कोरोना नियंत्रण के लिए मुख्यमंत्री चौहान की पीड़ा, सभी के लिए बनेगी प्रेरणा : स्वामी चिदानंद सरस्वती
bhopal, Chief Minister Chauhan, pain for Corona control,Swami Chidanand Saraswati
भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की बढ़ते कोरोना संक्रमण पर चिंता, जन-जागरूकता अभियान और कोरोना नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य आग्रह के माध्यम से व्यक्त हो रही पीड़ा और धर्मगुरुओं से संवाद की पहल अन्य सभी के लिए प्रेरणा बनेगी। यह बात ऋषिकेश के परमार्थ निकेतन आश्रम के प्रमुख स्वामी चिदानंद सरस्वती ने कही।
 
दरअसल, मुख्यमंत्री चौहान ने स्वास्थ्य आग्रह के दौरान राजधानी भोपाल के मिंटो हाल में बुधवार को विभिन्न धर्म गुरुओं के साथ कोरोना नियंत्रण पर विचार विमर्श किया। इस दौरान धर्म गुरुओं से संवाद कार्यक्रम में स्वामी चिदानंद भी ऑनलाइन जुड़े और कहा कि शरीर स्वस्थ है तो सभी स्वस्थ और सार्थक होता है। स्वामी जी ने कहा मुख्यमंत्री चौहान का स्वास्थ्य जागरूकता के लिए प्रयास सराहनीय है, प्रेरक है। मध्यप्रदेश स्वस्थ रहे, ये संकल्प लिया जा रहा है। स्वामी चिदानंद ने कहा कि सभी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें पर दिल से परस्पर जुड़े रहें, दूर न हों। स्वामी जी ने कहा प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री चौहान के प्रयास प्रशंसनीय है। 
 
स्वामी जी ने कहा कि मुख्‍यमंत्री चौहान को कुंभ में दिन रात कार्य करते देखा है। वे तपस्या कर रहे हैं, साधना कर रहे हैं। धर्म गुरुओं से संवाद किया है। ये प्रयास देश को प्रेरणा देगा। चौहान साहब की पीड़ा हमारी प्रेरणा बने, हम सब मुकाबला कर जीतेंगे। सावधानियां रखें सभी। लोग सुरक्षा के लिए सिंगल ही नहीं बल्कि डबल मास्क लगाएं।
 
धर्म गुरुओं की अपील का होगा प्रभाव: मुख्यमंत्री चौहान
मुख्यमंत्री चौहान ने धर्म गुरुओं से आम जन को मार्गदर्शन देने का अनुरोध किया। चौहान ने कहा कि पूरे देश में जब कोरोना संक्रमण बढ़ रहा, ऐसे में समाज के सहयोग से ही वायरस पर नियंत्रण के उपायों को लागू किया जा सकता है। सावधानियों के पालन की धर्म गुरुओं की अपील कारगर होगी।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कार्य में स्वैच्छिक वॉलेंटियर बनें और कोरोना नियंत्रण में सहयोग करें। मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना संक्रमण से जुड़ी दिक्कतों को दूर करने के लिए हेल्प डेस्क भी बनाई जा रही। चौहान ने कहा कि कुछ समर्पित कार्यकर्ता हों, जो कार्य करें जन-जागरूकता अभियान के लिए। ये कार्य निरंतर चलना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रार्थना का भी असर होता है। सभी की प्रार्थना अपने तरह की होती हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने संतों के आगमन के लिए और इस संकट में एकत्र होकर मार्गदर्शन देने के लिए आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि ये रैन अंधेरी बीतेगी और सुहानी सुबह फिर आएगी।
 
प्रारंभ में मुख्यमंत्री ने भोपाल और सभी जिलों के धर्मगुरुओं का स्वागत किया और उनसे कोरोना नियंत्रण पर चर्चा की। इस दौरान अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने कोरोना की स्थिति पर प्रेजेंटेशन दिया। इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष गिरीश गौतम भी उपस्थित थे। 
 
कोरोना नियंत्रण पर संतों, धर्म प्रमुखों ने विचार रखे
करुणाधाम आश्रम के स्वामी शांडिल्य महाराज ने कहा कि भय न हो, सभी सावधानी रखी जाएँ, मुख्यमंत्री चौहान के प्रयास सराहनीय है।
 
आर्क बिशप लियो कार्नलियो ने कहा कि सरकार की सक्रियता से भारत और मध्यप्रदेश में कोरोना नियंत्रण हुआ, ये युद्ध है, जो कुशलता और सफलता से लड़ा जा रहा है।
 
शहर काजी भोपाल ने बताया कि वैक्सीन के लिए हम प्रेरित कर रहे हैं, सोशल डिस्टेंसिग का पालन करेंगे। सरकार के निर्देश मानेंगे। सेहत की सुरक्षा के लिए यह आवश्यक है। मुख्यमंत्री चौहान को बधाई देते हुए कहा कि वे निःसंदेह अच्छा कार्य कर रहे हैं।
 
बोहरा धर्म गुरु शेख ताहिर अली ने कहा‍ कि अल्लाह ने पैदा किया, सेहत की नैमत दी। यह महामारी किसी पे असर न कर जाए, ये फिक्र करते हैं मुख्यमंत्री चौहान।
 
सिख धर्म गुरु ज्ञानी दिलीप सिंह ने कहा कि मास्क लगाओ, ये जरूरी है। ज्ञानी दिलीप सिंह ने मुख्यमंत्री चौहान की कोशिशों की सराहना की।
 
बौद्ध धर्म गुरु शाक्य भंते ने कहा कि प्रदेश में संदेश जा रहा है, मुख्यमंत्री चौहान के जन-जागरूकता अभियान से, आप सुरक्षित तो परिवार सुरक्षित, मास्क लगायें, सभी, हमसे किसी को हानि न पहुंचे।


Dakhal News 7 April 2021

Comments

Be First To Comment....

Video

Page Views

  • Last day : 8492
  • Last 7 days : 59228
  • Last 30 days : 77178
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2021 Dakhal News.