काव्य संग्रह "अनन्त आकाश" लोकार्पित
 काव्य संग्रह "अनन्त आकाश" लोकार्पित

अनन्त आकाश से होगा समाज का मार्ग दर्शन करने में सक्षम होगी

 

वरिष्ठ कवि डॉ. लक्ष्मी कान्त त्रिपाठी 'विमल' के नवीनतम काव्य  संग्रह "अनंत आकाश"  का  लोकार्पण  वरिष्ठ साहित्यकार, स्तम्भकार कलाकुंज के सम्पादक पदम् कान्त शर्मा ने किया | इस मौके पर अतिथियों ने कहा यह काव्य संग्रह समाज का  मार्गदर्शन करने में सहायक सिद्ध होगा | दून पुस्तकालय एवं हिमालय पर्यावरण सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में वरिष्ठ कवि डॉ. लक्ष्मी कान्त त्रिपाठी 'विमल' के नवीनतम काव्य संग्रह "अनंत आकाश"  लोकार्पण किया गया  | दून पुस्तकालय के सभागार में आयोजित लोकार्पण समारोह में  मुख्य अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार, स्तम्भकार कलाकुंज के सम्पादक पदम् कान्त शर्मा थे  विशिष्ट अतिथि पर्यावरणविद एवं उत्तराखण्ड राज्य बाल कल्याण परिषद के वरिष्ठ उपाध्यक्ष जगदीश बाबला एडवोकेट वर्तिका त्रिपाठी,  एडवोकेट गौरव त्रिपाठी एवं दून पुस्तकालय के चन्द्रशेखर तिवारी  ने  दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया | मुख्य अतिथि पदमकान्त शर्मा ने कहा कि डा. त्रिपाठी ने अलग-अलग विषयों पर लम्बी-लम्बी रचनाएं प्रस्तुत कर अपने साहित्यिक ज्ञान एवं साहित्य शब्दों में अपनी गहरी पकड़ का आभास कराया,  उनकी रचनाएं पाठकों को जीवन में मार्गदर्शक का कार्य करेगी | कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए ज्ञानेन्द्र  कुमार ने कहा कि डा.  त्रिपाठी आज के युग में अति सरल  रचना धर्मी हैं जैसा कि उनकी रचनाओं को पढ़ने से उनकी समाज के प्रति सकारात्मक छवि  परिलक्षित होती है  | विशिष्ट अतिथि असीम शुक्ल ने कहा कि डॉ. त्रिपाठी द्वारा लम्बी-लम्बी रचनाओं का सृजन उनकी साहित्य में पैनी पकड़ को  दर्शाता  है | उत्तराखण्ड राज्य बाल कल्याण परिषद के वरिष्ठ उपाध्यक्ष जगदीश बाबला ने डॉ० त्रिपाठी का समाज का सच्चा एवं खरा हितैषी कहकर सम्बोधित किया और कहा कि उनकी रचनाएं समाज का मार्गदर्शन करने में सहायक सिद्ध होगी | 

Dakhal News 16 April 2023

Comments

Be First To Comment....

Video
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2023 Dakhal News.