समाज


seoni,Two kotwars , absent from, check post, suspended, notice ,2 patwaris

सिवनी। जिले के कलेक्टर डाॅ.राहुल हरिदास फांटिग द्वारा गत दिवस औचक निरीक्षण के दौरान चैकपोस्ट पर अनुपस्थित पाये गये 02 कोटवारों को निलंबित कर दिया गया है, वहीं 02 पटवारियों को कारण बताओं नोटिस सोमवार को जारी किया गया है।    दरअसल, जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले की सीमा में प्रवेश मार्गों में चेकपोस्ट स्थापित कर आने जाने वाले व्यक्तियों की स्क्रीनिंग एवं अन्य कार्यवाही के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति गई है। कलेक्टर डॉ फटिंग द्वारा विगत दिवस किए गए सीलादेही चेकपोस्ट के औचक निरीक्षण में पदस्थ कोटवार ग्राम लोनिया रामगोपाल एवं ग्राम पलारी के कोटवार मनोज मेश्राम को अनुपस्थित पाए जाने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसी तरह पटवारी शीतल रांहगडाले एवं श्रृद्धा उईके को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है। दो दिवस के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं। समयावधि में जवाब प्रस्तुत न करने तथा उत्तर संतोषजनक न होने पर निलंबन की कार्यवाही की जाएगी।  

Dakhal News

Dakhal News 14 June 2021


seoni,Two kotwars , absent from, check post, suspended, notice ,2 patwaris

सिवनी। जिले के कलेक्टर डाॅ.राहुल हरिदास फांटिग द्वारा गत दिवस औचक निरीक्षण के दौरान चैकपोस्ट पर अनुपस्थित पाये गये 02 कोटवारों को निलंबित कर दिया गया है, वहीं 02 पटवारियों को कारण बताओं नोटिस सोमवार को जारी किया गया है।    दरअसल, जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले की सीमा में प्रवेश मार्गों में चेकपोस्ट स्थापित कर आने जाने वाले व्यक्तियों की स्क्रीनिंग एवं अन्य कार्यवाही के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति गई है। कलेक्टर डॉ फटिंग द्वारा विगत दिवस किए गए सीलादेही चेकपोस्ट के औचक निरीक्षण में पदस्थ कोटवार ग्राम लोनिया रामगोपाल एवं ग्राम पलारी के कोटवार मनोज मेश्राम को अनुपस्थित पाए जाने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसी तरह पटवारी शीतल रांहगडाले एवं श्रृद्धा उईके को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है। दो दिवस के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं। समयावधि में जवाब प्रस्तुत न करने तथा उत्तर संतोषजनक न होने पर निलंबन की कार्यवाही की जाएगी।  

Dakhal News

Dakhal News 14 June 2021


seoni,Two kotwars , absent from, check post, suspended, notice ,2 patwaris

सिवनी। जिले के कलेक्टर डाॅ.राहुल हरिदास फांटिग द्वारा गत दिवस औचक निरीक्षण के दौरान चैकपोस्ट पर अनुपस्थित पाये गये 02 कोटवारों को निलंबित कर दिया गया है, वहीं 02 पटवारियों को कारण बताओं नोटिस सोमवार को जारी किया गया है।    दरअसल, जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले की सीमा में प्रवेश मार्गों में चेकपोस्ट स्थापित कर आने जाने वाले व्यक्तियों की स्क्रीनिंग एवं अन्य कार्यवाही के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति गई है। कलेक्टर डॉ फटिंग द्वारा विगत दिवस किए गए सीलादेही चेकपोस्ट के औचक निरीक्षण में पदस्थ कोटवार ग्राम लोनिया रामगोपाल एवं ग्राम पलारी के कोटवार मनोज मेश्राम को अनुपस्थित पाए जाने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसी तरह पटवारी शीतल रांहगडाले एवं श्रृद्धा उईके को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है। दो दिवस के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं। समयावधि में जवाब प्रस्तुत न करने तथा उत्तर संतोषजनक न होने पर निलंबन की कार्यवाही की जाएगी।  

Dakhal News

Dakhal News 14 June 2021


bhopal, Madhya Pradesh,Self-reliant state , made in oxygen production

भोपाल। कोरोना महामारी की दूसरी लहर को मध्य प्रदेश सरकार ने चुनौती के रूप में लिया है। साढ़े सात करोड़ की जनसंख्‍या वाला यह राज्‍य अपनी स्वास्थ्य सेवा को मजबूत करने के लिए तत्पर है। इस दिशा में मध्‍य प्रदेश सरकार के प्रयास दिखाई दे रहे हैं।   कोरोना काल में जिस तरह देश के कई अस्पतालों में ऑक्‍सीजन की कमी हुई और मरीजों की मृत्‍यु का कारण बनी, उससे मध्य प्रदेश की शिवराज राज्य ने सबक लिया है। इस विपरीत परस्थिति में राज्‍य ने ऑक्सीजन उत्पादन में आत्मनिर्भर बनने की ओर कदम बढ़ाने में ही अपना हित देखा और इस दिशा में तेजी के साथ अपने कार्य शुरू कर दिये हैं। अब इसके सकारात्‍मक परिणाम सामने आने लगे हैं।    ऑक्‍सीजन प्‍लांट लगाने में मिल रही केंद्र सरकार की मदद  दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर मध्य प्रदेश को ऑक्सीजन उत्पादन में आत्म-निर्भर बनाने के विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। मप्र सरकार ने नई नीति के तहत ऑक्सीजन प्लांट लगाने पर 75 करोड़ रुपए तक की सहायता राशि देने के साथ ही सरकारी स्‍तर पर अपने अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन प्‍लांट लगाना शुरू किया है। जिसमें अब तक कई पीएसए ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो चुके हैं। इसमें प्रदेश को लगातार केंद्र सरकार की मदद मिल रही है।    डीआरडीओ कर रहा है ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट विकसित  केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान कहते हैं, 'ऑक्सीजन की उपलब्धता के मामले में केंद्र एवं मध्य प्रदेश शासन लगातार मिलकर कार्य कर रहे हैं। शीघ्र ही मध्य प्रदेश ऑक्सीजन के मामले में आत्म-निर्भर होगा।'    रक्षा मंत्रालय की एजेंसी डीआरडीओ द्वारा अस्पताल में ही नई डेबेल तकनीक के आधार पर चलने वाले ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट विकसित किये गए हैं। मध्य प्रदेश के आठ जिलों बालाघाट, धार, दमोह, जबलपुर, बडवानी, शहडोल, सतना और मंदसौर में पांच करोड़ 87 लाख रुपये से अधिक की लागत के इसी पर तकनीक आधारित 570 लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाले ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट लगाने पर काम हो रहा है।   ऑक्‍सीजन में हर जिला होगा आत्‍मनिर्भर  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का इस मामले में कहना है कि उन्होंने ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनने का फैसला लिया है। इसमें केंद्र भी हमारी मदद कर रहा है। इस मदद के कारण ही हम जल्द ही ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बन जाएंगें। सभी जिलों को ऑक्सीजन के मामले में आत्म-निर्भर बनाने के लिए कमर कस ली है।    सहायता का विशिष्ट पैकेज है इन सभी के लिए  गृहमंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता नरोत्तम मिश्रा बताते हैं कि 75 करोड़ रुपए तक की सहायता का विशिष्ट पैकेज प्रदान करने वाली इस योजना का लाभ नई यूनिट्स, वर्तमान में चल थी यूनिट्स, मेडिकल कॉलेजों, अस्पतालों और नर्सिंग होम भी उठा सकेंगे। इसमें न्यूनतम 10 क्यूबिक मीटर प्रति घंटा ऑक्सीजन उत्पादन करने वाली इकाइयों को 50 फीसदी की दर और अधिकतम 75 करोड़ रुपए की सहायता प्रदान की जाएगी। इकाइयों को फिलहाल जो इलेक्ट्रिसिटी टैरिफ चल रहा है, उसपर भी एक रुपए प्रति यूनिट की छूट दी जाएगी।    तीन चरणों में हो जाएगा पूरा कार्य  प्रदेश के 13 जिलों में मेडिकल कॉलेज होने से वहां पूर्व से ही ऑक्सीजन की बल्क स्टोरेज यूनिट्स उपलब्ध हैं। प्रदेश के शेष 37 जिलों के लिए राज्य सरकार द्वारा स्वयं के बजट से जिला अस्पतालों में पीएसए तकनीक से तैयार होने वाले नए ऑक्सीजन प्लांट्स लगाए जा रहे हैं।    इनमें से प्रथम चरण में 13 जिलों में, द्वितीय चरण में नौ जिलों में और तृतीय चरण में शेष 15 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट्स लग रहे हैं। इससे प्रदेश में ऑक्सीजन के लिए बाहरी स्त्रोतों पर निर्भरता लगभग न के बराबर हो जायेगी।   नवीनतम तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने वाला मध्य प्रदेश देश का पहला राज्य  कौंसिल ऑफ़ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च, भारत सरकार द्वारा अधिकृत संस्था के माध्यम से प्रदेश के पांच जिला चिकित्सालयों भोपाल, रीवा, इंदौर, ग्वालियर और शहडोल में नवीनतम वीपीएसए तकनीक आधारित आक्सीजन प्लांट्स एक करोड़ 60 लाख रुपये की लागत से लगाये जा रहे हैं।    इनमें 300 से 400 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन बनेगी, जो लगभग 50 बेड्स के लिए पर्याप्त होगी। इस नवीनतम तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने वाला मध्य प्रदेश, देश का पहला राज्य है। इसके साथ ही राज्‍य में सरकारी अस्पतालों के बेड्स को ऑक्सीजन बेड्स में परिवर्तित करने के लिए पाइप लाइन डालने का कार्य भी युद्ध स्तर पर जारी है।    अब तक लग गए ऑक्‍सीजन के 20 प्लांट  स्वास्थ्य आयुक्त आकाश त्रिपाठी कहते हैं कि राज्य सरकार द्वारा मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल और कम्युनिटी हॉस्टिपटल में 111 हवा से ऑक्सीजन बनाने की अनूठी टेक्नोलॉजी पर आधारित पीएसए (प्रेशर स्विंग, एडजॉर्व्सन) ऑक्सीजन प्लांट लगाने के ऑर्डर दिये गये थे। शासन द्वारा जारी आदेश के अनुक्रम में अब तक 20 प्लांट लगाये जा चुके हैं।   111 पीएसए ऑक्सीजन प्लांट 30 सितम्बर तक लग जाएंगे यहां  वे बताते हैं कि पीएसए ऑक्सीजन प्लांट को समय पर लगाने के लिये संबंधित निर्माता कम्पनियों को निर्देशित किया गया है। 15 जून तक 25 और 30 जुलाई तक 81 ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कर दिये जाएंगे। जबकि 30 अगस्त तक 91 और 30 सितम्बर तक पूरे 111 पीएसए ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना अस्पतालों में कर दी जायेगी।    इनसे अस्पताल के लिये ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित होगी। अस्पतालों में उपलब्ध ऑक्सीजन बेड और आईसीयू आदि को ध्यान में रखते हुए जरूरत की ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित हो सके, इसी अनुक्रम में क्षमता के पीएसए प्लांट लगाये जा रहे हैं।    केन्द्र और राज्य सरकार की मद से प्राप्त राशि से हो रहा पूरा कार्य  उनका कहना है कि इसमें 100 लीटर प्रति मिनिट से लेकर 1500 लीटर प्रति मिनिट की क्षमता वाले पीएसए प्लांट शामिल हैं। पीएसए प्लांट्स की स्थापना 10 बिस्तर के आईसीयू अस्पतालों से लेकर 150 बिस्तर (आईसीयू) वाले अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिये की जा रही है। उन्होंने बताया कि पीएसए ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना केन्द्र सरकार और राज्य सरकार की मद से प्राप्त राशि से की गई है।

Dakhal News

Dakhal News 14 June 2021


indore, 82 new cases,corona found, two people also died

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना संक्रमण के मामलों में राहत मिली है। यहां कोरोना के नये मरीजों की संख्या में तेजी से कमी आ रही है। इंदौर में लगातार दूसरे दिन नये प्रकरण 100 से नीचे आए हैं। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 82 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो मरीजों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 1,52, 519 और मृतकों की संख्या 1370 हो गई है। एक दिन पहले यहां कोरोना के 96 नये मामले सामने आए थे।इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शनिवार देर रात 10,017 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 82 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 52 हजार 519 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से दो मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1370 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 127 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 50 हजार 454 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल इंदौर में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 695  है।

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2021


bhopal,1854 new cases , corona surfaced, MP, 63 people died

भोपाल। मध्यप्रदेश से कोरोना को लेकर बड़ी राहत भरी खबर है। यहां रोजाना कोरोना संक्रमण के नये मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 1854 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 63 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 07 लाख, 75 हजार, 709 और मृतकों की संख्या 7891 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा शुक्रवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई।   नये मामलों में इंदौर- 526, भोपाल- 389, ग्वालियर- 68, जबलपुर- 103, उज्जैन- 29, सागर- 66, खरगौन- 28, रतलाम- 39, रीवा- 25, बैतूल- 24, विदिशा- 17, धार- 24, सतना- 09, नरसिंहपुर- 07, होशंगाबाद- 16, बड़वानी- 07, शिवपुरी- 27, कटनी- 07, शहडोल- 14, बालाघाट- 20, झाबुआ- 07, सीहोर- 27, छिंदवाड़ा- 05, राजगढ़- 22, रायसेन- 14, मुरैना- 48, नीमच- 17, मंदसौर- 12, देवास- 07, दमोह- 46, शाजापुर- 01, छतरपुर- 08, अनूपपुर- 30, सिंगरौली- 05, सिवनी- 15, सीधी- 21, टीकमगढ़- 07, दतिया-05, गुना- 04, खंडवा- 02, पन्ना- 09, उमरिया-04, हरदा- 01, मंडला- 05, अलिराजपुर- 04, डिंडौरी-06, अशोकनगर-03, श्योपुर- 40, भिंड- 07, बुरहानपुर- 01, आगरमालवा- 00, निवाड़ी- 16 मरीज मिले हैं। आज प्रदेश के सभी 51 जिलों में कोरोना के प्रकरण पाये गए। आगर मालवा जिला पूरी तरह से कोरोना मुक्त हो चुका है। यहां कोरोना संक्रमण के एक भी पॉजिटिव मामले नहीं आए है।   बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 72,210 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 1854 पॉजिटिव और 70,356 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 115 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 02.5 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 07,75, 709 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 148448, भोपाल- 120039, ग्वालियर- 52680, जबलपुर- 49510, उज्जैन- 18668, सागर- 16276, खरगौन- 13724, रतलाम- 17540, रीवा- 16238, बैतूल- 12607, विदिशा- 11773, धार- 12353, सतना- 11876, नरसिंहपुर- 11103, बड़वानी- 8268, होशंगाबाद- 10540, शिवपुरी- 12305, कटनी- 9340, बालाघाट- 8955, शहडोल- 10012, छिंदवाड़ा- 6623, झाबुआ- 7649, सिहोर- 9989, राजगढ़- 8480, रायसेन- 9062, नीमच- 7801, मुरैना- 8077, मंदसौर- 8513, देवास- 7664, शाजापुर- 6258, दमोह- 7935, छतरपुर- 7545, अनूपपुर- 9076, सिवनी- 6653, सिंगरौली- 8745, सीधी- 9110, टीकमगढ़- 6820, दतिया- 6884, खंडवा- 4022, गुना- 5035, पन्ना- 7211, उमरिया- 6213, हरदा- 4970, मंडला- 5163, अलिराजपुर- 3486, डिंडौरी- 4576, अशोकनगर- 3580, श्योपुर- 3928, भिंड- 2973, बुरहानपुर- 2546, आगरमालवा- 3258, निवाड़ी- 3609 मरीज शामिल हैं।   राज्य में आज कोरोना से 63 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर, रीवा और भोपाल में चार, ग्वालियर और जबलपुर में सात, सागर में नौ, विदिशा में छह, बैतूल में पांच, दमोह में तीन, रतलाम में दो, खरगौन, शिवपुरी, सतना, नरसिंहपुर, कटनी, अनूपपुर, बालाघाट, छतरपुर, टीकमगढ़, हरदा, श्योपुर और भिंड जिले के एक-एक मरीज शामिल है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढक़र 7891 हो गई है।        मृतकों में सबसे अधिक इंदौर- 1331, भोपाल- 928, ग्वालियर- 563, जबलपुर- 586, उज्जैन- 169, सागर- 262, खरगौन- 218, रतलाम- 302, रीवा- 109, बैतूल- 181, विदिशा- 184, धार- 123, सतना- 108, नरसिंहपुर- 77, बड़वानी- 83, होशंगाबाद- 97, शिवपुरी- 103, कटनी- 106, बालाघाट- 61, शहडोल- 117, छिंदवाड़ा- 120, झाबुआ- 52, सिहोर- 49, राजगढ़- 112, रायसेन- 182, नीमच- 84, मुरैना- 78, मंदसौर- 81, देवास- 46, शाजापुर- 52, दमोह- 153, छतरपुर- 88, अनूपपुर- 75, सिवनी- 28, सिंगरौली- 73, सीधी- 85, टीकमगढ़- 104, दतिया- 74, खंडवा- 94, गुना- 44, पन्ना- 55, उमरिया- 57, हरदा- 85, मंडला- 17, अलिराजपुर- 45, डिंडौरी- 28, अशोकनगर- 26, श्योपुर- 58, भिंड- 26, बुरहानपुर- 37, आगरमालवा- 32, निवाड़ी- 43 व्यक्ति शामिल है।   बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 7,33,496 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 5796 मरीज शुक्रवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण 34322 हो गए हैं। बता दें कि मप्र में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण लगातार बढ़ते जा रहे थे। हांलाकि अब सक्रिय मामलों में भी धीरे धीरे कमी देखने को मिल रही है। 

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Pro. Sunil Kumar, appointed Vice Chancellor,Rajiv Gandhi University

भोपाल। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय का कुलपति प्रो. सुनील कुमार को नियुक्त किया है। राज्यपाल ने यह कार्रवाई राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय अधिनियम, 1998  की धारा 12 की उपधारा (1) में प्रदत्त शक्तियों के तहत की है। यह जानकारी गुरुवार को जनसंपर्क अधिकारी अजय वर्मा ने दी।    उन्‍होंने बताया कि राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय के कुलपति के रूप में प्रो. सुनील कुमार का कार्यकाल, कार्यभार ग्रहण करने की तिथि से चार वर्ष की कालावधि के लिए होगा।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, MP New guidelines, issued, Kovid-19 vaccination , government institutions

भोपाल। प्रदेश में शासकीय संस्थाओं में संचालित किये जा रहे 18 से 44 आयु संवर्ग के कोविड-19 टीकाकरण के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक छवि भारद्वाज ने समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं जिला टीकाकरण अधिकारी को नवीन दिशा निर्देश जारी किये हैं। यह जानकारी गुरुवार को जनसंपर्क अधिकारी के.के. जोशी ने दी।   स्लॉट बुकिंग के बाद भी टीका लगाने नहीं पहुंचे तो ऑनसाईट होगा रजिस्ट्रेशन मिशन संचालक भारद्वाज द्वारा जारी परिपत्र में 18 से 44 आयु संवर्ग के कोविड-19 टीकाकरण के लिए प्रदेश के 4 महानगरों में भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर और 12 नगर निगम क्षेत्रों बुरहानपुर, छिंदवाड़ा, सतना, रीवा, देवास, कटनी, खण्डवा, मुरैना, रतलाम, सागर, सिंगरौली एवं उज्जैन में 100 प्रतिशत टीकाकरण ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन के आधार पर किये जायेंगे। स्लॉट बुकिंग के बाद भी लाभार्थी टीका लगाने उपस्थित नहीं होते हैं ऐसी स्थिति में टीकाकरण केन्द्रों पर शेष वैक्सीन का उपयोग शाम 4 बजे के उपरांत ऑनसाईट बुकिंग के आधार पर किया जाए। इसकी संख्या 20 प्रतिशत से अधिक न हो।   परिपत्र में निर्देश है कि शेष जिला मुख्यालयों पर 100 प्रतिशत ऑनलाईन बुकिंग के आधार पर टीकाकरण किया जाये। परिपत्र में यह भी निर्देश है कि जिला मुख्यालय पर एक से अधिक स्थलों पर टीकाकरण सत्र संचालित होने की स्थिति में कुछ सत्रों को सुविधानुसार टीकाकरण के लिए जिला टीकाकरण अधिकारी की अनुशंसा पर कलेक्टर द्वारा ऑनसाईट बुकिंग का निर्णय लिया जा सकता है।   ग्रामीण अंचलों में ऑनसाईट बुकिंग से लगेगी वैक्सीन परिपत्र में जिला मुख्यालयों को छोड़कर प्रदेश के शेष समस्त ग्रामीण अंचलों में कोविड-19 वैक्सीनेशन 100 प्रतिशत ऑनसाईट बुकिंग के माध्यम से किया जायेगा। ऑनसाईट सत्र स्थलों पर टोकन सिस्टम की व्यवस्था की जाये, जिससे पहले आने वाले व्यक्ति का पहले वैक्सीनेशन किया जा सके। शासकीय टीकाकरण केन्द्रों पर कार्यरत अधिकारी/कर्मचारी के परिवार के सदस्यों एवं आश्रित सदस्यों का टीकाकरण उसी केन्द्र में किया जा सकता है। सभी निर्देश शासकीय टीकाकरण सत्रों में लागू होगा।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, Pre monsoon activities, begin in MP

भोपाल। नौतपा शुरू हो चुका है, इसके चलते अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है और मौसम शुष्क ही बना हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक नौतपा में मध्य प्रदेश के इंदौर, जबलपुर और होशंगाबाद संभाग में बारिश के आसार हैं। उत्तरी बंगाल की खाड़ी में एक तूफान सक्रिय है और यह मंगलवार को प्रभावशाली होकर तीव्र चक्रवाती तूफान में तब्दील होगा, इसके कारण हवाएं चलेंगी, इसका असर 28 मई तक पूर्वी मध्यप्रदेश में रहेगा।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि 28-29 मई के आसपास पश्चिमी विक्षोभ भी सक्रिय होगा जिसके कारण अरब सागर से नमी आने की संभावना है, मौसम विभाग के अनुसार मध्यप्रदेश के इंदौर, जबलपुर व होशंगाबाद संभाग में कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना है, वहीं आगामी दो दिनों तक मौसम इसी तरह बना रहेगा। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक गुरूवार को भी राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश जिलों में अधिकतम तापमान में बढ़ोत्तरी होने के आसार हैं। 28 मई तक तापमान में बढ़ोतरी का सिलसिला बना रहेगा। इसके बाद बादल छाने और गरज-चमक की स्थिति बनने की भी संभावना है।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, MP Infection rate , 5 percent, deaths not decreasing

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना अब काबू में आता दिखाई दे रहा है। पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 3,844 नए मरीज मिले हैं। इससे पहले 5 अप्रैल को 3,722 केस मिले थे। प्रदेश में अब संक्रमण दर भी बीते 20 दिनों में 15 प्रतिशत  घटकर 5 प्रतिशत पर आ गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइड लाइन के अनुसार संक्रमण दर 3 प्रतिशत होना चाहिए, तभी कोरोना को नियंत्रण में माना जाएगा।     प्रदेश में संक्रमण दर भले ही कम हो रही है, लेकिन कोरोना से मरने वालों की संख्या कम नहीं हो रही है। सरकारी रिकार्ड में दर्ज आंकड़ों के मुताबिक कोरोना से अब तक 7,483 मौतें हो चुकी है। इसमें 21 मई को हुई 89 मौतें भी शामिल हैं। इसमें सबसे ज्यादा भोपाल में 10 मौतें दर्ज की गई। जबकि ग्वालियर में 9, इंदौर  में 7 और जबलपुर में 4 मौतें होना बताया गया है। अप्रैल में 1,798 मौतें हुई, जो कुल मौतों का 24% है। जबकि मई माह में अब तक 1,671 मौतें कोरोना से हो चुकी है।   प्रदेश में एक्टिव केस का आंकड़ा भी लगातार कम होता जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ताजा रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में अब 62,053 एक्टिव केस हैं। प्रदेश के इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन व रतलाम में ही 2 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हैं। इंदौर में यह संख्या 9,432 है। यहां 35 दिन बाद एक्टिव केस का आंकड़ा 10 हजार से नीचे पहुंचा है। इन छह जिलों में कारोना कर्फ्यू में छूट मिलने की फिलहाल कोई उम्मीद नहीं है।   प्रदेश के 5 जिलों में ही 10  प्रतिशतसे अधिक पॉजिटिविटी रेट  है। सर्वाधिक भोपाल जिले में 15 प्रतिशत, इंदौर में 13 प्रतिशत रीवा में 13 प्रतिशत उज्जैन में 12 प्रतिशत तथा अनूपपुर जिले में 11 प्रतिशत पॉजिटिविटी दर है। प्रदेश के 17 जिलों छतरपुर, टीकमगढ़, दतिया, मुरैना, गुना, श्योपुर, अशोकनगर, छिंदवाड़ा, हरदा, भिंड, बुरहानपुर, मंडला, झाबुआ, निवाड़ी अलीराजपुर, खंडवा तथा बड़वानी में साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत से भी कम है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


indore, MP Two girls spying,Pakistan arrested

इंदौर। इंटेलीजेंस की टीम ने महू सैन्य थाना इलाके से जासूसी के संदेह में दो युवतियों को दबोचा है। दोनों युवतियां पाकिस्तान के युवकों के संपर्क में थीं। दोनों के पाकिस्तान से कनेक्शन की बात सामने आने से इलाके में हडक़ंप मचा हुआ है। कई महत्पूर्ण जानकारी दूसरे देश को भेजने की बात भी अब तक सामने आई है। पकड़ी गईं दोनों बहनों से पूछताछ जारी है।    अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक दोनों महू सैन्य क्षेत्र के सेना के कुछ अफसरों के टच में थीं। आईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने घटना की पुष्टि करते हुए फिलहाल इतना बताया है कि जानकारी मिलिट्री इंटेलिजेंस से ही साझा की गई है। सैन्य अफसरों के साथ कोई हनीट्रैप की साजिश की आशंका भी बताई जा रही है।फिलहाल शहर से करीब 24 किलोमीटर दूर महू के सैन्य क्षेत्र की जासूसी के संदेह में इन दो सगी बहनों को हिरासत में लेकर जांच एजेंसियों द्वारा उनसे लगातार पूछताछ की जा रही है।    वहीं उनके सोशल मीडिया अकाउंट भी खंगाले जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक एक युवती ने अधिकारियों को पूछताछ में बताया है कि पाकिस्तान में एक युवक से वह सोशल मीडिया पर शादी के इरादे से बात करती थी।दोनों युवतियों द्वारा पाकिस्तान में बात करने का खुलासा होते ही आईबी, एटीएस, दिल्ली क्राइम ब्रांच और यूपी पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है। अब तक की जांच में यह भी पता चला है कि ये युवतियां चार मोबाइल सिम का इस्तेमाल करती थी। इनके पास से मिले मोबाइल, लैपटाप और अन्य गैजेट्स की जांच की जा रही है। युवतियों के द्वारा सेना की जासूसी किए जाने की शंका है।   सुरक्षा एजेंसियों की टीमें करीब तीन दिन से इन युवतियों से पूछताछ कर रही है। गवली पलासिया इलाके की यदुनंदन पाटीदार कालोनी में सेना से रिटाययर्ड चांद खा के घर दबिश के बाद उनकी बेटी हिना और कौसर को हिरासत में लिया गया है । घर से उनके जीजा को भी पकड़ा था। इंटरनेशनल कॉल सर्विलांस के माध्यम से उनकी मोबाइल की लोकेशन एटीएस ने पकड़ी तो दिल्ली से टीम जांच करने महू आ गई। इंटेलिजेंस एजेंसियों को ऐसा शक है कि युवतियां पाकिस्तान के कुछ लोगों से सोशल मीडिया और इंटरनेट कालिंग के जरिए संपर्क में थीं। इनके मोबाइल फोन और अन्य डिवाइस जब्त की है।    दोनों युवतियां अपने पिता चांद खान निधन के बाद महू क्षेत्र में ही रह रही थीं। कुछ सालों से हिना बिजली कंपनी में कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी कर रही थीं। यासीन किसी स्कूल में टीचर थी। जानकारी के मुताबिक कुछ दिन पूर्व संदिग्ध कॉल ट्रेस होने के बाद कई एजेंसियां अलर्ट पर आ गई थी। इसके बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच और अन्य एजेंसियों ने युवतियों से पूछताछ शुरू कर दी। इस संबंध में जब अधिकृत अधिकारी से बात करने की कोशिश की गई तो कोई भी अधिकारी जानकारी नहीं दे रहा है।   पुलिस ने पूछताछ की तो एक युवती ने कहा, पाकिस्तान के युवक से सोशल मीडिया के माध्यम से बात करती थी। शादी के इरादे से वह दोनों बात करते थे। लेकिन अभी एजेंसियां यह मान रही हैं कि शायद इस मामले को अलग दिशा देने के उद्देश्य से यह बयान युवती दे रही है। मामले की गंभीरता को देखते हुए अन्य साक्ष्य जुटाने में सभी एजेंसियां लगी हुई हैं।   जांच चल रही है इस संबंध में आईजी हरिनारायणचारी मिश्रा का कहना है कि जांच चल रही है। युवतियों की किन पाकिस्तानी युवकों से बात होती थी। उसकी पुष्टि की जा रही है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,1854 new cases , corona surfaced, MP, 63 people died

भोपाल। मध्यप्रदेश से कोरोना को लेकर बड़ी राहत भरी खबर है। यहां रोजाना कोरोना संक्रमण के नये मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 1854 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 63 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 07 लाख, 75 हजार, 709 और मृतकों की संख्या 7891 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा शुक्रवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई।   नये मामलों में इंदौर- 526, भोपाल- 389, ग्वालियर- 68, जबलपुर- 103, उज्जैन- 29, सागर- 66, खरगौन- 28, रतलाम- 39, रीवा- 25, बैतूल- 24, विदिशा- 17, धार- 24, सतना- 09, नरसिंहपुर- 07, होशंगाबाद- 16, बड़वानी- 07, शिवपुरी- 27, कटनी- 07, शहडोल- 14, बालाघाट- 20, झाबुआ- 07, सीहोर- 27, छिंदवाड़ा- 05, राजगढ़- 22, रायसेन- 14, मुरैना- 48, नीमच- 17, मंदसौर- 12, देवास- 07, दमोह- 46, शाजापुर- 01, छतरपुर- 08, अनूपपुर- 30, सिंगरौली- 05, सिवनी- 15, सीधी- 21, टीकमगढ़- 07, दतिया-05, गुना- 04, खंडवा- 02, पन्ना- 09, उमरिया-04, हरदा- 01, मंडला- 05, अलिराजपुर- 04, डिंडौरी-06, अशोकनगर-03, श्योपुर- 40, भिंड- 07, बुरहानपुर- 01, आगरमालवा- 00, निवाड़ी- 16 मरीज मिले हैं। आज प्रदेश के सभी 51 जिलों में कोरोना के प्रकरण पाये गए। आगर मालवा जिला पूरी तरह से कोरोना मुक्त हो चुका है। यहां कोरोना संक्रमण के एक भी पॉजिटिव मामले नहीं आए है।   बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 72,210 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 1854 पॉजिटिव और 70,356 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 115 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 02.5 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 07,75, 709 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 148448, भोपाल- 120039, ग्वालियर- 52680, जबलपुर- 49510, उज्जैन- 18668, सागर- 16276, खरगौन- 13724, रतलाम- 17540, रीवा- 16238, बैतूल- 12607, विदिशा- 11773, धार- 12353, सतना- 11876, नरसिंहपुर- 11103, बड़वानी- 8268, होशंगाबाद- 10540, शिवपुरी- 12305, कटनी- 9340, बालाघाट- 8955, शहडोल- 10012, छिंदवाड़ा- 6623, झाबुआ- 7649, सिहोर- 9989, राजगढ़- 8480, रायसेन- 9062, नीमच- 7801, मुरैना- 8077, मंदसौर- 8513, देवास- 7664, शाजापुर- 6258, दमोह- 7935, छतरपुर- 7545, अनूपपुर- 9076, सिवनी- 6653, सिंगरौली- 8745, सीधी- 9110, टीकमगढ़- 6820, दतिया- 6884, खंडवा- 4022, गुना- 5035, पन्ना- 7211, उमरिया- 6213, हरदा- 4970, मंडला- 5163, अलिराजपुर- 3486, डिंडौरी- 4576, अशोकनगर- 3580, श्योपुर- 3928, भिंड- 2973, बुरहानपुर- 2546, आगरमालवा- 3258, निवाड़ी- 3609 मरीज शामिल हैं।   राज्य में आज कोरोना से 63 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर, रीवा और भोपाल में चार, ग्वालियर और जबलपुर में सात, सागर में नौ, विदिशा में छह, बैतूल में पांच, दमोह में तीन, रतलाम में दो, खरगौन, शिवपुरी, सतना, नरसिंहपुर, कटनी, अनूपपुर, बालाघाट, छतरपुर, टीकमगढ़, हरदा, श्योपुर और भिंड जिले के एक-एक मरीज शामिल है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढक़र 7891 हो गई है।        मृतकों में सबसे अधिक इंदौर- 1331, भोपाल- 928, ग्वालियर- 563, जबलपुर- 586, उज्जैन- 169, सागर- 262, खरगौन- 218, रतलाम- 302, रीवा- 109, बैतूल- 181, विदिशा- 184, धार- 123, सतना- 108, नरसिंहपुर- 77, बड़वानी- 83, होशंगाबाद- 97, शिवपुरी- 103, कटनी- 106, बालाघाट- 61, शहडोल- 117, छिंदवाड़ा- 120, झाबुआ- 52, सिहोर- 49, राजगढ़- 112, रायसेन- 182, नीमच- 84, मुरैना- 78, मंदसौर- 81, देवास- 46, शाजापुर- 52, दमोह- 153, छतरपुर- 88, अनूपपुर- 75, सिवनी- 28, सिंगरौली- 73, सीधी- 85, टीकमगढ़- 104, दतिया- 74, खंडवा- 94, गुना- 44, पन्ना- 55, उमरिया- 57, हरदा- 85, मंडला- 17, अलिराजपुर- 45, डिंडौरी- 28, अशोकनगर- 26, श्योपुर- 58, भिंड- 26, बुरहानपुर- 37, आगरमालवा- 32, निवाड़ी- 43 व्यक्ति शामिल है।   बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 7,33,496 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 5796 मरीज शुक्रवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण 34322 हो गए हैं। बता दें कि मप्र में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण लगातार बढ़ते जा रहे थे। हांलाकि अब सक्रिय मामलों में भी धीरे धीरे कमी देखने को मिल रही है। 

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, Pro. Sunil Kumar, appointed Vice Chancellor,Rajiv Gandhi University

भोपाल। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय का कुलपति प्रो. सुनील कुमार को नियुक्त किया है। राज्यपाल ने यह कार्रवाई राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय अधिनियम, 1998  की धारा 12 की उपधारा (1) में प्रदत्त शक्तियों के तहत की है। यह जानकारी गुरुवार को जनसंपर्क अधिकारी अजय वर्मा ने दी।    उन्‍होंने बताया कि राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय के कुलपति के रूप में प्रो. सुनील कुमार का कार्यकाल, कार्यभार ग्रहण करने की तिथि से चार वर्ष की कालावधि के लिए होगा।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, MP New guidelines, issued, Kovid-19 vaccination , government institutions

भोपाल। प्रदेश में शासकीय संस्थाओं में संचालित किये जा रहे 18 से 44 आयु संवर्ग के कोविड-19 टीकाकरण के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक छवि भारद्वाज ने समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं जिला टीकाकरण अधिकारी को नवीन दिशा निर्देश जारी किये हैं। यह जानकारी गुरुवार को जनसंपर्क अधिकारी के.के. जोशी ने दी।   स्लॉट बुकिंग के बाद भी टीका लगाने नहीं पहुंचे तो ऑनसाईट होगा रजिस्ट्रेशन मिशन संचालक भारद्वाज द्वारा जारी परिपत्र में 18 से 44 आयु संवर्ग के कोविड-19 टीकाकरण के लिए प्रदेश के 4 महानगरों में भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर और 12 नगर निगम क्षेत्रों बुरहानपुर, छिंदवाड़ा, सतना, रीवा, देवास, कटनी, खण्डवा, मुरैना, रतलाम, सागर, सिंगरौली एवं उज्जैन में 100 प्रतिशत टीकाकरण ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन के आधार पर किये जायेंगे। स्लॉट बुकिंग के बाद भी लाभार्थी टीका लगाने उपस्थित नहीं होते हैं ऐसी स्थिति में टीकाकरण केन्द्रों पर शेष वैक्सीन का उपयोग शाम 4 बजे के उपरांत ऑनसाईट बुकिंग के आधार पर किया जाए। इसकी संख्या 20 प्रतिशत से अधिक न हो।   परिपत्र में निर्देश है कि शेष जिला मुख्यालयों पर 100 प्रतिशत ऑनलाईन बुकिंग के आधार पर टीकाकरण किया जाये। परिपत्र में यह भी निर्देश है कि जिला मुख्यालय पर एक से अधिक स्थलों पर टीकाकरण सत्र संचालित होने की स्थिति में कुछ सत्रों को सुविधानुसार टीकाकरण के लिए जिला टीकाकरण अधिकारी की अनुशंसा पर कलेक्टर द्वारा ऑनसाईट बुकिंग का निर्णय लिया जा सकता है।   ग्रामीण अंचलों में ऑनसाईट बुकिंग से लगेगी वैक्सीन परिपत्र में जिला मुख्यालयों को छोड़कर प्रदेश के शेष समस्त ग्रामीण अंचलों में कोविड-19 वैक्सीनेशन 100 प्रतिशत ऑनसाईट बुकिंग के माध्यम से किया जायेगा। ऑनसाईट सत्र स्थलों पर टोकन सिस्टम की व्यवस्था की जाये, जिससे पहले आने वाले व्यक्ति का पहले वैक्सीनेशन किया जा सके। शासकीय टीकाकरण केन्द्रों पर कार्यरत अधिकारी/कर्मचारी के परिवार के सदस्यों एवं आश्रित सदस्यों का टीकाकरण उसी केन्द्र में किया जा सकता है। सभी निर्देश शासकीय टीकाकरण सत्रों में लागू होगा।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, Pre monsoon activities, begin in MP

भोपाल। नौतपा शुरू हो चुका है, इसके चलते अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है और मौसम शुष्क ही बना हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक नौतपा में मध्य प्रदेश के इंदौर, जबलपुर और होशंगाबाद संभाग में बारिश के आसार हैं। उत्तरी बंगाल की खाड़ी में एक तूफान सक्रिय है और यह मंगलवार को प्रभावशाली होकर तीव्र चक्रवाती तूफान में तब्दील होगा, इसके कारण हवाएं चलेंगी, इसका असर 28 मई तक पूर्वी मध्यप्रदेश में रहेगा।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि 28-29 मई के आसपास पश्चिमी विक्षोभ भी सक्रिय होगा जिसके कारण अरब सागर से नमी आने की संभावना है, मौसम विभाग के अनुसार मध्यप्रदेश के इंदौर, जबलपुर व होशंगाबाद संभाग में कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना है, वहीं आगामी दो दिनों तक मौसम इसी तरह बना रहेगा। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक गुरूवार को भी राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश जिलों में अधिकतम तापमान में बढ़ोत्तरी होने के आसार हैं। 28 मई तक तापमान में बढ़ोतरी का सिलसिला बना रहेगा। इसके बाद बादल छाने और गरज-चमक की स्थिति बनने की भी संभावना है।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, MP Infection rate , 5 percent, deaths not decreasing

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना अब काबू में आता दिखाई दे रहा है। पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 3,844 नए मरीज मिले हैं। इससे पहले 5 अप्रैल को 3,722 केस मिले थे। प्रदेश में अब संक्रमण दर भी बीते 20 दिनों में 15 प्रतिशत  घटकर 5 प्रतिशत पर आ गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइड लाइन के अनुसार संक्रमण दर 3 प्रतिशत होना चाहिए, तभी कोरोना को नियंत्रण में माना जाएगा।     प्रदेश में संक्रमण दर भले ही कम हो रही है, लेकिन कोरोना से मरने वालों की संख्या कम नहीं हो रही है। सरकारी रिकार्ड में दर्ज आंकड़ों के मुताबिक कोरोना से अब तक 7,483 मौतें हो चुकी है। इसमें 21 मई को हुई 89 मौतें भी शामिल हैं। इसमें सबसे ज्यादा भोपाल में 10 मौतें दर्ज की गई। जबकि ग्वालियर में 9, इंदौर  में 7 और जबलपुर में 4 मौतें होना बताया गया है। अप्रैल में 1,798 मौतें हुई, जो कुल मौतों का 24% है। जबकि मई माह में अब तक 1,671 मौतें कोरोना से हो चुकी है।   प्रदेश में एक्टिव केस का आंकड़ा भी लगातार कम होता जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ताजा रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में अब 62,053 एक्टिव केस हैं। प्रदेश के इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन व रतलाम में ही 2 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हैं। इंदौर में यह संख्या 9,432 है। यहां 35 दिन बाद एक्टिव केस का आंकड़ा 10 हजार से नीचे पहुंचा है। इन छह जिलों में कारोना कर्फ्यू में छूट मिलने की फिलहाल कोई उम्मीद नहीं है।   प्रदेश के 5 जिलों में ही 10  प्रतिशतसे अधिक पॉजिटिविटी रेट  है। सर्वाधिक भोपाल जिले में 15 प्रतिशत, इंदौर में 13 प्रतिशत रीवा में 13 प्रतिशत उज्जैन में 12 प्रतिशत तथा अनूपपुर जिले में 11 प्रतिशत पॉजिटिविटी दर है। प्रदेश के 17 जिलों छतरपुर, टीकमगढ़, दतिया, मुरैना, गुना, श्योपुर, अशोकनगर, छिंदवाड़ा, हरदा, भिंड, बुरहानपुर, मंडला, झाबुआ, निवाड़ी अलीराजपुर, खंडवा तथा बड़वानी में साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत से भी कम है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


indore, MP Two girls spying,Pakistan arrested

इंदौर। इंटेलीजेंस की टीम ने महू सैन्य थाना इलाके से जासूसी के संदेह में दो युवतियों को दबोचा है। दोनों युवतियां पाकिस्तान के युवकों के संपर्क में थीं। दोनों के पाकिस्तान से कनेक्शन की बात सामने आने से इलाके में हडक़ंप मचा हुआ है। कई महत्पूर्ण जानकारी दूसरे देश को भेजने की बात भी अब तक सामने आई है। पकड़ी गईं दोनों बहनों से पूछताछ जारी है।    अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक दोनों महू सैन्य क्षेत्र के सेना के कुछ अफसरों के टच में थीं। आईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने घटना की पुष्टि करते हुए फिलहाल इतना बताया है कि जानकारी मिलिट्री इंटेलिजेंस से ही साझा की गई है। सैन्य अफसरों के साथ कोई हनीट्रैप की साजिश की आशंका भी बताई जा रही है।फिलहाल शहर से करीब 24 किलोमीटर दूर महू के सैन्य क्षेत्र की जासूसी के संदेह में इन दो सगी बहनों को हिरासत में लेकर जांच एजेंसियों द्वारा उनसे लगातार पूछताछ की जा रही है।    वहीं उनके सोशल मीडिया अकाउंट भी खंगाले जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक एक युवती ने अधिकारियों को पूछताछ में बताया है कि पाकिस्तान में एक युवक से वह सोशल मीडिया पर शादी के इरादे से बात करती थी।दोनों युवतियों द्वारा पाकिस्तान में बात करने का खुलासा होते ही आईबी, एटीएस, दिल्ली क्राइम ब्रांच और यूपी पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है। अब तक की जांच में यह भी पता चला है कि ये युवतियां चार मोबाइल सिम का इस्तेमाल करती थी। इनके पास से मिले मोबाइल, लैपटाप और अन्य गैजेट्स की जांच की जा रही है। युवतियों के द्वारा सेना की जासूसी किए जाने की शंका है।   सुरक्षा एजेंसियों की टीमें करीब तीन दिन से इन युवतियों से पूछताछ कर रही है। गवली पलासिया इलाके की यदुनंदन पाटीदार कालोनी में सेना से रिटाययर्ड चांद खा के घर दबिश के बाद उनकी बेटी हिना और कौसर को हिरासत में लिया गया है । घर से उनके जीजा को भी पकड़ा था। इंटरनेशनल कॉल सर्विलांस के माध्यम से उनकी मोबाइल की लोकेशन एटीएस ने पकड़ी तो दिल्ली से टीम जांच करने महू आ गई। इंटेलिजेंस एजेंसियों को ऐसा शक है कि युवतियां पाकिस्तान के कुछ लोगों से सोशल मीडिया और इंटरनेट कालिंग के जरिए संपर्क में थीं। इनके मोबाइल फोन और अन्य डिवाइस जब्त की है।    दोनों युवतियां अपने पिता चांद खान निधन के बाद महू क्षेत्र में ही रह रही थीं। कुछ सालों से हिना बिजली कंपनी में कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी कर रही थीं। यासीन किसी स्कूल में टीचर थी। जानकारी के मुताबिक कुछ दिन पूर्व संदिग्ध कॉल ट्रेस होने के बाद कई एजेंसियां अलर्ट पर आ गई थी। इसके बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच और अन्य एजेंसियों ने युवतियों से पूछताछ शुरू कर दी। इस संबंध में जब अधिकृत अधिकारी से बात करने की कोशिश की गई तो कोई भी अधिकारी जानकारी नहीं दे रहा है।   पुलिस ने पूछताछ की तो एक युवती ने कहा, पाकिस्तान के युवक से सोशल मीडिया के माध्यम से बात करती थी। शादी के इरादे से वह दोनों बात करते थे। लेकिन अभी एजेंसियां यह मान रही हैं कि शायद इस मामले को अलग दिशा देने के उद्देश्य से यह बयान युवती दे रही है। मामले की गंभीरता को देखते हुए अन्य साक्ष्य जुटाने में सभी एजेंसियां लगी हुई हैं।   जांच चल रही है इस संबंध में आईजी हरिनारायणचारी मिश्रा का कहना है कि जांच चल रही है। युवतियों की किन पाकिस्तानी युवकों से बात होती थी। उसकी पुष्टि की जा रही है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Public curfew ,remain in Bhopal ,till June 1 morning

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट, भोपाल अविनाश लवानिया ने भोपाल में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत जनता कर्फ्यू को एक जून  को प्रातः छह बजे तक जारी रखने के आदेश दिये हैं।    इस संबंध में जिला दंडाधिकारी अविनाश लवानिया ने शनिवार को धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी करते हुए भोपाल जिले की राजस्व सीमा में कोरोना कर्फ्यू को एक जून तक बढ़ा दिया है। शेष सभी प्रतिबंधात्मक आदेश पूर्ववत रहेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अत्यंत विशेष परिस्थितियों में सक्षम अधिकारी के संतुष्ट होने पर आवेदक को किसी भी लागू शर्तों से छूट दी जा सकेगी। यह आदेश तत्काल  प्रभावशील होगा। इस आदेश का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति के विरूद्व भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।   उल्‍लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही सीएम शिवराज ने प्रदेश भर के जिलों की समीक्षा के दौरान भोपाल संभाग की कोरोना की समीक्षा में सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने के निर्देश दिए थे। जिसमें उनका साफ कहना था कि अभी राजधानी भोपाल में संक्रमण दर भले ही कम हो गई हो, लेकिन यहां ढील देना ठीक नहीं होगा।  यदि ऐसा किया गया तो यह ढील फिर से संक्रमण को बढ़ा सकती है।इसलिए इस पर सभी जिलाधीशों को गहराई से विचार करना होगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


guna,Villagers are not allowing, outsiders and officers,enter the village

गुना। जनपद पंचायत की टीमें मंगलवार को पैंची, पाखरियापुरा और कनकानेहरू गांव की सीमा पर पहुंची, तो ग्रामीणों ने बाहर ही रोक दिया। साथ ही अधिकारियों के सामने शपथ लेकर कहा कि वह ग्रामीणों को कोरोना के खतरे से बचाने के लिए बाहरी व्यक्तियों को प्रवेश नहीं करने देंगे, जिसकी वजह से उनका गांव कोरोना संक्रमण से बच जाएगा। हालांकि, ग्रामीण केवल स्वास्थ्य विभाग की टीमों को गांव की सीमा में घुसने दे रहे हैं, इसके पीछे की वजह यह है कि जो भी व्यक्ति बुखार और अन्य बीमारियों से पीडि़त है, उनको दवाएं उपलब्ध करा रहे हैं। इसके अलावा अन्य टीमों के ग्रामीण हाथ जोडक़र कह रहे हैं कि उनके गांव में वह प्रवेश न करें।    चांचौढ़ा जनपद के ब्लॉक को-आर्डिनेटर शंकरदयाल बरुआ अपनी टीम के साथ पैंची, पाखरियापुरा और कनकानेहरू गांव की सीमा में पहुंचे। इस दौरान ग्रामीणों ने हाथ जोडक़र टीमों को सीमा के बाहर ही रोक दिया। उन्होंने कहा कि आप लोग गांव में क्यों प्रवेश कर रहे हैं। टीम के सदस्यों ने कहा कि वह गांव में किल कोरोना अभियान के तहत लोगों को जागरूक करने के लिए आए हैं। ग्रामीणों ने कहा कि वह पिछले कोरोना काल से ही जागरूक हैं, वह अपने ग्रामों में केवल स्वास्थ्य विभाग की टीमों को प्रवेश देंगे, क्योंकि अधिकारी भी संक्रमित हो सकते हैं।   जनपद की टीम से कहा- आप लोग भी सुरक्षित रहें: पैंची गांव के ग्रामीण रामलखन सिंह ने जनपद पंचायत की टीम से कहा कि आप लोग कोरोना योद्धा हैं, आप लोग हमें कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए डोर-टू-डोर अभियान चला रहे हैं, लेकिन आप लोग भी सुरक्षित रहें। साथ ही जनपद पंचायत की टीम का ताली बजाकर स्वागत भी किया।  सामुदायिक स्वास्थ्य विभाग बीनागंज के ब्लॉक मेडिकल अधिकारी डॉ. टिंकू वर्मा मंगलवार की सुबह गोरखाखेड़ा गांव में पहुंचे। उन्हें सूचना मिली थी कि इस ग्राम में 6 लोगों की मौत हुई है, लेकिन जब वह गांव में पहुंचे, तो ग्रामीणों ने कहा कि इस ग्राम में किसी भी संक्रमित व्यक्ति की मौत नहीं हुई है।  

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal, 14th Oxygen Express, arrives in Madhya Pradesh, 500 MT supplied

भोपाल। भारतीय रेलवे द्वारा देश भर के विभिन्न राज्यों में ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने के प्रयासों को गति देते हुए कोविड के खिलाफ सयुंक्त जंग को मजबूती प्रदान करने तथा  कोविड मरीजों को राहत प्रदान के लिए जीवन रक्षक के रूप में तरल चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) के परिवहन के लिए लगातार ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जा रही है। इसे रोल ऑन रोल ऑफ सेवा के तहत ऑक्सीजन टैंकरों को ट्रक के माध्यम से जल्द से जल्द उनके गंतव्य स्टेशन तक पहुंचाया जा रहा है। इस सुविधा के अंतर्गत मध्य प्रदेश के लिए 14वीं ऑक्सीजन एक्सप्रेस को तरल चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) से भरे 02 टैंकरों के साथ रोल ऑन-रोल ऑफ (आरओ-आरओ) सेवा में बोकारो से मंगलवार सागर (मकरोनिया) पहुंची।    उल्‍लेखनीय है कि इस ऑक्सीजन एक्सप्रेस के दो टैंकरों में 21.77 मीट्रिक टन तरल चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) भरी है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस से  दो टैंकर तरल चिकित्सा ऑक्सीजन मकरोनिया (सागर) में अनलोड किये गए। यह ऑक्सीजन एक्सप्रेस बोकारो से  कोटशिला, झारसुगुड़ा, बिलासपुर, नई कटनी जंक्शन होते हुए सागर के मकरोनिया स्टेशन पहुंची है । अब तक भारतीय रेल द्वारा मध्यप्रदेश में कुल 14 ऑक्सीजन एक्सप्रेस पहुंचाई जा चुकी हैं  जिनसे 44 टैंकरों में कुल 497.77 (लगभग 500 एमटी तक) मीट्रिक टन तरल चिकित्सा ऑक्सीजन की पूर्ति की गई है।   इस संबंध में पश्चिम मध्य रेल, जबलपुर की ओर से बताया गया हिक भारतीय रेलवे द्वारा अब तक 53 ऑक्सीजन एक्सप्रेस पश्चिम मध्य रेल से गुजर कर देश भर में तरल चिकित्सा ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई है। रेलवे ऑक्सीजन एक्सप्रेस माल गाड़ियों के प्रचालन में नए मानदंड स्थापित कर रहा है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस की ढुलाई एक जटिल प्रक्रिया है फिर भी लंबी दूरी वाले मार्गों पर ऑक्सीजन एक्सप्रेस ज्यादातर मामलों में 55 किमी प्रति घंटे की गति से चल रही है। ग्रीन कॉरिडोर में चलने वाली इन माल गाड़ियों के परिवहन को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है और इसकी आपात आवश्यकता को समझते हुए विभिन्न क्षेत्रों के रेल अधिकारी और कर्मचारी वर्तमान चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में निरंतर कार्य कर रहे हैं।    भारतीय रेलवे द्वारा देश भर के राज्यों के लिए चलने वाली ऑक्सीजन एक्सप्रेस बोकारो, राउरकेला, अंगुल एवं रायगढ़ से चलकर पश्चिम मध्य रेल के न्यू कटनी , सागर एवं बीना स्टेशनों से गुजरते हुए दिल्ली , हरियाणा  एवं अन्य राज्यों के लिये परिवहन किया गया। भारतीय रेलवे द्वारा 160 ऑक्सीजन एक्सप्रेस से 10300 मीट्रिक टन तरल चिकित्सा ऑक्सीजन देश भर के राज्यों को आपूर्ति की गई है।   पश्चिम मध्य रेल की ओर से यह भी कहा गया है कि भारतीय रेलवे, राज्यों की मांग पर यथासंभव मात्रा और कम से कम समय में तरल चिकित्सा ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए प्रतिबद्ध है और इस पर लगातार काम कर रहा है। तरल चिकित्सा ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए भारतीय रेलवे को राज्य सरकारों द्वारा उपलब्ध कराये जाते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


indore,1262 new cases ,corona , five died

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के मामलों में लगातार कमी आ रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1262 नए मामले सामने आए हैं जबकि कोरोना से पांच लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1 लाख, 40 हजार 447 और मृतकों की संख्या 1274 हो गई है।    इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 9761 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1262 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 40 हजार 447 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से पांच मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1274 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 2121 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख, 26 हजार, 362 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12811 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


ujjain, Injection from Surat, Black Fungus operation, Ujjain for Rs 4200

उज्जैन। ब्लैक फंगस के मामले सामने आने के बाद जहां लोगों में घबराहट है वहीं डॉक्टर्स भी उपचार के लिए आवश्यक इंजेक्शन बाजार में उपलब्ध नहीं होने के कारण परेशान हैं। आर डी गार्डी मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ नेत्र सर्जन डॉ.सुधाकर वैद्य के अनुसार एक मरीज का ऑपरेशन होना  था। परिजनों ने तलाशा और सूरत(गुजरात)से उक्त इंजेक्शन मंगवाया। इसकी कीमत थी मात्र 127 रू.।  यहां यह गौरतलब है कि यही इंजेक्शन शहर में एक व्यक्ति ने   4200 रू. में खरीदा।   इंजेक्शन खरीदने वाले व्यक्ति ने नाम प्रकाशित नहीं करने की शर्त पर बताया कि  एक मेडिकल स्टोर्सवाले ने कहाकि तीन बत्ती से होकर आता हूं। आधे घण्टे बाद आया ओर बोला कि 4200 रू. में मिलेगा। मजबूरी थी,इसलिए ऐसे चार इंजेक्शन खरीद लिए।   रेमडेसिविर की तरह लिखने लगे इसे डॉक्टर्स शहर के अनेक मेडिकल स्टोर्स से यह बात निकलकर सामने आ रही है कि जिस प्रकार से कोरोना को लेकर डॉक्टर्स ने पर्चे पर रेमडेसीवर इंजेक्शन लिखना शुरू कर दिया था (उन्हें पता था कि यह बाजार में उपलब्ध नहीं है),ठीक उसी प्रकार से अब नेत्र रोग चिकित्सकों ने उक्त और अन्य कंटेंटवाले इंजेक्शन लिखना शुरू कर दिया है। जबकि उन्हे पता है कि बाजार में ये उपलब्ध नहीं हैं। एक डॉक्टर ने अनौपचारिक चर्चा में कहा कि हमारी मजबूरी है लिखने की। कल से डेथ हो जाए तो डेथ ऑडिट में यह बात आएगी कि उचित उपचार नहीं हुआ,दवाईयां लिखी नहीं गई,दी नहीं गई। इसलिए हमारी ओर से लिख दिया। अब गेंद मरीज के पाले में है।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


ujjain, Injection from Surat, Black Fungus operation, Ujjain for Rs 4200

उज्जैन। ब्लैक फंगस के मामले सामने आने के बाद जहां लोगों में घबराहट है वहीं डॉक्टर्स भी उपचार के लिए आवश्यक इंजेक्शन बाजार में उपलब्ध नहीं होने के कारण परेशान हैं। आर डी गार्डी मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ नेत्र सर्जन डॉ.सुधाकर वैद्य के अनुसार एक मरीज का ऑपरेशन होना  था। परिजनों ने तलाशा और सूरत(गुजरात)से उक्त इंजेक्शन मंगवाया। इसकी कीमत थी मात्र 127 रू.।  यहां यह गौरतलब है कि यही इंजेक्शन शहर में एक व्यक्ति ने   4200 रू. में खरीदा।   इंजेक्शन खरीदने वाले व्यक्ति ने नाम प्रकाशित नहीं करने की शर्त पर बताया कि  एक मेडिकल स्टोर्सवाले ने कहाकि तीन बत्ती से होकर आता हूं। आधे घण्टे बाद आया ओर बोला कि 4200 रू. में मिलेगा। मजबूरी थी,इसलिए ऐसे चार इंजेक्शन खरीद लिए।   रेमडेसिविर की तरह लिखने लगे इसे डॉक्टर्स शहर के अनेक मेडिकल स्टोर्स से यह बात निकलकर सामने आ रही है कि जिस प्रकार से कोरोना को लेकर डॉक्टर्स ने पर्चे पर रेमडेसीवर इंजेक्शन लिखना शुरू कर दिया था (उन्हें पता था कि यह बाजार में उपलब्ध नहीं है),ठीक उसी प्रकार से अब नेत्र रोग चिकित्सकों ने उक्त और अन्य कंटेंटवाले इंजेक्शन लिखना शुरू कर दिया है। जबकि उन्हे पता है कि बाजार में ये उपलब्ध नहीं हैं। एक डॉक्टर ने अनौपचारिक चर्चा में कहा कि हमारी मजबूरी है लिखने की। कल से डेथ हो जाए तो डेथ ऑडिट में यह बात आएगी कि उचित उपचार नहीं हुआ,दवाईयां लिखी नहीं गई,दी नहीं गई। इसलिए हमारी ओर से लिख दिया। अब गेंद मरीज के पाले में है।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


ujjain, Injection from Surat, Black Fungus operation, Ujjain for Rs 4200

उज्जैन। ब्लैक फंगस के मामले सामने आने के बाद जहां लोगों में घबराहट है वहीं डॉक्टर्स भी उपचार के लिए आवश्यक इंजेक्शन बाजार में उपलब्ध नहीं होने के कारण परेशान हैं। आर डी गार्डी मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ नेत्र सर्जन डॉ.सुधाकर वैद्य के अनुसार एक मरीज का ऑपरेशन होना  था। परिजनों ने तलाशा और सूरत(गुजरात)से उक्त इंजेक्शन मंगवाया। इसकी कीमत थी मात्र 127 रू.।  यहां यह गौरतलब है कि यही इंजेक्शन शहर में एक व्यक्ति ने   4200 रू. में खरीदा।   इंजेक्शन खरीदने वाले व्यक्ति ने नाम प्रकाशित नहीं करने की शर्त पर बताया कि  एक मेडिकल स्टोर्सवाले ने कहाकि तीन बत्ती से होकर आता हूं। आधे घण्टे बाद आया ओर बोला कि 4200 रू. में मिलेगा। मजबूरी थी,इसलिए ऐसे चार इंजेक्शन खरीद लिए।   रेमडेसिविर की तरह लिखने लगे इसे डॉक्टर्स शहर के अनेक मेडिकल स्टोर्स से यह बात निकलकर सामने आ रही है कि जिस प्रकार से कोरोना को लेकर डॉक्टर्स ने पर्चे पर रेमडेसीवर इंजेक्शन लिखना शुरू कर दिया था (उन्हें पता था कि यह बाजार में उपलब्ध नहीं है),ठीक उसी प्रकार से अब नेत्र रोग चिकित्सकों ने उक्त और अन्य कंटेंटवाले इंजेक्शन लिखना शुरू कर दिया है। जबकि उन्हे पता है कि बाजार में ये उपलब्ध नहीं हैं। एक डॉक्टर ने अनौपचारिक चर्चा में कहा कि हमारी मजबूरी है लिखने की। कल से डेथ हो जाए तो डेथ ऑडिट में यह बात आएगी कि उचित उपचार नहीं हुआ,दवाईयां लिखी नहीं गई,दी नहीं गई। इसलिए हमारी ओर से लिख दिया। अब गेंद मरीज के पाले में है।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


Bhopal, Less than 8 thousand cases ,corona came, after one month , state

भोपाल। कोरोना संक्रमण की चैन तोड़ने लगाए गए लॉकडाउन और सख्ती का परिणाम अब दिखाई देने लगा है। मध्यप्रदेश में संक्रमितों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। बीते 24 घंटे में प्रदेश में 7,571 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं। एक महीने बाद यह पहला मौका है, जब नए केस 8 हजार से कम आए हैं।   स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार पिछले 10 दिनों से प्रदेश में कोरोना के केस हर दिन कम हो रहे हैं। पॉजिटिविटी रेट 10 दिन में 18 फीसद से घटकर 11 फीसद पर आ गया है। स्वास्थ्य विभाग की ताजा रिपोर्ट के अनुसार 5 जिले दतिया, भिंड, मुरैना, अशोकनगर और गुना में 50-50 से भी कम केस दर्ज किए गए। नए संक्रमितों को मिलाकर प्रदेश में कुल संक्रमित 7 लाख 24 हजार 279 हो गए है। इसमें से 6 लाख 17 हजार 396 संक्रमित कोरोना को मात देकर ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में अब तक कोरोना से 6 हजार 913 मौतें हो चुकी हैं। इसमें 14 मई को हुई 72 मौतें भी शामिल हैं।    गौरतलब है कि कोरोना से मई के 14 दिनों में 1,111 मौतें हो चुकी हैं। हालांकि पॉजिटिविटी रेट लगातार कम होता जा रहा है। 14 मई को यह 11 फीसद पर आ गया है। 13 मई को 12 फीसद दर्ज किया गया था। जो मई के शुरुआत में 25 फीसद तक पहुंच गया था।   मध्यप्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 99 970 पर पहुंच गई है। बीते 24 घंटे में इंदौर में 1548 , भोपाल में 1241 , ग्वालियर में 376 और जबलपुर में 301 नए संक्रमित मिले हैं। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा भोपाल में 9 मौतें हुईं। इंदौर और ग्वालियर में 8-8 और जबलपुर में 3 लोगों की कोरोना के कारण मौत हुई है।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


bhopal, Effect of storm , MP season, thunderstorm and rain , Gwalior-Chambal

भोपाल। अरब सागर में बन रहा चक्रवाती तूफान टाक्टे अवदाब के क्षेत्र से अब चक्रवात के रूप में बदल गया है। इस सिस्टम के लगभग 24 घंटे समुद्र में रहकर काफी ऊर्जा जुटाने के बाद इस उत्तर, उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढऩे की संभावना है। 16 मई को इसके गुजरात के तट पर टकराने के आसार दिख रहे हैं। इसके प्रभाव से शनिवार से राजधानी सहित मध्य प्रदेश के कई जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पडऩे का सिलसिला शुरू हो सकता है। 18-19 मई को पूरे मध्य प्रदेश में तेज हवाएं चलने के साथ बरसात हो सकती है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में पाकिस्तान पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इस चक्रवात से उत्तरप्रदेश तक एक द्रोणिका लाइन (ट्रफ) बनी हुई है। विदर्भ पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। साथ ही अरब सागर में उठ रहे तूफान के कारण मची हलचल से वातावरण में लगातार मिल रही नमी से शनिवार से राजधानी सहित ग्वालियर, चंबल, संभाग के जिलों में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बारिश होने के आसार हैं।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


bhopal,8419 new cases ,corona revealed,MP, 74 people died

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के नये मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 8419 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 74 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 07 लाख, 08 हजार, 621 और मृतकों की संख्या 6753 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा गुरुवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई। नये मामलों में इंदौर- 1577, भोपाल- 1196, ग्वालियर- 548, जबलपुर- 470, उज्जैन- 276, सागर- 252, खरगौन- 111, रतलाम- 305, रीवा- 232, बैतूल- 138, विदिशा- 98, धार- 126, सतना- 129, नरसिंहपुर- 148, होशंगाबाद- 87, बड़वानी- 25, शिवपुरी- 225, कटनी- 96, शहडोल- 131, बालाघाट- 147, झाबुआ- 20, सीहोर- 89, छिंदवाड़ा- 36, राजगढ़- 96, रायसेन- 117, मुरैना- 54, नीमच- 52, मंदसौर- 131, देवास- 73, दमोह- 130, शाजापुर- 57, छतरपुर- 65, अनूपपुर- 111, सिंगरौली- 120, सिवनी- 71, सीधी- 132, टीकमगढ़- 79, दतिया-84, गुना- 22, खंडवा- 16, पन्ना- 92, उमरिया- 75, हरदा- 71, मंडला- 71, अलिराजपुर- 08, डिंडौरी- 36, अशोकनगर-32, श्योपुर- 49, भिंड- 16, बुरहानपुर- 14, आगरमालवा- 47, निवाड़ी- 36 मरीज मिले हैं। आज प्रदेश के सभी 52 जिलों में कोरोना के प्रकरण पाये गए।बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 66,206 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 8419 पॉजिटिव और 57,787 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 285 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 12.7 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 07,08, 621 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 133284, भोपाल- 109742, ग्वालियर- 50045, जबलपुर- 45671, उज्जैन- 16569, सागर- 14129, खरगौन- 12729, रतलाम- 15385, रीवा- 14355, बैतूल- 11569, विदिशा- 10998, धार- 11409, सतना- 10987, नरसिंहपुर- 10311, बड़वानी- 8056, होशंगाबाद- 9671, शिवपुरी- 11110, कटनी- 8699, बालाघाट- 8147, शहडोल- 9065, छिंदवाड़ा- 6297, झाबुआ- 7495, सिहोर- 9041, राजगढ़- 7708, रायसेन- 8200, नीमच- 7276, मुरैना- 7603, मंदसौर- 7636, देवास- 6921, शाजापुर- 5743, दमोह- 6827, छतरपुर- 7136, अनूपपुर- 7832, सिवनी- 6125, सिंगरौली- 7851, सीधी- 8079, टीकमगढ़- 6503, दतिया- 6505, खंडवा- 3925, गुना- 4725, पन्ना- 6503, उमरिया- 5449, हरदा- 4700, मंडला- 4792, अलिराजपुर- 3397, डिंडौरी- 3976, अशोकनगर- 3335, श्योपुर- 3573, भिंड- 2766, बुरहानपुर- 2447, आगरमालवा- 2921, निवाड़ी- 3403 मरीज शामिल हैं।राज्य में आज कोरोना से 74 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर में नौ, भोपाल, जबलपुर और रतलाम में पांच, ग्वालियर में आठ, खरगौन, कटनी, टीकमगढ़, शाजापुर और हरदा में तीन, उज्जैन, रीवा, सागर, बैतूल, शिवपुरी, रायसेन, सीधी, पन्ना, निवाड़ी और अलिराजपुर में दो, धार, सतना, नरसिंहपुर, बालाघाट, बड़वानी, डिंडौरी और भिंड जिले के एक-एक मरीज शामिल है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढक़र 6753 हो गई है।    मृतकों में सबसे अधिक इंदौर- 1236, भोपाल- 822, ग्वालियर- 456, जबलपुर- 503, उज्जैन- 156, सागर- 201, खरगौन- 199, रतलाम- 249, रीवा- 67, बैतूल- 156, विदिशा- 151, धार- 119, सतना- 88, नरसिंहपुर- 61, बड़वानी- 63, होशंगाबाद- 97, शिवपुरी- 63, कटनी- 74, बालाघाट- 49, शहडोल- 103, छिंदवाड़ा- 113, झाबुआ- 43, सिहोर- 49, राजगढ़- 110, रायसेन- 136, नीमच- 84, मुरैना- 55, मंदसौर- 64, देवास- 42, शाजापुर- 49, दमोह- 115, छतरपुर- 73, अनूपपुर- 61, सिवनी- 25, सिंगरौली- 63, सीधी- 55, टीकमगढ़- 85, दतिया- 71, खंडवा- 88, गुना- 44, पन्ना- 35, उमरिया- 52, हरदा- 62, मंडला- 16, अलिराजपुर- 44, डिंडौरी- 21, अशोकनगर- 21, श्योपुर- 48, भिंड- 19, बुरहानपुर- 35, आगरमालवा- 29, निवाड़ी- 32 व्यक्ति शामिल है।बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 5,93,752 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 10157 मरीज गुरुवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण बढक़र 108116 हो गए हैं। बता दें कि मप्र में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण लगातार बढ़ते जा रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2021


bhopal,8419 new cases ,corona revealed,MP, 74 people died

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के नये मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 8419 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 74 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 07 लाख, 08 हजार, 621 और मृतकों की संख्या 6753 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा गुरुवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई। नये मामलों में इंदौर- 1577, भोपाल- 1196, ग्वालियर- 548, जबलपुर- 470, उज्जैन- 276, सागर- 252, खरगौन- 111, रतलाम- 305, रीवा- 232, बैतूल- 138, विदिशा- 98, धार- 126, सतना- 129, नरसिंहपुर- 148, होशंगाबाद- 87, बड़वानी- 25, शिवपुरी- 225, कटनी- 96, शहडोल- 131, बालाघाट- 147, झाबुआ- 20, सीहोर- 89, छिंदवाड़ा- 36, राजगढ़- 96, रायसेन- 117, मुरैना- 54, नीमच- 52, मंदसौर- 131, देवास- 73, दमोह- 130, शाजापुर- 57, छतरपुर- 65, अनूपपुर- 111, सिंगरौली- 120, सिवनी- 71, सीधी- 132, टीकमगढ़- 79, दतिया-84, गुना- 22, खंडवा- 16, पन्ना- 92, उमरिया- 75, हरदा- 71, मंडला- 71, अलिराजपुर- 08, डिंडौरी- 36, अशोकनगर-32, श्योपुर- 49, भिंड- 16, बुरहानपुर- 14, आगरमालवा- 47, निवाड़ी- 36 मरीज मिले हैं। आज प्रदेश के सभी 52 जिलों में कोरोना के प्रकरण पाये गए।बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 66,206 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 8419 पॉजिटिव और 57,787 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 285 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 12.7 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 07,08, 621 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 133284, भोपाल- 109742, ग्वालियर- 50045, जबलपुर- 45671, उज्जैन- 16569, सागर- 14129, खरगौन- 12729, रतलाम- 15385, रीवा- 14355, बैतूल- 11569, विदिशा- 10998, धार- 11409, सतना- 10987, नरसिंहपुर- 10311, बड़वानी- 8056, होशंगाबाद- 9671, शिवपुरी- 11110, कटनी- 8699, बालाघाट- 8147, शहडोल- 9065, छिंदवाड़ा- 6297, झाबुआ- 7495, सिहोर- 9041, राजगढ़- 7708, रायसेन- 8200, नीमच- 7276, मुरैना- 7603, मंदसौर- 7636, देवास- 6921, शाजापुर- 5743, दमोह- 6827, छतरपुर- 7136, अनूपपुर- 7832, सिवनी- 6125, सिंगरौली- 7851, सीधी- 8079, टीकमगढ़- 6503, दतिया- 6505, खंडवा- 3925, गुना- 4725, पन्ना- 6503, उमरिया- 5449, हरदा- 4700, मंडला- 4792, अलिराजपुर- 3397, डिंडौरी- 3976, अशोकनगर- 3335, श्योपुर- 3573, भिंड- 2766, बुरहानपुर- 2447, आगरमालवा- 2921, निवाड़ी- 3403 मरीज शामिल हैं।राज्य में आज कोरोना से 74 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर में नौ, भोपाल, जबलपुर और रतलाम में पांच, ग्वालियर में आठ, खरगौन, कटनी, टीकमगढ़, शाजापुर और हरदा में तीन, उज्जैन, रीवा, सागर, बैतूल, शिवपुरी, रायसेन, सीधी, पन्ना, निवाड़ी और अलिराजपुर में दो, धार, सतना, नरसिंहपुर, बालाघाट, बड़वानी, डिंडौरी और भिंड जिले के एक-एक मरीज शामिल है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढक़र 6753 हो गई है।    मृतकों में सबसे अधिक इंदौर- 1236, भोपाल- 822, ग्वालियर- 456, जबलपुर- 503, उज्जैन- 156, सागर- 201, खरगौन- 199, रतलाम- 249, रीवा- 67, बैतूल- 156, विदिशा- 151, धार- 119, सतना- 88, नरसिंहपुर- 61, बड़वानी- 63, होशंगाबाद- 97, शिवपुरी- 63, कटनी- 74, बालाघाट- 49, शहडोल- 103, छिंदवाड़ा- 113, झाबुआ- 43, सिहोर- 49, राजगढ़- 110, रायसेन- 136, नीमच- 84, मुरैना- 55, मंदसौर- 64, देवास- 42, शाजापुर- 49, दमोह- 115, छतरपुर- 73, अनूपपुर- 61, सिवनी- 25, सिंगरौली- 63, सीधी- 55, टीकमगढ़- 85, दतिया- 71, खंडवा- 88, गुना- 44, पन्ना- 35, उमरिया- 52, हरदा- 62, मंडला- 16, अलिराजपुर- 44, डिंडौरी- 21, अशोकनगर- 21, श्योपुर- 48, भिंड- 19, बुरहानपुर- 35, आगरमालवा- 29, निवाड़ी- 32 व्यक्ति शामिल है।बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 5,93,752 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 10157 मरीज गुरुवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण बढक़र 108116 हो गए हैं। बता दें कि मप्र में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण लगातार बढ़ते जा रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2021


bhopal,8419 new cases ,corona revealed,MP, 74 people died

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के नये मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 8419 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 74 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 07 लाख, 08 हजार, 621 और मृतकों की संख्या 6753 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा गुरुवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई। नये मामलों में इंदौर- 1577, भोपाल- 1196, ग्वालियर- 548, जबलपुर- 470, उज्जैन- 276, सागर- 252, खरगौन- 111, रतलाम- 305, रीवा- 232, बैतूल- 138, विदिशा- 98, धार- 126, सतना- 129, नरसिंहपुर- 148, होशंगाबाद- 87, बड़वानी- 25, शिवपुरी- 225, कटनी- 96, शहडोल- 131, बालाघाट- 147, झाबुआ- 20, सीहोर- 89, छिंदवाड़ा- 36, राजगढ़- 96, रायसेन- 117, मुरैना- 54, नीमच- 52, मंदसौर- 131, देवास- 73, दमोह- 130, शाजापुर- 57, छतरपुर- 65, अनूपपुर- 111, सिंगरौली- 120, सिवनी- 71, सीधी- 132, टीकमगढ़- 79, दतिया-84, गुना- 22, खंडवा- 16, पन्ना- 92, उमरिया- 75, हरदा- 71, मंडला- 71, अलिराजपुर- 08, डिंडौरी- 36, अशोकनगर-32, श्योपुर- 49, भिंड- 16, बुरहानपुर- 14, आगरमालवा- 47, निवाड़ी- 36 मरीज मिले हैं। आज प्रदेश के सभी 52 जिलों में कोरोना के प्रकरण पाये गए।बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 66,206 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 8419 पॉजिटिव और 57,787 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 285 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 12.7 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 07,08, 621 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 133284, भोपाल- 109742, ग्वालियर- 50045, जबलपुर- 45671, उज्जैन- 16569, सागर- 14129, खरगौन- 12729, रतलाम- 15385, रीवा- 14355, बैतूल- 11569, विदिशा- 10998, धार- 11409, सतना- 10987, नरसिंहपुर- 10311, बड़वानी- 8056, होशंगाबाद- 9671, शिवपुरी- 11110, कटनी- 8699, बालाघाट- 8147, शहडोल- 9065, छिंदवाड़ा- 6297, झाबुआ- 7495, सिहोर- 9041, राजगढ़- 7708, रायसेन- 8200, नीमच- 7276, मुरैना- 7603, मंदसौर- 7636, देवास- 6921, शाजापुर- 5743, दमोह- 6827, छतरपुर- 7136, अनूपपुर- 7832, सिवनी- 6125, सिंगरौली- 7851, सीधी- 8079, टीकमगढ़- 6503, दतिया- 6505, खंडवा- 3925, गुना- 4725, पन्ना- 6503, उमरिया- 5449, हरदा- 4700, मंडला- 4792, अलिराजपुर- 3397, डिंडौरी- 3976, अशोकनगर- 3335, श्योपुर- 3573, भिंड- 2766, बुरहानपुर- 2447, आगरमालवा- 2921, निवाड़ी- 3403 मरीज शामिल हैं।राज्य में आज कोरोना से 74 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर में नौ, भोपाल, जबलपुर और रतलाम में पांच, ग्वालियर में आठ, खरगौन, कटनी, टीकमगढ़, शाजापुर और हरदा में तीन, उज्जैन, रीवा, सागर, बैतूल, शिवपुरी, रायसेन, सीधी, पन्ना, निवाड़ी और अलिराजपुर में दो, धार, सतना, नरसिंहपुर, बालाघाट, बड़वानी, डिंडौरी और भिंड जिले के एक-एक मरीज शामिल है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढक़र 6753 हो गई है।    मृतकों में सबसे अधिक इंदौर- 1236, भोपाल- 822, ग्वालियर- 456, जबलपुर- 503, उज्जैन- 156, सागर- 201, खरगौन- 199, रतलाम- 249, रीवा- 67, बैतूल- 156, विदिशा- 151, धार- 119, सतना- 88, नरसिंहपुर- 61, बड़वानी- 63, होशंगाबाद- 97, शिवपुरी- 63, कटनी- 74, बालाघाट- 49, शहडोल- 103, छिंदवाड़ा- 113, झाबुआ- 43, सिहोर- 49, राजगढ़- 110, रायसेन- 136, नीमच- 84, मुरैना- 55, मंदसौर- 64, देवास- 42, शाजापुर- 49, दमोह- 115, छतरपुर- 73, अनूपपुर- 61, सिवनी- 25, सिंगरौली- 63, सीधी- 55, टीकमगढ़- 85, दतिया- 71, खंडवा- 88, गुना- 44, पन्ना- 35, उमरिया- 52, हरदा- 62, मंडला- 16, अलिराजपुर- 44, डिंडौरी- 21, अशोकनगर- 21, श्योपुर- 48, भिंड- 19, बुरहानपुर- 35, आगरमालवा- 29, निवाड़ी- 32 व्यक्ति शामिल है।बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 5,93,752 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 10157 मरीज गुरुवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण बढक़र 108116 हो गए हैं। बता दें कि मप्र में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण लगातार बढ़ते जा रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2021


ratlam,Jabalpur-Indore ,Special Express ,canceled until further order

रतलाम।  पश्चिम रेलवे रतलाम मंडल के इंदौर से जबलपुर के मध्य चलने वाली गाड़ी संख्या 02292/02291 जबलपुर-इंदौर-जबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस अगले आदेश तक निरस्त रहेगी।    मंडल रेल प्रवक्ता जितेन्द्र कुमार जयंत ने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में कोरोना संक्रमण के कारण गाडियों में यात्रियों  की कम संख्या को देखते हुए कई गाडियों को निरस्त किया गया है। इसी क्रम में गाड़ी संख्या 02292/02291 जबलपुर इंदौर जबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस को अगले आदेश तक निरस्त  किया गया है। गाड़ी संख्या 02292 जबलपुर इंदौर स्पेशल एक्सप्रेस 13 मई  से तथा गाड़ी संख्या 02291 इंदौर जबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस, 14 मई से अगले आदेश तक निरस्त रहेगी।   

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


ratlam,Jabalpur-Indore ,Special Express ,canceled until further order

रतलाम।  पश्चिम रेलवे रतलाम मंडल के इंदौर से जबलपुर के मध्य चलने वाली गाड़ी संख्या 02292/02291 जबलपुर-इंदौर-जबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस अगले आदेश तक निरस्त रहेगी।    मंडल रेल प्रवक्ता जितेन्द्र कुमार जयंत ने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में कोरोना संक्रमण के कारण गाडियों में यात्रियों  की कम संख्या को देखते हुए कई गाडियों को निरस्त किया गया है। इसी क्रम में गाड़ी संख्या 02292/02291 जबलपुर इंदौर जबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस को अगले आदेश तक निरस्त  किया गया है। गाड़ी संख्या 02292 जबलपुर इंदौर स्पेशल एक्सप्रेस 13 मई  से तथा गाड़ी संख्या 02291 इंदौर जबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस, 14 मई से अगले आदेश तक निरस्त रहेगी।   

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


ratlam,Jabalpur-Indore ,Special Express ,canceled until further order

रतलाम।  पश्चिम रेलवे रतलाम मंडल के इंदौर से जबलपुर के मध्य चलने वाली गाड़ी संख्या 02292/02291 जबलपुर-इंदौर-जबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस अगले आदेश तक निरस्त रहेगी।    मंडल रेल प्रवक्ता जितेन्द्र कुमार जयंत ने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में कोरोना संक्रमण के कारण गाडियों में यात्रियों  की कम संख्या को देखते हुए कई गाडियों को निरस्त किया गया है। इसी क्रम में गाड़ी संख्या 02292/02291 जबलपुर इंदौर जबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस को अगले आदेश तक निरस्त  किया गया है। गाड़ी संख्या 02292 जबलपुर इंदौर स्पेशल एक्सप्रेस 13 मई  से तथा गाड़ी संख्या 02291 इंदौर जबलपुर स्पेशल एक्सप्रेस, 14 मई से अगले आदेश तक निरस्त रहेगी।   

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal, Madhya Pradesh,Petrol prices ,exceed hundred , many cities

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में बुधवार कई जगह पेट्रोल कीमतों ने 100 से ऊपर 102 रुपए की कीमत को भी पार कर लिया। राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के बड़े शहरों इंदौर, जबलपुर और ग्‍वालियर में जहां प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत 100 रुपये से अधिक है, वहीं राज्‍य के दो जिले शहडोल और अनूपपुर में पेट्रोल के दाम 102 रुपये से ऊपर पहुंच गया है।    इंडियन आयल कार्पोरेशन की वेबसाइट पर दिए बुधवार सुबह के आंकड़ों के अनुसार राजधानी भोपाल में पेट्रोल प्रति लीटर कीमत 100.08 रुपए और डीजल - 90.95 प्रति लीटर पर दिया जा रहा है। वहीं इंदौर में पेट्रोल के दाम 100 रुपये 16 पैसे प्रति लीटर हो गए हैं तो डीजल 91 रुपये चार पैसे प्रति लीटर पर पर है। इसी तरह से प्रदेश के बड़े महानगरों में ग्वालियर के दाम देखें तो पेट्रोल 100.04 प्रति लीटर और डीजल - 90.91 प्रति लीटर है। ऐसे ही प्रदेश की संस्‍कारधानी जबलपुर में भी पेट्रोल प्रति लीटर  100.12  और डीजल - 91.00 प्रति लीटर है।    उल्‍लेखनीय है कि प्रदेश के दो जिलों शहडोल और अनूपपुर में पेट्रोल के दाम 102 रुपये से ऊपर हैं। यह भाव मंगलवार रात 12 बजे से लागू हो गए थे। जबकि पेट्रो कीमतों ने अपना शतक मंगलवार को ही लगा दिया था। अब डीजल भी शतक से सिर्फ नौ रुपये दूर है।   उधर, प्रदेश के बाहर यदि देश के बड़े महानगरों की बात करें तो देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल और डीजल के दाम 25-25 पैसे बढ़कर क्रमश: 92.05 रुपये और 82.61 रुपये प्रति लीटर पर पहुंचे हैं । यह पहली बार है कि राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल 92 रुपये के पार निकला है। इसी तरह से कोलकाता में पहली बार पेट्रोल का मूल्य 92 रुपये प्रति लीटर व चेन्नई में 93 रुपये के पार निकल गया है। मुंबई में पेट्रोल 98.36 रुपये और डीजल भी 90 रुपये प्रति​ लीटर के करीब पहुंच गया है ।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal, Madhya Pradesh,Petrol prices ,exceed hundred , many cities

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में बुधवार कई जगह पेट्रोल कीमतों ने 100 से ऊपर 102 रुपए की कीमत को भी पार कर लिया। राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के बड़े शहरों इंदौर, जबलपुर और ग्‍वालियर में जहां प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत 100 रुपये से अधिक है, वहीं राज्‍य के दो जिले शहडोल और अनूपपुर में पेट्रोल के दाम 102 रुपये से ऊपर पहुंच गया है।    इंडियन आयल कार्पोरेशन की वेबसाइट पर दिए बुधवार सुबह के आंकड़ों के अनुसार राजधानी भोपाल में पेट्रोल प्रति लीटर कीमत 100.08 रुपए और डीजल - 90.95 प्रति लीटर पर दिया जा रहा है। वहीं इंदौर में पेट्रोल के दाम 100 रुपये 16 पैसे प्रति लीटर हो गए हैं तो डीजल 91 रुपये चार पैसे प्रति लीटर पर पर है। इसी तरह से प्रदेश के बड़े महानगरों में ग्वालियर के दाम देखें तो पेट्रोल 100.04 प्रति लीटर और डीजल - 90.91 प्रति लीटर है। ऐसे ही प्रदेश की संस्‍कारधानी जबलपुर में भी पेट्रोल प्रति लीटर  100.12  और डीजल - 91.00 प्रति लीटर है।    उल्‍लेखनीय है कि प्रदेश के दो जिलों शहडोल और अनूपपुर में पेट्रोल के दाम 102 रुपये से ऊपर हैं। यह भाव मंगलवार रात 12 बजे से लागू हो गए थे। जबकि पेट्रो कीमतों ने अपना शतक मंगलवार को ही लगा दिया था। अब डीजल भी शतक से सिर्फ नौ रुपये दूर है।   उधर, प्रदेश के बाहर यदि देश के बड़े महानगरों की बात करें तो देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल और डीजल के दाम 25-25 पैसे बढ़कर क्रमश: 92.05 रुपये और 82.61 रुपये प्रति लीटर पर पहुंचे हैं । यह पहली बार है कि राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल 92 रुपये के पार निकला है। इसी तरह से कोलकाता में पहली बार पेट्रोल का मूल्य 92 रुपये प्रति लीटर व चेन्नई में 93 रुपये के पार निकल गया है। मुंबई में पेट्रोल 98.36 रुपये और डीजल भी 90 रुपये प्रति​ लीटर के करीब पहुंच गया है ।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal, Madhya Pradesh,Petrol prices ,exceed hundred , many cities

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में बुधवार कई जगह पेट्रोल कीमतों ने 100 से ऊपर 102 रुपए की कीमत को भी पार कर लिया। राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के बड़े शहरों इंदौर, जबलपुर और ग्‍वालियर में जहां प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत 100 रुपये से अधिक है, वहीं राज्‍य के दो जिले शहडोल और अनूपपुर में पेट्रोल के दाम 102 रुपये से ऊपर पहुंच गया है।    इंडियन आयल कार्पोरेशन की वेबसाइट पर दिए बुधवार सुबह के आंकड़ों के अनुसार राजधानी भोपाल में पेट्रोल प्रति लीटर कीमत 100.08 रुपए और डीजल - 90.95 प्रति लीटर पर दिया जा रहा है। वहीं इंदौर में पेट्रोल के दाम 100 रुपये 16 पैसे प्रति लीटर हो गए हैं तो डीजल 91 रुपये चार पैसे प्रति लीटर पर पर है। इसी तरह से प्रदेश के बड़े महानगरों में ग्वालियर के दाम देखें तो पेट्रोल 100.04 प्रति लीटर और डीजल - 90.91 प्रति लीटर है। ऐसे ही प्रदेश की संस्‍कारधानी जबलपुर में भी पेट्रोल प्रति लीटर  100.12  और डीजल - 91.00 प्रति लीटर है।    उल्‍लेखनीय है कि प्रदेश के दो जिलों शहडोल और अनूपपुर में पेट्रोल के दाम 102 रुपये से ऊपर हैं। यह भाव मंगलवार रात 12 बजे से लागू हो गए थे। जबकि पेट्रो कीमतों ने अपना शतक मंगलवार को ही लगा दिया था। अब डीजल भी शतक से सिर्फ नौ रुपये दूर है।   उधर, प्रदेश के बाहर यदि देश के बड़े महानगरों की बात करें तो देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल और डीजल के दाम 25-25 पैसे बढ़कर क्रमश: 92.05 रुपये और 82.61 रुपये प्रति लीटर पर पहुंचे हैं । यह पहली बार है कि राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल 92 रुपये के पार निकला है। इसी तरह से कोलकाता में पहली बार पेट्रोल का मूल्य 92 रुपये प्रति लीटर व चेन्नई में 93 रुपये के पार निकल गया है। मुंबई में पेट्रोल 98.36 रुपये और डीजल भी 90 रुपये प्रति​ लीटर के करीब पहुंच गया है ।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


jabalpur,Five patients died, negligence ,Galaxy hospital management

जबलपुर। शहर के एक अस्पताल में हाल ही में ऑक्सीजन सप्लाई बाधित होने के कारण पांच मरीजों की मौत हो गई थी। इस मामले की जांच के लिए कलेक्टर द्वारा गठित जांच समिति ने रविवार देर रात अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत कर दी है। इसके अनुसार अस्पताल में मौतें प्रबंधन की लापरवाही की वजह से हुई थी।   प्रदेश के जबलपुर में ऑक्सीजन की कमी से 5 कोविड मरीजों की मौत गैलेक्सी अस्पताल की लापरवाही से हुई थी। काफी किरकिरी के बाद समिति ने रविवार देर रात अपना जांच प्रतिवेदन कलेक्टर को सौंप दिया। इसमें खुलासा हुआ है कि मरीजों को तड़पता छोड़ कर डॉक्टर और स्टाफ भाग गए थे। ऑक्सीजन सुपरवाइजर प्रशिक्षित नहीं था। जांच रिपोर्ट के बाद प्रभारी सीएमएचओ डॉक्टर संजय मिश्रा ने जिम्मेदार अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए हैं। सीएमएचओ डॉक्टर मिश्रा ने अपने आदेश में अस्पताल में तत्काल कोविड के नए मरीजों की भर्ती पर रोक लगा दी है। वहीं अस्पताल में कोविड मरीजों के इलाज संबंधी अनुमति भी निरस्त कर दी गई है। वर्तमान में जो भी कोविड के मरीज भर्ती हैं, उनका उपचार करने के बाद डिस्चार्ज करने का आदेश दिया गया है।   गौरतलब है कि 22 अप्रैल की देर रात दो बजे के लगभग गैलेक्सी हॉस्पिटल में ऑक्सीजन समाप्त होने के चलते पांच मरीजों पटेलनगर निवासी अनिल शर्मा (49), विजयनगर निवासी देवेंद्र कुररिया (58), गाडरवारा नरसिंहपुर निवासी गोमती राय (65), नरसिंहपुर निवासी प्रमिला तिवारी (48) और छिंदवाड़ा निवासी आनंद शर्मा (47) की मौत हो गई थी। इस मामले में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने संयुक्त कलेक्टर शाहिद खान की अगुवाई में जांच समिति गठित की थी। प्रशासन ने समिति गठित कर 24 घंटे में घटना की जांच करने की बात कही थी, लेकिन 16 दिन तक खामोश रहे। इस बीच अस्पताल की ओर से रेडक्रास को 25 लाख रुपये दान दे दिया गया। इस मामले में जब प्रशासन की किरकिरी होने लगी, तो 17वें दिन रविवार को किरकिरी के बाद देर रात रिपोर्ट प्रस्तुत की गई।

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2021


indore,1627 new cases , corona found ,eight people also died

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1627 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से आठ लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढकऱ करीब 1,28,459 और मृतकों की संख्या 1212 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने सोमवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा रविवार देर रात 9903 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1627 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 28 हजार 459 हो गई है।    वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से आठ मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1212 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 1024 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 10 हजार 370 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 16, 877 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2021


annuppur, Rain and hail ,accompanied, strong winds, blown houses

अनूपपुर। जिले में गुरुवार की चली आंधी और बारिश से नगरवासियों ने अभी राहत नहीं पाई थी कि शुक्रवार की दोपहर तूफानी हवाओं के साथ बारिश और ओलावृष्टि ने फिर से जनजीवन को प्रभावित किया है। दोपहर 2.30 बजे अचानक तूफानी हवाओं के साथ तेज बारिश और ओलावृष्टि हुई। जिसमें चारो दिशाओं से हवाओं के थपेडें के साथ बारिश और ओला गिरे। इससे से जहां घरों के छप्पर उड़ गए, वही बारिश और ओलावृष्टि से आम और टमाटर सहित अन्य नगदी फसलो को नुकसान पहुंचा है। जबकि परसवार गांव के पास उच्च क्षमता की बिजली की तार पर पेड़ गिरने से अनूपपुर नगरीय क्षेत्र सहित ग्रामीण क्षेत्रो में ब्लैकआउट बन रहा जहां लोगों को शनिवार दोपहर तक विद्युत आपूर्ती पूरी तरह से बहाल नहीं हो सकी। इस दौरान पुष्पराजगढ़ में आकाशीय बिजली गिरने से 2 बैलों की मौत हो गई। तूफानी हवाओं सहित जोरदार बारिश और ओलावृष्टि का सिलसिला घंटाभर चला। हालांकि इसके बाद भी रुक रुक कर बारिश होने का दौर शनिवार की सुबह तक जारी रहा। ओलावृष्टि और बारिश से वातावरण ठंडा हो गया। शाम तक आसमान में काले बादल छाए रहे। बारिश से लोगों ने राहत महसूस की, वही लोगों को तूफान और ओलावृष्टि से अधिक नुकसान उठाना पड़ा। इस दौरान   बताया जाता है कि तूफान के साथ बारिश और ओलावृष्टि सीमित क्षेत्रो में ही हुआ। जिसमें अनूपपुर नगरीय क्षेत्र सहित आसपास के गांव सर्वाधिक प्रभावित हुए। जबकि राजेन्द्रग्राम, बिजुरी में तेज बारिश हुई, यहां ओलावृष्टि नहीं हुई। वहीं अमरकंटक,पसान नगरीय क्षेत्र में दोपहर समय न तो बारिश हुई और न ओलावृष्टि हुई। कृषि विभाग उपसंचालक एनडी गुप्ता ने बताया कि बेमौसम हुई बारिश और ओलावृष्टि से नगदी फसलों खासकर सब्जी की फसल को नुकसान हुआ है। टमाटर की फले चोटिल हो गई है। जबकि अधिक पानी के कारण उनके पौधों और फल को अधिक नुकसान पहुंचा है। हालांकि अभी भी कुछ स्थानों पर गेहूं की कटाई शेष है। यह लगभग 5-7 फीसदी होगा। लेकिन बारिश से किसानों को नुकसान हुआ है।   घरों के उड़े छप्पर और पानी टंकी   तेज हवा और बारिश में आधा सैकड़ा घरों के छप्पर उडने के अनुमान लगाए जा रहे हैं। नगरपालिका अनूपपुर वार्ड 14 स्थित नपा फायर ब्रिगेड वाहन चालक शिवमोहन सिंह के घर की सीमेंट वाली चादर पूरी तरह उड़ गई, जिसमें 50 हजार के नुकसान की आशंका बताई जा रही है। वही सैकड़ों घरों दुकानों की छत एवं घरों के उपर रखी पानी टंकी हवा में उड़ गई। जिसके कारण उन घरों में पानी स्टोर की समस्या बन गई है।   नगर सहित ग्रामीण अंचल में ब्लैकआउट अनूपपुर उपकेंद्र के परसवार में पेड़ गिरने और 7 खम्बो के क्षतिग्रस्त से जहां गुरुवार को 3 घंटे का ब्लैकआउट बना। वही शुक्रवार को दर्जनभर स्थानों पर बिजली के तार टूटने और पेड़ गिरने से फिर से अनूपपुर 10 घंटे का ब्लैकआउट बन गया है। देर रात बिजली आपूर्ति की कुछ स्थानों में हुई शनिवार दोपहर पूरे शहर में विद्युत आपूर्ती पूरी तरह से बहाल नहीं हो सकी। है। बिजली के अभाव में नगरीय क्षेत्रों सहित ग्रामीण अंचलों में अंधेरा पसरा रहा, वहीं नगरीय क्षेत्रों में घरों में पानी की सप्लाय नहीं हो सकी, जिससे नगरवासियों को पानी के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ा। बिजली गुल होने के कारण पानी टैंकर से भी घरों तक पानी की आपूर्ति नहीं हो सकी।

Dakhal News

Dakhal News 8 May 2021


annuppur, Rain and hail ,accompanied, strong winds, blown houses

अनूपपुर। जिले में गुरुवार की चली आंधी और बारिश से नगरवासियों ने अभी राहत नहीं पाई थी कि शुक्रवार की दोपहर तूफानी हवाओं के साथ बारिश और ओलावृष्टि ने फिर से जनजीवन को प्रभावित किया है। दोपहर 2.30 बजे अचानक तूफानी हवाओं के साथ तेज बारिश और ओलावृष्टि हुई। जिसमें चारो दिशाओं से हवाओं के थपेडें के साथ बारिश और ओला गिरे। इससे से जहां घरों के छप्पर उड़ गए, वही बारिश और ओलावृष्टि से आम और टमाटर सहित अन्य नगदी फसलो को नुकसान पहुंचा है। जबकि परसवार गांव के पास उच्च क्षमता की बिजली की तार पर पेड़ गिरने से अनूपपुर नगरीय क्षेत्र सहित ग्रामीण क्षेत्रो में ब्लैकआउट बन रहा जहां लोगों को शनिवार दोपहर तक विद्युत आपूर्ती पूरी तरह से बहाल नहीं हो सकी। इस दौरान पुष्पराजगढ़ में आकाशीय बिजली गिरने से 2 बैलों की मौत हो गई। तूफानी हवाओं सहित जोरदार बारिश और ओलावृष्टि का सिलसिला घंटाभर चला। हालांकि इसके बाद भी रुक रुक कर बारिश होने का दौर शनिवार की सुबह तक जारी रहा। ओलावृष्टि और बारिश से वातावरण ठंडा हो गया। शाम तक आसमान में काले बादल छाए रहे। बारिश से लोगों ने राहत महसूस की, वही लोगों को तूफान और ओलावृष्टि से अधिक नुकसान उठाना पड़ा। इस दौरान   बताया जाता है कि तूफान के साथ बारिश और ओलावृष्टि सीमित क्षेत्रो में ही हुआ। जिसमें अनूपपुर नगरीय क्षेत्र सहित आसपास के गांव सर्वाधिक प्रभावित हुए। जबकि राजेन्द्रग्राम, बिजुरी में तेज बारिश हुई, यहां ओलावृष्टि नहीं हुई। वहीं अमरकंटक,पसान नगरीय क्षेत्र में दोपहर समय न तो बारिश हुई और न ओलावृष्टि हुई। कृषि विभाग उपसंचालक एनडी गुप्ता ने बताया कि बेमौसम हुई बारिश और ओलावृष्टि से नगदी फसलों खासकर सब्जी की फसल को नुकसान हुआ है। टमाटर की फले चोटिल हो गई है। जबकि अधिक पानी के कारण उनके पौधों और फल को अधिक नुकसान पहुंचा है। हालांकि अभी भी कुछ स्थानों पर गेहूं की कटाई शेष है। यह लगभग 5-7 फीसदी होगा। लेकिन बारिश से किसानों को नुकसान हुआ है।   घरों के उड़े छप्पर और पानी टंकी   तेज हवा और बारिश में आधा सैकड़ा घरों के छप्पर उडने के अनुमान लगाए जा रहे हैं। नगरपालिका अनूपपुर वार्ड 14 स्थित नपा फायर ब्रिगेड वाहन चालक शिवमोहन सिंह के घर की सीमेंट वाली चादर पूरी तरह उड़ गई, जिसमें 50 हजार के नुकसान की आशंका बताई जा रही है। वही सैकड़ों घरों दुकानों की छत एवं घरों के उपर रखी पानी टंकी हवा में उड़ गई। जिसके कारण उन घरों में पानी स्टोर की समस्या बन गई है।   नगर सहित ग्रामीण अंचल में ब्लैकआउट अनूपपुर उपकेंद्र के परसवार में पेड़ गिरने और 7 खम्बो के क्षतिग्रस्त से जहां गुरुवार को 3 घंटे का ब्लैकआउट बना। वही शुक्रवार को दर्जनभर स्थानों पर बिजली के तार टूटने और पेड़ गिरने से फिर से अनूपपुर 10 घंटे का ब्लैकआउट बन गया है। देर रात बिजली आपूर्ति की कुछ स्थानों में हुई शनिवार दोपहर पूरे शहर में विद्युत आपूर्ती पूरी तरह से बहाल नहीं हो सकी। है। बिजली के अभाव में नगरीय क्षेत्रों सहित ग्रामीण अंचलों में अंधेरा पसरा रहा, वहीं नगरीय क्षेत्रों में घरों में पानी की सप्लाय नहीं हो सकी, जिससे नगरवासियों को पानी के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ा। बिजली गुल होने के कारण पानी टैंकर से भी घरों तक पानी की आपूर्ति नहीं हो सकी।

Dakhal News

Dakhal News 8 May 2021


annuppur, Rain and hail ,accompanied, strong winds, blown houses

अनूपपुर। जिले में गुरुवार की चली आंधी और बारिश से नगरवासियों ने अभी राहत नहीं पाई थी कि शुक्रवार की दोपहर तूफानी हवाओं के साथ बारिश और ओलावृष्टि ने फिर से जनजीवन को प्रभावित किया है। दोपहर 2.30 बजे अचानक तूफानी हवाओं के साथ तेज बारिश और ओलावृष्टि हुई। जिसमें चारो दिशाओं से हवाओं के थपेडें के साथ बारिश और ओला गिरे। इससे से जहां घरों के छप्पर उड़ गए, वही बारिश और ओलावृष्टि से आम और टमाटर सहित अन्य नगदी फसलो को नुकसान पहुंचा है। जबकि परसवार गांव के पास उच्च क्षमता की बिजली की तार पर पेड़ गिरने से अनूपपुर नगरीय क्षेत्र सहित ग्रामीण क्षेत्रो में ब्लैकआउट बन रहा जहां लोगों को शनिवार दोपहर तक विद्युत आपूर्ती पूरी तरह से बहाल नहीं हो सकी। इस दौरान पुष्पराजगढ़ में आकाशीय बिजली गिरने से 2 बैलों की मौत हो गई। तूफानी हवाओं सहित जोरदार बारिश और ओलावृष्टि का सिलसिला घंटाभर चला। हालांकि इसके बाद भी रुक रुक कर बारिश होने का दौर शनिवार की सुबह तक जारी रहा। ओलावृष्टि और बारिश से वातावरण ठंडा हो गया। शाम तक आसमान में काले बादल छाए रहे। बारिश से लोगों ने राहत महसूस की, वही लोगों को तूफान और ओलावृष्टि से अधिक नुकसान उठाना पड़ा। इस दौरान   बताया जाता है कि तूफान के साथ बारिश और ओलावृष्टि सीमित क्षेत्रो में ही हुआ। जिसमें अनूपपुर नगरीय क्षेत्र सहित आसपास के गांव सर्वाधिक प्रभावित हुए। जबकि राजेन्द्रग्राम, बिजुरी में तेज बारिश हुई, यहां ओलावृष्टि नहीं हुई। वहीं अमरकंटक,पसान नगरीय क्षेत्र में दोपहर समय न तो बारिश हुई और न ओलावृष्टि हुई। कृषि विभाग उपसंचालक एनडी गुप्ता ने बताया कि बेमौसम हुई बारिश और ओलावृष्टि से नगदी फसलों खासकर सब्जी की फसल को नुकसान हुआ है। टमाटर की फले चोटिल हो गई है। जबकि अधिक पानी के कारण उनके पौधों और फल को अधिक नुकसान पहुंचा है। हालांकि अभी भी कुछ स्थानों पर गेहूं की कटाई शेष है। यह लगभग 5-7 फीसदी होगा। लेकिन बारिश से किसानों को नुकसान हुआ है।   घरों के उड़े छप्पर और पानी टंकी   तेज हवा और बारिश में आधा सैकड़ा घरों के छप्पर उडने के अनुमान लगाए जा रहे हैं। नगरपालिका अनूपपुर वार्ड 14 स्थित नपा फायर ब्रिगेड वाहन चालक शिवमोहन सिंह के घर की सीमेंट वाली चादर पूरी तरह उड़ गई, जिसमें 50 हजार के नुकसान की आशंका बताई जा रही है। वही सैकड़ों घरों दुकानों की छत एवं घरों के उपर रखी पानी टंकी हवा में उड़ गई। जिसके कारण उन घरों में पानी स्टोर की समस्या बन गई है।   नगर सहित ग्रामीण अंचल में ब्लैकआउट अनूपपुर उपकेंद्र के परसवार में पेड़ गिरने और 7 खम्बो के क्षतिग्रस्त से जहां गुरुवार को 3 घंटे का ब्लैकआउट बना। वही शुक्रवार को दर्जनभर स्थानों पर बिजली के तार टूटने और पेड़ गिरने से फिर से अनूपपुर 10 घंटे का ब्लैकआउट बन गया है। देर रात बिजली आपूर्ति की कुछ स्थानों में हुई शनिवार दोपहर पूरे शहर में विद्युत आपूर्ती पूरी तरह से बहाल नहीं हो सकी। है। बिजली के अभाव में नगरीय क्षेत्रों सहित ग्रामीण अंचलों में अंधेरा पसरा रहा, वहीं नगरीय क्षेत्रों में घरों में पानी की सप्लाय नहीं हो सकी, जिससे नगरवासियों को पानी के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ा। बिजली गुल होने के कारण पानी टैंकर से भी घरों तक पानी की आपूर्ति नहीं हो सकी।

Dakhal News

Dakhal News 8 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


Indore, 1817 new cases, corona, seven patients died

इंदौर। इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1817 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर करीब 1,18,085 और मृतकों की संख्या 1176 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10015 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1817 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 18 हजार 085 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से सात मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1176 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 582 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख 05 हजार 796 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12930 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


indore,1787 new cases ,corona found , eight people died

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1 हजार,  787 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से आठ लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढकऱ 1 लाख,16 हजार ,280 और मृतकों की संख्या 1 हजार, 163 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज की ओर से रविवार देर रात 10 हजार,491 सेम्पल की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1 हजार, 787 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 16 हजार 280 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से आठ मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1 हजार,163 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 968 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख, 04 हजार 298 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 10 हजार,819 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


indore,1787 new cases ,corona found , eight people died

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1 हजार,  787 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से आठ लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढकऱ 1 लाख,16 हजार ,280 और मृतकों की संख्या 1 हजार, 163 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज की ओर से रविवार देर रात 10 हजार,491 सेम्पल की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1 हजार, 787 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 16 हजार 280 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से आठ मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1 हजार,163 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 968 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख, 04 हजार 298 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 10 हजार,819 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


indore,1787 new cases ,corona found , eight people died

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1 हजार,  787 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से आठ लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढकऱ 1 लाख,16 हजार ,280 और मृतकों की संख्या 1 हजार, 163 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज की ओर से रविवार देर रात 10 हजार,491 सेम्पल की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1 हजार, 787 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख, 16 हजार 280 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से आठ मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1 हजार,163 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 968 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 1 लाख, 04 हजार 298 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 10 हजार,819 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


bhopal, 16 bank workers, lost their lives , Corona , Madhya Pradesh

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर बैंक सेक्टर के लिए खतरनाक साबित हो रही है। प्रदेश में कुछ ही दिनों के भीतर 116 से अधिक बैंक कर्मियों की मौत कोरोना की वजह से हो गई है। मप्र कॉआपरेटिव  बैंक एम्‍पाइज फेडरेशन, यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन व अन्‍य बैंकों से जुड़े संगठनों का दावा है कि मृतकों का आंकड़ा इससे भी ज्‍यादा है। इस मामले में बैंक कर्मचारियों की संस्‍थाओं ने इन परिस्‍थितियों के लिए पूरी तरह से सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है।    सहकारी बैंक से जुड़े कर्मचारियों ने की सरकार से मांग  इस संबंध में भोपाल कॉआपरेटिव बैंक के अध्‍यक्ष एवं मप्र कॉआपरेटिव  बैंक एम्‍पलाइज फेडरेशन के उपाध्‍यक्ष विमल कुमार दुबे प्रदेश सरकार पर कई सवाल उठाते हैं। उनका कहना है कि राज्‍य सरकार ने पुलिस जवानों को कोरोना वॉरियर्स माना है और मृत्‍यु की स्‍थ‍िति में जवान के परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थ‍िक सहायता एवं नौकरी देने का क्रम शुरू किया है। इसी प्रकार से कृषि विभाग में काम के दौरान कोरोना होने व उन्‍हें कोरोना वॉरियर्स मानकर किसी भी प्रकार की मृत्‍यु होने पर 25 लाख रुपये तत्‍काल आर्थ‍िक मदद परिवार को देने का ऐलान किया गया है। मुख्‍यमंत्री भी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग एवं आवश्‍यक सेवाओं से जुड़े लोगों को कोरोना वॉरियर्स घोषित कर चुके हैं और एक बार फिर उन्‍होंने बीते दिवस गुरुवार को ही ऐसे सभी लोगों के परिजनों को 50 लाख रुपये की मदद देने की अपनी बात दोहराई है।    उन्‍होंने कहा कि ऐसे में राज्‍य सरकार ने प्रदेश में सहकारी बैंकों से जुड़े लोगों को कोरोना वॉरियर्स तो माना है लेकिन काम के दौरान मृत्‍यु होने पर कर्मचारी के परिवार को आर्थ‍िक मदद मुहैया ना कराकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। अभी हमारे पास जो अपने साथियों से जुड़े प्रदेश भर से आंकड़े एकत्र हुए हैं, उनके अनुसार 70 से 80 लोगों की मौत कोरोना के कारण प्रदेश में हो चुकी है। साथ ही 1100 से अधिक लोग कोरोना संक्रमण से प्रभावित होकर राज्‍य के विभिन्न अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं।    उन्‍होंने कहा कि हमने आज ही सरकार से फिर अपनी पुरानी मांग दोहराई है कि सहकारी बैंक कर्मियों को भी वे अन्‍य घोषि‍त कोरोना वॉरियर्स की तरह देखें, जान उनकी भी बहुत कीमती है। दुबे ने बताया कि वे आज सहकारिता मंत्री को ज्ञापन देकर आए हैं, जिसमें सहकारी बैंक कर्मियों, पैक्‍स (पीएसीके) के कर्मचारियों को केंद्रीय वित्त मंत्रालय के पत्र की तर्ज पर चिकित्सा व्यय व निधन होने पर परिवार को सहायता राशि 25 लाख से बढ़ाकर 50 लाख दिए जाएं।   यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन ने दिया था सरकार को प्‍लान  इस संबंध में यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन से जुड़े कर्मचारी नेता संजीव सबलोक कहते हैं, हमने सरकार के संस्थागत वित्त (डीआईएफ) को दिए गए प्लान में कहा था कि प्रदेश में बैंक केवल जरूरी सेवाओं के लिए ही खुलें। सरकार तय करे और चार से पांच बैंकों का एक क्लस्टर बना दिया जाए। क्लस्टर में शामिल बैंक शाखाएं क्रमबद्ध तरीके से एक-एक दिन ही खोली जाएं लेकिन सरकार ने यह प्लान नहीं माना और अब तक उसे लटकाकर रखा, लेकिन आज जब कोरोना से स्‍थ‍ितियां संभल ही नहीं पा रहीं, तब जाकर यह माना गया है। अब बहुत देर हो चुकी है, बड़ी संख्या में बैंक कर्मचारी इसकी चपेट में आ गए हैं।   प्रदेश की 40 राष्‍ट्रीयकृत बैंक शाखाएं कोरोना संक्रमित  यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन  के महासचिव वीके शर्मा का कहना है कि संक्रमण की स्थिति इस कदर गंभीर है कि प्रदेश में 40 राष्‍ट्रीयकृत बैंक शाखाएं कर्मचारी-अधिकारियों के संक्रमित होने के कारण बंद करनी पड़ गई हैं। सबसे अधिक इंदौर में आईआईटी कैंपस स्थित बैंक शाखा समेत नौ बैंक शाखाओं के सभी कर्मचारी और अधिकारी संक्रमित हैं। इसके बाद बुदनी (सीहोर), मैहर (सतना), बैढ़न (सिंगरौली), चुरहट (सीधी) की भी बैंक शाखाएं इन्हीं कारणों से बंद हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, 16 bank workers, lost their lives , Corona , Madhya Pradesh

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर बैंक सेक्टर के लिए खतरनाक साबित हो रही है। प्रदेश में कुछ ही दिनों के भीतर 116 से अधिक बैंक कर्मियों की मौत कोरोना की वजह से हो गई है। मप्र कॉआपरेटिव  बैंक एम्‍पाइज फेडरेशन, यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन व अन्‍य बैंकों से जुड़े संगठनों का दावा है कि मृतकों का आंकड़ा इससे भी ज्‍यादा है। इस मामले में बैंक कर्मचारियों की संस्‍थाओं ने इन परिस्‍थितियों के लिए पूरी तरह से सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है।    सहकारी बैंक से जुड़े कर्मचारियों ने की सरकार से मांग  इस संबंध में भोपाल कॉआपरेटिव बैंक के अध्‍यक्ष एवं मप्र कॉआपरेटिव  बैंक एम्‍पलाइज फेडरेशन के उपाध्‍यक्ष विमल कुमार दुबे प्रदेश सरकार पर कई सवाल उठाते हैं। उनका कहना है कि राज्‍य सरकार ने पुलिस जवानों को कोरोना वॉरियर्स माना है और मृत्‍यु की स्‍थ‍िति में जवान के परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थ‍िक सहायता एवं नौकरी देने का क्रम शुरू किया है। इसी प्रकार से कृषि विभाग में काम के दौरान कोरोना होने व उन्‍हें कोरोना वॉरियर्स मानकर किसी भी प्रकार की मृत्‍यु होने पर 25 लाख रुपये तत्‍काल आर्थ‍िक मदद परिवार को देने का ऐलान किया गया है। मुख्‍यमंत्री भी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग एवं आवश्‍यक सेवाओं से जुड़े लोगों को कोरोना वॉरियर्स घोषित कर चुके हैं और एक बार फिर उन्‍होंने बीते दिवस गुरुवार को ही ऐसे सभी लोगों के परिजनों को 50 लाख रुपये की मदद देने की अपनी बात दोहराई है।    उन्‍होंने कहा कि ऐसे में राज्‍य सरकार ने प्रदेश में सहकारी बैंकों से जुड़े लोगों को कोरोना वॉरियर्स तो माना है लेकिन काम के दौरान मृत्‍यु होने पर कर्मचारी के परिवार को आर्थ‍िक मदद मुहैया ना कराकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। अभी हमारे पास जो अपने साथियों से जुड़े प्रदेश भर से आंकड़े एकत्र हुए हैं, उनके अनुसार 70 से 80 लोगों की मौत कोरोना के कारण प्रदेश में हो चुकी है। साथ ही 1100 से अधिक लोग कोरोना संक्रमण से प्रभावित होकर राज्‍य के विभिन्न अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं।    उन्‍होंने कहा कि हमने आज ही सरकार से फिर अपनी पुरानी मांग दोहराई है कि सहकारी बैंक कर्मियों को भी वे अन्‍य घोषि‍त कोरोना वॉरियर्स की तरह देखें, जान उनकी भी बहुत कीमती है। दुबे ने बताया कि वे आज सहकारिता मंत्री को ज्ञापन देकर आए हैं, जिसमें सहकारी बैंक कर्मियों, पैक्‍स (पीएसीके) के कर्मचारियों को केंद्रीय वित्त मंत्रालय के पत्र की तर्ज पर चिकित्सा व्यय व निधन होने पर परिवार को सहायता राशि 25 लाख से बढ़ाकर 50 लाख दिए जाएं।   यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन ने दिया था सरकार को प्‍लान  इस संबंध में यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन से जुड़े कर्मचारी नेता संजीव सबलोक कहते हैं, हमने सरकार के संस्थागत वित्त (डीआईएफ) को दिए गए प्लान में कहा था कि प्रदेश में बैंक केवल जरूरी सेवाओं के लिए ही खुलें। सरकार तय करे और चार से पांच बैंकों का एक क्लस्टर बना दिया जाए। क्लस्टर में शामिल बैंक शाखाएं क्रमबद्ध तरीके से एक-एक दिन ही खोली जाएं लेकिन सरकार ने यह प्लान नहीं माना और अब तक उसे लटकाकर रखा, लेकिन आज जब कोरोना से स्‍थ‍ितियां संभल ही नहीं पा रहीं, तब जाकर यह माना गया है। अब बहुत देर हो चुकी है, बड़ी संख्या में बैंक कर्मचारी इसकी चपेट में आ गए हैं।   प्रदेश की 40 राष्‍ट्रीयकृत बैंक शाखाएं कोरोना संक्रमित  यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन  के महासचिव वीके शर्मा का कहना है कि संक्रमण की स्थिति इस कदर गंभीर है कि प्रदेश में 40 राष्‍ट्रीयकृत बैंक शाखाएं कर्मचारी-अधिकारियों के संक्रमित होने के कारण बंद करनी पड़ गई हैं। सबसे अधिक इंदौर में आईआईटी कैंपस स्थित बैंक शाखा समेत नौ बैंक शाखाओं के सभी कर्मचारी और अधिकारी संक्रमित हैं। इसके बाद बुदनी (सीहोर), मैहर (सतना), बैढ़न (सिंगरौली), चुरहट (सीधी) की भी बैंक शाखाएं इन्हीं कारणों से बंद हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, 16 bank workers, lost their lives , Corona , Madhya Pradesh

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर बैंक सेक्टर के लिए खतरनाक साबित हो रही है। प्रदेश में कुछ ही दिनों के भीतर 116 से अधिक बैंक कर्मियों की मौत कोरोना की वजह से हो गई है। मप्र कॉआपरेटिव  बैंक एम्‍पाइज फेडरेशन, यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन व अन्‍य बैंकों से जुड़े संगठनों का दावा है कि मृतकों का आंकड़ा इससे भी ज्‍यादा है। इस मामले में बैंक कर्मचारियों की संस्‍थाओं ने इन परिस्‍थितियों के लिए पूरी तरह से सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है।    सहकारी बैंक से जुड़े कर्मचारियों ने की सरकार से मांग  इस संबंध में भोपाल कॉआपरेटिव बैंक के अध्‍यक्ष एवं मप्र कॉआपरेटिव  बैंक एम्‍पलाइज फेडरेशन के उपाध्‍यक्ष विमल कुमार दुबे प्रदेश सरकार पर कई सवाल उठाते हैं। उनका कहना है कि राज्‍य सरकार ने पुलिस जवानों को कोरोना वॉरियर्स माना है और मृत्‍यु की स्‍थ‍िति में जवान के परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थ‍िक सहायता एवं नौकरी देने का क्रम शुरू किया है। इसी प्रकार से कृषि विभाग में काम के दौरान कोरोना होने व उन्‍हें कोरोना वॉरियर्स मानकर किसी भी प्रकार की मृत्‍यु होने पर 25 लाख रुपये तत्‍काल आर्थ‍िक मदद परिवार को देने का ऐलान किया गया है। मुख्‍यमंत्री भी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग एवं आवश्‍यक सेवाओं से जुड़े लोगों को कोरोना वॉरियर्स घोषित कर चुके हैं और एक बार फिर उन्‍होंने बीते दिवस गुरुवार को ही ऐसे सभी लोगों के परिजनों को 50 लाख रुपये की मदद देने की अपनी बात दोहराई है।    उन्‍होंने कहा कि ऐसे में राज्‍य सरकार ने प्रदेश में सहकारी बैंकों से जुड़े लोगों को कोरोना वॉरियर्स तो माना है लेकिन काम के दौरान मृत्‍यु होने पर कर्मचारी के परिवार को आर्थ‍िक मदद मुहैया ना कराकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। अभी हमारे पास जो अपने साथियों से जुड़े प्रदेश भर से आंकड़े एकत्र हुए हैं, उनके अनुसार 70 से 80 लोगों की मौत कोरोना के कारण प्रदेश में हो चुकी है। साथ ही 1100 से अधिक लोग कोरोना संक्रमण से प्रभावित होकर राज्‍य के विभिन्न अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं।    उन्‍होंने कहा कि हमने आज ही सरकार से फिर अपनी पुरानी मांग दोहराई है कि सहकारी बैंक कर्मियों को भी वे अन्‍य घोषि‍त कोरोना वॉरियर्स की तरह देखें, जान उनकी भी बहुत कीमती है। दुबे ने बताया कि वे आज सहकारिता मंत्री को ज्ञापन देकर आए हैं, जिसमें सहकारी बैंक कर्मियों, पैक्‍स (पीएसीके) के कर्मचारियों को केंद्रीय वित्त मंत्रालय के पत्र की तर्ज पर चिकित्सा व्यय व निधन होने पर परिवार को सहायता राशि 25 लाख से बढ़ाकर 50 लाख दिए जाएं।   यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन ने दिया था सरकार को प्‍लान  इस संबंध में यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन से जुड़े कर्मचारी नेता संजीव सबलोक कहते हैं, हमने सरकार के संस्थागत वित्त (डीआईएफ) को दिए गए प्लान में कहा था कि प्रदेश में बैंक केवल जरूरी सेवाओं के लिए ही खुलें। सरकार तय करे और चार से पांच बैंकों का एक क्लस्टर बना दिया जाए। क्लस्टर में शामिल बैंक शाखाएं क्रमबद्ध तरीके से एक-एक दिन ही खोली जाएं लेकिन सरकार ने यह प्लान नहीं माना और अब तक उसे लटकाकर रखा, लेकिन आज जब कोरोना से स्‍थ‍ितियां संभल ही नहीं पा रहीं, तब जाकर यह माना गया है। अब बहुत देर हो चुकी है, बड़ी संख्या में बैंक कर्मचारी इसकी चपेट में आ गए हैं।   प्रदेश की 40 राष्‍ट्रीयकृत बैंक शाखाएं कोरोना संक्रमित  यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन  के महासचिव वीके शर्मा का कहना है कि संक्रमण की स्थिति इस कदर गंभीर है कि प्रदेश में 40 राष्‍ट्रीयकृत बैंक शाखाएं कर्मचारी-अधिकारियों के संक्रमित होने के कारण बंद करनी पड़ गई हैं। सबसे अधिक इंदौर में आईआईटी कैंपस स्थित बैंक शाखा समेत नौ बैंक शाखाओं के सभी कर्मचारी और अधिकारी संक्रमित हैं। इसके बाद बुदनी (सीहोर), मैहर (सतना), बैढ़न (सिंगरौली), चुरहट (सीधी) की भी बैंक शाखाएं इन्हीं कारणों से बंद हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, 16 bank workers, lost their lives , Corona , Madhya Pradesh

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर बैंक सेक्टर के लिए खतरनाक साबित हो रही है। प्रदेश में कुछ ही दिनों के भीतर 116 से अधिक बैंक कर्मियों की मौत कोरोना की वजह से हो गई है। मप्र कॉआपरेटिव  बैंक एम्‍पाइज फेडरेशन, यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन व अन्‍य बैंकों से जुड़े संगठनों का दावा है कि मृतकों का आंकड़ा इससे भी ज्‍यादा है। इस मामले में बैंक कर्मचारियों की संस्‍थाओं ने इन परिस्‍थितियों के लिए पूरी तरह से सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है।    सहकारी बैंक से जुड़े कर्मचारियों ने की सरकार से मांग  इस संबंध में भोपाल कॉआपरेटिव बैंक के अध्‍यक्ष एवं मप्र कॉआपरेटिव  बैंक एम्‍पलाइज फेडरेशन के उपाध्‍यक्ष विमल कुमार दुबे प्रदेश सरकार पर कई सवाल उठाते हैं। उनका कहना है कि राज्‍य सरकार ने पुलिस जवानों को कोरोना वॉरियर्स माना है और मृत्‍यु की स्‍थ‍िति में जवान के परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थ‍िक सहायता एवं नौकरी देने का क्रम शुरू किया है। इसी प्रकार से कृषि विभाग में काम के दौरान कोरोना होने व उन्‍हें कोरोना वॉरियर्स मानकर किसी भी प्रकार की मृत्‍यु होने पर 25 लाख रुपये तत्‍काल आर्थ‍िक मदद परिवार को देने का ऐलान किया गया है। मुख्‍यमंत्री भी स्‍वास्‍थ्‍य विभाग एवं आवश्‍यक सेवाओं से जुड़े लोगों को कोरोना वॉरियर्स घोषित कर चुके हैं और एक बार फिर उन्‍होंने बीते दिवस गुरुवार को ही ऐसे सभी लोगों के परिजनों को 50 लाख रुपये की मदद देने की अपनी बात दोहराई है।    उन्‍होंने कहा कि ऐसे में राज्‍य सरकार ने प्रदेश में सहकारी बैंकों से जुड़े लोगों को कोरोना वॉरियर्स तो माना है लेकिन काम के दौरान मृत्‍यु होने पर कर्मचारी के परिवार को आर्थ‍िक मदद मुहैया ना कराकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। अभी हमारे पास जो अपने साथियों से जुड़े प्रदेश भर से आंकड़े एकत्र हुए हैं, उनके अनुसार 70 से 80 लोगों की मौत कोरोना के कारण प्रदेश में हो चुकी है। साथ ही 1100 से अधिक लोग कोरोना संक्रमण से प्रभावित होकर राज्‍य के विभिन्न अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं।    उन्‍होंने कहा कि हमने आज ही सरकार से फिर अपनी पुरानी मांग दोहराई है कि सहकारी बैंक कर्मियों को भी वे अन्‍य घोषि‍त कोरोना वॉरियर्स की तरह देखें, जान उनकी भी बहुत कीमती है। दुबे ने बताया कि वे आज सहकारिता मंत्री को ज्ञापन देकर आए हैं, जिसमें सहकारी बैंक कर्मियों, पैक्‍स (पीएसीके) के कर्मचारियों को केंद्रीय वित्त मंत्रालय के पत्र की तर्ज पर चिकित्सा व्यय व निधन होने पर परिवार को सहायता राशि 25 लाख से बढ़ाकर 50 लाख दिए जाएं।   यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन ने दिया था सरकार को प्‍लान  इस संबंध में यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन से जुड़े कर्मचारी नेता संजीव सबलोक कहते हैं, हमने सरकार के संस्थागत वित्त (डीआईएफ) को दिए गए प्लान में कहा था कि प्रदेश में बैंक केवल जरूरी सेवाओं के लिए ही खुलें। सरकार तय करे और चार से पांच बैंकों का एक क्लस्टर बना दिया जाए। क्लस्टर में शामिल बैंक शाखाएं क्रमबद्ध तरीके से एक-एक दिन ही खोली जाएं लेकिन सरकार ने यह प्लान नहीं माना और अब तक उसे लटकाकर रखा, लेकिन आज जब कोरोना से स्‍थ‍ितियां संभल ही नहीं पा रहीं, तब जाकर यह माना गया है। अब बहुत देर हो चुकी है, बड़ी संख्या में बैंक कर्मचारी इसकी चपेट में आ गए हैं।   प्रदेश की 40 राष्‍ट्रीयकृत बैंक शाखाएं कोरोना संक्रमित  यूनाइडेट फोरम ऑफ बैंक यूनियन  के महासचिव वीके शर्मा का कहना है कि संक्रमण की स्थिति इस कदर गंभीर है कि प्रदेश में 40 राष्‍ट्रीयकृत बैंक शाखाएं कर्मचारी-अधिकारियों के संक्रमित होने के कारण बंद करनी पड़ गई हैं। सबसे अधिक इंदौर में आईआईटी कैंपस स्थित बैंक शाखा समेत नौ बैंक शाखाओं के सभी कर्मचारी और अधिकारी संक्रमित हैं। इसके बाद बुदनी (सीहोर), मैहर (सतना), बैढ़न (सिंगरौली), चुरहट (सीधी) की भी बैंक शाखाएं इन्हीं कारणों से बंद हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, Number of people, recovering from corona, increased , three cities

भोपाल। कोरोना महामारी की रफ्तार को देखते हुए लोगों में डर और घबराहट का माहौल है। लेकिन इसी बीच प्रदेश के तीन शहरों से अच्छी खबर आई है। इन तीन बड़े शहरों में अब नए संक्रमितों की तुलना में कोरोना से जंग जीतने वालों की संख्या बढ़ती नजर आ रही है।   मध्यप्रदेश में लॉकडाउन का असर दिखने लगा है। इंदौर को छोड़ कर प्रदेश के तीन बड़े शहरों भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर में राहत मिलती दिख रही है। बीते 24 घंटे में यहां जितने नए केस आए हैं, उससे ज्यादा लोग ठीक हुए हैं। प्रदेश के चार बड़े शहरों इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर में बीते 24 घंटे में 5,302 नए संक्रमित मिले, वहीं 4,026 ठीक हुए, जबकि 26 की मौत हो गई। इंदौर में सबसे ज्यादा 1,811 नए संक्रमित मिले हैं और 1,208 डिस्चार्ज हुए हैं। ठीक होने वाले मरीजों में भोपाल टॉप पर है।   भोपाल: मौतों की संख्या पर सवाल भोपाल में मौतों की संख्या पर अब भी सवाल खड़े हो रहे हैं। गुरुवार रात 8 बजे तक राजधानी के दो श्मशान घाट और एक कब्रिस्तान में 195 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इनमें से 139 का कोविड प्रोटोकॉल से अंतिम संस्कार किया गया। सरकारी रिकॉर्ड में सिर्फ 5 मौतें कोविड से दर्ज की गईं हैं। राजधानी में 24 घंटे में 1,735 नए केस सामने आए, जबकि 1, 921 मरीज ठीक हुए।   इंदौर: कम हुए एक्टिव केस यहां 24 घंटे में 1,811 नए संक्रमित आए हैं, जो प्रदेश में सबसे ज्यादा है। 6 मरीजों ने विभिन्न अस्पतालों में दम तोड़ा है। इंदौर में एक्टिव केस लगातार घट रहे हैं। अभी यहां 12,278 मरीजों का इलाज चल रहा है। एक दिन पहले यह संख्या 12,608 थी।   जबलपुर: 776 संक्रमित मिले, 826 ठीक हुए यहां पिछले 24 घंटे में 3,196 सैंपल की जांच में 776 संक्रमित पाए गए हैं। 8 मरीजों की विभिन्न अस्पतालों में मौत हुई है। 826 लोग कोरोना से ठीक हुए। पिछले 6 दिनों में 4,738 संक्रमित मिले हैं और 5,435 मरीज ठीक हो गए। यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 6,073 पर पहुंच गई है। इसमें 6 दिन में 698 की कमी आई है।   ग्वालियर: सरकारी रिकॉर्ड में 7 की मौत, कोविड अस्पतालों में हुई 38 मौतें ग्वालियर में कोविड अस्पतालों में बीते 24 घंटे में 38 संक्रमितों की मौत हुई है, लेकिन सरकारी रिकॉर्ड में सिर्फ 7 मौतें ही दर्ज की गईं। 38 में से 30 ग्वालियर जिले के थे। यहां 980 नए संक्रमित मिले, लेकिन राहत की बात यह रही कि उससे ज्यादा 1,071 स्वस्थ होकर घर गए। यहां अब तक संक्रमितों की संख्या 40 हजार से ऊपर पहुंच चुकी है।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


Ujjain,Janata curfew ,hits millions,f fruit traders

उज्जैन।  जनता कर्फ्यू ने शहर के थोक फल व्यापारियों को लाखों रूपये का फटका लगा दिया है। जो माल इस समय स्टॉक में रखा हुआ है,वह सड़ रहा है। खपत इस समय बहुत कम है। इसके दो कारण है। एक तो कोरोना महामारी के चलते लोग फल खरीदने से बच रहे हैं। दूसरा यह कि प्रशासन की फल बेचने को लेकर कोई स्पष्ट नीति नहीं है। प्रात: 11 बजे बाद हाथ ठेलेवालों को सड़कों से हटा दिया जाता है। यही कारण है कि माल का रोटेशन नहीं होने से थोक व्यापारी अपने फल सड़ते हुए देखकर दु:खी भी हो रहे हैं।   शहर में फलों को दो थोक व्यापारी हैं। एक व्यापारी इस समय आयसोलेट हैं वहीं दूसरे थोक व्यापारी गिरिश देवनानी हैं जो गर्मी के सीजन में 10 लाख रू. प्रतिदिन का व्यापार करते हैं।  देवनानी के अनुसार इस कोरोनाकाल में हम रोजाना करीब 1 लाख रू. का माल ही बाहर से उठा रहे हैं। वह भी पूरी तरह से नहीं बिक पा रहा है। चूंकि आगे से डिलेव्हरी आती है,ऐसे में माल तो उठाना पड़ता है। लेकिन बाजार में उठाव नहीं होने तथा प्रशासन की नीतियां ठीक नहीं होने के कारण माल सड़ रहा है। उन्होंने सड़े फलों की टोकनियां बताते हुए कहाकि इस धंधे में लगे अमूमन लोग इस समय बेरोजगार हैं। हाथ ठेले बंद पड़े हैं। जो माल उठा रहे हैं,उनकी अपनी रिस्क पर ले जा रहे हैं। इनमें भी दो चार दिन काम करके ठेले के पहियों में ताला लगा रहे हैं।   आंध्रा से आ रहा है आम...अंगूर-तरबूज-अनार आ रहा महाराष्ट्र से देवनानी के अनुसार इस समय आम मुख्य रूप से आंध्र प्रदेश से आ रहा है। वहां से आवक तो प्रतिदिन है लेकिन इतना उठाव नहीं है। इसी प्रकार महाराष्ट्र  से केला,अंगूर,तरबूज,अनार आ रहा है। सेवफल विदेश से ही आ रहा है। खरबूजा लोकल है और आसपास से आ रहा है।   यह है थोक एवं खुदरा भाव फलों के शहर में फलों के खुदरा दाम आसमान छू रहे हैं,जबकि थोक में दाम बहुत ही कम है। फल     थोक भाव प्रति किग्रा रू. में    खुदरा भाव प्रति किग्रा रू. मेंआम        40 से 50 रू.    80 से 100 रू.अंगूर        60 से 70 रू.    80 से 100 रू.केला        20 से 22 रू.    25 से 30 रू.तरबुज        10 से 12 रू.    30 से 40 रू.खरबुजा    30 से 35 रू.    40 से 50 रू.सेवफल    200 से 300 रू.    250 से 350 रू.(देशी/विदेशी)    अनार       200 रू.        300 रू. तक किस्म अनुसार

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


Anuppur, 185  new corona infected, 149 beaten, two killed

अनूपपुर। वैश्विक महामारी कोरोना का संक्रमण का प्रभाव नगर होते हुए अब ग्रामों की तरफ बढ़ रहा हैं। 185 नये संक्रमित मिलें वहीं 149 ने इसे मात देकर वापस घरों को लौट गयें। दो की मौत हो गई।   स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार देर रात प्राप्त 512 रिपोर्ट में 185 नये व्यक्तियों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट प्राप्त होते ही स्वास्थ्य विभाग के दिशा निर्देशों अनुसार संक्रमितों को कोविड केयर सेंटर भेजने व होम आइसोलेशन हेतु निर्देशित करने, सम्बंधित कंटेनमेंट क्षेत्रों में स्क्रीनिंग एवं संक्रमितों के सम्पर्क में लेने की कार्रवाई की जा रही है। उल्लेखनीय है कि अब तक प्राप्त कोरोना जाँच रिपोर्ट में जिले में 5292 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। वहीं 149 स्वस्थ होकर रवाना हुए। वर्तमान में सक्रिय 904 है। अब तक 4351 कोरोना संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं बुधवार को दो की मौत हो गई। अबतक कोरोना से 37 लोगों ने अपनी जान गंवा दी हैं।

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


Ratlam,Family members ,created ruckus ,outside the hospital

रतलाम। शासन और प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद ऑक्सीजन की आपूर्ति और वितरण व्यवस्था सुधर नहीं पा रही है। रतलाम में देर रात ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार मच गया। ऑक्सीजन की कमी होने पर आयुष ग्राम कोविड केयर सेंटर के बाहर मरीजों के परिजनों का जमावड़ा हो गया। अफरातफरी के बीच परिजनों ने आयुष ग्राम हॉस्पिटल के बाहर हंगामा कर दिया।   जिले में ऑक्सीजन की कमी की खबरें बुधवार शाम से ही सोशल मीडिया पर चलने लगी थीं। जब शहर के निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म होने लगी तो आयुष ग्राम कोविड केयर सेंटर के संचालक डॉ राजेश शर्मा ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर लोगों से माफी मांगते हुए अपनी हार स्वीकार की और  प्रशासन से ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करवाने की मांग की। जिसके बाद आयुष ग्राम के बाहर परेशान परिजनों का जमावड़ा हो गया। परेशान परिजनों से अस्पताल प्रबंधन ने ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था करने या मरीज को कहीं और शिफ्ट करने की बात कही। इसके बाद हताश परिजनों ने निजी अस्पताल के बाहर हंगामा कर दिया।    अलीराजपुर से अपने परिजन के उपचार के लिए यहां आई हुई एक युवती तो  फफक कर रो पड़ी और ऑक्सीजन के लिए प्रशासन से गुहार लगाती रही। इसके बाद प्रशासन के अधिकारी रात भर ऑक्सीजन की व्यवस्था के लिए जुटे रहे, लेकिन मेडिकल कॉलेज सहित अन्य अस्पतालों में अभी भी ऑक्सीजन का संकट बना हुआ है।

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


ujjain, Galantika tied, Baba Mahakal

वैशाख मास में परंपरा है शिवलिंग ठण्डा रखने की   उज्जैन। विश्वप्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में हर वर्ष की तरह बुधवार को भी वैशाख मास की पड़वा को बाबा महाकाल को गलंतिका बांधी गई। पूरे एक माह तक यह गलंतिका शिव मंदिरों में बांधी जाएगी।   ज्योतिषाचार्य पं.आनन्दशंकर व्यास के अनुसार यह माना जाता है कि गरल पीनेवाल बाबा महाकाल को वैशाख मास में उष्णता से बचाने के लिए गलंतिका बांधी जाती है। यह परंपरा सदियों पुरानी है।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


Indore, Corona records, 1811 new cases, ten patients die

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1811 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से दस लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढकऱ 1लाख 07 हजार 240 और मृतकों की संख्या 1123 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10,201 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1811 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1लाख 07 हजार 240 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से दस मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1123 हो गई है।   हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 918 मरीज स्वस्थ हुए हैं। नये मामले अधिक संख्या में मिलने से यहां सक्रिय मरीज बढ़कर 13,171 हो गए हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। वहीं अबतक 11लाख 44 हजार 468 मरीजों के सैंपलों की जांच की गई है।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


Indore, Corona records, 1811 new cases, ten patients die

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1811 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से दस लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढकऱ 1लाख 07 हजार 240 और मृतकों की संख्या 1123 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 10,201 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1811 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1लाख 07 हजार 240 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से दस मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1123 हो गई है।   हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 918 मरीज स्वस्थ हुए हैं। नये मामले अधिक संख्या में मिलने से यहां सक्रिय मरीज बढ़कर 13,171 हो गए हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। वहीं अबतक 11लाख 44 हजार 468 मरीजों के सैंपलों की जांच की गई है।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


guna,Tekri government,darshan will be online, admission not available

गुना। कोरोना संक्रमण से प्रभावित हो रहे अन्य धार्मिक त्यौहारों की तरह ही हनुमान जयंती पर भी इसकी काली छाया बनी रहेगी। गत साल की तरह इस साल भी भगवान हनुमान जी के जन्मोत्सव का यह पर्व घरों में ही मनाया जा सकेगा और श्रद्धालु मंदिरों में बालाजी सरकार के दर्शन कर उनकी पूजा अर्चना नहीं कर पाएंगे। प्रसिद्ध सिद्ध हनुमान टेकरी सरकार के दर्शनों की जरुर इस अवसर पर ऑनलाइन व्यवस्था की गई  है।   अलबत्ता टेकरी सरकार पर हर साल लगने वाला मेला तो लगेगा ही नहीं, श्रद्धालुओं के  लिए भी मंदिर में प्रवेश वर्जित रखा गया है। हनुमान टेकरी सरकार की ओर जाने वाले रास्तों को भी सोमवार से बंद करने की तैयारी शुरु हो गई  है, वहीं टेकरी समिति ने भी श्रद्धालुओं से मंदिर नहीं आकर घरों में ही पूजा अर्चना करने का आग्रह किया है।   टेकरी सरकार का किया जा रहा आकर्षक श्रंगार उल्लेखनीय है कि गत वर्ष की तरह इस बार भी हनुमान जयंती का पर्व कोरोना संक्रमण के भयावह दौर के बीच कल 27 अप्रैल को है। हालांकि कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन के निर्देश पर प्रसिद्ध सिद्ध स्थल श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आम श्रद्धालुओं के लिए नव संवत्सर 13 अप्रैल से ही बंद किया जा चुका है। इसी क्रम में 27 अप्रैल को भी ना तो श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्रद्धालुओं का प्रवेश होगा और ना ही कोई मेला लगेंगा, हालांकि हनुमान जयंती के अवसर पर चली आ रही परंपरानुसार श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आकर्षक विद्युत साज-सज्जाा के साथ  श्री टेकरी सरकार का आकर्षक साज श्रृंगार किया जा रहा है।   सुबह 5 बजे होगी मंगला आरती प्रसिद्ध सिद्ध स्थल हनुमान टेकरी पर वर्षों से चली आ रही परंपरानुसार  मंगलवार को प्रात: 5 बजे श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्री बालाजी सरकार की मंगला आरती होगी और इसके बाद दिन भर मंदिर में श्री टेकरी  सरकार की जयंती पर पूजा-अर्चना व विभिन्न धार्मिक क्रियाएं पुजारी द्वारा की जाएंगी। यही नहीं सुबह 5 बजे से श्रद्धालुओं को घर बैठे श्री हनुमान टेकरी सरकार के आरती सहित लाइव दर्शन लोकल चैनल 122 जीसीएन पर करने को मिलेंगे। मंगला आरती प्रबल सिंह चौहान को फेसबुक आईडी पर लाइव देखी जा सकेंगी। पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह सलूजा, मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नारायणलाल अग्रवाल, चिरोंजी लाल प्रजापति, ओपी बरोनिया, गुलशन जुनेजा व प्रवक्ता राजेश अग्रवाल ने अंचल भर के श्रद्धालुओं से हनुमान जयंती के अवसर पर धारा 144 का पालन करते हुए अपने-अपने घरों में ही रहकर श्री बालाजी सरकार की पूजा-अर्चना करने और उनके ऑनलाइन दर्शन करने का आग्रह किया है। 

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


guna,Tekri government,darshan will be online, admission not available

गुना। कोरोना संक्रमण से प्रभावित हो रहे अन्य धार्मिक त्यौहारों की तरह ही हनुमान जयंती पर भी इसकी काली छाया बनी रहेगी। गत साल की तरह इस साल भी भगवान हनुमान जी के जन्मोत्सव का यह पर्व घरों में ही मनाया जा सकेगा और श्रद्धालु मंदिरों में बालाजी सरकार के दर्शन कर उनकी पूजा अर्चना नहीं कर पाएंगे। प्रसिद्ध सिद्ध हनुमान टेकरी सरकार के दर्शनों की जरुर इस अवसर पर ऑनलाइन व्यवस्था की गई  है।   अलबत्ता टेकरी सरकार पर हर साल लगने वाला मेला तो लगेगा ही नहीं, श्रद्धालुओं के  लिए भी मंदिर में प्रवेश वर्जित रखा गया है। हनुमान टेकरी सरकार की ओर जाने वाले रास्तों को भी सोमवार से बंद करने की तैयारी शुरु हो गई  है, वहीं टेकरी समिति ने भी श्रद्धालुओं से मंदिर नहीं आकर घरों में ही पूजा अर्चना करने का आग्रह किया है।   टेकरी सरकार का किया जा रहा आकर्षक श्रंगार उल्लेखनीय है कि गत वर्ष की तरह इस बार भी हनुमान जयंती का पर्व कोरोना संक्रमण के भयावह दौर के बीच कल 27 अप्रैल को है। हालांकि कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन के निर्देश पर प्रसिद्ध सिद्ध स्थल श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आम श्रद्धालुओं के लिए नव संवत्सर 13 अप्रैल से ही बंद किया जा चुका है। इसी क्रम में 27 अप्रैल को भी ना तो श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्रद्धालुओं का प्रवेश होगा और ना ही कोई मेला लगेंगा, हालांकि हनुमान जयंती के अवसर पर चली आ रही परंपरानुसार श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आकर्षक विद्युत साज-सज्जाा के साथ  श्री टेकरी सरकार का आकर्षक साज श्रृंगार किया जा रहा है।   सुबह 5 बजे होगी मंगला आरती प्रसिद्ध सिद्ध स्थल हनुमान टेकरी पर वर्षों से चली आ रही परंपरानुसार  मंगलवार को प्रात: 5 बजे श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्री बालाजी सरकार की मंगला आरती होगी और इसके बाद दिन भर मंदिर में श्री टेकरी  सरकार की जयंती पर पूजा-अर्चना व विभिन्न धार्मिक क्रियाएं पुजारी द्वारा की जाएंगी। यही नहीं सुबह 5 बजे से श्रद्धालुओं को घर बैठे श्री हनुमान टेकरी सरकार के आरती सहित लाइव दर्शन लोकल चैनल 122 जीसीएन पर करने को मिलेंगे। मंगला आरती प्रबल सिंह चौहान को फेसबुक आईडी पर लाइव देखी जा सकेंगी। पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह सलूजा, मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नारायणलाल अग्रवाल, चिरोंजी लाल प्रजापति, ओपी बरोनिया, गुलशन जुनेजा व प्रवक्ता राजेश अग्रवाल ने अंचल भर के श्रद्धालुओं से हनुमान जयंती के अवसर पर धारा 144 का पालन करते हुए अपने-अपने घरों में ही रहकर श्री बालाजी सरकार की पूजा-अर्चना करने और उनके ऑनलाइन दर्शन करने का आग्रह किया है। 

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


guna,Tekri government,darshan will be online, admission not available

गुना। कोरोना संक्रमण से प्रभावित हो रहे अन्य धार्मिक त्यौहारों की तरह ही हनुमान जयंती पर भी इसकी काली छाया बनी रहेगी। गत साल की तरह इस साल भी भगवान हनुमान जी के जन्मोत्सव का यह पर्व घरों में ही मनाया जा सकेगा और श्रद्धालु मंदिरों में बालाजी सरकार के दर्शन कर उनकी पूजा अर्चना नहीं कर पाएंगे। प्रसिद्ध सिद्ध हनुमान टेकरी सरकार के दर्शनों की जरुर इस अवसर पर ऑनलाइन व्यवस्था की गई  है।   अलबत्ता टेकरी सरकार पर हर साल लगने वाला मेला तो लगेगा ही नहीं, श्रद्धालुओं के  लिए भी मंदिर में प्रवेश वर्जित रखा गया है। हनुमान टेकरी सरकार की ओर जाने वाले रास्तों को भी सोमवार से बंद करने की तैयारी शुरु हो गई  है, वहीं टेकरी समिति ने भी श्रद्धालुओं से मंदिर नहीं आकर घरों में ही पूजा अर्चना करने का आग्रह किया है।   टेकरी सरकार का किया जा रहा आकर्षक श्रंगार उल्लेखनीय है कि गत वर्ष की तरह इस बार भी हनुमान जयंती का पर्व कोरोना संक्रमण के भयावह दौर के बीच कल 27 अप्रैल को है। हालांकि कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन के निर्देश पर प्रसिद्ध सिद्ध स्थल श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आम श्रद्धालुओं के लिए नव संवत्सर 13 अप्रैल से ही बंद किया जा चुका है। इसी क्रम में 27 अप्रैल को भी ना तो श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्रद्धालुओं का प्रवेश होगा और ना ही कोई मेला लगेंगा, हालांकि हनुमान जयंती के अवसर पर चली आ रही परंपरानुसार श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आकर्षक विद्युत साज-सज्जाा के साथ  श्री टेकरी सरकार का आकर्षक साज श्रृंगार किया जा रहा है।   सुबह 5 बजे होगी मंगला आरती प्रसिद्ध सिद्ध स्थल हनुमान टेकरी पर वर्षों से चली आ रही परंपरानुसार  मंगलवार को प्रात: 5 बजे श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्री बालाजी सरकार की मंगला आरती होगी और इसके बाद दिन भर मंदिर में श्री टेकरी  सरकार की जयंती पर पूजा-अर्चना व विभिन्न धार्मिक क्रियाएं पुजारी द्वारा की जाएंगी। यही नहीं सुबह 5 बजे से श्रद्धालुओं को घर बैठे श्री हनुमान टेकरी सरकार के आरती सहित लाइव दर्शन लोकल चैनल 122 जीसीएन पर करने को मिलेंगे। मंगला आरती प्रबल सिंह चौहान को फेसबुक आईडी पर लाइव देखी जा सकेंगी। पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह सलूजा, मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नारायणलाल अग्रवाल, चिरोंजी लाल प्रजापति, ओपी बरोनिया, गुलशन जुनेजा व प्रवक्ता राजेश अग्रवाल ने अंचल भर के श्रद्धालुओं से हनुमान जयंती के अवसर पर धारा 144 का पालन करते हुए अपने-अपने घरों में ही रहकर श्री बालाजी सरकार की पूजा-अर्चना करने और उनके ऑनलाइन दर्शन करने का आग्रह किया है। 

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


guna,Tekri government,darshan will be online, admission not available

गुना। कोरोना संक्रमण से प्रभावित हो रहे अन्य धार्मिक त्यौहारों की तरह ही हनुमान जयंती पर भी इसकी काली छाया बनी रहेगी। गत साल की तरह इस साल भी भगवान हनुमान जी के जन्मोत्सव का यह पर्व घरों में ही मनाया जा सकेगा और श्रद्धालु मंदिरों में बालाजी सरकार के दर्शन कर उनकी पूजा अर्चना नहीं कर पाएंगे। प्रसिद्ध सिद्ध हनुमान टेकरी सरकार के दर्शनों की जरुर इस अवसर पर ऑनलाइन व्यवस्था की गई  है।   अलबत्ता टेकरी सरकार पर हर साल लगने वाला मेला तो लगेगा ही नहीं, श्रद्धालुओं के  लिए भी मंदिर में प्रवेश वर्जित रखा गया है। हनुमान टेकरी सरकार की ओर जाने वाले रास्तों को भी सोमवार से बंद करने की तैयारी शुरु हो गई  है, वहीं टेकरी समिति ने भी श्रद्धालुओं से मंदिर नहीं आकर घरों में ही पूजा अर्चना करने का आग्रह किया है।   टेकरी सरकार का किया जा रहा आकर्षक श्रंगार उल्लेखनीय है कि गत वर्ष की तरह इस बार भी हनुमान जयंती का पर्व कोरोना संक्रमण के भयावह दौर के बीच कल 27 अप्रैल को है। हालांकि कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन के निर्देश पर प्रसिद्ध सिद्ध स्थल श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आम श्रद्धालुओं के लिए नव संवत्सर 13 अप्रैल से ही बंद किया जा चुका है। इसी क्रम में 27 अप्रैल को भी ना तो श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्रद्धालुओं का प्रवेश होगा और ना ही कोई मेला लगेंगा, हालांकि हनुमान जयंती के अवसर पर चली आ रही परंपरानुसार श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आकर्षक विद्युत साज-सज्जाा के साथ  श्री टेकरी सरकार का आकर्षक साज श्रृंगार किया जा रहा है।   सुबह 5 बजे होगी मंगला आरती प्रसिद्ध सिद्ध स्थल हनुमान टेकरी पर वर्षों से चली आ रही परंपरानुसार  मंगलवार को प्रात: 5 बजे श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्री बालाजी सरकार की मंगला आरती होगी और इसके बाद दिन भर मंदिर में श्री टेकरी  सरकार की जयंती पर पूजा-अर्चना व विभिन्न धार्मिक क्रियाएं पुजारी द्वारा की जाएंगी। यही नहीं सुबह 5 बजे से श्रद्धालुओं को घर बैठे श्री हनुमान टेकरी सरकार के आरती सहित लाइव दर्शन लोकल चैनल 122 जीसीएन पर करने को मिलेंगे। मंगला आरती प्रबल सिंह चौहान को फेसबुक आईडी पर लाइव देखी जा सकेंगी। पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह सलूजा, मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नारायणलाल अग्रवाल, चिरोंजी लाल प्रजापति, ओपी बरोनिया, गुलशन जुनेजा व प्रवक्ता राजेश अग्रवाल ने अंचल भर के श्रद्धालुओं से हनुमान जयंती के अवसर पर धारा 144 का पालन करते हुए अपने-अपने घरों में ही रहकर श्री बालाजी सरकार की पूजा-अर्चना करने और उनके ऑनलाइन दर्शन करने का आग्रह किया है। 

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


guna,Tekri government,darshan will be online, admission not available

गुना। कोरोना संक्रमण से प्रभावित हो रहे अन्य धार्मिक त्यौहारों की तरह ही हनुमान जयंती पर भी इसकी काली छाया बनी रहेगी। गत साल की तरह इस साल भी भगवान हनुमान जी के जन्मोत्सव का यह पर्व घरों में ही मनाया जा सकेगा और श्रद्धालु मंदिरों में बालाजी सरकार के दर्शन कर उनकी पूजा अर्चना नहीं कर पाएंगे। प्रसिद्ध सिद्ध हनुमान टेकरी सरकार के दर्शनों की जरुर इस अवसर पर ऑनलाइन व्यवस्था की गई  है।   अलबत्ता टेकरी सरकार पर हर साल लगने वाला मेला तो लगेगा ही नहीं, श्रद्धालुओं के  लिए भी मंदिर में प्रवेश वर्जित रखा गया है। हनुमान टेकरी सरकार की ओर जाने वाले रास्तों को भी सोमवार से बंद करने की तैयारी शुरु हो गई  है, वहीं टेकरी समिति ने भी श्रद्धालुओं से मंदिर नहीं आकर घरों में ही पूजा अर्चना करने का आग्रह किया है।   टेकरी सरकार का किया जा रहा आकर्षक श्रंगार उल्लेखनीय है कि गत वर्ष की तरह इस बार भी हनुमान जयंती का पर्व कोरोना संक्रमण के भयावह दौर के बीच कल 27 अप्रैल को है। हालांकि कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन के निर्देश पर प्रसिद्ध सिद्ध स्थल श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आम श्रद्धालुओं के लिए नव संवत्सर 13 अप्रैल से ही बंद किया जा चुका है। इसी क्रम में 27 अप्रैल को भी ना तो श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्रद्धालुओं का प्रवेश होगा और ना ही कोई मेला लगेंगा, हालांकि हनुमान जयंती के अवसर पर चली आ रही परंपरानुसार श्री हनुमान टेकरी मंदिर को आकर्षक विद्युत साज-सज्जाा के साथ  श्री टेकरी सरकार का आकर्षक साज श्रृंगार किया जा रहा है।   सुबह 5 बजे होगी मंगला आरती प्रसिद्ध सिद्ध स्थल हनुमान टेकरी पर वर्षों से चली आ रही परंपरानुसार  मंगलवार को प्रात: 5 बजे श्री हनुमान टेकरी मंदिर पर श्री बालाजी सरकार की मंगला आरती होगी और इसके बाद दिन भर मंदिर में श्री टेकरी  सरकार की जयंती पर पूजा-अर्चना व विभिन्न धार्मिक क्रियाएं पुजारी द्वारा की जाएंगी। यही नहीं सुबह 5 बजे से श्रद्धालुओं को घर बैठे श्री हनुमान टेकरी सरकार के आरती सहित लाइव दर्शन लोकल चैनल 122 जीसीएन पर करने को मिलेंगे। मंगला आरती प्रबल सिंह चौहान को फेसबुक आईडी पर लाइव देखी जा सकेंगी। पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह सलूजा, मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नारायणलाल अग्रवाल, चिरोंजी लाल प्रजापति, ओपी बरोनिया, गुलशन जुनेजा व प्रवक्ता राजेश अग्रवाल ने अंचल भर के श्रद्धालुओं से हनुमान जयंती के अवसर पर धारा 144 का पालन करते हुए अपने-अपने घरों में ही रहकर श्री बालाजी सरकार की पूजा-अर्चना करने और उनके ऑनलाइन दर्शन करने का आग्रह किया है। 

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


dhar,Corona curfew, Dhar district ,extended to 30 April

धार।  धार जिला दण्डाधिकारी आलोक कुमार सिंह ने शनिवार को जारी आदेश में मध्यप्रदेश शासन गृह विभाग मंत्रालय भोपाल के माध्यम से जारी दिशा-निर्देशों के परिपालन में धार जिले की सम्पूर्ण राजस्व सीमा क्षेत्र में जारी आदेश से 30 अप्रैल तक की सुबह 6:00 बजे तक कोरोना कर्फ्यू की अवधि बढ़ाने के प्रतिबंधात्मक आदेश दिए  हैं।    उक्‍त निर्देशानुसार यह आदेश तत्काल पालन हेतु प्रभावशील किया जाना आवश्यक हो गया है। इस आदेश का उल्लंघन भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 अंतर्गत दण्डनीय अपराध की श्रेणी में आवेगा।

Dakhal News

Dakhal News 24 April 2021


guna,Corona infection, spreading ,city to village

गुना। कोरोना की दूसरी लहर अब शहर से गांव की ओर भी बढऩे लगी है।  स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार 23 अप्रैल की स्थिति में जिले में 769 केस सक्रिय थे, जिनमें 141 ग्रामीण क्षेत्र के शामिल हैं। इसमें कोरोना से मौत का आंकड़ा भले ही शहर का बढ़ा नजर आ रहा है, लेकिन चार मौत गांवों में भी हुई हैं। इसकी मुख्य वजह ग्रामीणों का शहरी क्षेत्र में आवागमन है, जहां से संक्रमण गांवों तक पैर पसार रहा है। हालांकि, प्रशासन ने अब गांवों में भी कोरोना कर्फ्यू की दीवार खड़ी कर गांव से शहर की आवाजाही पर रोक लगाई है, ताकि चेन को आगे बढऩे से रोका जा सके।   जिले की आबादी लगभग 13 लाख है, लेकिन वर्तमान में ग्रामीण से ज्यादा शहरी क्षेत्र में पॉजिटिव मरीजों और मौत का आंकड़ा बढ़ा है। इसकी वजह ग्रामीणों की शहरी क्षेत्रों में आवाजाही है, जिससे संक्रमण शहर से गांव की ओर बढ़ा है। इसमें शुरुआती दौर में प्रवासी श्रमिकों का आना हुआ, तो कृषकों को उपज बेचने मंडियों में पहुंचना पड़ा। यही वजह है कि जिले में सक्रिय 769 कोरोना मामलों में 141 ग्रामीण क्षेत्र के शामिल हैं। गुना शहर में 507 सक्रिय मामले हैं, तो ग्रामीण में 38 केस हैं। इसी तरह बमोरी में 48, आरोन शहर में 17 और ग्रामीण में 12, राघौगढ़ शहर में 77 और ग्रामीण में 31, बीनागंज शहर में 27 और ग्रामीण क्षेत्र में 12 सक्रिय केस हैं। यदि स्वास्थ्य विभाग के कोरोना से मौत के आंकड़ों पर नजर डाली जाए, तो 23 अप्रैल की स्थिति में जिले में 34 मौत हुई हैं, जबकि तीन मौत ग्रामीण क्षेत्र से दर्ज की गई हैं।   हालात बिगडऩे से पहले उठाए कदम   इधर, कोरोना संक्रमण से गांवों के हालात ज्यादा बिगड़ते, उससे पहले प्रशासन ने अहतियातन कदम उठा लिए। हालांकि, यह कवायद शुरुआती दौर में ही होना थी, जब प्रवासी श्रमिकों की गांवों में आवाजाही शुरू हुई थी। खैर, देर आए-दुरुस्त आए, शहर की तर्ज पर गांवों में भी कोरोना कर्फ्यू लागू किया गया है। बाहर से आने-जाने वालों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है, तो हर पंचायत में क्वारंटीन सेंटर भी बनाए गए हैं, ताकि संदिग्ध स्थिति में उसे क्वारंटीन किया जा सके। इसके अलावा पंचायत स्तर पर कंट्रोल रूम भी स्थापित किए गए हैं, तो गांवों में घर-घर सर्वे भी कराया जा रहा है। फैक्ट फाइल   - 13 लाख जिले की आबादी   - 34 कोरोना से मौत   - 28 कोरोना से मौत शहर में   - 06 कोरोना से मौत ग्रामीण में   - 769 जिले में सक्रिय केस   (नोट: स्वास्थ्य विभाग से 23 अप्रैल की स्थिति में मिले आंकड़े)   इनका कहना है जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत में क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है, तो कोरोना कर्फ्यू भी लगाया है। गांवों में प्रत्येक घर का सर्वे कराया जा रहा है, ताकि कोई बीमार मिले, तो उसे वक्त पर उपचार दिया जा सके। गांव से शहर और शहर से गांव की ओर आवाजाही को रोका गया है। बाहर से कोई व्यक्ति आता है, तो उसके स्वास्थ्य की जांच की जाती है। संदिग्धों को क्वारंटीन सेंटर में रखा जा रहा है। इसके अलावा अधिकारी-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है। मैं स्वयं भी गांवों में भ्रमण कर स्थिति पर नजर बनाए हुए हूं। इस तरह गांवों में कोरोना संक्रमण रोकने हर कोशिश जारी है।   - निलेश परीख, सीईओ जिला पंचायत गुना

Dakhal News

Dakhal News 24 April 2021


bhopal,MP state,suffering from heat ,temperature rises

भोपाल। मध्य प्रदेश में फिलहाल कोई वेदर सिस्टम सक्रिय नहीं होने और हवाओं का रुख बदलने से वातावरण में नमी कम हो गई है। जिसके चलते राजधानी समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान बढ़ गया है।   शुक्रवार को प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 42 डिग्री सेल्सियस खजुराहो में दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार अभी चार-पांच दिन तक मौसम शुष्क रहने के आसार हैं। इस दौरान तापमान में धीरे-धीरे और बढ़ोतरी होने की संभावना है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में ऊंचाई पर बादल बने हुए हैं। इस वजह से तापमान में अपेक्षाकृत बढ़ोतरी नहीं हो पा रही रही है। दरअसल अरब सागर से मध्यप्रदेश होकर उत्तर-पूर्व की तरफ जेटस्ट्रीम गुजर रही है। जेट स्ट्रीम आठ से दस किलोमीटर की ऊंचाई से तेज रफ्तार से गुजरने वाली हवाएं (रफ्तार 100 से 250 किमी. प्रति घंटा तक) होती हैं। इसके प्रभाव से काफी ऊंचाई पर बादल बन जाते हैं। हालांकि इन बादलों के कारण बारिश की संभावना नहीं रहती, लेकिन तापमान में अपेक्षाकृत बढ़ोतरी नहीं हो पाती।   अभी तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने का सिलसिला बना रहेगा। 27 अप्रैल को एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में प्रवेश करेगा। उसके प्रभाव से मौसम के मिजाज में कुछ बदलाव होगा।

Dakhal News

Dakhal News 24 April 2021


bhopal,MP state,suffering from heat ,temperature rises

भोपाल। मध्य प्रदेश में फिलहाल कोई वेदर सिस्टम सक्रिय नहीं होने और हवाओं का रुख बदलने से वातावरण में नमी कम हो गई है। जिसके चलते राजधानी समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान बढ़ गया है।   शुक्रवार को प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 42 डिग्री सेल्सियस खजुराहो में दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार अभी चार-पांच दिन तक मौसम शुष्क रहने के आसार हैं। इस दौरान तापमान में धीरे-धीरे और बढ़ोतरी होने की संभावना है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में ऊंचाई पर बादल बने हुए हैं। इस वजह से तापमान में अपेक्षाकृत बढ़ोतरी नहीं हो पा रही रही है। दरअसल अरब सागर से मध्यप्रदेश होकर उत्तर-पूर्व की तरफ जेटस्ट्रीम गुजर रही है। जेट स्ट्रीम आठ से दस किलोमीटर की ऊंचाई से तेज रफ्तार से गुजरने वाली हवाएं (रफ्तार 100 से 250 किमी. प्रति घंटा तक) होती हैं। इसके प्रभाव से काफी ऊंचाई पर बादल बन जाते हैं। हालांकि इन बादलों के कारण बारिश की संभावना नहीं रहती, लेकिन तापमान में अपेक्षाकृत बढ़ोतरी नहीं हो पाती।   अभी तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने का सिलसिला बना रहेगा। 27 अप्रैल को एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में प्रवेश करेगा। उसके प्रभाव से मौसम के मिजाज में कुछ बदलाव होगा।

Dakhal News

Dakhal News 24 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


bhopal, MP severe heat, possibility, increasing temperature

भोपाल। मप्र में पिछले तीन दिनों से छाए बादल अब छंटने लगे और हवााओं का रुख भी परिवर्तित हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से अब गर्मी अपना असर दिखाना शुरू करेगी। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश जिलों में तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ प्रचंड गर्मी पड़ने के आसार है। हालांकि न्यूनतम तापमान अभी सामान्य के आसपास रहेगा जिससे रात के समय गर्मी से राहत रहेगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश और उसके आसपास अलग-अलग स्थानों पर वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए थे। इससे प्रदेश में हवाओं के साथ नमी आने लगी थी। इससे बादल छा गए थे और कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ रही थीं। इससे अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज होने लगी थी। गुरुवार को भी दोपहर तक दक्षिण-पूर्वी हवाएं चलीं। इसके बाद हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया था। इस वजह से अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी नहीं हो सकी। हालांकि शाम के वक्त हवा का रुख फिर उत्तर-पश्चिमी हो गया है। वातावरण में नमी कम होने से निचले स्तर पर बने बादल भी छंट गए है। शुक्रवार से पश्चिमी हवाएं चलने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। 27 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। इससे गर्मी के तेवर कुछ तीखे होने का भी अनुमान है।

Dakhal News

Dakhal News 23 April 2021


Gwalior,1190 infected, 31 killed , district

ग्वालियर। प्रशासन के तमाम इंतजामों के बावजूद कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है और उसी के साथ मौतों का सिलसिला भी लगातार बढ़ता जा रहा है। बुधवार को शहर के विभिन्न अस्पतालों में 31 लोगों ने जान गंवाई। इनमें से 24 लोग शहर और सात लोग बाहर के रहने वाले हैं। मंगलवार को भी 28 लोगों की मौत हुई थी।   जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुधवार रात को जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक बुधवार को 3700 लोगों की जांच की गई। इनमें से 1190 मरीज संक्रमित मिले हैं। इनमें 23 बाहरी मरीजों को जोड़ दिया जाए,  तो संक्रमितों का कुल आंकड़ा 1213 हो जाता है। संक्रमण दर 32.1 फीसद रही। अब शहर में सक्रिय मरीजों की संख्या 8155 हो चुकी है। राहत की बात यह है कि 714 लोग स्वस्थ भी हुए हैं।   बीते 24 घंटों में ग्वालियर के विभिन्न अस्पतालों में तारागंज के 76 वर्षीय द्वारिका तनेजा, डीडी नगर के 67 वर्षीय रामदीन कोरकू,शिंदे की छावनी की 75 वर्षीय भगवती बाई उमरईया,गोला का मंदिर के 64 वर्षीय रामदत्त शर्मा, डीडी नगर के 62 वर्षीय आरके श्रीवास्तव, गोवर्धन कॉलोनी के 37 वर्षीय लालू सिंह कुशवाह, बिरला नगर के 44 वर्षीय महेन्द्र कुमार पारया, सागरताल के 42 वर्षीय सोनल तोमर,ग्वालियर की 64 वर्षीय गुरुवंत कौर, पड़ाव के 62 वर्षीय रामनाथ मौर्य, थाटीपुर की 77 शारदा श्रीवास्तव,थाटीपुर के 70 वर्षीय रामवती कुशवाह, भितरवार के 32 वर्षीय प्रहलाद सिंह राजौरिया, माधौगंज के 75 वर्षीय प्रेमनारायण शिवहरे, ग्वालियर के 66 वर्षीय वंशराज , ग्वालियर के 48 वर्षीय दुर्गा प्रसाद, ग्वालियर के 68 वर्षीय रमेश चौहान, मुरार के 45 वर्षीय अमर सिंह,थीटपुर के 60 वर्षीय राजेन्द्र सोनी, ग्वालियर के 80 वर्षीय एलडी शर्मा, आमखो के 55 वर्षीय मनीराम, चंद्रनगर की 42 वर्षीय सोनल, ग्वालियर की 60 वर्षीय अनीता, ग्वालियर के बृजेश जैन और ग्वालियर के लालता प्रसाद ने दम ताेड़ा है। वहीं जालौन के 35 वर्षीय रामजीत सिंह,आगरा के 70 वर्षीय अरबिंद सिंह भदौरिया, दतिया के 64 वर्षीय अनिल कुमार पाण्डे, छतरपुर के 35 वर्षीय अतुल पटैरिया, झांसी के 60 वर्षीय चन्द्रभान सिंह, शिवपुरी की 65 वर्षीय मोहन गुप्ता, आगरा के 67 वर्षीय श्रीकृष्ण पोरवाल ने भी अपनी जान गंवाई।

Dakhal News

Dakhal News 22 April 2021


bhopal, Sagar Group, big initiative, 500-bed, Kovid Care Center

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में कोरोना वायरस से सबसे अधि‍क भोपाल और इंदौर प्रभावित हैं। ऐसे में जिला प्रशासन के सहयोग से सागर पब्लिक ग्रुप द्वारा रातीबड़ स्थित कैम्पस में तैयार 500 बेड का कोविड केयर सेंटर गुरुवार से शुरू हो गया है। सेंटर में एसिप्टोमेटिक कोरोना पॉजिटिव मरीजों को रखा जा रहा है । विशेषकर ऐसे मरीजों को यहाँ रखे जाने का प्रबंध है, जिनके होम आइसोलेशन में प्राब्लम आ रही है या इनके माइल सिंड्रोम हैं। ऐसे मरीजों के लिये यहाँ पर 300 बेड का सेंटर शुरू कर दिया गया है।इस संबंध में मंत्री विश्‍वास सारंग का कहना था कि कोविड केयर सेंटर में बिना लक्षण वाले और माइल्ड सिंड्रोम वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों को रखा जायेगा। सेंटर आने वाले 2 दिनों में 500 बेड की सुविधा के साथ उपलब्ध रहेगा। आपात मेडिकल सेवा के लिये डॉक्टर्स की टीम भी तैनात रहेगी, जो लगातार मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण भी करती रहेगी।वहीं,  कलेक्टर अविनाश लवानिया ने बताया कि भोपाल में हर क्षेत्र में ऐसे कोविड केयर सेंटर शुरू किये जा रहे हैं। होम आइसोलेशन के मरीजों को इन सेंटर में रखा जायेगा और उनकी बेहतर तरीके से देखभाल की जा सकेगी। आवश्यकता होने पर उन्हें तुरंत डेडिकेटेड कोरोना हॉस्पिटल में बेड भी उपलब्ध्ध कराया जा सकेगा। आपात स्थिति से निपटने के लिये इन सेंटर्स में ऑक्सीजन जनरेटर भी रखे गये हैं। किसी भी मरीज को जरूरत अनुसार तुरंत ऑक्सीजन भी लगाई जा सकेगी।इसके अलावा जनसंपर्क अधिकारी अरूण राठौर ने बताया कि चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग के आव्हान पर सागर ग्रुप ने यह सेंटर शुरू किया है।  यहां अगले 2 दिनों में 500 बेड की सुविधाएँ उपलब्ध होंगी। सेंटर में रोगियों को चाय, पानी, नाश्ते के साथ सुबह और शाम योगा, मनोचिकित्सक द्वारा प्रतिदिन चेकअप की सुविधा भी उपलब्ध करवायी जायेगी। पैरामेडिकल स्टॉफ का काम जे.पी. अस्पताल के सहयोग से किया जायेगा।

Dakhal News

Dakhal News 22 April 2021


bhopal, MP Weather, Thunderstorms are expected , districts, capital today

भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम का बदलाव लगातार जारी है। पिछले तीन दिनों से यहां अधिकांश इलाकों में बादलों ने ढेरा डाल रखा है और दोपहर बाद रिमझिम फुहारें भी गिर रही है। बुधवार को भी शाम के समय राजधानी समेत कई जिलों में बारिश हुई। वहीं गुरुवार सुबह से हल्के बादल छाए हुए है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी से आ रही नम हवाओं के कारण मध्य प्रदेश में मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ है। गुरुवार को भी राजधानी समेत प्रदेश के कई ईलाकों में बारिश गिरने की संभावना है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक आर आर त्रिपाठी ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान मे एक पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर में मौजूद है। पंजाब और उसके आसपास एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। दक्षिण-पश्चिम राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात मौजूद है। इसके अतिरिक्त अफगानिस्तान और उससे लगे पाकिस्तान भी एक पश्चिमी विक्षोभ बना है। इन चार सिस्टम के सक्रिय होने के कारण मौसम का मिजाज गड़बड़ा रहा है। गुरुवार को भी आंशिक बादल मौजूद रहेंगे, लेकिन अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी होगी। इस दौरान भोपाल समेत अनूपपुर, डिंडोरी, मंडला, सिवनी, बालाघाट, गुना, ग्वालियर, अशोक नगर, श्योपुर, उज्जैन, इंदौर, शाजापुर, देवास जिलों में भी गरज-चमक के साथ बारिश होने की संभावना है।

Dakhal News

Dakhal News 22 April 2021


gwalior, Isolation center ,set up , Scindia Foundation,start today

ग्वालियर। सिंधिया फाउंडेशन द्वारा कोरोना संक्रमितों की देखभाल के लिए तैयार किया गया 200 बेड का आइसोलेशन सेंटर मंगलवार शाम से काम करना शुरू कर देगा। बड़ी बात यह है कि इस सेंटर को फाउंडेशन ने महज चौबीस घंटों में तैयार किया है।   राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया से जुड़ी संस्था सिंधिया फाउंडेशन ने मेला फैसिलिटेशन सेंटर में 24 घंटे में 200 बिस्तर का कोविड आइसोलेशन सेंटर तैयार किया है। इस सेंटर में आइसोलेट होने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों के निशुल्क इलाज से लेकर काढ़ा व खाने का इंतजाम किया गया है। यह सेंटर मंगलवार की शाम चार बजे से शुरू हो जाएगा। जिला प्रशासन संक्रमित मरीजों की देखरेख के लिए पैरामेडिकल स्टाफ व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में मदद करेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार सेंटर में 200 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। इनमें 10 से 15 ऑक्सीजन बेड भी शामिल हैं। कोरोना संक्रमितों की देखरेख करने के लिए फिलहाल पांच डाक्टरों के अलावा पैरामेडिकल स्टाफ की भी व्यवस्था की गई है।  डाक्टर लगातार विजिट करेंगे, वहीं पैरामेडिकल स्टाफ 24 घंटे मरीजों की देखरेख के लिए रहेगा।   इस सेंटर में भर्ती होने के लिए सिर्फ कोरोना की जांच रिपोर्ट दिखाना होगी। आइसोलेशन सेंटर में भर्ती होने वाले मरीजों को दवा, भोजन, काढ़ा व अन्य जरूरत का सामान पूर्णत: निशुल्क दिया जाएगा। भर्ती का भी कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


gwalior, Isolation center ,set up , Scindia Foundation,start today

ग्वालियर। सिंधिया फाउंडेशन द्वारा कोरोना संक्रमितों की देखभाल के लिए तैयार किया गया 200 बेड का आइसोलेशन सेंटर मंगलवार शाम से काम करना शुरू कर देगा। बड़ी बात यह है कि इस सेंटर को फाउंडेशन ने महज चौबीस घंटों में तैयार किया है।   राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया से जुड़ी संस्था सिंधिया फाउंडेशन ने मेला फैसिलिटेशन सेंटर में 24 घंटे में 200 बिस्तर का कोविड आइसोलेशन सेंटर तैयार किया है। इस सेंटर में आइसोलेट होने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों के निशुल्क इलाज से लेकर काढ़ा व खाने का इंतजाम किया गया है। यह सेंटर मंगलवार की शाम चार बजे से शुरू हो जाएगा। जिला प्रशासन संक्रमित मरीजों की देखरेख के लिए पैरामेडिकल स्टाफ व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में मदद करेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार सेंटर में 200 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। इनमें 10 से 15 ऑक्सीजन बेड भी शामिल हैं। कोरोना संक्रमितों की देखरेख करने के लिए फिलहाल पांच डाक्टरों के अलावा पैरामेडिकल स्टाफ की भी व्यवस्था की गई है।  डाक्टर लगातार विजिट करेंगे, वहीं पैरामेडिकल स्टाफ 24 घंटे मरीजों की देखरेख के लिए रहेगा।   इस सेंटर में भर्ती होने के लिए सिर्फ कोरोना की जांच रिपोर्ट दिखाना होगी। आइसोलेशन सेंटर में भर्ती होने वाले मरीजों को दवा, भोजन, काढ़ा व अन्य जरूरत का सामान पूर्णत: निशुल्क दिया जाएगा। भर्ती का भी कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


gwalior, Isolation center ,set up , Scindia Foundation,start today

ग्वालियर। सिंधिया फाउंडेशन द्वारा कोरोना संक्रमितों की देखभाल के लिए तैयार किया गया 200 बेड का आइसोलेशन सेंटर मंगलवार शाम से काम करना शुरू कर देगा। बड़ी बात यह है कि इस सेंटर को फाउंडेशन ने महज चौबीस घंटों में तैयार किया है।   राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया से जुड़ी संस्था सिंधिया फाउंडेशन ने मेला फैसिलिटेशन सेंटर में 24 घंटे में 200 बिस्तर का कोविड आइसोलेशन सेंटर तैयार किया है। इस सेंटर में आइसोलेट होने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों के निशुल्क इलाज से लेकर काढ़ा व खाने का इंतजाम किया गया है। यह सेंटर मंगलवार की शाम चार बजे से शुरू हो जाएगा। जिला प्रशासन संक्रमित मरीजों की देखरेख के लिए पैरामेडिकल स्टाफ व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में मदद करेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार सेंटर में 200 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। इनमें 10 से 15 ऑक्सीजन बेड भी शामिल हैं। कोरोना संक्रमितों की देखरेख करने के लिए फिलहाल पांच डाक्टरों के अलावा पैरामेडिकल स्टाफ की भी व्यवस्था की गई है।  डाक्टर लगातार विजिट करेंगे, वहीं पैरामेडिकल स्टाफ 24 घंटे मरीजों की देखरेख के लिए रहेगा।   इस सेंटर में भर्ती होने के लिए सिर्फ कोरोना की जांच रिपोर्ट दिखाना होगी। आइसोलेशन सेंटर में भर्ती होने वाले मरीजों को दवा, भोजन, काढ़ा व अन्य जरूरत का सामान पूर्णत: निशुल्क दिया जाएगा। भर्ती का भी कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


gwalior, Isolation center ,set up , Scindia Foundation,start today

ग्वालियर। सिंधिया फाउंडेशन द्वारा कोरोना संक्रमितों की देखभाल के लिए तैयार किया गया 200 बेड का आइसोलेशन सेंटर मंगलवार शाम से काम करना शुरू कर देगा। बड़ी बात यह है कि इस सेंटर को फाउंडेशन ने महज चौबीस घंटों में तैयार किया है।   राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया से जुड़ी संस्था सिंधिया फाउंडेशन ने मेला फैसिलिटेशन सेंटर में 24 घंटे में 200 बिस्तर का कोविड आइसोलेशन सेंटर तैयार किया है। इस सेंटर में आइसोलेट होने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों के निशुल्क इलाज से लेकर काढ़ा व खाने का इंतजाम किया गया है। यह सेंटर मंगलवार की शाम चार बजे से शुरू हो जाएगा। जिला प्रशासन संक्रमित मरीजों की देखरेख के लिए पैरामेडिकल स्टाफ व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में मदद करेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार सेंटर में 200 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। इनमें 10 से 15 ऑक्सीजन बेड भी शामिल हैं। कोरोना संक्रमितों की देखरेख करने के लिए फिलहाल पांच डाक्टरों के अलावा पैरामेडिकल स्टाफ की भी व्यवस्था की गई है।  डाक्टर लगातार विजिट करेंगे, वहीं पैरामेडिकल स्टाफ 24 घंटे मरीजों की देखरेख के लिए रहेगा।   इस सेंटर में भर्ती होने के लिए सिर्फ कोरोना की जांच रिपोर्ट दिखाना होगी। आइसोलेशन सेंटर में भर्ती होने वाले मरीजों को दवा, भोजन, काढ़ा व अन्य जरूरत का सामान पूर्णत: निशुल्क दिया जाएगा। भर्ती का भी कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


Indore, 1753 new cases , corona, eight dead

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1753 नये मामले सामने आए हैं, जबकि आठ मरीजों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 92 हजार 768 और मृतकों की संख्या 1062 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 9554 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1753 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 92 हजार 768 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से आठ मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है।   अब यहां मृतकों की संख्या 1062 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 913 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अबतक 79 हजार 382 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12, 324 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


Indore, 1753 new cases , corona, eight dead

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1753 नये मामले सामने आए हैं, जबकि आठ मरीजों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 92 हजार 768 और मृतकों की संख्या 1062 हो गई है।   इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने रविवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 9554 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1753 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 92 हजार 768 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से आठ मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है।   अब यहां मृतकों की संख्या 1062 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 913 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अबतक 79 हजार 382 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। फिलहाल 12, 324 कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 20 April 2021


bhopal, MP Relief , heat in the capital, cloud cover, temperature

भोपाल। राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कुछ हिस्सों में सोमवार सुबह से हल्के बादल छाने के कारण गर्मी से राहत है। मौसम विभाग के अनुसार अरब सागर पर बने एक प्रति चक्रवात के कारण मध्य प्रदेश के वातावरण में हवा के साथ नमी आने का सिलसिला बना हुआ है। बादलों की मौजूदगी के कारण प्रदेश के अधिकांश जिलों में अधिकतम तापमान में अपेक्षाकृत वृद्धि नहीं हो पा रही है। दो दिन बाद मौसम एक बार फिर करवट बदलेगा और तापमान में वृद्धि के साथ प्रचंड गर्मी पडऩी शुरू हो जाएगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में अरब सागर में एक प्रति चक्रवात बना हुआ है। प्रदेश में सुबह के समय हवा का रूख उत्तर-पूर्वी रहता है। इससे बादल छंट जाते हैं। धूप में तल्खी होने से तापमान धीरे-धीरे बढ़ने लगता है लेकिन दोपहर के समय हवा का रुख बदलकर पश्चिमी हो जाता है। पश्चिमी हवाओं के साथ अरब सागर से कुछ नमी भी आ रही है। इससे आसमान पर आंशिक बादल छाने लगते हैं। बादलों की मौजूदगी के कारण अधिकतम तापमान अपेक्षाकृत नहीं बढ़ पा रहा है। 20 अप्रैल को एक नए पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है। इसके उत्तर भारत से गुजर जाने के बाद 22 अप्रैल से तापमान में बढ़ोतरी हो सकती है। अप्रैल के अंतिम सप्ताह में गर्मी के तेवर तीखे हो सकते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 19 April 2021


bhopal, MP Relief , heat in the capital, cloud cover, temperature

भोपाल। राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कुछ हिस्सों में सोमवार सुबह से हल्के बादल छाने के कारण गर्मी से राहत है। मौसम विभाग के अनुसार अरब सागर पर बने एक प्रति चक्रवात के कारण मध्य प्रदेश के वातावरण में हवा के साथ नमी आने का सिलसिला बना हुआ है। बादलों की मौजूदगी के कारण प्रदेश के अधिकांश जिलों में अधिकतम तापमान में अपेक्षाकृत वृद्धि नहीं हो पा रही है। दो दिन बाद मौसम एक बार फिर करवट बदलेगा और तापमान में वृद्धि के साथ प्रचंड गर्मी पडऩी शुरू हो जाएगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में अरब सागर में एक प्रति चक्रवात बना हुआ है। प्रदेश में सुबह के समय हवा का रूख उत्तर-पूर्वी रहता है। इससे बादल छंट जाते हैं। धूप में तल्खी होने से तापमान धीरे-धीरे बढ़ने लगता है लेकिन दोपहर के समय हवा का रुख बदलकर पश्चिमी हो जाता है। पश्चिमी हवाओं के साथ अरब सागर से कुछ नमी भी आ रही है। इससे आसमान पर आंशिक बादल छाने लगते हैं। बादलों की मौजूदगी के कारण अधिकतम तापमान अपेक्षाकृत नहीं बढ़ पा रहा है। 20 अप्रैल को एक नए पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है। इसके उत्तर भारत से गुजर जाने के बाद 22 अप्रैल से तापमान में बढ़ोतरी हो सकती है। अप्रैल के अंतिम सप्ताह में गर्मी के तेवर तीखे हो सकते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 19 April 2021


bhopal, Relief from heat, present in Madhya Pradesh, severe heat

भोपाल। मध्य प्रदेश के लोगों को फिलहाल गर्मी से राहत है। अमूमन अप्रैल और मई माह में सर्वाधिक गर्मी पड़ती है लेकिन इसबार अप्रैल का पहला पखवाड़ा लगभग ठंडा ही बीत गया है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक तीन दिन बाद यह राहत खत्म हो जाएगी और अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी होने की संभावना बन रही है। जिससे तेज गर्मी और उमस शुरू हो जाएगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि इस वर्ष उत्तर भारत में लगातार पश्चिमी विक्षोभ के आने का सिलसिला बना हुआ है। इस वजह से बादल छाने के साथ ही प्रदेश के विभिन्न इलाकों में बारिश होने के कारण अधिकतम तापमान में अपेक्षाकृत बढ़ोतरी नहीं हो सकी। वातावरण में नमी मौजूद रहने के कारण आंशिक बादल छाए हुए हैं। शहर में शनिवार को दोपहर तक उत्तर-पश्चिमी हवाएं चलीं। दोपहर के बाद हवा का रुख पश्चिमी हो गया था। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के 19 अप्रैल को उत्तर भारत में प्रवेश करने की संभावना है। इस वजह से अभी तापमान में उतार-चढ़ाव का सिलसिला जारी रहेगा। 21 अप्रैल तक मौसम शुष्क बना रहने के आसार हैं। इस दौरान बीच-बीच में आंशिक बादल भी छाएंगे, लेकिन बारिश होने की संभावना नहीं है। 21 अप्रैल के बाद अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी होने की संभावना है।

Dakhal News

Dakhal News 18 April 2021


bhopal, Relief from heat, present in Madhya Pradesh, severe heat

भोपाल। मध्य प्रदेश के लोगों को फिलहाल गर्मी से राहत है। अमूमन अप्रैल और मई माह में सर्वाधिक गर्मी पड़ती है लेकिन इसबार अप्रैल का पहला पखवाड़ा लगभग ठंडा ही बीत गया है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक तीन दिन बाद यह राहत खत्म हो जाएगी और अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी होने की संभावना बन रही है। जिससे तेज गर्मी और उमस शुरू हो जाएगी।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि इस वर्ष उत्तर भारत में लगातार पश्चिमी विक्षोभ के आने का सिलसिला बना हुआ है। इस वजह से बादल छाने के साथ ही प्रदेश के विभिन्न इलाकों में बारिश होने के कारण अधिकतम तापमान में अपेक्षाकृत बढ़ोतरी नहीं हो सकी। वातावरण में नमी मौजूद रहने के कारण आंशिक बादल छाए हुए हैं। शहर में शनिवार को दोपहर तक उत्तर-पश्चिमी हवाएं चलीं। दोपहर के बाद हवा का रुख पश्चिमी हो गया था। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के 19 अप्रैल को उत्तर भारत में प्रवेश करने की संभावना है। इस वजह से अभी तापमान में उतार-चढ़ाव का सिलसिला जारी रहेगा। 21 अप्रैल तक मौसम शुष्क बना रहने के आसार हैं। इस दौरान बीच-बीच में आंशिक बादल भी छाएंगे, लेकिन बारिश होने की संभावना नहीं है। 21 अप्रैल के बाद अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी होने की संभावना है।

Dakhal News

Dakhal News 18 April 2021


bhopal,MP Dusty thunderstorm, Gwalior, Chambal division ,expected to rain

भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम का बदलाव जारी है। दो सिस्टम सक्रिय होने के बादल बने रहने और तेज हवाएं चलने के कारण दिन के तापमान में गिरावट हो रही है। बादलों की मौजूदगी की वजह से रात का तापमान बढ़ भी रहा है। मौसम विभाग के अनुसार मौसम में आए परिवर्तन के कारण शुक्रवार को भी प्रदेश के ग्वालियर- चंबल संभाग में धूल भरी आंधी चलने के साथ बारिश गिरने के आसार है। इस दौरान भोपाल, जबलपुर, इंदौर में आंशिक बादल बने रहेंगे। हालांकि दिन के तापमान में बढ़ोतरी होने के आसार हैं।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में पाकिस्तान पर एक पश्चिमी विक्षोभ बना है। मध्य पाकिस्तान और उससे लगे राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। हरियाणा और उससे लगे क्षेत्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसी तरह विदर्भ पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इन चार वेदर सिस्टम के कारण वातावरण में नमी आ रही है। शुक्रवार सुबह पाकिस्तान पर बने पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में दाखिल होने की संभावना है। मध्य पाकिस्तान पर बना प्रेरित चक्रवात भी पश्चिमी राजस्थान पर खिसक आएगा। इस वजह से शुक्रवार को ग्वालियर, चंबल और उज्जैन संभाग के जिलों में कहीं-कहीं तेज रफ्तार से धूल भरी हवाएं चलने के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। प्रदेश के शेष जिलों में आंशिक बादल बने रह सकते हैं, लेकिन दिन के तापमान में बढ़ोतरी होने लगेगी। रविवार तक पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने के बाद दिन के तापमान में कुछ गिरावट होने लगेगी।

Dakhal News

Dakhal News 16 April 2021


bhopal,MP Dusty thunderstorm, Gwalior, Chambal division ,expected to rain

भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम का बदलाव जारी है। दो सिस्टम सक्रिय होने के बादल बने रहने और तेज हवाएं चलने के कारण दिन के तापमान में गिरावट हो रही है। बादलों की मौजूदगी की वजह से रात का तापमान बढ़ भी रहा है। मौसम विभाग के अनुसार मौसम में आए परिवर्तन के कारण शुक्रवार को भी प्रदेश के ग्वालियर- चंबल संभाग में धूल भरी आंधी चलने के साथ बारिश गिरने के आसार है। इस दौरान भोपाल, जबलपुर, इंदौर में आंशिक बादल बने रहेंगे। हालांकि दिन के तापमान में बढ़ोतरी होने के आसार हैं।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में पाकिस्तान पर एक पश्चिमी विक्षोभ बना है। मध्य पाकिस्तान और उससे लगे राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। हरियाणा और उससे लगे क्षेत्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसी तरह विदर्भ पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इन चार वेदर सिस्टम के कारण वातावरण में नमी आ रही है। शुक्रवार सुबह पाकिस्तान पर बने पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में दाखिल होने की संभावना है। मध्य पाकिस्तान पर बना प्रेरित चक्रवात भी पश्चिमी राजस्थान पर खिसक आएगा। इस वजह से शुक्रवार को ग्वालियर, चंबल और उज्जैन संभाग के जिलों में कहीं-कहीं तेज रफ्तार से धूल भरी हवाएं चलने के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। प्रदेश के शेष जिलों में आंशिक बादल बने रह सकते हैं, लेकिन दिन के तापमान में बढ़ोतरी होने लगेगी। रविवार तक पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने के बाद दिन के तापमान में कुछ गिरावट होने लगेगी।

Dakhal News

Dakhal News 16 April 2021


bhopal,MP Dusty thunderstorm, Gwalior, Chambal division ,expected to rain

भोपाल। मध्य प्रदेश में मौसम का बदलाव जारी है। दो सिस्टम सक्रिय होने के बादल बने रहने और तेज हवाएं चलने के कारण दिन के तापमान में गिरावट हो रही है। बादलों की मौजूदगी की वजह से रात का तापमान बढ़ भी रहा है। मौसम विभाग के अनुसार मौसम में आए परिवर्तन के कारण शुक्रवार को भी प्रदेश के ग्वालियर- चंबल संभाग में धूल भरी आंधी चलने के साथ बारिश गिरने के आसार है। इस दौरान भोपाल, जबलपुर, इंदौर में आंशिक बादल बने रहेंगे। हालांकि दिन के तापमान में बढ़ोतरी होने के आसार हैं।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में पाकिस्तान पर एक पश्चिमी विक्षोभ बना है। मध्य पाकिस्तान और उससे लगे राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। हरियाणा और उससे लगे क्षेत्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसी तरह विदर्भ पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इन चार वेदर सिस्टम के कारण वातावरण में नमी आ रही है। शुक्रवार सुबह पाकिस्तान पर बने पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में दाखिल होने की संभावना है। मध्य पाकिस्तान पर बना प्रेरित चक्रवात भी पश्चिमी राजस्थान पर खिसक आएगा। इस वजह से शुक्रवार को ग्वालियर, चंबल और उज्जैन संभाग के जिलों में कहीं-कहीं तेज रफ्तार से धूल भरी हवाएं चलने के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। प्रदेश के शेष जिलों में आंशिक बादल बने रह सकते हैं, लेकिन दिन के तापमान में बढ़ोतरी होने लगेगी। रविवार तक पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने के बाद दिन के तापमान में कुछ गिरावट होने लगेगी।

Dakhal News

Dakhal News 16 April 2021


bhopal, Board exams postponed, one month due,corona infection

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। इसी को देखते हुए सरकार ने कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए हैं, तो वहीं सरकार कार्यालयों में 25 प्रतिशत उपस्थिति रखने के निर्देश दिए हैं। वहीं अभी तक अटकी 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाएं  एक माह के लिए टाल दीं गई हैं।    गौरतलब है कि 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षाएं 30 अप्रैल एवं 1 मई से शुरू होनी थी। अब परीक्षाएं जून माह में आयोजित की जाएंगी। इसका विस्तृत संशोधित परीक्षा कार्यक्रम जल्द ही जारी किया जाएगा। बुधवार को माध्यमिक शिक्षा मंडल की तरफ से बोर्ड परीक्षाओं को एक महीने के लिए टालने के संबंध में आदेश जारी कर दिया है। आदेश के अनुसार अब माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा हाई स्कूल, हायर सेकंडरी, हायर सेकंडरी (व्यावसायिक), डिप्लोमा इन प्री स्कूल एजुकेशन, शारीरिक प्रशिक्षण पत्रोपाधि परीक्षाएं अब जून माह में आयोजित की जाएंगी।

Dakhal News

Dakhal News 14 April 2021


bhopal, Board exams postponed, one month due,corona infection

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। इसी को देखते हुए सरकार ने कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए हैं, तो वहीं सरकार कार्यालयों में 25 प्रतिशत उपस्थिति रखने के निर्देश दिए हैं। वहीं अभी तक अटकी 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाएं  एक माह के लिए टाल दीं गई हैं।    गौरतलब है कि 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षाएं 30 अप्रैल एवं 1 मई से शुरू होनी थी। अब परीक्षाएं जून माह में आयोजित की जाएंगी। इसका विस्तृत संशोधित परीक्षा कार्यक्रम जल्द ही जारी किया जाएगा। बुधवार को माध्यमिक शिक्षा मंडल की तरफ से बोर्ड परीक्षाओं को एक महीने के लिए टालने के संबंध में आदेश जारी कर दिया है। आदेश के अनुसार अब माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा हाई स्कूल, हायर सेकंडरी, हायर सेकंडरी (व्यावसायिक), डिप्लोमा इन प्री स्कूल एजुकेशन, शारीरिक प्रशिक्षण पत्रोपाधि परीक्षाएं अब जून माह में आयोजित की जाएंगी।

Dakhal News

Dakhal News 14 April 2021


umaria, Suspected death,another tiger,Bandhavgarh Tiger Reserve

उमरिया। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में बाघों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां एक बार फिर संदिग्‍ध परिस्थितियों में एक बाघ की मौत हो गई।   यह जानकारी मंगलवार को क्षेत्र संचालक विन्सेंट रहीम ने प्रेस नोट जारी करते हुए बताया कि 12 अप्रैल को सुबह 8.30 बजे गोबरा ताल पेट्रोलिंग कैंप के गशती श्रमिक को जनाड नदी में गोबराताल बीट के कक्ष क्रमांक 336 में बडखेरा बीट की सीमा में झाड़ियों के पास एक नर बाघ का शव दिखाई दिया। जिसकी सूचना वरिष्‍ठ अधिकारियों को दी गई। बीट गार्ड और परिक्षेत्र अधिकारी मानपुर मौके पर पहुंचे और सूचना सभी अधिकारियों को दी और क्षेत्र को सील किया गया। डॉग स्क्वाड को बुलाकर आसपास के क्षेत्र का परीक्षण कराया गया। मेटल डिटेक्टर से भी शव का परिक्षण कराया गया।    क्षेत्र संचालक विंसेंट रहीम, प्रभारी उप संचालक स्वरूपदीक्षित, एसडीओ मानपुर अभिषेक तिवारी और एनटीसीए के प्रतिनिधियों सत्येंद्र तिवारी और सी एम खरे की उपस्थिति में वन्य जीव सहायक शल्यज्ञ डॉक्टर नितिन गुप्ता एवं मानपुर की पशु चिकित्सक डॉ द्वारा शव का परिक्षण कराया गया।    परिक्षण में पाया गया कि शव दो दिन से अधिक पुराना हैं जो गल चुका था।  टीम ने जांच के लिए सैंपल ले लिए हैं। शव के शरीर पर कोई घाव या आपसी लड़ाई के चिन्ह नहीं मिले। प्रथम दृष्टया मृत्यु का कोई स्पष्ट कारण ज्ञात नहीं हुआ। नर बाघ की आयु लगभग 10 वर्ष होने का अनुमान लगाया गया । शव को समस्त अवयवों सहित जलाकर पूर्णतः नष्ट किया गया।

Dakhal News

Dakhal News 13 April 2021


indore,A record 1552 new cases,corona found , six people also died

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1552 नये मामले सामने आए हैं, जबकि कोरोना से छह लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढकऱ 80 हजार 986 और मृतकों की संख्या 1011 हो गई है। इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने मंगलवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा सोमवार देर रात 5206 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 1552 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 80 हजार 986 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से छह मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 1011 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 213 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 71 हजार 519 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन नये मामले अधिक संख्या में मिलने से यहां सक्रिय मरीज बढकऱ 8384 हो गए हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।    बता दें कि इंदौर में फरवरी के शुरुआत में नये मामलों की संख्या 50 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन इसके बाद यह संख्या लगातार बढ़ते हुए अब 800 के पार पहुंच गई है। इससे एक दिन पहले यहां रिकॉर्ड 898 नये संक्रमित मिले थे। लेकिन सोमवार को नया कीर्तिमान स्थापित करते हुए यहां रिकार्ड 1552 मामले सामने आने के बाद प्रशासन में हडक़ंप मच गया हैं।

Dakhal News

Dakhal News 13 April 2021


Chhindwara, Leopard killed, dead body found , suspicious circumstances

छिंदवाड़ा। मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले के सौसर वन परिक्षेत्र के मुंगापार गांव में संदिग्ध परिस्थितियों में तेंदुए का शव मिला है। जिससे वन विभाग के आला अधिकारी सकते में आ गए हैं।   दक्षिण वनमण्डल के सौसर वन परिक्षेत्र के मुंगापार गाँव में रविवार सुबह तेंदुए का शव मिला है। तेंदुए की मौत की वजह फिलहाल साफ नहीं हो पाई है, हालाँकि वन विभाग के अधिकारी जांच में जुटे हुए हैं। सीसीएफ केके अग्रवाल के मुताबिक अभी मृत तेंदुए का पोस्टमार्टम होने वाला है, उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है। सीसीएफ अग्रवाल एवं महकमे के अन्य अधिकारी मुंगापार पहुंच रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 11 April 2021


anuppur, 3.7 magnitude earthquake, felt on MP-CG border

अनूपपुर। कोरोना लहर से परेशान,भयभीत लोगों को रविवार 11 अप्रैल की दोपहर आए भूकंप ने हिला कर रख दिया। अनूपपुर जिला मुख्यालय सहित कई स्थानों में महसूस किया गया। कुछ सेकेण्ड तक तेज आवाज के साथ घरों की दीवारें हिल गयीं। पंखे -सामान हिलने लगे। लोगों ने इस कंपन और आवाज को स्पष्ट महसूस किया। बच्चे, जवान, बुजुर्ग सभी जान बचाने के लिये बाहर भागे। प्राप्त जानकारी के अनुसार अनूपपुर - बिलासपुर की सीमा पर इसका केन्द्र था। जमीन में दस किमी की गहराई पर 3.7 तीव्रता का भूकंप था। अनूपपुर, जैतहरी, वेंकटनगर, कोतमा, चचाई, धनपुरी में यह झटके महसूस किये गये, जबकि अधिक पहाड़ी ऊंचाई वाले राजेन्द्रग्राम, अमरकंटक में भूकंप महसूस नहीं किया। भूकंप से किसी जान माल के नुकसान की सूचना नहीं है।  जानकारों की माने तो यह कंपन भू-गर्भीय घटना हैं जो गडग़ड़हट के साथ हैं ऐसा लगता हैं कि जमीन के अन्दर कोई भू परत धधकी हो। जिससे कंपन महसूस किया गया हैं।

Dakhal News

Dakhal News 11 April 2021


anuppur, 3.7 magnitude earthquake, felt on MP-CG border

अनूपपुर। कोरोना लहर से परेशान,भयभीत लोगों को रविवार 11 अप्रैल की दोपहर आए भूकंप ने हिला कर रख दिया। अनूपपुर जिला मुख्यालय सहित कई स्थानों में महसूस किया गया। कुछ सेकेण्ड तक तेज आवाज के साथ घरों की दीवारें हिल गयीं। पंखे -सामान हिलने लगे। लोगों ने इस कंपन और आवाज को स्पष्ट महसूस किया। बच्चे, जवान, बुजुर्ग सभी जान बचाने के लिये बाहर भागे। प्राप्त जानकारी के अनुसार अनूपपुर - बिलासपुर की सीमा पर इसका केन्द्र था। जमीन में दस किमी की गहराई पर 3.7 तीव्रता का भूकंप था। अनूपपुर, जैतहरी, वेंकटनगर, कोतमा, चचाई, धनपुरी में यह झटके महसूस किये गये, जबकि अधिक पहाड़ी ऊंचाई वाले राजेन्द्रग्राम, अमरकंटक में भूकंप महसूस नहीं किया। भूकंप से किसी जान माल के नुकसान की सूचना नहीं है।  जानकारों की माने तो यह कंपन भू-गर्भीय घटना हैं जो गडग़ड़हट के साथ हैं ऐसा लगता हैं कि जमीन के अन्दर कोई भू परत धधकी हो। जिससे कंपन महसूस किया गया हैं।

Dakhal News

Dakhal News 11 April 2021


panna, Good news comes again, Tiger Reserve, tigress seen ,with little cubs

पन्ना। पन्ना टाइगर रिजर्व में एक बार फिर खुशखबरी आई है। यहां एक बाघिन ने दो नन्हे शावकों को जन्म दिया है। बाघिन पी-151 अपने नन्हे शावकों के साथ का सैर करती हुई दिखाई दे रही है। यहां आने वाले टूरिस्ट और गाइड ने इनका वीडियो बनाया है, जिसमें बाघिन के साथ अठखेलियाँ करते दोनों नन्हें शावक नजर आ रहे हैं। बाघिन के साथ शावकों को देखकर हर कोई रोमांचित हो रहा है। पन्ना टाइगर रिजर्व में शुक्रवार सुबह बाघिन पी-151 अपने दो शावकों के साथ पहली बार नजर आई है। पार्क भ्रमण करने पहुंचे पर्यटकों ने बिल्कुल पास से इस बाघिन को शावकों के साथ चहल-कदमी करते हुए न सिर्फ देखा बल्कि उसका वीडियो भी बनाया है। बाघिन के साथ शावकों को देखकर यहां आने वाले पर्यटक रोमांचित है। पर्यटक गाइड मनोज कुमार द्विवेदी ने बताया कि बाघिन पी-151 पहली बार अपने शावकों के साथ जंगल में दिखी है। नन्हे शावकों को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि उनकी उम्र दो-ढाई माह के लगभग होगी। शुक्रवार की सुबह जब पर्यटकों को लेकर जिप्सी वाहन मंडला रेंज के कमानी गेट से पक्का गढ़ा की तरफ जा रहे थे, उसी समय रास्ते में यह बाघिन दो नन्हे शावकों के साथ नजर आई। पांच जिप्सियों में सवार पर्यटकों ने इस रोमांचकारी नजारे को उत्साहपूर्वक देखा। बता दे कि पिछले चार माह में पन्ना टाइगर रिजर्व में 15 शावक जन्म ले चुके हैं। इससे पहले विगत 26 मार्च को बाघिन टी-6 अपने चार नन्हे शावकों के साथ दिखी थी।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


panna, Good news comes again, Tiger Reserve, tigress seen ,with little cubs

पन्ना। पन्ना टाइगर रिजर्व में एक बार फिर खुशखबरी आई है। यहां एक बाघिन ने दो नन्हे शावकों को जन्म दिया है। बाघिन पी-151 अपने नन्हे शावकों के साथ का सैर करती हुई दिखाई दे रही है। यहां आने वाले टूरिस्ट और गाइड ने इनका वीडियो बनाया है, जिसमें बाघिन के साथ अठखेलियाँ करते दोनों नन्हें शावक नजर आ रहे हैं। बाघिन के साथ शावकों को देखकर हर कोई रोमांचित हो रहा है। पन्ना टाइगर रिजर्व में शुक्रवार सुबह बाघिन पी-151 अपने दो शावकों के साथ पहली बार नजर आई है। पार्क भ्रमण करने पहुंचे पर्यटकों ने बिल्कुल पास से इस बाघिन को शावकों के साथ चहल-कदमी करते हुए न सिर्फ देखा बल्कि उसका वीडियो भी बनाया है। बाघिन के साथ शावकों को देखकर यहां आने वाले पर्यटक रोमांचित है। पर्यटक गाइड मनोज कुमार द्विवेदी ने बताया कि बाघिन पी-151 पहली बार अपने शावकों के साथ जंगल में दिखी है। नन्हे शावकों को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि उनकी उम्र दो-ढाई माह के लगभग होगी। शुक्रवार की सुबह जब पर्यटकों को लेकर जिप्सी वाहन मंडला रेंज के कमानी गेट से पक्का गढ़ा की तरफ जा रहे थे, उसी समय रास्ते में यह बाघिन दो नन्हे शावकों के साथ नजर आई। पांच जिप्सियों में सवार पर्यटकों ने इस रोमांचकारी नजारे को उत्साहपूर्वक देखा। बता दे कि पिछले चार माह में पन्ना टाइगर रिजर्व में 15 शावक जन्म ले चुके हैं। इससे पहले विगत 26 मार्च को बाघिन टी-6 अपने चार नन्हे शावकों के साथ दिखी थी।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


panna, Good news comes again, Tiger Reserve, tigress seen ,with little cubs

पन्ना। पन्ना टाइगर रिजर्व में एक बार फिर खुशखबरी आई है। यहां एक बाघिन ने दो नन्हे शावकों को जन्म दिया है। बाघिन पी-151 अपने नन्हे शावकों के साथ का सैर करती हुई दिखाई दे रही है। यहां आने वाले टूरिस्ट और गाइड ने इनका वीडियो बनाया है, जिसमें बाघिन के साथ अठखेलियाँ करते दोनों नन्हें शावक नजर आ रहे हैं। बाघिन के साथ शावकों को देखकर हर कोई रोमांचित हो रहा है। पन्ना टाइगर रिजर्व में शुक्रवार सुबह बाघिन पी-151 अपने दो शावकों के साथ पहली बार नजर आई है। पार्क भ्रमण करने पहुंचे पर्यटकों ने बिल्कुल पास से इस बाघिन को शावकों के साथ चहल-कदमी करते हुए न सिर्फ देखा बल्कि उसका वीडियो भी बनाया है। बाघिन के साथ शावकों को देखकर यहां आने वाले पर्यटक रोमांचित है। पर्यटक गाइड मनोज कुमार द्विवेदी ने बताया कि बाघिन पी-151 पहली बार अपने शावकों के साथ जंगल में दिखी है। नन्हे शावकों को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि उनकी उम्र दो-ढाई माह के लगभग होगी। शुक्रवार की सुबह जब पर्यटकों को लेकर जिप्सी वाहन मंडला रेंज के कमानी गेट से पक्का गढ़ा की तरफ जा रहे थे, उसी समय रास्ते में यह बाघिन दो नन्हे शावकों के साथ नजर आई। पांच जिप्सियों में सवार पर्यटकों ने इस रोमांचकारी नजारे को उत्साहपूर्वक देखा। बता दे कि पिछले चार माह में पन्ना टाइगर रिजर्व में 15 शावक जन्म ले चुके हैं। इससे पहले विगत 26 मार्च को बाघिन टी-6 अपने चार नन्हे शावकों के साथ दिखी थी।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


panna, Good news comes again, Tiger Reserve, tigress seen ,with little cubs

पन्ना। पन्ना टाइगर रिजर्व में एक बार फिर खुशखबरी आई है। यहां एक बाघिन ने दो नन्हे शावकों को जन्म दिया है। बाघिन पी-151 अपने नन्हे शावकों के साथ का सैर करती हुई दिखाई दे रही है। यहां आने वाले टूरिस्ट और गाइड ने इनका वीडियो बनाया है, जिसमें बाघिन के साथ अठखेलियाँ करते दोनों नन्हें शावक नजर आ रहे हैं। बाघिन के साथ शावकों को देखकर हर कोई रोमांचित हो रहा है। पन्ना टाइगर रिजर्व में शुक्रवार सुबह बाघिन पी-151 अपने दो शावकों के साथ पहली बार नजर आई है। पार्क भ्रमण करने पहुंचे पर्यटकों ने बिल्कुल पास से इस बाघिन को शावकों के साथ चहल-कदमी करते हुए न सिर्फ देखा बल्कि उसका वीडियो भी बनाया है। बाघिन के साथ शावकों को देखकर यहां आने वाले पर्यटक रोमांचित है। पर्यटक गाइड मनोज कुमार द्विवेदी ने बताया कि बाघिन पी-151 पहली बार अपने शावकों के साथ जंगल में दिखी है। नन्हे शावकों को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि उनकी उम्र दो-ढाई माह के लगभग होगी। शुक्रवार की सुबह जब पर्यटकों को लेकर जिप्सी वाहन मंडला रेंज के कमानी गेट से पक्का गढ़ा की तरफ जा रहे थे, उसी समय रास्ते में यह बाघिन दो नन्हे शावकों के साथ नजर आई। पांच जिप्सियों में सवार पर्यटकों ने इस रोमांचकारी नजारे को उत्साहपूर्वक देखा। बता दे कि पिछले चार माह में पन्ना टाइगर रिजर्व में 15 शावक जन्म ले चुके हैं। इससे पहले विगत 26 मार्च को बाघिन टी-6 अपने चार नन्हे शावकों के साथ दिखी थी।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


panna, Good news comes again, Tiger Reserve, tigress seen ,with little cubs

पन्ना। पन्ना टाइगर रिजर्व में एक बार फिर खुशखबरी आई है। यहां एक बाघिन ने दो नन्हे शावकों को जन्म दिया है। बाघिन पी-151 अपने नन्हे शावकों के साथ का सैर करती हुई दिखाई दे रही है। यहां आने वाले टूरिस्ट और गाइड ने इनका वीडियो बनाया है, जिसमें बाघिन के साथ अठखेलियाँ करते दोनों नन्हें शावक नजर आ रहे हैं। बाघिन के साथ शावकों को देखकर हर कोई रोमांचित हो रहा है। पन्ना टाइगर रिजर्व में शुक्रवार सुबह बाघिन पी-151 अपने दो शावकों के साथ पहली बार नजर आई है। पार्क भ्रमण करने पहुंचे पर्यटकों ने बिल्कुल पास से इस बाघिन को शावकों के साथ चहल-कदमी करते हुए न सिर्फ देखा बल्कि उसका वीडियो भी बनाया है। बाघिन के साथ शावकों को देखकर यहां आने वाले पर्यटक रोमांचित है। पर्यटक गाइड मनोज कुमार द्विवेदी ने बताया कि बाघिन पी-151 पहली बार अपने शावकों के साथ जंगल में दिखी है। नन्हे शावकों को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि उनकी उम्र दो-ढाई माह के लगभग होगी। शुक्रवार की सुबह जब पर्यटकों को लेकर जिप्सी वाहन मंडला रेंज के कमानी गेट से पक्का गढ़ा की तरफ जा रहे थे, उसी समय रास्ते में यह बाघिन दो नन्हे शावकों के साथ नजर आई। पांच जिप्सियों में सवार पर्यटकों ने इस रोमांचकारी नजारे को उत्साहपूर्वक देखा। बता दे कि पिछले चार माह में पन्ना टाइगर रिजर्व में 15 शावक जन्म ले चुके हैं। इससे पहले विगत 26 मार्च को बाघिन टी-6 अपने चार नन्हे शावकों के साथ दिखी थी।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


panna, Good news comes again, Tiger Reserve, tigress seen ,with little cubs

पन्ना। पन्ना टाइगर रिजर्व में एक बार फिर खुशखबरी आई है। यहां एक बाघिन ने दो नन्हे शावकों को जन्म दिया है। बाघिन पी-151 अपने नन्हे शावकों के साथ का सैर करती हुई दिखाई दे रही है। यहां आने वाले टूरिस्ट और गाइड ने इनका वीडियो बनाया है, जिसमें बाघिन के साथ अठखेलियाँ करते दोनों नन्हें शावक नजर आ रहे हैं। बाघिन के साथ शावकों को देखकर हर कोई रोमांचित हो रहा है। पन्ना टाइगर रिजर्व में शुक्रवार सुबह बाघिन पी-151 अपने दो शावकों के साथ पहली बार नजर आई है। पार्क भ्रमण करने पहुंचे पर्यटकों ने बिल्कुल पास से इस बाघिन को शावकों के साथ चहल-कदमी करते हुए न सिर्फ देखा बल्कि उसका वीडियो भी बनाया है। बाघिन के साथ शावकों को देखकर यहां आने वाले पर्यटक रोमांचित है। पर्यटक गाइड मनोज कुमार द्विवेदी ने बताया कि बाघिन पी-151 पहली बार अपने शावकों के साथ जंगल में दिखी है। नन्हे शावकों को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि उनकी उम्र दो-ढाई माह के लगभग होगी। शुक्रवार की सुबह जब पर्यटकों को लेकर जिप्सी वाहन मंडला रेंज के कमानी गेट से पक्का गढ़ा की तरफ जा रहे थे, उसी समय रास्ते में यह बाघिन दो नन्हे शावकों के साथ नजर आई। पांच जिप्सियों में सवार पर्यटकों ने इस रोमांचकारी नजारे को उत्साहपूर्वक देखा। बता दे कि पिछले चार माह में पन्ना टाइगर रिजर्व में 15 शावक जन्म ले चुके हैं। इससे पहले विगत 26 मार्च को बाघिन टी-6 अपने चार नन्हे शावकों के साथ दिखी थी।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


ujjain, FIR lodged against, 14 people for violating, Corona Guideline

उज्जैन। उज्जैन में कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर 14 लोगों के खिलाफ बुधवार को विभिन्न थानों में एफआईआर दर्ज कराई गई है।   कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि घर के बाहर निकल कर अपने दुकान या अन्य काम पर चले जाते हैं। इससे कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा रहता है। इस तरह के मामलों में आज नानाखेड़ा, नीलगंगा थाना, जीवाजीगंज एवं माधव नगर थाना क्षेत्र के तहत कुल 14 व्यक्तियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाई गई है।    दरअसल, कलेक्टर आशीष सिंह के निर्देश पर शहर में धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए गए हैं। उक्त आदेश के तहत किसी घर में यदि व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो सभी घर के सदस्यों को क्वारन्टीन में रखा जाता है, लेकिन कई स्थानों पर यह पाया गया कि पॉजिटिव मरीज के परिजन कोविड-19 गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। उज्जैन में कोरोना संक्रमण के मामले बढऩे के कारण मास्क पहनकर निकलना अनिवार्य  किया गया है। गत दिवस मास्क नहीं पहनने वाले 244 उल्लंघनकर्ताओं  पर 48 हजार 800 रुपये का जुर्माना  किया गया तथा 228 व्यक्तियों को अस्थाई जेल भेजा गया। इसके अलावा बुधवार को 14 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


katni,MP Nocturnal curfew, Katni Municipal Corporation

कटनी। कटनी नगर निगम सीमा क्षेत्र में आज से रात्रि 8.00 से प्रातः 6.00 बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू किया गया है। इस संबंध में कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट प्रियंक मिश्रा ने बुधवार को आदेश जारी किये गए हैं।   जिला मजिस्ट्रेट ने कोविड-19 के बढ़ते हुये संक्रमण के तहत जारी गृह विभाग के दिशा-निर्देशों और डिस्ट्रिक्ट क्राईसिस मैनेजमेन्ट की बैठक में लिये गये निर्णय अनुसार नवीन प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये हैं। जिला कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी प्रियंक मिश्रा द्वारा दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत जारी नवीन प्रतिबंधात्मक आदेश में चार और नये प्रतिबंध जोड़े गये हैं। यह आदेश आगामी आदेश तक प्रभावशील रहेगा।   जारी प्रतिबंधात्मक आदेश के तहत बुधवार, 07 अप्रैल से नगर निगम सीमा क्षेत्रांतर्गत रात्रि 8 बजे से प्रातः 6 बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू प्रभावशील रहेगा। रात्रिकालीन कर्फ्यू मे केवल अत्यावश्यक सेवा (मेडिकल एवं रेलवे में लगे अधिकारी/कर्मचारी सहित) में लगे शासकीय अधिकारी/कर्मचारियों को पहचान पत्र होने पर प्रतिबंध से छूट रहेगी, पहचान पत्र न होने पर कार्यावाही की जायेगी। इसके साथ ही थाना कुठला क्षेत्र के अंतर्गत थोक सब्जी मार्केट को ट्रांसपोर्ट नगर में, बिलैया तलैया सब्जी मार्केट को फॉरेस्टर प्ले ग्राउंड में, थाना माधवनगर अंतर्गत सब्जी मार्केट को उत्कृष्ट विद्यालय के सामने ग्राउण्ड में, हाउसिंग बोर्ड ग्राउण्ड तथा थाना एन. के. जे. अंतर्गत तिलक कॉलेज के पीछे पर्याप्त सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क/फेस कवर का पालन सुनिश्चित करते हुये अस्थाई रूप से शिफ्ट करने के आदेश भी जारी किये गये हैं।   नवीन आदेश के तहत इंसीडेंट कमाण्डर को क्षेत्रीय भ्रमण के दौरान अगर यह समाधान हो जाये कि किसी क्षेत्र विशेष में आमजन द्वारा धारा 144 के आदेशों का पालन नहीं किया जा रहा हैं, तो ऐसी स्थिति में वे उस मार्केट को बंद करने का निर्णय ले सकते है। इसके साथ ही नवीन प्रतिबंधात्मक आदेश के तहत सार्वजनिक स्थानों पर धारा 144 के आदेश का उल्लंघन करने एवं मास्क इस्तेमाल न करने वाले व्यक्तियों के लिये के. सी. एस. स्कूल को ओपन जेल घोषित किया गया है। उल्लंघन करने वालों को प्रतिकात्मक रुप से ओपन जेल में रखा जायेगा। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं इंसीडेंट कमांडर कटनी धारा 144 का पालन कराना सुनिश्चित करेंगे तथा अपने स्तर सेे दल गठित कर सतत निगरानी रखेंगे। साथ ही आदेश का पालन न करने पर संबंधित के विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही भी सुनिश्चित करेंगे। इस नवीन आदेश में पूर्व में जारी आदेश को यथावत् रखा गया है।   इस आदेश के उल्लंघन पर भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 एवं राष्ट्रीय आपदा अधिनियम 2005 की धारा 51 से धारा 60 के तहत यथास्थिति दाण्डिक एवं अभियोजन की कार्यवाही की जायेगी। यह आदेश तत्काल प्रभावशील हो गया है।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


indore, Corona records, 866 new cases found,four people also died

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के रिकॉर्ड 866 नये मामले सामने आए हैं। यह आंकड़ा अब तक का एक दिन में सबसे अधिक है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 74 हजार 895 और मृतकों की संख्या 981 हो गई है।    इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस सैत्या ने बुधवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा मंगलवार देर रात 4889 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 866 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 74 हजार 895 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 981 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 456 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 67 हजार 633 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन नये मामले अधिक संख्या में मिलने से यहां सक्रिय मरीज बढक़र 6281 हो गए हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।   बता दें कि इंदौर में फरवरी के शुरुआत में नये मामलों की संख्या 50 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन इसके बाद यह संख्या लगातार बढ़ते हुए अब 800 के पार पहुंच गई है। इंदौर में लगातार दूसरे दिन 800 से अधिक नये मामले सामने आए हैं। इससे एक दिन पहले यहां रिकॉर्ड 805 नये संक्रमित मिले थे।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


ujjain, 74 new cases,corona found

उज्जैन। मप्र के उज्जैन जिले में भी कोरोना के मामलों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 74 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या बढक़र 6801 हो गई है।    उज्जैन के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महावीर खंडेलवाल ने मंगलवार को बताया कि जिले में बीते 24 घंटों के दौरान 773 लोगों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 74 व्यक्ति संक्रमित पाए गए। इनमें 66 मरीज उज्जैन, चार नागदा, दो बडऩगर और एक-एक मरीज तराना व घटिया के रहने वाले हैं।    अब जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 6801 हो गई है। हालांकि, बीते 24 घंटों में यहां 83 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। अब तक उज्जैन में 5762 मरीज पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीज 927 है, जिनका उपचार जारी है। वहीं, जिले में अभी तक कोरोना से 112 लोगों की मृत्यु हुई है।

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


Barwani, bee attack, women worshiping temple, a serious

बड़वानी। जिले के अंजड़ में मंगलवार सुबह दशामाता की पूजा के लिए मंदिर पहुंची महिलाओं पर मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। हमले के कारण आसपास के क्षेत्र में दहशत फैल गई। मधुमक्खियों के हमले में एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई, जिसे जिला चिकित्सालय रेफर किया गया है।   प्राप्त जानकारी के अनुसार बड़वानी जिले के अंजड में शिवालय मोहल्ले में मंगलवार सुबह मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। इस हमले से यहां पर भगदड़ मच गई। पूजन कर रही कई महिलाएं और बच्चे भी पूजन छोड़कर भागे। वहीं आसपडोस में रहने वाले लोग अपने घरों में बंद हो गए। करीब तीन घंटे तक मधुमक्खियों की दहशत बनी रही। वहीं इस दौरान कई लोगों को मधुमक्खियों ने अपना निशाना बनाया।  मधुमक्खी के हमले में घायल 45 वर्षीय बिनुबाई को गंभीर हालत में सिविल अस्पताल अंजड़ लाया गया। महिला की स्थिति को देखते हुए उसे प्राथमिक उपचार देकर जिला अस्पताल के लिए रिफर कर दिया गया। बड़ी संख्या में लोग मधुमक्खियों के डंक से घायल हुए हैं, जिनका अस्पताल पहुंचने का सिलसिला जारी है।

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


Barwani, bee attack, women worshiping temple, a serious

बड़वानी। जिले के अंजड़ में मंगलवार सुबह दशामाता की पूजा के लिए मंदिर पहुंची महिलाओं पर मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। हमले के कारण आसपास के क्षेत्र में दहशत फैल गई। मधुमक्खियों के हमले में एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई, जिसे जिला चिकित्सालय रेफर किया गया है।   प्राप्त जानकारी के अनुसार बड़वानी जिले के अंजड में शिवालय मोहल्ले में मंगलवार सुबह मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। इस हमले से यहां पर भगदड़ मच गई। पूजन कर रही कई महिलाएं और बच्चे भी पूजन छोड़कर भागे। वहीं आसपडोस में रहने वाले लोग अपने घरों में बंद हो गए। करीब तीन घंटे तक मधुमक्खियों की दहशत बनी रही। वहीं इस दौरान कई लोगों को मधुमक्खियों ने अपना निशाना बनाया।  मधुमक्खी के हमले में घायल 45 वर्षीय बिनुबाई को गंभीर हालत में सिविल अस्पताल अंजड़ लाया गया। महिला की स्थिति को देखते हुए उसे प्राथमिक उपचार देकर जिला अस्पताल के लिए रिफर कर दिया गया। बड़ी संख्या में लोग मधुमक्खियों के डंक से घायल हुए हैं, जिनका अस्पताल पहुंचने का सिलसिला जारी है।

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


jhabua, Collector Rohit Singh, became Corona infected

झाबुआ। मध्यप्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। प्रदेश का आदिवासी बाहुल्य झाबुआ जिला भी इसकी चपेट में है। यहां लगातार कोरोना पैर पसार रहा है। यहां के कलेक्टर भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इसके बाद वे अपने बंगले में होम क्वारेंटाइन हो गए हैं।   झाबुआ जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जयपाल सिंह ठाकुर ने मंगलवार को बताया कि जिला कलेक्टर रोहित सिंह ने गत दिवस तबियत खराब होने पर कोरोना जांच कराई थी, जिसमें उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और वे अपने बंगले में होम क्वारेंटाइन हो गए हैं।    बता दें कि झाबुआ में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। यहां प्रतिदिन 40 से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं और कोरोना संक्रमण गांव-गांव तक फैल गया है। जिले के थांदला, पेटलावद और रानापुर क्षेत्र भी कोरोना प्रभावित हैं।

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


bhopal, MP Four IPS officers, transferred

भोपाल। राज्य शासन ने भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के चार वरिष्ठ अधिकारियों का तबादला करते हुए उनकी नवीन पदस्थापना की है। इस संबंध में गृह विभाग द्वारा सोमवार को आदेश जारी किये गये हैं।   जारी आदेश के मुताबिक, लोक अभियोजन संचालनालय में संचालक विजय यादव को मप्र पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन का अध्यक्ष बनाया गया है, जबकि पुलिस मुख्यालय भोपाल में विशेष पुलिस महानिदेशक (प्रशासन) अन्वेष मंगलम को लोक अभियोजन संचालनालय में संचालक पदस्थ किया गया है। इसी तरह पुलिस मुख्यालय भोपाल में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (प्रबंध) डी. निवास राव को पुलिस मुख्यालय में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (प्रशासन) की जिम्मेदारी सौंपी गई है, जबकि पुलिस मुख्यालय में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (योजना) अनिल कुमार को पुलिस मुख्यालय में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (योजना एवं प्रबंध) का दायित्व सौंपा गया है।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bina, Truck stuck track, between the train ,coming from both sides

बीना। मध्य प्रदेश के बीना में सोमवार सुबह बड़ा रेल हादसा टल गया। यहां अप और डाउन ट्रेक पर दोनों तरफ से आ रही ट्रेन के बीच अचानक रेलवे लाइन पर एक ट्रक पहुंच गया। गनीतम रही कि समय रहते पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मियों ने ट्रक को देखकर दोनों तरफ से आ रही रेल गाडिय़ों को रुकवाया। जानकारी मिलते ही मौके पर रेलवे अधिकारी पहुंच गए और ट्रक को ट्रेक से हटवाया। इस दौरान दोनों तरफ से आने जाने वाली चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।   जानकारी अनुसार बीना-झांसी रेल लाइन पर बन रहे ओवर ब्रिज के लिए रेलवे ने रेलवे क्रासिंग बंद कर दी थी। झांसी फाटक नाम की इस रेल क्रासिंग को तो बंद कर दिया गया था, लेकिन रेलवे लाइन तक आने-जाने वाले रास्ते को बेरीकेटिंग लगाकर बंद नहीं किया गया था। सोमवार की सुबह 7.30 के आसपास ट्रक क्रमांक एमपी 15 जी 2686 के चालक ने नशे में इसी रेलवे क्रासिंग पर ट्रक चढ़ा दिया। यह ट्रक बीना-झांसी अप व डाउन रेलवे ट्रेक पर फंस गया। इस दौरान भोपाल से झांसी की ओर एक नॉन स्टॉप तथा झांसी से बीना की ओर लोकमान्य तिलक कुशीनगर एक्सप्रेस निकलने के लिए अप और डाउन दोनों ट्रेक पर गाडिय़ां लगी हुईं थीं। जैसे ही रेल पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मचारियों ने ट्रक को रेल पटरी पर देखा, तत्काल भोपाल व झांसी एंड की ओर दौड़े। रेल कर्मचारियों ने गाडिय़ों के आगे आकर इशारा किया, जिसे समझते पायलटों को देर नहीं लगी और उन्होंने ट्रेन आगे बढऩे से रोक दी। ट्रक फंसने की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे रेलवे के अधिकारी और एडीईएन अरविंद कुमार ने हाइड्रा की मदद से 8 बजकर 15 मिनट के आसपास ट्रक को रेलवे ट्रेक से हटाया जा सका। तब तक दोनों तरफ चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bina, Truck stuck track, between the train ,coming from both sides

बीना। मध्य प्रदेश के बीना में सोमवार सुबह बड़ा रेल हादसा टल गया। यहां अप और डाउन ट्रेक पर दोनों तरफ से आ रही ट्रेन के बीच अचानक रेलवे लाइन पर एक ट्रक पहुंच गया। गनीतम रही कि समय रहते पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मियों ने ट्रक को देखकर दोनों तरफ से आ रही रेल गाडिय़ों को रुकवाया। जानकारी मिलते ही मौके पर रेलवे अधिकारी पहुंच गए और ट्रक को ट्रेक से हटवाया। इस दौरान दोनों तरफ से आने जाने वाली चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।   जानकारी अनुसार बीना-झांसी रेल लाइन पर बन रहे ओवर ब्रिज के लिए रेलवे ने रेलवे क्रासिंग बंद कर दी थी। झांसी फाटक नाम की इस रेल क्रासिंग को तो बंद कर दिया गया था, लेकिन रेलवे लाइन तक आने-जाने वाले रास्ते को बेरीकेटिंग लगाकर बंद नहीं किया गया था। सोमवार की सुबह 7.30 के आसपास ट्रक क्रमांक एमपी 15 जी 2686 के चालक ने नशे में इसी रेलवे क्रासिंग पर ट्रक चढ़ा दिया। यह ट्रक बीना-झांसी अप व डाउन रेलवे ट्रेक पर फंस गया। इस दौरान भोपाल से झांसी की ओर एक नॉन स्टॉप तथा झांसी से बीना की ओर लोकमान्य तिलक कुशीनगर एक्सप्रेस निकलने के लिए अप और डाउन दोनों ट्रेक पर गाडिय़ां लगी हुईं थीं। जैसे ही रेल पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मचारियों ने ट्रक को रेल पटरी पर देखा, तत्काल भोपाल व झांसी एंड की ओर दौड़े। रेल कर्मचारियों ने गाडिय़ों के आगे आकर इशारा किया, जिसे समझते पायलटों को देर नहीं लगी और उन्होंने ट्रेन आगे बढऩे से रोक दी। ट्रक फंसने की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे रेलवे के अधिकारी और एडीईएन अरविंद कुमार ने हाइड्रा की मदद से 8 बजकर 15 मिनट के आसपास ट्रक को रेलवे ट्रेक से हटाया जा सका। तब तक दोनों तरफ चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bina, Truck stuck track, between the train ,coming from both sides

बीना। मध्य प्रदेश के बीना में सोमवार सुबह बड़ा रेल हादसा टल गया। यहां अप और डाउन ट्रेक पर दोनों तरफ से आ रही ट्रेन के बीच अचानक रेलवे लाइन पर एक ट्रक पहुंच गया। गनीतम रही कि समय रहते पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मियों ने ट्रक को देखकर दोनों तरफ से आ रही रेल गाडिय़ों को रुकवाया। जानकारी मिलते ही मौके पर रेलवे अधिकारी पहुंच गए और ट्रक को ट्रेक से हटवाया। इस दौरान दोनों तरफ से आने जाने वाली चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।   जानकारी अनुसार बीना-झांसी रेल लाइन पर बन रहे ओवर ब्रिज के लिए रेलवे ने रेलवे क्रासिंग बंद कर दी थी। झांसी फाटक नाम की इस रेल क्रासिंग को तो बंद कर दिया गया था, लेकिन रेलवे लाइन तक आने-जाने वाले रास्ते को बेरीकेटिंग लगाकर बंद नहीं किया गया था। सोमवार की सुबह 7.30 के आसपास ट्रक क्रमांक एमपी 15 जी 2686 के चालक ने नशे में इसी रेलवे क्रासिंग पर ट्रक चढ़ा दिया। यह ट्रक बीना-झांसी अप व डाउन रेलवे ट्रेक पर फंस गया। इस दौरान भोपाल से झांसी की ओर एक नॉन स्टॉप तथा झांसी से बीना की ओर लोकमान्य तिलक कुशीनगर एक्सप्रेस निकलने के लिए अप और डाउन दोनों ट्रेक पर गाडिय़ां लगी हुईं थीं। जैसे ही रेल पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मचारियों ने ट्रक को रेल पटरी पर देखा, तत्काल भोपाल व झांसी एंड की ओर दौड़े। रेल कर्मचारियों ने गाडिय़ों के आगे आकर इशारा किया, जिसे समझते पायलटों को देर नहीं लगी और उन्होंने ट्रेन आगे बढऩे से रोक दी। ट्रक फंसने की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे रेलवे के अधिकारी और एडीईएन अरविंद कुमार ने हाइड्रा की मदद से 8 बजकर 15 मिनट के आसपास ट्रक को रेलवे ट्रेक से हटाया जा सका। तब तक दोनों तरफ चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bina, Truck stuck track, between the train ,coming from both sides

बीना। मध्य प्रदेश के बीना में सोमवार सुबह बड़ा रेल हादसा टल गया। यहां अप और डाउन ट्रेक पर दोनों तरफ से आ रही ट्रेन के बीच अचानक रेलवे लाइन पर एक ट्रक पहुंच गया। गनीतम रही कि समय रहते पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मियों ने ट्रक को देखकर दोनों तरफ से आ रही रेल गाडिय़ों को रुकवाया। जानकारी मिलते ही मौके पर रेलवे अधिकारी पहुंच गए और ट्रक को ट्रेक से हटवाया। इस दौरान दोनों तरफ से आने जाने वाली चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।   जानकारी अनुसार बीना-झांसी रेल लाइन पर बन रहे ओवर ब्रिज के लिए रेलवे ने रेलवे क्रासिंग बंद कर दी थी। झांसी फाटक नाम की इस रेल क्रासिंग को तो बंद कर दिया गया था, लेकिन रेलवे लाइन तक आने-जाने वाले रास्ते को बेरीकेटिंग लगाकर बंद नहीं किया गया था। सोमवार की सुबह 7.30 के आसपास ट्रक क्रमांक एमपी 15 जी 2686 के चालक ने नशे में इसी रेलवे क्रासिंग पर ट्रक चढ़ा दिया। यह ट्रक बीना-झांसी अप व डाउन रेलवे ट्रेक पर फंस गया। इस दौरान भोपाल से झांसी की ओर एक नॉन स्टॉप तथा झांसी से बीना की ओर लोकमान्य तिलक कुशीनगर एक्सप्रेस निकलने के लिए अप और डाउन दोनों ट्रेक पर गाडिय़ां लगी हुईं थीं। जैसे ही रेल पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मचारियों ने ट्रक को रेल पटरी पर देखा, तत्काल भोपाल व झांसी एंड की ओर दौड़े। रेल कर्मचारियों ने गाडिय़ों के आगे आकर इशारा किया, जिसे समझते पायलटों को देर नहीं लगी और उन्होंने ट्रेन आगे बढऩे से रोक दी। ट्रक फंसने की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे रेलवे के अधिकारी और एडीईएन अरविंद कुमार ने हाइड्रा की मदद से 8 बजकर 15 मिनट के आसपास ट्रक को रेलवे ट्रेक से हटाया जा सका। तब तक दोनों तरफ चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bina, Truck stuck track, between the train ,coming from both sides

बीना। मध्य प्रदेश के बीना में सोमवार सुबह बड़ा रेल हादसा टल गया। यहां अप और डाउन ट्रेक पर दोनों तरफ से आ रही ट्रेन के बीच अचानक रेलवे लाइन पर एक ट्रक पहुंच गया। गनीतम रही कि समय रहते पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मियों ने ट्रक को देखकर दोनों तरफ से आ रही रेल गाडिय़ों को रुकवाया। जानकारी मिलते ही मौके पर रेलवे अधिकारी पहुंच गए और ट्रक को ट्रेक से हटवाया। इस दौरान दोनों तरफ से आने जाने वाली चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।   जानकारी अनुसार बीना-झांसी रेल लाइन पर बन रहे ओवर ब्रिज के लिए रेलवे ने रेलवे क्रासिंग बंद कर दी थी। झांसी फाटक नाम की इस रेल क्रासिंग को तो बंद कर दिया गया था, लेकिन रेलवे लाइन तक आने-जाने वाले रास्ते को बेरीकेटिंग लगाकर बंद नहीं किया गया था। सोमवार की सुबह 7.30 के आसपास ट्रक क्रमांक एमपी 15 जी 2686 के चालक ने नशे में इसी रेलवे क्रासिंग पर ट्रक चढ़ा दिया। यह ट्रक बीना-झांसी अप व डाउन रेलवे ट्रेक पर फंस गया। इस दौरान भोपाल से झांसी की ओर एक नॉन स्टॉप तथा झांसी से बीना की ओर लोकमान्य तिलक कुशीनगर एक्सप्रेस निकलने के लिए अप और डाउन दोनों ट्रेक पर गाडिय़ां लगी हुईं थीं। जैसे ही रेल पटरियों पर काम कर रहे रेल कर्मचारियों ने ट्रक को रेल पटरी पर देखा, तत्काल भोपाल व झांसी एंड की ओर दौड़े। रेल कर्मचारियों ने गाडिय़ों के आगे आकर इशारा किया, जिसे समझते पायलटों को देर नहीं लगी और उन्होंने ट्रेन आगे बढऩे से रोक दी। ट्रक फंसने की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे रेलवे के अधिकारी और एडीईएन अरविंद कुमार ने हाइड्रा की मदद से 8 बजकर 15 मिनट के आसपास ट्रक को रेलवे ट्रेक से हटाया जा सका। तब तक दोनों तरफ चार गाडिय़ां लगभग 50 मिनट तक खड़ी रहीं।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


Indore, SI suspended ,sending paper from Dewar, write FIR, woman

इंदौर। भाभी की मौत के बाद एफआईआर लिखने के लिए पीड़ित को कागज लाने भेजने वाले भंवरकुआं थाने के सब इंस्पेक्टर को एसपी महेशचंद जैन ने शनिवार को निलंबित कर दिया। एसपी ने पुलिसकर्मी सुरेशचंद्र अवस्थी द्वारा काम में लापरवाही बरतने और पुलिस की छवि के विपरीत काम करने का कृत्य सही पाए जाने पर कार्रवाई करते हुए उसे लाइन भेज दिया है।   प्राप्त जानकारी के अनुसार भंवरकुआं थाना क्षेत्र में गुरुवार शाम सड़क हादसे में 16 साल के बेटे के साथ पैदल जा रही 50 साल की महिला कालीबाई को ट्रक ने टक्कर मार दी थी। मौके पर उसकी मौत हो गई। अगले दिन पोस्टमॉर्टम करवाने पहुंचे परिजन जगदीश आर्ने ने बताया कि मैं पीपल्याहाना कांकड़ में रहता हूं। कल शाम करीब साढे़ 5.30  बजे मेरी भाभी खरगोन से इंदौर आई थी, उनके साथ बेटा भी था। वे रोड क्रॉस कर रही थी, तभी अंधाधुंध गति से आए एक ट्रक ने टक्कर मार दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। मेरे भतीजे ने फोन पर बताया कि काका तीन इमली चौराहे पर मां की मौत हो गई है। मैं तत्काल वहां पहुंचा। मैंने देखा कि शव वहीं पड़ा है। फिर मैंने सौ नंबर और 108 नंबर डायल किया। कोई नहीं आया। फिर मैंने लोडिंग में ही भाभी का शव रखवाया और जिला अस्पताल पहुंचाया। करीब एक से डेढ़ घंटे तक शव वहीं पड़ा रहा। फिर हम रात 8- 8.30 बजे थाने पहुंचे। वहां पुलिस के दो स्टार थानेदार साहब थे। उन्होंने कहा कि हमने रिपोर्ट तो लिख ली है, लेकिन वो कम्प्यूटर पर ही है। उसका प्रिंट नहीं निकलेगा, क्योंकि थाने पर सफेद कोरे कागज नहीं है। मैंने पूछा कहां मिलेंगे। वो बोले कि थाने के सामने चले जाओ, दो-तीन दुकानों पर खोज लो। मैं खोजने लगा तो लॉकडाउन के कारण रात 9 बजे दुकानें ही बंद हो गई थीं। मैं एक-डेढ़ किलोमीटर आगे तक गया। तब कहीं जाकर मुझे टॉवर चौराहे के आगे एक दुकान खुली दिखी। मैं वहां पहुंचा। वहां से 25 रुपए के कोरे कागज खरीदे। फिर थाने पहुंचकर सौंपे। तब कहीं जाकर मेरी एफआईआर दर्ज हुई है।

Dakhal News

Dakhal News 3 April 2021


rewa,High speed jeep ,crushed two barayats, angry bararatis set , car on fire

रीवा। जिले में शुक्रवार रात शादी की खुशियां उस वक्त मातम में बदल गई जब एक तेज रफ्तार जीप ने दो बारातियों को रौंद दिया। इस दर्दनाक हादसे में दोनों की मौत हो गई। हादसे के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने कुछ दूरी पर खड़ी एक कार में आग लगा दी। जिसके बाद विवाद ओर भी बढ़ गया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने बीच बचाव कर मामला शांत करवाया। वहीं टक्कर माने वाला जीप चालक हादसे के बाद मौके से फरार है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।   जानकारी अनुसार मऊगंज थाना क्षेत्र के दुबगवां कुर्मियान गांव में शुक्रवार को निसार अहमद के पुत्र फिरोज अंसारी की शादी थी। रात करीब 10 बजे बारात देवरा गांव जा रही थी। दूल्हा सहित अन्य बाराती निकल चुके थे। जबकि अन्य बाराती दूसरे वाहनों में जाने के लिए तैयारी में लगे हुए थे। इसी दौरान सडक़ पर खड़े दो लोगों को अनियंत्रित जीप रौंदते हुए पलट गई। हादसे में जयतुन निशा और मो. तारीफ की मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही दूल्हा सहित अन्य लोग बारात छोडक़र वापस लौट आए। घटना से गुस्साए बारातियों ने जीप की जगह कार को आग के हवाले कर दिया है। पूरी कार जलकर राख हो गई है। विवाद बढऩे पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामला शांत किया। पुलिस ने दोनों मृतकों को  पोस्टमॉर्टम के लिए मऊगंज अस्पताल भिजवाया। जिस कार को जलाया गया अभी तक उसके मालिक की पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस को आशंका है कि टक्कर मारने वाली जीप की जगह बारातियों ने धोखे से कार को आग लगा दी है। पुलिस आसपास पूछताछ करके कार मालिक की तलाश कर रही है। पुलिस ने तनाव को रोकने के लिए आधा दर्जन थाना का बल मौके पर तैनात किया है। पुलिस मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है।

Dakhal News

Dakhal News 3 April 2021


indore,Corona records ,708 new cases found,four people also died

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना का कहर जारी है। यहां 15 फरवरी के बाद से कोरोना के नये मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना के रिकॉर्ड 708 नये मामले सामने आए हैं। यह आंकड़ा अब तक एक दिन में सबसे अधिक है। वहीं, यहां कोरोना से चार लोगों की मौत भी हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 71 हजार 699 और मृतकों की संख्या 969 हो गई है।    इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाड़रिया ने शनिवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा शुक्रवार देर रात 3102 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 708 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 71 हजार 699 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से चार मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां मृतकों की संख्या 969 हो गई है। हालांकि, यहां बीते 24 घंटे में 413 मरीज स्वस्थ हुए हैं। यहां अब तक 65 हजार 863 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं, लेकिन नये मामले अधिक संख्या में मिलने से यहां सक्रिय मरीज बढक़र 4,867 हो गए हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।   बता दें कि इंदौर में फरवरी के शुरुआत में नये मामलों की संख्या 50 से नीचे पहुंच गई थी, लेकिन इसके बाद यह संख्या लगातार बढ़ते हुए अब 700 के पार पहुंच गई है। इंदौर में पहली बार नये संक्रमित 700 के पार पहुंचे हैं। इससे एक दिन पहले यहां रिकॉर्ड 682 नये संक्रमित मिले थे।

Dakhal News

Dakhal News 3 April 2021


Indore, movement of the city, visible since morning, color did not show

इंदौर। शहर की सड़कों और गलियों को इंद्रधनुषी रंगों से सराबोर करने वाला रंगपंचमी का पर्व इस बार फीका रहा। सुबह से सड़कों पर लोगों की आवाजाही तो जारी रही, लेकिन किसी के भी हाथ में रंग-गुलाल नजर नहीं आया। सुबह इंदौर के फेमस पोहे-जलेबी का स्वाद भी लोगों ने लिया। पेट्रोल पंप भी खुले रहे। पुलिस भी चौराहों पर तैनात रहकर हर आने-जाने वाले को टोकती रही। जिला प्रशासन की गाइडलाइन के चलते लगातार दूसरे साल भी परंपरागत गेर नहीं निकाली जा रही है।   रंगपंचमी पर शुक्रवार को सुबह से ही आम नागरिकों एवं गेर के आयोजकों में सन्नाटा पसरा रहा। शहर में परंपरागत रूप से 8 से 10 छोटी-बड़ी गेर निकलती रही हैं। इनका मिलन केंद्र राजबाड़ा रहता था। लेकिन इस बार प्रतिबंध के चलते वैसा नजारा तो नहीं दिखाई दिया।  लेकिन गली, मोहल्ले व कॉलोनियों में जरूरल लोग एक-दूसरे को रंग-गुलाल लगाते नजर आए।    इधर, शुक्रवार सुबह देवास नाका से लेकर राजबाड़ा तक सन्नाटा पसरा रहा। हर चौराहे पर पुलिस आने-जाने वालों को रोकती-टोकती रही। जिन्होंने मास्क नहीं लगाया उन पर हल्की सख्ती भी की। हालांकि चौराहे और गलियों पर चाय-नाश्ते की दुकानों पर लोगों की आवाजाही देखी गई। शहरभर में पेट्रोल पंप खुले होने से लोगों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। आवाजाही के बीच किसी के पास भी रंग-गुलाल जैसा कुछ नजर नहीं आया। पुलिस भी सभी आने-जाने वालों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की सीख देती रही। रंगपंचमी पर आयोजित होने वाले सामाजिक सम्मेलन, समारोह, स्नेह भोज, सम्मान समारोह सहित अन्य सभी तरह के आयोजनों पर इस बार रोक लग गई है।

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


ujjain,85 new cases,corona found , 68 recovered

उज्जैन। मप्र के उज्जैन जिले में भी कोरोना के मामलों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 85 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या बढक़र 6446 हो गई है। वहीं, 68 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं।   उज्जैन के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महावीर खंडेलवाल ने शुक्रवार को बताया कि जिले में बीते 24 घंटों के दौरान 1115 लोगों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 85 व्यक्ति संक्रमित पाए गए। इनमें 77 मरीज उज्जैन, पांच नागदा, दो महिदपुर और एक खाचरौद का रहने वाला है। अब जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 6446 हो गई है। हालांकि, बीते 24 घंटों में यहां 68 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। अब तक उज्जैन में 5544 मरीज पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीज 793 है, जिनका उपचार जारी है। वहीं, जिले में अभी तक कोरोना से 110 लोगों की मृत्यु हुई है।

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


Ujjain, First Baba Mahakal ,applied a color ,made of Tesu,  priests played Holi

उज्जैन। प्रदेश में कोरोना के कहर के बावजूद लोग रंगपंचमी का पर्व यथासंभव तरीकों से मना रहे हैं। उज्जैन में बाबा महाकाल को पहले पंडे-पुजारियों ने भस्मारती में टेसू के फूलों से बना रंग लगाया, फिर पुजारियों ने होली खेली।   कोरोना के कारण महाकाल मंदिर में भक्तों की आवाजाही पर तो प्रतिबंध था, लेकिन पंडे पुजारियों ने जरूर अपने आराध्य के साथ रंगोत्सव मनाया। सुबह बाबा महाकाल की भस्मआरती के दौरान टेसू के फूल से बने रंग से बाबा महाकाल का श्रृंगार किया गया। पंडे-पुजारी पुजारियों ने महाकाल मंदिर में भस्म आरती के दौरान भगवान महाकाल को टेसू के फूलों को गर्म करके केसर मिले हुए रंग लोटे से चढ़ाया। भस्म आरती के साथ ही महाकाल मंदिर में रंग बिखरना शुरू हो गया। देखते ही देखते गर्भगृह रंगों से सराबोर हो गया।    पिछले साल तक यहां भस्म आरती पर हजारों की संख्या में भक्त मौजूद रहते थे। बाबा के साथ होली खेलने देश के कोने-कोने से भक्त एक दिन पहले ही उज्जैन पहुंच जाया करते थे। लेकिन कोरोना के कारण इस बार त्योहार की चमक जरूर कुछ फीकी है। मंदिर के पुजारियों के अनुसार महाकाल मंदिर में रंगपंचमी का पर्व मनाने की परंपरा वर्षों से चली आ रही है। इसी के अनुसार शुक्रवार को पूजन की शुरुआत बाबा महाकाल की भस्म आरती में पंचामृत अभिषेक के साथ की गई। मन्त्रोच्चार के बाद भस्म अर्पित की गई। इसके बाद टेसू से बने रंग से बाबा महाकाल के साथ होली खेली गई।

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


jabalpur, Itarsi-Allahabad special train, derailed at Bohani station,Narsinghpur district

जबलपुर। मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले के बोहानी रेल्वे स्टेशन पर बड़ा हादसा टल गया। बुधवार रात करीब 8:30 बजे इटारसी से इलाहबाद जा रही स्पेशल पैसेंजर ट्रेन के एसएलआर समेत दो डिब्बे पटरी से उतर गए। हादसे के वक्त ट्रेन की रफ्तार कम थी जिससे ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर तुरंत रोक दिया। ट्रेन अचानक रुकते ही यात्रियों में हड़कंप की स्थिति बन गई। इस घटनाक्रम के चलते एक लाइन बाधित हो गई। इस दौरान बोहानी स्टेशन के स्टाफ के साथ अधिकारी मौके पर पहुंच गए।   जानकारी अनुसार इटारसी से इलाहाबाद के बीच स्पेशल ट्रेन (01117) संचालित की जा रही है। बुधवार रात करीब 8:30 बजे ट्रेन नरसिंहपुर जिले के बोहानी स्टेशन के प्लेटफार्म की ओर ट्रेन बढ़ रही थी। ट्रेन अभी प्वाइंट नंबर 102 पर पहुंची थी, तभी पीछे के दो डिब्बे पटरी से उतर गए। उस समय ट्रेन की स्पीड काफी कम थी। पहिया उतरते ही आवाज सुनकर ट्रेन के  ड्राइवर जयसिंग प्रकाश ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोक लिया। गार्ड आरके ताम्रकार ने स्थिति देखी, फिर वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी।   वहीं पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर रेल मंडल में घटना की जानकारी लगते ही हड़कम्प मच गया। जबलपुर में खतरे के 5 सायरन बजाये गए। गनीमत रही कि घटना में कोई नुकसान नहीं हुआ और सभी यात्री सुरक्षित हैं।   रेलवे की सूचना के बाद जबलपुर से आई टीम ने सुधार कार्य शुरू कर दिया है। इस घटना से मेन लाइन करीब 3 घंटे बाधित रहा। इस घटना में कितना नुकसान हुआ है, घटना का कारण क्या है, इस सबका पता लगाया जा रहा है। घटना के कारण जबलपुर की जाने वाली डाउन दिशा की ट्रेनों के पहिये भी बोहानी के पूर्व स्टेशनों पर थम गए हैं। गाडरवारा रेलवे स्टेशन पर जनशताब्दी ट्रेन डेढ़ घंटे से अधिक समय तक खड़ी रही।

Dakhal News

Dakhal News 1 April 2021


bhopal, MP Weather, Slight drop in temperature , prick of sunshine persists

भोपाल। मप्र में अप्रैल के आगाज से पहले ही गर्मी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। मई जैसी गर्मी का अहसास अभी से होने लगा है। सूरज की तेज धूप जहाँ चुभने लगी है। वही लू के थपेड़े शरीर को झुलसाने लगे हैं। दिन और रात का तापमान लगातार बढ़ रहा है। हालांकि पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत से गुजर जाने के बाद गुजरात, राजस्थान में अधिकतम तापमान में कुछ गिरावट आई है। इस वजह से मध्य प्रदेश में भी अधिकतम तापमान में कमी दर्ज की गई। बुधवार को सिर्फ रीवा में ही लू चली। शेष जिलों में भीषण गर्मी से कुछ राहत मिली। इसके बाद तापमान में बढोत्तरी होगी। आने वाले दिनों में अप्रेल माह में मई जैसी गर्मी का अहसास होगा। गर्म हवा 3 से 4 किलोमीटर की रफ्तार से चलेंगी। मौसम विभाग ने आने वाले दो चार दिनों में 42 डिग्री तक तापमान पहुंचने के साथ ही लू चलने की भी संभावना जताई है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत से आगे बढ़ जाने के कारण राजस्थान और गुजरात में तापमान कम होने लगा है। वहां से आ रही पश्चिमी हवा में भी तल्खी कम हुई है। इससे राजधानी सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में अधिकतम तापमान में कमी दर्ज होने लगी है। गुरुवार को एक पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ तीन अप्रैल को उत्तर भारत पहुंचेगा। इस बीच हवा का रुख उत्तरी और उत्तर-पूर्वी होने के आसार हैं। इससे दिन और रात के तापमान में और गिरावट हो सकती है। इन दोनों सिस्टम के गुजरने के बाद एक बार फिर तापमान बढऩे की संभावना है।   मौसम विभाग ने जारी की एडवाइजरीगर्मी के तेवर देखते हुए मौसम विभाग ने एडवाइजरी जारी की है। जिसमे आने वाले दिनों में तेज लू चलने की संभावना को देखते हुए पानी पीकर निकलने, सूती हल्के वस्त्र, फूल आस्तीन के कपड़े पहनने के साथ ही सिर और चेहरे को ढककर रखने की सलाह दी है।   अप्रैल- मई माह में चलेंगी धूल भरी आंधीमौसम विभाग के अनुसार इस वर्ष गर्मियों में अप्रैल से मई माह तक इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर व चंबल संभाग सहित पश्चिम मध्य प्रदेश में धूल भरी आंधियां ज्यादा समय के लिए चलेंगी। इस वजह से वातावरण में धूल की मात्रा ज्यादा बरकरार रहेगी। इस बार पूर्वी मध्य प्रदेश के मुकाबले पश्चिमी मध्य प्रदेश गर्म रहेगा और गुजरात व राजस्थान से लगे इलाकों में अप्रैल व मई में धूल भरी आंधियां ज्यादा चलेंगी। इंदौर में लू के दिनों की संख्या ज्यादा नहीं होगी लेकिन लू के दिनों में तापमान की सीमा में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिलेगी।

Dakhal News

Dakhal News 1 April 2021


jabalpur, 170 new cases ,corona found , two people also died

जबलपुर। मध्यप्रदेश में इंदौर, भोपाल के बाद जबलपुर में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 170 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 19,175 और मृतकों की संख्या 267 हो गई है।    जबलपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रत्नेश कुरारिया ने गुरुवार को बताया कि जिले में बीते 24 घंटों के दौरान वायरोलॉजी लैब द्वारा 1613 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 170 नए लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 19 हजार 175 हो गई है। वहीं, अस्पताल में उपचाररत दो कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 267 हो गई है। हालांकि, बीते 24 घंटों में जिले में 119 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इन्हें मिलाकर अब तक जबलपुर में 17 हजार 625 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। जिले में कोरोना का रिकवरी रेट 91.91 है। जिले में अब सक्रिय मरीज 1283 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है।   सीएमएचओ डॉ. कुरारिया के अनुसार, कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क और शारीरिक दूरी जरूरी है। जिस तरह से कोरोना के नए मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है, उसे देखते हुए यह कहा जा सकता है कि लोग कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 1 April 2021


bhopal, Classes 1 to 8 , closed till April 15, Collector orders issued

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कक्षा एक से आठवीं तक की कक्षाएं आगामी 15 अप्रैल तक बंद रहेंगी। इस संबंध में भोपाल जिला कलेक्टर अविनाश लवानिया ने मंगलवार को निर्देश जारी किये हैं।   कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला परियोजना समन्वयक को दिये निर्देश दिये हैं कि कोरोना वायरस के संक्रमण में विगत दिनों से हो रही वृद्धि के दृष्टिगत सभी शासकीय एवं अशासकीय स्कूलों में कक्षा 1 से 8 तक की कक्षाओं को 15 अप्रैल 2021 तक बंद रखा जाए। उन्होंने जारी निर्देशों में स्पष्ट किया है कि कक्षा 9 से 12वीं तक के लिए पूर्व में जारी निर्देश यथावत रहेंगे।   उल्लेखनीय है कि स्कूल शिक्षा विभाग की पूर्व में सम्पन्न हुई समीक्षा बैठक में कक्षा 1 से 8वीं तक की कक्षाएं  31 मार्च 2021 तक बंद रखे जाने का निर्णय लिया गया था, जिसे अब बढ़ाकर 15 अप्रैल 2021 तक कर दिया गया है।

Dakhal News

Dakhal News 30 March 2021


 Jabalpur, 148 new cases,corona , two people also died

जबलपुर। मध्यप्रदेश में इंदौर, भोपाल के बाद जबलपुर में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 148 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 18,844 और मृतकों की संख्या 264 हो गई है।    जबलपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रत्नेश कुरारिया ने बताया कि सोमवार देर रात वायरोलॉजी लैब द्वारा 1268 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 148 नए लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 18 हजार 844 हो गई है। वहीं, अस्पताल में उपचाररत दो मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 264 हो गई है। हालांकि, बीते 24 घंटों में जिले में 102 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इन्हें मिलाकर अब तक जबलपुर में 17 हजार 407 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीज 1173 है, जिनका उपचार जारी है। इनमें से 797 मरीज घरों में रहकर उपचार करवा रहे हैं। जिले में कोरोना से रिकवरी रेट घट कर 92.37 फीसद रह गई है।   सीएमएचओ डॉ. कुरारिया के अनुसार, कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क और शारीरिक दूरी जरूरी है। जिस तरह से कोरोना के नए मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है, उसे देखते हुए यह कहा जा सकता है कि लोग कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 March 2021


Bhopal, Four officers , State Administrative Service, transferred

भोपाल। मप्र में राज्य प्रशासनिक सेवा के चार अधिकारियों का तबादला करते हुए उनकी नवीन पदस्थापना की गई है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा मंगलवार को आदेश जारी किये गए हैं।   जारी आदेश के मुताबिक,  रीवा की संयुक्त कलेक्टर अंजलि द्विवेदी को दमोह जिले में संयुक्त कलेक्टर नियुक्त किया गया है, जबकि धार के डिप्टी कलेक्टर सत्यनारायण दर्रे को पन्ना जिले के डिप्टी कलेक्टर का दायित्व सौंपा गया है। इसी तरह दमोह की डिप्टी कलेक्टर भारती देवी मिश्रा का पन्ना और रीवा की डिप्टी कलेक्टर फरहीन खान का होशंगाबाद ट्रांसफर किया गया है।

Dakhal News

Dakhal News 30 March 2021


Bhopal, Four officers , State Administrative Service, transferred

भोपाल। मप्र में राज्य प्रशासनिक सेवा के चार अधिकारियों का तबादला करते हुए उनकी नवीन पदस्थापना की गई है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा मंगलवार को आदेश जारी किये गए हैं।   जारी आदेश के मुताबिक,  रीवा की संयुक्त कलेक्टर अंजलि द्विवेदी को दमोह जिले में संयुक्त कलेक्टर नियुक्त किया गया है, जबकि धार के डिप्टी कलेक्टर सत्यनारायण दर्रे को पन्ना जिले के डिप्टी कलेक्टर का दायित्व सौंपा गया है। इसी तरह दमोह की डिप्टी कलेक्टर भारती देवी मिश्रा का पन्ना और रीवा की डिप्टी कलेक्टर फरहीन खान का होशंगाबाद ट्रांसफर किया गया है।

Dakhal News

Dakhal News 30 March 2021


Bhopal, Four officers , State Administrative Service, transferred

भोपाल। मप्र में राज्य प्रशासनिक सेवा के चार अधिकारियों का तबादला करते हुए उनकी नवीन पदस्थापना की गई है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा मंगलवार को आदेश जारी किये गए हैं।   जारी आदेश के मुताबिक,  रीवा की संयुक्त कलेक्टर अंजलि द्विवेदी को दमोह जिले में संयुक्त कलेक्टर नियुक्त किया गया है, जबकि धार के डिप्टी कलेक्टर सत्यनारायण दर्रे को पन्ना जिले के डिप्टी कलेक्टर का दायित्व सौंपा गया है। इसी तरह दमोह की डिप्टी कलेक्टर भारती देवी मिश्रा का पन्ना और रीवा की डिप्टी कलेक्टर फरहीन खान का होशंगाबाद ट्रांसफर किया गया है।

Dakhal News

Dakhal News 30 March 2021


Ujjain, 69 new cases ,corona found

उज्जैन। मप्र के उज्जैन जिले में भी कोरोना के मामलों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 69 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या बढक़र 6101 हो गई है।    उज्जैन के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महावीर खंडेलवाल ने रविवार को बताया कि जिले में बीते 24 घंटों के दौरान 1270 लोगों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 69 व्यक्ति संक्रमित पाए गए। इनमें 58 मरीज उज्जैन, 02 बडऩगर, 07 नागदा और एक-एक मरीज महिदपुर व खाचरौद के रहने वाले हैं। अब जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 6101 हो गई है। हालांकि, बीते 24 घंटों में यहां 22 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। अब तक उज्जैन में 5411 मरीज पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीज 581 है, जिनका उपचार जारी है। वहीं, जिले में अभी तक कोरोना से 109 लोगों की मृत्यु हुई है।

Dakhal News

Dakhal News 28 March 2021


Ujjain, 69 new cases ,corona found

उज्जैन। मप्र के उज्जैन जिले में भी कोरोना के मामलों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 69 नये मामले सामने आए हैं। इसके बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या बढक़र 6101 हो गई है।    उज्जैन के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महावीर खंडेलवाल ने रविवार को बताया कि जिले में बीते 24 घंटों के दौरान 1270 लोगों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 69 व्यक्ति संक्रमित पाए गए। इनमें 58 मरीज उज्जैन, 02 बडऩगर, 07 नागदा और एक-एक मरीज महिदपुर व खाचरौद के रहने वाले हैं। अब जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 6101 हो गई है। हालांकि, बीते 24 घंटों में यहां 22 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। अब तक उज्जैन में 5411 मरीज पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। अब यहां सक्रिय मरीज 581 है, जिनका उपचार जारी है। वहीं, जिले में अभी तक कोरोना से 109 लोगों की मृत्यु हुई है।

Dakhal News

Dakhal News 28 March 2021


khandwa, Fire ,Sant Singaji Thermal Power Station, found after hard work

खंडवा। मप्र के खंडवा जिले में मूंदी थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम डोंगलिया में स्थित कोयला-आधारित बिजली संयंत्र संत सिंगाजी थर्मल पावर स्टेशन में रविवार को भीषण आग लग गई। सूचना मिलने पर पुलिस और दमकल की गाडिय़ां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। घटना में किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है, लेकिन प्लांट में रखा सामान जलकर खाक हो गया।   जानकारी के मुताबिक, संत सिंगाजी थर्मल पावर स्टेशन परिसर में रविवार को दोपहर में घास और कचरा जलाने का काम किया जा रहा था। इसी दौरान तेज हवा के चलते आग तेजी से फैली और प्लांट तक पहुंच गई, देखते ही देखते प्लांट के सेकंड सेक्शन स्थित स्क्रैप यार्ड को अपनी चपेट में ले लिया। यहां रखे नए और पुराने कन्वेयर बेल्ट, आइल, प्लांट का भंगार जलने लगा, जिससे धुएं के गुब्बार उठने लगे। मौके पर मौजूद लोगों की सूचना पर पुलिस और दमकल की गाडिय़ां मौके पर पहुंची और करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।   सिंगाजी परियोजना के पीआरओ और अधीक्षण यंत्री आरपी पांडे ने बताया कि आग से परियोजना में कोई जनहानि नहीं हुई है। आग पर काबू पा लिया गया है। आग से निपटने के लिए परियोजना के दो अग्निशमन वाहनों के अलावा मूंदी, खंडवा और नर्मदा नगर के भी अग्निशमन वाहनों की मदद ली गई। इस हादसे से विद्युत उत्पादन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।   बताया जा रहा है कि पांच छह दिन पहले ही कन्वेयर बेल्ट आए थे। वहीं परियोजना के सेकंड फेस की मरम्मत का कार्य भी चल रहा है जिसकी पुरानी सामग्री भी रखी हुई थी। इस आगजनी में स्क्रैप यार्ड में रखे कोयले के कन्वेयर बेल्ट के स्टॉक को क्षति पहुंची और पुराना रखा हुआ सामान भी जल गया।

Dakhal News

Dakhal News 28 March 2021


khandwa, Fire ,Sant Singaji Thermal Power Station, found after hard work

खंडवा। मप्र के खंडवा जिले में मूंदी थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम डोंगलिया में स्थित कोयला-आधारित बिजली संयंत्र संत सिंगाजी थर्मल पावर स्टेशन में रविवार को भीषण आग लग गई। सूचना मिलने पर पुलिस और दमकल की गाडिय़ां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। घटना में किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है, लेकिन प्लांट में रखा सामान जलकर खाक हो गया।   जानकारी के मुताबिक, संत सिंगाजी थर्मल पावर स्टेशन परिसर में रविवार को दोपहर में घास और कचरा जलाने का काम किया जा रहा था। इसी दौरान तेज हवा के चलते आग तेजी से फैली और प्लांट तक पहुंच गई, देखते ही देखते प्लांट के सेकंड सेक्शन स्थित स्क्रैप यार्ड को अपनी चपेट में ले लिया। यहां रखे नए और पुराने कन्वेयर बेल्ट, आइल, प्लांट का भंगार जलने लगा, जिससे धुएं के गुब्बार उठने लगे। मौके पर मौजूद लोगों की सूचना पर पुलिस और दमकल की गाडिय़ां मौके पर पहुंची और करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।   सिंगाजी परियोजना के पीआरओ और अधीक्षण यंत्री आरपी पांडे ने बताया कि आग से परियोजना में कोई जनहानि नहीं हुई है। आग पर काबू पा लिया गया है। आग से निपटने के लिए परियोजना के दो अग्निशमन वाहनों के अलावा मूंदी, खंडवा और नर्मदा नगर के भी अग्निशमन वाहनों की मदद ली गई। इस हादसे से विद्युत उत्पादन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।   बताया जा रहा है कि पांच छह दिन पहले ही कन्वेयर बेल्ट आए थे। वहीं परियोजना के सेकंड फेस की मरम्मत का कार्य भी चल रहा है जिसकी पुरानी सामग्री भी रखी हुई थी। इस आगजनी में स्क्रैप यार्ड में रखे कोयले के कन्वेयर बेल्ट के स्टॉक को क्षति पहुंची और पुराना रखा हुआ सामान भी जल गया।

Dakhal News

Dakhal News 28 March 2021


khandwa, Fire ,Sant Singaji Thermal Power Station, found after hard work

खंडवा। मप्र के खंडवा जिले में मूंदी थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम डोंगलिया में स्थित कोयला-आधारित बिजली संयंत्र संत सिंगाजी थर्मल पावर स्टेशन में रविवार को भीषण आग लग गई। सूचना मिलने पर पुलिस और दमकल की गाडिय़ां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। घटना में किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है, लेकिन प्लांट में रखा सामान जलकर खाक हो गया।   जानकारी के मुताबिक, संत सिंगाजी थर्मल पावर स्टेशन परिसर में रविवार को दोपहर में घास और कचरा जलाने का काम किया जा रहा था। इसी दौरान तेज हवा के चलते आग तेजी से फैली और प्लांट तक पहुंच गई, देखते ही देखते प्लांट के सेकंड सेक्शन स्थित स्क्रैप यार्ड को अपनी चपेट में ले लिया। यहां रखे नए और पुराने कन्वेयर बेल्ट, आइल, प्लांट का भंगार जलने लगा, जिससे धुएं के गुब्बार उठने लगे। मौके पर मौजूद लोगों की सूचना पर पुलिस और दमकल की गाडिय़ां मौके पर पहुंची और करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।   सिंगाजी परियोजना के पीआरओ और अधीक्षण यंत्री आरपी पांडे ने बताया कि आग से परियोजना में कोई जनहानि नहीं हुई है। आग पर काबू पा लिया गया है। आग से निपटने के लिए परियोजना के दो अग्निशमन वाहनों के अलावा मूंदी, खंडवा और नर्मदा नगर के भी अग्निशमन वाहनों की मदद ली गई। इस हादसे से विद्युत उत्पादन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।   बताया जा रहा है कि पांच छह दिन पहले ही कन्वेयर बेल्ट आए थे। वहीं परियोजना के सेकंड फेस की मरम्मत का कार्य भी चल रहा है जिसकी पुरानी सामग्री भी रखी हुई थी। इस आगजनी में स्क्रैप यार्ड में रखे कोयले के कन्वेयर बेल्ट के स्टॉक को क्षति पहुंची और पुराना रखा हुआ सामान भी जल गया।

Dakhal News

Dakhal News 28 March 2021


jhabua, Aboriginal youths ,do not make the name ,Bhagoria worthwhile

थांदला/झाबुआ। बसन्त ऋतु के आते ही जब विंध्याचल की सुरम्य उपत्यकाए टेसू के सुर्ख नारंगी रंग से लकदक होकर दहकने  लग जाती है, कहीं  दूर महुआ के पेड़ पर बैठी कोयल की कुहुक कानों में अमृत घोलने लगती है और आदिवासी महिलाएँ मधुर किन्तु ऊंचे स्वरों में वैवाहिक गान गाने लगती है, बस उसी वक्त के दौर में भीलांचल के आदिवासी समुदाय का प्रणय पर्व या फिर उत्साहपूर्ण उमंगों का त्यौहार भगोरिया का आगमन होता है।    एक वक़्त का वह दौर था जब भगोरिया की मस्ती इन युवाओं के सिर चढ़कर बोलती थी, प्रेम की उन्मक्त आग जब उनके मनमे उठ रही लहरों से उनके हृदय तक पहुंच जाती थी और कुछेक बार का ही इन हाट बाजारो में एकांतिक मिलन उनके जीवन को एक दूसरे ही तरह से परिभाषित करने लगता था तब ऐसे ही वक्त के किसी दौर में आंतरिक उन्माद लिए मस्ती अभिव्यक्त होने लगती थी और किसी भगोरिया हाट में वह नायक पा लेता था। अपनी उस नायिका को, जिसे वह चाहता तो बहुत था किंतु अवसर की तलाश में ही एक के बाद दूसरी ऋतु आती गई किन्तु वह उसे पाने के लिए कही कोई उपाय नहीं कर सका और अब, जब भगोरिया का आगाज हुआ तो फिर स्वप्न साकार होते नजर आने लगे। तब जीवन एक अलग मस्ती के रंग में रंगीन होता हुआ लगता था कि अब भगोरिया आने वाला है। मस्ती तो अब भी है, किन्तु वह प्रणय रस भीगी नहीं बल्कि हास्य विनोद की मानिंद, बिल्कुल रूखी सूखी और  कई बार तो निम्न स्तरीय शरारतों से भरी हुई। अब समय का वह दौर कहाँ रहा?     टेसु के फूल तो अब भी खिलते ही है, कोयल की कुहुक भी सुनाई देती ही है, किंतु ऐसा लगता है जैसे उनमे प्रेम की अभिव्यक्ति नहीं, बल्कि आक्रोश भरा उलाहना ही अधिक नज़र आता है। शायद इसीलिए विस्तृत रूप से फैली इन उपत्यकाओं में आग बरसाते ये पलाश के फूल सूख कर बिखर जाते हैं, किंतु कोई प्रेमोन्माद में डूबा युवक नही आता हुआ दिखाई देता है, जो आग उगलती उस पलाश पुष्प की टहनी को अपने हाथों में लेकर अभिसारिणी नायिका उस आदिवासी बाला को थमा दे और भगोरिया के नाम को सार्थकता प्रदान करदे। ऐसा लगता है कि वक्त के दौर ने प्रेमाभिव्यक्ति को भी एक नए मुकाम पर लाकर खड़ा कर दिया है, जहां भावों का समंदर एक मौसमी जलाशय के रूप में परिवर्तित होता हुआ  लगने लगता है।     

Dakhal News

Dakhal News 25 March 2021


Damoh, Fierce fire ,buses standing at bus stand, seven buses burnt down

दमोह। जिले के बस स्टैंड में बुधवार देर रात आग भड़क गई। इसकी चपेट में आने से वहां खड़ी 7 बसें जलकर खाक हो गई। फायर ब्रिगेड की टीम  ने आग पर काबू पाने के प्रयास शुरू किये लेकिन आग पर काबू पाए जाने तक बसें जलकर खाक हो चुकी थी। आशंका जताई जा रही है कि शरारती तत्वों ने घटना को अंजाम दिया है।   जानकारी के अनुसार शहर के बीचों बीच संचालित होने वाले शासकीय बस स्टैंड पर बुधवार देर रात करीब 2 बजे एक बस में आग लग गई। थोड़ी देर में आग ने विकराल रूप ले लिया और पास ही खड़ी छह अन्य बसों को भी एक-एक कर अपनी चपेट में ले लिया। आग की लपटें देख दुकानदारों में अफरातफरी मच गई। बस मालिकों और पुलिस व फायर दल को सूचना दी गयी। नगर पालिका की दमकल की टीम आग बुझाने का प्रयास शुरू किया। कोतवाली पुलिस और सीएसपी अभिषेक तिवारी भी मौके पर पहुंच गए। फायर दल ने कड़ी मशक्कत के बाद गुरुवार सुबह तक आग पर काबू पाया। आग बुझने तक सातों बसें जलकर खाक हो गई।   जिन बसों में आग लगी उनमें तीन बसें नूरी कंपनी की हैं, दो बस अरिहंत कंपनी की हैं, एक बस जैन ट्रेवल्स की हैं और एक बस की जानकारी नहीं मिल पाई है। गनीमत यह रही कि बसों में लगी आग बस स्टैंड पर संचालित दुकानों में नहीं लगी, वरना आधा शहर आग की लपटों में घिर जाता और शायद बहुत बड़ी हानि हो जाती। फिलहाल पुलिस आगजनी का कारण पता लगाने की जांच में जुट गई है।

Dakhal News

Dakhal News 25 March 2021


damoh, Bus and trolley collide ,Damoh State Highway, 60 passengers injured

दमोह। मध्य प्रदेश के दमोह जिले में स्टेट हाईवे पर गुरुवार की सुबह यात्री बस व ट्राला की जोरदार भिड़ंत हो गई। हादसे में 60 से ज्यादा लोग घायल हो गए। घायलों में 6 की हालत गंभीर है, जिन्हें उपचार के लिए जबलपुर रैफर किया गया है। घायलों में अधिकतर छात्र छात्राएं शामिल है। सूचना के बाद पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं।   जानकारी अनुसार घटना गुरुवार सुबह करीब दस बजे जबेरा की विदारी घाटी पर हुई है। राधा कंपनी की बस दमोह से जबलपुर की ओर जा रही थी, जिसमें करीब 70 यात्री सवार थे। वहीं ट्राला जबलपुर से दमोह की ओर जा रहा था। इस दौरान विदारी घाटी की मोड़ पर दोनों वाहनों की आमने सामने से जोरदार भिड़ंत हो गई। घटना के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई। राहगीरों ने पुलिस को हादसे की सूचना दी।    सूचना मिलते ही जबेरा टीआई कमलेश तिवारी अपनी टीम के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए और बस में सवार यात्रियों को बाहर निकाला जा रहा है। घटना में ट्राला बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया जिसके चलते उसमें फंसे चालक व क्लीनर को जेसीबी की मदद से निकाला गया है। हादसे में 60 से ज्यादा लोग घायल हुए है। घायलों में 6 की हालत गंभीर बताई जा रही है, गंभीर घायलों को ईलाज के लिए जबलपुर रैफर किया गया है। वहीं मामूली रुप से घायल यात्रियों का जबेरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया है। हादसे के बाद दमोह जबलपुर स्टेट हाईवे पर जाम की स्थिति निर्मित हो गई। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर घटना के कारण का पता लगाने के लिए जांच में जुट गई है।

Dakhal News

Dakhal News 25 March 2021


Damoh, Assembly by-election, Collector inspected polling booths

दमोह। मध्यप्रदेश की दमोह विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं। इसी क्रम में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी तरुण राठी बुधवार को क्षेत्र के भ्रमण पर निकले और विभिन्न मतदान केन्द्रों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।   कलेक्टर राठी ग्राम कुवंरपुर खेजरा पहुंचे और यहां प्राथमिक शाला में स्थित मतदान केन्द्र का निरीक्षण किया और इस सबंध में सेक्टर अधिकारी हरि नेमा से चर्चा की तथा निर्देशानुसार कार्यवाही सुनिश्ति करने को कहा। यहां से कलेक्टर राठी ग्राम खबेना पहुंचे और माध्यमिक शाला मे स्थापित मतदान केन्द्र पर मूलभूत सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने केन्द्र में मौजूद बीएलओ बिहारी सिंह गौड से भी चर्चा कर जानकारी ली। इसके अलावा उन्होंने अन्य मतदान केन्द्रों का भी निरीक्षण किया।

Dakhal News

Dakhal News 24 March 2021


bhopal,73 wild animals increase, Van Vihar

भोपाल। राजधानी भोपाल स्थित वन विहार राष्ट्रीय उद्यान जू में उपलब्ध वन्य प्राणियों की वर्ष 2020-21 में हुई गणना में पिछले साल की तुलना में 73 विभिन्न प्रजाति के वन्य प्राणियों की वृद्धि हुई है। पिछले साल की गणना में कुल 1485 वन्य प्राणी पाये गये थे जबकि इस वर्ष की गणना में 1558 वन्य प्राणी वन विहार में पाये गये हैं।   वन विहार राष्ट्रीय उद्यान के संचालक अजय कुमार यादव ने बुधवार को जानकारी देते हुए बताया कि बाड़े में उपलब्ध 11 विभिन्न प्रजाति के 113 वन्य प्राणी उपलब्ध थे। वर्ष 2021 के 24, 25 एवं 26 फरवरी को हुई गणना में यह संख्या 123 हो गई है। इनमें बाघ, सफेद बाघ, सिंह, तेंदुआ, भालू, इंडियन वायसन, हायना, मगर, घड़ियाल, पहाड़ी कछुआ और जलीय कछुआ शामिल हैं। इसमें से बाघ, तेंदुआ और पहाड़ी कछुओं की संख्या में बढोत्तरी हुई है। इसी तरह अफ्रीकन कछुआ (कोर्ट केस) में 5 और एक बाघ को क्वारेंटाईन में रखा गया है।   स्वतंत्र विचरण करने वाले 62 वन्य प्राणी बढ़े वन विहार राष्ट्रीय उद्यान द्वारा स्वतंत्र विचरण करने वाले वन्य प्राणियों की हुई गणना में चीतल, सांभर, नीलगाय, जंगली सुअर, सियार, काला हिरण, मोर, चौसिंघा, चिंकारा, लंगूर, सेही, खरहा, नेवला, बारह सिंघा और जंगली बिल्ली उपलब्ध हैं।

Dakhal News

Dakhal News 24 March 2021


bhopal,73 wild animals increase, Van Vihar

भोपाल। राजधानी भोपाल स्थित वन विहार राष्ट्रीय उद्यान जू में उपलब्ध वन्य प्राणियों की वर्ष 2020-21 में हुई गणना में पिछले साल की तुलना में 73 विभिन्न प्रजाति के वन्य प्राणियों की वृद्धि हुई है। पिछले साल की गणना में कुल 1485 वन्य प्राणी पाये गये थे जबकि इस वर्ष की गणना में 1558 वन्य प्राणी वन विहार में पाये गये हैं।   वन विहार राष्ट्रीय उद्यान के संचालक अजय कुमार यादव ने बुधवार को जानकारी देते हुए बताया कि बाड़े में उपलब्ध 11 विभिन्न प्रजाति के 113 वन्य प्राणी उपलब्ध थे। वर्ष 2021 के 24, 25 एवं 26 फरवरी को हुई गणना में यह संख्या 123 हो गई है। इनमें बाघ, सफेद बाघ, सिंह, तेंदुआ, भालू, इंडियन वायसन, हायना, मगर, घड़ियाल, पहाड़ी कछुआ और जलीय कछुआ शामिल हैं। इसमें से बाघ, तेंदुआ और पहाड़ी कछुओं की संख्या में बढोत्तरी हुई है। इसी तरह अफ्रीकन कछुआ (कोर्ट केस) में 5 और एक बाघ को क्वारेंटाईन में रखा गया है।   स्वतंत्र विचरण करने वाले 62 वन्य प्राणी बढ़े वन विहार राष्ट्रीय उद्यान द्वारा स्वतंत्र विचरण करने वाले वन्य प्राणियों की हुई गणना में चीतल, सांभर, नीलगाय, जंगली सुअर, सियार, काला हिरण, मोर, चौसिंघा, चिंकारा, लंगूर, सेही, खरहा, नेवला, बारह सिंघा और जंगली बिल्ली उपलब्ध हैं।

Dakhal News

Dakhal News 24 March 2021


Betul,Holi and Rangpanchami ,cannot be played collectively

बैतूल। जिले में आगामी होली एवं रंगपंचमी त्यौहार का सामूहिक आयोजन प्रतिबंधित किया गया है। कलेक्टर अमनबीर सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में निर्णय लिया गया कि ‘मेरी होली मेरे घर’ अभियान को प्रभावी बनाया जाएगा। कोई भी व्यक्ति घर से बाहर मोहल्ला, पड़ोस या गांव/शहर में होली अथवा रंगपंचमी नहीं मनाएगा। होली (धुलेंडी) के दिन समूचे जिले में आवागमन पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। बैठक में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव एं जिले के कोविड प्रभारी सचिन सिन्हा भी मौजूद रहे।   बैठक में निर्णय लिया गया कि होली के त्यौहार के दौरान महाराष्ट्र से लौटने वाले लोगों, खासतौर पर ग्रामीण क्षेत्र के व्यक्तियों पर विशेष निगरानी रखी जाए। ऐसे लोगों को पिछले 48 घंटे की कोविड निगेटिव रिपोर्ट साथ में लाना होगी। साथ ही सात दिन के लिए क्वारेंटाइन भी किया जाएगा। जो लोग जिले से महाराष्ट्र किसी कार्य से जा रहे हैं, लौटने पर उनको भी निगेटिव रिपोर्ट साथ लाना होगी एवं सात दिन क्वारेंटाइन रहना होगा। जिन ग्राम पंचायत क्षेत्रों में अधिक संख्या में मजदूर लौटने की संभावना है, वहां पर इस दौरान विशेष निगरानी रखी जाएगी। इसके अलावा अन्य कोरोना हॉट स्पॉट से लौटने वाले लोगों पर भी विशेष निगरानी रखी जाएगी। जिले में सामूहिक होली पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। बाजारों में कोविड गाइडलाइन के पालन पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। गुरुवार को नगर में लगने वाले हाट-बाजार सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पुलिस लाइन एवं न्यू बैतूल स्कूल ग्राउण्ड में लगाने के लिए मुख्य नगरपालिका अधिकारी को निर्देश दिए गए।   कलेक्टर ने कहा कि जो लोग क्वारेंटाइन के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उनके विरूद्ध पुलिस प्रकरण दर्ज करने के साथ-साथ उन्हें संस्थागत क्वारेंटाइन भी किया जाएगा। बैठक में पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद, जिला पंचायत सीईओ एमएल त्यागी, ग्रुप के सदस्य मोहन नागर, ब्रजआशीष पाण्डे, डॉ. अरूण जयसिंह, दवा विक्रेता संघ से दिलखुश सिंह साहनी सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।   रेल्वे स्टेशन का निरीक्षण महाराष्ट्र राज्य से आने वाले सवारी वाहनों के प्रतिबंधित होने के कारण होली के त्यौहार पर ट्रेनों से लोगों के वापस आने के दृष्टिगत कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस एवं पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद ने सोमवार को बैतूल रेल्वे स्टेशन का भी निरीक्षण किया। उन्होंने यहां उतरने वाले मुसाफिरों की थर्मल स्क्रीनिंग एवं आने वाले स्थान की जानकारी विधिवत् पंजी में इन्द्राज करने के तैनात अमले को निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि यात्रियों की संख्या को देखते हुए यहां स्वास्थ्य अमले की टीमें बढ़ाई जाए। साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग के आवश्यक उपकरण भी रखे जाए। आने वाले यात्रियों की सघन निगरानी रखी जाए, यदि कोई भी संदिग्ध संक्रमित पाए जाने पर तत्काल उसे उपचार में लिया जाए।   जनसुनवाई स्थगित कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस ने जिले में कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के तहत जन स्वास्थ्य एवं लोकहित के दृष्टिगत प्रति मंगलवार को आयोजित होने वाली जनसुनवाई को आगामी आदेश तक स्थगित कर दिया है। उक्त आदेश तत्काल प्रभावशील किया गया है।    कलेक्टर की अपील, आमजन कोरोना से बचाव की सावधानियों का पालन करें कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस ने जिले में कोविन-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने की आम जन से अपील की है। उन्होंने कहा कि  जिले में 23 मार्च को संकल्प अभियान का आयोजन होगा। जिसके तहत प्रात: 11 बजे और सायं 7 बजे सायरन बजेगा। आमजन दो मिनट का संकल्प लेंगे, जिसमें मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना शामिल है। कलेक्टर ने कहा है कि इस दिन व्यापारिक प्रतिष्ठानों एवं दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए सामने ग्राहकों के खड़े होने के लिए गोले भी बनाए जाएंगे।   ‘मेरी होली मेरे घर’ अभियान कलेक्टर ने कहा कि आगामी होली एवं रंगपंचमी त्यौहार को देखते हुए कोरोना संक्रमण से बचाव पर हमें विशेष ध्यान देना होगा। होली एवं रंगपंचमी त्यौहार पर ‘मेरी होली मेरे घर’ के नारे को दिनचर्या में उतारना आवश्यक है। आमजन त्यौहार पारिवारिक स्तर पर पूरी सावधानियों के साथ मनाए।   ‘मेरा मास्क मेरी सुरक्षा’ अभियान कलेक्टर ने आमजन से यह भी अपील की है कि कोरोना के वायरस से बचने के लिए मास्क एक अचूक उपाय है। सभी से अपेक्षा है कि वे मास्क अवश्य लगाएं। मास्क लगाने में किसी तरह की लापरवाही कोरोना संक्रमण फैलने का कारण बनेगी।

Dakhal News

Dakhal News 22 March 2021


bhopal,Weather Bhopal, Gwalior, Chambal, Jabalpur, Rewa divisions ,next 48 hours

भोपाल। प्रदेश का मौसम एक बार फिर करवट लेता नजर आ रहा है। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में गरज-चमक के साथ बारिश की आशंका जताई है। विभाग का कहना है कि प्रदेश के दक्षिण-पूर्वी हिस्से में बन रहे चक्रवात के कारण कुछ जगहों पर ओले भी गिर सकते हैं।   मध्यप्रदेश में सोमवार को एक बार फिर मौसम बदल गया है। राजधानी भोपाल के कुछ हिस्सों में सुबह बादल छाने के बाद बारिश हुई। हालांकि कुछ देर बाद मौसम साफ हो गया। इस बीच यहां औसत 0.4 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में गरज चमक के साथ प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश का अनुमान बताया है।    मौसम विभाग के अनुसार दक्षिण-पूर्वी मध्यप्रदेश में ऊपरी हवाओं का चक्रवात बना हुआ है। इसके कारण बादल बन रहे हैं। इसी वजह से भोपाल में सोमवार सुबह कई दौर वाली हल्की बारिश हुई। साथ ही 23 मार्च को एक पश्चिमी विक्षोभ बन रहा है। इसके चलते प्रदेश के कई हिस्सों में अगले 48 घंटे में हल्की बारिश या बूंदाबांदी हो सकती है। इसमें भोपाल, होशंगाबाद, ग्वालियर, चंबल, जबलपुर, रीवा, शहडोल संभाग के जिला में गरज-चमक के साथ हल्की बारिश के आसार बताए गए हैं। इन संभागों के कुछ हिस्सों में ओले भी गिर सकते हैं। इसके बाद 24 मार्च को बादल रह सकते हैं, लेकिन बारिश की संभावना नहीं है।

Dakhal News

Dakhal News 22 March 2021


bhopal, Sunday lockdown,Emergency streets, emergency services will continue

भोपाल। मध्यप्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने राजधानी भोपाल समेत इंदौर, जबलपुर में रविवार को लॉकडाउन का ऐलान किया है। शनिवार रात 10 बजे से लॉकडाउन लगाया गया है, जो सोमवार सुबह 6 बजे तक रहेगा। इस दौरान इमरजेंसी सेवाएं जारी रहेंगी। लॉकडाउन के दौरान करीब तीन हजार पुलिस बल राजधानी में तैनात किया गया है। बेवजह बाहर घूमने वालों की गिरफ्तारी की जाएगी।   राजधानी भोपाल में रविवार सुबह से सडक़ों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। हालांकि पुराने शहर में लॉकडाउन बेअसर साबित हो रहा है। कई स्थानों पर लोग निर्देशों का पालन लोग नहीं कर रहे हैं। लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए भोपाल में 128 प्वाइंट पर बैरिकेडिंग की गई है। प्रशासन ने दुकानदारों पर जुर्माने का आदेश जारी कर दिया है, अगर कोई दुकानदार, दुकान पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कराएगा तो उससे 5 हजार रुपए फाइन वसूला जाएगा। इसके बावजूद भी दुकानदार ऐसा करते पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और उसकी दुकान भी सील कर कर दी जाएगी। वहीं, एमपीपीएससी की परीक्षा को देखते हुए प्रशासन ने रविवार को बीसीएलएल बसों का संचालन करने का फैसला लिया है। प्रशासन के निर्देशानुसार शहर के चार रूट पर बसों का संचालन होगा। मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की तरफ से मेंस परीक्षा के लिए कोरोना संक्रमित अभ्यर्थियों के लिए अलग एग्जाम सेंटर बनाए गए हैं। इन एग्जाम सेंटर्स पर कोरोना पॉजिटिव अभ्यर्थी पीपीई किट पहनकर एग्जाम दे सकेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 21 March 2021


bhopal, Madhya Pradesh Lightning likely, fall in many districts , rain and hail.

भोपाल। मध्य प्रदेश में पिछले दो-तीन दिनों से प्री मानसून की गतिविधियां देखने को मिल रही है। प्रदेश भर में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि का सिलसिला अभी थमता नजर नहीं आ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो रविवार को भी एक नया पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में दाखिल होने जा रहा है। उसके प्रभाव से अभी तीन-चार दिनों तक मौसम साफ होने के आसार नहीं दिख रहे। प्रदेश में अभी बारिश का सिलसिला जारी रहेगा और आगामी चौबीस घंटे में प्रदेश के कई जिलों में बारिश और ओलावृष्टि के साथ बिजली गिरने की संभावना है।   वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि अभी प्रदेश में एक साथ 3 सिस्टम एक्टिव हैं। वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में मौजूद है। रविवार को एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है। उधर दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश और उससे लगे हुए राजस्थान पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है।   मौसम विज्ञानियों के मुताबिक इस सिस्टम के कारण आ रही नमी से बादल बने हुए हैं। वर्तमान में बंगाल की खाड़ी और अरब सागर दोनों स्थानों से मध्य प्रदेश के वातावरण में हवाओं के साथ नमी आने का सिलसिला बना हुआ है। प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर रुक-रुक कर हो रही बारिश से भी वातावरण में नमी बनी हुई है। इस वजह से दिन में तापमान बढ़ते ही शाम के समय स्थानीय स्तर पर भी गरज-चमक की स्थिति बनी लगती है। मौसम विभाग के मुताबिक होली के कुछ दिनों पहले तक 23-24 मार्च तक प्रदेश का मौसम इसी तरह का रहने का अनुमान है। इसके बाद पश्चिमी विक्षोभ का असर धीरे-धीरे कम होने और मौसम साफ होने लगेगा।

Dakhal News

Dakhal News 21 March 2021


Indore, Fierce fire , setup box Godown, loss of crores

इंदौर। शहर के शिप्रा थाना क्षेत्र अंतर्गत मांगलिया स्थित सेटअप बॉक्स के गोडाउन में शुक्रवार को सुबह अचानक आग लग गई। देखते ही देखते आग ने पूरे गोडाउन को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे वहां रखे करोड़ों के सेटअप बॉक्स जलकर राख हो गए। आग इतनी भीषण थी कि दमकल कर्मियों को गोडाउन में आग बुझाने के लिए जेसीबी की सहायता लेनी पड़ी। कड़ी मशक्कत के बाद गोडाउन की दीवार तोडक़र आग पर काबू पाया गया।   फायर कंट्रोल रूप एसपी आरएस निगवाल ने बताया कि मांगलिया स्थित कैरी कंपाउंड में एसीएन डिजिटल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का गोडाउन है, जिनकी मध्य प्रदेश में कई जगह केबल नेटवर्क है। गोडाउन में डिजिटल केबल के सेटअप बॉक्स रखे हुए थे। शुक्रवार को सुबह यहां भीषण आगजनी हुई। जानकारी मिलने के बाद दमकल की कई गाडिय़ां मौके पर पहुंची और करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। आग के कारण करोड़ों का नुकसान बताया जा रहा है, वही दमकल को आग बुझाने के कार्य में 10 से अधिक टैंकर पानी लगा। आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 19 March 2021


bhopal, Passenger bus, transport from Maharashtra, stopped due to Corona

भोपाल। मध्य प्रदेश में एक बार फिर कोरोना की भयावह स्थिति सामने आ रही है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए इस पर रोक लगाने के लिए शिवराज सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। मध्यप्रदेश सरकार ने महाराष्ट्र से यात्री बस परिवहन बंद करने का निर्णय किया है।   गुरुवार देर शाम मध्य प्रदेश शासन के फैसले के मुताबिक,