फर्जी वोट पकड़ने के लिए 'आधार कार्ड' से जुड़ेगा वोटर आईडी
फर्जी वोट पकड़ने के लिए

अब आधार से वोटर कार्ड को लिंक कराना जरूरी होगा। साथ ही 1 जनवरी, 1 अप्रेल, 1 जुलाई और 1 अक्टूबर को 18 वर्ष की उम्र पूरी करने वाले व्यक्ति मतदाता के रूप में पंजीकरण कराने के लिए पात्र होंगे। आधार से वोटर कार्ड को लिंक करने से ये फायदा होगा कि वोटर का नाम दो जगह है तो पकड़ में आ जाएगा। कलक्टोरेट में हुई स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में यह जानकारी कलक्टर अविनाश लवानिया ने दी। बैठक में भाजपा, कांग्रेस, सपा, बसपा, एनसीपी, आम आदमी पार्टी सहित अन्य राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। कलेक्टर ने बताया कि सभी बीएलओ अपने-अपने मतदान केंद्रों पर स्वैच्छिक आधार पर मतदाताओं से आधार कार्ड की फोटो कॉपी लेकर डाटा को लिंक करने का काम करेंगे। शहरी क्षेत्र में कैम्प लगाकर वोटर कार्ड को आधार से लिंक किया जाएगा। राजनीतिक दलों से अपील की है मतदाता सूची में डुप्लीकेट नाम या एक से अधिक स्थानों पर नाम मतदाता सूची में दर्ज नहीं रहें, लोगों को जानकारी दें।

घर बैठे सबसे पहले आपको वेबसाइट https://voterportal.eci.gov.in/ पर जाना होगा।

- अपने मोबाइल नंबर/ईमेल आईडी/वोटर आईडी नंबर का यूज कर लॉगिन करें।

-इसके बाद वहां अपना मनचाहा पासवर्ड डालें.. राज्य, जिला. और पर्सनल डिटेल जैसे नाम, जन्म तिथि और पिता का नाम दर्ज करें।

-डिटेल भरने के बाद ‘Search’ बटन पर क्लिक करें।

- वहीं आपकी तरफ से दर्ज की गई डिटेल सरकारी डेटाबेस से मेल खाता है, तो डिटेल स्क्रीन पर दिखाई देगा।

-‘Feed Aadhaar No’ ऑप्शन पर क्लिक करें जो स्क्रीन के लेफ्ट साइड दिखाई देगा.

-पॉप अप पेज खुलने के बाद वहां अपना आधार कार्ड, आधार नंबर, वोटर आईडी नंबर, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और/या रजिस्टर्ड ईमेल पता भरना होगा. सभी डिटेल सही ढंग से दर्ज करने के बाद, इसे एक बार क्रॉस चेक करें और 'Submit' बटन दबाएं।

एक जुलाई 2022 और उससे पहले जिन युवाओं ने 18 वर्ष की उम्र पूरी कर ली है वे युवा, मतदाता सूची में अपना नाम जुड़वाने के पात्र हो गए हैं। ऐसे युवा मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में जोडऩे की प्रक्रिया एक अगस्त से प्रदेश में शुरू भी हो चुकी है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने यह जानकारी राज्य स्तरीय मास्टर्स ट्रेनर प्रशिक्षण कार्यक्रम में दी। निर्वाचन कानून एवं नियमों में संशोधन और एक अगस्त से शुरू हुए आधार संग्रहण अभियान के बारे में संभाग स्तर पर बीएलओ एवं सुपरवाइजर को प्रशिक्षण देने मुख्य निर्वाचन सदन सभागार में राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर का प्रशिक्षण कार्यक्रम हुआ। निर्वाचन कानून एवं नियमों में हुए संशोधन को लेकर विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा हुई और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारीराजन ने उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया।

Dakhal News 3 August 2022

Comments

Be First To Comment....

Video

Page Views

  • Last day : 8492
  • Last 7 days : 59228
  • Last 30 days : 77178
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2022 Dakhal News.