथों लेते हुए नसीहत दी थी। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण यादव ने सीएम शिवराज पर पलटवार किया है। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से कहा है कि सच्चाई कड़वी होती है।   कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने मंगलवार को ट्वीट कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट किया है कि -'सच्चाई बहुत कड़वी होती है, शिवराज जी। राहुल जी की बातों का इतना बुरा लग रहा है तो थोड़ा कुछ मोदी जी को भी ज्ञान दे दीजिए, क्योंकि आज देश में जो परिस्थितियां निर्मित हो रही हैं, वह किसी से छिपी नहीं हैं। राहुल जी देश के आमजनों की आवाज को बुलंद कर रहे हैं। उसे सच्चे मन से स्वीकार कीजिए।'   बता दें कि भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर राहुल गांधी ने सोमवार को एक ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री मोदी पर चीन के सामने आत्मसमर्पण करने का आरोप लगाया था। इस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया था। उन्होंने ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि 'मैं पिछले कई दिनों से देख रहा हूं कि कांग्रेस की ओर से, खास कर राहुल गांधी जी द्वारा हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के खिलाफ एक सोचा-समझा अभियान सा चलाया जा रहा है! एक ऐसा अभियान जिसकी जड़ें सिर्फ झूठ से निकली हुई हैं। ' उन्होंने कहा था कि 'ये इस बात का प्रमाण है जो मैं हमेशा कहता आया हूँ कि राहुल जी झूठ बड़ी सफाई से बोलते हैं। उनमें अभी राजनीतिक परिपक्वता की कमी है। मैं उनसे पूछना चाहता हूँ कि क्या आप को ये पता नहीं है कि नरेंद्र मोदी जी ने ही सर्जिकल स्ट्राइक कर पाकिस्तान को करारा जवाब दिया था। उन्होंने ही विदेशी आतंकवादियों की कमर तोड़ दी है? देश में ही छिपे देश के दुश्मनों को सजा दिलाई है? ये सब आप आसानी से भूल गए राहुल गांधी जी? चीन से कैसे डील करना अब राहुल जी हमारे प्रधानमंत्री जी और देश की सेना को सिखाएंगे? जब आज पूरा देश एक साथ खड़ा है, हम सब अपने-अपने तरीके से चीन से लड़ाई लड़ रहे हैं, तब आप किसके साथ खड़े हैं राहुल गांधी जी?'

Dakhal News

Dakhal News 23 June 2020


bhopal, Congress leader, Arun Yadav, hit back, CM Shivraj

भोपाल। भारत-चीन विवाद को लेकर केन्द्र सरकार पर लगातार निशाना साधने के मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी को ट्वीट के माध्यम आड़े हाथों लेते हुए नसीहत दी थी। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण यादव ने सीएम शिवराज पर पलटवार किया है। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से कहा है कि सच्चाई कड़वी होती है।   कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने मंगलवार को ट्वीट कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट किया है कि -'सच्चाई बहुत कड़वी होती है, शिवराज जी। राहुल जी की बातों का इतना बुरा लग रहा है तो थोड़ा कुछ मोदी जी को भी ज्ञान दे दीजिए, क्योंकि आज देश में जो परिस्थितियां निर्मित हो रही हैं, वह किसी से छिपी नहीं हैं। राहुल जी देश के आमजनों की आवाज को बुलंद कर रहे हैं। उसे सच्चे मन से स्वीकार कीजिए।'   बता दें कि भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर राहुल गांधी ने सोमवार को एक ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री मोदी पर चीन के सामने आत्मसमर्पण करने का आरोप लगाया था। इस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया था। उन्होंने ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि 'मैं पिछले कई दिनों से देख रहा हूं कि कांग्रेस की ओर से, खास कर राहुल गांधी जी द्वारा हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के खिलाफ एक सोचा-समझा अभियान सा चलाया जा रहा है! एक ऐसा अभियान जिसकी जड़ें सिर्फ झूठ से निकली हुई हैं। ' उन्होंने कहा था कि 'ये इस बात का प्रमाण है जो मैं हमेशा कहता आया हूँ कि राहुल जी झूठ बड़ी सफाई से बोलते हैं। उनमें अभी राजनीतिक परिपक्वता की कमी है। मैं उनसे पूछना चाहता हूँ कि क्या आप को ये पता नहीं है कि नरेंद्र मोदी जी ने ही सर्जिकल स्ट्राइक कर पाकिस्तान को करारा जवाब दिया था। उन्होंने ही विदेशी आतंकवादियों की कमर तोड़ दी है? देश में ही छिपे देश के दुश्मनों को सजा दिलाई है? ये सब आप आसानी से भूल गए राहुल गांधी जी? चीन से कैसे डील करना अब राहुल जी हमारे प्रधानमंत्री जी और देश की सेना को सिखाएंगे? जब आज पूरा देश एक साथ खड़ा है, हम सब अपने-अपने तरीके से चीन से लड़ाई लड़ रहे हैं, तब आप किसके साथ खड़े हैं राहुल गांधी जी?'

Dakhal News

Dakhal News 23 June 2020


satna, Former Leader of Opposition, Ajay Singh , Vindhya stay, attacked BJP government

सतना। लॉक डाउन की वजह से लंबे अंतराल के बाद मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय सिंह अपने विन्ध्य प्रवास के दौरान सोमवार को सतना पहुंचे। यहां उन्होंने सर्किट हाउस में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से सामान्य मुलाकात की। इसके बाद अजय सिंह मंगलवार को रीवा एवं बुधवार को सीधी जिले में रहेंगे। सतना में पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात के दौरान पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने डीजल एवं पेट्रोल के दामों में हर रोज हो रही बेतहाशा वृद्धि पर केंद्र एवं राज्य सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि 16 दिन के अंदर जिस प्रकार से पेट्रोल के दामों में 8.30 रुपये और डीजल के दामों में 9.46 रुपये की वृद्धि की गई है उससे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि केंद्र एवं राज्य सरकार प्रदेश कि जनता के साथ अत्याचार की सारी सीमाओं को तोड़ देना चाहती हैं। अजय सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि लॉक डाउन की वजह आम जनता की अर्थव्यवस्था तहस नहस हो चुकी है, लोगों के रोजी रोजगार छीन लिए गए हैं, मध्यम वर्गीय एवं गरीब लोगों का घर चलाना मुश्किल हो रहा है ऐसी स्थिति भाजपा सरकार आम जनता पर अत्याचार का चौतरफा वार कर रही है ! इस दौरान अजय सिंह ने साफ कहा कि डीजल एवं पेट्रोल के दामों में की गई वृद्धि को लेकर कांग्रेस खामोश नही बैठेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस के आवाहन पर 24 जून को प्रदेश के सभी जिला एवं ब्लॉक मुख्यालयों में प्रदर्शन किये जायेंगे और अगर मूल्यवृद्धि को वापस नही लिया गया तो आने वाले समय मे कांग्रेस सडक़ों पर उतरने के लिए मजबूर हो जायेगी। अजय सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आव्हान करते हुए कहा कि संकट के इस दौर में वो सब जनता की ताकत बनें और मुसीबत का सामना कर रहे लोगों की हर सम्भव मदद के लिए आगे आएं क्योंकि भाजपा सरकार से आम जनता की उम्मीदें टूट चुकी हैं।

Dakhal News

Dakhal News 22 June 2020


satna, Former Leader of Opposition, Ajay Singh , Vindhya stay, attacked BJP government

सतना। लॉक डाउन की वजह से लंबे अंतराल के बाद मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय सिंह अपने विन्ध्य प्रवास के दौरान सोमवार को सतना पहुंचे। यहां उन्होंने सर्किट हाउस में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से सामान्य मुलाकात की। इसके बाद अजय सिंह मंगलवार को रीवा एवं बुधवार को सीधी जिले में रहेंगे। सतना में पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात के दौरान पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने डीजल एवं पेट्रोल के दामों में हर रोज हो रही बेतहाशा वृद्धि पर केंद्र एवं राज्य सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि 16 दिन के अंदर जिस प्रकार से पेट्रोल के दामों में 8.30 रुपये और डीजल के दामों में 9.46 रुपये की वृद्धि की गई है उससे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि केंद्र एवं राज्य सरकार प्रदेश कि जनता के साथ अत्याचार की सारी सीमाओं को तोड़ देना चाहती हैं। अजय सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि लॉक डाउन की वजह आम जनता की अर्थव्यवस्था तहस नहस हो चुकी है, लोगों के रोजी रोजगार छीन लिए गए हैं, मध्यम वर्गीय एवं गरीब लोगों का घर चलाना मुश्किल हो रहा है ऐसी स्थिति भाजपा सरकार आम जनता पर अत्याचार का चौतरफा वार कर रही है ! इस दौरान अजय सिंह ने साफ कहा कि डीजल एवं पेट्रोल के दामों में की गई वृद्धि को लेकर कांग्रेस खामोश नही बैठेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस के आवाहन पर 24 जून को प्रदेश के सभी जिला एवं ब्लॉक मुख्यालयों में प्रदर्शन किये जायेंगे और अगर मूल्यवृद्धि को वापस नही लिया गया तो आने वाले समय मे कांग्रेस सडक़ों पर उतरने के लिए मजबूर हो जायेगी। अजय सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आव्हान करते हुए कहा कि संकट के इस दौर में वो सब जनता की ताकत बनें और मुसीबत का सामना कर रहे लोगों की हर सम्भव मदद के लिए आगे आएं क्योंकि भाजपा सरकार से आम जनता की उम्मीदें टूट चुकी हैं।

Dakhal News

Dakhal News 22 June 2020


bhopal,Kamal Nath ,warns government ,nationwide agitation , rising prices, petrol diesel

भोपाल। पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार 16वें दिन बढ़ोतरी जारी रही। पूरे देश के साथ मप्र में भी इसका असर पड़ा है। राजधानी भोपाल में भी सोमवार को पेट्रोल और डीजल महंगा हो गया है। पिछले 16 दिनों में भोपाल में पेट्रोल 9.26 रु प्रति लीटर तो डीजल 9.51 रु प्रति लीटर महंगा हो गया है। भोपाल में पेट्रोल के दाम प्रति लीटर 35 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 87.19 रुपए  हो गया है। इसी तरह डीजल की कीमत में प्रति लीटर 56 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 78.35 पैसे हो गया है। नए रेट आज से लागू हो गए हैं।   पेट्रोल- डीजल के बढ़ते दामों को लेकर मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने इसका कड़ा विरोध किया है। उन्होंने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कोरोना महामारी में भी पेट्रोल - डीजल की निरंतर बढ़ रही कीमतों से जनता पर महंगाई की दोहरी मार पड़ रही है। लगातार आज 16 वें दिन भी पेट्रोल- डीज़ल महँगा हुआ है। पेट्रोल और डीज़ल के दाम लगभग बराबर हो गये है। पिछले 16 दिनो के दौरान पेट्रोल 8.30 रुपये और डीज़ल 9.46 रुपये प्रति लीटर महँगा हुआ है। विपक्ष में मूल्यवृद्धि पर विरोध में साइकिल चालने वाले आज मौन होकर ग़ायब है।   कमलनाथ ने केन्द्र और राज्य सरकार को पेट्रोल डीजल के दामों में कमी करने की मांग करते हुए प्रदेशव्यापी आंदोलन की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि ‘आज अवसर राहत प्रदान करने का है लेकिन जनता को राहत प्रदान नहीं की जा रही है। केन्द्र सरकार व राज्य सरकार इस संकट काल में तत्काल पेट्रोल- डीज़ल पर करो में कमी कर जनता को राहत प्रदान करे। कांग्रेस इस माँग को लेकर प्रदेशव्यापी आंदोलन करेगी।

Dakhal News

Dakhal News 22 June 2020


guna,More than, five hundred, Congress workers, joined BJP

गुना। जिले के कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल होने का सिलसिला जारी है। सोमवार को भी जिले के पांच सौ से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ता पार्टी छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए।    गुना में पूर्व मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया के नेतृत्व में करीब 500 कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा का दामन थाम लिया। जिले के म्याना में आयोजित एक कार्यक्रम में सांसद रोडमल नागर ने भाजपा में शामिल होने वाले कार्यकर्ताओं का स्वागत किया और उन्हें विधिवत पार्टी की सदस्यता दिलाई। उपचुनाव से पहले कांग्रेस के लिए यह एक बड़ा झटका बताया जा रहा है। गौरतलब है कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा पार्टी छोड़े जाने के बाद से बड़ी संख्या में उनके समर्थक कांग्रेस छोड़ रहे हैं। इससे पहले चंदेरी, मुंगावली एवं अशोकनगर विधानसभा के सैकड़ों कार्यकर्ता भोपाल में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर चुके हैं।

Dakhal News

Dakhal News 22 June 2020


bhopal,Include yoga,your daily routine ,prevent corona

भोपाल। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर रविवार को भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश में मंडल स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किये। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष, सांसद विष्णुदत्त (वीडी) शर्मा एवं प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत ने भोपाल स्थित भाजपा कार्यालय में पार्टी पदाधिकारियों ओर कार्यकर्ताओं के साथ योगाभ्यास किया। प्रदेश अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओ ओर प्रदेशवासियों को योग दिवस की बधाई और शुभकामनाएं देते हुए योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करने की अपील की। योगाचार्य सुरेश रामानी ने योगाभ्यास कराया।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योग को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के माध्यम से पूरी दुनिया में पहचान दिलाई है। योग के प्रति पूरे विश्व की दिलचस्पी एवं स्वीकृति से भारत के बढ़ते प्रभाव एवं सम्मान की अनुभूति मिलती है। उन्होंने कहा कि योग हम सबको करना चाहिए। इससे मनुष्य के शरीर को कई तरह के फायदे होते हैं,  साथ ही हम निरोग और स्वस्थ रहते हैं। कोरोना महामारी से निपटने के लिए चिकित्सकों द्वारा भी योग करने की सलाह दी जाती है। उन्होंने जनता से आव्हान करते हुए कहा कि कोरोना से बचाव के लिए योग को जीवन का हिस्सा बनाए और पार्टी कार्यकर्ता भी योग को लेकर जनजागरण करें।   संगठनात्मक मंडल स्तर तक हुए कार्यक्रम   प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर भाजपा ने पूरे प्रदेश में योगाभ्यास के कार्यक्रम आयोजित किए हैं। मंडल स्तर तक हुए आयोजनों में निर्धारित सामाजिक दूरी का विशेष ध्यान रखा गया। कार्यकर्ताओं ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए योगाभ्यास किया और आमजन को कोरोना से लडऩे के लिए योग करने की अपील भी की।   प्रदेश कार्यालय में आयोजित योगाभ्यास में प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लुणावत, सांसद प्रज्ञा ठाकुर, संभागीय संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर, प्रदेश प्रवक्ता आलोक संजर, जिलाध्यक्ष सुमित पचौरी, अनिल अग्रवाल, सुनील पाण्डे, राम बंसल, सत्यार्थ अग्रवाल, सीमा सिंह, अशोक सैनी सहित कार्यकर्ता शामिल हुए। 

Dakhal News

Dakhal News 21 June 2020


indore, Left parties, demand free,ration , poor laborers

इंदौर। वामपंथी-समाजवादी दलों के एक प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को इंदौर एडीएम बीबीएस तोमर से मुलाकात की और उन्हें कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन सौंपा। उन्होंने ज्ञापन के माध्यम से सभी गरीब मजदूरों को निशुल्क राशन उपलब्ध कराने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, सोशलिस्ट पार्टी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के प्रतिनिधि कैलाश लिंबोदिया, अरुण चौहान, रूद्र पाल यादव, रामस्वरूप मंत्री और भागीरथ कछवाय शामिल थे।   प्रतिनिधियों ने ज्ञापन में कहा है कि कंट्रोल दुकानों से निशुल्क राशन वितरण के मामले में भ्रम की स्थिति बनी हुई है। प्रदेश सरकार कहती है कि सभी गरीबों को कंट्रोल दुकानों से निशुल्क राशन दिया जाएगा, लेकिन जिला प्रशासन का कहना है कि ऐसा कोई आदेश नहीं है, केवल गरीबी रेखा के कार्ड वालों को ही राशन उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कलेक्टर से मांग की कि सभी गरीब मजदूरों को निशुल्क राशन उपलब्ध कराया जाए। यदि राज्य शासन का आदेश है कि सभी गरीबों को राशन दिया जाए तो कंट्रोल दुकानों को स्पष्ट निर्देशित करें।    प्रतिनिधिमंडल को एडीएम तोमर ने बताया कि राज्य सरकार का ऐसा कोई आदेश अभी तक नहीं आया है। इस कारण इंदौर में सभी को निशुल्क राशन दिया जाना संभव नहीं है। इस संबंध में आपकी बात को ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजा जाएगा और कोशिश की जाएगी कि इस पर राज्य सरकार की स्वीकृति मिल जाए।   प्रतिनिधियों ने जिला प्रशासन से अपील की है कि 3 माह के लगातार लॉकडाउन के चलते कई लोगों की रोजी-रोटी पर विपरीत असर हुआ है। रिक्शा चालक, हम्माल, दैनिक वेतन भोगी, भवन निर्माण में लगे मजदूरों और ऐसे ही हजारों परिवारों के सामने भूखों मरने की नौबत आ गई है, इसलिए तत्काल इन लोगों को कंट्रोल दुकानों से निशुल्क राशन वितरण की व्यवस्था की जाए। वरना, वामपंथी समाजवादी दल इन लोगों को गोलबंद कर आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

Dakhal News

Dakhal News 20 June 2020


bhopal,Digvijay Singh, expresses gratitude ,Sonia and Rahul Gandhi ,reaching Rajya Sabha

भोपाल। मध्य प्रदेश से राज्यसभा में भाजपा को दो और कांग्रेस को एक सीट हासिल हुई है। भाजपा के ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेरसिंह सोलंकी जबकि कांग्रेस से दिग्विजय सिंह विजयी घोषित किए गए। एक बार फिर विजय हासिल कर राज्यसभा पहुंचने पर दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस पार्टी के नेताओं का आभार जताया है।    दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ उन्हें वोट देने वाले विधायकों को धन्यवाद दिया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा ‘मध्यप्रदेश से कॉंग्रेस पार्टी के उम्मीदवार के रूप में मुझे 54 कॉंग्रेस विधायकों ने व 3 अन्य विधायकों ने चुन कर राज्यसभा में पुन: भेजा मैं आभारी हूँ। मैं आभारी हूँ हमारी राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया जी राहुल जी व प्रियंका जी का और कॉंग्रेस के उच्च कमान का जिन्होंने मुझे इस लायक़ समझा। बता दें कि कांग्रेस के दूसरे उम्मीदवार फूल सिंह बरैया चुनाव हार गए। उन्हें जीतने के लिए जरूरी मतों से 16 मत कम मिले। सबसे ज्यादा 57 वोट दिग्विजय सिंह को, 56 सिंधिया को और 55 वोट सुमेरसिंह सोलंकी को मिले। बरैया के खाते में 36 वोट आए। दो वोट निरस्त हुए।  

Dakhal News

Dakhal News 20 June 2020


bhopal, former minister, big statement , Rajya Sabha election results

भोपाल। मध्य प्रदेश से राज्यसभा में भाजपा को दो और कांग्रेस को एक सीट हासिल हुई है। भाजपा के ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेरसिंह सोलंकी जबकि कांग्रेस से दिग्विजय सिंह विजयी घोषित किए गए। चुनाव में सबसे ज्यादा 57 वोट दिग्विजय सिंह को मिले, जबकि उनसे एक वोट कम 56 सिंधिया को मिले। सिंधिया को एक वोट कम मिलने पर पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने बड़ा बयान दिया है।    पीसी शर्मा ने शनिवार को मीडिया से बात करते हुए राज्यसभा चुनाव के नतीजों पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि महाराजा पर राजा भारी पड़े है। कांग्रेस का मैनेजमेंट मजबूत रहा और भाजपा के विधायक कांग्रेस को वोट कर गए। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा ने दूसरे दलों के विधायकों को प्रताडि़त कर वोटिंग कराई है। भाजपा ऐसे विधायकों को ब्लैकमेल कर रही है। पीसी शर्मा ने कहा कि भाजपा विधायकों के खिलाफ केस दर्ज होने का फायदा उठा रही है, लेकिन मप्र में आगे चलकर मणिपुर जैसी स्थिति बनेगी।   वहीं प्रधानमंत्री द्वारा आज गरीब कल्याण रोजगार अभियान के शुभारंभ करने पर पीसी शर्मा ने कहा कि भाजपा बड़ी-बड़ी बातें करती है। कोरोना संक्रमण काल में गरीबों को तो कुछ दिया नहीं, छोटे और निम्न वर्ग के लोग परेशान हैं। उन्होंने कहा कि विधवा और बुजुर्गों को 4 माह से पेंशन नहीं मिली है। गरीबों के खाते में 1000 रुपये डालने की जो बात की जा रही थी, वह भी उनके खाते में नहीं आए हैं।   सडक़ों की मरम्मत न होने पर पीसी शर्मा बोले कि सरकार ठेकेदारों का भुगतान नहीं कर रही है, इसलिए मरम्मत नहीं हो पा रही। साथ ही बारिश का मौसम आ गया है और नालों की सफाई नहीं हुई। निचली बस्तियों में पानी भर रहा है और सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है।

Dakhal News

Dakhal News 20 June 2020


bhopal,After voting, Kamal Nath, we are winning ,only one seat

भोपाल। राज्यसभा चुनाव के लिए सुबह 9.00 बजे से वोटिंग जारी है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भी अपने विधायकों के साथ वोट डालने पहुंचे। उन्होंने वोट देने के बाद कहा कि हम केवल एक सीट जीत रहे हैं।    राज्यसभा के लिए शुक्रवार सुबह जब मतदान शुरू हुआ, तो मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और शिवराज सरकार के कद्दावर मंत्री नरोत्तम मिश्रा सबसे पहले वोट देने पहुंचे। अपना वोट देने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि यह तय है कि हम राज्यसभा की एक सीट जीत रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये सबको पता है कि भाजपा दूसरी सीट किस तरह से जीत रही है।    गौरतलब है कि तमाम कोशिशों के बावजूद कांग्रेस उन विधायकों को अपने खेमे में लाने में कामयाब नहीं हो सकी, जो कमलनाथ सरकार को समर्थन दे रहे थे। राज्यसभा की रिक्त तीन सीटों के लिये भारतीय जनता पार्टी के ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं सुमेर सिंह सोलंकी तथा कांग्रेस के दिग्विजय सिंह एवं फूलसिंह बरैया उम्मीयदवार हैं। विधानसभा में सदस्य संख्या के अनुसार भाजपा के पक्ष में दो और कांग्रेस के पक्ष में एक सीट जाना सुनिश्चित माना जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 19 June 2020


bhopal, former minister, worried, BJP, Shivraj should resign,tribal

भोपाल। मप्र से कांग्रेस द्वारा फूल सिंह बरैया की बजाय दिग्विजय सिंह को प्राथमिकता के साथ राज्यसभा भेजने पर भाजपा लगातार निशाना साध रही है। भाजपा नेताओं द्वारा कांग्रेस पर आदिवासी विरोधी होने के आरोप लगाए जा रहे है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी अपने एक बयान में कहा है कि कांग्रेस को उपचुनाव में दलितों के अपमान का परिणाम भुगतना पड़ेगा। भाजपा के इन आरोपों पर दिग्विजय सिंह के पुत्र और पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने पलटवार किया है।    राज्यसभा वोट डालने के बाद भाजपा के आरोपों पर बयान देते हुए पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि भाजपा को आदिवासियों की इतनी चिंता है, तो शिवराज सिंह इस्तीफा देकर किसी आदिवासी को मुख्यमंत्री बना दे। इसके अलावा जयवर्धन सिंह ने राज्यसभा की दोनों सीटों पर कांग्रेस की जीत का दावा किया है। उन्होंने कहा कि शाम को परिणाम आने पर हम दोनों सीटें जीतेंगे। कमलनाथ के निवास से विधायक वालों को अलग-अलग रवाना करने पर कहा कि विधायकों को विधानसभा के लिए रवाना किया गया था।   वहीं क्रॉस वोटिंग को लेकर जयवर्धन सिंह ने कहा कि कांग्रेस में बिल्कुल क्रॉस वोटिंग नहीं हो सकती है। राज्यसभा के दोनों प्रत्याशियों के नाम राज्य सरकार रहते ही तय हो गए थे। विधायक लक्ष्मण सिंह और उमंग सिंघार की नाराजगी पर कहा कि दोनों ही बैठकों में शामिल हुए और 100प्रतिशत हमारे साथ है। उपचुनाव को लेकर जयवर्धन सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश की जनता बागी विधायकों का साथ नहीं देगी। 15 साल बनाम 15 महीने कांग्रेस का एजेंडा होगा।

Dakhal News

Dakhal News 19 June 2020


bhopal, Congress leader ,Ajay Singh suggested, Janata Kosh ,name of martyrs

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने सुझाव दिया है कि देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए सेना के जो जवान शहीद होते हैं, उनके परिवारों की सहायता के लिए देश का हर नागरिक अपनी भागीदारी निभाएं। इसके लिए एक जनता कोष बनाया जाए, जिसमें हर खाताधारक नागरिक के खाते से हर माह एक रुपया जमा हो और इसमें एकत्रित राशि शहीदों के परिवारों को दी जाए। यह राशि सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता राशि के अतिरिक्त हो।   अजय सिंह ने शुक्रवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा कि भारतीय सेना के जवान अपने परिवारों को छोडक़र दुर्गम इलाकों में रहकर भारतीय सीमा की रक्षा करते हैं और दुश्मनों से जांबाजी के साथ लडक़र अपनी जान तक दे देते हैं। इन जवानों के परिवारों के प्रति देश के हर नागरिक यह जिम्मेदारी है कि वह भी उन्हें आर्थिक रूप से संबल देने में भागीदारी निभाएं। यह इस देश के हर नागरिक की जवानों के  परिवार के प्रति जिम्मेदारी भी है कि जो जवान देश की रक्षा करने के साथ ही उनके जीवन की भी रक्षा कर रहा है, उनके लिए आगे आकर उनके परिवारों का संबल बनना चाहिए, क्योंकि यह जवान देश और उनके जीवन की रक्षा के लिए ही अपने प्राणों तक की परवाह नहीं करते।   उन्होंने सुझाव दिया कि सरकार इसके लिए शहीदों के नाम जनता कोष बनाये, जिसमें देश के हर खाताधारक के खाते से एक रुपया इस कोष में जमा हो। इसे स्वैच्छिक भी बनाया जा सकता है कि जो भी नागरिक अपने खाते से इस कोष में जमा करने के लिए एक रुपये काटने की सहमति देता है तो उसके खाते से यह राशि हर माह काट कर इस कोष में जमा हो जाए। उन्होंने कहा कि हर खाताधारक इसके लिए अपनी सहमति बैंक को लिखकर दें। पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि देश और हमारे वीर जवानों के प्रति अपने दायित्वों का निर्वाह देश के हर नागरिक को करना चाहिए और आगे आकर भागीदार बनना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 19 June 2020


bhopal, Kamal Nath ,paid tribute, Veerangana Lakshmibai , Sacrifice Day

भोपाल। मप्र के पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने वीरांगना लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने रानी लक्ष्मीबाई के शौर्य और पराक्रम को मानव जीवन को सदैव प्रेरित करने वाला बताया है।   कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा ‘मातृभूमि की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाली अदम्य साहस और शौर्य की प्रतीक वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई जी के बलिदान दिवस पर विनम्र श्रद्धांजलि। वीरों की गौरव गाथा से हमें शिक्षा मिलती है कि कोई भी प्रलोभन उन्हें अपने कर्तव्य पालन से विमुख नहीं कर सकता।   एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने कहा ‘अपने पवित्र उद्देश्य की प्राप्ति के लिए वह सदैव आत्मविश्वासी, कर्तव्य परायण, स्वाभिमानी और धर्मनिष्ठ होते है। मातृभूमि की रक्षा के प्रति रानी लक्ष्मी बाई का त्याग, समर्पण, संघर्ष एवं देशभक्ति की भावना हमें सदैव प्रेरित करती रहेगी।

Dakhal News

Dakhal News 18 June 2020


gwalior, Former minister, Jaibhan Singh Pawaiya,paid tributes , memorial site ,Rani Laxmibai

ग्वालियर। महान वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है। कोरोना महामारी के चलते सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक के कारण इस बार ग्वालियर में लगने वाले वीरांगना लक्ष्मीबाई बलिदान मेले का स्वरूप बदला गया। हर साल बलिदान मेले में हजारों की संख्या में उमडऩे वाली लोगों की भीड़ इस बार चुनिंदा लोगों में सिमटकर रह गयी।    बलिदान मेले के संस्थापक अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री जयभानसिंह पवैया ने गुरुवार को रानी लक्ष्मीबाई की समाधि स्थल पर पुष्पांजलि अर्पित करने पहुंचे। इस दौरान उनके साथ कुल 20 अन्य लोग मौजूद रहे।  रानी लक्ष्मीबाई की समाधि स्थल पर श्रद्धांजलि देने के बाद जयभानसिंह पवैया वहां मौजूद लोगों के साथ 4 घंटे के उपवास पर बैठ गए है। पवैया ने चीन सीमा पर शहीद हुए भारतीय जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने कहा कि कोरोना का दौर है, इसलिए वीरांगना लक्ष्मीबाई का जो मेला 20 साल से लगता चला आ रहा है, उसका स्वरूप कोरोना के कारण बदल दिया गया। जिसके कारण आज वे 4 घंटे के उपवास के जरिए लक्ष्मीबाई को श्रद्धांजलि दे रहे हैं।  

Dakhal News

Dakhal News 18 June 2020


bhopal,Former minister, claim , shocking results ,Rajya Sabha election

भोपाल। मप्र में राज्यसभा की 3 सीटों के लिए शुक्रवार को चुनाव होना है। राज्यसभा चुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस में बैठकों का दौर जारी है। गुरुवार को एक बार फिर भाजपा और कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई गई है। चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। भाजपा को सपा, बसपा और दो निर्दलीय विधायकों का समर्थन मिला है। इस बीच पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक पीसी शर्मा का बड़ा बयान सामने आया है।    कांग्रेस विधायक दल की गुरुवार को होने वाली बैठक को लेकर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने जानकारी देते हुए कहा है कि आज भी विधायक दल की बैठक आयोजित की गई है। कुछ विधायकों की अनुपस्थिति पर सफाई देते हुए पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि 4- 5 विधायक नहीं आ पाए थे, उन्होंने पहले ही सूचना दे दी थी। पीसी शर्मा ने दावा किया है कि आज आयोजित बैठक में सभी विधायक उपस्थित रहेंगे।   इस दौरान मीडिया को जानकारी देते हुए पूर्व मंत्री ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने बताया कि राज्यसभा के चुनाव के लिए पहले 54 विधायक दिग्विजय सिंह को वोट करेंगे, इसके बाद बचे हुए विधायक फूल सिंह बरैया को वोट करेंगे। निर्दलीय, सपा और बसपा विधायकों के भाजपा कार्यालय पहुंचने पर पीसी शर्मा ने कहा कि फूल सिंह बरैया का पुराना इतिहास है, वोटिंग जब होती है तो वोट दिखाने की ज़रूरत नहीं होती है। उन्होंने राज्यसभा चुनाव के चौंकाने वाले रिजल्ट सामने आने का दावा करते हुए कहा कि जब राज्यसभा का जब रिजल्ट आएगा तो सब चीजें समझ में आ जाएंगी।    कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों को परेशान कर रही भाजपा    सांसद नकुलनाथ की सुरक्षा कम करने पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने कभी ऐसा नहीं किया है। चुने हुए जनप्रतिनिधि और जनता को परेशान करना ही भाजपा का काम है। वहीं बढ़ती पेट्रोल -डीज़ल की कीमतों पर पीसी शर्मा ने कहा कि दाम रोज़ाना बढ़ रहे हैं। पेट्रोल- डीजल की कीमत 18 रुपए होना चाहिए। सरकार ईधन तेल 81 रु लीटर बेच रही है। महंगाई बढऩे से लोग बेरोजगार हो गए हैं। प्रदेश में 14 लाख लोगों के बेरोजगार होने की बात पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कही है।  

Dakhal News

Dakhal News 18 June 2020


bhopal,Jayavardhan Singh, statement, Indo-China border dispute

भोपाल। पूर्वी लद्दाख के गालवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ सोमवार रात हुई हिंसक झड़प और भारत के 20 जवानों के शहीद होने के बाद केन्द्र सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है। मप्र के पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने भारत- चीन सीमा विवाद को मोदी सरकार का फेलियर बताया है।    पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने भोपाल-भारत चीन सीमा विवाद में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा है कि हमारे सैनिकों का शहीद होना दु:खद है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि घटना के 20 घण्टे के बाद भी पीएम नरेंद्र मोदी ने कुछ नहीं कहा है। यह मोदी सरकार का फेलियर है। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि घटना के समय हमारे सैनिकों के पास हथियार क्यों नहीं थे। चुनाव के वक्त भाजपा सेना का नाम लेकर फायदा उठाती है। लेकिन इतनी बड़ी घटना पर चुप्पी कई सवाल उठाती है।

Dakhal News

Dakhal News 17 June 2020


bhopal,BJP leaders ,pay tribute ,Rewa

भोपाल। लद्दाख स्थित गलवान घाटी में सीमा विवाद को लेकर दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई झड़प में भारतीय सेना के कमांडिंग अफसर सहित 20 जवान शहीद हो गए। इनमें रीवा का एक जवान दीपक सिंह गहरवार भी शामिल है। बुधवार सुबह 16-बिहार रेजीमेंट में सैनिक रीवा जिले के मनगवां थाना क्षेत्र के ग्राम फरेदा निवासी दीपक सिंह गहरवार के शहीद होने की सूचना मिलने के बाद क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। भाजपा नेताओं ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है।   भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने बुधवार को सोशल मीडिया के माध्यम से शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीट किया है कि - ‘गलवान घाटी में भारत चीन के सैनिकों के बीच हुई झड़प में रीवा के सपूत दीपक सिंह जी के शहीद होने की दु:खद खबर मिली। ईश्वर वीर शहीद की आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दे एवं उनके परिवार को इस दु:ख को सहने की शक्ति दे। देश के साथ सम्पूर्ण मध्यप्रदेश को अपने शहीद बेटे पर गर्व है।’     भाजपा के वरिष्ठ नेता और मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने ट्वीट पर शोक व्यक्त करते हुए लिखा है कि - ‘भारत चीन झड़प में प्रदेश के रीवा जिले के फरेदा गांव का रहने वाले जवान दीपक सिंह ने मातृभूमि के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। शहीद दीपक सिंह को कोटि-कोटि नमन करता हूँ। ईश्वर उनकी आत्मा दे। उनके परिजनों को ईश्वर दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करे। उनके साथ पूरा देश खड़ा है।’    वहीं, प्रदेश के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी शहीद जवानों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीट किया है कि - देश की अस्मिता की रक्षा करते हुए भारतीय सीमा पर हमारे 20 जवानों का शहीद होना अत्यंत दु:खदायी है। प्रभु वीरात्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान दें व परिजनों को यह दु:ख सहने का संबल प्रदान करें। राष्ट्रहित में अपने प्राणों की आहुति देने वाले देवआत्माओं को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि।’   भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने चीन की इस हरकत को निंदनीय बताते हुए देश के शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने ट्वीट किया है कि -निंदनीय हरकत! चीन की ये हरकत असहनीय है। विवादों को बातचीत से सुलझाया जाता है न कि गोलियों से! भारत अपने सैनिकों की शहादत को कभी बेकार नहीं जाने देगा। हम एक-एक जान का बदला लेंगे और अपनी जमीन भी छीनकर रहेंगे! सभी शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि!’

Dakhal News

Dakhal News 17 June 2020


bhopal, former minister, retaliated, Narottam Mishra statement

भोपाल। मध्य प्रदेश में इन दिनों राजनीतिक दलों के बीच घमासान मचा हुआ है। विधानसभा उपुचनाव और राज्यसभा चुनाव से पहले भाजपा और कांग्रेस ऑडियो- वीडियों के मामले में आमने सामने हो गए हैं। अपने ऊपर दर्ज हुए प्रकरण के बाद दिग्विजय सिंह बुधवार को सीएम शिवराज के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने क्राइम ब्रांच पहुुंचे। जिस पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उन पर कई आरोप लगाए। वहीं दिग्विजय सिंह को लेकर गृहमंत्री के आरोपों पर पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने पलटवार किया है।    दिग्विजय सिंह के द्वारा एफआईआर कराने के मामले में गृहमंत्री के बयान पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने पलटवार करते हुए कहा है कि भाजपा बदले की भावना से यह सब कुछ कर रही है। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह ने जो वीडियो वायरल किया था, वह बातें मुख्यमंत्री ने कहीं हैं जो अब उन पर लागू होती हैं। पीसी शर्मा ने कहा कि दिग्विजय सिंह से भाजपा डरती है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के पास तो एक अलग से एक डिपार्टमेंट है जो नकली ट्वीट और वीडियो बनाने का काम करता है। भाजपा का तो यह धंधा बन गया है।    पीसी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी का जो वीडियो एडिट करके वायरल किया था, दिग्विजय सिंह उस पर एफआईआर करा रहे हैं और मुझे उम्मीद है कि शासन एफआईआर करेगा और उस पर कार्यवाही करेगा। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा पर हमला करते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि बाकी गृहमंत्री देख ले ई टेंडरिंग और हनी ट्रैप जैसे मामलों की फाइल मुख्यमंत्री के पास है, देखना होगा कब कार्रवाई होती है। रहा सवाल किसानों की कर्ज माफी का, तो इसके प्रमाण के बंडल कांग्रेस पार्टी पहले ही शिवराज सिंह  को सौंप चुकी है। जिसमें भाजपा नेताओं और मंत्रियों के परिवार के कर्जमाफी हुए हैं।   

Dakhal News

Dakhal News 17 June 2020


bhopal, statement ,Home Minister, Narottam Mishra ,Digvijay Singh ,stop dirty politics

भोपाल। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान का शराब की बिक्री के मामले में फेक वीडियो ट्वीटर पर शेयर करने में फंसे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अब शिवराज के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएंगे। मामला एक साल पुराना है, जो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के वीडियो से जुड़ा है। दिग्विजय सिंह ने कहा- मैं शिवराज के खिलाफ उसी थाने में एफआईआर दर्ज कराने जाऊंगा, जिसमें मेरे खिलाफ केस दर्ज किया गया है। दिग्विजय सिंह के इस बयान पर प्रदेश के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार किया है।    मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए दिग्विजय सिंह पर पलटवार करते हुए कहा है कि हमें बीमारी से लडऩा है बीमार से नहीं, दिग्विजय सिंह की गलती पकड़ में आ गई है, इसलिए तीन साल पुराना वीडियो निकाल कर अपनी गलती छुपाने के लिए इस तरह की बात कर रहे है। अगर उनके पास कोई वीडियो था तो आपने पहले क्यों शिकायत नहीं की। किसी से रोका था क्या, अब क्यों याद आई शिकायत करने की। मंत्री मिश्रा ने कहा कि पहले तो दिग्विजय सिंह को माफी मांगना चाहिए और उन्हें यह डर्टी पॉलिटिक्स बंद करना चाहिए।    गोपाल भार्गव बोले, दिग्विजय की मानसिक हालत खराब वहीं पूर्व नेता प्रतिपक्ष व वरिष्ठ भाजपा विधायक गोपाल भार्गव ने दिग्विजय सिंह को आड़े हाथों लेते हुए उन पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि दिग्विजय सिंह की बातों को अब कोई गंभीरता से नहीं लेता है। लोकसभा चुनाव हारने के बाद उनकी मानसिक और ज्यादा खराब हो गई है। झूठ बोलना उनकी फितरत में है।

Dakhal News

Dakhal News 16 June 2020


bhopal, Regarding, statement, Jarnadan Mishra, former minister Sharma

भोपाल। कोरोना संकट के बीच मध्यप्रदेश में उपचुनाव को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है। राज्य के दोनों प्रमुख दलों भाजपा और कांग्रेस के नेता के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इसी क्रम में कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने रीवा सांसद जनार्दन मिश्रा के विवादित बयान को लेकर भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि भाजपा का यही असली चेहरा है।   बता दें कि रीवा से भाजपा सांसद जर्नादन मिश्रा शराब दुकानों पर आबकारी विभाग की महिलाओं को बैठाने को लेकर बीते रविवार को एक बयान में कहा था कि "जब महिलाएं शराब पी सकती हैं तो वे शराब बेच क्यों नहीं सकतीं। रीवा की महिलाएं सबसे ज्यादा शराब की आदि हैं।" इस मामले को लेकर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने मंगलवार को मीडिया को जारी बयान में कहा है कि बीजेपी का असली चेहरा सामने आ गया है। बीजेपी की सोच क्या है, इस बयान से यह पता चल जाता है।    पीसी शर्मा ने मार्केट में मोदी मास्क, शिवराज मास्क बेचे जाने को लेकर भी भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मास्क पर लगे चेहरे ही बीजेपी के असली चेहरे हैं। कोरोना के लगातार फैलते संक्रमण पर उन्होंने कहा कि जांच हो नहीं रही है, कोरोना पॉजिटिव मरीज बढ़ते जा रहे हैं। सरकार झूठे आंकड़े पेश करने में लगी है। उन्होंने कृषि मंत्री कमल पटेल के बेटे के वायरल ऑडियो पर कहा कि उनका बेटा क्या वो तो खुद (कमल पटेल) गालियां देते हैं। उनका बेटा तो जिलाबदर है।

Dakhal News

Dakhal News 16 June 2020


ratlam, Congressmen ,gave memorandum ,demanding action ,against BJP leaders

रतलाम। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर वायरल वीडियो के आधार पर जो प्रकरण दर्ज किया गया, उसके विरोध में शहर जिला कांग्रेस कमेटी एवं ग्रामीण जिला कांग्रेस ने मंगलवार को दो बत्ती थाने पर पुलिस महानिदेशक के नाम पर थाना प्रभारी को ज्ञापन दिया।   ज्ञापन में बताया कि भाजपा सरकार द्वारा लगातार कांग्रेस नेताओं पर प्रतिशोध की भावना से प्रकरण दर्ज कराए जा रहे हैं, जबकि भारतीय जनता पार्टी के लोग खुलेआम एडिटिंग कर वीडियो  डालकर हमारे राष्ट्रीय नेताओं की छवि खराब करने का कार्य कर रहे हैं। भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार सिंह ने  सार्वजनिक रूप से स्वीकृति दी है कि हमने राहुल गांधी जी का वीडियो एडिट किया। इस वीडियो को डालने वाले भाजपा के संबित पात्रा एवं अमित मालवीय पर भी मुकदमा दर्ज किया जाए। कांग्रेस की मांग है कि ऐेसे नेताओं को खिलाफ कार्रवाई की जाए।    ज्ञापन का वाचन शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष महेंद्र कटारिया एवं जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राजेश भरावा ने किया।ज्ञापन देते समय पूर्व विधायक  पारस सकलेचा, पूर्व अध्यक्ष विनोद मिश्रा मामा, प्रदेश महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष यास्मिन शेरानी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष डीपी धाकड़, सेवादल प्रदेश सचिव रजनीकांत व्यास,प्रदेश सचिव मंसूर अली पटौदी, महिला कांग्रेस अध्यक्ष अदिति दवेसर ,ब्लॉक अध्यक्ष  बसंत पंड्या ,विजय सिंह चौहान ,कमरुद्दीन कछवाहा, सेवादल अध्यक्ष महीप मिश्रा, इंटक अध्यक्ष मनोज पांडे ,महिला सेवा दल संगीता कांकरिया, पूर्व नेता प्रतिपक्ष मुबारिक भाई, प्रेमलता दवे,युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष किशन सिंगार सहित कांग्रेसजन उपस्थित थे।  

Dakhal News

Dakhal News 16 June 2020


bhopal, CM Shivraj ,bowed down , birth anniversary , freedom fighter ,Taraknath Das

भोपाल। महान स्वतंत्रता सेनानी तारकनाथ दास की आज सोमवार को जयंती है। वे भारत के प्रसिद्ध क्रान्तिकारियों में से एक गिने जाते हैं। अरविन्द घोष, सुरेन्द्रनाथ बनर्जी तथा चितरंजन दास इनके घनिष्ठ मित्रों में से थे। क्रान्तिकारी गतिविधियों के कारण ताकरनाथ दास ने अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी, लेकिन बाद में पुन: अध्ययन प्रारम्भ कर इन्होंने पी.एच. डी. की उपाधि प्राप्त की थी। तारकनाथ दास पर अमेरिका में मुकदमा चला था, जहाँ इन्हें क़ैद की सज़ा सुनाई गई थी। उनकी जयंती पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें स्मरण करते हुए नमन किया है।    सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा कि ‘स्वतंत्रता सेनानी स्व.तारकनाथ दास की जयंती पर नमन! आजीवन आप देश के लिए लड़े। आज आप हमारे बीच नहीं हैं, फिर भी अमेरिका स्थित तारकनाथ दास फाउंडेशन के माध्यम से आपका आशीर्वाद मिल रहा। इससे कोलंबिया व अन्य प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी में युवाओं के उच्च शिक्षा के सपने को साकार हो रहे हैं।   एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने कहा ‘भारत का नाम देश ही नहीं, दुनिया में गौरवान्वित करने वाले आप जैसे रत्नों पर देश को सदैव गर्व रहेगा। आपके सपनों के शिक्षित और समर्थ भारत के निर्माण हेतु हम सब संकल्पित हैं। आप सदैव हमारे दिलों में जिंदा रहेंगे। चरणों में प्रणाम!   भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ताकरनाथ दास को जयंती पर नमन करते हुए कहा ‘स्वाधीनता आंदोलन के दौरान 'अनुशीलन समिति’ तथा ‘युगांतर पार्टी’ के कार्यों में सक्रिय भाग लेकर क्रांतिकारी गतिविधियों में संलिप्त भारत माँ की आजादी के दीवानों में से एक तारकनाथ दास 'ब्रह्मचारी’ जी की जयंती पर नमन।   

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2020


bhopal,Kamal Nath, condemns BJP, registering case ,against Digvijay Singh

भोपाल। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल करने के मामले में भाजपा द्वारा कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कराए जाने के बाद कांग्रेस तिलमिला गई है। कांग्रेस नेताओं के भाजपा पर हमले तेज हो गए है। इसी कड़ी में मप्र के पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने भी दिग्विजय सिंह के खिलाफ दर्ज हुए प्रकरण की निंदा करते हुए भाजपा को आड़े हाथों लिया है।    कमलनाथ ने ट्वीट कर भाजपा पर कांग्रेस नेताओं के खिलाफ विद्वेषपूर्ण कार्यवाही करने और गलत परंपरा को जन्म देने का गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि ‘प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर दर्ज हुए प्रकरण की कड़ी निंदा करता हूँ। भाजपा सरकार प्रदेश में निरंतर कांग्रेस के नेताओं पर दमनकारी कार्यवाही कर अपनी विद्वेष व दुर्भावना वाली सोच को प्रदर्शित कर रही है। सरकारें आती जाती रहती है लेकिन भाजपा प्रदेश में एक गलत परंपरा को जन्म दे रही है।   एक अन्य ट्वीट कर कमलनाथ ने भाजपा पर डर्टी पालिटिक्स करने का आरोप लगाते हुए दिग्विजय की बजाय वीडियो एडिट करने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि ‘भाजपा से जुड़े लोग कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ निरंतर डर्टी पॉलिटिक्स कर उनकी छवि बिगाडऩे का काम करते है वो एक वायरल वीडियो पर दिग्विजय सिंह के खिलाफ झूठी शिकायत कर रहे है। यदि कोई वीडियो एडिटेड है तो कार्यवाही एडिटेड वीडियो बनाने वाले के खिलाफ होनी चाहिये लेकिन दिग्विजय सिंह पर कार्यवाही समझ के परे है ?

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2020


bhopal, Congress demand , registered  CM Shivraj  spreading rumors ,serving lies

भोपाल। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पर एफआईआर दर्ज होने के बाद बौखलाई कांग्रेस ने इसकी निंदा करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान पर प्रकरण दर्ज करने की मांग की है। कांग्रेस ने सीएम शिवराज पर झूठे ट्वीट करने और अफवाह फैलाने के आरोप में प्रकरण दर्ज करने की मांग की है।    मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा है कि प्रदेश के 10 वर्ष तक मुख्यमंत्री रहे दिग्विजय सिंह पर एक एडिट, वायरल वीडियो के आधार पर दर्ज किए गए प्रकरण की कांग्रेस कड़ी निंदा करती है। इस एडिट वीडियो को लेकर कार्यवाही इसे बनाने वाले के खिलाफ और कहां से इसकी शुरुआत हुई, उसके खिलाफ होना चाहिए थी, लेकिन इस वायरल वीडियो को लेकर जिसे हजारों लोगों ने पोस्ट किया,  भाजपा की एक झूठी शिकायत के आधार पर दिग्विजय सिंह  पर प्रकरण दर्ज किया गया। सलूजा ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के लोग प्रतिदिन फेक व कूट रचित वीडियो द्वारा लगातार कांग्रेस के नेताओं की छवि खराब करने का काम करते हैं। उन्होंने एक एडिट वीडियो के आधार पर दिग्विजय सिंह जी पर गलत कार्रवाई कर एक गलत परंपरा को प्रदेश में जन्म दिया है।   सलूजा ने बताया कि जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी तब विपक्ष में बैठकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी सरकार को लेकर कई तरह के आरोप लगाते थे और कई ट्वीट करते थे। कई बार उनके ट्वीट में जानकारियां झूठी व भ्रामक होती थी लेकिन कांग्रेस ने उसे मुद्दा बनाकर कभी भी इस तरह की दुर्भावना से प्रेरित कार्रवाई नहीं की। कांग्रेस ने आज शिवराज सिंह चौहान के कुछ ट्वीट को जारी कर इसको लेकर उन पर प्रकरण दर्ज करने की मांग की है। सलूजा ने कहा इन ट्वीट के माध्यम से शिवराज सिंह जी ने अफवाह फैलाई, भ्रामक व झूठी जानकारी परोसी और कांग्रेस सरकार की छवि बिगाडऩे का काम किया।   सलूजा ने उदाहरण देते हुए कहा कि रतलाम में हुए एक हत्याकांड को लेकर शिवराज सिंह जी ने ट्वीट किया कि आरएसएस के स्वयंसेवक हिम्मत पाटीदार की हत्या हो गई है, कांग्रेस सरकार में अपराधियों का बोलबाला है। जबकि सच्चाई यह थी कि खुद हिम्मत पाटीदार ने अपने नौकर की हत्या की थी और वो जिंदा था।   वही छिंदवाड़ा में एक वृद्ध महिला झीनी बाई की लाश एक तालाब में बोरे में मिलने के बाद शिवराज जी ने ट्वीट किया था कि उसकी बेटी के पास अंतिम संस्कार के पैसे नहीं थे इसलिए उन्होंने उसने अपनी मां की लाश को बोरे में बंद कर तालाब में फेंक दिया क्योंकि कांग्रेस सरकार ने अंतिम संस्कार की योजना को बंद कर दिया। जबकि इस मामले में सच्चाई यह थी कि उक्त वृद्ध महिला बीमार थी, उसकी हत्या उसकी बेटी ने ही की थी, जिसके पास कई एकड़ जमीन मौजूद थी। वहीं भोपाल के रेलवे स्टेशन पर एक ब्रिज गिरने के हादसे में कुछ लोग घायल हुए थे लेकिन शिवराज जी ने इस हादसे में 2 लोगों की मृत्यु की अफवाह अपने ट्वीट के माध्यम से फैलाई। इस तरह के और भी कई उदाहरण मौजूद हैं। इन झूठे ट्वीट , झूठ परोसने व अफ़वाह फैलाने को लेकर शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज होना चाहिए , कांग्रेस यह मांग करती है।

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2020


ujjain,Worshiped in Morena, Ujjain , health of Scindia

मुरैना/उज्जैन। पूर्व केन्द्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां माधवी राजे कोरोना संक्रमित होने के बाद दिल्ली के मैक्स अस्पताल में भर्ती हैं। हालांकि, शुक्रवार को दोनों की दूसरी जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है और उनके स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा है। दोनों की रिपोर्ट की निगेटिव आने के बाद उन्हें दो-तीन दिन में अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा सकता है, लेकिन मध्यप्रदेश में उनकी सलामती के लिए मंदिरों में विशेष पूजन-अर्चन किया जा रहा है।   शनिवार को सुबह से मुरैना जिले में स्थित विश्व प्रसिद्ध शनि मंदिर पर सिंधिया परिवार के पुजारी द्वारा पूजा अर्चना की गई। सिंधिया परिवार के करीबी दो सदस्य भी इस पूजा में शामिल रहे और उनकी सेहत को लेकर कामना की। शनि मंदिर में की गई हवन-पूजा में महाराजा और महारानी की पर्चियां भी शामिल की गई।   इधर उज्जैन में शनिवार सुबह ज्योतिरादित्य सिंधिया की स्वास्थ्य कामना को लेकर समर्थकों ने हाथों में पोस्टर लेकर उज्जैन के महाकाल मंदिर के सामने पूजा-अर्चना की। समर्थकों ने ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी माता के जल्द स्वास्थ्य लाभ के लिए बाबा महाकाल के शिखर दर्शन कर भगवान को धन्यवाद अर्पण किया। सिंधिया समर्थक संजय ठाकुर ने बताया कि महाराज के जल्द स्वस्थ होने के लिए बाबा महाकाल से से प्रार्थना की है।   दरअसल, तीन दिन पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी माताजी अस्वस्थ हो गई थीं। इसके बाद उनका कोरोना टेस्ट कराया गया था, जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, लेकिन शुक्रवार को उनका दोबार टेस्ट हुआ, जिसमें उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।   

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2020


bhopal, Aam Aadmi Party ,accused Shivraj government, doing dirty politics,Corona crisis

भोपाल। आम आदमी पार्टी की मध्यप्रदेश इकाई ने कोरोना संकट के बीच शिवराज सरकार पर गंदी राजनीति करने का आरोप लगाया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह ने शनिवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा है कि इस कोरोना महामारी के दौरान अगर आपके घर में कोई बीमार हो और आपको ये पता चले कि आपके नजदीकी अस्पताल में आईसीयू वार्ड नहीं है। अस्पताल में स्टाफ के पास मास्क व पीपीई किट नहीं है। जो एम्बुलेंस आपके घर मरीज लेने आयी है, वह टॉयलेट के पानी से सैनिटाइज की गई है। ऐसे में क्या आप अपने घर के सदस्य का इलाज उस अस्पताल में कराना चाहेंगे।   प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह ने कहा है कि मध्यप्रदेश के अस्पतालों की हालत बिल्कुल ऐसी ही है। प्रदेश के 52 जिलों में से 31 जिलों में आईसीयू वार्ड नहीं है। इंदौर में कोरोना के सैम्पल कलेक्शन के लिए स्वास्थ्य विभाग के पास जैल वाले आइस पैक ही नहीं है। एम्बुलेंस को टॉयलेट के पानी से सैनिटाइज किया जा रहा है। कोरोना संदिग्ध मरीज अस्पतालों के चक्कर लगाते रहते हैं। इलाज न मिलने उनकी मौत हो जाती है। कोरोना तक तो ठीक है, लेकिन यहाँ एक गर्भवती महिला को निजी अस्पताल ने भर्ती नहीं किया, सही समय पर इलाज न मिलने से उस महिला और पेट में पल रहे बच्चे की भी मौत हो गयी।    उन्होंने कहा कि ऐसी भयावह स्थिति में जब स्वास्थ्य संबंधी सुविधाएं मजबूत करना चाहिए था तब भाजपा मध्यप्रदेश में 138 वर्चुअल रैली करने जा रही है। उपचुनाव के लिए मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज चौहान लगातार प्रदेश स्तर की बैठकें कर रहे हैं। भाजपा नेताओं ने कई बार निर्धारित शारीरिक दूरी की धज्जियाँ उड़ाईं। ऐसी घटनाओं से स्पष्ट साबित होता है कि शिवराज सिंह चौहान पूरे प्रदेश को लावारिस छोडक़र खुद चुनाव की तैयारियों में व्यस्त हो गए हैं। आज इंदौर के हालात बदतर होते जा रहे हैं। सामान्य बीमारी के मरीजों को भी अस्पतालों में चक्कर लगाने पड़ रहे हैं।   पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह ने कहा कि चुनाव प्रचार के चलते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने प्रदेश की जनता को उनके हाल पर छोड़ दिया है। पंकज सिंह ने शिवराज सरकार से मांग की है कि प्रदेश में कोरोना के अधिक से अधिक टेस्ट हों, यह भी सुनिश्चित किया जाए कि कोरोना मरीज को इलाज के लिए भटकना ना पड़े एवं मुफ्त इलाज करवा सके। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रचार से पहले वह मध्यप्रदेश की जनता की सुध लें। हर जिले में व्यक्तिगत रूप में जानकारी लें ताकि जनता को सही समय पर और सही इलाज मिल सके।

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2020


bhopal, Kamal Nath ,expressed grief over,  Shahdol mine accident

भोपाल। शहडोल जिले के ब्यौहारी थाना क्षेत्र अंतर्गत बुढ़वा रोड स्थित ग्राम पपरेड़ी में शनिवार सुबह मिट्टी (छुई) की खदान धंकसने से वहां काम कर रहे मजदूर मलबे में दब गए। इस हादसे में पांच मजदूरों की मौत हो चुकी है और उनके शव मलबे से बाहर निकाल लिये गये हैं। फिलहाल रेस्क्यू जारी है और मलबे में कुछ और लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। सूचना मिलने पर कलेक्टर-एसपी भी मौके पर पहुंच गए हैं। शहडोल खदान हादसे पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने दुख जताया है।    कमलनाथ ने ट्वीट कर शहडोल हादसे पर गहरा दुख जताते हुए शोक संवेदना व्यक्त की है। साथ ही उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि ‘शहडोल जि़ले के ब्यौहारी में छुई मिट्टी खदान धसने से 5 मजदूरों की मौत के बेहद दुखद हादसे की जानकारी मिली है। कई मजदूर घायल हुए है। पीडि़त परिवारों के प्रति शोक संवेदनाएँ व घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की ईश्वर से कामना। एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने सरकार से पीडि़त मजदूरों के ईलाज की व्यवस्था और आर्थिक मदद की मांग की है। उन्होंने कहा कि ‘सरकार से माँग करता हूँ कि तत्काल राहत कार्य कर मलबे में दबे मज़दूरों को सुरक्षित निकाला जावे व इस हादसे में घायल मज़दूरों के पूर्ण इलाज की व्यवस्था की जावे एवं पीडि़त परिवारों की हरसंभव मदद की जावे।

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2020


bhopal,CM Shivraj ,appeals , save childhood, child labor prohibition day

भोपाल। आज बाल श्रम निषेध दिवस है। प्रत्येक वर्ष 12 जून को यह दिवस लोगों को बाल श्रम के प्रति सचेत करने के लिए मनाया जाता है। देश-दुनिया में बाल श्रम के मामलों के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इस दिन को मनाने का मकसद लोगों को इसके प्रति जागरूक करना होता है जिसके लिए कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। बाल श्रम निषेध दिवस पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मासूम बच्चों को श्रम के अंधेरे से बचाने और उनके जीवन में शिक्षा की ज्योति जलाने की अपील की है।    सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर बालश्रम निषेध दिवस पर जनता से अपील करते हुए बच्चों को बाल मजदूरी के अंधेरे में धकेलने से बचाने का संकल्प दोहराया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘बच्चों की मुस्कान में उनके साथ देश का उज्ज्वल भविष्य छिपा है। शिक्षा, भोजन और खेलने का अवसर मिले, तो इनका बचपन बचेगा। आइये, बालश्रम निषेध दिवस पर संकल्प लें कि बाल श्रम के अंधेरों से इन मासूमों को बचायेंगे और शिक्षा की अखण्ड ज्योत से इनके जीवन को आलोकित करेंगे।   एक अन्य ट्वीट कर सीएम शिवराज ने उन सभी लोगों के जज्बे और कार्य की सराहरना कर सलाम किया है जो लोग बाल मजदूरी को रोकने के लिए जागरुकता चला रहे है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘बच्चों के बचपन को बचाने के लिए काम करने वाले साथियों को बालश्रम निषेध दिवस पर सलाम! बचपन को बचाने के साथ आप भारत के भावी भविष्य को संरक्षित करने का महान कार्य कर रहे हैं। इस पवित्र उद्देश्य की पुण्य ज्योत से आप इनके जीवन को शिक्षा और सुख से समृद्ध करें, मेरी शुभकामनाएं!   भाजपा सांसद और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने बाल श्रम निषेध दिवस के अवसर पर ट्वीट कर बाल श्रम के खिलाफ जागरुकता की अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘आइए विश्व बालश्रम निषेध दिवस पर हम सब संकल्प ले कि बच्चों को अपने बचपन के यादगार व सुहाने पलों को खुलकर जीने दें व बालश्रम को रोकने में हम सामाजिक भागीदारी को पूरी जिम्मेदारी से निभायेगे, उनकी शिक्षा का उचित प्रबंध कर समाज में जागरूकता का संचार करेंगे। 

Dakhal News

Dakhal News 12 June 2020


indore, Congress workers,police clash, several leaders arrested, protest

इंदौर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का ऑडियो वायरल होने के बाद सियासी गलियारों में मचा बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां तक की कांग्रेस अब सरकार के खिलाफ सडक़ पर उतर आई है। शुक्रवार को भोपाल और इंदौर में कांग्रेस ने प्रदर्शन किया और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। इस दौरान इंदौर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस में झड़प हो गई। बिना अनुमति लिए प्रदर्शन करने पहुंचे कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।    कलेक्ट्रेट के सामने प्रदर्शन करने पहुुंचे कांग्रेस कार्यकर्ता और पुलिस में जमकर झड़प हुई। गुस्साएं कांग्रेसियों ने प्रशासन और सीएम के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी और सडक़ पर बैठने लगे। पुलिस द्वारा समझाइश देने के बाद भी कार्यकर्ता नहीं माने और धरने पर डटे रहे। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस ने बिना अनुमति के कोरोना काल में प्रदर्शन करने के आरोप में कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल सहित कई नेताओं का गिरफ्तार किया है।    शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय का कहना है कि इंदौर शहर में आकर सीएम ने कहा कि केन्द्र के इशारे पर मप्र की कांग्रेस सरकार को गिराया गया है। इसका प्रमाण सभी के पास है। कमलनाथ सरकार को जनता ने चुना था, बहुमत की सरकार थी, जिसे साजिश के तहत गिराया गया है। उन्होंने कहा कि हमने गुरुवार को प्रदर्शन की परमिशन मांगी थी लेकिन इजाजत नहीं दी गई। जबकि भाजपा को गुरुवार को चौराहे- चौराहे कार्यक्रम आयोजित करने की परमिशन दे दी गई।   

Dakhal News

Dakhal News 12 June 2020


bhopal,CM Shivraj, greets Union Minister, Narendra Singh Tomar , birthday

भोपाल। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण और ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का आज शुक्रवार को जन्मदिन है। वे आज अपना 63वां जन्मदिन मना रहे है। जन्मदिन के अवसर पर देशभर से उन्हें शुभकामनाएं मिल रही है। राष्ट्रीय नेतृत्व से लेकर मप्र तक राजनेताओं ने उन्हें जन्मदिन की बधाई देते हुए दीर्घायु होने की कामना की है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर केन्द्रीय मंत्री तोमर को जन्मदिन की बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘मेरे प्रिय मित्र, हमारे साथी, हमारे मार्गदर्शक केंद्रीय मंत्री श्री @nstomar जी को जन्मदिन पर आत्मीय बधाई। ईश्वर आपको स्वस्थ और सुदीर्घ जीवन प्रदान करें, शुभकामनाएं’।    भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने ट्वीट कर अपने शुभकामना संदेश में कहा ‘भाजपा के वरिष्ठ नेता, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री @nstomar जी को जन्मदिन की हार्दिक बधाई। ईश्वर से आपके उत्तम स्वास्थ्य एवं दीर्घायु की कामना करता हूँ।   भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर केन्द्रीय मंत्री तोमर को जन्मदिन की बधाई दी है और उनके स्वस्थ्य जीवन की कामना की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘शुभ जन्मदिन !!! कुशल एवं कर्तव्य के परिचारक, प्रदेश की गौरवशाली परंपरा के ध्वजवाहक, हमारे आदरणीय भाईसाहब केन्द्रीय कृषिमंत्री श्री @nstomar जी को जन्मदिन की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं...भगवान श्रीराम आपको सदैव स्वस्थ और चिरायु रखे।   भाजपा सासंद और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने अपने बधाई संदेश में कहा ‘बहुमुखी प्रतिभा के धनी तथा वर्तमान में केंद्रीय मंत्री माननीय श्री @nstomar जी को जन्मदिवस की अपार शुभकामनाएं। ईश्वर की कृपा से आप सदैव स्वस्थ एवं प्रसन्न चित्त रहें।   पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ भाजपा विधायक गोपाल भार्गव ने ट्वीट कर कहा ‘केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री एवं @BJPyIndia परिवार के वरिष्ठ सदस्य श्री @nstomar जी को जन्मदिन की हार्दिक बधाई। ईश्वर से आपके उत्तम स्वास्थ्य एवं दीर्घायु की कामना करता हूँ।  

Dakhal News

Dakhal News 12 June 2020


bhopal, allegations of Congress, Minister Tulsi Silvat ,counterattack

इंदौर। सूबे के मुखिया शिवराज सिंह चौहान के वायरल ऑडियो को लेकर इन दिनों प्रदेश के राजनीतिक  गलियारों में हलचल मची हुई है। कांग्रेस द्वारा लगातार बयानबाजी कर आरोप प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं। इस बीच प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस के पास कोई काम नहीं बचा है। सीएम कार्यकर्ताओं से बात नहीं करेंगे तो किससे बात करेंगे।    प्रदेश में सीएम शिवराज के कथित ऑडियो वायरल पर प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने बयान देकर कांग्रेस पर निशाना साधा है। शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए मंत्री सिलावट ने कहा कि एक सीएम कार्यकर्ताओं का हौंसला बढ़ाने के लिए इतने आत्मसम्मान से बात कह रहे हैं। कांग्रेस के पास कोई काम नहीं बचा है।  सिलावट ने माना है कि सीएम ने जो कुछ भी कहा, सबके सामने कहा है, मैं भी वहीं मौजूद था। सीएम कार्यकर्ताओं से बात नहीं करेंगे तो किससे बात करेंगे।    कांग्रेस पर निशाना साधते हुए सिलावट ने कहा कि भाजपा में चुनाव संगठन लड़ता है और कांग्रेस में केवल व्यक्ति विशेष। यह कार्यकर्ताओं की पार्टी है नेताअेां की नहीं यह बहुत बड़ा अंतर है। सिलावट ने कहा है कि मुझे खुशी है कि मुख्यमंत्री ने मेरे लिए प्रचार किया है ये मेरे लिए गर्व की बात है।  

Dakhal News

Dakhal News 11 June 2020


bhopal,MLA Narayan Tripathi, visited, Home Minister, claimed , by-election

भोपाल। भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी गुरुवार सुबह गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा से मिलने उनके निवास पहुंचे। यहां कुछ देर दोनों के बीच बंद कमरे में बातचीत हुई। इसके बाद विधायक नारायण त्रिपाठी वहां से रवाना हो गए। घर से बाहर निकलने पर जब मीडिया से उनसे आने का करण पूछा तो उन्होंने कहा कि गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा हमारे बड़े भाई हैं, अक्सर उनसे मिलने आते- जाते रहते हैं।    उपचुनाव के संबंध में सवाल पूछे जाने पर नारायण त्रिपाठी ने दावा करते हुए कहा कि भाजपा सभी 24 की 24 सीटें जीतेंगी। इसके साथ ही उन्होंने राज्यसभा चुनाव में भी जीत का दावा किया। प्रदेश में भाजपा के होर्डिंग्स से सिंधिया गायब होने के बारे में विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि होर्डिंग से राजनीति नहीं होती, सिंधिया राष्ट्रीय लीडर कहलाते हैं। आज भी उनका ग्लैमर पूरे हिंदुस्तान के युवाओं में हैं।   विधायक नारायण त्रिपाठी ने कांग्रेस में शामिल होने की अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा है कि मैं कभी कांग्रेस में गया ही नहीं, कांग्रेस से आने के बाद जब मैं भाजपा में आया तो किसी और पार्टी में नहीं गया। उन्होंने कहा कि मैं अपने काम के लिए लगातार मुख्यमंत्री के संपर्क में था। जिला बनाने की बात करता था और मैंने अपना जिला बनवाया भी। मंत्रिपरिषद में शामिल होने के सवाल का जवाब देते हुए विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि मैं कभी मंत्री बनने की दौड़ में था ही नहीं, सबके संपर्क में बराबर रहा हूं, मैं कभी किसी से संबंध नहीं बिगड़ता।   

Dakhal News

Dakhal News 11 June 2020


bhopal, CM Shivraj, expressed grief,  death , four laborers ,falling wall ,Shajapur well

भोपाल। मध्यप्रदेश के शाजापुर जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर मोहन बड़ोदिया विकासखंड अंतर्गत बीजनाखेड़ी गांव में कुएं की दीवार गिरने से वहां काम कर रहे चार मजदूरों की मौत हो गई। मृतकों में तीन महिलाएं और एक युवक शामिल है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोशल मीडिया के माध्यम से इस हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए मृतकों को श्रद्धांजलि अर्पित की है।   सीएम शिवराज ने बुधवार को ट्वीट किया है कि - ‘शाजापुर में कुएं की दीवार खिसकने से कई श्रमिकों के असामयिक निधन का दुखद समाचार मिला। ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति और परिजनों को यह गहन दु:ख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं। विनम्र श्रद्धांजलि!’     गौरतलब है कि बिजनाखेड़ी गांव में 40 फीट गहरे कुएं के ऊपरी हिस्से में आरसीसी का काम चल रहा था। मंगलवार शाम को अचानक कुएं की एक दीवार भरभराकर गिर गई, जिसमें वहां काम कर रहे चार मजदूर दब गए। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय नागरिकों की मदद से रेस्क्यू शुरू किया। तीन जेसीबी, एक पोकलेन और एक क्रेन की मदद से करीब 15 घंटे चले रेस्क्यू के बाद बुधवार सुबह करीब नौ बजे चारों मजदूरों के शव बाहर निकाले गए। मृतकों में 35 वर्षीय लीलाबाई पत्नी पदमसिंह, 25 वर्षीय शकुबाई पत्नी तेजू और 20 वर्षीय भूरीबाई पत्नी कालूसिंह तीनों निवासी देहरीपाल चक बंजारा एवं युवक रामलाल पुत्र परथी सोंधिया निवासी ग्राम गोविंदा शामिल हैं।  

Dakhal News

Dakhal News 10 June 2020


bhopal, Congress counterattack , CM Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के मिलकर कांग्रेस की सरकार गिराने के बयान के बाद कांग्रेस हमलावर हो गई है। मप्र कांग्रेस कमेटी के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने सीएम के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस शुरू से ही यह आरोप लगा रही थी और अब सीएम ने स्वयं इस बात की पुष्टि कर दी है।    नरेंद्र सलूजा ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि कांग्रेस शुरू से ही यह आरोप लगा रही है कि मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार को भाजपा ने साजिश व षड्यंत्र रच गिराया है। उन्होंने कहा कि चाहे किसानों की कर्ज माफी की बात हो, युवाओं को रोजगार देने की हो, महिलाओं को सम्मान व सुरक्षा देने की बात हो कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार जन हितैषी कार्य कर रही थी। इन सब बातों से भाजपा को यह भय सता रहा था कि यदि कमलनाथ सरकार इसी प्रकार निरंतर जन हितैषी कार्य करती रही तो कई वर्षों तक भाजपा का प्रदेश में सत्ता में वापस लौटना नामुमकिन है, इसलिए एक स्थिर, जनादेश प्राप्त, पूर्ण बहुमत की सरकार को जानबूझकर षड्यंत्र रच गिराया गया।   सलूजा ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा शुरू से ही कांग्रेस के इन आरोपों को नकारती रही। जबकि पूरे प्रदेश ने देखा कि जो विधायक बेंगलुरु में बंधक बनाए गए थे, उनके साथ भाजपा के नेता व विधायक मौजूद थे। उनकी तस्वीरें भी कई बार सामने आई लेकिन कल तो प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खुद इंदौर के रेसीडेंसी कोठी में सांवेर के कार्यकर्ताओं की एक बैठक में सार्वजनिक रूप से यह स्वीकार कर कांग्रेस के उन आरोपों पर मोहर लगा दी है। सलूजा ने बताया कि शिवराज सिंह ने सांवेर क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की बैठक में अपने संबोधन में कहा कि " हमारे केंद्रीय नेतृत्व के आदेश पर हमने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मिलकर सरकार गिराई क्योंकि हमारा शीर्ष नेतृत्व चाहता था कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरे और सिंधिया के बगैर कांग्रेस की सरकार नहीं गिर सकती थी।    उन्होंने कहा कि इससे इस बात की भी पुष्टि हो गई है भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व भी इस साजिश व षड्यंत्र में शामिल था और जानबूझकर कांग्रेस सरकार को गिराया गया और सरकार गिराने में सिंधिया की इसलिए मदद ली गई क्योंकि उनके बगैर सरकार गिर नहीं सकती थी। इसी से समझा जा सकता है कांग्रेस में कोई असंतोष नहीं था, सरकार के पास पूर्ण बहुमत था सिर्फ भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर व चाहने पर जानबूझकर षड्यंत्र व साजिश रच कर कांग्रेस की राज्य की लोकप्रिय सरकार को गिराया गया। शिवराज की इस स्वीकारोक्ति के बाद अब यह सच्चाई अब सभी के सामने आ चुकी है।  

Dakhal News

Dakhal News 10 June 2020


bhopal, Ex-ministers statement, Congress agitate,road for farmers

भोपाल। हाथ से सत्ता गंवाने के बाद कांग्रेस लगातार भाजपा सरकार को घेरने में जुटी हुई है। प्रदेश में 24 सीटों पर होने उपचुनाव से कांग्रेस को वापसी की उम्मीद है। ऐसे में वह हर मुद्दे को जरिया बनाकर वोट बढ़ाने की कोशिश कर रही है। किसानों के मुद्दे को लेकर भी कांग्रेस प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाती रही है। वहीं अब पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने किसानों के साथ सडक़ पर उतरकर सरकार के खिलाफ आंदोलन की चेतावनी दी है।    पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने बुधवार को मीडिया से बात बातचीत करते हुए शिवराज सरकार पर किसानों की अनदेखी और उनसे भेदभाव करने का गंभीर आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार ने 55 लाख किसानों तक कर्ज माफ किया है। भाजपा गेहूँ की रिकॉड तोड़ गेहूं खरीदी का श्रेय लेने में लगी हुई है, जबकि यह सब कुछ अच्छे खाद- बीज और फसल ऋण माफी की वजह से हुआ है, जो कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने किया था। प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि मगर आज मौजूदा भाजपा सरकार के राज में गेहूँ खऱीदी में जो अनियमितताये हुई हैं और जो गेहूँ मंडी में आने के बावजूद भी नहीं खऱीदा गया। उन्होंने कहा कि सरकार की अनदेखीर और भेदभाव से आज किसान परेशान है। जिसको लेकर कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ आंदोलन करेगी।    इसके अलावा प्रदेश में बढ़े अपराध पर पीसी शर्मा ने कहा कि लॉकडाउन के बाद अनलॉक होने के बाद राजधानी भोपाल में जिस तरह से घटनाएं बढ़ रही हैं, अपराध बढ़ रहे हैं। उससे यह साबित होता है कि भाजपा सरकार सुरक्षा के मामले में फेल हो चुकी है।  

Dakhal News

Dakhal News 10 June 2020


bhopal, Chief minister ,gave consolation, visiting MLA Rana residence

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज आगर मालवा जिले के सुसनेर पहुँचकर विधायक राणा विक्रम सिंह के बड़े भाई स्व.राणा यशवंत सिंह के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की। मुख्यमंत्री चौहान ने राणा परिवार के सदस्यों को सांत्वना दी।इस अवसर पर सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा और विधायक रामपाल सिंह  भी साथ थे। गत 31 मई को  राणा यशवंत सिंह का ह्रदयघात के कारण निधन हुआ था।

Dakhal News

Dakhal News 9 June 2020


bhopal, Kamal Nath, expressed grief ,over the death ,doctor of Indore

भोपाल। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना से जंग लड़ते हुए अपनी जान गंवाने वाले चिकित्सक के निधन पर पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने गहरा शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट कर डॉक्टर को श्रद्धांजलि दी है।    कमलनाथ ने ट्वीट कर इंदौर में चिकित्सक के निधन को दुखद बताते हुए परिजनों के प्रति शोक संवेदना प्रकट की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि इंदौर में #CoronaWarrior इंडेक्स मेडिकल कॉलेज के सर्जऱी विभाग के एचओडी डॉ. अजय जोशी की दु:खद निधन का समाचार प्राप्त हुआ। बेहद दु:खद ख़बर। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे।   उल्लेखनीय है कि शल्य चिकित्सा विभाग के प्रमुख (एचओडी) पद पर रहे 56 वर्षीय चिकित्सक इंदौर के एक रेड श्रेणी के कोविड केयर हॉस्पिटल में कार्यरत थे। उनका 23 मई को सेम्पल जांच के लिए भेजा गया था और उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उन्हें 24 मई को चोइथराम अस्पताल में भर्ती किया गया था। बताया गया है कि उन्हें उच्च रक्तचात और अवसाद की समस्या भी थी। करीब 15 दिन चले उपचार के बाद सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात 2.35 बजे उनकी मौत हो गई। इससे पहले इंदौर में तीन चिकित्सकों की मौत हो चुकी है।    

Dakhal News

Dakhal News 9 June 2020


bhopal, Kamal Nath ,demands,bring back ,MP medical 170 students

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कलमनाथ ने सोशल मीडिया के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कोरोना के चलते लागू लॉकडाउन में किर्गिजस्तान में फंसे मध्यप्रदेश के 170 मेडिकल स्टूडेंट को वापस लाने की मांग की है।   पूर्व सीएम कमलनाथ ने बुधवार को ट्वीट किया है कि -शिवराज जी, कोरोना वैश्विक महामारी में किर्गिजस्तान में फंसे ये मेडिकल के स्टूडेंट अपने देश, अपने घर मध्यप्रदेश वापस आना चाहते हैं। मध्यप्रदेश के करीब 170 स्टूडेंट वहां करीब तीन माह से लॉकडाउन में फंसे हुए हैं। इनका कहना है कि बिहार, राजस्थान ने अपने स्टूडेंट को वापस बुला लिया है और अन्य राज्य भी बुलाने की तैयारी में है। उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि राज्य सरकार इनकी गुहार सुने और इनकी घर वापसी में मदद करे।  

Dakhal News

Dakhal News 3 June 2020


bhopal, Congress MLA, Kunal Chaudhary ,accused government

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ भाजपा विधायक राजेन्द्र शुक्ल द्वारा अभिनेता सोनू सूद से प्रवासी मजदूरों की वापसी के लिए मदद मांगे जाने के बाद कांग्रेस के हमले तेज हो गए है। कांग्रेस नेता लगातार बयानबाजी कर सरकार का घेराव कर रहे हैं और सरकार पर मजदूरों की वापसी के नाम पर झूठी वाहवाही लूटने का आरोप लगा रहे है। कालापीपल से कांग्रेस विधायक और मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने भी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं।    कुणाल चौधरी ने बुधवार को मीडिया में जारी अपने एक बयान में कहा है कि मध्य प्रदेश में पश्चिम बंगाल के फंसे प्रवासी मज़दूरों को उनके राज्य वापस भेज कर कुछ दिन पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान वाहवाही लूट रहे थे, मगर उनके ही राज्य के प्रवासी मजदूर मुंबई में फंसे रहे मगर सीएम शिवराज उधर ध्यान नहीं दे रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार प्रवासियों को वापस लाने में रूचि नहीं देखा रही है और प्रवासियों को वापस लाने को लेकर झूठे आंकड़े पेश कर रही है। कुणाल चौधरी ने साफ तौर पर इसमें घोटाले की बात कही है।    कुणाल चौधरी ने कहा कि सीएम शिवराज सिंह के प्रवासियों को वापस लाने वाले आंकड़ों की पोल उनके बेहद करीबी भाजपा विधायाक और उनकी सरकार में पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ला ने खोल दी है। पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ल रीवा जिले से आते है उनके इलाके के कुछ प्रवासी मजदूर मुम्बई फंसे हुए थे मगर सरकार से मदद मांगने की बजाय भाजपा विधायक ने ट्विटर पर मजदूरों की लिस्ट डालकर अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगी।    कुणाल चौधरी ने कहा की सरकार द्वारा इसमें बहुत बड़ा घोटाला किया है और सिर्फ वाहवाही लूटने का काम किया है। कुणाल चौधरी ने कहा कि सीएम बोल रहे थे कि प्रदेश के एक-एक मजदूर को उनके घर पहुंचाने का काम उनकी सरकार ने किया है और कर रही है। उन्होंने जवाब मांगते हुए कहा कि अब सरकार बताए कि आखिर क्यों सत्ताधारी पार्टी के विधायक राजेंद्र शुक्ल को अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगनी पड़ी? अगर भाजपा के विधायक को एक अभिनेता से मदद मांगनी पड़ रही है इसका मतलब साफ़ है कि प्रदेश की सरकार अपनी जिम्मेदारी का निर्वाहन सही तरीके से नहीं कर रही है। कुणाल चौधरी ने यह भी आरोप लगाया कि जो भी मजदूर प्रदेश में आ रहे हैं वो खुद पैसे देकर आ रहे हैं और सरकार द्वारा उन्हें पर्याप्त सुविधा भी नहीं दी जा रही है।

Dakhal News

Dakhal News 3 June 2020


bhopal, BJP state president, claim,Rajya Sabha election

भोपाल। राज्यसभा चुनाव की तारीखों का एलान होते ही राजनीतिक दलों में हलचल तेज हो गई है। भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दलों ने अपनी जीत पक्की करने की तैयारी शुरू कर दी है, इसके लिए विधायकों को एकजुट किया जा रहा है। इस बीच भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने दावा किया है कि राज्यसभा  चुनाव में भी, बीएसपी, एसपी और निर्दलीय विधायक भाजपा का समर्थन करेंगे और भाजपा राज्यसभा की दोनों सीटों पर जीत हासिल करेगी। वीडी शर्मा के इस बयान के बाद कांग्रेस में हलचल तेज हो गई है।   राज्यसभा चुनाव को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने बड़ा खुलासा किया है। बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए वीडी शर्मा ने कहा है कि मध्य प्रदेश में राज्यसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने बहुत पहले से तैयारी कर रखी थी। उन्होंने दावा करते हुए कहा है कि सरकार के समर्थन के साथ राज्यसभा  चुनाव में भी बीएसपी, एसपी और निर्दलीय विधायक भाजपा का समर्थन करेंगे। वहीं राज्यसभा चुनाव में विधायकों की खरीद फरोख्त (हॉर्स ट्रेडिंग) की आशंका पर वीडी शर्म ने कहाकि भाजपा का जो विधायक है एक कार्यकर्ता है और हम सबके साथ मिलकर दोनों सीटों को ताकत से जीतेंगे।   मंत्रिमंडल विस्तार में देरी को लेकर विधायकों की नाराजगी के सवाल पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा है कि जब भी जरूरत लगेगी मंत्रिमंडल का विस्तार होगा और तत्काल मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। कांग्रेस के उपचुनाव में रणनीति के लिए प्रशांत किशोर को जिम्मेदारी पर उन्होंने कहा कि भाजपा का हर कार्यकर्ता है पीके है, हमें किसी तरह की चिंता नही।

Dakhal News

Dakhal News 3 June 2020


bhopal,Kamal Nath, raised questions, claims of wheat procurement

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संकटकाल के चलते लॉकडाउन में समर्थन मूल्य पर हो रही गेहूं की सरकारी खरीदी को लेकर राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा है कि इस साल गेहूं का रिकार्ड उपार्जन किया गया है। साथ ही गेहूं खरीदी में किसानों कोई समस्या नहीं है। इसको लेकर पूर्व सीएम और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सवाल उठाये हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गेहूं की खरीदी को लेकर भले ही बड़े-बड़े दावे करे, लेकिन खरीदी केन्द्रों पर किसानों को भारी परेशानियां उठानी पड़ रही हैं।   पूर्व सीएम कमलनाथ ने सोमवार को ट्वीट के माध्यम से राज्य सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा है कि - ‘शिवराज जी, आप समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के भले बड़े-बड़े दावे करें, खूब आंकड़े जारी करें, लेकिन सच्चाई इसके विपरीत है। आज किसान भाइयों को अपनी उपज बेचने के लिये काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।’   उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि - ‘उपार्जन केंद्रों पर कहीं बारदानों की कमी है, कहीं तुलाई की व्यवस्था नहीं है तो कहीं परिवहन नहीं होने से काम बंद पड़ा है और किसानों को एसएमएस भेजकर बुलाया लिया जाता है। कई-कई दिन तक भीषण गर्मी व लू में अपनी उपज बेचने के लिये भूखा-प्यासा किसान कई किलोमीटर तक लंबी लाइन में लगा हुआ है, उनकी कोई सुध लेने वाला नहीं है।’   कमलनाथ ने तीसरे ट्वीट में लिखा है कि - ‘पिछले दिनों आगरमालवा में मलवासा के एक किसान प्रेम सिंह की इन्हीं परेशानियों व अव्यवस्थाओं से दुखद मौत हो गयी थी। वहीं, कल देवास के उपार्जन केंद्र में फसल तुलाई के लिए लाइन में लगे एक और किसान की दुखद मौत हो गयी। जिले के टौंकखुर्द के अमोना गांव निवासी किसान जयराम मंडलोई अपनी फसल लेकर तुलाई के इंतजार में भीषण गर्मी में लाइन लगे थे। खरीदी की अव्यवस्थाओं से भीषण गर्मी में तनाव में किसान की जान चली गयी।   उन्होंने कहा है कि ऐसे ही कई किसान निरंतर परेशानियों का सामना कर रहे हैं, अपनी उपज बेचने के लिये निरंतर भटक रहे हैं, तनाव झेल रहे हैं। उन्होंने कहा है कि सरकार सिर्फ झूठे दावे में लगी हुई है, जमीनी धरातल पर स्थिति विपरीत है। उन्होंने मांग की है कि सरकार इस मृत किसान के परिवार की हरसंभव मदद करे और किसान की मौत के जिम्मेदारों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो।

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2020


bhopal,Former minister, demands compensation, government ,death of farmer

भोपाल। मध्य प्रदेश में इन दिनों उपार्जन केन्द्रों पर फसल खरीदी चल रही है। कोरोना संकट के बीच उपार्जन केन्द्रों पर जारी तुलाई के दौरान अव्यवस्था और असुविधाओं के मामले भी सामने आ रहे है। जिसको लेकर कांग्रेस लगातार शिवराज सरकार का घेराव कर रही है। इस बीच देवास में एक तुलाई केन्द्र के बाहर किसान की मौत के मामले में पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने सरकार पर बड़ा हमला बोला है।    सज्जन सिंह वर्मा ने सोमवार को ट्वीट कर देवास में उपार्जन केन्द्र पर हुई किसान की मौत मामले में सरकार की आलोचना करते हुए मृतक किसान के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि ‘हमारे देवास जिले के अमोना के अन्नदाता जयराम मंडलोई की मृत्यु से मन अत्यंत दुखी है। शिवराज की किसान विरोधी नीतियां अन्नदाताओं की मौत का कारण बन रही है। मैं सरकार से मांग करता हूं कि मृतक किसान के परिवार को एक करोड़ रुपए का मुआवजा दिया जाए’।   उल्लेखनीय है कि 65 वर्षीय किसान जयराम मंडलोई बैंक नोट प्रेस थाना क्षेत्र के सिया के पास स्थित उपार्जन केंद्र में फसल तुलाई के लिए लाइन में लगे हुए थे। 30 मई को ही फसल तुलाई के लिए उपार्जन केंद्र पहुंचे थे। इस दौरान सीने में दर्द और घबराहट के चलते अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई। जिसके बाद किसान को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां देर रात जयराम की मौत हो गई।   

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2020


bhopal, MP BJP leaders, greet people ,Ganga Dussehra

भोपाल। गंगा का धरती पर अवतरण दिवस ज्येष्ठ शुक्ल दशमी आज 1 जून को है। धार्मिक ग्रंथों में गंगा दशहरा का आध्यात्मिक व धार्मिक महत्व बताया गया है। कहते हैं कि इस दिन भगीरथी की तपस्या के बाद जब गंगा माता ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की दशमी को ही धरती पर अवरित हुईं थी। यही कारण है कि इसे गंगा दशहरा के नाम से पूजा जाना जाने लगा। इस दिवस पर गंगा स्नान व दान का खास महत्व है। गंगा स्नान से दस तरह के पापोंं से मुक्ति की भी बात धर्मग्रंथों में कही गयी है। इस बार ज्येष्ठ शुक्ल दशमी सोमवार को नवपंचम योग और भद्रयोग का संयोग बन रहा है।   गंगा दशहरा के अवसर पर मप्र भाजपा नेताओं ने प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने प्रदेशवासियों को गंगा दशहरा की शुभकामनाएं देते हुए सुख समृद्धि की कामना की है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि ‘माँ गंगा के धरती पर अवतरण का दिन "गंगा दशहरा" की सभी को हार्दिक शुभकामनाएं। माँ गंगा की कृपा एवं आशीर्वाद सभी पर बना रहे। गंगा मैया की जय।   भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने ट्वीट में कहा ‘हर हर गंगे.. !!!गंगा दशहरा के इस पावन पर्व पर आप व आपके परिवार पर गंगा मैया की असीम कृपा बनी रहे। इसी मंगलकामना के साथ गंगा दशहरा की हार्दिक शुभकामनाए।    मप्र के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गंगाा दशहरा पर अपने शुभकामना संदेश में कहा ‘अलकानन्दे परमानन्दे कुरु करुणामयि कातरवन्द्ये, तव तटनिकटे यस्य निवास: खलु वैकुण्ठे तस्य निवास:। चिरकाल से मानव के पापों का नाश कर पुण्यलाभ देने वाली भागीरथी मां गंगा के प्रकटोत्सव पर्व गंगा दशहरा की शुभकामनाएं। मोक्षदायिनी मां गंगा हम सभी पर आशीर्वाद बनाए रखें।    इसी प्रकार केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और भाजपा सांसद राकेश सिंह ने गंगा दशहरा की शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट कर कहा "गंगा दशहरा" के पावन पर्व पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। यह पावन पर्व आपके जीवन में सुख, शांति और समृद्धि लाए और मां गंगा की कृपा आप सभी पर बनी रहें। समस्त देशवासियों को गंगा दशहरा के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं।   

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2020


bhopal, Ex-minister, BJP leader, not satisfied, with party,  Premchand Guddu, return to Congress

भोपाल। करीब डेढ़ साल पहले कांग्रेस छोड़ भाजपा में गए पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू एक बार फिर घर वापसी कर रहे हैं। विवादित बयान देने के बाद भाजपा से निष्कासित हुए प्रेमचंद गुड्डू के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें तेज हो गई थी, जिस पर अब विराम लग गया है। आज दोपहर एक बजे प्रेमचंद गुड्डू अपने बेटे अजित बौरासी के साथ कांग्रेस का हाथ दोबारा थाम लेंगे। इसके लिए प्रेमचंद गुड्डू अपने बेटे के साथ भोपाल के लिए रवाना हो गए है। यहां वे कांग्रेस के आला नेताओं के साथ मुलाकात करने के बाद पूर्व सीएम कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता लेंगे।    वहीं कांग्रेस में प्रेमचंद गुड्डू की वापसी को लेकर पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि प्रेमचंद गुड्डू बड़े नेता हैं। वे लोकसभा में सांसद और विधायक भी रहे हैं। हम कॉंग्रेस में उनका स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में सर्व सहमति से उनकी वापसी हो रही है। प्रेमचंद गुड्डू को टिकट दिए जाने के जवाब में पीसी शर्मा ने कहा कि पार्टी हाईकमान तय करेगी कि गुड्डू चुनाव लड़ेंगे या नहीं। 1-1 सीट पर कांग्रेस के 25 दावेदार, इसलिए सर्वे से फैसला होगा।   वहीं भाजपा पर तंज कसते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि भाजपा के नेता पार्टी से संतुष्ट नहीं है। यहीं कारण है कि नेताओं का भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस में आने का सिलसिला शुरू हो गया है। उन्होंने दावा किया है कि भाजपा में भारी असंतोष है और इस कारण हर विधानसभा से भजपाई कांग्रेस में शमिल होंगे।  

Dakhal News

Dakhal News 31 May 2020


bhopal, CM Shivraj, appeals ,public ,World Tobacco Prohibition Day

भोपाल। तंबाकू सेवन के घातक परिणामों को लेकर लोगों के बीच जागरुकता पैदा करने के लिए दुनिया भर में हर साल 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है। इद्य दिन को मनाने के लिए वल्र्ड नो टोबैको डे की थीम भी रखी जाती है। इस साल यह दिवस युवाओं को तंबाकू और निकोटिन से दूर रखने के लिए प्रेरित किए जाने की थीम पर मनाया जा रहा है।   विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों से इस बुरी आदत के प्रति जागरुक होने और स्वस्थ विश्व का निर्माण करने में सहयोग की अपील की है। सीएम शिवराज ने ट्वीट के माध्यम से संदेश दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि ‘विश्व में 80 लाख से अधिक अमूल्य जिंदगियां प्रति वर्ष तंबाकू की भेंट चढ़ जाती हैं। थोड़ी-सी जागरूकता और प्रयास से हम सब इसे रोक सकते हैं। प्रण करें कि इस जानलेवा तंबाकू के सेवन से स्वयं एवं दूसरों को भी बचायेंगे और स्वस्थ विश्व के निर्माण में योगदान देंगे।    मप्र के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर नागरिकों से तंबाकू उत्पादों से दूरी बनाने और स्वस्थ जीवनशैली अपनाने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘अपने और समाज के स्वस्थ व बेहतर भविष्य के लिए तंबाकू और उससे जुड़े उत्पादों का सेवन त्यागें। परिवार के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझें। तंबाकू को ना कहें, जीवन को हां कहें।   इसी प्रकार केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व भाजपा सांसद राकेश सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि ‘जिंदगी को हां, तंबाकू को ना विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर तम्बाकू मुक्त जीवन की प्रतिज्ञा लें । विश्व तम्बाकू निषेध दिवस...तम्बाकू का सेवन व धूम्रपान करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है...।   

Dakhal News

Dakhal News 31 May 2020


bhopal,Congress retaliated ,BJP MLA, statement

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस के महासचिव राजेन्द्र मंडलोई ने शुक्रवार को एक बयान जारी करते हुए कहा कि हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा अपनी सरकार की नाकामी छुपाने के लिए दूसरों पर ठीकरा फोड़ रहे हैं। पूरे देश में मजदूरों की स्थिति किसी से छुपी नहीं है। सरकार ने अस्पतालों में न तो स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के इंतजाम किए, न गरीब के घर राशन की व्यवस्था की और न ही मजदूरों के घर जाने की कोई व्यवस्था कर पाई। देश को मजबूती देने वाले मजदूर आज पैदल जाने को मजबूर हैं और भाजपा नेता मजदूरों पर टिप्पणी कर रहे हैं, जो शर्मनाक है।    मंडलोई ने भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जनता की सेवा में लगी कांग्रेस पर आरोप लगाकर अपनी राजनीति चमकाने में लगे हुज़ूर विधायक रामेश्वर शर्मा को अपने गिरेबान में झांकना चाहिए। प्रदेश में जब कोरोना फैल रहा था तब भाजपा नेता जनता के चुने हुए वोट से बनी सरकार को गिराने में लगे थे  और अब नाकामी पर पर्दा डाल रहे हैं। मजदूरों और गरीबों की चिंता करने वाली कांग्रेस पर आरोप लगा कर रामेश्वर शर्मा ओछी राजनीति का परिचय दे रहे है।     इसके साथ ही कांग्रेस के प्रदेश महासचिव राजेंद्र मंडलोई ने कहा कि एक तरफ तो पूरे देश भर में लॉकडाउन है, मंदिर मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारे जाने में पाबंदी है लेकिन भाजपा कार्यालय में खुलेआम लॉकडाउन का उल्लंघन और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जाती है।

Dakhal News

Dakhal News 29 May 2020


bhopal,Ex-minister, raising question , poster of missing MP

भोपाल। राजधानी भोपाल में सांसद साध्वी प्रज्ञा के गुमशुदगी के पोस्टर को लेकर राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गई हैं। पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कहा है कि सांसद प्रज्ञा को जनता ने भारी मतों से विजयी किया था लेकिन आज जब जनता को उनकी जरुरत है तो वह गायब है। उन्होंने कहा कि जिसने भी यह सवाल उठाया है बिल्कुल सही है।    पीसी शर्मा ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा के गुमशुदा पोस्टर पर कहा कि लाखों मतों से जीत कर संसद गई सांसद साध्वी प्रज्ञा जिनका आज कोई अता पता नही है। कोरोना संकट काल में जब लोगों को उनकी आवश्यकता थी, गरीब परेशान हो रहे थे, राशन मिल नही रह था तब सांसद गायब है। उन्होंने कहा कि ऐसे हालात में दिग्विजय सिंह जनसेवा में लगे हुए है। पीसी शर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि जिसने भी पोस्टर लगाए है और पूछा है कि सांसद कहाँ गायब है, वह सही पूछ रहे हैं। उन्होंने कहा कि साध्वी है तो मंदिर पुजारियों की बात कर लेतीं, पुजारियों को 10हज़ार रुपये देने की मांग कर लेती। उन्होंने कहा कि वह खुद को धर्म के ठेकेदार बताते है लेकिन धर्म की ही बात नही की। ऐसे में दो महीने से सांसद का गायब होना सवाल खड़े करता है।    इसके अलावा कोरोना को लेकर प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहे कामों को लेकर पीसी शर्मा ने कहा कि लॉकडाउन में व्यापारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए दुकान खोलने के समय को बढ़ाना चाहिए। उन्होंने कहा है कि सुबह 11 से 5 बजे तक दुकानें खुल रही है जिसका समय बढ़ा कर रात आठ बजे तक कर देना चाहिए। इसके पीछे उन्होंने तर्क दिया है कि भोपाल कर्मचारियों का शहर है, यहां सभी सुबह 11 से शाम 5 तक ऑफिस में रहते है। ऐसे में उन्हें बाजार जाने का समय नहीं मिल पाता। अगर रात आठ बजे तक दुकाने खुली तो लोग खरीददारी कर सकेंगे। सरकार पर निशाना साधते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि इन्होंने तो तय कर लिया है कि व्यापारी उसी हालत में रहे जैसे लॉकडाउन के समय थे। इस संकट से निकलने का सरकार के पास कोई प्लान नही है। 

Dakhal News

Dakhal News 29 May 2020


bhopal, Chief Minister, Shivraj Singh Chauhan, paid tribute, Daddaji Dham

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कटनी झिझरी स्थित दद्दाधाम पहुँचकर जाने-माने गृहस्थ संत पूज्य देव प्रभाकर शास्त्री दद्दा जी को श्रृद्धांजलि दी। गृहस्थ संत पूज्य देव प्रभाकर शास्त्री दद्दा जी का 17 मई को देव लोक गमन हो गया था। मुख्यमंत्री चौहान ने स्व. दद्दाजी के तीनों बेटों डॉ. अनिल, डॉ. सुनील और नीरज त्रिपाठी से भेंटकर सांत्वना दी। इस मौके पर सांसद विष्णुदत्त शर्मा, गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र,आदिम जाति कल्याण मंत्री मीना सिंह, सुहास भगत, विधायक संजय पाठक उपस्थित थे। इस अवसर पर दद्दाजी शिष्य मंडल के अभिनेता आशुतोष राणा और राजपाल यादव भी उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 29 May 2020


bhopal,Home Minister, Dr. Mishra,  discuss video conferencing ,small entrepreneurs

भोपाल। गृह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री नरोत्तम मिश्रा से सोमवार सुबह मध्यप्रदेश लघु उद्योग संघ के महासचिव विपिन कुमार जैन ने मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने लघु उद्यमियों से चर्चा करने का अनुरोध किया। डॉ. मिश्रा ने कहा है कि वे शीघ्र ही लघु उद्यमियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा करेंगे।   मध्यप्रदेश लघु उद्योग संघ के महासचिव विपिन कुमार जैन ने गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात के दौरान लॉकडाउन के कारण प्रदेश के लघु उद्यमियों को हो रही परेशानी से अवगत कराया। उन्होंने मंत्री मिश्रा से लघु उद्यमियों के साथ चर्चा करने का अनुरोध किया। गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने महासचिव विपिन कुमार जैन से कहा है कि वे शीघ्र ही लघु उद्यमियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा करेंगे। उन्होंने आश्वस्त किया कि संक्रमण काल में लघु उद्यमियों को आने वाली परेशानी दूर करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 25 May 2020


bhopal, BJP leaders,Chief Minister, congratulate people,Eid ul Fitr

भोपाल। देशभर में आज सोमवार को ईद-उल-फितर का त्यौहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। मध्य प्रदेश में भी ईद का पर्व हर्षोल्लास के साथ बन रहा है। हालांकि इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से मुस्लिम धर्मावलंबी घरों पर ही ईद मना रहे हैं। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने प्रदेशवासियों को ईद की मुबारकबाद देते हुए सावधानी के साथ त्यौहार को मनाने की अपील की है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर ईद की शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि ‘ईद मुबारक! आपके घरों में बरकत और रहमत बरसे! ईद की दिली मुबारकबाद! इस साल गले मिलकर नहीं, दिल से दिल को मिलाएं और मुबारकबाद दें। मास्क पहनें, दो गज की दूरी पर रहें। अपना और अपनों का खयाल रखें।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने ट्वीट में कहा ‘पावन पर्व ईद की हार्दिक शुभकामनाएं!   पूर्व केन्द्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ईद के पर्व पर भाईचारे और खुशहाली की कामना करते हुए सभी प्रदेशवासियों को ईद की शुभकामनाएं दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘समस्त देशवासियों को ईद-उल-फितर की मुबारकबाद। ईद के इस मुबारक मौके पर हम सब मिलकर देश में अमन-चैन, भाईचारा एवं खुशहाली के लिए दुआ करें।  

Dakhal News

Dakhal News 25 May 2020


sagar, Former Leader of Opposition, Gopal Bhargava ,sent PPE kit , doctors

सागर। पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ भाजपा विधायक गोपाल भार्गव कोरोना संकटकाल में लगातार सेवा कार्य में जुटे हुए हैं। जरूरतमंद को राहत सामग्री, प्रवासी मजदूरों के लिए  भोजन और जरूरतमंद सामान पहुंचा रहे है। शनिवार को गोपाल भार्गव ने रहली विधानसभा में स्वास्थ्य सेवाएं दे रहें निजी चिकित्सकों को पीपीई किट वितरित की।    रहली के वरिष्ठ समाज सेवक देवराज सोनी को गोपाल भार्गव ने चिकित्सकों के लिए पीपीई किट सौपीं। इससे पहले भी गोपाल भार्गव कोरोना योद्धाओं को पीपीई किट भेज चुके है। इस दौरान पूर्व नेता प्रतिपक्ष भार्गव ने कहा कि कोरोना संक्रमण के विकट समय में अपने परिवार की चिंता छोड़ कर समाज को कोरोना से बचाने के लिए डॉक्टर व कर्मचारी डटे हुए हैं। कोरोना के खिलाफ जंग लडऩे वाले कोरोना योद्धाओं के रूप में शासकीय और अशासकीय डॉक्टर्स की सेवाएं अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि रहली नगर में सेवा कार्य में जुटे निजी डॉक्टरों को पीपीई किट वितरित की है। आगे भी जितनी पीपीई किट की आवश्यकता होगी, उसकी पूर्ति की जाएगी।  

Dakhal News

Dakhal News 23 May 2020


bhopal, BJP state president, mourns , death of Chhatarpur workers , Jammu road accident

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व खजुराहो सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने जम्मू के समीप हुए सड़क हादसे में छतरपुर के श्रमिकों के मारे पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने पीड़ितों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है।    जम्मू के समीप हुई सड़क दुर्घटना में छतरपुर के हटवाहा गांव के श्रमिकों की मौत की खबर है। हालांकि इस दुर्घटना का फिलहाल विस्तृत ब्योरा नहीं मिल सका है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा जो खजुराहो से सांसद भी हैं, ने हादसे में श्रमिकों की मौत पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट करके कहा है कि सड़क दुर्घटना में हटवाहा के श्रमिक भाईयों के निधन की सूचना मिली। प्रदेश सरकार से मृतकों के शवों को उनके घर पहुंचाने तथा घायलों के उचित उपचार के संबंध में चर्चा की जा रही हे। उन्होंने मृतकों की आत्मिक शांति की कामना करते हुए कहा है कि ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दे।   

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2020


bhopal,Former CM, Kamal Nath, demands , waiving six months electricity bill

भोपाल। कोरोना संकट के बीच पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सीएम शिवराज को पत्र लिखकर गरीबों के छह माह के बिजली बिल माफ करने की मांग की है। साथ ही उन्होंने घरेलू उपभोक्ताओं, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों और उद्योगों से फिक्स चार्ज आरोपित न कर खपत के आधार पर बिजली के बिल लेने का अनुरोध किया है।पूर्व सीएम कमलनाथ ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि प्रदेश में कोरोना लॉकडाउन के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। रोजगार के सभी साधन एवं कल-कारखाने बंद पड़े हैं। ऐसे में प्रदेश में बिजली के भारी भरकम बिल सभी वर्ग के लिए परेशानी के सबब बनते जा रहे हैं। बिजली बिल में वास्तविक बिजली खपत के साथ-साथ फिक्स चार्ज भी लिया जा रहा है, जबकि उद्योग, व्यावसायिक प्रतिष्ठान आदि पूरी से बंद हैं। इससे आम जनता, व्यवसाय जगत एवं औद्योगिक क्षेत्रों में रोष है। उन्होंने लिखा है कि पिछले दिनों इंदौर में प्रदेश के उद्योगपतियों ने इसके विरोध में ई-धरना भी दिया था। पूर्व में आपको प्रेषित पत्रों से मेरे द्वारा इस समस्या की ओर आपका ध्यान आकर्षित कराया गया था, किन्तु आपकी सरकार द्वारा कोई सकारात्मक प्रयास नहीं किये गये, बल्कि इस कठिन परिस्थिति में भी भारी भरकम बिजली बिल थमा दिये गये। हमारी सरकार द्वारा इंदिरा गृह ज्योति योजना एवं इंदिरा किसान ज्योति योजना की शुरुआत की गयी थी, जिसमें घरेलू उपभोक्ताओं और किसान भाइयों को बिना किसी भेदभाव के बिजली के बिलों में भारी रियायत दी गई थी। इससे आम जनता में हर्ष का वातावरण था। उन्होंने अनुरोध किया है कि जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए घरेलू उपभोक्ताओं, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों एवं उद्योगों से ‘जितनी बिजली उतना दाम’ के सिद्धांत पर फिक्स चार्ज आरोपित न करते हुए वास्तविक खपत के आधार पर ही बिजली का बिल लिया जाए एवं इंदिरा गृह ज्योति योजना के गरीब हितग्राहियों के छह माह के बिजली बिल माफ किये जाएं। यह निर्णय प्रदेश की आम जनता, व्यवसाय जगत और उद्योगं के हित में होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2020


bhopal, Health Minister, assurance, AYUSH doctors,not cancel registration

भोपाल। मध्य प्रदेश आयुष डॉक्टरों के प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को गृह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौंपा। आयुष डॉक्टरों के प्रतिनिधिमंडल ने स्वास्थ्य मंत्री को अपनी समस्याओं से अवगत कराते हुए कहा कि कंटेंटमेंट एरिया में काम कर रहे अन्य डॉक्टरों की तरह उन्हें भी 60 हजार रुपए का मानदेय मिले। मंत्री डॉ मिश्रा ने उन्हें आश्वस्त किया है कि उनके साथ न्याय किया जाएगा और किसी भी डॉक्टर का रजिस्ट्रेशन कैंसिल नहीं होगा।    आयुष विभाग के डॉक्टरों के प्रतिनिधि मंडल ने शुक्रवार सुबह लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा के निवास पर मिलकर ज्ञापन सौंपा। डॉ मनोज सोलंकी ने बताया कि उन्हें वेतन नहीं मिल रहा है। साथ ही लगातार पीपीई किट पहनने से शरीर में खुजली होने लगी है। लगातार काम करने के बावजूद उनके साथ पक्षपातपूर्ण व्यवहार किया जा रहा है। आयुष डॉक्टरों के प्रतिनिधि मंडल ने यह भी आरोप लगाया कि आयुष विभाग द्वारा उनसे जबरन ड्यूटी करवाई जा रही है। आयुष डॉक्टरों ने मांग की है कि कंटेंटमेंट एरिया में काम कर रहे अन्य डॉक्टरों की तरह उन्हें भी 60 हजार रुपये का मानदेय मिले।    आयुष डॉक्टरों की समस्या को सुनने के बाद मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने आश्वस्त किया कि उनके साथ न्याय किया जाएगा और किसी भी डॉक्टर का रजिस्ट्रेशन कैंसिल नहीं होगा। उन्होंने कहा कि आयुष डॉक्टरों की समस्याओं को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के संज्ञान में लाते हुए संपूर्ण न्याय दिलाने का प्रयास करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2020


bhopal,Ajay Singh ,expressed displeasure ,over rebels

भोपाल। कांग्रेस में बागियों की वापसी के बाद उनके बल पर उपचुनाव की रणनीति को लेकर अब विरोध के स्वर तेज होने लगे लगे है। पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय सिंह ने बागियों की वापसी पर नाराजगी जाहिर की है। उनका कहना है कि अवसरवादियों की बजाय कांग्रेस का झंडा उठाकर चलने वालों का सम्मान होना चाहिए।    अजय सिंह ने ट्वीट के जरिए बागियों के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए पार्टी से अवसरवाद को न पनपने देने की ओर ईशारा किया है। दरअसल भाजपा से कांग्रेस में लौटे चौधरी राकेश सिंह और प्रेमचंद गुड्डू के सहारे में उपचुनाव में भाजपा को मात देने की रणनीति कांग्रेस बना रही है। इसी पर नाराजगी जाहिर करते हुए अजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि कांग्रेस को मजबूत बनाने और उसका जनाधार बढाने के लिए जरूरी है कि जो हर परिस्थितियों और विपरीत माहौल में कांग्रेस का झंडा उठाकर चलते रहे उनका सम्मान हो। अवसरवाद का बड़ा खामियाजा कांग्रेस ने मप्र में भुगता उसे कभी पनपने न दें और पनपे तो कांग्रेस में उनकी दोबारा कोई जगह न हो। उल्लेखनीय है कि अजय सिंह ने कुछ दिन पहले हुई कांग्रेस की बैठक में भिंड से चौधरी राकेश सिंह का दावेदारी का विरोध जताया था। साथ ही अब सांवेर से प्रेमचंद गुड्डू की दावेदारी की बात भी सामने आ रही है और ये दोनों नेता कांग्रेस छोडक़र भाजपा में गए थे।

Dakhal News

Dakhal News 21 May 2020


bhopal, Shivraj government,paid farmers, value produce, no relief ,Kamal Nath

भोपाल। मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा किसानों को भुगतान की गई राशि पर कांग्रेस ने हमला बोला है। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का कहना है कि जो राशि देने के लिए केन्द्र सरकार बाध्य है, उसे बांटकर झूठा प्रचार कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश की जनता को गुमराह कर रहे हैं।    कमलनाथ ने गुरुवार को जारी अपने एक बयान में सरकार का घेराव करते हुए कहा है कि किसानों से समर्थन मूल्य पर दस हजार करोड़ रुपए की राशि देना राहत नहीं है। बल्कि किसानों द्वारा अपनी मेहनत से जो फसल उपजाई है, जिसकी खरीदी गई है उसका मूल्य सरकार ने चुकाया है,उन्हें कोई खैरात नहीं दी है। यह तो हर राज्य सरकार का फर्ज है। इसमें किस बात की तारिफ है ? यह राशि केन्द्र सरकार के द्वारा दी जाती है और देश के सभी राज्यों को यह मिलती है।    कमलनाथ ने कहा की ’’मैं आज भी इस बात पर कायम हूँ कि जब कांग्रेस सत्ता में आयी थी तब प्रदेश की वित्तीय स्थिति बेहद खराब थी, जिसकी पुष्टि स्वयं भाजपा सरकार मे वित्त मंत्री रहे जयंत मलैया ने भी की थी।’’ उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि झूठ बोलकर जनता को गुमराह करना भाजपा का असली चरित्र है। 16 हजार करोड़ में से 10 हजार करोड़ समर्थन मूल्य पर किसानों से उनकी उपज खरीदी गई है, इसके अलावा 3 हजार करोड़ से अधिक की राशि केन्द्रीय योजनाओं के मद की है जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, मध्यान्ह भोजन योजना, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना आदि शामिल है। यह राशि केन्द्र सरकार द्वारा सभी राज्यों को दी जाती है जो एक संवैधानिक व्यवस्था है।   सीएम शिवराज द्वारा संबल योजना को दोबारा शुरू किए जाने पर कटाक्ष करते हुए कमलनाथ ने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा शुरू की गई संबल योजना में भाजपा कार्यकर्ताओं के नाम जोडक़र उन्हें फायदा पहुंचाया जा रहा था। गरीबों के नाम पर अपात्र लोगों को लाभ मिल रहा था। इस योजना का नाम बदलकर नया सवेरा करके कांग्रेस सरकार ने इसकी सूची का सत्यापन किया और उसमें सुधारकर अपात्र लोगों को हटाने का काम किया। योजना में कांग्रेस सरकार ने 813 करोड़ की राशि पात्र गरीबों को दी गयी थी जिसमें अंत्येष्टि, दुर्घटना मृत्यु, अपंगता आदि शामिल है, जबकि भाजपा सरकार नें मात्र 340 करोड़ ही अपने पूर्व कार्यकाल में वितरित की थी। उन्होंने कहा कि बड़े दुख की बात है कि भाजपा ने फिर से उन सभी अपात्रों को जोड दिया जो भाजपा के लोग हैं। इससे सरकार के खजाने पर करोड़ों का बोझ पड़ेगा।   सीएम शिवराज द्वारा पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार पर खाली खजाने का रोना रोने वाले बयान पर कमलनाथ ने कहा की जहां तक खाली खजाने की बात है, मैं आज भी इस बात पर कायम हूँ। उन्होंने कहा कि अपने हितों को साधने के लिये किस तरह प्रदेश का बेड़ा गर्क किया गया। डेढ़ साल के कार्यकाल में हमारा लगभग समय प्रदेश की खराब वित्तीय स्थिति कों संवारने में लगा। लगभग 2 हजार करोड़ की ऐसी योजनायें थी जिनका कोई बजट प्रावधान नहीं था, सिर्फ चुनाव जीतने के लिये शिवराज सरकार ने झूठी घोषणायें कर दी थी। उन्होंने कहा करोड़ों रूपये की उधारी भी कांग्रेस सरकार ने चुकायी। अगर खाली खजाना नहीं था तो शिवराज जी बताए उन्होंने आचार संहिता के दौरान खुले बाजार से कर्ज क्यों लिया था?   सीएम शिवराज पर तंज कसते हुए कमलनाथ ने कहा कि शिवराज ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिन्हें अपने प्रदेश की स्थिति का कोई ज्ञान नहीं है और वे सिर्फ झूठे प्रचार के जरिए अपनी तारिफ के कसीदे पड़ते रहते है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा सरकार में फर्क यह है कि हमारी सरकार काम करने वाली सरकार थी और भाजपा की सिर्फ बातें करने वाली सरकार है। प्रदेश की जनता भी इस सच्चाई को जानती है। वर्ष 2018 के चुनाव में भी उसने सच्चाई का साथ दिया था, इस बार भी उपचुनाव में वह सच्चाई के साथ खड़ी होगी।  

Dakhal News

Dakhal News 21 May 2020


bhopal, Home Minister, Dr. Narottam Mishra ,,Bhopal collector, Bairagarh textile traders

भोपाल। गृह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े से फोन पर चर्चा कर बैरागढ़ के संत हिरदाराम नगर मार्केट को खोलने के संबंध में चर्चा की। उन्होंने बताया कि गाइडलाइन संबंधी निर्देशों का आवश्यक पालन करते हुए 25 मई  से बैरागढ़ मार्केट खोला जाएगा।    इससे पूर्व गुरुवार सुबह संत हिरदाराम नगर बैरागढ़ के व्यापारियों ने गृहमंत्री को ज्ञापन सौंपते हुए मांग की थी कि मार्केट खोलने की अनुमति शासन प्रदान करें। व्यापारियों ने बताया कि संत हिरदाराम नगर में कपड़ा, बर्तन और सर्राफा का होलसेल व्यवसाय है। लॉक डाउन के कारण विगत 2 माह से व्यापारियों और उनसे जुड़े हुए अन्य परिवारों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। व्यापारियों ने मांग की कि सरकार उनकी मदद करें और मार्केट खोलने की अनुमति प्रदान करें।  

Dakhal News

Dakhal News 21 May 2020


bhopal,Former minister ,PC Sharma, retaliated , raising questions,Shivraj government

भोपाल। मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए कमलनाथ सरकार के आखिरी 6 महीने के दौरान लिए गए फैसलों की जांच के लिए ‘मंत्री समूह’ का गठन किया है। ग्रुप और मिनिस्टर्स 20 मार्च, 2020 से 6 महीने पहले तक की अवधि में तत्कालीन कमलनाथ सरकार द्वारा लिए गए फैसले की समीक्षा करेगा। सोमवार को मंत्रालय में मंत्री समूह की बैठक भी हुई जिसमें गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कर्जमाफी को सदी का सबसे बड़ा घोटाला बताया। पूर्व केन्द्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कमलनाथ सरकार के आखिरी 6 माह के फैसलों की समीक्षा के लिए कोरोना के भीषण संकट काल में शिवराज सरकार द्वारा गठित समिति पर सवाल उठाया है।    पीसी शर्मा ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत के दौरान शिवराज सरकार पर पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा को उपचुनाव में हार का डर है, इसलिए वो इस तरह के काम कर रही है, लेकिन कितनी भी जांच करा लें कुछ नहीं मिलेगा। उन्होंने कोरोना संक्रमण काल में जांच की बात को हास्यास्पद बताते हुए इस समिति के सदस्यों पर भी सवाल उठाए और आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि  पिछली सरकार के मंत्री जो वर्तमान में भी मंत्री हैं क्या उनके विभागों की भी जांच होगी। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा द्वारा किसान कर्जमाफी को सदी का सबसे बड़ा घोटाला बताए जाने पर पीसी शर्मा ने कहा कि जहां तक सवाल किसान कर्जामाफी का है, मुख्यमंत्री बनते ही कमलनाथ ने सबसे पहले साइन किसान कर्जामाफी की फाइल पर किए थे। स्टेज बाय स्टेज कर्जा माफ किया जा रहा था। झाबुआ चुनाव इसी की दम पर जीते थे।  

Dakhal News

Dakhal News 19 May 2020


bhopal,BJP leaders,CM Shivraj , birth anniversary ,Kshatriya Shiromani Prithviraj Chauhan

भोपाल। महान वीर योद्धा हिन्दू सम्राट पृथ्वीराज चौहान की आज मंगलवार को जयंती है। भारतीय इतिहास में पृथ्वीराज चौहान एक बहुत ही अविस्मरणीय नाम है। हिंदुत्व के योद्धा कहे जाने वाले चौहान वंश में जन्मे पृथ्वीराज आखिरी हिन्दू शासक भी थे। पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने उनके पराक्रम को प्रणाम कर नमन किया है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर पृथ्वीराज चौहान के अदम्य साहस और पराक्रम को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है। सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा है कि ‘भारतभूमि के गौरव की रक्षा के लिए मुहम्मद ग़ोरी जैसे आतताई को बार-बार युद्ध में पराजित करने वाले महान योद्धा पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर कोटिश: नमन! 'धर्म ही ऐसा मित्र है,जो मरणोत्तर भी साथ चलता है' के मंत्र पर अंतिम सांस तक आचरण करने वाले अपने वीर सपूत पर देश को सदैव गर्व रहेगा।   भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने ट्वीट में क्षत्रिय शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर शुभकामनाएं देते हुए नमन कर कहा ‘चार बांस चौबीस गज, अंगुल अष्ट प्रमाण। ता ऊपर सुलतान है, मत चुको चौहान।। हिन्दू सम्राट क्षत्रिय शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान जी जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं एवं शत-शत नमन।    वरिष्ठ भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा ‘वीर शिरोमणि सम्राट पृथ्वीराज चौहान जी की जयंती पर उन्हें मेरा कोटि-कोटि नमन।   भाजपा सांसद और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर शुभकामनाएं देते हुए कहा ‘चार बांस चौबीस गज, अंगुल अष्ट प्रमाण,ता ऊपर सुल्तान है, मत चूको चौहान। शब्दभेदी बाण की कला के जानकर, सनातन संस्कृति के रक्षक, वीर शिरोमणि, सम्राट पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर हार्दिक शुभकामनाएं।    पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ भाजपा विधायक गोपाल भार्गव ने अपने ट्वीट में कहा ‘मातृभूमि की आन-बान-शान के लिए सर्वस्व न्यौछावर करने वाले वीर शिरोमणि "पृथ्वीराज चौहान" जी की जयंती पर आप सभी देश वासियों को हार्दिक शुभकामनाएँ। मातृ भूमि के लिये ऐसा जज़्बा हम सभी के भीतर भी हो।

Dakhal News

Dakhal News 19 May 2020


bhopal,BJP leaders,CM Shivraj , birth anniversary ,Kshatriya Shiromani Prithviraj Chauhan

भोपाल। महान वीर योद्धा हिन्दू सम्राट पृथ्वीराज चौहान की आज मंगलवार को जयंती है। भारतीय इतिहास में पृथ्वीराज चौहान एक बहुत ही अविस्मरणीय नाम है। हिंदुत्व के योद्धा कहे जाने वाले चौहान वंश में जन्मे पृथ्वीराज आखिरी हिन्दू शासक भी थे। पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने उनके पराक्रम को प्रणाम कर नमन किया है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर पृथ्वीराज चौहान के अदम्य साहस और पराक्रम को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है। सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा है कि ‘भारतभूमि के गौरव की रक्षा के लिए मुहम्मद ग़ोरी जैसे आतताई को बार-बार युद्ध में पराजित करने वाले महान योद्धा पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर कोटिश: नमन! 'धर्म ही ऐसा मित्र है,जो मरणोत्तर भी साथ चलता है' के मंत्र पर अंतिम सांस तक आचरण करने वाले अपने वीर सपूत पर देश को सदैव गर्व रहेगा।   भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने ट्वीट में क्षत्रिय शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर शुभकामनाएं देते हुए नमन कर कहा ‘चार बांस चौबीस गज, अंगुल अष्ट प्रमाण। ता ऊपर सुलतान है, मत चुको चौहान।। हिन्दू सम्राट क्षत्रिय शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान जी जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं एवं शत-शत नमन।    वरिष्ठ भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा ‘वीर शिरोमणि सम्राट पृथ्वीराज चौहान जी की जयंती पर उन्हें मेरा कोटि-कोटि नमन।   भाजपा सांसद और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर शुभकामनाएं देते हुए कहा ‘चार बांस चौबीस गज, अंगुल अष्ट प्रमाण,ता ऊपर सुल्तान है, मत चूको चौहान। शब्दभेदी बाण की कला के जानकर, सनातन संस्कृति के रक्षक, वीर शिरोमणि, सम्राट पृथ्वीराज चौहान की जयंती पर हार्दिक शुभकामनाएं।    पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ भाजपा विधायक गोपाल भार्गव ने अपने ट्वीट में कहा ‘मातृभूमि की आन-बान-शान के लिए सर्वस्व न्यौछावर करने वाले वीर शिरोमणि "पृथ्वीराज चौहान" जी की जयंती पर आप सभी देश वासियों को हार्दिक शुभकामनाएँ। मातृ भूमि के लिये ऐसा जज़्बा हम सभी के भीतर भी हो।

Dakhal News

Dakhal News 19 May 2020


bhopal,MP Liquor Association, officials meet ,Home Minister ,Narottam Mishra

भोपाल। मध्य प्रदेश लिकर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मंगलवार सुबह गृह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात की। इस दौरान लिकर एसोसिएशन के सदस्यों ने मंत्री से मिलकर अपनी समस्या को लेकर पत्र सौंपा और अपनी समस्याओं से अवगत कराया। इस पर गृहमंत्री ने लिकर एसोसिएशन के पदाधिकारियों को उचित राहत देने का आश्वासन दिया। मुलाकात के दौरान अपर मुख्य सचिव वित्त अनुराग जैन और प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर मनोज गोविल भी मौजूद रहे।   लिकर एसोसिएशन के पदाधिकारियों से मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कोरोना की वजह से शराब की बिक्री कम हुई है। इस पर शराब कारोबारियों ने अपना पक्ष रखा है। उन्होंने कहा कि 2 माह हो गए दुकानें बंद रही है, इसलिए वे सरकार से रियायत चाहते हैं। लिकर एसोसिएशन ने मांग की है कि कोरोना के कारण दुकानें बंद होने के चलते सालाना रेवेन्यू कम किया जाए। मंत्री मिश्रा ने कहा कि एसोसिएशन की मांग पर सरकार मंथन करेगी। एसोसिएशन के पदाधिकारियों का पक्ष कैबिनेट की बैठक में रखेंगे, उसके बाद निर्णय लिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश में आज से शराब दुकान खोलने की छूट मिल गई है। रेड जोन के 10 जिलों को छोडक़र सभी जिलों मेें दुकानें खोलने की छूट दी गई है। भोपाल, इंदौर, उज्जैन, बुरहानपुर, जबलपुर, खंडवा, मंदसौर, धार और देवास में शराब दुकानें नहीं खुलेंगी। भांग की दुकानें खोलने की छूट दी गई है।  

Dakhal News

Dakhal News 19 May 2020


bhopal,Former minister ,Priyavrat Singh,  90 thousand crore package , power company cheated

भोपाल। मध्यप्रदेश की पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार में ऊर्जा मंत्री रहे कांग्रेस के विधायक प्रियव्रत सिंह ने केंद्र सरकार द्वारा विद्युत वितरण कंपनी को 90 हजार करोड़ रुपये के पैकेज को धोखा बताया है। उन्होंने सोमवार को वीडियो प्रेस कॉन्फेंस के माध्यम से मीडिया से बात करते हुए कहा है कि केंद्र ने बिजली कंपनी को जो पैकेज देने का ऐलान किया गया है, वह धोखा है। यह राशि निजी बिजली उत्पादन, घरों व केंद्रीय क्षेत्र की बिजली उत्पादन कंपनी के बकाया को चुकाने के दी दी जा रही है, जो कि लोन पर दी जाएगी। लगता है कि उसके चलते भारी नुकसान उठा रही विद्युत वितरण कंपनी को इस पैकेज से कुछ भी हासिल नहीं होगा। लाकडॉउन के चलते डिमांड कम होने से वितरण कंपनी पर फिक्स चार्ज का खर्चा बढ़ गया है, जिसके कारण कंपनी भारी घाटे में जा रही है।पूर्व ऊर्जा मंत्री ने कहा कि विद्युत वितरण कंपनी (केंद्र शासित प्रदेशों की) का निजीकरण किया जा रहा है, जबकि विद्युत वितरण कंपनी की कार्य क्षमता बढ़ाने के लिए उन्हें अतिरिक्त संसाधन प्रदान करने की जरूरत है। क्रॉस सब्सिडी कम करने से गरीब उपभोक्ताओं को महंगी बिजली लेनी पड़ेगी। विभिन्न शासकीय विभागों पर विद्युत विभाग की करोड़ों रुपयों की राशि बकाया है, जिसे तुरंत दिया जाना चाहिए।उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में उपभोक्ताओं के घरों की मीटर रीडिंग नहीं ली जाकर मनमानी राशि के बिल जिए जा रहे हैं, जिसके कारण 'इंदिरा गृह ज्योति योजना' का लाभ उपभोक्ताओं को नहीं मिल पा रहा है। छोटे व्यवसाय करने वाले व्यवसायिक उपभोक्ताओं की दुकानें परिसर लॉकडाउन के कारण बंद है, उन्हें मिनिमम चार्ज से राहत दी जानी चाहिए।प्रियव्रत सिंह ने कहा कि प्रदेश में लघु एवं मध्यम उद्योग भी लाकडाउन के कारण बंद हैं, जिन्हें फिक्स चार्ज से राहत दी जानी चाहिए। विद्युत वितरण कंपनी द्वारा क्षेत्र में पदस्थ अधिकारियों को लॉकडाउन के समय भी वसूली करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है, जिसके कारण दिहाड़ी से कमाने वाले उपभोक्ताओं पर वसूली करने हेतु उन्हें परेशान किया जा रहा है।उन्होंने कहा कि राज्य में अनुकंपा नियुक्ति के लिए नीति बनाई गई थी, जिसे लागू करने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। आउटसोर्स कर्मियों की समस्याओं के निराकरण के लिए समिति का गठन किया गया था, उस समिति की रिपोर्ट के प्रावधानों को लागू करने हेतु कदम उठाए जाने हैं। वहीं, रखरखाव कार्य पर समुचित ध्यान नहीं दिया जा रहा है जिसके कारण विद्युत का व्यवधान बढऩे लगा है। उन्होंने कहा कि आउटसोर्स कर्मियों का 31 मार्च तक का जिन कंपनियों का टेंडर था, जो कि उक्त अवधि में समाप्त होने के पश्चात न ही नए टेंडर लगाए गए। ऐसे में कोरोना वायरस के चलते कई कर्मचारी विगत दो माह से घर बैठे हैं। उन्होंने मांग की है कि इन कर्मियों को प्रदेश सरकार द्वारा दो माह का मानदेय दिया जाए ताकि इनके परिवार का सही रूप से जीवन यापन हो सके।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2020


bhopal, Kamal Nath, Shivraj government,fighting Corona, by-election

भोपाल। कोरोना संकट के बीच पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार पर सोशल मीडिया के माध्यम से फिर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि यह सरकार कोरोना से निपटने पर पूरी तरह विफल रही है। प्रभावित लोगों की मदद करने की बजाय पार्टी नेता अपने कार्यालयों में उपचुनाव की तैयारियों में जुटे हैं।पूर्व सीएम कमलनाथ ने सोमवार को सिलसिलेवार ट्वीट कर शिवराज सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा है कि आज आवश्यकता है कोरोना प्रभावित इलाकों में एवं प्रदेश के मार्गों व सीमाओं पर जाकर भूखे-प्यासे मजदूरों से मिलकर उनका दर्द जानने की, लेकिन सरकार के लोग जा रहे हैं अपने कार्यालय उपचुनाव की तैयारियों के लिये, चुनाव जीतने की रणनीति बनाने के लिये, लोगों का दलबदल करवाने के लिये? यह कितना शर्मनाक है।उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा है कि - आज आवश्यकता है इस महामारी के प्रदेश में बढ़ते प्रकोप को देखते हुए केन्द्र सरकार से बात कर प्रदेश में टेस्टिंग किट की कमी दूर करने की, टेस्टिंग के लिये निजी लेब को ज्यादा से ज्यादा अनुमति दिलवाने की, वेंटिलेटर व पीपीई किट की कमी को दूर करने की, लेकिन केन्द्र सरकार और उसके मंत्रियों से इस महामारी में भी बात की जा रही है, उपचुनावों को जीतने के लिये "एक्सप्रेस वे " के भूमिपूजन की....?कमलनाथ ने तीसरे ट्वीट में लिखा है कि आज आवश्यकता है सभी को मिलकर कोरोना महामारी से लडऩे की, लेकिन तैयारियां की जा रही है चुनाव लडऩे की, इस महामारी में भी पद बांटे जा रहे हैं, जवाबदारी कोरोना से निपटने की नहीं, उपचुनाव जिताने की दी जा रही है?अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि - यह है इनकी संवेदनशीलता...? इन्हें जनसेवा नहीं, सत्ता की भूख है। इन्हें कोरोना से प्रदेशवासियों को नहीं बचाना है, इन्हें पहले खुद की सरकार को बचाना है। इनकी प्राथमिकता जनता नहीं सत्ता लोलुपता है। बेचारी जनता कोरोना से लड़ रही है और ये पद और टिकट के लिये लड़ रहे हैं....?

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2020


bhopal, Minister Tulsi Silavat, big statement, many big leadersCongress,will join BJP

भोपाल। सत्ता में फिर से वापसी का सपना देख रही कांग्रेस को उप चुनाव से पहले एक और झटका लगा है। मंत्री तुलसी सिलावट के नेतृत्व में सांवेर से कांग्रेस के 6 नेता सोमवार को भाजपा में शामिल हो गए। इन सभी छह नेताओं को मंत्री तुलसी सिलावट आज भाजपा कार्यालय लेकर पहुंचे, जहां पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई।    कांग्रेस कार्यकर्ताओं के भाजपा में शामिल होने को लेकर मंत्री तुलसी सिलावट ने बड़ा बयान दिया है। उनका कहना है कि यह तो अभी केवल शुरूआत है। आगे भी इसी प्रकार से कांग्रेस नेताओं के भाजपा में आने का सिलसिला जारी रहेगा। मंत्री सिलावट ने दावा किया है कि कांग्रेस से भाजपा में इतने बड़े नेता आएंगे कि कोई सोच भी नहीं सकता है।   बता दें कि कांग्रेस को छोडक़र भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने वालों में वर्तमान ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष भारत सिंह चौहान, मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य दिलीप चौधरी, इंदौर के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हुकुम सिंह सांखला, नगजी राम ठाकुर, हुकुम सिंह पटेल और इंदौर के किसान कांग्रेस  जिला अध्यक्ष एवं जनपद सदस्य ओम सेठ शामिल है।   इसके अलावा मध्यप्रदेश में लाकडाउन-4.0 लागू किये जाने को लेकर मंत्री सिलावट ने कहा है कि केन्द्र के दिशा-निर्देश के अनुसार ही प्रदेश में नये लाकडाउन का स्वरूप निर्धारित किया जाएगा। इंदौर, भोपाल सहित प्रदेश के नौ जिले रेड जोन में शामिल किये गये हैं। अन्य जिलों को लेकर भी समीक्षा की जा रही है। 

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2020


ujjain, Two Congress MLA, arrested ,before taking out, march

उज्जैन। अपने क्षेत्र के नागरिकों की विभिन्न समस्याओं को लेकर उज्जैन से भोपाल के लिए पदयात्रा निकालने जा रहे कांग्रेस के दो विधायकों को दो दिन पूर्व उज्जैन पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था। शुक्रवार को दोनों विधायकों को जमानत मिल गई है और वे जेल से बाहर आ गये हैं।दरअसल, उज्जैन जिले के तराना से कांग्रेस विधायक महेश परमार और आलोट से कांग्रेस विधायक मनोज चावला गत 13 मई को क्षेत्र की नागरिकों की समस्याओं को लेकर राज्यपाल लालजी टण्डन को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देने के लिए उज्जैन से भोपाल तक पदयात्रा निकालने जा रहे थे। इस दिन वे महाकालेश्वर मंदिर पहुंचे और बाबा महाकाल के दर्शन कर पदयात्रा शुरू करने वाले थे, इससे पहले ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। साथ ही उनके समर्थक कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं को भी गिरफ्तार किया गया था और सभी अदालत में पेश कर भैरवगढ़ केन्द्रीय जेल दिया गया था। मामले में शुक्रवार को जिला अदालत द्वारा दोनों विधायकों और उनके समर्थकों की जमानत मंजूर कर ली गई। इसके बाद उनके जेल से रिहा कर दिया गया। 

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2020


bhopal,Congress leader, KK Mishra, political attack,BJP

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केके मिश्रा ने भाजपा पर गुटबाजी के बहाने बड़ा सियासी हमला बोला है। शुक्रवार को एक बयान जारी कर उन्होंने कई सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि कथित तौर पर अनुशासित कही जाने वाली भाजपा के आंतरिक संघर्ष से मेरा कोई व्यक्तिगत लेना-देना नहीं है, पर जब सार्वजनिक रूप से जूतम-पैजार के साथ उनके ही प्रदेश संगठन महामंत्री के खिलाफ टिकट वितरण में लेन-देन के संगीन आरोपों के प्रामाणिक पत्राचार के रूप में हो रहे हों, तो उसे सार्वजनिक करना भी मेरा राजनैतिक धर्म है।    मिश्रा ने कहा कि हाल ही में भाजपा के जिलाध्यक्षों की नियुक्तियों ने संघ कबीले के रिमोट से संचालित होने वाली पार्टी के कथित अनुशासन, पार्टी विद-ए-डिफरेंस और वास्तविक चाल, चरित्र व चेहरे को बेनक़ाब कर दिया है। एक ओर दो दिन पहले ही सरकार के मुखिया शिवराजसिंह चौहान ने पूर्ववर्ती कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार के खि़लाफ़ जांच के लिए अलग-अलग मंत्रिमंडलीय समूह गठित किया है। यहां यह बात मज़ेदार है कि इस समूह में जिन मंत्रियों का समावेश किया गया है। उन पर कांग्रेस में रहते हुए और गद्दारी करने के पूर्व उनके ही आका के चमचों ने भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे, क्या उन आरोपों को भी मंत्री समूह में शामिल कर जांच रिपोर्ट सार्वजनिक की जाएगी?   केके मिश्रा ने कहा कि दूसरी ओर अब भाजपा के आतंरिक संघर्ष में नया मोड़ आ गया है। ग्वालियर महानगर के लिए नियुक्त अध्यक्ष कमल माखीजानी के खिलाफ उठे स्वरों की आग ने भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत को झुलसा दिया है। (उल्लेखनीय है, आगामी समय में राज्य में कुल 24 निर्वाचन क्षेत्रों में उप चुनाव हैं,उसमें 16 सिर्फ सीटें ग्वालियर-चम्बल संभाग की ही हैं) । "भगत" पर उनके "भक्तों" ने ही सम्पन्न विधानसभा चुनाव में टिकट बेचने के न केवल आरोप लगाए हैं, बल्कि इस आरोपों का लिखित, हस्ताक्षरित दस्तावेज भी अपने राष्ट्रीय मुखिया जेपी नड्डा को भेजा है।    मिश्रा ने तंज कसते हुए कहा कि इन आरोपों से खिन्न पार्टी नेतृत्व ने कुछ नेताओं पर दबाव बनाकर माफीनामा लिखवाया, खेद भी व्यक्त करवाया है, मीडिया प्रभारी को इस विषयक प्रेस विज्ञप्ति भी जारी करनी पड़ी। किन्तु जिस तरह सिर फुटव्वल व टिकट बेचे जाने के संगीन आरोप वरिष्ठ पद पर काबिज व्यक्ति पर लगे हैं, उससे यह कहना प्रासंगिक होगा "जिसके खुद के घर शीशे के बने हों,उसे दूसरे के घर पत्थर नहीं फेंकना चाहिए।"   

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2020


bhopal, Home Minister ,Narottam Mishra, targeted Congress ,appointments ,Congress government

भोपाल। मध्य प्रदेश के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस सरकार में हुई नियुक्तियों को लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है। इसके साथ ही उन्होंने वापसी कर रहे प्रवासी मजदूरों की जानकारी देते हुए कहा है कि कोरोना के साथ रहने की आदत हमें डालनी होंगी, इसका वैक्सीन नही है।    शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए स्वास्थ्य और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश में 3 लाख 21 हजार श्रमिकों को वापस लाया जा चुका है। एमपी में मजदूरों को लेकर 10 और ट्रेन आएंगी। एमपी में आ रहे श्रमिकों के लिए बसों की व्यवस्था, यूपी तक बस से की गई है। साथ ही ये भी कहा कि मजदूरों के कारण कोरोना बढ़ रहा है। वहीं मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मनरेगा से श्रमिकों को लाभ मिलने की बात कही। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि अभी तक 12 लाख किसानों का गेंहू खरीदा जा चुका है। इसके अलावा मनरेगा से 3 लाख श्रमिक लभंबित होंगे। वहीं कांग्रेस सरकार में हुई नियुक्तियों को लेकर नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने अल्पमत में नियुक्तियां की थी, उनकी जांच होगी।   मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि लॉक डाउन 4.0 को लेकर चर्चा हो रही है। दिल्ली को लॉक डाउन 4.0 के लिए प्रदेश का सुझाव भेजा जाएगा। भोपाल-इंदौर में लॉक डाउन बढाने का सुझाव दिया गया है। प्रदेश के ग्रीन जिलों को अंदर से खोलने की बात कही गई है।    

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2020


bhopal, Kamal Nath, wrote letter, CM Shivraj, demanding financial assistance, priests

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ लॉकडाउन के बाद से ही लगातार सीएम शिवराज को पत्र लिखकर विभिन्न मुद्दों की तरफ उनका ध्यान आकर्षित कर अपनी मांग रख रहे हैं। बुधवार को एक बार फिर कमलनाथ ने सीएम शिवराज को पत्र लिखा है। इस बार कमलनाथ ने पत्र के माध्यम से प्रदेश सरकार से मठ- मंदिरों और पुजारियों के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग की है।    पूर्व सीएम कमलनाथ ने पत्र में लॉकडाउन के कारण मंदिरों में आने वाले चढ़ावे बंद होने से पुजारियों को हो रही आर्थिक परेशानी का मामला उठाया है। उन्होंने लिखा है कि मध्य प्रदेश में हजारों मंदिर- मठ हैं। ये मंदिर मठ सरकार द्वारा या किसी संस्था या ट्रस्ट द्वारा या किसी समिति अथवा अन्य द्वारा संचालित किए जाते है। इन मंदिरों में प्रतिदिन की पूजा-अर्चना आदि हेतु आवश्यक प्रबंध एवं पुजारियों के जीवन यापन की व्यवस्था मंदिरों में आने वाले चढ़ावों एवं दान की राशि से होती है।    उन्होंने कहा है कि कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन में मंदिरों में भक्त और श्रद्धालुओं का आना प्रतिबंधित होने से चढ़ावा और दान राशि प्राप्त नहीं हो रही है और इस कारण से पुजारियों को मंदिरों की पूजा अर्चना और स्वयं के परिवार के जीवनयापन में कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। मंदिरों में भगवान की पूजा अर्चना संभव हो और पुजारियों के जीवन यापन की व्यवस्था सुव्यवस्थित रूप से चल सके, इस हेतु सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जानी चाहिए।    कमलनाथ ने सीएम शिवराज से मांग करते हुए कहा है कि आपसे अनुरोध है कि इस विषप पर तत्काल संज्ञान लेते हुए प्रदेश के प्रत्येक छोटे बड़े मठ मंदिरों में पूजा अर्चना हेतू पांच हजार रुपये प्रतिमाह और पुजारियों को जीवन यापन हेतु 7500 रुपये प्रतिमाह की न्यूनतम आर्थिक सहायता आगामी तीन माह के लिए स्वीकृत कर वितरित करने का निर्णय लेने का कष्ट करें।   

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2020


ujjain, 7 arrested, including two Congress MLA, lockdown

उज्जैन। शहर के महाकाल मंदिर के बाहर बुधवार सुबह उस समय हंगामा मच गया, जब लॉकडाउन के दौरान कांग्रेस के विधायक महेश परमार और विधायक मनोज चावला को पुलिस ने उनके समर्थकों सहित गिरफ्तार कर लिया। दोनों विधायक भाजपा सरकार की नाकामी को लेकर भोपाल तक किसान मजदूर अन्याय यात्रा निकालना चाह रहे थे। पुलिस ने हाथ-पैर पकड़कर विधायकों को गाड़ी में बिठाया।    कांग्रेस के तराना विधायक महेश परमार और आलोट विधानसभा सीट से विधायक मनोज चावला अपने पांच समर्थकों के साथ भगवान महाकाल के दर्शन कर भोपाल के लिए पैदल यात्रा निकालना चाह रहे थे, जिसकी उन्होंने अनुमति भी ली थी। कांग्रेस के विधायकों और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने महाकाल मंदिर से आगे जाने से रोक दिया। इस बात से नाराज विधायक कार्यकर्ताओं के साथ मंदिर के सामने ही धरने पर बैठ गए। विधायकों का कहना था कि उन्होंने कोई गुनाह नहीं किया है। प्रशासन चाहे तो वह उन्हें गोली मार दे, लेकिन वह पैदल यात्रा निकाल कर ही रहेंगे। विधायकों और उनके समर्थकों की जिद को देखते हुए पुलिस- प्रशासन के आला अधिकारियों ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन जब दोनों ही विधायक यात्रा निकालने की बात को लेकर अड़े रहे तो प्रशासन ने धारा 144 सहित कर्फ्यू के उल्लंघन की धाराओं में केस दर्ज कर सभी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर केंद्रीय भेरूगढ़ जेल भेज दिया। इस बीच पुलिस ने दोनों विधायकों को चलने को कहा तो वे उठने को तैयार नहीं थे। इसके बाद पुलिस ने हाथ-पैर पकड़कर उन्हें पुलिस वैन में जबरन बिठा दिया।  

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2020


nagda, Former Badnagar MLA , senior BJP leader, Uday Singh Pandya, dies

नागदा। उज्जैन जिले के बड़नगर विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता उदयसिंह पंड्या का बुधवार सुबह निधन हो गया। वे लगभग 84 वर्ष के थे। दिवंगत पंड्या ने किसी जमाने में भारतीय जनसंघ में अटल बिहारी वाजपेयी के साथ भी कार्य किया था। पंडया कई दिनों से अस्वस्थ थे। इन दिनों वे अपने पृतक गांव सोहड़ में थे, तब अकस्मात उनकी तबियत खराब हुई और उपचार के लिए सुबह एक निजी अस्पताल बड़नगर में लाया गया। इस दौरान उन्होंने अंतिम सांस ली।    पंडया ने तीन बार बडऩगर विधानसभा का नेतृत्व किया। आपातकाल में वे 18 माह तक जेल में रहे ओर मीसाबंदी का दर्जा मिला। जेल से आने के बाद जयप्रकाश नारायण के आव्हान पर जब सभी दल एक जुट हुए थे, तब भारतीय जनसंघ का जनता दल में विलय हो गया था। तब आपने हलघर चुनाव चिन्ह से 1977 में पहला चुनाव बडऩगर विघानसभा क्षेत्र से लड़ा था। उस समय प्रदेश के मुख्यमंत्री कैलाश जोशी बने थे। बाद में 1980 एवं 1990 में भाजपा की टिकट पर विजयी हुए और विघानसभा में पहुंचे। दिवंगत पड्या को बडऩगर से कुल 6 बार टिकट मिला था, जिसमें से 3 बार सफ ल हुए। वे एक मिलनसार एवं लोकप्रिय नेता थे। पंड्या अपने पीछे दो पुत्र एवं एक पुत्री समेत भरापूरा छोडक़र गए है।  कुछ दिनों पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूरभाष पर उनसे बात कर कुशल क्षेम पूछी थी। अंतिम संस्कार बडऩगर से लगभग 18 किमी दूर गांव सोहड़ में होगा।

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2020


bhopal, Kamal Nath, once again appealed , Congress leaders, help, laborers returning home

भोपाल। कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के कारण देश के अलग-अलग राज्यों में फंसे मप्र के प्रवासी मजदूरों की वापसी का दौर जारी है। राज्य सरकार द्वारा मजदूरों की वापसी के लिए ट्रेने और बसें भी चलाई जा रही हैं। वहीं कई मजदूर ऐसे भी है, जो जानकारी के अभाव में पैदल ही अपने घरों के लिए निकल पड़े है। परिवार और छोटे बच्चों के साथ मजदूर व्यवस्था के अभाव में सैकड़ों- हजारों किमी का सफर भूखे प्यासे तय कर रहे है। मजदूरों की सहायता के लिए मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं से आगे आने और मदद करने की अपील की है।    पूर्व सीएम कमलनाथ ने मंगलवार को एक बयान जारी कर मजदूरों के प्रति अपनी चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा है कि मैं एक बार फिर प्रदेश के समस्त कांग्रेसजनों, जनप्रतिनिधियों, समाजसेवी संस्थाओं, धार्मिक संगठनों से अपील करता हूँ कि प्रदेश के प्रमुख मार्ग, हमारी सीमाएँ, अपनी घर वापसी के लिये निकले हजारों मजदूर भाइयों से भरी पड़ी हुई है। कोई पैदल, कोई साईकिल पर, कोई ऑटो पर, कोई अन्य साधन से, कोई नंगे बदन, कोई नंगे पैर, अपने बच्चों, बुजुर्ग माता पिता को लिये, भूखे-प्यासे, भीषण गर्मी व लू में अपनी जान की परवाह किये बगैर अपनी मंजिल की और चला जा रहा है। प्रतिदिन इनमें से कई मौत के आगोश में समां रहे हैं।   कमलनाथ ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जरूरतमंद इन मजदूरों से राह में मनमर्जी का किराया वसूला जा रहा है, इन्हें ठगा जा रहा है। ये बेबस- लाचार, असहाय मजदूर सब कुछ सहन कर रहे है क्योंकि इनकी कोई सुध लेने वाला नहीं है। इन्हें हर हाल में अपने घर पहुँचना है। क्योंकि इनके पास रोजी-रोटी का कोई साधन नहीं है। सरकार या सरकार का कोई नुमाइंदा ना इनकी सुध ले रहा है, ना इनकी मदद कर रहा है। सिर्फ़ हवा-हवाई दावे व घोषणाएँ की जा रही है। मैदान से सब नदारद है। इनकी तस्वीरें रोज सभी के सामने आ रही है लेकिन सरकार गूँगी-बहरी बनी हुई है।   कमलनाथ ने कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा है कि आप सभी इनकी मदद करे। मैं कांग्रेस परिवार के सभी सदस्यों से भी अपील करता हूँ कि आप सभी इन मजदूर भाइयों की मदद के लिये इन प्रमुख मार्गों पर अपने वाहन लेकर निकल पड़े। भूखे- प्यासे इन मजदूर भाइयों को खाना उपलब्ध कराये। नंगे बदन व नंगे पैर सफऱ कर रहे इन मजदूरों को कपड़े, जूते- चप्पल उपलब्ध कराये। अपने- अपने वाहनों को, साधनों को इन मजदूर भाइयों के लिये प्रमुख मार्गों पर लगा दें।    अपने वाहनो में इन्हें बैठाये, इन्हें ससम्मान इनके घर तक, मंजिल तक पहुँचाये। इनकी सभी आवश्यक मदद करें। यह मानवता, इंसानियत व परोपकार का कार्य है। हमारी संस्कृति घर आये हर मेहमान के स्वागत-सत्कार की है। प्रदेश वापसी पर आये इन मजदूरों का मेहमानों की तरह सत्कार करें। इन्हें भूखा-प्यासा ना रहने दे, इनका पेट भरें। इन्हें अपने वाहनो से इनके घर तक सकुशल, सुरक्षित पहुँचाये।उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी कमलनाथ कांग्रेस नेताओं से सडक़ पर उतरे मजदूरों की मदद की अपील कर चुके है। 

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2020


bhopal, Ajay Singh, allegation ,increases administrative risk , administrative negligence

भोपाल। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने आरोप लगाया है कि प्रदेश में प्रशासनिक लापरवारी की वजह से कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। साथ ही उन्होंने ग्राम पंचायतों में क्वारेंटाइन सेंटर बनाने की मांग की है। कांग्रेस नेता अजयसिंह ने मंगलवार को मीडिया को जारी अपने बयान में सीधी जिले के ग्राम कोल्हूडीह में पाये गये करोना संक्रमित मरीज को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि प्रशासनिक लापरवाही की वजह से प्रदेश में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। लापरवाही का इससे बड़ा उदाहरण और क्या हो सकता है कि सीधी में करोना संक्रमित मरीज अपने घर पहुंच गया और प्रशासन को खबर तक नहीं लगी।अजय सिंह ने कहा कि प्रदेश के हर जिले में हजारों की संख्या में लोग अपने अपने साधनों से सीधे घर पहुंच रहे हैं। अगर वे अपनी जांच कराना भी चाहते हैं तो प्रशासन की ओर से व्यवस्था का अभाव होने के कारण  जांच नहीं करा पा रहे हैं। प्रदेश की जागरूक जनता ने शासन के हर आदेश का पालन किया, जिसकी वजह से करोना संक्रमण अभी तक नियंत्रण में था, लेकिन प्रशासन द्वारा अपनाई जा रही घोर लापरवाही की वजह से अब खतरा बढऩे लगा है। उन्होंने कहा कि हजारों की संख्या में अब जो भी लोग जिलों में पहुंच रहे हैं, वे अधिकांश उन इलाकों से आ रहे हैं जहां करोना विकराल रूप ले चुका है। ऐसी स्थिति में प्रशासन को ब्लॉक एवं ग्राम पंचायत स्तर पर स्क्रीनिंग व कोरेंटाइन सेंटर की व्यवस्था करनी चाहिए थी। पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सीधी जिले के ग्राम कोल्हुडीह में पाये गये करोना संक्रमित मरीज का सीधे घर पहुंच जाना एक चिंता का विषय है। प्रशासन को इससे सबक लेना चाहिए। उन्होंने संक्रमित व्यक्ति के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हुए जिला प्रशासन से मांग की है कि ग्राम पंचायत स्तर पर स्क्रीनिंग एवं कोरोंटाइन सेंटर बनाकर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जांच कराएं, क्योंकि यह सम्बंधित व्यक्ति एवं उसके परिवार की सुरक्षा के लिए बेहद जरूरी है। उन्होंने प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा कि सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए मास्क एवं अन्य रक्षा उपकरणों का जरूर प्रयोग करें।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2020


bhopal, Digvijay questioned Modi, Shivraj retaliated

भोपाल। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने देश में चल रहे लॉकडाउन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल दागा था। उन्होंने प्रधानमंत्री पर राज्यों से बातचीत न करने का आरोप लगाया था। उनके इस सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने दिग्विजय पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि कुछ लोग अपनी असफलता छिपाने के लिये अपना दोष दूसरों पर मढ़ देते हैं।    पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजयसिंह ने लॉकडाउन के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अकेले ही निर्णय लेने का आरोप लगाया था। उन्होंने प्रधानमंत्री पर लॉकडाउन के मुद्दे पर देश के मुख्यमंत्रियों से बात न करने का आरोप लगाते हुए जवाब मांगा था। दिग्विजय के इस सवाल का जवाब मंगलवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने दिया है। उन्होंने कहा है कि कुछ लोग अपनी असफलता छिपाने के लिए अपना दोष दूसरों पर डालने का काम करते हैं।     शिवराज ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री ने हमेशा भारत के संविधान के मुताबिक संघीय ढांचे को प्राथमिकता दी है। शिवराज सिंह ने अपने अगले ट्वीट में कहा कि पीएम ने वैश्विक महामारी Covid_19 से लड़ने के लिए न सिर्फ़ देश का सक्षम नेतृत्व किया, बल्कि पूरे विश्व को एक नयी दिशा भी दिखाई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने हर एक कदम पर पूरे भारत के सभी मुख्यमंत्रियों से लगातार बात की,  सभी राजनीतिक दलों से भी बातचीत की और फिर देश हित में उचित निर्णय लिए। 

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2020


bhopal, Congress raised questions, appointment , Gwalior District BJP President

भोपाल। हाल ही भारतीय जनता पार्टी द्वारा ग्वालियर जिला भाजपा अध्यक्ष के पद पर की गई कमल माखीजानी की नियुक्ति को लेकर प्रदेश कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं। कांग्रेस की ओर से पूछा गया है कि क्या भाजपा में असभ्य और असंस्कारी होना ही बड़ी योग्यता है?   भारतीय जनता पार्टी द्वारा हाल ही में प्रदेश के 24 जिलों में जिला अध्यक्षों की नियुक्ति की गई है। इसके अनुसार ग्वालियर के जिला भाजपा महामंत्री कमल माखीजानी को जिला भाजपा अध्यक्ष बनाया गया है। माखीजानी पर हाल ही में एक पुलिस अधिकारी के साथ कथित रूप से अभद्र शब्दों के प्रयोग के आरोप लगे थे। माखीजानी की नियुक्ति को लेकर प्रदेश कांग्रेस ने कहा है कि भाजपा ने एक ऐसे व्यक्ति को जिला अध्यक्ष बनाया है, जिसने दो दिन पहले एक टीआई को गाली बकी थी। पार्टी की ओर से कहा गया है कि भाजपा ने गाली बकने वाले व्यक्ति को इनाम देकर जिला अध्यक्ष बना दिया। प्रदेश कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से पूछा है कि क्या भारतीय जनता पार्टी में असंस्कारी और असभ्य होना ही सबसे बड़ी योग्यता है?

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2020


bhopal, Former Bhopal MLA ,Jitendra Daga ,also turned Corona positive

भोपाल। भोपाल के हुजूर विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक जितेंद्र डागा भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। रविवार को उनके सेम्पल की जांच रिपोर्ट आई है, जिसमें उन्हें कोरोना संक्रमित बताया गया है। अब स्वास्थ्य विभाग का अमला उनकी कांट्रेक्ट हिस्ट्री तलाशने में जुट गई है। बताया जा रहा है कि वे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह से भी मिले थे। गौरतलब है कि जितेन्द्र डागा पहले भाजपा में थे और हुजूर विधानसभा क्षेत्र से वे भाजपा के टिकट पर विधायक चुने गए थे, लेकिन पिछली बार उन्हें टिकट नहीं मिला था। इसलिए वे भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए थे। कोरोना संकटकाल में पूर्व विधायक जितेन्द्र डागा अपने घर से 10 हजार लोगों के लिए रोज खाना बना रहे थे, जिसे भोपाल के कई क्षेत्रों में वितरित किया जा रहा है। इसी दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम उनके घर पहुंची थी और यहां काम कर रहे सभी लोगों के सेम्पल लेकर जांच के लिए भेजे गए थे। पूर्व विधायक जितेन्द्र डागा, उनकी पत्नी और बेटे के सेम्पल भी जांच के लिए भेजे गए थे।    रविवार को सुबह डागा की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम उनके घर पहुंची और सभी लोगों को होम क्वारेंटाइन कराया। बताया जा रहा है कि कांग्रेस में शामिल होने के बाद जितेन्द्र डागा कई बार दिग्विजय सिंह से मिले थे और उन्हीं के सहयोग से अपने घर पर प्रतिदिन 10 लोगों का खाना तैयार करवा रहे थे। फिलहाल उनके यहां चल रही रसोई को बंद करा दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पूरे इलाके को सील कर दिया और उनके घर पुलिस बल भी तैनात किया गया है।

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2020


bhopal, Kamal Nath, raised questions ,death, five laborers , Narsinghpur,road accident

भोपाल। प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में केले के एक ट्रक के पलट जाने से उत्तरप्रदेश लौट रहे पांच मजदूरों की मौत हो गई, जबकि कई अन्य घायल हो गए। इस हादसे को लेकर प्रदेश कांग्रेस, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और अन्य नेताओं ने प्रदेश सरकार पर सवाल उठाए हैं।    पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस हादसे में मारे गए मजदूरों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि पता नहीं अपने घर लौट रहे मजदूर भाइयों की इस तरह सड़कों पर हो रही मौतें कब रुकेंगी। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पूछा है कि ये मजदूर कब अपने घर सुरक्षित पहुंचेंगे? पार्टी के राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा ने कहा है कि इस समय मध्यप्रदेश में गरीबों पर कहर बरस रहा है और उनकी बेबसी दर्दनाक है। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से इन मजदूरों पर कृपा करने का आग्रह करते हुए कहा है कि पीड़ित परिवारों के लिए कुछ राहत राशि का प्रावधान होना चाहिए।    वहीं, प्रदेश कांग्रेस ने दुर्घटना में मजदूरों की मौत की खबर को दुखद बताते हुए मृतकों की आत्मिक शांति की कामना की है। पार्टी की ओर से ट्वीट करते हुए कहा गया है कि मध्यप्रदेश में अनहोनी का सिलसिला जारी है।    

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2020


bhopal,  letter, Kamal Nath, Home Minister

भोपाल। लॉकडाउन के बीच भी मप्र के सियासी पारा तेज है। सत्ता में बैठी भाजपा और सत्ता गंवाने के बाद विपक्ष की जिम्मेदारी संभाल रही कांग्रेस हर मुद्दे पर एक दूसरे पर बयानबाजी करने से चूक नहीं रहे है। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आए दिन सीएम शिवराज को विभिन्न मुद्दों को लेकर पत्र लिख रहे है। ऐसे ही कमलनाथ द्वारा सीएम शिवराज को पत्र लिखकर उन सभी मजदूरों की सूची मांगी है जिन से घर वापसी के लिए किराया वसूला गया है। कमलनाथ ने पत्र में लिखा है कि उन मजदूरों का खर्चा कांग्रेस की प्रदेश ईकाई वहन करेगी।    कमलनाथ के इस पत्र पर मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार किया है। गुरूवार को मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कमलनाथ को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अब तक कांग्रेस ने मजदूरों के आने जाने का कही पैसा दिया हो तो बताए। मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसते हुए कहा कि कमलनाथ केवल मीडिया में आने के लिए इस तरह का पत्र लिखते है। उन्हें जब मैदान में निकलना था तब नहीं गए अब क्या जायेगे।    वहीं प्रवासी मजदूरों को लेकर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि अब तक 1 लाख मजदूर वापस आ चुके है। चार ट्रेन मजदूरों को लेकर आ चुकी है। शनिवार को 9 ट्रेन आ रही है। अगले एक हफ्ते में दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को लेकर 50 ट्रेन मध्यप्रदेश आएगी। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश रहेगी की हर जिले में एक ट्रेन आये, ताकि कलेक्टर को परेशान न होना पड़े। बेहतर तरीके से लोगों को सोशल डिस्टेंसिग की मदद से घर पहुँचाया जा सकें। गृहमंत्री ने बताया कि सबसे ज्यादा 23 ट्रेन गुजरात से मजदूरों को लेकर आएगी। इसके अलावा जम्मू कश्मीर के मप्र में रहने वाले 600 छात्रों को 25 बसों से भेजने की व्यवस्था की है।    कोरोना चिंता की बात है, घबराने की नही मप्र में कोरोना को लेकर बनी स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कोरोना चिंता की बात है, घबराने की नहीं। कोई स्वस्थ व्यक्ति को कोरोना होता है और वो तीन दिन के अंदर अस्पताल पहुँचता है तो उसकी मौत नहीं होगी। सरकार के पूरे प्रबंध है, हमारी चिंता है कि मौतें कम हो। मरीज मिल भी रहे है औऱ ठीक भी हो रहे है।   

Dakhal News

Dakhal News 8 May 2020


umaria, 12  workers, died, Aurangabad train accident, Umaria district

उमरिया/भोपाल। औरंगाबाद ट्रेन हादसे में मरने वाले उमरिया जिले के मजदूरों की पहचान हो गई है। हादसे के 16 मृतकों में से 12 उमरिया जिले के निवासी हैं।    औरंगाबाद ट्रेन हादसे में 16 प्रदेश के 16 मजदूरों की मौत हो गई है, जो सभी शहडोल व उमरिया जिले के हैं। इनमें से उमरिया जिले के 12 मजदूरों की पहचान हो गई है। इन मजदूरों के नाम धर्मेंद्र सिंह (20), ब्रिजेंद्र सिंह(20), निर्बेश सिंह (20), धन सिंह (25), प्रदीप सिंह, राज भवन, शिव दयाल, नेमसहाय सिंह, मुनिम सिंह, बुधराज सिंह, अचेलाल  और रविंद्र सिंह हैं। इधर, प्रदेश सरकार ने मृत मजदूरों के शव उनके गांव लाने के प्रयास तेज कर दिए हैं। सरकार ने अफसरों की एक हाईलेवल टीम को औरंगाबाद भेजा है। वहीं, प्रदेश सरकार में मंत्री मीना सिंह ने कहा है कि वे अभी उमरिया रवाना हो रही हैं और उमरिया तथा शहडोल के सभी मजदूरों के शवों को उनके गांव लाने की व्यवस्था की जा रही है।  

Dakhal News

Dakhal News 8 May 2020


bhopal, Congress ,demands action, responsibilities,CM Shivraj

भोपाल। महाराष्ट्र के औरंगाबाद में मध्य प्रदेश के मजदूरों के साथ हुए रेल हादसे के बाद कांग्रेस ने शिवराज सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। प्रदेश सरकार द्वारा दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों की वापसी के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपने के बाद भी हुए इतने बड़े हादसे के बाद प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान से जिम्मेदारों पर कार्रवाई की मांग की है।    वरिष्ठ कांग्रेस नेता और प्रदेश प्रवक्ता के के मिश्रा ने एक बयान जारी कर प्रदेश सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों की वापसी के लिए किए जा रहे प्रयासों पर तंज कसते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान से सवाल पूछा है। उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान जी,आज एक हृदय विदारक घटना व समाचार है कि महाराष्ट्र में रेल पटरी से चलकर आ रहे मध्यप्रदेश के 15 मजदूर जहां काल के ग्रास में समा गए हैं, वहीं कई घायल हैं!! सुना है प्रदेश की 7.50 करोड़ जनता आपकी भगवान है, आप उनसे बहुत प्यार भी करते हैं, आपने बड़े-बड़े अधिकारियों की फौज अन्य राज्यों से प्रवासी नागरिकों व मज़दूरों को लाने के लिए तैनात की है, तो इस हादसे व बेकसूर गरीब मौतों का जिम्मेदार कौन है? इस तैनात फ़ौज़ में मेरी विनम्र जानकारी में वरिष्ठ आईएएस दीपाली रस्तोगी के पास महाराष्ट्र व झारखंड का प्रभार है। नि:संदेह वे एक अच्छी अधिकारी हो सकती है, किंतु उनकी यह घोर लापरवाही क्या अक्षम्य है? प्रदेश के मुखिया होने के नाते क्या आप खुद भी इसकी जवाबदेही से विमुख हो सकते हैं?   कांग्रेस प्रवक्ता के के मिश्रा ने आरोप लगाते हुए कहा कि यह भी एक सच्चाई है कि मुख्यमंत्री द्वारा जितने भी अधिकारियों को इस सहित कई अन्य महती जिम्मेदारी सौंपी है, वे पीडि़त, प्रभावितों के फ़ोन ही नहीं उठा रहे हैं। इस दौर में भी वे एक आज़ाद मुल्क में अंग्रेज हुकूमत का चरित्र प्रदर्शित कर रहे हैं, क्या यह भी उचित है? लिहाज़ा, ये दर्शनीय हुंडिया किस काम की हैं, क्या कर रही हैं और इन्हें कितना सम्मान दिया जाए, आप सार्वजनिक कीजियेगा?    उन्होंने सीएम से हादसे के जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने की मांग करते हुए कहा है कि मेरी आपसे यह भी विनम्र प्रार्थना है कि यदि 7.50 करोड़ जनता ( वास्तविक भगवान) के आप सही मायनों (राजनैतिक जुमलों में नहीं) पुजारी हैं, तो इन काल कवलित हुए बेक़सूर, गरीब मज़दूरों की अंत्येष्टि के पूर्व ही इस वीभत्स हादसे के जिम्मेदार चेहरों को बेनकाब करें, ताकि वल्लभ भवन के वातानुकुलित कमरों से कोरोना कहर को लेकर संचालित हो रही कार्यवाही की पारदर्शिता मख़ौल व मात्र खोखले प्रदर्शनों में तब्दील न हो।  

Dakhal News

Dakhal News 8 May 2020


bhopal, BJP leaders,Chief Minister Shivraj, congratulate, Buddha Purnima

भोपाल। भगवान बुद्ध का जन्म वैशाख मास की पूर्णिमा को हुआ था, इस पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा कहा जाता है। देश भर में आज गुरुवार को बुद्ध पूर्णिमा का पर्व मनाया जा रहा है। बुद्ध पूर्णिमा बौद्ध अनुयायियों के साथ-साथ हिंदुओं के लिये भी खास पर्व है। हिन्दू धर्म में गौतम बुद्ध को भगवान विष्णु का नौवां अवतार माना जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर देश को संबोधित किया। इस अवसर पर पीएम ने कहा कि हताशा और निराशा के दौर में भगवान बुद्ध की सीख और ज्यादा प्रासंगिक हो जाती है।   बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर मध्य प्रदेश भाजपा नेताओं ने प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी है । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि 'बुद्धं शरणं गच्छामि'। #BuddhPurnima की आप सभी को शुभकामनाएं। विश्व को अहिंसा, त्याग और सत्य का संदेश देकर भगवान महात्मा बुद्ध ने मानवता के कल्याण का मार्ग दिखाया है, जो हमें समाज के कमजोर वर्ग की सेवा के लिए प्रेरित करती है। आइये हम सब मिलकर इस संकल्प को साकार करें।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने शुभकामना संदेश में कहा ‘सभी को बुद्ध पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएं’।   भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बुद्ध पूर्णिमा पर ट्वीट कर लिखा ‘प्रज्ञा...शील...करुणा... !!! बुद्धपूर्णिमा के पावन पर्व की सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई ... बुद्धम शरणम गच्छामि।    भाजपा सांसद और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने ट्वीट कर शुभकामना संदेश में लिखा ‘बुद्ध पूर्णिमा 2020 की हार्दिक शुभकामनाएं। हमें गर्व होना चाहिए कि भारत करुणा, सेवा और त्याग की शक्ति दिखाने वाले भगवान बुद्ध की धरती है।   भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर शुभकामना दी है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा ‘समस्त देशवासियों को बुद्ध पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएं।  

Dakhal News

Dakhal News 7 May 2020


bhopal, Jeetu Patwari ,wrote letter , CM, fearing manipulation, health bulletin figures

भोपाल। पूर्व मंत्री और कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। पत्र के माध्यम से जीतू पटवारी ने कोरोना को लेकर जारी होने वाले हेल्थ बुलेटिन के आंकड़ों में हेरफेर होने का अंदेशा जताया है।    पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को पत्र लिखकर कोरोना को लेकर जारी होने वाले हेल्थ बुलेटिन के आंकड़ों में हेरफेर होने का अंदेशा जताया है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि कोरोना को लेकर प्रदेश और जिला स्तर पर अलग अलग आंकड़े एकत्रित किये जायें। इसके अलावा जीतू पटवारी ने सीएम शिवराज से यह भी मांग की है कि गलत आंकड़े देने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए, आंकड़ों को लेकर पारदर्शिता बरती जाए ताकि कोई भी उनका अध्ययन कर सके।   

Dakhal News

Dakhal News 7 May 2020


bhopal, dewas, Former BJP MLA ,Champalal Deora ,dies from Bagli

भोपाल/देवास। देवास जिले के बागली विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के पूर्व विधायक चंपालाल देवड़ा का गुरुवार को सुबह भोपाल में निधन हो गया। वे लम्बे समय से कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे और उनका यहां सिल्वर लाइन हॉस्टिपल में उपचार चल रहा था, जहां सुबह 8.10 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। बताया जा रहा है कि परिजन उनके शव को लेकर उनके गृहग्राम इमलीपुरा उड़ायनगर लेकर रवाना हो गए हैं, जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए पूर्व विधायक चम्पालाल देवड़ा का निधन के बाद भोपाल कलेक्टर तरुण पिथौड़े ने पहले तो उनके पार्थिव शरीर को बागली ले जाने से इनकार कर दिया था, लेकिन पूर्व मंत्री दीपक जोशी ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से बात की, जिसके बाद उनका पार्थिव शरीर ईमलीपुरा उदयनगर के लिए रवाना किया गया। पूर्व मंत्री दीपक जोशी ने बताया कि पूर्व विधायक चंपालाल देवड़ा का अंतिम संस्कार उनके गांव इमलीपुरा उड़ायनगर में ही किया जाएगा, क्योंकि उनका निधन कैंसर से हुआ है। गौरतलब है कि चम्पालाल देवड़ा शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली भाजपा की पिछली दो सरकारों में बागली से विधायक रहे हैं। वे पहली बार 2008 में चुनकर विधानसभा पहुंचे थे और फिर 2013 में दूसरी बार विधायक बने और 2018 तक विधानसभा के सदस्य रहे। इसी दौरान वे कैंसर की बीमारी से पीडि़त हो गए। बीमारी के चलते 2018 के चुनाव में उन्हें तीसरी बार टिकट नहीं मिल पाई। कैंसरकी बीमारी से संघर्ष करते हुए उन्होंने गुरुवार को सुबह अंतिम सांस ली। उनके निधन से अंचल में शोक की लहर है।

Dakhal News

Dakhal News 7 May 2020


bhopal, Ajay Singh, raised questions,death , infected patient,Gujarat

भोपाल। मध्यप्रदेश के सतना में गुजरात से आए एक कोरोना संक्रमित मरीज के मौत के मामले में मप्र विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय सिंह ने सवाल उठाते हुए सरकार से मामले की जांच की मांग की है। उन्होंने मंगलवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा है कि करोना संक्रमित मरीज को सतना लाकर बिना जांच आइसोलेशन में भर्ती कर दिया और फिर अचानक ही उसकी मौत हो गई। इस मामले की जांच होनी चाहिए। कांग्रेस नेता अजय सिंह ने कहा कि जब अच्छे-खासे स्वस्थ लोग एक-एक पास के लिये मोहताज हो रहे हैं, ऐसे में एक करोना संक्रमित मरीज को बिना राजनैतिक हस्तक्षेप के पास मिलना मुमकिन नहीं है। यह कैसे संभव है कि जो मरीज संक्रमण की वजह से जीवन के आखिरी स्टेज में हो और उसकी रिपोर्ट निगेटिव निकल आये? उन्होंने दावा करते हुए कहा कि सत्ताधारी दल के एक नेता के हस्तक्षेप से न केवल रिपोर्ट को बदला गया, बल्कि उसे सतना के लिये पार्सल भी किया गया? उन्होंने कहा कि भाजपा के उस नेता के रसूख के चलते जिले की पूरी आबादी को कोरोना की आग में झोंक दिया गया।पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जिला अस्पताल प्रबंधन ने आखिर किसके दबाब के चलते प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर कोरोना संक्रमित मरीज को आईसीयू वार्ड में दाखिल किया, साथ ही उसके परिजनों को मिलने सहित बाहर से दवा, चाय और खाने की अनुमति दी गयी। अस्पताल प्रबंधन की इस बड़ी चूक के चलते डॉक्टर, नर्स, विभाग के अन्य कर्मचारियों सहित कई लोगों पर संक्रमण का जो खतरा बढ़ा है, उसकी जिम्मेदारी तय होनी चाहिये। अजय सिंह ने प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं गुजरात के मुख्यमंत्री से इस पूरे मामले की जांच की मांग करते हुए कहा कि आखिर किसके दबाब में करोना पॉजीटिव को निगेटिव मरीज बताकर सतना भेजा गया? अब तक पूरी तरह सुरक्षित एवं ग्रीन जोन में शामिल सतना की 30 लाख आबादी की जान को जोखिम में डालने वाला असली गुनाहगार कौन है?

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2020


gwalior,  Kamal Nath government, big statement , former minister

ग्वालियर। भाजपा में शामिल हुए कमलनाथ सरकार के पूर्व मंत्री और सिंधिया समर्थक नेता प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कमलनाथ सरकार के गिरने को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने सरकार गिरने का सबसे बड़ा कारण भेदभाव को बताया है। इसके अलावा उपचुनाव को लेकर उन्होंने तंज कसते हुृए कहा है कि जो जैसा बोएगा, वही काटेगा।    पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मंगलवार को मीडिया के सामने कमलनाथ सरकार के गिरने पर खुलकर बयान दिया। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार गिरने का मुद्दा गंभीर है। कई मुद्दों पर काम नहीं हो रहा था। चंबल में उद्योग नहीं आ रहे थे। उन्होंने कहा कि भिंड, मुरैना, ग्वालियर के युवाओं को रोजगार नहीं मिलने से पलायन हो रहा था। उन्होंने कहा कि हम छिंदवाड़ा के विरोधी नहीं हैं, लेकिन 1,500, 1,200 करोड़ रूपए का बजट छिंदवाड़ा को मिल रहा था, लेकिन हमारे चंबल को कुछ भी नहीं।    इसके अलावा उपचुनाव को लेकर भी प्रद्युमन सिंह खुलकर बोले। उन्होंने कहा कि जो बोया, वो काटेंगे। अच्छा बोया है, तो अच्छा काटेंगे। गेहूं बोया है, तो गेहूं। कांटे बोये है, तो कांटे मिलेंगे। हम कुर्सी के लिए नहीं बल्कि जनता की सेवा के लिए आएं थे। जनता के लिए कुर्सी तक छोड़ दी। वहीं शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर उन्होंने कहा कि पार्टी जो निर्णय लेगी वो स्वीकर होगा। जनता की सेवा करने के लिए आए हुए हैं वो कर रहे हैं। मंत्रिमंडल विस्तार में अच्छे लोग जुड़ेंगे।  

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2020


bhopal, Congress MLA ,Kunal Choudhary,  government questions , relaunch , Sambal scheme

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा संबल योजना को दोबारा शुरू किए जाने पर कांग्रेस के हमले तेज हो गए हैं। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा के बाद अब युवक कांग्रेस अध्यक्ष और कालापीपल विधायक कुणाल चौधरी ने संबल योजना को दोबारा शुरू किए जाने पर सवाल उठाए हैं।    कांग्रेस विधायक चौधरी ने मंगलवार को एक बयान जारी कर सीएम शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए सवाल पूछे हैं। उन्होंने कहा है कि सीएम शिवराज सिंह चौहान अपनी विफलता का प्रतीक रही "संबल योजना" को पुन: लॉंच कर रहे हैं। पिछली बार संबल योजना चालू हुई थी तो इसमें भारी भ्रष्टाचार हुआ था। संबल योजना में कई अपात्र लोग भी शामिल थे, जिन्होंने इस योजना के पात्र लोगों के हक पर डाका डालकर भ्रष्टाचार किया था। उन्होंने कहा है कि अगर अधूरी तैयारी के साथ योजना आई तो फिर से भ्रष्टाचार होगा। इसके साथ ही कुणाल चौधरी ने सीएम शिवराज से प्रश्न पूछा है कि क्या पिछली बार जो अपात्र लोग इस योजना का लाभ ले रहे थे, उन्हें हटा दिया गया है। आपने उन लोगों पर क्या कार्रवाई की है, जिन्होंने गरीबों के हक पर डाका डालने का काम किया। इसके अलावा कुणाल चौधरी ने सीएम शिवराज से यह भी सवाल किया है कि क्या कमलनाथ सरकार ने 100 रुपये यूनिट के हिसाब से बिजली बिल भरना होता था तो क्या आप भी इसे लागू करेंगे या सिर्फ संबल योजना के लोगों को इसका लाभ मिलेगा। 

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2020


bhopal, CM Shivraj Singh, tribute , death anniversary , Pramod Mahajan

भोपाल। लोकप्रिय जननेता और राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले भाजपा नेता प्रमोद महाजन की आज रविवार को 14वीं पुण्यतिथि है। प्रमोद महाजन को उनके सगे भाई ने गोली मारी थी। 13 दिनों तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद 3 मई 2006 को उनका निधन हो गया था। प्रमोद महाजन भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता थे। प्रमोद महाजन की पुण्यतिथि पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए नमन किया है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर प्रमोद महाजन की पुण्यतिथि पर याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा ‘असंभव कार्यों को हंसते-मुस्कुराते पूर्ण कर देने वाले लोकप्रिय जननेता स्व. #PramodMahajan जी की पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि! जनसेवा और राष्ट्र उत्थान के कार्यों हेतु सदैव तत्पर रहने वाले आप जैसे दृढ़ निश्चयी व संकल्पवान साथी को असमय खोने का दु:ख सदैव रहेगा। आप सदा याद आयेंगे।   भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने ट्वीट में लिखा ‘विनम्र श्रद्धांजलि !!! पूर्व केन्द्रीय मंत्री, कुशल राजनीतिज्ञ, अद्भुत संगठनकर्ता, प्रखर वक्ता और जीवन भर जनसेवा के लिए समर्पित रहे स्वर्गीय श्री प्रमोद महाजन जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि’। 

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2020


ujjain, FIR ,eight including MLA, sitting dharna ,over problems , farmers, lockdown

उज्जैन। मध्यप्रदेश में कोरोना संकट के बीच भाजपा और कांग्रेस के बीच सियासी संग्राम जारी है। प्रदेश में कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन लागू है। ऐसे में उज्जैन में कांग्रेस विधायक महेश परमार अपने समर्थकों के साथ शनिवार को किसानों की समस्याओं को लेकर धरने पर बैठ गए थे। इस मामले में भाजपा की शिकायत पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। विधायक परमार समेत आठ नेताओं के खिलाफ उज्जैन के माधवनगर थाना पुलिस ने रविवार को धारा 188 के तहत प्रकरण दर्ज किया है।उज्जैन के तराना विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक महेश परमार अपने समर्थकों के साथ शनिवार को किसानों की समस्याओं को लेकर कलेक्टर कार्यालय कोठी पैलेस के सामने धरने पर बैठे थे। हालांकि, धरने पर बैठे सभी कांग्रेसी मास्क लगाये थे और सैनिटाइजर की बॉटल साथ लेकर एक-दूसरे से दूरी बनाकर बैठे रहे। पास ही पुलिसकर्मी भी तैनात थे। विधायक परमार का आरोप था कि लॉकडाउन के चलते किसान अपनी फसलें नहीं बेच पा रहे हैं। उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। विधायक ने प्रशासन पर कोरोना संक्रमण को रोकने में नाकाम रहने का आरोप भी लगाया और चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक शासन और प्रशासन का कोई नुमाइंदा उनकी मांगों को लेकर उन्हें संतोषप्रद जवाब नहीं देगा, तब तक वह धरना जारी रहेगा। हालांकि, शाम को उन्होंने धरना समाप्त कर दिया था, लेकिन भाजपा ने इस धरने पर आपत्ति जताते हुए कलेक्टर-एसएसपी से शिकायत की। भाजपा की आपत्ति के बाद रविवार को माधवनगर थाना पुलिस ने विधायक महेश परमार सहित आठ कांग्रेस नेताओं के खिलाफ धारा 188 के तहत एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने बताया कि विधायक परमार के अलावा शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष महेश सोनी, जिला ग्रामीण अध्यक्ष कमल पटेल, पूर्व विधायक डॉ. बटुक शंकर जोशी, बीनू कुशवाह, सोनू शर्मा, लालचंद भारती और सुरेंद्र मरमट के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2020


bhopal, Congress targeted, lockdown period, liquor shops, Red Zone

भोपाल। कोरोना वायरस के खिलाफ जारी लॉकडाउन बीच बंद शराब की दुकानों को कुछ शर्तों के साथ खोलने की अनुमति मिल गई है। इस संबंध में केन्द्र सरकार की स्वीकृति मिलने के बाद मध्य प्रदेश वाणिज्यकर विभाग ने कुछ शर्तों के साथ देशी और अंग्रेजी शराब दुकानें खोलने के आदेश जारी किये हैं। ये दुकानें 4 मई से प्रदेशभर में खोली जाएंगी। इस समय मप्र में कोरोना के हालात खराब है। प्रदेश के 9 जिले रेड जोन में है। ऐसे में लॉकडाउन की अवधि एवं रेड जोन में शराब की दुकाने खोले जाने को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा है।    वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने लॉकडाउन की अवधि एवं रेड जोन में शराब की दुकाने खोले जाने को लेकर ट्वीट करके शिवराज सिंह को घेरा है और तंज कसते हुए कहा है कि सरकार को किसानों से ज्यादा शराब प्रेमियों एवं राजस्व की चिंता है। अरुण यादव ने ट्वीट कर कहा है कि शिवराज जी, सभी चाहते हैं कोरोना - प्रकोप से देश-प्रदेश को मुक्ति मिले, आमजन पुन: खुशहाल जीवन प्रारम्भ करे, अफ़सोस है कि अब "रेड ज़ोन" में भी शराब की दुकानें खोलने की प्रक्रिया आरम्भ होने जा रही है, ताकि राजस्व हानि न हो,यह दु:खद होगा! एक अन्य ट्वीट कर अरुण यादव ने कहा है कि "एक ओर किसानों को खाद-बीज कैसे उपलब्ध हो, इस पर विचार नहीं और शराब हमारी प्राथमिकता ? "यह दयनीय सोच सिवाय" वैचारिक दरिद्रता के कुछ भी नहीं "!!

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2020


bhopal, Former Minister ,wrote letter , CM, issue appointment letter ,guest scholars

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संकटकाल में मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के नेता प्रतिदिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर आमजन से जुड़े मुद्दे उठाते हुए विभिन्न मांग कर रहे हैं। इसी क्रम में पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री रहे कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने शुक्रवार को फिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने अतिथि विद्वानों को नियुक्ति पत्र जारी करने की मांग की है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि अतिथि विद्वानों को मार्च माह का वेतन भी दिया जाए।पूर्व मंत्री और मप्र कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लिखे पत्र में कहा है कि एमपीपीएससी द्वारा प्रदेश के कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति करने के बाद अतिथि विद्वानों के सामने रोजगार का संकट आ गया था, लेकिन कमलनाथ सरकार द्वारा अतिथि विद्वानों के 1819 पद तय किये गये थे।  इन सभी पदों के लिए ऑनलाइन चॉइस फिलिंग प्रक्रिया 9 मार्च तक पूरी कर ली गई थी। इसके बाद भी सरकार द्वारा अतिथि विद्वान को नियुक्ति पत्र जारी नहीं किया गया है। उन्होंने मांग की है कि जल्द से जल्द अतिथि विद्वान को नियुक्ति पत्र जारी किया जाए। साथ ही उन्होंने नियुक्ति पत्र के साथ अतिथि विद्वानों को मार्च माह का वेतन देने की मांग भी राज्य सरकार से की है।

Dakhal News

Dakhal News 1 May 2020


bhopal, Kamal Nath , targeted Shivraj, Betul gang rape case

भोपाल। मध्यप्रदेश में गत दिवस बैतूल जिले में एक युवती के साथ हुई गैंगरेप की घटना को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते कहा है कि शिवराज जी, एक माह में ही आपकी उस पुरानी सरकार का वह पुराना युग वापस लौट रहा है, जिसमें बहन-बेटियां, किसान कोई भी सुरक्षित नहीं थे।पूर्व सीएम कमलनाथ ने शुक्रवार को ट्वीट के माध्यम से शिवराज सिंह चौहान सरकार को आड़े हाथों लिया। कोरोना महमारी के लॉकडाउन में भी प्रदेश में प्रतिदिन अपराध घटित हो रहे हैं। लॉकडाउन में भी गैंगरेप, बलात्कार, हत्या, चोरी, किसानों से मारपीट की घटनाएं जारी हैं। पूर्व में इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, दमोह की घटना के बाद अब लॉकडाउन में बैतूल जिले के पाढर क्षेत्र में एक युवती के साथ घटित गैंगरेप की घटना ने प्रदेश को कलंकित व शर्मशार किया है। इस घटना के दोषियों पर कड़ी कार्रवाई हो और पीडि़त परिवार की सुरक्षा से लेकर हरसंभव मदद की जाए।उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है कि -शिवराज जी, आपकी एक माह की सरकार प्रदेश को किस और ले जा रही है? आपकी पूर्व की सरकार के समय का वो पुराना युग वापस लौट रहा है, जिसमें बहन-बेटियां, किसान कोई भी सुरक्षित नहीं थे।गौरतलब है कि बुधवार-गुरुवार की रात बैतूल जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पाढर में सात बदमाशों ने एक युवती के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस ने पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो अभी भी फरार हैं। पकड़े गए आरोपितों में तीन नाबालिग हैं। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

Dakhal News

Dakhal News 1 May 2020


bhopal,Home Minister , Labor Day,  labor showing ,patience and restraint.

भोपाल। अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस पर मप्र के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने समस्त श्रमिक समाज को शुभकामनाएं  दी हैं। उनका कहना है कि वास्तव में आज देश में जिस तरह की स्थिति है और हमारा श्रमिक धैर्य और संयम का परिचय दे रहा है, इसलिए वह वंदनीय की श्रेणी में आया है।    मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए श्रमिक दिवस पर कहा कि लॉकडाउन के कारण श्रमिकों को कई किमी पैदल चलना पड़ा लेकिन उसने कही भी संयम नही खोया। यह मजदूर का श्रम के बाद संयम एक दूसरी भाषा परिभाषित की है।    उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण हमारे प्रदेश में लगातार बाहर जो श्रमिक है उनको लाने की कोशिश हो रही है। अभी तक 35 हजार के लगभग प्रवासी श्रमिक हम जिले में ला चुके  है और दूसरे जिलों में भी 20 हजार के लगभग भेज चुके है।    मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि 8 लाख 71 हजार मजदूरों को मनरेगा के तहत मप्र में काम दे दिया है, यहां पर छोटे उद्योग और काम धंधे फिर से शुरू हो गए है। उन्होंने बताया कि मंडी के अंदर जो हमारी ऐतिहासिक 28 लाख मेट्रिक टन से ज्यादा खरीदी करके वहां भी मजदूरों को काम देकर राहत दी है। कल ही राजस्थान से 11 हजार मजदूर प्रदेश में अपने घर लौटे है। मजदूरों के खाते में भी जो एक हजार रुपए जाना था वह सीएम के द्वारा डलवा दिया गया है। 

Dakhal News

Dakhal News 1 May 2020


bhopal, Vegetable-producing farmers ,allowed interstate transportation ,Annadata Shakti Sangathan

छिंदवाड़ा। मध्यप्रदेश में अन्नदाता शक्ति संगठन ने सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम जिला प्रशासन को एक ज्ञापन सौंपकर सब्जी उत्पादक किसानों को अंतरराज्यीय परिवहन की अनुमति देने की मांग की है। संगठन के अध्यक्ष आनंद बक्षी ने बताया कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन के चलते सब्जी उत्पादक किसान की कमर टूट गई है। उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा जिला सब्जी उत्पादन का बहुत बड़ा केंद्र है। यहां हजारों सब्जी उत्पादक किसान लागत मूल्य भी नहीं निकल पाने के कारण सब्जियां खेतों में ही नष्ट कर दे रहे हैं। उन्होंने संगठन के माध्यम से सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम जिला प्रशासन को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें मांग की गई है कि सब्जियों के अंतरराज्यीय परिवहन को पुन: अनुमति प्रदान की जाए। ज्ञापन में कहा गया है कि जिस प्रकार सरकार रबी फसलों का उपार्जन कर रही है, उसी तरह सब्जी उत्पादन वाले गांव तथा क्षेत्रों को चिन्हित कर सब्जी उपार्जन केंद्र खोले जाए। स्थानीय सब्जी मंडी व्यपारियों के जरिये इन उपार्जन केंद्रों पर खरीदी की जाए। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के चलते सब्जी उत्पादक किसान सब्जियों को मंडी तक नहीं ला पा रहा है तथा इसमें अत्यधिक परिवहन व्यय भी हो रहा है। सब्जी उपार्जन केंद्र खोलने से किसान अपने गांव में ही सब्जी का विक्रय कर सकेगा।ज्ञापन सौंपने वालों में संगठन के कुशल पहाड़े, गुड्डू डहाके, छोटेलाल कुशवाह, मुन्नालाल मंडराह, प्रदीप कस्तूरे, श्यामराव चरपे, सकलु धुर्वे, रामराव कराडे, शिवाजी राउत, बंटी उसरेठे एवं गोविंद ओक्टे शामिल रहे। 

Dakhal News

Dakhal News 27 April 2020


bhopal, Kamal Nath, warns , road against ,atrocities on farmers

भोपाल। सत्ता गंवाने के बाद एक बार फिर कांग्रेस प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमलावर हो गई है। इस समय जब सरकार का पूरा ध्यान कोरोना के खिलाफ लड़ाई में लगा हुआ है ऐसे में कांग्रेस सरकार को घेरने का मौका नहीं छोड़ रही है। कांग्रेस किसानों को मुद्दा बनाकर सरकार पर लगातार हमले बोल रही है।    मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने श्योपुर जिले में तहसीलदार द्वारा गेहूं बेचने गए किसान से मारपीट का मामले में सरकार से डंडे बरसाने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। साथ ही साथ कमलनाथ ने उचित कार्रवाई नहीं किए जाने पर सरकार को सडक़ पर उतरने की चेतावनी भी दी है।    श्योपुर जिले में तहसीलदार द्वारा गेहूं बेचने गए किसान से मारपीट के मामले ने राजनीतिक तूल पकड़ लिया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर मामले को गंभीर बताते हुए सरकार पर किसानों के साथ अन्याय करने का आरोप लगाया है। कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा ‘शिवराज जी आपकी 1 माह की सरकार में ही प्रदेश में किसानो का दमन प्रारंभ हो गया है। आपकी पूर्व की सरकार में अपना हक़ माँग रहे निर्दोष किसानो के सीने पर किस प्रकार गोलियाँ दागी गयी, उनके कपड़े उतारकर उन्हें थानों में बंद किया गया, उनका किस प्रकार दमन किया ,यह पूरे प्रदेश ने देखा हैं। वही इतिहास आपकी वर्तमान सरकार के 1 माह में ही दोहराने का काम फिर से किया जा रहा है। पूर्व में जबलपुर में एक किसान की पुलिस पिटाई से हुई मौत की घटना और अब श्योपुर जिले के सलमान्या सायलो गेहूँ खऱीदी केन्द्र पर अन्नदाता किसानों पर अधिकारियों द्वारा बेरहमी से लाठीचार्ज व दमन की घटना।    कमलनाथ ने एक अन्य ट्वीट कर कार्रवाई नहीं किए जाने पर सडक़ पर उतरने की चेतावनी देते हुए कहा है कि ‘कांग्रेस किसान भाइयों का दमन बर्दाश्त नहीं करेगी व सडक़ से सदन तक इसके विरोध में लड़ाई लड़ेगी। श्योपुर घटना के दोषी अधिकारियों पर अविलंब कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो, घायल किसान का समुचित इलाज सरकार कराये, खरीदी केंद्रो पर अव्यवस्था तत्काल दूर की जाये,कांग्रेस आपसे यह माँग करती है। 

Dakhal News

Dakhal News 27 April 2020


bhopal, Former cabinet minister, Jeetu Patwari, statement, government mobilized

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना से दिनों हालात खराब होते जा रहे है। प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल 2135 पॉजिटिव मरीज सामने आ चुके है जबकि 106 लोगों की इस संक्रमण से मौत हो चुकी है। प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के सबसे ज्यादा 1207 पॉजिटिव मरी है। वहीं इस वायरस से इंदौर में 60 लोग अपनी जान गवां चुके है। इंदौर में बिगड़ते हालातों को देखते हुए पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने सीएम शिवराज सिंह इंदौर को इंदौर में अपना हेड क्वार्टर बनाने की मांग की है साथ ही कोरोना वायरस के लिए सरकार संसाधन जुटाए ।    जीतू पटवारी ने सोमवार को अपने बयान में कहा है कि इंदौर में 21 प्रतिशत की दर से कोरोना  शहर में फैल रहा है। इसके अलावा  8 हजार रिपोर्ट पेंडिंग है और टेस्ट किट वगैरह भी समाप्त हो गए है। उन्होंने कहा कि मैं बार बार यह आगाह करता था कि मप्र के मुख्यमंत्री को इंदौर में अपना केन्द्र बनाना चाहिए। आज हमारी स्थिति चाईना के वुहान शहर से भी ज्यादा बदतर हो गई है, जिससे इंदौर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की बढ़ती संख्या बड़ी चुनौती बन गई है।    मुख्यमंत्री शिवराज पर निशाना साधते हुए जीतू पटवारी ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री खुद को जनसंपर्क के विज्ञापन के माध्यम से व्यस्त बताने की कोशिश कर रहे है, लेकिन व्यस्तता से आप कोरोना की जंग नहीं जीत सकते। मुख्यमंत्री शिवराज इंदौर की स्थिति को गम्भीरता से लें। उन्होंने कहा कि मैंने आपसे आग्रह किया कि जीतने ज्यादा से ज्यादा टेस्ट हो इंदौर में कराई जाए और टेस्ट रिपोर्ट सही समय पर आए ताकि पेंडिंग न हो जिससे हम लड़ाई जीत सके। जीतू पटवारी ने मांग करते हुए कहा कि मेरा फिर से आपसे आग्रह है कि आप इंदौर को अपना हेडक्वार्टर बनाए। इसके अलावा जितने टेस्ट है वह ज्यादा से ज्यादा हो और जल्द समय से उनकी रिपोर्ट आए ।   

Dakhal News

Dakhal News 27 April 2020


bhopal, Congress condemns, FIR , Jhabua MLA Kantilal Bhuria

भोपाल। पूर्व केंद्रीय मंत्री, पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष, पूर्व सांसद और वर्तमान झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया पर गुजरात महाराष्ट्र समेत अन्य राज्यों में फंसे प्रदेश के आदिवासी मजदूरों को सुरक्षित उनके घर वापसी को लेकर धरना प्रदर्शन करने पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने की कांग्रेस ने निंदा की है और सरकार पर आरोप लगाए है।    प्रदेश कांग्रेस ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि कांग्रेस झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया द्वारा झाबुआ के हजारों प्रवासी मजदूरों की समस्याओं के संबंध में जब ज्ञापन दिया गया तो सरकार की एक हजार रुपये भेजने की योजना के बावजूद सुनवाई करने से मना कर दिया। तब भूख से मरते गरीबों की आवाज उठाने के लिये सोशल डिस्