हनीट्रेप मामले मे इंदौर पुलिस की बडी कार्यवाही

 

पांच महिलाओं और एक पुरुष सहित कुल छ गिरफ्तार

एक बड़े अधिकारी को कर रही थी ब्लैकमल

वीडियो  वायरल करने की देती थीं धमकी

 

इंदौर पुलिस ने भोपाल पुलिस की मदद से हनीट्रैप गैंग का खुलासा किया है  |  इस में शामिल महिलाओं पर आरोप है कि ये  बड़े लोगों से दोस्ती कर उनके अंतरंग पलों को   कैमरे में कैद कर ब्लैकमेलिंग किया करते थीं  |  इनमे से कुछ महिलाओं के ताल्लुक बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं से भी हैं  | इस मामले में अभी बहुत सी बातों का खुलासा होना बाकि है  |

 

इंदौर पुलिस की निशानदेही पर बीती रात कई जगह छापामार कार्यवाही कर भोपाल पुलिस ने हनीट्रैप में शामिल महिलाओं को पकड़ा |   इसके बाद हनीट्रैप गैंग का खुलासा हुआ  | इंदौर के पलासिया थाने में एक सरकारी अधिकारी ने शिकायत की कि कुछ लड़कियां उन्हें  हनीट्रैप में फंसकर बलैकमेल कर रही हैं  | इस मामले में सामने आने के बाद भोपाल से पकड़ी गई महिळाओं के पास कुछ ऐसे दस्तावेज और वीडिओ मिलने की बात कही जा रही है जो राजनैतिक और प्रशासनिक क्षेत्र में भूचाल ला सकता है  | सूत्र कहते हैं कि महिलाओं के ताल्लुक कांग्रेस -बीजेपी के नेताओं के आलावा अधिकारीयों और व्यापारियों से भी हैं  | सबके नाम पते और नंबर इनके पास मिले हैं  | वहीँ सरकार ने इस किस्से के खुलासे का स्वागत किया है और कहा है की इस मामले की पूरी जाँच कर सच सबके सामने लाया जाएगा   |

 

इस मामले में फरियादी ने पुलिस को बताया की आरती दयाल  उसके एवं उसके अन्य परिचितों के मोबाईल नंबर पर  वाट्सएप पर कॉल एवं मैसेज किये जा रहे हैं  ...आरती दयाल ने इस अधिकारी से कहा तुम्हारा  वीडियो क्लिप हैं  अगर चाहते हो कि यह वायरल न हो तो इसके लिए तीन करोड़ रुपये दो  |  पैसे ना देने की स्थिति में आरोपी विडियो क्लिप वायरल करने की धमकी देते हुये ब्लैकमेल कर रही थी  | इस शिकायत पर पुलिस टीम ने जाल बिछाया और   आरती दयाल को तीन करोड़ रूपये की पहली किस्त 50 लाख रूपये लेने के लिये  बुलाया  | आरती होंडा क्रेटा कार से इंदौर आई जहाँ पुलिस ने  आरती दयाल पति पंकज दयाल  निवासी सागर लेंडमार्क मिनाल रेसीडेन्सी भोपाल   |  उसकी सहयोगी  नरसिंहगढ़ की मोनिका यादव पर ओमप्रकाश कोरी  निवासी आदमपुर छावनी थाना बिलखिरिया भोपाल को पकडा  | पूछताछ में आरती दयाल ने कुछ बड़े खुलासे किये जिसके बाद भोपाल पुलिस एक्टिव हुईआरती ने बताया की उसकी साथी श्वेता जैन निवासी मिनाल रेसीडेन्सी ने उसे करीब 8 माह पहले नगर निगम इंदौर के अधिकारी से मिलवाया था  |  आरती दयाल ने इस अधिकारी से मुलाकातें की और  तब  उसकी साथी  मोनिका ने छुपके   वीडियो क्लिप बना ली  | और बलैकमेलिंग शुरू हो गई

 

आरोपी आरती दयाल के बताये अनुसार, उसकी महिला साथी  श्वेता जैन पति विजय जैन  निवासी जे 394 मिनाल रेसीडेंसी भोपाल की भी इसमें संलिपत्ता पाई गई | जिसके चलते महिला आरोपीया श्वेता जैन को भोपाल पुलिस ने पकड़ा  | आरेापिया महिला श्वेता जैन के कब्जे से  चौदह लाख  सत्तरह हजार रू रुपये नगद व मोबाईल फोन बरामद किये  |  इसी  काम मे लिप्त इनके  अन्य साथियों में  श्वेता जैन पति स्वपनिल जैन  निवासी रेवेरा टाउनि भोपाल एवं बरखा सोनी पति अमित सोनी  निवासी कोटरा सुल्तानाबाद को गिफ्तार किया गया है  | आरोपीगणों ने पूर्व में अन्य किन लोगाें के साथ इस प्रकार की वारदातें कर ब्लैकमेल  की  है इस संबंध में पुलिस रिमाण्ड  लेकर इनसे पूछताछ करेगी   |

 

Dakhal News 20 September 2019

Comments

Be First To Comment....

Video

Page Views

  • Last day : 3720
  • Last 7 days : 31610
  • Last 30 days : 88875
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved © 2020 Dakhal News.