नशा मुक्ति का संकल्प ले और अभियान को आगे बढ़ाए : शिवराज
bhopal,  State government, run drug de-addiction campaign,Shivraj

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को देवास जिले में खातेगांव तहसील के ग्राम करोंदमाफी में करुणाधाम आश्रम में मां नर्मदा, श्री हनुमान जी महाराज, करुणाधाम आश्रम के पितृपुरुष ब्रह्मलीन बड़े गुरुदेव और शक्ति स्वरूपा माता जी के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में सपत्नीक शामिल हुए और विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। समारोह में समाजसेवियों] प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों और भूमि दान करने वालों को सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री ने आश्रम परिसर में स्थित गोशाला का भ्रमण भी किया।

इस मौके पर उन्होंने कहा, मेरा सौभाग्य है कि आज मैं यहाँ सिद्ध स्थान पर आया हूँ। यहाँ परिक्रमावासियों को आश्रय तो मिलेगा ही साथ ही धार्मिक आयोजन भी होते रहेंगे। उन्होंने कहा कि हम सब प्रण करें कि कोई न कोई सेवा का कार्य जरूर करें। सेवा छोटी हो या बड़ी हो इसका महत्व नहीं है, जो भी करें हृदय से करें। माँ नर्मदा की कृपा हम सब पर बनी है। यहाँ से माँ नर्मदा को देखकर ऐसा लग रहा है जैसे जीवन सफल हो गया हो।

नशा मुक्ति का संकल्प ले और अभियान को आगे बढ़ाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि नशा नाश की जड़ है। इससे किसी का उद्धार नहीं हुआ है। हमने नर्मदा किनारे की शराब दुकानें बंद कराई है। शराब को सरकार बढ़ावा नहीं देगी। जनता के साथ मिलकर नशा मुक्ति अभियान चलाएगी। यहाँ से हम सब नशा मुक्ति का संकल्प ले और नशा मुक्ति अभियान को आगे बढ़ाए। उन्होंने उपस्थित जन को नशामुक्ति का संकल्प भी दिलाया।

 

किसान भाई अपनाए प्राकृतिक खेती

मुख्यमंत्री ने कहा कि गाँव को साफ रखना है तो ग्रामवासियों को हाथ बढ़ाना होगा। सरकार यह कार्य अकेले नहीं कर सकती। किसान भाई नरवाई नहीं जलाए। नरवाई के साथ बहुत से जीव-जंतु नष्ट होते हैं। मिट्टी की उत्पादन क्षमता भी कम होती है। उन्होंने प्राकृतिक खेती को अपनाने के लिए किसानों को प्रोत्साहित भी किया।

उन्होंने कहा कि फर्टिलाइजर खेती जमीन को 50 सालों में बंजर कर देगी। जहरीली खेती से बचने के लिए किसान प्राकृतिक खेती अपनाएँ। प्राकृतिक खेती में पानी भी कम लगता है। इसमें फर्टिलाइजर खाद की आवश्यकता नहीं होती है। किसान भाई शुरूआत में प्रयोग के तौर एक एकड़ या आधा एकड़ में प्राकृतिक खेती शुरू कर सकते हैं। इसके बाद लाभ मिलने पर खेती का रकबा बढ़ाया जा सकता है।

साल में एक बार पेड़ जरूर लगाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण-संरक्षण के लिए हर नागरिक सभी साल में एक बार पेड़ जरूर लगाए। आज हम सब प्रण ले कि जन्म-दिन या अन्य किसी उत्सव पर पौधा लगाने की शुरूआत करें। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में जो बेटी के साथ दुराचार करेगा] उसे सजा मिलेगी। उन्हें आर्थिक रूप से भी तोड़ा जाएगा। बेटी बचाने और बेटी पढ़ाने का संकल्प लें।

 

गुरूदेव सुदेश शांडिल्य जी महाराज ने कहा कि हम माँ नर्मदा के पावन तट पर उपस्थित है। माँ नर्मदा के तट पर किया हुआ हर कार्य वज्र के समान होता है। लक्ष्मी दो प्रकार की होती है जहाँ अलक्ष्मी होती है वहाँ कलह होती है। जहाँ अस्वच्छता है वहाँ अलक्ष्मी होगी। लक्ष्मी के लिए स्वच्छता बनाए। ग्राम घर सहित मस्तिष्क को भी स्वच्छ बनाए रखे। माँ नर्मदा ने यह स्थान सेवा के लिए आवंटित किया है। ग्रामवासियों की इच्छा शक्ति और सेवा ने आश्रम का निर्माण किया है।

 

विधायक आशीष शर्मा ने कहा कि यह गाँव प्राचीन है। माँ नर्मदा का आशीर्वाद हम सब पर बना हुआ है। नर्मदा परिक्रमावासियों को यहाँ आश्रम में ग्रामवासियों के सहयोग से आश्रय मिलेगा। किसान-कल्याण एवं कृषि मंत्री कमल पटेल, संतगण, जन-प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।

Dakhal News 16 April 2022

Comments

Be First To Comment....

Video

Page Views

  • Last day : 8492
  • Last 7 days : 59228
  • Last 30 days : 77178
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2022 Dakhal News.