अनुपम खेर ने फैंस के साथ साझा किया निजी जिंदगी से जुड़ा किस्सा
mumbai,Anupam Kher ,shares a story ,related personal life

दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहते हैं और अक्सर अपने वीडियोज एवं तस्वीरें फैंस के साथ साझा करते रहते हैं लेकिन इस बार अनुपम ने इन सब से अलग अपनी निजी जिंदगी से जुड़ा एक यादगार किस्सा फैंस के साथ साझा किया है। 

दरअसल अनुपम खेर ने हाल ही में इंस्टाग्राम पर अपनी मां के साथ एक तस्वीर साझा की है। इस तस्वीर को शेयर करने के साथ ही अनुपम ने अपनी जिंदगी के कठिन दिनों को याद करते हुए अपनी जिंदगी से जुड़े एक राज से पर्दा उठाया है। उन्होंने अपनी निजी जिंदगी से जुड़े इस वाकये का खुलासा करते हुए लिखा-' मुझे अच्छी तरह याद है जब मां मुझे स्कूल छोड़ने जाती थीं। जाने से पहले वह कहती थीं, तुम्हारा सबसे अच्छा दिन आज है। एक बच्चे के तौर पर मुझे उनकी बात का भरोसा था। इससे मुझे यह भूलने में मदद मिलती थी कि हम कितने गरीब हैं। पापा की महीने की पगार सिर्फ 90 रुपये थी। हमें अच्छे स्कूल में भेजने के लिए मां को अपने गहने बेचने पड़े थे लेकिन मैं पढ़ाई में बहुत बुरा था तो मां को चिंता होती थी। अगर पापा थोड़ा नरम पड़ते तो मां कहतीं, 'ज्यादा तारीफ मत करो'। वह हमें फोकस्ड रखना चाहती थीं। एक इंसान के रूप में मुझे बनाने के लिए मां जिम्मेदार हैं। मैं 10 साल का था जब एक साधु स्कूल आया। मां ने मुझे 5 पैसे दिए लेकिन मैंने साधु को दो पैसे दिए और बाकी अपने बैग में रख लिए। जब मां ने मुझसे पूछा तो मैंने उनसे झूठ बोल दिया। कुछ समय बाद मां ने मेरे बैग की तलाशी ली और बाकी के पैसे निकले। इसके बाद उन्होंने मुझे सजा के तौर पर 3 घंटे तक बाहर रखा जब तक मैंने गलती कुबूल नहीं कर ली। मां ने मुझसे वादा लेकर अंदर बुलाया कि मैं कभी झूठ नही बोलूंगा। मेरे पास उनके दिए संस्कार हैं। 
जब मैं मुंबई आया तो मेरे पास 37 रुपये थे। कभी-कभी मुझे प्लैटफॉर्म पर सोना पड़ता था पर उनको ये बात नहीं बताता था। जब मां बीमार होती तो मुझे नहीं बताती थी, हम दोनों एक-दूसरे को प्रोटेक्ट करने की कोशिश करते थे। जब मैं फिल्में करने लगा तो मेरे मां ने जमीन से जुड़े रहने की सीख दी। उन्होंने मुझसे कहा कि तुम कितने भी ऊपर चले जाओ या फिर कितने भी ऊपर उड़ो, लेकिन हमेशा विनम्र रहना। पिता की मौत के बाद हम करीब हो गए, उन्होंने अपना पार्टनर खो दिया था और मैंने बेस्ट फ्रेंड। चौथे पर मैंने कहा कि रोने से अच्छा है हम उनकी जिंदगी को सेलिब्रेट करें। हमने रंगीन कपड़े पहने और एक रॉकबैंड बुलाया। हमने पापा के साथ अपनी अच्छी यादों का जिक्र किया। मां बोलीं, मुझे पता नहीं था कि मैंने इतने बेहतरीन इंसान से शादी की थी। इसके बाद वह मेरी बेस्ट फ्रेंड बन गईं।'
 
सोशल मीडिया पर अनुपम खेर का यह पोस्ट तेजी से वायरल हो रहा हैं।अनुपम खेर अपनी मां दुलारी खेर के बहुत करीब है और अक्सर उनके वीडियोज वह फैंस के साथ साझा करते रहते है और इसके साथ ही वह कभी भी हैशटैग दुलारीरॉक्स लगाना नहीं भूलते। अनुपम खेर ने बॉलीवुड में फिल्म सारांश से कदम रखा था, जो  25 मई, 1984 को रिलीज हुई थी। 65 वर्षीय अभिनेता अनुपम खेर ने अपने 36 साल के फिल्मी करियर में 500 से भी अधिक फिल्मों में काम किया  हैं और दर्शकों के दिलों में अपनी खास जगह बनाई है।
Dakhal News 14 January 2021

Comments

Be First To Comment....

Video

Page Views

  • Last day : 8492
  • Last 7 days : 59228
  • Last 30 days : 77178
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2021 Dakhal News.