संदीप तेल की हत्या में गैंगस्टर सतीश भाऊ के गुर्गों पर शक
rohit sethi

 

 

इंदौर का  संदीप तेल हत्याकांड में जांच जिस दिशा तक पहुंची है उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि पुलिस मामले के खुलासे के करीब पहुंच गई है। पुलिस को जांच में यह भी पता चला कि रावजी बाजार क्षेत्र के बदमाश गब्बर चिकना उर्फ राजेश सोनकर व रवि चौहान उर्फ रवि चिकलिश का भी हत्या में हाथ हो सकता है। दोनों बदमाश गैंगस्टर सतीश भाऊ गिरोह के लिए काम करते हैं। गब्बर से कुछ दिनों पूर्व संदीप का विवाद भी हुआ था। संदीप ने उसे कमरे में बंद कर पिटाई कर दी थी। मेघदूतनगर निवासी चिकलिश शार्प शूटर है।संदीप की हत्या के पीछे सैकड़ों करोड़ का लेनदेन सामने आ रहा है। संदीप ने पिनेकल ड्रीम व डिजायर में करोड़ों रुपए निवेश किए थे। बिल्डर आशीष दास को भी करोड़ों रुपए ब्याज पर दिए थे। संदीप की हत्या के बाद बदमाशों के दो स्वार्थ पूरे हो रहे हैं। पहला पिनेकल से संदीप को बाहर करना, दूसरा बिल्डरों से अवैध वसूली करना।

संदीप ने बहुत कम समय में अरबों रुपए कमा लिए थे। उसकी पहचान सट्टा किंग के रूप में भी थी। तत्कालीन एएसपी रमणसिंह सिकरवार की टीम ने उसे क्रिकेट सट्टा लगाने और नकली नोट के आरोप में पकड़ा था। संदीप एक बार पुलिस को चकमा देकर दीवार कूद गया था। तत्कालीन आईजी संजय राणा ने भी संदीप के खिलाफ कार्रवाई की थी। वह बिल्डरों को करोड़ों रुपए उधार देकर तगड़ा ब्याज वसलूता था। सट्टे, ब्याज के साथ वह डिब्बा कारोबार में भी लिप्त था।एसपी (पूर्वी) अवधेश गोस्वामी के मुताबिक, संदीप के खिलाफ 11 आपराधिक केस दर्ज होने की जानकारी मिली है। पुलिस साथियों की भी भूमिका जांच रही है।

 

हत्याकांड का एक संदेही रोहित सेठी है जिसका केबल को लेकर संदीप से विवाद था। रोहित के साथी मनोहर वर्मा ने कबूल किया है कि संदीप और रोहित के बीच 19 करोड़ के लेन-देन को लेकर विवाद चल रहा था।पुलिस ने रोहित के घर की छानबीन की। उसकी पत्नी को हिरासत में लिया । पुलिस को जांच में पता चला है कि रोहित दो दिन पहले तक इंदौर में ही था। अचानक बुधवार दोपहर के बाद उसका मोबाइल बंद हो गया। पुलिस ने पत्नी को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पता चला कि वह घर पर भोपाल जाने का बोलकर निकला था। उसके बाद से मोबाइल बंद हो गया और उससे कोई संपर्क नहीं हुआ।पुलिस ने  मनोहर वर्मा से पूछताछ की तो उसने बताया कि रोहित ने संदीप को रुपए के बदले जमीन देने की बात कही थी। रोहित ने जमीन के दाम बढ़ाकर बताए। वर्मा ने  ने अपना और रोहित का हत्या में हाथ होने से इनकार किया है। पुलिस ने गुरुवार को संदीप के ड्राइवर अमित बेरवा, पूर्व कर्मचारी दीपक, दोस्त सुमित अवस्थी से भी पूछताछ की। इसके बाद पुलिस ने बब्बर चिकना, अल्पेश चौहान व सुमित सिरोलिया की तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने मनीष शर्मा को हिरासत में ले लिया है।

पुलिस के मुताबिक गाड़ी में तीन लोग थे। दो शूटर और एक गाड़ी चालक। तीनों ही भौंरासला (उज्जैन रोड) की ओर से गलियों में घुमते हुए विजयनगर चौराहे तक पहुंचे। हत्या के बाद वे भोपाल की ओर भागे।

 

Dakhal News 18 January 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 2161
  • Last 7 days : 12304
  • Last 30 days : 37175
All Rights Reserved © 2019 Dakhal News.