विशेष


jabalpur, Rajya Sabha MP ,Vivek Tankha targeted,Shivraj government

जबलपुर। कांग्रेस राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है। विवेक तन्खा ने कोरोना मौतों पर ट्वीट कर सरकार के आंकड़ेबाजी का सच जनता के सामने रखा है।   दरअसल कांग्रेस राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने भोपाल के भदभदा श्मशान घाट के फोटो ट्वीट किए हैं। अपने ट्वीट में तन्खा ने लिखा है कि यह सच तो मैं कई दिनो से बोल रहा। मप्र सरकार नहीं समझ पा रही की सच दिखता है। छुपाने से जनता जनार्दन का ही नुक़सान। अफ़सरों का यह पुराना तरीक़ा अपनी नाकामयाबी छुपाने का। ज्वाला मुखी फटेगा एक दिन।   एक अन्य अखबार का शोक संदेश वाला पेज शेयर करते हुए उन्होंने ट्वीट कर लिखा ‘इंदौर अख़बार का obituary page। क्या प्रशासन इन मौतों से भी इनकार करेगा। बहुत दुखद। शमशान और क़ब्रिस्तान तो कम पड़ ही गए, अब अख़बार का पन्ना भी कम पड़ रहा है !! स्वयं बचिए और अपनों को बचाइये।

Dakhal News

Dakhal News 14 April 2021


bhopal, CM Shivraj ,salutes Baba Saheb Ambedkar , 130th birth anniversary

भोपाल। देश आज 'भारत रत्न' भीमराव अंबेडकर की 130वीं जयंती मना रहा है। भीमराव अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल, 1891 को महू में हुआ था। भीमराव अंबेडकर को भारतीय संविधान का जनक कहा जाता है, आज़ादी के बाद वे देश के पहले कानून एवं न्याय मंत्री बने। 31 मार्च 1990 को उन्हें मरणोपरांत सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। इस खास मौके पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाबासाहेब अंबेडकर को नमन किया और समाज के वंचित वर्ग के लिए उनके संघर्ष को सलाम किया है।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्वीट में लिखा, भाग्य में नहीं, अपनी शक्ति में विश्वास रखो- डॉ.भीमराव अम्बेडकर। संविधान शिल्पी, श्रद्धेय बाबा साहेब जी की जयंती पर कोटिश: नमन! कमजोर वर्ग के उत्थान व कल्याण के लिए आजीवन संकल्पित प्रयास करने वाले भारत रत्न के सपनों के सशक्त,समर्थ भारत के निर्माण के स्वप्न को हम सब साकार करेंगे।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने ट्वीट में कहा ‘भारतीय संविधान के निर्माता, सामाजिक समरसता के प्रणेता, भारत रत्न डा.भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती पर उन्हें कोटि - कोटि प्रणाम।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बाबा साहेब को जयंती पर नमन करते हुए कहा ‘मानसिकता का विकास मानव अस्तित्व का अंतिम उद्देश्य होना चाहिए-डॉ.अम्बेडकर। संविधान निर्माता और सामाजिक न्याय के प्रणेता भारत रत्न बाबा साहेब डॉ.भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती पर उन्हें सादर नमन। दलित समाज के उत्थान में उनका अतुलनीय योगदान हमेशा याद किया जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 14 April 2021


bhopal, CM Shivraj ,salutes Baba Saheb Ambedkar , 130th birth anniversary

भोपाल। देश आज 'भारत रत्न' भीमराव अंबेडकर की 130वीं जयंती मना रहा है। भीमराव अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल, 1891 को महू में हुआ था। भीमराव अंबेडकर को भारतीय संविधान का जनक कहा जाता है, आज़ादी के बाद वे देश के पहले कानून एवं न्याय मंत्री बने। 31 मार्च 1990 को उन्हें मरणोपरांत सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। इस खास मौके पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाबासाहेब अंबेडकर को नमन किया और समाज के वंचित वर्ग के लिए उनके संघर्ष को सलाम किया है।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्वीट में लिखा, भाग्य में नहीं, अपनी शक्ति में विश्वास रखो- डॉ.भीमराव अम्बेडकर। संविधान शिल्पी, श्रद्धेय बाबा साहेब जी की जयंती पर कोटिश: नमन! कमजोर वर्ग के उत्थान व कल्याण के लिए आजीवन संकल्पित प्रयास करने वाले भारत रत्न के सपनों के सशक्त,समर्थ भारत के निर्माण के स्वप्न को हम सब साकार करेंगे।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने ट्वीट में कहा ‘भारतीय संविधान के निर्माता, सामाजिक समरसता के प्रणेता, भारत रत्न डा.भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती पर उन्हें कोटि - कोटि प्रणाम।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बाबा साहेब को जयंती पर नमन करते हुए कहा ‘मानसिकता का विकास मानव अस्तित्व का अंतिम उद्देश्य होना चाहिए-डॉ.अम्बेडकर। संविधान निर्माता और सामाजिक न्याय के प्रणेता भारत रत्न बाबा साहेब डॉ.भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती पर उन्हें सादर नमन। दलित समाज के उत्थान में उनका अतुलनीय योगदान हमेशा याद किया जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 14 April 2021


bhopal, CM Shivraj ,salutes Baba Saheb Ambedkar , 130th birth anniversary

भोपाल। देश आज 'भारत रत्न' भीमराव अंबेडकर की 130वीं जयंती मना रहा है। भीमराव अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल, 1891 को महू में हुआ था। भीमराव अंबेडकर को भारतीय संविधान का जनक कहा जाता है, आज़ादी के बाद वे देश के पहले कानून एवं न्याय मंत्री बने। 31 मार्च 1990 को उन्हें मरणोपरांत सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। इस खास मौके पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाबासाहेब अंबेडकर को नमन किया और समाज के वंचित वर्ग के लिए उनके संघर्ष को सलाम किया है।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्वीट में लिखा, भाग्य में नहीं, अपनी शक्ति में विश्वास रखो- डॉ.भीमराव अम्बेडकर। संविधान शिल्पी, श्रद्धेय बाबा साहेब जी की जयंती पर कोटिश: नमन! कमजोर वर्ग के उत्थान व कल्याण के लिए आजीवन संकल्पित प्रयास करने वाले भारत रत्न के सपनों के सशक्त,समर्थ भारत के निर्माण के स्वप्न को हम सब साकार करेंगे।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने ट्वीट में कहा ‘भारतीय संविधान के निर्माता, सामाजिक समरसता के प्रणेता, भारत रत्न डा.भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती पर उन्हें कोटि - कोटि प्रणाम।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बाबा साहेब को जयंती पर नमन करते हुए कहा ‘मानसिकता का विकास मानव अस्तित्व का अंतिम उद्देश्य होना चाहिए-डॉ.अम्बेडकर। संविधान निर्माता और सामाजिक न्याय के प्रणेता भारत रत्न बाबा साहेब डॉ.भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती पर उन्हें सादर नमन। दलित समाज के उत्थान में उनका अतुलनीय योगदान हमेशा याद किया जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 14 April 2021


bhopal, Appeal of Chief Minister,Procurement work will continue

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना कर्फ्यू होने के दौरान भी प्रदेश में किसानों से समर्थन मूल्य पर उपार्जन कार्य सतत चालू रहेगा। उन्‍होंने कहा कि किसानों के हित में यह निर्णय लिया गया है कि उपार्जन कार्य को कोरोना कर्फ्यू के कारण बाधित नहीं होने दिया जाएगा। किसान भाई प्राप्त मैसेज के अनुसार निर्धारित तिथि को अपनी फसल विक्रय के लिये उपार्जन केंद्रों पर पहुंचें।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों से अपील की है कि पूरी सावधानियां बरतते हुए अपनी बारी आने पर फसल विक्रय के लिए उपार्जन केंद्रों पर पहुंचे। उपार्जन केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, मास्क का उपयोग करें और अन्य सावधानियां रखे। मुख्यमंत्री चौहान ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि खरीदी केन्द्रों पर आवश्यक व्यवस्थाएं और कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय करते हुए कोरोना गाइड-लाइन का पालन सुनिश्चित किया जाए।   किसानों को हर संभव मदद मुहैया कराई जाएगी : मंत्री पटेल किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने कहा है कि किसानों के हित में मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया है कि उपार्जन केंद्रों पर कार्य निरंतर चल रहा है। कोरोना संकट काल में भी किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। उनकी हर संभव मदद की जाएगी। उन्होंने किसानों से अपील की है कि कोरोना गाइड-लाइन का पालन करते हुए उपार्जन केंद्रों पर अपनी फसलों का विक्रय करें। कृषि मंत्री ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान ग्रीष्मकालीन खेती के लिए खाद, बीज और कृषि उपकरणों की दुकानों को खुले रखने का निर्णय लिया गया है।

Dakhal News

Dakhal News 13 April 2021


bhopal, Appeal of Chief Minister,Procurement work will continue

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना कर्फ्यू होने के दौरान भी प्रदेश में किसानों से समर्थन मूल्य पर उपार्जन कार्य सतत चालू रहेगा। उन्‍होंने कहा कि किसानों के हित में यह निर्णय लिया गया है कि उपार्जन कार्य को कोरोना कर्फ्यू के कारण बाधित नहीं होने दिया जाएगा। किसान भाई प्राप्त मैसेज के अनुसार निर्धारित तिथि को अपनी फसल विक्रय के लिये उपार्जन केंद्रों पर पहुंचें।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों से अपील की है कि पूरी सावधानियां बरतते हुए अपनी बारी आने पर फसल विक्रय के लिए उपार्जन केंद्रों पर पहुंचे। उपार्जन केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, मास्क का उपयोग करें और अन्य सावधानियां रखे। मुख्यमंत्री चौहान ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि खरीदी केन्द्रों पर आवश्यक व्यवस्थाएं और कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपाय करते हुए कोरोना गाइड-लाइन का पालन सुनिश्चित किया जाए।   किसानों को हर संभव मदद मुहैया कराई जाएगी : मंत्री पटेल किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने कहा है कि किसानों के हित में मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया है कि उपार्जन केंद्रों पर कार्य निरंतर चल रहा है। कोरोना संकट काल में भी किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। उनकी हर संभव मदद की जाएगी। उन्होंने किसानों से अपील की है कि कोरोना गाइड-लाइन का पालन करते हुए उपार्जन केंद्रों पर अपनी फसलों का विक्रय करें। कृषि मंत्री ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान ग्रीष्मकालीन खेती के लिए खाद, बीज और कृषि उपकरणों की दुकानों को खुले रखने का निर्णय लिया गया है।

Dakhal News

Dakhal News 13 April 2021


bhopal, Kamal Nath

भोपाल। सोमवार को भोपाल में 5 लोगों की ऑक्सीजन न मिलने से मौत हो गई। इतना ही नहीं भोपाल के 20 से ज्यादा अस्पतालों में ऑक्सीजन को लेकर अफरा-तफरी मची रही। आर्थिक राजधानी इंदौर में भी कुछ ऐसा ही दृश्य सामने आया। एक दिन पहले ही सरकार ने दावा किया था कि प्रदेश में ऑक्सीजन पर्याप्त है। ऐसे में सरकार के दावों पर तंज कसते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने निशाना साधा है।   कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश के जिम्मेदारों पर तंज कसते हुए कहा कि सागर- उज्जैन- खरगोन के बाद अब इंदौर- भोपाल में ऑक्सिजन की कमी से 5-5 लोगों की दुखद मौत की खबरें? शिवराज जी से लेकर तमाम जिम्मेदार सुबह से शाम तक बस एक ही बात कह रहे है कि प्रदेश में ऑक्सिजन की कोई कमी नहीं, पर्याप्त स्टॉक है, रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की कोई कमी नहीं, बेड की कमी नहीं और दूसरी तरफ प्रदेश भर में अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से अफरा-तफरी का माहौल। लोगों की जान रोज़ संकट में, आज भी प्रदेश भर में रेमड़ेसिविर इंजेक्शन के लिये लोग दर- दर भटक रहे है, बेड व इलाज के लिये भटक रहे है, ऑक्सीजन की कमी के कारण कई अस्पतालों ने नये मरीजों को भर्ती करने से मना कर दिया है, लोग इलाज के लिये दर-दर भटक रहे है?   उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि शिवराज सरकार को जमीनी हकीकत अभी तक नहीं पता, आज भी रोज झूठे दावे में लगे हुए है? प्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज़ नहीं, पूरे प्रदेश में अराजकता का माहौल ? आज भी आँकड़ो में हेरा फेरी का खेल हो रहा है। आग से सब कुछ तबाह होता जा रहा है और सरकार अब नींद से जाग कुआँ खोदने की तैयारी कर रही है। कमलनाथ ने कहा कि ऑक्सीजन कंसनट्रैटर मशीन अब खरीदने जा रहे है, रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की अब व्यवस्था कर रहे है, अब बेड बढ़ाने की बात कर रहे है, अब निजी भवनों को अस्पताल बनाने के ऑफऱ दे रहे हैं, अब जाकर मंत्रियो को जिले के प्रभार सौंपे है? ये कैसी व्यवस्था - ये कैसी निष्ठुर सरकार?

Dakhal News

Dakhal News 13 April 2021


bhopal,State government ,making air-aerial claims, xygen and Remedisvir injection

भोपाल। मध्य प्रदेश के कोरोना संक्रमण के बीच ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर राजनीति तेज हो गई है। एक तरफ सरकार ऑक्सीजन की भरपूर आपूर्ति और रेमडेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता का दावा कर रही है। तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस सरकार के दावों को हवा हवाई बताते हुए जल्द से जल्द ऑक्सिजन की आपूर्ति बढ़ाने और रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता करवाने के तत्काल ठोस प्रयास करने की मांग कर रही है।   मप्र के पूर्व सीएम कमलनाथ ने कोरोना संक्रमण में स्वास्थ्य सुविधाओं की उपलब्धता को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में ऑक्सिजन की आपूर्ति व डिमांड में काफ़ी अंतर है, इसकी सच्चाई अस्पतालों से पता की जा सकती है। प्रदेश में कई लोगों ने ऑक्सिजन की कमी से अपनों को खोया है। वही रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर अभी भी लोग घंटो भटक रहे है? तस्वीरें रोज़ सामने आ रही है?   कमलनाथ ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश के कई अस्पतालों ने ऑक्सिजन की कमी को देखते हुए नये मरीज़ों को भर्ती करने से मना कर दिया है, कई अस्पतालों में जो मरीज़ भर्ती है उनसे भी लिखवाया जा रहा है कि ऑक्सिजन की कमी से होने वाले दुष्परिणामों के लिये वो ही जिम्मेदार होंगे।   सीएम शिवराज पर तंज कसते हुए कमलनाथ ने कहा कि और हमारे मुख्यमंत्री से लेकर तमाम जिम्मेदार रोज झूठी बयानबाजियाँ कर रहे है कि प्रदेश में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है, रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की कोई कमी नहीं है, झूठे प्रजेंटेशन दिये जा रहे है, हवा- हवाई दावे किये जा रहे है? उन्होंने मांग करते हुए कहा कि बेहतर हो झूठ परोसने की बजाय, सच्चाई स्वीकार कर प्रदेश में ऑक्सिजन की आपूर्ति बढ़ाने के व रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता करवाने के तत्काल ठोस प्रयास हो।  

Dakhal News

Dakhal News 11 April 2021


bhopal,State government ,making air-aerial claims, xygen and Remedisvir injection

भोपाल। मध्य प्रदेश के कोरोना संक्रमण के बीच ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर राजनीति तेज हो गई है। एक तरफ सरकार ऑक्सीजन की भरपूर आपूर्ति और रेमडेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता का दावा कर रही है। तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस सरकार के दावों को हवा हवाई बताते हुए जल्द से जल्द ऑक्सिजन की आपूर्ति बढ़ाने और रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता करवाने के तत्काल ठोस प्रयास करने की मांग कर रही है।   मप्र के पूर्व सीएम कमलनाथ ने कोरोना संक्रमण में स्वास्थ्य सुविधाओं की उपलब्धता को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में ऑक्सिजन की आपूर्ति व डिमांड में काफ़ी अंतर है, इसकी सच्चाई अस्पतालों से पता की जा सकती है। प्रदेश में कई लोगों ने ऑक्सिजन की कमी से अपनों को खोया है। वही रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर अभी भी लोग घंटो भटक रहे है? तस्वीरें रोज़ सामने आ रही है?   कमलनाथ ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश के कई अस्पतालों ने ऑक्सिजन की कमी को देखते हुए नये मरीज़ों को भर्ती करने से मना कर दिया है, कई अस्पतालों में जो मरीज़ भर्ती है उनसे भी लिखवाया जा रहा है कि ऑक्सिजन की कमी से होने वाले दुष्परिणामों के लिये वो ही जिम्मेदार होंगे।   सीएम शिवराज पर तंज कसते हुए कमलनाथ ने कहा कि और हमारे मुख्यमंत्री से लेकर तमाम जिम्मेदार रोज झूठी बयानबाजियाँ कर रहे है कि प्रदेश में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है, रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की कोई कमी नहीं है, झूठे प्रजेंटेशन दिये जा रहे है, हवा- हवाई दावे किये जा रहे है? उन्होंने मांग करते हुए कहा कि बेहतर हो झूठ परोसने की बजाय, सच्चाई स्वीकार कर प्रदेश में ऑक्सिजन की आपूर्ति बढ़ाने के व रेमड़ेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता करवाने के तत्काल ठोस प्रयास हो।  

Dakhal News

Dakhal News 11 April 2021


bhopal,Every effort,made to prevent, treat corona infection, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेशवासी अपना दायित्व निभाएं। राज्य शासन अपने स्तर पर सभी व्यवस्थाएं करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने कोरोना संक्रमण के कारण बन रही पैनिक स्थिति को नियंत्रित करने में मीडिया से सहयोग की अपील की। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को स्मार्ट उद्यान में पौध-रोपण के बाद मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए कही।   बड़े शासकीय भवनों में अस्पताल जैसी व्यवस्थाएं विकसित होंगी मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के सभी बड़े शहरों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जा रही है। कुल एक लाख बिस्तरों की व्यवस्था का लक्ष्य है। निजी अस्पतालों का सहयोग भी लिया जा रहा है। इन अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था भी की जा रही है। इसके साथ ही बड़े शासकीय भवनों में अस्पताल जैसी व्यवस्था विकसित करने की भी योजना है। इसके लिए निजी क्षेत्र को भी हम प्रस्ताव दे रहे हैं।   ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। भारत सरकार ने भिलाई स्टील प्लांट से ऑक्सीजन की आपूर्ति पर सहमति दी है। इसके साथ ही केन्द्रीय रेल, उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल से चर्चा हुई है। उनकी ओर से भी आश्वासन प्राप्त हुआ है कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी।   टीकाकरण के लिए विशेष अभियान मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी व्यक्तियों के टीकाकरण के लिए महात्मा ज्योतिबा फुले के जन्मदिवस 11 अप्रैल से डॉ. भीमराव अंबेडकर के जन्मदिवस 14 अप्रैल तक टीकाकरण के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। अभियान में ग्रामीण क्षेत्र में टीकाकरण के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं।   ग्रामीण क्षेत्र में ''किल कोरोना-दो'' अभियान मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्र में ''किल कोरोना-दो'' अभियान संचालित किया जा रहा है। इसके अंतर्गत गाँवों में सर्वे कर कोरोना प्रभावित व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए उनकी उपयुक्त जाँच व इलाज की व्यवस्था की जाएगी।   मास्क लगाना और सुरक्षित दूरी बनाए रखना जरूरी मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि कोरोना से बचाव के लिए अपना दायित्व निभाएँ। वैज्ञानिक निष्कर्ष यही है कि मास्क के उपयोग और सुरक्षित दूरी बनाए रखने से कोरोना से बचा जा सकता है। वर्तमान समय में स्वस्थ रहना सबसे बड़ी मानव सेवा है। मास्क लगाने, दूरी बनाए रखने, अनावश्यक भीड़ न लगाने जैसे आत्मानुशासन का पालन करें।   कोरोना वॉलेंटियर्स को सौंपी जाएगी जिम्मेदारी मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राज्य शासन के साथ सहयोग के लिए जुड़े कोरोना वॉलेंटियर्स को कोरोना संक्रमण के विरूद्ध अभियान में आवश्यकता के अनुसार जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal, MP Except Damoh, entire state will be locked ,60 hours from 6.00 pm

भोपाल। मध्यप्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम 6.00 बजे से लॉकडाउन शुरू हो जाएगा। यह लॉकडाउन सोमवार सुबह 6.00 बजे तक प्रभावशील रहेगी। यानी कुल 60 घंटे सभी शहर पूरी तरह बंद रहेंगे। इनमें रतलाम जिले में नौ दिन का लॉकडाउन लगाया गया है, जबकि खरगोन, बड़वानी, कटनी और बैतूल में सभी बाजार और व्यावसायिक प्रतिष्ठान सात दिन बंद रहेंगे। दमोह में उपचुनाव के कारण लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। वहीं, शाजपुर में बुधवार और छिंदवाड़ा में गुरुवार रात 8.00 बजे से एक सप्ताह का लॉकडाउन शुरू हो चुका है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि पूरे मध्य प्रदेश में सभी शहर शुक्रवार शाम 6 बजे से शनिवार, रविवार, सोमवार को सुबह 6 बजे तक शहरी क्षेत्र बंद रहेंगे। यानी लॉकडाउन रहेगा। हम बड़े शहरों में कंटेनमेंट एरिया बना रहे हैं। ये परीक्षा की घड़ी है, हम कसर नहीं छोड़ेंगे।   गृह विभाग द्वारा जारी नवीन निर्देशानुसार कुछ विशेष सेवाओं और व्यक्तियों को लॉकडाउन में प्रतिबंधों से छूट दी गई है। इनमें केमिस्ट, राशन दुकानें, अस्पताल, पेट्रोल पम्प, बैंक, एटीएम, दूध एवं सब्जी की दुकानों, एम्बुलेंस एवं फायर ब्रिगेड सेवाओं को छूट दी गई है। औद्योगिक मजदूरों, उद्योगों के लिये कच्चा/तैयार माल, उद्योगों में कार्यरत अधिकारी-कर्मचारियों के आवागमन, अन्य राज्यों से माल, सेवाओं का आवागमन, केन्द्र सरकार, राज्य सरकार एवं स्थानीय निकाय के अधिकारी-कर्मचारियों के आवागमन, टीकाकरण के लिये नागरिक/कर्मियों के आवागमन, परीक्षा केन्द्र आने-जाने वाले परीक्षार्थियों तथा परीक्षा केन्द्र एवं परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मचारियों एवं अधिकारियों के साथ ही बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट से आने-जाने वाले नागरिकों के आवागमन को भी प्रतिबंध से मुक्त रखा गया है। इसके अतिरिक्त अन्य गतिविधियाँ, जिन्हें जिला कलेक्टर उचित समझें, लॉकडाउन से मुक्त रहेंगी।   दमोह में लॉकडाउन नहीं रहेगा केवल दमोह में लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। यहां 17 अप्रैल को विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान होना है। आचार संहिता लगी होने की वजह से लॉकडाउन लगाने का फैसला चुनाव अधिकारी को लेना होगा। उपचुनाव के चलते यहां नेताओं की रैलियां हो रही हैं।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal, MP Except Damoh, entire state will be locked ,60 hours from 6.00 pm

भोपाल। मध्यप्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम 6.00 बजे से लॉकडाउन शुरू हो जाएगा। यह लॉकडाउन सोमवार सुबह 6.00 बजे तक प्रभावशील रहेगी। यानी कुल 60 घंटे सभी शहर पूरी तरह बंद रहेंगे। इनमें रतलाम जिले में नौ दिन का लॉकडाउन लगाया गया है, जबकि खरगोन, बड़वानी, कटनी और बैतूल में सभी बाजार और व्यावसायिक प्रतिष्ठान सात दिन बंद रहेंगे। दमोह में उपचुनाव के कारण लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। वहीं, शाजपुर में बुधवार और छिंदवाड़ा में गुरुवार रात 8.00 बजे से एक सप्ताह का लॉकडाउन शुरू हो चुका है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि पूरे मध्य प्रदेश में सभी शहर शुक्रवार शाम 6 बजे से शनिवार, रविवार, सोमवार को सुबह 6 बजे तक शहरी क्षेत्र बंद रहेंगे। यानी लॉकडाउन रहेगा। हम बड़े शहरों में कंटेनमेंट एरिया बना रहे हैं। ये परीक्षा की घड़ी है, हम कसर नहीं छोड़ेंगे।   गृह विभाग द्वारा जारी नवीन निर्देशानुसार कुछ विशेष सेवाओं और व्यक्तियों को लॉकडाउन में प्रतिबंधों से छूट दी गई है। इनमें केमिस्ट, राशन दुकानें, अस्पताल, पेट्रोल पम्प, बैंक, एटीएम, दूध एवं सब्जी की दुकानों, एम्बुलेंस एवं फायर ब्रिगेड सेवाओं को छूट दी गई है। औद्योगिक मजदूरों, उद्योगों के लिये कच्चा/तैयार माल, उद्योगों में कार्यरत अधिकारी-कर्मचारियों के आवागमन, अन्य राज्यों से माल, सेवाओं का आवागमन, केन्द्र सरकार, राज्य सरकार एवं स्थानीय निकाय के अधिकारी-कर्मचारियों के आवागमन, टीकाकरण के लिये नागरिक/कर्मियों के आवागमन, परीक्षा केन्द्र आने-जाने वाले परीक्षार्थियों तथा परीक्षा केन्द्र एवं परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मचारियों एवं अधिकारियों के साथ ही बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट से आने-जाने वाले नागरिकों के आवागमन को भी प्रतिबंध से मुक्त रखा गया है। इसके अतिरिक्त अन्य गतिविधियाँ, जिन्हें जिला कलेक्टर उचित समझें, लॉकडाउन से मुक्त रहेंगी।   दमोह में लॉकडाउन नहीं रहेगा केवल दमोह में लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। यहां 17 अप्रैल को विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान होना है। आचार संहिता लगी होने की वजह से लॉकडाउन लगाने का फैसला चुनाव अधिकारी को लेना होगा। उपचुनाव के चलते यहां नेताओं की रैलियां हो रही हैं।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal, MP Except Damoh, entire state will be locked ,60 hours from 6.00 pm

भोपाल। मध्यप्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम 6.00 बजे से लॉकडाउन शुरू हो जाएगा। यह लॉकडाउन सोमवार सुबह 6.00 बजे तक प्रभावशील रहेगी। यानी कुल 60 घंटे सभी शहर पूरी तरह बंद रहेंगे। इनमें रतलाम जिले में नौ दिन का लॉकडाउन लगाया गया है, जबकि खरगोन, बड़वानी, कटनी और बैतूल में सभी बाजार और व्यावसायिक प्रतिष्ठान सात दिन बंद रहेंगे। दमोह में उपचुनाव के कारण लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। वहीं, शाजपुर में बुधवार और छिंदवाड़ा में गुरुवार रात 8.00 बजे से एक सप्ताह का लॉकडाउन शुरू हो चुका है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि पूरे मध्य प्रदेश में सभी शहर शुक्रवार शाम 6 बजे से शनिवार, रविवार, सोमवार को सुबह 6 बजे तक शहरी क्षेत्र बंद रहेंगे। यानी लॉकडाउन रहेगा। हम बड़े शहरों में कंटेनमेंट एरिया बना रहे हैं। ये परीक्षा की घड़ी है, हम कसर नहीं छोड़ेंगे।   गृह विभाग द्वारा जारी नवीन निर्देशानुसार कुछ विशेष सेवाओं और व्यक्तियों को लॉकडाउन में प्रतिबंधों से छूट दी गई है। इनमें केमिस्ट, राशन दुकानें, अस्पताल, पेट्रोल पम्प, बैंक, एटीएम, दूध एवं सब्जी की दुकानों, एम्बुलेंस एवं फायर ब्रिगेड सेवाओं को छूट दी गई है। औद्योगिक मजदूरों, उद्योगों के लिये कच्चा/तैयार माल, उद्योगों में कार्यरत अधिकारी-कर्मचारियों के आवागमन, अन्य राज्यों से माल, सेवाओं का आवागमन, केन्द्र सरकार, राज्य सरकार एवं स्थानीय निकाय के अधिकारी-कर्मचारियों के आवागमन, टीकाकरण के लिये नागरिक/कर्मियों के आवागमन, परीक्षा केन्द्र आने-जाने वाले परीक्षार्थियों तथा परीक्षा केन्द्र एवं परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मचारियों एवं अधिकारियों के साथ ही बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट से आने-जाने वाले नागरिकों के आवागमन को भी प्रतिबंध से मुक्त रखा गया है। इसके अतिरिक्त अन्य गतिविधियाँ, जिन्हें जिला कलेक्टर उचित समझें, लॉकडाउन से मुक्त रहेंगी।   दमोह में लॉकडाउन नहीं रहेगा केवल दमोह में लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। यहां 17 अप्रैल को विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान होना है। आचार संहिता लगी होने की वजह से लॉकडाउन लगाने का फैसला चुनाव अधिकारी को लेना होगा। उपचुनाव के चलते यहां नेताओं की रैलियां हो रही हैं।

Dakhal News

Dakhal News 9 April 2021


bhopal, Kamal Nath thundered in Damoh

भोपाल। दमोह उपचुनाव के लिए पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने बुधवार को कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन के समर्थन में बांदकपुर व इमरिया में विशाल जनसभाओं को संबोधित किया।    इस दौरान उन्होंने कहा कि आज यहां मैंने भोलेनाथ के दरबार में दर्शन व पूजा-अर्चना कर प्रदेश की खुशहाली, प्रदेशवासियों के अच्छे स्वास्थ्य, उन्नति व प्रगति की कामना की। उन्होंने कहा कि प्रजातंत्र में कई तरह के चुनाव आते हैं, लोकसभा का चुनाव, विधानसभा का चुनाव, नगरीय निकाय का चुनाव, पंचायत का चुनाव, हर चुनाव के अपने मायने होते हैं। लोकसभा के माध्यम से हम अपना प्रतिनिधि दिल्ली भेजते हैं, विधानसभा के माध्यम से हम अपना प्रतिनिधि भोपाल भेजते हैं लेकिन आज हम सभी के सामने यह बुनियादी सवाल है कि दमोह में उपचुनाव क्यों हो रहा है? संविधान में प्रावधान है कि किसी सांसद या विधायक के निधन पर क्षेत्र में उपचुनाव होता है पर आज दमोह में उपचुनाव क्यों हो रहा है? यहां चुनाव किसी के निधन से नहीं बल्कि प्रजातंत्र के निधन से हो रहा है, आज क्षेत्र की जनता को इस बात को समझना होगा और इसका जवाब भाजपा से लेना होगा।   कमलनाथ ने कहा कि आज बड़ी संख्या में युवा यहां मौजूद है, यही युवा प्रदेश का निर्माण करेंगे, उन्हें इस सच्चाई को समझना है क्योंकि सच्चाई ही आपका भविष्य सुरक्षित रखेगी। आप कमलनाथ का साथ मत देना, कांग्रेस का साथ मत देना, अजय टंडन का साथ मत देना पर सच्चाई का साथ जरूर देना। मैं आपसे माफी भी मांगता हूं कि हमने पिछले चुनावों में एक ऐसे प्रतिनिधि को उतारा था जिसने बीच में ही सौदा कर लिया।   आज कोरोना की महामारी में चुनाव हो रहा है, आज कोरोना की क्या स्थिति है, सभी भली-भांति जानते हैं। हमारे मुख्यमंत्री शिवराज जी कल 24 घंटे के स्वास्थ्य आग्रह पर भोपाल के मिंटो हाल में बैठ गए? वह कहते हैं कि मैं सबको मास्क पहनाऊँगा लेकिन अस्पतालों में डॉक्टर नहीं पहचाऊँगा, दवाई नहीं पहचाऊँगा, मैं तो मिंटो हाल में बैठ जाऊंगा? शिवराज जी के इस नाटक व नौटंकी को आप सभी को पहचानना है।   भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए पूर्व सीएम ने कहा कि आप सभी जानते हैं कि अपनी 15 वर्ष की सरकार में उन्होंने कितनी झूठी घोषणाए की, कितने झूठे आश्वासन दिए? यह कहते हैं कि दिल्ली में हमारी सरकार, प्रदेश में हमारी सरकार लेकिन याद रखिए अब इनकी सरकार ज्यादा दिन चलने वाली नहीं है। दमोह के भविष्य को कांग्रेस ही सुरक्षित रख सकती है।    कमलनाथ ने कहा कि हम दमोह का विकास छिंदवाड़ा विकास मॉडल की तरह ही करेंगे। शिवराज जी तो कलाकारी की राजनीति करते हैं, मैं तो कहता हूं कि वो चुनाव में जेब में नारियल लेकर चलते हैं, जब मौका मिलता है फोड़ देते हैं, कितने  झूठे हजारों नारियल उन्होंने आजतक फोड़े और फोडऩे के बाद पलट भी जाते हैं ,कहते हैं कि यह तो पुरानी बात थी। मैं आज आप सभी से यही निवेदन करता हूं कि अभी आप सभी ने ठान लिया तो दमोह में कांग्रेस का परचम व झंडा लहराने से कोई नहीं रोक सकता है।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


bhopal, Chief Minister Chauhan, pain for Corona control,Swami Chidanand Saraswati

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की बढ़ते कोरोना संक्रमण पर चिंता, जन-जागरूकता अभियान और कोरोना नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य आग्रह के माध्यम से व्यक्त हो रही पीड़ा और धर्मगुरुओं से संवाद की पहल अन्य सभी के लिए प्रेरणा बनेगी। यह बात ऋषिकेश के परमार्थ निकेतन आश्रम के प्रमुख स्वामी चिदानंद सरस्वती ने कही।   दरअसल, मुख्यमंत्री चौहान ने स्वास्थ्य आग्रह के दौरान राजधानी भोपाल के मिंटो हाल में बुधवार को विभिन्न धर्म गुरुओं के साथ कोरोना नियंत्रण पर विचार विमर्श किया। इस दौरान धर्म गुरुओं से संवाद कार्यक्रम में स्वामी चिदानंद भी ऑनलाइन जुड़े और कहा कि शरीर स्वस्थ है तो सभी स्वस्थ और सार्थक होता है। स्वामी जी ने कहा मुख्यमंत्री चौहान का स्वास्थ्य जागरूकता के लिए प्रयास सराहनीय है, प्रेरक है। मध्यप्रदेश स्वस्थ रहे, ये संकल्प लिया जा रहा है। स्वामी चिदानंद ने कहा कि सभी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें पर दिल से परस्पर जुड़े रहें, दूर न हों। स्वामी जी ने कहा प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री चौहान के प्रयास प्रशंसनीय है।    स्वामी जी ने कहा कि मुख्‍यमंत्री चौहान को कुंभ में दिन रात कार्य करते देखा है। वे तपस्या कर रहे हैं, साधना कर रहे हैं। धर्म गुरुओं से संवाद किया है। ये प्रयास देश को प्रेरणा देगा। चौहान साहब की पीड़ा हमारी प्रेरणा बने, हम सब मुकाबला कर जीतेंगे। सावधानियां रखें सभी। लोग सुरक्षा के लिए सिंगल ही नहीं बल्कि डबल मास्क लगाएं।   धर्म गुरुओं की अपील का होगा प्रभाव: मुख्यमंत्री चौहान मुख्यमंत्री चौहान ने धर्म गुरुओं से आम जन को मार्गदर्शन देने का अनुरोध किया। चौहान ने कहा कि पूरे देश में जब कोरोना संक्रमण बढ़ रहा, ऐसे में समाज के सहयोग से ही वायरस पर नियंत्रण के उपायों को लागू किया जा सकता है। सावधानियों के पालन की धर्म गुरुओं की अपील कारगर होगी।   मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कार्य में स्वैच्छिक वॉलेंटियर बनें और कोरोना नियंत्रण में सहयोग करें। मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना संक्रमण से जुड़ी दिक्कतों को दूर करने के लिए हेल्प डेस्क भी बनाई जा रही। चौहान ने कहा कि कुछ समर्पित कार्यकर्ता हों, जो कार्य करें जन-जागरूकता अभियान के लिए। ये कार्य निरंतर चलना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रार्थना का भी असर होता है। सभी की प्रार्थना अपने तरह की होती हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने संतों के आगमन के लिए और इस संकट में एकत्र होकर मार्गदर्शन देने के लिए आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि ये रैन अंधेरी बीतेगी और सुहानी सुबह फिर आएगी।   प्रारंभ में मुख्यमंत्री ने भोपाल और सभी जिलों के धर्मगुरुओं का स्वागत किया और उनसे कोरोना नियंत्रण पर चर्चा की। इस दौरान अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने कोरोना की स्थिति पर प्रेजेंटेशन दिया। इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष गिरीश गौतम भी उपस्थित थे।    कोरोना नियंत्रण पर संतों, धर्म प्रमुखों ने विचार रखे करुणाधाम आश्रम के स्वामी शांडिल्य महाराज ने कहा कि भय न हो, सभी सावधानी रखी जाएँ, मुख्यमंत्री चौहान के प्रयास सराहनीय है।   आर्क बिशप लियो कार्नलियो ने कहा कि सरकार की सक्रियता से भारत और मध्यप्रदेश में कोरोना नियंत्रण हुआ, ये युद्ध है, जो कुशलता और सफलता से लड़ा जा रहा है।   शहर काजी भोपाल ने बताया कि वैक्सीन के लिए हम प्रेरित कर रहे हैं, सोशल डिस्टेंसिग का पालन करेंगे। सरकार के निर्देश मानेंगे। सेहत की सुरक्षा के लिए यह आवश्यक है। मुख्यमंत्री चौहान को बधाई देते हुए कहा कि वे निःसंदेह अच्छा कार्य कर रहे हैं।   बोहरा धर्म गुरु शेख ताहिर अली ने कहा‍ कि अल्लाह ने पैदा किया, सेहत की नैमत दी। यह महामारी किसी पे असर न कर जाए, ये फिक्र करते हैं मुख्यमंत्री चौहान।   सिख धर्म गुरु ज्ञानी दिलीप सिंह ने कहा कि मास्क लगाओ, ये जरूरी है। ज्ञानी दिलीप सिंह ने मुख्यमंत्री चौहान की कोशिशों की सराहना की।   बौद्ध धर्म गुरु शाक्य भंते ने कहा कि प्रदेश में संदेश जा रहा है, मुख्यमंत्री चौहान के जन-जागरूकता अभियान से, आप सुरक्षित तो परिवार सुरक्षित, मास्क लगायें, सभी, हमसे किसी को हानि न पहुंचे।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


bhopal,Will use lockdown, last option in Mp, Shivraj

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राजधानी भोपाल के मिंटो हॉल परिसर में 24 घंटे के लिए स्वास्थ्य आग्रह पर बैठे थे। बुधवार को उनका यह स्वास्थ्य आग्रह संपन्न हुआ। इस दौरान उन्होंने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए अनेक घोषणाएं कीं। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश में लॉकडाउन का उपयोग अंतिम विकल्प के रूप में किया जाएगा।   मुख्यमंत्री चौहान का 24 घंटे का स्वास्थ्य आग्रह मंगलवार को दोपहर 12.30 बजे से शुरू हुआ था, जो बुधवार दोपहर तक चला। इस दौरान उन्होंने अपने नियमित सरकारी कार्य निपटाने के अलावा विभिन्न जिलों के अलग-अलग वर्ग के लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत की। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य आग्रह समापन पर मीडिया से बातचीत में कहा कि सभी लोग मास्क पहनें, इसके लिए मास्क की पर्याप्त उपलब्धता भी जरूरी है। राज्य सरकार महिला स्व-सहायता समूहों एवं जीवन शक्ति योजना की महिला उद्यमियों के माध्यम से 10 लाख मास्क बनाकर उसका जनता में वितरण करवाएगी।   उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम के लिए लोकहित में छत्तीसगढ़ से आने-जाने वाली यात्री बसों का परिवहन 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मास्क न पहनना पाप करने के समान है। मास्क न पहनना अपराध की श्रेणी में आएगा और ऐसा करने वालों के विरुद्ध सख्ती की जाएगी। प्रदेश के सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता की लगातार निगरानी की जाएगी। प्रदेशभर में ''मेरी सुरक्षा-मेरा मास्क'' अभियान निरंतर संचालित किया जाएगा। इसके माध्यम से प्रदेश की सुरक्षा के लिए सभी को मास्क पहनने का आह्वान किया जाएगा।   मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि आयुष्मान भारत योजना के हितग्राहियों का सभी पात्र अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज हो। प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में दवाएं, चिकित्सा जांच और स्वास्थ्य अमले की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। कोरोना वालेंटियर्स को परिचय-पत्र प्रदान किए जाएंगे। सरकारी और निजी अस्पतालों में बिस्तरों की उपलब्धता की रियल टाइम जानकारी आम जनता को आसानी से उपलब्ध हो सके, हम इसकी भी व्यवस्था बना रहे हैं।   उन्होंने कहा कि मास्क, ऑक्सीजन, दवाएं आदि की कालाबाजारी और अनावश्यक मूल्य वृद्धि को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। होम आइसोलेटेड मरीज घर के बाहर न निकलें और प्रोटोकॉल का पालन करें, इसकी सख्त व्यवस्था बनाई जाएगी। जहां तक रेमिडीसिवर इंजेक्शन की कमी का प्रश्न है, सरकार इसको लेकर बहुत गंभीर है और हम जल्द ही इसके उपयोग के संबंध में मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी), प्रोटोकॉल निर्धारित कर जारी करने जा रहे हैं। इससे रेमिडीसिवर के अनावश्यक उपयोग पर लगाम लगेगी और अभाव दूर होगा।   मुख्यमंत्री ने कहा कि एक हॉस्पिटल एडमिशन प्रोटोकॉल तैयार कर लागू किया जाएगा। इसका लाभ यह होगा कि हर पात्र मरीज को अस्पताल में दाखिल होने की सुविधा मिलेगी तथा जिन्हें भर्ती होने की आवश्यकता नहीं है वे घर पर ही आइसोलेट रहकर उपचार करा सकेंगे। प्रदेश के जिन जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना का प्रभाव बढ़ रहा है वहां ''किल कोरोना-2'' अभियान प्रारंभ किया जाएगा। इसके अंतर्गत घर-घर जाकर सर्वे करते हुए संभावित मरीजों को चिह्नित किया जाएगा।

Dakhal News

Dakhal News 7 April 2021


bhopal, Cabinet Chief Minister Chouhan, handed over responsibility ,districts to ministers

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना के संक्रमण को थामने के हर संभव प्रयास होंगे। मध्यप्रदेश सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। प्रदेश में मंत्रियों को विभिन्न जिलों में कोरोना संक्रमण के प्रयासों की समीक्षा का दायित्व सौंपा जा रहा है। मंत्रियों से प्राप्त सुझावों पर अमल भी किया जायेगा। निजी अस्पतालों में रोगियों के लिए व्यवस्थाएं बढ़ाई जायेंगी। विभिन्न तरह की जाँचों के लिए दरों का निर्धारण किया जा रहा है। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को राजधानी भोपाल के मिंटो हाल परिसर के अस्थायी सभा कक्ष से वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा मंत्रि-परिषद के सदस्यों से चर्चा करते हुए कही। मुख्यमंत्री ने मंत्रि-परिषद सदस्यों से सुझाव भी प्राप्त किए। प्रारंभ में राष्ट्र-गीत वंदे-मातरम का गायन हुआ। यह केबिनेट विशेष रूप से कोरोना संक्रमण के नियंत्रण संबंधी चर्चा के लिए की गई।   मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि गत सप्ताह कोरोना की विभिन्न तरह की टेस्टिंग की दरों को निर्धारित किया गया है। अन्य मशीनों जैसे वेंटिलेटर के उपयोग और पैथोलॉजिकल जाँचों की दरें निर्धारित करने का कदम उठाया जा रहा है। आमजन को नई दरों से अवगत करवाया जाएगा। चौहान ने कहा कि शाजापुर में संक्रमण रोकने के प्रयास बढ़ाए जाएंगे और राजधानी से दल भी भेजा जाएगा। भोपाल में निजी क्षेत्र में नवीन कोविड केयर सेंटर बनाने पर भी विचार किया जा रहा है। आवश्यकता हुई तो अन्य निजी अस्पतालों में भी व्यवस्थाएं बढ़ाई जायेंगी। निर्धन तबके के रोगियों को आयुष्मान योजना में उपचार की सुविधा देकर लाभान्वित किया जाएगा।   वेंटिलेटर्स मिलेंगे बताया गया कि भारत सरकार से इस सप्ताह प्रदेश को 350 वेंटिलेटर प्राप्त हो रहे हैं। वर्तमान बेड क्षमता 24 हजार है जिसे बढ़ाकर इसी सप्ताह 36 हजार कर दिया जाएगा।   12 स्थानों पर संडे लॉकडाउन बैठक में जानकारी दी गई कि संडे लॉकडाउन भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, विदिशा, छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, बड़वानी, बैतूल, खरगोन और रतलाम में यथावत रहेगा।   अलग-अलग कार्यों के लिए बनेंगे वॉलेंटियर्स मुख्यमंत्री चौहान ने मंत्रियों को जानकारी दी कि कोरोना संक्रमण को समाप्त करने में हर व्यक्ति की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए आज से प्रदेश में 'मैं कोरोना वॉलेंटियर हूँ' अभियान प्रारंभ किया गया है। कोई भी व्यक्ति 181नंबर पर संपर्क कर अथवा https://mp.mygov.in/ वेबसाइट पर कोरोना वॉलेंटियर के रूप में अपना पंजीयन करवा सकता है। सभी विभिन्न तरह के कार्य करेंगे। कोरोना स्वयं-सेवक लोगों को मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग रखने, वैक्सीनेशन करवाने आदि के लिए प्रेरित करेंगे तथा इस कार्य में उनकी मदद भी करेंगे।   प्रदेश के नगरों का पॉजिटिविटी रेट बैठक में बताया गया कि मध्यप्रदेश में सर्वाधिक पॉजिटिविटी रेट 20% भोपाल में है। इसके अलावा इंदौर, बड़वानी, नरसिंहपुर और खरगोन में 15%-15%, रतलाम में 14%, बैतूल में 13%, जबलपुर में 12% और ग्वालियर और उज्जैन में 9% पॉजिटिविटी रेट है। प्रदेश के कुल कोरोना संक्रमित रोगियों में से 61% रोगी होम आईसोलेशन में हैं, और 39% रोगी अस्पतालों में भर्ती हैं।   वैक्सीनेशन कार्य प्रदेश में वर्तमान में वैक्सीनेशन कार्य में तेजी लाई गई है। गत 1 अप्रैल को सर्वाधिक 3 लाख 79 हजार 320 लोगों का वैक्सीनेशन हुआ है। अब तक लगभग 45 लाख नागरिक वैक्सीनेशन करवा चुके हैं। प्रदेश में 60 वर्ष से अधिक आयु के नागरिक लगभग 71 लाख है, जिनमें से 21 लाख व्यक्ति वैक्सीन लगवा चुके हैं।   स्वास्थ्य विभाग का प्रेजेंटेशन अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने मंत्रियों के समक्ष दिए गए प्रेजेंटेशन में बताया कि संक्रमण को रोकने के लिए जन-जागरूकता अभियान संचालित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री चौहान स्वयं इसका नेतृत्व कर रहे हैं। रेस्टोरेंट्स आदि से सिर्फ टेक अवे सुविधा उपलब्ध है। बड़े आयोजन और मेले आदि प्रतिबंधित हैं। शिक्षण संस्थाओं को भी 15 अप्रैल तक खोले जाने पर प्रतिबंध है। महाराष्ट्र से परिवहन पर भी प्रतिबंध है। प्रदेश में 720 फीवर क्लीनिक कार्य कर रही हैं। किल कोरोना अभियान के द्वितीय चरण को प्रारंभ करने की तैयारी भी की गई है। कोरोना की जाँच के लिए आरटी-पीसीआर और आर. ए. टी. पद्धतियों से जाँच शुल्क क्रमशः 700 और 300 रुपए करने के आदेश जारी हो गए हैं। घर से सैंपल लिए जाने पर 200 रुपए की राशि अतिरिक्त रूप से लगेगी। अस्पतालों में बिस्तर क्षमता में निरंतर वृद्धि की जा रही है।   मंत्रियों ने की जागरूकता अभियान की सराहना केबिनेट की वर्चुअल बैठक में विभिन्न जिलों में उपस्थित मंत्रियों ने मुख्यमंत्री चौहान द्वारा कोरोना संक्रमण के प्रति आम लोगों को जागरूक बनाने के अभियान की सराहना की। मंत्री तुलसीराम सिलावट, कमल पटेल, प्रद्युमन सिंह तोमर, इंदर सिंह परमार और डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि जन-जागरण अभियान से कोरोना संक्रमण की रफ्तार को रोकने में मदद मिलेगी। मंत्रियों ने मुख्यमंत्री चौहान के अभियान का समर्थन करते हुए अपनी ओर से पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया।    मंत्री ओ.पी.एस. भदौरिया ने कहा कि भिंड में बहुत कम मामले कोरोना के सामने आए हैं। वर्तमान में सिर्फ 21 पॉजिटिव प्रकरण हैं। सार्थक प्रयासों से जन-जागृति बढ़ रही है। जिले में 120 रोगियों के लिए उपचार सुविधा उपलब्ध हैं। आम नागरिक मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी कर रहे हैं। मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने कहा कि जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कोई व्यक्ति नहीं कर सकता, इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को मास्क अनिवार्य रूप से लगाना है। मुख्यमंत्री चौहान द्वारा जन-जागरूकता अभियान का संचालन और नेतृत्व प्रशंसनीय है। जन-सहयोग से ही इस संक्रमण को रोका जा सकेगा। बैठक में मंत्रियों द्वारा सुझाव भी दिए गए।

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


bhopal, Cabinet Chief Minister Chouhan, handed over responsibility ,districts to ministers

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना के संक्रमण को थामने के हर संभव प्रयास होंगे। मध्यप्रदेश सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। प्रदेश में मंत्रियों को विभिन्न जिलों में कोरोना संक्रमण के प्रयासों की समीक्षा का दायित्व सौंपा जा रहा है। मंत्रियों से प्राप्त सुझावों पर अमल भी किया जायेगा। निजी अस्पतालों में रोगियों के लिए व्यवस्थाएं बढ़ाई जायेंगी। विभिन्न तरह की जाँचों के लिए दरों का निर्धारण किया जा रहा है। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को राजधानी भोपाल के मिंटो हाल परिसर के अस्थायी सभा कक्ष से वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा मंत्रि-परिषद के सदस्यों से चर्चा करते हुए कही। मुख्यमंत्री ने मंत्रि-परिषद सदस्यों से सुझाव भी प्राप्त किए। प्रारंभ में राष्ट्र-गीत वंदे-मातरम का गायन हुआ। यह केबिनेट विशेष रूप से कोरोना संक्रमण के नियंत्रण संबंधी चर्चा के लिए की गई।   मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि गत सप्ताह कोरोना की विभिन्न तरह की टेस्टिंग की दरों को निर्धारित किया गया है। अन्य मशीनों जैसे वेंटिलेटर के उपयोग और पैथोलॉजिकल जाँचों की दरें निर्धारित करने का कदम उठाया जा रहा है। आमजन को नई दरों से अवगत करवाया जाएगा। चौहान ने कहा कि शाजापुर में संक्रमण रोकने के प्रयास बढ़ाए जाएंगे और राजधानी से दल भी भेजा जाएगा। भोपाल में निजी क्षेत्र में नवीन कोविड केयर सेंटर बनाने पर भी विचार किया जा रहा है। आवश्यकता हुई तो अन्य निजी अस्पतालों में भी व्यवस्थाएं बढ़ाई जायेंगी। निर्धन तबके के रोगियों को आयुष्मान योजना में उपचार की सुविधा देकर लाभान्वित किया जाएगा।   वेंटिलेटर्स मिलेंगे बताया गया कि भारत सरकार से इस सप्ताह प्रदेश को 350 वेंटिलेटर प्राप्त हो रहे हैं। वर्तमान बेड क्षमता 24 हजार है जिसे बढ़ाकर इसी सप्ताह 36 हजार कर दिया जाएगा।   12 स्थानों पर संडे लॉकडाउन बैठक में जानकारी दी गई कि संडे लॉकडाउन भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, विदिशा, छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, बड़वानी, बैतूल, खरगोन और रतलाम में यथावत रहेगा।   अलग-अलग कार्यों के लिए बनेंगे वॉलेंटियर्स मुख्यमंत्री चौहान ने मंत्रियों को जानकारी दी कि कोरोना संक्रमण को समाप्त करने में हर व्यक्ति की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए आज से प्रदेश में 'मैं कोरोना वॉलेंटियर हूँ' अभियान प्रारंभ किया गया है। कोई भी व्यक्ति 181नंबर पर संपर्क कर अथवा https://mp.mygov.in/ वेबसाइट पर कोरोना वॉलेंटियर के रूप में अपना पंजीयन करवा सकता है। सभी विभिन्न तरह के कार्य करेंगे। कोरोना स्वयं-सेवक लोगों को मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग रखने, वैक्सीनेशन करवाने आदि के लिए प्रेरित करेंगे तथा इस कार्य में उनकी मदद भी करेंगे।   प्रदेश के नगरों का पॉजिटिविटी रेट बैठक में बताया गया कि मध्यप्रदेश में सर्वाधिक पॉजिटिविटी रेट 20% भोपाल में है। इसके अलावा इंदौर, बड़वानी, नरसिंहपुर और खरगोन में 15%-15%, रतलाम में 14%, बैतूल में 13%, जबलपुर में 12% और ग्वालियर और उज्जैन में 9% पॉजिटिविटी रेट है। प्रदेश के कुल कोरोना संक्रमित रोगियों में से 61% रोगी होम आईसोलेशन में हैं, और 39% रोगी अस्पतालों में भर्ती हैं।   वैक्सीनेशन कार्य प्रदेश में वर्तमान में वैक्सीनेशन कार्य में तेजी लाई गई है। गत 1 अप्रैल को सर्वाधिक 3 लाख 79 हजार 320 लोगों का वैक्सीनेशन हुआ है। अब तक लगभग 45 लाख नागरिक वैक्सीनेशन करवा चुके हैं। प्रदेश में 60 वर्ष से अधिक आयु के नागरिक लगभग 71 लाख है, जिनमें से 21 लाख व्यक्ति वैक्सीन लगवा चुके हैं।   स्वास्थ्य विभाग का प्रेजेंटेशन अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने मंत्रियों के समक्ष दिए गए प्रेजेंटेशन में बताया कि संक्रमण को रोकने के लिए जन-जागरूकता अभियान संचालित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री चौहान स्वयं इसका नेतृत्व कर रहे हैं। रेस्टोरेंट्स आदि से सिर्फ टेक अवे सुविधा उपलब्ध है। बड़े आयोजन और मेले आदि प्रतिबंधित हैं। शिक्षण संस्थाओं को भी 15 अप्रैल तक खोले जाने पर प्रतिबंध है। महाराष्ट्र से परिवहन पर भी प्रतिबंध है। प्रदेश में 720 फीवर क्लीनिक कार्य कर रही हैं। किल कोरोना अभियान के द्वितीय चरण को प्रारंभ करने की तैयारी भी की गई है। कोरोना की जाँच के लिए आरटी-पीसीआर और आर. ए. टी. पद्धतियों से जाँच शुल्क क्रमशः 700 और 300 रुपए करने के आदेश जारी हो गए हैं। घर से सैंपल लिए जाने पर 200 रुपए की राशि अतिरिक्त रूप से लगेगी। अस्पतालों में बिस्तर क्षमता में निरंतर वृद्धि की जा रही है।   मंत्रियों ने की जागरूकता अभियान की सराहना केबिनेट की वर्चुअल बैठक में विभिन्न जिलों में उपस्थित मंत्रियों ने मुख्यमंत्री चौहान द्वारा कोरोना संक्रमण के प्रति आम लोगों को जागरूक बनाने के अभियान की सराहना की। मंत्री तुलसीराम सिलावट, कमल पटेल, प्रद्युमन सिंह तोमर, इंदर सिंह परमार और डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि जन-जागरण अभियान से कोरोना संक्रमण की रफ्तार को रोकने में मदद मिलेगी। मंत्रियों ने मुख्यमंत्री चौहान के अभियान का समर्थन करते हुए अपनी ओर से पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया।    मंत्री ओ.पी.एस. भदौरिया ने कहा कि भिंड में बहुत कम मामले कोरोना के सामने आए हैं। वर्तमान में सिर्फ 21 पॉजिटिव प्रकरण हैं। सार्थक प्रयासों से जन-जागृति बढ़ रही है। जिले में 120 रोगियों के लिए उपचार सुविधा उपलब्ध हैं। आम नागरिक मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी कर रहे हैं। मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने कहा कि जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कोई व्यक्ति नहीं कर सकता, इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को मास्क अनिवार्य रूप से लगाना है। मुख्यमंत्री चौहान द्वारा जन-जागरूकता अभियान का संचालन और नेतृत्व प्रशंसनीय है। जन-सहयोग से ही इस संक्रमण को रोका जा सकेगा। बैठक में मंत्रियों द्वारा सुझाव भी दिए गए।

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


bhopal,

भोपाल। कोरोना जागरूकता के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 24 घंटे के लिए 'स्वास्थ्य आग्रह' का ऐलान किया है। इसके मद्देनजर सीएम शिवराज आज मंगलवार दोपहर 12.30 बजे से मिंटो हाल में गांधी की प्रतिमा के सामने बैठेंगे और प्रदेश के लोगों को जागरुक करेंगे। इस दौरान सीएम कार्यालय की सभी कार्रवाई खुले आसमान के नीचे होगी। दोपहर 12:15 बजे कैबिनेट की बैठक में सीएम मंत्रियों के साथ चर्चा करेंगे। इसके अलावा गांधी की प्रतिमा के सामने ही सीएम शिवराज कोरोना की समीक्षा बैठक करेंगे। मुख्यमंत्री रात्रि विश्राम भी मिंटो हाल परिसर में ही करेंगे। सीएम के इस आयोजन को पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने नौटंकी बताया है।   कमलनाथ ने कहा है कि जब भी प्रदेशवासियो को सरकार की ज़रूरत होती है, न्याय की आवश्यकता होती है, प्रदेश में विपरीत परिस्थितियाँ आती है तो चुनौतियों का सामना करने की बजाय हमारे शिवराज जी मुद्दों से ध्यान मोडऩे के लिये उपवास - सत्याग्रह जैसे आयोजन करने लग जाते है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि मंदसौर में पीपलिया मंडी में जब किसानो के सीने पर गोलियाँ दागी गयी, किसानों की मौत हुई, तब किसान मुख्यमंत्री को अपने पास पुकारता रहा लेकिन हमारे शिवराज जी उनके पास जाने की बजाय भोपाल उपवास पर बैठ गये?   पूर्व सीएम ने कहा कि आज जब प्रदेश के नागरिकों को संकट के इस दौर में सरकार व मुखिया की ज़रूरत है। आज लोगों को अस्पतालों में इलाज नहीं मिल पा रहा है, गऱीबों को मुफ़्त इलाज की दरकार है, अस्पतालों में डॉक्टर्स की कमी है, अस्पतालों में बेड नहीं है, कई जिलो में वैक्सीन ख़त्म है, टेस्टिंग नहीं हो पा रही है, आवश्यक दवाइयों व इंजेक्शनो की कमी है, इलाज के नाम पर कालाबाज़ारी व लूट- खसोट का खेल जारी है।   कमलनाथ ने तंज कसते हुए कहा कि कोरोना के आँकड़े भयावह होते जा रहे है, तब आवश्यक निर्णय लेने, जनता को न्याय दिलवाने व चुनौतियों का सामना करने की बजाय, मुद्दों से ध्यान मोडऩे के लिये शिवराज जी 24 घंटे के लिये मिंटो हाल में स्वास्थ्य आग्रह पर बैठ रहे है ? पता नहीं इस 24 घंटे के आग्रह की नौटंकी से प्रदेश से कोरोना कैसा भागेगा , लोगों को न्याय कैसे मिलेगा , इलाज कैसे मिलेगा , बदहाल स्वास्थ्य सेवाएँ कैसे सुधरेगी , संक्रमण कैसे कम होगा , यह तो शिवराज जी ही बता सकते है ?    

Dakhal News

Dakhal News 6 April 2021


bhopal, Chief Minister Chauhan ,appealed to the public, no person should leave

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सभी मास्क लगाएं, अपने परिवार के सभी सदस्यों को मास्क लगवाएं, दूसरों को ऐसा करने के लिए प्रेरित करें तथा इसके माध्यम से प्रदेश व देश की कोरोना से रक्षा करें। उन्‍होंने स्‍लोगन दिया कि 'मैंने किया है आप भी करें।'   दरअसल, मुख्यमंत्री ने सोमवार सायं अपने निवास पर अपनी धर्मपत्नी साधना सिंह तथा बच्चों कार्तिकेय एवं कुणाल को स्वयं मास्क लगाकर कोरोना के विरुद्ध जन-जागरूकता अभियान की शुरुआत की। उन्‍होंने जनता से कोरोना संक्रमण रोकने के लिए अपील करते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति बिना मास्क लगाए अपने घर से न निकले। यदि कोई दूसरा व्यक्ति उनसे बात करता है तथा उसने मास्क नहीं लगा रखा है तो उस व्यक्ति से बात न करें। 'मास्क नहीं तो बात नहीं।'   मास्क नहीं तो सामान नहीं मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति किसी दुकान पर बिना मास्क लगाए सामान लेने जाता है और सामान मांगता है तो दुकानदार उसे सामान न दे। 'मास्क नहीं तो सामान नहीं।'   सभी सावधानियों का पालन करें मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना के विरुद्ध हमें सभी सावधानियों का पालन करना चाहिए। मास्क लगाने के साथ ही एक दूसरे से सुरक्षित दूरी, बार-बार हाथों को साफ करना, सैनिटाइज करना आदि का पालन करें तथा दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bhopal, Chief Minister Chauhan ,appealed to the public, no person should leave

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सभी मास्क लगाएं, अपने परिवार के सभी सदस्यों को मास्क लगवाएं, दूसरों को ऐसा करने के लिए प्रेरित करें तथा इसके माध्यम से प्रदेश व देश की कोरोना से रक्षा करें। उन्‍होंने स्‍लोगन दिया कि 'मैंने किया है आप भी करें।'   दरअसल, मुख्यमंत्री ने सोमवार सायं अपने निवास पर अपनी धर्मपत्नी साधना सिंह तथा बच्चों कार्तिकेय एवं कुणाल को स्वयं मास्क लगाकर कोरोना के विरुद्ध जन-जागरूकता अभियान की शुरुआत की। उन्‍होंने जनता से कोरोना संक्रमण रोकने के लिए अपील करते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति बिना मास्क लगाए अपने घर से न निकले। यदि कोई दूसरा व्यक्ति उनसे बात करता है तथा उसने मास्क नहीं लगा रखा है तो उस व्यक्ति से बात न करें। 'मास्क नहीं तो बात नहीं।'   मास्क नहीं तो सामान नहीं मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति किसी दुकान पर बिना मास्क लगाए सामान लेने जाता है और सामान मांगता है तो दुकानदार उसे सामान न दे। 'मास्क नहीं तो सामान नहीं।'   सभी सावधानियों का पालन करें मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना के विरुद्ध हमें सभी सावधानियों का पालन करना चाहिए। मास्क लगाने के साथ ही एक दूसरे से सुरक्षित दूरी, बार-बार हाथों को साफ करना, सैनिटाइज करना आदि का पालन करें तथा दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bhopal, Chief Minister Chauhan ,appealed to the public, no person should leave

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सभी मास्क लगाएं, अपने परिवार के सभी सदस्यों को मास्क लगवाएं, दूसरों को ऐसा करने के लिए प्रेरित करें तथा इसके माध्यम से प्रदेश व देश की कोरोना से रक्षा करें। उन्‍होंने स्‍लोगन दिया कि 'मैंने किया है आप भी करें।'   दरअसल, मुख्यमंत्री ने सोमवार सायं अपने निवास पर अपनी धर्मपत्नी साधना सिंह तथा बच्चों कार्तिकेय एवं कुणाल को स्वयं मास्क लगाकर कोरोना के विरुद्ध जन-जागरूकता अभियान की शुरुआत की। उन्‍होंने जनता से कोरोना संक्रमण रोकने के लिए अपील करते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति बिना मास्क लगाए अपने घर से न निकले। यदि कोई दूसरा व्यक्ति उनसे बात करता है तथा उसने मास्क नहीं लगा रखा है तो उस व्यक्ति से बात न करें। 'मास्क नहीं तो बात नहीं।'   मास्क नहीं तो सामान नहीं मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति किसी दुकान पर बिना मास्क लगाए सामान लेने जाता है और सामान मांगता है तो दुकानदार उसे सामान न दे। 'मास्क नहीं तो सामान नहीं।'   सभी सावधानियों का पालन करें मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना के विरुद्ध हमें सभी सावधानियों का पालन करना चाहिए। मास्क लगाने के साथ ही एक दूसरे से सुरक्षित दूरी, बार-बार हाथों को साफ करना, सैनिटाइज करना आदि का पालन करें तथा दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bhopal, Chief Minister Chouhan, planted neem plant, smart garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रतिदिन पौधा रोपण के अपने संकल्प की कड़ी में सोमवार को स्मार्ट उद्यान में एक पौधे का रोपण किया। उन्होंने नीम का पौधा रोपा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पौधा लगाने से ज्यादा जरूरी है कि उसका पूरा संरक्षण किया जाए।   क्यों ज्यादा जरूरी है नीम का पौधा एंटीबायोटिक तत्वों से भरपूर नीम को सर्वोच्च औषधि‍ के रूप में जाना जाता है। नीम स्वाद में भले ही कड़वा हो, लेकिन इससे होने वाले लाभ अमृत के समान होते हैं।   चिकित्सा शास्त्रियों के अनुसार विषैले कीटों के काट लेने पर, नीम के पत्तों को महीन पीस कर काटे गए स्थान पर उसका लेप करने से राहत मिलती है और जहर भी नहीं फैलता। किसी प्रकार का घाव हो जाने पर भी नीम के पत्तों का लेप लगाने से काफी लाभ मिलता है। इसके अलावा जैतून के तेल के साथ नीम की पत्तिहयों का पेस्ट बनाकर लगाने से नासूर भी ठीक हो जाता है। दाद या खुजली की समस्याएं होने पर, नीम की पत्तिनयों को दही के साथ पीसकर लगाने पर काफी जल्दी लाभ होता है। गुर्दे में पथरी होने की स्थिति में नीम के पत्तों की राख को 2 ग्राम लेकर, प्रतिदिन पानी के साथ लेने पर पथरी गलने लगती है और मूत्र के साथ बाहर निकल जाती है।   मलेरिया बुखार होने की स्थिति में नीम की छाल को पानी में उबालकर, उसका काढ़ा बना लें। अब इस काढ़े को दिन में तीन बार, दो बड़े चम्मच भरकर पीने से बुखार ठीक होता है और कमजोरी भी ठीक होती है।   नीम के तेल का प्रयोग करना त्वचा रोग के लिए लाभकारी होता है। नीम के तेल में थोड़ा सा कपूर मिलाकर शरीर पर मालिश करने से त्वचा रोग ठीक हो जाते हैं। नीम के पत्ते के डंठल में, खाँसी, बवासीर, प्रमेह और पेट में होने वाले कीड़ों को खत्म करने के गुण होते हैं। इसे प्रतिदिन चबाने या फिर उबालकर पीने से लाभ होता है। सिरदर्द, दाँत दर्द, हाथ-पैर दर्द और सीने में दर्द की समस्या होने पर नीम के तेल की मालिश से काफी लाभ मिलता है। इसके फल निमौरी का उपयोग कफ और कृमि‍नाशक के रूप में किया जाता है।   नीम के दातून से दांत मजबूत होते हैं और पायरिया की बीमारी भी समाप्त होती है। नीम की पत्तियों का काढ़ा बनाकर उससे कुल्ला करने पर दांत व मसूढ़े स्वस्थ रहते हैं। मुंह से दुर्गंध भी नहीं आती। चेहरे पर कील-मुहाँसे होने पर नीम की छाल को पानी में घिसकर लगाने से फायदा होता है। 

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bhopal, Chief Minister Chouhan, planted neem plant, smart garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रतिदिन पौधा रोपण के अपने संकल्प की कड़ी में सोमवार को स्मार्ट उद्यान में एक पौधे का रोपण किया। उन्होंने नीम का पौधा रोपा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पौधा लगाने से ज्यादा जरूरी है कि उसका पूरा संरक्षण किया जाए।   क्यों ज्यादा जरूरी है नीम का पौधा एंटीबायोटिक तत्वों से भरपूर नीम को सर्वोच्च औषधि‍ के रूप में जाना जाता है। नीम स्वाद में भले ही कड़वा हो, लेकिन इससे होने वाले लाभ अमृत के समान होते हैं।   चिकित्सा शास्त्रियों के अनुसार विषैले कीटों के काट लेने पर, नीम के पत्तों को महीन पीस कर काटे गए स्थान पर उसका लेप करने से राहत मिलती है और जहर भी नहीं फैलता। किसी प्रकार का घाव हो जाने पर भी नीम के पत्तों का लेप लगाने से काफी लाभ मिलता है। इसके अलावा जैतून के तेल के साथ नीम की पत्तिहयों का पेस्ट बनाकर लगाने से नासूर भी ठीक हो जाता है। दाद या खुजली की समस्याएं होने पर, नीम की पत्तिनयों को दही के साथ पीसकर लगाने पर काफी जल्दी लाभ होता है। गुर्दे में पथरी होने की स्थिति में नीम के पत्तों की राख को 2 ग्राम लेकर, प्रतिदिन पानी के साथ लेने पर पथरी गलने लगती है और मूत्र के साथ बाहर निकल जाती है।   मलेरिया बुखार होने की स्थिति में नीम की छाल को पानी में उबालकर, उसका काढ़ा बना लें। अब इस काढ़े को दिन में तीन बार, दो बड़े चम्मच भरकर पीने से बुखार ठीक होता है और कमजोरी भी ठीक होती है।   नीम के तेल का प्रयोग करना त्वचा रोग के लिए लाभकारी होता है। नीम के तेल में थोड़ा सा कपूर मिलाकर शरीर पर मालिश करने से त्वचा रोग ठीक हो जाते हैं। नीम के पत्ते के डंठल में, खाँसी, बवासीर, प्रमेह और पेट में होने वाले कीड़ों को खत्म करने के गुण होते हैं। इसे प्रतिदिन चबाने या फिर उबालकर पीने से लाभ होता है। सिरदर्द, दाँत दर्द, हाथ-पैर दर्द और सीने में दर्द की समस्या होने पर नीम के तेल की मालिश से काफी लाभ मिलता है। इसके फल निमौरी का उपयोग कफ और कृमि‍नाशक के रूप में किया जाता है।   नीम के दातून से दांत मजबूत होते हैं और पायरिया की बीमारी भी समाप्त होती है। नीम की पत्तियों का काढ़ा बनाकर उससे कुल्ला करने पर दांत व मसूढ़े स्वस्थ रहते हैं। मुंह से दुर्गंध भी नहीं आती। चेहरे पर कील-मुहाँसे होने पर नीम की छाल को पानी में घिसकर लगाने से फायदा होता है। 

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bhopal, Chief Minister Chouhan, planted neem plant, smart garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रतिदिन पौधा रोपण के अपने संकल्प की कड़ी में सोमवार को स्मार्ट उद्यान में एक पौधे का रोपण किया। उन्होंने नीम का पौधा रोपा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पौधा लगाने से ज्यादा जरूरी है कि उसका पूरा संरक्षण किया जाए।   क्यों ज्यादा जरूरी है नीम का पौधा एंटीबायोटिक तत्वों से भरपूर नीम को सर्वोच्च औषधि‍ के रूप में जाना जाता है। नीम स्वाद में भले ही कड़वा हो, लेकिन इससे होने वाले लाभ अमृत के समान होते हैं।   चिकित्सा शास्त्रियों के अनुसार विषैले कीटों के काट लेने पर, नीम के पत्तों को महीन पीस कर काटे गए स्थान पर उसका लेप करने से राहत मिलती है और जहर भी नहीं फैलता। किसी प्रकार का घाव हो जाने पर भी नीम के पत्तों का लेप लगाने से काफी लाभ मिलता है। इसके अलावा जैतून के तेल के साथ नीम की पत्तिहयों का पेस्ट बनाकर लगाने से नासूर भी ठीक हो जाता है। दाद या खुजली की समस्याएं होने पर, नीम की पत्तिनयों को दही के साथ पीसकर लगाने पर काफी जल्दी लाभ होता है। गुर्दे में पथरी होने की स्थिति में नीम के पत्तों की राख को 2 ग्राम लेकर, प्रतिदिन पानी के साथ लेने पर पथरी गलने लगती है और मूत्र के साथ बाहर निकल जाती है।   मलेरिया बुखार होने की स्थिति में नीम की छाल को पानी में उबालकर, उसका काढ़ा बना लें। अब इस काढ़े को दिन में तीन बार, दो बड़े चम्मच भरकर पीने से बुखार ठीक होता है और कमजोरी भी ठीक होती है।   नीम के तेल का प्रयोग करना त्वचा रोग के लिए लाभकारी होता है। नीम के तेल में थोड़ा सा कपूर मिलाकर शरीर पर मालिश करने से त्वचा रोग ठीक हो जाते हैं। नीम के पत्ते के डंठल में, खाँसी, बवासीर, प्रमेह और पेट में होने वाले कीड़ों को खत्म करने के गुण होते हैं। इसे प्रतिदिन चबाने या फिर उबालकर पीने से लाभ होता है। सिरदर्द, दाँत दर्द, हाथ-पैर दर्द और सीने में दर्द की समस्या होने पर नीम के तेल की मालिश से काफी लाभ मिलता है। इसके फल निमौरी का उपयोग कफ और कृमि‍नाशक के रूप में किया जाता है।   नीम के दातून से दांत मजबूत होते हैं और पायरिया की बीमारी भी समाप्त होती है। नीम की पत्तियों का काढ़ा बनाकर उससे कुल्ला करने पर दांत व मसूढ़े स्वस्थ रहते हैं। मुंह से दुर्गंध भी नहीं आती। चेहरे पर कील-मुहाँसे होने पर नीम की छाल को पानी में घिसकर लगाने से फायदा होता है। 

Dakhal News

Dakhal News 5 April 2021


bhopal, Not only agricultural products ,Madhya Pradesh, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना की कठिन परिस्थितियों में किसान की कर्मठता ही अर्थ-व्यवस्था का आधार बनी है। प्रदेश में पिछले साल हुए अनाज के भरपूर उत्पादन ने प्रदेश ही नहीं देश को मजबूती प्रदान की। राज्य सरकार किसान की आय को दोगुनी करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। खेती-पशुपालन- उद्यानिकी- मछली पालन- सहकारिता को समग्रता में लेकर फसलों के विविधीकरण, फूड प्रोसेसिंग, पैकेजिंग और सही मार्केटिंग से हमारे प्रदेश के उत्पाद देश ही नहीं दुनिया में धूम मचायेंगे। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने सरकार के एक वर्ष पूर्ण होने पर शनिवार को राजधानी भोपाल के मिंटों हाल में आयोजित राज्य स्तरीय मिशन अर्थ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही।   मुख्यमंत्री चौहान ने मिशन अर्थ के अंतर्गत भदभदा भोपाल में 47 करोड़ 50 लाख रूपये की लागत से स्थापित देश की दूसरी अत्याधुनिक सीमन उत्पादन प्रयोगशाला का डिजीटली लोकार्पण किया। कार्यक्रम में विभिन्न ग्राम पंचायतों में 260 करोड़ रूपये की लागत से बनी 985 सामुदायिक गौ-शालाओं का लोकार्पण और 50 करोड़ रूपये से बनने जा रही 145 सामुदायिक गौ शालाओं का शिलान्यास भी किया गया। चौहान ने मिशन अर्थ कार्यक्रम में 33 विद्युत उपकेंद्रों का लोकार्पण और चार उप केन्द्रों का भूमि पूजन भी किया। इनकी कुल लागत 1530 करोड़ रूपये है। उन्‍होंने प्रदेश में स्व-सहायता समूहों द्वारा उद्यानिकी रोपणियों में उत्पादित 80 लाख पौधे प्रदेशवासियों को समर्पित किये। इसके साथ ही किसान उत्पादक संगठन और कृषि अधोसंरचना निधि के हितग्राहियों को चेक भी वितरित किये।   कन्या पूजन और मध्यप्रदेश गान से आरंभ हुए इस कार्यक्रम में पशुपालन एवं डेयरी मंत्री प्रेम सिंह पटेल, किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, उर्जा मंत्री प्रद्युम सिंह तोमर, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंसकरण मंत्री भारत सिंह कुशवाह तथा विधायक रामेश्वर शर्मा उपस्थित थे। राज्य स्तरीय कार्यक्रम से सभी जिले डिजिटली जुड़े थे। भोपाल में स्थापित अत्याधुनिक सीमन उत्पादन प्रयोगशाला पर लघु फिल्म का प्रस्तुतिकरण भी किया गया।   गोबर शिल्प से बनी मूर्ति व पुस्तक भेंट मुख्यमंत्री चौहान को पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल द्वारा गोबर से शिल्प से बनी मूर्ति तथा गोबर शिल्प से ही बनी पुस्तक 'काऊ अवर अल्टीमेट सेवियर' भेंट की गई। इस पर मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि गोबर से ऐसे नवाचार सोच से परे हैं। इन गतिविधियों से लगता है कि हमारी गौ शालायें आत्म-निर्भर होंगी।   कोरोना से सरकार और समाज को मिलकर लड़ना है मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण के विरूद्ध लड़ाई राज्य सरकार और समाज को मिलकर लड़ना है। मास्क लगाने के नियम का गंभीरता से पालन करें, इसे किसी भी स्थिति में हल्के में न लें। उन्होंने प्रदेशवासियों से स्वप्रेरणा से टीकाकरण के लिए आगे आने की अपील की। चौहान ने कहा कि अर्थ-व्यवस्था प्रभावित नहीं हो इसके लिए लॉकडाउन नहीं लगाया जा रहा है। कोरोना को नियंत्रित करने के लिए आप सब का सहयोग आवश्यक है।   समर्थन मूल्य से अधिक मिलने पर ही किसान बाजार में बेचें अपना उत्पाद मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना काल में आत्मनिर्भर भारत का मंत्र दिया। इस कड़ी में आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का रोड मैप विकसित किया गया। अर्थ व्यवस्था और रोजगार इस रोड मैप के आधार हैं। प्रदेश के युवा और किसानों में क्षमता,प्रतिभा और योग्यता है। किसान उत्पादक संगठन कृषकों की एकता, पहल और प्रगति का प्रतीक बनेगें। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यदि किसानों को समर्थन मूल्य से अधिक कीमत मिले तो ही वे अपना उत्पाद बाजार में बेचें। राज्य सरकार किसानों का एक- एक दाना खरीदेगी।    सीमन उत्पादन प्रयोगशाला भदभदा भोपाल में स्थापित सेक्स सॉर्टेड सीमन प्रोडक्शन फेसलिटी से उच्च अनुवांशिकता के देशी साण्डों जैसे गिर, साहीवाल, थारपारकर और भैंस की मुर्रा नस्लों का सेक्स सॉरटेड उत्पादन किया जा सकेगा। इसके उपयोग से 90 प्रतिशत बछिया ही पैदा होगी जिससे उच्च अनुवांशिक गुणवत्ता की मादाओं की बढ़ोतरी होने से दुग्ध उत्पादन में वृद्धि होगी। बछड़ों के लालन-पालन में अनावश्यक व्यय की बचत होगी। निराश्रित पशुओं की संख्या को भी सीमित किया जा सकेगा।   किसान उत्पादक संगठन (FPO) एफपीओ के गठन के लिए न्यूनतम 300 से 500 किसान सदस्यों को शामिल किया जाता है। प्रदेश के 418 एफपीओ विभिन्न व्यवसायिक क्षेत्रों जैसे बीज उत्पादन, उपार्जन, प्रोसेसिंग,दूध उत्पादन,मुर्गी पालन, शहद उत्पादन और विपणन आदि कार्य कर रहे हैं। एग्रीक्लचर इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड की स्कीम से एफपीओ को लाभान्वित कराने का कार्य किया जा रहा है।   एग्रीक्लचर इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड स्कीम में मध्यप्रदेश प्रथम इस योजना में कृषि से जुड़े उद्यमी, एफपीओ, स्टार्टअप, स्व-सहायता समूह इत्यादि जो भी लोग कृषि अद्योसंरचना निर्माण के लिए बैंक से ऋण लेना चाहते हैं, उन्हें दो करोड़ की सीमा तक ऋण उपलब्ध कराया जाता है। यह वित्तीय सहायता कोल्ड स्टोरेज,कोल्ड चैन, वेअरहाउस,साइलो,पैक हाउस, ग्रेडिंग एवं पेकेजिंग यूनिट, लाजिस्टिक सुविधा, ई-राइपनिंग चेम्बर,आदि के लिए प्रदान की जा रही है। इस योजना में मध्यप्रदेश पूरे देश में प्रथम स्थान पर है।   दो करोड़ 45 लाख गौ-भैंस वंशीय पशुओं को यूनिक आईडी देकर मध्यप्रदेश देश में प्रथम राज्य के मवेशियों का भी अब यूनिक आईडी होगा। योजना के तहत गौ-भैंस वंशीय पशुओं के कान में टैग लगाया जा रहा है। टैग पर बारह अंकों का आधार नम्बर अंकित है। जिसे इनॉफ साफ्टवेयर में अपडेट किया जा रहा है। साफ्टवेयर में मवेशियों का लेखा जोखा होगा। जो ऑनलाईन भी उपलब्ध होगा। प्रदेश में अब तक 2 करोड़ 45 लाख गौ-भैंस वंशीय पशुओं की टैगिंग की जा चुकी है। इस योजना में मध्यप्रदेश पूरे देश में प्रथम स्थान पर है।

Dakhal News

Dakhal News 3 April 2021


bhopal, Every person ,should apply mask,strictness is necessary , Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए मास्क लगाना आवश्यक है। हर व्यक्ति मास्क लगाए इसके लिए लोगों को सीख दिए जाने के साथ सख्ती भी जरूरी है। प्रदेश में सभी वर्गों के सहयोग से सघन जनजागरूकता अभियान चलाया जाए। सभी माध्यमों से इसका प्रचार-प्रसार किया जाए। ऐसा माहौल बने कि हर व्यक्ति मास्क लगाने के लिए स्वत: प्रेरित हो। साथ ही मास्क न लगाने पर जुर्माना लगाया जाए एवं कुछ समय के लिए ओपन जेल में भी रखा जाए।मुख्यमंत्री शनिवार शाम को मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलों में कोरोना के उपचार के लिए पर्याप्त संख्या में बेड्स की उपलब्धता के साथ ही प्रतिदिन इसकी जानकारी मीडिया, सोशल मीडिया आदि के माध्यम से जनता को दी जाए। साथ ही वैक्सीनेशन संबंधी जानकारी भी दी जाए।प्रदेश में 20369 एक्टिव प्रकरणमध्यप्रदेश में 20 हजार 369 एक्टिव प्रकरण है। प्रदेश की गत 7 दिनों की औसत पॉजिटिविटी रेट 10.1 प्रतिशत है। तुलनात्मक रूप से संक्रमण में देश में मध्यप्रदेश आठवें स्थान पर है।इन जिलों में 20 से अधिक नए प्रकरणजिला वार समीक्षा में पाया गया कि इंदौर में 708, भोपाल में 502, जबलपुर में 205, ग्वालियर में 120, उज्जैन में 89, रतलाम में 79, खरगोन में 74, बड़वानी में 72, छिंदवाड़ा में 71, बैतूल में 65, कटनी में 50, झाबुआ में 47, शाजापुर में 47, विदिशा में 44, अनूपपुर में 40, सागर में 38, नीमच में 37, धार में 36, बालाघाट में 34, देवास में 34, रायसेन में 29, खंडवा में 28, नरसिंहपुर में 27, शिवपुरी में 27, गुना में 25, शहडोल में 25 तथा होशंगाबाद में 23 कोरोना के नए प्रकरण आए हैं।गरीबों का निशुल्क इलाज सुनिश्चित हो मुख्यमंत्री ने स्पष्ट निर्देश दिए कि प्रत्येक गरीब मरीज का नि:शुल्क इलाज सुनिश्चित किया जाए। उन्हें आयुष्मान कार्ड के आधार पर नि:शुल्क चिकित्सा दें। साथ ही आवश्यकतानुसार जिन निजी अस्पतालों में बेड्स खाली हैं, उनके साथ अनुबंध कर बेड्स की संख्या बढ़ाएँ।गलत तथ्य प्रकाशित-प्रसारित नहीं होना चाहिएउन्होंने कहा कि कोरोना आदि के संबंध में गलत तथ्य प्रकाशित/प्रसारित नहीं होने चाहिए। परंतु सही तथ्य प्रकाशित/ प्रसारित होने पर तत्परता के साथ कार्रवाई की जाए।रविवार को भी होगा वैक्सीनेशनजिन स्थानों पर रविवार को लॉकडाउन है, वहाँ रविवार को भी वैक्सीनेशन का कार्य किया जाएगा। बताया गया कि 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में वैक्सीन लगवा सकेंगे।गणगौर का त्यौहार घर पर ही मनाएँमुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी गणगौर आदि त्यौहार घर पर ही मनाएँ। सार्वजनिक रूप से त्यौहार मनाने तथा मेलों आदि की अनुमति नहीं होगी।होम आइसोलेशन की गाइडलाइन जारी करेउन्होंने निर्देश दिए कि स्वास्थ्य विभाग होम आइसोलेशन संबंधी गाडलाइन जारी करे। कमांड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से इनकी निरंतर मॉनीटरिंग की जाए।10 हजार बेड्स सुनिश्चित करेंइंदौर जिले की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कोरोना उपचार के लिए 10 हजार बैड्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। निजी अस्पताल कोरोना उपचार के लिए शासन द्वारा निर्धारित फीस ही लें, यह भी सुनिश्चित किया जाए।छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में हो इलाज की श्रेष्ठ व्यवस्थाउन्होंने निर्देश दिए कि छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में कोरोना के उपचार की श्रेष्ठ व्यवस्था हो। महाराष्ट्र बॉर्डर सील किया जाए तथा गुड्स के वाहन, आवश्यक सेवाओं के वाहन और आपातकालीन आवागमन छोड़कर आवाजाही न हो।वैक्सीनशन की गति बढ़ाएँमुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि प्रदेश में कोरोना वैक्सीनशन की गति बढ़ाई जाए।उपार्जन केंद्रों का भी निरीक्षण करें प्रभारी अधिकारीउन्होंने निर्देश दिए कि कोरोना नियंत्रण के लिए जिलों के लिए नियुक्त प्रभारी अधिकारी अपने प्रभार के जिले में भ्रमण के दौरान उपार्जन केंद्रों का निरीक्षण कर व्यवस्थाएँ देखें। उपार्जन केन्द्रों पर कोरोना संबंधी सभी सावधानियों का पालन सुनिश्चित किया जाए।यह भी निर्देश दिए- होम आइसोलेशन की सख्त मॉनिटरिंग की जाए। गाइडलाइन का पालन न करने पर कार्रवाई की जाए।- जिन जिलों में अधिक संक्रमण है, वहाँ माइक्रो कंटेंटमेंट जोन बनाए जाएँ।- कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट समय पर आ जाए।- जिन जिलों में आवश्यकता हो कोविड केयर सेंटर्स बनाए जाएँ।- जो जिले संडे लॉक डाउन की अनुमति चाहते हैं, उन्हें अनुमति दी जाए।- फीवर क्लीनिक पर अच्छी व्यवस्था हो।- ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण न फैले इस पर भी पूरा ध्यान दिया जाए।

Dakhal News

Dakhal News 3 April 2021


bhopal, Every person ,should apply mask,strictness is necessary , Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए मास्क लगाना आवश्यक है। हर व्यक्ति मास्क लगाए इसके लिए लोगों को सीख दिए जाने के साथ सख्ती भी जरूरी है। प्रदेश में सभी वर्गों के सहयोग से सघन जनजागरूकता अभियान चलाया जाए। सभी माध्यमों से इसका प्रचार-प्रसार किया जाए। ऐसा माहौल बने कि हर व्यक्ति मास्क लगाने के लिए स्वत: प्रेरित हो। साथ ही मास्क न लगाने पर जुर्माना लगाया जाए एवं कुछ समय के लिए ओपन जेल में भी रखा जाए।मुख्यमंत्री शनिवार शाम को मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलों में कोरोना के उपचार के लिए पर्याप्त संख्या में बेड्स की उपलब्धता के साथ ही प्रतिदिन इसकी जानकारी मीडिया, सोशल मीडिया आदि के माध्यम से जनता को दी जाए। साथ ही वैक्सीनेशन संबंधी जानकारी भी दी जाए।प्रदेश में 20369 एक्टिव प्रकरणमध्यप्रदेश में 20 हजार 369 एक्टिव प्रकरण है। प्रदेश की गत 7 दिनों की औसत पॉजिटिविटी रेट 10.1 प्रतिशत है। तुलनात्मक रूप से संक्रमण में देश में मध्यप्रदेश आठवें स्थान पर है।इन जिलों में 20 से अधिक नए प्रकरणजिला वार समीक्षा में पाया गया कि इंदौर में 708, भोपाल में 502, जबलपुर में 205, ग्वालियर में 120, उज्जैन में 89, रतलाम में 79, खरगोन में 74, बड़वानी में 72, छिंदवाड़ा में 71, बैतूल में 65, कटनी में 50, झाबुआ में 47, शाजापुर में 47, विदिशा में 44, अनूपपुर में 40, सागर में 38, नीमच में 37, धार में 36, बालाघाट में 34, देवास में 34, रायसेन में 29, खंडवा में 28, नरसिंहपुर में 27, शिवपुरी में 27, गुना में 25, शहडोल में 25 तथा होशंगाबाद में 23 कोरोना के नए प्रकरण आए हैं।गरीबों का निशुल्क इलाज सुनिश्चित हो मुख्यमंत्री ने स्पष्ट निर्देश दिए कि प्रत्येक गरीब मरीज का नि:शुल्क इलाज सुनिश्चित किया जाए। उन्हें आयुष्मान कार्ड के आधार पर नि:शुल्क चिकित्सा दें। साथ ही आवश्यकतानुसार जिन निजी अस्पतालों में बेड्स खाली हैं, उनके साथ अनुबंध कर बेड्स की संख्या बढ़ाएँ।गलत तथ्य प्रकाशित-प्रसारित नहीं होना चाहिएउन्होंने कहा कि कोरोना आदि के संबंध में गलत तथ्य प्रकाशित/प्रसारित नहीं होने चाहिए। परंतु सही तथ्य प्रकाशित/ प्रसारित होने पर तत्परता के साथ कार्रवाई की जाए।रविवार को भी होगा वैक्सीनेशनजिन स्थानों पर रविवार को लॉकडाउन है, वहाँ रविवार को भी वैक्सीनेशन का कार्य किया जाएगा। बताया गया कि 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में वैक्सीन लगवा सकेंगे।गणगौर का त्यौहार घर पर ही मनाएँमुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी गणगौर आदि त्यौहार घर पर ही मनाएँ। सार्वजनिक रूप से त्यौहार मनाने तथा मेलों आदि की अनुमति नहीं होगी।होम आइसोलेशन की गाइडलाइन जारी करेउन्होंने निर्देश दिए कि स्वास्थ्य विभाग होम आइसोलेशन संबंधी गाडलाइन जारी करे। कमांड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से इनकी निरंतर मॉनीटरिंग की जाए।10 हजार बेड्स सुनिश्चित करेंइंदौर जिले की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कोरोना उपचार के लिए 10 हजार बैड्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। निजी अस्पताल कोरोना उपचार के लिए शासन द्वारा निर्धारित फीस ही लें, यह भी सुनिश्चित किया जाए।छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में हो इलाज की श्रेष्ठ व्यवस्थाउन्होंने निर्देश दिए कि छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में कोरोना के उपचार की श्रेष्ठ व्यवस्था हो। महाराष्ट्र बॉर्डर सील किया जाए तथा गुड्स के वाहन, आवश्यक सेवाओं के वाहन और आपातकालीन आवागमन छोड़कर आवाजाही न हो।वैक्सीनशन की गति बढ़ाएँमुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि प्रदेश में कोरोना वैक्सीनशन की गति बढ़ाई जाए।उपार्जन केंद्रों का भी निरीक्षण करें प्रभारी अधिकारीउन्होंने निर्देश दिए कि कोरोना नियंत्रण के लिए जिलों के लिए नियुक्त प्रभारी अधिकारी अपने प्रभार के जिले में भ्रमण के दौरान उपार्जन केंद्रों का निरीक्षण कर व्यवस्थाएँ देखें। उपार्जन केन्द्रों पर कोरोना संबंधी सभी सावधानियों का पालन सुनिश्चित किया जाए।यह भी निर्देश दिए- होम आइसोलेशन की सख्त मॉनिटरिंग की जाए। गाइडलाइन का पालन न करने पर कार्रवाई की जाए।- जिन जिलों में अधिक संक्रमण है, वहाँ माइक्रो कंटेंटमेंट जोन बनाए जाएँ।- कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट समय पर आ जाए।- जिन जिलों में आवश्यकता हो कोविड केयर सेंटर्स बनाए जाएँ।- जो जिले संडे लॉक डाउन की अनुमति चाहते हैं, उन्हें अनुमति दी जाए।- फीवर क्लीनिक पर अच्छी व्यवस्था हो।- ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण न फैले इस पर भी पूरा ध्यान दिया जाए।

Dakhal News

Dakhal News 3 April 2021


bhopal, Friendship in Bengal, enmity in Kerala, what is this relationship,Congress and Leftists

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को  केरल के चुनावी दौरे पर रहे। यहां उन्होंने बेपूर विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार के.पी. प्रकाश बाबू, कोंगद विधानसभा में एम.सुरेश बाबू, और चेलाक्कारा विधानसभा में शजुमोन वट्टटक्कड़ के समर्थन में जनसभाओं को सम्बोधित किया और अंत में नट्टीका विधानसभा में ए.के. लोचनन के समर्थन में रोड शो कर भाजपा के पक्ष में वोट करने की अपील की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ही एक सिक्के के दो पहलू हैं जिन्हें न तो केरल के विकास से मतलब है और न ही केरल की जनता की खुशहाली से। एलडीएफ और यूडीएफ ने ईश्वर की भूमि को रक्तरंजित कर, हिंसा और घोटालों की भूमि बना दिया है। चौहान ने कहा कि जो कांग्रेस सत्ता के लिए पश्चिम बंगाल में कम्युनिस्टों के साथ खड़ी है, वहीं कांग्रेस केरल में उनके खिलाफ लड़ रही है। राहुल बाबा यह रिश्ता क्या कहलाता है? केरल का क्या भला करेंगे कांग्रेस और यूडीएफमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राहुल बाबा भी अजीब हैं। केरल में आकर कहते है उत्तर भारत से अच्छा दक्षिण भारत है। और कहीं जायेंगे तो वहां बोलेंगे वायनॉड वाले खराब है। वे यहां समुद्र में गोता लगाते हैं और कहते हैं मोदी जी फिश मिनिस्ट्री बनाओ,  जबकि मोदी जी फिश मिनिस्ट्री 3 साल पहले ही बना चुके हैं। सोचिए,  ऐसे राहुल बाबा किस काम आएंगे? चौहान ने कहा कि राहुल का मतलब रिजेक्टेड, एब्सेंट माइंड, होपलेस, यूजलेस और लायर है। उन्होंने कहा की राहुल गाँधी "देश छोड़ दास" हैं और विदेशों में भी कहां जाते हैं,  पता ही नहीं चलता। चौहान ने कहा कि बहनों और भाइयों अब ऐसे राहुल बाबा की कांग्रेस और यूडीएफ केरल का क्या भला करेंगे?एलडीएफ-यूडीएफ ने केरल को जिहादियों के हवाले कियामुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ने केरल को जिहादियों के हवाले कर दिया है। यहां लव जिहाद चल रहा है। लोभ, लालच, डर, नाम बदलकर,  भ्रमित करके कई जिंदगियां बर्बाद करने का अपराध किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं मध्यप्रदेश की धरती से आया हूं और मध्यप्रदेश की धरती पर लव ज़िहाद के खिलाफ हमने कानून बनाया है। हम लव के खिलाफ नहीं हैं जिहाद के खिलाफ हैं। जहां भारतीय जनता पार्टी होगी वहां लव जिहाद चलने नहीं देगी। मध्यप्रदेश में हमने फैसला कर दिया है अगर लव ज़िहाद जैसी हरकत किसी ने की तो 10 साल जेल में चक्की पिसवाएंगे। उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में कानून बन गया है। केरल में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही लव जेहाद के खिलाफ कानून बना दिया जाएगा।केरल में राजनीतिक हिंसा क्यों करवा रहे हैं, जवाब दें मुख्यमंत्री विजयनमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री विजयन राज्य की जनता को जवाब दें,  एयरपोर्ट पर सोना पकड़े जाने के बाद सीएम ऑफिस ने कस्टम ऑफिसर पर दवाब डाला या नहीं..? आपने ईडी और कस्टम ऑफिसर पर जो हमला हुआ, उसकी ठीक से जांच कराई या नहीं ? विजयन जी जवाब दें कि प्रदेश की शांति क्यूँ भंग कर रहे हैं,  केरल में राजनैतिक हिंसा क्यूँ करवा रहे है?  भाजपा औऱ आरएसएस कार्यकर्ताओं की मौत का जिम्मेदार कौन है? आपने 2016 में वादा किया था रोजगार देने का, लेकिन यहाँ का शिक्षित युवा रोजगार पाने के लिए भटक रहा है?  आपने कहा था घरेलू और परंपरागत उद्योगों को बढ़ावा देंगे, आपके वादे का क्या हुआ?  कहाँ हैंडलूम और मसालों के उद्योग लगे? मुख्यमंत्री जी जवाब दीजिये कि सोलर, डॉलर, गोल्ड जैसे स्कैम कब तक होते रहेंगे....?

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal, Friendship in Bengal, enmity in Kerala, what is this relationship,Congress and Leftists

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को  केरल के चुनावी दौरे पर रहे। यहां उन्होंने बेपूर विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार के.पी. प्रकाश बाबू, कोंगद विधानसभा में एम.सुरेश बाबू, और चेलाक्कारा विधानसभा में शजुमोन वट्टटक्कड़ के समर्थन में जनसभाओं को सम्बोधित किया और अंत में नट्टीका विधानसभा में ए.के. लोचनन के समर्थन में रोड शो कर भाजपा के पक्ष में वोट करने की अपील की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ही एक सिक्के के दो पहलू हैं जिन्हें न तो केरल के विकास से मतलब है और न ही केरल की जनता की खुशहाली से। एलडीएफ और यूडीएफ ने ईश्वर की भूमि को रक्तरंजित कर, हिंसा और घोटालों की भूमि बना दिया है। चौहान ने कहा कि जो कांग्रेस सत्ता के लिए पश्चिम बंगाल में कम्युनिस्टों के साथ खड़ी है, वहीं कांग्रेस केरल में उनके खिलाफ लड़ रही है। राहुल बाबा यह रिश्ता क्या कहलाता है? केरल का क्या भला करेंगे कांग्रेस और यूडीएफमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राहुल बाबा भी अजीब हैं। केरल में आकर कहते है उत्तर भारत से अच्छा दक्षिण भारत है। और कहीं जायेंगे तो वहां बोलेंगे वायनॉड वाले खराब है। वे यहां समुद्र में गोता लगाते हैं और कहते हैं मोदी जी फिश मिनिस्ट्री बनाओ,  जबकि मोदी जी फिश मिनिस्ट्री 3 साल पहले ही बना चुके हैं। सोचिए,  ऐसे राहुल बाबा किस काम आएंगे? चौहान ने कहा कि राहुल का मतलब रिजेक्टेड, एब्सेंट माइंड, होपलेस, यूजलेस और लायर है। उन्होंने कहा की राहुल गाँधी "देश छोड़ दास" हैं और विदेशों में भी कहां जाते हैं,  पता ही नहीं चलता। चौहान ने कहा कि बहनों और भाइयों अब ऐसे राहुल बाबा की कांग्रेस और यूडीएफ केरल का क्या भला करेंगे?एलडीएफ-यूडीएफ ने केरल को जिहादियों के हवाले कियामुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ने केरल को जिहादियों के हवाले कर दिया है। यहां लव जिहाद चल रहा है। लोभ, लालच, डर, नाम बदलकर,  भ्रमित करके कई जिंदगियां बर्बाद करने का अपराध किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं मध्यप्रदेश की धरती से आया हूं और मध्यप्रदेश की धरती पर लव ज़िहाद के खिलाफ हमने कानून बनाया है। हम लव के खिलाफ नहीं हैं जिहाद के खिलाफ हैं। जहां भारतीय जनता पार्टी होगी वहां लव जिहाद चलने नहीं देगी। मध्यप्रदेश में हमने फैसला कर दिया है अगर लव ज़िहाद जैसी हरकत किसी ने की तो 10 साल जेल में चक्की पिसवाएंगे। उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में कानून बन गया है। केरल में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही लव जेहाद के खिलाफ कानून बना दिया जाएगा।केरल में राजनीतिक हिंसा क्यों करवा रहे हैं, जवाब दें मुख्यमंत्री विजयनमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री विजयन राज्य की जनता को जवाब दें,  एयरपोर्ट पर सोना पकड़े जाने के बाद सीएम ऑफिस ने कस्टम ऑफिसर पर दवाब डाला या नहीं..? आपने ईडी और कस्टम ऑफिसर पर जो हमला हुआ, उसकी ठीक से जांच कराई या नहीं ? विजयन जी जवाब दें कि प्रदेश की शांति क्यूँ भंग कर रहे हैं,  केरल में राजनैतिक हिंसा क्यूँ करवा रहे है?  भाजपा औऱ आरएसएस कार्यकर्ताओं की मौत का जिम्मेदार कौन है? आपने 2016 में वादा किया था रोजगार देने का, लेकिन यहाँ का शिक्षित युवा रोजगार पाने के लिए भटक रहा है?  आपने कहा था घरेलू और परंपरागत उद्योगों को बढ़ावा देंगे, आपके वादे का क्या हुआ?  कहाँ हैंडलूम और मसालों के उद्योग लगे? मुख्यमंत्री जी जवाब दीजिये कि सोलर, डॉलर, गोल्ड जैसे स्कैम कब तक होते रहेंगे....?

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal, Friendship in Bengal, enmity in Kerala, what is this relationship,Congress and Leftists

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को  केरल के चुनावी दौरे पर रहे। यहां उन्होंने बेपूर विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार के.पी. प्रकाश बाबू, कोंगद विधानसभा में एम.सुरेश बाबू, और चेलाक्कारा विधानसभा में शजुमोन वट्टटक्कड़ के समर्थन में जनसभाओं को सम्बोधित किया और अंत में नट्टीका विधानसभा में ए.के. लोचनन के समर्थन में रोड शो कर भाजपा के पक्ष में वोट करने की अपील की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ही एक सिक्के के दो पहलू हैं जिन्हें न तो केरल के विकास से मतलब है और न ही केरल की जनता की खुशहाली से। एलडीएफ और यूडीएफ ने ईश्वर की भूमि को रक्तरंजित कर, हिंसा और घोटालों की भूमि बना दिया है। चौहान ने कहा कि जो कांग्रेस सत्ता के लिए पश्चिम बंगाल में कम्युनिस्टों के साथ खड़ी है, वहीं कांग्रेस केरल में उनके खिलाफ लड़ रही है। राहुल बाबा यह रिश्ता क्या कहलाता है? केरल का क्या भला करेंगे कांग्रेस और यूडीएफमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राहुल बाबा भी अजीब हैं। केरल में आकर कहते है उत्तर भारत से अच्छा दक्षिण भारत है। और कहीं जायेंगे तो वहां बोलेंगे वायनॉड वाले खराब है। वे यहां समुद्र में गोता लगाते हैं और कहते हैं मोदी जी फिश मिनिस्ट्री बनाओ,  जबकि मोदी जी फिश मिनिस्ट्री 3 साल पहले ही बना चुके हैं। सोचिए,  ऐसे राहुल बाबा किस काम आएंगे? चौहान ने कहा कि राहुल का मतलब रिजेक्टेड, एब्सेंट माइंड, होपलेस, यूजलेस और लायर है। उन्होंने कहा की राहुल गाँधी "देश छोड़ दास" हैं और विदेशों में भी कहां जाते हैं,  पता ही नहीं चलता। चौहान ने कहा कि बहनों और भाइयों अब ऐसे राहुल बाबा की कांग्रेस और यूडीएफ केरल का क्या भला करेंगे?एलडीएफ-यूडीएफ ने केरल को जिहादियों के हवाले कियामुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ने केरल को जिहादियों के हवाले कर दिया है। यहां लव जिहाद चल रहा है। लोभ, लालच, डर, नाम बदलकर,  भ्रमित करके कई जिंदगियां बर्बाद करने का अपराध किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं मध्यप्रदेश की धरती से आया हूं और मध्यप्रदेश की धरती पर लव ज़िहाद के खिलाफ हमने कानून बनाया है। हम लव के खिलाफ नहीं हैं जिहाद के खिलाफ हैं। जहां भारतीय जनता पार्टी होगी वहां लव जिहाद चलने नहीं देगी। मध्यप्रदेश में हमने फैसला कर दिया है अगर लव ज़िहाद जैसी हरकत किसी ने की तो 10 साल जेल में चक्की पिसवाएंगे। उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में कानून बन गया है। केरल में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही लव जेहाद के खिलाफ कानून बना दिया जाएगा।केरल में राजनीतिक हिंसा क्यों करवा रहे हैं, जवाब दें मुख्यमंत्री विजयनमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री विजयन राज्य की जनता को जवाब दें,  एयरपोर्ट पर सोना पकड़े जाने के बाद सीएम ऑफिस ने कस्टम ऑफिसर पर दवाब डाला या नहीं..? आपने ईडी और कस्टम ऑफिसर पर जो हमला हुआ, उसकी ठीक से जांच कराई या नहीं ? विजयन जी जवाब दें कि प्रदेश की शांति क्यूँ भंग कर रहे हैं,  केरल में राजनैतिक हिंसा क्यूँ करवा रहे है?  भाजपा औऱ आरएसएस कार्यकर्ताओं की मौत का जिम्मेदार कौन है? आपने 2016 में वादा किया था रोजगार देने का, लेकिन यहाँ का शिक्षित युवा रोजगार पाने के लिए भटक रहा है?  आपने कहा था घरेलू और परंपरागत उद्योगों को बढ़ावा देंगे, आपके वादे का क्या हुआ?  कहाँ हैंडलूम और मसालों के उद्योग लगे? मुख्यमंत्री जी जवाब दीजिये कि सोलर, डॉलर, गोल्ड जैसे स्कैम कब तक होते रहेंगे....?

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal, Friendship in Bengal, enmity in Kerala, what is this relationship,Congress and Leftists

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को  केरल के चुनावी दौरे पर रहे। यहां उन्होंने बेपूर विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार के.पी. प्रकाश बाबू, कोंगद विधानसभा में एम.सुरेश बाबू, और चेलाक्कारा विधानसभा में शजुमोन वट्टटक्कड़ के समर्थन में जनसभाओं को सम्बोधित किया और अंत में नट्टीका विधानसभा में ए.के. लोचनन के समर्थन में रोड शो कर भाजपा के पक्ष में वोट करने की अपील की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ही एक सिक्के के दो पहलू हैं जिन्हें न तो केरल के विकास से मतलब है और न ही केरल की जनता की खुशहाली से। एलडीएफ और यूडीएफ ने ईश्वर की भूमि को रक्तरंजित कर, हिंसा और घोटालों की भूमि बना दिया है। चौहान ने कहा कि जो कांग्रेस सत्ता के लिए पश्चिम बंगाल में कम्युनिस्टों के साथ खड़ी है, वहीं कांग्रेस केरल में उनके खिलाफ लड़ रही है। राहुल बाबा यह रिश्ता क्या कहलाता है? केरल का क्या भला करेंगे कांग्रेस और यूडीएफमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राहुल बाबा भी अजीब हैं। केरल में आकर कहते है उत्तर भारत से अच्छा दक्षिण भारत है। और कहीं जायेंगे तो वहां बोलेंगे वायनॉड वाले खराब है। वे यहां समुद्र में गोता लगाते हैं और कहते हैं मोदी जी फिश मिनिस्ट्री बनाओ,  जबकि मोदी जी फिश मिनिस्ट्री 3 साल पहले ही बना चुके हैं। सोचिए,  ऐसे राहुल बाबा किस काम आएंगे? चौहान ने कहा कि राहुल का मतलब रिजेक्टेड, एब्सेंट माइंड, होपलेस, यूजलेस और लायर है। उन्होंने कहा की राहुल गाँधी "देश छोड़ दास" हैं और विदेशों में भी कहां जाते हैं,  पता ही नहीं चलता। चौहान ने कहा कि बहनों और भाइयों अब ऐसे राहुल बाबा की कांग्रेस और यूडीएफ केरल का क्या भला करेंगे?एलडीएफ-यूडीएफ ने केरल को जिहादियों के हवाले कियामुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ने केरल को जिहादियों के हवाले कर दिया है। यहां लव जिहाद चल रहा है। लोभ, लालच, डर, नाम बदलकर,  भ्रमित करके कई जिंदगियां बर्बाद करने का अपराध किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं मध्यप्रदेश की धरती से आया हूं और मध्यप्रदेश की धरती पर लव ज़िहाद के खिलाफ हमने कानून बनाया है। हम लव के खिलाफ नहीं हैं जिहाद के खिलाफ हैं। जहां भारतीय जनता पार्टी होगी वहां लव जिहाद चलने नहीं देगी। मध्यप्रदेश में हमने फैसला कर दिया है अगर लव ज़िहाद जैसी हरकत किसी ने की तो 10 साल जेल में चक्की पिसवाएंगे। उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में कानून बन गया है। केरल में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही लव जेहाद के खिलाफ कानून बना दिया जाएगा।केरल में राजनीतिक हिंसा क्यों करवा रहे हैं, जवाब दें मुख्यमंत्री विजयनमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री विजयन राज्य की जनता को जवाब दें,  एयरपोर्ट पर सोना पकड़े जाने के बाद सीएम ऑफिस ने कस्टम ऑफिसर पर दवाब डाला या नहीं..? आपने ईडी और कस्टम ऑफिसर पर जो हमला हुआ, उसकी ठीक से जांच कराई या नहीं ? विजयन जी जवाब दें कि प्रदेश की शांति क्यूँ भंग कर रहे हैं,  केरल में राजनैतिक हिंसा क्यूँ करवा रहे है?  भाजपा औऱ आरएसएस कार्यकर्ताओं की मौत का जिम्मेदार कौन है? आपने 2016 में वादा किया था रोजगार देने का, लेकिन यहाँ का शिक्षित युवा रोजगार पाने के लिए भटक रहा है?  आपने कहा था घरेलू और परंपरागत उद्योगों को बढ़ावा देंगे, आपके वादे का क्या हुआ?  कहाँ हैंडलूम और मसालों के उद्योग लगे? मुख्यमंत्री जी जवाब दीजिये कि सोलर, डॉलर, गोल्ड जैसे स्कैम कब तक होते रहेंगे....?

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal, Friendship in Bengal, enmity in Kerala, what is this relationship,Congress and Leftists

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को  केरल के चुनावी दौरे पर रहे। यहां उन्होंने बेपूर विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार के.पी. प्रकाश बाबू, कोंगद विधानसभा में एम.सुरेश बाबू, और चेलाक्कारा विधानसभा में शजुमोन वट्टटक्कड़ के समर्थन में जनसभाओं को सम्बोधित किया और अंत में नट्टीका विधानसभा में ए.के. लोचनन के समर्थन में रोड शो कर भाजपा के पक्ष में वोट करने की अपील की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ही एक सिक्के के दो पहलू हैं जिन्हें न तो केरल के विकास से मतलब है और न ही केरल की जनता की खुशहाली से। एलडीएफ और यूडीएफ ने ईश्वर की भूमि को रक्तरंजित कर, हिंसा और घोटालों की भूमि बना दिया है। चौहान ने कहा कि जो कांग्रेस सत्ता के लिए पश्चिम बंगाल में कम्युनिस्टों के साथ खड़ी है, वहीं कांग्रेस केरल में उनके खिलाफ लड़ रही है। राहुल बाबा यह रिश्ता क्या कहलाता है? केरल का क्या भला करेंगे कांग्रेस और यूडीएफमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राहुल बाबा भी अजीब हैं। केरल में आकर कहते है उत्तर भारत से अच्छा दक्षिण भारत है। और कहीं जायेंगे तो वहां बोलेंगे वायनॉड वाले खराब है। वे यहां समुद्र में गोता लगाते हैं और कहते हैं मोदी जी फिश मिनिस्ट्री बनाओ,  जबकि मोदी जी फिश मिनिस्ट्री 3 साल पहले ही बना चुके हैं। सोचिए,  ऐसे राहुल बाबा किस काम आएंगे? चौहान ने कहा कि राहुल का मतलब रिजेक्टेड, एब्सेंट माइंड, होपलेस, यूजलेस और लायर है। उन्होंने कहा की राहुल गाँधी "देश छोड़ दास" हैं और विदेशों में भी कहां जाते हैं,  पता ही नहीं चलता। चौहान ने कहा कि बहनों और भाइयों अब ऐसे राहुल बाबा की कांग्रेस और यूडीएफ केरल का क्या भला करेंगे?एलडीएफ-यूडीएफ ने केरल को जिहादियों के हवाले कियामुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ने केरल को जिहादियों के हवाले कर दिया है। यहां लव जिहाद चल रहा है। लोभ, लालच, डर, नाम बदलकर,  भ्रमित करके कई जिंदगियां बर्बाद करने का अपराध किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं मध्यप्रदेश की धरती से आया हूं और मध्यप्रदेश की धरती पर लव ज़िहाद के खिलाफ हमने कानून बनाया है। हम लव के खिलाफ नहीं हैं जिहाद के खिलाफ हैं। जहां भारतीय जनता पार्टी होगी वहां लव जिहाद चलने नहीं देगी। मध्यप्रदेश में हमने फैसला कर दिया है अगर लव ज़िहाद जैसी हरकत किसी ने की तो 10 साल जेल में चक्की पिसवाएंगे। उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में कानून बन गया है। केरल में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही लव जेहाद के खिलाफ कानून बना दिया जाएगा।केरल में राजनीतिक हिंसा क्यों करवा रहे हैं, जवाब दें मुख्यमंत्री विजयनमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री विजयन राज्य की जनता को जवाब दें,  एयरपोर्ट पर सोना पकड़े जाने के बाद सीएम ऑफिस ने कस्टम ऑफिसर पर दवाब डाला या नहीं..? आपने ईडी और कस्टम ऑफिसर पर जो हमला हुआ, उसकी ठीक से जांच कराई या नहीं ? विजयन जी जवाब दें कि प्रदेश की शांति क्यूँ भंग कर रहे हैं,  केरल में राजनैतिक हिंसा क्यूँ करवा रहे है?  भाजपा औऱ आरएसएस कार्यकर्ताओं की मौत का जिम्मेदार कौन है? आपने 2016 में वादा किया था रोजगार देने का, लेकिन यहाँ का शिक्षित युवा रोजगार पाने के लिए भटक रहा है?  आपने कहा था घरेलू और परंपरागत उद्योगों को बढ़ावा देंगे, आपके वादे का क्या हुआ?  कहाँ हैंडलूम और मसालों के उद्योग लगे? मुख्यमंत्री जी जवाब दीजिये कि सोलर, डॉलर, गोल्ड जैसे स्कैम कब तक होते रहेंगे....?

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal, Friendship in Bengal, enmity in Kerala, what is this relationship,Congress and Leftists

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को  केरल के चुनावी दौरे पर रहे। यहां उन्होंने बेपूर विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार के.पी. प्रकाश बाबू, कोंगद विधानसभा में एम.सुरेश बाबू, और चेलाक्कारा विधानसभा में शजुमोन वट्टटक्कड़ के समर्थन में जनसभाओं को सम्बोधित किया और अंत में नट्टीका विधानसभा में ए.के. लोचनन के समर्थन में रोड शो कर भाजपा के पक्ष में वोट करने की अपील की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ही एक सिक्के के दो पहलू हैं जिन्हें न तो केरल के विकास से मतलब है और न ही केरल की जनता की खुशहाली से। एलडीएफ और यूडीएफ ने ईश्वर की भूमि को रक्तरंजित कर, हिंसा और घोटालों की भूमि बना दिया है। चौहान ने कहा कि जो कांग्रेस सत्ता के लिए पश्चिम बंगाल में कम्युनिस्टों के साथ खड़ी है, वहीं कांग्रेस केरल में उनके खिलाफ लड़ रही है। राहुल बाबा यह रिश्ता क्या कहलाता है? केरल का क्या भला करेंगे कांग्रेस और यूडीएफमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राहुल बाबा भी अजीब हैं। केरल में आकर कहते है उत्तर भारत से अच्छा दक्षिण भारत है। और कहीं जायेंगे तो वहां बोलेंगे वायनॉड वाले खराब है। वे यहां समुद्र में गोता लगाते हैं और कहते हैं मोदी जी फिश मिनिस्ट्री बनाओ,  जबकि मोदी जी फिश मिनिस्ट्री 3 साल पहले ही बना चुके हैं। सोचिए,  ऐसे राहुल बाबा किस काम आएंगे? चौहान ने कहा कि राहुल का मतलब रिजेक्टेड, एब्सेंट माइंड, होपलेस, यूजलेस और लायर है। उन्होंने कहा की राहुल गाँधी "देश छोड़ दास" हैं और विदेशों में भी कहां जाते हैं,  पता ही नहीं चलता। चौहान ने कहा कि बहनों और भाइयों अब ऐसे राहुल बाबा की कांग्रेस और यूडीएफ केरल का क्या भला करेंगे?एलडीएफ-यूडीएफ ने केरल को जिहादियों के हवाले कियामुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि एलडीएफ और यूडीएफ दोनों ने केरल को जिहादियों के हवाले कर दिया है। यहां लव जिहाद चल रहा है। लोभ, लालच, डर, नाम बदलकर,  भ्रमित करके कई जिंदगियां बर्बाद करने का अपराध किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं मध्यप्रदेश की धरती से आया हूं और मध्यप्रदेश की धरती पर लव ज़िहाद के खिलाफ हमने कानून बनाया है। हम लव के खिलाफ नहीं हैं जिहाद के खिलाफ हैं। जहां भारतीय जनता पार्टी होगी वहां लव जिहाद चलने नहीं देगी। मध्यप्रदेश में हमने फैसला कर दिया है अगर लव ज़िहाद जैसी हरकत किसी ने की तो 10 साल जेल में चक्की पिसवाएंगे। उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश में कानून बन गया है। केरल में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही लव जेहाद के खिलाफ कानून बना दिया जाएगा।केरल में राजनीतिक हिंसा क्यों करवा रहे हैं, जवाब दें मुख्यमंत्री विजयनमुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री विजयन राज्य की जनता को जवाब दें,  एयरपोर्ट पर सोना पकड़े जाने के बाद सीएम ऑफिस ने कस्टम ऑफिसर पर दवाब डाला या नहीं..? आपने ईडी और कस्टम ऑफिसर पर जो हमला हुआ, उसकी ठीक से जांच कराई या नहीं ? विजयन जी जवाब दें कि प्रदेश की शांति क्यूँ भंग कर रहे हैं,  केरल में राजनैतिक हिंसा क्यूँ करवा रहे है?  भाजपा औऱ आरएसएस कार्यकर्ताओं की मौत का जिम्मेदार कौन है? आपने 2016 में वादा किया था रोजगार देने का, लेकिन यहाँ का शिक्षित युवा रोजगार पाने के लिए भटक रहा है?  आपने कहा था घरेलू और परंपरागत उद्योगों को बढ़ावा देंगे, आपके वादे का क्या हुआ?  कहाँ हैंडलूम और मसालों के उद्योग लगे? मुख्यमंत्री जी जवाब दीजिये कि सोलर, डॉलर, गोल्ड जैसे स्कैम कब तक होते रहेंगे....?

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal, Chief Minister ,planted sapthparni sapling, smart garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन एक पौधा लगाने के संकल्प के क्रम में शुक्रवार को राजधानी भोपाल के स्मार्ट उद्यान में सप्तपर्णी का पौधारोपण किया। इस अवसर पर लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने भी पौधा रोपा।    बता दें कि मुख्यमंत्री चौहान प्रतिदिन एक पौधा लगाते हैं। मध्यप्रदेश से बाहर प्रवास पर रहने पर भी वे पौधा लगा रहे हैं। उन्होंने ने इस वर्ष नर्मदा जयंती से अब तक निरंतर प्रतिदिन एक पौधा लगाने का कार्य किया है। मुख्यमंत्री ने आम नागरिकों से भी पौधे लगाने की अपील की है।   सप्तपर्णी का महत्व सप्तपर्णी को आयुर्वेद में उन औषधियों में से एक माना जाता है जो कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ को समाहित किए हुए है। यह एक सदाबहार वृक्ष है। दिसंबर से मार्च माह के दौरान छोटे-छोटे हरे और सफेद रंग के फूल लगते हैं जिनसे विशिष्ट सुगंध रहती है। हिमालय के क्षेत्रों और उसके आसपास के हिस्सों में यह पौधा ज्यादातर उगता है। पौधे की छाल ग्रे-कलर की होती है। यह ऐसा पौधा है जिसका उपयोग आयुर्वेदिक, सिद्ध और यूनानी चिकित्सा, तीनों में कई तरह की बीमारियों के इलाज में किया जाता है। दुर्बलता को दूर करने से लेकर खुले घावों को ठीक करने और पीलिया तक कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज में सप्तपर्णी प्रभावी औषधि के है। वैसे तो पौधे के ज्यादातर हिस्से औषधीय गुणों से युक्त होते हैं लेकिन इसकी छाल मलेरिया के लक्षण ठीक करने के लिए बहुत सालों से प्रयोग में लाया जाता रहा है। चिकित्सा विशेषज्ञों का मानना है कि इसका किसी भी रूप में इस्तेमाल करने से पहले किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले लेना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal, Chief Minister ,planted sapthparni sapling, smart garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन एक पौधा लगाने के संकल्प के क्रम में शुक्रवार को राजधानी भोपाल के स्मार्ट उद्यान में सप्तपर्णी का पौधारोपण किया। इस अवसर पर लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने भी पौधा रोपा।    बता दें कि मुख्यमंत्री चौहान प्रतिदिन एक पौधा लगाते हैं। मध्यप्रदेश से बाहर प्रवास पर रहने पर भी वे पौधा लगा रहे हैं। उन्होंने ने इस वर्ष नर्मदा जयंती से अब तक निरंतर प्रतिदिन एक पौधा लगाने का कार्य किया है। मुख्यमंत्री ने आम नागरिकों से भी पौधे लगाने की अपील की है।   सप्तपर्णी का महत्व सप्तपर्णी को आयुर्वेद में उन औषधियों में से एक माना जाता है जो कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ को समाहित किए हुए है। यह एक सदाबहार वृक्ष है। दिसंबर से मार्च माह के दौरान छोटे-छोटे हरे और सफेद रंग के फूल लगते हैं जिनसे विशिष्ट सुगंध रहती है। हिमालय के क्षेत्रों और उसके आसपास के हिस्सों में यह पौधा ज्यादातर उगता है। पौधे की छाल ग्रे-कलर की होती है। यह ऐसा पौधा है जिसका उपयोग आयुर्वेदिक, सिद्ध और यूनानी चिकित्सा, तीनों में कई तरह की बीमारियों के इलाज में किया जाता है। दुर्बलता को दूर करने से लेकर खुले घावों को ठीक करने और पीलिया तक कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज में सप्तपर्णी प्रभावी औषधि के है। वैसे तो पौधे के ज्यादातर हिस्से औषधीय गुणों से युक्त होते हैं लेकिन इसकी छाल मलेरिया के लक्षण ठीक करने के लिए बहुत सालों से प्रयोग में लाया जाता रहा है। चिकित्सा विशेषज्ञों का मानना है कि इसका किसी भी रूप में इस्तेमाल करने से पहले किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले लेना चाहिए।

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal,CM Shivraj ,wishes Rangpanchami festival, urges restraint,corona infection

भोपाल। रंग पंचमी के त्योहार के दौरान आज गुरुवार को राजधानी भोपाल में धारा 144 लागू रहेगी। लोगों को सांकेतिक त्योहार मनाए जाने की हिदायत दी गई है। वहीं कोरोना के नियमों का पालन करना होगा। लापरवाही बरतने पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मध्य प्रदेश के मुख्मयंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी प्रदेश वासियों को रंगपंचमी पर्व की शुभकामनाएं देते हुए बढ़ते कोरोना संक्रमण में संयम बरतने और घर पर रहकर त्यौहान मनाने की अपील की है।   सीएम शिवराज ने कहा कि रंगों के महापर्व प्तरंगपंचमी की आपको हार्दिक बधाई। यह पावन पर्व आपके जीवन में खुशहाली, समृद्धि, सफलता और आनंद के नव रंग भरे। प्रेम, स्नेह और अपनत्व की वर्षा हो। शुभकामनाएं! साथ ही आप सबसे आग्रह कि इस पर्व को भी अपनों के बीच घर में ही मनायें, ताकि कोविड19 का संक्रमण न फैले। उन्होंने कहा कि आज हम संकल्प लें कि हम सामूहिक रूप से होली नहीं खेलेंगे। अपनी होली, अपने घर। जिस गति से कोविड19 बढ़ रहा है, ऐसे में हमें संयम बरतने की आवश्यकता है।   सीएम शिवराज ने बताया कि आज हमने रतलाम, खरगोन, बैतूल और छिंदवाड़ा में अधिकारियों की टीम भेजी हैं। जहां संक्रमण ज़्यादा है, वहां कैसे कोविड19 को नियंत्रित किया जाए, उसके प्रयास हम कर रहे हैं। कल प्रदेश में टीकाकरण का अभियान पूरी ताकत से प्रारम्भ हुआ है। कुछ अपवाद छोडक़र हमने सभी जगह लक्ष्य हासिल किया है।   इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जनता से कोरोना वैक्सीन लगवाने का आग्रह करते हुए कहा कि जिन नागरिकों की उम्र 45 साल से ज़्यादा है, उन सभी से मेरी अपील है कि वे टीका ज़रूर लगवाएँ। यह टीका कोविड19 से लडऩे की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। अस्पतालों में बेड की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। मेरी सब से यह भी अपील है कि मास्क ज़रूर लगाएँ और सभी गाइडलाइंस का पालन करें।

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal,CM Shivraj ,wishes Rangpanchami festival, urges restraint,corona infection

भोपाल। रंग पंचमी के त्योहार के दौरान आज गुरुवार को राजधानी भोपाल में धारा 144 लागू रहेगी। लोगों को सांकेतिक त्योहार मनाए जाने की हिदायत दी गई है। वहीं कोरोना के नियमों का पालन करना होगा। लापरवाही बरतने पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मध्य प्रदेश के मुख्मयंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी प्रदेश वासियों को रंगपंचमी पर्व की शुभकामनाएं देते हुए बढ़ते कोरोना संक्रमण में संयम बरतने और घर पर रहकर त्यौहान मनाने की अपील की है।   सीएम शिवराज ने कहा कि रंगों के महापर्व प्तरंगपंचमी की आपको हार्दिक बधाई। यह पावन पर्व आपके जीवन में खुशहाली, समृद्धि, सफलता और आनंद के नव रंग भरे। प्रेम, स्नेह और अपनत्व की वर्षा हो। शुभकामनाएं! साथ ही आप सबसे आग्रह कि इस पर्व को भी अपनों के बीच घर में ही मनायें, ताकि कोविड19 का संक्रमण न फैले। उन्होंने कहा कि आज हम संकल्प लें कि हम सामूहिक रूप से होली नहीं खेलेंगे। अपनी होली, अपने घर। जिस गति से कोविड19 बढ़ रहा है, ऐसे में हमें संयम बरतने की आवश्यकता है।   सीएम शिवराज ने बताया कि आज हमने रतलाम, खरगोन, बैतूल और छिंदवाड़ा में अधिकारियों की टीम भेजी हैं। जहां संक्रमण ज़्यादा है, वहां कैसे कोविड19 को नियंत्रित किया जाए, उसके प्रयास हम कर रहे हैं। कल प्रदेश में टीकाकरण का अभियान पूरी ताकत से प्रारम्भ हुआ है। कुछ अपवाद छोडक़र हमने सभी जगह लक्ष्य हासिल किया है।   इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जनता से कोरोना वैक्सीन लगवाने का आग्रह करते हुए कहा कि जिन नागरिकों की उम्र 45 साल से ज़्यादा है, उन सभी से मेरी अपील है कि वे टीका ज़रूर लगवाएँ। यह टीका कोविड19 से लडऩे की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। अस्पतालों में बेड की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। मेरी सब से यह भी अपील है कि मास्क ज़रूर लगाएँ और सभी गाइडलाइंस का पालन करें।

Dakhal News

Dakhal News 2 April 2021


bhopal, Kamal Nath formed a team, investigate the death of poisonous liquor in Lahar

भोपाल। मप्र के भिंड के लहार क्षेत्र के असनेट गांव में होली के मौके पर जहरीली शराब पीने के कारण पांच लोगों की मौत हो गई। इसी गांव के दो लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। हालांकि, स्थानीय पुलिस जहरीली शराब पीने से पांच लोगों की मौत हो जाने की बात से इनकार कर रही है। वहीं जहरीली शराब से प्रदेश में हो रही मौत के मामले को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व सीएम कमलनाथ ने सरकार पर निशाना साधा है।   लहार क्षेत्र में जहरीली शराब से पिछले दो दिन में हुई 5 लोगों की दुखद मौत की घटना को गंभीरता से लेते हुए मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने एक जांच दल घटनास्थल पर भेजने का निर्णय लिया है। यह जांच दल मौके पर जाकर ,पीडि़त परिवारों से मिलकर अपनी रिपोर्ट मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी को सौंपेगा। जांच दल में पूर्व मंत्री गोविंद सिंह, लाखन सिंह, रामनिवास रावत, अशोक सिंह, विधायक प्रवीण पाठक को शामिल किया गया है।   इसके अलावा कमलनाथ ने ट्वीट कर प्रदेश में जहरीली शराब से हो रही मौतों पर सवाल उठाते हुए कहा है कि प्रदेश में जहरीली शराब से मौतों का सिलसिला अनवरत जारी है। शराब माफियाओं के हौसले बुलंद बने हुए है। उज्जैन,मुरैना के बाद अब भिंड में ज़हरीली शराब पीने से 5 लोगों की मौत की जानकारी सामने आयी है। उज्जैन-मुरैना शराबकांड के बाद प्रदेश में शराब माफियाओं व जिम्मेदारों पर कड़ी कार्यवाही के बड़े-बड़े दावे किए गए थे, सारे दावे हवा-हवाई साबित हो रहे हैं? सरकार पर निशाना साधते हुए कमलनाथ ने कहा कि पिछले एक वर्ष में प्रदेश में यह पांचवा शराब कांड है। प्रदेश में अब तक 50 से अधिक लोगों की जहरीली शराब से मौत हो चुकी है। हर कांड के बाद शिवराज सरकार सिर्फ दिखावटी विरोध, दिखावटी कार्यवाही के आदेश जारी करती है। माफिय़ाओ को गाढ़ देने, लटका देने के जुमले गढ़ती है लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुई है। प्रदेश में शराब माफियाओं का कहर निरंतर जारी है।

Dakhal News

Dakhal News 1 April 2021


bhopal, CM Shivraj worships, mother Narmada ,Sangam site in Gujarat

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी धर्मपत्नी साधना सिंह गुरुवार को सुबह गुजरात में नर्मदा और सागर संगम स्थल पहुंचे। उन्होंने भरूच के पास खंभात की खाड़ी में जहाँ नर्मदा जी मिलती हैं, वहां पूजा-अर्चना कर देश-प्रदेश की जनता की सुख समृद्धि और कोरोना मामारी समाप्त होने की प्रार्थना की।   इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा जी के संगम स्थल पर आकर उन्हें आनंद और संतोष की अनुभूति हुई है। उन्होंने कहा कि नर्मदा मैया के दर्शन कर हम संकल्प लें कि नदियों और पर्यावरण का संरक्षण करेंगे। मैंने मां नर्मदा से मध्यप्रदेश के समृद्ध होने और कोरोना महामारी पूरी तरह समाप्त करने की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा जी मध्यप्रदेश और गुजरात की जीवन रेखा है। इसके तट पर अनेक साधुओं, महात्माओं और ऋषियों ने तपस्या और साधना कर मानवता को राह दिखाई। नर्मदा जी से न सिर्फ पीने का पानी, बल्कि सिंचाई और बिजली के उत्पादन का लाभ भी मिलता है। यह पवित्र रेवा हमारी आस्था की प्रतीक है। हमने इस पावन स्थल पर आकर देश और प्रदेश के कल्याण की कामना की है।   मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आज का दिन हमारे जीवन का अत्यंत सौभाग्य का दिन है। नर्मदा मैया हमारे लिए साक्षात माँ है। यहाँ आकर धन्य हो गए और माँ नर्मदा से प्रार्थना है कि सबके जीवन में सुख-समृद्धि और रिद्धि-सिद्धि आए। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में भी यह कहा गया है कि प्राणियों में सद्भावना हो, विश्व का कल्याण हो, सबका कल्याण हो। धर्म की जय हो, अधर्म का नाश हो। आज यही प्रार्थना कर रहा हूँ।  

Dakhal News

Dakhal News 1 April 2021


bhopal, Crop of fire standing,Dharania and Hinnoud, Revenue Minister, ordered an inquiry

भोपाल। सुरखी विधानसभा के ग्राम ढगरानियां एवं हिन्नौद में किसानों की खेतों में खड़ी फसल में आग लगने से जलकर स्वाहा हो गई है। राजस्व व परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने संज्ञान लेकर राजस्व अधिकारियों को तुरंत जांच कर मुआवजा राशि दिलाने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा राहतगढ़ में होली के मौके पर 17 वर्षीय किशोर की डूबने से हुई मौत पर उन्होंने शोक व्यक्त किया है। मंत्री राजपूत मंगलवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा कि फसल के आखरी वक्त पर जब किसान बहुत सी उम्मीदें व सपने संजोए होते हैं, ऐसे में खड़ी फसल में आग लगना निश्चित रूप से किसानों की मेहनत व सपनों पर कुठाराघाट है। घटना के बारे में सुनकर मन को बहुत पीड़ा हुई है। उन्होंने कहा कि पीडि़त किसानों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं। म.प्र. की भाजपा सरकार व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान किसानों की विपत्ति में हमेशा की तरह उनके साथ है। किसानों के नुकसान की भरपाई हम करेंगें, सरकार करेगी, अधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है। एक-एक दाने की भरपाई होगी। उन्होंने कहा कि राहतगढ़ में होली खेलते हुए नवयुवा गोविंद अहिरवार की मौत भी वेदना देने वाली है। जल्दी ही गोविंद के परिजनों से मिलकर यथासंभव मदद करेंगें।

Dakhal News

Dakhal News 30 March 2021


bhopal, Crop of fire standing,Dharania and Hinnoud, Revenue Minister, ordered an inquiry

भोपाल। सुरखी विधानसभा के ग्राम ढगरानियां एवं हिन्नौद में किसानों की खेतों में खड़ी फसल में आग लगने से जलकर स्वाहा हो गई है। राजस्व व परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने संज्ञान लेकर राजस्व अधिकारियों को तुरंत जांच कर मुआवजा राशि दिलाने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा राहतगढ़ में होली के मौके पर 17 वर्षीय किशोर की डूबने से हुई मौत पर उन्होंने शोक व्यक्त किया है। मंत्री राजपूत मंगलवार को मीडिया को जारी अपने बयान में कहा कि फसल के आखरी वक्त पर जब किसान बहुत सी उम्मीदें व सपने संजोए होते हैं, ऐसे में खड़ी फसल में आग लगना निश्चित रूप से किसानों की मेहनत व सपनों पर कुठाराघाट है। घटना के बारे में सुनकर मन को बहुत पीड़ा हुई है। उन्होंने कहा कि पीडि़त किसानों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं। म.प्र. की भाजपा सरकार व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान किसानों की विपत्ति में हमेशा की तरह उनके साथ है। किसानों के नुकसान की भरपाई हम करेंगें, सरकार करेगी, अधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है। एक-एक दाने की भरपाई होगी। उन्होंने कहा कि राहतगढ़ में होली खेलते हुए नवयुवा गोविंद अहिरवार की मौत भी वेदना देने वाली है। जल्दी ही गोविंद के परिजनों से मिलकर यथासंभव मदद करेंगें।

Dakhal News

Dakhal News 30 March 2021


bhopal, Our effort ,should not be long-term lockdown, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को स्मार्ट पार्क में चांदनी का पौधा रोपा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमारी प्रार्थना और प्रयास यही है कि प्रदेश में विकास और समृद्धि का फूल खिले। मुख्यमंत्री चौहान ने इस अवसर पर मीडिया के प्रतिनिधियों से बात करते हुए प्रदेश की जनता का आभार माना। उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए त्यौहारों को संयम और अनुशासन से बिना भीड़-भाड़ किए मनाने की आवश्यकता थी। मैंने नागरिकों से यह आव्हान भी किया था कि रस्म निभाएं, परंपरा पूरी करें पर कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जुलूस और भीड़-भाड़ नहीं होने दें। प्रदेश की जनता ने जिस आत्मानुशासन का परिचय दिया, उसके लिए मैं प्रदेश की जनता का आभारी हूँ।    मुख्‍यमंत्री चौहान ने कहा कि जनता के सहयोग से ही कोरोना के संक्रमण पर नियंत्रण पाया जा सकता है। मैंने प्रदेश की जनता से धैर्य और संयम के साथ त्यौहार मनाने की अपील की थी, जनता ने पूरा सहयोग दिया इसके लिए मैं उनका धन्यवाद करता हूँ। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के प्रकरणों को देखते हुए हमें तीन स्तरों पर कार्रवाई करने की आवश्यकता है। पहला तो संक्रमण की चेन को हम कैसे तोड़े। इसे फैलने से रोकना है। छोटे शहरों में बड़ी संख्या में प्रकरण सामने आ रहे हैं। रतलाम और बैतूल जैसे शहरों में प्रकरणों की संख्या सौ से अधिक हो रही है। यह चिंता का विषय है। हमारी कोशिश है सभी शहरों के अस्पतालों में पर्याप्त सुविधा, ऑक्सीजन और आवश्यक सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।   नहीं होगा लम्बी अवधि का लॉकडाउन मुख्‍यमंत्री ने कहा कि पड़ोसी राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए वहां से आ रहे संक्रमण पर नियंत्रण के उपायों के लिए भी ब्रेन स्टॉर्मिंग जारी है। कोरोना के चक्र को समाप्त कैसे किया जाए, समुचित इलाज की व्यवस्था हो। इस पर भी विशेषज्ञ विचार-विमर्श कर रहे हैं। शाम को पुनः कोरोना की समीक्षा होगी और यदि आवश्यक हुआ तो कुछ निर्णय लिए जाएंगे। हमारा हरसंभव प्रयास है कि लम्बी अवधि का लॉकडाउन नहीं हो। गरीब की रोजी-रोटी चलनी चाहिए, रोजगार और व्यापार आवश्यक है। वर्तमान में शनिवार रात से सोमवार सुबह तक के लॉकडाउन की व्यवस्था रहेगी। साथ ही संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए अन्य उपायों पर विचार किया जाएगा।   खुशबूदार चांदनी का पौधा चांदनी (रातरानी) - चांदनी के फूल खुशबू बिखेरते हैं। इसकी खुशबू बहुत दूर तक जाती है। इसके छोटे-छोटे फूल गुच्छे में आते हैं तथा रात में खिलते हैं और सवेरे सिकुड़ जाते हैं। रातरानी के फूल साल में 5 या 6 बार आते हैं। हर बार 7 से 10 दिन तक अपनी खुशबू बिखेरकर बहुत ही शांतिमय और खुशबूदार वातावरण निर्मित कर देते हैं। रातरानी और चमेली के फूलों का इत्र भी बनता है। यह श्रृंगार के भी काम आता है। चांदनी एक सदाबहार झाड़ी वाला पौधा है, जो 13 फुट तक ऊँचा हो सकता है। इसकी पत्तियाँ सरल, संकीर्ण चाकू जैसी लंबी, चिकनी और चमकदार होती हैं। फूल दुबला ट्यूबलर जैसा हरा और सफेद होता है।

Dakhal News

Dakhal News 30 March 2021


bhopal, Our effort ,should not be long-term lockdown, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को स्मार्ट पार्क में चांदनी का पौधा रोपा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमारी प्रार्थना और प्रयास यही है कि प्रदेश में विकास और समृद्धि का फूल खिले। मुख्यमंत्री चौहान ने इस अवसर पर मीडिया के प्रतिनिधियों से बात करते हुए प्रदेश की जनता का आभार माना। उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए त्यौहारों को संयम और अनुशासन से बिना भीड़-भाड़ किए मनाने की आवश्यकता थी। मैंने नागरिकों से यह आव्हान भी किया था कि रस्म निभाएं, परंपरा पूरी करें पर कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जुलूस और भीड़-भाड़ नहीं होने दें। प्रदेश की जनता ने जिस आत्मानुशासन का परिचय दिया, उसके लिए मैं प्रदेश की जनता का आभारी हूँ।    मुख्‍यमंत्री चौहान ने कहा कि जनता के सहयोग से ही कोरोना के संक्रमण पर नियंत्रण पाया जा सकता है। मैंने प्रदेश की जनता से धैर्य और संयम के साथ त्यौहार मनाने की अपील की थी, जनता ने पूरा सहयोग दिया इसके लिए मैं उनका धन्यवाद करता हूँ। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के प्रकरणों को देखते हुए हमें तीन स्तरों पर कार्रवाई करने की आवश्यकता है। पहला तो संक्रमण की चेन को हम कैसे तोड़े। इसे फैलने से रोकना है। छोटे शहरों में बड़ी संख्या में प्रकरण सामने आ रहे हैं। रतलाम और बैतूल जैसे शहरों में प्रकरणों की संख्या सौ से अधिक हो रही है। यह चिंता का विषय है। हमारी कोशिश है सभी शहरों के अस्पतालों में पर्याप्त सुविधा, ऑक्सीजन और आवश्यक सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।   नहीं होगा लम्बी अवधि का लॉकडाउन मुख्‍यमंत्री ने कहा कि पड़ोसी राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए वहां से आ रहे संक्रमण पर नियंत्रण के उपायों के लिए भी ब्रेन स्टॉर्मिंग जारी है। कोरोना के चक्र को समाप्त कैसे किया जाए, समुचित इलाज की व्यवस्था हो। इस पर भी विशेषज्ञ विचार-विमर्श कर रहे हैं। शाम को पुनः कोरोना की समीक्षा होगी और यदि आवश्यक हुआ तो कुछ निर्णय लिए जाएंगे। हमारा हरसंभव प्रयास है कि लम्बी अवधि का लॉकडाउन नहीं हो। गरीब की रोजी-रोटी चलनी चाहिए, रोजगार और व्यापार आवश्यक है। वर्तमान में शनिवार रात से सोमवार सुबह तक के लॉकडाउन की व्यवस्था रहेगी। साथ ही संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए अन्य उपायों पर विचार किया जाएगा।   खुशबूदार चांदनी का पौधा चांदनी (रातरानी) - चांदनी के फूल खुशबू बिखेरते हैं। इसकी खुशबू बहुत दूर तक जाती है। इसके छोटे-छोटे फूल गुच्छे में आते हैं तथा रात में खिलते हैं और सवेरे सिकुड़ जाते हैं। रातरानी के फूल साल में 5 या 6 बार आते हैं। हर बार 7 से 10 दिन तक अपनी खुशबू बिखेरकर बहुत ही शांतिमय और खुशबूदार वातावरण निर्मित कर देते हैं। रातरानी और चमेली के फूलों का इत्र भी बनता है। यह श्रृंगार के भी काम आता है। चांदनी एक सदाबहार झाड़ी वाला पौधा है, जो 13 फुट तक ऊँचा हो सकता है। इसकी पत्तियाँ सरल, संकीर्ण चाकू जैसी लंबी, चिकनी और चमकदार होती हैं। फूल दुबला ट्यूबलर जैसा हरा और सफेद होता है।

Dakhal News

Dakhal News 30 March 2021


Bhind, Govind Singh, husband of MLA Rambai, absconding accused, murder case arrested

भिंड। दमोह जिले के पथरिया से बसपा की  विधायक रामबाई के फरार पति गोविंद सिंह परिहार को भिंड से गिरफ्तार कर लिया गया है। वह पिछले 3 दिन से ग्वालियर-भिंड में घूम रहा था। हालांकि अभी विधायक पति की गिरफ्तारी पर एसटीएफ ने कोई बयान जारी नहीं किया है। गौरतलब है कि शनिवार को ही विधायक पति का एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें वह खुद को भिंड में सरेंडर की बात कह रहा था।   पथरिया विधायक रामबाई सिंह परिहार के पति गोविंद सिंह का नाम हटा निवासी देवेंद्र चौरसिया की हत्या में आने के बाद से वह फरार था। दो महीने पहले हटा कोर्ट ने विधायक पति का नाम एफआईआर में शामिल कराया था। उसकी गिरफ्तारी न होने के बाद पुलिस ने उस पर 50 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था। वहीं सुप्रीम कोर्ट भी प्रदेश के डीजीपी और सरकार को फटकार लगा चुकी है। ऐसे में शासन और पुलिस दोनों पर आरोपी को गिरफ्तार करने का दबाव था। इसी बीच शनिवार को विधायक पति व 50 हजार रुपए के इनामी गोविंद सिंह को भिंड में गिरफ्तार कर लिया गया। ग्वालियर एसटीएफ ने उसे भिंड के बस स्टैंड से अपनी गिरफ्तारी में लिया है।   इससे पहले आरोपी गोविंद सिंह ने 27 मार्च को एक वीडियो जारी किया था। इसमें वह कहा रहा है कि पत्नी विधायक रामबाई के कहने पर सरेंडर कर रहा है। लेकिन वह आरोपी नहीं है। सोशल मीडिया के माध्यम से पत्नी ने उसे सरेंडर करने की अपील की थी, इसलिए वह भिंड जिले के किसी भी थाना क्षेत्र में सरेंडर करने जा रहा है। वीडियो में उसने यह भी कहा है कि यह वीडियो 27 मार्च सुबह 5 बजे बनाया है। यदि दोषी साबित होता है तो उसे चौराहे पर फांसी पर लटका दिया जाए। वहीं, रविवार सुबह तक दमोह पुलिस गोविंदसिंह के सरेंडर या गिरफ्तारी की सूचना से इंकार करती रही है।

Dakhal News

Dakhal News 28 March 2021


bhopal, Total lockdown, 12 cities of Madhya Pradesh, silence on the roads

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश के 12 शहरों में संपूर्ण लॉडाउन किया गया है। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, खरगौन, रतलाम, विदिशा, उज्जैन, नरसिंहपुर और सौंसर में शनिवार रात 9 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक पूरी तरह लॉकडाउन है। यहां रविवार सुबह से गलियों से लेकर बाजारों की सभी दुकानें बंद हैं और जगह-जगह भारी संख्या में पुलिसबल तैनात है। बेवजह घूमने वालों पर चालानी कार्रवाई की जा रही है। लॉकडाउन के चलते सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। अधिकांश नागरिक स्वेच्छा से लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं।    कोरोना की चेन तोड़ने के लिए राजधानी भोपाल, इंदौर समेत 12 शहरों में शनिवार रात 9 बजे से 33 घंटे के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण रविवार सुबह से ही सड़कों पर सन्नाटा पसरा नजर आया। कॉलोनियों के लोग सुबह से घरों में कैद रहे और सड़कों पर आम दिनों की तुलना में आवाजाही बहुत कम नजर आ रही है। सभी प्रमुख सड़कों और बाजारों की दुकानें बंद हैं। मुख्य चौराहों पर पूरी तरह बैरिकेडिंग कर दी है, जहां तैनात पुलिसकर्मी बेवजह घूमने वालों को धरपकड़ कर रहे हैं। लॉकडाउन का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। पुलिस गली, मोहल्ले में गस्त कर लोगों को घर में रहने के लिए कह रही है। वहीं चेक पोस्ट पर लगातार जांच की जा रही है।   दरअसल, आज रात होलिका दहन और कल रंगोत्सव का पर्व है, इसको लेकर शासन-प्रशासन ने लॉकडाउन को शिथिल करते हुए विशेष दिशा-निर्देश जारी किये हैं। इंदौर और भोपाल जैसे बड़े शहरों में होलिका दहन में केवल 20 लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई है। इसके साथ ही परिवार के साथ ही होली खेलने का आग्रह किया जा रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार रात जनता के नाम संदेश में नागरिकों से अपील की कि होली सहित अन्य त्योहारों पर भीड़ किए बगैर परंपराएं निभाएं। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचने के लिए गाइडलाइन जारी की जा चुकी है। जुलूस, बड़े आयोजनों पर प्रतिबंध है। अपने घर, घर के सामने, किसी निर्धारित स्थान पर (जहां संक्रमण ज्यादा है, वहां अनुमति लेकर) परंपरा का निर्वाह किया जा सकता है। इसमें कोई प्रतिबंध नहीं है, लेकिन बचाव के लिए सावधानी जरूरी है।

Dakhal News

Dakhal News 28 March 2021


bhopal, Celebrate Holi with family, following "Merry Holi-Mere Ghar, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को होली की शुभकामनाएं दी हैं। रविवार को स्मार्ट उद्यान में पौध रोपण के उपरांत मीडिया के प्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए चौहान ने कहा कि त्यौहार आरंभ हो रहे हैं। उत्सव और आनंद हमारी परंपरा है लेकिन जब आपात स्थिति हो, तो इनको मनाने के तरीके बदलने होंगे। उन्होंने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश की जनता से होली तथा अन्य त्यौहारों पर संयम और अनुशासन बनाए रखने की अपील की।   मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेशवासियों से 'मेरी होली-मेरे घर' का पालन करते हुए घर पर ही होली मनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं भी प्रतिवर्ष उत्साह से सभी लोगों के साथ होली मनाता था। इस वर्ष कोरोना के संक्रमण को देखते हुए मैंने 'मेरी होली-मेरे घर' का पालन करते हुए परिवार के साथ ही होली मनाने का निर्णय लिया है।   कोरोना को रोकने के लिए राज्य शासन पूरी तरह से तैयार मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना तेजी से फैल रहा है। भोपाल, इन्दौर, जबलपुर, उज्जैन, ग्वालियर, बैतूल, छिंदवाड़ा, बालाघाट, खरगोन, रतलाम, खंडवा और विदिशा में प्रकरण बढ़ रहे हैं। इसे रोकने के लिए सावधानी, सतर्कता और अनुशासन की जरूरत है। राज्य शासन कोरोना संक्रमण को रोकने और प्रभावितों के इलाज के लिए पूरी तरह से तैयार है। पीपीई किट जैसी सभी जरूरी सामग्री, ऑक्सीजन, पर्याप्त आवश्यक बैड उपलब्ध हैं। शासकीय के साथ-साथ निजी अस्पतालों का भी इस लड़ाई में सहयोग लिया जा रहा है। निजी अस्पतालों की दरें तय कर दी गईं हैं। कोई भी लूट-खसोट नहीं कर सकेगा। गरीबों का नि:शुल्क इलाज कराने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।   कोरोना के विरुद्ध हम सब एक हैं का संदेश देना जरूरी मुख्यमंत्री चौहान ने धर्मगुरुओं, राजनैतिक दलों, सामाजिक संगठनों से अपील की कि सभी कोरोना के विरुद्ध इस युद्ध में एकजुट होकर परिस्थितियों का सामना करें और यह संदेश दें कि कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में हम सब एक हैं।

Dakhal News

Dakhal News 28 March 2021


bhopal, Celebrate Holi with family, following "Merry Holi-Mere Ghar, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को होली की शुभकामनाएं दी हैं। रविवार को स्मार्ट उद्यान में पौध रोपण के उपरांत मीडिया के प्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए चौहान ने कहा कि त्यौहार आरंभ हो रहे हैं। उत्सव और आनंद हमारी परंपरा है लेकिन जब आपात स्थिति हो, तो इनको मनाने के तरीके बदलने होंगे। उन्होंने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश की जनता से होली तथा अन्य त्यौहारों पर संयम और अनुशासन बनाए रखने की अपील की।   मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेशवासियों से 'मेरी होली-मेरे घर' का पालन करते हुए घर पर ही होली मनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं भी प्रतिवर्ष उत्साह से सभी लोगों के साथ होली मनाता था। इस वर्ष कोरोना के संक्रमण को देखते हुए मैंने 'मेरी होली-मेरे घर' का पालन करते हुए परिवार के साथ ही होली मनाने का निर्णय लिया है।   कोरोना को रोकने के लिए राज्य शासन पूरी तरह से तैयार मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना तेजी से फैल रहा है। भोपाल, इन्दौर, जबलपुर, उज्जैन, ग्वालियर, बैतूल, छिंदवाड़ा, बालाघाट, खरगोन, रतलाम, खंडवा और विदिशा में प्रकरण बढ़ रहे हैं। इसे रोकने के लिए सावधानी, सतर्कता और अनुशासन की जरूरत है। राज्य शासन कोरोना संक्रमण को रोकने और प्रभावितों के इलाज के लिए पूरी तरह से तैयार है। पीपीई किट जैसी सभी जरूरी सामग्री, ऑक्सीजन, पर्याप्त आवश्यक बैड उपलब्ध हैं। शासकीय के साथ-साथ निजी अस्पतालों का भी इस लड़ाई में सहयोग लिया जा रहा है। निजी अस्पतालों की दरें तय कर दी गईं हैं। कोई भी लूट-खसोट नहीं कर सकेगा। गरीबों का नि:शुल्क इलाज कराने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।   कोरोना के विरुद्ध हम सब एक हैं का संदेश देना जरूरी मुख्यमंत्री चौहान ने धर्मगुरुओं, राजनैतिक दलों, सामाजिक संगठनों से अपील की कि सभी कोरोना के विरुद्ध इस युद्ध में एकजुट होकर परिस्थितियों का सामना करें और यह संदेश दें कि कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में हम सब एक हैं।

Dakhal News

Dakhal News 28 March 2021


bhopal, State Media Center, developed in Bhopal,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पत्रकार कल्याण के संबंध में प्रभावी तथा व्यवहारिक नीति निर्धारण के लिए पत्रकारों की समिति का गठन किया जाएगा। यह समिति पत्रकारों के लिए आचार संहिता भी विकसित करेगी। मुख्यमंत्री चौहान ने राजधानी भोपाल के मालवीय नगर स्थित पत्रकार भवन की भूमि पर राज्य मीडिया सेंटर विकसित करने पर भी सहमति दी। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने गुरुवार को अपने निवास पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही। इस अवसर पर जनसंपर्क आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े, मुख्यमंत्री के ओएसडी सत्येन्द्र खरे उपस्थित रहे।   राज्य शासन द्वारा सुनील तिवारी तथा नरेन्द्र कुलश्रेष्ठ को सम्मान निधि स्वीकृत करने पर पत्रकारों द्वारा मुख्यमंत्री चौहान का आभार माना तथा उन्हें धन्यवाद दिया। इस अवसर पर पत्रकारों द्वारा मुख्यमंत्री चौहान को बरगद का पौधा भी भेंट किया गया। उल्लेखनीय है कि पत्रकार सुनील तिवारी तथा नरेन्द्र कुलश्रेष्ठ गंभीर बीमार हैं। मुख्यमंत्री चौहान की पहल पर दोनों पत्रकारों को सम्मान निधि स्वीकृत की गई है।

Dakhal News

Dakhal News 25 March 2021


bhopal, CM Shivraj

भोपाल। मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्‍य के किसानों से अपील की है कि वे ओने-पौने दामों पर अपनी फसल नहीं बेचें और न ही किसी की बातों में आएं। जिन फसलों के उचित और पर्याप्त मूल्य मिल रहे हैं, उन्हें किसान अवश्य बाजार में बेचें। राज्य सरकार समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीदी करेगी। प्रदेश में 27 मार्च से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीदी आरंभ होगी।    दरअसल, मुख्यमंत्री ने उक्‍त बातें राजधानी भोपाल के स्मार्ट पार्क में गुरुवार को रूद्राक्ष का पौधा लगाते हुए कही। उन्‍होंने मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए कहा कि आज सबके लिए कल्याणकारी भगवान शिव को समर्पित रूद्राक्ष का पौधा लगाया है। यह इसी कामना से लगाया है कि भगवान शिव सबका कल्याण करें। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि 27 मार्च से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीदी आरंभ की जा रही है। वर्षा के कारण फसलों की खरीदी बाधित हुई थी। किसान ओने-पौने दामों पर अपनी फसल नहीं बेचें। जिन फसलों के उचित और पर्याप्त मूल्य मिल रहे हैं, उन्हें किसान अवश्य बाजार में बेचें। राज्य सरकार समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीदी करेगी।   गौरतलब है कि राज्य शासन के निर्देशानुसार मप्र में गेहूं, चना, मसूर, सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी 22 मार्च 2021 से शुरू होनी थी, लेकिन बारिश, ओलावृष्टि और आंधी तूफान जैसी अपरिहार्य स्थितियों के कारण शासन द्वारा गेहूं, चना, मसूर, सरसों की खरीदी तिथि को आगे बढ़ा दिया गया था। किसानों से कहा गया था कि जिन किसान भाइयों को फसल बेचने के लिए एसएमएस प्राप्त हो चुके हैं उनको पुन: नवीन तारीख का एसएमएस प्राप्त होगा।    इसलिए लगाया सीएम ने रुद्राक्ष का पौधा  जनसंपर्क अधिकारी संदीप कपूर ने बताया कि मुख्यमंत्री चौहान द्वारा लगाया गया रुद्राक्ष का पौधा आस्था का प्रतीक माना जाता है। यह पवित्र वृक्ष माना जाता है। इसके फल की मालाएँ भी धारण की जाती हैं। ऐसा जन विश्वास है कि रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर के नेत्रों के जलबिंदु से हुई। रुद्राक्ष शिव का वरदान है, जो संसार के भौतिक दु:खों को दूर करने के लिए प्रभु शंकर ने प्रकट किया। रुद्राक्ष धारण करने से सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है। रुद्राक्ष आमतौर पर भक्तों द्वारा सुरक्षा कवच के तौर पर या ओम नमः शिवाय मंत्र के जाप के लिए भी पहने जाते हैं। इसके बीज मुख्य रूप से भारत और नेपाल में आभूषणों और माला के रूप में उपयोग किए जाते हैं। यह भी माना जाता है कि रुद्राक्ष अर्द्ध कीमती पत्थरों के समान मूल्यवान होते हैं।   उल्‍लेखनीय है कि रुद्राक्ष हिमालय के प्रदेशों में पाए जाते हैं। इसके अतिरिक्त असम, मध्यप्रदेश, उत्तरांचल, अरूणांचल प्रदेश, बंगाल, हरिद्वार, गढ़वाल और देहरादून के जंगलों में पर्याप्त मात्र में पाए जाते हैं। गंगोत्री और यमुनोत्री के क्षेत्र में भी रुद्राक्ष मिलते हैं। इसके अलावा दक्षिण भारत में नीलगिरि, मैसूर-कर्नाटक एवं रामेश्वरम् में भी रुद्राक्ष के वृक्ष देखे जा सकते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 25 March 2021


MP, Bhopal, Indore, Jabalpur along with Betul, Chhindwara, Ratlam and Khargone,Sunday lockdown

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने भोपाल, इंदौर, जबलपुर के साथ चार और शहरों-बैतूल छिंदवाड़ा, रतलाम और खरगौन में रविवार को लॉकडाउन रखने का निर्णय लिया है। दरअसल, बुधवार देर शाम को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई। बैठक के बाद प्रदेश में कोरोना की स्थिति पर प्रस्तुतिकरण दिया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रि-परिषद के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए सतर्कता आवश्यक है। अत: होली के त्यौहार को अपने घरों तक सीमित करते हुए 'मेरी होली-मेरे घर' के सिद्धांत का अनुसरण करना आवश्यक है। संपूर्ण प्रदेश में गेर, मेले, चल समारोह सहित अन्य सार्वजनिक आयोजन और सार्वजनिक रूप में लोगों का एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा। लॉकडाउन के लिए निर्देश जारीमुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर के साथ बैतूल, छिंदवाड़ा, रतलाम और खरगोन में कोरोना के प्रकरण निरंतर बढ़ रहे हैं। अतः इन स्थानों पर भी रविवार का लॉक लॉकडाउन रहेगा। ग्वालियर, उज्जैन, सागर, विदिशा, बड़वानी और बुरहानपुर में भी प्रतिदिन 20 से अधिक प्रकरण दर्ज हो रहे हैं। ऐसे सभी जिले जहाँ कोविड के साप्ताहिक पॉजिटिव केसेस का प्रतिशत औसत 20 से अधिक है, वहाँ विवाह समारोह, शव यात्रा, उठावना और मृत्यु-भोज आदि में सम्मिलित होने वाले व्यक्तियों की संख्या को भी सीमित किया जा रहा है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा होली, शब-ए-बारात, ईस्टर और ईद-उल-फितर आदि त्यौहारों को देखते हुए अतिरिक्त स्थानीय प्रतिबंध लागू करने संबंधी सलाह के परिप्रेक्ष्य में राज्य शासन द्वारा निर्देश जारी किये गये हैं।उन्होंने बताया कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिन्दवाड़ा, रतलाम और खरगोन में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन प्रभावी रहेगा। लॉकडाउन की अवधि में आवश्यक वस्तुओं, उद्योग इकाइयों के श्रमिकों, कर्मचारियों और औद्योगिक कच्चे माल तथा उत्पाद व बीमार व्यक्तियों के परिवहन, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन आने और जाने तथा परीक्षाओं में शामिल होने वाले विद्यार्थियों के लिए छूट रहेगी।इन शहरों में 28 मार्च को कोषालय और रजिस्ट्री कार्यालय खुले रहेंगे। इनमें कार्य करने वाले कर्मचारियों और कार्यालयों की सेवा प्राप्त करने वाले नागरिकों के आवागमन पर प्रतिबंध लागू नहीं होंगे। इन सात शहरों में 31 मार्च तक सभी स्कूल और कॉलेज में शिक्षण बंद रहेगा। सभी परीक्षाएँ पूर्व से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही होंगी। इनमें प्रतियोगी परीक्षाएँ भी सम्मिलित हैं। परीक्षार्थी तथा परीक्षा के कार्य में लगे अधिकारी-कर्मचारियों को आने-जाने में कोई अवरोध नहीं रहेगा।रेस्टोरेंट में बैठकर खाने पर प्रतिबंधऐसे जिलों, जहाँ कोविड के साप्ताहिक पॉजिटिव केसेस का प्रतिदिन औसत 20 से ज्यादा है, में शादी समारोह में 50 तथा शव यात्रा में 20 से अधिक व्यक्ति के सम्मिलित होने पर प्रतिबंध रहेगा। उठावना, मृत्यु-भोज आदि कार्यक्रमों में भी 50 से अधिक लोग सम्मिलित नहीं हो सकेंगे। इन जिलों में स्विमिंग पूल, सिनेमाघर, जिम आदि बंद रहेंगे। रेस्टोरेंट में बैठकर खाने पर प्रतिबंध रहेगा। टेक अवे भोजन की व्यवस्था जारी रहेगी। बंद हाल के कार्यक्रम में 50 प्रतिशत हाल की क्षमता (अधिकतम 100 व्यक्ति) सम्मिलित हो सकेंगे।जनता के हित में लिए गए हैं फैसलेमुख्यमंत्री ने कहा कि जनता के हित में यह फैसले लिए गए हैं। सात शहरों में 28 मार्च को लॉकडाउन होने के कारण होली दहन तथा शब-ए-बारात को सांकेतिक रूप से मनायें जाने की सहमति दी जा सकेगी। उन्होंने सभी जिलों में होली से पूर्व क्राईसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक आवश्यक रूप से आयोजित करने के निर्देश दिए। इन जिलों की क्राईसिस मैनेजमेंट कमेटी धार्मिक स्थलों में लोगों को एकत्रित होने से प्रतिबंधित करने और लॉकडाउन की अवधि रात 10 बजे से प्रात: 6 बजे के स्थान पर रात्रि 8 से सुबह 6 बजे तक करने के संबंध में निर्णय ले सकेगी। केमिस्ट, राशन और खान-पान की दुकानों पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होंगे।जिन जिलों में कोविड के साप्ताहिक पॉजिटिव केसेस का औसत प्रतिशत प्रतिदिन 20 से कम है। वहाँ क्राईसिस मैनेजमेंट कमेटी जन-सुनवाई के कार्यक्रम स्थगित रखने और विवाह, अंतिम संस्कार जैसे सामाजिक कार्यक्रमों में भाग लेने वालों की संख्या निर्धारित करने संबंधी निर्णय ले सकेगी।मंत्रालय में हुए प्रस्तुतिकरण में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान और अपर मुख्य सचिव गृह राजेश राजौरा उपस्थित थे। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी और कृषि मंत्री कमल पटेल ने भी अपने सुझाव रखे।भोपाल में 15. 95 प्रतिशत हुआ पॉजिटिविटी रेटप्रस्तुतिकरण में जानकारी दी गई कि पिछले 7 दिन में प्रदेश के 10 शहरों में प्रकरण लगातार बढ़ रहे हैं। इंदौर में पिछले सात दिन में 317, भोपाल में 299, जबलपुर में 98, बैतूल में 38, रतलाम में 37, ग्वालियर में 36, उज्जैन में 30, सागर में 28, खरगोन में 27 और छिंदवाड़ा में 25 प्रकरण औसत रूप से प्रतिदिन दर्ज किए गए। गत सात दिवस का इंदौर का पॉजिटिविटी रेट 8.47 प्रतिशत, भोपाल का 15. 95 प्रतिशत हो गया है। इसी प्रकार बैतूल का पॉजिटिविटी रेट 14.32 प्रतिशत, जबलपुर का 7.46 प्रतिशत और खरगोन का 8.19 प्रतिशत दर्ज किया गया।तीन माह में होगा सभी का टीकाकरणमुख्यमंत्री ने टीकाकरण की प्रक्रिया को गति देने और सभी जिलों में आइसोलेशन वार्ड स्थापित करने और बिस्तरों की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। प्रस्तुतिकरण में बताया गया कि प्रदेश में अब तक 26 लाख 90 हजार 646 व्यक्तियों का टीकाकरण हो चुका है। गत 20 मार्च को एक दिन में 3 लाख 57 हजार 500 व्यक्तियों का टीकाकरण हुआ। प्रदेश में प्रतिदिन 3 लाख व्यक्तियों के टीकाकरण के लिए व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जा रही हैं। प्रति सप्ताह चार दिन सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को टीकाकरण सत्र आयोजित किए जाएंगे। आगामी 3 माह में सभी लक्षित समूहों का टीकाकरण किए जाने की योजना है।

Dakhal News

Dakhal News 25 March 2021


MP, Bhopal, Indore, Jabalpur along with Betul, Chhindwara, Ratlam and Khargone,Sunday lockdown

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने भोपाल, इंदौर, जबलपुर के साथ चार और शहरों-बैतूल छिंदवाड़ा, रतलाम और खरगौन में रविवार को लॉकडाउन रखने का निर्णय लिया है। दरअसल, बुधवार देर शाम को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई। बैठक के बाद प्रदेश में कोरोना की स्थिति पर प्रस्तुतिकरण दिया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रि-परिषद के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए सतर्कता आवश्यक है। अत: होली के त्यौहार को अपने घरों तक सीमित करते हुए 'मेरी होली-मेरे घर' के सिद्धांत का अनुसरण करना आवश्यक है। संपूर्ण प्रदेश में गेर, मेले, चल समारोह सहित अन्य सार्वजनिक आयोजन और सार्वजनिक रूप में लोगों का एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा। लॉकडाउन के लिए निर्देश जारीमुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर के साथ बैतूल, छिंदवाड़ा, रतलाम और खरगोन में कोरोना के प्रकरण निरंतर बढ़ रहे हैं। अतः इन स्थानों पर भी रविवार का लॉक लॉकडाउन रहेगा। ग्वालियर, उज्जैन, सागर, विदिशा, बड़वानी और बुरहानपुर में भी प्रतिदिन 20 से अधिक प्रकरण दर्ज हो रहे हैं। ऐसे सभी जिले जहाँ कोविड के साप्ताहिक पॉजिटिव केसेस का प्रतिशत औसत 20 से अधिक है, वहाँ विवाह समारोह, शव यात्रा, उठावना और मृत्यु-भोज आदि में सम्मिलित होने वाले व्यक्तियों की संख्या को भी सीमित किया जा रहा है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा होली, शब-ए-बारात, ईस्टर और ईद-उल-फितर आदि त्यौहारों को देखते हुए अतिरिक्त स्थानीय प्रतिबंध लागू करने संबंधी सलाह के परिप्रेक्ष्य में राज्य शासन द्वारा निर्देश जारी किये गये हैं।उन्होंने बताया कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिन्दवाड़ा, रतलाम और खरगोन में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन प्रभावी रहेगा। लॉकडाउन की अवधि में आवश्यक वस्तुओं, उद्योग इकाइयों के श्रमिकों, कर्मचारियों और औद्योगिक कच्चे माल तथा उत्पाद व बीमार व्यक्तियों के परिवहन, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन आने और जाने तथा परीक्षाओं में शामिल होने वाले विद्यार्थियों के लिए छूट रहेगी।इन शहरों में 28 मार्च को कोषालय और रजिस्ट्री कार्यालय खुले रहेंगे। इनमें कार्य करने वाले कर्मचारियों और कार्यालयों की सेवा प्राप्त करने वाले नागरिकों के आवागमन पर प्रतिबंध लागू नहीं होंगे। इन सात शहरों में 31 मार्च तक सभी स्कूल और कॉलेज में शिक्षण बंद रहेगा। सभी परीक्षाएँ पूर्व से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही होंगी। इनमें प्रतियोगी परीक्षाएँ भी सम्मिलित हैं। परीक्षार्थी तथा परीक्षा के कार्य में लगे अधिकारी-कर्मचारियों को आने-जाने में कोई अवरोध नहीं रहेगा।रेस्टोरेंट में बैठकर खाने पर प्रतिबंधऐसे जिलों, जहाँ कोविड के साप्ताहिक पॉजिटिव केसेस का प्रतिदिन औसत 20 से ज्यादा है, में शादी समारोह में 50 तथा शव यात्रा में 20 से अधिक व्यक्ति के सम्मिलित होने पर प्रतिबंध रहेगा। उठावना, मृत्यु-भोज आदि कार्यक्रमों में भी 50 से अधिक लोग सम्मिलित नहीं हो सकेंगे। इन जिलों में स्विमिंग पूल, सिनेमाघर, जिम आदि बंद रहेंगे। रेस्टोरेंट में बैठकर खाने पर प्रतिबंध रहेगा। टेक अवे भोजन की व्यवस्था जारी रहेगी। बंद हाल के कार्यक्रम में 50 प्रतिशत हाल की क्षमता (अधिकतम 100 व्यक्ति) सम्मिलित हो सकेंगे।जनता के हित में लिए गए हैं फैसलेमुख्यमंत्री ने कहा कि जनता के हित में यह फैसले लिए गए हैं। सात शहरों में 28 मार्च को लॉकडाउन होने के कारण होली दहन तथा शब-ए-बारात को सांकेतिक रूप से मनायें जाने की सहमति दी जा सकेगी। उन्होंने सभी जिलों में होली से पूर्व क्राईसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक आवश्यक रूप से आयोजित करने के निर्देश दिए। इन जिलों की क्राईसिस मैनेजमेंट कमेटी धार्मिक स्थलों में लोगों को एकत्रित होने से प्रतिबंधित करने और लॉकडाउन की अवधि रात 10 बजे से प्रात: 6 बजे के स्थान पर रात्रि 8 से सुबह 6 बजे तक करने के संबंध में निर्णय ले सकेगी। केमिस्ट, राशन और खान-पान की दुकानों पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होंगे।जिन जिलों में कोविड के साप्ताहिक पॉजिटिव केसेस का औसत प्रतिशत प्रतिदिन 20 से कम है। वहाँ क्राईसिस मैनेजमेंट कमेटी जन-सुनवाई के कार्यक्रम स्थगित रखने और विवाह, अंतिम संस्कार जैसे सामाजिक कार्यक्रमों में भाग लेने वालों की संख्या निर्धारित करने संबंधी निर्णय ले सकेगी।मंत्रालय में हुए प्रस्तुतिकरण में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान और अपर मुख्य सचिव गृह राजेश राजौरा उपस्थित थे। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी और कृषि मंत्री कमल पटेल ने भी अपने सुझाव रखे।भोपाल में 15. 95 प्रतिशत हुआ पॉजिटिविटी रेटप्रस्तुतिकरण में जानकारी दी गई कि पिछले 7 दिन में प्रदेश के 10 शहरों में प्रकरण लगातार बढ़ रहे हैं। इंदौर में पिछले सात दिन में 317, भोपाल में 299, जबलपुर में 98, बैतूल में 38, रतलाम में 37, ग्वालियर में 36, उज्जैन में 30, सागर में 28, खरगोन में 27 और छिंदवाड़ा में 25 प्रकरण औसत रूप से प्रतिदिन दर्ज किए गए। गत सात दिवस का इंदौर का पॉजिटिविटी रेट 8.47 प्रतिशत, भोपाल का 15. 95 प्रतिशत हो गया है। इसी प्रकार बैतूल का पॉजिटिविटी रेट 14.32 प्रतिशत, जबलपुर का 7.46 प्रतिशत और खरगोन का 8.19 प्रतिशत दर्ज किया गया।तीन माह में होगा सभी का टीकाकरणमुख्यमंत्री ने टीकाकरण की प्रक्रिया को गति देने और सभी जिलों में आइसोलेशन वार्ड स्थापित करने और बिस्तरों की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। प्रस्तुतिकरण में बताया गया कि प्रदेश में अब तक 26 लाख 90 हजार 646 व्यक्तियों का टीकाकरण हो चुका है। गत 20 मार्च को एक दिन में 3 लाख 57 हजार 500 व्यक्तियों का टीकाकरण हुआ। प्रदेश में प्रतिदिन 3 लाख व्यक्तियों के टीकाकरण के लिए व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जा रही हैं। प्रति सप्ताह चार दिन सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को टीकाकरण सत्र आयोजित किए जाएंगे। आगामी 3 माह में सभी लक्षित समूहों का टीकाकरण किए जाने की योजना है।

Dakhal News

Dakhal News 25 March 2021


bhopal, Chief Minister ,Shivraj Singh Chauhan planted, almond plant ,smart garden

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन एक पौधा लगाने के संकल्प के क्रम में बुधवार को राजधानी भोपाल के स्मार्ट उद्यान में बादाम का पौधा लगाया। इस दौरान उन्होंने पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रदेशवासियों से साल में कम से कम एक पौधा लगाने का अनुरोध किया है।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी साझा सकते हुए कहा है कि -‘भोपाल के स्मार्ट पार्क में आज बादाम का पौधा लगाया। बादाम विटामिन-ई का सबसे अच्छा सोर्स है। यह दिमाग और हृदय को स्वस्थ रखता है। आप अपने जन्मदिन और अपनों की स्मृति में पौधरोपण अवश्य कीजिये। हम सबके प्रयास से ही यह धरती हरी-भरी और हमारे लिए अधिक उपयोगी होगी।

Dakhal News

Dakhal News 24 March 2021


bhopal, Support of everyone , public awareness campaign ,corona infection, ​​Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना के बढ़ रहे मामलों के दृष्टिगत धर्मगुरुओं, राजनीतिक दलों, विभिन्न संगठनों और मीडिया के मित्रों से जन-जागरूकता बढ़ाने में सहयोग देने की अपील की है। मुख्यमंत्री इन वर्गों को पत्र लिखकर भी यह आग्रह कर रहे हैं कि मेरा मास्क-मेरी सुरक्षा और मेरी होली मेरे घर के अभियान में सहयोग प्रदान करें।   मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण की चैन तोड़ने के लिए यदि अन्य आवश्यक कदम उठाने होंगे, तो अवश्य उठाए जाएंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा जागरूकता अभियान में सभी का सहयोग आवश्यक है। आर्थिक गतिविधियां संचालित होती रहेंगी, लेकिन संक्रमण को रोकना राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। जहां एक और उपचार और अन्य व्यवस्थाओं को सुनिश्चित किया जा रहा है वहीं नागरिकों के बीच यह संदेश पहुंचाया जा रहा है कि स्वयं के हित में, समाज के हित में, राज्य के हित में और देश के हित में फेस मास्क का अवश्य उपयोग करें। अन्य सावधानियों का भी पालन करें।   मुख्यमंत्री चौहान ने बुधवार को कोरोना संक्रमण के संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों से अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त की। इसके अनुसार करीब 1700 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। इंदौर में इनकी संख्या 450 और भोपाल में 385 है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के सभी स्थानों विशेष रूप से इंदौर और भोपाल इन दोनों नगरों में आवश्यक सावधानियां अपनाना होंगी।

Dakhal News

Dakhal News 24 March 2021


bhopal, Support of everyone , public awareness campaign ,corona infection, ​​Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना के बढ़ रहे मामलों के दृष्टिगत धर्मगुरुओं, राजनीतिक दलों, विभिन्न संगठनों और मीडिया के मित्रों से जन-जागरूकता बढ़ाने में सहयोग देने की अपील की है। मुख्यमंत्री इन वर्गों को पत्र लिखकर भी यह आग्रह कर रहे हैं कि मेरा मास्क-मेरी सुरक्षा और मेरी होली मेरे घर के अभियान में सहयोग प्रदान करें।   मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण की चैन तोड़ने के लिए यदि अन्य आवश्यक कदम उठाने होंगे, तो अवश्य उठाए जाएंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा जागरूकता अभियान में सभी का सहयोग आवश्यक है। आर्थिक गतिविधियां संचालित होती रहेंगी, लेकिन संक्रमण को रोकना राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। जहां एक और उपचार और अन्य व्यवस्थाओं को सुनिश्चित किया जा रहा है वहीं नागरिकों के बीच यह संदेश पहुंचाया जा रहा है कि स्वयं के हित में, समाज के हित में, राज्य के हित में और देश के हित में फेस मास्क का अवश्य उपयोग करें। अन्य सावधानियों का भी पालन करें।   मुख्यमंत्री चौहान ने बुधवार को कोरोना संक्रमण के संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों से अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त की। इसके अनुसार करीब 1700 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। इंदौर में इनकी संख्या 450 और भोपाल में 385 है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के सभी स्थानों विशेष रूप से इंदौर और भोपाल इन दोनों नगरों में आवश्यक सावधानियां अपनाना होंगी।

Dakhal News

Dakhal News 24 March 2021


bhopal,Transport Minister Rajput, distributed masks , Mera Mask-Mere Suraksha

भोपाल। परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने बुधवार को आई.एस.बी.टी. बस स्टेण्ड पर बसों का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने यात्रियों, कंडक्टर और ड्रायवर को मास्क भी वितरित किए। साथ ही राज्य शासन द्वारा चलाये गये ''मेरा मास्क-मेरी सुरक्षा'' का संदेश दिया गया। परिवहन मंत्री ने बताया कि अधिकांश यात्री मास्क लगाए हुए थे। उन्होंने कहा कि कोरोना के फैलते संक्रमण को रोकने के लिए पिछले माह बसों में यात्रियों के लिए मास्क अनिवार्य किया गया था। मुझे आज इस बात का संतोष रहा कि अधिकांश यात्री, बस ड्रायवर एवं कंडक्टर मास्क पहनें हुए थे।   छ: यात्री बसों का किया निरीक्षण परिवहन मंत्री राजपूत ने आई.एस.बी.टी. बस स्टॉप पर भोपाल से सिलवानी जाने वाली बस क्रमांक एम.पी.-09-9259, वर्मा ट्रेवल्स की भोपाल से इंदौर जाने वाली बस क्रमांक एम.पी-04-ए-1169, मालवा एक्सप्रेस की बस क्रमांक एम.पी-04-पीए-2847 एवं भोपाल से पचमढ़ी जाने वाली बस क्रमांक एम.पी-04-पीए-611 बसों के अलावा मंडीदीप से गांधी नगर के मध्य भोपाल लिंक एक्सप्रेस की रेड बस टी.आर.4 क्रमांक एम.पी.04-पीए-3866 का निरीक्षण किया। मंत्री राजपूत ने सिटी बस के वाहन चालक को मास्क पहनाया। मंत्री राजपूत ने कहा कि यात्री बसों में एक साथ कई लोग यात्रा करते है, जिससे कोरोना फैलने का ज्यादा खतरा रहता है। इसलिये बसों में यात्री, कंडक्टर एवं ड्रायवर के लिये मास्क अनिवार्य किया गया है।   चेतावनी समझे या समझाईश परिवहन मंत्री ने कहा कि यात्रियों की जान के साथ कोई खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं होगा। आज मै सिर्फ मास्क वितरित कर रहा हूं। अगली बार बस चेंकिग के दौरान बस का परमिट, बीमा, एवं फिटनेस की चेकिंग भी की जाएगी, साथ ही कोई भी यात्री, ड्रायवर अथवा कंडक्टर बिना मास्क के मिला तो बस मालिक के विरूद्ध कार्रवाई करेंगे। मंत्री राजपूत ने कहा कि जब-तक कोरोना संक्रमण खतम नहीं हो जाता बस मालिक मास्क को भी आवश्यक प्रपत्र समझे।   ओला प्रभावित किसानों को मिलेगा मुआवजा राजस्व मंत्री राजपूत ने कहा कि पिछले दिनों हुई ओला वृष्टि से फसलों को हुई क्षति के आंकलन के निर्देश प्रमुख सचिव राजस्व को दिये है। आंकलन की कार्रवाई की जा रही है। क्षति का सम्पूर्ण आंकलन होने के बाद किसानों को मुआवजा राशि दी जाएगी।

Dakhal News

Dakhal News 24 March 2021


bhopal, CM Shivraj planted, rubber plant,smart garden

भोपाल।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधरोपण करने के संकल्प के क्रम में सोमवार को भोपाल के स्मार्ट उद्यान में रबड़ के पौधे का रोपण किया। इसके अलावा मुख्यमंत्री निवास पर भी उन्होंने पीपल का पौधा लगाया। इस दौरान उन्होंने नागरिकों से पौधरोपण करने की अपील भी की। बता दें कि सीएम शिवराज नर्मदा जयंती के दिन से प्रतिदिन पौधरोपण कर रहे हैं।   मुख्यमंत्री ने ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी साझा करते हुए कहा है कि आज मैंने भोपाल के स्मार्ट पार्क में रबर का पौधा लगाया है। रबर का पौधा वायु को शुद्ध करने में बहुत उपयोगी होता है। पौधे लगाने का सुख सचमुच में अद्भुत और अपूर्व है। जीवन रोपने जैसा सुख इससे मिलता है। आप से भी पौधे लगाइये और धरती को हरा-भरा बनाने में योगदान दीजिये।

Dakhal News

Dakhal News 22 March 2021


bhopal,Agreement between ,MP-UP on Ken-Betwa Link Project, presence of PM Modi

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में विश्व जल दिवस के अवसर पर सोमवार को केन-बेतवा लिंक परियोजना को लेकर मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश के बीच समझौता हो गया है। इस दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्यक्रम से जुड़े मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उत्तप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये।   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व जल दिवस के मौके पर रिमोट का बटन दबाकर जल शक्ति अभियान के तहत ‘कैच द रैन’ आंदोलन का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल स्थित मंत्रालय से वीसी के माध्यम से इस कार्यक्रम से जुड़े। प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि वर्षा जल से संरक्षण के साथ ही हमारे देश में नदी जल के प्रबंधन पर भी दशकों से चर्चा होती रही है। देश को पानी संकट से बचाने के लिए इस दिशा में अब तेजी से कार्य करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि केन-बेतवा लिंक प्रोजेक्ट भी इसी विजन का हिस्सा है। आज जब हम जब तेज विकास के लिए प्रयास कर रहे हैं, तो ये वाटर सिक्योरिटी और वाटर मैनेजमेंट के बिना संभव ही नहीं है। भारत के विकास का विजन, भारत की आत्मनिर्भरता का विजन, हमारे जल स्रोतों पर निर्भर है, हमारी वाटर कनेक्टीविटी निर्भर है। कैच द रैन की शुरुआत के साथ ही केन-बेतबा लिंक नहर के लिए भी बहुत बड़ा कदम उठाया गया है। अटल जी ने उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के लाखों परिवारों के हित में जो सपना देखा था, उसे साकार करने के लिए ये समझौता अहम है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री, भाजपा के पितृपुरुष और हमारे मार्गदर्शक श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी ने राज्यों के विकास और कृषि क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने के लिए नदियों को आपस में जोडऩे का जो सपना देखा था, उसे पूर्ण करने की शुरुआत आज होने जा रही है। इस ऐतिहासिक परियोजना में दाऊधन बाँध बनाकर केन और बेतवा नदी को नहर के द्वारा जोड़ा जाएगा तथा लोअर ओर्र परियोजना, कोठा बैराज और बीना संकुल बहुउद्देश्यीय परियोजना के माध्यम से केन नदी के पानी को बेतवा नदी में पहुँचाया जाएगा। केन-बेतवा परियोजना से प्रतिवर्ष 10.62 लाख हे. कृषि क्षेत्र में सिंचाई, लगभग 62 लाख लोगों को पेयजल आपूर्ति और 103 मेगावाट जलविद्युत का उत्पादन होगा। मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत को इस अवसर पर सादर धन्यवाद देता हूँ।

Dakhal News

Dakhal News 22 March 2021


bhopal,Agreement between ,MP-UP on Ken-Betwa Link Project, presence of PM Modi

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में विश्व जल दिवस के अवसर पर सोमवार को केन-बेतवा लिंक परियोजना को लेकर मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश के बीच समझौता हो गया है। इस दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्यक्रम से जुड़े मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उत्तप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये।   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व जल दिवस के मौके पर रिमोट का बटन दबाकर जल शक्ति अभियान के तहत ‘कैच द रैन’ आंदोलन का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल स्थित मंत्रालय से वीसी के माध्यम से इस कार्यक्रम से जुड़े। प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि वर्षा जल से संरक्षण के साथ ही हमारे देश में नदी जल के प्रबंधन पर भी दशकों से चर्चा होती रही है। देश को पानी संकट से बचाने के लिए इस दिशा में अब तेजी से कार्य करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि केन-बेतवा लिंक प्रोजेक्ट भी इसी विजन का हिस्सा है। आज जब हम जब तेज विकास के लिए प्रयास कर रहे हैं, तो ये वाटर सिक्योरिटी और वाटर मैनेजमेंट के बिना संभव ही नहीं है। भारत के विकास का विजन, भारत की आत्मनिर्भरता का विजन, हमारे जल स्रोतों पर निर्भर है, हमारी वाटर कनेक्टीविटी निर्भर है। कैच द रैन की शुरुआत के साथ ही केन-बेतबा लिंक नहर के लिए भी बहुत बड़ा कदम उठाया गया है। अटल जी ने उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के लाखों परिवारों के हित में जो सपना देखा था, उसे साकार करने के लिए ये समझौता अहम है।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री, भाजपा के पितृपुरुष और हमारे मार्गदर्शक श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी ने राज्यों के विकास और कृषि क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने के लिए नदियों को आपस में जोडऩे का जो सपना देखा था, उसे पूर्ण करने की शुरुआत आज होने जा रही है। इस ऐतिहासिक परियोजना में दाऊधन बाँध बनाकर केन और बेतवा नदी को नहर के द्वारा जोड़ा जाएगा तथा लोअर ओर्र परियोजना, कोठा बैराज और बीना संकुल बहुउद्देश्यीय परियोजना के माध्यम से केन नदी के पानी को बेतवा नदी में पहुँचाया जाएगा। केन-बेतवा परियोजना से प्रतिवर्ष 10.62 लाख हे. कृषि क्षेत्र में सिंचाई, लगभग 62 लाख लोगों को पेयजल आपूर्ति और 103 मेगावाट जलविद्युत का उत्पादन होगा। मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत को इस अवसर पर सादर धन्यवाद देता हूँ।

Dakhal News

Dakhal News 22 March 2021


bhopal,Schools will not open , MP from April 1, CM signs indicated, Sankalp Abhiyan

भोपाल। मप्र में लगातार कोरोना के बढ़ते संक्रमण से सरकार चिंतित है। रविवार को भोपाल में रिकार्ड तोड़ 382 मरीज मिले हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मध्यप्रदेश में 1 अप्रैल से स्कूल नहीं खुलेंगे, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसके संकेत दिए हैं। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए ऐसी परिस्थिति में स्कूल नहीं खोले जा सकते हैं।   रविवार को मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज इंदौर, भोपाल और जबलपुर में लॉकडाउन है। कोविड19 की लहर बहुत तेज़ी से बढ़ रही है। कल 1,332 मामले आये हैं, अनेक जिलों में संक्रमण तेज़ी से फैल रहा जिसे रोकना ज़रूरी है। मैं नहीं चाहता कि हम आर्थिक गतिविधियों को बाधित करें, लेकिन कोरोना की बढ़ती रफ्तार मन में चिंता पैदा कर रही है। कोविड19 से जनता को सुरक्षित रखने में सरकार कोई कसर नहीं छोड़ रही है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हमें जनता का सहयोग चाहिए। उन्होंने कहा कि सहयोग केवल इतना कि सभी मास्क लगाएँ और गाइडलाइंस का पालन करें क्योंकि कोरोना से लडऩे का सबसे प्रभावी उपाय यही है। इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश में जैसे कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। लगातार कोरोना केस में बढ़ोतरी हो रही है। ऐसी परिस्थिति में स्कूल को खोला जाना सही नहीं है।   23 मार्च को संकल्प अभियान प्रारंभ होगा वही बढ़ते पॉजिटिव केस पर बड़ा बयान देते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के लिए 23 मार्च को संकल्प अभियान प्रारंभ होगा। जहां सभी शहरों में सायरन बजाया जाएगा। सीएम शिवराज ने कहा कि प्रात: 11:00 और शाम 7:00 बजे सायरन बजेगा। इस दौरान 2 मिनट के लिए जो जहां खड़ा है, वही रुकेगा। आमजन 2 मिनट का संकल्प लेंगे। जिसमें मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना शामिल है। उन्होंने कहा कि दुकानों के सामने ग्राहक के खड़े होने के लिए गोले बनाए जाएंगे, मुख्यमंत्री खुद इस कार्य को देखेंगे। लोग निर्धारित समय पर अपने स्थान पर रुक जाएंगे और मास्क लगाने का, सामाजिक दूरी बनाए रखने का संकल्प लेंगे ताकि संक्रमण को रोका जा सके। इसके अलावा सीएम शिवराज ने कहा कि मेरी होली मेरे घर के नारे को त्यौहार पर दिनचर्या में उतारेंगे। सोमवार को मुख्यमंत्री चौहान प्रदेश के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप से चर्चा भी करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 21 March 2021


bhopal,  winds of change in Bengal, public wants freedom ,Mamata Didi

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में दो चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे। इससे पहले उन्होंने ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि बंगाल में बदलाव की बयार बह निकली है। वहां की जनता ममता दीदी के कुशासन से मुक्ति चाहती है।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार सुबह ट्वीट के माध्यम से कहा है कि ‘बंगाल में बदलाव की बयार बह निकली है! जनता ममता दीदी के कुशासन और टीएमसी की गुंडागर्दी से अब मुक्ति चाहती है। आज मोयना विधानसभा क्षेत्र के गजेंद्र प्राथमिक विद्यालय मैदान और खेजुरी विधानसभा क्षेत्र के बंसगौरा बस स्टैंड में भाजपा द्वारा आयोजित सभाओं में भाग लूंगा।’   बता दें कि मुख्यमंत्री शुक्रवार सुबह बंगाल पहुंच चुके हैं और वे मोयना विधानसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार अशोक डिंडा के समर्थन में गजेंद्र प्राथमिक विद्यालय मैदान में आयोजित जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद वे दोपहर 2.30 बजे खेजुरी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार शांतनु प्रमाणिक के समर्थन में बंसगौरा बस स्टैंड पर आमसभा में शामिल  होंगे।

Dakhal News

Dakhal News 19 March 2021


bhopal,  winds of change in Bengal, public wants freedom ,Mamata Didi

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में दो चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे। इससे पहले उन्होंने ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि बंगाल में बदलाव की बयार बह निकली है। वहां की जनता ममता दीदी के कुशासन से मुक्ति चाहती है।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार सुबह ट्वीट के माध्यम से कहा है कि ‘बंगाल में बदलाव की बयार बह निकली है! जनता ममता दीदी के कुशासन और टीएमसी की गुंडागर्दी से अब मुक्ति चाहती है। आज मोयना विधानसभा क्षेत्र के गजेंद्र प्राथमिक विद्यालय मैदान और खेजुरी विधानसभा क्षेत्र के बंसगौरा बस स्टैंड में भाजपा द्वारा आयोजित सभाओं में भाग लूंगा।’   बता दें कि मुख्यमंत्री शुक्रवार सुबह बंगाल पहुंच चुके हैं और वे मोयना विधानसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार अशोक डिंडा के समर्थन में गजेंद्र प्राथमिक विद्यालय मैदान में आयोजित जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद वे दोपहर 2.30 बजे खेजुरी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार शांतनु प्रमाणिक के समर्थन में बंसगौरा बस स्टैंड पर आमसभा में शामिल  होंगे।

Dakhal News

Dakhal News 19 March 2021


bhopal, Kamal Nath ,again surrounded the government, law and order

भोपाल। छतरपुर ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष के बाद विदिशा जिले की लटेरी तहसील की ग्राम पंचायत मुरवास की महिला सरपंच आशा बाल्मीकि के पति संत बाल्मीकि की हत्या मामले में पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर एक बार फिर सरकार का घेराव किया है। उन्होंने सीएम शिवराज पर तंज कसते हुए कहा है कि सरकार चलाने और मुंह चलाने के बड़ा फर्क है। प्रदेश में माफियाओं का कहर जारी है।   कमलनाथ ने शुक्रवार सुबह एक के बाद लगातार कई ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि शिवराज जी, आपके गृह जिले विदिशा के लटेरी ब्लॉक की मुरवास पंचायत के दलित सरपंच पति की वन माफिय़ाओं ने निर्मम हत्या कर दी। प्रदेश में माफियाओं का क़हर, आतंक बदस्तूर जारी है। छतरपुर में हमारे ब्लॉक अध्यक्ष की हत्या, रायसेन में करनी सेना के अध्यक्ष की हत्या, विदिशा की यह घटना बता रही है कि माफिया, अपराधी तत्व ना ज़मीन में गढ़ रहे हैं, ना टंग रहे हैं, ना लटक रहे हैं बल्कि निर्दोष लोगों पर, सुरक्षा कर्मियों पर हमले कर उन्हें रोज लटका रहे हैं, टांग रहे हैं?    कमलनाथ ने सीएम शिवराज पर हमला बोलते हुए कहा कि ये आपके जुमले कब हकीकत में बदलेंगे, कब माफिया प्रदेश छोड़ कर भागेंगे? मुँह चलाना बड़ा आसान है, सरकार चलाने में और मुँह चलाने में बड़ा अंतर है। हमने अपनी सरकार में माफियाओं, अपराधी तत्वों का प्रदेश में आतंक समाप्त किया था, उन्हें नेस्तनाबूद किया था। इस घटना के दोषी लोगों पर कड़ी कार्यवाही हो, पीडि़त परिवार को इंसाफ मिले।    गौरतलब है कि गुरूवार दोपहर को सरपंच पति की ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या कर दी। घटना के बाद आरोपित रिजवान ट्रैक्टर लेकर भागने का प्रयास कर रहा था। इस दौरान पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। हत्या का कारण मृतक द्वारा आरोपित और उसके पिता की वन भूमि पर कब्जे की शिकायत को बताया जा रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 19 March 2021


bhopal, Chief Minister Shivraj, planted neem plant , residence

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन एक पौधा लगाने के संकल्प के क्रम में शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास परिसर में नीम का पौधा लगाया। इस अवसर पर उन्होंने नागरिकों से पौधरोपण करने का आह्वान भी किया।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से इसकी जानकारी साझा करते हुए कहा है कि पेड़-पौधे हमें जीवन देते हैं और हमारे संसार को सुंदर व समृद्ध बनाते हैं। धरा की समृद्धि के लिए प्रतिदिन पौधे लगाने के संकल्प के क्रम में आज मैंने निवास पर नीम का पौधा लगाया। आपसे भी आग्रह है कि विशिष्ट अवसरों पर पौधे अवश्य लगायें और धरती को अधिक हरा-भरा बनायें। उन्होंने कहा कि नीम के पौधे के अनेक औषधीय गुण हैं। यह संक्रमण दूर करता है। दंत रोगों के उपचार में इसका उपयोग है।

Dakhal News

Dakhal News 19 March 2021


bhopal,Former CM Kamal Nath, got Corona

भोपाल। मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने आज गुरुवार सुबह भोपाल के शासकीय हमीदिया अस्पताल पहुंचकर कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगवाया। इस अवसर पर उन्होंने आम जनता से भी अपील करते हुए कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए सभी वैक्सीन लगवाएं। इस अवसर पर उनके साथ पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, विधायक आरिफ मसूद, मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा साथ में थे। इस अवसर पर उनके सलाहकार आरके मिगलानी ने भी कोरोना वैक्सीन लगवायी।   वैक्सीन लगवाने के बाद मीडिया से बातचीत में कमलनाथ ने कहा कि सबसे पहले फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोरोना वैक्सीन का ड़ोज लग रहा था। हमारा नंबर नहीं आया था इसलिए हमने नहीं लगवाई और जैसे ही हमारा नंबर आया, मैंने आज ख़ुद अस्पताल लाकर कोरोना वैक्सीन का ड़ोज लगवाया है। बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों पर उन्होंने कहा कि जिस तरह से मध्यप्रदेश में कोरोना के आंकड़े सामने आए हैं, देश में कोरोना के बढ़ते आंकड़े के मामलों को लेकर महाराष्ट्र के बाद मध्य प्रदेश का नंबर आया है। निश्चित तौर पर यह भयावह है, हमें कोरोना की गंभीरता को समझना होगा। लेकिन आज मध्यप्रदेश में मेलों का आयोजन हो रहा है, मुख्यमंत्री ख़ुद भीड़ भरे कार्यक्रमों में जा रहे हैं। लगातार नियमों का उल्लंघन हो रहा है। एक तरफ़ जहाँ आमजन के लिए 10 बजे के बाद तमाम प्रतिबंध है, वही प्रदेश में शराब की दुकानें देर रात तक चालू है, यह सब हमें सोचना होगा।   कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार में कानून व्यवस्था को भी कोरोना हो गया है। लगातार हत्याएं, अपराध, अपहरण व दरिंदगी की घटनाएं हो रही है। छतरपुर के हमारे ब्लॉक अध्यक्ष की सरेआम हत्या कर दी गयी, लगातार अपराधिक घटनाएं घट रही है, यह सब चिंता का विषय है। आज बहन -बेटियों के साथ प्रतिदिन दरिंदगी की घटनाएं घट रही है।   किसानों को लेकर कमलनाथ ने कहा कि आज हमारे देश का किसान परेशान है, वह लगातार अपनी मांगों को लेकर सडक़ों पर आंदोलन कर रहा है। 1 वर्ष पूर्व 20 मार्च 2020 को मेरी  सरकार गिरी थी, मैंने तब भी कहा था कि आज के बाद कल आता है। निश्चित तौर पर मुझे प्रदेश की जनता पर पूर्ण विश्वास है, वह इस सच्चाई को समझेगी कि मैंने अपनी सरकार को बचाने के लिए मध्य प्रदेश की राजनीति को कलंकित होने नहीं दिया, मैंने सौदे की राजनीति नहीं की। मध्य प्रदेश सरकार के लगातार लिए जा रहे कर्ज के सवाल पर उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश की सरकार हर क्षेत्र में कर्जदार बनती जा रही है, चाहे राजनीतिक क्षेत्र की बात करें या आर्थिक क्षेत्र की बात करें।

Dakhal News

Dakhal News 18 March 2021


bhopal, No poor will remain,Madhya Pradesh soil ,without a roof,Chief Minister Shivraj

धार। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को मिशन ग्रामोदय के तहत धार जिले में आयोजित भव्य समारोह में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अंतर्गत नवनिर्मित एक लाख 25 हजार आवासों में हितग्राहियों को गृह प्रवेश कराया। कार्यक्रम में 477.40 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं आपको फिर विश्वास दिलाता हूं कि मध्यप्रदेश की धरती पर कोई गरीब बिना पक्की छत के नहीं रहेगा, सबके मकान बनाए जाएंगे। यही मिशन ग्रामोदय है। गांव में रहने वाले भाई-बहनों की बुनियादी जरूरतें पूरी करने का यह अभियान जारी रहेगा। कार्यक्रम में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ग्रामीणों को विकास की सौगात देने धार पहुंचे, जहां जिले की बहनों ने बाघ प्रिंट के वस्त्र, तुलसी का पौधा और काश्तकार भाइयों ने जैविक उत्पादों की टोकरी भेंट कर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। धार में आयोजित कार्यक्रम में सवा लाख ग्रामीण परिवारों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने गृह प्रवेश कराया। इन आवासों के निर्माण में 1,562 करोड़ रूपये की लागत आई है। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना के पांच लाख हितग्राहियों को दो हजार करोड़ रुपये की राशि देने की प्रक्रिया की शुरुआत की गई। इसी के साथ उन्होंने 6,000 सामुदायिक स्वच्छता परिसरों, 2,000 शांतिधामों का लोकार्पण किया।   धार में आयोजित मिशन ग्रामोदय कार्यक्रम का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कन्यापूजन और दीप प्रज्जवलित कर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आज का दिन आनंद का दिन है। मेरे सवा लाख गरीब भाई-बहनों का आज नए घर में प्रवेश हो रहा है। मैं आप सभी को बधाई देता हूं। कोविड-19 काल में हमने एक साल में 3 लाख गरीबों के मकान बनाकर तैयार किए हैं।   मुख्यमंत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि धार में सर्व सुविधायुक्त बस स्टैण्ड बनाया जाएगा, पीथमपुर में कॉलेज बिल्डिंग बनेगी। धार की और भी मांगों पर विचार करके फैसला लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 26 लाख घरों में इसी साल 31 मार्च तक नल कनेक्शन दिया जाएगा और आने वाले तीन साल में एक करोड़ दो लाख घरों में नल कनेक्शन से शुद्ध पीने के पानी की व्यवस्था कर देंगे।    मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना में मध्यप्रदेश देश में नंबर-1 है। आज मैं मध्यप्रदेश की अपनी बहनों को कहना चाहता हूं तीन साल के अंदर हर गांव में पीने का पानी पाइपलाइन बिछाकर घर में नल लगाकर दिया जाएगा।   उन्होंने कहा कि किसान भाइयों को फसल बीमा का पूरा पैसा दिलवाया जायेगा। जितना नुकसान हुआ है, पूरी भरपाई होगी। यदि खरीफ की फसल का कर्जा किसान भाई 28 मार्च तक जमा नहीं कर पा रहे हैं तो इसकी तारीख भी बढ़ाई जाएगी। स्व-सहायता समूहों की हर बहन को कम से कम 10 हजार रुपये की आमदनी हो, यह हमारा संकल्प है। उनके लिए हर माह पैसा देने की व्यवस्था कर रहे हैं। अब स्व-सहायता समूहों को बैंक लिंकेज से दिया जाने वाला पैसा केवल 2 प्रतिशत ब्याज पर दिया जाएगा। ब्याज का बाकी पैसा मध्यप्रदेश सरकार भरेगी।   किसान भाइयों, 23 मार्च को फसल नुकसान की राहत राशि और मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के 2,000 करोड़ रुपये किसानों के खातों में डाले जाएंगे। उन्होंने कहा कि 1 लाख 20 हजार करोड़ रुपया विभिन्न योजनाओं को मिलाकर गरीब के खाते में आया है। यही तो ग्रामोदय है, गरीब का उदय है।   कार्यक्रम में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण) के तहत सवा लाख आवासों का गृह प्रवेश आज मध्यप्रदेश में संपन्न हो रहा है। गरीब भाई-बहनों को ये घर दिए जा रहे हैं। ये उनके जीवन का सुखद क्षण हैं, मैं उन्हें बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

Dakhal News

Dakhal News 18 March 2021


bhopal, No poor will remain,Madhya Pradesh soil ,without a roof,Chief Minister Shivraj

धार। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को मिशन ग्रामोदय के तहत धार जिले में आयोजित भव्य समारोह में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अंतर्गत नवनिर्मित एक लाख 25 हजार आवासों में हितग्राहियों को गृह प्रवेश कराया। कार्यक्रम में 477.40 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं आपको फिर विश्वास दिलाता हूं कि मध्यप्रदेश की धरती पर कोई गरीब बिना पक्की छत के नहीं रहेगा, सबके मकान बनाए जाएंगे। यही मिशन ग्रामोदय है। गांव में रहने वाले भाई-बहनों की बुनियादी जरूरतें पूरी करने का यह अभियान जारी रहेगा। कार्यक्रम में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ग्रामीणों को विकास की सौगात देने धार पहुंचे, जहां जिले की बहनों ने बाघ प्रिंट के वस्त्र, तुलसी का पौधा और काश्तकार भाइयों ने जैविक उत्पादों की टोकरी भेंट कर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। धार में आयोजित कार्यक्रम में सवा लाख ग्रामीण परिवारों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने गृह प्रवेश कराया। इन आवासों के निर्माण में 1,562 करोड़ रूपये की लागत आई है। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना के पांच लाख हितग्राहियों को दो हजार करोड़ रुपये की राशि देने की प्रक्रिया की शुरुआत की गई। इसी के साथ उन्होंने 6,000 सामुदायिक स्वच्छता परिसरों, 2,000 शांतिधामों का लोकार्पण किया।   धार में आयोजित मिशन ग्रामोदय कार्यक्रम का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कन्यापूजन और दीप प्रज्जवलित कर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आज का दिन आनंद का दिन है। मेरे सवा लाख गरीब भाई-बहनों का आज नए घर में प्रवेश हो रहा है। मैं आप सभी को बधाई देता हूं। कोविड-19 काल में हमने एक साल में 3 लाख गरीबों के मकान बनाकर तैयार किए हैं।   मुख्यमंत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि धार में सर्व सुविधायुक्त बस स्टैण्ड बनाया जाएगा, पीथमपुर में कॉलेज बिल्डिंग बनेगी। धार की और भी मांगों पर विचार करके फैसला लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 26 लाख घरों में इसी साल 31 मार्च तक नल कनेक्शन दिया जाएगा और आने वाले तीन साल में एक करोड़ दो लाख घरों में नल कनेक्शन से शुद्ध पीने के पानी की व्यवस्था कर देंगे।    मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना में मध्यप्रदेश देश में नंबर-1 है। आज मैं मध्यप्रदेश की अपनी बहनों को कहना चाहता हूं तीन साल के अंदर हर गांव में पीने का पानी पाइपलाइन बिछाकर घर में नल लगाकर दिया जाएगा।   उन्होंने कहा कि किसान भाइयों को फसल बीमा का पूरा पैसा दिलवाया जायेगा। जितना नुकसान हुआ है, पूरी भरपाई होगी। यदि खरीफ की फसल का कर्जा किसान भाई 28 मार्च तक जमा नहीं कर पा रहे हैं तो इसकी तारीख भी बढ़ाई जाएगी। स्व-सहायता समूहों की हर बहन को कम से कम 10 हजार रुपये की आमदनी हो, यह हमारा संकल्प है। उनके लिए हर माह पैसा देने की व्यवस्था कर रहे हैं। अब स्व-सहायता समूहों को बैंक लिंकेज से दिया जाने वाला पैसा केवल 2 प्रतिशत ब्याज पर दिया जाएगा। ब्याज का बाकी पैसा मध्यप्रदेश सरकार भरेगी।   किसान भाइयों, 23 मार्च को फसल नुकसान की राहत राशि और मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के 2,000 करोड़ रुपये किसानों के खातों में डाले जाएंगे। उन्होंने कहा कि 1 लाख 20 हजार करोड़ रुपया विभिन्न योजनाओं को मिलाकर गरीब के खाते में आया है। यही तो ग्रामोदय है, गरीब का उदय है।   कार्यक्रम में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण) के तहत सवा लाख आवासों का गृह प्रवेश आज मध्यप्रदेश में संपन्न हो रहा है। गरीब भाई-बहनों को ये घर दिए जा रहे हैं। ये उनके जीवन का सुखद क्षण हैं, मैं उन्हें बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

Dakhal News

Dakhal News 18 March 2021


bhopal, Major action , senior Congress leader, Manak Aggarwal, expelled from the party

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी की अनुशासन समिति की बैठक सोमवार को समिति के अध्यक्ष भारत सिंह (पूर्व गृह मंत्री) की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में मप्र कांग्रेस कमेटी ने वरिष्ठ नेता माणक अग्रवाल के खिलाफ अनुशासनात्मक कदम उठाते हुए उनकी प्राथमिक सदस्यता छह साल के लिए निलंबित कर दी है। यह निर्णय तत्काल प्रभाव से लागू होगा।   बैठक में मप्र कांग्रेस कमेटी को बीते 17 फरवरी को जिला कांग्रेस कमेटी होशंगाबाद की ओर से मानक अग्रवाल के संबंध में तथ्यात्मक विवरण सहित पत्र प्राप्त हुआ। पत्र में उनके विगत आचरणों के संबंध में विस्तृत उल्लेख किया गया है। मानक अग्रवाल ने विगत दिनों दिये बयान जो पार्टी की रीति-नीति के खिलाफ और उनके वक्तव्य तथा कार्यशैली पूरी तरह अनुशासनहीनता की श्रेणी में आते हैं। कांग्रेस की अनुशासन समिति की बैठक में संपूर्ण विवरण पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई। मानक अग्रवाल के इन अनुशासनहीन कार्यों का कदाचरण के संबंध में चर्चा उपरांत कांग्रेस अनुशासन समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि उन्हें 6 वर्ष के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित किया जाता है।

Dakhal News

Dakhal News 15 March 2021


bhopal, Major action , senior Congress leader, Manak Aggarwal, expelled from the party

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी की अनुशासन समिति की बैठक सोमवार को समिति के अध्यक्ष भारत सिंह (पूर्व गृह मंत्री) की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में मप्र कांग्रेस कमेटी ने वरिष्ठ नेता माणक अग्रवाल के खिलाफ अनुशासनात्मक कदम उठाते हुए उनकी प्राथमिक सदस्यता छह साल के लिए निलंबित कर दी है। यह निर्णय तत्काल प्रभाव से लागू होगा।   बैठक में मप्र कांग्रेस कमेटी को बीते 17 फरवरी को जिला कांग्रेस कमेटी होशंगाबाद की ओर से मानक अग्रवाल के संबंध में तथ्यात्मक विवरण सहित पत्र प्राप्त हुआ। पत्र में उनके विगत आचरणों के संबंध में विस्तृत उल्लेख किया गया है। मानक अग्रवाल ने विगत दिनों दिये बयान जो पार्टी की रीति-नीति के खिलाफ और उनके वक्तव्य तथा कार्यशैली पूरी तरह अनुशासनहीनता की श्रेणी में आते हैं। कांग्रेस की अनुशासन समिति की बैठक में संपूर्ण विवरण पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई। मानक अग्रवाल के इन अनुशासनहीन कार्यों का कदाचरण के संबंध में चर्चा उपरांत कांग्रेस अनुशासन समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि उन्हें 6 वर्ष के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित किया जाता है।

Dakhal News

Dakhal News 15 March 2021


bhopal, Major action , senior Congress leader, Manak Aggarwal, expelled from the party

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी की अनुशासन समिति की बैठक सोमवार को समिति के अध्यक्ष भारत सिंह (पूर्व गृह मंत्री) की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में मप्र कांग्रेस कमेटी ने वरिष्ठ नेता माणक अग्रवाल के खिलाफ अनुशासनात्मक कदम उठाते हुए उनकी प्राथमिक सदस्यता छह साल के लिए निलंबित कर दी है। यह निर्णय तत्काल प्रभाव से लागू होगा।   बैठक में मप्र कांग्रेस कमेटी को बीते 17 फरवरी को जिला कांग्रेस कमेटी होशंगाबाद की ओर से मानक अग्रवाल के संबंध में तथ्यात्मक विवरण सहित पत्र प्राप्त हुआ। पत्र में उनके विगत आचरणों के संबंध में विस्तृत उल्लेख किया गया है। मानक अग्रवाल ने विगत दिनों दिये बयान जो पार्टी की रीति-नीति के खिलाफ और उनके वक्तव्य तथा कार्यशैली पूरी तरह अनुशासनहीनता की श्रेणी में आते हैं। कांग्रेस की अनुशासन समिति की बैठक में संपूर्ण विवरण पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई। मानक अग्रवाल के इन अनुशासनहीन कार्यों का कदाचरण के संबंध में चर्चा उपरांत कांग्रेस अनुशासन समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि उन्हें 6 वर्ष के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित किया जाता है।

Dakhal News

Dakhal News 15 March 2021


bhopal, Diggi supports ,bank strike, Modi-Shah wants,ruin public sector

भोपाल। सरकारी बैंकों के प्रस्ताविक निजीकरण को लेकर देश भर में 15 और 16 मार्च को सभी बैंकों के कर्मचारी और अधिकारी हड़ताल पर हैं। बैंकों की इस हड़ताल को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी समर्थन में आगे  आ गए हैं। उन्होंने कहा है कि मोदी-शाह देश के सार्वजनिक क्षेत्र को बर्बाद कर देंगे।   पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने बैंक कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल का समर्थन किया है। उन्होंने अंग्रेजी में ट्वीट करते हुए कहा कि मैं दो सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के खिलाफ बैंक कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल का समर्थन करता हूं। उन्होंने लिखा है कि मोदी-शाह और भाजपा मूलत: और विचारधारा के स्तर पर सार्वजनिक क्षेत्र के खिलाफ हैं और वे सार्वजनिक क्षेत्र की संभी संस्थाओं को खत्म कर देना चाहते हैं।   वहीं, यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस मध्यप्रदेश के कोऑर्डिनेटर वीके शर्मा ने बताया कि बैंकों के प्रस्तावित निजीकरण के विरोध में देशभर के दस लाख बैंक कर्मचारी एवं अधिकारी 15 एवं 16 मार्च को राष्ट्रव्यापी बैंक हड़ताल में शामिल हैं। हड़ताल के कारण सभी सरकारी क्षेत्र के बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों एवं पुरानी निजी क्षेत्र के बैंकों में काम काज ठप्प है। राजधानी भोपाल में जिला प्रशासन द्वारा कोरोना महामारी के चलते सार्वजनिक स्थानों पर रैली, धरना, सभा आदि के लिए अनुमति नही दी। इस कारण सभी बैंकों के हड़ताली बैंक कर्मी एक जगह एकत्रित ना होकर अपनी अपनी बैंकों के प्रशासनिक कार्यालयों के सामने प्रातः 10:30 बजे मास्क पहन कर एकत्रित हुए एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बैंकों के निजीकरण के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

Dakhal News

Dakhal News 15 March 2021


bhopal, Diggi supports ,bank strike, Modi-Shah wants,ruin public sector

भोपाल। सरकारी बैंकों के प्रस्ताविक निजीकरण को लेकर देश भर में 15 और 16 मार्च को सभी बैंकों के कर्मचारी और अधिकारी हड़ताल पर हैं। बैंकों की इस हड़ताल को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी समर्थन में आगे  आ गए हैं। उन्होंने कहा है कि मोदी-शाह देश के सार्वजनिक क्षेत्र को बर्बाद कर देंगे।   पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने बैंक कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल का समर्थन किया है। उन्होंने अंग्रेजी में ट्वीट करते हुए कहा कि मैं दो सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के खिलाफ बैंक कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल का समर्थन करता हूं। उन्होंने लिखा है कि मोदी-शाह और भाजपा मूलत: और विचारधारा के स्तर पर सार्वजनिक क्षेत्र के खिलाफ हैं और वे सार्वजनिक क्षेत्र की संभी संस्थाओं को खत्म कर देना चाहते हैं।   वहीं, यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस मध्यप्रदेश के कोऑर्डिनेटर वीके शर्मा ने बताया कि बैंकों के प्रस्तावित निजीकरण के विरोध में देशभर के दस लाख बैंक कर्मचारी एवं अधिकारी 15 एवं 16 मार्च को राष्ट्रव्यापी बैंक हड़ताल में शामिल हैं। हड़ताल के कारण सभी सरकारी क्षेत्र के बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों एवं पुरानी निजी क्षेत्र के बैंकों में काम काज ठप्प है। राजधानी भोपाल में जिला प्रशासन द्वारा कोरोना महामारी के चलते सार्वजनिक स्थानों पर रैली, धरना, सभा आदि के लिए अनुमति नही दी। इस कारण सभी बैंकों के हड़ताली बैंक कर्मी एक जगह एकत्रित ना होकर अपनी अपनी बैंकों के प्रशासनिक कार्यालयों के सामने प्रातः 10:30 बजे मास्क पहन कर एकत्रित हुए एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बैंकों के निजीकरण के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

Dakhal News

Dakhal News 15 March 2021


bhopal,Assessing,damage of crops, farmers provide, necessary relief,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कुछ स्थानों पर हुई बेमौसम बारिश को देखते हुए राज्य सरकार ने अधिकारियों को फसलों की क्षति के आकलन के निर्देश दिए हैं। किसानों को आवश्यकतानुसार फसलों की क्षति के आधार पर जरूरी राहत प्रदान की जाएगी। यह जानकारी रविवार को जनसंपर्क अधिकारी अशोक मनवानी ने दी।    अधिकारियों से प्राप्त की जानकारी मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि उन्होंने प्रदेश के कुछ स्थानों पर बेमौसम बारिश और कहीं-कहीं हुई ओलवृष्टि से फसलों को पहुंची क्षति की जानकारी प्राप्त की है और संबंधित जिलों के कलेक्टर्स के साथ ही राजस्व और कृषि विभाग के अधिकारियों से भी चर्चा हुई है।   क्षति के आकलन का कार्य जारी मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिलों में कहीं-कहीं फसलें आड़ी हो गई हैं। क्षति का आकलन किया जा रहा है। संबंधित अधिकारी फील्ड में हैं और सर्वे कार्य कर रहे हैं। किसानों को जैसा नुकसान हुआ है, उन्हें आवश्यक राहत प्रदान की जाएगी।   प्रतिदिन समीक्षा होगी मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि किसानों को हुए नुकसान की जानकारी लेकर प्रतिदिन समीक्षा की जाएगी। संकट के समय राज्य सरकार किसान भाईयों के साथ है। किसानों को राहत देने में विलंब भी नहीं होगा।

Dakhal News

Dakhal News 14 March 2021


bhopal,Union Health Minister, gave assurance,CM Shivraj

भोपाल। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने रविवार को सीएम हाउस पहुंचकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की है। इस दौरान लघु- मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा भी मौजूद रहे। मुलाकात के दौरान सीएम शिवराज ने भोपाल गैस पीडि़तों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा का आग्रह केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से किया है। गैस पीडि़तों को अतिरिक्त सुविधाएं देने का भी आग्रह किया है।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से मुलाकात पर जानकारी ट्वीट कर दी है। उन्होंने ट्वीट कर बताया केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री हर्षवर्धन जी का आज निवास पर आत्मीय स्वागत किया। @AIIMSBhopal में कल उन्होंने कैंसर ट्रीटमेंट सेंटर, कौशल प्रयोगशाला और इम्प्लांट ब्रेकी थैरेपी जैसी सुविधओं का शुभारंभ किया। मैं प्रदेश की जनता की ओर से इसके लिए हृदय से आभार प्रकट करता हूं।   सीएम शिवराज ने बताया कि हमने केन्द्रीय मंत्री हर्षवर्धन जी से एम्स के साथ-साथ भोपाल में गैस पीडि़तों के लिए बने अस्पताल के सुव्यवस्थित संचालन के संबंध में भी चर्चा हुई। उस पर भी फैसला हम लोग मिलकर करेंगे, ताकि उसके इन्फ्रा और उपकरणों का और बेहतर उपयोग कर गैस पीडि़तों की और उत्तम सेवा की जा सके।   इसके अलावा हमने वैक्सीन के और डोज की मांग की है। कोविड19 से बचाने के लिए अभी प्रदेश में वैक्सीनेशन का काम चल रहा है। इसके लिए अभी हमें 81 लाख प्रथम डोज की आवश्यकता है और उसके अगेंस्ट हमको 18 लाख 84 हजार डोज प्राप्त हुई है, बाकी डोज की हमने मांग की है। हमें आश्वासन मिला है कि वैक्सीन के जितने डोज की जरूरत है प्रदेश की इसकी आपूर्ति की जाएगी। सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेश में बढ़ता कोरोना संक्रमण को लेकर हमारी चिंता है, लोग लापरवाही न करें संक्रमण अभी गया नहीं है। सीएम शिवराज ने कहा कि मुझे खुशी है कि माननीय श्री @drharshvardhan जी का सारे मुद्दों पर दृष्टिकोण बहुत सकारात्मक था और उन्होंने हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। मैं अपनी और प्रदेश की जनता की जनता की ओर से पुन: आभार प्रकट करता हूं।

Dakhal News

Dakhal News 14 March 2021


bhopal, Government should give ,immediate relief , farmers affected, unseasonal rains

भोपाल। मध्यप्रदेश में शुक्रवार को देर रात तक कई इलाकों में तेज हवाओं के साथ जोरदार बारिश हुई। इसके साथ ही कई जिलों में ओलावृष्टि भी हुई है। इससे खेतों में खड़ी फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि प्रभावित किसानों को तत्काल राहत देने की मांग की है।    पूर्व सीएम कमलनाथ ने शनिवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि प्रदेश के कई हिस्सों में बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को भारी नुकसान की खबरें सामने आ रही हैं। किसान पहले से ही परेशानी के दौर से गुजर रहा है, ऐसे में इस प्राकृतिक आपदा से उसे और संकटों का सामना करना पड़ेगा। सरकार तत्काल किसान भाइयों को राहत देना प्रारंभ करे।

Dakhal News

Dakhal News 13 March 2021


bhopal, See the skills , artisans who came to Bhopal Haat Haar, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भोपाल हुनरमंदों की कद्र जानता है। हुनर हाट में आए देश के 31 राज्यों के कारीगरों को भोपाल की जनता से भरपूर सराहना मिलेगी। मुख्यमंत्री ने भोपाल वासियों से अपील की कि वे शहर में आए कलाकारों के हुनर को जरूर देखें। मुख्यमंत्री चौहान और केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शनिवार को राजधानी भोपाल के लाल परेड मैदान में आयोजित हुनर हाट का शुभारंभ किया। इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्‍वास सारंग तथा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा भी उपस्थित रहे।   केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने किया हुनर हाट का आयोजन केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित क्राफ्ट, कुज़ीन और कल्चर के संगम हुनर हाट में 31 राज्यों के कलाकार और हस्तशिल्पी अपने उत्पाद लेकर आएं हैं। हाट में कुल 250 स्टॉल लगाए गए, जिनमें 210 विभिन्न उत्पादों के और 40 स्टॉल खान-पान के हैं। मध्यप्रदेश के 15 शिल्पी भी हुनर हाट में भाग ले रहे हैं।   हुनर हाट से बनेंगे आत्म-निर्भर कारीगर और दस्तकार मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मैन ऑफ आइडियाज़ हैं। कोरोना के कठिन काल में उन्होंने आत्म-निर्भर भारत का संकल्प दिया। इससे प्रेरित होते हुए आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश का रोडमेप विकसित कर प्रदेश में कार्य जारी है। आत्म-निर्भर भारत वोकल फॉर लोकल के बिना संभव नहीं हो सकता। लोकल उत्पाद की पहचान कारीगारों पर ही निर्भर है। कारीगारों की कला के प्रकटीकरण का मौका और उनके उत्पादों को बाजार उपलब्ध कराने का हुनर हाट एक सशक्त माध्यम है। ऐसे मंचों से ही आत्म-निर्भर कारीगर और आत्म-निर्भर दस्तकार बन सकेंगे। यह देश की एकता, आपसी मेलजोल और कारीगरों को राष्ट्रीय स्तर पर बाजार उपलब्ध कराने का मौका भी देता है। ऐसे ही प्रयासों से कारीगारों के उत्पादों के पहचान वैश्विक स्तर पर बन सकेगी।   मध्यप्रदेश में प्रतिवर्ष लगे हुनर हाट मुख्यमंत्री चौहान ने केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री नकवी से प्रतिवर्ष मध्यप्रदेश के किसी एक शहर में हुनर हाट आयोजित करने का निवेदन भी किया। उन्होंने कहा कि हस्तशिल्प की भारत में समृद्ध परंपरा रही है। जब पश्चिम के देश कपड़ा निर्माण में आरंभिक अवस्था में थे, तब हमारे कारीगरों ने ढाका की मलमल बना कर अपने हुनर को स्थापित कर दिया था। कारीगरों ने कोरोना काल में भी समाज की बहुत मदद की है। मास्क और पीपीई किट की आपूर्ति में इनका योगदान महत्वपूर्ण रहा।   अल्पसंख्यक विद्यार्थियों की छात्रवृत्तियों के लिए माना आभार मुख्यमंत्री चौहान ने मध्यप्रदेश को 358 करोड़ रुपये जारी करने और 1 लाख 61 हजार 710 अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को विभिन्न छात्रवृत्तियां प्रदान करने के लिए केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री नकवी का आभार व्यक्त किया।   स्वदेशी विरासत को मौका और मार्केट उपलब्ध कराने का प्रभावी प्लेटफार्म है हुनर हाट केन्द्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हुनर हाट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा से दस्तकारों, शिल्पकारों की स्वदेशी विरासत को मौका और मार्केट उपलब्ध कराने का प्रभावी प्लेटफार्म है। यह आत्म-निर्भर भारत और समावेशी विकास के संकल्प को पूरा करता है। केन्द्रीय मंत्री ने बताया कि हुनर हाट में भाग ले रहे शिल्पकारों के उत्पाद ई-पोर्टल भी उपलब्ध हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि भोपाल में आयोजित हुनर हाट कौशल के कद्रदानों का कुंभ साबित होगा।   मुख्यमंत्री चौहान ने पी तंदूरी चाय केन्द्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने अपने संबोधन में हुनर हाट की जानकारी देते हुए बताया कि कारीगरों के उत्पाद के साथ-साथ खान-पान के भी विविध स्टॉल यहाँ मौजूद हैं। इसमें तंदूरी चाय की उन्होंने विशेष रूप से प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि तंदूरी रोटी का तो सुना है पर तंदूरी चाय के बारे में पहली बार सुन रहा हूं। मुख्यमंत्री चौहान ने समापन-सत्र के उपरांत तंदूरी चाय के स्टाल पर जाकर चाय पी। अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्‍वास सारंग तथा सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने भी तंदूरी चाय का जायका लिया। हुनर हाट आगमन पर नृत्य संगीत के साथ मुख्यमंत्री चौहान का स्वागत किया गया। उन्होंने विभिन्न स्टालों पर जाकर कारीगरों से बातचीत भी की।

Dakhal News

Dakhal News 13 March 2021


bhopal, See the skills , artisans who came to Bhopal Haat Haar, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भोपाल हुनरमंदों की कद्र जानता है। हुनर हाट में आए देश के 31 राज्यों के कारीगरों को भोपाल की जनता से भरपूर सराहना मिलेगी। मुख्यमंत्री ने भोपाल वासियों से अपील की कि वे शहर में आए कलाकारों के हुनर को जरूर देखें। मुख्यमंत्री चौहान और केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शनिवार को राजधानी भोपाल के लाल परेड मैदान में आयोजित हुनर हाट का शुभारंभ किया। इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्‍वास सारंग तथा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा भी उपस्थित रहे।   केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने किया हुनर हाट का आयोजन केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित क्राफ्ट, कुज़ीन और कल्चर के संगम हुनर हाट में 31 राज्यों के कलाकार और हस्तशिल्पी अपने उत्पाद लेकर आएं हैं। हाट में कुल 250 स्टॉल लगाए गए, जिनमें 210 विभिन्न उत्पादों के और 40 स्टॉल खान-पान के हैं। मध्यप्रदेश के 15 शिल्पी भी हुनर हाट में भाग ले रहे हैं।   हुनर हाट से बनेंगे आत्म-निर्भर कारीगर और दस्तकार मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मैन ऑफ आइडियाज़ हैं। कोरोना के कठिन काल में उन्होंने आत्म-निर्भर भारत का संकल्प दिया। इससे प्रेरित होते हुए आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश का रोडमेप विकसित कर प्रदेश में कार्य जारी है। आत्म-निर्भर भारत वोकल फॉर लोकल के बिना संभव नहीं हो सकता। लोकल उत्पाद की पहचान कारीगारों पर ही निर्भर है। कारीगारों की कला के प्रकटीकरण का मौका और उनके उत्पादों को बाजार उपलब्ध कराने का हुनर हाट एक सशक्त माध्यम है। ऐसे मंचों से ही आत्म-निर्भर कारीगर और आत्म-निर्भर दस्तकार बन सकेंगे। यह देश की एकता, आपसी मेलजोल और कारीगरों को राष्ट्रीय स्तर पर बाजार उपलब्ध कराने का मौका भी देता है। ऐसे ही प्रयासों से कारीगारों के उत्पादों के पहचान वैश्विक स्तर पर बन सकेगी।   मध्यप्रदेश में प्रतिवर्ष लगे हुनर हाट मुख्यमंत्री चौहान ने केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री नकवी से प्रतिवर्ष मध्यप्रदेश के किसी एक शहर में हुनर हाट आयोजित करने का निवेदन भी किया। उन्होंने कहा कि हस्तशिल्प की भारत में समृद्ध परंपरा रही है। जब पश्चिम के देश कपड़ा निर्माण में आरंभिक अवस्था में थे, तब हमारे कारीगरों ने ढाका की मलमल बना कर अपने हुनर को स्थापित कर दिया था। कारीगरों ने कोरोना काल में भी समाज की बहुत मदद की है। मास्क और पीपीई किट की आपूर्ति में इनका योगदान महत्वपूर्ण रहा।   अल्पसंख्यक विद्यार्थियों की छात्रवृत्तियों के लिए माना आभार मुख्यमंत्री चौहान ने मध्यप्रदेश को 358 करोड़ रुपये जारी करने और 1 लाख 61 हजार 710 अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को विभिन्न छात्रवृत्तियां प्रदान करने के लिए केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री नकवी का आभार व्यक्त किया।   स्वदेशी विरासत को मौका और मार्केट उपलब्ध कराने का प्रभावी प्लेटफार्म है हुनर हाट केन्द्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हुनर हाट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा से दस्तकारों, शिल्पकारों की स्वदेशी विरासत को मौका और मार्केट उपलब्ध कराने का प्रभावी प्लेटफार्म है। यह आत्म-निर्भर भारत और समावेशी विकास के संकल्प को पूरा करता है। केन्द्रीय मंत्री ने बताया कि हुनर हाट में भाग ले रहे शिल्पकारों के उत्पाद ई-पोर्टल भी उपलब्ध हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि भोपाल में आयोजित हुनर हाट कौशल के कद्रदानों का कुंभ साबित होगा।   मुख्यमंत्री चौहान ने पी तंदूरी चाय केन्द्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने अपने संबोधन में हुनर हाट की जानकारी देते हुए बताया कि कारीगरों के उत्पाद के साथ-साथ खान-पान के भी विविध स्टॉल यहाँ मौजूद हैं। इसमें तंदूरी चाय की उन्होंने विशेष रूप से प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि तंदूरी रोटी का तो सुना है पर तंदूरी चाय के बारे में पहली बार सुन रहा हूं। मुख्यमंत्री चौहान ने समापन-सत्र के उपरांत तंदूरी चाय के स्टाल पर जाकर चाय पी। अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्‍वास सारंग तथा सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने भी तंदूरी चाय का जायका लिया। हुनर हाट आगमन पर नृत्य संगीत के साथ मुख्यमंत्री चौहान का स्वागत किया गया। उन्होंने विभिन्न स्टालों पर जाकर कारीगरों से बातचीत भी की।

Dakhal News

Dakhal News 13 March 2021


bhopal, Kamal Nath told, Mission Nagarodaya, Electoral stunt

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज नगरोदय अभियान आज का शुभारंभ करने जा रहे हैं। जिसके तहत गभग 3100 करोड़ रुपये के शिलान्यास व भूमिपूजन के कार्य होंगे। अभियान में शहरों की स्वच्छता, सडक़ें, पेयजल, सीवेज सिस्टम, परिवहन की व्यवस्था जैसे अनेक क्षेत्रों में काम किए जाऐंगे। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व सीएम कमलनाथ ने सरकार के मिशन नगरोदय पर सवाल उठाते हुए इसे चुनावी स्टंट बताया है।   कमलनाथ ने एक के बाद लगातार कई ट्वीट कर सरकार का घेराव किया है। उन्होंने कहा कि ‘प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव की घोषणा की आहट को देखते शिवराज जी "मिशन नगरोदय" के नाम पर एक बार फिर झूठे नारियल फोडऩे निकल पड़े हैं, वे हर चुनाव के पूर्व झूठे नारियल फोड़ने में माहिर हैं। सरकार चुनावी मोड़ में आ चुकी है। गुमराह करने वाली झूठी घोषणाएँ, शिलान्यास, भूमिपूजन, करोड़ों की राशि के झूठे आँकड़े परोस कर जनता को भ्रमित करने  का खेल फिर शुरू?   पूर्व सीएम ने आरोप लगाते हुए कहा कि ‘कितना आश्चर्यजनक है कि जिनकी प्रदेश में पिछले 15 वर्षों से सरकार रही है, वर्तमान में एक वर्ष से जो सत्ता पर क़ाबिज है वो आज भी निकायों के विकास के रोडमैप ही बना रहे हैं। विकास के सपने ही दिखा रहे हैं? इतनी अवधि में तो प्रदेश के निकाय विकास की दृष्टि से देश में सर्वश्रेष्ठ निकाय हो जाना चाहिये थे। जनता इनकी सच्चाई जानती है वो गुमराह व भ्रमित होने वाली नहीं है।

Dakhal News

Dakhal News 12 March 2021


bhopal, Kamal Nath told, Mission Nagarodaya, Electoral stunt

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज नगरोदय अभियान आज का शुभारंभ करने जा रहे हैं। जिसके तहत गभग 3100 करोड़ रुपये के शिलान्यास व भूमिपूजन के कार्य होंगे। अभियान में शहरों की स्वच्छता, सडक़ें, पेयजल, सीवेज सिस्टम, परिवहन की व्यवस्था जैसे अनेक क्षेत्रों में काम किए जाऐंगे। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व सीएम कमलनाथ ने सरकार के मिशन नगरोदय पर सवाल उठाते हुए इसे चुनावी स्टंट बताया है।   कमलनाथ ने एक के बाद लगातार कई ट्वीट कर सरकार का घेराव किया है। उन्होंने कहा कि ‘प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव की घोषणा की आहट को देखते शिवराज जी "मिशन नगरोदय" के नाम पर एक बार फिर झूठे नारियल फोडऩे निकल पड़े हैं, वे हर चुनाव के पूर्व झूठे नारियल फोड़ने में माहिर हैं। सरकार चुनावी मोड़ में आ चुकी है। गुमराह करने वाली झूठी घोषणाएँ, शिलान्यास, भूमिपूजन, करोड़ों की राशि के झूठे आँकड़े परोस कर जनता को भ्रमित करने  का खेल फिर शुरू?   पूर्व सीएम ने आरोप लगाते हुए कहा कि ‘कितना आश्चर्यजनक है कि जिनकी प्रदेश में पिछले 15 वर्षों से सरकार रही है, वर्तमान में एक वर्ष से जो सत्ता पर क़ाबिज है वो आज भी निकायों के विकास के रोडमैप ही बना रहे हैं। विकास के सपने ही दिखा रहे हैं? इतनी अवधि में तो प्रदेश के निकाय विकास की दृष्टि से देश में सर्वश्रेष्ठ निकाय हो जाना चाहिये थे। जनता इनकी सच्चाई जानती है वो गुमराह व भ्रमित होने वाली नहीं है।

Dakhal News

Dakhal News 12 March 2021


bhopal, Shivraj counterattack, Rahul Gandhi

भोपाल। राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दिए गए बयान के बाद से ही भाजपा नेता हमलावर स्थिति में है। वहीं अब राहुल गांधी के भारत में लोकतंत्र खत्म होने वाले बयान पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया है।   सीएम शिवराज ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए राहुल गांधी पर तंज कसते हुए में कहा कि ‘जिन्होंने लोकतंत्र का गला घोंटा, लोकतंत्र समाप्त कर आपातकाल लगाया, हज़ारों लोगों को जेल में डालकर अनेक परिवार तबाह किए, वही लोग आज भारत में लोकतंत्र न होने की बात करते हैं तो हंसी भी आती है और उनकी सोच पर दया भी आती है। उन्होंने कहा कि अगर भारत में लोकतंत्र नहीं होता तो महाराष्ट्र में सरकार कैसे बना ली। छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश में पिछली बार के चुनाव परिणाम ऐसे क्यों रहे। सौ-सौ चूहे खाकर बिल्ली चली हज को कहते हुए उन्होंने कहा कि राहुलजी में क्षमता नहीं है इसलिए वे दूसरों को दोष देते हैं।   आज से प्रारंभ होगा नगरीय अभियानइस दौरान सीएम शिवराज ने बताया कि नगरोदय अभियान आज से प्रारंभ हो रहा है। गांवों के साथ शहरों का विकास प्रदेश को आत्मनिर्भरता की ओर ले जायेगा। शहरों की स्वच्छता, सडक़ें, पेयजल, सीवेज सिस्टम, परिवहन की व्यवस्था जैसे अनेक क्षेत्रों में काम करना है। आज लगभग 3100 करोड़ रुपये के शिलान्यास व भूमिपूजन के कार्य होंगे।

Dakhal News

Dakhal News 12 March 2021


bhopal,Revolutionaries watered freedom, blood drops,CM Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को राजधानी भोपाल के शौर्य स्मारक में शौर्य स्तंभ पर शहीदों और महापुरुषों को पुष्पांजलि अर्पित कर राज्य में आजादी के अमृत महोत्सव का शुभारंभ किया। कार्यक्रम की शुरुआत कन्या पूजन से की गई। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि क्रांतिवीरों ने अपनी खून की बूंदों से आजादी को सींचा था, तब हमारा देश आजाद हुआ था। आज हम सब संकल्प लें कि जब तक हम जीवित हैं, तब तक देश को न झुकने देंगे और न ही बंटने देंगे।    भोपाल के शौर्य स्मारक में केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय और संस्कृति विभाग की प्रदर्शनी आजादी का अमृत महोत्सव का शुभारंभ कर अवलोकन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत माता के भक्ति भाव से भरे हुए ऐसे बेटे-बेटी जहां हो, दुनिया की कोई ताकत भारत मां को आंख उठाकर देख नहीं सकती! भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी अद्भुत नेता हैं। वे पाकिस्तान को भी कोरोना की वैक्सीन दे रहे हैं। उनके नेतृत्व में एक वैभवशाली, गौरवशाली, सशक्त और समृद्ध भारत का निर्माण हो रहा है।   मुख्यमंत्री ने कहा कि जब पश्चिम के तथाकथित विकसित देशों में सभ्यता का सूर्योदय नहीं हुआ था, तब हमारे देश में वेदों की ऋचाएँ रच दी गई थी। भारत माँ को स्वतंत्रता दिलाने के लिए हजारों क्रांतिकारियों ने फाँसी के फंदों को हँसते-हँसते चूमा था। हमारे वीर क्रांतिकारी जब फाँसी के फंदे पर लटकते थे तो भगवान से यही प्रार्थना करते थे कि हमें बार-बार भारत की धरती पर जन्म देना और तब तक जन्म देना जब तक भारत माँ आज़ाद न हो जाएँ। कई क्रांतिकारियों ने अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया।   उन्होंने कहा कि आज मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को प्रणाम करता हूँ जिन्होंने पूरे देश में भारत की आज़ादी की 75वीं वर्षगाँठ को वृहद स्तर पर मनाने के लिए अमृत महोत्सव का शुभारंभ किया। हमें बचपन में पढ़ाया गया कि भारत की आज़ादी में केवल कुछ लोगों का ही योगदान रहा। हम महारानी लक्ष्मीबाई, नानासाहेब पेशवा, वासुदेव बलवंत फडक़े, लोकमान्य तिलक, भीमा नायक, बिरसा मुंडा, नेताजी सुभाषचंद्र बोस जैसे वीरों को भूल गए।   मुख्यमंत्री ने कहा कि आज़ादी का अमृत महोत्सव हमें भारत मां के बेटों की शहादत का स्मरण कराता है। उनके इस स्वप्न को और आगे ले जाकर "अप्रतिम सशक्त भारत" के निर्माण का इस दिशा में हम सभी को एकजुट होकर प्रयास करना होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के "आत्मनिर्भर भारत" के निर्माण के आह्वान में समूचा मध्यप्रदेश पूरी ऊर्जा के साथ लगा हुआ है। अमृत महोत्सव के शुभारम्भ अवसर पर मैं सभी प्रदेशवासियों से वोकल फॉर लोकल की सोच में सक्रिय सहभागिता निभा "आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश" के निर्माण में पूर्ण मनोयोग से प्रयास की अपील करता हूँ। शासन प्रशासन आपके हर सम्भव सहयोग के लिए कृत संकल्पित है। यह प्रयास राष्ट्र को और सशक्त करेगा और यही हमारे देशभक्तों के बलिदानों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। भारत माता की जय।

Dakhal News

Dakhal News 12 March 2021


bhopal, Chief Minister Shivraj ,planted vine plant, with wife, Mahashivaratri festival

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को महाशिवरात्रि पर्व के मौके पर स्मार्ट उद्यान में पौधारोपण किया। उन्होंने बेल का पौधा लगाया। इस अवसर पर उनकी धर्मपत्नी साधना सिंह चौहान उपस्थित थीं।   मुख्यमंत्री ने आमजन से भी पौधे लगाने का आव्हान किया ताकि पृथ्वी पर हरियाली बढ़े। हमारा भोपाल शहर काफी हरा-भरा है, लेकिन बाग-बगीचों को अच्छी प्रजातियों के वृक्षों से सज्जित करने का कार्य निरंतर चलना चाहिए।   बेल का महत्वबेल को बिल्व का वृक्ष भी कहा जाता है। अनुसंधान में इसके विभिन्न गुणों के बारे में जानकारी मिली है, जिसके अनुसार बेल पत्र पानी में डालकर स्नान करने से सात्विकता बढ़ती है। बेल पत्र का रस लगाकार आधे घंटे बाद नहाने से शरीर की दुर्गंध दूर होती है। संधिवात में पत्ते गर्म करके बांधने से सूजन और दर्द में राहत मिलती है। पत्तों के रस में मिश्री मिलाकर पीने से अम्लपित्त में में आराम मिलता है। बरसात के मौसम में होने वाली सर्दी-खासी और बुखार के  लिए बेल पत्र के रस में शहद मिलाकर सेवन करना लाभकारी माना गया है। मधुमेह में तोज बिल्व पत्र अथवा सूखे पत्तों का चूर्ण खाने से रोग नियंत्रित होता है। बेल पत्र का सेवन मन को एकाग्रता प्रदान करता है और ध्यान केन्द्रित करने में सहायता मिलती है। इसके पत्तों का काढ़ा पीने से हृदय भी मजबूत होता है। भगवान शिव को भी श्रद्धापूर्वक बेल पत्र चढ़ाया जाता है।

Dakhal News

Dakhal News 11 March 2021


bhopal,CM Shivraj ,reached Badwale Mahadev temple, pulled Shiva chariot

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को महाशिवरात्रि पर्व के अवसर पर राजधानी स्थित बड़वाले महादेश शिव मंदिर पहुंचे। यहां उन्होंने अपनी पत्नी साधना सिंह चौहान के साथ भगवान भोले नाथ की विधि विधान पूर्वक पूजा अर्चना की। इसके बाद सीएम शिवराज ने शिव रथ को खींचा और प्रदेश की खुशहाली की कामना की।   सीएम शिवराज ने ट्वीट कर जानकारी साझा करते हुए कहा ‘चलत्कुण्डलं भ्रू सुनेत्रं विशालं। प्रसन्नाननं नीलकंठं दयालं॥ मृगाधीशचर्माम्बरं मुण्डमालं । प्रियं शंकरं सर्वनाथं भजामि॥ महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर भोपाल में बड़वाले महादेव मंदिर पहुंचकर भगवान शिव की पूजा-अर्चना कर जगत कल्याण के लिए प्रार्थना की। ऊं नम: शिवाय! आदि देव भगवान शिव के पावन पर्व प्तमहाशिवरात्रि पर शिव रथ को खींचने का सुख और सौभाग्य मिला। हे महादेव आशीर्वाद दीजिये कि जनता की सेवा और प्रदेश की प्रगति के लिए पूरी सामथ्र्य, शक्ति के साथ कार्य कर सकूं। हर चेहरे पर सुख, शांति और आनंद की चिरस्थायी मुस्कान बिखेर सकूं! हर हर महादेव!

Dakhal News

Dakhal News 11 March 2021


bhopal, Kamal Nath ,writes to CM Shivraj, demanding payment , honorarium, women kitchens

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ ने राज्य सरकार से मध्यान्ह भोजन योजना में कार्यरत महिला रसोईयों को विगत 07 माह से मानदेय न मिलने की ओर ध्यान आकर्षित करते हुये तत्काल इन्हें भुगतान करने की मांग की है।   कमलनाथ ने इस संबंध में गुरुवार को मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा है कि मानदेय न मिलने की स्थिति में महिलाओं और उनके परिवार का जीवन-यापन दूभर होता जा रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि महत्वपूर्ण यह है कि योजना में मानदेय भुगतान के लिये केंद्र से राशि भी प्राप्त हो गई है लेकिन राज्य सरकार द्वारा राज्यांश की पूर्ति नहीं की गई है ,जिसके कारण अल्प आय वाली महिलाओं का मानदेय जुलाई 2020 से लंबित है। उन्होंने कहा कि 7 माह से निरंतर मानदेय न मिलने के कारण इस भीषण मंहगाई के दौर में उनके सामने गहरा संकट उत्पन्न हो गया है।   कमलनाथ ने पत्र में कहा है कि इस विषय की गंभीरता को देखते हुये तत्काल शासन स्तर पर निर्णय लिया जाये और महिला रसोईयों को मानदेय वितरित किया जाये ताकि वे अपने परिवार को पालने के साथ ही अपना कार्य भी समर्पित भाव से कर सकें।

Dakhal News

Dakhal News 11 March 2021


bhopal, Work plan prepared ,organized water supply ,Shivpuri city, Shivraj

भोपाल/शिवपुरी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शिवपुरी नगर की जल प्रदाय व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित करने के लिये मड़ीखेड़ा जल प्रदाय योजना अंतर्गत तात्कालिक और दीर्घकालिक कार्य योजना तैयार कर उसे अमल में लाया जाए। यह बात मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को शिवपुरी नगर की पेयजल प्रदाय समस्या के निराकरण के लिये उच्च स्तरीय बैठक में कही। इस मौके पर खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया, नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री ओ.पी.एस.भदोरिया, अपर मुख्य सचिव मलय श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव नगरीय कल्याण नीतेश व्यास, प्रमुख सचिव मनीष सिंह और आयुक्त नगरीय विकास निकुंज श्रीवास्तव उपस्थित रहे।   मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि योजना का निर्माण पूर्ण होने के बाद भी शिवपुरी नगर की जल प्रदाय योजना सुव्यवस्थित संचालित क्यों नहीं हो पा रही है, निर्माण में क्या कमियां हैं, इसके लिये कौन उत्तरदायी है आदि बिन्दुओं पर जांच की जाये। नगरवासियों को प्रतिदिन पर्याप्त पेयजल मिले सके इसके लिये तत्काल कार्य योजना तैयार कर क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाये। समस्या का समय-सीमा में स्थायी समाधान आवश्यक है।   मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने शिवपुरी नगर की जल प्रदाय योजना के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मड़ीखेड़ा जल प्रदाय योजना के रॉ-वाटर राईजिंग, क्लीयर वाटर राईजिंग और फीडर मेन पाइप लाइन के बार-बार फूटने से जल प्रदाय बाधित होता है। उन्होंने नगरवासियों को इससे होने वाली परेशानी से अवगत कराया और शीघ्र ही जल प्रदाय व्यवस्था में सुधार लाने की आवश्यकता बताई।   बैठक में बताया गया कि वर्तमान में शिवपुरी नगर में माधव लेक से पाँच एम.एल.डी., भू-जल स्त्रोतों से पांच एम.एल.डी. और मड़ीखेड़ा जल प्रदाय योजना से 20 से 22 एम.एल.डी. जल उपलब्ध होता है। इस प्रकार कुल 30 से 32 एम.एल.डी. जल प्रदाय हो रहा है। नगर की आबादी की मांग के अनुसार 32.55 एम.एल.डी. जल की आवश्यकता रहती है।

Dakhal News

Dakhal News 9 March 2021


bhopal, Shivraj

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा में  शिवराज सरकार की लंबी जद्दोजहद के बाद आखिरकार धर्म स्वातंत्र्य विधेयक  पारित हो गया। विधेयक पारित होने पर  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खुशी जाहिर की है। साथ ही उन्होंने धर्म परिवर्तन करने वालों को चेतावनी देते हुए कहा है कि बेटियों के जीवन को तबाह करने वालों को चैन से  नहीं जीने दिया जाएगा।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार रात ट्वीट कर कहा कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर धर्म स्वातंत्र्य विधेयक पारित होने पर सभी को बधाई! बेटियों को बहला-फुसलाकर उनकी जिंदगी नरक बना दी जाती थी, उसे रोकने के लिए हमें प्रभावी कानूनी हथियार मिला है। ऐसे लोग, जो शादी कर धर्मांतरण का कुकर्म करते हैं, उनके लिए कड़ी सजा का प्रावधान इस एक्ट में किया गया है। उन्होंने कहा कि बेटियों को लोभ देकर, उन पर दबाव बनाकर, उन्हें भयाक्रांत कर शादी करके धर्म परिवर्तन करने वाले लोगों को चेतावनी देता हूँ, अब मध्यप्रदेश की धरती पर उन्हें चैन से नहीं जीने दिया जाएगा। बेटियों के जीवन को तबाह करने की नीयत रखने वालों को ही तबाह कर दिया जायेगा!  

Dakhal News

Dakhal News 9 March 2021


bhopal, Narottam retaliated , Rahul Gandhi

भोपाल। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने एक बयान में कहा है कि 'सिंधिया कांग्रेस में मुख्यमंत्री बन सकते थे, लेकिन भाजपा में जाकर वे बैक बैंचर हो गए हैं। राहुल गांधी द्वारा ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर दिए बयान पर प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार किया है। मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसते हुए कहा कि बहुत जल्दी राहुल गांधी को याद आया कि बिना सिंधिया के मप्र में कांग्रेस शून्य है।   मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत में राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि राहुल गांधी को अब समझ आ गया है कि मप्र में सिंधिया जी के बगैर कांग्रेस शून्य है। यदि वे अपनी गलती सुधारना चाहते हैं तो राजस्थान में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बना दें। मप्र में 2018 के विस चुनाव में जनता को सिंधिया जी का चेहरा दिखाकर वोट मांगे और मुख्यमंत्री किसी और को बना दिया? जो लोग दो साल में कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष नहीं बना पाए वो मुख्यमंत्री बनाने की बातें कर रहे हैं। कांग्रेस पर तंज सकते हुए मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि 15 दिन में कर्जा माफ कर देंगे नहीं तो मुख्यमंत्री बदल देंगे, नहीं बदला तो हमने बदल दिया। अनुपूरक बजट पर कांग्रेस के आरोपों पर गृहमंत्री ने कहा कि कांग्रेस तो यही कहेगी, लेकिन हमें उसकी चिंता नहीं। हमें तो चिंता है बाजार क्या कह रहा है।   कमलनाथ पर कसा तंजइस दौरान मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ द्वारा खुद को जवान कहने वाले बयान मंत्री मिश्रा ने तंज कसते हुए कहा कि पता नहीं बुजुर्ग कांग्रेसी हमेशा खुद को युवा कहलाने को आतुर क्यों नजर आते हैं?स्वयं को जवान साबित करने की इनकी जिद ने कांग्रेस को बूढ़ा कर दिया। महिला दिवस  के कार्यक्रम में महिलाओं के बीच कमलनाथ जी का 'अभी तो मैं जवान हूं' कहना शोभा नहीं देता।

Dakhal News

Dakhal News 9 March 2021


bhopal,Chief Minister Chouhan, planted sapterpani ,smart park

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राजधानी भोपाल के स्मार्ट रोड स्थित स्मार्ट पार्क में मंगलवार को सप्तपर्णी का पौधा लगाया। बता दें कि मुख्यमंत्री चौहान ने नर्मदा जयंती पर प्रतिदिन पूरे वर्ष पौध-रोपण का संकल्प लिया था। मुख्यमंत्री चौहान जन-जन को भी निरंतर पौध-रोपण के लिए प्रेरित कर रहे हैं।    मुख्यमंत्री चौहान का विश्वास है कि वृक्ष ही जीवन है और ऑक्सीजन का मुख्य स्त्रोत होने से जीवन का आधार भी है। मुख्यमंत्री चौहान जलवायु परिवर्तन की गति को धीमा करने के लिए भी वृक्षारोपण को आवश्यक मानते हैं। मुख्यमंत्री चौहान द्वारा रोपा गया सप्तपर्णी का पौधा एक सदाबहार औषधी है, जिसका आयुर्वेंद में बहुत महत्व है। यह खुले घावों को ठीक करने, पीलिया, मलेरिया और दुर्बलता दूर करने में उपयोगी होता है।

Dakhal News

Dakhal News 9 March 2021


bhopal, Chief Minister Chouhan, planted Rudraksha sapling

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सामान्यतः जनहितैषी और संवेदनशील मुख्यमंत्री के रूप में जाने जाते हैं। अब वे पर्यावरण प्रेमी के रूप में भी जाने जा रहे हैं। विगत दिनों उन्होंने अमरकंटक में पर्यावरण के हित मे प्रतिदिन एक पौधा लगाने का संकल्प लिया था। इसी क्रम में रविवार को जबलपुर प्रवास के दूसरे दिन उन्होंने अपने संकल्प को पूरा करने के क्रम में सर्किट हाउस परिसर में रुद्राक्ष का पौधा लगाया। मुख्यमंत्री चौहान ने पौधा लगाकर अपने दैनिक कार्यक्रमों की शुरुआत करते हुए उपस्थित लोगों से धरती को बचाये रखने प्रतिदिन और जीवन के शुभ अवसरों पर एक पौधा लगाने की अपील भी की।   पौध-रोपण कार्यक्रम में आयुष एवं जल संसाधन राज्यमंत्री रामकिशोर कावरे ने भी बेल का पौधा लगाया। इस अवसर पर केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गनसिंह कुलस्ते, कमिश्नर बी चंद्रशेखर, आई.जी भगवत सिंह चौहान, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ,जन-प्रतिनिधि एवं नागरिक उपस्थित रहे।   रुद्राक्ष को प्राप्त है विशेष महत्व रुद्राक्ष का पौधा आस्था का प्रतीक माना जाता है। यह पवित्र वृक्ष माना जाता है। इसके फल की मालाएं भी धारण की जाती हैं। ऐसा जन विश्वास है कि रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर के नेत्रों के जलबिंदु से हुई। रुद्राक्ष शिव का वरदान है, जो संसार के भौतिक दु:खों को दूर करने के लिए प्रभु शंकर ने प्रकट किया। रुद्राक्ष धारण करने से सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है। रुद्राक्ष आमतौर पर भक्तों द्वारा सुरक्षा कवच के तौर पर या ओम नमः शिव मंत्र के जाप के लिए भी पहने जाते हैं। इसके बीज मुख्य रूप से भारत और नेपाल में कार्बनिक आभूषणों और माला के रूप में उपयोग किए जाते हैं। यह भी माना जाता है कि रुद्राक्ष अर्द्ध कीमती पत्थरों के समान मूल्यवान होते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 7 March 2021


bhopal, Chief Minister Chouhan, planted Rudraksha sapling

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सामान्यतः जनहितैषी और संवेदनशील मुख्यमंत्री के रूप में जाने जाते हैं। अब वे पर्यावरण प्रेमी के रूप में भी जाने जा रहे हैं। विगत दिनों उन्होंने अमरकंटक में पर्यावरण के हित मे प्रतिदिन एक पौधा लगाने का संकल्प लिया था। इसी क्रम में रविवार को जबलपुर प्रवास के दूसरे दिन उन्होंने अपने संकल्प को पूरा करने के क्रम में सर्किट हाउस परिसर में रुद्राक्ष का पौधा लगाया। मुख्यमंत्री चौहान ने पौधा लगाकर अपने दैनिक कार्यक्रमों की शुरुआत करते हुए उपस्थित लोगों से धरती को बचाये रखने प्रतिदिन और जीवन के शुभ अवसरों पर एक पौधा लगाने की अपील भी की।   पौध-रोपण कार्यक्रम में आयुष एवं जल संसाधन राज्यमंत्री रामकिशोर कावरे ने भी बेल का पौधा लगाया। इस अवसर पर केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गनसिंह कुलस्ते, कमिश्नर बी चंद्रशेखर, आई.जी भगवत सिंह चौहान, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ,जन-प्रतिनिधि एवं नागरिक उपस्थित रहे।   रुद्राक्ष को प्राप्त है विशेष महत्व रुद्राक्ष का पौधा आस्था का प्रतीक माना जाता है। यह पवित्र वृक्ष माना जाता है। इसके फल की मालाएं भी धारण की जाती हैं। ऐसा जन विश्वास है कि रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर के नेत्रों के जलबिंदु से हुई। रुद्राक्ष शिव का वरदान है, जो संसार के भौतिक दु:खों को दूर करने के लिए प्रभु शंकर ने प्रकट किया। रुद्राक्ष धारण करने से सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है। रुद्राक्ष आमतौर पर भक्तों द्वारा सुरक्षा कवच के तौर पर या ओम नमः शिव मंत्र के जाप के लिए भी पहने जाते हैं। इसके बीज मुख्य रूप से भारत और नेपाल में कार्बनिक आभूषणों और माला के रूप में उपयोग किए जाते हैं। यह भी माना जाता है कि रुद्राक्ष अर्द्ध कीमती पत्थरों के समान मूल्यवान होते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 7 March 2021


bhopal, Chief Minister,distribute loan,two hundred crores, self-help groups , Women

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कल 8 मार्च को अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के मौके पर राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित महिला स्व-सहायता समूहों के सदस्यों को लगभग 200 करोड़ रुपये के बैंक ऋण वितरित करेंगे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कुछ जिलों के समूह सदस्‍यों से वीडियो कॉन्फ्रेन्स के माध्यम से सीधा संवाद भी करेंगे।जनसम्पर्क अधिकारी आरएस मीणा ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर भोपाल के मोतीलाल नेहरू स्‍टेडियम में मुख्य समारोह आयोजित होगा, जिसमें मुख्यमत्री स्व सहायता समूहों को ऋण वितरित करेंगे। समारोह में लगभग 6 हजार से अधिक स्‍व–सहायता समूह सदस्‍य महिलाएं भाग लेंगी। प्रदेश के समस्‍त जिलों में ग्राम पंचायत स्‍तर पर समूह सदस्‍य कार्यक्रम में वर्चुअल शामिल होंगे। समारोह में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्‍द्र सिंह सिसौदिया एवं राज्‍य मंत्री रामखेलावन पटेल भी उपस्थित रहेंगे।उन्होंने बताया कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा कोरोना काल में ग्रामीण परिवारों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ करने के लिये लॉकडाउन के समय से लगातार वर्चुअल कार्यक्रम आयोजित कर हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा रहा है। मुख्‍यमंत्री द्वारा इससे पहले भी वर्चुअल कार्यक्रमों में तीन बार सामूहिक ऋण वितरण स्व-सहायता समूहों को किया जा चुका है।

Dakhal News

Dakhal News 7 March 2021


bhopal, Chief Minister,distribute loan,two hundred crores, self-help groups , Women

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कल 8 मार्च को अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के मौके पर राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित महिला स्व-सहायता समूहों के सदस्यों को लगभग 200 करोड़ रुपये के बैंक ऋण वितरित करेंगे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कुछ जिलों के समूह सदस्‍यों से वीडियो कॉन्फ्रेन्स के माध्यम से सीधा संवाद भी करेंगे।जनसम्पर्क अधिकारी आरएस मीणा ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर भोपाल के मोतीलाल नेहरू स्‍टेडियम में मुख्य समारोह आयोजित होगा, जिसमें मुख्यमत्री स्व सहायता समूहों को ऋण वितरित करेंगे। समारोह में लगभग 6 हजार से अधिक स्‍व–सहायता समूह सदस्‍य महिलाएं भाग लेंगी। प्रदेश के समस्‍त जिलों में ग्राम पंचायत स्‍तर पर समूह सदस्‍य कार्यक्रम में वर्चुअल शामिल होंगे। समारोह में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्‍द्र सिंह सिसौदिया एवं राज्‍य मंत्री रामखेलावन पटेल भी उपस्थित रहेंगे।उन्होंने बताया कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा कोरोना काल में ग्रामीण परिवारों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ करने के लिये लॉकडाउन के समय से लगातार वर्चुअल कार्यक्रम आयोजित कर हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा रहा है। मुख्‍यमंत्री द्वारा इससे पहले भी वर्चुअल कार्यक्रमों में तीन बार सामूहिक ऋण वितरण स्व-सहायता समूहों को किया जा चुका है।

Dakhal News

Dakhal News 7 March 2021


bhopal, Chief Minister,distribute loan,two hundred crores, self-help groups , Women

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कल 8 मार्च को अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के मौके पर राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित महिला स्व-सहायता समूहों के सदस्यों को लगभग 200 करोड़ रुपये के बैंक ऋण वितरित करेंगे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कुछ जिलों के समूह सदस्‍यों से वीडियो कॉन्फ्रेन्स के माध्यम से सीधा संवाद भी करेंगे।जनसम्पर्क अधिकारी आरएस मीणा ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर भोपाल के मोतीलाल नेहरू स्‍टेडियम में मुख्य समारोह आयोजित होगा, जिसमें मुख्यमत्री स्व सहायता समूहों को ऋण वितरित करेंगे। समारोह में लगभग 6 हजार से अधिक स्‍व–सहायता समूह सदस्‍य महिलाएं भाग लेंगी। प्रदेश के समस्‍त जिलों में ग्राम पंचायत स्‍तर पर समूह सदस्‍य कार्यक्रम में वर्चुअल शामिल होंगे। समारोह में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्‍द्र सिंह सिसौदिया एवं राज्‍य मंत्री रामखेलावन पटेल भी उपस्थित रहेंगे।उन्होंने बताया कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा कोरोना काल में ग्रामीण परिवारों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ करने के लिये लॉकडाउन के समय से लगातार वर्चुअल कार्यक्रम आयोजित कर हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा रहा है। मुख्‍यमंत्री द्वारा इससे पहले भी वर्चुअल कार्यक्रमों में तीन बार सामूहिक ऋण वितरण स्व-सहायता समूहों को किया जा चुका है।

Dakhal News

Dakhal News 7 March 2021


bhopal, aim of education, impart knowledge, skill and the rites ,citizenship,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है शिक्षा का उद्देश्य ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देना होना चाहिए। नई शिक्षा नीति में इन तीनों बातों का पर्याप्त ध्यान रखा गया है। इन्हें मध्यप्रदेश में लागू किया जाएगा। कक्षा छठवीं से व्यावसायिक शिक्षा दी जाएगी। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को आर.सी.व्ही.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में विद्या भारती उच्च शिक्षा संस्थान द्वारा आयोजित 'शिक्षक-शिक्षा का कायाकल्प' पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का शुभारंभ करते हुए कही।    उन्होंने कहा कि शिक्षा का अर्थ तोते की तरह रटना, बस्ते के बोझ से दबे रहना तथा परीक्षा देना नहीं है। शिक्षा से बच्चों का स्वाभाविक विकास तथा उनकी प्रतिभाओं का प्रकटीकरण होना चाहिए। इसके लिए शिक्षकों के शिक्षण-प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान ने 'शिक्षा पथ प्रदीपिका' पुस्तक का विमोचन भी किया।   समाज के सहयोग से शिक्षा मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा देना केवल सरकार का कार्य नहीं है। समाज के सहयोग से शिक्षा दी जानी चाहिए। इस क्षेत्र में विद्या भारती जैसी संस्थाएं काफी अच्छा कार्य कर रही हैं। शिक्षा के क्षेत्र में अच्छे कार्य कर रहे संस्थानों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।   जो चाहे पढ़ाएँ, यह नहीं चलेगा चौहान ने स्पष्ट रूप से कहा कि शिक्षण संस्थाएँ अमर्यादित शिक्षा देकर विद्यार्थियों को दिग्भ्रमित करें, यह नहीं चलेगा। यदि कोई संस्थान गलत शिक्षा देता है, तो उसे रोका जाएगा। हम आतंकवादी नहीं बनने दे सकते। स्कूलों के नाम पर कुछ भी खोला जाए, यह नहीं चलेगा।   शिक्षाविदों को जोड़ा जाए उन्‍होंने कहा कि मध्यप्रदेश पहला राज्य है जहाँ नई शिक्षा नीति को लागू करने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया गया है। इसमें प्रदेश के विभिन्न शिक्षाविदों को जोड़ा जाए, जो नई शिक्षा नीति के प्रावधानों को मध्यप्रदेश में किस तरह व्यवहारिक रूप से लागू किया जाए, इस संबंध में सुझाव दें।   अपने शिक्षक रतन चंद जैन को याद किया मुख्यमंत्री चौहान ने अपने गाँव जैत के प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक रतन चंद जैन को याद करते हुए कहा कि उनके द्वारा दी गई शिक्षा मेरे जीवन में अत्यंत महत्वपूर्ण है। वे प्रत्येक शनिवार को विद्यार्थियों को रामचरित मानस पढ़ाया करते थे। 'इससे न केवल मैं वक्ता बना, अपितु मुझे भगवान राम की मर्यादाओं के अनुरूप जीवन जीने की प्रेरणा मिली'। बिना नैतिकता के शिक्षा व्यर्थ है। शिक्षा मनुष्य को मनुष्य बनाती है और अज्ञान से मुक्त करती है।   आत्म-निर्भर मध्य प्रदेश के रोड मैप में शिक्षा अहम चौहान ने कहा कि आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के लिए बनाए गए रोड मैप में शिक्षा का महत्वपूर्ण स्थान है। प्रदेश में उच्च गुणवत्तायुक्त सी.एम. राइज स्कूल खोले जाने के लिए डेढ़ हज़ार करोड़ रुपए का बजट रखा गया है। अच्छी तकनीकी शिक्षा के लिए ग्लोबल स्किल पार्क तथा आदर्श आईटीआई बनाए जा रहे हैं।   मंथन से उपजा विचार रूपी अमृत राष्ट्रीय शिक्षा नीति में सार्थक होगा : मंत्री परमार स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इंदर सिंह परमार ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को लागू करने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग सतत प्रयास कर रहा है। वर्तमान शिक्षा व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन की आवश्यकता है। शिक्षा व्यवस्था भारत केंद्रित, गुणवत्तापूर्ण और ज्ञान आधारित होना चाहिए। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वयन के उद्देश्य से स्कूल शिक्षा विभाग, विद्या भारती उच्च शिक्षा संस्थान और एनसीटीई के संयुक्त तत्वधान में राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित की गई है। देशभर के विद्वान, विश्वविद्यालय के कुलपति अलग अलग सत्रों में अपना मार्गदर्शन देंगे। इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में शिक्षक-शिक्षा के ऊपर व्यापक मंथन और चिंतन किया जाएगा। इस मंथन से उपजा विचार रूपी अमृत राष्ट्रीय शिक्षा नीति में मील का पत्थर साबित होगा। संगोष्ठी के दौरान प्राप्त सिफारिशों को मध्य प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में लागू करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने संगोष्ठी में आए सभी विद्वतजनों का अभिनंदन और आभार व्यक्त किया।   इस अवसर पर कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर कैलाश चंद्र शर्मा, दत्तात्रेय होसबले और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली के कुलपति प्रोफेसर एम. जगदीश कुमार आदि उपस्थित रहे। 

Dakhal News

Dakhal News 5 March 2021


bhopal, aim of education, impart knowledge, skill and the rites ,citizenship,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है शिक्षा का उद्देश्य ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देना होना चाहिए। नई शिक्षा नीति में इन तीनों बातों का पर्याप्त ध्यान रखा गया है। इन्हें मध्यप्रदेश में लागू किया जाएगा। कक्षा छठवीं से व्यावसायिक शिक्षा दी जाएगी। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को आर.सी.व्ही.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में विद्या भारती उच्च शिक्षा संस्थान द्वारा आयोजित 'शिक्षक-शिक्षा का कायाकल्प' पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का शुभारंभ करते हुए कही।    उन्होंने कहा कि शिक्षा का अर्थ तोते की तरह रटना, बस्ते के बोझ से दबे रहना तथा परीक्षा देना नहीं है। शिक्षा से बच्चों का स्वाभाविक विकास तथा उनकी प्रतिभाओं का प्रकटीकरण होना चाहिए। इसके लिए शिक्षकों के शिक्षण-प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान ने 'शिक्षा पथ प्रदीपिका' पुस्तक का विमोचन भी किया।   समाज के सहयोग से शिक्षा मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा देना केवल सरकार का कार्य नहीं है। समाज के सहयोग से शिक्षा दी जानी चाहिए। इस क्षेत्र में विद्या भारती जैसी संस्थाएं काफी अच्छा कार्य कर रही हैं। शिक्षा के क्षेत्र में अच्छे कार्य कर रहे संस्थानों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।   जो चाहे पढ़ाएँ, यह नहीं चलेगा चौहान ने स्पष्ट रूप से कहा कि शिक्षण संस्थाएँ अमर्यादित शिक्षा देकर विद्यार्थियों को दिग्भ्रमित करें, यह नहीं चलेगा। यदि कोई संस्थान गलत शिक्षा देता है, तो उसे रोका जाएगा। हम आतंकवादी नहीं बनने दे सकते। स्कूलों के नाम पर कुछ भी खोला जाए, यह नहीं चलेगा।   शिक्षाविदों को जोड़ा जाए उन्‍होंने कहा कि मध्यप्रदेश पहला राज्य है जहाँ नई शिक्षा नीति को लागू करने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया गया है। इसमें प्रदेश के विभिन्न शिक्षाविदों को जोड़ा जाए, जो नई शिक्षा नीति के प्रावधानों को मध्यप्रदेश में किस तरह व्यवहारिक रूप से लागू किया जाए, इस संबंध में सुझाव दें।   अपने शिक्षक रतन चंद जैन को याद किया मुख्यमंत्री चौहान ने अपने गाँव जैत के प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक रतन चंद जैन को याद करते हुए कहा कि उनके द्वारा दी गई शिक्षा मेरे जीवन में अत्यंत महत्वपूर्ण है। वे प्रत्येक शनिवार को विद्यार्थियों को रामचरित मानस पढ़ाया करते थे। 'इससे न केवल मैं वक्ता बना, अपितु मुझे भगवान राम की मर्यादाओं के अनुरूप जीवन जीने की प्रेरणा मिली'। बिना नैतिकता के शिक्षा व्यर्थ है। शिक्षा मनुष्य को मनुष्य बनाती है और अज्ञान से मुक्त करती है।   आत्म-निर्भर मध्य प्रदेश के रोड मैप में शिक्षा अहम चौहान ने कहा कि आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के लिए बनाए गए रोड मैप में शिक्षा का महत्वपूर्ण स्थान है। प्रदेश में उच्च गुणवत्तायुक्त सी.एम. राइज स्कूल खोले जाने के लिए डेढ़ हज़ार करोड़ रुपए का बजट रखा गया है। अच्छी तकनीकी शिक्षा के लिए ग्लोबल स्किल पार्क तथा आदर्श आईटीआई बनाए जा रहे हैं।   मंथन से उपजा विचार रूपी अमृत राष्ट्रीय शिक्षा नीति में सार्थक होगा : मंत्री परमार स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इंदर सिंह परमार ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को लागू करने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग सतत प्रयास कर रहा है। वर्तमान शिक्षा व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन की आवश्यकता है। शिक्षा व्यवस्था भारत केंद्रित, गुणवत्तापूर्ण और ज्ञान आधारित होना चाहिए। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वयन के उद्देश्य से स्कूल शिक्षा विभाग, विद्या भारती उच्च शिक्षा संस्थान और एनसीटीई के संयुक्त तत्वधान में राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित की गई है। देशभर के विद्वान, विश्वविद्यालय के कुलपति अलग अलग सत्रों में अपना मार्गदर्शन देंगे। इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में शिक्षक-शिक्षा के ऊपर व्यापक मंथन और चिंतन किया जाएगा। इस मंथन से उपजा विचार रूपी अमृत राष्ट्रीय शिक्षा नीति में मील का पत्थर साबित होगा। संगोष्ठी के दौरान प्राप्त सिफारिशों को मध्य प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में लागू करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने संगोष्ठी में आए सभी विद्वतजनों का अभिनंदन और आभार व्यक्त किया।   इस अवसर पर कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर कैलाश चंद्र शर्मा, दत्तात्रेय होसबले और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली के कुलपति प्रोफेसर एम. जगदीश कुमार आदि उपस्थित रहे। 

Dakhal News

Dakhal News 5 March 2021


bhopal, aim of education, impart knowledge, skill and the rites ,citizenship,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है शिक्षा का उद्देश्य ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देना होना चाहिए। नई शिक्षा नीति में इन तीनों बातों का पर्याप्त ध्यान रखा गया है। इन्हें मध्यप्रदेश में लागू किया जाएगा। कक्षा छठवीं से व्यावसायिक शिक्षा दी जाएगी। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को आर.सी.व्ही.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में विद्या भारती उच्च शिक्षा संस्थान द्वारा आयोजित 'शिक्षक-शिक्षा का कायाकल्प' पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का शुभारंभ करते हुए कही।    उन्होंने कहा कि शिक्षा का अर्थ तोते की तरह रटना, बस्ते के बोझ से दबे रहना तथा परीक्षा देना नहीं है। शिक्षा से बच्चों का स्वाभाविक विकास तथा उनकी प्रतिभाओं का प्रकटीकरण होना चाहिए। इसके लिए शिक्षकों के शिक्षण-प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान ने 'शिक्षा पथ प्रदीपिका' पुस्तक का विमोचन भी किया।   समाज के सहयोग से शिक्षा मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा देना केवल सरकार का कार्य नहीं है। समाज के सहयोग से शिक्षा दी जानी चाहिए। इस क्षेत्र में विद्या भारती जैसी संस्थाएं काफी अच्छा कार्य कर रही हैं। शिक्षा के क्षेत्र में अच्छे कार्य कर रहे संस्थानों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।   जो चाहे पढ़ाएँ, यह नहीं चलेगा चौहान ने स्पष्ट रूप से कहा कि शिक्षण संस्थाएँ अमर्यादित शिक्षा देकर विद्यार्थियों को दिग्भ्रमित करें, यह नहीं चलेगा। यदि कोई संस्थान गलत शिक्षा देता है, तो उसे रोका जाएगा। हम आतंकवादी नहीं बनने दे सकते। स्कूलों के नाम पर कुछ भी खोला जाए, यह नहीं चलेगा।   शिक्षाविदों को जोड़ा जाए उन्‍होंने कहा कि मध्यप्रदेश पहला राज्य है जहाँ नई शिक्षा नीति को लागू करने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया गया है। इसमें प्रदेश के विभिन्न शिक्षाविदों को जोड़ा जाए, जो नई शिक्षा नीति के प्रावधानों को मध्यप्रदेश में किस तरह व्यवहारिक रूप से लागू किया जाए, इस संबंध में सुझाव दें।   अपने शिक्षक रतन चंद जैन को याद किया मुख्यमंत्री चौहान ने अपने गाँव जैत के प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक रतन चंद जैन को याद करते हुए कहा कि उनके द्वारा दी गई शिक्षा मेरे जीवन में अत्यंत महत्वपूर्ण है। वे प्रत्येक शनिवार को विद्यार्थियों को रामचरित मानस पढ़ाया करते थे। 'इससे न केवल मैं वक्ता बना, अपितु मुझे भगवान राम की मर्यादाओं के अनुरूप जीवन जीने की प्रेरणा मिली'। बिना नैतिकता के शिक्षा व्यर्थ है। शिक्षा मनुष्य को मनुष्य बनाती है और अज्ञान से मुक्त करती है।   आत्म-निर्भर मध्य प्रदेश के रोड मैप में शिक्षा अहम चौहान ने कहा कि आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के लिए बनाए गए रोड मैप में शिक्षा का महत्वपूर्ण स्थान है। प्रदेश में उच्च गुणवत्तायुक्त सी.एम. राइज स्कूल खोले जाने के लिए डेढ़ हज़ार करोड़ रुपए का बजट रखा गया है। अच्छी तकनीकी शिक्षा के लिए ग्लोबल स्किल पार्क तथा आदर्श आईटीआई बनाए जा रहे हैं।   मंथन से उपजा विचार रूपी अमृत राष्ट्रीय शिक्षा नीति में सार्थक होगा : मंत्री परमार स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इंदर सिंह परमार ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को लागू करने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग सतत प्रयास कर रहा है। वर्तमान शिक्षा व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन की आवश्यकता है। शिक्षा व्यवस्था भारत केंद्रित, गुणवत्तापूर्ण और ज्ञान आधारित होना चाहिए। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वयन के उद्देश्य से स्कूल शिक्षा विभाग, विद्या भारती उच्च शिक्षा संस्थान और एनसीटीई के संयुक्त तत्वधान में राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित की गई है। देशभर के विद्वान, विश्वविद्यालय के कुलपति अलग अलग सत्रों में अपना मार्गदर्शन देंगे। इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में शिक्षक-शिक्षा के ऊपर व्यापक मंथन और चिंतन किया जाएगा। इस मंथन से उपजा विचार रूपी अमृत राष्ट्रीय शिक्षा नीति में मील का पत्थर साबित होगा। संगोष्ठी के दौरान प्राप्त सिफारिशों को मध्य प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में लागू करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने संगोष्ठी में आए सभी विद्वतजनों का अभिनंदन और आभार व्यक्त किया।   इस अवसर पर कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर कैलाश चंद्र शर्मा, दत्तात्रेय होसबले और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली के कुलपति प्रोफेसर एम. जगदीश कुमार आदि उपस्थित रहे। 

Dakhal News

Dakhal News 5 March 2021


bhopal, Thakur Mohar Singh, BJP MLA from Vidisha, dies, CM expresses sorrow

विदिशा। भाजपा के एक और वरिष्ठ नेता का निधन हो गया है। विदिशा से लगातार चार बार विधायक रहे ठाकुर मोहर सिंह का गुरुवार तड़के निधन हो गया है। पूर्व विधायक के निधन की खबर मिलते ही पार्टी और जिले में शोक की लहर दौड़ गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना की है।   जानकारी के अनुसार सहज सरल और हंसी-ठहाकों के लिए मशहूर रहे पूर्व विधायक पिछले दिनों से बीमार थे और भोपाल में उनका इलाज चल रहा था। जहां गुरुवार तड़के इलाज के दौरान उनका निधन हो गया है। उनका आज दोपहर 3.30 बजे अंतिम संस्कार होगा। ठाकुर मोहर सिंह के विषय में एक बात हमेशा चलती रहती थी कि वह पीड़ितों की सहायता करने के लिए हमेशा तत्पर रहते थे। दूसरी पार्टियों के लोगों को भी अपना बना लेना उनके अंदर एक खास गुण था।   सीएम शिवराज  ने जताया दुखपूर्व विधायक के निधन का समाचार मिलने पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘मन व्यथित है। दु:ख और पीड़ा से भरा हुआ है! हमारे साथी, चार बार के विधायक रहे, विदिशा के लोकप्रिय जननेता श्री ठाकुर मोहर सिंह दांगी जी हमें छोड़कर चले गये। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान और परिजनों व चाहने वालों को यह गहन दु:ख सहन करने की शक्ति दें। एक अन्य ट्वीट कर उन्होंने कहा ‘आदरणीय ठाकुर मोहर सिंह दांगी जी ने विदिशा के विकास और जनता के कल्याण के लिए अनेक उत्कृष्ट कार्य और प्रयास किये। उनका सम्पूर्ण जीवन जनसेवा में व्यतीत हुआ। वे समाज, प्रदेश और राष्ट्र की उन्नति के लिए किये अपने कार्यों के लिए सदैव याद किये जायेंगे। चरणों में विनम्र श्रद्धांजलि!

Dakhal News

Dakhal News 4 March 2021


bhopal, CM Shivraj, got Corona vaccine, appealed to people ,get vaccinated

भोपाल। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कोरोना का टीका लगवाया। सीएम शिवराज गुरुवार को गांधी मेडिकल कॉलेज पहुंचे, जहां उन्हें कोरोना वैक्सीन की पहली डोज दी गई। टीका लगवाान के दौरान सीएम शिवराज की पत्नी साधना सिंह मौजूद रहीं।   सीएम शिवराज ने ट्वीट कर जानकारी साझा करते हुए कहा आज कोविड19 वैक्सीन की पहली डोज़ ली। हमारा देश तेजी से इस वायरस से मुक्ति के पथ पर बढ़ चला है। यह हमारे वैज्ञानिकों और डॉक्टरों के सघन परिश्रम और यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व के कारण संभव हुआ है, आप सबका हृदय से अभिनंदन करता हूं! सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर लोगों से आग्रह करते हुए कहा जो वैक्सीन लगवाने की श्रेणी में हैं, मैं उन सभी लोगों से आग्रह करता हूं कि वैक्सीन लगवायें और प्रदेश एवं देश को कोविड19 से मुक्ति के प्रयास को गति दें। हम सबके प्रयास से ही इस महाप्रयास को सफल बनाया जा सकेगा। आइये, कदम बढ़ायें, स्वस्थ प्रदेश एवं देश बनायें।

Dakhal News

Dakhal News 4 March 2021


bhopal, CM Shivraj, got Corona vaccine, appealed to people ,get vaccinated

भोपाल। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कोरोना का टीका लगवाया। सीएम शिवराज गुरुवार को गांधी मेडिकल कॉलेज पहुंचे, जहां उन्हें कोरोना वैक्सीन की पहली डोज दी गई। टीका लगवाान के दौरान सीएम शिवराज की पत्नी साधना सिंह मौजूद रहीं।   सीएम शिवराज ने ट्वीट कर जानकारी साझा करते हुए कहा आज कोविड19 वैक्सीन की पहली डोज़ ली। हमारा देश तेजी से इस वायरस से मुक्ति के पथ पर बढ़ चला है। यह हमारे वैज्ञानिकों और डॉक्टरों के सघन परिश्रम और यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व के कारण संभव हुआ है, आप सबका हृदय से अभिनंदन करता हूं! सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर लोगों से आग्रह करते हुए कहा जो वैक्सीन लगवाने की श्रेणी में हैं, मैं उन सभी लोगों से आग्रह करता हूं कि वैक्सीन लगवायें और प्रदेश एवं देश को कोविड19 से मुक्ति के प्रयास को गति दें। हम सबके प्रयास से ही इस महाप्रयास को सफल बनाया जा सकेगा। आइये, कदम बढ़ायें, स्वस्थ प्रदेश एवं देश बनायें।

Dakhal News

Dakhal News 4 March 2021


bhopal, body of Nandu Bhaiya, reached ancestral village

भोपाल।  मप्र के खंडवा संसदीय क्षेत्र से सांसद दिवंगत नंदकुमारसिंह चौहान का आज दोपहर में अंतिम संस्कार होगा। देर रात उनका पार्थिव शरीर बुरहानपुर स्थित उनके पैतृक गांव शाहपुर लाया गया, जहां उनके अंतिम दर्शन के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। बुधवार को सुबह से ही उनके निवास पर श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा हुआ है।    बता दें कि कोरोना पीडि़त होने के बाद सांसद नंदकुमार सिंह चौहान को गत दिनों एयर एम्बुलेंस से दिल्ली ले जाया गया था। जहां मंगलवार को सुबह गुरुग्राम स्थित मेंदाता अस्पताल में उपचार के दौरान उनका निधन हो गया था। मंगलवार देर शाम उनका पार्थिव शरीर भोपाल पहुंचा और अंतिम दर्शन के लिए भाजपा कार्यालय लाया गया, जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत प्रदेश के मंत्रियों और भाजपा-कांग्रेस नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर अंतिम दर्शन किये। देर रात हजारों लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद रात में ही उनके पार्थिव शरीर को भोपाल से आष्टा, सतवास, नर्मदानगर से खंडवा ले जाया गया। रात 2.30 बजे खंडवा के मुख्य बाजार से उनका शव इंदिरा चौक स्थित भाजपा कार्यालय ले जाया गया, जहां खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा, पूर्व महापौर सुभाष कोठारी समेत बड़ी संख्या में लोगों ने उनके अंतिम दर्शन किये। उनके शव के पास बेटा हर्षवर्धन मौजूद रहा। इसके बाद बुधवार तडक़े उनका पार्थिव शरीर पैतृक गांव शाहपुर ले जाया गया, जहां सुबह से ही उनके अंतिम दर्शन करने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ रहा है। कुछ ही देर में उनकी अंतिम यात्रा निकाली जाएगी, जिसमें शामिल होने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत प्रदेश के मंत्री और हजारों की संख्या में कार्यकर्ता पहुंच चुके हैं।

Dakhal News

Dakhal News 3 March 2021


bhopal, MP Budget Session, Finance Minister Deora ,present Pepperless budget

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में मंगलवार, 02 मार्च को राज्य सरकार का वित्त वर्ष 2021-22 का वार्षिक बजट पेश होगा। प्रदेश के वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा सदन में ऑनलाइन टैबलेट के माध्यम से पेपरलैस बजट पेश करेंगे। इस साल कोरोना के कारण उपजी आर्थिक चुनौतियों के बीच यह बजट दो लाख 40 हजार करोड़ रुपये से अधिक का होगा। नागरिकों को बजट से काफी उम्मीदे हैं और वित्तीय चुनौतियों के बीच सभी की निगाहें बजट के प्रावधानों पर टिकी हुयी हैं।   गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में पिछले 2018 के चुनाव में कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस की गठबंधन की सरकार बनी थी, लेकिन पिछले साल 2020 में मार्च के महीने में यहां बड़ा राजनीतिक फेरबदल हुआ और कमलनाथ सरकार गिर गई थी। इसके बाद मार्च के अंतिम दिनों में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च 2020 को चौथी बार राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में कमान संभाली, लेकिन इसी दौर में कोरोना और इसके कारण उपजी चुनौतियां सामने आ गईं। इन चुनौतियों से निपटने के लिए राज्य सरकार पिछले 11 माह में कम से कम 23 हजार करोड़ रुपयों का ऋण ले चुकी है। ऐसे में सरकार बजट में आम लोगों को क्या सौगात देती है, यह देखने वाली बात होगी।    वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा बजट को अंतिम रूप देने में जुटे हैं और विधानसभा में बजट भाषण की तैयारियां कर रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार के बजट में आम जनता को राहत मिलने की उम्मीद कम है। वैसे सरकार भले ही नया टैक्स नहीं लगाने पर विचार कर रही हो, लेकिन पेट्रोल और डीजल पर वैट भी घटने के संकेत मिल रहे हैं। इन सबके बीच चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग दावा कर रहे हैं कि यह आम लोगों का बजट है और कल्याणकारी होगा।   इस बार मध्‍य प्रदेश का बजट 2 लाख 40 हजार करोड़ रुपये तक का हो सकता है। यह पिछले साल की तुलना में सात से दस फीसदी तक बढ़ने वाला है। बजट में गैस पीड़ित विधवा महिला की पेंशन फिर शुरू करने का प्रावधान होगा। इसके अलावा बजट में नर्मदा एक्सप्रेस-वे, अटल प्रोग्रेस वे के रास्ते में इकोनॉमिक कॉरिडोर और इंडस्ट्रियल निवेश को बढ़ाने के लिए नए प्रावधानों किए जा रहे हैं। बजट में सरकार का फोकस प्रदेश के साढ़े सात लाख कर्मचारियों और चार लाख पेंशनर्स पर रहेगा। वहीं, 7.50 लाख कर्मचारियों को दो वेतन वृद्धि एक साथ मिलेने की उम्मीद है। इलके अलावा 2020 और 2021 की वेतन वृद्धि देने की घोषणा सरकार कर सकती है। बजट में मप्र में 9 नए मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा हो सकती है। इनमें छह केंद्र सरकार की मदद से और तीन मप्र खोलेगा। मेडिकल कॉलेज शिवपुरी, राजगढ़, मंडला, सिंगरौली, नीमच, मंदसौर, छतरपुर, दमोह और सिवनी में खुल सकते है।   माना जा रहा है कि बजट में स्वास्थ्य के अलावा ढांचागत सुविधाओं के विस्तार और विकास के अलावा कृषि, ग्रामीण क्षेत्र, शिक्षा और शहरी विकास से जुड़ी योजनाओं पर जोर दिया जाएगा। आम लोगों को उम्मीद है कि सरकार इस बार बजट में पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले करों में थोड़ी राहत दे सकती है, लेकिन इसको लेकर स्थिति मंगलवार को ही साफ हो पाएगी।   चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बजट को कल्याणकारी बताया है। उन्होंने कहा कि यह बजट विकास करने वाला और जन कल्याणकारी होगा।

Dakhal News

Dakhal News 1 March 2021


bhopal, Second round vaccination, started state

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना से सुरक्षा के लिए वैक्सीनेशन का दूसरा चरण सोमवार से शुरू हो गया। भोपाल में स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने जेपी अस्पताल में टीका लगवाया। राजधानी में कुल 15 अस्पतालों में टीकाकरण शुरू हुआ है। दूसरे चरण में 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों और 45 से 59 साल के उम्र के ऐसे लोगों को टीका लगाया जा रहा है, जिन्हें शुगर, ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां हैं। निजी टीकाकरण केंद्रों पर टीकाकरण का 250 रुपये देने पड़े रहे हैं, जबकि सरकारी सेंटर पर यह फ्री है।   कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन का दूसरा दौर प्रदेश में सोमवार सुबह से शुरू हुंआ। स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी सोमवार राजधानी के जे.पी.अस्पताल पहुंचे और उन्होंने कोरोना का टीका लगावाया। दूसरे दौर की शुरुआत पर जेपी अस्पताल को गुब्बारे और फूलों से सजाया गया था। भोपाल में जे.पी.अस्पताल के अलावा एम्स, हमीदिया, प्रोतिमा मलिक पुलिस अस्पताल, बीएमएचआरसी, कस्तूरबा अस्पताल, ईएसआई अस्पताल, बैरागढ़ सिविल अस्पताल, बैरसिया सिविल अस्पताल, चिरायु, एलएन मेडिकल कॉलेज, एमआईएमएस, पीपुल्स मेडिकल कॉलेज, आरकेडीएफ मेडिकल कॉलेज, नेशनल अस्पताल, नोबल अस्पताल और भोपाल केयर हॉस्पिटल में भी टीकाकरण शुरू हो चुका है।   प्रदेश के ग्वालियर में सोमवार सुबह 10.40 बजे तक वैक्सीनेशन शुरू नहीं हो सका। यहां रजिस्ट्रेशन शुरू नहीं होने की वजह से यह समस्या आई। ग्वालियर-चंबल अंचल के सबसे बड़े अस्पताल जेएएच में टीका लगने के इंतजार में सीनियर सिटीजन बैठे रहे। ग्वालियर में सांसद विवेक शेजवलकर को पहला टीका लगाया जाना है। इस वजह से बुजुर्गों को बाहर बैठाया गया है।   इंदौर में सोमवार सुबह 10 बजे आम नागरिकों के लिए टीकाकरण शुरू हो गया। सुबह 9 बजे ही अस्पतालों में पहुंचकर लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया। इंदौर में पीसी सेठी अस्पताल, सिविल हॉस्पिटल महू, महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज, अरबिंदो मेडिकल कॉलेज, इन्डेसक मेडिकल कॉलेज, चोइथराम हॉस्पिटल, मेडिकेयर हॉस्पिटल में टीकाकरण किया जा रहा है।   जबलपुर के 9 अस्पतालों में टीकाकरण सोमवार से शुरू हो गया है। जिला अस्पताल विक्टोरिया में स्वामी अखिलेश्वरा, श्यामा देवाचार्य और अन्य संतों ने वैक्सीन लगवाकर आमजन को जागरूक किया। टीकाकरण केंद्रों पर उत्साह के साथ लोगों की भीड़ दिख रही है।   उज्जैन में आम लोगों को कोविड-19 का टीकाकरण सोमवार सुबह 10 बजे शुरू हुआ। जिले के 10 सेशन साइट पर टीके लगाए जा रहे हैं। सुबह के करीब 1 घंटे में करीब 50 लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं।

Dakhal News

Dakhal News 1 March 2021


bhopal, Shivraj praised ,PM Modi,

भोपाल। देशभर में कोरोना संक्रमण के खिलाफ वैक्सीनेशन का दूसरा फेज सोमवार को शुरू हो गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना का पहला टीका लगवा लिया है। उन्हें भारत बायोटेक की कोवैक्सिन का डोज दिया गया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने नागरिकों से आगे आकर वैक्सीन लगवाने की अपील की। पीएम मोदी द्वारा कोविड वैैक्सीन लगवाए जाने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनकी प्रशंसा की है।   सीएम शिवराज  ने ट्वीट कर कहा ‘लीडर सदैव आगे रहकर नागरिकों को राह दिखाते हैं और आप एक सच्चे लीडर हैं। हर चुनौती में आपने देश की अगुवाई की है। आज कोविड 19 के विरुद्ध लड़ाई में देश एक नये आत्मविश्वास से भर गया है। देशवासियों को आपने आज पुन: नई प्रेरणा से भरकर स्वस्थ भारत के निर्माण को और गति दी है।

Dakhal News

Dakhal News 1 March 2021


bhopal,Corona Vaccination, MP second phase, country first phase

भोपाल। कोविड-टीकाकरण के प्रथम चरण में मध्यप्रदेश में 6.51 लाख हेल्थ केयर एवं फ्रंट लाइन वर्कर्स को संयुक्त रूप से प्रथम डोज का दिया गया है। यह कुल चिन्हित हितग्राहियों का 85 फीसदी है। इनमें से 1.60 लाख यानी 46 फीसदी हेल्थ केयर वर्कर्स को कोरोना का दूसरा डोज दिया जा चुका है। प्रथम चरण में मध्यप्रदेश टीकाकरण के मामले में दूसरे स्थान पर है। यह जानकारी प्रदेश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने रविवार को आयोजित प्रेसवार्ता में दी।   स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. चौधरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कोविड-वैक्सिनेशन का दूसरा चरण सोमवार, 01 मार्च से शुरू हो रहा है। इसमें प्रदेश के 186 चिन्हित अस्पतालों में 60 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। इसके साथ ही इस चरण में 45 से 59 वर्ष के ऐसे नागरिकों का का टीकाकरण भी किया जाएगा, जो स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा अधिसूचित 20 प्रकार की कोमार्विड डिसीज से पीड़ित हैं और निर्धारित प्रारूप में मेडिकल काउसिंल ऑफ इंडिया द्वारा पंजीकृत मेडिकल प्रैक्टिशनर्स द्वारा जारी प्रमाण पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं। इसके अलावा पहले चरण के ऐसे हेल्थ और फ्रंट लाइन वर्कर्स भी टीका लगवा सकेंगे, जो किसी कारणवश पहले चरण में पंजीयन नहीं करा सके और टीकाकरण से छूट गए हैं।     स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने बताया कि दूसरे चरण में मध्यप्रदेश के 186 अस्पतालों में टीकाकरण की सुविधा रहेगी, जिनमें प्रदेश के सभी 51 जिला अस्पताल, 84 सिविल अस्पताल, 13 सरकारी महाविद्यालय के अलावा तीन निजी महाविद्यालय और 35 निजी अस्पताल शामिल  हैं। सरकारी अस्पताल में टीका निशुल्क लगाया जाएगा, जबकि निजी अस्पताल में 250 रुपये शुल्क लिया जाएगा। इसमें 100 रुपये सर्विस चार्ज और 150 रुपये डोज की कीमत शामिल है। इस चरण में प्रदेश के 71.62 लाख नागरिकों को टाकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण के लिए मध्यप्रदेश को 16.63 लाख वैक्सीन डोज का आवंटन किया गया है, जिसमें से 7 लाख डोज प्रदेश को प्राप्त हो चुके हैं। 

Dakhal News

Dakhal News 28 February 2021


bhopal,Corona Vaccination, MP second phase, country first phase

भोपाल। कोविड-टीकाकरण के प्रथम चरण में मध्यप्रदेश में 6.51 लाख हेल्थ केयर एवं फ्रंट लाइन वर्कर्स को संयुक्त रूप से प्रथम डोज का दिया गया है। यह कुल चिन्हित हितग्राहियों का 85 फीसदी है। इनमें से 1.60 लाख यानी 46 फीसदी हेल्थ केयर वर्कर्स को कोरोना का दूसरा डोज दिया जा चुका है। प्रथम चरण में मध्यप्रदेश टीकाकरण के मामले में दूसरे स्थान पर है। यह जानकारी प्रदेश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने रविवार को आयोजित प्रेसवार्ता में दी।   स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. चौधरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कोविड-वैक्सिनेशन का दूसरा चरण सोमवार, 01 मार्च से शुरू हो रहा है। इसमें प्रदेश के 186 चिन्हित अस्पतालों में 60 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। इसके साथ ही इस चरण में 45 से 59 वर्ष के ऐसे नागरिकों का का टीकाकरण भी किया जाएगा, जो स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा अधिसूचित 20 प्रकार की कोमार्विड डिसीज से पीड़ित हैं और निर्धारित प्रारूप में मेडिकल काउसिंल ऑफ इंडिया द्वारा पंजीकृत मेडिकल प्रैक्टिशनर्स द्वारा जारी प्रमाण पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं। इसके अलावा पहले चरण के ऐसे हेल्थ और फ्रंट लाइन वर्कर्स भी टीका लगवा सकेंगे, जो किसी कारणवश पहले चरण में पंजीयन नहीं करा सके और टीकाकरण से छूट गए हैं।     स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने बताया कि दूसरे चरण में मध्यप्रदेश के 186 अस्पतालों में टीकाकरण की सुविधा रहेगी, जिनमें प्रदेश के सभी 51 जिला अस्पताल, 84 सिविल अस्पताल, 13 सरकारी महाविद्यालय के अलावा तीन निजी महाविद्यालय और 35 निजी अस्पताल शामिल  हैं। सरकारी अस्पताल में टीका निशुल्क लगाया जाएगा, जबकि निजी अस्पताल में 250 रुपये शुल्क लिया जाएगा। इसमें 100 रुपये सर्विस चार्ज और 150 रुपये डोज की कीमत शामिल है। इस चरण में प्रदेश के 71.62 लाख नागरिकों को टाकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण के लिए मध्यप्रदेश को 16.63 लाख वैक्सीन डोज का आवंटन किया गया है, जिसमें से 7 लाख डोज प्रदेश को प्राप्त हो चुके हैं। 

Dakhal News

Dakhal News 28 February 2021


bhopal, CM Shivraj ,planted bamboo plant, Bamboo is useful

भोपाल। प्रतिदिन एक पौधा लगाने के अपने संकल्प के क्रम में आज कोलकाता के जगतवल्लभपुर में बांस का पौधा लगाया। सीएम शिवराज ने ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी साझा की है।   उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘बांस पर्यावरण की रक्षा के अलावा कई बीमारियों के उपचार के लिए भी बहुत उपयोगी माना जाता है। आपसे भी आग्रह है कि पौधरोपण का संकल्प लीजिए और धरा को समृद्ध बनाइये। इसके अलावा मुख्समंत्री शिवराज ने कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में स्थित श्रद्धेय रामकृष्ण परमहंस जी की कुटी में पहुंचकर श्रद्धासुमन अर्पित किया। यह उनकी कर्मभूमि और साधनास्थली रही है। उन्होंने कहा कि आज भी उस पवित्र स्थल पर उनके कठिन तप और विचारों के आनंदमयी प्रकाश की सुखद अनुभूति होती है। उनके चरणों में प्रणाम!   बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पश्चिम बंगाल के प्रवास पर है। वहां वे चुनावी आमसभा को संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज कोलकाता के निकट धुलागोरी मोड़ से हावड़ा साउथ तक परिवर्तन रैली करेंगे। मुख्यमंत्री धुलागोरी मोड़, आलमपुर और हावड़ा साउथ में आम सभा को संबोधित भी करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 28 February 2021


bhopal, CM Shivraj ,planted bamboo plant, Bamboo is useful

भोपाल। प्रतिदिन एक पौधा लगाने के अपने संकल्प के क्रम में आज कोलकाता के जगतवल्लभपुर में बांस का पौधा लगाया। सीएम शिवराज ने ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी साझा की है।   उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘बांस पर्यावरण की रक्षा के अलावा कई बीमारियों के उपचार के लिए भी बहुत उपयोगी माना जाता है। आपसे भी आग्रह है कि पौधरोपण का संकल्प लीजिए और धरा को समृद्ध बनाइये। इसके अलावा मुख्समंत्री शिवराज ने कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में स्थित श्रद्धेय रामकृष्ण परमहंस जी की कुटी में पहुंचकर श्रद्धासुमन अर्पित किया। यह उनकी कर्मभूमि और साधनास्थली रही है। उन्होंने कहा कि आज भी उस पवित्र स्थल पर उनके कठिन तप और विचारों के आनंदमयी प्रकाश की सुखद अनुभूति होती है। उनके चरणों में प्रणाम!   बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पश्चिम बंगाल के प्रवास पर है। वहां वे चुनावी आमसभा को संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज कोलकाता के निकट धुलागोरी मोड़ से हावड़ा साउथ तक परिवर्तन रैली करेंगे। मुख्यमंत्री धुलागोरी मोड़, आलमपुर और हावड़ा साउथ में आम सभा को संबोधित भी करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 28 February 2021


bhopal, Mamta didi commits, crime, making Muslim Bengal ,Shivraj

भोपाल/कोलकाता। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भाजपा के चुनाव प्रचार के लिए पश्चिम बंगाल के दौरे पर हैं। उन्होंने रविवार को हावड़ा में परिवर्तन रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने प. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला और कहा कि ममता दीदी ने तुष्टिकरण की नीति अपनाकर मुस्लिम बंगाल बना कर पाप और अपराध किया है। इसे बंगाल की जनता स्वीकार नहीं करेगी।   मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यह रवींद्रनाथ टेगौर की धरती है। यहीं से वंदेमातरम का उदघोष हुआ, जिसने देश को आजाद कराया। ममता बनर्जी ने बंगाल को बांटने का काम किया है। यहां जय श्रीराम का नारा नहीं लगाने दिया जाता। जब जयश्री राम का नारा लगता है, तो दीदी बौखला जाती हैं। आपने बंगाल को समुदाय के आधार पर बांट दिया गया है। उन्होंने कहा कि बंगाल के भाजपा कार्यकर्ताओं का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि मैं चौकीदार मुख्यमंत्री हूं। केंद्र से पैसा आता है, तो सीधे जनता के खाते में जाता है। आप तो गरीबों का राशन भी खा गए। यदि गरीबी किसानों को 6 हजार मिल जाते, तो दीदी आपका क्या बिगड़ जाता? हमने सुना है कि जब राम थे, तब रावण और कुंभकरण भी हुआ करते थे। कुंभकरण के बारे में कहते हैं कि छह महीने सोता था और छह महीने जागता था। जब छह महीने जागता था, तो सिर्फ खाता ही रहता था, लेकिन टीएमसी वाले तो 12 महीने खाते रहते हैं। चौहान ने कहा कि इन्होंने जनता का हक मारा हे, इसीलिए यह परिवर्तन यात्रा निकल रही है,  जो तृणमूल कांग्रेस के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी।   रैली से पहले मुख्यमंत्री शिवराजसिंह दक्षिणेश्वर मंदिर पहुंचे, जहां उन्होंने मां काली की पूजा-अर्चना की। मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में परिवर्तन की लहर चल रही है। तृणमूल कांग्रेस की हिंसा, भ्रष्टाचार, कटमनी, अत्याचार, अन्याय से लोग परेशान हैं। जनता को केंद्र की योजनाओं का लाभ नहीं दिया। चारों तरफ भ्रष्टाचार का बोल बाला है।

Dakhal News

Dakhal News 28 February 2021


Damoh district ,remain behind ,shortage of money, Chief Minister

भोपाल/दमोह। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को दमोह जिले के प्रवास के दौरान प्रबुद्धजनों से मिले और दमोह जिले के विकास को लेकर चर्चा की। चर्चा में प्रबुद्धजनों ने दमोह के विकास के बारे में अपने सुझाव रखे। मुख्यमंत्री चौहान आश्वस्त किया कि दमोह जिला विकास के किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं रहेगा और पैसे की कमी नहीं आने दी जायेगी। उन्होंने बताया कि यहां मीथेन गैस भण्डार मिलने से क्षेत्र की तस्वीर बदल जायेगी। बुंदेलखंड में पर्यटन की अच्छी संभावना है। इसका विकास एवं पर्यटन के लिये पूरा उपयोग किया जायेगा।   मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोनाकाल की आपदा को अवसर में बदला है। उन्होंने आत्म-निर्भर भारत बनाने की बात कही है। आत्म-निर्भर भारत के लिए आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश बनाया जायेगा। इसका रोडमेप तैयार कर लिया गया है और संकल्प के साथ इस दिशा कार्य प्रारंभ हो गया है। भौतिक अधोसंचरनाएँ अच्छी सड़क, सिंचाई व्यवस्था, पेयजल, शिक्षा, अर्थव्यवस्था और रोजगार के लिए प्रतिद्धधता से कार्य किया जा रहा है।   मुख्यमंत्री ने कहा कि दमोह में मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखी जा रही है। दमोह की भूमि से प्रदेश के 20 लाख किसानों के खातों में 400 करोड़ रूपये अंतरित किये जा रहे है। प्रदेश में कोरोना काल में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत एक लाख 18 हजार करोड़ रुपये की राशि जनता के खातों में डाली गई। ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा की गुणवत्ता की सुधार के लिए 20-25 किलोमीटर के दायरे में सी.एम. राईज स्कूल खोले जायेंगे। तीन साल में दमोह जिले के प्रत्येक गाँव और घर में नल से शुद्ध जल मिलने लगेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन और बेतवा नदी बुन्देलखण्ड की जीवन रेखा है। केन और बेतवा नदी पर बांध बनाने में आ रहे अवरोधों को दूर कर लिया गया है। नदियों को जोड़कर बाँध बनाया जायेगा और बुन्देलखण्ड की भूमि को सिंचित किया जायेगा। इसमें दमोह जिले की अधिकांश कृषि भूमि सिंचित होगी। उन्होंने कहा कि चर्चा में रेल्वे के संबंध में सुझाव प्राप्त हुआ है, प्रदेश सरकार इसे प्रभावी ठंग से रखेगी। उन्होंने कुर्मी समाज के भवन के लिये जमीन देने और सिन्धी समाज के लोगों को स्थाई पट्टे देने की बात भी कही।   कार्यक्रम को केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद पटेल ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र में तीन जिले दमोह, सागर और छतरपुर आते हैं। तीनों जिलों में मेडीकल कॉलेज की सुविधा होगी। दमोह ऐसा संसदीय क्षेत्र है जिसके प्रत्येक जिले में मेडीकल कॉलेज होगा।   इस अवसर पर नगरीय विकास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, खजुराहो सांसद वी.डी. शर्मा, पूर्वमंत्री जयंत मलैया, रामकृष्ण कुसमरिया, मध्यप्रदेश वेयरहाउसिंग एवं लॉजिस्टिक्स कॉरपोरेशन अध्यक्ष राहुल सिंह सहित स्थानीय विधायक, समाजसेवी, चिकित्सक, साहित्यकार, इंजीनियर, एडवोकेट, सामाजिक कार्यकर्ता और विभिन्न समाजों के अध्यक्ष और वरिष्ठ नागरिक मौजूद रहे।

Dakhal News

Dakhal News 27 February 2021


Damoh district ,remain behind ,shortage of money, Chief Minister

भोपाल/दमोह। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को दमोह जिले के प्रवास के दौरान प्रबुद्धजनों से मिले और दमोह जिले के विकास को लेकर चर्चा की। चर्चा में प्रबुद्धजनों ने दमोह के विकास के बारे में अपने सुझाव रखे। मुख्यमंत्री चौहान आश्वस्त किया कि दमोह जिला विकास के किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं रहेगा और पैसे की कमी नहीं आने दी जायेगी। उन्होंने बताया कि यहां मीथेन गैस भण्डार मिलने से क्षेत्र की तस्वीर बदल जायेगी। बुंदेलखंड में पर्यटन की अच्छी संभावना है। इसका विकास एवं पर्यटन के लिये पूरा उपयोग किया जायेगा।   मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोनाकाल की आपदा को अवसर में बदला है। उन्होंने आत्म-निर्भर भारत बनाने की बात कही है। आत्म-निर्भर भारत के लिए आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश बनाया जायेगा। इसका रोडमेप तैयार कर लिया गया है और संकल्प के साथ इस दिशा कार्य प्रारंभ हो गया है। भौतिक अधोसंचरनाएँ अच्छी सड़क, सिंचाई व्यवस्था, पेयजल, शिक्षा, अर्थव्यवस्था और रोजगार के लिए प्रतिद्धधता से कार्य किया जा रहा है।   मुख्यमंत्री ने कहा कि दमोह में मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखी जा रही है। दमोह की भूमि से प्रदेश के 20 लाख किसानों के खातों में 400 करोड़ रूपये अंतरित किये जा रहे है। प्रदेश में कोरोना काल में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत एक लाख 18 हजार करोड़ रुपये की राशि जनता के खातों में डाली गई। ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा की गुणवत्ता की सुधार के लिए 20-25 किलोमीटर के दायरे में सी.एम. राईज स्कूल खोले जायेंगे। तीन साल में दमोह जिले के प्रत्येक गाँव और घर में नल से शुद्ध जल मिलने लगेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन और बेतवा नदी बुन्देलखण्ड की जीवन रेखा है। केन और बेतवा नदी पर बांध बनाने में आ रहे अवरोधों को दूर कर लिया गया है। नदियों को जोड़कर बाँध बनाया जायेगा और बुन्देलखण्ड की भूमि को सिंचित किया जायेगा। इसमें दमोह जिले की अधिकांश कृषि भूमि सिंचित होगी। उन्होंने कहा कि चर्चा में रेल्वे के संबंध में सुझाव प्राप्त हुआ है, प्रदेश सरकार इसे प्रभावी ठंग से रखेगी। उन्होंने कुर्मी समाज के भवन के लिये जमीन देने और सिन्धी समाज के लोगों को स्थाई पट्टे देने की बात भी कही।   कार्यक्रम को केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद पटेल ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र में तीन जिले दमोह, सागर और छतरपुर आते हैं। तीनों जिलों में मेडीकल कॉलेज की सुविधा होगी। दमोह ऐसा संसदीय क्षेत्र है जिसके प्रत्येक जिले में मेडीकल कॉलेज होगा।   इस अवसर पर नगरीय विकास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, खजुराहो सांसद वी.डी. शर्मा, पूर्वमंत्री जयंत मलैया, रामकृष्ण कुसमरिया, मध्यप्रदेश वेयरहाउसिंग एवं लॉजिस्टिक्स कॉरपोरेशन अध्यक्ष राहुल सिंह सहित स्थानीय विधायक, समाजसेवी, चिकित्सक, साहित्यकार, इंजीनियर, एडवोकेट, सामाजिक कार्यकर्ता और विभिन्न समाजों के अध्यक्ष और वरिष्ठ नागरिक मौजूद रहे।

Dakhal News

Dakhal News 27 February 2021


bhopal, Chief Minister Chauhan, planted Saptparni

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पर्यावरण को बचाना और उसका संवर्धन करना हम सबका दायित्व है। पर्यावरण बचाने के लिए मैंने संकल्प लिया है, जिसके अनुसार मैं प्रतिदिन एक पौधा रोप रहा हूं। पेड़ बढ़ेंगे तो धरती बचेगी। मुख्यमंत्री चौहान ने सभी वर्गों से आव्हान किया कि वर्ष में कम से कम एक पौधा अवश्य लगाएं और उसका संरक्षण करें।   मुख्यमंत्री चौहान ने शनिवार को श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट सिटी पार्क में सप्तपर्णी का पौधा रोपा। सप्तपर्णी (अल्स्टोनिया स्कोलैरिस) एक औषधि सदाबहार वृक्ष है, जिसका आयुर्वेद में औषधि के रूप में आत्यधिक महत्व है। यह दुर्बलता दूर करने, खुले घावों को ठीक करने और पीलिया एवं मलेरिया के उपचार में काम आता है।

Dakhal News

Dakhal News 27 February 2021


bhopal, Chief Minister Chauhan, planted Saptparni

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पर्यावरण को बचाना और उसका संवर्धन करना हम सबका दायित्व है। पर्यावरण बचाने के लिए मैंने संकल्प लिया है, जिसके अनुसार मैं प्रतिदिन एक पौधा रोप रहा हूं। पेड़ बढ़ेंगे तो धरती बचेगी। मुख्यमंत्री चौहान ने सभी वर्गों से आव्हान किया कि वर्ष में कम से कम एक पौधा अवश्य लगाएं और उसका संरक्षण करें।   मुख्यमंत्री चौहान ने शनिवार को श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट सिटी पार्क में सप्तपर्णी का पौधा रोपा। सप्तपर्णी (अल्स्टोनिया स्कोलैरिस) एक औषधि सदाबहार वृक्ष है, जिसका आयुर्वेद में औषधि के रूप में आत्यधिक महत्व है। यह दुर्बलता दूर करने, खुले घावों को ठीक करने और पीलिया एवं मलेरिया के उपचार में काम आता है।

Dakhal News

Dakhal News 27 February 2021


bhopal, Chief Minister Chauhan, planted Saptparni

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पर्यावरण को बचाना और उसका संवर्धन करना हम सबका दायित्व है। पर्यावरण बचाने के लिए मैंने संकल्प लिया है, जिसके अनुसार मैं प्रतिदिन एक पौधा रोप रहा हूं। पेड़ बढ़ेंगे तो धरती बचेगी। मुख्यमंत्री चौहान ने सभी वर्गों से आव्हान किया कि वर्ष में कम से कम एक पौधा अवश्य लगाएं और उसका संरक्षण करें।   मुख्यमंत्री चौहान ने शनिवार को श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट सिटी पार्क में सप्तपर्णी का पौधा रोपा। सप्तपर्णी (अल्स्टोनिया स्कोलैरिस) एक औषधि सदाबहार वृक्ष है, जिसका आयुर्वेद में औषधि के रूप में आत्यधिक महत्व है। यह दुर्बलता दूर करने, खुले घावों को ठीक करने और पीलिया एवं मलेरिया के उपचार में काम आता है।

Dakhal News

Dakhal News 27 February 2021


bhopal, Chief Minister Chauhan, planted Saptparni

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पर्यावरण को बचाना और उसका संवर्धन करना हम सबका दायित्व है। पर्यावरण बचाने के लिए मैंने संकल्प लिया है, जिसके अनुसार मैं प्रतिदिन एक पौधा रोप रहा हूं। पेड़ बढ़ेंगे तो धरती बचेगी। मुख्यमंत्री चौहान ने सभी वर्गों से आव्हान किया कि वर्ष में कम से कम एक पौधा अवश्य लगाएं और उसका संरक्षण करें।   मुख्यमंत्री चौहान ने शनिवार को श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट सिटी पार्क में सप्तपर्णी का पौधा रोपा। सप्तपर्णी (अल्स्टोनिया स्कोलैरिस) एक औषधि सदाबहार वृक्ष है, जिसका आयुर्वेद में औषधि के रूप में आत्यधिक महत्व है। यह दुर्बलता दूर करने, खुले घावों को ठीक करने और पीलिया एवं मलेरिया के उपचार में काम आता है।

Dakhal News

Dakhal News 27 February 2021


bhopal, Congress calls rules, assembly proceedings viral, violating rules

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन शुक्रवार को सदन में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के बीच नोंक-झोंक हुई थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा देर रात सदन की इस कार्यवाही का वीडियो ट्वीट पर अपलोड कर दिया गया। इसे लेकर कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा है और वीडियो वायरल करने को नियमों का उल्लंघन बताया है।   कांग्रेस नेता नरेन्द्र सलूजा ने शनिवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि विधानसभा की कार्यवाही का इस तरह वीडियो सार्वजनिक करना नियमों के विरुद्ध है। विधानसभा किसी एक दल की नहीं होती। यह सभी दलों से मिलकर बनती है। यह सीधे-सीधे नियमों का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि यह विशेषाधिकार का मामला है। शिवराज जी, आपको विधानसभा की कार्यवाही का वीडियो ही वायरल करना था, तो नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के सिलसिलेवार सारे आरोपों और आपको दिए गए जवाब का भी वीडियो जारी करने का साहस दिखाना था। सिर्फ एक पक्ष का वीडियो जारी कर आप क्या बताना चाह रहे हैं?   दरअसल, मुख्यमंत्री द्वारा ट्वीट पर विधानसभा की कार्यवाही का जो वीडियो वायरल किया गया है, उसमें मुख्यमंत्री शिवराज की तरफ इशारा करते हुए कमलनाथ कहते हैं, कम से कम आपकी साइकिल हमें तो दिलवा दीजिए। इस पर शिवराज कहते हैं कि आपकी उम्र का लिहाज करता हूं। किसी भी कीमत पर आपको साइकिल नहीं दूंगा। बता दें कि इससे पहले कमलनाथ ने महंगे होते पेट्रोल-डीजल पर सवाल उठाते हुए शिवराज द्वारा पुरानी सरकारों के वक्त चलाई गई साइकिल को लेकर चुटकी ली थी। इसी का जवाब मुख्यमंत्री विधानसभा में दे रहे थे।   गौरतलब है कि मध्यप्रदेश विधानससभा में सदन की कार्यवाही के प्रसारण पर सरकार द्वारा रोक लगा रखी है। केवल विधायकों के चाहने पर उन्हें सदन की कार्यवाही का वीडियो उपलब्ध कराया जा सकता है। इस मामले में विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह का कहना है कि विधानसभा के दौरान भाषण देने वाले का वीडियो उनके ही आवेदन करने पर उन्हें दिया जा सकता है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसके लिए आवेदन किया था। इसलिए उन्हें वीडियो दिया गया है। जन संपर्क विभाग ने भी यह वीडियो मांगा था, लेकिन नहीं दिया गया।

Dakhal News

Dakhal News 27 February 2021


bhopal, Congress calls rules, assembly proceedings viral, violating rules

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन शुक्रवार को सदन में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के बीच नोंक-झोंक हुई थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा देर रात सदन की इस कार्यवाही का वीडियो ट्वीट पर अपलोड कर दिया गया। इसे लेकर कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा है और वीडियो वायरल करने को नियमों का उल्लंघन बताया है।   कांग्रेस नेता नरेन्द्र सलूजा ने शनिवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि विधानसभा की कार्यवाही का इस तरह वीडियो सार्वजनिक करना नियमों के विरुद्ध है। विधानसभा किसी एक दल की नहीं होती। यह सभी दलों से मिलकर बनती है। यह सीधे-सीधे नियमों का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि यह विशेषाधिकार का मामला है। शिवराज जी, आपको विधानसभा की कार्यवाही का वीडियो ही वायरल करना था, तो नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के सिलसिलेवार सारे आरोपों और आपको दिए गए जवाब का भी वीडियो जारी करने का साहस दिखाना था। सिर्फ एक पक्ष का वीडियो जारी कर आप क्या बताना चाह रहे हैं?   दरअसल, मुख्यमंत्री द्वारा ट्वीट पर विधानसभा की कार्यवाही का जो वीडियो वायरल किया गया है, उसमें मुख्यमंत्री शिवराज की तरफ इशारा करते हुए कमलनाथ कहते हैं, कम से कम आपकी साइकिल हमें तो दिलवा दीजिए। इस पर शिवराज कहते हैं कि आपकी उम्र का लिहाज करता हूं। किसी भी कीमत पर आपको साइकिल नहीं दूंगा। बता दें कि इससे पहले कमलनाथ ने महंगे होते पेट्रोल-डीजल पर सवाल उठाते हुए शिवराज द्वारा पुरानी सरकारों के वक्त चलाई गई साइकिल को लेकर चुटकी ली थी। इसी का जवाब मुख्यमंत्री विधानसभा में दे रहे थे।   गौरतलब है कि मध्यप्रदेश विधानससभा में सदन की कार्यवाही के प्रसारण पर सरकार द्वारा रोक लगा रखी है। केवल विधायकों के चाहने पर उन्हें सदन की कार्यवाही का वीडियो उपलब्ध कराया जा सकता है। इस मामले में विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह का कहना है कि विधानसभा के दौरान भाषण देने वाले का वीडियो उनके ही आवेदन करने पर उन्हें दिया जा सकता है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसके लिए आवेदन किया था। इसलिए उन्हें वीडियो दिया गया है। जन संपर्क विभाग ने भी यह वीडियो मांगा था, लेकिन नहीं दिया गया।

Dakhal News

Dakhal News 27 February 2021


bhopal, We will leave ,no stone unturned, quality education ,children,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को मंत्रालय से समेकित छात्रवृत्ति योजना के तहत प्रदेश के कक्षा 9वीं से 12वीं के 14.53 लाख विद्यार्थियों के बैंक खातों में 344 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति ऑनलाइन ट्रांसफर की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि छठवीं कक्षा से व्यावसायिक शिक्षा देने का काम क्रमश: शुरू किया जाएगा। बच्चों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा मिले, इसमें हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में समेकित छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत 344 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति विद्यार्थियों के खाते में सिंगल क्लिक से ट्रांसफर कर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उनसे संवाद किया। उन्होंने कहा कि मेरे बच्चों, यह साल बहुत कठिन था। कोविड-19 के कारण लॉकडाउन लग गया और तुम्हें घर पर ही पढऩे के लिए मजबूर होना पड़ा। मैं शिक्षा विभाग को इस बात के लिए बधाई देता हूं कि उन्होंने लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन माध्यम से बेहतर शिक्षा देने का हरसंभव प्रयास किया।   मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा के तीन प्रमुख ध्येय होते हैं- ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देना है। हमारे बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले, हम इसमें कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। स्वामी विवेकानंद जी कहते थे कि मनुष्य केवल साढ़े तीन हाथ का हाड़-मांस का पुतला नहीं है, बल्कि ईश्वर का अंश और अनंत शक्ति का भंडार है। मेरे बच्चों पूरे मन से तुम पढ़ाई करोगे, तो निश्चित रूप से सफलता तुम्हारे कदम चूमेगी।   उन्होंने कहा कि मनुष्य जिस काम के लिए संकल्प कर लेता है, उसके लिए स्वत: उसमें आत्मबल और विश्वास आ जाता है। जिन खोजा तिन पाइयां, जो खोजते हैं, वो पाते हैं। मेरे बच्चों, पूरी दृढ़ता से जुट जाओ, लक्ष्य प्राप्ति से तुम्हें कोई रोक नहीं सकेगा। उन्होंने कहा कि पहले उद्देश्य में पीढिय़ों से संचित ज्ञान पढऩे वाले विद्यार्थियों को प्रदान कर दिया जाता है। कौशल देने से तात्पर्य, पढक़र हम इतने योग्य बन जाएं कि आजीविका का प्रबंध कर सकें। नागरिकता के संस्कार से मतलब है हमारे बच्चे ईमानदार, परिश्रमी, कर्मठ, चरित्रवान, देशभक्त बनें।

Dakhal News

Dakhal News 26 February 2021


bhopal, Arun Yadav ,angry over, Godse Bhakta, Congress entry

भोपाल। ग्वालियर नगर निगम के वार्ड 44 से हिंदू महासभा के पार्षद बाबूलाल चौरसिया के कांग्रेस में शामिल होने के बाद अब पार्टी में विरोध के सुर उठने लगे हैं। पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने गोडसे भक्त बाबूलाल चौरसिया के कांग्रेस में शामिल होने पर आपत्ति जताई है। साथ ही उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि बापू हम शर्मिंदा है‘।   अरुण यादव ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा है कि मैं आरआरएस विचारधारा को लेकर लाभ हानि की चिंता किये बगैर जुबानी जंग नहीं, सडक़ों पर लड़ता हूँ। मेरी आवाज कांग्रेस और गांधी विचारधारा को समर्पित एक सच्चे कांग्रेस कार्यकर्ता की आवाज है। जिस संघ कार्यालय में कभी तिरंगा नहीं लगता है, वहां इंदौर के संघ कार्यालय (अर्चना) पर कार्यकर्ताओं के साथ जाकर मैंने तिरंगा फहराया। देश के सारे बड़े नेता कहते हैं कि देश का पहला आतंकवादी नाथूराम गोडसे था। आज गोडसे की पूजा करने वाले की कांग्रेस में प्रवेश को लेकर वे सब खामोश क्यों है?   उन्होंने कहा कि यदि यही स्थिति रही तो आतंकवाद से जुडी भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर, जिसने गोडसे को देशभक्त बताया है, जिसे लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि मैं प्रज्ञा ठाकुर को जिंदगीभर माफ नही कर सकता हूँ। यदि वो भविष्य में काग्रेस में प्रवेश करेगी तो क्या कांग्रेस उसे स्वीकार करेगी? अरुण यादव ने कहा कि अपनी ही सरकार में कमलनाथ ने इन्ही बाबूलाल चौरसिया और उनके सहयोगियों का ग्वालियर में गोडसे का मंदिर बनाने और पूजा करने के विरोध में एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया था। इन स्थितियों में जब संघ और पूरी भाजपा एकजुट होकर महात्मा गाधीजी, नेहरू जी और सरदार वल्लभ भाई पटेल जी के चेहरे को षणयंत्रपूर्वक नई पीढी के सामने भद्दा करने की कोशिश कर रही है, तब काग्रेस की गांधीवादी विचारधारा को समर्पित एक सच्चे सिपाही के नाते में नही बैठ सकता हूँ। यह मेरा वैचारिक संघर्ष किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं होकर काग्रेस पाटी की विचारधारा को समर्पित है। इसके लिए मैं हर राजनीतिक क्षति सहने को तैयार हूँ।   बता दें कि महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की पूजा करने वाले बाबूलाल ने बीते बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की उपस्थिति में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की थी। वह पहले कांग्रेस में ही थे, लेकिन बीते नगरीय निकाय चुनाव में पार्टी के टिकट नहीं देने से बागी हो गए। बाबूलाल चौरसिया के कांग्रेस में शामिल होने पर मध्य पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने ट्वीट के जरिए नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने इस ट्वीट में कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल के साथ ही राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, दिग्विजय सिंह को टैग किया है। हालांकि अरुण यादव ने वर्तमान पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ को अपने ट्वीट में टैग नहीं किया है, जिसके अलग सियासी मायने निकाले जाने लगे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 26 February 2021


bhopal, MP budget session, Opposition uproar, over electricity bill, Shivraj-Kamal Nath

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन शुक्रवार को सदन की कार्यवाही हंगामेदार रही। प्रश्नकाल के दौरान बिजली बिल के मुद्दे पर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया, जबकि राज्यपाल के अभिभाषण पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपना उद्बोधन दिया। इस दौरान पूर्व सीएम एवं नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के साथ उनकी तीखी नोंक-झोंक हुई।   मप्र विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन सदन की कार्यवाही प्रश्नकाल से शुरू हुई। भाजपा विधायक विजयपाल सिंह ने नागरिकों को दिये जा रहे भारी-भरकम बिजली बिलों का मुद्दा सदन में उठाया। इस पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के विधायकों ने जमकर हंगामा किया। उन्होंने आरोप लगाया कि बिजली बिलों से हर वर्ग परेशान है। इस दौरान किसानों को मिल रहे बिजली बिल पर भी बात हुई। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने भी कहा कि मेरे क्षेत्र में भी अधिक बिल आ रहे हैं। मेरे क्षेत्र के किसान भी बिजली बिलों से परेशान हैं। इस पर ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने जांच करने की बात कही। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर को पूरे मामले की जांच करवाने को कहा। किसानों को अधिकृत कंपनियों के कृषि पंप दिए जाने के निर्देश दिए गए। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि मामले की जांच कराई जाएगी।   इसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का संबोधन हुआ। उन्होंने कहा कि विपक्ष बार-बार कह रहा है कि 2018 में कचरा साफ हो गया, लेकिन मैं बता दूं, मेरे मन में एक बार भी यह नहीं आया कि मुझे मुख्यमंत्री बनना है। जब कमलनाथ सरकार बनी तब मैंने सोच लिया था कि मुझे सीएम हाउस खाली करना है। हम चाहते तो उस समय भी जोड़-तोड़ कर सकते थे। उस समय भी कई मित्र हमारे साथ आना चाहते थे, लेकिन सुबह होते ही मैंने कमलनाथ को बधाई दी। कांग्रेस को इतने वोट मिले, उसका कारण कर्जमाफी का ऐलान था, इस बात को मैं मानता हूं। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ बीच में जवाब देने लगे और दोनों के बीच नोंक-झोंक शुरू हो गई।   कमलनाथ ने कहा कि अभिभाषण में मोदी का नाम बार-बार लिया गया। इस पर शिवराज ने कहा कि मोदी जी का नाम ही ऐसा है जो बार-बार लिया जाता है। कमलनाथ ने आरोप लगाया कि आपने फसल बीमा का प्रीमियम जमा नहीं किया। शिवराज ने कहा कि हमने फसल बीमा की राशि किसानों को दी। मैं ओलावृष्टि के समय किसानों के पास जाता था लेकिन आप नहीं जाते थे। आप विधायकों से भी मिलते नहीं थे। कमलनाथ बोले कि मैं विधायकों को मिलने के लिए समय देता था ना कि टीवी पर सीरियल देखता था। शिवराज ने कहा कि आप खजाना खाली छोड़ गए. लेकिन हमने इसकी कमी महसूस होने नहीं दी।   कमलनाथ ने कहा कि आपसे आंकड़ों के खेल में जीतना मुश्किल है। इस पर शिवराज ने कहा कि आज हिसाब किताब पूरा हो जाए। कर्जा लेकर किसानों के खाते में पैसे डाले हैं तो आपको तकलीफ क्यों हो रही है। कोरोना काल में किसानों के खाते में पैसे डाले। उनकी फसल खरीदी।   इस बीच गोपाल भार्गव ने विधानसभा में डिवीजन करने को लेकर कहा कि खेल आपने शुरू किया है और हमने कहा था खत्म हम करेंगे। इस पर कमलनाथ ने कहा कि खेल तो अकेले आपने शुरू किया था। जब आपने अध्यक्ष के चुनाव में कैंडिडेट खड़ा किया। आपने परंपरा तोड़ी। इस पर शिवराज ने कहा कि आपने सरकार में आते ही बीजेपी नेताओं को निशाना बनाना शुरू कर दिया था। बदले की कार्रवाई आपने की। कुचलने वाली मानसिकता आप लोगों की थी। उच्च अधिकारियों की बोली लगाई गई।   कमलनाथ ने कहा कि आपके इस तरह के आरोप गलत हैं। आप मुझे सदन में नहीं बल्कि अकेले बता गए कि किस उच्च अधिकारियों की बोली लगी। यहां पर सदन को बताना चाहता हूं कि मैंने माननीय के कहने पर कई कार्रवाई को रुकवाया। शिवराज ने कहा कि कमलनाथ जी कहते हैं कि 2018 में कचरा साफ हो गया, लेकिन मैं कांग्रेस से आए नेताओं के साथ में काम कर रहा हूं। यह सब बहुत अच्छा काम करते हैं। यह सब हीरा हैं। कमलनाथ ने कहा कि आप सभी हीरों को बचाकर रखिए। हम इन्हें पहले से जानते हैं।   इसी बीच कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने शिवराज के बार-बार बंटाढार की बात को लेकर कहा कि आप सिर्फ बंटाढार की योजनाओं को अभी तक क्यों चला रहे हैं। इस पर शिवराज ने कहा कि इस पर फिर कभी चर्चा करेंगे। कमलनाथ ने कहा कि मेरा मुख्यमंत्री से निवेदन है कि बीती बातों को छोड़ें और आगे की बातें सदन को बताएं।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं उसी का जवाब दे रहा हूं। हमने लाडली लक्ष्मी योजना से लेकर महिलाओं के लिए कई योजनाएं बनाईं। उनको सरकारी नौकरी में प्राथमिकता दी, लेकिन आपकी सरकार ने हमारी संबल योजना को बंद कर दिया। उसका नाम बदल दिया। लोगों को उसका फायदा नहीं मिला। दीनदयाल रसोई योजना, मेधावी छात्र योजना को बंद कर दी। कमलनाथ ने कहा कि जब हमने मेधावी छात्रों को लैपटॉप योजना की जांच की तो पता चला कि उन्हें लैपटॉप मिल नहीं रहे थे।   शिवराज ने कहा कि अपराध बढ़े लेकिन सरकार ने तेज गति के साथ ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की है। पहले शिकायत ही नहीं होती थी, लेकिन हमने शिकायत नहीं बल्कि एफआईआर कराने पर जोर दिया है। यही कारण है कि मामले तुरंत सामने आ रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 26 February 2021


bhopal, MP budget session, Opposition uproar, over electricity bill, Shivraj-Kamal Nath

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन शुक्रवार को सदन की कार्यवाही हंगामेदार रही। प्रश्नकाल के दौरान बिजली बिल के मुद्दे पर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया, जबकि राज्यपाल के अभिभाषण पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपना उद्बोधन दिया। इस दौरान पूर्व सीएम एवं नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के साथ उनकी तीखी नोंक-झोंक हुई।   मप्र विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन सदन की कार्यवाही प्रश्नकाल से शुरू हुई। भाजपा विधायक विजयपाल सिंह ने नागरिकों को दिये जा रहे भारी-भरकम बिजली बिलों का मुद्दा सदन में उठाया। इस पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के विधायकों ने जमकर हंगामा किया। उन्होंने आरोप लगाया कि बिजली बिलों से हर वर्ग परेशान है। इस दौरान किसानों को मिल रहे बिजली बिल पर भी बात हुई। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने भी कहा कि मेरे क्षेत्र में भी अधिक बिल आ रहे हैं। मेरे क्षेत्र के किसान भी बिजली बिलों से परेशान हैं। इस पर ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने जांच करने की बात कही। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर को पूरे मामले की जांच करवाने को कहा। किसानों को अधिकृत कंपनियों के कृषि पंप दिए जाने के निर्देश दिए गए। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि मामले की जांच कराई जाएगी।   इसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का संबोधन हुआ। उन्होंने कहा कि विपक्ष बार-बार कह रहा है कि 2018 में कचरा साफ हो गया, लेकिन मैं बता दूं, मेरे मन में एक बार भी यह नहीं आया कि मुझे मुख्यमंत्री बनना है। जब कमलनाथ सरकार बनी तब मैंने सोच लिया था कि मुझे सीएम हाउस खाली करना है। हम चाहते तो उस समय भी जोड़-तोड़ कर सकते थे। उस समय भी कई मित्र हमारे साथ आना चाहते थे, लेकिन सुबह होते ही मैंने कमलनाथ को बधाई दी। कांग्रेस को इतने वोट मिले, उसका कारण कर्जमाफी का ऐलान था, इस बात को मैं मानता हूं। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ बीच में जवाब देने लगे और दोनों के बीच नोंक-झोंक शुरू हो गई।   कमलनाथ ने कहा कि अभिभाषण में मोदी का नाम बार-बार लिया गया। इस पर शिवराज ने कहा कि मोदी जी का नाम ही ऐसा है जो बार-बार लिया जाता है। कमलनाथ ने आरोप लगाया कि आपने फसल बीमा का प्रीमियम जमा नहीं किया। शिवराज ने कहा कि हमने फसल बीमा की राशि किसानों को दी। मैं ओलावृष्टि के समय किसानों के पास जाता था लेकिन आप नहीं जाते थे। आप विधायकों से भी मिलते नहीं थे। कमलनाथ बोले कि मैं विधायकों को मिलने के लिए समय देता था ना कि टीवी पर सीरियल देखता था। शिवराज ने कहा कि आप खजाना खाली छोड़ गए. लेकिन हमने इसकी कमी महसूस होने नहीं दी।   कमलनाथ ने कहा कि आपसे आंकड़ों के खेल में जीतना मुश्किल है। इस पर शिवराज ने कहा कि आज हिसाब किताब पूरा हो जाए। कर्जा लेकर किसानों के खाते में पैसे डाले हैं तो आपको तकलीफ क्यों हो रही है। कोरोना काल में किसानों के खाते में पैसे डाले। उनकी फसल खरीदी।   इस बीच गोपाल भार्गव ने विधानसभा में डिवीजन करने को लेकर कहा कि खेल आपने शुरू किया है और हमने कहा था खत्म हम करेंगे। इस पर कमलनाथ ने कहा कि खेल तो अकेले आपने शुरू किया था। जब आपने अध्यक्ष के चुनाव में कैंडिडेट खड़ा किया। आपने परंपरा तोड़ी। इस पर शिवराज ने कहा कि आपने सरकार में आते ही बीजेपी नेताओं को निशाना बनाना शुरू कर दिया था। बदले की कार्रवाई आपने की। कुचलने वाली मानसिकता आप लोगों की थी। उच्च अधिकारियों की बोली लगाई गई।   कमलनाथ ने कहा कि आपके इस तरह के आरोप गलत हैं। आप मुझे सदन में नहीं बल्कि अकेले बता गए कि किस उच्च अधिकारियों की बोली लगी। यहां पर सदन को बताना चाहता हूं कि मैंने माननीय के कहने पर कई कार्रवाई को रुकवाया। शिवराज ने कहा कि कमलनाथ जी कहते हैं कि 2018 में कचरा साफ हो गया, लेकिन मैं कांग्रेस से आए नेताओं के साथ में काम कर रहा हूं। यह सब बहुत अच्छा काम करते हैं। यह सब हीरा हैं। कमलनाथ ने कहा कि आप सभी हीरों को बचाकर रखिए। हम इन्हें पहले से जानते हैं।   इसी बीच कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने शिवराज के बार-बार बंटाढार की बात को लेकर कहा कि आप सिर्फ बंटाढार की योजनाओं को अभी तक क्यों चला रहे हैं। इस पर शिवराज ने कहा कि इस पर फिर कभी चर्चा करेंगे। कमलनाथ ने कहा कि मेरा मुख्यमंत्री से निवेदन है कि बीती बातों को छोड़ें और आगे की बातें सदन को बताएं।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं उसी का जवाब दे रहा हूं। हमने लाडली लक्ष्मी योजना से लेकर महिलाओं के लिए कई योजनाएं बनाईं। उनको सरकारी नौकरी में प्राथमिकता दी, लेकिन आपकी सरकार ने हमारी संबल योजना को बंद कर दिया। उसका नाम बदल दिया। लोगों को उसका फायदा नहीं मिला। दीनदयाल रसोई योजना, मेधावी छात्र योजना को बंद कर दी। कमलनाथ ने कहा कि जब हमने मेधावी छात्रों को लैपटॉप योजना की जांच की तो पता चला कि उन्हें लैपटॉप मिल नहीं रहे थे।   शिवराज ने कहा कि अपराध बढ़े लेकिन सरकार ने तेज गति के साथ ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की है। पहले शिकायत ही नहीं होती थी, लेकिन हमने शिकायत नहीं बल्कि एफआईआर कराने पर जोर दिया है। यही कारण है कि मामले तुरंत सामने आ रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 26 February 2021


bhopal, Congress MLA Sanjay ,accused government ,being anti-ST

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के तीसरे दिन बुधवार को सदन में प्रश्रकाल के दौरान कांग्रेस विधायक संजय यादव ने सदन में जमुनिया के बड़ादेव पुरानापानी को स्वीकृत राशि में कटौती का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि बड़ादेव पुरानापानी को 199.41 लाख स्वीकृत किये गए थे, इसमें कटौती की गई और सिर्फ 100 लाख रुपये ही स्वीकृत किए गए। विधायक संजय यादव ने इस बात पर आपत्ति जताई।   प्रश्र का जवाब देते हुए पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि निर्माण कार्य फिनिंशिंग की और कोरोना के चलते कटौती की गई। लेकिन बाद में बजट प्रावधान कर इसका विकास किया जाएगा। मंत्री के जवाब से अंतुष्ट कांग्रेस विधायक संजय यादव ने सरकार पर अनुसूचित जनजाति विरोधी होने का आरोप लगाया। विधायक के आरोपों को सुनकर सीएम शिवराज खड़े हुए और उन्होंने सदन में कहा कि विधायक की रुची सिर्फ आरोप लगाने में ना हो बल्कि सवाल पूछने में हो। हमारी सरकार अनुसूचित जनजाति विरोधी नहीं है। कोरोना के चलते बजट में कमी जरुर आई है, लेकिन हम बजट की व्यवस्था कर सभी को पूरा करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 24 February 2021


bhopal, Kamal Nath reached ,women

भोपाल। राजधानी भोपाल स्थित कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में बुधवार को महिला कांग्रेस की बड़ी और महत्वपूर्ण बैठक संपन्न हुई। बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि आज किसी भी चुनाव में जीतने और हारने के पीछे महिलाएँ ही निर्णायक हैं, क्योंकि आज महिलाएं बहुत सक्रिय हैं। 10 साल पहले की राजनीति और आज की राजनीति बहुत बदल गयी है।आज समय ने राजनीति को भी परिवर्तित कर दिया है। इस मौके पर कमलनाथ ने एलान करते हुए कहा कि कांग्रेस की मजबूती के लिये महिला कांग्रेस का मजबूत होना जरूरी है। 8 मार्च महिला दिवस को हम एक बड़ा महिला अधिवेशन करेंगे।   कमलनाथ ने कहा कि पहले महिलाएँ सोशल मीडिया पर उतना ज़्यादा सक्रिय नहीं रहती थी, जितनी की आज वो सक्रिय है। हमें एक नई दृष्टि, नये नज़रिये से महिला कांग्रेस को नए सिरे से मजबूत करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आज महंगाई से, बेरोजगारी से हर वर्ग वर्ग परेशान हैं। आज कृषि क्षेत्र की बात करें, महिलाओं पर अत्याचार की बात करे सभी दुखी है। हम बूथ स्तर पर महिलाओं को सक्रिय करें और मजबूत संगठन बनाये। हर विधानसभा के बूथों पर महिला कांग्रेस का मजबूत संगठन होना चहिए।   कमलनाथ ने कहा कि हमारी लड़ाई आज भाजपा के धनबल, प्रशासनिक दबाव व संगठन से है। प्रशासन विधायकों से नहीं, महिलाओं से डरता है। हमें सच्चाई के लिये, न्याय के लिये आक्रामक होने की आज आवश्यकता है। भाजपा ध्यान मोडऩे की राजनीति करती है। आज पेट्रोल- डीजल के भाव बढ़े, जनता त्रस्त है तो यह चंदे की तरफ जनता का ध्यान मोडऩे में लग गये हैं। उन्होंने केन्द्र की भाजपा सरकार और पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि 2014 में मोदी जी कितने बड़े-बड़े सपने दिखाते थे, किसानों को, युवाओं को, दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने के लेकिन 2019 में उन्होंने यह सब बाते नहीं की, आज ना ये किसान की बात करते हैं, न युवा की बात करते हैं, आज ये ध्यान मोडऩे के लिये पाकिस्तान की, राष्ट्रवाद की बात करते है। आपको महिलाओं को इस सच्चाई को समझाना है। आप उन्हें समझाइए कि आप हमारा साथ मत दें, कांग्रेस का साथ मत दे लेकिन सच्चाई का साथ जरूर दें। हमें सच्चाई के इस संदेश को लोगों तक पहुंचाना है, भाजपा की हकीकत महिलाओं को बताएं, सच्चाई का साथ देने की अपील करें।

Dakhal News

Dakhal News 24 February 2021


bhopal, Kamal Nath reached ,women

भोपाल। राजधानी भोपाल स्थित कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में बुधवार को महिला कांग्रेस की बड़ी और महत्वपूर्ण बैठक संपन्न हुई। बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि आज किसी भी चुनाव में जीतने और हारने के पीछे महिलाएँ ही निर्णायक हैं, क्योंकि आज महिलाएं बहुत सक्रिय हैं। 10 साल पहले की राजनीति और आज की राजनीति बहुत बदल गयी है।आज समय ने राजनीति को भी परिवर्तित कर दिया है। इस मौके पर कमलनाथ ने एलान करते हुए कहा कि कांग्रेस की मजबूती के लिये महिला कांग्रेस का मजबूत होना जरूरी है। 8 मार्च महिला दिवस को हम एक बड़ा महिला अधिवेशन करेंगे।   कमलनाथ ने कहा कि पहले महिलाएँ सोशल मीडिया पर उतना ज़्यादा सक्रिय नहीं रहती थी, जितनी की आज वो सक्रिय है। हमें एक नई दृष्टि, नये नज़रिये से महिला कांग्रेस को नए सिरे से मजबूत करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आज महंगाई से, बेरोजगारी से हर वर्ग वर्ग परेशान हैं। आज कृषि क्षेत्र की बात करें, महिलाओं पर अत्याचार की बात करे सभी दुखी है। हम बूथ स्तर पर महिलाओं को सक्रिय करें और मजबूत संगठन बनाये। हर विधानसभा के बूथों पर महिला कांग्रेस का मजबूत संगठन होना चहिए।   कमलनाथ ने कहा कि हमारी लड़ाई आज भाजपा के धनबल, प्रशासनिक दबाव व संगठन से है। प्रशासन विधायकों से नहीं, महिलाओं से डरता है। हमें सच्चाई के लिये, न्याय के लिये आक्रामक होने की आज आवश्यकता है। भाजपा ध्यान मोडऩे की राजनीति करती है। आज पेट्रोल- डीजल के भाव बढ़े, जनता त्रस्त है तो यह चंदे की तरफ जनता का ध्यान मोडऩे में लग गये हैं। उन्होंने केन्द्र की भाजपा सरकार और पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि 2014 में मोदी जी कितने बड़े-बड़े सपने दिखाते थे, किसानों को, युवाओं को, दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने के लेकिन 2019 में उन्होंने यह सब बाते नहीं की, आज ना ये किसान की बात करते हैं, न युवा की बात करते हैं, आज ये ध्यान मोडऩे के लिये पाकिस्तान की, राष्ट्रवाद की बात करते है। आपको महिलाओं को इस सच्चाई को समझाना है। आप उन्हें समझाइए कि आप हमारा साथ मत दें, कांग्रेस का साथ मत दे लेकिन सच्चाई का साथ जरूर दें। हमें सच्चाई के इस संदेश को लोगों तक पहुंचाना है, भाजपा की हकीकत महिलाओं को बताएं, सच्चाई का साथ देने की अपील करें।

Dakhal News

Dakhal News 24 February 2021


anuppur, Narmada Jayanti, Chief Minister ,worshiped mother Narmada ,Amarkantak

अनुपपुर।  मध्यप्रदेश में जीवनदायिनी मां नर्मदा की जयंती शुक्रवार को धूमधाम से मनायी जा रही है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने चौहान ने अपनी पत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ आज धार्मिक एवं पवित्र नगरी अमरकंटक में मां नर्मदा के उद्गम स्थल में माँ नर्मदा की पूजा अर्चना की तथा प्रदेश की उत्तरोत्तर तरक्की एवं खुशहाली तथा नागरिकों की सुख-समृद्धि की कामना की।   मुख्यमंत्री चौहान ने आज मां नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक में तीन दिवसीय मां नर्मदा जन्मोत्सव के दूसरे दिन मां का पूजन किया। पंडित उमेश द्विवेदी उर्फ बंटी, पंडित उत्तम प्रसाद द्विवेदी एवं पंडित कामता प्रसाद द्विवेदी उर्फ नीलू महाराज ने उद्गम स्थल पर विधि-विधान से पूजा सम्पन्न कराई। इस अवसर पर खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह, पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमा भारती, क्षेत्रीय सांसद हिमाद्री सिंह, कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर, जिला पंचायत अध्यक्ष रूपमती सिंह उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 19 February 2021


anuppur, Narmada Jayanti, Chief Minister ,worshiped mother Narmada ,Amarkantak

अनुपपुर।  मध्यप्रदेश में जीवनदायिनी मां नर्मदा की जयंती शुक्रवार को धूमधाम से मनायी जा रही है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने चौहान ने अपनी पत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ आज धार्मिक एवं पवित्र नगरी अमरकंटक में मां नर्मदा के उद्गम स्थल में माँ नर्मदा की पूजा अर्चना की तथा प्रदेश की उत्तरोत्तर तरक्की एवं खुशहाली तथा नागरिकों की सुख-समृद्धि की कामना की।   मुख्यमंत्री चौहान ने आज मां नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक में तीन दिवसीय मां नर्मदा जन्मोत्सव के दूसरे दिन मां का पूजन किया। पंडित उमेश द्विवेदी उर्फ बंटी, पंडित उत्तम प्रसाद द्विवेदी एवं पंडित कामता प्रसाद द्विवेदी उर्फ नीलू महाराज ने उद्गम स्थल पर विधि-विधान से पूजा सम्पन्न कराई। इस अवसर पर खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह, पूर्व केन्द्रीय मंत्री उमा भारती, क्षेत्रीय सांसद हिमाद्री सिंह, कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर, जिला पंचायत अध्यक्ष रूपमती सिंह उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 19 February 2021


sidhi, Two more ,dead bodies found ,96 hours after, bus accident, death toll reached 53

सीधी। जिले के रामपुर नैकिन में हुए बस हादसे के 96 घंटे बाद नहर में दो और लाशें मिली हैं। लाशों का चेहरा मछलियों ने कुतर दिया था, इसलिए इनकी पहचान में काफी परेशानी आई फिर भी परिजनों ने इनकी पहचान रमेश विश्वकर्मा (25) और योगेंद्र शर्मा (28) के रूप में की है। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की संयुक्त टीम अब सिलपरा और टीकर के पास लापता युवक की तलाश कर रही हैं।   बाणसागर नहर की 4 कि.मी.लंबी टनल में कुछ शवों के फंसे होने की आशंका के चलते सीधी जिला प्रशासन ने शुक्रवार सुबह बाणसागर डैम से नहर में पानी छोड़ने का निर्णय लिया। इसके बाद फुलप्रेशर से डेम से पानी छोड़ा गया। तीन स्थानों टीकर, सिलपरा और टनल के पास रेस्क्यू टीमें तैनात थी। चार किमी लंबी टनल में फुल प्रेशर से पानी पहुंचा तो दो लाशें टीकर नहर में टनल से डेढ़ किलोमीटर दूर बहकर आ गईं। बुरी तरह फूल चुकी लाशों में से एक की शिनाख्त परिजनों ने रमेश विश्वकर्मा के रूप में की है।    मूलत: बिहार निवासी रमेश के पिता राजेंद्र सीधी में पीडब्लूडी में नौकरी करते हैं। रमेश अपनी  बहन के घर बलिया (उत्तरप्रदेश) जाने के लिए बस में मंगलवार को सवार हुआ था। उसे सतना में ट्रेन पकड़नी थी। चार दिन से परिवार उसकी तलाश में आंसू बहा रहा था। वहीं, दूसरे मृतक योगेंद्र शर्मा पिपरोहर निवासी थे और एचडीएफसी बैंक में काम करते थे। मंगलवार को बैंक के ही काम से ही बस से सतना जा रहे थे। पिता सुरेश कुमार ने बताया था कि मंगलवार सुबह नौ बजे हादसे की सूचना मिली थी। तभी से परिवार योगेंद्र के मिलने की उम्मीद में सीधी से रीवा जिले की सीमा में नहर किनारे भटक रहा था।   हादसे की शिकार हुई बस में सवार कुकरीझर निवासी अरविंद विश्वकर्मा (20) का अब पता नहीं चल सका है। उनके पिता विश्वनाथ ने बताया था कि बेटा अपनी बुआ की बेटी बोदरहवा सिहावल निवासी यशोदा विश्वकर्मा (24) को एएनएम की परीक्षा दिलाने जा रहा था। हादसे में यशोदा की मौत हो गई और उसका शव मंगलवार को ही मिल गया था। लेकिन अरविंद अभी भी लापता है।

Dakhal News

Dakhal News 19 February 2021


bhopal,More schemes, like street vendors ,poor self-reliant, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हमारे गांव के भाई-बहनों के काम-धंधे के लिए रास्ता निकले और जीवन भी सुगम हो, इसलिए हमने ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना बनाई। हमारा एक ही लक्ष्य है कि आप बेरोजगार न रहें। अपना काम करने के लिए पैसा सबसे पहली जरूरत है, इसलिए हमने मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना बनाई। योजना में स्ट्रीट वेंडर्स को 10 हजार रुपये प्रदान किये जाते हैं और इसका ब्याज भी सरकार भरती है। स्ट्रीट वेंडर जैसी और योजनाएं हम बनायेंगे ताकि मेरे अधिक से अधिक गरीब भाई-बहन आत्मनिर्भर बन सकें।   मुख्यमंत्री ने यह बातें गुरुवार को भोपाल में आयोजित मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ-विक्रेता योजना अंतर्गत 40 हजार हितग्राहियों को सिंगल क्लिक से ऋण वितरित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि गरीब भी सम्मान के साथ अपना जीवन व्यतीत कर सकें, इसके लिए हम सतत प्रयत्नशील हैं। स्वरोजगार की और योजना बनायेंगे। जितने ग्रामीण पथ विक्रेता हैं उनका रजिस्ट्रेशन कर के उन्हें पहचान पत्र देना है। रजिस्ट्रेशन के बाद पैसा दिलाने की प्रक्रिया जारी रहेगी। मैं सोच रहा हूं कि काम धंधे के लिये कोई ट्रेनिंग मिल जाये तो उनका काम और निखर जायेगा।   मुख्यमंत्री ने भोपाल के मिंटो हॉल में आयोजित मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना के अंतर्गत ऋण वितरण कार्यक्रम में 40 हजार हितग्राहियों के बैंक खातों में सिंगल क्लिक से 10-10 हजार रुपये की ऋण राशि ट्रांसफर कर संवाद किया। उन्होंने कहा कि हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने शहर में रहने वाले हमारे स्ट्रीट वेंडर्स को आत्मनिर्भर बनाने के लिए पीएम स्वनिधि योजना प्रारंभ की, इसके लिए मैं उनका अभिनंदन करता हूं।   उन्होंने कहा कि हमारे गांव के भाई-बहनों के काम-धंधे के लिए भी रास्ता निकले और इनका जीवन भी सुगम हो, इसलिए हमने मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना बनाई। हमारा एक ही लक्ष्य है कि आप बेरोजगार न रहें। अपना काम करने के लिए पैसा सबसे पहली जरूरत है, इसलिए हमने मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना बनाई। योजना में स्ट्रीट वेंडर्स को 10 हजार रुपये प्रदान किये जाते हैं और इसका ब्याज भी सरकार भरती है, ताकि आप समर्थ बन सकें।   स्ट्रीट वेंडर जैसी और योजनाएं हम बनायेंगे ताकि मेरे अधिक से अधिक गरीब भाई-बहन आत्मनिर्भर बन सकें। सम्मान के साथ आप अपना जीवन व्यतीत कर सकें, इसके लिए हम कटिबद्ध हैं। जीने के लिए रोटी, कपड़ा, मकान और पढ़ाई-लिखाई व दवाई का इंतजाम जरूरी है। रोजगार होगा, तो यह सब संभव होगा। रोटी के इंतजाम के साथ हम अगले तीन सालों में हर गरीब का अपना पक्का मकान हो, हम इसके लिए सतत प्रयत्नशील हैं।

Dakhal News

Dakhal News 18 February 2021


Betul, Income tax team ,takes action ,against family members ,Congress MLA ,Nilay Daga

बैतूल। बैतूल विधायक निलय डागा के परिवार से जुड़े संस्थानों पर गुरुवार की सुबह आयकर विभाग की टीम ने एक साथ कार्रवाई की। समाचार लिखे जाने तक आयकर टीम की कार्रवाई जारी थी।   आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार सुबह बैतूल शहर के कोसमी इलाके में स्थित बैतूल आयल मिल, निजी स्कूल, कोठी बाजार स्थित डागा परिवार के निवास, परसोड़ा में स्थित गोदाम और बीज उत्पादक समिति के कार्यालय में छापे मारे। आयकर विभाग की टीम जिन दर्जन भर वाहनों में सवार होकर पहुंची, उन सभी पर नेटलिंक समिट फरवरी 2021 के पोस्टर चस्पा हैं। आयकर विभाग के अधिकारी दस्तावेजों की जांच- पड़ताल कर रहे हैं। बैतूल में सभी स्थानों पर पुलिस के जवान तैनात हैं। किसी को भी भीतर और बाहर आने-जाने नहीं दिया जा रहा है।    जिला आयकर अधिकारी आरके चौहान ने कार्रवाई की पुष्टि करते हुए बताया कि टीमें पहुंची हैं। जांच की जा रही है। ज्यादा जानकारी नहीं दे सकते हैं। वहीं, सूत्रों के अनुसार आयकर विभाग की टीम ने डागा परिवार के  मुंबई, सतना और सोलापुर में स्थित कार्यालय और फैक्ट्री पर भी कार्रवाई की है।

Dakhal News

Dakhal News 18 February 2021


Betul, Income tax team ,takes action ,against family members ,Congress MLA ,Nilay Daga

बैतूल। बैतूल विधायक निलय डागा के परिवार से जुड़े संस्थानों पर गुरुवार की सुबह आयकर विभाग की टीम ने एक साथ कार्रवाई की। समाचार लिखे जाने तक आयकर टीम की कार्रवाई जारी थी।   आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार सुबह बैतूल शहर के कोसमी इलाके में स्थित बैतूल आयल मिल, निजी स्कूल, कोठी बाजार स्थित डागा परिवार के निवास, परसोड़ा में स्थित गोदाम और बीज उत्पादक समिति के कार्यालय में छापे मारे। आयकर विभाग की टीम जिन दर्जन भर वाहनों में सवार होकर पहुंची, उन सभी पर नेटलिंक समिट फरवरी 2021 के पोस्टर चस्पा हैं। आयकर विभाग के अधिकारी दस्तावेजों की जांच- पड़ताल कर रहे हैं। बैतूल में सभी स्थानों पर पुलिस के जवान तैनात हैं। किसी को भी भीतर और बाहर आने-जाने नहीं दिया जा रहा है।    जिला आयकर अधिकारी आरके चौहान ने कार्रवाई की पुष्टि करते हुए बताया कि टीमें पहुंची हैं। जांच की जा रही है। ज्यादा जानकारी नहीं दे सकते हैं। वहीं, सूत्रों के अनुसार आयकर विभाग की टीम ने डागा परिवार के  मुंबई, सतना और सोलापुर में स्थित कार्यालय और फैक्ट्री पर भी कार्रवाई की है।

Dakhal News

Dakhal News 18 February 2021


bhopal, Those guilty ,sidhi bus accident , Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को सीधी जिले में हुई बस दुर्घटना के संबंध में अपने निवास पर उच्च-स्तरीय बैठक ली। उन्होंने निर्देश दिए कि दोषियों को किसी भी स्थिति में छोड़ा नहीं जाए, जो गलती करेगा वह दंड पाएगा।    मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सड़क की मरम्मत तथा क्रेन की व्यवस्था तत्काल प्रभाव से की जाए। वैकल्पिक मार्ग विकसित करने के लिए जल्द से जल्द कार्य योजना बनाकर क्रियान्वयन आरंभ किया जाए। संपूर्ण प्रदेश में बसों की फिटनेस और ओवरलोडिंग के संबंध में अभियान आरंभ हो। उन्‍होंने निर्देश दिये कि पूरे प्रदेश में घाटों, दुर्गम मार्गों, खराब सड़कों का सर्वे कर आवश्यक कार्रवाई की जाए और दुर्घटना संभावित क्षेत्रों में आवश्यक उपाय हो।    बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी अपर मुख्य सचिव जल संसाधन तथा परिवहन एस.एन. मिश्रा, प्रमुख सचिव लोक निर्माण नीरज मंडलोई उपस्थित रहे।

Dakhal News

Dakhal News 18 February 2021


bhopal, Kamal Nath, embarrassed about , procession,pregnant woman, Guna

भोपाल। मध्य प्रदेश के गुना जिले में एक महिला के साथ अत्याचार और अमानवीयता का मामला सामने आया है। जहां महिला के कंधे पर युवक को बैठाकर उसका जुलूस निकाला गया, इतना ही नहीं इस दौरान महिला के साथ मारपीट भी की गई। इसी दौरान वहां मौजूद लोगों ने इस घटना का वीडियो बनाया, जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस पूरे घटनाक्रम को मप्र के पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने शर्मनाम बताते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की है।   कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा ‘प्रदेश के गुना जिले के बांसखेड़ी गाँव में एक गर्भवती महिला के साथ घटित घटना बेहद शर्मशार करने वाली, इंसानियत व मानवता को तार- तार कर देने वाली। एक गर्भवती महिला के कंधे पर एक युवक को बैठाकर उसका नंगे पैर जुलूस निकाला गया, रास्ते भर उसकी लाठी- डंडो से बेरहमी से पिटाई की गयी। उन्होंने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि शिवराज जी, ये हम कैसे प्रदेश में जी रहे है, क्या यही आपका सुशासन है? एक महिला के साथ ये कैसा अमानवीय व्यवहार? एक महिला का जुलूस निकलता रहा और कोई रोकने वाला नहीं? कहाँ सोता रहा आपका पुलिस प्रशासन? कमलनाथ ने सरकार से दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग करते हुए कहा कि दोषियों पर सख्त से सख्त कार्यवाही हो और इस गंभीर मामले में लापरवाही बरतने वाले दोषी अधिकारियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो। महिला को पूर्ण सुरक्षा प्रदान की जाए, उसका समुचित इलाज सरकार करवाये और उसकी हरसंभव मदद की जाए।

Dakhal News

Dakhal News 16 February 2021


sidhi, Bus falls ,canal, 38 bodies removed

सीधी। जिले के रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र में मंगलवार सुबह नहर में गिरी यात्री बस को निकाल लिया गया है। अब तक 38 यात्रियों के शव बरामद किए जा चुके हैं। इस दुर्घटना में 45 बस यात्रियों के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है।   मध्यप्रदेश के सीधी में मंगलवार सुबह 7.30 बजे बाणसागर नहर में यात्री बस गिर गई जिसे घंटों की मशक्कत के बाद सुबह 11.45 बजे क्रेन की मदद से बाहर निकाल लिया गया है। राहत एवं बचाव कार्य में लगी टीमों ने अब तक 38 यात्रियों के शव नहर से निकाले हैं। कुछ शव नहर के बहाव में बह गए हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। 7 यात्रियों को बचाया गया है,  जबकि ड्राइवर तैरकर बच निकला। उसे हिरासत में ले लिया गया है। बस में कुल 54 यात्री सवार थे। अधिकारियों ने आशंका जाहिर की है कि दुर्घटना में मृतकों की संख्या 45 से ज्यादा हो सकती है। सीधी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजुलता पटले ने बताया कि अब तक 34 शव निकाले जा चुके हैं।    मुख्य मार्ग छोड़कर ड्राइवर संकरे रास्ते पर ले आया था बसपुलिस के मुताबिक बस की क्षमता 32 सवारियों की थी लेकिन इसमें 54 यात्री सवार थे। सीधी से निकली इस बस को छुहिया घाटी से होकर सतना जाना था लेकिन यहां जाम लगा होने की वजह से ड्राइवर ने रूट बदल दिया। नहर के किनारे बने रास्ते से ड्राइवर बस ले जा रहा था, जबकि यह रास्ता काफी संकरा है। इसी दौरान ड्राइवर ने संतुलन खो दिया। झांसी से रांची के लिए जाने वाला हाईवे सतना, रीवा, सीधी और सिंगरौली होते हुए जाता है। इस पर जगह-जगह सड़क खराब और अधूरी है। इस वजह से यहां आए दिन जाम लगता रहता है। मध्य प्रदेश के सीधी जिले में मंगलवार सुबह बड़ा हादसा हो गया। यहां रामपुर नैकिन थाना इलाके में मंगलवार सुबह करीब 7.30 बजे एक बस नहर में जा गिरी। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस प्रशानसन के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और बचाव कार्य शुरू किया। पता चला है कि घटना के समय बस में करीब 60 यात्री सवार थे। जानकारी के मुताबिक यात्रियों से भरी बस सतना की ओर जा रही थी। सीधी स्थित रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र के पटना पुल पर बस अचानक अनियंत्रित होकर पलट गई। बस में बघवार, चोरगढ़ी समेत आसपास के करीब 60 यात्री सवार थे। नहर इतनी गहरी है कि बस पूरी तरह उसमें डूब गई है।   प्रशासनिक टीम मौके पर पहुंच गई। क्रेन के जरिए बस को बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है, लेकिन वह मिल नहीं रही। एसडीआरएफ की टीम लोगों को बाहर निकालने में लगी हुई है। बचाव कार्य में गोताखोरों की मदद ली जा रही है। रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर 7 लोगों को बाहर निकाला गया, इसमें 4 की मौत हो चुकी थी।घटना की जानकारी मिलते ही सीएम शिवराज ने सीधी के कलेक्टर से बातचीत कर जानकारी ली। उन्होंने रेस्क्यू ऑपरेशन तेज करने के निर्देश देते हुए बाणसागर डैम से नहर की ओर आ रहे पानी को रोकने की बात कही। बाणसागर डैम से निकलने वाले पानी को बंद करा दिया गया है। जिससे बस को तेज बहाव से रोका जा सके। बाणसागर के पानी को सिहावल नहर में भेजा जा रहा है, जिससे नहर का जलस्तर कम हो और लोगों को बचाया जा सके। घटना की जानकारी लगते ही बस में सवार लोगों के स्वजन भी मौके पर पहुंच रहे हैं मौके पर कोहराम मचा हुआ है।

Dakhal News

Dakhal News 16 February 2021


sidhi, Bus falls ,canal, 38 bodies removed

सीधी। जिले के रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र में मंगलवार सुबह नहर में गिरी यात्री बस को निकाल लिया गया है। अब तक 38 यात्रियों के शव बरामद किए जा चुके हैं। इस दुर्घटना में 45 बस यात्रियों के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है।   मध्यप्रदेश के सीधी में मंगलवार सुबह 7.30 बजे बाणसागर नहर में यात्री बस गिर गई जिसे घंटों की मशक्कत के बाद सुबह 11.45 बजे क्रेन की मदद से बाहर निकाल लिया गया है। राहत एवं बचाव कार्य में लगी टीमों ने अब तक 38 यात्रियों के शव नहर से निकाले हैं। कुछ शव नहर के बहाव में बह गए हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। 7 यात्रियों को बचाया गया है,  जबकि ड्राइवर तैरकर बच निकला। उसे हिरासत में ले लिया गया है। बस में कुल 54 यात्री सवार थे। अधिकारियों ने आशंका जाहिर की है कि दुर्घटना में मृतकों की संख्या 45 से ज्यादा हो सकती है। सीधी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजुलता पटले ने बताया कि अब तक 34 शव निकाले जा चुके हैं।    मुख्य मार्ग छोड़कर ड्राइवर संकरे रास्ते पर ले आया था बसपुलिस के मुताबिक बस की क्षमता 32 सवारियों की थी लेकिन इसमें 54 यात्री सवार थे। सीधी से निकली इस बस को छुहिया घाटी से होकर सतना जाना था लेकिन यहां जाम लगा होने की वजह से ड्राइवर ने रूट बदल दिया। नहर के किनारे बने रास्ते से ड्राइवर बस ले जा रहा था, जबकि यह रास्ता काफी संकरा है। इसी दौरान ड्राइवर ने संतुलन खो दिया। झांसी से रांची के लिए जाने वाला हाईवे सतना, रीवा, सीधी और सिंगरौली होते हुए जाता है। इस पर जगह-जगह सड़क खराब और अधूरी है। इस वजह से यहां आए दिन जाम लगता रहता है। मध्य प्रदेश के सीधी जिले में मंगलवार सुबह बड़ा हादसा हो गया। यहां रामपुर नैकिन थाना इलाके में मंगलवार सुबह करीब 7.30 बजे एक बस नहर में जा गिरी। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस प्रशानसन के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और बचाव कार्य शुरू किया। पता चला है कि घटना के समय बस में करीब 60 यात्री सवार थे। जानकारी के मुताबिक यात्रियों से भरी बस सतना की ओर जा रही थी। सीधी स्थित रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र के पटना पुल पर बस अचानक अनियंत्रित होकर पलट गई। बस में बघवार, चोरगढ़ी समेत आसपास के करीब 60 यात्री सवार थे। नहर इतनी गहरी है कि बस पूरी तरह उसमें डूब गई है।   प्रशासनिक टीम मौके पर पहुंच गई। क्रेन के जरिए बस को बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है, लेकिन वह मिल नहीं रही। एसडीआरएफ की टीम लोगों को बाहर निकालने में लगी हुई है। बचाव कार्य में गोताखोरों की मदद ली जा रही है। रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर 7 लोगों को बाहर निकाला गया, इसमें 4 की मौत हो चुकी थी।घटना की जानकारी मिलते ही सीएम शिवराज ने सीधी के कलेक्टर से बातचीत कर जानकारी ली। उन्होंने रेस्क्यू ऑपरेशन तेज करने के निर्देश देते हुए बाणसागर डैम से नहर की ओर आ रहे पानी को रोकने की बात कही। बाणसागर डैम से निकलने वाले पानी को बंद करा दिया गया है। जिससे बस को तेज बहाव से रोका जा सके। बाणसागर के पानी को सिहावल नहर में भेजा जा रहा है, जिससे नहर का जलस्तर कम हो और लोगों को बचाया जा सके। घटना की जानकारी लगते ही बस में सवार लोगों के स्वजन भी मौके पर पहुंच रहे हैं मौके पर कोहराम मचा हुआ है।

Dakhal News

Dakhal News 16 February 2021


bhopal, Congress statewide, shutdown ,20 February ,protest against inflation

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने पेट्रोल-डीजल तथा गैस सिलेण्डर के दामों में लगातार बेतहाशा वृद्धि के कारण आम नागरिकों को होने वाली घोर आर्थिक परेशानी को दृष्टिगत रखते हुए मूल्य वृद्धि के विरोध स्वरूप एवं आम नागरिकों के आक्रोश को केंद्र एवं राज्य शासन तक पहुंचाने हेतु 20 फरवरी को प्रदेशव्यापी आधे दिन का बंद करने का आव्हान किया है। कमलनाथ ने प्रदेश की जनता से आव्हान किया है कि वे अपनी स्वेच्छानुसार आधे दिन के बंद को सफल बनाने में अपना योगदान दें। प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा इस आधे दिन के बंद में दूध का वितरण एवं एम्बुलेंस तथा दवाइयों की दुकानें इस बंद से मुक्त रहेंगी।   कमलनाथ ने ट्वीट कर महंगाई पर सरकार को घेरते हुए कहा कि पेट्रोल- डीज़ल एवं रसोई गैस के दामों में निरंतर वृद्धि हो रही है, जनता पर महंगाई की मार निरंतर बढ़ती जा रही है। जो लोग महंगाई से राहत के नाम पर सत्ता में आये थे वो आज जनता को रोज़ महंगाई की आग में झोंक रहे है। जनता निरंतर करो में कमी कर राहत प्रदान करने की माँग कर रही है लेकिन भाजपा सरकार तानाशाही रवैया अपनाते हुए किसी भी प्रकार की राहत प्रदान नहीं कर रही है।   उन्होंने कहा कि कांग्रेस जनता के साथ सदैव खड़ी है, जनता के हित के लिये हम सदैव संघर्षरत है और रहेंगे। पेट्रोल- डीज़ल के व रसोई गैस के दामों में हो रही बेतहाशा वृद्धि के विरोधस्वरुप,जनता को राहत प्रदान करने की माँग व भाजपा सरकार को कुंभकर्णीय नींद से जगाने को लेकर मध्यप्रदेश में कांग्रेस 20 फऱवरी को जनता से स्वेच्छा से आधे दिन के प्रदेश बंद का आव्हान करती है।

Dakhal News

Dakhal News 15 February 2021


bhopal, Congress statewide, shutdown ,20 February ,protest against inflation

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने पेट्रोल-डीजल तथा गैस सिलेण्डर के दामों में लगातार बेतहाशा वृद्धि के कारण आम नागरिकों को होने वाली घोर आर्थिक परेशानी को दृष्टिगत रखते हुए मूल्य वृद्धि के विरोध स्वरूप एवं आम नागरिकों के आक्रोश को केंद्र एवं राज्य शासन तक पहुंचाने हेतु 20 फरवरी को प्रदेशव्यापी आधे दिन का बंद करने का आव्हान किया है। कमलनाथ ने प्रदेश की जनता से आव्हान किया है कि वे अपनी स्वेच्छानुसार आधे दिन के बंद को सफल बनाने में अपना योगदान दें। प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा इस आधे दिन के बंद में दूध का वितरण एवं एम्बुलेंस तथा दवाइयों की दुकानें इस बंद से मुक्त रहेंगी।   कमलनाथ ने ट्वीट कर महंगाई पर सरकार को घेरते हुए कहा कि पेट्रोल- डीज़ल एवं रसोई गैस के दामों में निरंतर वृद्धि हो रही है, जनता पर महंगाई की मार निरंतर बढ़ती जा रही है। जो लोग महंगाई से राहत के नाम पर सत्ता में आये थे वो आज जनता को रोज़ महंगाई की आग में झोंक रहे है। जनता निरंतर करो में कमी कर राहत प्रदान करने की माँग कर रही है लेकिन भाजपा सरकार तानाशाही रवैया अपनाते हुए किसी भी प्रकार की राहत प्रदान नहीं कर रही है।   उन्होंने कहा कि कांग्रेस जनता के साथ सदैव खड़ी है, जनता के हित के लिये हम सदैव संघर्षरत है और रहेंगे। पेट्रोल- डीज़ल के व रसोई गैस के दामों में हो रही बेतहाशा वृद्धि के विरोधस्वरुप,जनता को राहत प्रदान करने की माँग व भाजपा सरकार को कुंभकर्णीय नींद से जगाने को लेकर मध्यप्रदेश में कांग्रेस 20 फऱवरी को जनता से स्वेच्छा से आधे दिन के प्रदेश बंद का आव्हान करती है।

Dakhal News

Dakhal News 15 February 2021


bhopal, Protem speaker, responds , threaten, coward attacks on back

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के सामयिक अध्यक्ष (प्रोटेम स्पीकर) रामेश्वर शर्मा को शनिवार को सोशल मीडिया पर मिली जान से मारने की धमकी जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि मैं किसी से डरने वाला नहीं हूं, क्योंकि पीठ पर वार कायर करते हैं।    प्रोटेम स्पीकर शर्मा ने रविवार को राजधानी भोपाल में मालवीय नगर स्थित अपने कार्यालय में मीडिया से बाचतीत करते हुए कहा कि हिंदूवादी नेताओं का कत्लेआम करके जो लोग यह सोचते हैं कि इस्लामिक गुंडागर्दी को गांधीजी के देश मे बर्दाश्त किया जाएगा तो यह उनकी गलत सोच है। लोकतांत्रिक परंपराओं वाले देश भारत में चाकू-पत्थर का कोई स्थान नहीं है।   उन्होंने कहा कि एक देश है तो सभी को संविधान व न्यायपालिका के हिसाब से चलना पड़ेगा। जुलूस पर पत्थर फेंकोगे तो छत तोड़ दी जाएगी। जिस बेटी अपहरण कराकर उसका धर्म परिवर्तन कराते हो, तो लव जिहाद कानून के तहत जेल जाना पड़ेगा। पीठ पर वार कायर करते हैं। इस तरह की धमकियों से मैं किसी से डरने वाला नहीं। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि उग्रवाद फैलाने वालों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा। यह नया मध्यप्रदेश और नया भारत है। यहां दहशत, गुंडागर्दी लिए कोई जगह नहीं। देश विरोधी ताकतों के खिलाफ मेरी लड़ाई जारी रहेगी।

Dakhal News

Dakhal News 14 February 2021


bhopal, Protem speaker, responds , threaten, coward attacks on back

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के सामयिक अध्यक्ष (प्रोटेम स्पीकर) रामेश्वर शर्मा को शनिवार को सोशल मीडिया पर मिली जान से मारने की धमकी जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि मैं किसी से डरने वाला नहीं हूं, क्योंकि पीठ पर वार कायर करते हैं।    प्रोटेम स्पीकर शर्मा ने रविवार को राजधानी भोपाल में मालवीय नगर स्थित अपने कार्यालय में मीडिया से बाचतीत करते हुए कहा कि हिंदूवादी नेताओं का कत्लेआम करके जो लोग यह सोचते हैं कि इस्लामिक गुंडागर्दी को गांधीजी के देश मे बर्दाश्त किया जाएगा तो यह उनकी गलत सोच है। लोकतांत्रिक परंपराओं वाले देश भारत में चाकू-पत्थर का कोई स्थान नहीं है।   उन्होंने कहा कि एक देश है तो सभी को संविधान व न्यायपालिका के हिसाब से चलना पड़ेगा। जुलूस पर पत्थर फेंकोगे तो छत तोड़ दी जाएगी। जिस बेटी अपहरण कराकर उसका धर्म परिवर्तन कराते हो, तो लव जिहाद कानून के तहत जेल जाना पड़ेगा। पीठ पर वार कायर करते हैं। इस तरह की धमकियों से मैं किसी से डरने वाला नहीं। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि उग्रवाद फैलाने वालों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा। यह नया मध्यप्रदेश और नया भारत है। यहां दहशत, गुंडागर्दी लिए कोई जगह नहीं। देश विरोधी ताकतों के खिलाफ मेरी लड़ाई जारी रहेगी।

Dakhal News

Dakhal News 14 February 2021


bhopal, Protem speaker, responds , threaten, coward attacks on back

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के सामयिक अध्यक्ष (प्रोटेम स्पीकर) रामेश्वर शर्मा को शनिवार को सोशल मीडिया पर मिली जान से मारने की धमकी जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि मैं किसी से डरने वाला नहीं हूं, क्योंकि पीठ पर वार कायर करते हैं।    प्रोटेम स्पीकर शर्मा ने रविवार को राजधानी भोपाल में मालवीय नगर स्थित अपने कार्यालय में मीडिया से बाचतीत करते हुए कहा कि हिंदूवादी नेताओं का कत्लेआम करके जो लोग यह सोचते हैं कि इस्लामिक गुंडागर्दी को गांधीजी के देश मे बर्दाश्त किया जाएगा तो यह उनकी गलत सोच है। लोकतांत्रिक परंपराओं वाले देश भारत में चाकू-पत्थर का कोई स्थान नहीं है।   उन्होंने कहा कि एक देश है तो सभी को संविधान व न्यायपालिका के हिसाब से चलना पड़ेगा। जुलूस पर पत्थर फेंकोगे तो छत तोड़ दी जाएगी। जिस बेटी अपहरण कराकर उसका धर्म परिवर्तन कराते हो, तो लव जिहाद कानून के तहत जेल जाना पड़ेगा। पीठ पर वार कायर करते हैं। इस तरह की धमकियों से मैं किसी से डरने वाला नहीं। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि उग्रवाद फैलाने वालों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा। यह नया मध्यप्रदेश और नया भारत है। यहां दहशत, गुंडागर्दी लिए कोई जगह नहीं। देश विरोधी ताकतों के खिलाफ मेरी लड़ाई जारी रहेगी।

Dakhal News

Dakhal News 14 February 2021


bhopal, Sushma Swaraj ,remembered ,CM Shivraj, sentimental message ,written on Jayanti

भोपाल। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ दिवंगत नेत्री सुषमा स्वराज की आज रविवार को जयंती है। पार्टी लाइन से अलग मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सुषमा स्वराज में आत्मीय संबंध थे। ऐसे में उनकी जयंती पर उन्हें याद करते हुए मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर उनको श्रद्धांजलि देते हुए भावुक संदेश लिखा है।   दिवंगत नेता सुषमा स्वराज की जयंती पर पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें याद किया है। उन्होंने ट्वीट कर संदेश में लिखा कि मां सरस्वती की वरद पुत्री, पूर्व विदेश मंत्री, हमारी श्रद्धेय बहन श्रीमती सुषमा स्वराज की जयंती है। आज वे बहुत याद आ रही हैं। उनके व्यवहार में हम सबके लिए न केवल बहन का प्यार था, बल्कि ममत्व के पवित्र भाव से भी वह भरी हुई थीं।   एक अन्य ट्वीट कर सीएम शिवराज ने उनकी सादगी और कुशलता को याद करते हुए कहा ‘दीदी सुषमा स्वराज जी अपनी अद्भुत वक्तृत्व कला और असाधारण जनकल्याणकारी कार्यों से सहज ही सबको अपना बना लेती थीं। कुशल प्रशासकीय गुणों से संपन्न दीदी के मार्गदर्शन और स्नेहिल छाया को काल ने हमसे असमय छीन लिया। वे सदैव हम सबकी स्मृतियों और दिलों में जिंदा रहेंगी। जयंती पर नमन!   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी दिवंगत नेत्री सुषमा स्वराज को जयंती पर नमन करते हुए कहा ‘भारतीय राजनीति में आदर्शों की प्रतिबिम्ब, सौम्यता व सादगी की प्रतिमूर्ति, ओजस्वी वक्ता, पूर्व विदेश मंत्री, भाजपा की वरिष्ठ नेत्री, पद्म विभूषण श्रीमती सुषमा स्वराज जी की जयंती पर उन्हें कोटि - कोटि प्रणाम। विदेश मंत्री रहते हुए आदरणीय सुषमा स्वराज जी ने संकट में फंसे भारतीयों की स्वदेश वापसी कराने में उन्होंने अहम् भूमिका निभाई। राष्ट्र उत्थान और संगठन के लिए किये गए उनके अभूतपूर्व कार्य करोड़ों कार्यकर्ताओं को सदैव प्रेरित करते रहेंगे।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने ट्वीट में कहा ‘भारतीय नारी शक्ति की प्रतीक, ओजस्वी वक्ता पूर्व विदेश मंत्री स्व. सुषमा स्वराज जी की जयंती पर शत-शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि। सरलता, सौम्यता और कर्मठता के प्रतीक  सुषमा जी का राष्ट्र,समाज और संगठन के प्रति योगदान हमेशा याद किया जाएगा।  

Dakhal News

Dakhal News 14 February 2021


bhopal, Sushma Swaraj ,remembered ,CM Shivraj, sentimental message ,written on Jayanti

भोपाल। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ दिवंगत नेत्री सुषमा स्वराज की आज रविवार को जयंती है। पार्टी लाइन से अलग मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सुषमा स्वराज में आत्मीय संबंध थे। ऐसे में उनकी जयंती पर उन्हें याद करते हुए मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर उनको श्रद्धांजलि देते हुए भावुक संदेश लिखा है।   दिवंगत नेता सुषमा स्वराज की जयंती पर पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें याद किया है। उन्होंने ट्वीट कर संदेश में लिखा कि मां सरस्वती की वरद पुत्री, पूर्व विदेश मंत्री, हमारी श्रद्धेय बहन श्रीमती सुषमा स्वराज की जयंती है। आज वे बहुत याद आ रही हैं। उनके व्यवहार में हम सबके लिए न केवल बहन का प्यार था, बल्कि ममत्व के पवित्र भाव से भी वह भरी हुई थीं।   एक अन्य ट्वीट कर सीएम शिवराज ने उनकी सादगी और कुशलता को याद करते हुए कहा ‘दीदी सुषमा स्वराज जी अपनी अद्भुत वक्तृत्व कला और असाधारण जनकल्याणकारी कार्यों से सहज ही सबको अपना बना लेती थीं। कुशल प्रशासकीय गुणों से संपन्न दीदी के मार्गदर्शन और स्नेहिल छाया को काल ने हमसे असमय छीन लिया। वे सदैव हम सबकी स्मृतियों और दिलों में जिंदा रहेंगी। जयंती पर नमन!   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी दिवंगत नेत्री सुषमा स्वराज को जयंती पर नमन करते हुए कहा ‘भारतीय राजनीति में आदर्शों की प्रतिबिम्ब, सौम्यता व सादगी की प्रतिमूर्ति, ओजस्वी वक्ता, पूर्व विदेश मंत्री, भाजपा की वरिष्ठ नेत्री, पद्म विभूषण श्रीमती सुषमा स्वराज जी की जयंती पर उन्हें कोटि - कोटि प्रणाम। विदेश मंत्री रहते हुए आदरणीय सुषमा स्वराज जी ने संकट में फंसे भारतीयों की स्वदेश वापसी कराने में उन्होंने अहम् भूमिका निभाई। राष्ट्र उत्थान और संगठन के लिए किये गए उनके अभूतपूर्व कार्य करोड़ों कार्यकर्ताओं को सदैव प्रेरित करते रहेंगे।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने ट्वीट में कहा ‘भारतीय नारी शक्ति की प्रतीक, ओजस्वी वक्ता पूर्व विदेश मंत्री स्व. सुषमा स्वराज जी की जयंती पर शत-शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि। सरलता, सौम्यता और कर्मठता के प्रतीक  सुषमा जी का राष्ट्र,समाज और संगठन के प्रति योगदान हमेशा याद किया जाएगा।  

Dakhal News

Dakhal News 14 February 2021


Bhopal, MP Scindia, came to Bhopal, 24 days after, bungalow was allotted

भोपाल। राज्यसभा सांसद व बीजेपी के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल में बंगला अलॉट होने के 24 दिन बाद रविवार सुबह अपने सरकारी निवास पर पहुंचे। उन्हें श्यामला हिल्स पर बंगला B-5 आवंटित किया गया है। यह बंगला उन्हें करीब 18 साल के इंतजार के बाद मिला है।   सांसद सिंधिया नई दिल्ली से फ्लाइट से रविवार सुबह भोपाल पहुंचे। उनके बंगले पर पार्टी कार्यकर्ताओं और सर्मथकों ने भव्य स्वागत किया। कार्यकर्ताओं के साथ परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और मंत्री तुलसी सिलावट भी रहे। करीब डेढ़ एकड़ क्षेत्र में फैला यह बंगला पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती और दिग्विजयसिंह के बंगलों से भी बड़ा है। सिंधिया अब बी-6 बंगले में रहने वाली पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के पड़ोसी हो गए हैं। वहीं, दिग्विजय सिंह 3 बंगले छोड़कर B-1 में रहते हैं।    गौरतलब है कि 2019 में लोकसभा चुनाव हारने के बाद केंद्र सरकार ने सिंधिया से दिल्ली का सरकारी आवास 27 जुलाई 2019 को खाली करा लिया था। गुना से सांसद रहते सिंधिया ने तीन साल पहले मध्यप्रदेश सरकार से भोपाल में सरकारी बंगला मांगा था, लेकिन उनका आवेदन करीब छह माह तक लंबित रहा। उस दौरान सिंधिया विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष थे। वे अपना बेस कैंप भोपाल को बनाना चाहते थे। सिंधिया ने कमलनाथ सरकार में भी प्रयास किया था लेकिन फिर 2019 में वह लोकसभा चुनाव हार गए और बंगला नहीं मिल पाया।

Dakhal News

Dakhal News 14 February 2021


bhopal, country ,Rahul seriously, Parliament ,Dr. Narottam Mishra

भोपाल। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस नेता व सांसद राहुल गांधी के केंद्र की मोदी सरकार को लेकर दिए हम दो हमारे दो के बयान पर पलटवार किया है। उज्जैन में भाजपा के दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में शामिल होने आए गृह मंत्री ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि राहुल गांधी को यह देश गंभीरता से नहीं लेता है। जिसे यह पता नहीं हो कि कहां सोना है और कहा बोलना है, उसके बयान को क्या गंभीरता से लेना। वह तो संसद जहाँ बोलना चाहिये, वहां वह सोते दिखते हैं और जहां खाट पर सोना चाहिए, वहां वह सभा लगाते हैं। जो आदमी नयन मट्टका के लिए संसद का उपयोग करता हो, उसकी बात को क्या गंभीरता से लेना।   गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी पिछले दिनों एक रीट्वीट कर अपनी पार्टी के युवाओं को मैदान में आने की बात कही थी लेकिन पार्टी का युवा तो आंदोलन बीच में छोडक़र इटली छुट्टियां बिताने चला जाता है। जिस राहुल गांधी को यह ही नहीं पता कि कब  कहा क्या करना है, उसको कौन गंभीरता से लेगा।    कांग्रेस के इस आरोप कि जब किसान और बेरोजगार दुखी है तो इस तरह के प्रशिक्षण के क्या मायने पर गृह मंत्री ने कहा कि जिनके घर शीशे को हो वह दूसरों के घरों में पत्थर नही फेका करते। उन्होंने कहा कि किसान दुखी है तो कांग्रेस के कारण उनकी कमलनाथ सरकार ने किसानों से झूठ बोला उन्हें धोखा दिया। किसानों का दो लाख तक का कर्जा माफ करने की घोषणा ओर घोषणा पूरी नही होने पर मुख्यमंत्री बदले की घोषणा कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंच से की थी, लेकिन किसानों का कर्जा माफ नहीं कर उन्हें धोखा दिया। बेरोजगार इसलिए दुखी है कि उन्हें भी कमलनाथ सरकार ने 4 हज़ार रुपये बेरोजग़ारी भत्ता देने का वायदा किया था लेकिन प्रदेश के बेरोजग़ारों को भी धोखा दिया।

Dakhal News

Dakhal News 12 February 2021


bhopal, Home Minister, statement, 23 cases registered, under Freedom

भोपाल। मध्यप्रदेश में धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान सामने आया है। गृहमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया है कि जनवरी से लेकर अब तक प्रदेश में अब तक प्रदेश में 23 मामले दर्ज किए गए हैं। जिसमे ज्यादा ज्यादा मामले भोपाल संभाग में दर्ज हुए हैं। मंत्री मिश्रा ने कहा कि हम पहले ही कह रहे थे कि कुछ ऐसी ताकतें हैं, जो इस तरह के काम कर रही हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर कहा कि प्रदेश में धर्मांतरण के लिए लोभ-लालच, डरा-धमकाकर शादियां कराने वाली ताकतों पर अंकुश के लिए मप्र सरकार की कानूनी पहल के सार्थक नतीजे सामने आने लगे हैं। धर्म स्वातंत्र्य कानून के तहत जनवरी में कुल 23 मामले दर्ज किए गए हैं। प्रदेश में नए कानून के तहत भोपाल संभाग में सबसे ज्यादा 7, इंदौर में 5, जबलपुर एवं रीवा में 4-4 और ग्वालियर संभाग में 3 मामलों में एफआईआर दर्ज की गई है। पत्थरबाजों की संपत्ति जब्त करने पर बनाये जा रहे कानून पर गृहमंत्री ने कहा कि जिस घर से पत्थर आएंगे उस घर से ही तो पत्थर निकाले जाएंगे। सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान किसी को नहीं करने दिया जाएगा।   दिग्विजय पर कसा तंजदिग्विजयसिंह की कविता पर गृहमंत्री ने कहा कि अब वो कविता किसकी है.. ये तो पता नहीं है,लेकिन दिग्विजयसिंह अब सिर्फ ट्वीटर पर ही दिखाई देते हैं। जो आतंकियों की मौत पर रोता है, जो हर बात पर देश में जहर घोल देता है, वह क्या जाने कि भाईचारा क्या होता है। दिग्विजय सिंह जी ने पवित्र संसद में राज्यसभा सांसदों की विदाई के भावनात्मक पलों को भी कलुषित करने का प्रयास कविता के माध्यम से किया है। इससे उनकी सोच जाहिर होती है।

Dakhal News

Dakhal News 11 February 2021


bhopal, Home Minister, statement, 23 cases registered, under Freedom

भोपाल। मध्यप्रदेश में धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान सामने आया है। गृहमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया है कि जनवरी से लेकर अब तक प्रदेश में अब तक प्रदेश में 23 मामले दर्ज किए गए हैं। जिसमे ज्यादा ज्यादा मामले भोपाल संभाग में दर्ज हुए हैं। मंत्री मिश्रा ने कहा कि हम पहले ही कह रहे थे कि कुछ ऐसी ताकतें हैं, जो इस तरह के काम कर रही हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर कहा कि प्रदेश में धर्मांतरण के लिए लोभ-लालच, डरा-धमकाकर शादियां कराने वाली ताकतों पर अंकुश के लिए मप्र सरकार की कानूनी पहल के सार्थक नतीजे सामने आने लगे हैं। धर्म स्वातंत्र्य कानून के तहत जनवरी में कुल 23 मामले दर्ज किए गए हैं। प्रदेश में नए कानून के तहत भोपाल संभाग में सबसे ज्यादा 7, इंदौर में 5, जबलपुर एवं रीवा में 4-4 और ग्वालियर संभाग में 3 मामलों में एफआईआर दर्ज की गई है। पत्थरबाजों की संपत्ति जब्त करने पर बनाये जा रहे कानून पर गृहमंत्री ने कहा कि जिस घर से पत्थर आएंगे उस घर से ही तो पत्थर निकाले जाएंगे। सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान किसी को नहीं करने दिया जाएगा।   दिग्विजय पर कसा तंजदिग्विजयसिंह की कविता पर गृहमंत्री ने कहा कि अब वो कविता किसकी है.. ये तो पता नहीं है,लेकिन दिग्विजयसिंह अब सिर्फ ट्वीटर पर ही दिखाई देते हैं। जो आतंकियों की मौत पर रोता है, जो हर बात पर देश में जहर घोल देता है, वह क्या जाने कि भाईचारा क्या होता है। दिग्विजय सिंह जी ने पवित्र संसद में राज्यसभा सांसदों की विदाई के भावनात्मक पलों को भी कलुषित करने का प्रयास कविता के माध्यम से किया है। इससे उनकी सोच जाहिर होती है।

Dakhal News

Dakhal News 11 February 2021


bhopal, Home Minister, statement, 23 cases registered, under Freedom

भोपाल। मध्यप्रदेश में धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान सामने आया है। गृहमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया है कि जनवरी से लेकर अब तक प्रदेश में अब तक प्रदेश में 23 मामले दर्ज किए गए हैं। जिसमे ज्यादा ज्यादा मामले भोपाल संभाग में दर्ज हुए हैं। मंत्री मिश्रा ने कहा कि हम पहले ही कह रहे थे कि कुछ ऐसी ताकतें हैं, जो इस तरह के काम कर रही हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर कहा कि प्रदेश में धर्मांतरण के लिए लोभ-लालच, डरा-धमकाकर शादियां कराने वाली ताकतों पर अंकुश के लिए मप्र सरकार की कानूनी पहल के सार्थक नतीजे सामने आने लगे हैं। धर्म स्वातंत्र्य कानून के तहत जनवरी में कुल 23 मामले दर्ज किए गए हैं। प्रदेश में नए कानून के तहत भोपाल संभाग में सबसे ज्यादा 7, इंदौर में 5, जबलपुर एवं रीवा में 4-4 और ग्वालियर संभाग में 3 मामलों में एफआईआर दर्ज की गई है। पत्थरबाजों की संपत्ति जब्त करने पर बनाये जा रहे कानून पर गृहमंत्री ने कहा कि जिस घर से पत्थर आएंगे उस घर से ही तो पत्थर निकाले जाएंगे। सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान किसी को नहीं करने दिया जाएगा।   दिग्विजय पर कसा तंजदिग्विजयसिंह की कविता पर गृहमंत्री ने कहा कि अब वो कविता किसकी है.. ये तो पता नहीं है,लेकिन दिग्विजयसिंह अब सिर्फ ट्वीटर पर ही दिखाई देते हैं। जो आतंकियों की मौत पर रोता है, जो हर बात पर देश में जहर घोल देता है, वह क्या जाने कि भाईचारा क्या होता है। दिग्विजय सिंह जी ने पवित्र संसद में राज्यसभा सांसदों की विदाई के भावनात्मक पलों को भी कलुषित करने का प्रयास कविता के माध्यम से किया है। इससे उनकी सोच जाहिर होती है।

Dakhal News

Dakhal News 11 February 2021


bhopal, Home Minister, statement, 23 cases registered, under Freedom

भोपाल। मध्यप्रदेश में धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान सामने आया है। गृहमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया है कि जनवरी से लेकर अब तक प्रदेश में अब तक प्रदेश में 23 मामले दर्ज किए गए हैं। जिसमे ज्यादा ज्यादा मामले भोपाल संभाग में दर्ज हुए हैं। मंत्री मिश्रा ने कहा कि हम पहले ही कह रहे थे कि कुछ ऐसी ताकतें हैं, जो इस तरह के काम कर रही हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर कहा कि प्रदेश में धर्मांतरण के लिए लोभ-लालच, डरा-धमकाकर शादियां कराने वाली ताकतों पर अंकुश के लिए मप्र सरकार की कानूनी पहल के सार्थक नतीजे सामने आने लगे हैं। धर्म स्वातंत्र्य कानून के तहत जनवरी में कुल 23 मामले दर्ज किए गए हैं। प्रदेश में नए कानून के तहत भोपाल संभाग में सबसे ज्यादा 7, इंदौर में 5, जबलपुर एवं रीवा में 4-4 और ग्वालियर संभाग में 3 मामलों में एफआईआर दर्ज की गई है। पत्थरबाजों की संपत्ति जब्त करने पर बनाये जा रहे कानून पर गृहमंत्री ने कहा कि जिस घर से पत्थर आएंगे उस घर से ही तो पत्थर निकाले जाएंगे। सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान किसी को नहीं करने दिया जाएगा।   दिग्विजय पर कसा तंजदिग्विजयसिंह की कविता पर गृहमंत्री ने कहा कि अब वो कविता किसकी है.. ये तो पता नहीं है,लेकिन दिग्विजयसिंह अब सिर्फ ट्वीटर पर ही दिखाई देते हैं। जो आतंकियों की मौत पर रोता है, जो हर बात पर देश में जहर घोल देता है, वह क्या जाने कि भाईचारा क्या होता है। दिग्विजय सिंह जी ने पवित्र संसद में राज्यसभा सांसदों की विदाई के भावनात्मक पलों को भी कलुषित करने का प्रयास कविता के माध्यम से किया है। इससे उनकी सोच जाहिर होती है।

Dakhal News

Dakhal News 11 February 2021


bhopal, Home Minister, statement, 23 cases registered, under Freedom

भोपाल। मध्यप्रदेश में धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान सामने आया है। गृहमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया है कि जनवरी से लेकर अब तक प्रदेश में अब तक प्रदेश में 23 मामले दर्ज किए गए हैं। जिसमे ज्यादा ज्यादा मामले भोपाल संभाग में दर्ज हुए हैं। मंत्री मिश्रा ने कहा कि हम पहले ही कह रहे थे कि कुछ ऐसी ताकतें हैं, जो इस तरह के काम कर रही हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए धर्म स्वातंत्र्य कानून को लेकर कहा कि प्रदेश में धर्मांतरण के लिए लोभ-लालच, डरा-धमकाकर शादियां कराने वाली ताकतों पर अंकुश के लिए मप्र सरकार की कानूनी पहल के सार्थक नतीजे सामने आने लगे हैं। धर्म स्वातंत्र्य कानून के तहत जनवरी में कुल 23 मामले दर्ज किए गए हैं। प्रदेश में नए कानून के तहत भोपाल संभाग में सबसे ज्यादा 7, इंदौर में 5, जबलपुर एवं रीवा में 4-4 और ग्वालियर संभाग में 3 मामलों में एफआईआर दर्ज की गई है। पत्थरबाजों की संपत्ति जब्त करने पर बनाये जा रहे कानून पर गृहमंत्री ने कहा कि जिस घर से पत्थर आएंगे उस घर से ही तो पत्थर निकाले जाएंगे। सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान किसी को नहीं करने दिया जाएगा।   दिग्विजय पर कसा तंजदिग्विजयसिंह की कविता पर गृहमंत्री ने कहा कि अब वो कविता किसकी है.. ये तो पता नहीं है,लेकिन दिग्विजयसिंह अब सिर्फ ट्वीटर पर ही दिखाई देते हैं। जो आतंकियों की मौत पर रोता है, जो हर बात पर देश में जहर घोल देता है, वह क्या जाने कि भाईचारा क्या होता है। दिग्विजय सिंह जी ने पवित्र संसद में राज्यसभा सांसदों की विदाई के भावनात्मक पलों को भी कलुषित करने का प्रयास कविता के माध्यम से किया है। इससे उनकी सोच जाहिर होती है।

Dakhal News

Dakhal News 11 February 2021


bhopal, Member of Parliament ,Sadhvi Pragya, Railway Minister, Piyush Goyal

भोपाल। भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बुधवार को दिल्ली में रेल मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात कर भोपाल के समीप बैरागढ़ के संत हिरदाराम रेल्वे स्टेशन और सीहोर रेल्वेे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा को देखते हुए कुछ ट्रेनों को स्टॉपेज देने और अन्य विकास कार्यों को लेकर चर्चा की।चर्चा के उपरांत रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सांसद प्रज्ञा ठाकुर को निश्चित रुप से उनकी मांगों को जल्द पूरा किए जाने के लिए आश्वस्त किया है। सांसद साध्वी प्रज्ञा ने नई दिल्ली में रेलमंत्री माननीय पीयूष गोयल से भेंट कर संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर बिलासपुर-इंदौर एक्सप्रेस 08233, भोपाल -दमोह 09340 एवं जयपुर- चेन्नई 02970 ट्रेनों का स्टॉपेज बहाल करवाने एवं सीहोर स्टेशन पर भुज शालीमार एक्सप्रेस, इंदौर- गुवाहाटी एक्सप्रेस, इंदौर- यशवंतपुर एक्सप्रेस, शिप्रा एक्सप्रेस, अहिल्या नगरी एक्सप्रेस, जयपुर- हैदराबाद एक्सप्रेस, भगत की कोठी एक्सप्रेस, जबलपुर बांद्रा एक्सप्रेस  ट्रेनों के सीहोर रेलवे स्टेशन पर स्टॉपेज दिए जाएं एवं रेलवे स्टेशन के अन्य विकास कार्यों पर चर्चा की। चर्चा के उपरांत मंत्री पीयूष गोयल ने सांसद ठाकुर को आश्वस्त करते हुए कहा है कि निश्चित ही उनकी सारी मांगे एवं विकास कार्य पूरे होंगे। बता दें कि बैरागढ़ के संत हिरदाराम रेल्वे स्टेशन पर पूर्व में बिलासपुर- इंदौर एक्सप्रेस (80233), भोपाल- दाहोद (09340), जयपुर- चैन्नई (02970) तीनों ट्रेनों का स्टापेज था लेकिन अब इनका स्टापेज खत्म कर देने से यहां सीहोर, शुजालपुर और दमोह तक जाने वाले यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा था। ऐसे में तीनों ट्रेनों के स्टापेज दोबारा बहाल करने के लिए संत हिरदाराम नगर के सिंधी सेन्ट्रल पंचायत ने सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से स्टापेज को दोबारा बहाल करने की मांग की थी। जिसके तहत आज आज साध्वी प्रज्ञा ने रेल मंत्री तक नागरिकों की मांग को पहुंचाया है।

Dakhal News

Dakhal News 10 February 2021


bhopal, Member of Parliament ,Sadhvi Pragya, Railway Minister, Piyush Goyal

भोपाल। भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बुधवार को दिल्ली में रेल मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात कर भोपाल के समीप बैरागढ़ के संत हिरदाराम रेल्वे स्टेशन और सीहोर रेल्वेे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा को देखते हुए कुछ ट्रेनों को स्टॉपेज देने और अन्य विकास कार्यों को लेकर चर्चा की।चर्चा के उपरांत रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सांसद प्रज्ञा ठाकुर को निश्चित रुप से उनकी मांगों को जल्द पूरा किए जाने के लिए आश्वस्त किया है। सांसद साध्वी प्रज्ञा ने नई दिल्ली में रेलमंत्री माननीय पीयूष गोयल से भेंट कर संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर बिलासपुर-इंदौर एक्सप्रेस 08233, भोपाल -दमोह 09340 एवं जयपुर- चेन्नई 02970 ट्रेनों का स्टॉपेज बहाल करवाने एवं सीहोर स्टेशन पर भुज शालीमार एक्सप्रेस, इंदौर- गुवाहाटी एक्सप्रेस, इंदौर- यशवंतपुर एक्सप्रेस, शिप्रा एक्सप्रेस, अहिल्या नगरी एक्सप्रेस, जयपुर- हैदराबाद एक्सप्रेस, भगत की कोठी एक्सप्रेस, जबलपुर बांद्रा एक्सप्रेस  ट्रेनों के सीहोर रेलवे स्टेशन पर स्टॉपेज दिए जाएं एवं रेलवे स्टेशन के अन्य विकास कार्यों पर चर्चा की। चर्चा के उपरांत मंत्री पीयूष गोयल ने सांसद ठाकुर को आश्वस्त करते हुए कहा है कि निश्चित ही उनकी सारी मांगे एवं विकास कार्य पूरे होंगे। बता दें कि बैरागढ़ के संत हिरदाराम रेल्वे स्टेशन पर पूर्व में बिलासपुर- इंदौर एक्सप्रेस (80233), भोपाल- दाहोद (09340), जयपुर- चैन्नई (02970) तीनों ट्रेनों का स्टापेज था लेकिन अब इनका स्टापेज खत्म कर देने से यहां सीहोर, शुजालपुर और दमोह तक जाने वाले यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा था। ऐसे में तीनों ट्रेनों के स्टापेज दोबारा बहाल करने के लिए संत हिरदाराम नगर के सिंधी सेन्ट्रल पंचायत ने सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से स्टापेज को दोबारा बहाल करने की मांग की थी। जिसके तहत आज आज साध्वी प्रज्ञा ने रेल मंत्री तक नागरिकों की मांग को पहुंचाया है।

Dakhal News

Dakhal News 10 February 2021


bhopal, Winds,change flowing ,West Bengal,Narottam Mishra

भोपाल। हाल ही में पश्चिम बंगाल के दौरे से लौटे गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया से चर्चा के दौरान बंगाल की राजनीतिक स्थिति को लेकर बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि वहां बदलाव की बयार चल रही है।   गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि पश्चिम बंगाल में राजनीतिक बदलाव की बयार चल रही है। जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आएंगे, यह बयार आंधी में बदल जाएगी। गृहमंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि बदलाव की बयार मतदान के दौरान तूफान में बदल जाएगी और जब वहां चुनाव परिणाम आएंगे, तो सुनामी आ जाएगी। डॉ. मिश्रा ने कहा कि उन्होंने उत्तरप्रदेश के बारे में भी ऐसी ही बात कही थी और उस समय लोग उस पर हंसे थे। लेकिन जब परिणाम आए, तो वही बात सच साबित हुई। मुर्शिदाबाद की रैली में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बयान पर टिप्पणी करते हुए डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि टाइगर अब आदमखोर हो गया है। मिश्रा ने कहा कि बंगाल में 134 भाजपा के कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है। गौरतलब है कि ममता बनर्जी ने मुर्शिदाबाद की रैली में खुद को रायल बंगाल टाइगर बताया था।

Dakhal News

Dakhal News 10 February 2021


bhopal, Sanction, bank loan , street vendors ,delayed,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बुधवार को भारतीय स्टेट बैंक के मुख्य महाप्रबंधक (मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़) उमेश पांडे ने भेंट की। मुख्यमंत्री चौहान ने स्ट्रीट वेंडर्स के लिए लागू ऋण योजनाओं की तत्परता से मंजूरी का आग्रह किया। विशेष रूप से स्व-निधि योजना, जिसे प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्म-निर्भर निधि भी कहा जाता है, पर विस्तार से चर्चा हुई। साथ ही मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना के प्रकरणों की स्वीकृति और योजना के क्रियान्वयन के बारे में भी बातचीत हुई। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राज्य-स्तरीय बैंकर्स समिति की अगली बैठक में योजना के अंतर्गत राशि के वितरण की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की जाएगी।   मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि स्ट्रीट वेंडर योजना गरीबों के कल्याण की योजना है। छोटे व्यवसायी जो शहरों और गांवों में रेहड़ी और सड़क किनारे गुमटी या ठेला लगाकर छोटा-मोटा व्यवसाय करते हैं, उन्हें आसानी से ऋण सहायता मिले, इसके लिए प्रयास बढ़ाये जायें। वर्तमान में ऐसे प्रकरणों में स्वीकृति में देरी होने की शिकायतें कुछ जिलों से प्राप्त हुई हैं। लघु व्यवसाय से जुड़े जरूरतमंद लोगों को सरलता से ऋण राशि मिले, यह प्रयास बैंक शाखा स्तर पर किया जाये। साथ ही इन हितग्राहियों से प्राप्त ऋण की अदायगी भी हो, इसके लिए सरकार और बैंक स्तर पर संयुक्त प्रयास किये जायें। इससे ऐसे हितग्राहियों को फिर से ऋण दिए जाने का कार्य आसान होगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा छोटे स्तर पर व्यवसाय करने वाले विक्रेता, ऋण से संबंधित मापदंड के तकनीकी पहलू नहीं जानते हैं। अत: बैंक स्तर पर उनकी शिकायतों को दूर किया जाना चाहिए।   मुख्य महाप्रबंधक पांडे ने मुख्यमंत्री चौहान को आश्वस्त किया कि इस कार्य में विलंब नहीं हो, यह सुनिश्चित किया जाएगा। भारतीय स्टेट बैंक मुख्यालय द्वारा छोटे व्यवसाइयों की ऋण योजनाओं की अविलंब स्वीकृति के लिए सभी बैंक शाखाओं को निर्देशित किया गया है। भारतीय स्टेट बैंक गरीबों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री चौहान से भेंट के दौरान भारतीय स्टेट बैंक के जनरल मैनेजर राजेश सक्सेना भी उपस्थित रहे।   उल्लेखनीय है कि पीएम स्व-निधि ऋण योजना के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश देश में सभी राज्यों से आगे है। इसी तरह मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना में भी अच्छे परिणाम प्राप्त करने के प्रयास किए जा रहे हैं। योजना में ग्रामीण क्षेत्रों के छोटे-छोटे स्ट्रीट वेण्डर्स जैसे फल, सब्जी, आइसक्रीम, ब्रेड, बिस्किट विक्रेता, जूते-चप्पल, झाड़ू बेचने वाले, साइकिल रिपेयरिंग करने वाले, बढ़ई, कुम्हार, बुनकर, धोबी और टेलर्स आदि को 10-10 हजार रूपए का ब्याज रहित ऋण उनके कार्य के उन्नयन के लिए दिलवाया जाता है। क्रेडिट गारंटी राज्य शासन देता है। साथ ही स्टाम्प ड्यूटी भी नहीं लगती। योजना में 18 से 55 वर्ष की आयु का ग्रामीण पथ व्यवसायी लाभ ले सकता है।

Dakhal News

Dakhal News 10 February 2021


bhopal, Inauguration Congress,

भोपाल। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आव्हान पर मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के सभाकक्ष में ‘ज्वाइन कांग्रेस सोशल मीडिया’ कार्यक्रम की लॉचिंग हुई। प्रदेश कांग्रेस के आईटी एवं सोशल मीडिया विभाग के अध्यक्ष अभय तिवारी द्वारा पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा को बेच लगाकर कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए पत्रकारवार्ता के माध्यम से कार्यक्रम के उद्देश्यों और वर्तमान समय में उसकी आवश्यकता को बताया।   पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि देश की वास्तविक तस्वीर ‘ज्वाइन कांग्रेस सोशल मीडिया’ के माध्यम से लोगों के सामने आयेगी। जो घटनाक्रम आज वर्तमान में देश में चल रहा है चाहे वह सामाजिक हो आर्थिक हो या राजनीतिक हो, सभी बिंदुओं को सोशल मीडिया के माध्यम से देश के सामने लाया जाएगा। मोर्चा संगठनों चाहे महिला कांग्रेस हो, एनएसयूआई, सेवादल हो या युवा कांग्रेस सभी मोर्चा संगठन एक साथ देश में होने वाली घटनाओं से देश और प्रदेश की जनता तक इन घटनाओं को उजागर करेंगे। राहुल गांधी जी द्वारा प्रारंभ किये गये इस अभियान में प्रदेश में 5 लाख से अधिक वालेंटियर जोड़े जाएंगे। वर्तमान समय यह अभियान बेहद आवश्यक है।   उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग इस कार्यक्रम की अभी से निंदा करने में लग गये हैं। पूरा देश देख रहा है आज हजारों लाखों लोग तख्तापलट के लिए सडक़ों पर हैं। लाखों किसान अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए, अपने हितों की रक्षा के लिए सडक़ों पर बैठा है, तमाम सारे राजनीतिक दल किसानों के साथ मिलकर उनके समर्थन में खड़े हैं, लेकिन मोदी जी किसानों की तरफ देखना तक उचित नहीं समझ रहे हैं। उन्होंने कहा कि दीप सिंधु जैसे लोगों द्वारा षडयंत्र पूर्वक बीजेपी के लोग शांतिपूर्वक चल रहे किसान आंदोलन को बदनाम कर रहे हैं।   प्रदेश कांग्रेस आईटी एवं सोशल मीडिया के अध्यक्ष अभय तिवारी ने कार्यक्रम के उद्देश्य एवं उसकी आवश्यता बताते हुए कहा कि यह कार्यक्रम आगामी तीन माह तक तीन चरणों में चलेगा, जिसमें मिस्ड कॉल, मेल, वाट्सएप के माध्यम से इस अभियान से जुड़ सकेंगे। तीन चरण पूरे होने के बाद वालंटियर का साक्षात्कार किया जाएगा तथा पार्टी  में उसका आवश्यकतानुसार ब्लाक, जिला, प्रदेश एवं नेशनल स्तर पर चयन किया जाएगा। विधानसभा स्तर पर दो सौ एवं लोकसभा स्तर पर दो हजार वॉलंटियर जोडऩे का लक्ष्य रखा गया है। वर्तमान में हमारे पास 58000 सोशल मीडिया से जुड़े हुए लोग हैं। कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी के युवाओं, किसानों और देश के प्रति अपने विचारों पर आधारित वीडियों को प्रसारित किया गया।

Dakhal News

Dakhal News 9 February 2021


bhopal, Each rural family,MP will get ,domestic tap ,connection by 2023,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के प्रत्येक ग्रामीण परिवार को वर्ष 2023 तक घरेलू नल कनेक्शन उपलब्ध कराया जाएगा। यह प्रदेश में जल क्रांति होगी। इससे सबसे बड़ी राहत हमारी बहनों को मिलेगी। उन्हें हैंडपंप से मुक्ति मिल सकेगी। इसके साथ ही स्वच्छ पेयजल से स्वास्थ्य की स्थिति में भी सुधार होगा। कुल एक करोड़ 21 लाख से अधिक ग्रामीण परिवार लाभांवित होंगे। इस पर 44 हजार 260 करोड़ रूपए का व्यय होगा। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को मंत्रालय में जल-जीवन मिशन के प्रस्तुतिकरण के बाद मंत्रीगण को संबोधित करते हुए कही।    मुख्यमंत्री ने कहा कि जल-जीवन मिशन के संचालन में जन-जन की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी और जिस भी ग्राम की परियोजना पूर्ण होगी, वहां उसका प्रारंभ उत्सव के रूप में किया जायेगा। गांव के प्रत्येक घर को नल से जल उपलब्ध कराना ऐतिहासिक उपलब्धि है।   थर्ड पाटी निरीक्षण से होगा गुणवत्ता पर नियंत्रण मंत्रि-परिषद के सम्मुख हुए जल-जीवन मिशन के 'हर घर जल' पर प्रस्तुतिकरण में जानकारी दी गई कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 15 अगस्त 2019 को मिशन की घोषणा की गई थी। मध्यप्रदेश में जून, 2020 से मिशन का क्रियान्वयन आरंभ हुआ। मिशन के क्रियान्वयन के लिए राज्य-स्तर पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में राज्य जल और स्वच्छता मिशन तथा राज्य-स्तरीय योजना स्वीकृति समिति विद्यमान है। जिला-स्तरीय समिति में जिला कलेक्टर अध्यक्ष तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत उपाध्यक्ष हैं। ग्राम स्तर पर स्व-सहायता समूह के सहयोग से ग्रामवासियों की जन-भागीदारी और योजना के सतत संचालन और संधारण के लिए क्रियान्वयन सहायता संस्था की व्यवस्था है। नल-जल योजनाओं के निर्माण कार्यों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए थर्ड पार्टी निरीक्षण एजेंसी की व्यवस्था भी विद्यमान है। जल एवं स्वच्छता समिति लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सहयोग से योजना का निर्माण करेगी तथा स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला-बाल विकास और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभागों के बीच सतत समन्वय से अन्य गतिविधियों का संचालन किया जाएगा।   योजना क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश देश में तीसरे नंबर पर वर्ष 2020-21 तक निवाड़ी तथा बुरहानपुर जिलों में शत-प्रतिशत कवरेज का लक्ष्य है। इसी प्रकार वर्ष 2021-22 में भोपाल, दतिया, इंदौर, मुरैना, नरसिंहपुर, राजगढ़ तथा उमरिया सहित कुल 7 जिले पूरी तरह कवर कर लिए जायेंगे। शेष जिले वर्ष 2023 तक पूर्ण कवर करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। प्रदेश के 34 हजार 305 गाँवों में सतही स्त्रोत आधारित समूह योजनाओं से नल से जल की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। शेष 16 हजार 382 गाँवों में रेट्रो फिटिंग द्वारा सुविधा का विस्तार किया जाना है। प्रदेश में 32 लाख 41 हजार परिवारों तक योजना का विस्तार किया जा चुका है। वर्ष 2020-21 में 25 लाख से अधिक एफएचटीसी के लक्ष्यों वाले राज्यों में मध्यप्रदेश देश में तीसरे स्थान पर है। प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री मलय श्रीवास्तव द्वारा प्रस्तुतिकरण किया गया।

Dakhal News

Dakhal News 9 February 2021


bhopal,MP will continue, against mafia, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में माफिया के विरुद्ध अभियान निरंतर जारी है। चिटफंड कंपनियों की संपत्ति कुर्क कर प्रभावितों को पैसे वापस कराए जा रहे हैं। इसके साथ ही गुम बच्चों को खोजने के लिए प्रदेश के बाहर भी टीमें भेजकर बच्चों की रिकवरी कराई गई है। मुख्यमंत्री ने यह बातें मंगलवार को मंत्रि-परिषद की बैठक से पहले मंत्रियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 1271 भू-माफियाओं से 2000 हेक्टर भूमि मुक्त कराई गई, जिसकी लागत 10 हजार करोड़ रूपये से अधिक है।   मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि चिटफंड कंपनियों से 50 हजार लोगों की 800 करोड़ की राशि वापस कराई गई है। उन्होंने कहा कि मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत मिलावटी सामान बनाने वाले 6 कारखानों को ध्वस्त किया जा चुका है। इसी प्रकार राशन की कालाबाजारी में लिप्त अधिकारी की संपत्ति जप्त कर जनता में राशन वितरित किया गया। इंदौर में हुई इस कार्यवाही का प्रभावी असर हुआ है। राशन की कालाबाजारी में लिप्त 331 लोगों पर कार्यवाही हुई है ।   मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को जानकारी दी कि गुम बच्चों को खोजने के लिए प्रदेश में ऑपरेशन मुस्कान संचालित है, इसके तहत अभी तक 9500 बच्चों को रिकवर किया गया है, जिसमें 80% बालिकाएँ हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बजट में विद्यमान व्यवस्था के अनुरूप राज्य हित में और विकास पर केंद्रित योजनाएँ विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर बनायें और केंद्रीय शासन से अधिकतम आवंटन प्राप्त करने की दिशा में प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्री गण से अपने विभागों में निरंतर सक्रिय रहते हुए नवाचार करने संबंधी बात भी कही।

Dakhal News

Dakhal News 9 February 2021


bhopal,MP will continue, against mafia, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में माफिया के विरुद्ध अभियान निरंतर जारी है। चिटफंड कंपनियों की संपत्ति कुर्क कर प्रभावितों को पैसे वापस कराए जा रहे हैं। इसके साथ ही गुम बच्चों को खोजने के लिए प्रदेश के बाहर भी टीमें भेजकर बच्चों की रिकवरी कराई गई है। मुख्यमंत्री ने यह बातें मंगलवार को मंत्रि-परिषद की बैठक से पहले मंत्रियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 1271 भू-माफियाओं से 2000 हेक्टर भूमि मुक्त कराई गई, जिसकी लागत 10 हजार करोड़ रूपये से अधिक है।   मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि चिटफंड कंपनियों से 50 हजार लोगों की 800 करोड़ की राशि वापस कराई गई है। उन्होंने कहा कि मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत मिलावटी सामान बनाने वाले 6 कारखानों को ध्वस्त किया जा चुका है। इसी प्रकार राशन की कालाबाजारी में लिप्त अधिकारी की संपत्ति जप्त कर जनता में राशन वितरित किया गया। इंदौर में हुई इस कार्यवाही का प्रभावी असर हुआ है। राशन की कालाबाजारी में लिप्त 331 लोगों पर कार्यवाही हुई है ।   मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को जानकारी दी कि गुम बच्चों को खोजने के लिए प्रदेश में ऑपरेशन मुस्कान संचालित है, इसके तहत अभी तक 9500 बच्चों को रिकवर किया गया है, जिसमें 80% बालिकाएँ हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बजट में विद्यमान व्यवस्था के अनुरूप राज्य हित में और विकास पर केंद्रित योजनाएँ विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर बनायें और केंद्रीय शासन से अधिकतम आवंटन प्राप्त करने की दिशा में प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्री गण से अपने विभागों में निरंतर सक्रिय रहते हुए नवाचार करने संबंधी बात भी कही।

Dakhal News

Dakhal News 9 February 2021


bhopal,MP will continue, against mafia, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में माफिया के विरुद्ध अभियान निरंतर जारी है। चिटफंड कंपनियों की संपत्ति कुर्क कर प्रभावितों को पैसे वापस कराए जा रहे हैं। इसके साथ ही गुम बच्चों को खोजने के लिए प्रदेश के बाहर भी टीमें भेजकर बच्चों की रिकवरी कराई गई है। मुख्यमंत्री ने यह बातें मंगलवार को मंत्रि-परिषद की बैठक से पहले मंत्रियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 1271 भू-माफियाओं से 2000 हेक्टर भूमि मुक्त कराई गई, जिसकी लागत 10 हजार करोड़ रूपये से अधिक है।   मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि चिटफंड कंपनियों से 50 हजार लोगों की 800 करोड़ की राशि वापस कराई गई है। उन्होंने कहा कि मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत मिलावटी सामान बनाने वाले 6 कारखानों को ध्वस्त किया जा चुका है। इसी प्रकार राशन की कालाबाजारी में लिप्त अधिकारी की संपत्ति जप्त कर जनता में राशन वितरित किया गया। इंदौर में हुई इस कार्यवाही का प्रभावी असर हुआ है। राशन की कालाबाजारी में लिप्त 331 लोगों पर कार्यवाही हुई है ।   मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को जानकारी दी कि गुम बच्चों को खोजने के लिए प्रदेश में ऑपरेशन मुस्कान संचालित है, इसके तहत अभी तक 9500 बच्चों को रिकवर किया गया है, जिसमें 80% बालिकाएँ हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बजट में विद्यमान व्यवस्था के अनुरूप राज्य हित में और विकास पर केंद्रित योजनाएँ विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर बनायें और केंद्रीय शासन से अधिकतम आवंटन प्राप्त करने की दिशा में प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्री गण से अपने विभागों में निरंतर सक्रिय रहते हुए नवाचार करने संबंधी बात भी कही।

Dakhal News

Dakhal News 9 February 2021


bhopal,MP will continue, against mafia, Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में माफिया के विरुद्ध अभियान निरंतर जारी है। चिटफंड कंपनियों की संपत्ति कुर्क कर प्रभावितों को पैसे वापस कराए जा रहे हैं। इसके साथ ही गुम बच्चों को खोजने के लिए प्रदेश के बाहर भी टीमें भेजकर बच्चों की रिकवरी कराई गई है। मुख्यमंत्री ने यह बातें मंगलवार को मंत्रि-परिषद की बैठक से पहले मंत्रियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 1271 भू-माफियाओं से 2000 हेक्टर भूमि मुक्त कराई गई, जिसकी लागत 10 हजार करोड़ रूपये से अधिक है।   मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि चिटफंड कंपनियों से 50 हजार लोगों की 800 करोड़ की राशि वापस कराई गई है। उन्होंने कहा कि मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत मिलावटी सामान बनाने वाले 6 कारखानों को ध्वस्त किया जा चुका है। इसी प्रकार राशन की कालाबाजारी में लिप्त अधिकारी की संपत्ति जप्त कर जनता में राशन वितरित किया गया। इंदौर में हुई इस कार्यवाही का प्रभावी असर हुआ है। राशन की कालाबाजारी में लिप्त 331 लोगों पर कार्यवाही हुई है ।   मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को जानकारी दी कि गुम बच्चों को खोजने के लिए प्रदेश में ऑपरेशन मुस्कान संचालित है, इसके तहत अभी तक 9500 बच्चों को रिकवर किया गया है, जिसमें 80% बालिकाएँ हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बजट में विद्यमान व्यवस्था के अनुरूप राज्य हित में और विकास पर केंद्रित योजनाएँ विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर बनायें और केंद्रीय शासन से अधिकतम आवंटन प्राप्त करने की दिशा में प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्री गण से अपने विभागों में निरंतर सक्रिय रहते हुए नवाचार करने संबंधी बात भी कही।

Dakhal News

Dakhal News 9 February 2021


bhopal, Narmada Aarti, performed , Maheshwar Ghat , Agriculture Minister

भोपाल। किसान नेता एवं कृषि मंत्री कमल पटेल ने नर्मदा परिक्रमा के दौरान किसानों को प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के फायदों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि योजना से लाभान्वित होकर किसान आर्थिक रूप से सशक्त होंगे। किसान अब न सिर्फ खेतों में आलू उगायेंगे, बल्कि योजना का लाभ लेकर फैक्ट्रियाँ भी लगायेंगे और फैक्ट्रियों में आलू की चिप्स भी बनायेंगे। अलीराजपुर से सोमवार को प्रारंभ हुई यात्रा का पड़ाव बड़वाह है। कृषि मंत्री ने सोमवार शाम को परिक्रमा के मध्य महेश्वर में घाट पर माँ नर्मदा की पूजा-अर्चना के साथ आरती और वंदना भी की। मंत्री पटेल अलीराजपुर से कोटेश्वर, धरमपुरी, खलघाट और धामनौद होते हुए महेश्वर पहुँचे। परिक्रमा के दौरान मार्ग में आने वाले गाँवों में किसानों से मुलाकात और चर्चा की। उन्होंने नये कृषि कानून, प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के साथ ही 15 मार्च से गेहूँ के साथ चना, मसूर, सरसों के उपार्जन के फायदों के बारे में बताया। मंत्री पटेल ने कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकारें निरंतर किसानों के कल्याण के लिये कार्य कर रही हैं। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का लाभ लेकर किसान उद्योग-धँधे लगाने में सक्षम बनेंगे। वे कृषि आधारित उद्योग-धँधे लगाकर बेरोजगारों को रोजगार भी उपलब्ध करायेंगे। नर्मदा मैया के आशीर्वाद से प्रदेश के किसान समृद्धशाली होंगे। कृषि मंत्री मंगलवार सुबह बड़वाह से अगले पड़ाव के लिये नर्मदा मैया की परिक्रमा प्रारंभ करेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 8 February 2021


bhopal, Minister Vishwas Sarang, big attack , Congress, tightened ,Rahul Gandhi , Digvijay

भोपाल। मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कांग्रेस द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण शिविर पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह पर तंज कसा है। इसके अलावा मंत्री सारंग ने कांग्रेस को दलित और आदिवासी विरोधी भी बताया है।   चकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने सोमवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कांग्रेस द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण शिविर पर कहा कि सबसे पहले प्रशिक्षण कांग्रेस में पप्पू गांधी को मिलना चाहिए। कांग्रेस में किस चीज का प्रशिक्षण होगा वह सिखाएंगे कि भ्रष्टाचार कैसे करते हैं क्योंकि जो प्रशिक्षण देंगे उन्होंने भी राजनीति के माध्यम से भ्रष्टाचार ही किया है। कांग्रेस भ्रष्टाचार अनाचार का प्रशिक्षण ही दे सकती है क्योंकि वही उनकी मूल रीति और नीति है। कांग्रेस में केवल भ्रष्टाचार का ही प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके अलावा माफिया संरक्षण को लेकर उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह व कांग्रेस ही ऐसे माफियाओं को संरक्षण देते हैं। हमारी सरकार में पूरी तरह से हमने गुंडे बदमाश और माफिया को खत्म किया है पहले मुख्यमंत्री ने डाकुओं को खत्म किया अब माफिया और गुंडों को खत्म कर दिया है।   आदिवासी विरोधी है कांग्रेसमंत्री सारंग ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने दलितों और आदिवासियों का अपमान किया है। षड्यंत्र पूर्ण रूप से फूल सिंह बरैया को हराया था, उसी दिन स्पष्ट हो गया था कि कांग्रेस दलित विरोधी है। केवल नारा लगा देने से कुछ नहीं होगा कांग्रेस शुरू से दलित और आदिवासी की विरोधी रही है।

Dakhal News

Dakhal News 8 February 2021


bhopal, Minister Vishwas Sarang, big attack , Congress, tightened ,Rahul Gandhi , Digvijay

भोपाल। मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कांग्रेस द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण शिविर पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह पर तंज कसा है। इसके अलावा मंत्री सारंग ने कांग्रेस को दलित और आदिवासी विरोधी भी बताया है।   चकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने सोमवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कांग्रेस द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण शिविर पर कहा कि सबसे पहले प्रशिक्षण कांग्रेस में पप्पू गांधी को मिलना चाहिए। कांग्रेस में किस चीज का प्रशिक्षण होगा वह सिखाएंगे कि भ्रष्टाचार कैसे करते हैं क्योंकि जो प्रशिक्षण देंगे उन्होंने भी राजनीति के माध्यम से भ्रष्टाचार ही किया है। कांग्रेस भ्रष्टाचार अनाचार का प्रशिक्षण ही दे सकती है क्योंकि वही उनकी मूल रीति और नीति है। कांग्रेस में केवल भ्रष्टाचार का ही प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके अलावा माफिया संरक्षण को लेकर उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह व कांग्रेस ही ऐसे माफियाओं को संरक्षण देते हैं। हमारी सरकार में पूरी तरह से हमने गुंडे बदमाश और माफिया को खत्म किया है पहले मुख्यमंत्री ने डाकुओं को खत्म किया अब माफिया और गुंडों को खत्म कर दिया है।   आदिवासी विरोधी है कांग्रेसमंत्री सारंग ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने दलितों और आदिवासियों का अपमान किया है। षड्यंत्र पूर्ण रूप से फूल सिंह बरैया को हराया था, उसी दिन स्पष्ट हो गया था कि कांग्रेस दलित विरोधी है। केवल नारा लगा देने से कुछ नहीं होगा कांग्रेस शुरू से दलित और आदिवासी की विरोधी रही है।

Dakhal News

Dakhal News 8 February 2021


bhopal, Minister Vishwas Sarang, big attack , Congress, tightened ,Rahul Gandhi , Digvijay

भोपाल। मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कांग्रेस द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण शिविर पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह पर तंज कसा है। इसके अलावा मंत्री सारंग ने कांग्रेस को दलित और आदिवासी विरोधी भी बताया है।   चकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने सोमवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कांग्रेस द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण शिविर पर कहा कि सबसे पहले प्रशिक्षण कांग्रेस में पप्पू गांधी को मिलना चाहिए। कांग्रेस में किस चीज का प्रशिक्षण होगा वह सिखाएंगे कि भ्रष्टाचार कैसे करते हैं क्योंकि जो प्रशिक्षण देंगे उन्होंने भी राजनीति के माध्यम से भ्रष्टाचार ही किया है। कांग्रेस भ्रष्टाचार अनाचार का प्रशिक्षण ही दे सकती है क्योंकि वही उनकी मूल रीति और नीति है। कांग्रेस में केवल भ्रष्टाचार का ही प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके अलावा माफिया संरक्षण को लेकर उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह व कांग्रेस ही ऐसे माफियाओं को संरक्षण देते हैं। हमारी सरकार में पूरी तरह से हमने गुंडे बदमाश और माफिया को खत्म किया है पहले मुख्यमंत्री ने डाकुओं को खत्म किया अब माफिया और गुंडों को खत्म कर दिया है।   आदिवासी विरोधी है कांग्रेसमंत्री सारंग ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने दलितों और आदिवासियों का अपमान किया है। षड्यंत्र पूर्ण रूप से फूल सिंह बरैया को हराया था, उसी दिन स्पष्ट हो गया था कि कांग्रेस दलित विरोधी है। केवल नारा लगा देने से कुछ नहीं होगा कांग्रेस शुरू से दलित और आदिवासी की विरोधी रही है।

Dakhal News

Dakhal News 8 February 2021


bhopal, Minister Vishwas Sarang, big attack , Congress, tightened ,Rahul Gandhi , Digvijay

भोपाल। मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कांग्रेस द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण शिविर पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह पर तंज कसा है। इसके अलावा मंत्री सारंग ने कांग्रेस को दलित और आदिवासी विरोधी भी बताया है।   चकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने सोमवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कांग्रेस द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण शिविर पर कहा कि सबसे पहले प्रशिक्षण कांग्रेस में पप्पू गांधी को मिलना चाहिए। कांग्रेस में किस चीज का प्रशिक्षण होगा वह सिखाएंगे कि भ्रष्टाचार कैसे करते हैं क्योंकि जो प्रशिक्षण देंगे उन्होंने भी राजनीति के माध्यम से भ्रष्टाचार ही किया है। कांग्रेस भ्रष्टाचार अनाचार का प्रशिक्षण ही दे सकती है क्योंकि वही उनकी मूल रीति और नीति है। कांग्रेस में केवल भ्रष्टाचार का ही प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके अलावा माफिया संरक्षण को लेकर उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह व कांग्रेस ही ऐसे माफियाओं को संरक्षण देते हैं। हमारी सरकार में पूरी तरह से हमने गुंडे बदमाश और माफिया को खत्म किया है पहले मुख्यमंत्री ने डाकुओं को खत्म किया अब माफिया और गुंडों को खत्म कर दिया है।   आदिवासी विरोधी है कांग्रेसमंत्री सारंग ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने दलितों और आदिवासियों का अपमान किया है। षड्यंत्र पूर्ण रूप से फूल सिंह बरैया को हराया था, उसी दिन स्पष्ट हो गया था कि कांग्रेस दलित विरोधी है। केवल नारा लगा देने से कुछ नहीं होगा कांग्रेस शुरू से दलित और आदिवासी की विरोधी रही है।

Dakhal News

Dakhal News 8 February 2021


bhopal, Every city, beautiful, clean and equipped ,all basic amenities,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न नगरीय निकायों की 19 जल प्रदाय योजनाओं का वर्चुअल लोकार्पण एवं भूमि-पूजन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर शहर को सुंदर, स्वच्छ और बुनियादी सुविधाओं से युक्त बनाने के लिए तेज गति से कार्य किया जा रहा है। हर नगर का पांच वर्षीय रोडमैप बनाया जा रहा है, जिसके अनुसार सुनियोजित विकास होगा। नगरों में सभी भाई-बहनों के पक्के मकान हो जाएं, इसका प्रयास सरकार कर रही है। पथकर व्यवसाइयों को रोजगार के लिए 10 हजार रुपये बिना ब्याज और बिना गारंटी के ऋण दिलाया जा रहा है।   कायर्क्रम में नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह मौजूद रहे, जबकि नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री ओपीएस भदौरिया भी वीसी के माध्यम से कायर्क्रम से जुड़े।   हर पात्र परिवार का बने आयुष्मान कार्ड मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में हर पात्र परिवार आयुष्मान कार्ड बनवाये। आयुष्मान कार्ड से साल में 5 लाख रुपये तक का नि:शुल्क इलाज चिन्हित निजी अस्पतालों में भी मिलता है।   हर नगर स्वच्छता में आगे रहे उन्होंने कहा कि हर नगर स्वच्छता में आगे रहे, ऐसे प्रयास किए जायें। स्वच्छता से स्वास्थ्य का सीधा संबंध है। सभी नगरों में सीवरेज सिस्टम बनाया जा रहा है। स्वच्छता अभियान के साथ नशा मुक्ति अभियान भी चलाया जाये।   पहले हेंडपंप से पानी लेते थे, अब नल से आ रहा है पानी मुख्यमंत्री ने नगरीय निकायों के नागरिकों से वी.सी. के माध्यम से संवाद भी किया। गुना की नागरिक मंजू कुशवाह ने बताया कि पहले उन्हें हेंड पंप से पानी लेना पड़ता था, अब घर पर ही नल से पानी मिल रहा है।   नर्मदा पेयजल योजना से अब प्रतिदिन पानी मिलता है मुख्यमंत्री को संवाद के दौरान पीथमपुर की संध्या शर्मा ने बताया कि पहले नगर में 2-3 दिन छोड़कर पानी मिलता था। अब नर्मदा पेयजल योजना से हर दिन पर्याप्त पेयजल मिल रहा है। इससे नगर की सभी महिलाएँ खुश हैं।   गर्मियों में आती थी पानी की समस्या मुख्यमंत्री को बड़ा मलहरा नगरीय निकाय के देवशंकर शुक्ला ने बताया कि क्षेत्र में पहले गर्मियों में पानी की बहुत समस्या आती थी। नई पेयजल योजना आ जाने के बाद यह समस्या दूर हो जाएगी। क्षेत्र में काठन सिंचाई परियोजना भी आ रही है, जो क्षेत्र के लिए वरदान सिद्ध होगी। मुख्यमंत्री ने पेयजल योजना को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बड़ा मलहरा महाविद्यालय में विज्ञान संकाय शुरू किया जाएगा।   शहरों में हर घर तक नल के माध्यम से स्वच्छ पानी मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि शहरी पेयजल योजनाओं के माध्यम से अब हर घर तक नल से स्वच्छ पानी पहुँचाने का कार्य किया जा रहा है। जिन पेयजल योजनाओं का आज शिलान्यास हुआ है, वे शीघ्र पूर्ण होंगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में नगरीय विकास विभाग की योजनाओं सहित सभी विभागों की योजनाओं में अग्रणी है। इस दौरान प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास नीतेश व्यास और मनीष सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।   142 करोड़ की 7 योजनाओं का भूमि-पूजन मुख्यमंत्री ने एडीबी योजना में नगर परिषद धामनोद की 19 करोड़ 55 लाख, नगर परिषद जेरोनखालसा की 21 करोड़ 50 लाख, नगर परिषद कारी की 20 करोड़ 29 लाख, नगर परिषद लिधोराखास की 20 करोड़ 52 लाख और विश्व बैंक योजना में नगर परिषद बड़ा मलहरा की 25 करोड़ 90 लाख, नगर परिषद सेवढ़ा की 26 करोड़ 52 लाख और नगर परिषद नईगढ़ी की 7 करोड़ 51 लाख की जल-प्रदाय परियोजनाओं का भूमि-पूजन किया। इन परियोजनाओं के पूरा होने का लाभ लगभग 93 हजार नागरिक को मिलेगा।   225 करोड़ की 12 योजनाओं का लोकार्पण मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पित 12 जल-प्रदाय योजनाओं से 12 नगर के लगभग 4 लाख 80 हजार नागरिक लाभान्वित होंगे। मुख्यमंत्री शहरी पेयजल योजना में नगर परिषद हनुमना की 13 करोड़ 35 लाख, नगर परिषद अमानगंज की 12 करोड़ 89 लाख, नगर परिषद नागोद की 18 करोड़ 18 लाख, नगर परिषद कुरवई की 11 करोड़ 94 लाख, नगर परिषद बुधनी की 7 करोड़ 34 लाख, नगर परिषद गोविंदगढ़ की 8 करोड़ 37 लाख, नगर परिषद भानपुरा की 7 करोड़ 92 लाख, नगर परिषद बड़ौद की 7 करोड़ 29 लाख, नगर पालिका उमरिया की 14 करोड़ 70 लाख और नगर परिषद छापीहेड़ा की 4 करोड़ 95 लाख की जल-प्रदाय परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया। मुख्यमंत्री ने अमृत मिशन में नगर पालिका परिषद गुना की 29 करोड़ 88 लाख और नगर पालिका पीथमपुर की 87 करोड़ 69 लाख की जल-प्रदाय परियोजनाओं का भी लोकार्पण किया।

Dakhal News

Dakhal News 5 February 2021


bhopal, Kamal Nath,meets Chief Minister Shivraj, discusses issues

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ शुक्रवार सुबह सीएम शिवराज से मिलने के लिए मुख्यमंत्री निवास पहुंचे। यहां दोनों राजनेताओं के बीच कृषि कानून सहित प्रदेश के अन्य मुद्दों को लेकर करीब 20 मिनट तक चर्चा हुई। बजट सत्र से पहले कमलनाथ और शिवराज की मुलाकात को अहम माना जा रहा है।   कमलनाथ शुक्रवार सुबह 10:30 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने सीएम हाउस पहुंचे। करीब 20 मिनट तक चली मुलाकात के दौरान तीनों कृषि कानून को लेकर कमलनाथ ने सीएम शिवराज से कहा कि राजनीति से परे हटकर कृषि कानून का विरोध करना चाहिए। इस कानून से खेती किसानी दोनों को भारी नुकसान होगा। इसके आलावा दोनों के बीच प्रदेश से जुड़े अन्य विषयों को लेकर भी चर्चा हुई।   मुलाकात के संबंध में जानकारी देते हुए कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि कमलनाथ ने सीएम शिवराज से किसानों की समस्याओं को लेकर बात की है। इसके अलावा लीज नवीनीकरण के दो तरह के नियमों के चलते लोगों को आ रही परेशानी के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत कराया है। इसको लेकर कमलनाथ ने एक दिन पहले गुरुवार को एक पत्र भी शिवराज को लिखा था। कमलनाथ ने विकास के मुद्दों पर भी शिवराज से चर्चा की। हालांकि सीएम हाउस के सूत्रों का कहना है कि कमलनाथ केवल सौजन्य भेंट करने आए थे।

Dakhal News

Dakhal News 5 February 2021


bhopal,Minister Bhupendra Singh, discussed tea , Chief Minister

भोपाल। प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बुधवार को मंत्रालय में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चाय पर चर्चा की। इस दौरान उन्होंने बताया कि प्रदेश में नगरों के विकास और सौन्दर्यीकरण के कार्य सतत रूप से चल रहे हैं। ये कार्य भविष्य में भी निरंतर चलेंगे। नागरिकों को बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता की निरंतर समीक्षा की जा रही है।    मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के नगरों के लिए सौन्दर्यीकरण और विकास, विशेष रूप से उद्यानों के विकास, शहरी परिवहन साधनों के विस्तार, पेयजल और सुचारू सीवेज प्रणाली की व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अधिकारियों को सक्रिय रखा जाये और निरंतर समीक्षा भी हो। मुख्यमंत्री ने मंत्री भूपेन्द्र सिंह को नगरों में निर्माण और विकास कार्य कर रही एजेंसी से चर्चा कर उनकी समस्याओं का निराकरण करने को भी कहा। इस अवसर पर मंत्री भूपेंद्र सिंह ने विभिन्न नगरों में संचालित कार्यों की जानकारी दी।   मुख्यमंत्री ने कहा कि वे राज्य के विभिन्न नगरों में भ्रमण कर विकास के 5 वर्षीय प्रोजेक्ट के संबंध में भी जानकारी प्राप्त कर रहे हैं। कुछ नगरों में पंचवर्षीय विकास योजनाओं के बेहतर प्लान बनाए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल ही में घोषित केन्द्रीय बजट में जल जीवन मिशन के लिए पर्याप्त राशि का प्रावधान किया गया है। मिशन के कार्यों से मध्यप्रदेश को अधिक से अधिक लाभ दिलवाने के संबंध में चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के नगरों में विकास के और क्या कार्य हो सकते हैं, इसका अध्ययन कर क्रियान्वयन प्रारंभ किया जाये। नगरीय विकास मंत्री ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे स्वयं विभिन्न निकायों द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा प्रतिदिन कर रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 3 February 2021


Bhopal, Government will deal ,with fake drug mafias ,strictly, Home Minister

भोपाल। प्रदेश सरकार मिलावटखोरों के बाद अब दवा माफियाओं पर नकेल कसने की तैयारी में है। प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि अमानक और नकली दवाओं का कारोबार कर रहे माफियाओं के खिलाफ सरकार सख्त कार्रवाई करेगी।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कह चुके हैं कि सरकार का फोकस मिलावटखोरों पर ज्यादा है। ऐसे में व्यापारियों के लिए नहीं, बल्कि मिलावट खोरों पर शिकंजा कसने कानून में सख्त प्रावधान किए हैं। उन्होंने ऐसे माफियाओं को सख्त चेतावनी देते हुए कहा था कि लोगों की जान से खिलवाड़ करने वालों को जीवन भर जेल में चक्की चलाना पड़ेगी। इसके बाद अब प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने  बुधवार को मीडिया से चर्चा के दौरान आमजन से अपील की है कि नकली दवा बिकने की शिकायत संबंधित थाने में दर्ज कराएं। मिश्रा ने कहा है कि प्रदेश की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने नहीं दिया जाएगा। गौरतलब है कि शिवराज सरकार ने खाद्य सुरक्षा अधिनियम में संशोधन कर मिलावटखोरों व एक्सपायरी डेट की दवाएं बेचने वालों के लिए सजा के प्रावधान को सख्त किया है।

Dakhal News

Dakhal News 3 February 2021


bhopal,Former Chief Minister, Digvijay

भोपाल। देश में इन दिनों पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, जिसके चलते पेट्रोल के दाम 100 रुपये के पार पहुंचने की अटकलें तेज हो गई हैं। कई राज्यों में यह 94 रुपये के पार पहुंच चुका है। मप्र में भी पेट्रोल 94 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। पेट्रोल की कीमतों को लेकर भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी ही सरकार की नीतियों पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट कर एक इमेज शेयर की है। जिस पर रिट्वीट कर करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने पलटवार किया है।   दरअसल, भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी ही सरकार की नीतियों पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट कर लिखा है कि राम के भारत में पेट्रोल 93 रुपये, सीता के नेपाल में 53 रुपये और रावण की लंका में पैट्रोल 51 रुपये। भाजपा सांसद के इस ट्वीट पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह जी ने रिट्वीट करते हुए कटाक्ष किया है। उन्होंने लिखा है "आप ने ठीक कहा स्वामी जी, घोर कलियुग है।" गौरतलब है कि पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह सोशल मीडिया पर सतर्क रहते है और आए दिन अपने ट्वीट और बयानों से भाजपा पर हमला बोलते है।

Dakhal News

Dakhal News 3 February 2021