पकिस्तान में आम चुनाव , क्वेटा धमाके में कई की मौत
पकिस्तान में आम चुनाव , क्वेटा धमाके में कई की मौत

 

पाकिस्तान में नई सरकार के लिए मतदान शुरू हो चुका है। देश के करीब साढ़े दस करोड़ मतदाता आज नई सरकार चुनेंगे। इसके लिए देश में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। नवाज शरीफ की पार्टी की तरफ से मैदान में उतरे शाहबाज शरीफ के अलावा बेनजीर भुट्टो की बेटियों ने भी वोट डाल दिया है। इनके अलावा लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद ने भी लाहौर में वोट डाल दिया है।

इस बीच बलूचिस्तान के क्वेटा में वोटिंग के दौरान धमाके की सूचना है। प्रारंभिक रूप से मिल रही जानकारी के अनुसार इस धमाके में कई लोगों के मारे जाने की खबर है।

वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेग्युलेटरी अथॉरिटी ने पाकिस्तान के प्रायवेट टीवी चैनल्स पर चुनाव से जुड़ी कोई भी सामग्री का प्रसारण करने से रोक दिया है।

पाक चुनाव : हिंसा का इतना डर, प्रशासन ने पहले ही कर लिया 1000 कफन का इंतजाम

चुनाव से पहले कराए गए कई सर्वे के अनुसार इस बार का मुकाबला काफी दिलचस्प और नजदीकी है। क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान और भ्रष्टाचार मामले में जेल की सजा काट रहे पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टियां एक-दूसरे को कड़ी टक्कर दे रही हैं।

दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल के नेतृत्व वाली पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) इस मुकाबले में तीसरे स्थान पर पिछड़ती दिख रही है। लेकिन किसी भी दल को बहुमत नहीं मिलने की सूरत में उसकी भूमिका अहम हो सकती है। शाम छह बजे मतदान खत्म होते ही वोटों की गिनती शुरू हो जाएगी।

सर्वे संस्था - पीएमएल-एन - पीटीआई (वोट प्रतिशत)

गैलप पाकिस्तान - 26 - 25

पल्स कंसल्टेंट - 27 - 30

आईपीओआर (पंजाब) - 51 - 30

बिलावल बन सकते हैं किंगमेकर

सर्वे में 29 वर्षीय बिलावल की पार्टी पीपीपी पिछड़ती दिख रही है। पल्स कंसल्टेंट के सर्वे में उसे महज 17 फीसदी वोट मिलते दिख रहे हैं। लेकिन कई विशेषज्ञों का मानना है कि किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिलने पर पीपीपी किंगमेकर बन सकती है।

नेशनल असेंबली 342 सदस्यीय है। इनमें से 272 सीटों के लिए सीधे चुनाव हो रहा है। बहुमत के लिए 137 सीटें जीतना जरूरी है। बाकी 70 सीटें महिलाओं और अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षित हैं। इन सीटों का आवंटन चुनाव में दलों को मिलने वाले वोटिंग प्रतिशत के आधार पर होता है।

2013 का आम चुनाव

पीएमएल-एन - 126

पीपीपी - 31

पीटीआई - 27

पाकिस्तान में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी दल ने सत्ता में पांच साल का कार्यकाल पूरा किया। 2013 में शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन सत्ता में आई थी और उसने अपना कार्यकाल पूरा किया।

 

Dakhal News 25 July 2018

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 651
  • Last 7 days : 4895
  • Last 30 days : 41836
All Rights Reserved © 2018 Dakhal News.