विशेष

भारती एयरटेल ने नेशनल रोमिंग के दौरान फ्री इनकमिंग कॉल तथा एसएमएस की घोषणा की है। यह सुविधा 1 अप्रैल 2017 से एयरटेल ग्राहकों को मिलने लगेगी। माना जा रहा है कि रिलायंस जियो से मिल रही कड़ी टक्‍कर के मद्देनजर यह फैसला किया गया है। नई सुविधा के एयरटेल के मोबाइल ग्राहकों को नेशनल रोमिंग के दौरान वॉयस कॉल, एसएमएस तथा इंटरनेट (डाटा) का उपयोग करने पर अतिरिक्‍त शुल्‍क (प्रीमियम) नहीं देना होगा।रिलायंस जियो को टक्‍कर देने के लिए एयरटेल देश नेशनल रोमिंग को खत्‍म करने पर विचार कर रही है। इससे रोमिंग के दौरान वॉयस और डेटा सर्विस पर कोई अतिरिक्‍त चार्ज नहीं लगेगा। एयरटेल ने इंटरनेशनल रोमिंग पैक्स के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए इसका एक्टिवेशन और बिलिंग प्रोसेस को भी सरल किया है। कंपनी के इस कदम से एयरटेल के 26.8 करोड़ ग्राहकों को फायदा मिलेगा। पिछले साल अक्टूबर में वोडाफोन ने इनकमिंग कॉल्स पर रोमिंग फ्री कर दी थी। हालांकि आउटगोइंग कॉल्स और डेटा यूज पर अब भी रोमिंग चार्ज जारी है। उल्‍लेखनीय है कि एयरटेल ने अभी तक इस स्‍कीम की आधिकारिक घोषणा नहीं की है। एयरटेल इंटरनेशनल रोमिंग के दौरान ग्राहकों के लिए रोमिंग एक्टिवेशन तथा बिलिंग को सरल किया जाएगा। नेशनल रोमिंग के दौरान कॉल तथा एसएमएस मुफ्त रहेगी। आउटगोइंग कॉल्‍स पर कोई प्रीमियम फीस नहीं लगेगी। एयरटेल नेटवर्क पर रोमिंग के दौरान वॉयस तथा डेटा पर रोमिंग चार्ज नहीं लगेगा।  

Dakhal News

Dakhal News 27 February 2017

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने 29वें 'मन की बात' कार्यक्रम में भारतीय वैज्ञानिक समुदाय की उपलब्धियों को रेखांकित करते हुए कहा कि 15 फ़रवरी,2017 भारत के जीवन में बेहद गौरवपूर्ण दिवस के रूप में याद किया जाएगा. उन्‍होंने कहा कि इस दिन हमारे वैज्ञानिकों ने विश्व के सामने भारत का सर गर्व से ऊँचा किया है. ISRO ने कई अभूतपूर्व मिशन सफलतापूर्वक पूर्ण किए हैं.'मंगलयान' भेजने के बाद पिछले दिनों इसरो ने विश्व रिकॉर्ड बनाया. इसरो ने मेगा मिशन के ज़रिये एक साथ विभिन्न देशों के 104 उपग्रह अन्तरिक्ष में सफलतापूर्वक लांच किए हैं. 104 उपग्रह को अंतरिक्ष में भेजकर इतिहास रचने वाला भारत दुनिया का पहला देश बना और यह लगातार 38वाँ पीएसएलवी का सफल लांच है. भारत का उपग्रह कार्टोसैट-2डी के माध्यम से खींची हुई तस्वीरों से संसाधनों की मैपिंग, आधारभूत ढांचे की प्‍लानिंग में मदद मिलेगी. ख़ास करके किसान को देश में जो सभी जल स्रोत है, वो कितना है,उसका उपयोग कैसे हो सकता है इन सारे विषयों पर कार्टोसेट-2डी बहुत मदद करेगा. हमारे लिये ये भी ख़ुशी की बात है कि इस सारे अभियान का नेतृत्व, हमारे युवा वैज्ञानिक, हमारी महिला वैज्ञानिक, किया है. इस सिलसिले में एक महिला शोभा जी ने एक और भी सवाल पूछा है और वो है भारत की सुरक्षा के संबंध में, भारत ने एक बहुत बड़ी सिद्धि प्राप्त की है, उसके विषय में. भारत ने रक्षा के क्षेत्र में भी बैलिस्टिक इंटरसेप्‍टर मिसाइल का सफल परीक्षण किया है. इंटरसेप्‍टर टेक्‍नोलॉजी वाले इस मिसाइल ने ट्रायल के दौरान ज़मीन से 100 कि.मी. की ऊँचाई पर दुश्मन की मिसाइल को ढेर कर सफलता पाई. दुनिया के चार या पाँच ही देश हैं कि जिन्हें ये महारत हासिल है. भारत के वैज्ञानिकों ने ये करके दिखाया. इसकी ताक़त है कि 2000 किमी दूर से भी भारत पर आक्रमण के लिये मिसाइल आती है तो ये मिसाइल अंतरिक्ष में ही उसको नष्ट कर देती है. हमारी युवा-पीढ़ी का विज्ञान के प्रति आकर्षण बढ़ना चाहिए. देश को बहुत सारे वैज्ञानिकों की ज़रूरत है. नीति आयोग एवं भारत के विदेश मंत्रालय ने 14वें प्रवासी भारतीय दिवस के समय एक बड़ी विशिष्‍ट प्रकार की प्रतिस्‍पर्द्धा की योजना की थी. जो विशिष्ट बुद्धि प्रतिभा रखते हैं, वो जिज्ञासा को जिज्ञासा नहीं रहने देते, उनकी जिज्ञासा नई खोज का कारण बन जाती है. उनको तरजीह देने के लिए समाज उपयोगी नवाचार को आमंत्रित किया गया. ऐसे नवाचार को चिन्हित करना, उसको प्रदर्शन करना और उसको लोगों को जानकारी देना.  हमारा समाज टेक्‍नोलॉजी की तरफ उन्‍मुख हो रहा है. व्यवस्थायें टेक्‍नोलॉजी पर आधारित हो रही हैं. तकनीक हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन रही है. 'डिजि-धन' पर ज़ोर दिया जा रहा है, लोग नकद से डिजिटल करेंसी की तरफ बढ़ रहे हैं. भारत में डिजिटल ट्रांजेक्‍शन तेजी से बढ़ रहा है. 14 अप्रैल को डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर की जन्म-जयंती का पर्व है और अभी-अभी बाबा साहेब अम्बेडकर की 125वीं जयंती गई है. उनका स्मरण करते हुए लोगों को भीम ऐप डाउनलोड करना सिखाएं. उससे लेन-देन कैसे होती है, वो सिखाएँ और ख़ास करके आस-पास के छोटे-छोटे व्यापारियों को सिखाएँ. हमारे देश की अर्थव्यवस्था के मूल में कृषि का बहुत बड़ा योगदान है. गाँव की आर्थिक ताक़त, देश की आर्थिक गति को ताक़त देती है. किसानों के परिश्रम से इस वर्ष रिकॉर्ड अन्न उत्पादन हुआ है. इस वर्ष देश में लगभग 2 हज़ार 700 लाख टन से भी ज्यादा खाद्यान्न का उत्पादन हुआ है. किसान परंपरागत फ़सलों के साथ-साथ देश के ग़रीब को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग दालों की भी खेती करें क्योंकि दाल से ही सबसे ज़्यादा प्रोटीन ग़रीब को प्राप्त होता है  देश के किसानों ने ग़रीबों की आवाज़ सुनी और क़रीब-क़रीब दो सौ नब्बे लाख हेक्टेयर धरती पर भिन्न-भिन्न दालों की खेती की. ये सिर्फ दाल का उत्पादन नहीं है, किसानों के द्वारा हुई मेरे देश के ग़रीबों की सबसे बड़ी सेवा है. रियो पैरालिंपिक्‍स में हमारे दिव्यांग खिलाड़ियों ने जो प्रदर्शन किया, हम सबने उसका स्वागत किया था. वर्ल्‍ड कप के फाइनल में भारत ने पाकिस्तान को हराते हुए लगातार दूसरी बार वर्ल्‍ड चैंपियन बन करके देश का गौरव बढ़ाया. दिव्यांग भाई-बहन सामर्थ्यवान,दृढ़-निश्चयी होते हैं,साहसिक होते हैं,संकल्पवान होते हैं, हर पल हमें उनसे कुछ-न-कुछ सीखने को मिल सकता है. देश का कोई भी नागरिक जब कुछ अच्छा करता है, तो पूरा देश एक नई ऊर्जा का अनुभव करता है, आत्मविश्वास को बढ़ाता है. इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि खेल हो या अंतरिक्ष विज्ञान महिलायें किसी से पीछे नहीं हैं. एशियाई रग्‍बी सेवेंस ट्रॉफी में हमारी हमारी महिला खिलाड़ियों ने सिल्‍वर मेडल जीता. इससे पहले पिछले महीने 29 जनवरी को उन्‍होंने यह कार्यक्रम किया था. उसमें परीक्षाओं के मद्देनजर पढ़ाई करने वाले छात्रों की तैयारियों पर खास रूप से बातचीत की थी. उसमें छात्रों को उन्‍होंने स्‍माइम मोर एंड स्‍कोर मोर का नारा दिया था. इसके साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने पिछले कार्यक्रम में गणतंत्र दिवस पर गैलेंट्री अवॉर्ड पाने वाले लोगों के परिवारवालों को शुभकामनाएं दी थीं.    

Dakhal News

Dakhal News 26 February 2017

राजनीति

   ‘बुआ-भतीजे’ की उपमा से अकसर भारतीय जनता पार्टी के नेताआें के निशाने पर रहने वाली बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज पलटवार करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को ‘गुरू-चेला’ कहकर संबोधित किया। मायावती ने देवरिया में कहा कि गुरू-चेला मिलकर उत्तर प्रदेश को बर्बाद करने के सपने देख रहे हैं। मायावती ने यहां एक चुनावी जनसभा में कहा, ‘‘गुरू और चेले ने मिलकर पूरे देश को बर्बाद कर दिया। गुरू यानी मोदी और चेला यानी शाह। अब ये दोनों मिलकर उत्तर प्रदेश को भी बर्बाद करने के सपने देख रहे हैं।’’ अमित शाह को एक बार फिर ‘कसाब’ बुलाते हुए बसपा सुप्रीमो ने कहा, ‘‘अमित शाह से बड़ा कोई कसाब यानी आतंकी नहीं हो सकता है। खुद गुजरात खास गवाह है जिसे ध्यान में रखकर आपको (मतदाताओं को) भाजपा के इस कसाब का यानी आतंकी का यहां कतई भी राज नहीं आने देना है।’’   मायावती यहां भी मुसलमानों को बसपा के पक्ष में वोट देने के फायदे बताने से नहीं चूकीं। उन्होंने कहा, ‘‘मुस्लिम समाज को भी एकतरफा वोट बसपा को देना है। जिसका (बसपा) अपना दलित बेस वोट पूरी तरह एकजुट है और भाजपा को हराने के लिए सक्रिय और तत्पर है। इस वोट में विशेषकर मुस्लिम समाज का वोट जुड़ जाने से भाजपा को इसका जबर्दस्त नुकसान पहुंच जाएगा और भाजपा प्रदेश की सत्ता पर किसी भी कीमत पर काबिज नहीं हो सकती है।’’   उन्होंने कहा, ‘‘चाहे प्रधानमंत्री मोदी हों या अमित शाह भी... यहां श्मशान घाट और कब्रिस्तान, कसाब, कत्लखाने तथा गुजरात के गधों आदि की घिनौनी राजनीति करने के साथ साथ प्रदेश के लिए अब दूध व दही की नदियां बहाने की आड़ में फिर से लोकसभा चुनाव की तरह अच्छे दिन की हवा हवाई बातें क्यों ना कर लें, प्रदेश की जनता इनके बहकावे में आने वाली नहीं है।’’  

Dakhal News

Dakhal News 25 February 2017

बीजेपी  ने की चिदंबरम और उनके बयान की निंदा    कश्मीर पर बयान देकर पूर्व गृहमंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम एक बार फिर विवादों में घिर गए हैं। चिदंबरम ने कहा कि उन्हें ऐसा महसूस हो रहा है कि केंद्र सरकार की नीतियों की वजह से हम कश्मीर को खो देंगे। चिदंबरम के इस बयान के बीजेपी ने इसकी आलोचना करते हुए।  इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है।  चिंदबरम का कहना है कि केंद्र सरकार जिस तरह से वहां के लोगों को कुचल रही है। उसकी वजह से ही कश्मीर में विरोध प्रदर्शन लगातार बढ़ता जा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार में कश्मीर में पत्थरबाजी में काफी कमी आ गई थी जबकि एनडीए की सरकार में विरोध प्रदर्शन एक बार फिर तेज हो गई है। शुक्रवार को नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने भी कश्मीर को लेकर विवादित बयान दिया था, जिसके बाद फारूक अब्दुल्ला के बयान पर बवाल खड़ा हो गया। फारूक अब्दुल्ला ने कहा था कि कश्मीर में सक्रिय आतंकी विधायक या सांसद बनने के लिए नहीं बल्कि अपने हक के लिए कुर्बानी दे रहे हैं। फारूक ने कहा कि कश्मीरी युवा  इस वतन की आजादी के लिए जान दे रहे हैं। चिदंबरम का बयान गैर-जिम्मेदाराना :नायडू चिदंबरम के बयान के बाद हैदराबाद में  सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने कश्मीर पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी.चिदम्बरम की टिप्पणी को दुर्भाग्यपूर्ण और आश्चर्यजनक बताते हुए आज कहा कि ऐसा व्यक्ति जो देश का गृह मंत्री रह चुका है उनसे इस तरह की टिप्पणी की उम्मीद नहीं की जा सकती है। पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम ने हैदराबाद में मंथन संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कल शाम कहा था कि उन्हें ऐसी आशंका होती है कि कश्मीर भारत के हाथ से लगभग निकल चुका है क्योंकि केंद्र सरकार वहां असहमति को दबाने के लिए बल का बर्बरता से इस्तेमाल कर रही है। उन्होंने यह भी कहा था कि अगर सरकार ने अपने रवैये में सुधार नहीं किया तो वहां स्थिति और बिगड़ सकती है। नायडू ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तेलंगाना इकाई द्वारा आयोजित रैली में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस नेता का यह बयान ‘गैरजिम्मेदाराना’ और ‘राष्ट्रविरोधी’ है। उन्होंने कहा कि इस तरह के बयान से कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने में लगे पाकिस्तान को प्रोत्साहित करना है। उन जैसे व्यक्ति से इस तरह की टिप्पणी की अपेक्षा नहीं की जाती है, खासकर जो व्यक्ति देश का गृहमंत्री रह चुका है और जिसे अच्छी तरह पता है कि कश्मीर में आतंकवाद से निपटने में किस तरह की दिक्कतें पेश आती हैं।   रिपोर्ट के मुताबिक कश्मीरी लोगों ने महाशिवरात्रि का त्योहार सभी धर्मों के लोगों के साथ बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया। वहीं, शहीद सेना के जवान की अंत्येष्ठि में अन्य धर्मों के हजारों लोग सम्मिलित हुए। इससे यह पता चलता है कि जम्मू-कश्मीर में अब स्थिति काफी सौहार्दपूर्ण है।  नायडू ने कांग्रेस पर कश्मीर के मुद्दे पर दोहरे बयान को लेकर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने अपने लंबे कार्यकाल के समय कश्मीर घाटी और देश में विकास के कितने कार्य कराए।  

Dakhal News

Dakhal News 25 February 2017

मीडिया

BARC survey NEW DELHI: Okay it’s out and the data does reflect that television is thriving in India and growing. According to the latest BARC India figures, the all-India TV universe has increased to 183 million from the earlier collated figure of 154 million with the growth in rural audience showing a quantum jump signifying that upswing is coming from non-urban areas. The data highlights that while the total urban TV universe stood at 84,414 (in ‘000) in 2017, the comparative rural figure is 98,639 (in ‘000), signifying that the rural segment has grown at a faster rate, which opens up whole new marketing options for broadcasters and advertisers. The comparative old figures as per BARC estimates in 2015 were 77544,000 (urban) vs. 75967,000 (rural). These data, part of the latest BARC India’s Broadcast India Survey 2017, shows that while the urban-rural audience mix was almost equal earlier, the rural segment has outpaced the urban as per latest figures in rate of growth. The new TV universe figures will be implemented from Week 8, 2017 by BARC India, though the latest audience data released by the measurement organisation pertaining to Week 6 adheres to the old figures of the total TV universe in India being 154 million. The data reiterates BARC’s recent reiterations that that since it started surveying rural audience, a whole new world has opened up for subscribers of the data, which, incidentally, also include government organisations apart from the traditional TV channels and advertising agencies. What are the few highlights of the latest BARCC India findings, which were surveyed over a four-month period from November 2015 to February 2016? First, the total TV universe has grown. Second, there has been a sizeable increase in audience in B and C category, signifying an upswing in general prosperity and purchasing power. Third, the rate of growth of rural and small towns is higher than their urban counterparts. With respect to the NCCS classification of a household (or BARC’s version of earlier classifications known as SEC), it is based on two main variables: education of the household’s chief wage earner, defined as the person who contributes the most to payment of household expenses and household ownership of 11 specific durable goods, which clearly catch the household’s worth. The 11 durables collectively owned by household members and considered in the NCCS classification of households in India are electricity connection, ceiling fan, LPG stove, two-wheeler, colour TV, refrigerator, washing machine, personal computer/laptop, car/jeep/van, aircon and agricultural land. As digital viewing proliferates, BARC India is readying itself to measure the digital world too and the data is expected to flow in sometime late 2017 or early 2018.

Dakhal News

Dakhal News 24 February 2017

इण्डिया टीवी दो सप्ताह नंबर दो रहा लेकिन वह इस मुकाम पर खुद को सम्हाल नहीं पाया और उसे आज तक ने फिर झटका देकर नंबर वन की पोजिशन हांसिल कर ली है। ज़ी न्यूज़ तीसरे और एबीपी पांचवे नंबर पर पहुँच गया है।    नेशनल न्यूज़ चैनल trp Weekly Relative Share: Source: BARC, HSM, TG:CS15+,TB:0600Hrs to 2400Hrs, Wk 7 Aaj Tak 15.6 up 0.2  India TV 14.4 dn 2.3  Zee News 12.3 up 0.4  News18 India 11.5 up 0.5  ABP News 10.9 up 0.1  India News 10.6 up 0.3  News 24 9.3 up 0.5  News Nation 8.7 same Tez 2.8 up 0.1  NDTV India 2.1 up 0.1  DD News 1.8 up 0.2   TG: CSAB Male 22+ Aaj Tak 15.0 up 0.5  India TV 14.5 dn 3.2  Zee News 13.4 up 0.8  News18 India 12.4 up 0.1  ABP News 10.6 same News Nation 9.2 up 0.2  India News 8.6 up 0.3  News 24 8.5 up 0.6  Tez 3.1 up 0.1  NDTV India 2.8 up 0.1  DD News 1.9 up 0.4   एमपी/सीजी के टॉप फाइव रीजनल न्यूज़ चैनल Zee MP..........  28  Bansal..........   26  ETV MP.........   21 IBC 24.........     17  Sahara.......       5

Dakhal News

Dakhal News 23 February 2017

समाज

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने आव्हान किया है कि नर्मदा सेवा समिति संस्कार के प्रसार का केन्द्र बनें। नशामुक्त, शिक्षित, बेटी बचाने, माँ नर्मदा जल को स्वच्छ बनाने, उसके प्रवाह को बढ़ाने के लिए वृक्ष लगाने और उनके संरक्षण को संकल्पित समाज निर्माण में सहयोग करें। श्री चौहान आज मुख्यमंत्री निवास में नर्मदा सेवा यात्रा के सीहोर जिले में प्रवास के दौरान जन-भागीदारी कार्यक्रमों की रूपरेखा पर स्थानीय जन-प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदा सेवा यात्रा अनुभवों का उल्लेख करते हुए स्थानीय जन-समुदाय से यात्रा को मिल रहे अदभुत सहयोग के बारे में बताया। उन्होंने सीहोर जिले के जन-प्रतिनिधियों को कहा कि यात्रा के सीहोर प्रवास के दौरान जनांदोलन का अदभुत उदाहरण प्रस्तुत करें। हर पंचायत, गाँव और व्यक्ति का यात्रा में योगदान हो। चाहे वह सांस्कृतिक कार्यक्रम में, खेलकूद के आयोजन में अथवा आस्था और श्रद्धा की सामुदायिक सहभागिता के रूप में हो। उन्होंने कहा बिना किसी आर्थिक, सामाजिक, धार्मिक और राजनैतिक भेदभाव के सेवा समितियों में सभी जुड़े। सभी को सम्मानपूर्वक यात्रा में आमंत्रित किया जाए। उन्होंने सीहोर में यात्रा के 9 दिवसीय प्रवास के दौरान रात्रि विश्राम यात्रा के साथ करने की जानकारी भी दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा नदी संरक्षण का विश्व में अनूठा प्रयास है। विश्व की किसी भी नदी के संरक्षण के लिए इतनी विशाल जनसंख्या संरक्षण प्रयासों में सहभागी नहीं बनी है। लोग यात्रा से भावनात्मक रूप में जुड़ रहे हैं। पूरे हृदय के साथ माँ नर्मदा की सेवा के लिये आगे आ रहे हैं। आमजन, किसान, साधु-संत सभी माँ के प्रति अगाध श्रद्धा और आस्था को प्रगट कर रहे हैं। किसान वृक्ष लगाने के लिए संकल्प पत्र भर रहे हैं। विशाल भंडारों का आयोजन जन-सहयोग से हो रहा है। साधु-संत भी पूजन विधियों में बदलाव की बात करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि माँ नर्मदा प्रदेश की जीवन रेखा है। प्रदेश की 30 प्रतिशत आबादी को पेयजल और 50 प्रतिशत को सिंचाई सुविधा माँ नर्मदा से मिलेगी। इसलिये नर्मदा जल प्रवाह को बढ़ाना आवश्यक है। जनता के प्रयासों में सरकार का सक्रिय सहयोग है। नदी संरक्षण के आवश्यक कार्यों का निर्धारण विषय-विशेषज्ञों के साथ चर्चा से किया गया है। पेड़ लगाने में भी सरकार सहयोग कर रही है। जल की स्वच्छता के लिए घाटों पर चेंजिंग रूम, विसर्जन कुण्ड बनवाए जा रहे हैं। अमृत जल दायिनी नर्मदा में मल-मूत्र अब नहीं मिलेगा। नगरों का सारा गंदा जल पाइपों के माध्यम से नगर के बाहर ले जाया जायेगा। वहाँ पर ट्रीटमेंट प्लांट बनाये जायेंगे, जो जल को स्वच्छ कर खेती के लिए उपलब्ध करवाएंगे। जिला प्रभारी, लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह ने कहा कि हर-हर नर्मदे, घर-घर नर्मदे का संदेश सर्वत्र प्रसारित हो। यात्रा के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वाली समितियों और पंचायतों को पुरस्कृत किया जायेगा। यात्रा के सीहोर जिले में आगमन 19 मार्च और प्रस्थान 28 मार्च तक जन-सहभागिता से होने वाले आयोजनों की रूपरेखा की जानकारी मार्कफेड के अध्यक्ष श्री रमाकांत भार्गव एवं भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रघुनाथ भाटी ने दी। कार्यक्रम को अध्यक्ष खनिज विकास निगम श्री शिव चौबे ने भी संबोधित किया। यात्रा के दौरान प्रशासनिक प्रबंधों की जानकारी कलेक्टर ने दी। इस अवसर पर संभागायुक्त श्री अजातशत्रु और सीहोर जिले के जन-प्रतिनिधि बड़ी संख्या में उपस्थित थे।  

Dakhal News

Dakhal News 26 February 2017

  नागरिकों को त्वरित और पारदर्शी ढंग से कहीं भी और कभी भी लोक-सेवाएँ प्रदाय करने की दिशा में एक और कदम बढ़ाते हुए एम.पी. मोबाइल परियोजना प्रारंभ की गयी है। परियोजना में मोबाइल के माध्यम से नागरिकों को डिजिटल सेवाएँ दी जा रही हैं। क्रियान्वयन मैप आई.टी. द्वारा किया जा रहा है। सुविधाएँ प्राप्त करने के लिये नागरिकों को केवल एक मोबाइल एप 'M.P. Mobile' डाउनलोड करना है। इसके द्वारा विभिन्न विभाग द्वारा प्रदाय की जाने वाली सेवाएँ प्राप्त कर सकते हैं। वर्तमान में यह एंड्रायड, विण्डोज एवं आईओएस मोबाइल में उपलब्ध हैं। नागरिक वांछित सेवाएँ अपने मोबाइल पर एक वेब एप्लीकेशन www.mpmobile.gov.in के माध्यम से भी प्राप्त कर सकते हैं। जिन नागरिकों के पास स्मार्ट फोन नहीं है, वे बेसिक फोन से भी एक कोड डायल कर यूएसएसडी सुविधा द्वारा सेवाएँ प्राप्त कर सकते हैं। वर्तमान में *18# नम्बर डायल कर भी कुछ सेवाएँ बेसिक फोन से प्राप्त कर सकते हैं। 169 सेवाएँ एम.पी. मोबाइल पर वर्तमान में 169 सेवाएँ एम.पी. मोबाइल पर उपलब्ध हैं। विभिन्न विभाग द्वारा दी जाने वाली अन्य नागरिक सेवाएँ भी इससे जोड़ने की कार्यवाही जारी है। एम.पी. मोबाइल से माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, पीईबी, डीटीई एम.पी. काउंसिलिंग, मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग, सी.एम. हेल्पलाइन, विभिन्न विश्वविद्यालय, परिवहन, श्रम, हाउसिंग बोर्ड, वन और सहकारिता विभाग सहित अन्य विभाग की सेवाएँ जुड़ी हुई हैं।  

Dakhal News

Dakhal News 25 February 2017

पेज 3

मशहूर फिल्म अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा 89वें वार्षिक ऑस्कर पुरस्कार समारोह में शामिल होने के लिए तैयार हैं। 34 वर्षीय अभिनेत्री ने इंग्लिश रॉक बैंड ‘द रॉलिंग स्टोन्स’ के अगुआ मिक जैगर के साथ ली गयी एक सेल्फी सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुये इस खबर की पुष्टि की है। लॉस एंजिलिस हवाई अड्डे के टर्मिनल के भीतर ली गयी तस्वीर को इंस्टाग्राम पर पोस्ट करते हुये प्रियंका ने लिखा है, ‘ऑस्कर हम यहां आ गये हैं..मिक जैगर..ला ला लैंड..।’ ‘क्वांटिको’ की इस स्टार ने पहली बार पिछले साल ऑस्कर में शानदार एंट्री की थी जहां उन्होंने अभिनेता लीव श्राइबर के साथ सर्वश्रेष्ठ फिल्म संपादन के लिए एकेडमी अवार्ड दिया था। उस समय उन्होंने लेबनानी डिजाइनर जुहैर मुराद का डिजाइन किया गया सफेद रंग का खूबसूरत गाउन पहना था। प्रियंका की हॉलीवुड फिल्म ‘बेवॉच’ प्रदर्शित होने वाली है, जिसमें उनके साथ ड्वेन जॉनसन और जैक एफ्रोन नजर आएंगे। इस फिल्म में अभिनेत्री खलनायिका की भूमिका में हैं और यह फिल्म मई में रिलीज होगी।

Dakhal News

Dakhal News 25 February 2017

  सेंसर बोर्ड ने फिल्म ‘लिपस्टिक अंडर माई बुर्का’ को इसके यौन दृश्यों और अपमानजनक शब्दों की वजह से प्रमाणित करने से मना कर दिया है। फिल्म की निर्देशक अलंकृता श्रीवास्तव ने इस फैसले को ‘महिलाओं के अधिकार पर हमला’ कहा है। फिल्म में कोंकणा सेन शर्मा, रत्ना पाठक शाह ने भूमिकाएं निभाई हैं। फिल्म में देश के एक छोटे शहर की अलग उम्र की चार महिलाओं के जीवन को दिखाया गया है, जिसमें वे कई तरह की आजादी की तलाश करती हैं। केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) ने फिल्म के निर्माता प्रकाश झा को दिए गए पत्र की प्रति में कहा गया है कि ‘लिपस्टिक अंडर माई बुर्का’ फिल्म की कहानी महिला केंद्रित और जीवन के बारे में उनकी कल्पनाओं पर आधारित है। इसमें लगातार यौन दृश्य, अपमानजनक शब्दों, अश्लील ऑडियो और समाज के एक खास तबके प्रति एक थोड़ी संवेदनशील है। इस वजह से फिल्म को अस्वीकृत किया जाता है।

Dakhal News

Dakhal News 24 February 2017

दखल क्यों

जनसंपर्क, जल संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज बुंदेला कालोनी दतिया में विश्व विजयी गामा पहलवान की स्मृति में नवनिर्मित अखाड़े का शुभारंभ किया। जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने कहा कि अखाड़ा एक करोड़ चालीस लाख रुपये की लागत से निर्मित किया गया है। इस अखाड़े में हजारों कुश्ती सीखकर पहलवान बन सकते हैं। मंत्री डॉ. मिश्र ने कहा कि गामा पहलवान की कुश्ती अनोखी और बेमिसाल थी। जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने कहा कि गामा पहलवान ने प्रदेश ही नहीं देश में भी नाम रोशन किया। विश्व में अपने विशिष्ट किस्म की पहलवानी का लोहा भी मनवाया। इसलिए उन्हें विश्व विजयी गामा पहलवान के नाम से नवाजा गया। इस अवसर पर जिले एवं बाहर से आए हुए सभी पहलवानों का मंत्री डॉ. मिश्र और प्रदेश पाठय पुस्तक उपाध्यक्ष श्री अवधेश नायक ने शॉल-श्रीफल से सम्मानित किया। उन्होंने कुश्तियों का आनंद भी लिया। जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री विनय यादव, नगर पालिका अध्यक्ष श्री सुभाष अग्रवाल, उपाध्यक्ष श्री योगेश सक्सेना सहित अनेक जनप्रतिनिधि इस मौके पर उपस्थित थे।

Dakhal News

Dakhal News 26 February 2017

महाराष्ट्र स्थानीय निकाय चुनाव में भाजपा का प्रदर्शन शानदार रहा। खासतौर पर मुंबई महानगर पालिका के परिणामों को नोटबंदी के फैसले से जोड़कर देखा जा रहा था। भाजपा को यहां मिली बंपर सीटों के बाद कहा जा रहा है कि देश की आर्थिक राजधानी ने भी नोटबंदी पर मुहर लगा दी है। वैसे नोटबंदी के बाद देश में आठ स्थानों पर स्थानीय निकाय चुनाव हुए हैं। सभी में भाजपा को जबरदस्त कामयाबी मिली है। इसके बाद पार्टी नेता दावा कर रहे हैं कि नोटबंदी के साहसिक फैसले को जनता ने सराहा है। एक नजर 8 नवंबर को लागू नोटबंदी के बाद हुए चुनावों और उनके परिणामों पर - ओडिशा- यहां भाजपा का ज्यादा जनाधार नहीं है, फिर भी बीते दिनों हुए पंचायत चुनाव में पार्टी को भारी जीत मिली। कुल 537 पंचायतों में से 180 पर भाजपा की जीत हुई। इसे बड़ा उलटफेर माना जा रहा है। गुजरात- पिछले साल नवंबर में गुजरात निकाय चुनाव हुए थे। जिला पंचायत, तहसील पंचायत और नगरपालिका की 125 सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा को 109 सीटें मिलीं। पिछले चुनावों में यह आंकड़ा 64 था। कांग्रेस की सीटें पहले से घटकर 52 से 16 रह गईं। राजस्थान- पिछले साल दिसंबर में हुए पंचायत और नगर निकाय चुनाव भाजपा ने 37 में से 19 सीटों पर जीत दर्ज की। चंडीगढ़- यहां के नगर निगम चुनाव में भाजपा ने 26 में से 20 सीटों पर कब्जा जमाया। यहां भाजपा को 20 साल बाद बहुमत मिला। मध्यप्रदेश- जनवरी में हुए नगर परिषद चुनाव में भाजपा ने 35 में से 30 सीटों अपना झंडा लहराया, जबकि कांग्रेस ने 4 सीट पर जीत दर्ज की। फरीदाबाद- बीती जनवरी को हुए फरीदाबाद नगर निगम चुनाव में भाजपा 40 में से 30 वार्ड पर जीत दर्ज की। महाराष्ट्र- नवंबर 2016 में भाजपा को महाराष्‍ट्र निकाय चुनावों में बड़ी कामयाबी मिली। 52 नगर परिषदों पर पार्टी ने कब्‍जा किया, वहीं उसके 851 नगर पंचायत सदस्‍य भी जीते। महाराष्ट्र -अब प्रदेश की दस महानगरपालिकों में से भाजपा ने आठ पर अपने दम पर बहुमत हासिल किया है।

Dakhal News

Dakhal News 25 February 2017
Video

Page Views

  • Last day : 2301
  • Last 7 days : 14762
  • Last 30 days : 62447
All Rights Reserved © 2017 Dakhal News.