मैनिट के बाद आरजीपीवी में रैगिंग
bhopal, Ragging in RGPV, after Manit

भोपाल। राजधानी भोपाल के मौलाना आजाद नेशनल इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलाजी (मैनिट) में गत दिनों रैगिंग का मामला सामने आया था। जूनियर्स ने गत 31 मार्च को इसकी आनलाइन शिकायत की थी। अभी इस मामले की जांच भी पूरी नहीं हो पाई थी कि भोपाल के राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (आरजीपीवी) में रैगिंग का मामला सामने आ गया है।

 

शनिवार को जूनियर्स ने यूजीसी की एंटी रैगिंग कमेटी में शिकायत दर्ज कराई है। मामले में एंटी रैगिंग कमेटी ने आरजीपीवी से जवाब तलब किया है। दूसरे वर्ष के विद्यार्थी ने शिकायत में लिखा है कि कक्षा के बीच से तीसरे वर्ष के विद्यार्थी उन्हें जबरदस्ती उठाकर कैफे या गार्डन में ले जाते हैं। उनसे अंर्धनग्न डांस करने का दबाव डालते हैं। यहां तक कि लड़कियों को प्रपोज करना, शायरी सुनाने और अर्धनग्न डांस करने के लिए कहते हैं। जब हम सब नहीं करते हैं तो हमें टारगेट कर अलग-अलग ढंग से मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित करते हैं। इसमें कुछ विद्यार्थी दूसरे वर्ष के भी शामिल हैं।

 

जूनियर्स ने अपनी शिकायत में कहा है कि सीनियर्स सभी विद्यार्थियों को अपने ग्रुप में शामिल करना चाहते हैं और अगर कोई नहीं होता है तो उसे परेशान किया जाता है। छात्रावास में सीनियर्स जूनियर्स से कपड़े धुलवाते हैं और हाथ-पैर दबवाते हैं। इस संबंध में शुक्रवार को विद्यार्थियों ने अपने विभाग के डायरेक्टर से शिकायत की तो उन्होंने उसे गंभीरता से नहीं लिया। इसके बाद तीसरे वर्ष के विद्यार्थियों ने भी दूसरे वर्ष के विद्यार्थियों की शिकायत कर दी है। दोनों पक्षों की शिकायतों को विवि प्रबंधन ने अनुशासन समिति को भेज दिया है। सोमवार को इस मामले में समिति सदस्य दोनों पक्षों के विद्यार्थियों के बयान दर्ज करेंगे। हालांकि विवि प्रबंधन इसे रैगिंग ना मानते हुए दो पक्षों में मारपीट की बात कह रहे हैं।

 

द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों ने बताया कि विवि के तीसरे व दूसरे वर्ष के कुछ विद्यार्थी भेल ग्रुप नाम से चलाते हैं। इस ग्रुप के विद्यार्थी अपनी मनमानी करते हैं। इस ग्रुप के लिए तीसरे वर्ष के विद्यार्थी जूनियर्स से पैसा वसूलते हैं। अगर कोई विद्यार्थी पैसे देने से मना करता है तो उनके साथ मारपीट की जाती है। कक्षा के बीच से जूनियर्स विद्यार्थियों को उठाकर कैंटीन या गार्डन में ले जाकर उनके साथ मारपीट की जाती है।

 

आरजीपीवी के डायरेक्टर (यूआईटी) सुधीर भदौरिया का कहना है कि दूसरे और तीसरे वर्ष के विद्यार्थियों के बीच मारपीट और रैगिंग की शिकायत की गई है। दोनों पक्षों से शिकायती आवेदन मिले हैं। मामले को अनुशासन समिति के पास भेज दिया गया है।

 

बता दें कि मैनिट के जूनियर्स ने गत 31 मार्च को सीनियर्स के खिलाफ एंटी रैगिंग कमेटी में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें बताया गया था कि सीनियर्स मारपीट करने के अलावा उन्हें शराब पीने का दबाव और उनके मुंह में जबरिया सिगरेट लगाकर पीने के लिए कहते हैं। कई ऐसे कार्य करने के लिए कहते हैं, जो जूनियर नहीं कर सकते हैं। केन्द्र ने मैनिट प्रबंधन को मामले की जांच के निर्देश दिए थे। अभी इस मामले की जांच जारी है।

Dakhal News 10 April 2022

Comments

Be First To Comment....

Video

Page Views

  • Last day : 8492
  • Last 7 days : 59228
  • Last 30 days : 77178
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2022 Dakhal News.