विशेष

मजबूत और आक्रामक रहना है हमें राहुल  कांग्रेस की करारी हार के बाद राहुल गांधी ने कहा  हम 52 सांसद ही बीजेपी के लिए काफी हैं , इंच-इंच लड़ेंगे | राहुल गांधी ने वोटरों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि सभी कांग्रेस सदस्यों को यह याद रखना है कि हम सब संविधान के लिए लड़ रहे हैं और बिना किसी भेदभाव के हर देशवासी के लिए लड़ रहे हैं| राहुल ने कहा कि हमें मजबूत और आक्रामक रहना होगा | राहुल गांधी कांग्रेस संसदीय दल की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे |   कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा हमें आक्रामक और मजबूत बने रहना होगा | हम 52 सांसद ही बीजेपी से लड़ने के लिए काफी हैं | संसद के सेंट्रल हॉल में आयोजित कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने वोटरों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि सभी कांग्रेस सदस्यों को यह याद रखना है कि हम सब संविधान के लिए लड़ रहे हैं | लोकसभा चुनाव में बेहद कम सीट जीतने के बावजूद राहुल ने ताकतवर होने का अहसास कराया और कहा कि हम 52 सांसद हैं और मैं गारंटी देता हूं कि ये 52 ही बीजेपी से इंच- इंच लड़ने के लिए काफी हैं | इस बैठक में नेता विपक्ष को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ, लेकिन यह जिम्मेदारी सोनिया गांधी पर छोड़ दी गई | यानी लोकसभा में कांग्रेस की तरफ से नेता विपक्ष कौन बनेगा, ये तय करनी की जिम्मेदारी सोनिया गांधी को दी गई है | 

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजनाथ सिंह  को रक्षा मंत्रालय और अमित शाह को गृह मंत्रालय  और  निर्मला सीतारमण को वित्त मंत्रालय की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी है | गुरुवार को पीएम मोदी के अलावा मंत्रिमंडल में 57 मंत्रियों द्वारा शपथ ली गई थी | वहीं शुक्रवार को उन्होंने सभी मंत्रियों का कार्य विभाजन कर दिया गया | मंत्रिमंडल में 24 कैबिनेट मंत्री बनाए गए थे, वहीं 9 राज्य मंत्रियों को स्वतंत्र प्रभार दिया गया था | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष, पॉलिसी इश्यू सहित अन्य विभाग जो किसी मंत्री को नहीं दिए गए अपने पास रखे हैं | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेताओं के कद और समझ के हिसाब से उनको मंत्रालयों का जिम्मा सौंपा है मंत्रिमंडल में सबसे अहम्  रक्षा मंत्रालय  राजनाथ सिंह को  गृह मंत्रालय अमित शाह को वित्त मंत्रालय निर्मला सीतारमण को परिवहन मंत्रालय  नितिन गडकरी को रासायनिक मंत्रालय डीवी सदानंद गौड़ा को  खाद्य एवं आपूर्ति मंत्रालय रामविलास पासवान को कृषि मंत्रालय नरेंद्र सिंह तोमर को न्याय एवं विधि मंत्रालय रविशंकर प्रसाद को  दिया है | विभागों के वितरण में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राजनैतिक कौशल साफ़ नजर आया है  प्रधानमंत्री ने हरसिमरत कौर बादल को  खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्रालय ,थावर  चंद गेहलोत  को सामाजिक न्याय विभाग  ,एस जयशंकर को विदेश मंत्रालय  , रमेश पोखरियाल 'निशंक'  को मानव संसाधन मंत्रालय , अर्जुन मुंडा  को अनुसूचित जनजाति मंत्रालय  , स्मृति इरानी  को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय , डॉ. हर्षवर्धन  को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ,प्रकाश जावड़ेकर  को ऊर्जा, वन, सूचना प्रसारण मंत्रालय ,पीयूष गोयल को रेलवे मंत्रालय , धर्मेंद्र प्रधान को  पेट्रोलियम मंत्रालय , मुख्तार अब्बास नकवी को अल्पसंख्यक मंत्रालय , प्रल्हाद जोशी को संसदीय कार्य मंत्रालय   , महेंद्र नाथ पांडेय को  कौशल विकास मंत्रालय , अरविंद सावंत  को भारी उद्योग मंत्रालय गिरिराज सिंह को पशु पालन मंत्रालय  , गजेंद्र शेखावत  को जलशक्ति मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है  |

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019

राजनीति

  केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्रालय के राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार प्रहलाद पटेल अपने गृह नगर गोटेगांव पहुंचे। यहां सभी ने उनका जमकर स्वागत किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझे जो जिम्मेदारी सौपी है, उसे मैं पूरा करूंगा। उन्होंने यह भी कहा कि हम हर काम तय समय से पहले पूरा करेंगे। पर्यटन मंत्रालय में काम करने की खूब गुंजाइश है। मंत्री पटेल ने कहा कि पहले में मंत्रालय को समझ लूं, इसके बाद यह आश्वस्त करता हूं कि बेहतर से बेहतर कार्य होगा। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी पर बसे स्थलों पर पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ डुमना नेचर पार्क के लिए भी काम किया जाएगा।  

Dakhal News

Dakhal News 2 June 2019

विपक्ष तनाव मुक्ति के लिए कपालभाती करे  बाबा रामदेव ने कहा इस समय विपक्ष बहुत तनाव में है | इसलिए विपक्ष के नेताओं को नियमित कपालभाती करना चाहिए | बाबा ने कहा विपक्ष के नेताओं को अब कपालभाति की आदत डाल लेना चाहिए | योग गुरु बाबा रामदेव ने लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि विपक्षी नेताओं को अपने तनाव पर नियंत्रण पाने के लिए अगले 10 से 15 साल तक 'कपालभाती' करना चाहिए |  उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश को आर्थिक, काल्पनिक और सांस्कृतिक दरिद्रता से मुक्ति मिलेगी | उन्होंने कहा कि अमित शाह, पीयूष गोयल और नितिन गडकरी सहित जिन सभी ने मंत्री के रूप में शपथ ली  है वे लोगों की उम्मीदों को पूरा करेंगे  और इसके लिए ये अगले पांच वर्षों तक वे कठिन परिश्रम करेंगे | बाबा ने कहा कपालभाति से बड़े से बड़ा तनाव दूर हो जाता है वैसे भी इसे करना चाहिए |  

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019

मीडिया

लोकप्रिय मैसेजिंग प्लेटफॉर्म WhatsApp हमेशा की अपने फ्रेश रखने के लिए एक के बाद एक नए अपडेट पेश कर रहा है। फेसबुक के स्वामित्व वाली इस कंपनी ने अब अपने लेटेस्ट बीटा अपडेट के साथ कुछ दिलचस्प फीचर्स पेश किए हैं। WABetaInfo द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार ऐप स्टोर में नया बीटा अपडेट मिला है, जिसके बाद WhatsApp बहुत जल्द प्रोफाइल फोटो को कॉपी, सेव या डाउनलोड करने का ऑप्शन हटा देगा। आईओएस यूजर के लिए ये लेटेस्ट बीट अपडेट हो सकता है। बता दें कि यह फीचर पहले एंड्रॉयड के अपडेट में भी देखने को मिला था। हालांकि, ग्रुप चैट्स के लिए यह लागू नहीं है। यूजर्स WhatsApp ग्रुप आईकन की फोटो अभी भी सेव कर सकते हैं। WABetaInfo के पेज पर इस फीचर को हटाने को लेकर कई लोगों ने ये भी कहा है कि किसी भी प्रोफाइल फोटो को सेव करने के लिए स्क्रीनशॉट अब भी लिए जा सकते हैं। ऐसे में भले कोई प्रोफाइल फोटो डाउनलोड ना कर सके, लेकिन उसका स्क्रीनशॉट आसानी से ले सकता है इसके अलावा, अपडेट के साथ WhatsApp ने ऑडियो फॉर्मेट को लेकर भी बदलाव किए हैं। अभी तक ऑडियो भेजने और रिसीव करने के लिए OPUS फॉर्मेट का इस्तेमाल करता था, लेकिन WhatsApp ऑडियो फाइल्स को अब M4A फॉर्मेट में रिसीव करेगा और भेजेगा। इस बदलाव का कारण है कि OPUS फॉर्मेट सभी ऐप्स सपोर्ट नहीं करता है। गौरतलब है कि हाल ही में पुष्टि हुई है कि साल 2020 से WhatsApp में विज्ञापन दिखना शुरू हो जाएंगे। नीदरलैंड्स में एनुअल मार्केटिंग सबमिट के दौरान इस बारे में खुलासा हुआ कि शुरुआत में विज्ञापन यूजर्स को WhatsApp स्टोरी सेक्शन में दिखाए जाएंगे। बता दें कि इंस्टाग्राम में पिछले साल से ही विज्ञापन शुरू किए जा चुके हैं।

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019

    सर्च इंजन कंपनी गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने लाखों डॉलर के मूल्य के गूगल स्टॉक्स को अस्वीकार कर दिया। उन्होंने 2 साल से इक्विटी अवॉर्ड (शेयरों के रूप में मिलने वाला भुगतान) नहीं लिया है। पिछले साल शेयर लेने से इनकार करते हुए पिचाई ने कहा था कि उन्हें पहले ही काफी भुगतान मिल चुका है। इस बात की जानकारी ब्लूमबर्ग मीडिया ने सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट दी है। पिचाई ने कितनी वैल्यू के शेयर छोड़े, इसे लेकर आई एक रिपोर्ट के अनुसार संभवतः इनकी कीमत 58 मिलियन डॉलर हो सकती है। हालांकि यह भी हो सकता है पिचाई ने रणनीति के तहत शेयर लेने से मना किया हो क्योंकि गूगल के कर्मचारी , सीईओ का वेतन बहुत ज्यादा होने को लेकर सवाल उठा चुके हैं। जबकि कई कर्मचारियों के लिए रोज की जरूरतें पूरा करना भी मुश्किल होता है। अल्फाबेट इस साल सीईओ के वेतन पर फिर से करेगी विचारअगर पिचाई के पिछले शेयर अवॉर्ड्‌स की बात करें तो 2014 में उन्हें 25 करोड़ डॉलर (1750 करोड़ रुपए) की वैल्यू के शेयर मिले थे। 2015 में गूगल ने उन्हें 10 करोड़ डॉलर (700 करोड़ रुपए) और 2016 में 20 करोड़ डॉलर (1400 करोड़ रुपए) की वैल्यू के शेयर दिए थे। गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट इस साल सीईओ के वेतन पर फिर से विचार करेगी। उस वक्त तक पिचाई के पिछले शेयर उनके खाते में आ जाएंगे।

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019

समाज

  नौतपा के अंतिम दिन छत्‍तीसगढ़ में भी मौसम ने करवट ली। राज्‍य के कुछ हिस्‍सों में बारिश के साथ प्री मानसून गतिविधियां आरंभ हो गई। बिलासपुर में तेज बारिश से भीषण गर्मी से परेशान लोगों को काफी हद तक राहत मिली।बिलासपुर के गोलबाजार मेन रोड मे शाम 4.45 बजे बारिश आरंभ हुई। करीबन 45 मिनट तक झमाझम पानी गिरा। उल्‍लेखनीय है कि मई में छत्तीसगढ़ की धरती खूब तपी। आसमान से सूरज ने खूब आग बरसाई। इस साल अधिकतम तापमान 46 डिग्री के आंकड़ा भी पार कर गया। लालपुर मौसम विज्ञान केंद्र के आंकड़े भीषण गर्मी की गवाही दे रहे हैं। 'नईदुनिया\" के पास मौजूद आंकड़े के मुताबिक मई के 31 दिनों में रायपुर का अधिकतम तापमान सिर्फ दो बार 40 के नीचे पहुंचा, वह भी 39.5 डिग्री से अधिक रहा। औसत तापमान 43.2 डिग्री रहा। राजनांदगांव 44.2 डिग्री औसत तापमान के साथ सबसे गर्म रहा। मौसम विभाग के आंकड़े बताते हैं कि बीते वर्ष की तुलना में इस साल रायपुर के औसत तापमान में 0.5 डिग्री की वृद्धि हुई है। पूर्वानुमान तो यह भी लगाया जा रहा है कि अच्छी गर्मी से इस साल अच्छी बारिश होगी। बीते वर्ष 1100 मिमी बारिश हुई थी। लगातार बढ़ती गर्मी से मौसम विभाग, कृषि मौसम विभाग के वैज्ञानिक भी हैरान हैं। उनका मानना है कि अगर इसी दर से औसत तापमान में वृद्धि होती गई तो यह इंसानों, जीव-जंतुओं के साथ किसानी के लिए नुकसानदायक होगा। अंधाधुंध पेड़ों की कटाई (हालांकि रायपुर में ग्रीनरी बढ़ी है।), सीमेंट की सड़कों का निर्माण, फुटपॉथ में भी कांक्रीटीकरण, बेलगाम निजी गाड़ियां, पब्लिक ट्रांसपोर्ट का कम इस्तेमाल आदि तापमान बढ़ने के प्रमुख कारण हैं। कचरा जलाने, पटाखे चलाने का भी इस पर असर पड़ा है। शहरों का मई में औसत तापमान रायपुर- 43.2, बिलासपुर- 43.5, पेंड्रा- 40.1, अंबिकापुर- 40.0, जगदलपुर- 38.9, दुर्ग- 43.4, राजनांदगांव- 44.2। गौर करने वाली बात यह है कि सिर्फ जगदलपुर ही एक ऐसा शहर है, जहां औसत तापमान 40 के नीचे रहा। शुक्रवार को रायपुर, बिलासपुर, जगदलपुर, दुर्ग जिले समेत कई क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई थी। शनिवार को भी स्थिति ऐसी ही रही। कोरिया, मुंगेली, कोरबा, रायगढ़, कवर्धा, बेमेतरा, राजनांदगांव, दुर्ग, रायपुर, बलौदाबाजार, महासमुंद, बालोद,गरियाबंद, धमतरी, कांकेर, कोंडागांव, दंतेवाड़ा, बस्तर के कुछ क्षेत्र में 40 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा चली।मौसम विभाग ने आज प्रदेश के कुछ स्थानों पर तेज हवा चलने का पूर्वानुमान है, हल्की बारिश भी हो सकती है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानी एचपी चंद्रा ने कहा छत्तीसगढ़ में मानसून 15 के बाद ही आएगा। इस साल औसत गर्मी बीते वर्षों की तुलना में अधिक रही। इस साल पारा तकरीबन 0.5 डिग्री अधिक रहा। जून के 10 दिन तक तो पारा 42-43 के बीच ही रहेगा।  

Dakhal News

Dakhal News 2 June 2019

खराब सड़क बनी हादसे की वजह एमपी के दमोह में उस वक्त एक बड़ा हादसा टल गया जब अचानक एक चलती बस से टायर निकल गए | जब यह हादसा हुआ बस  रफ़्तार में नहीं थी |  लेकिन गनीमत यह रही की इस घटना में मुसाफिरों को ज्यादा चोटें  नहीं लगीं | दमोह में  एक बड़ा बस हादसा उस वक्त टल गया, जब तेजगढ़ से तेंदूखेड़ा की तरफ जा रही यात्री बस के दो पहिए खुल गए |  गनीमत रही कि इस हादसे में किसी को ज्यादा गंभीर चोट नहीं आई   |  हादसा पीडराई पाजी के पास हुआ, जब अचानक तेज रफ्तार बस की एक तरफ के दोनों टायर खुल गए |  जिस वक्त ये हादसा हुआ, उस वक्त बस की रफ्तार ज्यादा नहीं थी |  वरना बड़ी जनहानि हो सकती थी |  हादसे के बाद लोग बदहवास नजर आए और बस से दूर भागने लगे |  कुछ लोगों को इस हादसे में मामूली चोट आई है  | बस में सवार यात्रियों ने बताया कि इस मार्ग पर सड़क की हालत काफी खराब है  | जगह-जगह गड्ढे हैं, जो इस तरह के हादसों की वजह बन रहे हैं | इस हादसे में घायल हुए लोगों को पास के स्थानीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार के लिए ले जाया गया|    

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019

पेज 3

अमिताभ और सलमान सहित तमाम दिग्गज स्टार दादा वीरू देवगन की प्रेयर मीट में न्यासा बेहद इमोशनल हो गईं। अजय देवगन ने उन्हें संभाला और बाहर लेकर आए। न्यासा और अजय देवगन की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। इन वायरल तस्वीरों में न्यासा रोती नजर आ रही हैं, पिता अजय उन्हें संभालते दिखाई दे रहे हैं। वीरू देवगन की प्रेयर मीट में बेटे अभिषेक बच्चन के साथअमिताभ बच्चन पहुंचे थे। अमिताभ बच्चन और वीरू देवगन अच्छे दोस्त थे। वीरू देवगन के निधन से अमिताभ बच्चन काफी दुखी है। उन्होंने अपने ब्लॉग पर एक बेहद इमोशनल नोट लिखकर अपना दुख जाहिर किया है। उधर, सलमान खान भी वीरू देवगन की प्रेयर मीट में पहुंचे। अजय देवगन के पिता और एक्शन कोरियोग्राफर वीरू देवगन ने 27 मई को आखिरी सांस ली थी। उनके निधन के चार दिन बाद देवगन फैमिली ने उनकी आत्मा की शांति के लिए एक प्रेयर मीट का आयोजन किया। पिता की प्रेयर मीट में अजय देवगन अपनी मां वीणा देवगन, पत्नी काजोल और बेटी न्यासा के साथ पहुंचे। वीरू देवगन की प्रेयर मीट में बॉलीवुड के तमाम दिग्गज सितारे पहुंचे। वीरू देवगन की प्रेयर मीट में अमिताभ बच्चन, करीना-करिश्मा कपूर, सलमान खान, अरबाज खान, सोहेल खान, रवीना टंडन, गुलशन ग्रोवर, महिमा चौधरी, चंकी पांडे, अलवीरा अग्निहोत्री, नुसरत भरुचा, सुनील शेट्टी, वत्सल सेठ, सुरेश ओबेरॉय, प्रेम चोपड़ा और कुणाल खेमू सहित कई बड़े स्टार्स शामिल हुए।

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019

  पहले हफ्ते में मोदी की बायोपिक ने ठीक किया। कम लागत को देखते हुए यह कमाई बढ़िया है। कुलमिलाकर फायदा का सौदा दिख रहा है। बता दें कि इसने बढ़िया वीकेंड बिताया था। शुरुआती तीन दिन में केवल 1200 स्क्रीन्स पर होते हुए भी इसकी कमाई 11.76 करोड़ रुपए रही। फिल्म औसत है, समीक्षाओं में इसे कम तारीफ मिली है। फिर भी लोग इसे देखते रहे जिसकी वजह मोदी का फिर पीएम बनना भी रहा। इस दिन फिल्म को गुरुवार से भी कम कमाई हुई। गुरुवार को इसे 1.31 करोड़ रुपए मिले थे और शुक्रवार की कमाई 1.15 करोड़ रही। इसकी कुल कमाई 20.36 करोड़ रुपए हो गई है। बता दें कि पहले हफ्ते में इसने 19.21 करोड़ रुपए कमाए थे। दूसरे हफ्ते में इसे 5 जून तक कमाई का मौका मिलेगा। 5 जून को सलमान खान की 'भारत' रिलीज होगी, फिर इसका कमाना मुश्किल है। तब तक यह फिल्म छह करोड़ और कमा सकती है।तीन बार इसकी रिलीज डेट तय की गई। सबसे पहले इसे 12 अप्रैल को रिलीज किया जाना था, लेकिन फिर इसकी तारीख 5 अप्रैल कर दी गई। लेकिन यह 5 अप्रैल रिलीज ही नहीं हो पाई क्योंकि चुनाव आयोग से इसे रोक दिया और मतदान के बाद रिलीज करने का आदेश दिया। आखिर में फिल्म 24 मई को रिलीज हो पाई।हीरो विवेक ओबेरॉय को इसमें खासी तारीफ मिल रही है। लोगों को यह पसंद आया कि विवेक ने पीएम मोदी को पूरी तरह कॉपी नहीं किया है। इसका जबरदस्त प्रचार हुआ था और इसका फायदा भी फिल्म को है।

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019

दखल क्यों

छत्तीसगढ़ सरकार के महाधिवक्ता का पद फिर एक बार चर्चा में है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का कहना है कि कनक तिवारी ने महाधिवक्ता पद से इस्तीफा दे दिया है। उनकी जगह पर नई नियुक्ति कर दी गई है। वहीं, तिवारी का कहना है कि उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है। इधर सरकार ने अतिरिक्त महाधिवक्ता सतीशचंद वर्मा को नया महाधिवक्ता नियुक्त कर दिया है। तिवारी के महाधिवक्ता पद छोड़ने की खबर शुक्रवार की शाम अचानक आई। मुख्यमंत्री भूपेश उसी वक्त बस्तर से रायपुर लौटे थे। पुलिस लाइन स्थित हैलीपेड पर मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा कि तिवारी ने आगे कामकाज को संभालने में असमर्थतता जताते हुए इस्तीफा दिया है। इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया गया है। उन्होंने तिवारी के स्थान पर नई नियुक्ति की भी पुष्टि की।  जब तिवारी से बात की, तो उन्होंने अपने इस्तीफे की बात का खंडन किया। उन्होंने कहा कि मैं दृढ़तापूर्वक कह रहा हूं कि मैंने इस्तीफा नहीं दिया है। जब इस्तीफे पर दस्तखत नहीं किया तो मुख्यमंत्री के पास इस्तीफा कैसे पहुंच गया? इसके पहले एक बार और तिवारी के महाधिवक्ता पद से इस्तीफे की खबरें आई थीं। इस कारण तिवारी ने कहा कि ऐसा एक-दो बार नहीं, तीसरी और चौथी बार भी हो सकता है। सच्चाई यह है कि उन्होंने महाधिवक्ता का पद नहीं छोड़ा है। इधर, महाधिवक्ता पद पर नई नियुक्ति को लेकर अतिरिक्त महाधिवक्ता सतीश चंद्र वर्मा ने नईदुनिया को बताया कि उनके नाम की घोषणा हो गई है। उन्हें शासन से इस विषय में आदेश की प्रति मिली है।

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019

पुलिस और परिवार को नहीं लगी भनक    पुलिस एक नाबालिग लड़की की तलाश कितनी शिद्दत से कर रही थी।इसका उदहारण तब देखने को मिला  जब उसी नाबालिग लड़की की शादी का रिशेप्शन थाने से महज कुछ ही दूरी पर नगरपालिका के मंगल भवन में चल रहा था। और पुलिस को भनक तक नहीं थी | हद तब हुई जब लड़की के घर वालों को पता चला।और पुलिस को सुचना दी। तब पुलिस हरकत में आई। अब कहा तो यही जायेगा की मध्यप्रदेश की पुलिस वाकई गज़ब है सबसे अज़ब है | पुलिस जिस नाबालिग लड़की की पिछले कई दिनों से तलाश कर रही थी। उसी नवालिक की शादी का रिसेप्शन धूम धाम से हो रहा था | हैरानी की बात यह हैं की। नगर पालिका का मंगल भवन बुक किया गया।  शादी और रिशेप्शन के कार्ड छपे और पुरे गावं में बाटे गए। लेकिन न तो घर वालों को पता चला और ना ही पुलिस वालों को जब धूमधाम से रिशेप्शन हो रहा था और लोग दुल्हन बनी खड़ी नाबालिग को आशीर्वाद दे रहे थे तो गावं के ही किसी व्यक्ति ने घर वालों को उनकी बेटी के बारे में बताया।  और जब घर वाले पहुंचे तो पूरी घटना की सुचना पुलिस को दी जिसके बाद पुलिस लड़का और लड़की को थाने ले गयी अब पुलिस मामला दर्ज कर कार्यवाही की बात कर रही हैं। आपको बता दे की मामला गाडरवारा थाने का है जहां सुब्बा बाई ने अपनी नाबालिक लड़की के  गुमशुदगी की 7 मई को थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी | पर 10 दिनों तक लड़की का कुछ पता नहीं चला था | सवाल यही उठता हैं की पुलिस लड़कियों की गुमशुदगी को कितनी गंभीरता से लेती हैं। और उनको तलाशने के क्या प्रयास करती हैं |  

Dakhal News

Dakhal News 1 June 2019
Video

Page Views

  • Last day : 2161
  • Last 7 days : 12304
  • Last 30 days : 37175
All Rights Reserved © 2019 Dakhal News.