विशेष


bhopal, purchase of moong started, MP from today , support price

भोपाल। मध्यप्रदेश में मंगलवार से ग्रीष्मकालीन मूंग की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू हो गई है। निर्धारित उपार्जन केन्द्रों पर पंजीयन के माध्यम से किसान अपनी उपज सरकारी दाम पर बेच रहे हैं। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि किसानों के मेहनत की पूरी कीमत मिले, इसके लिए हम हरसंभव उपाय कर रहे हैं। किसानों का हित हमारी प्राथमिकता है।मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि -मेरे किसान भाइयों-बहनों, आपने घनघोर परिश्रम करके मूंग का रिकॉर्ड उत्पादन किया है। अधिक उत्पादन होने से कीमतें घट गईं, तो हमने तत्काल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदी का निर्णय लिया। आज से ही खरीदी प्रारंभ हो गई है। किसानों का हित हमारी प्राथमिकता है।उन्होंने अगले ट्वीट में कहा है कि - प्रदेश सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूंग की खरीदी की घोषणा की और बाजार में इसका मूल्य बढ़ने लगा। मेरे किसान भाइयों, आपके हितों की रक्षा एवं पसीने की पूरी कीमत मिले; इसके लिए हम हरसंभव उपाय कर रहे हैं और आगे भी कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2021


bhopal, Narottam

भोपाल। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि हिंदुओं की आस्था के केंद्रों पर राहुल गांधी, दिग्विजय सिंह ही नहीं, पूरी कांग्रेस विवाद खड़े करती रही है। दिग्विजय सिंह आज राममंदिर पर सवाल कर रहे हैं। पहले उन्होंने कश्मीर पर आपत्तिजनक बयान दिया था। कांग्रेस का मूल मकसद सिर्फ हिंदुओं की धार्मिक आस्था के साथ छेड़छाड़ करना है।   मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि राम सत्य हैं, ये सत्य है। ये वही राहुल है जिनकी सरकार ने सुप्रीमकोर्ट में राम के अस्तित्व पर सवाल खड़ा किया था, मैं राहुल जी को बहस के लिए चुनौती देता हूं, मैं कमलनाथ को भी चुनौती देता हूं कि वो आएं और मुझसे राम के विषय में बहस करें। वहीं दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर गृह मंत्री ने निशाना साधते हुए कहा कि हिंदुओं की आस्था के केंद्रों पर राहुल गांधी, दिग्विजय सिंह ही नहीं, पूरी कांग्रेस विवाद खड़े करती रही है। दिग्विजय सिंह आज राममंदिर पर सवाल कर रहे हैं। पहले उन्होंने कश्मीर पर आपत्तिजनक बयान दिया था। कांग्रेस का मूल मकसद सिर्फ हिंदुओं की धार्मिक आस्था के साथ छेड़छाड़ करना है।   कोरोना का ग्राफ तेजी से नीचे आ रहामंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण का ग्राफ तेजी से नीचे आ रहा है। पिछले 24 घंटे में 528 मरीज स्वस्थ हुए हैं। नए केस 224 हैं, संक्रमण दर अब 0.31 प्रतिशत जबकि रिकवरी दर 98.4 प्रतिशत है। 15 जिलों में कोरोना का एक भी नया मरीज नहीं मिला है। मध्य प्रदेश सरकार देश की पहली ऐसी सरकार है, जो कोरोना से पीडि़त लोगों के पक्ष में कई महत्वपूर्ण योजनाओं का ऐलान कर उनको लागू कर रही है। वहीं कांग्रेस कोरोना महामारी में भी जनहितैषी फैसलों पर सवाल उठा रही है और हर मुद्दे पर सिर्फ राजनीति कर रही है।

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2021


bhopal, Narottam

भोपाल। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि हिंदुओं की आस्था के केंद्रों पर राहुल गांधी, दिग्विजय सिंह ही नहीं, पूरी कांग्रेस विवाद खड़े करती रही है। दिग्विजय सिंह आज राममंदिर पर सवाल कर रहे हैं। पहले उन्होंने कश्मीर पर आपत्तिजनक बयान दिया था। कांग्रेस का मूल मकसद सिर्फ हिंदुओं की धार्मिक आस्था के साथ छेड़छाड़ करना है।   मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि राम सत्य हैं, ये सत्य है। ये वही राहुल है जिनकी सरकार ने सुप्रीमकोर्ट में राम के अस्तित्व पर सवाल खड़ा किया था, मैं राहुल जी को बहस के लिए चुनौती देता हूं, मैं कमलनाथ को भी चुनौती देता हूं कि वो आएं और मुझसे राम के विषय में बहस करें। वहीं दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर गृह मंत्री ने निशाना साधते हुए कहा कि हिंदुओं की आस्था के केंद्रों पर राहुल गांधी, दिग्विजय सिंह ही नहीं, पूरी कांग्रेस विवाद खड़े करती रही है। दिग्विजय सिंह आज राममंदिर पर सवाल कर रहे हैं। पहले उन्होंने कश्मीर पर आपत्तिजनक बयान दिया था। कांग्रेस का मूल मकसद सिर्फ हिंदुओं की धार्मिक आस्था के साथ छेड़छाड़ करना है।   कोरोना का ग्राफ तेजी से नीचे आ रहामंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण का ग्राफ तेजी से नीचे आ रहा है। पिछले 24 घंटे में 528 मरीज स्वस्थ हुए हैं। नए केस 224 हैं, संक्रमण दर अब 0.31 प्रतिशत जबकि रिकवरी दर 98.4 प्रतिशत है। 15 जिलों में कोरोना का एक भी नया मरीज नहीं मिला है। मध्य प्रदेश सरकार देश की पहली ऐसी सरकार है, जो कोरोना से पीडि़त लोगों के पक्ष में कई महत्वपूर्ण योजनाओं का ऐलान कर उनको लागू कर रही है। वहीं कांग्रेस कोरोना महामारी में भी जनहितैषी फैसलों पर सवाल उठा रही है और हर मुद्दे पर सिर्फ राजनीति कर रही है।

Dakhal News

Dakhal News 15 June 2021


bhopal, Narottam retaliated , Digvijay Singh,  anti-India thinking

भोपाल। धारा 370 मामले में भाजपा नेताओं का पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह खिलाफ बयानबाजी का दौरा जारी है। मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह के विवादित बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि धारा 370 को लेकर दिग्विजय सिंह के परिवार में ही विरोध हो रहा है। कथित वायरल चैट से साबित हो गया कि दिग्विजय भारत विरोधी सोच रखते हैं।   मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि 370 हटाने के बाद कही हिन्दू कश्मीर में फिर बस न जाएं इसलिए दिग्विजय भ्रम पैदा किया। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद कश्मीरी पंडित फिर वापस कश्मीर लौट रहे हैं जो दिग्विजय सिंह जैसे नेता बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं। दिग्विजय सिंह धारा 370 का समर्थन कर कश्मीरी पंडितों और हिंदूओं को डरा रहे हैं। कांग्रेस और दिग्विजय सिंह कश्मीर को फिर अस्थिर करना चाहते हैं।   गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाने का भी आरोप लगाया है। कहा कि दिग्विजय वैक्सीन को लेकर भ्रम फैला रहे। आज तक राहुल गांधी ने वैक्सीन नहीं लगवाई है। कांग्रेस कह रही वैक्सीनेशन के बाद चम्मच चिपक रही है। जबकि ये सब अफवाह है। वो तो सिमी आतंकी भी मना कर रहे हैं। आतंकी कहते हैं कि हमारा धर्म ऐसी इजाजत नहीं देता। ये भारत विरोधी सोच है, चाहे सिमी की हो या दिग्विजय सिंह की। दोनों एक समान है। दिग्विजय ने कश्मीर को देश से काटने का प्रयास किया है। वो सिर्फ और सिर्फ हिंदुओं में भय पैदा करना चाहते हैं।   भाजपा मुस्लिम  नहीं आतंकवाद की सोच के खिलाफइसके अलावा दिग्विजय सिंह द्वारा आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से बयान की तुलना पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि आरएसएस के मुखिया आदरणीय मोहन भागवत जी के बयानों की तुलना दिग्विजय सिंह जी से करना निरर्थक है। भागवत जी या भाजपा मुसलमानों की विरोधी नहीं हैं। हमारा विरोध उस मानसिकता और विचारों से है, जो देश में रहकर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हैं और आतंकवाद को पनाह देते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 14 June 2021


bhopal, Narottam retaliated , Digvijay Singh,  anti-India thinking

भोपाल। धारा 370 मामले में भाजपा नेताओं का पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह खिलाफ बयानबाजी का दौरा जारी है। मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह के विवादित बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि धारा 370 को लेकर दिग्विजय सिंह के परिवार में ही विरोध हो रहा है। कथित वायरल चैट से साबित हो गया कि दिग्विजय भारत विरोधी सोच रखते हैं।   मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि 370 हटाने के बाद कही हिन्दू कश्मीर में फिर बस न जाएं इसलिए दिग्विजय भ्रम पैदा किया। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद कश्मीरी पंडित फिर वापस कश्मीर लौट रहे हैं जो दिग्विजय सिंह जैसे नेता बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं। दिग्विजय सिंह धारा 370 का समर्थन कर कश्मीरी पंडितों और हिंदूओं को डरा रहे हैं। कांग्रेस और दिग्विजय सिंह कश्मीर को फिर अस्थिर करना चाहते हैं।   गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाने का भी आरोप लगाया है। कहा कि दिग्विजय वैक्सीन को लेकर भ्रम फैला रहे। आज तक राहुल गांधी ने वैक्सीन नहीं लगवाई है। कांग्रेस कह रही वैक्सीनेशन के बाद चम्मच चिपक रही है। जबकि ये सब अफवाह है। वो तो सिमी आतंकी भी मना कर रहे हैं। आतंकी कहते हैं कि हमारा धर्म ऐसी इजाजत नहीं देता। ये भारत विरोधी सोच है, चाहे सिमी की हो या दिग्विजय सिंह की। दोनों एक समान है। दिग्विजय ने कश्मीर को देश से काटने का प्रयास किया है। वो सिर्फ और सिर्फ हिंदुओं में भय पैदा करना चाहते हैं।   भाजपा मुस्लिम  नहीं आतंकवाद की सोच के खिलाफइसके अलावा दिग्विजय सिंह द्वारा आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से बयान की तुलना पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि आरएसएस के मुखिया आदरणीय मोहन भागवत जी के बयानों की तुलना दिग्विजय सिंह जी से करना निरर्थक है। भागवत जी या भाजपा मुसलमानों की विरोधी नहीं हैं। हमारा विरोध उस मानसिकता और विचारों से है, जो देश में रहकर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हैं और आतंकवाद को पनाह देते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 14 June 2021


bhopal, Digvijay Singh

भोपाल। वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के जम्मू-कश्मीर में दोबारा आर्टिकल 370 लागू करने के बयान को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है। भाजपा दिग्विजय सिंह के बयान पर लगातार हमला बोल रही है। वहीं अब उनके परिवार में ही बयान को लेकर फूट देखने को मिल रही है। दिग्विजय सिंह के छोटे भाई और विधायक लक्ष्मण सिंह और उनकी पत्नी रुबीना सिंह ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।   लक्ष्मण सिंह ने ट्वीट कर दिग्विजय सिंह के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कश्मीर में दोबारा धारा 370 लागू करना संभव नहीं है। हां लेकिन सच यह भी है कि धारा 370 का समर्थन करने वाले फारूख अब्दुल्ला एनडीए की सरकार में मंत्री रह चुके हैं, जबकि महबूबा मुफ्ती का समर्थन भाजपा कर चुकी है। बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब लक्ष्मण सिंह ने पार्टी लाइन से हटकर कुछ कहा हो, इसस पहले भी वह अपनी ही पार्टी कांग्रेस के खिलाफ बयान जारी कर चुके हैं। वहीं इस पूरे मामले पर दिग्विजय सिंह के बेटे जयवर्धन सिंह उनके बयान से न तो सहमत दिखे और न असहमत। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा कि अगल चुनाव आर्टिकल 370 पर नहीं बल्कि बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और कोरोना के कारण देश में जो तबाही हुई है, इन मुद्दों पर लड़ा जाएगा।   लक्ष्मण सिंह की पत्नी रूबीना सिंह ने भी साधा निशाना लक्ष्मण सिंह की पत्नी रूबीना सिंह ने भी दिग्विजय सिंह के बयान को अनावश्यक बताया। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा कि कश्मीरी पंडितों और तथाकथित आरक्षण के बारे में बोले गए शब्द दुर्भाग्यपूर्ण हैं। यह सब सीमा पार के एक पत्रकार से कहा गया। एक ऐसा राष्ट्र जिसने हमें शांति से रहने नहीं दिया। मानो हमने पर्याप्त कष्ट नहीं उठाया हो। हानिकारक और अनावश्यक। बता दें कि रूबीना सिंह कश्मीरी पंडित हैं। वे कैंसर पीडि़तों की काउंसलिंग भी करती हैं।

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2021


bhopal, Scindia

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में जल्द ही विस्तार किया जा सकता है। माना जा रहा है कि संसद के मानसून सत्र से पहले ही कैबिनेट विस्तार संभव है। केन्द्रीय कैबिनेट के विस्तार के साथ ही मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार का तख्तापलट कराने में अहम भूमिका निभाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया का इंतजार भी खत्म हो सकता है। सिंधिया को मोदी सरकार में बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है।  दरअसल सिंधिया के करीबी एक वरिष्ठ नेता के हवाले से बताया जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को रेल मंत्री बनाया जा सकता है। इसके साथ ही सिंधिया को शहरी विकास या मानव संसाधन जैसे अहम मंत्रालय भी दिए जा सकते हैं। सिंधिया भी इन दिनों खासे एक्टिव दिखाई दे रहे हैं और भाजपा के नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं। उन्हें भाजपा में शामिल हुए 15 महीने हो चुके हैं। अब भाजपा उनसे किया वादा पूरा करने जा रही है। इसके संकेत दिल्ली से लेकर मध्यप्रदेश तक हैं।   जानकारों का मानना है कि मोदी ज्योतिरादित्य को कैबिनेट मंत्री बनाएंगे। इसकी वजह यह है कि मनमोहन सरकार में भी उन्होंने अपने कामों के चलते एक एक्टिव मंत्री की छवि बनाई थी। इस बार वे टीम मोदी में शामिल होते हैं, तो फिर वे अपना काम दिखा पाएंगे। उनकी क्षमताओं का लाभ उन्हें प्रस्तावित फेरबदल में मिलने की पूरी संभावना है। ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस में रहने के दौरान मनमोहन सरकार में भी अहम मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। सिंधिया ने मनमोहन सरकार में टेलीकॉम, आईटी इंडस्ट्रीज जैसे अहम मंत्रालय संभाले थे। यही वजह है कि मोदी सरकार भी उन्हें कोई बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है। मोदी कैबिनेट का विस्तार जून के अंत में या फिर अगले महीने की शुरुआत में संभव है। 

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2021


bhopal, One Earth-One Health Mantra ,inspire humanity to unite, CM Shivraj

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जी-7 समिट-2021 की बैठक में वैश्विक समुदाय को "वन अर्थ-वन हेल्थ" अर्थात एक पृथ्वी-एक स्वास्थ्य का मंत्र दिया है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मंत्र को मानवता को एकजुट करने के लिए प्रेरित करने वाला बताया है। साथ ही विश्व समुदाय के आत्मीय मार्गदर्शन करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का आभार जताया है।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को सिलसिलेवार ट्वीट के माध्यम से कहा है कि -'वसुधैव कुटुम्बकम्' भारत देश की संस्कृति का परिचायक रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने जी-7 समिट-2021 की बैठक में वैश्विक समुदाय को "वन अर्थ-वन हेल्थ" का मंत्र दिया है। समग्र समाज के सहयोग से ही विश्व पटल से #COVID19 महामारी को समाप्त किया जा सकता है।उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा है कि कोविड-19 महामारी और इस प्रकार के अन्य संकटों से लड़ने के लिये 'एक पृथ्वी-एक स्वास्थ्य' का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का मंत्र मानवता को एकजुट करने के लिये प्रेरित करेगा। सीएम शिवराज ने लिखा है कि प्राणियों में सद्भावना हो, विश्व का कल्याण हो, यह भारत की अक्षुण्ण परंपरा रही है। यह तभी संभव होगा जब सम्पूर्ण विश्व एकजुट होकर 'एक पृथ्वी-एक स्वास्थ्य' भावना से  आगे बढ़े। आत्मीय मार्गदर्शन करने हेतु प्रधानमंत्री मोदी जी का हार्दिक आभार।मुख्यमंत्री ने टोसिलिजुमैब इंजेक्शन को टैक्स फ्री करने पर जताया प्रधानमंत्री का आभारवहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने टोसिलिजुमैब इंजेक्शन को टैक्स फ्री करने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताया है। उन्होंने रविवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि कोरोना महामारी के संकट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने आगे रहकर देश का नेतृत्व किया है। देश के नागरिकों के लिये निशुल्क वैक्सीन के निर्णय के साथ प्रधानमंत्री जी की अगुवाई में अब ब्लैक फंगस के इलाज में काम आने वाला एम्फोटेरेसिन बी को टैक्स फ्री कर दिया है।मुख्यमंत्री ने अगले ट्वीट में कहा है कि जीएसटी काउंसिल ने कोरोना के इलाज में काम आने वाले इंजेक्शन टोसिलिजुमैब को भी टैक्स फ्री करने का फैसला लिया है। साथ ही रेमेडिसिविर और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जैसे उपकरणों पर टैक्स दर घटा दी गयी है। जनकल्याणकारी इन निर्णयों के लिये प्रधानमंत्री जी का हृदय से आभार।

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2021


bhopal, One Earth-One Health Mantra ,inspire humanity to unite, CM Shivraj

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जी-7 समिट-2021 की बैठक में वैश्विक समुदाय को "वन अर्थ-वन हेल्थ" अर्थात एक पृथ्वी-एक स्वास्थ्य का मंत्र दिया है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मंत्र को मानवता को एकजुट करने के लिए प्रेरित करने वाला बताया है। साथ ही विश्व समुदाय के आत्मीय मार्गदर्शन करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का आभार जताया है।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को सिलसिलेवार ट्वीट के माध्यम से कहा है कि -'वसुधैव कुटुम्बकम्' भारत देश की संस्कृति का परिचायक रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने जी-7 समिट-2021 की बैठक में वैश्विक समुदाय को "वन अर्थ-वन हेल्थ" का मंत्र दिया है। समग्र समाज के सहयोग से ही विश्व पटल से #COVID19 महामारी को समाप्त किया जा सकता है।उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा है कि कोविड-19 महामारी और इस प्रकार के अन्य संकटों से लड़ने के लिये 'एक पृथ्वी-एक स्वास्थ्य' का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का मंत्र मानवता को एकजुट करने के लिये प्रेरित करेगा। सीएम शिवराज ने लिखा है कि प्राणियों में सद्भावना हो, विश्व का कल्याण हो, यह भारत की अक्षुण्ण परंपरा रही है। यह तभी संभव होगा जब सम्पूर्ण विश्व एकजुट होकर 'एक पृथ्वी-एक स्वास्थ्य' भावना से  आगे बढ़े। आत्मीय मार्गदर्शन करने हेतु प्रधानमंत्री मोदी जी का हार्दिक आभार।मुख्यमंत्री ने टोसिलिजुमैब इंजेक्शन को टैक्स फ्री करने पर जताया प्रधानमंत्री का आभारवहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने टोसिलिजुमैब इंजेक्शन को टैक्स फ्री करने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताया है। उन्होंने रविवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि कोरोना महामारी के संकट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने आगे रहकर देश का नेतृत्व किया है। देश के नागरिकों के लिये निशुल्क वैक्सीन के निर्णय के साथ प्रधानमंत्री जी की अगुवाई में अब ब्लैक फंगस के इलाज में काम आने वाला एम्फोटेरेसिन बी को टैक्स फ्री कर दिया है।मुख्यमंत्री ने अगले ट्वीट में कहा है कि जीएसटी काउंसिल ने कोरोना के इलाज में काम आने वाले इंजेक्शन टोसिलिजुमैब को भी टैक्स फ्री करने का फैसला लिया है। साथ ही रेमेडिसिविर और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जैसे उपकरणों पर टैक्स दर घटा दी गयी है। जनकल्याणकारी इन निर्णयों के लिये प्रधानमंत्री जी का हृदय से आभार।

Dakhal News

Dakhal News 13 June 2021


bhopal, 718 new cases , corona surfaced , MP, 38 people died

भोपाल। मध्यप्रदेश से कोरोना को लेकर बड़ी राहत भरी खबर है। यहां रोजाना कोरोना संक्रमण के नये मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले सैकड़ा में आ गये है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 718 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 38 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 07 लाख, 84 हजार, 461 और मृतकों की संख्या 8295 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा शनिवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई।   नये मामलों में इंदौर- 223, भोपाल- 171, ग्वालियर- 13, जबलपुर- 61, उज्जैन- 13, सागर- 16, खरगौन- 09, रतलाम- 12, रीवा- 09, बैतूल- 15, विदिशा- 08, धार- 08, सतना- 06, नरसिंहपुर- 02, होशंगाबाद- 08, बड़वानी- 07, शिवपुरी- 05, कटनी- 05, शहडोल- 01, बालाघाट- 08, झाबुआ- 01, सीहोर- 07, छिंदवाड़ा- 04, राजगढ़- 09, रायसेन- 09, मुरैना- 06, नीमच- 03, मंदसौर- 01, देवास- 04, दमोह- 09, शाजापुर- 05, छतरपुर- 01, अनूपपुर- 06, सिंगरौली- 02, सिवनी- 03, सीधी- 02, टीकमगढ़- 03, दतिया-04, गुना- 08, खंडवा- 01, पन्ना- 04, उमरिया-04, हरदा- 07, मंडला- 00, अलिराजपुर- 00, डिंडौरी-05, अशोकनगर-00, श्योपुर- 05, भिंड- 00, बुरहानपुर- 00, आगरमालवा- 00, निवाड़ी- 05 मरीज मिले हैं। आज प्रदेश के 46 जिलों में कोरोना के प्रकरण पाये गए।  मंडला, अशोकनगर, अलिराजपुर, आगरमालवा, भिंड और बुरहानपुर जिले में शनिवार को कोरोना संक्रमण के एक भी पॉजिटिव मामले सामने नहीं आए है।   बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 81,812 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 718 पॉजिटिव और 81,094 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 204 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 0.8 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढकऱ 07,84, 461 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 151272, भोपाल- 121814, ग्वालियर- 52967, जबलपुर- 50150, उज्जैन- 18783, सागर- 16469, खरगौन- 13845, रतलाम- 17716, रीवा- 16359, बैतूल- 12743, विदिशा- 11857, धार- 12464, सतना- 11929, नरसिंहपुर- 11165, बड़वानी- 8320, होशंगाबाद- 10593, शिवपुरी- 12364, कटनी- 9355, बालाघाट- 9052, शहडोल- 10058, छिंदवाड़ा- 6676, झाबुआ- 7667, सिहोर- 10102, राजगढ़- 8562, रायसेन- 9157, नीमच- 7880, मुरैना- 8213, मंदसौर- 8587, देवास- 7707, शाजापुर- 6299, दमोह- 8057, छतरपुर- 7576, अनूपपुर- 9183, सिवनी- 6728, सिंगरौली- 8775, सीधी- 9200, टीकमगढ़- 6851, दतिया- 6919, खंडवा- 4033, गुना- 5115, पन्ना- 7257, उमरिया- 6268, हरदा- 5000, मंडला- 5176, अलिराजपुर- 3495, डिंडौरी- 4603, अशोकनगर- 3635, श्योपुर- 3981, भिंड- 2989, बुरहानपुर- 2558, आगरमालवा- 3273, निवाड़ी- 3664 मरीज शामिल हैं।   राज्य में आज कोरोना से 38 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर, बैतूल, शिवपुरी, सतना और राजगढ़ में दो, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और रीवा में तीन, सागर में सात, दामोह में चार, खरगौन, बड़वानी, टीकमगढ़, शाजापुर और उमरिया जिले के एक-एक मरीज शामिल है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढकऱ 8295 हो गई है।         मृतकों में सबसे अधिक इंदौर- 1353, भोपाल- 948, ग्वालियर- 596, जबलपुर- 623, उज्जैन- 171, सागर- 304, खरगौन- 224, रतलाम- 308, रीवा- 128, बैतूल- 211, विदिशा- 217, धार- 126, सतना- 119, नरसिंहपुर- 80, बड़वानी- 86, होशंगाबाद- 97, शिवपुरी- 117, कटनी- 109, बालाघाट- 64, शहडोल- 117, छिंदवाड़ा- 120, झाबुआ- 53, सिहोर- 52, राजगढ़- 122, रायसेन- 187, नीमच- 84, मुरैना- 84, मंदसौर- 84, देवास- 49, शाजापुर- 55, दमोह- 175, छतरपुर- 91, अनूपपुर- 81, सिवनी- 28, सिंगरौली- 77, सीधी- 87, टीकमगढ़- 108, दतिया- 77, खंडवा- 94, गुना- 44, पन्ना- 57, उमरिया- 59, हरदा- 92, मंडला- 17, अलिराजपुर- 47, डिंडौरी- 28, अशोकनगर- 31, श्योपुर- 63, भिंड- 29, बुरहानपुर- 38, आगरमालवा- 38, निवाड़ी- 46 व्यक्ति शामिल है।   बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 7,64,822 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 2225 मरीज शनिवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण 11344 हो गए हैं। बता दें कि मप्र में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण लगातार बढ़ते जा रहे थे। हांलाकि अब सक्रिय मामलों में भी धीरे धीरे कमी देखने को मिल रही है। 

Dakhal News

Dakhal News 5 June 2021


satna, Kamal Nath targets , central and state government, encircles Shivraj government

सतना। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ शुक्रवार को मैहर पहुंचे। यहां उन्होंने कोरोना प्रोटोकॉल के कारण मैहर मंदिर के गेट पर ही पुरोहितों की मौजूदगी में पूजा अर्चना की। इसके बाद सर्किट हाउस में पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। उन्होंने बाबा अलाउद्दीन खां मैहर कला अकादमी के सदस्य व नलतरंग वादक प्रभूदयाल द्विवेदी के निधन पर घर पहुंचकर शोक  व्यक्त किया। इसके बाद कांग्रेस पदाधिकारी रहे मनीष चतुर्वेदी के घर पहुंचकर शोक जताया। वे करीब 1 बजे जबलपुर रवाना हो गए।   सतना में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व सीएम कमलनाथ ने राज्य और केंद्र की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। कमलनाथ ने कोविड से हुई मौतों पर एक बार फिर शिवराज सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में डेढ़ लाख शव श्मशान पहुंचे हैं। इनमें से 80 प्रतिशत शवों का अंतिम संस्कार कोविड प्रोटोकॉल से किया गया है। जनता को दिखाई देने वाले सरकारी आंकड़े झूठे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार श्मशान घाटों और कब्रिस्तान के रजिस्टर जनता के सामने रखे, जनता सच्चाई का साथ दे, मैं सच्चाई दिखाता हूं तो एफआईआर करते हैं, मैं सवाल पूछता हूं तो देशद्रोही बोलते हैं, केंद्र सरकार ने खुद सुप्रीम कोर्ट में वायरस को इंडियन म्यूटेंट कोविड बताया था।   कमलनाथ ने सीएम शिवराज पर तंज कसते हुए कहा कि उन्हें मुंबई जाना चाहिए। वे एक्टिंग अच्छी कर लेते हैं। इससे मध्य प्रदेश का नाम रोशन होगा। इसके बाद उन्होंने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी जी ने भारत को बदनाम कर दिया है, इसलिए भारतीयों पर विश्व ने आने-जाने पर रोक लगा दी गई है। विदेशों में भारतीयों की ऐसी छवि बन गई है कि टैक्सी में कोई बैठने को तैयार नहीं है।इसके साथ ही पूर्व सीएम कमलनाथ ने एफिडेविट अभियान भी शुरू किया। उन्होंने कहा कि जिनके घरों में कोविड से मौतें हुई वो एफिडेविट भरकर दें, मैं एफिडेविट का ड्राफ्ट दे रहा हूं। उन्होंने कहा कि एफिडेविट मिलने पर मृतकों को 5 लाख मुआवजा दे सरकार, एफिडेविट गलत होने पर सरकार कार्रवाई को स्वतंत्र है। उन्होंने कहा कि कोई भी नागरिक मेरे अभियान से जुड़ सकता है, मैं केवल सच्चाई सामने लाना चाहता हूं। इसके अलावा कमलनाथ ने कहा कि नकली रेमडेसिविर कांड की उच्चस्तरीय जांच हो। सरकार बताए प्रदेश के कितने अस्पतालों में कैसे नकली इंजेक्शन पहुंचे? नकली इंजेक्शन से कितने मरीजों की जान गई? सतना के रामचन्द अग्रवाल को भी नकली रेमडेसिविर लगने की शिकायत मिली।    कमलनाथ ने प्रधानमंत्री मोदी से भी हिसाब मांगा। उन्होंने कहा कि 30 मई को सरकार के 7 साल होने पर देश को पीएम मोदी जवाब दें, पीएम केयर फंड भी नारा बनकर रह गया। पीएम केयर फंड से आये खराब वेन्टीलेटर्स ने कितनी जान लीं? वेन्टीलेटर्स खरीदी में कितना कमीशन लिया गया।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, state government , doing everything possible, help poor families, Shivraj

भोपाल। कोरोना के कारण उत्पन्न परिस्थितियों में गरीब परिवारों की सहायता के लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दो माह का और राज्य सरकार द्वारा तीन माह का राशन उपलब्ध कराया गया है। सभी पात्र हितग्राहियों को नि:शुल्क राशन का वितरण हो जाए, यह सुनिश्चित किया जाए कि शहर में कोई भूखा न सोए। तेंदूपत्ता तुड़ाई के दौरान भी कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक सावधानियों का पालन किया जाए। यह कहना है मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का।    उन्‍होंने शुक्रवार कहा कि निर्माण श्रमिकों और स्व-सहायता समूहों के खातों में राशि जारी की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन परिवारों में कोविड से मृत्यु हुई है उन्हें एक लाख रुपये की सहायता देने का निर्णय भी लिया गया है। वे एक बैठक में यह सभी बातें कह रहे थे।    गरीब एवं मध्यमवर्गीय परिवारों का नि:शुल्क कोविड इलाज सुनिश्चित करें मुख्यमंत्री ने कहा कि इस समय सबसे पहली प्राथमिकता है लोगों की जान बचाना। उन्होंने कहा कि कोरोना शरीर के साथ-साथ आर्थिक रूप से भी तोड़ देता है। मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के तहत सभी गरीब एवं मध्यमवर्गीय परिवारों का नि:शुल्क कोविड इलाज कराना सुनिश्चित करें।   कोविड में अनाथ हुए बच्चों की जिम्मेदारी चौहान ने कहा कि कोविड से जिन बच्चों के माता-पिता तथा अभिभावकों की मृत्यु हो गयी है उनके पालन-पोषण की जिम्मेदारी सरकार उठाएगी। इसके लिए योजना बनाई गई है। पात्र बच्चों को प्रतिमाह पांच हजार रुपये तथा शिक्षा में सरकार मदद करेगी। उन्होंने कहा कि कोविड में जिन शासकीय सेवकों की मृत्यु हुई है उनके बच्चों को अनुकम्पा नियुक्त दी जाएगी।   कलेक्टर ने प्रेजेंटेशन द्वारा दी जानकारी समीक्षा बैठक में सीहोर कलेक्टर चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले में कोविड नियंत्रण के लिए किए गए प्रयासों पर प्रेजेंटेशन दिया। कलेक्टर ने बताया कि जिले में किल-कोरोना अभियान का सफलता से संचालन किया जा रहा है। अभियान के डोर-टू-डोर सर्वे के सकारात्मक परिणाम प्राप्त हुए हैं। पॉजिटिविटी रेट में तेजी से गिरावट आई है। जिला चिकित्सालय सहित सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत किया गया है। चिकित्सालयों एवं स्वास्थ्य केंद्रों पर ऑक्सीजन बेड्स और आवश्यक दवाओं की भी लगातार मॉनिटरिंग कर पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal,1977 new cases, corona surfaced , MP, 70 dead

भोपाल। मध्यप्रदेश से कोरोना को लेकर बड़ी राहत भरी खबर है। यहां रोजाना कोरोना संक्रमण के नये मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 1977 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 70 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 07 लाख, 73 हजार, 855 और मृतकों की संख्या 7828 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा गुरुवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई।   नये मामलों में इंदौर- 577, भोपाल- 409, ग्वालियर- 51, जबलपुर- 99, उज्जैन- 41, सागर- 96, खरगौन- 25, रतलाम- 48, रीवा- 31, बैतूल- 34, विदिशा- 19, धार- 27, सतना- 12, नरसिंहपुर- 08, होशंगाबाद- 18, बड़वानी- 08, शिवपुरी- 29, कटनी- 10, शहडोल- 19, बालाघाट- 18, झाबुआ- 09, सीहोर- 26, छिंदवाड़ा- 05, राजगढ़- 25, रायसेन- 19, मुरैना- 27, नीमच- 19, मंदसौर- 19, देवास- 09, दमोह- 38, शाजापुर- 06, छतरपुर- 11, अनूपपुर- 25, सिंगरौली- 07, सिवनी- 16, सीधी- 20, टीकमगढ़- 12, दतिया-10, गुना- 09, खंडवा- 02, पन्ना- 18, उमरिया-08, हरदा- 06, मंडला- 06, अलिराजपुर- 04, डिंडौरी-05, अशोकनगर-11, श्योपुर- 08, भिंड- 05, बुरहानपुर- 02, आगरमालवा- 05, निवाड़ी- 06 मरीज मिले हैं। आज प्रदेश के सभी 52 जिलों में कोरोना के प्रकरण पाये गए।   बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 69,606 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 1977 पॉजिटिव और 67,629 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 1520 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 02.8 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 07,73, 855 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 147922, भोपाल- 119650, ग्वालियर- 52612, जबलपुर- 49407, उज्जैन- 18639, सागर- 16210, खरगौन- 13696, रतलाम- 17501, रीवा- 16213, बैतूल- 12583, विदिशा- 11756, धार- 12329, सतना- 11867, नरसिंहपुर- 11096, बड़वानी- 8261, होशंगाबाद- 10524, शिवपुरी- 12278, कटनी- 9333, बालाघाट- 8935, शहडोल- 9998, छिंदवाड़ा- 6615, झाबुआ- 7642, सिहोर- 9962, राजगढ़- 8458, रायसेन- 9048, नीमच- 7784, मुरैना- 8029, मंदसौर- 8501, देवास- 7657, शाजापुर- 6257, दमोह- 7889, छतरपुर- 7530, अनूपपुर- 9046, सिवनी- 6638, सिंगरौली- 8740, सीधी- 9089, टीकमगढ़- 6813, दतिया- 6879, खंडवा- 4020, गुना- 5031, पन्ना- 7202, उमरिया- 6209, हरदा- 4969, मंडला- 5158, अलिराजपुर- 3482, डिंडौरी- 4570, अशोकनगर- 3577, श्योपुर- 3888, भिंड- 2966, बुरहानपुर- 2545, आगरमालवा- 3258, निवाड़ी- 3593 मरीज शामिल हैं।   राज्य में आज कोरोना से 70 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर, सागर, बैतूल और विदिशा में चार, भोपाल, रीवा, दमोह, छतरपुर और कटनी में तीन, रायसेन में छह, ग्वालियर और जबलपुर में आठ, रतलाम, सतना, पन्ना, भिंड और नरसिंहपुर में दो, खरगौन, बड़वानी, उमरिया, हरदा, श्योपुर, टीकमगढ़ और शहडोल जिले के एक-एक मरीज शामिल है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढक़र 7828 हो गई है।        मृतकों में सबसे अधिक इंदौर- 1327, भोपाल- 924, ग्वालियर- 556, जबलपुर- 579, उज्जैन- 169, सागर- 253, खरगौन- 217, रतलाम- 300, रीवा- 105, बैतूल- 176, विदिशा- 178, धार- 123, सतना- 107, नरसिंहपुर- 76, बड़वानी- 83, होशंगाबाद- 97, शिवपुरी- 102, कटनी- 105, बालाघाट- 60, शहडोल- 117, छिंदवाड़ा- 120, झाबुआ- 52, सिहोर- 49, राजगढ़- 112, रायसेन- 182, नीमच- 84, मुरैना- 78, मंदसौर- 81, देवास- 46, शाजापुर- 52, दमोह- 150, छतरपुर- 87, अनूपपुर- 74, सिवनी- 28, सिंगरौली- 73, सीधी- 85, टीकमगढ़- 103, दतिया- 74, खंडवा- 94, गुना- 44, पन्ना- 55, उमरिया- 57, हरदा- 84, मंडला- 17, अलिराजपुर- 45, डिंडौरी- 28, अशोकनगर- 26, श्योपुर- 57, भिंड- 25, बुरहानपुर- 37, आगरमालवा- 32, निवाड़ी- 43 व्यक्ति शामिल है।   बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 7,27,700 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 6845 मरीज गुरुवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण 38327 हो गए हैं। बता दें कि मप्र में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण लगातार बढ़ते जा रहे थे। हांलाकि अब सक्रिय मामलों में भी धीरे धीरे कमी देखने को मिल रही है।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, Digvijay ,wrote a letter, CM Shivraj

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्र्रेस राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। उन्होंने अपने पत्र के माध्यम से संविदा स्वास्थ्य कर्मियों की मांगों को पूरा करने का आग्रह किया है।   दिग्विजय सिंह ने अपने पत्र में कहा है कि मध्यप्रदेश में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत कार्यरत 19 हजार संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी, जिनमें आयुष चिकित्सक, फार्मासिस्ट, लैब टेक्निशयन, स्टॉफ नर्स, ए.एन.एम., डाटा मेनेजर तथा अन्य समस्त पैरामेडिकल स्टॉफ शामिल है, ये सभी लोग लंबे समय से संविदा पर पदस्थ रहते हुये स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे है। इन सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों ने मार्च 2020 के बाद प्रदेश में कोरोना महामारी से निपटने के लिये अपना अमूल्य योगदान दिया है। अनेक कर्मचारियों के ड्यूटी के दौरान संक्रमित होने के कारण उन्होने अपना तथा अपने परिवार के अनेक लोगों का जीवन खो दिया है। ये संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी कोरोना योद्धा है जो जोखिम उठाकर न्यूनतम वेतन पर कार्य करके महामारी में लोगों का जीवन बचाने में योगदान दे रहे हैं।   पूर्व सीएम ने कहा कि मध्यप्रदेश में कार्यरत संविदा कर्मचारियों को नियमित कर्मचारियों के वेतन का 90 प्रतिशत वेतन देने के संबन्ध आपकी सरकार ने नीति बनाई थी जिसे राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में कार्यरत कर्मचारियों के लिये अभी तक लागू नही किया गया है। विषमतम परिस्थितियों में न्यूनतम वेतन पर कार्य करने वाले इन स्वास्थ्य कर्मचारियों की उपेक्षा की जा रही है तथा इनकी मांगों पर ध्यान नही दिया जा रहा है। प्रदेश के 19 हजार संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी सरकार के रवैये से अत्यंत क्षुब्ध और दु:खी होकर विगत 24 मई 2021 से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर है, जिसके कारण पहले से ही कुप्रबंधन से गुजर रही मध्यप्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प हो गई है। उन्होंने कहा कि इन कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से शहरों के साथ-साथ कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की टेस्टिंग नही हो पा रही है और न ही उन्हें समुचित चिकित्सकीय परामर्श मिल पा रहा है। ऐसे हालात में इन कर्मचारियों के प्रति असंवेदनशीलता और दुराग्रह छोडक़र उनकी मांगों का निराकरण किया जाना चाहिए।   दिग्विजय सिंह ने सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि मेरा आपसे अनुरोध है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत कार्यरत 19 हजार संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की समस्याओं और मॉंगों पर गंभीरता से विचार कर उनके निराकरण हेतु आवश्यक निर्देश प्रदान करने का कष्ट करें।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal,Shivraj gave ,disaster assistance ,Rs 112 crore 81 lakh, thousand workers

भोपाल। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आगामी एक जून से प्रदेश में धीरे-धीरे कोरोना कर्फ्यू समाप्त किया जाएगा। ऐसे में आपको पूरी सावधानी रखनी हैं। मास्क लगाना है, एक दूसरे से दूरी रखनी है, कहीं भीड़ नहीं करनी है, बार-बार हाथ धोने हैं। सबको वैक्सीन लगवाना है। इन सब सावधानियों का पालन करते हुए हम कोरोना से लड़ते भी रहेंगे और काम-धंधा भी करते रहेंगे।    मुख्यमंत्री चौहान मंगलवार को मंत्रालय से वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के निर्माण श्रमिकों से बातचीत कर रहे थे।  चौहान ने इसके पूर्व प्रदेश के 11 लाख 28 हजार निर्माण श्रमिकों के खाते में कोविड-19 सहायता योजना के अंतर्गत 112 करोड़ 81 लाख रूपये की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से अंतरित की। इस अवसर पर श्रम एवं खनिज संसाधन मंत्री ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह और संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।   पाँच माह का नि:शुल्क राशन चौहान ने कहा कि शासन द्वारा सभी गरीबों, जिनमें निर्माण श्रमिक भी शामिल हैं, को पाँच माह का प्रति सदस्‍य पाँच-पाँच किलो प्रतिमाह नि:शुल्क राशन दिया जा रहा है, जिसमें तीन माह का राशन राज्य सरकार और दो माह का राशन केन्द्र सरकार दे रही है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि यह राशन प्रत्येक गरीब को मिल जाए, यह सुनिश्चित करें।    आपका भाई आपके साथ खड़ा है  मुख्यमंत्री का कहना था कि सरकार कोविड उपचार योजना में कोरोना का नि:शुल्क इलाज कर रही है। आयुष्मान कार्डधारी व्यक्ति एवं उसके परिवार को वर्ष में पाँच लाख रूपये तक सम्बद्ध निज़ी अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज की सुविधा दी गई है। इसके अलावा सभी शासकीय अस्पतालों एवं अनुबंधित अस्पतालों में भी कोरोना का नि:शुल्क इलाज हो रहा है। प्रदेश में कोरोना से माँ-बाप की मृत्यु पर बच्चों को पाँच हजार रूपये मासिक पेंशन देने की योजना भी चालू की गयी है। सरकार संकट के समय पूरी तरह आपके साथ है। आपका भाई आपके साथ खड़ा है।    गुस्सा तो नहीं हो अपने भाई से  मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से टीकमगढ़ जिले के निर्माण श्रमिक परीक्षित अहिरवार, इंदौर की शशि वर्मा, मंडला की गिरिजा वनवासी, भिंड के प्रसाद राठौर तथा सीहोर की लता मालवीय से बातचीत भी की। उन्‍होंने पूछा कि कोरोना के दौरान पाबंदियाँ लगाने पर वे अपने भाई से गुस्सा तो नहीं हैं। यदि कोरोना कर्फ्यू नहीं लगाया जाता तो प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित नहीं होता। यह जरूरी था। अब कोरोना नियंत्रित हो गया है, अत: हम धीरे-धीरे पाबंदियाँ खत्म करेंगे। स्थानीय क्राइसिस मैनेजमेंट समूह निर्णय करेंगे कि क्या खुले और कब-कब खुले। सभी ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू तो ज़रूरी था। यह नहीं होता तो कोरोना नहीं जाता।    आप अपनी सुरक्षा स्वयं करें  मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना से आपको अपने गाँव-शहर की खुद सुरक्षा करनी पड़ेगी। सारी सावधानियों का पालन करें।  साथ ही वैक्सीन जरूर लगवाएँ। यह कोरोना से बचने का सुरक्षा चक्र है। 

Dakhal News

Dakhal News 25 May 2021


bhopal, Plant saplings, Madhya Pradesh, upload photos,get awards , Chief Minister

भोपाल। जन-जन के सहयोग से प्रदेश के हरित क्षेत्र में वृद्धि कर  पर्यावरण को स्वच्छ और प्रकृति को प्राणवायु से समृद्ध करने के उद्देश्य से अंकुर कार्यक्रम आरंभ किया गया है। कार्यक्रम के अंतर्गत वृक्षारोपण के लिए जनसामान्य को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से पौधा लगाने वाले चयनित विजेताओं को प्राणवायु अवार्ड से सम्मानित किया जायेगा। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार कही है।    कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गूगल प्ले स्टोर्स से वायु दूत एप  डाउनलोड कर पंजीयन करना होगा। कार्यक्रम में भाग लेने वाले व्यक्ति को स्वयं के संसाधन से कम से कम एक पौधा लगाकर, पौधे की फोटो एप के माध्यम से लेकर अपलोड करना होगी। पौधा लगाने के तीस दिन बाद फिर से पौधे की नई फोटो एप पर अपलोड कर सहभागिता प्रमाण पत्र डाउन लोड किया जा सकेगा। जिलेवार चयनित विजेताओं को प्राणवायु अवार्ड से सम्मानित किया जायेगा। जिसके अंतर्गत मुख्यमंत्री द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किया जायेगा।    सभी जिलों में होंगे नोडल अधिकारी और वेरिफायर अंकुर कार्यक्रम के क्रियान्वयन के लिए राज्य शासन द्वारा पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन (एपको) नोडल एजेंसी बनाया गया है। जिला कलेक्टर इस कार्य के लिए जिले के वरिष्ठ अधिकारी को जिला नोडल अधिकारी नियुक्त करेंगे। जिला नोडल अधिकारी द्वारा आवश्यकतानुसार स्थानीय वेरिफायर का नामांकन कर वायुदूत एप में उनकी प्रवृष्टि की जायेगी।    कम्प्यूटराइज लाटरी द्वारा होगा विजेताओं का चयन जिले में जन अभियान परिषद के स्वयंसेवक,महाविद्यालयों के ईको क्लब प्रभारी तथा राष्ट्रीय हरित कोर योजना के मास्टर ट्रेनर में से वेरिफायर नामांकित किये जायेंगे। जिला स्तर पर कुल प्राप्त प्रविृष्टियों का 10 प्रतिशत अथवा 200 जो भी कम हो का रेंडम आधार पर जिला स्तर पर वेरिफायर्स से सत्यापन कराया जायेगा। जिला स्तर पर कुल प्राप्त हुई प्रविृष्टियों में से कम्प्यूटराइज लाटरी द्वारा विजेताओं का चयन किया जायेगा। विजेताओं की सूची वायुदूत एप में अपलोड की जायेगी।  

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Madhya Pradesh government, declares black fungus, disease as state epidemic

भोपाल। देशभर में कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के बाद इसे महामारी घोषित किया गया। वहीं इस साल आई संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान ब्लैक फंगस के मरीज भी तेजी से बढऩे लगे। जिसे देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने इस बीमारी को भी राजकीय महामारी घोषित कर दिया। दो दिन पहले ही केंद्र सरकार ने राज्यों से इस बीमारी को महामारी घोषित करने के लिए कहा था। इससे पहले तमिलनाडु, ओडिशा, असम, पंजाब ने म्यूकरमाइकोसिस यानी ब्लैक फंगस को महामारी रोग अधिनियम के तहत अधिसूचित किया है।   प्रदेश के 8 मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस के मरीजों के लिए आरक्षित 420 बेड पर 361 मरीज भर्ती हैं। खास बात है, राजधानी के हमीदिया अस्पताल में ब्लैक फंगस के लिए 80 बेड आरक्षित हैं, लेकिन यहां 90 मरीज भर्ती हैं। क्राइसिस मैनेजमेंट व जिला कलेक्टरों के साथ हुई बैठक के बाद सीएम शिवराज ने एक महत्त्वपूर्ण निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ब्लैक फंगल इन्फेक्शन को महामारी घोषित किया जाता है। इस बीमारी से जूझ रहे मरीजों के इलाज के लिए अच्छी से अच्छी से व्यवस्था की जाए। जिन मरीजों का ऑपरेशन हुआ है, सुनिश्चित किया जाए कि उन्हें एम्फोटेरिसिन बी समय पर मिल जाए।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, 718 new cases , corona surfaced , MP, 38 people died

भोपाल। मध्यप्रदेश से कोरोना को लेकर बड़ी राहत भरी खबर है। यहां रोजाना कोरोना संक्रमण के नये मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले सैकड़ा में आ गये है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 718 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 38 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 07 लाख, 84 हजार, 461 और मृतकों की संख्या 8295 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा शनिवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई।   नये मामलों में इंदौर- 223, भोपाल- 171, ग्वालियर- 13, जबलपुर- 61, उज्जैन- 13, सागर- 16, खरगौन- 09, रतलाम- 12, रीवा- 09, बैतूल- 15, विदिशा- 08, धार- 08, सतना- 06, नरसिंहपुर- 02, होशंगाबाद- 08, बड़वानी- 07, शिवपुरी- 05, कटनी- 05, शहडोल- 01, बालाघाट- 08, झाबुआ- 01, सीहोर- 07, छिंदवाड़ा- 04, राजगढ़- 09, रायसेन- 09, मुरैना- 06, नीमच- 03, मंदसौर- 01, देवास- 04, दमोह- 09, शाजापुर- 05, छतरपुर- 01, अनूपपुर- 06, सिंगरौली- 02, सिवनी- 03, सीधी- 02, टीकमगढ़- 03, दतिया-04, गुना- 08, खंडवा- 01, पन्ना- 04, उमरिया-04, हरदा- 07, मंडला- 00, अलिराजपुर- 00, डिंडौरी-05, अशोकनगर-00, श्योपुर- 05, भिंड- 00, बुरहानपुर- 00, आगरमालवा- 00, निवाड़ी- 05 मरीज मिले हैं। आज प्रदेश के 46 जिलों में कोरोना के प्रकरण पाये गए।  मंडला, अशोकनगर, अलिराजपुर, आगरमालवा, भिंड और बुरहानपुर जिले में शनिवार को कोरोना संक्रमण के एक भी पॉजिटिव मामले सामने नहीं आए है।   बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 81,812 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 718 पॉजिटिव और 81,094 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 204 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 0.8 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढकऱ 07,84, 461 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 151272, भोपाल- 121814, ग्वालियर- 52967, जबलपुर- 50150, उज्जैन- 18783, सागर- 16469, खरगौन- 13845, रतलाम- 17716, रीवा- 16359, बैतूल- 12743, विदिशा- 11857, धार- 12464, सतना- 11929, नरसिंहपुर- 11165, बड़वानी- 8320, होशंगाबाद- 10593, शिवपुरी- 12364, कटनी- 9355, बालाघाट- 9052, शहडोल- 10058, छिंदवाड़ा- 6676, झाबुआ- 7667, सिहोर- 10102, राजगढ़- 8562, रायसेन- 9157, नीमच- 7880, मुरैना- 8213, मंदसौर- 8587, देवास- 7707, शाजापुर- 6299, दमोह- 8057, छतरपुर- 7576, अनूपपुर- 9183, सिवनी- 6728, सिंगरौली- 8775, सीधी- 9200, टीकमगढ़- 6851, दतिया- 6919, खंडवा- 4033, गुना- 5115, पन्ना- 7257, उमरिया- 6268, हरदा- 5000, मंडला- 5176, अलिराजपुर- 3495, डिंडौरी- 4603, अशोकनगर- 3635, श्योपुर- 3981, भिंड- 2989, बुरहानपुर- 2558, आगरमालवा- 3273, निवाड़ी- 3664 मरीज शामिल हैं।   राज्य में आज कोरोना से 38 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर, बैतूल, शिवपुरी, सतना और राजगढ़ में दो, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और रीवा में तीन, सागर में सात, दामोह में चार, खरगौन, बड़वानी, टीकमगढ़, शाजापुर और उमरिया जिले के एक-एक मरीज शामिल है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढकऱ 8295 हो गई है।         मृतकों में सबसे अधिक इंदौर- 1353, भोपाल- 948, ग्वालियर- 596, जबलपुर- 623, उज्जैन- 171, सागर- 304, खरगौन- 224, रतलाम- 308, रीवा- 128, बैतूल- 211, विदिशा- 217, धार- 126, सतना- 119, नरसिंहपुर- 80, बड़वानी- 86, होशंगाबाद- 97, शिवपुरी- 117, कटनी- 109, बालाघाट- 64, शहडोल- 117, छिंदवाड़ा- 120, झाबुआ- 53, सिहोर- 52, राजगढ़- 122, रायसेन- 187, नीमच- 84, मुरैना- 84, मंदसौर- 84, देवास- 49, शाजापुर- 55, दमोह- 175, छतरपुर- 91, अनूपपुर- 81, सिवनी- 28, सिंगरौली- 77, सीधी- 87, टीकमगढ़- 108, दतिया- 77, खंडवा- 94, गुना- 44, पन्ना- 57, उमरिया- 59, हरदा- 92, मंडला- 17, अलिराजपुर- 47, डिंडौरी- 28, अशोकनगर- 31, श्योपुर- 63, भिंड- 29, बुरहानपुर- 38, आगरमालवा- 38, निवाड़ी- 46 व्यक्ति शामिल है।   बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 7,64,822 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 2225 मरीज शनिवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण 11344 हो गए हैं। बता दें कि मप्र में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण लगातार बढ़ते जा रहे थे। हांलाकि अब सक्रिय मामलों में भी धीरे धीरे कमी देखने को मिल रही है। 

Dakhal News

Dakhal News 5 June 2021


satna, Kamal Nath targets , central and state government, encircles Shivraj government

सतना। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ शुक्रवार को मैहर पहुंचे। यहां उन्होंने कोरोना प्रोटोकॉल के कारण मैहर मंदिर के गेट पर ही पुरोहितों की मौजूदगी में पूजा अर्चना की। इसके बाद सर्किट हाउस में पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। उन्होंने बाबा अलाउद्दीन खां मैहर कला अकादमी के सदस्य व नलतरंग वादक प्रभूदयाल द्विवेदी के निधन पर घर पहुंचकर शोक  व्यक्त किया। इसके बाद कांग्रेस पदाधिकारी रहे मनीष चतुर्वेदी के घर पहुंचकर शोक जताया। वे करीब 1 बजे जबलपुर रवाना हो गए।   सतना में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व सीएम कमलनाथ ने राज्य और केंद्र की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। कमलनाथ ने कोविड से हुई मौतों पर एक बार फिर शिवराज सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में डेढ़ लाख शव श्मशान पहुंचे हैं। इनमें से 80 प्रतिशत शवों का अंतिम संस्कार कोविड प्रोटोकॉल से किया गया है। जनता को दिखाई देने वाले सरकारी आंकड़े झूठे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार श्मशान घाटों और कब्रिस्तान के रजिस्टर जनता के सामने रखे, जनता सच्चाई का साथ दे, मैं सच्चाई दिखाता हूं तो एफआईआर करते हैं, मैं सवाल पूछता हूं तो देशद्रोही बोलते हैं, केंद्र सरकार ने खुद सुप्रीम कोर्ट में वायरस को इंडियन म्यूटेंट कोविड बताया था।   कमलनाथ ने सीएम शिवराज पर तंज कसते हुए कहा कि उन्हें मुंबई जाना चाहिए। वे एक्टिंग अच्छी कर लेते हैं। इससे मध्य प्रदेश का नाम रोशन होगा। इसके बाद उन्होंने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी जी ने भारत को बदनाम कर दिया है, इसलिए भारतीयों पर विश्व ने आने-जाने पर रोक लगा दी गई है। विदेशों में भारतीयों की ऐसी छवि बन गई है कि टैक्सी में कोई बैठने को तैयार नहीं है।इसके साथ ही पूर्व सीएम कमलनाथ ने एफिडेविट अभियान भी शुरू किया। उन्होंने कहा कि जिनके घरों में कोविड से मौतें हुई वो एफिडेविट भरकर दें, मैं एफिडेविट का ड्राफ्ट दे रहा हूं। उन्होंने कहा कि एफिडेविट मिलने पर मृतकों को 5 लाख मुआवजा दे सरकार, एफिडेविट गलत होने पर सरकार कार्रवाई को स्वतंत्र है। उन्होंने कहा कि कोई भी नागरिक मेरे अभियान से जुड़ सकता है, मैं केवल सच्चाई सामने लाना चाहता हूं। इसके अलावा कमलनाथ ने कहा कि नकली रेमडेसिविर कांड की उच्चस्तरीय जांच हो। सरकार बताए प्रदेश के कितने अस्पतालों में कैसे नकली इंजेक्शन पहुंचे? नकली इंजेक्शन से कितने मरीजों की जान गई? सतना के रामचन्द अग्रवाल को भी नकली रेमडेसिविर लगने की शिकायत मिली।    कमलनाथ ने प्रधानमंत्री मोदी से भी हिसाब मांगा। उन्होंने कहा कि 30 मई को सरकार के 7 साल होने पर देश को पीएम मोदी जवाब दें, पीएम केयर फंड भी नारा बनकर रह गया। पीएम केयर फंड से आये खराब वेन्टीलेटर्स ने कितनी जान लीं? वेन्टीलेटर्स खरीदी में कितना कमीशन लिया गया।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal, state government , doing everything possible, help poor families, Shivraj

भोपाल। कोरोना के कारण उत्पन्न परिस्थितियों में गरीब परिवारों की सहायता के लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दो माह का और राज्य सरकार द्वारा तीन माह का राशन उपलब्ध कराया गया है। सभी पात्र हितग्राहियों को नि:शुल्क राशन का वितरण हो जाए, यह सुनिश्चित किया जाए कि शहर में कोई भूखा न सोए। तेंदूपत्ता तुड़ाई के दौरान भी कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक सावधानियों का पालन किया जाए। यह कहना है मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का।    उन्‍होंने शुक्रवार कहा कि निर्माण श्रमिकों और स्व-सहायता समूहों के खातों में राशि जारी की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन परिवारों में कोविड से मृत्यु हुई है उन्हें एक लाख रुपये की सहायता देने का निर्णय भी लिया गया है। वे एक बैठक में यह सभी बातें कह रहे थे।    गरीब एवं मध्यमवर्गीय परिवारों का नि:शुल्क कोविड इलाज सुनिश्चित करें मुख्यमंत्री ने कहा कि इस समय सबसे पहली प्राथमिकता है लोगों की जान बचाना। उन्होंने कहा कि कोरोना शरीर के साथ-साथ आर्थिक रूप से भी तोड़ देता है। मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के तहत सभी गरीब एवं मध्यमवर्गीय परिवारों का नि:शुल्क कोविड इलाज कराना सुनिश्चित करें।   कोविड में अनाथ हुए बच्चों की जिम्मेदारी चौहान ने कहा कि कोविड से जिन बच्चों के माता-पिता तथा अभिभावकों की मृत्यु हो गयी है उनके पालन-पोषण की जिम्मेदारी सरकार उठाएगी। इसके लिए योजना बनाई गई है। पात्र बच्चों को प्रतिमाह पांच हजार रुपये तथा शिक्षा में सरकार मदद करेगी। उन्होंने कहा कि कोविड में जिन शासकीय सेवकों की मृत्यु हुई है उनके बच्चों को अनुकम्पा नियुक्त दी जाएगी।   कलेक्टर ने प्रेजेंटेशन द्वारा दी जानकारी समीक्षा बैठक में सीहोर कलेक्टर चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले में कोविड नियंत्रण के लिए किए गए प्रयासों पर प्रेजेंटेशन दिया। कलेक्टर ने बताया कि जिले में किल-कोरोना अभियान का सफलता से संचालन किया जा रहा है। अभियान के डोर-टू-डोर सर्वे के सकारात्मक परिणाम प्राप्त हुए हैं। पॉजिटिविटी रेट में तेजी से गिरावट आई है। जिला चिकित्सालय सहित सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत किया गया है। चिकित्सालयों एवं स्वास्थ्य केंद्रों पर ऑक्सीजन बेड्स और आवश्यक दवाओं की भी लगातार मॉनिटरिंग कर पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

Dakhal News

Dakhal News 28 May 2021


bhopal,1977 new cases, corona surfaced , MP, 70 dead

भोपाल। मध्यप्रदेश से कोरोना को लेकर बड़ी राहत भरी खबर है। यहां रोजाना कोरोना संक्रमण के नये मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में कोरोना के 1977 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 70 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 07 लाख, 73 हजार, 855 और मृतकों की संख्या 7828 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा गुरुवार देर शाम जारी कोरोना से संबंधित हेल्थ बुलेटिन में दी गई।   नये मामलों में इंदौर- 577, भोपाल- 409, ग्वालियर- 51, जबलपुर- 99, उज्जैन- 41, सागर- 96, खरगौन- 25, रतलाम- 48, रीवा- 31, बैतूल- 34, विदिशा- 19, धार- 27, सतना- 12, नरसिंहपुर- 08, होशंगाबाद- 18, बड़वानी- 08, शिवपुरी- 29, कटनी- 10, शहडोल- 19, बालाघाट- 18, झाबुआ- 09, सीहोर- 26, छिंदवाड़ा- 05, राजगढ़- 25, रायसेन- 19, मुरैना- 27, नीमच- 19, मंदसौर- 19, देवास- 09, दमोह- 38, शाजापुर- 06, छतरपुर- 11, अनूपपुर- 25, सिंगरौली- 07, सिवनी- 16, सीधी- 20, टीकमगढ़- 12, दतिया-10, गुना- 09, खंडवा- 02, पन्ना- 18, उमरिया-08, हरदा- 06, मंडला- 06, अलिराजपुर- 04, डिंडौरी-05, अशोकनगर-11, श्योपुर- 08, भिंड- 05, बुरहानपुर- 02, आगरमालवा- 05, निवाड़ी- 06 मरीज मिले हैं। आज प्रदेश के सभी 52 जिलों में कोरोना के प्रकरण पाये गए।   बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 69,606 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 1977 पॉजिटिव और 67,629 रिपोर्ट निगेटिव आईं, जबकि 1520 सेम्पल रिजेक्ट हुए। पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 02.8 रहा। इसके बाद राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 07,73, 855 हो गई है। इनमें सबसे अधिक इंदौर में 147922, भोपाल- 119650, ग्वालियर- 52612, जबलपुर- 49407, उज्जैन- 18639, सागर- 16210, खरगौन- 13696, रतलाम- 17501, रीवा- 16213, बैतूल- 12583, विदिशा- 11756, धार- 12329, सतना- 11867, नरसिंहपुर- 11096, बड़वानी- 8261, होशंगाबाद- 10524, शिवपुरी- 12278, कटनी- 9333, बालाघाट- 8935, शहडोल- 9998, छिंदवाड़ा- 6615, झाबुआ- 7642, सिहोर- 9962, राजगढ़- 8458, रायसेन- 9048, नीमच- 7784, मुरैना- 8029, मंदसौर- 8501, देवास- 7657, शाजापुर- 6257, दमोह- 7889, छतरपुर- 7530, अनूपपुर- 9046, सिवनी- 6638, सिंगरौली- 8740, सीधी- 9089, टीकमगढ़- 6813, दतिया- 6879, खंडवा- 4020, गुना- 5031, पन्ना- 7202, उमरिया- 6209, हरदा- 4969, मंडला- 5158, अलिराजपुर- 3482, डिंडौरी- 4570, अशोकनगर- 3577, श्योपुर- 3888, भिंड- 2966, बुरहानपुर- 2545, आगरमालवा- 3258, निवाड़ी- 3593 मरीज शामिल हैं।   राज्य में आज कोरोना से 70 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में इंदौर, सागर, बैतूल और विदिशा में चार, भोपाल, रीवा, दमोह, छतरपुर और कटनी में तीन, रायसेन में छह, ग्वालियर और जबलपुर में आठ, रतलाम, सतना, पन्ना, भिंड और नरसिंहपुर में दो, खरगौन, बड़वानी, उमरिया, हरदा, श्योपुर, टीकमगढ़ और शहडोल जिले के एक-एक मरीज शामिल है। इसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढक़र 7828 हो गई है।        मृतकों में सबसे अधिक इंदौर- 1327, भोपाल- 924, ग्वालियर- 556, जबलपुर- 579, उज्जैन- 169, सागर- 253, खरगौन- 217, रतलाम- 300, रीवा- 105, बैतूल- 176, विदिशा- 178, धार- 123, सतना- 107, नरसिंहपुर- 76, बड़वानी- 83, होशंगाबाद- 97, शिवपुरी- 102, कटनी- 105, बालाघाट- 60, शहडोल- 117, छिंदवाड़ा- 120, झाबुआ- 52, सिहोर- 49, राजगढ़- 112, रायसेन- 182, नीमच- 84, मुरैना- 78, मंदसौर- 81, देवास- 46, शाजापुर- 52, दमोह- 150, छतरपुर- 87, अनूपपुर- 74, सिवनी- 28, सिंगरौली- 73, सीधी- 85, टीकमगढ़- 103, दतिया- 74, खंडवा- 94, गुना- 44, पन्ना- 55, उमरिया- 57, हरदा- 84, मंडला- 17, अलिराजपुर- 45, डिंडौरी- 28, अशोकनगर- 26, श्योपुर- 57, भिंड- 25, बुरहानपुर- 37, आगरमालवा- 32, निवाड़ी- 43 व्यक्ति शामिल है।   बुलेटिन के अनुसार, राज्य में अब तक 7,27,700 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें 6845 मरीज गुरुवार को स्वस्थ हुए। अब यहां कोरोना के सक्रिय प्रकरण 38327 हो गए हैं। बता दें कि मप्र में फरवरी के दूसरे सप्ताह में सक्रिय प्रकरण एक हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन स्वस्थ होने वाले मरीजों की तुलना में नये मामले अधिक संख्या में आने के कारण यहां सक्रिय प्रकरण लगातार बढ़ते जा रहे थे। हांलाकि अब सक्रिय मामलों में भी धीरे धीरे कमी देखने को मिल रही है।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal, Digvijay ,wrote a letter, CM Shivraj

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्र्रेस राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। उन्होंने अपने पत्र के माध्यम से संविदा स्वास्थ्य कर्मियों की मांगों को पूरा करने का आग्रह किया है।   दिग्विजय सिंह ने अपने पत्र में कहा है कि मध्यप्रदेश में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत कार्यरत 19 हजार संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी, जिनमें आयुष चिकित्सक, फार्मासिस्ट, लैब टेक्निशयन, स्टॉफ नर्स, ए.एन.एम., डाटा मेनेजर तथा अन्य समस्त पैरामेडिकल स्टॉफ शामिल है, ये सभी लोग लंबे समय से संविदा पर पदस्थ रहते हुये स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे है। इन सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों ने मार्च 2020 के बाद प्रदेश में कोरोना महामारी से निपटने के लिये अपना अमूल्य योगदान दिया है। अनेक कर्मचारियों के ड्यूटी के दौरान संक्रमित होने के कारण उन्होने अपना तथा अपने परिवार के अनेक लोगों का जीवन खो दिया है। ये संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी कोरोना योद्धा है जो जोखिम उठाकर न्यूनतम वेतन पर कार्य करके महामारी में लोगों का जीवन बचाने में योगदान दे रहे हैं।   पूर्व सीएम ने कहा कि मध्यप्रदेश में कार्यरत संविदा कर्मचारियों को नियमित कर्मचारियों के वेतन का 90 प्रतिशत वेतन देने के संबन्ध आपकी सरकार ने नीति बनाई थी जिसे राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में कार्यरत कर्मचारियों के लिये अभी तक लागू नही किया गया है। विषमतम परिस्थितियों में न्यूनतम वेतन पर कार्य करने वाले इन स्वास्थ्य कर्मचारियों की उपेक्षा की जा रही है तथा इनकी मांगों पर ध्यान नही दिया जा रहा है। प्रदेश के 19 हजार संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी सरकार के रवैये से अत्यंत क्षुब्ध और दु:खी होकर विगत 24 मई 2021 से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर है, जिसके कारण पहले से ही कुप्रबंधन से गुजर रही मध्यप्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प हो गई है। उन्होंने कहा कि इन कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से शहरों के साथ-साथ कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की टेस्टिंग नही हो पा रही है और न ही उन्हें समुचित चिकित्सकीय परामर्श मिल पा रहा है। ऐसे हालात में इन कर्मचारियों के प्रति असंवेदनशीलता और दुराग्रह छोडक़र उनकी मांगों का निराकरण किया जाना चाहिए।   दिग्विजय सिंह ने सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि मेरा आपसे अनुरोध है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत कार्यरत 19 हजार संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की समस्याओं और मॉंगों पर गंभीरता से विचार कर उनके निराकरण हेतु आवश्यक निर्देश प्रदान करने का कष्ट करें।

Dakhal News

Dakhal News 27 May 2021


bhopal,Shivraj gave ,disaster assistance ,Rs 112 crore 81 lakh, thousand workers

भोपाल। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आगामी एक जून से प्रदेश में धीरे-धीरे कोरोना कर्फ्यू समाप्त किया जाएगा। ऐसे में आपको पूरी सावधानी रखनी हैं। मास्क लगाना है, एक दूसरे से दूरी रखनी है, कहीं भीड़ नहीं करनी है, बार-बार हाथ धोने हैं। सबको वैक्सीन लगवाना है। इन सब सावधानियों का पालन करते हुए हम कोरोना से लड़ते भी रहेंगे और काम-धंधा भी करते रहेंगे।    मुख्यमंत्री चौहान मंगलवार को मंत्रालय से वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के निर्माण श्रमिकों से बातचीत कर रहे थे।  चौहान ने इसके पूर्व प्रदेश के 11 लाख 28 हजार निर्माण श्रमिकों के खाते में कोविड-19 सहायता योजना के अंतर्गत 112 करोड़ 81 लाख रूपये की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से अंतरित की। इस अवसर पर श्रम एवं खनिज संसाधन मंत्री ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह और संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।   पाँच माह का नि:शुल्क राशन चौहान ने कहा कि शासन द्वारा सभी गरीबों, जिनमें निर्माण श्रमिक भी शामिल हैं, को पाँच माह का प्रति सदस्‍य पाँच-पाँच किलो प्रतिमाह नि:शुल्क राशन दिया जा रहा है, जिसमें तीन माह का राशन राज्य सरकार और दो माह का राशन केन्द्र सरकार दे रही है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि यह राशन प्रत्येक गरीब को मिल जाए, यह सुनिश्चित करें।    आपका भाई आपके साथ खड़ा है  मुख्यमंत्री का कहना था कि सरकार कोविड उपचार योजना में कोरोना का नि:शुल्क इलाज कर रही है। आयुष्मान कार्डधारी व्यक्ति एवं उसके परिवार को वर्ष में पाँच लाख रूपये तक सम्बद्ध निज़ी अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज की सुविधा दी गई है। इसके अलावा सभी शासकीय अस्पतालों एवं अनुबंधित अस्पतालों में भी कोरोना का नि:शुल्क इलाज हो रहा है। प्रदेश में कोरोना से माँ-बाप की मृत्यु पर बच्चों को पाँच हजार रूपये मासिक पेंशन देने की योजना भी चालू की गयी है। सरकार संकट के समय पूरी तरह आपके साथ है। आपका भाई आपके साथ खड़ा है।    गुस्सा तो नहीं हो अपने भाई से  मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से टीकमगढ़ जिले के निर्माण श्रमिक परीक्षित अहिरवार, इंदौर की शशि वर्मा, मंडला की गिरिजा वनवासी, भिंड के प्रसाद राठौर तथा सीहोर की लता मालवीय से बातचीत भी की। उन्‍होंने पूछा कि कोरोना के दौरान पाबंदियाँ लगाने पर वे अपने भाई से गुस्सा तो नहीं हैं। यदि कोरोना कर्फ्यू नहीं लगाया जाता तो प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित नहीं होता। यह जरूरी था। अब कोरोना नियंत्रित हो गया है, अत: हम धीरे-धीरे पाबंदियाँ खत्म करेंगे। स्थानीय क्राइसिस मैनेजमेंट समूह निर्णय करेंगे कि क्या खुले और कब-कब खुले। सभी ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू तो ज़रूरी था। यह नहीं होता तो कोरोना नहीं जाता।    आप अपनी सुरक्षा स्वयं करें  मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना से आपको अपने गाँव-शहर की खुद सुरक्षा करनी पड़ेगी। सारी सावधानियों का पालन करें।  साथ ही वैक्सीन जरूर लगवाएँ। यह कोरोना से बचने का सुरक्षा चक्र है। 

Dakhal News

Dakhal News 25 May 2021


bhopal, Plant saplings, Madhya Pradesh, upload photos,get awards , Chief Minister

भोपाल। जन-जन के सहयोग से प्रदेश के हरित क्षेत्र में वृद्धि कर  पर्यावरण को स्वच्छ और प्रकृति को प्राणवायु से समृद्ध करने के उद्देश्य से अंकुर कार्यक्रम आरंभ किया गया है। कार्यक्रम के अंतर्गत वृक्षारोपण के लिए जनसामान्य को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से पौधा लगाने वाले चयनित विजेताओं को प्राणवायु अवार्ड से सम्मानित किया जायेगा। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार कही है।    कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गूगल प्ले स्टोर्स से वायु दूत एप  डाउनलोड कर पंजीयन करना होगा। कार्यक्रम में भाग लेने वाले व्यक्ति को स्वयं के संसाधन से कम से कम एक पौधा लगाकर, पौधे की फोटो एप के माध्यम से लेकर अपलोड करना होगी। पौधा लगाने के तीस दिन बाद फिर से पौधे की नई फोटो एप पर अपलोड कर सहभागिता प्रमाण पत्र डाउन लोड किया जा सकेगा। जिलेवार चयनित विजेताओं को प्राणवायु अवार्ड से सम्मानित किया जायेगा। जिसके अंतर्गत मुख्यमंत्री द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किया जायेगा।    सभी जिलों में होंगे नोडल अधिकारी और वेरिफायर अंकुर कार्यक्रम के क्रियान्वयन के लिए राज्य शासन द्वारा पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन (एपको) नोडल एजेंसी बनाया गया है। जिला कलेक्टर इस कार्य के लिए जिले के वरिष्ठ अधिकारी को जिला नोडल अधिकारी नियुक्त करेंगे। जिला नोडल अधिकारी द्वारा आवश्यकतानुसार स्थानीय वेरिफायर का नामांकन कर वायुदूत एप में उनकी प्रवृष्टि की जायेगी।    कम्प्यूटराइज लाटरी द्वारा होगा विजेताओं का चयन जिले में जन अभियान परिषद के स्वयंसेवक,महाविद्यालयों के ईको क्लब प्रभारी तथा राष्ट्रीय हरित कोर योजना के मास्टर ट्रेनर में से वेरिफायर नामांकित किये जायेंगे। जिला स्तर पर कुल प्राप्त प्रविृष्टियों का 10 प्रतिशत अथवा 200 जो भी कम हो का रेंडम आधार पर जिला स्तर पर वेरिफायर्स से सत्यापन कराया जायेगा। जिला स्तर पर कुल प्राप्त हुई प्रविृष्टियों में से कम्प्यूटराइज लाटरी द्वारा विजेताओं का चयन किया जायेगा। विजेताओं की सूची वायुदूत एप में अपलोड की जायेगी।  

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal,Madhya Pradesh government, declares black fungus, disease as state epidemic

भोपाल। देशभर में कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के बाद इसे महामारी घोषित किया गया। वहीं इस साल आई संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान ब्लैक फंगस के मरीज भी तेजी से बढऩे लगे। जिसे देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने इस बीमारी को भी राजकीय महामारी घोषित कर दिया। दो दिन पहले ही केंद्र सरकार ने राज्यों से इस बीमारी को महामारी घोषित करने के लिए कहा था। इससे पहले तमिलनाडु, ओडिशा, असम, पंजाब ने म्यूकरमाइकोसिस यानी ब्लैक फंगस को महामारी रोग अधिनियम के तहत अधिसूचित किया है।   प्रदेश के 8 मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस के मरीजों के लिए आरक्षित 420 बेड पर 361 मरीज भर्ती हैं। खास बात है, राजधानी के हमीदिया अस्पताल में ब्लैक फंगस के लिए 80 बेड आरक्षित हैं, लेकिन यहां 90 मरीज भर्ती हैं। क्राइसिस मैनेजमेंट व जिला कलेक्टरों के साथ हुई बैठक के बाद सीएम शिवराज ने एक महत्त्वपूर्ण निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ब्लैक फंगल इन्फेक्शन को महामारी घोषित किया जाता है। इस बीमारी से जूझ रहे मरीजों के इलाज के लिए अच्छी से अच्छी से व्यवस्था की जाए। जिन मरीजों का ऑपरेशन हुआ है, सुनिश्चित किया जाए कि उन्हें एम्फोटेरिसिन बी समय पर मिल जाए।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, viral video of Kamal Nath, Narottam counterattacked

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो ने हडक़ंप मचा दिया है। इस वीडियो में वे कांग्रेस नेता को किसानों और सरकार के बीच चल रहे विवाद को लेकर आग लगाने की बात कह रहे हैं। कमलनाथ के इस बयान को लेकर कांग्रेस सफाई दे रही है और इसे एडिट वीडियो बता रही है। वहीं मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए बड़ा बयान दिया है।    गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है, इमरजेंसी में वह भागीदार रहे हैं, 84 के दंगों में लोगों के घर जलाएं। अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे है। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी। पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा कोरोना के बीच आज पूरे प्रदेश की जनता कमलनाथ जी का वह चेहरा देख रही है कि वे किस तरह प्रदेश को जलाने की कोशिश कर रहे हैं। आपदा काल में जब हर व्यक्ति जन सेवा में लगा है,तब कमलनाथ जी प्रदेश में आग लगाने की बात कर रहे हैं,यह निंदनीय है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हनी ट्रैप की पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ ही शोध का भी विषय है। मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे।   बता दे कि वायरल वीडियो के अनुसार पूर्व सीएम कमलनाथ कह रहे हैं कि यही आग लगाने का मौका है। किसानों के साथ अन्याय हुआ है। सरकार के खिलाफ जमकर चलाओ सरकार ऐसा कर रही है वैसा कर रही है। खरीदी जो करी है वह हरियाणा पंजाब से करी है। जितना सरकार के खिलाफ चला सकते हो चलाओं यही मौका है आग लगाने का।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति नियंत्रण मेंवहीं मप्र के कोरोना की स्थिति को लेकर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना निरंतर नियंत्रण में आता जा रहा है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की,  न आईसीयू की, ना बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है। उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल हो या ग्वालियर अंचल सभी जगह स्थिति नियंत्रण में आती जा रही है। सिंगल डिजिट में आने के बाद पॉजिटिविटी रेट निरंतर कम हो रहा है।

Dakhal News

Dakhal News 22 May 2021


bhopal, Home Minister, Narottam counterattacks ,Kamal Nath

भोपाल। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व सीएम कमलनाथ के उस ट्वीट पर पलटवार किया है, जिसमें उन्होंने शमशान में शवों के आपस में बातें करने का जिक्र किया था। गृहमंत्री मिश्रा ने तंज कसते हुए कहा है कि आज पूरा देश और प्रदेश संकट के जिस दौर से गुजर रहा है, उसमें कमलनाथ जी को लोगों की मदद और मानवता की बात करने के बजाए, मुर्दों की बातें सुनाई दे रही हैं। हैरत होती है उनकी सोच पर।   मंत्री  नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कमलनाथ पर पलटवार करते हुए कहा कि इन्हें जनता के दर्द की आवाज सुनाई नहीं पड़ती, लगता है कमलनाथ अघोरी हो गए हैं। जब जनता को ढाढस बंधाने की जरुरत है तब कमलनाथ जनता में डर पैदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने तय कर लिया है कि जहां भी देश के स्वाभिमान की बात होगी वहां पर सवाल जरुर खड़े करेंगे। कांग्रेस का स्तर इतना गिर गया है कि इसी लिए आज कांग्रेस वेंटिलेटर पर आ गई है। कांग्रेस और उसके नेता राष्ट्रीय स्वाभिमान से जुड़े मुद्दों पर हमेशा सवाल खड़े करते रहे हैं। सेना हो, कोरोना वैक्सीन हो या इवीएम  उन्होंने हर संवेदनशील मामलों पर सवाल उठाए हैं। इस वैश्विक संकट के समय में जब देश एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं, कांग्रेस को इसमें भी बुराई नजर आ रही है।   प्रदेश में कोरोना की स्थिति बेहतरगृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि यह प्रसन्नता का विषय है कि कोरोना को लेकर काफी सकारात्मक खबरें आ रही हैं। मई मे अज्ञात आशंकाओं से लोग घिरे थे। आज कुल 5538 प्रकरण प्रदेश भर में आए। पहले इतने प्रकरण प्रदेश के कुछ शहरों से ही आ जाते थे। आज ठीक होकर 10885 लोग अपने घर गए। जितने नए केस प्रदेश भर में आए हैं उस से दोगुने लोग ठीक होकर अपने घरों की ओर वापस जा रहे हैं। अभी हमारे पास पर्याप्त आक्सीजन है। प्रदेश में रिकवरी दर 88 फीसदी है। संक्रमण दर 8.5 फीसदी रह गई है। उन्होंने कहा कि अभी भी भोपाल और इंदौर मे केस ज्यादा हैं लेकिन इनकी आबादी भी काफी है। ग्वालियर,शिवपुरी और दतिया में नए संक्रमित डबल डिजिट से नीचे हुए हैं। इंदौर में किराना दुकान में ढील देने के विषय पर पूछे जाने पर वे बोले कि इंदौर की परिस्थितियों का आंकलन करने के बाद प्रदेश के अलग-अलग शहरों का आंकलन किया जाएगा।उसके बाद कोरोना कफ्र्यू पर विचार किया जाएगा। गृह मंत्री ने यह संकेत भी दिया कि अगले हफ्ते खुल सकती हैं भोपाल में किराना दुकानें।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal, Kamal Nath ,raised questions , state

भोपाल। कोरोना महामारी के बीच मप्र में ब्लैक फंगस बीमारी का कहर भी देखने को मिल रहा है। अभी तक बड़ी संख्या में प्रदेश में ब्लेक फंगस के मरीज सामने आ चुके हैं वहीं इस बीमारी से कई लोगों की मौत भी हो चुकी है। प्रदेश में बढ़ रहे ब्लेक फंगस के मामलों को देखते हुए पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने चिंता जताते हुए अपर्याप्त स्वास्थ्य सुविधाओं पर सवाल उठाया है।   कमलनाथ ने कहा कि अब प्रदेश में ऑक्सीजन, रेमड़ेसिविर की कमी की तरह ही ब्लेक फंगस बीमारी में उपयोग में आने वाले आवश्यक इंजेक्शनों की कमी से जनता रोज जूझ रही है। इसकी कमी के कारण मरीजों की जान जा रही है, मरीज के परिजन इसके लिये दर-दर भटक रहे है। प्रदेश में अभी तक करीब 500 मरीज इस बीमारी के सामने आ चुके है लेकिन जरूरी इंजेक्शनों की कमी से उनकी यह बीमारी भयावह होती जा रही है।   कमलनाथ ने कहा कि सरकार ने इन इंजेक्शनों की आपूर्ति को लेकर अभी तक कोई ठोस कार्ययोजना ना बनायी है और ना इसके आवश्यक इंतजाम किये है? मरीज के परिजन मारे- मारे फिर रहे हैं, निजी से लेकर सरकारी अस्पतालों में इसका टोटा बना हुआ है। इस बीमारी की भयावहता अधिक है। सरकार जल्द ही इन जीवन रक्षक इंजेक्शनो की कमी दूर करे, इनकी आपूर्ति बढ़ाने के प्रयास युद्ध स्तर पर करे ताकि लोगों का जीवन बच सके।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal, Kamal Nath ,raised questions , state

भोपाल। कोरोना महामारी के बीच मप्र में ब्लैक फंगस बीमारी का कहर भी देखने को मिल रहा है। अभी तक बड़ी संख्या में प्रदेश में ब्लेक फंगस के मरीज सामने आ चुके हैं वहीं इस बीमारी से कई लोगों की मौत भी हो चुकी है। प्रदेश में बढ़ रहे ब्लेक फंगस के मामलों को देखते हुए पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने चिंता जताते हुए अपर्याप्त स्वास्थ्य सुविधाओं पर सवाल उठाया है।   कमलनाथ ने कहा कि अब प्रदेश में ऑक्सीजन, रेमड़ेसिविर की कमी की तरह ही ब्लेक फंगस बीमारी में उपयोग में आने वाले आवश्यक इंजेक्शनों की कमी से जनता रोज जूझ रही है। इसकी कमी के कारण मरीजों की जान जा रही है, मरीज के परिजन इसके लिये दर-दर भटक रहे है। प्रदेश में अभी तक करीब 500 मरीज इस बीमारी के सामने आ चुके है लेकिन जरूरी इंजेक्शनों की कमी से उनकी यह बीमारी भयावह होती जा रही है।   कमलनाथ ने कहा कि सरकार ने इन इंजेक्शनों की आपूर्ति को लेकर अभी तक कोई ठोस कार्ययोजना ना बनायी है और ना इसके आवश्यक इंतजाम किये है? मरीज के परिजन मारे- मारे फिर रहे हैं, निजी से लेकर सरकारी अस्पतालों में इसका टोटा बना हुआ है। इस बीमारी की भयावहता अधिक है। सरकार जल्द ही इन जीवन रक्षक इंजेक्शनो की कमी दूर करे, इनकी आपूर्ति बढ़ाने के प्रयास युद्ध स्तर पर करे ताकि लोगों का जीवन बच सके।

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal, Case of abetment , suicide filed against ,former minister

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व वन मंत्री और गंधवानी से कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। बंगले पर महिला मित्र सोनिया भरद्वाज की खुदकुशी के मामले में उमंग सिंघार के खिलाफ शाहपुरा थाने में आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का केस दर्ज किया गया है। एएसपी राजेश सिंह भदौरिया के मुताबिक सिंघार के खिलाफ धारा 306 के तहत केस दर्ज किया गया है। वहीं अब मामले में मृतिका के बेटे का बयान आने के बाद मामले ने नया मोड़ ले लिया है।   दरअसल मृतिका सोनिया भारद्वाज के बेटे आर्यन ने प्रदेश सरकार से पूर्व मंत्री उमंग सिंगार पर दर्ज एफआईआर वापस लेने की मांग की है। उसका कहना है कि 'हमने अपने बयान में पूर्व मंत्री पर एफआईआर दर्ज करने की बात नहीं की थी। उन्हें परेशान न किया जाए। हम नहीं चाहते कि पूर्व मंत्री पर कोई भी केस दर्ज हो'। इधर पुलिस को दिए बयान में सोनिया के बेटे आर्यन और नौकरों ने माना है कि दोनों के बीच नोंकझोंक होती थी। पुलिस के मुताबिक महिला के पर्स से मिले सुसाइड नोट, नौकरों और सोनिया के बेटे आर्यन के बयानों के आधार पर कार्रवाई की गई है। लेकिन अब बेटे आर्यन के इस बयान ने पूरे मामले को उलझा दिया है। सोनिया का अंतिम संस्कार करने के बाद आर्यन ने कहा कि उनकी मां ने ऐसा कदम क्यों उठाया पता नहीं, लेकिन उमंग सिंघार और सोनिया एक दूसरे से शादी करने वाले थे।   गौरतलब है कि रविवार को अंबाला निवास सोनिया भारद्वाज ने उमंग सिंघार के शाहपुरा स्थित बंगले के बेडरूम में फांसी लगा ली थी। पूर्व मंत्री के बंगले पर एक खुदकुशी की घटना ने सारे प्रदेश में चर्चाओं और अटकलों को जन्म दिया है। यहां से सुसाइड नोट भी मिला, जिसमें शुरुआती जांच में सामने आया है कि सोनिया भारद्वाज पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के साथ लिव इन रिलेशन में थी। पुलिस के मुताबिक दोनों की पहचान एक मेट्रिमोनियल वेबसाइट के माध्यम से हुई थी। हालांकि अभी ये साफ नहीं है कि उनकी शादी कब होने वाली थी। पुलिस अब इसकी जांच कर रही है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि सिंघार की अनुपस्थिति में सोनिया ने सुसाइड कर ली। सुसाइड नोट में उसने इशारों में बात की है, लेकिन किसी को सीधे जिम्मेदार क्यों नहीं लिखा। मामला हाई प्रोफाइल और पॉलिटिकल पर्सन से जुड़ा है तो फिलहाल पुलिस भी हर एंगल की तस्दीक करने में जुटी है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या विधायक सिंघार की मुश्किलें बढऩे वाली हैं?

Dakhal News

Dakhal News 18 May 2021


bhopal, Chief Minister, Shivraj Singh Chauhan, planted Peepal plant

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को मुख्यमंत्री निवास परिसर में पीपल का पौधा लगाया। मुख्यमंत्री प्रतिदिन अपने संकल्प के तहत एक पौधा लगाते हैं।   पीपल एक छायादार वृक्ष है। पर्यावरण शुद्ध करता है। इसका धार्मिक और आयुर्वेदिक महत्व भी है। इसके अलावा पीपल के पेड़ को अक्षय वृक्ष भी कहा जाता है, क्योंकि ये पेड़ कभी भी पत्ते विहीन नहीं होता। मतलब इसमें एकसाथ पतझड़ नहीं होती। पत्ते झड़ते रहते हैं और नए आते रहते हैं। पीपल के वृक्ष की इस खूबी के कारण इसे जीवन-मृत्यु चक्र का घोतक बताया गया है।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


bhopal,First step down unit , Madhya Pradesh ,started in Bhopal

भोपाल। मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल में राज्‍य का पहला स्टेप डाउन यूनिट शुरू कर दिया गया है। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने शनिवार को अशोका गार्डन शहरी स्वास्थ्य केंद्र में इस प्रथम स्टेप डाउन यूनिट का शुभारंभ  किया। दस बिस्तरीय स्टेप डाउन यूनिट की स्थापना स्वास्थ्य विभाग एवं व्हिश फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में की गई है।   मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने बताया कि शासकीय एवं निजी डेडीकेटेड स्वास्थ्य केंद्र एवं डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में उपचार के बाद सामान्य अवस्था में आए ऐसे मरीज जिन्हें कामार्बिडिटी या अन्य स्वास्थ्य समस्या के कारण लंबे समय तक अस्पताल में चिकित्सकीय निगरानी में रखने की आवश्यकता होती है या उन्हें ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है तो उन्हें  स्टेप डाउन यूनिट में रेफर किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि यूनिट के संचालन से गंभीर मरीजों के लिए डेडीकेटेड कोविड स्वास्थ्य केंद्र एवं डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में स्थान उपलब्ध हो पाएगा।   सारंग ने बताया कि इस यूनिट में भर्ती मरीजों की निगरानी एवं उपचार प्रदान करने के लिए विशेषज्ञ के साथ तीन चिकित्सक एवं तीन  स्टाफ नर्स 24 घंटे सेवाएँ देंगे। भर्ती मरीजों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए प्रतिदिन योगा अभ्यास के सत्रों का आयोजन किया जाएगा। शनिवार एवं रविवार को ऑनलाइन मनोरंजन कार्यक्रम का भी आयोजन होगा।   उन्होंने बताया कि इस यूनिट की स्थापना के लिए आवश्यक मानव संसाधन, ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, पीपीई किट, सेनेटाइजर, पल्स ऑक्सीमीटर, नॉन टच थर्मामीटर एवं अन्य आवश्यक संसाधन उपलब्ध करवाए गए हैं। मरीजों को सेंटर तक लाने की व्यवस्था भी की जा रही है। उन्होंने बताया कि भोपाल के अलावा प्रदेश के अन्य जिलों में भी स्टेप डाउन यूनिट स्थापित करने का कार्य किया जा रहा है।    इस मौके पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक डॉ. पंकज शुक्ला, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर तिवारी, सिविल सर्जन डॉ. आर.के. श्रीवास्तव, यूनिट के विशेषज्ञ डॉ. उपेंद्र दुबे, राज्य प्रतिनिधि डॉ. शालिनी कपूर, शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रम विशेषज्ञ डॉ. सविता शर्मा उपस्थित थीं।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


bhopal,First step down unit , Madhya Pradesh ,started in Bhopal

भोपाल। मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल में राज्‍य का पहला स्टेप डाउन यूनिट शुरू कर दिया गया है। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने शनिवार को अशोका गार्डन शहरी स्वास्थ्य केंद्र में इस प्रथम स्टेप डाउन यूनिट का शुभारंभ  किया। दस बिस्तरीय स्टेप डाउन यूनिट की स्थापना स्वास्थ्य विभाग एवं व्हिश फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में की गई है।   मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने बताया कि शासकीय एवं निजी डेडीकेटेड स्वास्थ्य केंद्र एवं डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में उपचार के बाद सामान्य अवस्था में आए ऐसे मरीज जिन्हें कामार्बिडिटी या अन्य स्वास्थ्य समस्या के कारण लंबे समय तक अस्पताल में चिकित्सकीय निगरानी में रखने की आवश्यकता होती है या उन्हें ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है तो उन्हें  स्टेप डाउन यूनिट में रेफर किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि यूनिट के संचालन से गंभीर मरीजों के लिए डेडीकेटेड कोविड स्वास्थ्य केंद्र एवं डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में स्थान उपलब्ध हो पाएगा।   सारंग ने बताया कि इस यूनिट में भर्ती मरीजों की निगरानी एवं उपचार प्रदान करने के लिए विशेषज्ञ के साथ तीन चिकित्सक एवं तीन  स्टाफ नर्स 24 घंटे सेवाएँ देंगे। भर्ती मरीजों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए प्रतिदिन योगा अभ्यास के सत्रों का आयोजन किया जाएगा। शनिवार एवं रविवार को ऑनलाइन मनोरंजन कार्यक्रम का भी आयोजन होगा।   उन्होंने बताया कि इस यूनिट की स्थापना के लिए आवश्यक मानव संसाधन, ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, पीपीई किट, सेनेटाइजर, पल्स ऑक्सीमीटर, नॉन टच थर्मामीटर एवं अन्य आवश्यक संसाधन उपलब्ध करवाए गए हैं। मरीजों को सेंटर तक लाने की व्यवस्था भी की जा रही है। उन्होंने बताया कि भोपाल के अलावा प्रदेश के अन्य जिलों में भी स्टेप डाउन यूनिट स्थापित करने का कार्य किया जा रहा है।    इस मौके पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक डॉ. पंकज शुक्ला, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर तिवारी, सिविल सर्जन डॉ. आर.के. श्रीवास्तव, यूनिट के विशेषज्ञ डॉ. उपेंद्र दुबे, राज्य प्रतिनिधि डॉ. शालिनी कपूर, शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रम विशेषज्ञ डॉ. सविता शर्मा उपस्थित थीं।

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


bhopal, CM Shivraj ,discussed phone calls  ,Kamal Nath

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से फोन पर चर्चा कर उन्हें प्रदेश में कोरोना की वर्तमान स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के कई जिलों में बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए अभी प्रदेश में जनता कफ्र्यू व प्रतिबंधों को आगे बढ़ाये जाने की आवश्यकता है ताकि कोरना के बढ़ते संक्रमण को रोका जा सके, इस पर उन्होंने कांग्रेस से समर्थन माँगा।   इस चर्चा में कमलनाथ ने उन्हें कहा कि कांग्रेस इस संकट की घड़ी में पूरी तरह सरकार के साथ खड़ी है, उसके हर निर्णय के साथ हम खड़े हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना महामारी को खत्म करने के लिए, लोगों की जान बचाने के लिए सरकार सभी आवश्यक कदम उठाये, उसके हर कदम, हर निर्णय के साथ हम खड़े हैं। साथ ही कमलनाथ ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना की स्थिति भयावह हो चली है। सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएँ बढ़ाने के, लोगों को इलाज उपलब्ध कराने के, आवश्यक साधन व संसाधन उपलब्ध कराने के व टेस्टिंग बढ़ाने के सभी आवश्यक कदम उठाये।    कमलनाथ ने ब्लैक फंगस बीमारी पर चिंता जताते हुए कहा कि प्रदेश में अब ब्लैक फंगस बीमारी तेजी से अपने पैर पसार रही है, इसकी रोकथाम में उपयोग में आने वाली दवाइयों की भारी कमी हो चली है, इसकी कालाबाज़ारी चालू हो चुकी है, उसको लेकर भी सरकार तत्काल कड़े कदम उठाये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में नागरिकों को आसानी से बेहतर इलाज, स्वास्थ्य सुविधाएं मिले इसको लेकर भी सरकार सभी आवश्यक कदम उठाये, साथ ही प्रदेश के नागरिकों को समय पर वैक्सीन मिले, इस दिशा में भी सरकार प्राथमिकता से कार्य करे।  

Dakhal News

Dakhal News 15 May 2021


bhopal, Kamal Nath , shameful incident, rape with corona victim

भोपाल। राजधानी भोपाल के भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर (बीएमएचआरसी) में कोरोना संक्रमित महिला के साथ दुष्कर्म की घटना को पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने शर्मनाक और प्रदेश को कलंकित करने वाला बताया है। उन्होंने सरकार से घटनाक्रम के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आरोप लगाया है।   कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश के भोपाल में अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित महिला के साथ दुष्कर्म व छेड़छाड़ की घटना बेहद शर्मनाक? बड़ा ही शर्मनाक कि पीडि़त महिला की मौत हो गयी और कार्यवाही की बजाय ,अस्पताल प्रबंधन व पुलिस ने इस पूरे मामले को दबाये रखा? इससे पहले भी इस तरह की घटनाएँ सामने आ चुकी है। क्या बहन- बेटियाँ अब अस्पताल में भी सुरक्षित नहीं है? ऐसी घटनाएँ मानवता व इंसानियत पर कलंक व प्रदेश को देश भर में शर्मशार करने वाली। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि ऐसे तत्वों व दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो और ऐसी घटनाओं को रोकने के लिये सरकार तत्काल आवश्यक कदम उठाये।

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2021


bhopal,Chief Minister, Shivraj Singh Chouhan, big announcement ,destitute families

भोपाल। कोरोना संक्रमण के कारण बेसहारा हुए परिवारों के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कोरोना महामारी ने कई परिवारों को तोड़ कर रख दिया है, कुछ ने अपने बुढ़ापे की सहारे की लाठी खोई है, कुछ ने पालकों की छाया खोई है। इसलिए हमने तय किया है कि ऐसे परिवारों को जिनके घर में आजीविकोपार्जन करने वाला कोई नहीं बचा उन्हे 5,000 रुपये प्रति माह पेंशन शासन द्वारा दी जाएगी। ऐसे बच्चों की शिक्षा का निशुल्क प्रबंध किया जाएगा। इन परिवारों को पात्रता न होने पर भी राशन उपलब्ध करवाया जाएगा। ऐसे परिवारों के सदस्यों को सरकार की गारंटी पर बिना ब्याज के काम-धंधे के लिए ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। ऐसे बच्चों और परिवारों का सहारा हम हैं, प्रदेश सरकार की है।   मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बेसहारा हुए एपरिवारों की चिंता हमारी है। राज्य सरकार बच्चों परिवारों की चिंता करेगी। बेसहारा परिवारों को पेंशन,निशुल्क राशन, नि:शुल्क शिक्षा जैसी सुविधाएं देगी। कोरोना महामारी के दौर में मध्यप्रदेश पहला राज्य बना है। सरकार ऐसे बच्चे जिनके परिवार से पिता, अभिभावक का साया उठ गया। घर में कोई कमाने वाला नहीं है। ऐसे परिवारों को 5000 प्रति माह पेंशन देगी। सीएम शिवराज ने कहा कि दुखी परिवारों को हम बेसहारा नहीं छोड़ सकते। उनका सहारा हम हैं प्रदेश की सरकार है। ऐसे बच्चों को भी चिंता करने की जरूरत नहीं है, वो प्रदेश के बच्चे हैं, प्रदेश उनकी देखभाल करेगा, प्रदेश उनकी चिंता करेगा।   सीएम ने कहा कि यदि ऐसे परिवार में कोई सदस्य ऐसा है या हमारी जिस बहन के पति नहीं रहे और वो कोई काम-धंधा करना चाहें तो सरकार की गारंटी पर बिना ब्याज के उन्हें ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा, ताकि फिर से वे जीवन यापन के लिए अपना काम-धंधा प्रारंभ कर सकें।

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2021


bhopal,Chief Minister, Shivraj Singh Chouhan, big announcement ,destitute families

भोपाल। कोरोना संक्रमण के कारण बेसहारा हुए परिवारों के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कोरोना महामारी ने कई परिवारों को तोड़ कर रख दिया है, कुछ ने अपने बुढ़ापे की सहारे की लाठी खोई है, कुछ ने पालकों की छाया खोई है। इसलिए हमने तय किया है कि ऐसे परिवारों को जिनके घर में आजीविकोपार्जन करने वाला कोई नहीं बचा उन्हे 5,000 रुपये प्रति माह पेंशन शासन द्वारा दी जाएगी। ऐसे बच्चों की शिक्षा का निशुल्क प्रबंध किया जाएगा। इन परिवारों को पात्रता न होने पर भी राशन उपलब्ध करवाया जाएगा। ऐसे परिवारों के सदस्यों को सरकार की गारंटी पर बिना ब्याज के काम-धंधे के लिए ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। ऐसे बच्चों और परिवारों का सहारा हम हैं, प्रदेश सरकार की है।   मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बेसहारा हुए एपरिवारों की चिंता हमारी है। राज्य सरकार बच्चों परिवारों की चिंता करेगी। बेसहारा परिवारों को पेंशन,निशुल्क राशन, नि:शुल्क शिक्षा जैसी सुविधाएं देगी। कोरोना महामारी के दौर में मध्यप्रदेश पहला राज्य बना है। सरकार ऐसे बच्चे जिनके परिवार से पिता, अभिभावक का साया उठ गया। घर में कोई कमाने वाला नहीं है। ऐसे परिवारों को 5000 प्रति माह पेंशन देगी। सीएम शिवराज ने कहा कि दुखी परिवारों को हम बेसहारा नहीं छोड़ सकते। उनका सहारा हम हैं प्रदेश की सरकार है। ऐसे बच्चों को भी चिंता करने की जरूरत नहीं है, वो प्रदेश के बच्चे हैं, प्रदेश उनकी देखभाल करेगा, प्रदेश उनकी चिंता करेगा।   सीएम ने कहा कि यदि ऐसे परिवार में कोई सदस्य ऐसा है या हमारी जिस बहन के पति नहीं रहे और वो कोई काम-धंधा करना चाहें तो सरकार की गारंटी पर बिना ब्याज के उन्हें ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा, ताकि फिर से वे जीवन यापन के लिए अपना काम-धंधा प्रारंभ कर सकें।

Dakhal News

Dakhal News 13 May 2021


bhopal,CM Shivraj ,condoles the demise,senior journalist Shiv Anurag Pateria

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वरिष्ठ पत्रकार शिव अनुराग पटेरिया के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान देने और शोक संतप्त परिवार को यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। सीएम शिवराज ने वरिष्ठ पत्रकार स्वर्गीय श्री पटेरिया के पुत्र प्रखर पटेरिया से फोन पर बात कर सांत्वना दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस गहन दु:ख के क्षणों में व्यक्तिगत रूप से शोक संतप्त परिवार के साथ हैं। उन्होंने प्रखर पटेरिया को धैर्य रखने और इस गहन दु:ख को हिम्मत के साथ सहन करने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे और उनकी सरकार, परिवार के साथ हैं। सीएम चौहान ने कहा कि हमने एक जुझारू, विलक्षण और शानदार पत्रकार को खो दिया है। श्री पटेरिया पत्रकारिता के साथ-साथ पत्रकारिता और जनसंचार के अध्यापन में भी लंबे समय तक सक्रिय भूमिका में रहे हैं। उन्होंने पत्रकारिता के माध्यम से देश और समाज की जो सेवा की है वह अमूल्य है। उनका निधन पत्रकार जगत के लिए बड़ी क्षति है। समाज और मूल्यों की रक्षा के लिए संघर्ष करने वाले पत्रकार के रूप में वे याद किए जाएंगे। स्वर्गीय पटेरिया शानदार पत्रकार के साथ जाने-माने लेखक भी थे। वे 30 से भी अधिक लोकप्रिय पुस्तकें लिख चुके हैं।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal,CM Shivraj ,condoles the demise,senior journalist Shiv Anurag Pateria

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वरिष्ठ पत्रकार शिव अनुराग पटेरिया के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान देने और शोक संतप्त परिवार को यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। सीएम शिवराज ने वरिष्ठ पत्रकार स्वर्गीय श्री पटेरिया के पुत्र प्रखर पटेरिया से फोन पर बात कर सांत्वना दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस गहन दु:ख के क्षणों में व्यक्तिगत रूप से शोक संतप्त परिवार के साथ हैं। उन्होंने प्रखर पटेरिया को धैर्य रखने और इस गहन दु:ख को हिम्मत के साथ सहन करने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे और उनकी सरकार, परिवार के साथ हैं। सीएम चौहान ने कहा कि हमने एक जुझारू, विलक्षण और शानदार पत्रकार को खो दिया है। श्री पटेरिया पत्रकारिता के साथ-साथ पत्रकारिता और जनसंचार के अध्यापन में भी लंबे समय तक सक्रिय भूमिका में रहे हैं। उन्होंने पत्रकारिता के माध्यम से देश और समाज की जो सेवा की है वह अमूल्य है। उनका निधन पत्रकार जगत के लिए बड़ी क्षति है। समाज और मूल्यों की रक्षा के लिए संघर्ष करने वाले पत्रकार के रूप में वे याद किए जाएंगे। स्वर्गीय पटेरिया शानदार पत्रकार के साथ जाने-माने लेखक भी थे। वे 30 से भी अधिक लोकप्रिय पुस्तकें लिख चुके हैं।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal,CM Shivraj ,condoles the demise,senior journalist Shiv Anurag Pateria

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वरिष्ठ पत्रकार शिव अनुराग पटेरिया के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान देने और शोक संतप्त परिवार को यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। सीएम शिवराज ने वरिष्ठ पत्रकार स्वर्गीय श्री पटेरिया के पुत्र प्रखर पटेरिया से फोन पर बात कर सांत्वना दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस गहन दु:ख के क्षणों में व्यक्तिगत रूप से शोक संतप्त परिवार के साथ हैं। उन्होंने प्रखर पटेरिया को धैर्य रखने और इस गहन दु:ख को हिम्मत के साथ सहन करने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे और उनकी सरकार, परिवार के साथ हैं। सीएम चौहान ने कहा कि हमने एक जुझारू, विलक्षण और शानदार पत्रकार को खो दिया है। श्री पटेरिया पत्रकारिता के साथ-साथ पत्रकारिता और जनसंचार के अध्यापन में भी लंबे समय तक सक्रिय भूमिका में रहे हैं। उन्होंने पत्रकारिता के माध्यम से देश और समाज की जो सेवा की है वह अमूल्य है। उनका निधन पत्रकार जगत के लिए बड़ी क्षति है। समाज और मूल्यों की रक्षा के लिए संघर्ष करने वाले पत्रकार के रूप में वे याद किए जाएंगे। स्वर्गीय पटेरिया शानदार पत्रकार के साथ जाने-माने लेखक भी थे। वे 30 से भी अधिक लोकप्रिय पुस्तकें लिख चुके हैं।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal,CM Shivraj ,condoles the demise,senior journalist Shiv Anurag Pateria

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वरिष्ठ पत्रकार शिव अनुराग पटेरिया के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान देने और शोक संतप्त परिवार को यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। सीएम शिवराज ने वरिष्ठ पत्रकार स्वर्गीय श्री पटेरिया के पुत्र प्रखर पटेरिया से फोन पर बात कर सांत्वना दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस गहन दु:ख के क्षणों में व्यक्तिगत रूप से शोक संतप्त परिवार के साथ हैं। उन्होंने प्रखर पटेरिया को धैर्य रखने और इस गहन दु:ख को हिम्मत के साथ सहन करने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे और उनकी सरकार, परिवार के साथ हैं। सीएम चौहान ने कहा कि हमने एक जुझारू, विलक्षण और शानदार पत्रकार को खो दिया है। श्री पटेरिया पत्रकारिता के साथ-साथ पत्रकारिता और जनसंचार के अध्यापन में भी लंबे समय तक सक्रिय भूमिका में रहे हैं। उन्होंने पत्रकारिता के माध्यम से देश और समाज की जो सेवा की है वह अमूल्य है। उनका निधन पत्रकार जगत के लिए बड़ी क्षति है। समाज और मूल्यों की रक्षा के लिए संघर्ष करने वाले पत्रकार के रूप में वे याद किए जाएंगे। स्वर्गीय पटेरिया शानदार पत्रकार के साथ जाने-माने लेखक भी थे। वे 30 से भी अधिक लोकप्रिय पुस्तकें लिख चुके हैं।

Dakhal News

Dakhal News 12 May 2021


bhopal, Kamal Nath ,wrote a letter , Chief Minister Shivraj

भोपाल। मप्र के पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। अपने पत्र में कमलनाथ ने प्रदेश में वैक्सीन की कमी को लेकर हो रही परेशानी का मुद्दा उठाते हुए सरकार से शीघ्र ही इसे दूर करने की मांग की है।   कमलनाथ ने अपने पत्र में कहा कि भारत सरकार और मप्र सरकार द्वारा आम जनता को कोरोना का वैक्सीन लगवाने का अभियान चलाया जा रहा है। मप्र में 18 से 45 वर्ष की आयु सीमा वर्ग के आम नागरिकों के लिए वैक्सीन लगाने का अभियान हाल में प्रारंभ किया गया है और सरकार ने प्रति केन्द्र 100 वैक्सीन लगाने का लक्ष्य लिया है, परन्तु इस गति से प्रदेश के प्रत्येक नागरिक का वैक्सीनेशन होने में वर्षों का समय लगेगा।   अदूरदर्शिता एवं कोरोना वैक्सीन के निर्यात के कारण आज प्रदेश में वैक्सीन की निरंतर कमी बनी हुई है और आमजन वैक्सीन के इंतजार में असुरक्षित जीवन जीने को मजबूर हैं। सरकार द्वारा वैक्सीनेशन कराने पर जोर दिया जा रहा है परन्तु वास्तविक स्थिति यह है कि वैक्सीनेशन केन्द्रों पर वैक्सीन उपलब्ध नहीं है और नागरिक वैक्सीनेशन केन्द्रों से बिना वैक्सीनेशन के वापस लौट रहे हैं। आज प्रदेश सरकार को वैक्सीन लाओ/ उपलब्ध कराओं अभियान चलाने की आवश्यकता है।   मेरा आपसे अनुरोध है कि सरकार तत्काल अधिकाधिक संख्या में वैक्सीन प्राप्त करने हेतु प्रभावी प्रयास करे एवं संपूर्ण वैक्सीन होने की अंतिम तिथि को भी नियत कर घोषित करें, ताकि प्रदेश के प्रत्येक नागरिक का जीवन सुरक्षित हो सके।

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2021


bhopal, Kamal Nath congratulated ,Dr. Himanta Biswa , Chief Minister

भोपाल। भाजपा नेता और पूर्वोत्तर प्रजातांत्रिक गठबंधन के संयोजक डा. हिमंत बिस्वा सरमा ने असम के 15वें मुख्यमंत्री के रूप में सोमवार को शपथ ली। राज्यपाल जगदीश मुखी ने उन्हें यहां श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। मप्र के पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने  डा.हिमंत को सीएम बनने पर फोन कर बधाई दी है।     पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज फ़ोन कर असम के मुख्यमंत्री बनने पर डा. हिमंता बिस्वा सरमा को बधाई दी है। साथ उन्होंने उम्मीद जतायी है कि वो सभी का सहयोग लेकर असम के विकास व प्रगति के लिये कार्य करेंगे। असम को विकास की दृष्टि से नई ऊँचाइयों पर ले जाएँगे। ज्ञात हो कि कमलनाथ लंबे समय तक असम के प्रभारी महासचिव रहे है और हिमंता बिस्व सरमा से उनके काफ़ी निकट के मधुर संबंध रहे हैं।

Dakhal News

Dakhal News 10 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal,Former BJP state president,Vijesh Lunavat dies , heart attack

भोपाल। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत का हार्ट अटैक से बुधवार को निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित भी थे और भोपाल के एक निजी अस्पताल में उनका ईलाज चल रहा था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने सोशल मीडिया पर दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी। उनके निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत भाजपा नेताओं ने दुख व्यक्त किया है।   भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेश लुनावत चुनाव प्रबंधन में माहिर माने जाते थे। शिवराज सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान लुणावत ने सत्ता और संगठन में तालमेल बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन वे पिछले समय से बीमार चल रहे थे। सीएम शिवराज ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और हम सभी के प्रिय साथी श्री विजेश लूनावत जी के निधन की सूचना से स्तब्ध और दु:खी हूँ। यह मध्यप्रदेश भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और इस कठिन घड़ी में उनके परिजनों को संबल प्रदान करें।   सीएम शिवराज ने एक अन्य ट्वीट कर कहा ‘हमारे साथी श्री विजेश लूनावत जी एक समर्पित जनसेवक थे। असमर्थों के जीवन में मुस्कान लाने और प्रदेश की प्रगति के लिए जीवन की अंतिम सांस तक कार्य करते रहे। अपने कार्य के प्रति उनमें असीम समर्पण और निष्ठा थी। आज हमने अपने एक सच्चे साथी को खो दिया। विनम्र श्रद्धांजलि! साथी विजेश लूनावत जी एक कुशल संगठक, प्रभावी संप्रेषक और चुनावी प्रबंधन के महारथी थे। वे अत्यंत निपुण रणनीतिकार थे। मप्र भाजपा को मज़बूती प्रदान करने में उनका अहम योगदान था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। विजेश जी, हो सके तो लौट कर ज़रूर आना।

Dakhal News

Dakhal News 5 May 2021


bhopal, CM Shivraj ,condemns tyranny ,TMC workers , West Bengal

भोपाल। पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट और दुष्कर्म की घटना पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम की निंदा की है साथ ही ममता बनर्जी को चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि राजनीति में कुछ स्थायी नहीं होता, अंत में दंड भोगना पड़ता है।   सीएम शिवराज ने सोशल मीडिया पर संदेश देते हुए पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं द्वारा किए जा रहे आत्याचार की निंदा करते हुए कहा पश्चिम बंगाल में जिस प्रकार से टीएमसी के कार्यकर्ताओं द्वारा लोकतंत्र की हत्या की जा रही है, जनता पर अत्याचार किया जा रहा है, वह अत्यंत दु:खदायी और निंदनीय है। जनता ने अगर टीएमसी को जनादेश दिया है, तो उन्हें इसका सम्मान करना चाहिए।   सीएम ने कहा कि टीएमसी को जनता ने अपना रक्षक चुना लेकिन इस पार्टी के कार्यकर्ता जनता के भक्षक बने हुए हैं और सिर्फ दो दिन में लोकतंत्र को खंडित कर दिया! दीदी को यह याद रखना चाहिये कि राजनीति में कुछ भी स्थायी नहीं होता है। परिस्थितियों को बदलते देर नहीं लगती है, अंतत: दण्ड भोगना ही पड़ता है।

Dakhal News

Dakhal News 4 May 2021


bhopal, Kamal Nath congratulates, Mamata Benerjee

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सोमवार को पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव जीतने पर ममता बेनर्जी को फोन पर बधाई दी। इस मौके पर कमलनाथ ने ममता को मप्र आने का न्यौता भी दिया।   कांग्रेस मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ममता बैनर्जी को फ़ोन पर शानदार व ऐतिहासिक जीत की बधाई दी है। कमलनाथ ने उन्हें मध्यप्रदेश आने का निमंत्रण दिया, जिसे ममता जी ने स्वीकारते हुए कहा कि वो मध्यप्रदेश ज़रूर आयेंगी। ज्ञात हो कि कमलनाथ व ममता बेनर्जी ने वर्षों एक साथ काम किया है। दोनों के संबंध काफ़ी मधुर होकर, दोनों की देश के विभिन्न राजनैतिक विषयों व मुद्दों पर निरंतर चर्चा भी होती रहती है।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


bhopal, Narottam Mishra,big statement , defeat in Damoh

भोपाल। पश्चिम बंगाल के साथ मप्र के दमोह में हुए उपचुनाव में भी भाजपा को हार का सामना करना पड़ा। हार के बाद अब राजनेताओं की तीखी प्रक्रियाएं सामने आ रही है। दमोह में मिली हार को लेकर प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने उपचुनाव में हार के पीछे भितरघात होने का आरोप लगाया है।   दमोह में मिली हार पर गृह मंत्र नरोत्तम मिश्रा ने सोमवार को बयान देते हुए कहा कि दमोह नहीं हारे हम, छले गए छलचन्दों से। इस बार लड़ाई हारे है अपने घर के जयचन्दों से। उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि दमोह की जीत पर कांग्रेस ज्यादा खुशी नहीं मनाए। कमलनाथ जी को पूरे देश में कांग्रेस का जो सफाया हुआ है, उस पर भी चिंतन करना चाहिए। इसके अलावा पश्चिम बंगाल में चुनाव सह प्रभारी की जिम्मेदारी संभाले मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में नौटंकी जीत गई। उन्होंने बताया कि नौटंकी की अभिप्राय चेयर से है। वहां की जनता ये नहीं समझ पाई और ममता पर मेहरबान हो गई।   कोरोना की स्थिति संभल रहीइस दौरान प्रदेश में कोरोना की स्थिति पर मंत्री मिश्रा ने कहा कि कोरोना के मामले में प्रदेश में पिछले दो-तीन दिन से अच्छे संकेत मिल रहे हैं। प्रदेश में अब कोरोना की स्थिति 2-3 दिन से संभल रही है। कांग्रेस ने टीकाकरण को लेकर शुरू से लोगों में भ्रम फैलाया है। इसका विपरीत असर ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा पड़ा है। अत: अब हम सबको मिलकर ग्रामीणों को वैक्सीनेशन के लिए जागरूक और प्रेरित करना होगा। मंत्री मिश्रा ने कहा कि ड्यूटी के दौरान कई पुलिस कर्मी संक्रमित हुए और कई हमारे बीच नहीं रहे। इस बात का हमें बेहद दुख है। टीकाकरण को लेकर कहा कि 18+ के वैक्सीनेशन के लिए हम सेंटर्स में बदलाव कर रहे हैं। हमारी कोशिश है कि अब वैक्सीनेशन अस्पतालों में न हो।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


bhopal,  front line workers,preferred journalist , state, CM announces

भोपाल। प्रदेश में अब कोरोना का शिकार होने वाले अधिमान्य पत्रकारों या उनके परिजनों को भी वैसी ही सुविधाएं मिलेंगी, जैसी फ्रंट लाइन वर्कर्स को मिलती हैं। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने इस संबंध में घोषणा कर दी है।   कोरोना संकट के दौरान बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी, पत्रकार वायरस की चपेट में आ रहे हैं और इनमें से कई को अपनी जान गवांनी पड़ी है। इस स्थिति को देखते हुए अनेक पत्रकार संगठनों की तरफ से पत्रकारों को फ्रंट लाइन वर्कर घोषित  किए जाने की मांग की जा रही थी। विपक्षी पार्टी कांग्रेस भी इसके लिए मांग करती रही है। पत्रकारों और मीडिया संघों की इस मांग को मानते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अधिमान्य पत्रकारों को फ्रंट लाइन वर्कर घोषित किया है। सरकार के इस निर्णय की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने सोशल मीडिया पर लिखा है- हमारे पत्रकार मित्र कोविड के खतरनाक काल में अपनी जान जोखिम में डाल कर अपने धर्म का निर्वाह कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में सभी अधिमान्यता प्राप्त पत्रकारों को हमने फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने का फैसला किया है।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


bhopal,  front line workers,preferred journalist , state, CM announces

भोपाल। प्रदेश में अब कोरोना का शिकार होने वाले अधिमान्य पत्रकारों या उनके परिजनों को भी वैसी ही सुविधाएं मिलेंगी, जैसी फ्रंट लाइन वर्कर्स को मिलती हैं। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने इस संबंध में घोषणा कर दी है।   कोरोना संकट के दौरान बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी, पत्रकार वायरस की चपेट में आ रहे हैं और इनमें से कई को अपनी जान गवांनी पड़ी है। इस स्थिति को देखते हुए अनेक पत्रकार संगठनों की तरफ से पत्रकारों को फ्रंट लाइन वर्कर घोषित  किए जाने की मांग की जा रही थी। विपक्षी पार्टी कांग्रेस भी इसके लिए मांग करती रही है। पत्रकारों और मीडिया संघों की इस मांग को मानते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अधिमान्य पत्रकारों को फ्रंट लाइन वर्कर घोषित किया है। सरकार के इस निर्णय की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने सोशल मीडिया पर लिखा है- हमारे पत्रकार मित्र कोविड के खतरनाक काल में अपनी जान जोखिम में डाल कर अपने धर्म का निर्वाह कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में सभी अधिमान्यता प्राप्त पत्रकारों को हमने फ्रंटलाइन वर्कर घोषित करने का फैसला किया है।

Dakhal News

Dakhal News 3 May 2021


bhopal, Chief Minister appealed ,street vendors, cooperate breaking

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास से प्रदेश के 6 लाख 10 हजार से अधिक शहरी असंगठित कामगारों के खातो में 61 करोड़ रुपए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर द्वारा अंतरित किये। इस दौरान सीएम शिवराज ने कहा है कि कोरोना से लड़ाई घर के अंदर रह कर ही  लड़ी जा सकती है। उन्होंने शहरी पथ विक्रेताओं से अपील की है कि कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे में सहयोग करें। शहरी पथ विक्रेताओं के लिए एक-एक हजार रुपए की राशि उनके बैंक खाते में जमा होने की जानकारी देते हुए, उनसे अनुरोध किया है कि राशि निकालने के लिए बैंकों में भीड़ नहीं लगे, इस बात का विशेष ध्यान रखें।   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना की संक्रमण चेन तोडऩा ही उसके नियंत्रण का सफल तरीका है। जनता कफ्र्यू के द्वारा जनता के सहयोग से प्रदेश में संक्रमण की स्थिति पर नियंत्रण के परिणाम मिलने लगे हैं। एक्टिव केसेस की संख्या में प्रदेश का स्थान देश में 7वें से घटकर 13वें स्थान पर आ गया है, पॉजिटिव केस वृद्धि दर जो 25 प्रतिशत से ऊपर चली गई थी वह घट कर 21 प्रतिशत हो गई है। पॉजिटिव केसेस की संख्या घट रही और स्वस्थ होने वालो की संख्या बढ़ रही हैं। कुल 12 हजार 400 नये पॉजिटिव प्रकरणों की तुलना 13 हजार 584 व्यक्ति स्वस्थ हुए है।    उन्होंने बताया कि सरकार अस्पतालों में बिस्तरों, दवाइयों, उपकरणों इंजेक्शन आदि की उपलब्धता के लिए निरंतर कार्य कर रही है। ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए हवाई जहाज और ट्रेनों से व्यवस्था करने के साथ ही स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन उत्पादन के प्रयास युद्ध स्तर पर कर रहे हैं। उपचार व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए संक्रमण की चेन तोडऩा जरुरी है। यह सबके सहयोग से ही हो सकता है। इसलिए जनता कफ्र्यू का पालन सख्ती से करें। घर पर रह कर कोरोना संक्रमण चेन को तोडऩे में सहयोगी बनें। उन्होंने कहा कि कोरोना मानवता का दुश्मन है। उसे रोकने के लिए मिलना-जुलना, समारोह आयोजन करना, शादी विवाह के कार्यक्रम करना और भीड़ लगाना बंद करना होगा।   सीएम ने कहा कि संक्रमण का प्रसार यदि तेजी से होता रहा तो सारी व्यवस्थाएं ध्वस्त हो सकती हैं। इसलिए संक्रमण नियंत्रण की गाइड लाइन का कड़ाई से पालन जरुरी है। कफ्र्यू से गरीबों को होने वाली दिक्कतों को दूर करने में सरकार पूरा सहयोग कर रही है। उन्होंने पथ विक्रेताओं को बताया कि उनके खातों में एक-एक हजार की राशि जमा कराने के साथ ही नि:शुल्क अनाज भी दिया जा रहा है। मई और जून दो माहों में राज्य सरकार की ओर से 5-5 किलो ग्राम और केन्द्र सरकार की ओर से 5-5 किलोग्राम नि:शुल्क अनाज प्रत्येक व्यक्ति को मिलेगा। उन्होंने पथ विक्रेताओं को आवश्वस्त किया कि जनता कर्फ्यू  से होने वाली दिक्कतों में मदद के समान ही सरकार संक्रमण नियंत्रण उपरांत उनके व्यवसाय को बढ़ाने में सहयोग करेगी।    मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि सब स्वस्थ रहे, सबका परिवार स्वस्थ रहें। इसके लिए सबको संकल्पित हो कर, मिलकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि संक्रमण तेजी से फेफड़ो में घुस जाता है। इसलिए इसका तत्काल उपचार जरुरी है। जितनी जल्दी संक्रमण की जानकारी मिलती है। उसका उपचार उतनी ही जल्दी सरलता से हो जाता है। इसलिए यह जरुरी है कि सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार के लक्षणों पर तत्काल टेस्ट कराए और तुरंत दवा लेना शुरू कर दें। उन्होंने कहा कि संक्रमण को छुपाना जानलेवा है। इसलिए गांव, वार्ड मोहल्ले बस्ती में जिस किसी में भी संक्रमण के लक्षण दिखे उसकी तुरंत जाँच कराए। प्रारंभिक अवस्था में जानकारी से घर पर अथवा कोविड केयर सेंटर में डाक्टर की देखरेख में आसानी से स्वस्थ हो सकते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, Chief Minister appealed ,street vendors, cooperate breaking

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास से प्रदेश के 6 लाख 10 हजार से अधिक शहरी असंगठित कामगारों के खातो में 61 करोड़ रुपए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर द्वारा अंतरित किये। इस दौरान सीएम शिवराज ने कहा है कि कोरोना से लड़ाई घर के अंदर रह कर ही  लड़ी जा सकती है। उन्होंने शहरी पथ विक्रेताओं से अपील की है कि कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे में सहयोग करें। शहरी पथ विक्रेताओं के लिए एक-एक हजार रुपए की राशि उनके बैंक खाते में जमा होने की जानकारी देते हुए, उनसे अनुरोध किया है कि राशि निकालने के लिए बैंकों में भीड़ नहीं लगे, इस बात का विशेष ध्यान रखें।   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना की संक्रमण चेन तोडऩा ही उसके नियंत्रण का सफल तरीका है। जनता कफ्र्यू के द्वारा जनता के सहयोग से प्रदेश में संक्रमण की स्थिति पर नियंत्रण के परिणाम मिलने लगे हैं। एक्टिव केसेस की संख्या में प्रदेश का स्थान देश में 7वें से घटकर 13वें स्थान पर आ गया है, पॉजिटिव केस वृद्धि दर जो 25 प्रतिशत से ऊपर चली गई थी वह घट कर 21 प्रतिशत हो गई है। पॉजिटिव केसेस की संख्या घट रही और स्वस्थ होने वालो की संख्या बढ़ रही हैं। कुल 12 हजार 400 नये पॉजिटिव प्रकरणों की तुलना 13 हजार 584 व्यक्ति स्वस्थ हुए है।    उन्होंने बताया कि सरकार अस्पतालों में बिस्तरों, दवाइयों, उपकरणों इंजेक्शन आदि की उपलब्धता के लिए निरंतर कार्य कर रही है। ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए हवाई जहाज और ट्रेनों से व्यवस्था करने के साथ ही स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन उत्पादन के प्रयास युद्ध स्तर पर कर रहे हैं। उपचार व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए संक्रमण की चेन तोडऩा जरुरी है। यह सबके सहयोग से ही हो सकता है। इसलिए जनता कफ्र्यू का पालन सख्ती से करें। घर पर रह कर कोरोना संक्रमण चेन को तोडऩे में सहयोगी बनें। उन्होंने कहा कि कोरोना मानवता का दुश्मन है। उसे रोकने के लिए मिलना-जुलना, समारोह आयोजन करना, शादी विवाह के कार्यक्रम करना और भीड़ लगाना बंद करना होगा।   सीएम ने कहा कि संक्रमण का प्रसार यदि तेजी से होता रहा तो सारी व्यवस्थाएं ध्वस्त हो सकती हैं। इसलिए संक्रमण नियंत्रण की गाइड लाइन का कड़ाई से पालन जरुरी है। कफ्र्यू से गरीबों को होने वाली दिक्कतों को दूर करने में सरकार पूरा सहयोग कर रही है। उन्होंने पथ विक्रेताओं को बताया कि उनके खातों में एक-एक हजार की राशि जमा कराने के साथ ही नि:शुल्क अनाज भी दिया जा रहा है। मई और जून दो माहों में राज्य सरकार की ओर से 5-5 किलो ग्राम और केन्द्र सरकार की ओर से 5-5 किलोग्राम नि:शुल्क अनाज प्रत्येक व्यक्ति को मिलेगा। उन्होंने पथ विक्रेताओं को आवश्वस्त किया कि जनता कर्फ्यू  से होने वाली दिक्कतों में मदद के समान ही सरकार संक्रमण नियंत्रण उपरांत उनके व्यवसाय को बढ़ाने में सहयोग करेगी।    मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि सब स्वस्थ रहे, सबका परिवार स्वस्थ रहें। इसके लिए सबको संकल्पित हो कर, मिलकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि संक्रमण तेजी से फेफड़ो में घुस जाता है। इसलिए इसका तत्काल उपचार जरुरी है। जितनी जल्दी संक्रमण की जानकारी मिलती है। उसका उपचार उतनी ही जल्दी सरलता से हो जाता है। इसलिए यह जरुरी है कि सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार के लक्षणों पर तत्काल टेस्ट कराए और तुरंत दवा लेना शुरू कर दें। उन्होंने कहा कि संक्रमण को छुपाना जानलेवा है। इसलिए गांव, वार्ड मोहल्ले बस्ती में जिस किसी में भी संक्रमण के लक्षण दिखे उसकी तुरंत जाँच कराए। प्रारंभिक अवस्था में जानकारी से घर पर अथवा कोविड केयर सेंटर में डाक्टर की देखरेख में आसानी से स्वस्थ हो सकते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, Chief Minister appealed ,street vendors, cooperate breaking

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास से प्रदेश के 6 लाख 10 हजार से अधिक शहरी असंगठित कामगारों के खातो में 61 करोड़ रुपए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर द्वारा अंतरित किये। इस दौरान सीएम शिवराज ने कहा है कि कोरोना से लड़ाई घर के अंदर रह कर ही  लड़ी जा सकती है। उन्होंने शहरी पथ विक्रेताओं से अपील की है कि कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे में सहयोग करें। शहरी पथ विक्रेताओं के लिए एक-एक हजार रुपए की राशि उनके बैंक खाते में जमा होने की जानकारी देते हुए, उनसे अनुरोध किया है कि राशि निकालने के लिए बैंकों में भीड़ नहीं लगे, इस बात का विशेष ध्यान रखें।   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना की संक्रमण चेन तोडऩा ही उसके नियंत्रण का सफल तरीका है। जनता कफ्र्यू के द्वारा जनता के सहयोग से प्रदेश में संक्रमण की स्थिति पर नियंत्रण के परिणाम मिलने लगे हैं। एक्टिव केसेस की संख्या में प्रदेश का स्थान देश में 7वें से घटकर 13वें स्थान पर आ गया है, पॉजिटिव केस वृद्धि दर जो 25 प्रतिशत से ऊपर चली गई थी वह घट कर 21 प्रतिशत हो गई है। पॉजिटिव केसेस की संख्या घट रही और स्वस्थ होने वालो की संख्या बढ़ रही हैं। कुल 12 हजार 400 नये पॉजिटिव प्रकरणों की तुलना 13 हजार 584 व्यक्ति स्वस्थ हुए है।    उन्होंने बताया कि सरकार अस्पतालों में बिस्तरों, दवाइयों, उपकरणों इंजेक्शन आदि की उपलब्धता के लिए निरंतर कार्य कर रही है। ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए हवाई जहाज और ट्रेनों से व्यवस्था करने के साथ ही स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन उत्पादन के प्रयास युद्ध स्तर पर कर रहे हैं। उपचार व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए संक्रमण की चेन तोडऩा जरुरी है। यह सबके सहयोग से ही हो सकता है। इसलिए जनता कफ्र्यू का पालन सख्ती से करें। घर पर रह कर कोरोना संक्रमण चेन को तोडऩे में सहयोगी बनें। उन्होंने कहा कि कोरोना मानवता का दुश्मन है। उसे रोकने के लिए मिलना-जुलना, समारोह आयोजन करना, शादी विवाह के कार्यक्रम करना और भीड़ लगाना बंद करना होगा।   सीएम ने कहा कि संक्रमण का प्रसार यदि तेजी से होता रहा तो सारी व्यवस्थाएं ध्वस्त हो सकती हैं। इसलिए संक्रमण नियंत्रण की गाइड लाइन का कड़ाई से पालन जरुरी है। कफ्र्यू से गरीबों को होने वाली दिक्कतों को दूर करने में सरकार पूरा सहयोग कर रही है। उन्होंने पथ विक्रेताओं को बताया कि उनके खातों में एक-एक हजार की राशि जमा कराने के साथ ही नि:शुल्क अनाज भी दिया जा रहा है। मई और जून दो माहों में राज्य सरकार की ओर से 5-5 किलो ग्राम और केन्द्र सरकार की ओर से 5-5 किलोग्राम नि:शुल्क अनाज प्रत्येक व्यक्ति को मिलेगा। उन्होंने पथ विक्रेताओं को आवश्वस्त किया कि जनता कर्फ्यू  से होने वाली दिक्कतों में मदद के समान ही सरकार संक्रमण नियंत्रण उपरांत उनके व्यवसाय को बढ़ाने में सहयोग करेगी।    मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि सब स्वस्थ रहे, सबका परिवार स्वस्थ रहें। इसके लिए सबको संकल्पित हो कर, मिलकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि संक्रमण तेजी से फेफड़ो में घुस जाता है। इसलिए इसका तत्काल उपचार जरुरी है। जितनी जल्दी संक्रमण की जानकारी मिलती है। उसका उपचार उतनी ही जल्दी सरलता से हो जाता है। इसलिए यह जरुरी है कि सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार के लक्षणों पर तत्काल टेस्ट कराए और तुरंत दवा लेना शुरू कर दें। उन्होंने कहा कि संक्रमण को छुपाना जानलेवा है। इसलिए गांव, वार्ड मोहल्ले बस्ती में जिस किसी में भी संक्रमण के लक्षण दिखे उसकी तुरंत जाँच कराए। प्रारंभिक अवस्था में जानकारी से घर पर अथवा कोविड केयर सेंटर में डाक्टर की देखरेख में आसानी से स्वस्थ हो सकते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, Chief Minister appealed ,street vendors, cooperate breaking

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास से प्रदेश के 6 लाख 10 हजार से अधिक शहरी असंगठित कामगारों के खातो में 61 करोड़ रुपए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर द्वारा अंतरित किये। इस दौरान सीएम शिवराज ने कहा है कि कोरोना से लड़ाई घर के अंदर रह कर ही  लड़ी जा सकती है। उन्होंने शहरी पथ विक्रेताओं से अपील की है कि कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे में सहयोग करें। शहरी पथ विक्रेताओं के लिए एक-एक हजार रुपए की राशि उनके बैंक खाते में जमा होने की जानकारी देते हुए, उनसे अनुरोध किया है कि राशि निकालने के लिए बैंकों में भीड़ नहीं लगे, इस बात का विशेष ध्यान रखें।   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना की संक्रमण चेन तोडऩा ही उसके नियंत्रण का सफल तरीका है। जनता कफ्र्यू के द्वारा जनता के सहयोग से प्रदेश में संक्रमण की स्थिति पर नियंत्रण के परिणाम मिलने लगे हैं। एक्टिव केसेस की संख्या में प्रदेश का स्थान देश में 7वें से घटकर 13वें स्थान पर आ गया है, पॉजिटिव केस वृद्धि दर जो 25 प्रतिशत से ऊपर चली गई थी वह घट कर 21 प्रतिशत हो गई है। पॉजिटिव केसेस की संख्या घट रही और स्वस्थ होने वालो की संख्या बढ़ रही हैं। कुल 12 हजार 400 नये पॉजिटिव प्रकरणों की तुलना 13 हजार 584 व्यक्ति स्वस्थ हुए है।    उन्होंने बताया कि सरकार अस्पतालों में बिस्तरों, दवाइयों, उपकरणों इंजेक्शन आदि की उपलब्धता के लिए निरंतर कार्य कर रही है। ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए हवाई जहाज और ट्रेनों से व्यवस्था करने के साथ ही स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन उत्पादन के प्रयास युद्ध स्तर पर कर रहे हैं। उपचार व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए संक्रमण की चेन तोडऩा जरुरी है। यह सबके सहयोग से ही हो सकता है। इसलिए जनता कफ्र्यू का पालन सख्ती से करें। घर पर रह कर कोरोना संक्रमण चेन को तोडऩे में सहयोगी बनें। उन्होंने कहा कि कोरोना मानवता का दुश्मन है। उसे रोकने के लिए मिलना-जुलना, समारोह आयोजन करना, शादी विवाह के कार्यक्रम करना और भीड़ लगाना बंद करना होगा।   सीएम ने कहा कि संक्रमण का प्रसार यदि तेजी से होता रहा तो सारी व्यवस्थाएं ध्वस्त हो सकती हैं। इसलिए संक्रमण नियंत्रण की गाइड लाइन का कड़ाई से पालन जरुरी है। कफ्र्यू से गरीबों को होने वाली दिक्कतों को दूर करने में सरकार पूरा सहयोग कर रही है। उन्होंने पथ विक्रेताओं को बताया कि उनके खातों में एक-एक हजार की राशि जमा कराने के साथ ही नि:शुल्क अनाज भी दिया जा रहा है। मई और जून दो माहों में राज्य सरकार की ओर से 5-5 किलो ग्राम और केन्द्र सरकार की ओर से 5-5 किलोग्राम नि:शुल्क अनाज प्रत्येक व्यक्ति को मिलेगा। उन्होंने पथ विक्रेताओं को आवश्वस्त किया कि जनता कर्फ्यू  से होने वाली दिक्कतों में मदद के समान ही सरकार संक्रमण नियंत्रण उपरांत उनके व्यवसाय को बढ़ाने में सहयोग करेगी।    मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि सब स्वस्थ रहे, सबका परिवार स्वस्थ रहें। इसके लिए सबको संकल्पित हो कर, मिलकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि संक्रमण तेजी से फेफड़ो में घुस जाता है। इसलिए इसका तत्काल उपचार जरुरी है। जितनी जल्दी संक्रमण की जानकारी मिलती है। उसका उपचार उतनी ही जल्दी सरलता से हो जाता है। इसलिए यह जरुरी है कि सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार के लक्षणों पर तत्काल टेस्ट कराए और तुरंत दवा लेना शुरू कर दें। उन्होंने कहा कि संक्रमण को छुपाना जानलेवा है। इसलिए गांव, वार्ड मोहल्ले बस्ती में जिस किसी में भी संक्रमण के लक्षण दिखे उसकी तुरंत जाँच कराए। प्रारंभिक अवस्था में जानकारी से घर पर अथवा कोविड केयर सेंटर में डाक्टर की देखरेख में आसानी से स्वस्थ हो सकते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, Chief Minister appealed ,street vendors, cooperate breaking

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास से प्रदेश के 6 लाख 10 हजार से अधिक शहरी असंगठित कामगारों के खातो में 61 करोड़ रुपए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर द्वारा अंतरित किये। इस दौरान सीएम शिवराज ने कहा है कि कोरोना से लड़ाई घर के अंदर रह कर ही  लड़ी जा सकती है। उन्होंने शहरी पथ विक्रेताओं से अपील की है कि कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे में सहयोग करें। शहरी पथ विक्रेताओं के लिए एक-एक हजार रुपए की राशि उनके बैंक खाते में जमा होने की जानकारी देते हुए, उनसे अनुरोध किया है कि राशि निकालने के लिए बैंकों में भीड़ नहीं लगे, इस बात का विशेष ध्यान रखें।   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना की संक्रमण चेन तोडऩा ही उसके नियंत्रण का सफल तरीका है। जनता कफ्र्यू के द्वारा जनता के सहयोग से प्रदेश में संक्रमण की स्थिति पर नियंत्रण के परिणाम मिलने लगे हैं। एक्टिव केसेस की संख्या में प्रदेश का स्थान देश में 7वें से घटकर 13वें स्थान पर आ गया है, पॉजिटिव केस वृद्धि दर जो 25 प्रतिशत से ऊपर चली गई थी वह घट कर 21 प्रतिशत हो गई है। पॉजिटिव केसेस की संख्या घट रही और स्वस्थ होने वालो की संख्या बढ़ रही हैं। कुल 12 हजार 400 नये पॉजिटिव प्रकरणों की तुलना 13 हजार 584 व्यक्ति स्वस्थ हुए है।    उन्होंने बताया कि सरकार अस्पतालों में बिस्तरों, दवाइयों, उपकरणों इंजेक्शन आदि की उपलब्धता के लिए निरंतर कार्य कर रही है। ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए हवाई जहाज और ट्रेनों से व्यवस्था करने के साथ ही स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन उत्पादन के प्रयास युद्ध स्तर पर कर रहे हैं। उपचार व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए संक्रमण की चेन तोडऩा जरुरी है। यह सबके सहयोग से ही हो सकता है। इसलिए जनता कफ्र्यू का पालन सख्ती से करें। घर पर रह कर कोरोना संक्रमण चेन को तोडऩे में सहयोगी बनें। उन्होंने कहा कि कोरोना मानवता का दुश्मन है। उसे रोकने के लिए मिलना-जुलना, समारोह आयोजन करना, शादी विवाह के कार्यक्रम करना और भीड़ लगाना बंद करना होगा।   सीएम ने कहा कि संक्रमण का प्रसार यदि तेजी से होता रहा तो सारी व्यवस्थाएं ध्वस्त हो सकती हैं। इसलिए संक्रमण नियंत्रण की गाइड लाइन का कड़ाई से पालन जरुरी है। कफ्र्यू से गरीबों को होने वाली दिक्कतों को दूर करने में सरकार पूरा सहयोग कर रही है। उन्होंने पथ विक्रेताओं को बताया कि उनके खातों में एक-एक हजार की राशि जमा कराने के साथ ही नि:शुल्क अनाज भी दिया जा रहा है। मई और जून दो माहों में राज्य सरकार की ओर से 5-5 किलो ग्राम और केन्द्र सरकार की ओर से 5-5 किलोग्राम नि:शुल्क अनाज प्रत्येक व्यक्ति को मिलेगा। उन्होंने पथ विक्रेताओं को आवश्वस्त किया कि जनता कर्फ्यू  से होने वाली दिक्कतों में मदद के समान ही सरकार संक्रमण नियंत्रण उपरांत उनके व्यवसाय को बढ़ाने में सहयोग करेगी।    मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि सब स्वस्थ रहे, सबका परिवार स्वस्थ रहें। इसके लिए सबको संकल्पित हो कर, मिलकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि संक्रमण तेजी से फेफड़ो में घुस जाता है। इसलिए इसका तत्काल उपचार जरुरी है। जितनी जल्दी संक्रमण की जानकारी मिलती है। उसका उपचार उतनी ही जल्दी सरलता से हो जाता है। इसलिए यह जरुरी है कि सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार के लक्षणों पर तत्काल टेस्ट कराए और तुरंत दवा लेना शुरू कर दें। उन्होंने कहा कि संक्रमण को छुपाना जानलेवा है। इसलिए गांव, वार्ड मोहल्ले बस्ती में जिस किसी में भी संक्रमण के लक्षण दिखे उसकी तुरंत जाँच कराए। प्रारंभिक अवस्था में जानकारी से घर पर अथवा कोविड केयर सेंटर में डाक्टर की देखरेख में आसानी से स्वस्थ हो सकते हैं।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, Kamal Nath targeted, central , state government

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर विपक्ष लगातार आक्रामक हो गई है। इसी क्रम में मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने भी शिवराज सरकार हमला बोला है। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से लगातार बढ़ रहे कोरोना के केस और अव्यवस्थाओं को लेकर राज्य और केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।   कमलनाथ ने ट्वीट कर सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा ‘शिवराज सरकार में प्रदेश के अस्पतालों में ना बेड, ना इलाज, ना ऑक्सीजन, ना जीवन रक्षक दवाइयाँ व इंजेक्शन और अब कोरोना संक्रमण रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली वैक्सीन भी नहीं? उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि 1 मई से 18 वर्ष से अधिक के युवाओं को वैक्सीन लगाने की बढ़ चढक़र घोषणा की गयी थी, लोगों ने बड़ी संख्या में रजिस्ट्रेशन भी करवा लिये और अभी वैक्सीन के ही पते नहीं, कब आयेगी, कब लगेगी, कुछ तय नहीं?ये कैसी सरकार?   एक अन्य ट्वीट कर कमलनाथ ने केन्द्र सरकार और पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि खुद को विश्वगुरु बताते थे, विश्व भर में वैक्सीन भेजने के बड़े- बड़े दावे करते थे और अपने देश में, अपने ही नागरिकों के लिये वैक्सीन के ही पते नहीं? ना कोरोना संक्रमण होने पर इलाज और ना रोकने के लिये वैक्सीन? जनता सिर्फ भगवान भरोसे, ये कैसे अच्छे दिन आ गये?

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal, Every district,Madhya Pradesh ,become self-sufficient,Oxygen

भोपाल। मध्‍य प्रदेश को मेडिकल ऑक्‍सीजन में आत्‍मनिर्भर बनाने की दिशा में तेजी से काम शुरू कर दिया गया है। कोविड महामारी से सबक लेते हुए सरकार प्रदेश के हर जिला अस्‍पताल को अब ऑक्‍सीजन के स्‍तर पर आत्‍मनिर्भर बनाने जा रही है। निजी अस्‍पतालों से भी कहा जा रहा है कि वे अपने यहां ऑक्‍सीजन प्‍लांट लगाएं, उनकी जितनी अधिक इस कार्य में यथासंभव सहायता होगी वह राज्‍य सरकार करेगी। इसके संकेत फिर एक बार मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बाद  जल संसाधन एवं इंदौर के प्रभारी मंत्री  तुलसीराम सिलावट ने दिए हैं।    इस दिशा में शुक्रवार इंदौर के सभी निजी अस्पतालों से कहा गया है कि वे ऑक्सीजन की उपलब्धता में आत्मनिर्भर बनें। अपने हॉस्पिटल में ऑक्सीजन का प्लांट लगाएं, मध्य प्रदेश सरकार इस कार्य में हर संभव सहयोग प्रदान करेगी। श्री सिलावट ने कहा है कि वर्तमान परिस्थितियों में अस्पतालों का ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर होना बेहद ज़रूरी हो गया है। ऑक्सीजन के लिए अस्पतालों का लगातार सरकार पर निर्भर रहना उचित नहीं है। मरीज़ों के परिजनों को भी ऑक्सीजन की व्यवस्था बनाने में अपार कष्ट हो रहा है। अतः ऐसी परिस्थितियों में प्रत्येक हॉस्पिटल में ऑक्सीजन प्लांट बने यह ज़रूरी हो गया है। ऐसा किया जाना दीर्घ अवधि के लिए भी बेहद लाज़मी हो गया है।    इस दौरान मंत्री सिलावट ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री श्रीचौहान से इस संबंध में चर्चा की है। जो अस्पताल अपने परिसर में ऑक्सीजन प्लांट लगाएंगे उन्हें जीएसटी अथवा अन्य करों में छूट भी प्रदान की जाएगी, इसके अलावा भी अन्‍य प्रयास होंगे।  अभी अप्रैल माह में पहले की अपेक्षा ऑक्सीजन की उपलब्धता पाँच गुना बढ़ी है।    उल्‍लेखनीय है कि मुख्यमंत्री  शिवराज द्वारा अब तक बताया गया है कि केंद्र सरकार से643 मीट्रिक टन प्रतिदिन ऑक्सीजन आपूर्ति की स्वीकृति मिली है। रेल और वायु मार्ग से नियमित ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही है। इसके साथ ही ऑक्सीजन की आपूर्ति को सुचारू बनाने के लिये राज्य सरकार द्वारा 2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे गये हैं। प्रदेश के 34 जिलों में स्थानीय व्यवस्था से एक हजार से अधिक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स लगाए जा चुके हैं।    काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च, भारत सरकार द्वारा अधिकृत संस्था के माध्यम से प्रदेश के पांच जिला चिकित्सालयों भोपाल, रीवा, इंदौर ग्वालियर और शहडोल में नवीनतम वीपीएसए तकनीक आधारित ऑक्सीजन प्लांट्स एक करोड़ 60 लाख रुपये की लागत से लगाये जा रहे हैं। इनमें 300 से 400 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन बनेगी जो लगभग 50 बेड्स के लिए पर्याप्त होगी। इस नवीनतम तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है।   ऑक्‍सीजन बढ़ाने के ये भी हो रहे प्रयास-  इसी प्रकार रक्षा मंत्रालय की एजेंसी डीआरडीओ द्वारा अस्पताल में ही नयी डेबेल तकनीक के आधार पर चलने वाले ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट विकसित किये गए हैं। मध्यप्रदेश के आठ जिलों बालाघाट, धार, दमोह, जबलपुर, बड़वानी, शहडोल, सतना और मंदसौर में पांच करोड़ 87 लाख रुपये से अधिक की लागत के इसी तकनीक आधारित 570 लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाले ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट लगाए जा रहे हैं।   प्रदेश के आठ जिलों में भारत सरकार के सहयोग से पीएसए तकनीक आधारित आठ ऑक्सीजन प्लांट्स स्वीकृत हुए हैं, जिनमें से छह प्लांट्स ने कार्य करना प्रारंभ कर दिया है। प्रदेश के 37 जिलों के लिए राज्य सरकार स्वयं के बजट से जिला अस्पतालों में पीएसए तकनीक से तैयार होने वाले नए ऑक्सीजन प्लांट्स लगा रही है। इनमें से प्रथम चरण में 16 मई तक 13 जिलों में प्लांट प्रारंभ हो जायेंगे। द्वितीय चरण में नौ जिलों में प्लांट 23 मई तक चालू हो जायेंगे। तृतीय चरण में शेष 15 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट्स 20 जुलाई तक प्रारंभ करने का लक्ष्य है।   इसके अलावा प्रदेश मे स्थित थर्मल पॉवर स्टेशंस के माध्यम से खंडवा और सारणी में 7000 लीटर क्षमता वाले नए ऑक्सीजन प्लांट अगले तीन सप्ताह में तैयार हो जाएंगे। इन प्लांट से लगभग 200 सिलेंडर ऑक्सीजन प्रतिदिन प्राप्त हो सकेगी। इसी प्रकार से प्रदेश के सरकारी अस्पतालों के बेड्स को ऑक्सीजन बेड्स में परिवर्तित करने के लिए पाइप लाइन डालने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। जिला अस्पतालों के 2,302 बिस्तरों में से अब तक 1058 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप लाइन डालने का कार्य पूर्ण हो चुका है। प्रदेश के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के 4643 बिस्तरों में से अब तक 304 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप लाइन डाली जा चुकी है।

Dakhal News

Dakhal News 30 April 2021


bhopal,Chief Minister Shivraj ,reviewed progress , hospital under construction , Bina Refinery

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को बीना रिफायनरी के पास निर्मित होने जा रहे एक हजार बिस्तरीय अस्थाई अस्पताल के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने अस्पताल को समय-सीमा में प्रारंभ करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये। वर्चुअल समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई, आयुक्त स्वास्थ्य आकाश त्रिपाठी भी उपस्थित थे।   सीएम शिवराज ने अस्पताल निर्माण के संबंध में टाइम लाइन के अनुसार व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। बताया गया कि अस्पताल का अंतिम डिजाइन तैयार कर लिया गया है। अस्पताल में ऑक्सीजन गैस को कम्प्रेस करने के लिए 2 कम्प्रेसर की व्यवस्था कर ली गई है। इन्हें इन्स्टाल करने की कार्रवाई शीघ्र पूरी कर ली जायेगी। सीएम ने कहा कि अस्पताल परियोजना के प्रतिवेदन तैयार कर सक्षम स्वीकृति के लिए समानांतर पेपर वर्क भी पूरा करें। परियोजना की समीक्षा के लिए संभाग एवं राज्य स्तरीय समितियों का गठन भी कर लिया जाए।   अपर मुख्य सचिव श्री सुलेमान ने बताया कि यह अस्पताल रिफरल होगा। इसमें केवल अन्य अस्पतालों द्वारा रिफर किए गये मरीजों को देखा जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी सीधे ओपीडी के पेशेन्ट अटेंड नहीं किए जाएंगे। सीधे ओपीडी के संबंध में परिस्थिति अनुसार भविष्य में निर्णय  किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्लांट से अस्पताल तक 800 मीटर लंबी पाईप लाइन डाली जा रही है। इसके लिए एक दो दिन में पाईप आ जायेंगे। लाईन बिछाने का काम शीघ्र प्रारंभ हो जाएगा। प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई ने बताया कि अस्पताल के अंदर बेड-टू-बेड पाइप लाईन का काम चलन में है, जिसे 8 से 10 दिन में पूरा कर लिया जाएगा।   उल्लेखनीय है कि बीना रिफायनरी के पास चक्क गाँव  में 1000 बिस्तरीय अस्थाई अस्पताल बनाया जा रहा है। बीना में ऑक्सीजन गैस की उपलब्धता है परंतु सिलेण्डरों के माध्यम से इसका परिवहन नहीं किये जा सकने के कारण बीना में ही अस्पताल निर्माण का कार्य किया जा रहा है। इससे उपलब्ध ऑक्सीजन का उपयोग भी हो सकेगा एवं स्थानीय मरीजों को भी यथा स्थान उपचार मिल सकेगा।

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


bhopal,Chief Minister Shivraj ,reviewed progress , hospital under construction , Bina Refinery

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को बीना रिफायनरी के पास निर्मित होने जा रहे एक हजार बिस्तरीय अस्थाई अस्पताल के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने अस्पताल को समय-सीमा में प्रारंभ करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये। वर्चुअल समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई, आयुक्त स्वास्थ्य आकाश त्रिपाठी भी उपस्थित थे।   सीएम शिवराज ने अस्पताल निर्माण के संबंध में टाइम लाइन के अनुसार व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। बताया गया कि अस्पताल का अंतिम डिजाइन तैयार कर लिया गया है। अस्पताल में ऑक्सीजन गैस को कम्प्रेस करने के लिए 2 कम्प्रेसर की व्यवस्था कर ली गई है। इन्हें इन्स्टाल करने की कार्रवाई शीघ्र पूरी कर ली जायेगी। सीएम ने कहा कि अस्पताल परियोजना के प्रतिवेदन तैयार कर सक्षम स्वीकृति के लिए समानांतर पेपर वर्क भी पूरा करें। परियोजना की समीक्षा के लिए संभाग एवं राज्य स्तरीय समितियों का गठन भी कर लिया जाए।   अपर मुख्य सचिव श्री सुलेमान ने बताया कि यह अस्पताल रिफरल होगा। इसमें केवल अन्य अस्पतालों द्वारा रिफर किए गये मरीजों को देखा जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी सीधे ओपीडी के पेशेन्ट अटेंड नहीं किए जाएंगे। सीधे ओपीडी के संबंध में परिस्थिति अनुसार भविष्य में निर्णय  किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्लांट से अस्पताल तक 800 मीटर लंबी पाईप लाइन डाली जा रही है। इसके लिए एक दो दिन में पाईप आ जायेंगे। लाईन बिछाने का काम शीघ्र प्रारंभ हो जाएगा। प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई ने बताया कि अस्पताल के अंदर बेड-टू-बेड पाइप लाईन का काम चलन में है, जिसे 8 से 10 दिन में पूरा कर लिया जाएगा।   उल्लेखनीय है कि बीना रिफायनरी के पास चक्क गाँव  में 1000 बिस्तरीय अस्थाई अस्पताल बनाया जा रहा है। बीना में ऑक्सीजन गैस की उपलब्धता है परंतु सिलेण्डरों के माध्यम से इसका परिवहन नहीं किये जा सकने के कारण बीना में ही अस्पताल निर्माण का कार्य किया जा रहा है। इससे उपलब्ध ऑक्सीजन का उपयोग भी हो सकेगा एवं स्थानीय मरीजों को भी यथा स्थान उपचार मिल सकेगा।

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


bhopal,Former Chief Minister, Kamal Nath discusses, current situation ,corona epidemic

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज गुरुवार को भोपाल स्थित अपने निवास पर कोरोना महामारी के इस भीषण संकट काल में प्रदेश की वर्तमान परिस्थितियों व इस संकट काल में कांग्रेसजनों द्वारा प्रदेश भर में जरूरतमंद व पीडि़तों की, की जा रही निरंतर आवश्यक मदद व सेवा कार्यों पर प्रमुख कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक की। बैठक में पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश पचौरी, अरुण यादव  सहित कई प्रमुख कांग्रेस नेतागण उपस्थित थे। बैठक के प्रारंभ में स्व.मनोज पाठक, स्व. कलावती भूरिया, स्व. मांडवी चौहान के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष मांडवी चौहान के आज दुखद निधन का समाचार  बेहद दुखदायक व व्यथित करने वाला है। वे एक बेहद कर्मठ, पार्टी के प्रति समर्पित, सक्रिय, मिलनसार, ऊर्जावान व्यक्तित्व की धनी थी। उनका निधन पूरे कांग्रेस परिवार के लिये और मेरे लिये भी व्यक्तिगत क्षति है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान व पीछे परिजनो को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे। पूर्व सीएम कमलनाथ ने देवास के पूर्व विधायक व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजेन्द्र सिंह बघेल के दुखद निधन पर शोक संवेदनाएँ व्यक्त करते हुए कहा कि बघेल का निधन कांग्रेस परिवार के लिये एक बड़ी क्षति है ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे।

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


bhopal,CM Shivraj ,Kamal Nath ,expressed grief over death ,Mahila Congress state president

भोपाल। मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मांडवी चौहान का कोरोना से निधन हो गया। उनके निधन की खबर से पार्टी और प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई। मांडवी चौहान के निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान और पूर्व सीएम कमलनाथ व दिग्विजय सिंह ने दुख व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिवंगत कांग्रेस नेत्री को श्रद्धांजलि देते हुए अपने शोक संदेश में कहा ‘मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष मांडवी चौहान जी के निधन का दुखद समाचार मिला। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान और शोक संतप्त परिजनों को यह गहन पीड़ा सहन करने की शक्ति दें। विनम्र श्रद्धांजलि!   मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति-पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने मांडवी चौहान के निधन को व्यक्तिगत क्षति बताते हुए गहरा दुख प्रकट किया है। उन्होंने कांग्रेस नेत्री को श्रद्धांजलि देते हुए कहा ‘मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष श्रीमती मांडवी चौहान के दुखद निधन का समाचार बेहद दुखदायक व व्यथित करने वाला है। वे एक बेहद कर्मठ, पार्टी के प्रति समर्पित, सक्रिय, मिलनसार, ऊर्जावान व्यक्तित्व की धनी थी। उनका निधन पूरे कांग्रेस परिवार के लिये और मेरे लिये भी व्यक्तिगत क्षति है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे।   दिग्विजय सिंह ने दी श्रद्धांजलि-पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भी ट्वीट कर मांडवी चौहान के निधन पर शोक जताया। उन्होंने कहा कि मांडवी चौहान के दुखद निधन के समाचार सुन कर बेहद दुख हुआ। वे एक कर्मठ जुझारू सामाजिक कार्यकर्ता थीं, परिवार जनों को हमारी संवेदनाएं ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें।

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


bhopal,CM Shivraj ,Kamal Nath ,expressed grief over death ,Mahila Congress state president

भोपाल। मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मांडवी चौहान का कोरोना से निधन हो गया। उनके निधन की खबर से पार्टी और प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई। मांडवी चौहान के निधन पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान और पूर्व सीएम कमलनाथ व दिग्विजय सिंह ने दुख व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिवंगत कांग्रेस नेत्री को श्रद्धांजलि देते हुए अपने शोक संदेश में कहा ‘मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष मांडवी चौहान जी के निधन का दुखद समाचार मिला। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान और शोक संतप्त परिजनों को यह गहन पीड़ा सहन करने की शक्ति दें। विनम्र श्रद्धांजलि!   मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति-पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने मांडवी चौहान के निधन को व्यक्तिगत क्षति बताते हुए गहरा दुख प्रकट किया है। उन्होंने कांग्रेस नेत्री को श्रद्धांजलि देते हुए कहा ‘मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष श्रीमती मांडवी चौहान के दुखद निधन का समाचार बेहद दुखदायक व व्यथित करने वाला है। वे एक बेहद कर्मठ, पार्टी के प्रति समर्पित, सक्रिय, मिलनसार, ऊर्जावान व्यक्तित्व की धनी थी। उनका निधन पूरे कांग्रेस परिवार के लिये और मेरे लिये भी व्यक्तिगत क्षति है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे।   दिग्विजय सिंह ने दी श्रद्धांजलि-पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भी ट्वीट कर मांडवी चौहान के निधन पर शोक जताया। उन्होंने कहा कि मांडवी चौहान के दुखद निधन के समाचार सुन कर बेहद दुख हुआ। वे एक कर्मठ जुझारू सामाजिक कार्यकर्ता थीं, परिवार जनों को हमारी संवेदनाएं ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें।

Dakhal News

Dakhal News 29 April 2021


bhopal, Oxygen supply, state increased five-fold,Chief Minister

भोपाल। मरीजों के उपचार में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी। प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिये जो प्रयास किये गये, उसमें बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित हुई है। प्रदेश में अप्रैल माह में ही ऑक्सीजन की उपलब्धता पाँच गुना हो गई है। प्रदेश में 8 अप्रैल को 130 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की उपलब्धता थी, जो आज बढ़कर 540 मीट्रिक टन हो गई है। उपलब्ध ऑक्सीजन को विभिन्न मार्गों से होते हुए 18 जिलों में पहुँचाया गया है।  हमारा प्रयास है कि सभी जिलों में मांग अनुसार ऑक्सीजन की आपूर्ति हो। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार कहीं।    उन्‍होंने बताया कि प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिये सरकार ने हर मोर्चे पर प्रयास किये हैं। समेकित प्रयासों से अल्प समय में मध्यप्रदेश को आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन मिलना शुरू हो गई है। प्रदेश के भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट से इंडियन एयरफोर्स के विशेष विमानों से ऑक्सीजन टैंकर प्रतिदिन बोकारो और जामनगर भेजे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश से जिन टैंकरों को ऑक्सीजन के लिये भेजा गया, अब वे ऑक्सीजन संजीवनी लेकर वापस आना शुरू हो गये हैं। यह क्रम लगातार जारी रखा जाएगा। कोरोना काल में ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिये मुख्यमंत्री चौहान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और संबंधित केन्द्रीय मंत्रालयों के द्वारा दिये गये सहयोग के प्रति आभार माना है।    चौहान ने बताया कि ऑक्सीजन की आपूर्ति को सुचारू बनाने के लिये राज्य सरकार द्वारा 2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे गये हैं। इसके साथ ही जिलों में स्थानीय व्यवस्था से भी लगभग 2 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स लगाए जा चुके हैं। प्रदेश के  भोपाल, रीवा, इंदौर, ग्वालियर और शहडोल जिला चिकित्सालयों में एक करोड़ 60 लाख रुपये से नवीनतम वीपीएसए तकनीक आधारित ऑक्सीजन प्लांट्स लगाये जा रहे हैं। इस नवीनतम तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है। इन प्लांट से बनने वाली ऑक्सीजन 50 बेड्स के लिए उपलब्ध हो सकेगी।   ये कार्य भी हो रहा  प्रदेश के बालाघाट, धार, दमोह, जबलपुर, बड़वानी, शहडोल, सतना और मंदसौर जिलों में पांच करोड़ 87 लाख रुपये से अधिक की लागत के डेबेल तकनीक आधारित 570 लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाले ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट लगाए जा रहे हैं। इसके साथ ही आठ जिलों में भारत सरकार के सहयोग से पीएसए तकनीक आधारित 8 ऑक्सीजन प्लांट्स स्वीकृत हुए हैं, जिनमें से छह प्लांट्स ने कार्य करना प्रारंभ कर दिया है।  इसके अलावा प्रदेश के 37 जिलों के लिए राज्य सरकार स्वयं के बजट से जिला अस्पतालों में पीएसए तकनीक से तैयार होने वाले नए ऑक्सीजन प्लांट्स लगा रही है। खंडवा और सारणी थर्मल पॉवर स्टेशंस के माध्यम से सात हजार लीटर क्षमता वाले नए ऑक्सीजन प्लांट अगले तीन सप्ताह में तैयार हो जाएंगे। इन प्लांट से लगभग 200 सिलेंडर ऑक्सीजन प्रतिदिन प्राप्त हो सकेगी। प्रदेश के सरकारी अस्पतालों के बेड्स को ऑक्सीजन बेड्स में परिवर्तित करने के लिए पाइप लाइन डालने का कार्य भी युद्ध स्तर पर जारी है।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


bhopal, Oxygen supply, state increased five-fold,Chief Minister

भोपाल। मरीजों के उपचार में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी। प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिये जो प्रयास किये गये, उसमें बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित हुई है। प्रदेश में अप्रैल माह में ही ऑक्सीजन की उपलब्धता पाँच गुना हो गई है। प्रदेश में 8 अप्रैल को 130 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की उपलब्धता थी, जो आज बढ़कर 540 मीट्रिक टन हो गई है। उपलब्ध ऑक्सीजन को विभिन्न मार्गों से होते हुए 18 जिलों में पहुँचाया गया है।  हमारा प्रयास है कि सभी जिलों में मांग अनुसार ऑक्सीजन की आपूर्ति हो। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार कहीं।    उन्‍होंने बताया कि प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिये सरकार ने हर मोर्चे पर प्रयास किये हैं। समेकित प्रयासों से अल्प समय में मध्यप्रदेश को आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन मिलना शुरू हो गई है। प्रदेश के भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट से इंडियन एयरफोर्स के विशेष विमानों से ऑक्सीजन टैंकर प्रतिदिन बोकारो और जामनगर भेजे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश से जिन टैंकरों को ऑक्सीजन के लिये भेजा गया, अब वे ऑक्सीजन संजीवनी लेकर वापस आना शुरू हो गये हैं। यह क्रम लगातार जारी रखा जाएगा। कोरोना काल में ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिये मुख्यमंत्री चौहान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और संबंधित केन्द्रीय मंत्रालयों के द्वारा दिये गये सहयोग के प्रति आभार माना है।    चौहान ने बताया कि ऑक्सीजन की आपूर्ति को सुचारू बनाने के लिये राज्य सरकार द्वारा 2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे गये हैं। इसके साथ ही जिलों में स्थानीय व्यवस्था से भी लगभग 2 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स लगाए जा चुके हैं। प्रदेश के  भोपाल, रीवा, इंदौर, ग्वालियर और शहडोल जिला चिकित्सालयों में एक करोड़ 60 लाख रुपये से नवीनतम वीपीएसए तकनीक आधारित ऑक्सीजन प्लांट्स लगाये जा रहे हैं। इस नवीनतम तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है। इन प्लांट से बनने वाली ऑक्सीजन 50 बेड्स के लिए उपलब्ध हो सकेगी।   ये कार्य भी हो रहा  प्रदेश के बालाघाट, धार, दमोह, जबलपुर, बड़वानी, शहडोल, सतना और मंदसौर जिलों में पांच करोड़ 87 लाख रुपये से अधिक की लागत के डेबेल तकनीक आधारित 570 लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाले ऑनसाईट ऑक्सीजन गैस जनरेटर प्लांट लगाए जा रहे हैं। इसके साथ ही आठ जिलों में भारत सरकार के सहयोग से पीएसए तकनीक आधारित 8 ऑक्सीजन प्लांट्स स्वीकृत हुए हैं, जिनमें से छह प्लांट्स ने कार्य करना प्रारंभ कर दिया है।  इसके अलावा प्रदेश के 37 जिलों के लिए राज्य सरकार स्वयं के बजट से जिला अस्पतालों में पीएसए तकनीक से तैयार होने वाले नए ऑक्सीजन प्लांट्स लगा रही है। खंडवा और सारणी थर्मल पॉवर स्टेशंस के माध्यम से सात हजार लीटर क्षमता वाले नए ऑक्सीजन प्लांट अगले तीन सप्ताह में तैयार हो जाएंगे। इन प्लांट से लगभग 200 सिलेंडर ऑक्सीजन प्रतिदिन प्राप्त हो सकेगी। प्रदेश के सरकारी अस्पतालों के बेड्स को ऑक्सीजन बेड्स में परिवर्तित करने के लिए पाइप लाइन डालने का कार्य भी युद्ध स्तर पर जारी है।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


bhopal, Home Minister, Dr. Narottam Mishra ,appealed state , large numbers

भोपाल। देश भर में एक मई से वैक्सीनेशन का तीसरा दौर शुरू होने जा रहा है। तीसरे दौर में 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। मप्र में भी वैक्सीनेशन की तैयारी पूरी हो गई है और आज से रजिस्ट्रेशन शुरू हो रहा है। इस बीच प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने प्रदेश की जनता बड़ा संख्या में वैक्सीनेशन अभियान में शामिल होने की अपील की है।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार को अपने बयान में कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण बेहद जरूरी है। कोरोना के खिलाफ यह रक्षाकवच है। दुनिया के कई देशों ने वैक्सीनेशन के माध्यम से ही कोरोना पर विजय पाई है। अत: देश में 01 मई से शुरू हो रहे 18+ के टीकाकरण अभियान के लिए बड़ी संख्या में रजिस्ट्रेशन करवाकर राष्ट्रीय कत्र्तव्य निभाएं। इस समय वैक्सीनेशन कराना राष्ट्रभक्ति से कम नही है। इसके अलावा गृहमंत्री ने जनता से आग्रह करते हुए कहा कि कोरोना महामारी से निपटने में स्वास्थ्य,पुलिस और आकस्मिक सेवाओं के फ्रंटलाइन वर्कर्स अपनी जान पर खेलकर जनहित में ड्यूटी निभा रहे हैं। अत: जनता से मेरा अनुरोध है कि वह डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ और पुलिस जवानों की हौसला अफजाई करे। लोग उनसे अनावश्यक विवाद और दुव्र्यवहार नहीं करें।   दिग्विजय सिंह के ट्वीट और जीतू पटवारी के पत्र पर किया पलटवारइस दौरान मंत्री मिश्रा ने दिग्विजय सिंह के ट्वीट और जीतू पटवारी के पत्र पर पलटवार करते हुए कहा कि ये लोग केवल ट्वीट और पत्र की राजनीति करते हैं। ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर गृह मंत्री डॉ. मिश्रा  ने बताया कि प्रदेश में बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन की उपलब्धता हो रही है, अब लगातार ऑक्सीजन मिलने से मरीजों को राहत मिलेगी। कोरोना की महामारी के समय भी राजनीति कर रहे हैं, घरों से बाहर नही निकल रहे हैं, जनता इन्हें माफ  नही करेगी।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


bhopal, Home Minister, Dr. Narottam Mishra ,appealed state , large numbers

भोपाल। देश भर में एक मई से वैक्सीनेशन का तीसरा दौर शुरू होने जा रहा है। तीसरे दौर में 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। मप्र में भी वैक्सीनेशन की तैयारी पूरी हो गई है और आज से रजिस्ट्रेशन शुरू हो रहा है। इस बीच प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने प्रदेश की जनता बड़ा संख्या में वैक्सीनेशन अभियान में शामिल होने की अपील की है।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार को अपने बयान में कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण बेहद जरूरी है। कोरोना के खिलाफ यह रक्षाकवच है। दुनिया के कई देशों ने वैक्सीनेशन के माध्यम से ही कोरोना पर विजय पाई है। अत: देश में 01 मई से शुरू हो रहे 18+ के टीकाकरण अभियान के लिए बड़ी संख्या में रजिस्ट्रेशन करवाकर राष्ट्रीय कत्र्तव्य निभाएं। इस समय वैक्सीनेशन कराना राष्ट्रभक्ति से कम नही है। इसके अलावा गृहमंत्री ने जनता से आग्रह करते हुए कहा कि कोरोना महामारी से निपटने में स्वास्थ्य,पुलिस और आकस्मिक सेवाओं के फ्रंटलाइन वर्कर्स अपनी जान पर खेलकर जनहित में ड्यूटी निभा रहे हैं। अत: जनता से मेरा अनुरोध है कि वह डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ और पुलिस जवानों की हौसला अफजाई करे। लोग उनसे अनावश्यक विवाद और दुव्र्यवहार नहीं करें।   दिग्विजय सिंह के ट्वीट और जीतू पटवारी के पत्र पर किया पलटवारइस दौरान मंत्री मिश्रा ने दिग्विजय सिंह के ट्वीट और जीतू पटवारी के पत्र पर पलटवार करते हुए कहा कि ये लोग केवल ट्वीट और पत्र की राजनीति करते हैं। ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर गृह मंत्री डॉ. मिश्रा  ने बताया कि प्रदेश में बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन की उपलब्धता हो रही है, अब लगातार ऑक्सीजन मिलने से मरीजों को राहत मिलेगी। कोरोना की महामारी के समय भी राजनीति कर रहे हैं, घरों से बाहर नही निकल रहे हैं, जनता इन्हें माफ  नही करेगी।

Dakhal News

Dakhal News 28 April 2021


bhopal,Resolution fulfilled, Chief Minister Chouhan, planted coconut plant

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को मुख्यमंत्री निवास के प्रांगण में नारियल का पौधा रोपा। श्री चौहान ने पौधा रोपण की संकल्प यात्रा के 68 वें दिन नारियल के पौधे के रूप में 71 वाँ पौधा रोपा है। इसके पश्चात मुख्यमंत्री बीना रिफायनरी में बनने वाले 1000 बिस्तरीय मेकशिफ्ट अस्पताल के निर्माण स्थल के निरीक्षण के लिए रवाना हो गए।   उल्‍लेखनीय है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदूषण मुक्त-ऑक्सीजन युक्त मध्यप्रदेश की एक वर्षीय पौधा रोपण संकल्प यात्रा 19 फरवरी को अमरकंटक में गुल-बकावली का पौधा रोपकर शुरू की थी। इस यात्रा में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज तक अमरकंटक, होशंगाबाद, भोपाल, पश्चिम बंगाल के जगतवल्लभपुर में बांस का पौधा, जबलपुर, पन्ना, गुजरात में भरूच स्थित मनन आश्रम में पौधा रोपण कर अपनी यात्रा को प्रदेश के बाहर प्रवास पर रहने के बावजूद निर्बाध जारी रखा।   68 दिन में रोपे 38 किस्म के पौधे उनके इस तरह से नियमित एक पौधा लगाने को लेकर सूचना अधिकारी मुकेश दुबे ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपनी इस संकल्प यात्रा में 38 किस्म के पौधे रोपे जिनमें गुलबकावली, साल, आम, पारिजात, सप्तपर्णी, चीकू, नीम, सीता-अशोक, शीशम, करंज, पुत्रजीवक, वटवृक्ष, पीपल, कदम, बांस, हरश्रंगार, गूलर, बेलपात्र, बरगद, खिरनी, बादाम, रूद्राक्ष, चंदन, नारियल, महानीम, चाँदनी, अगर, रबर, गुलमोहर, चंपा, मोलश्री, सिकंदरा, फाइकस पांडा, मुनगा, अमरूद, आंवला और पारस-पीपल के पौधे अब तक रोपे हैं ।

Dakhal News

Dakhal News 27 April 2021


bhopal,Resolution fulfilled, Chief Minister Chouhan, planted coconut plant

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को मुख्यमंत्री निवास के प्रांगण में नारियल का पौधा रोपा। श्री चौहान ने पौधा रोपण की संकल्प यात्रा के 68 वें दिन नारियल के पौधे के रूप में 71 वाँ पौधा रोपा है। इसके पश्चात मुख्यमंत्री बीना रिफायनरी में बनने वाले 1000 बिस्तरीय मेकशिफ्ट अस्पताल के निर्माण स्थल के निरीक्षण के लिए रवाना हो गए।   उल्‍लेखनीय है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदूषण मुक्त-ऑक्सीजन युक्त मध्यप्रदेश की एक वर्षीय पौधा रोपण संकल्प यात्रा 19 फरवरी को अमरकंटक में गुल-बकावली का पौधा रोपकर शुरू की थी। इस यात्रा में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज तक अमरकंटक, होशंगाबाद, भोपाल, पश्चिम बंगाल के जगतवल्लभपुर में बांस का पौधा, जबलपुर, पन्ना, गुजरात में भरूच स्थित मनन आश्रम में पौधा रोपण कर अपनी यात्रा को प्रदेश के बाहर प्रवास पर रहने के बावजूद निर्बाध जारी रखा।   68 दिन में रोपे 38 किस्म के पौधे उनके इस तरह से नियमित एक पौधा लगाने को लेकर सूचना अधिकारी मुकेश दुबे ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपनी इस संकल्प यात्रा में 38 किस्म के पौधे रोपे जिनमें गुलबकावली, साल, आम, पारिजात, सप्तपर्णी, चीकू, नीम, सीता-अशोक, शीशम, करंज, पुत्रजीवक, वटवृक्ष, पीपल, कदम, बांस, हरश्रंगार, गूलर, बेलपात्र, बरगद, खिरनी, बादाम, रूद्राक्ष, चंदन, नारियल, महानीम, चाँदनी, अगर, रबर, गुलमोहर, चंपा, मोलश्री, सिकंदरा, फाइकस पांडा, मुनगा, अमरूद, आंवला और पारस-पीपल के पौधे अब तक रोपे हैं ।

Dakhal News

Dakhal News 27 April 2021


ujjain, Congress spokesperson, Noori Khan arrested, arrested live on Facebook

उज्जैन। मप्र कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता नूरी खान को मंगलवार सुबह उज्जैन के नानाखेड़ा पुलिस ने उनके घर से गिरफ्तार कर लिया। नूरी खान का आरोप है कि वह कोरोना संकट के समय अस्पतालों में बरती जा रही लापरवाही को लेकर बड़ा खुलासा करने वाली थी, लेकिन पुलिस को इसकी जानकारी लग गई और उन्हें पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया। इस दौरान नूरी ने अपनी गिरफ्तारी के पूरे घटनाक्रम को फेसबुक पर लाइव साझा भी किया।   दरअसल नानाखेड़ा थाना पुलिस ने कांग्रेस प्रवक्ता नूरी के खिलाफ धारा 188 के तहत केस दर्ज किया है और इसी के तहत मंगलवार सुबह उनके घर उन्हें गिरफ्तार करने पहुंची। पुलिस को अपने घर पर आया देख नूरी ने फेसबुक पर लाइव करना शुरू कर दिया। पुलिस द्वारा फोन मांगे जाने पर उन्होंने देने से साफ मना कर दिया और कहा कि वह कोई अपराधी नहीं है इसलिए पुलिस उनके साथ कोई दुव्यर्वहार नहीं कर सकती। नूरी ने कहा कि वह खुद साथ में थाने चलेंगी लेकिन फोन नहीं दूंगी। इस दौरान घर से लेकर थाने जाने तक नूरी लाइव रही। नूरी का कहना है कि वह सुबह 11 बजे अस्पतालों में बरती जा रही लापरवाही को लेकर बड़ा खुलासा करने वाली थीं।  उन्होंने कहा कि मैं आम लोगों की आवाज उठाना चाह रही थी। सुबह सेहरी की और मुश्किल से एक घंटा ही सो पाई थी। पुलिस मुझ पर धारा 188 के तहत कार्रवाई करते हुए घर लेने आ गई। मैं पुलिस की कार्रवाई से बिल्कुल भी नहीं डरूंगी और आम लोगों की आवाज उठाती रहूंगी। बता दें कि इससे पहले भी कांग्रेस प्रवक्ता नूरी खान ने रविवार रात को इंदौर रोड स्थित गंगेडी आक्सीजन प्लांट पर पहुंचकर हंगामा किया था। इसके अलावा कुछ दिन पूर्व माधव नगर अस्पताल में भी पहुंचकर वहां हंगामा किया था। हालांकि इसके बाद से वह लगातार मरीजों की सेवा में जुट गई थी तथा उन्हें आक्सीजन सिलेंडर व रेमडेसिविर इंजेक्शन पहुंचा कर मदद कर रही थीं।

Dakhal News

Dakhal News 27 April 2021


bhopal, Chief Minister Shivraj, reviews ,thousand bed ,Kovid Hospital

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीना ओमान रिफानरी में एक हजार बिस्तर के निर्माणाधीन चिकित्सालय की प्रगति की सोमवार को समीक्षा की। उन्होंने निर्माण एवं संचालन कार्य से जुड़े विभिन्न बिन्दुओं पर सीधे संबंधित क्रियान्वयन एजेंसी और अधिकारी से संवाद कर कार्य की प्रगति का विवरण प्राप्त किया। श्री चौहान आज निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस से निर्माण कार्य की समीक्षा कर रहे थे।    मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि अस्पताल निर्माण की व्यवस्थाएँ ऑल वैदर प्रूफ होनी चाहिए, जो आंधी, तूफान और बरसात से भी प्रभावित न हों। उन्होंने कहा कि आवश्यकता होने पर अस्पताल के बिस्तरों की संख्या एक हजार से बढ़ाकर पाँच हजार तक करने के लिए विद्युत आपूर्ति, पेयजल आदि की मूलभूत सुविधाओं का विकास किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अस्पताल संचालन से संबंधित सभी बिन्दुओं पर पृथक-पृथक जानकारी प्राप्त की।   श्री चौहान को बताया गया कि अस्पताल की विद्युत आपूर्ति के लिए विद्युत सब स्टेशन का निर्माण कार्य तीव्र गति से प्रगतिरत है। विद्युत आपूर्ति के बैकअप के रूप में रिफानरी की विद्युत व्यवस्था को सपोर्ट सिस्टम बनाया गया है। रिफानरी के बेतवा जलस्रोत से ही पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था की जा रही है। जल स्रोत में पर्याप्त जल का संचयन है। कनेक्टिविटी के लिए करीब डेढ़ किलोमीटर की सड़क का निर्माण कार्य भी शुरु हो गया है। चिकित्सालय की भोजन, जलपान आदि व्यवस्थाओं के लिए अक्षय पात्र फाउंडेशन के साथ टाईअप किया गया है। साफ-सफाई के लिए निजी एजेंसियों के साथ अनुबंध की कार्यवाही प्रचलित है।   श्री चौहान ने प्लांट से रोगी तक ऑक्सीजन वितरण के बिन्दु की भी समीक्षा की। बताया गया कि प्लांट से ऑक्सीजन पाईप लाइन द्वारा चिकित्सालय तक जाएगी। पाईप लाइन निर्माण की कार्यवाही भी जारी हो गई है। बीना ओमान रिफानरी के प्रबंध संचालक श्री भंडारी ने बताया कि प्लांट में 90 टन क्षमता के दो ऑक्सीजन प्लांट उपलब्ध हैं। एक प्लांट का ट्रायल रन विगत 20 अप्रैल से किया जा रहा है। दूसरे का ट्रायल रन आज से शुरु हो गया है   उल्‍लेखनीय है कि वीडियो कॉन्फ्रेंस में नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, प्रमुख सचिव औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन संजय शुक्ला, प्रमुख सचिव लोक निर्माण नीरज मंडलोई, बीना ओमान ऱिफानरी लिमिटेड के संचालक भंडारी एवं अन्य निर्माण एजेंसियों के प्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


bhopal, Chief Minister Shivraj, reviews ,thousand bed ,Kovid Hospital

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीना ओमान रिफानरी में एक हजार बिस्तर के निर्माणाधीन चिकित्सालय की प्रगति की सोमवार को समीक्षा की। उन्होंने निर्माण एवं संचालन कार्य से जुड़े विभिन्न बिन्दुओं पर सीधे संबंधित क्रियान्वयन एजेंसी और अधिकारी से संवाद कर कार्य की प्रगति का विवरण प्राप्त किया। श्री चौहान आज निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस से निर्माण कार्य की समीक्षा कर रहे थे।    मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि अस्पताल निर्माण की व्यवस्थाएँ ऑल वैदर प्रूफ होनी चाहिए, जो आंधी, तूफान और बरसात से भी प्रभावित न हों। उन्होंने कहा कि आवश्यकता होने पर अस्पताल के बिस्तरों की संख्या एक हजार से बढ़ाकर पाँच हजार तक करने के लिए विद्युत आपूर्ति, पेयजल आदि की मूलभूत सुविधाओं का विकास किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अस्पताल संचालन से संबंधित सभी बिन्दुओं पर पृथक-पृथक जानकारी प्राप्त की।   श्री चौहान को बताया गया कि अस्पताल की विद्युत आपूर्ति के लिए विद्युत सब स्टेशन का निर्माण कार्य तीव्र गति से प्रगतिरत है। विद्युत आपूर्ति के बैकअप के रूप में रिफानरी की विद्युत व्यवस्था को सपोर्ट सिस्टम बनाया गया है। रिफानरी के बेतवा जलस्रोत से ही पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था की जा रही है। जल स्रोत में पर्याप्त जल का संचयन है। कनेक्टिविटी के लिए करीब डेढ़ किलोमीटर की सड़क का निर्माण कार्य भी शुरु हो गया है। चिकित्सालय की भोजन, जलपान आदि व्यवस्थाओं के लिए अक्षय पात्र फाउंडेशन के साथ टाईअप किया गया है। साफ-सफाई के लिए निजी एजेंसियों के साथ अनुबंध की कार्यवाही प्रचलित है।   श्री चौहान ने प्लांट से रोगी तक ऑक्सीजन वितरण के बिन्दु की भी समीक्षा की। बताया गया कि प्लांट से ऑक्सीजन पाईप लाइन द्वारा चिकित्सालय तक जाएगी। पाईप लाइन निर्माण की कार्यवाही भी जारी हो गई है। बीना ओमान रिफानरी के प्रबंध संचालक श्री भंडारी ने बताया कि प्लांट में 90 टन क्षमता के दो ऑक्सीजन प्लांट उपलब्ध हैं। एक प्लांट का ट्रायल रन विगत 20 अप्रैल से किया जा रहा है। दूसरे का ट्रायल रन आज से शुरु हो गया है   उल्‍लेखनीय है कि वीडियो कॉन्फ्रेंस में नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, प्रमुख सचिव औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन संजय शुक्ला, प्रमुख सचिव लोक निर्माण नीरज मंडलोई, बीना ओमान ऱिफानरी लिमिटेड के संचालक भंडारी एवं अन्य निर्माण एजेंसियों के प्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 26 April 2021


bhopal, Chief Minister Shivraj, reviews ,thousand bed ,Kovid Hospital

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीना ओमान रिफानरी में एक हजार बिस्तर के निर्माणाधीन चिकित्सालय की प्रगति की सोमवार को समीक्षा की। उन्होंने निर्माण एवं संचालन कार्य से जुड़े विभिन्न बिन्दुओं पर सीधे संबंधित क्रियान्वयन एजेंसी और अधिकारी से संवाद कर कार्य की प्रगति का विवरण प्राप्त किया। श्री चौहान आज निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस से निर्माण कार्य की समीक्षा कर रहे थे।    मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि अस्पताल निर्माण की व्यवस्थाएँ ऑल वैदर प्रूफ होनी चाहिए, जो आंधी, तूफान और बरसात से भी प्रभावित न हों। उन्होंने कहा कि आवश्यकता होने पर अस्पताल के बिस्तरों की संख्या एक हजार से बढ़ाकर पाँच हजार तक करने के लिए विद्युत आपूर्ति, पेयजल आदि की मूलभूत सुविधाओं का विकास किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अस्पताल संचालन से संबंधित सभी बिन्दुओं पर पृथक-पृथक जानकारी प्राप्त की।   श्री चौहान को बताया गया कि अस्पताल की विद्युत आपूर्ति के लिए विद्युत सब स्टेशन का निर्माण कार्य तीव्र गति से प्रगतिरत है। विद्युत आपूर्ति के बैकअप के रूप में रिफानरी की विद्युत व्यवस्था को सपोर्ट सिस्टम बनाया गया है। रिफानरी के बेतवा जलस्रोत से ही पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था की जा रही है। जल स्रोत में पर्याप्त जल का संचयन है। कनेक्टिविटी के लिए करीब डेढ़ किलोमीटर की सड़क का निर्माण कार्य भी शुरु हो गया है। चिकित्सालय की भोजन, जलपान आदि व्यवस्थाओं के लिए अक्षय पात्र फाउंडेशन के साथ टाईअप किया गया है। साफ-सफाई के लिए निजी एजेंसियों के साथ अनुबंध की कार्यवाही प्रचलित है।   श्री चौहान ने प्लांट से रोगी तक ऑक्सीजन वितरण के बिन्दु की भी समीक्षा की। बताया गया कि प्लांट से ऑक्सीजन पाईप लाइन द्वारा चिकित्सालय त