विशेष

जम्मू संभाग में अंतर्राष्ट्रीय सीमा से लेकर नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी जारी है। पाकिस्तान कई चौकियों और रिहायशी इलाकों को निशाना बना रहा है। इसमें एक जवान शहीद हुआ है साथ ही दो और लोगों की मौत हो गई जबकि एक दर्जन के करीब लोग घायल हो गए। इसे मिलाकर अब तक तीन जवानों सहित आठ की मौत हो चुकी है। पैंतीस के करीब लोग घायल हो गए हैं। वहीं अखनूर सेक्टर में भी सभी स्कूलों को बंद कर दिया है। सीमावर्ती क्षेत्रों से लोगों का पलायन जारी है। गोलाबारी में कई जानवर भी मारे गए हैं। पाकिस्तान ने पूरी रात गोलाबारी जार रखी। शनिवार की सुबह अरनिया सेक्टर में कुछ देर के लिए गोलाबारी जरूर थमी लेकिन जैसे ही कुछ लोगों ने गांवों का रुख किया। फिर से गोलाबारी शुरू हो गई। वहीं रामगढ़ सेक्टर में दो लोगों की मौत हो गई। सुबह करीब साढ़े नौ बजे कपूरपुर में पंद्रह साल के किशोर गारा राम निवासी कपूरपुर की मौत हो गई। इसी जगह पर दो अन्य लोग भी घायल हुए हैं। इसी सेक्टर में दोपहर करीब बार बजे गार सिंह पुत्र खुशविंद्र सिंह की भी गोलाबारी में मौत हो गई। इसमें पांच अन्य लोग घायल भी हो गए। घायलों की पहचान अठारह वर्षीय शीतल, पांच वर्षीय जैमल सिंह, तीस वर्षीय सोनी देवी, चालीस वर्षीय मुंशी राम और बीस साल के विनोद कुमार के रूप में हुई है। पांचों घायल सुचेतगढ़ के रहने वाले हैं। वहीं अखनूर सेक्टर के कानाचक्क में एसएसबी का एक जवान लालू राम पुत्र सिया राम निवासी उत्तर प्रदेश घायल हो गया। कानाचक्क में ही पैंतीस वर्षीय बिल्लु पुत्र मनसा और राधा कृष्ण पुत्र बंसी दास भी घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए राजकीय मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। अखनूर सेक्टर के परगवाल, गडखाल व अन्य क्षेत्रों को सुरक्षा के लिहाज से सील किया गया है। गोलाबारी को देखते हुए किसी को भी जाने की अनुमति नहीं है। प्रशासन ने इस क्षेत्र में सभी स्कूलों को बंद कर दिया है। वहीं सीमावर्ती क्षेत्रों से लोगों का पलायन जारी है। अरनिया, सई खुर्द, पिंडी चाढ़का, त्रेवा, चक्क गोरिया, चंगिया, चानना, जबोबाल, चक्क् जंदराल, कोटली काजिया सहित कई गांवों से लोगों ने पलायन कर दिया है। इससे पहले शुक्रवार को पाकिस्तान द्वारा किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन में 22 नागरिक घायल हो गए थे वहीं भारतीय सेना का एक जवान भी शहीद हुआ था। हालांकि, भारतीय सेना ने इसका करार जवाब दिया था और जवाबी कार्रवाई में सीमा पार भारी नुकसान की सूचना है। पाकिस्तान ने शुक्रवार को 50 से ज्यादा चौकियों व 100 से अधिक गांवों पर जमकर मोर्टार दागे। अंतरराष्ट्रीय सीमा से पुंछ में नियंत्रण रेखा तक 18 सेक्टरों में पाकिस्तान की ओर से की जा रही भारी गोलाबारी से युद्ध जैसे हालात बन गए। इलाके में तनाव का माहौल है और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।  

Dakhal News

Dakhal News 20 January 2018

फिलीपींस के लेगाजपी शहर में ज्वालामुखी से लावा निकलना शुरू हो गया है। इसे लेकर स्थानीय प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। फिलीपीन इंस्टीट्यूट ऑफ वॉल्केनोलॉजी एंड सिस्मोलॉजी ने मंगलवार को कहा कि माउंट मेयोन से लावा निकलना शुरू हो गया है, जोकि क्रेटर से दो किलोमीटर तक फैल चुका है और उससे निकलने वाली राख आसपास के गांवों तक पहुंचने लगी है। वैज्ञानिकों की मानें तो ज्वालामुखी से निकलने वाला लावा और जहरीला धुंआ लोगों की सेहत के लिए काफी नुकसानदायक है। लावा निकलने की वजह से आसपास के इलाके से 15 हजार लोग सुरक्षित स्थानों पर चले गए हैं। स्थानीय प्रशासन ने अलर्ट लेवल तीन पर रखा है। ऐसे में खतरा अभी टला नहीं है और आने वाले दिनों में इस ज्वालामुखी में विस्फोट होने की आशंका है। जिस स्थान पर लावा फूटना शुरू हुआ है, वो फिलीपींस की राजधानी मनीला से 340 किलोमीटर दूर एलबे प्रांत में है। पिछले पांच सौ सालों में ये ज्वालामुखी पचास बार फूट चुका है। 2013 में पांच पर्वतारोहियों की इसकी चपेट में आने से मौत हो गई थी। फिलीपींस में ऐसे ही 23 ज्वालामुखी सक्रिय हैं। इतिहास में सबसे बड़ा ज्वालामुखी विस्फोट 1991 में हुआ था, जिसमें 850 लोगों की मृत्यु हो गई थी। ज्वालामुखी विस्फोट में लाखों लोगों से अधिक बेघर भी हुए थे।

Dakhal News

Dakhal News 16 January 2018

राजनीति

  गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल को मध्यप्रदेश का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को उन्हें इस पद पर नियुक्त किया है। जिस दिन वह अपना प्रभार ग्रहण करेंगी उस दिन से उनकी नियुक्ति प्रभावी होगी। इस आशय की जानकारी राष्ट्रपति भवन ने एक ट्वीट में दी है। 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से अगस्त 2016 तक 76 वर्षीया पटेल गुजरात की मुख्यमंत्री रही। उन्हें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। गुजरात विधानसभा चुनाव में नहीं उतरने के बाद से उन्हें मध्य प्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किए जाने का अनुमान लगाया जा रहा था। अभी गुजरात के राज्यपाल ओमप्रकाश कोहली के पास ही मध्यप्रदेश के राज्यपाल का भी प्रभार है। आनंदीबेन पटेल मध्यप्रदेश की पूर्णकालिक राज्यपाल होंगी। सितंबर 2016 में रामनरेश यादव का कार्यकाल खत्म होने के बाद से राज्य में पूर्णकालिक राज्यपाल नहीं है। वे 22 मई 2014 से 7 अगस्त 2016 तक मुख्यमंत्री के पद रही। हाल ही के गुजरात विधानसभा चुनाव के समय जब आनंदी बेन ने चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया था तभी से उन्हें मध्यप्रदेश का राज्यपाल बनाए जाने की चर्चा चल रही थी। आनंदीबेन पटेल का जन्म 21 नवम्बर 1941 को हुआ। वे गुजरात की पहली महिला मुख्यमंत्री बनी। वे 1998 से गुजरात की विधायक रही। आनंदी बेन 1987 से भारतीय जनता पार्टी से जुड़ी हैं और गुजरात सरकार में सड़क और भवन निर्माण, राजस्व, शहरी विकास और शहरी आवास, आपदा प्रबंधन और वित्त आदि महत्वपूर्ण विभागों की काबीना मंत्री का दायित्व निभा चुकी हैं। वे गुजरात की राजनीति में \"लौह महिला\" के रूप में जानी जाती हैं। आनंदीबेन को सर्वश्रेष्ठ शिक्षक के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार (1989),गुजरात में सबसे बेहतर शिक्षक के लिए राज्यपाल पुरस्कार (1988),पटेल जागृति मंडल मुम्बई द्वारा 'सरदार पटेल' पुरस्कार (1999),पटेल समुदाय द्वारा 'पाटीदार शिरोमणि' अलंकरण (2005),महिलाओं के उत्थान अभियान के लिए धरती विकास मंडल द्वारा विशेष सम्मान,महेसाणा जिला स्कूल खेल आयोजन में पहली रैंकिंग के लिए 'बीर वाला' पुरस्कार,श्री तपोधन ब्रह्म विकास मंडल द्वारा 'विद्या गौरव' पुरस्कार (2000),1994 में उन्होंने बिजिंग में चतुर्थ विश्व महिला सम्मेलन में भारत का नेतृत्व किया। नर्मदा नदी स्थित नवगाम जलाशय में डूबती हुई लड़की को बचाने हेतु वीरता पुरस्कार्।चारुमति योद्धा पुरस्कार, अहमदाबाद की विजेता ,अंबुभाई व्यायाम विद्यालय पुरस्कार (राजपिपला) की विजेता।   

Dakhal News

Dakhal News 20 January 2018

अहमदाबाद में  सोमवार को बेहोशी की हालत में मिले वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया ने मंगलवार को होश में आने के बाद मीडिया को संबोधित किया। इस दौरान तोगड़िया सोमवार की पूरी घटना को लेकर भावुक हो गए और उनकी आंखों में आंसू आ गए। उन्होंने इस दौरान अपने एनकाउंटर के अलावा अपनी आवाज दबाने की राजनीतिक साजिश का आरोप भी लगाया। उन्होंने मीडिया से कहा कि मैं सालों से हिंदू एकता, राम मंदिर व अन्य मुद्दे उठाता रहा हूं लेकिन पिछले कुछ समय से लगातार मेरी आवाज दबाने का प्रयास होता रहा। सोमवार को भी मेरे एनकाउंटर की खबर मिली जिसके बाद में दफ्तर से निकल गया। तोगड़िया ने पूरी घटना का सिलसिलेवार जिक्र करते हुए कहा कि मेरी आवाज दबाने के क्रम में सेंट्रल आईबी ने मेरे द्वारा तैयार किए गए डॉक्टरों को डराना शुरू किया जिसके बाद मैंने केंद्र सरकार को पत्र लिखा। लेकिन मेरे खिलाफ कई पुराने केस निकालकर डराने का काम शुरू हुआ। सोमवार को पुलिस गिरफ्तारी का काफिला लेकर आई। यह हिंदुओं और मेरी आवाज दबाने की कोशिश का एक हिस्सा है। तोगड़िया आगे बोले कि सोमवार को एक जनसभा को संबोधित करके लौटा और पुलिस को कहा कि 2.30 बजे आओ, लेकिन सुबह जब में पूजा कर रहा था तब एक व्यक्ति मेरे कमरे में आया और कहा कि मेरा एनकाउंटर करने पुलिस निकली है। लेकिन मैंने उनकी बात पर ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि इस बीच मुझे फोन आया कि राजस्थान पुलिस के 16 थानों की पुलिस का काफिला निकला है। इसके बाद मैं उसी स्थिति मैं बाहर निकला और बाहर खड़े पुलिस वालों को बताकर ऑटो में कार्यकर्ताओं के साथ निकल गया। रास्ते में राजस्थान के मुख्यमंत्री का संपर्क करवाया जिन्होंने इस बात से इन्कार किया और कहा कि पुलिस नहीं गई है। इसके बाद मैं फोन बंद कर एक कार्यकर्ता के घर गया। वहां से मैंने राजस्थान में वकीलों और पुलिस से संपर्क किया। उन्हों ने सलाह दी कि आप गिरफ्तारी की बजाय राजस्थान आकर सरेंडर करें। इसके बाद मैं विमान से राजस्थान निकला लेकिन रास्ते में मुझे दिक्कत हुई जिसके बाद मुझे कुछ भी याद नहीं है। तोगड़िया बोले कि इस तरह के कई और मामले अलग-अलग राज्यों में निकाले जा रहे हैं और मुझे एक जेल से दूसरी जेल में ले जाने की साजिश है ताकि में हिंदुत्व की बात ना कर सकूं। तोगड़िया 11 घंटे लापता रहे और फिर देर रात अहमदाबाद के शाही बाग इलाके में बेहोशी की हालत में मिले। इसके बाद उन्हें नीय चंद्रमणि अस्पताल में भर्ती कराया गया। तोगड़िया का इस हालत में मिलने पर इसलिए भी सवाल उठ रहे हैं क्योंकि उन्हें जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा हासिल है। तोगड़िया का इलाज कर रहे डॉक्टरों के अनुसार तोगड़िया को बेहोशी की हालत में अस्पताल लाया गया था। लो ब्लड शुगर के कारण वो बेहोश थे और उनका तुरंत इलाज शुरू किया गया। दरअसल पुलिस उन्हें वीएचपी दफ्तर में गिरफ्तार करने के लिए पहुंची थी लेकिन तोगड़िया वहां नहीं मिले जिसके बाद पुलिस खाली हाथ लौटी। पुलिस इस बात पर आश्चर्य जता रही है कि तोगड़िया वीएचपी कार्यालय से 15 किमी दूर कैसे पहुंचे।    

Dakhal News

Dakhal News 16 January 2018

मीडिया

‘एबीपी न्यूज’ चैनल को खोजी पत्रकारिता के लिए विशेष संवाददाताओं की जरूरत है. इनवेस्टिगेटिव स्टोरीज के लिए स्पेशल/प्रिंसिपल कॉरेस्पोंडेंट के पद हेतु अप्लाई वही लोग करें जो मीडिया में कम से कम 8 से 10 वर्षों का अनुभव रखते हैं. एबीपी न्यूज को नोएडा आफिस के लिए असिस्टेंट मैनेजर (प्रॉडक्टर मैनेजर- वेब, मोबाइल, ऐप, विडियोज) व सीनियर एग्जिक्यूटिव भी चाहिए. असिस्टेंट मैनेजर के लिए तीन वर्ष से ज्यादा का अनुभव होना चाहिए. सीनियर एग्जीक्यूटिव के लिए 2-3 वर्ष का अनुभव होना जरूरी है. इच्छुक अभ्यर्थी अपना बायोडाटा resumes@abpnews.in पर भेजें. साथ ही सब्जेक्ट लाइन में पद का नाम जरूर लिखें.

Dakhal News

Dakhal News 20 January 2018

एमपी के जनसम्पर्क, जल संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र से आज निवास पर जर्नलिस्ट यूनियन ऑफ मध्यप्रदेश, इंदौर शाखा के पदाधिकारियों ने सौजन्य भेंट की। भेंट करने वालों में श्री ओमप्रकाश फरकिया, श्री चम्पालाल गुर्जर, श्री राजेन्द्र पुरोहित, श्री ओमप्रकाश जैन, श्री ओम बाबा, श्री संतोष वाजपेयी, श्री घनश्याम सोनी और श्री अशोक बड़गुजर आदि शामिल थे। डॉ. मिश्र से की सौजन्य भेंट  जनसम्पर्क, जल संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र से आज निवास पर मालवा श्रमजीवी पत्रकार संघ, रतलाम के पदाधिकारियों ने सौजन्य भेंट की। इस अवसर पर मालवा श्रमजीवी पत्रकार संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री लखन गेहलोत, जाट पत्रिका के संपादक श्री गजेन्द्र जाट, संस्कार टुडे के संपादक श्री गोपाल परमार आदि उपस्थित थे। डायरी, कैलेण्डर का विमोचन किया  डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज साप्ताहिक कृषक जगत भोपाल द्वारा प्रकाशित वर्ष 2018 की डायरी का विमोचन किया। इस अवसर पर समाचार पत्र के संपादक श्री सुनील गंगराड़े और संपादकीय सहयोगी श्री राजेश दुबे उपस्थित थे। जनसम्पर्क मंत्री ने निवास पर दैनिक लोकोत्तर, भोपाल द्वारा प्रकाशित वर्ष 2018 के टेबिल कैलेण्डर का भी विमोचन किया। विमोचन अवसर पर अखबार के संपादक श्री विवेक पटैरिया और प्रबंध संपादक श्री कैलाश वाजपेयी उपस्थित थे।  

Dakhal News

Dakhal News 16 January 2018

समाज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पुलिस जनसेवा के लिये है। पुलिस की सेवा को नौकरी नहीं माना जा सकता। लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी मिलना बहुत सौभाग्य की बात है। पुलिस का कर्तव्य किसी भी अन्य सेवा से अधिक महत्वपूर्ण है। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से कहा कि सामाजिक जटिलताओं का कुशलतापूर्वक सामना करते हुए आमजन का विश्वास जीतना होगा। अधिकारी धैर्य, उत्साह और सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ कार्य करें। मन, मस्तिष्क और शरीर को चुस्त-दुरूस्त रखने के लिये योग, व्यायाम और मनोरंजन की गतिविधियों में भी शामिल हों। मुख्यमंत्री ने पुलिस बल में अवकाश की संकल्पना पर विचार करने की जरूरत बतायी। श्री चौहान आज विधानसभा सभागार में तृतीय आई.पी.एस. ऑफीसर्स मीट के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में आत्मीयता के भाव से सरकार चलाने का प्रयास किया गया है। मध्यप्रदेश पुलिस ने अनेक ऐसे कार्य किये हैं, जिन पर गर्व किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि समस्याएं आती रहती हैं, जरूरत उनके समाधान के निरंतर प्रयास की है। चुनौतियों का सामना विशेषज्ञता के साथ किया जाना चाहिये। पुलिस अधिकारियों के समूह बनाकर विषयवार होने वाले चिंतन के निष्कर्षों पर मुख्यमंत्री एवं गृह मंत्री पुलिस अधिकारियों के साथ मिलकर रोडमैप का निर्माण करेंगे। पुलिस और जनता के मध्य दूरियों को कम करने के लिये सामुदायिक पुलिसिंग के प्रयोग किये गये हैं। इन्हें और अधिक विस्तारित करना होगा। श्री चौहान ने आईपीएस मीट के आयोजन की सराहना करते हुये कहा कि संगोष्ठी के विषय समसामयिक और सराहनीय हैं। आज पूरी दुनिया के सामने कट्टरवाद की चुनौती है। लोगों को अलग-अलग बाँटने की कोशिशें लोकतंत्र के लिये घातक हैं। इनका सामना करने के लिये जरूरी है कि उदारवादी दृष्टिकोण को प्रसारित किया जाये। भारतीय समाज और संस्कृति में एक ही चेतना की मान्यता है, जिसमें भेदभाव के लिये कोई स्थान नहीं है। सामाजिक समरसता का संदेश देने के लिये ही एकात्म यात्रा का आयोजन किया गया है। संगोष्ठी का मंथन निश्चय ही इस दिशा में सार्थक पहल होगा। मुख्यमंत्री ने अखिल भारतीय पुलिस अधिकारी सेवा संघ के अध्यक्ष श्री संजय राणा को जन्मदिन की बधाई भी दी। विधानसभा अध्यक्ष श्री सीताशरण शर्मा ने कहा कि शासन का सबसे प्रमुख अंग सुरक्षा बल होते हैं। लोकतांत्रिक शासन प्रणाली जनहित की सबसे अच्छी प्रणाली है। उन्होंने मीट के आयोजन पहल की सराहना करते हुये कहा कि संगोष्ठी के विषयों पर विचार-विमर्श सुशासन के लिए महत्वपूर्ण होंगे। इसके सकारात्मक परिणाम आयेंगे। उन्होंने सोशल मीडिया और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के दुरूपयोग की समस्या पर भी विचार व्यक्त किये। पुलिस महानिदेशक श्री ऋषि कुमार शुक्ला ने विषय प्रर्वतन किया। उन्होंने कहा कि जनता की सेवा पुलिस का प्राथमिक दायित्व है। जन अपेक्षाओं को पूरा करने की चुनौती बहुत कठिन कार्य है। आर्थिक और तकनीकी परिवर्तन की चुनौतियां भी तेजी से बढ़ रही हैं। जनता और पुलिस के मध्य दूरी को पाटने के प्रयास पुलिस द्वारा निरंतर किये जा रहे हैं। मीट के दौरान इन चुनौतियों का सामना करने के लिये कार्यशाला का आयोजन कर युवा और वरिष्ठ अधिकारियों के मध्य संवाद का प्रयास किया गया है। स्वागत उद्बोधन में आईपीएस एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री संजय राणा ने बताया कि संगोष्ठी का आयोजन कट्टरवाद का उदारीकरण : चुनौतियां और सोशल मीडिया के नए आयाम कानून प्रवर्तन एजेंसियों के लिए चुनौतियां विषयों पर किया गया है। आभार प्रदर्शन अपर महानिदेशक पुलिस श्री व्ही.के. महेश्वरी ने किया। कार्यक्रम संचालन श्री राजेश मिश्रा ने किया।इस अवसर पर भारतीय पुलिस सेवा के वर्तमान और सेवानिवृत्त अधिकारी उपस्थित थे।    

Dakhal News

Dakhal News 20 January 2018

    एमपी के मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान से मुख्यमंत्री निवास पर पाँच उद्योग समूहों के प्रतिनिधियों ने मुलाकात कर प्रदेश में निवेश के प्रस्ताव दिये। मुख्यमंत्री श्री चौहान से ट्राइडेंट ग्रुप, सुजलान एनर्जी, मे. वेकमेट इंडिया लिमिटेड, मे. अल्ट्राटेक सीमेंट लिमिटेड, मे. सनफार्मा लिमिटेड के प्रतिनिधियों ने मुलाकात की। इस दौरान वित्त मंत्री श्री जयंत मलैया और मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में उद्योग मित्र नीति लागू है। उन्होंने निवेशकों से चर्चा के दौरान निर्देश दिये कि प्रदेश में वस्त्र उद्योग को प्रोत्साहन देने की नीति बनायें। सोलर और विण्ड एनर्जी को बढ़ावा दिया जाये। उद्योगों से जुड़े मुद्दों पर निश्चित समय-सीमा में कार्रवाई करें। चर्चा के दौरान ट्राइडेंट ग्रुप के चेयरमेन श्री राजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि ट्राइडेंट ग्रुप द्वारा 6250 करोड़ रूपये के पूँजी निवेश से बुदनी में मेगा इंडस्ट्रियल टेक्सटाईल हब बनाया जायेगा जिससे 16 हजार 500 लोगों को रोजगार मिलेगा। सुजलान एनर्जी के चेयरमेन श्री तुलसी तांती ने बताया कि कम्पनी द्वारा 2 हजार मेगावॉट के सोलर-विण्ड हाइब्रीड पॉवर प्रोजेक्ट की स्थापना का प्रस्ताव है। मे. वेकमेट इंडिया लिमिटेड के सीएमडी श्री डी.सी.अग्रवाल ने विद्युत टैरिफ में छूट की मांग की। मे. अल्ट्राटेक सीमेंट लिमिटेड के प्रतिनिधि श्री अतुल डागा ने बताया कि कम्पनी द्वारा प्रदेश के धार जिले में एक और सीमेंट प्लाण्ट की स्थापना की जा रही है, जिसमें तीन हजार करोड़ रूपये का निवेश संभावित है। मे. सन फार्मा लिमिटेड के प्रतिनिधि श्री मनीष संघवी ने बताया कि कंपनी द्वारा मालनपुर में 200 करोड़ रूपये से नया प्लांट शुरू किया जा रहा है। साथ ही 200 करोड़ रूपये की लागत का सोलर प्लांट भी स्थापित किया जायेगा। सन फार्मा द्वारा अगले तीन वर्ष में मंडला जिले को मलेरिया मुक्त जिला बनाने का पायलट प्रोजेक्ट भी क्रियान्वित किया जा रहा है। चर्चा में अपर मुख्य सचिव वित्त श्री ए.पी. श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर श्री मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव वाणिज्य एवं उद्योग श्री मो. सुलेमान, प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री आई.पी.सी. केसरी, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अशोक वर्णवाल और श्री एस.के. मिश्रा तथा ट्राइफेक के प्रबंध संचालक श्री डी.पी. आहूजा उपस्थित थे।  

Dakhal News

Dakhal News 16 January 2018

पेज 3

  सुप्रीम कोर्ट द्वारा पद्मावत फिल्म को देश भर में रिलीज करने के आदेश के  बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पद्ममावत से मप्र में बैन हटाने पर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है। चौहान के अनुसार हमने राज्य के एडवोकेट जनरल से कोर्ट के आदेश का परीक्षण कर रिपोर्ट देने को कहा है। एडवोकेट जनरल की रिपोर्ट के बाद ही फिल्म के प्रदर्शन और सुप्रीम कोर्ट में अपील के बारे में फैसला लिया जाएगा। गौरतलब है कि मप्र सरकार ने पद्मावत फिल्म पर बैन लगाने को लेकर अब तक कोई ऑर्डर जारी नहीं किया है। हालांकि शिवराज ने फिल्म को मप्र में बैन करने को लेकर कहा था कि जो कह दिया, वो होगा।  

Dakhal News

Dakhal News 20 January 2018

मुरैना में बिग बॉस फेम हरियाणा की डांसर सपना चौधरी के शो में जमकर हंगामा हुआ। एमएस रोड स्थित दुबे मैरिज गार्डन में सपना चौधरी को देखने के लिए आए लोगों को जब गार्डन में प्रवेश नहीं मिला तो उन्होंने पथराव कर दिया। पथराव में कुछ लोग चोटिल भी हुए। व्यवस्था में लगे चार थानों के एक सैकड़ा से अधिक पुलिस कर्मियों ने भीड़ पर डंडे चलाए। इस दौरान एमएस रोड़ पर दोपहर में दो घंटे तक ट्रैफिक बुरी तरह प्रभावित हुआ। कार्यक्रम मंगलवार को दोपहर 2 से 4 बजे के बीच तय था। सपना की लोकप्रियता के चलते समय से पहले ही गार्डन पर खासी भीड़ एकत्रित हो गई। जिससे अव्यवस्था होने लगी। तीन बजे के करीब एक सपना चौधरी मंच पर आईं तो भीड़ अनियंत्रित हो गई और गार्डन में जाने का प्रयास करने लगी। जब पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो भीड़ ने पथराव कर दिया। भीड़ को भगाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग कर डंडों खदेड़ना पड़ा। कार्यक्रम में स्थिति न बिगड़े इसलिए पुलिस ने करीब सवा 4 बजे सपना को रवाना करवा दिया। आयोजकों ने बताया कि शो में प्रवेश के लिए 500 और हजार स्र्पए के टिकट रखे गए थे। जिनके पास टिकट था वे तो आसानी से कार्यक्रम में पहुंच गए। गार्डन के गेट पर ऐसे लोगों ने हंगामा किया जो मुफ्त में प्रवेश पाना चाह रहे थे। दुबे गार्डन के सामने दो बजे से लेकर साढ़े चार बजे तक भीड़ की वजह से जाम लगा रहा। हालांकि पुलिस ने एक लेन को बंद करवा दिया था, लेकिन दूसरी लेन भी लोगों की भीड़ की वजह से बंद सी रही। ऐसे में वाहनों का जाम लगा रहा।

Dakhal News

Dakhal News 16 January 2018

दखल क्यों

  म्यांमार ने बांग्लादेश से कहा कि वह रखाइन प्रांत में पुलिस चौकियों पर आतंकी हमलों में शामिल 1300 से ज्यादा संदिग्ध रोहिंग्या को गिरफ्तार कर उसके हवाले कर दे। रखाइन में पिछले साल अगस्त में पुलिस चौकियों पर हमले के बाद भड़की सांप्रदायिक हिंसा और सैन्य कार्रवाई के चलते करीब साढ़े लाख रोहिंग्या मुस्लिमों ने बांग्लादेश में पलायन किया था। म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की के कार्यालय की सूचना समिति ने आतंकी समूह अराकान रोहिग्या मुक्ति सेना (एआरएसए) के वांछित सदस्यों की तस्वीरें प्रकाशित की हैं। सूचना समिति के अनुसार, बीते नवंबर में नेपीता में म्यांमार के विदेश मंत्री ने अपने बांग्लादेशी समकक्ष के साथ द्विपक्षीय वार्ता के दौरान यह मांग उठाई थी। एआरएसए के आतंकियों ने ही पुलिस चौकियों पर हमला किया था। जवाब में सेना ने प्रांत में व्यापक कार्रवाई की थी। हाल में म्यांमार और बांग्लादेश के बीच रोहिंग्या लोगों की स्वदेश वापसी को लेकर समझौता हुआ है। रोहिंग्या शरणार्थियों की अगले हफ्ते से स्वदेश वापसी शुरू हो सकती है।

Dakhal News

Dakhal News 20 January 2018

मध्यप्रदेश में सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले कक्षा 10वीं के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा पाठ्यक्रमों और अपने कॅरियर के विकल्पों की जानकारी देने के लिये स्कूल शिक्षा विभाग ने इस वर्ष 6 लाख विद्यार्थियों का अभिरुचि परीक्षण (इन्टरेस्ट टेस्ट) कराने का निर्णय लिया है। इसके लिये पुणे के श्यामची आई फाउण्डेशन के साथ 3 वर्ष का एमओयू किया गया है। यह एजेंसी अभिरुचि परीक्षण और कॅरियर काउंसिलिंग का कार्य नि:शुल्क रूप से करेगी। सरकारी स्कूल के 6 लाख विद्यार्थियों का होगा अभिरूचि परीक्षण एक लाख विद्यार्थियों का होगा एप्टीट्यूट टेस्ट विद्यार्थियों की काउसिलिंग के लिए एम.पी. कॅरियर मित्र पोर्टल लांच होगा मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कुछ समय पहले विद्यार्थियों को उनकी अभिरुचि के अनुसार विषय चयन के लिये प्रति वर्ष एक लाख विद्यार्थियों के एप्टीट्यूड टेस्ट और कॅरियर काउंसिलिंग कराने की घोषणा की थी। इसी संदर्भ में स्कूल शिक्षा विभाग ने यह कार्यक्रम तैयार किया है। पुणे की संस्था द्वारा विद्यार्थियों के अभिरुचि परीक्षण और एप्टीट्यूड टेस्ट के लिये मोबाइल एप तैयार किया जा रहा है। इसके साथ ही विभिन्न विभागों से जानकारी प्राप्त कर कॅरियर काउंसिलिंग के लिये संबंधित एजेंसी द्वारा एम.पी. कॅरियर पोर्टल भी तैयार किया जा रहा है। अभिरुचि परीक्षण विद्यार्थियों को अभिरुचि को परिभाषित करने में सहायता करती है। इस टेस्ट के माध्यम से यह पता लगता है कि विद्यार्थी को क्या पसंद है और उनमें मौजूद क्षमता के अनुरूप वह किस दिशा में बढ़ सकते हैं। इनमें कला, विज्ञान, नृत्य, संगीत, खेल और पेंटिंग के विषय हो सकते हैं। एप्टीट्यूड टेस्ट के माध्यम से विद्यार्थी किस विषय का अध्ययन करें, इसके लिये टेस्ट किया जाता है। टेस्ट के बाद उन्हे मार्गदर्शन दिया जाता है। कॅरियर काउंसिलिंग में विद्यार्थियों को यह बताया जाता है कि उनकी रुचि के अनुसार अध्ययन की व्यवस्था किन शिक्षण संस्थानों में मौजूद है और वहाँ किस तरह प्रवेश लिया जा सकता है। इस वर्ष तैयार किये गये कार्यक्रम के अनुसार कक्षा 10वीं में पढ़ने वाले 6 लाख विद्यार्थियों का अभिरुचि परीक्षण फरवरी-2018 में किया जायेगा। परीक्षण का परिणाम 2 अप्रैल, 2018 तक घोषित किया जायेगा। इसी दिन एम.पी. कॅरियर मित्र पोर्टल लांच होगा। दो अप्रैल को ही लगभग एक लाख विद्यार्थियों का एप्टीट्यूड टेस्ट होगा। एप्टीट्यूड टेस्ट का परिणाम जून-2018 में होगा। कॅरियर काउंसिलिंग के लिये शिक्षकों का प्रशिक्षण मई और जून माह में इस वर्ष किया जायेगा। जून माह में ही विद्यार्थियों की कॅरियर काउंसिलिंग और पालकों से चर्चा की जायेगी।  

Dakhal News

Dakhal News 16 January 2018
Video

Page Views

  • Last day : 2444
  • Last 7 days : 15894
  • Last 30 days : 60979
All Rights Reserved © 2018 Dakhal News.