मंत्री सारंग ने किया हमीदिया में सुल्तानिया के स्थानांतरण व्यवस्थाओं का निरीक्षण
bhopal, Minister Sarang ,inspected, transfer arrangements

भोपाल। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने सोमवार को राजधानी भोपाल में हमीदिया अस्पताल के नव-निर्मित भवन में सुल्तानिया अस्पताल के स्थानांतरण की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने पीडियाट्रिक विभाग के सभी वार्डों में व्यवस्थाओं को देखा और कमियों को इंगित करते हुए नाराजगी व्यक्त की।

 

मंत्री सारंग ने कहा कि एक ही स्थान पर उपचार व्यवस्था होने से भोपाल की जनता को बड़ी सहूलियत होगी। अभी तक पीडियाट्रिक एवं मेटरनिटी वार्ड के बीच लगभग 4 से 5 किलोमीटर की दूरी थी। अब हमीदिया के नये भवन में मेटरनिटी वार्ड को भी स्थानांतरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मेटरनिटी वार्ड को हमीदिया में स्थानांतरित करने के साथ ही बिस्तरों में भी बढ़ोत्तरी की जा रही है। उन्होंने कहा कि अभी मेटरनिटी वार्ड में 200 बिस्तर हैं, जिनमें वृद्धि कर 300 बिस्तर किये जा रहे हैं।

 

अस्पताल में एचआईएमएस सिस्टम शुरू करने दिये निर्देश

चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग ने कहा कि नवजात शिशुओं को भी नये भवन के पीडियाट्रिक विभाग में जल्द से जल्द इलाज मिल सकेगा। सुनिश्चित किया जा रहा है कि पूरा अस्पताल अब एचआईएमएस सिस्टम से संचालित हो। सभी व्यव्स्थाओं को कंप्यूटरीकृत किया जा रहा है, जिसमें पंजीकरण का पर्चा बनने से लेकर दवा वितरण और डॉक्टरों की विजिट को भी कम्प्यूटर में दर्ज किया जायेगा। उन्होंने बच्चों के इलाज के साथ ही उनकी मेडिकल हिस्ट्री को कंप्यूटरीकृत करने के लिये 15 दिनों में एचआईएमएस सिस्टम शुरू करने के निर्देश दिये।

 

स्थानांतरित वार्ड पर लगेगी चेक-लिस्ट

मंत्री सारंग ने पीडियाट्रिक विभाग के विभिन्न वार्डों का निरीक्षण कर कार्य को गति देने के लिये पीआईयू के अधिकारियों को सर्वे कर चेक-लिस्ट तैयार करने के निर्देश दिये। चेक-लिस्ट में शेष बचे कार्य एवं जिम्मेदार व्यक्ति का विवरण दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि 15 दिनों के बाद वे पुन: समीक्षा करेंगे। कांट्रेक्टर और पीआईयू से हेण्ड-ओवर टेक-ओवर के पहले सारी व्यवस्थाएँ चेक करवाने के निर्देश भी दिये।

 

वेटिंग एरिया में कुर्सी और वाटर कूलर लगाने के निर्देश

सारंग ने कहा कि वेटिंग एरिया में कुर्सी और वाटर कूलर की भी व्यवस्था हो। उन्होंने कहा कि नये भवन में मरीजों और उनके अटेंडर्स की सुविधा के लिये साइनेज का उपयोग किया जाये। उन्होंने नये भवन में लगे साउंड सिस्टम को भी चेक करवाया। उन्होंने फर्नीचर कार्य को एक माह में पूर्ण करने के निर्देश दिये।

 

पेशेंट हेल्प डेस्क को भी कंप्यूटरीकृत करने के निर्देश

मंत्री सारंग ने हमीदिया के नये भवन में पेशेंट हेल्प डेस्क का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने उपचार के लिये आने वाले बच्चों के रिकॉर्ड को कंप्यूटरीकृत करने के निर्देश दिये।

 

बच्चों के पालकों से की बात

सारंग ने हमीदिया अस्पताल के नये भवन में बने प्ले-थैरेपी रूम एवं एसएनसीयू वार्ड में बच्चों के उपचार के लिये आये पालकों से बातचीत की और बच्चों का हालचाल जाना। उन्होंने अस्पताल में डॉक्टर्स द्वारा दी जा रही सेवा के बारे में जानकारी ली, जिस पर पालकों ने संतुष्टि जाहिर की।

 

एसएनसीयू वार्ड में धूल को लेकर सुपरवाइज़र को लगाई फटकार

मंत्री सारंग ने हमीदिया अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड का निरीक्षण करते हुए धूल को लेकर सुपरवाइज़र को फटकार लगाई। उन्होंने सफाई व्यवस्था में लापरवाही को लेकर कंपनी पर जुर्माना लगाने के भी निर्देश दिये।

 

निरीक्षण के दौरान भोपाल संभागायुक्त गुलशन बामरा, गांधी मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. अरविंद राय, पीडियाट्रिक विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. ज्योत्सना श्रीवास्तव सहित पीआईयू के अधिकारी उपस्थित थे।

Dakhal News 9 May 2022

Comments

Be First To Comment....

Video

Page Views

  • Last day : 8492
  • Last 7 days : 59228
  • Last 30 days : 77178
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2022 Dakhal News.