टाइगर सफारी के जानवरों को लिया जा सकेगा गोद

 

जानवरों के है अलग अलग रेट,जागरूकता है मुख्य उद्देश्य

 

मनुष्य को वन्य प्राणियो से जोड़ने के लिए रीवा  जू प्रशासन ने एक  पहल की है  | जिसमें  कोई भी व्यक्ति किसी भी वन्य प्राणी को गोद  ले सकेगा  ...   जानवरो के गोदनामे के वार्षिक, छमाही, तिमाही और मासिक रेट तय किये गए हैं |  सबसे ज्यादा रेट जंगल के राजा शेर का है  ... इसे चार  लाख 14 हजार रुपये देकर गोद लिया जा सकता है |

 

 मार्तंड सिंह जूदेव टाइगर सफारी में  अब जानवरों  को गोद  लिया जा सकेगा | इसके लिए जू अथॉरटी ने मंजूरी दे दी है | इसमें प्रत्येक जानवरो के गोद लेने  के वार्षिक, छमाही, तिमाही और मासिक रेट तय गए है | जिसके आधार पर  आप किसी भी जानवर को गोद ले सकेंगे |  जंगल के राजा शेर  का रेट  4 लाख 14 हजार रूपए रखा गया है | वही तेंदुए का  वार्षिक रेट 1 लाख 65 हजार 6 सौ रूपए है | जबकि सबसे कम चिंकारा, हॉक डीयर का रेट रखा गया है |  डीएफओ ने बताया की इसका मुख्य उद्देश्य  लोगों में  वन्य प्राणियों के प्रति जागरूकता लाना है |

 

गौरतलब है की रीवा मुकुंदपुर स्थित व्हाइट टाइगर सफारी में करीब 640 हेक्टेयर में मांद रिजर्व बनाया गया है | इसमें से 75 हेक्टेयर में चिड़ियाघर और 25 हेक्टेयर में व्हाइट टाइगर सफारी है |  इसमें जू एंड रेस्क्यू सेंटर, ब्रीडिंग सेंटर भी बनाए गए हैं | जिले के मुकुंदपुर में दुनिया की पहली व्हाइट टाइगर सफारी का लोकार्पण तीन अप्रैल 2016 को किया गया था | इस सफारी में सफेद बाघों के साथ ही अन्य वन्य प्राणी भी देखने को मिलते हैं |

 

Dakhal News 20 September 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 5728
  • Last 7 days : 33107
  • Last 30 days : 107936
All Rights Reserved © 2019 Dakhal News.