32 साल में चौथी बार फुल हुआ कोलार डैम

 

तीन साल बाद छलका है कोलार बांध

 

दो दिन से हो रही बारिश से भोपाल की प्यास बुझाने वाला  कोलार डैम भी लबालब हो गया | फुल टैंक लेवल के करीब पहुंचते ही   डैम के दो गेट खोल दिए गए   इस दौरान घने जंगलों से घिरे इस विशाल डैम का मनोहारी दृश्य देखते ही बन रहा था  |  शहर की जरूरत के हिसाब से इस बार तीन साल का पानी जमा हो गया है  |  पिछले 32 साल में चौथी बार कोलार डैम फुल हुआ है  

 

भारी बारिश के तीन साल बाद कोलार डैम छलका है  |  इससे पहले 2016 में कोलार डैम के गेट खोले गए थे  |   सोमवार की शाम  कोलार डैम के दो गेट खोले गए बीते शनिवार से लगातार हो रही बारिश के कारण रविवार दोपहर 12 बजे के बाद कोलार डैम के जलस्तर में इजाफा होने लगा था  | इसके अलावा कलियासोत डैम के इस सीजन में रिकार्ड 18 घंटे गेट खोले गए  |  कोलार की जल विस्तार क्षमता अधिक होने के कारण एफटीएल की स्थिति बारिश के तीन माह बाद बनी है  |  गेट खोलने से पहले जलसंसाधन विभाग ने जिला प्रशासन व नगर निगम को सूचना दी थी। ..  ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में हालात को काबू में किया जा सके  |  साथ ही कोई अप्रिय घटना न हो  कोलार बांध का एफटीएल 462.20 मीटर है  |  कोलार डैम से 61 एमसीएम पानी शहर के लिए जाता है   |  सीहोर जिले में सिंचाई के लिए यहां के पानी का उपयोग होता है  | कोलार की 265 एमसीएम कुल पानी भराव की क्षमता है  |   मतलब शहर में कोलार से होने वाले तीन साल तक पानी सप्लाई की समस्या नहीं होगी  | भोपाल के लिए कोलार से प्रतिदिन 1.65 क्यूसेक पानी लिया जाता है   डैम की अधिकतम जलभराव क्षमता को बनाए रखने के लिए डैम से 3.29 क्यूसेक पानी की निकासी की गई   |  मतलब छोड़े गए पानी से शहर को दो दिनों तक पानी सप्लाई की जा सकती थी |

 

Dakhal News 10 September 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 4514
  • Last 7 days : 20011
  • Last 30 days : 87818
All Rights Reserved © 2019 Dakhal News.