भाजपा कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़
भाजपा कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़

बेरिकेट तोड़ घुसने की कोशिश की

विवाद के बीच कांग्रेस का जनपद पर कब्ज़ा मोहन यादव को हार नहीं हुई बर्दाश्त मंत्री की हुई एसडीएम से बहस धरने पर बैठे मुख्यमंत्री की कुर्सी का ख्वाब देखने वाले उच्च शिक्षा मंत्री जी क्या आप भूल गए की आप उच्च शिक्षा मंत्री हैं ये कैसी गुण्डो जैसी भाषा का इस्तेमाल करते हो आप आपके लोग हार गए तो आपको बर्दाश नहीं हुआ आप एक अधिकारी को धमका रहे हो उच्च ऊंच नीच हो जाएगी आग लग जाएगी और कहीं आपके इस रवैय्ये को जनता ने  नकार दिया आप खुद हार गए तो क्या सच में आग लगा देंगे आप तो संघ से दीक्षित हो ये संघ की भाषा तो नहीं संभल जाईये मंत्री जी मध्यप्रदेश चुनावी मोड़ में हैं कही आपकी कुर्सी ना खिसक जाये जी हैं हम बात कर रहे हैं उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव की चर्चाओं की बात करे तो इनके अरमान मुख्यमंत्री बनने के हैं सूत्र बताते हैं की इन मंत्री जी संघ के बेहद नजदीकीयां हैं तो भविष्य में प्रदेश अध्यक्ष या मुख्यमंत्री हो सकते हैं लेकिंन ये क्या संघ विचार  वाले की ऐसी भाषा आग लगा देंगे ऊंच नीच कर देंगे अगर ये मुखिया बन गए चाहे पार्टी के बने या प्रदेश के आग लगना तो तय हैं जरा सुनिए कैसे एसडीएम को धमका रहे हैं  उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव  तो सुना आपने ये एक उच्च शिक्षा मंत्री हैं कोई गुण्डे मावली नहीं अब हम आपको बताते हैं की हुआ क्या था दरअसल उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव को अपने लोगो की हार बर्दाश नहीं हुआ क्यांकि उनकी  खुद की साख दाव पर गई थी  उज्जैन में जनपद पंचायत अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के चुनाव में उज्जैन जनपद में कांग्रेस  काबिज हो गई   कांग्रेस उज्जैन जनपद में अपना बोर्ड बनाने में कामयाब रही कांग्रेस समर्थित पिपलोदा द्वारकाधीश की विंध्या देवेंद्रसिंह पवार अध्यक्ष और दताना के नासीर पटेल उपाध्यक्ष  चुने गए  कांग्रेस के जहां 12 सदस्यों ने मतदान किया वहीं भाजपा की ओर से 9 सदस्य मतदान कर सकें  भाजपा के 4 सदस्य मतदान के लिए नहीं आ सके   कांग्रेस प्रत्याशी के अध्यक्ष पद जीतने के बाद कांग्रेसी और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच  झगड़ा  शुरू हो  गया भाजपा के उम्मीदवार की हार की सुचना मिलते ही उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव अपने समर्थको के साथ जनपद पंचायत पहुंचे मंत्री को देख कार्यकर्ता उत्तेजित हो गए और उन्होंने जनपद के बाहर लगे बेरिकेट तोड़ दिएफिर क्या मंत्री मोहन यादव भूल गए की वो मंत्री हैं और लगे धमकाने एडीएम को बीजेपी की हार पर खरी खोटी सुना डाली भाजपा के चार सदस्यों को वोट डालने की बात पर अड़ गए इतना ही नहीं मंत्री ने तो  एडीएम को आग लगाने की धमकी दे दी   इसके बाद मंत्री डा. मोहन यादव भाजपा समर्थित जनपद सदस्यों और कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठ गए  उन्होंने प्रशासन पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगाया  कहा कि भाजपा समर्थित 13 सदस्यों को वोट नहीं डालने दिया गया   जंगलराज नहीं चलने देंगे  इस बीच कार्यकर्ताओं ने एडीएम संतोष टगौर से अपशब्द भी कहे  वही कांग्रेस नेताओं और तराना विधायक महेश परमार ने कहा कि मतदान के समय में भाजपा के निर्वाचित जनपद सदस्य उपस्थिति ही नहीं हुए तो मंत्री जी आप जंगल राज के खिलाफ धरना दे रहे थे तब आप ये भूल गए थे क्या  की इस जंगल राज पर सरकार तो आपकी ही हैं। 

Dakhal News 28 July 2022

Comments

Be First To Comment....

Video

Page Views

  • Last day : 8492
  • Last 7 days : 59228
  • Last 30 days : 77178
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2022 Dakhal News.