सार्वजनिक शौचालय बने नुमाइश

ग्रामीण शौच के लिए जा रहे हैं जंगल,अफसरों की लापरवाही स्वच्छता पर भारी

36 ग्राम पंचायतों में ताले मे कैद शौचालय ,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान  की लंका मध्यप्रदेश में ही लगाईं जा रही है लापरवाह अधिकारीयों के कारण कटनी के बड़वारा में लाखों  रुपये खर्च कर बनाये गए सार्वजनिक शौचालय  नुमाइश का सामान बने हुए हैं देखिये सुमित पांडेय की ये ख़ास रिपोर्ट भारत सरकार एवं मध्य प्रदेश सरकार स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने के लिए लाखों करोड़ों रुपए खर्च कर रही है ताकि  हर ओर   स्वच्छता बानी रहे लेकि कटनी के अधिकारीयों की मंशा इसके खिलाफ नजर आती है बड़वारा जनपद क्षेत्र  की  66 पंचायतों में से 36 ग्राम पंचायतों में तीन लाख 44 हजार रुपए की लागत से स्वच्छ भारत अभियान के तहत   सामुदायिक शौचालय का निर्माण कार्य लगभग 2 वर्ष पूर्व में करवाया गया था वही 2 वर्ष बीत जाने के बावजूद भी यह शौचालय आज भी उपयोग  न होने की वजह सिर्फ नुमाइश का सामान बने हुए है जिसका नतीजा आज भी ग्रामीण खुले में शौच के लिए मजबूर  हैं स्थानीय लोगों के मुताबिक रोहनिया बाइपास के समीप बने सार्वजनिक शौचालय पानी की सप्लाई  ही नहीं है अधिकारियों ने इन पर ताले भी  डाल  दिए हैं भजिया ग्राम निवासी मनीष राय ने बताया कि जब से सार्वजनिक शौचालय का निर्माण कार्य कराया गया है तब से ताला लटका हुआ है बिलायत कला ग्राम के मनीष सेन ने बताया कि कर्मचारियों ने मनमानी ढंग से अनावश्यक रूप से शौचालय का निर्माण कार्य आबादी से तकरीबन 1 किलोमीटर दूर  कर दिया   है निर्माण कार्य पूर्ण होने के बावजूद भी इनका उपयोग  नहीं  करने दिया जा रहा है इस समय लगभग 36 ग्राम पंचायतों में सार्वजनिक शौचालय   ताले मे कैद  हैं  बड़वारा जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के सुस्ती के वजह से इन तमाम सार्वजनिक  शौचालयों के बनाये जाने पर ही सवाल खड़े हो रहे हैं व्यर्थ ये कहीं ना कहीं सरकारी पैसे के  दुरुपयोग एवं सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं को पलीता लगाने जैसा है। 

 

Dakhal News 15 July 2022

Comments

Be First To Comment....

Video

Page Views

  • Last day : 8492
  • Last 7 days : 59228
  • Last 30 days : 77178
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2022 Dakhal News.